हिमाचल की सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,5 साल की लड़की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

आवाज बीएफ: हिमाचल की सेक्सी बीएफ, इस तलाक देने के बाद मेरे कजिन को बहुत पछतावा हुआ और इमरान ने दोबारा सारा से शादी करने की ख्वाहिश की, मौलवी साहेब बोले- शरीयत के रूल से सारा को हलाला से गुजरना होगा और कम से कम एक रात के लिए किसी और की बीवी बनना पड़ेगा, तब ही इन दोनों की शादी हो सकती है.

सेक्सी वीडियो चाहिए हिंदी में बीएफ

मैंने टीशर्ट और लोअर पहनी हुई थी, उसने मेरी टीशर्ट उतार दी और ब्रा को भी निकाल दिया. हीरोइन वाली सेक्सी बीएफअब उन्होंने मेरी वाइफ की दोनों टांगों को सोफे पर रख कर कुछ इस तरह सैट कर दिया कि वाइफ की चुत का छेद उन दोनों के लंड के लिए खुल गया.

फूफा जी का लंड भी इतना बड़ा था कि आसानी से अंदर नहीं लिया जा सकता था, मगर फिर भी मैं अपनी कमर हिला हिला कर फूफा जी का साथ दे रही थी. लड़की वाला बीएफ सेक्सीवो मुझे देख कर कमेंट करने लगा- अगर तुम्हारी जैसी मेरी गर्लफ्रेंड हो होती नेहा.

मैंने अपनी पेंट की पॉकेट में इस तरह से छेद कर रखा था कि कैमरे से आपा की फिल्म बन जाए.हिमाचल की सेक्सी बीएफ: मैंने अभिलाषा के कोट को उतारा और उसके मम्मों को अपने हाथों से दबाने लगा.

मैंने कहा- खाला, बहुत सुन्दर हो आप, आप मेरे सपनों की रानी हो, जबसे आपको देखा है, तब से आपसे बहुत प्यार करता हूँ मैं और आपको पाना चाहता था.तभी सुरेंद्र जीजा अपनी उंगली मेरी गांड में डालने लगे, मुझे गांड में थोड़ा सा दर्द का अहसास हुआ, इधर सामने अंकल मेरी चूत को बिल्कुल चाटे जा रहे थे.

सेक्सी बीएफ देखना चाहता हूं - हिमाचल की सेक्सी बीएफ

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम प्रशांत जैन है, मैं जमशेदपुर झारखंड का रहने वाला हूं.तभी अचानक उन्होंने मुड़ कर देखा, मैं हक्का बक्का रह गया क्योंकि वो मुझे इस तरह देख कर मुस्कुराते हुए चली गईं.

इधर अब मेरे ब्लाउज के ऊपर से ही पीयूष मेरे मम्मों को जोर से अपने हाथों से दबाने लगा. हिमाचल की सेक्सी बीएफ उसकी आँखें बंद थी, कुर्ती टाइट होने की वजह से मैं उसे ऊपर नहीं कर पा रहा था तो मैंने मुन्नी को बोला- ये ऊपर होगी क्या?उसने मुस्कुराते हुए कुर्ती के साथ अपनी ब्रा भी ऊपर कर दी.

अब मैं जब भी नवल के घर जाता, तो उसके साथ खुल कर बात करता, उससे हँसी मजाक करता और उसे छेड़ता रहता.

हिमाचल की सेक्सी बीएफ?

दोस्तो, कैसे हो आप सब… मेरा नाम भूपेन्द्र है और मैं राजस्थान के भीम का रहने वाला हूँ. उन्होंने पैर से ही मेरे बॉक्सर को नीचे कर दिया और मुझे अपने ऊपर खींचने लगीं. मेरे प्यारे दोस्तो, मैं आपकी सेवा में अपनी नयी सेक्स कहानी पेश कर रही हूँ.

फिर करीब आधे घंटे की लगातार चुदाई में वो तीन बार झड़ गईं और मैं भी उनकी चूत के अन्दर ही झड़ गया. मैंने जब मोबाइल पे बात करके फ़ोन काटा तो पोर्न मूवी वापस प्ले हो गई. बहुत बड़ा घर था और बहुत ही अच्छा घर था उसका।उसने कहा- आप नहा लीजिये, मैं नाश्ता लगाती हूँ.

जूही तब कम उम्र की थी परन्तु वो क्या आफत बनने वाली थी यह दिखने लगा था. मैं भी बोला- ठीक है, चलो!वो अंदर गए, एक तेल की शीशी लाये और मेरे लन्ड पर लगा दिया और उन्होंने अपनी गांड पर भी लगा लिया और बेड पर ऊपर पैर करके लेट गए।फिर मैंने उनकी गांड में पहले उंगली करके छेद देखा और अपना लन्ड लगा दिया, धीरे से अंदर धक्का दिया लेकिन लन्ड अंदर गया ही नहीं… दो तीन बार कोशिश की, फिर नहीं गया. और फिर शीतल ने शुरू से लेकर अभी तक की पूरी कहानी उन्हें सुना दी!हमारी सच्चाई सुनके सब हक्के-बक्के रह गए.

तभी अचानक मुझे ख्याल आया कि मेन डोर से जाऊंगा तो मॉम को पता चल जाएगा और सारा सरप्राइज बेकार हो जाएगा. एक दिन मैंने उसको एक कस के थप्पड़ दे मारा… क्योंकि उस दिन उसने कुछ ज़्यादा ही बोल दिया था.

मैं समझ गया कि इसका मतलब यह है कि वो मेरा लंड अपनी चूत के अन्दर नहीं लेना चाहती है.

फिर एक दिन भाभी मेरे पास बड़ी खुश होते हुए आईं और वो बोलीं- मैं माँ बनने वाली हूँ.

इतने में मैंने पूरा लौड़ा पेल दिया शिवानी की चुत में, शिवानी चिल्ला पड़ी कस के और उसके पैर कांपने लगे. एक तो मुझे कोई रूम किराए पर ढूँढने के लिए सहायता और दूसरी नौकरी ढूँढने की. मेरा मुँह शीशे की तरफ था तो भाभी के चूतड़ को देखकर और उनके नंगे स्तनों के कारण मेरा लंड खड़ा हो गया और भाभी के शरीर से लंड टकराने लगा.

तभी चाची जी ने मुझे रोका तो मैं पूरी तरह डर गया था, उन्होंने नरम आवाज में बोला- रुको, ले लो पानी!उन्होंने साइड में से पानी उठा के दिया।उनके चेहरे को देख कर लग रहा था कि वो मेरी हरकतों को पूरी तरह से समझ गई हों।मैंने थैंक्स कहा और अपनी साइड जा कर सो गया। डर के मारे मेरी नींद उड़ी हुई थी। मैं चाची जी की तरफ पीठ कर के सो रहा था. आवाज़ सुनकर शीतल भी जग गयी और हॉल में हमारे पास आकर बैठ गयी!शीतल ने कहा- भैया, सबको फोन लगाओ और बुलाओ!मैंने ठीक वैसा ही किया. आज मुझे अपनी चुत चुदवाने के लिए फ्री में नया लंड मिल रहा था, तो मैं भी अपनी सहेली के भाई के कमरे में चली गयी.

क्योंकि हम सोसाइटी में तो बात नहीं कर सकते… और मैं आपको फोन कर लूंगी.

फिर फूफा जी ने मुझे घोड़ी बनने को कहा और मैंने अपना सर बैड के साथ जोड़ कर अपनी गांड ऊपर उठा दी. कभी उनसे मिलने भी जाता था, तो कभी हम दोनों साथ में फिल्म भी देखने जाते. पर बिस्तर के नीचे पेंटी देख कर मुझे यकीन हो गया था कि रात तुमने और पूजा ने यहाँ सेक्स किया है.

बापू ने पद्मिनी को प्यार से सहलाया, गालों पर अपने हाथों को फेरा, पद्मिनी को किस किया, बहुत फुसलाया. मैं बोला कि सब चोदेंगे, तो तेरी मम्मी बोली हाँ ठीक है, पर मुझे पैसे अभी चाहिए. अब सोनिया ने मेरा तना हुआ लवड़ा अपने हाथ से अपनी चूत पे लगाया और झटके से बैठ गयी.

थोड़ी देर में मैं भाभी के मुँह में ही झड़ गया और उनको अपना सारा पानी पिला दिया.

भावनाओं को बीच में मत लाओ!)उसके मुँह से ऐसी बातें सुन मेरा प्यार और बढ़ रहा था. बस थोड़ा सा ठीक?तब पद्मिनी अपने बापू की गोद में बैठी और बापू ने एक हाथ को उसकी कंधों पर रखा और एक हाथ को पद्मिनी की जाँघ पर.

हिमाचल की सेक्सी बीएफ वो बोल रही थी- आई लव यू बेबी!काफ़ी देर तक लंड चुसवाने के बाद मैंने उसे उठा कर लिटा दिया. चाची ने बड़ी चाची की चुत को मुँह से चोद कर एक गहरी कराह भरी और बोलीं- अरे ये ताला बहुत दिन से बन्द पड़ा है जरा प्यार से कर मादरचोद.

हिमाचल की सेक्सी बीएफ डॉली नीचे झुक कर एकता की चुत को चाटने लगी और मेरी गोटियों के साथ भी खेलने लगी. उसने बताया कि अंजना ठीक है और अपने पापा के साथ देहरादून गई है, रात तक लौटेगी.

मैंने कहा- इसकी कोई बात नहीं… यह देखेगा तो ट्रेन्ड हो जाएगा।जीजाजी- नहीं, मेरी वर्क शॉप में रहा तो ट्रेन्ड तो यारों ने कर दिया होगा। जैसी तुम्हारी इच्छा।उनका पैन्ट में से उचक रहा था, दिनेश ध्यान से देख रहा था, दिनेश किवाड़ लगाने लगा तो उन्होंने रोक दिया.

इंडियन सेक्सी गावठी बायांची साडी वरचे

फूफा जी ने अपना सारा लंड मेरे बदन पर निचोड़ दिया और फिर अपने हाथ से मेरे बदन पर रगड़ने लगे जिससे मेरा चेहरा, बाल, बूब्स और पेट गीला हो गया और फिर फूफा जी मेरे ऊपर ही गिर गये. वन्द्या तुम मेरी मौसी हो, पर जब तुम नहाती हो या सोती हो, मैं तुम्हारी जांघों और दूधों को देखता रहता हूं. तो कोई खास परेशानी हुई भी नहीं।हम फिर फिसलने लगे लेकिन अब अहाना जीत जाती थी सिंगल शरीर के कारण।फिर पीठ के बल हो कर उल्टी फिसलन हुई।इसके बाद उसने एक अजीब खेल किया कि गैलरी के अंतिम सिरे पर मुझे और अहाना को बारी-बारी इस तरह टिका दे कि हमारी दोनों टांगे आखिरी हद तक फैल जायें और उसे हमारी एकदम खुली पुसी दिखती रहे.

कुछ समय बाद ही उसके पियक्कड़ पापा के चिल्लाने की आवाज़ आयी तो मैं दौड़ के ऊपर गया और मुन्नी के साथ मिल कर उन्हें पकड़ कर एक कमरे में बंद कर दिया. मेरा आधा लंड अभी चुत से बाहर था, हम दोनों ही जल्दी में दरवाज़ा बंद करना भूल गए थे. तब मैंने कहा- मां ये सब क्या है?मां के पास मेरे सवाल का कोई जवाब नहीं था।कुछ पल वहां खामोशी छाई रही।अचानक मां ने मुझे अपने पास बुलाया.

वो मान गई और सारा दिन जब टाइम मिला, उसने किस किया, मैंने भी उसको हग किया.

पापा ने पैसे के बलबूते पर उसे साउथ में किसी शहर में इंजीनियरिंग करने के लिए भेज दिया. उसने अपना निचला होंठ दांतों में दबा रखा था और हचक हचक कर मुझे चोद रही थी. इतने में एक ने जो दूसरी से थोड़ी बड़ी लग रही थी, मेरी तरफ देखा और बोली- कोई प्रॉब्लम है क्या, जो ऐसे हमको घूर रहे हो?मैंने भी कह दिया- घूर नहीं रहा हूँ.

आखिर में बापू ने पद्मिनी की दोनों पैरों को दोनों तरफ फैलाते हुए खुद को बीच में घुसा लिया. मैंने उसे लंड चूसने के लिए कहा, पहले उसने मना किया पर कई बार कहने पर मान गई. [emailprotected]भाभी सेक्स स्टोरीज का अगला भाग:भाभी के जिस्म की चाहत-2.

मुझे भी बड़ा सेक्स चढ़ता था, पर मैं परिवार की वजह से कुछ कर नहीं सकता था. उसका फोन आता रहा, मगर मैंने कोई जवाब नहीं दिया और फिर फोन का सिम ही तोड़ दिया.

मैंने कहा- दीदी मैं जैसा कहता हूं वैसा करो, मैं तुम्हारी फोटो निकालता हूं, फिर देखना तुम कितनी सेक्सी लगती हो. मैंने उसको अपना लंड चूसने के लिए बोला, पहले तो उसने मना किया, बाद में वो मान गई. भाभी- आप रोज दिन में मेरे पास आके क्यों सो जाते हो?मैंने अनजान बनते हुए कहा- कब सोया?भाभी- आप सोते हो और मेरे बोबों को भी हाथ लगाते हो.

मैं बोली- तुम्हारा यह क्या है? बिना झिझक के बोलो, मुझे साफ़ सुनना है.

उनके पड़ोस में एक परिवार हमारी ही बिरादरी का रहता था, जिनका एक लड़का भी था. वन्द्या तुम मेरी मौसी हो, पर जब तुम नहाती हो या सोती हो, मैं तुम्हारी जांघों और दूधों को देखता रहता हूं. उनके पड़ोस में एक परिवार हमारी ही बिरादरी का रहता था, जिनका एक लड़का भी था.

अब वह मेरे बगल में आकर लेट गई और प्यार से मेरे बालों में उंगलियाँ फिराने लगी- सच बता न राजे… आया मज़ा मेरे राजा को?मैं- हाँ रेखा रानी, बहुत मज़ा आया… तू वाकई में चुदाई और चुसाई दोनों की बेहतरीन खिलाड़ी है… मस्त कर दिया रंडी तूने मुझे… तेरे इनाम पर मैं जाऊं कुर्बान!अच्छा राजे ज़रा टाइम तो देख कितना हुआ है?”घड़ी मैंने उतार कर टेबल पर रख दी थी, मैं उठ कर गया और देखा कि पौने छह बज चुके थे. उस दिन सुबह जब पापा दादाजी को दुकान छोड़ने गए और दादी नीचे काम कर रही थीं.

जोर से… उम्म्ह… हह!मेरी हालत उन दोनों की चुदाई को देखते देखते बिगड़ने लगी, मैं खुद गर्म होने लगी थी, मेरी चूत से सुरसुराहट होने लगी थी, मेरी चुत पानी छोड़ने लगी थी. मैंने हिमानी को बेड पर लिटाया और स्कर्ट को ऊपर करके उसकी टाँगे फैलाई. मैं भी वहां से निकल पड़ा, लेकिन तभी उसका फोन आया कि उसने खाना नहीं खाया था और होटल में 11 बजे के बाद डिनर नहीं मिलता है, तुम मुझे डिनर करवाने ले चलो.

ब्लू फिल्म सेक्सी वीडियो हिंदी फिल्म

जब तक बर्फ पूरी तरह पिघला, इनकी योनि भी उंगली करने पर पिघल गई और इसी पिघली हुई योनि में मैंने इनके द्वारा चूमने मात्र से खड़ा हुआ लिंग धीरे धीरे करके अंदर डाला.

अब उसने मेरी कमर को जोर से पकड़ लिया था और जोर जोर से अपना लंड मेरी चूत में अन्दर बाहर करने लगा. ओए! तुम कितना प्यार करते हो मुझे! मैं तुम्हारा बहुत सम्मान करने लगी हूँ… आज मेरी नजरों में तुम्हारा कद बहुत बढ़ गया है!! मैं तो हमेशा से ही ऐसी चुदाई के सपने देखती थी, सिर्फ तुम्हें इस बारे में कहते हुए शर्माती थी. दीदी ने बैग उठा लिया तो जीजा ने दीदी को अपनी गोद में उठाया और कमरे को चल दिए.

फिर मैंने उसे समझाया कि इससे कुछ नहीं होता कुछ ही देर में ठीक ही जायेगा और उसे शांत किया।फिर मैंने करीब बीस मिनट तकबहन को चोदाऔर बेड के हिलने की वजह से वैशाली जग गई और उसने हम बहन भाई को चुदाई करते देख लिया. उसने और जोर से मम्मों को दबाया और गीता की और चीखें निकलवाता रहा और जल्दी से अपना लंड उसकी चुत में पीछे से ही घुसेड़ दिया. देसी गांव वाला बीएफउससे ज्यादा ही कड़क साबित होगा।”मैं अपने तौर पर विरोध करती तो रही लेकिन खुद से जानती थी कि विरोध का कोई मतलब ही नहीं था। दोनों से हमारा समान रिश्ता था और उससे ज्यादा कोई बात ही नहीं थी.

फिर हमने एक रेस्टोरेंट पर साथ में कॉफी पी और उस दौरान दीदी बताया कि वह भी यहीं रहती है और पढ़ाई कर रही है. फ़ोन पर तो मैं कम ही बात करता था, पर व्हाट्सैप पर दिन भर उनके साथ ही रहता था.

उन दोनों की एज हो गई थी, तो वे लोग फ्लैट से ज्यादा बाहर भी नहीं निकलते थे. मुझे कुछ नहीं पता था इसलिए मैंने पहली बार में ही 3 उंगलियां एक साथ डाल दी. कहानी में कोई गलती हो तो मुझे माफ कर देना क्योंकि यह मेरी पहली कहानी है, मैंने कोशिश की और आपके सामने एक कहानी प्रस्तुत की ताकि आपको मैं अपनी सेक्सी दुनिया के बारे में बता सकूं.

वो चिंहुक गई और उसने तुरंत मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूस दिया. यह सब प्यार करने का एक तरीका होता है और इससे दोनों जनों को बहुत मज़ा और आराम मिलता है. कुछ 5 मिनट बाद मैं झड़ने को हुआ तो मैंने भाभी को नीचे लेटा दिया और उनके ऊपर आकर तेज तेज धक्के लगाने लगा.

पहले उसे चिकेन खिलाया, फिर घूँट घूँट कर के उसे पिलाने लगी और खुद भी उसी में से पी और खा रही थी.

उन दोनों की नजर मेरे अंडरवियर पर पड़ी तो बोलीं- तेरी चाबी तो बाहर आने को मचल रही है. और फिर वह मुझे पागलों की तरह चूमने लगा और मेरी चुत में उंगली करने लगा.

उनके दोनों पैर टूट चुके थे, वो जमीन पर पड़े थे और आंटी मदद के लिए गुहार लगा रही थीं. हम दोनों इस भयंकर चुदाई के बाद थक चुके थे और एक दूसरे की बांहों में लिपट कर सो गये. उसको बिंदु ने सिखा दिया था कि चुत को जितनी देर तक चाटा जा सके, उतना चाटा करो.

आंटी धीरे से मेरे कान में बोली- प्रशांत डाल दे अब… बर्दाश्त नहीं हो रहा…मैं आंटी के ऊपर आ गया, मैंने अपना लंड उनकी चूत में रखा और झटका दिया पर मेरा लंड फिसल गया, अंदर नहीं घुसा. मेरे एक हाथ से मैंने उनकी मैक्सी को जाँघों तक ऊपर उठा दिया और हाथ फेरने लगा. खाला ने लाल लहंगा, चोली चुनरी और ढेर सारे गहने पहने हुए थे और साथ में गजरा और फूलों से शृंगार किये हुए स्वर्ग से आयी हुई अप्सरा लग रही थी.

हिमाचल की सेक्सी बीएफ वो मेरे शर्ट के ऊपर मेरे चूचे को दबाने लगा, मैंने चुप होकर ये सब होने दिया और उसके सहलाने की अदा का मजा लेने लगी. रेखा रानी ने लण्ड बाहर निकाल के कहा- चुप करके पड़ा रह राजे… अब ये मेरा है… मेरा जैसा दिल में आएगा वैसा चूसूंगी… बिलकुल मत बोल बीच में… यह तेरा इनाम है बस मज़ा लूट.

लड़की का और कुत्ता का सेक्सी वीडियो

अब उससे कंट्रोल नहीं हो रहा था, वो अपनी चुत को सलवार के ऊपर से ही मेरे लंड के ऊपर मसल रही थी. एकता ने जोर से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाज़ निकाली और बोली- बहुत दिनों बाद एक कड़क लंड गांड में गया है. उनकी आँखें बंद थी, मैंने उनके होंठों को छोड़ कर चेहरा ऊपर किया तो खाला ने आँखें खोली और मुस्करायी.

लेकिन भैया भाभी की सिसकारियों की आवाज़ खिड़की से सुनाई देती थी।तो यह थी मेरे भाई भाभी की सुहागरात की चुदाई की कहानी, आपको कैसी लगी, मुझे ई-मेल करके जरूर बताएं. गेट के पास आकर भाबी ने मुझे फिर से चूमा… तो मैंने भि भाभी के चूतड़ अपने दोनों हाथों में पकड़ कर उनके होंठों को अपने होंठों में ले लिया और 2-3 मिनट तक प्रगाढ़ चुम्बन किया. सेक्सी भाई बहन का बीएफउसने मेरी तरफ देख कर आँख बंद कर लीं और मुस्कुराते हुए अपना पैर मेरे पैर से सहलाने लगी.

मैंने ऐसा ही किया, उसी दिन रात को मैंने एफबी पर एक एकाउंट बनाया, जिसमें सारी जानकारी डाल दी.

मेरे राजा तू तो किसी बुढ़िया को भी चोद दे तो वो अपनी जवानी को याद करने लगेगी. मैं अपनी पढ़ाई करता हूँ और थोड़ा बहुत पापा का ऑफिस का काम भी कर लेता हूँ.

उन्होंने अन्दर पिंक कलर की ब्रा पहनी हुई थी और वो बहुत ही हॉट लग रही थीं. मुझे नहीं पता था कि वो कुछ दिनों के लिए अपने टाउन में जाने वाला है. मैं प्रिया को किस करना चाहता था लेकिन उसने कहा कि पहले वो पूरी मूवी देखेगी उसके बाद ही कुछ करने देगी तो मैं भी मजबूरन मूवी देखने लगा.

जैसे ही सुरेंद्र जीजा की जीभ अंदर गई मैं एकदम मचल गई, मेरा बदन बिल्कुल अकड़ सा गया.

फिर वो अपनी जीभ को उस पर फेरते हुए अपने बापू के चेहरे पर देख रही थी. करीब 3-4 मिनट तक आंटी ने मुझसे छूटने की कोशिश की पर मेरे लगातार होंठ चूसने चूचियां दबाने से शायद आंटी गर्म हो रही थी तो उन्होंने मेरा साथ देना तो शुरू नहीं किया पर विरोध बंद कर दिया. अब मैंने भी दोस्ती के नाते हां कह दिया और उसके बताए पते पर चला गया.

बीएफ सेक्सी मूवी नईचूत के नाम पर लंड अकड़ गया तो मुझे मुठ मार कर लंड की अकड़न समाप्त करनी पड़ी. हम दोनों इस बारे में सोच ही रहे थे कि इतने में उन्होंने कहा- मैं नहाने जा रही हूँ, तुम वहाँ आ जाना, हो सके तो वहीं कर लेंगे, नहीं तो बेडरूम में आकर कर लेंगे.

इंग्लिश सेक्सी वीडियो ओपन इंग्लिश

तब मेरे दोस्त ने कहा- ले जाओ दोस्त उसको!तब उसने कहा- कहाँ?मैंने कहा- तुम्हारी सहेली ने नहीं बताया है क्या?तब उसने कहा- नहीं!मैं अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड को बोला- क्या यार… तुमने इसे नहीं बताया है?उसने कहा- नहीं बताया है, तुम ही इसे मनाओ ना!तब मैंने उसके पास जाकर कहा- मैं तुम्हें चोदना चाहता हूँ. मेरे मुख से निकला- ये क्या कर रहे हो तुम लोग? मधु… तू तो कह रही थी कि तुम लोग बाते करने आते हो?मधु सिटपिटाती हुई सी बोली- हं… हाँ सुनीता… मगर मैं क्या करती यार, इसकी बात ना मानो तो बुरा मान जाता है ये…राज बोला- सुनीता आ जाओ ना… नहीं तो तुम भीग जाओगी. उसके बाद से हम दोनों को चुदाई के लिए कोई भी मौका नहीं मिल रहा था और हम दोनों बस एक दूसरे से फेसबुक पर बात करते थे.

तभी भाभी हंसने लगीं तो भैया बोले- अभी हंस रही हो … फिर रोना मत!भैया उठे और शीशी में से कुछ लिक्विड शायद तेल निकाल कर अपने लंड और भाभी की चूत पर लगाने लगे। अब भैया ने फिर से लंड को चूत पर सैट किया और भाभी के होंठों को अपने होंठों से कैद करके एक जोर का धक्का लगाया. उसने अन्दर काले रंग की पेंटी पहन रखी थी, उसके गोरे दूधिया जिस्म पर काले रंग की पेंटी बहुत ही जंच रही थी. और वह थकी थी तो नितिन को फिर नीचे ही आना पड़ा, लेकिन उसका पीछे का छेद फिर भी बरक़रार रहा क्योंकि अब रज़िया ने मेरी तरफ मुंह कर लिया था और लेटे हुए नितिन की तरफ उसकी पीठ थी।सामने से मैंने उसकी योनि में लिंग ठूंस दिया और थोड़ा उसकी तरफ झुकते हुए अपना वज़न एक हाथ पर रखते हुए दुसरे हाथ से उसके एक दूध दबाते हुए धक्के लगाने लगा।जबकि अपने सीने से लगभग सटी हुई रज़िया के दोनों ही दूध नितिन नीचे से मसल रहा था.

उसके बाद हम दोनों निकल कर अपने दोस्तों के पास गये, तब तक दोस्त लोगों का भी काम हो गया. मेरा नाम सुलेखा है, मैं ग्वालियर की रहने वाली हूँ। मेरी उम्र 35 साल है. कुछ देर चूसने चाटने के बाद हम दोनों ने एक दूसरे मुंह में अपना अपना लावा उगल दिया और दोनों ने ही पूरा चाट कर एक दूसरे को बिल्कुल साफ कर दिया.

मैंने सोचा नंगी नहाती भाभी को देखने का ये अच्छा मौका है, उस समय घर पर कोई नहीं था. जब पूरा फोरप्ले खत्म हुआ तो चुदाई आरम्भ हुई मैंने उसे पूर्ण श्रद्धा के साथ चोदने की कोशिश की और हार्डसेक्स किया उसके झड़ने के बाद भी… वो चिल्लाती रही और मैं पेलता रहा जब तक कि उनकी योनि मेरे वीर्य से भर ना गई।कुछ समय बाद मेरे एग्जाम्स शुरू होने थे तो मैंने इन सब पर ध्यान देना छोड़ा.

बापू चाय लेकर आया तो पद्मिनी आइने के सामने खड़ी आँखों में काजल लगा रही थी.

इस बीच श्लोक और मैंने अपने पसंद के सेक्स आसन भी शेयर कर लिए थे। मुझे पता था कि जब मैं उसे अपना पसंद का सेक्स आसन बता रहा हूं तो कहीं ना कहीं मन मैं वह अपनी बहन को उसके सामने रखकर देख रहा होगा।एक दिन ऑफिस में हम दोनों बैठकर पोर्न फिल्म देख रहे थे, पोर्न फिल्म सामूहिक चुदाई की थी. www.com वीडियो बीएफमैं वहाँ गया और कुछ भी काम ढूंढकर करने लगा जिससे चाची सोचें कि मैं बिजी हूँ. सनी लियोन की बीएफ सेक्स मूवीतभी इनकी सख्ताई कुछ घटेगी…अपनी बड़ी साली की चूची मुंह में लेकर मैं मस्त होकर चूसने लगा, कभी कभी निप्पल को और कभी कभी चूची को कस के काट भी लेता. मेरी पहली चुदाई कहानी के पिछले भागमेरे टीचर ने की मेरी पहली चुदाई-2में आपने पढ़ा कि कैसे मैं अपने टीचर के घर गई और हम दोनों ने कैसे चूमा चाटी का मजा लिया.

मैं जैसे जैसे सीढ़ियों से ऊपर अपनी क्लास की तरफ बढ़ रहा था, मुझे कुछ आवाज़ें सुनाई देने लगीं.

अब रानी ने हौले हौले मेरे टट्टे झुलाने शुरू किये और सुपारी पर जीभ से टुकुर टुकुर करने लगी. शाम को ऑफिस से घर आने के बाद फ्रेश होकर भाभी के घर खाना खाने चला गया. यह सुनकर वो जाने लगीं, तभी मैंने भाभी से बोला- अरे आप तो जाने लगीं.

तब मुझे समझ में आ गया कि आग वहां भी लगी है, बस मौके का इंतज़ार था।कुछ समय बीतने के बाद उसकी मम्मी को अपनी सहेली के यहाँ जाना था तो वो मुझे बोल गयी कि मुन्नी का ध्यान रखना, उसके पापा अभी घर पर नहीं है. मैंने पूछा- क्या यह हो सकता है?वो बोली- क्यों नहीं हो सकता, अगर कोई चूत अपनी पर आ जाए तो क्या नहीं कर सकती. सोनिया शरमाते हुए कहने लगी कि आपको जब से मैंने आपके क्लिनिक पर देखा था, तब से पता नहीं मुझे कुछ हो गया है.

कुत्ते और लेडीस की सेक्सी फिल्म

मुझे उनके निप्पल मिल गए, फिर मैं उनके निप्पल मसलने लगा और मैं कभी इस तरफ की चूची को दबाता, कभी उस तरफ की चूची को मींजता. जब पूरा लंड अन्दर जा चुका, तब वो आराम से मुझ पर लेट गया और साँस लेने लगा. तो मैं उस चाबी घर का मुख्य दरवाजा खोल कर घर के अंदर आ गया।मैं अपने कमरे में जा रहा था कि मैं अपने बेटे के कमरे के सामने से निकला तो मैंने अन्दर देखा कि मेरी पुत्रवधू पूजा बिस्तर पर पड़ी हुई थी.

मैंने ओके कह कर फोन बंद किया और अजनबी पायल की चुत को याद करके मुठ मारी और सो गया.

पूजा बोली- पापा जी, नाश्ता आने में टाइम लगेगा, इतने आप मेरी चूत के बाल काट दो.

मैं बड़े आराम से उसके होंठों को चूमता रहा, वो नीचे दर्द की अधिकता से मचलती और तड़फती रही. फिर उसने हँसते हुए अपने हाथ पीछे ले जाकर अपनी ब्रा के हुक खोल दिये अब मैं आराम से उसके बूबस को दबा सकता था. बीएफ वीडियो चोदा चोदी चोदा चोदीमैं कभी कभी उनके ही घर खाना खा लेता था और वहीं मेरे अंकल के पास जो मेरे 5 साल बड़े हैं, सो जाता था.

तभी एकदम से उन्होंने पैरों को इकठ्ठा करके थोड़ा दबाव बनाया तो मुझे लगा उनकी तरफ से ग्रीन सिग्नल है. अब वो उछल उछल कर मेरा लंड खा रही थीं और चिल्ला रही थीं- डाल और ज़ोर से चोद मुझे… कुतिया बना दे मुझे… आज से मैं तेरी हूँ… मेरी चूत को रंडी की तरह चोद… आह चोद और चोद आह फाड़ दे इस साली चुत को…मैंने भी धक्कों की स्पीड बढ़ा दी और ज़ोर ज़ोर चोदने लगा रहा. वो किसी बड़ी बिल्डिंग में रहते थे, घर भी बहुत अच्छा था उनका!उन्होंने मुझे बैठने को कहा और मैं उनके सोफे पर बैठ गया.

मुझे अपने ऑफिस के काम के चलते भाभी से बात करने का अधिक टाइम नहीं मिल पा रहा था. उनसे चुदाई करवा लोगी?मैं बोली- मुझे तो दो से चुदवाने का मन तो पहले से ही था.

मेरी बात सुन कर वो कुछ उदास सी हो गईं और उसी बीच आगे बात बढ़ती कि उनकी सास की आवाज आ गई तो भाभी को जाना पड़ा.

मैं बिल्कुल सिमट के चिपक गई थी कि तभी लालजी ने अपनी उंगली मेरी चूत में डाल दी. मुझे लगा कि वो लड़की मानसिक रूप से अस्वस्थ है तो मैंने अपनी पहचान के एक डॉक्टर को अपने घर बुलाया. उसने कहा- तब जल्दी कर यार!मैंने कहा- इतनी जल्दी भी क्या है!मैं उसकी मोटी मोटी चुची को मसलने लगा, उसे बहुत मज़ा आने लगा, उसे किस करने लगा, इससे वो पूरी गर्म हो गयी, कहने लगी- जान, अब डाल दो… मुझसे अब रहा नहीं जाता, नहीं तो मैं मर जाऊँगी.

इंग्लिश बीएफ हिंदी फिल्म मैंने जैसे ही उसकी नजरों से नजरें मिलाईं, वो बोली- अब पास आये तो मैं पापा से सब कह दूँगी. मेरा डर थोड़ा कम हुआ और मैंने हंसते हुए कहा- आंटी, देख कर क्या करूंगा, बस हाथ का काम कर लेता हूं.

मुझे लगा बाथरूम गयी होगी पेशाब करने के लिये, लेकिन काफी देर के इंतज़ार के बाद भी जब वापस न लौटी तो मुझे फ़िक्र हुई।मैंने उठ कर बाथरूम टॉयलेट चेक किया. उनकी बात सुनके मैं समझ गया कि वो क्षण आ गया है और मैंने अपनी कैप्री उतार फेंकी. इस तरह के बातें सुन सुन कर मुझे चुदाई का पता लग गया और फिर एक दिन असली चुदाई भी हो गई.

सेक्सी पिक सेक्सी पिक्चर डाउनलोड

देख हम तीनों मिलकर कैसे तेरी चुदाई करते हैं, तुम खुद थोड़ी देर बाद हम तीनों से बोलेगी कि फाड़ दो मेरी चूत और गांड. लेकिन थकान की वजह से ऑफिस में बहाना करके छुट्टी ले ली।दोपहर में नूतन का फ़ोन आया- भाई, मैं तेरे गेट के बाहर हूं, मम्मी और दी कल आएंगे क्यूंकि उन्हें उन लोगों ने रोक लिया।वो मेरे कमरे पर आई. अब धक्का दे… हाँ… हाँ दे… दे… दे… हाँ हाँ ऐसे ही दिये जा राजे… हाय राजे मैं कहाँ उड़े जा रही हूँ… लगता है अब गिरी और अब गिरी… आह आह आह!और एक तेज़ झुरझुरी के साथ रेखा रानी स्खलित हो गई.

एक लड़की के साथ किस तरह से लोग उसकी दुर्दशा करते हैं… इस बात को समझा जाए, यहाँ तक कि उसके अपने सगे भी उसे मुसीबत के समय डूबने के लिए छोड़ जाते हैं. आंटी भाभी से पूछने लगीं कि बेटा कौन सा आम मंगाएं?मैं भाभी को देखके बोल दिया- भाभी को शायद बिना गुठलियों वाले आम पसंद होंगे.

कुछ 2-3 मिनट तक मैंने भाई के लंड को जीभ से चाटा, फिर लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी.

तुम मेरे ऊपर आकर मेरे मुँह पर चुत रखो और मेरे ऊपर लेट कर मेरे लंड को प्यार करो. मैंने उसकी चूत की दरार में एक उंगली फिया ड़ी तो वो तड़प उठी और उसके पैन्ट के ऊपर से ही अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया. फिर आरुषि ने मेरी बनियान उतारी और मेरी छाती को चूमते हुए नीचे लंड पर हाथ फिराने लगी, फिर उसने मेरे अंडरवीयर को खोलते हुए लंड को हाथ में पकड़ा और टोपे को नंगा करके उस पर जीभ फिराने लगी.

मेरा नाम नेहा उपाध्याय (बदला हुआ) है, मैं मध्य प्रदेश की रहने वाली हूँ। मेरी उम्र 26 साल है मेरे स्तन बड़े बड़े हैं जो हर किसी को अपने वश में कर लेते हैं, हर किसी को मेरे बारे में सोचने को मजबूर कर देते हैं. इस तरह दिन बीत गए।एक दिन मेरे जमाई और बेटी घर आये, मैंने उनकी बड़ी सेवा की।कुछ देर बाद बेटी ने मुझे अकेले में ले जा कर बताया कि जमाई को भांग खाने की लत है. मेरी कोशिश हालाँकि कामयाब नहीं हो सकी क्योंकि चूत के अन्दर पहले से ही आर्थर का ताकतवर लंड उछल-कूद मचाए हुए था.

ए… ए… ए…’ की एक लम्बी पुकार के साथ वो फचाक से लंड के ऊपर बैठती चली गई.

हिमाचल की सेक्सी बीएफ: ये क्या … बहू ने पैंटी तो पहनी ही नहीं थी तो उसकी रसीली नंगी चूत मेरे सामने थी. उसने मेरे लंड को जड़ तक अपने मुँह में लेकर उसका बचा हुआ एक एक बूंद भी निचोड़ कर पी लिया.

मॉम भी मदमस्त होकर नवीन का सर पकड़े हुए अपने चुचे नवीन के मुँह में ठूँसे जा रही थीं. आप बताइये दोस्तों कि आप सबको मेरी कहानी कैसी लगी? आप सब अपने अपने कमेंट्स कृपया मेरी मेल आईडी भेजें. फर्क साफ़ नजर आ रहा था, आखिर आर्थर का लंड मेरे लंड से लगभग दो गुना मोटा, और इतना ही लम्बा था!करीब पांच मिनट की धुआंधार चुसाई के बाद हम सभी बेड के ऊपर आ गए.

मैं मेडिकल स्टोर से नींद की गोली ले आया और शाम को मौसमी के जूस में डाल कर सबको पिला दिया.

पर तू अपने बापू का लंड चूस तो सकती ही है, मुझे इसमें बड़ा मज़ा आएगा और मेरा लंड शांत भी हो जाएगा. उन्होंने तो ऊपर ही रखा था पर जब वे मेरा लन्ड पकड़े हुए थे तो मैंने भी उनके अंडरवियर में हाथ डाल कर उनका पकड़ लिया और साथ ही उनका अंडरवियर नीचे खिसका दिया. उसको बिंदु ने सिखा दिया था कि चुत को जितनी देर तक चाटा जा सके, उतना चाटा करो.