बीएफ पिक्चर जानवर वाली

छवि स्रोत,करिश्मा कपूर के सेक्सी गाने

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स बिहारी वीडियो: बीएफ पिक्चर जानवर वाली, यह पुरातन काम युद्ध न जाने कितनी देर चला होगा कि मुझे लगा कि अब मैं झड़ने वाला हूं.

सेक्सी पिक्चर ब्लू पिक्चर चलने वाली

कुछ देर तक चुसाई के बाद मैंने मां को घोड़ी बना लिया और उसकी गांड में पीछे से अपना लंड पेलना शुरू कर दिया. सेक्सी दारूअब वो उस लड़के के लंड को बारी बारी से चूसने लगीं और लड़का एक की चूचियों को पीते हुए दूसरी की चूत में उंगली करने लगा.

करीब बीस मिनट बाद मैंने उससे पलटने को कहा और उसकी बांहों और टांगों पर मसाज करने लगा. सेक्सी वीडियो चूत सेक्सबुआ सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी कुंवारी बुआ की चुदाई की अपने ही घर में.

इस तरह से रोहन ने रजक लाल और सेक्यूरिटी गार्ड से अपनी गांड खुलवा ली थी.बीएफ पिक्चर जानवर वाली: वैसे मेरा मन तो कर रहा था कि स्पीड बढ़ाकर उसकी चूत को एक बार रगड़ दूं!मगर मुझे पता था कि वो अभी छोटी है और नई नई जवानी में कदम रख रही है.

मैंने 2 मिनट में ही अंजलि की ब्रा उतार दी। उसके बड़े बड़े गोरे चूचे नंगे कर दिये.लगातार धक्कों के बाद वो वीर्य छोड़ कर अलग हुआ और मेरे स्तनों के नीचे लेट गया और निप्पल चूसने लगा.

मारवाड़ी सेक्सी पूरी - बीएफ पिक्चर जानवर वाली

शायद उसकी पैंटी सही तरीके से सैट नहीं थी, तो वो उसे ही सैट कर रही थी.मां को भी उसकी बातों में रस आने लगा और वो भी उस गैर मर्द के साथ सहज होने लगीं.

जब कई मिनट तक गांड को चाटता रहा तो मौसी ने कहा- ये सब किसी और दिन कर लेना. बीएफ पिक्चर जानवर वाली वो घुटनों पर आ गयी और मैं खड़ा हो गया।वो मेरे लौड़े को हाथ में भरकर बोली- आज मेरी और मेरी चूत की खैर नहीं।फिर उसने मेरे लन्ड को सूंघा, सुपारे पर जीभ फिराई, टट्टे चाटे.

मंजुला ने वैसा ही करते हुए अपने दोनों हाथों से अपनी गांड की दरार खूब अच्छे से पसार दी.

बीएफ पिक्चर जानवर वाली?

उसका मुंह मेरे लंड की ओर हो गया और मेरे मुंह की ओर उसकी चूत हो गयी. मौसी ने मेरे साथ क्या किया?हाय दोस्तो, कैसे हो आप सब! दोस्तो मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं।अब तक जितनी भी कहानियां यहाँ प्रकशित हुई हैं मैंने सभी पढ़ी हैं और पढ़कर बहुत मजे लिये हैं. लेकिन मुझको एक बार में पूरा पैग पीना पड़ा … क्योंकि वहां सब लोग घर के भी थे.

अब मैं उनकी पैंटी चोरी करके अपने बिस्तर में लेट कर रात भर पैंटी को लंड के ऊपर लपेट कर उसमें कम से कम दो बार मुठ मारा करता था. मेरा नाम टीना गुप्ता है और मैं 24 वर्ष की अविवाहित लड़की हूँ … मगर मैं कुंवारी नहीं हूँ. मैंने कहा कि जब तक मैं नहा कर आती हूं तुम जरा सेट टॉप बॉक्स को देख लो.

अब उसने अपनी पूरी ताकत लगा दी और मेरे लंड को मशीन की तरह चूसने लगी. पूजा आंटी- देखो … मैं चाहती हूँ कि हमारा नाम कहीं किसी को मालूम न हो. फिर जैसे ही उसकी नज़र अपनी चूत पर पड़ी और बेड शीट पर खून पड़ा दिखाई दिया तो वो रोने लगी.

मैं लेट गया तो भाभी उठी और दोनों टांगों को मेरी दोनों बगल में कर लिया. मैंने उनकी ड्रेसिंग टेबल से केश तेल की शीशी उठा ली और उनकी गांड के छेद पर शीशी से तेल टपकाने लगा.

फिर मैंने रिया को बेड पर गिराया और उसके ऊपर जाकर उसे चूमने लगा।रिया पागल होती जा रही थी.

राजेश को सहानुभूति जताते हुए मैंने कहा- तो आपको अपनी पहली बीवी की बहुत याद आती है.

ड्रेसिंग टेबल के सामने खड़े होकर अपने बाल संवारे, लाइट मेकअप किया और लॉबी में आ गई, बाबूजी के सामने से इठलाते हुए रसोई में गई, अपना खाना निकाला और डाइनिंग टेबल पर बैठकर खाने लगी. भाभी के चेहरे को कुछ देर चूमने के बाद, मैं उनके होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगा. उसकी देखा देखी मैंने भी इस तरफ वाला मम्मा अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगा.

फिर थोड़ी ही देर में मेरा पानी बाजी की चूत में गिर गया।मैं भी थककर उनके ऊपर गिर गया. अब आगे की सेक्सी ब्लोजॉब स्टोरी:उसने नाश्ता समाप्त करके खाली रैपर्स पास में रखी डस्टबिन में डाल दिए. मेरी कमर में हाथ डालकर मेरी चूचियों के ऊपर से मुझे अपनी बांहों में ले लेता था.

मैंने उन्हें चूमा और कहा- चाची, किसी कुंवारे छेद को फाड़ने का हक तो बनता है न मेरा?चाची बोलीं- हां, मेरे मन में यही चल रहा है मगर मुझे बहुत डर लग रहा है कि कहीं फट न जाए.

मैंने अपने बाथरूम में एक मोटे हैंडल वाला टूथब्रश रखा हुआ था, जिसे मैं अपनी चुत में डालकर अपनी चुत का पानी निकाल लेती थी. उधर बलविंदर ने दरवाजे की चिटकनी को लगा दिया, फिर उसने सारा सामान टेबल पर रख दिया और अलीमा की ओर बढ़ने लगा. अब वो मेरे चूत की खुदाई अपने मोटे लन्ड से करने लगा।दर्द के मारे मेरी जान निकली जा रही थी लेकिन मैं ना तो उसको रोक सकती थी और ना ही कुछ बोल रही थी।इसी तरह सागर ने काफी झटकों में अपना मोटा लन्ड मेरी चूत के पार किया.

उसने मादक से स्वर में कहा- बर्फ तो अभी नहीं है, अगर तुम्हें कुछ और चाहिए तो बता दो. मैंने कहा- ये बात मेरे तुम्हारे और मेरे दो दोस्तों के बीच ही रहेगी. मैंने अगर ढंग से नहीं पकड़ा होता तो वो मेरे नीचे से निकल कर भाग ही जाती.

मैंने उसको चोदना शुरू कर दिया और उसने मेरी पीठ पर अपने हाथों से मुझे जकड़ लिया.

मैंने कहा- क्यों किसी बाबा से छेद के लिए गंडा लिया है क्या?वो समझ न सकी और बोली- किस गंडे की बात कर रहे हो … मुझे समझ नहीं आ रहा है. अब सेठ ने ब्लाउज खोलकर उसकी चूचियां थाम लीं और उसके होंठों को चूसते हुए उसकी चूत पर लंड को रगड़ते हुए टोपे को घुसाने की कोशिश करने लगा.

बीएफ पिक्चर जानवर वाली मामी की मस्त चूचियों को भींचते हुए मैं उन्हें ताबड़तोड़ चोदने में लगा था. मैं समझ गया कि यहलड़की अनचुदी है, इसकी बुर का आज ही उद्घाटन हुआ है, तो मुझे थोड़ी ऐहतियात बरतनी चाहिए थी.

बीएफ पिक्चर जानवर वाली जैसे ही मैंने उसकी चूत पर जीभ लगाई, वह एकदम से अपने आप को संभाल नहीं पाई और जोर से ‘आहह उहहह ईई ईह. वैसे भी इतने प्यार से कोई मम्मों पर मेहंदी लगाएगा, तो कौन ना सिहर उठेगा.

शालिनी बोली- सुबह तक का इंतज़ार नहीं हुआ आपसे, जो रात में बुला लिया?मैंने कहा- अरे यार, कल मैं अपने बेटे के पास जा रहा हूँ.

गलत सेक्सी

मुझे हॉस्टल में काफी कुछ सीखने को मिला और मैंने बहुत सारा मजा किया. मुझे बिना चादर के नींद नहीं आती, तो मैंने चादर अपने ऊपर कर ली और आधे पैर सीधे करके बैठ गया. मंजुला यार, मेरा लंड भी तो पोंछ दो न!” मैंने कहा तो उसने नेपकिन के सूखे हिस्से से मेरा लंड अच्छे से पौंछ दिया.

मैं एक बहाने से उसके घर गया और उसकी वासना भड़का कर उसके बिस्तर पर ही उसकी चूत चोदी. मैं भाभी की चूत में ही झड़ गया और साथ में भाभी दीवार के सहारे सरकती हुई नीचे फर्श पर आ गईं. यार लंड तो अब लॉकडाउन खुलने के बाद ही नसीब होगा। चल ना … करते हैं आज। मजा आयेगा।मैंने मना करते हुए कहा- चुपचाप मूवी देख ले, पागल हो गयी है तू कमीनी.

मैं तेजी से उंगली को चलाने लगा और एकदम से उसकी चूत ने गर्म रस छोड़ दिया.

मैं भी अब अपनी बहन की तरह आधी नंगी हो गई।वो मेरे मोटे चूचे बड़े ध्यान से देखने लगी।मैं समझ गई कि ये अब कामुक हो गई है।तो मैंने उसको हाथ से पकड़ कर हिला दिया और बोली- घूर कर क्या देख रही है?वो बोली- दीदी, आपकीतो बहुत मोटी हैं।तो मैं बोली- क्या मोटी है?तो वो बोली- चूची।अब मैं हंसने लगी. मैं ‘उफ़्फ़ हह यस आई लाइक इट … ओह्ह फ़क आह आह आह हह ओह्ह आह उफ़्फ़ … आहह हह उ ई मा और तेज़ और तेज़ आह आह!’ की सिसकारियाँ लेती रही।काफी देर तक एक ही तरीके से मुझे चोदने के बाद सागर झड़ गया. उसकी इस बात पर मैं मज़ाक में बोला- अगर अकेले में नींद नहीं आ रही है तो बोलो तो मैं आ जाता हूँ.

मैंने भी अपनी राजधानी एक्सप्रेस को रफ्तार दे दी और हम दोनों की चुदाई मेल छुक छुक करते हुए चल पड़ी. उसकी बात मानते हुए मैंने कहा- बात तो तुम्हारी सही है लेकिन पापा पहले बहू की चुदाई पर ध्यान देंगे. अब मैं उनके सामने सिर्फ अपना लंड सहलाता रहा, मगर मेरी फिर से हिम्मत नहीं हुई कि मैं मामी की चूची को टच करूं.

वो मेरे नाना के छोटे भाई की बेटी यानि कि मेरी मौसी है लेकिन सगी नहीं है. मेरा मोटा हथियार उसकी जांघों के बीच में हिलोरें मार रहा था और बार बार उसकी चूत से टकरा रहा था.

पर मैं ऐसा नहीं कर सकता था इसलिए बाथरूम में गया और मैंने उनका वीडियो देखकर उनकी अभी वाली धोने के लिए उतारी पैंटी को सूंघने और चाटने लगा. चुत पर होंठ लगते ही मंजू के शरीर में तेज कंपन हुई और उसने एक तेज रस की धार ठाकुर के मुँह में छोड़ दी. कुछ ही देर बाद मुझसे रहा न गया, तो मैंने भाभी को 69 में ले लिया और एक दूसरे के आइटम को चूसने की पोजीशन बना ली.

इससे मेरी मम्मी की चुत का छेद बार बार बंद तथा खुलता हुआ दिखने लगा था.

अब मेरी चरम सीमा आ चुकी थी तो मैं झड़ गयी और निढाल होकर अक्षय को सहलाने लगी. वो मेरा हाथ पकड़ कर बोले- जब से तुम्हें देखा है, तब से बस तुम्हारा ही ख्याल था रानी. जब भी मैं अमन का मम्मों का पीना याद करती हूं, मेरी पैंटी अपने आप गीली हो जाती है.

हम दोनों एक दूसरे से चिपके हुए थे, एक दूसरे को खूब चूम और चाट रहे थे।वह मेरे पूरे जिस्म को चाट रहा था। मेरे बूब्स को कभी चूस रहा था कभी दबा रहा था। और बीच-बीच में मेरे होंठों पर किस कर रहा था. माया खुश हो गई और उसने मेरे सामने ही अजय को घर आने का न्यौता दे दिया.

तो ये लो मेरी बुलबुल!” मैंने कहा और अपने दांत भींच कर पूरे दम से लंड को उसकी चूत में पेल दिया. 5 मिनट तक किस करने के बाद मैं बोला- आज तुम्हें शर्म नहीं आ रही?वो बोली- प्यार कर ही लिया है तो अब शर्माना क्या!फिर मैंने उसे फिर से चूमना चालू कर दिया. वह मुस्कुराया और मेरे योनि के दरार पर अपना लण्ड रख कर एक झटके से अंदर डाल दिया.

रेप वाला वीडियो

जब कम्पार्टमेंट की सारी लाइटें बन्द हो गईं … तो एकदम घुप्प अँधेरा हो गया.

बॉयफ्रेंड ने कहा कि इस भिखारी को तेरे चूचे दिखाते हैं, बहुत मजा आयेगा. मेरा लंड उसकी चुत में पूरा पेवस्त हो चुका था और मुझे यूं लग रहा था, जैसे मेरा लंड किसी जगह फंस सा गया हो. मैंने पूछा- क्यों … तुम तो इतनी सुंदर हो … कोई ना कोई तो होना ही चाहिए … झूठ मत बोलो.

मेरे बेटे ने बताया कि पापा के जाने के बाद उसके एक दोस्त ने इस गम को दूर करने के लिए दारू का नशा लगा दिया था. सच कहूँ तो आज तक मम्मों को पिलाने में मुझे इतना मजा कभी नहीं आया था. मौसी की सेक्सी कहानियांये होटल बहुत ही अच्छा और सुंदर था … शहर से एकदम बाहर था और थोड़े से जंगल के बीच था.

एक तो ये विडियो देख कर कभी कभी मजा लूंगा और बाकियों को विश्वास दिलाने के लिए कि एक जबरदस्त रंडी को हम सब ने भोगा. हेमा चाची ने सोफे से अपनी एक काली रंग की जालीदार चड्डी उठाई और अपनी चूत को पौंछा.

मेरे लौड़े के हर झटके से उसकी सिसकारी तेज़ होने लगी और मैं भी फुल स्पीड से चोदने लगा. अब वो अकड़ने लगी थी और आह्हह … आह्ह … की आवाज के साथ उसकी चूत ने एक बार फिर से पानी छोड़ दिया. कुछ देर मेरे दोनों मम्मों को बारी बारी से चूसा फिर मुझे खड़ा कर दिया.

वो फर्श पर टांगों को अपने घुटनों पर लिए हुए लेटी थी और अजय उसको एक एक्सरसाइज बता रहा था. थोडे़ से लटके झटके दिखाऊंगी मर्दों को तो चार पांच तो फिसल ही जाएंगे मेरे ऊपर. माय हॉट सिस सेक्स स्टोरी का अगला भाग:मेरी बहनों ने मेरे लंड का मजा लिया- 2.

अब वो मुझसे मेरी बेटी के बारे में खुल कर बात करता लेकिन अपनी शारीरिक इच्छाओं को वो ज़्यादा खुल कर नहीं कहता.

मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसकी चूचियों को दोनों तरफ से दबाया और उनको भींचने लगा. मैं उसे बाथरूम में ले गया और शावर ऑन करके उसे अपनी गोदी में लिए उसकी चुत पर पानी गिरने दिया.

मेरी बेटी के ससुर की पत्नी यानि उसकी सास का देहांत बहुत पहले ही हो गया था. खेत सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक खूबसूरत कुंवारी लड़की को शादी के बाद प्यार भरी जोरदार चुदाई नहीं मिली तो उसकी चूत लंड की प्यासी रह गयी. ऐसे ही उसने 3-4 बार किया और अरमान ने अपना पूरा लंड मेरी चुत में उतार दिया.

ज़ोहरा आपा अब पूरी तरह खुल चुकी थी- जब तुझे अपनी बहनों के जिस्म पसंद आते हैं तो हम क्या कर सकते हैं. वो डर गया और बोला- सेठ जी, वो नई बोरी मैंने नहीं फाड़ी, वो तो पहले से ही फटी हुई थी. चूंकि वो मुझे जानती भी नहीं थी, तो सवालिया नज़रों से मेरी तरफ देख रही थी.

बीएफ पिक्चर जानवर वाली ये सुनकर वो शांत हुआ और मुझसे बोला- उस दिन जब मैंने आपको कपड़े बदलते हुए नंगा देखा था, तब से मैं आपको चोदना चाहता था. कॉलेज में मेरी पहली चुदाई की कहानी आपको पसंद आई हो तो मुझे अपने मैसेज के जरिये जरूर बतायें.

इंटरनेट सेक्स

मेरी मम्मी को एक बार को दूसरे मर्द का लंड चुत में लेने में लाज आने लगी और वो बोलीं- रुक जाओ … ये ठीक नहीं हैं. जब उसे लगा कि मैं उसके भरोसे के लायक हूं और मैं उसकी बात को कहीं बाहर नहीं बातऊंगा तो वो मुझसे फोन पर बात भी करने लगी. और वो भी एक नहीं तीन तीन बार! लेकिन अगर भाई को बुरा नहीं लग रहा तो मैं क्यों इतना सोच रही हूँ? रफ़ीक़ थोड़े दिन बाद हिन्दूस्तान आ रहे हैं.

कुछ देर के आराम के बाद वो कहने लगा कि चलो मसाज करना सिखाता हूं तुम्हें. तब नौकरानी आयी, तो नीरजा देवी ने उसे खाना बनाने के लिए बोला और ठाकुर साब का ख्याल रखने के लिए बोल कर वो सब चले गए. हिंदी वीडियो सेक्सी कॉमउसको विश्वास नहीं हो रहा था कि किसी महिला की गांड इतनी चौड़ी हो सकती है.

इस बार उसके झटके ज्यादा लम्बे समय के लिए नहीं चले और वो मेरी योनि को अपने वीर्य से भर दिया.

शादी के हफ्ते भर पहले दीदी रात को मेरे साथ मेरे ही बिस्तर में पूरे पांच दिन तक नंगी सोई थी. मैंने अपने घर पर फोन कर दिया और कह दिया कि आज रात ऑफिस में रुकना पड़ेगा.

वह गुस्से में थीं और बोल रही थीं- क्यों … अपनी चाची को भूल गया क्या? कोई दूसरी लड़की मिल गई क्या?मैंने चाची को बोला- ऐसी कोई बात नहीं है. लेकिन मैंने बार बार जिद की तो हेमा चाची बोलीं- भास्कर पीछे से डालोगे … तो मुझे बहुत दर्द होगा. तो मैंने क्या किया?मेरा नाम शुभम है और मैं हरियाणा का रहने वाला हूं। मेरी हाइट 6 फ़ीट और लौड़े का साइज लगभग 7 इंच है.

अपनी चुदाई करवाती हुई छोटी बहन पर इस वक्त मुझे बहुत प्यार आ रहा था.

अब उसका ध्यान अपनी कामुक ब्रा से हट गया और वो शर्ट पहनने लगी।फिर रात हो गई. हिलाते हिलाते उसने मेरा लन्ड मुंह में ले लिया। मेरी प्यारी छोटी बहन मेरा लंड इतने मजे से चूस रही थी कि मुझे उस पर बहुत प्यार आ रहा था और मैं उसके बालों को प्यार से सहलाते हुए लंड को चुसवा रहा था. उसने मुझे फिर से रोकने की कोशिश की लेकिन मैंने उससे प्यार से समझाते हुए वो भी निकाल दी.

चोदा चोदी सेक्सी फिल्म दिखाइएआप लोगों ने मेरी पिछली कहानीमेरी विधवा बहन की जवानी का भोगपढ़ी होगी. मैंने थोड़ा कंट्रोल किया और हम दोनों उस होटल पर पहुंच गए, जहां हमने बुकिंग की थी.

कंडोम की चुदाई

क्रीम लगाने के बाद एक बार फिर से उसने लंड को चूत पर सेट किया और एक जोर का झटका मारा. समर की आदत थी कि वो अक्सर वो जब नहाने के लिए जाता था तो तौलिया भूल जाता था. अपने लंड पर मैंने थोड़ा सा थूक लगाया और भाभी की चूत के छेद पर रख कर धक्का लगाया, तो पूरा लंड आराम से भाभी की चूत में चला गया.

करीब 5 से 7 मिनट धक्के लगने के बाद चुत ने लंड को स्वीकार करके रस छोड़ दिया. तो मैंने क्या किया?हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम विवेक है, मैं हरियाणा का रहने वाला हूं. वो ये सुनकर सकते में पड़ गयी और बोली- मैंने तो अपनी जवानी तुम्हें दे दी.

उसने सास की चुत को थूक से गीला किया और अपना लंड एक झटके से अन्दर धकेल दिया. फिर वो बोली- आपने कल भी आवाज सुनी थी क्या?मैंने हां में सिर हिलाया. पापा के मुंह से सिसकारी निकल रही थी- आह्ह … ओह्ह … माय डार्लिंग डॉटर… सक माय कॉक (मेरी प्यारी बेटी… मेरे लंड को ऐसे ही चूसो… आह्ह।) तुम्हारी मॉम ने भी इतने प्यार से मेरा लंड कभी नहीं चूसा जैसे तुम चूस रही हो… आह्ह … चाटो इसको … ओह्ह।दस मिनट तक मैं पापा के लंड को चूसती रही और पापा मेरे मुंह में झड़ गये.

वहां जाकर मुझे पता चला कि उनके घर में केवल वो और उनकी बेटी ही रहती है. बड़े पापा- हां मेरी जान, तेरी चुत का पानी जो मिलता है इसे!उसके बाद लंड चूसना शुरू हुआ.

मेरी आंख खुली मगर मैंने सोचा कि नींद में रखा होगा और मैं भी फिर सो गयी.

दीपू के घरवाले उसकी शादी किसी कनाडा के लड़के से ही करवाना चाहते थे. सेक्सी 2020 के सेक्सीमैंने जल्दी से पार्किंग से बाइक निकाली आकांक्षा को बिठाया और दोस्त के रूम पर पहुंच गया. सेक्सी देखना है सेक्सी वीडियोमैं एक फैक्ट्री में नौकरी करता हूँ। कभी कभी मैं अपने पिता के साथ भी काम करवा देता था. मैंने लंड उसकी चुत से निकाल लिया और उसको डॉगी स्टाइल में होने को बोला.

अब हम दोनों नँगी लड़कियां आपस में ऐसे चिपकीं कि पूछो मत … दोनों एक दूसरे के नंगे जिस्मों से नागिन की तरह लिपटने लगीं.

हालांकि मंजुला की बॉडी लैंग्वेज देख कर मुझे कुछ कुछ आशा तो बंधती थी कि उसके दिल में भी चाहत का बीजारोपण तो हो ही चुका है. अब बाजी की उभरी हुई गांड साफ सामने आई और मैं अपना लंड चूत के सुराख में डालने लगा. इस पर मैंने बोला कि इनका ध्यान कौन रखेगा?सासु मां बोलीं- कि मैं रख लूंगी.

उसका पानी इतना गाढ़ा और ज्यादा था कि बाद में मुझे गोली खानी पड़ी थी वरना मैं प्रेग्नेंट हो जाती. मैंने भी मौके का पूरा फायदा उठाया और उसकी दोनों गालों को पकड़ लिया और उसके होंठों का रसपान करने लगा. दोस्तो, मैं अन्तर्वासना पर प्रकाशित सेक्स कहानियों को बहुत पसंद करती आयी हूँ.

एक्स एक्स एक्स कहानियां

कुछ ही देर में मेरे घर वाले भी आ गए।अब मैं इंस्टीट्यूट जाती तो सागर से गांड चूत मरवाती थी. संजय थोड़ा और ज़ोर से दबाओ।उसके बाद मैंने भाभी का कमीज उतारने को बोला तो भाभी ने शर्ट उतार दिया।अब वो काले रंग की ब्रा में मेरे पास लेटी थी। फिर मैंने उसकी ब्रा को उपर करके उसके पास लेट कर उसकी एक चूची चूसने लगा और दूसरी हाथ से दबाने लगा।मैं अपना एक हाथ नीचे भाभी की चूत पर लेकर गया. बूढ़ी औरत ने कोई तावीज आपा को बांधा था और एक मजार पर किसी पीर औलिया की सेवा करने को कहा था.

मेरा नाम अभिमन्यु है और मैं मंडला में रहता हूँ पेशे से एक कॉन्ट्रेक्टर हूँ। इसके पहले मैं बालाघाट में रहता था और पढ़ाई जबलपुर से की है.

उस नयी चूत के साथ पुराने किरदारों का तालमेल कैसा रहा?दोस्तो, कैसे हो आप लोग? मैं आशा करता हूं कि आप सभी स्वस्थ होंगे और चुदाई का मजा ले रहे होंगे.

फिर मैंने थर्ड इयर में मैं दूसरी जगह रूम लेकर रहने लगा तो वो उस रूम में आने लगी।मेरी यह सेक्सी स्टोरी कैसी लगी आपको? कृपया ईमेल करें. अब मैंने दूसरे हाथ से उनकी दूसरी चूची भी पकड़ ली और दोनों चूचियों को मस्ती से दबाने लगा. पोर्न एचडी वीडियो सेक्सीमैंने एक भी पल का समय ना गंवाते हुए अपने होंठों को उनके होंठों पर रख दिया और चूसने लगी.

मैंने अपनी क्लासमेट गर्लफ्रेंड की चुदाई कैसे की?मेरी कॉलेज लाइफ की इस सेक्स कहानी के पहले भागटीचर की चुदाई देखकर मुझे कुंवारी चूत मिली-1में अब तक आपने पढ़ा कि मेरी टीचर की चुदाई स्कूल के प्रिन्सिपल सर ने बाथरूम में की थी, जिसे मैंने और मेरे साथ पढ़ने वाली आकांक्षा ने देखा था. इस पर मैंने कहा- शुभम दो तीन दिन के लिए जा रहा है तो इन दो तीन दिनों में आप मेरे साथ खेल लो, मेरा भी दिल बहल जायेगा. क्योंकि मुझे नहीं लगता कि बुआ जी अपने बेटे के साथ ऐसा कुछ करना पसंद करेंगी.

तभी किसी के आने की आहट हुई तो मामी बाथरूम में चली गईं और मैं भी बाहर निकल गया. फिर उन्होंने चारपाई से उठते हुए मुझे साथ आने को बोला तो मैं पीछे पीछे चल दिया और सीढ़ियों से उतरते हुए उनकी हिलती गान्ड की देख कर मज़ा लेने लगा।हम दोनों नीचे आ गए तो वो कमरे की तरफ जाने लगी.

मंजुला का विरोध अब न के बराबर ही था और वो परकटी हंसिनी सी निढाल, काम के वशीभूत मेरे बाहुपाश में निश्चेष्ट सी बंधी चुदने को प्रस्तुत थी.

चुदाई के बाद बड़ी मम्मी ने मेरे ऊपर से उठ कर अपने कपड़े पहने और आंख मारती हुई चली गईं. करीब 10 मिनट के बाद मेरे लंड ने भी पानी छोड़ दिया और मैं उसके ऊपर ही गिर गया. फिर कुछ देर चूसने के बाद वो उठी और उसने अपने सारे कपड़े निकाल फेंके.

श्री कृष्ण के वॉलपेपर उसकी पीठ पर झुक कर मैंने उसके बूब्स दबाते हुए पूछा- जान … कहां निकालना है?उसने सिसकारते हुए कहा- अंदर नहीं, चूत के ऊपर निकाल लो. अपनी चूत में लंड लेकर वो कूदने लगी और सिसकारियां लेने लगी- आह्ह … आह्ह, आह्स … याह्ह … ओह्ह… करते हुए वो मस्ती में चुदते हुए एकदम से मदहोश होती जा रही थी.

इसी हालत में मैं अपने लंड को आपा की गीली चूत में आगे पीछे करने लगा. मेरी चुदाई का समय भी जल्दी ही आ गया और मैंने भी चुदाई की शुरुआत कर ली. मैंने उसकी तरफ बांहें फैला दीं, तो वो झट से मेरी बांहों में समा गई और उसने मुझको किस करना चालू कर दिया.

ब्लू बफ पिक्चर

मैंने उसकी चूत को हाथ से रगड़ा और एक दो बार जीभ से चाटा और उंगली से भी चोदा. फिर उसने मुझे बाइक पर पैर उठाकर बिठा दिया और मेरी साड़ी हल्की सी उठा कर उसके अंदर घुस कर मेरी चूत चाटने लगा।अब मैं उस खुली सड़क में अपने आशिक से अपनी चूत चटवा रही थी और ज़ोर ज़ोर से उफ़्फ़ आहह ओह्ह यस उफ़्फ़फ़ की आवाजें निकाल रही थी।जब मैं एक बार झड़ी तो सागर मेरा पानी चाट कर खड़ा हुआ और मैं खुद ही गाड़ी के पायदान पर बैठ गयी. जिया की फूली हुई गांड देख कर मेरा लौड़ा दिन में जाने कितनी बार खड़ा हो जाता था.

उसकी गांड 36 पीछे को उठी हुई है … कमर 30 की और उसके मम्मे 34 के पूरी तरह से तने हुए हैं. बहुत कोशिश की उसको उसकसाने की लेकिन वो अपनी तरफ से शायद पहल नहीं कर पा रहा था.

मुझे बहुत आनंद मिल रहा था जैसा कभी मैं सोचती थी आज वैसा सेक्स मेरे साथ हो रहा था.

वो कहते हैं ना कि दाने दाने पर लिखा है खाने वाले का नाम, चूत पर लिखा है उसे बजाने वाले का नाम. जैसे ही वो उठी मैंने पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया और चाची नंगी हो गयी. अब वह मेरी चूचियों से खेलता, दोनों चूचियों को बारी-बारी मुंह में देकर चूसता, हाथों से दबाता.

मुझे जैसी लेडी गर्ल्स पसंद हैं, वो बिल्कुल वैसी माल थी … कुल मिलाकर मेरी फ़न्तासी से भरपूर मॉल नताशा. लगभग दो मिनट की स्मूच के बाद मैंने उसे छोड़ा और चुदाई के बारे में पूछा. यार तेरी चूत इतनी टाइट कैसे है, लगता ही नहीं कि तू शादीशुदा है और एक बच्चे की माँ है?” मैंने उसके दूध मसलते हुए कहा.

चलो, मुझे अपना बड़ा भाई कह के सबसे मिलवा देना; अब ठीक?”नहीं नहीं, भाई नहीं …” वो आंखें चुराते हुए जल्दी से बोली.

बीएफ पिक्चर जानवर वाली: मेरे नीचे कैसे आयी वो?हैलो फ्रेंड्स, मैं अक्षय कुमार (बदला हुआ नाम) आज आप सभी का मेरी इस देसी GF सेक्स कहानी में स्वागत करता हूँ. लेकिन अब हम दोनों की बात नहीं होती है और इसलिए मैं आपसे बात कर रहा था और मिलने आया हूँ.

मैंने नीचे झुककर देखा तो उसकी चूत में लंड जब अंदर जा रहा था तो पूरी चूत फैलकर मेरे लंड का स्वागत कर रही थी. मैं बीच में बैठा था। ब्रेक लगने पर वो बार बार मेरे ऊपर दब जाती थी तो उसकी चूचियां मेरी पीठ कर टच हो जाती थी। मुझे मजा आने लगा।थोड़ी दूर जाने के बाद मेरे भाई ने मुझे बताया कि ये तो मंजू है. [emailprotected]मां की चुदाई की कहानी का अगला भाग:पापा ने भाभी और दीदी को चोदा.

पर मुझे यह नहीं समझ आया कि इतनी जल्दी इन दोनों की बात लन्ड और चुदाई तक बात पहुँची कैसे?लेकिन जो भी हो अब ये साफ था कि या तो मेरी सेक्सी मम्मी मेरे बॉयफ्रेंड का लंड खा चुकी थी या आने वाले समय में सुधा भी सागर का लन्ड लेने वाली है।अब मैं नीचे चली आयी और किचन में खाना बनाने लगी.

वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी और मेरी जीभ को अपने मुंह में खींच रही थी. उसकी चूत में से एक मादक सी खुशबू आ रही थी जो मुझे पागल कर रही थी।मैंने उसकी दोनों टांगों को चौड़ा कर दिया. ये सुनकर मॉम शर्मा गईंदरअसल मेरी मॉम थोड़ा कम बोलतीं हैं … इसलिए वो चुप ही रहीं.