एक्स एक्स बीएफ फिल्म हिंदी

छवि स्रोत,फुल एचडी सेक्सी बीएफ पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगी नहाती औरत: एक्स एक्स बीएफ फिल्म हिंदी, चूंकि इस बार अर्शिया बहुत दिनों बाद मेरे घर आई थी, तो उसका मन लग गया और उसने अपनी मम्मी के साथ अपने घर वापस जाने से मना कर दिया.

बीएफ स्कूल की लड़कियां

चुत लपलप कर रही थी तो मैंने लंड चुत में घुसा दिया और ऊपर चढ़कर उसे चोदने लगा. एमपी के बीएफ वीडियोचाची सिसकारियाँ भरती जा रही थी- वाह मेरे राजा … मेरे राजा आराम से कर ना! जब मैं तेरी हूं! आज के बाद मैं अपनी चूत तेरा नाम करती हूँ.

मैंने देखा कि उनकी सासू मां बाहर नहीं थीं, शायद वो अपने कमरे में चली गई थीं. बीएफ सनी लियोन फिल्ममैंने तुमको धोखा दिया है और इसी गम में मुझे कुछ भी खाना अच्छा नहीं लगता था.

अंकल ने मां की ब्रा निकाली और उनके मम्मे पर किस करके निप्पल को चूसना शुरू कर दिया.एक्स एक्स बीएफ फिल्म हिंदी: मैंने उनकी ब्रा का एक कप हटाया और उनके एक निप्पल को अपने होंठों में भर कर चूसने लगा.

मैंने भाभी को कहा- बस थोड़ी देर बाद!जब भाभी का दर्द कम हुआ तो मैंने आराम से भाभी को चोदना चालू कर दिया.इसीलिए शायद हमें कभी बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड की जरूरत नहीं महसूस हुई.

बीएफ पिक्चर वीडियो स्टेटस लाइव - एक्स एक्स बीएफ फिल्म हिंदी

अभी मैं कुछ बोलता, उससे पहले ही मैं अन्दर देखा तो मम्मी बेड पर बेडशीट ठीक कर रही थीं और अंकल अन्दर आ गए थे.थोड़ी देर बाद आरू बोली- भाई अब रहा नहीं जा रहा है … पेल दो अपना लंड … अपनी बहन की बुर में.

दोस्तो, गर्लफ्रेंड मॉम रेखा आंटी की चुत चुदाई का मजा कैसे ले सका और साथ में मैं अपनी गर्लफ्रेंड की मामी को रगड़ कर चोद दिया. एक्स एक्स बीएफ फिल्म हिंदी उसकी मादक आवाजें निकलने लगी थीं- आआ आहह अहह अरमान … गो डाउन गो डाउन.

लता के होंठों को किस करते करते मैंने उसके दोनों मम्मों को दबाना शुरू कर दिया.

एक्स एक्स बीएफ फिल्म हिंदी?

वो जाने लगा तो मैंने उससे कहा- शाम को कब और कहां मिलोगे, अपना नंबर दे दो … जिससे सही पता चल जाएगा. मैंने ये कह कर उनको टाल दिया कि आज मेरी सहेली का जन्म दिन है, तो मुझे दिन में वहीं जाना है. कुछ पल बाद मैं भाभी के ऊपर से हटा और हम दोनों बगल बगल में लेट कर फिर से मस्ती करने लगे.

इसी बीच मेरी कुंवारी चुत में आशीष के मोटे लंड से चुदने की बहुत चुल्ल मचने लगी थी. [emailprotected]गाँव की देसी चूत चुदाई कहानी का अगला भाग:मकान मालकिन की बेटी चुदाई कराने आयी- 2. तबादले की खबर हम दोनों के लिए किसी सदमे से कम नहीं थी, एक तरफ तो तबादले के साथ साथ शरद की तरक़्क़ी भी हुई थी, जिससे उसकी आमदनी के साथ उसका प्रोमोशन भी हो गया था.

मैंने शब्बो को बिस्तर पर लिटा दिया और टाँगों के बीच अपना मुँह ले जाकर अपने होंठ उसकी चूत के होंठों से सटा दिये और अपनी जीभ उसकी चूत के अन्दर चलाकर उसका रस गटकने लगा. मैंने देर ना करते हुए दीदी की सास की साड़ी ऊपर करके चूत का दीदार किया. भले ही धक्के तेज नहीं लगे, मगर उनका लंड मेरी चुत के चिथड़े उड़ाता रहा.

लेकिन उसने होटल में मिलने के लिए यह कह कर मना कर दिया कि शादी के बाद चुदाई करेंगे. सेक्सी आंटी ने मेरे लण्ड का सुपारा अपनी चूत के मुखद्वार पर टिकाकर मुझे कमर से पकड़कर अपनी ओर खींचा तो मेरा लण्ड आंटी की चूत में समा गया.

मैंने उसको सही बात नहीं बताई, हां थोड़ी घुमा-फिरा कर उसे बताया कि मैं इतनी बेकार और दब्बू जैसी दिखती हूँ, इसी लिए कोई कॉलेज में मुझसे बात नहीं करता.

मुझे भी लगा कि दरवाज़ा बन्द करके खेल करना चाहिए ताकि सब कुछ पूरी मस्ती से हो सके.

मैं समझ गई कि अब्बू मेरी बुर चौड़ी करके अपने लण्ड का रास्ता बना रहे हैं. मैंने उसको उल्टा लिटा दिया, उसकी गांड में थूक लगा कर लंड घुसा दिया और चोदने लगा. अब मैं आंटी के साथ नॉनवेज जोक और नॉनवेज बातें करने लगा था; उनके जिस्म को टच करने लगा था.

यही सोचते हुए मैंने शरद को सोफा पर बिठा दिया और उसके सामने अपने घुटनों पर बैठ गई. इस ब्लाउज में से उसके लगभग साठ प्रतिशत दूध दिख रहे थे, सिर्फ़ निप्पल दिखना बाकी रह गए थे. उसने एकदम से पलट कर मुझे देखा तो उसने पाया कि उसकी चुत की चुदाई हो रही है.

उस वक़्त दर्द से मैं मरी जा रही थी लेकिन मैं मुँह में कपड़ा ठुंसा होने के कारण चुप रही.

मैंने उठ कर पक्का करने के लिए कि सब सोए या नहीं, मैं वाशरूम गया और वापस आकर सभी को देखते हुए पानी पिया. कुछ देर एक उंगली से ही चुत को ढीला करने के बाद मैं अपनी दो उंगलियों से उसे चोदने लगा और उसकी चूत को चाटने लगा. इन दोनों ही बार हमने एक दूसरे को भरपूर प्यार किया था और एक दूसरे से दूर रहने की एक एक कसर को पूरा किया था.

मैं आफताब आपको अपनी गांड फाड़ सेक्स कहानी के पहले भागपड़ोसी की कामुक निगाह मेरी कमसिन गांड परमें सुना रहा था कि पड़ोसी जुनैद भाई ने मेरी गांड को किस तरह से ढीला करने की ट्रेनिंग शुरू कर दी थी. लेकिन यह जरूर था कि अगर वह पढ़ने आई तो अब मेरे लौड़े के नीचे जरूर आ जाएगी. इसके साथ ही मेरी आदत है कि मैं सोने से पहले मोबाइल में अन्तर्वासना की सेक्स कहानी जरूर पढ़ता हूँ, जिससे मेरे दिमाग में सेक्स भरा रहता है और सेक्स कहानी पढ़ कर मेरे लंड भी खड़ा हो जाता है.

मैंने फिर से पूछा कि क्या हुआ मौसी?तो वो बोलीं- कुछ नहीं शरीर में थोड़ा सा दर्द है और सिर में भी.

हम दोनों एक दूसरे को ऐसे देख रहे थे मानो हमसे अभी अभी कोई बहुत बड़ा पाप होने से बच गया हो. मैं खड़ा हुआ और उसके पास गया लेकिन उसने कहा- थोड़ा सब्र करो यार!वो मेरे बैग लेकर अपने बेडरूम की ओर चली गयी और जाते जाते बोली- जब मैं बुलाऊं, तब आना.

एक्स एक्स बीएफ फिल्म हिंदी मेरे साथ शादी से पहले वो एक मेकअप आर्टिस्ट थी और मॉडल बनना चाहती थी. लेकिन धीरे धीरे स्कूल की सहेलियों से पता चल गया कि इसको चुदाई कहते हैं और इसमें बहुत मजा आता है.

एक्स एक्स बीएफ फिल्म हिंदी फिर अंकल ने टी-शर्ट मोड़ कर मेरी चूची पर हाथ रख लिया, जिसके लिए मैंने भी उनको कुछ नहीं बोला. फिर उसके बाद फिर से यह देखने के लिए करेंगे कि चौकी में ज्यादा मजा आया या मेरे रूम में.

वो भी गर्म हो गया था, उसने मेरे एक दूध पर अपने होंठ लगा दिए और मैंने उसको अपने दूध चुसाने लगी.

सेक्स वाली बीएफ एचडी

उसकी तेज़ तेज़ चुसाई से मेरे लौड़े ने वीर्य छोड़ दिया तो वो गटागट करके पी गई. आंटी की नंगी चूचियां बड़ी मस्त हिल रही थीं और आंटी अपने बोबे दबा दबा कर साबुन से मल रही थीं. तुरंत मैंने उसकी चुत में अपनी जीभ को लगा दिया और वो गर्म सिसकारियां लेने लगी.

नील की बातों ने मुझे गर्म कर दिया, मैं बोला- पर …तो उसने बोला कि मैं कभी किसी को कुछ नहीं बताऊंगा. मैंने बोला- लगते नहीं हैं कि आपके बच्चे हैं! ये तो आपके छोटे भाई बहन लग रहे हैं. उतने में वहां से शरद अन्दर आया- अच्छा हुआ तुम उठ गई, बेबी मुझे जल्दी निकलना होगा.

सुनील मुझसे बोला- चल बे मस्त माल हैं तीनों … कोई जुगाड़ सैट करते हैं.

उस तरफ एकदम सन्नाटा था तो वो अंकल ने मेरी कमर पकड़ कर मुझे अपनी गोद में बिठा लिया. नमस्कार, मेरा नाम अंजलि ठाकुर है और मैं जम्मू में रहती हूं।यह मेरी अन्तर्वासना पर पहली कहानी है। अगर कोई लगती हो तो मुझे माफ करना. चाची मेरे सामने घोड़ी बनकर अपने चूतड़ ऊपर उठाकर चूत को खोल कर बेड पर लेट गई.

उसकी चुत का रस उसकी गांड के छेद को भिगोता हुआ नीचे चादर तक आ रहा था. इतने समय नन्दिनी से बातें करते करते मेरे अन्दर भी नन्दिनी के लिए प्रेम की भावनाएं आ चुकी थीं. अब मैं भाभी के मस्त नंगे बदन को हर जगह सहला रहा था और उनकी गदरायी हुई जांघों को सहलाते भींचते हुए नीचे आने लगा.

मेरा लंड उसकी गुफा में अन्दर घुसता चला गया और मुझे मानो गर्म भट्टी का अहसास होने लगा. मुझे लगा था कि यह एक अच्छी लड़की है … लेकिन उसका यह रूप देख कर मुझे समझ आ गया कि नन्दिनी भी वो ही चाहती थी, जो मैं चाहता था.

जैसे ही मैंने लौड़े को पकड़ा पेशाब करने के लिए तो निशा लौड़े के सामने बैठ गयी. आइसक्रीम खाने के बाद मैंने उससे कहा- तुम बैठो, मैं नहा कर आता हूँ … थोड़ा फ्रेश फील होगा. मॉम ने कहा- ठीक है … लेकिन मैं क्या पहन के चलूं?मैंने कहा- बिकिनी … जो आपने मॉल में खरीदी थी.

फिर मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और उसकी पैंटी उतार कर उसकी चुत को चाटना और चूसना शुरू कर दिया.

अपना खूब सारा थूक निकाल कर वह मेरे निप्पल को चूस रही थी, चाट रही थी. मैं लगातार 2 महीनों तक सबसे उच्चतम मैनेजर के तौर पर चुनी गई थी … और सब मेरे काम से बहुत खुश थे. पीठ पर लैपटॉप बैग, एक हाथ में लड़कियों का पर्स … और एक हाथ में एक छोटी ट्रॉली.

ये इतने मादक थे कि मैंने अब तक कभी भी किसी साईट में नहीं देखे थे … बल्कि अपनी कल्पना में भी ऐसे चुचे नहीं सोचे थे. अब मैं अपने लंड का सुपारा मौसी की गांड पर टिका कर घिसने लगा और धीरे से धक्का दे मारा.

मैंने बुआ को उनके कपड़ों के साथ बाथरूम में भेज दिया और अपने आपको … और बिस्तर को साफ कर दिया. उस पार्टी में कम से कम ढाई सौ लोग आए हुए थे जिनमें आसपास के बिजनेसमैन और उनकी फैमिली के लोग ज्यादा थे. मैं जानता था कि फिलहाल यही मौका है था दीदी को चोदने का, इसलिए मैंने जरा भी देरी नहीं की थी.

10 साल की लड़कियों के बीएफ

मेरी पिछली कहानी थी:जुम्मन की बीवी और बेटियाँअशफाक़ नर्सरी से मेरा सहपाठी था.

बीवी ने अपने बैग से लिपस्टिक निकाली और अपने चुसे हुए होंठों पर लाली लगा कर मेरे सामने अपनी गांड मटकाती हुई बाहर के लिए चल दी. मैंने उसकी तरफ देखा और मुस्कुरा कर कहा- पहली बार लड़की पटाई है!वो हंस गया और बोला- प्लीज़ यार … खिंचाई मत करो. मेरी गांड से काफी खून निकल गया था इसलिए मैं चलने की भी हिम्मत नहीं कर पा रहा था.

मैंने उनका ब्लाउज खोल कर उनकी दूध जैसी सफेद चूचियों को बाहर निकाला और दोनों मम्मों को जोर जोर से मसलने लगा. फिर चुदाई के बाद श्रेया ने उस लड़के से कहा कि आज के बाद हम कभी नहीं मिलेंगे … और वो सच में आज तक उससे नहीं मिली. बीएफ सेक्सी वीडियो मोटीमैंने पूछा- सब खैरियत तो है? एसी में कोई दिक्कत आ गई है क्या, जो सुबह से ही बंदे को याद कर लिया.

मैंने जाते ही मोटो पर चुम्मियों की बौछार कर दी और उनके गले पर अपने दांत गड़ाने लगा. उसकी मादक आवाजें निकलने लगी थीं- आआ आहह अहह अरमान … गो डाउन गो डाउन.

सुबह हम लोग 11 बजे तक सोकर उठे और साथ में ही नंगे बाथरूम में घुस गए और साथ में ही नहाने लगे. मैडम बहुत खुश हुईं और बोलीं- हां तुम्हारा गुलनिहाल कहना मुझे बड़ा अच्छा लगा और सुनो अब से तुम मुझे सिर्फ गुल ही कहा करो यार … निहाल जी लगा देने से मैं खुद को तुमसे बहुत बड़ी महसूस करने लगती हूँ. इतने में सलमा ने मुझसे कहा- अलीज़ा से बात नहीं करोगे?मैंने कहा- हां क्यों नहीं … मुझे लगा कि वो तुमसे बात करने आई है.

वो होंठों से मेरी जीभ को चूसती हुई मेरे लंड पर गांड उठा उठा कर कूद कूद कर चुदवाने लगीं. उनको देख कर मेरा लंड खड़ा होने लगा था लेकिन फिर मैंने अपने आप पर काबू किया और मालिश करने लगा. ये देख कर मेरा और आरू की खुशी का ठिकाना न रहा … क्योंकि हम दोनों को बारिश वैसे भी बहुत पसन्द है और साथ में हम दोनों मूड में भी थे.

ये बात आप खुद सोचिये कि एक खुले ब्लाउज में से कोई रांड किस्म की औरत अपने दूध किसी मर्द के चेहरे के करीब लाकर दिखाएगी तो उस मर्द का लंड खड़ा क्यों नहीं होगा.

मैंने उठ कर पक्का करने के लिए कि सब सोए या नहीं, मैं वाशरूम गया और वापस आकर सभी को देखते हुए पानी पिया. मैंने अपना वीर्य अपनी बहन की चूत में उड़ेल दिया और निढाल होकर उसके ऊपर लेट गया.

फिर हम दोनों ने नंगे ही किचन में जाकर खाना गर्म किया और उसे वापस अपनी गोदी में बिठाकर मैं उसे खाना खिलाने लगा. ये सब बताते हुये मैंने उनके टी-शर्ट के ऊपर से अंदर देखा तो भाभी ने ब्रा नहीं पहनी थी. हम दोनों की सिसकारियां निकलने लगी।थोड़ी देर बाद हम दोनों ने एक साथ पानी छोड़ दिया और एक दूसरे का पानी पी गए।कुछ देर बाद ही मेरा लौड़ा खड़ा हो गया.

हाथ हटाने के बहाने मैं अपनी उंगली की टपोरियां उसकी लिंग पर जड़ से रगड़ती हुई लिंग के मुख तक ले आई. अंकल ने एक जोर से धक्का लगाया तो लंड मां की चूत में पूरा अन्दर गहराई तक चला गया. मौसी ने कहा- बेटा, आज मुझे मत रोको, तुम्हारे मौसा जी के जाने के बाद मैंने आज तक अपनी जिंदगी अपने लिए नहीं जी है.

एक्स एक्स बीएफ फिल्म हिंदी मैंने एक पैग और मारा … फिर उसको उल्टा करके उसकी गांड को जमकर किस किया और मसला. कुछ देर बाद जब मौसी से रहा नहीं गया तो उन्होंने कहा- जल्दी से अन्दर बाहर कर दे … कोई आ जाएगा, तो मजा किरकिरा हो जाएगा.

रानी मुखर्जी सेक्सी वीडियो बीएफ

मैंने उससे कहा- ओके तुम वहीं चौराहे पर मिलो, मैं भी आ रही हूँ … फिर साथ चलते हैं. मैंने अपने जन्मदिन के अवसर पर उससे गिफ्ट के तौर पर एक किस मांगा तो उसने मुझे मेरी दोनों गालों पर चुम्मा दिया. तैयार होने के बाद मॉम ने एक मिनी स्कर्ट और टॉप पहनी जो गहरे गले की थी जिसमें मॉम के आधे दूध दिख रहे थे.

रात को पार्टी शुरू हुई तो शबाना ने कहा- हम तीनों में कोई भी शराब नहीं पीती है. अमित के कहने पर उस दिन मैं अपनी शादी का जोड़ा पहन कर तैयार हो गई थी. एचडी बीएफ हिंदी चुदाईलंड के सुपारे के चूत के मुहाने पर जाते ही रंगोली सिहर गयी और चिल्ला दी- आह … धीरे!उसी समय साहिल ने तेज़ी से अपना लंड रंगोली की चूत में घुसा दिया.

जैसे ही मैंने लंड को चूत पर रखकर धक्का मारा तो वो दर्द की वजह से कराह उठी.

जब मैंने उनको देखा, तो पूछा- अंकल क्या चाहिए?वो बोले- कुछ नहीं बस तुम्हें देखा तो आ गया. आंटी अपने दोनों हाथों से अपनी चूचियां छिपाकर हलकी सी मुस्कुराती हुई मुझे बाहर निकल जाने को कहने लगीं.

उसकी शादी कहीं और हो गई और मेरी कहीं और … भले ही हमारे बीच अब चुदाई नहीं हो पाती है लेकिन हमारे बीच आज भी प्यार है. कौन है यह सलमा? और काहे को कबाब में हड्डी बन रही है?”अरे कबाब में हड्डी नहीं है, बहुत दुखों की मारी हुई है, कभी साल छह महीने में आ जाती है, दो चार घंटे के लिए. एक दिन हुआ यह कि उसने मुझसे कहा- आपकी वाइफ कैसी दिखती है? जरा मुझे भी बताइये.

मेरी मंजिल जैसे जैसे करीब आ रही थी, मेरे लण्ड का सुपारा फूलने लगा था.

बहुत सारे दोस्त मुझसे उस लड़की (कहानी की नायिका) की तस्वीर तथा नंबर मांगने लगे. थोड़ा बहुत मूत अभी भी मुँह में था, तो मैंने उसे रानी के गर्म होंठों से अपने होंठ चिपका कर उसे भी पिला दिया. कल्पना भाभी ने बताया:शादी के कुछ ही महीनों के बाद मैं अमित के घर में किराए मैं रहने लगी थी.

हिंदी चोदा बीएफआंटी ने मेरे हाथ कसके पकड़ रखे थे और लंड चुत में अन्दर रगड़ खाने लगा था. मैं भी पूरी ताकत से भाभी से लोहा ले रहा था, उनके छेद को और भी चौड़ा कर रहा था.

सेक्सी सेक्सी बीएफ मराठी

’मैं उसकी चूत चाटने में लगा रहा और वो मेरा सर अपनी चुत में घुसाए अपनी गांड से मेरे मुँह पर धक्का देने में लगी रही. मैं एक हाथ से भाभी की चूत को मसल रहा था और दूसरे हाथ से गाड़ी चला रहा था. पहली बार जब मैंने उनकी बुर में मतलब चुत में जीभ को टच किया … तो कुछ अजीब सा लगा.

इसका मतलब साफ़ था कि दीदी को भी चूचियों को रगड़वाने में मज़ा आने लगा था. थोड़े दिन बाद उसने मुझे मिलने को बुलाया तो मैंने कैफे में मिलने की बात की. प्लान के मुताबिक मैं सुशी जी के यहां रात साढ़े ग्यारह बजे पहुंच गया.

मेरी सांसें तेज तेज चल रही थीं क्योंकि मैंने पहली बार किसी मर्द का लंड देखा था. कुछ समय के लिए मैं वैसे ही उसके सामने बैठी रही और उसे संभलने का समय दिया. मैंने देर न करते हुए भाभी की चुत पर मुँह लगा दिया और चुत को चाटने लगा.

मैंने उसकी पीठ पर हल्का सा दबाव बनाया, जिससे हम दोनों के होंठ अब चिपकने ही वाले थे. उसकी चूत पर मैंने एक हाथ फेरा और उसके पानी को लेकर अपने मुँह से चाटने लगा.

इसी बीच में कपड़े बदल रहा था तो मेरा रूम का दरवाजा बंद था और मेरे रूम की लाइट बंद थी.

मैंने कहा- लंड चुसाई देख कर आई हो आप … तो लंड ही चूस कर मजा लो न!वो बोलीं- हां लंड भी चूसूँगी … जरा गर्मी तो आ जाने दो. बिहार वीडियो सेक्सी बीएफपता नहीं आज के बाद कभी हिम्मत कर पाऊंगा भी या नहीं, पर उस वक़्त मुझे जो लगा, वो ये था कि तुम भी उतनी ही शिद्दत से मुझे चूमने लगी थीं. जानवर वाली फिल्म बीएफवो मेरे दोनों हाथों को पकड़कर बोले कि अब हमारा पूरा मिलन होने का पल आ गया. दोस्तो, इसके बाद मैंने कई बार चंडीगढ़ जाकर अशी को चोदा और अब भी उससे ही प्यार करता हूँ.

कभी कॉलेज में मौका मिलता, तो कभी मेरा घर खाली होता तो चुत गांड में लंड चला जाता.

मैंने सरोज को बोला- बिहारी का लंड गांड में कैसे लोगी?वो बोली- रूक जाओ. जैसे ही मैंने भाभी को सीने से लगाया तो उन्होंने बोला- अब देर मत करो, मेरी चूत में आग लगी है. फिर कुछ देर बाद 5 औरतें बस में चढ़ीं, जिनमें से 2 लगभग 30-32 साल की रही होंगी.

वो अजीब अजीब सी आवाज निकाल रही थीं- ऊह आह आह … कैसे चूस रहे हो … मैं मर गई. और माँ नहा कर जब वापस आईं तो मैं देखता ही रह गया कि एक सीधी साधी औरत आज कुछ ज्यादा ही मॉर्डन लग रही थी. दीदी बोलीं- क्यों मम्मी की चुदाई नहीं की क्या?मैंने कहा- अरे मम्मी की चुदाई तो करने मिल जाती थी … लेकिन आप जैसी प्यारी दीदी की चुत चोदने के लिए मेरा लंड बेचैन था.

एक्स एक्स एक्स मिया खलीफा बीएफ

मालती की चूत ने पानी छोड़ दिया तो फच्च फच्च फच्च करके लंड तेज़ी से अन्दर-बाहर होने लगा. उसको अब मैंने अपने ऊपर से हटाया और सीधे अपने सामने बिठाकर उसके दोनों बोबों को अपने हाथों से मसलने लगा. बुआ जैसे ही हल्दी लगाने के लिए मेरे पीछे भागीं, वैसे ही मैं भी वहां से भागने लगा.

मैंने कहा- आप मुंतजिर मैडम!उन्होंने संक्षिप्त सा जवाब दिया- जी … आप कौन?उनके सवाल पर मैं कुछ बोल ही न सका बस उनकी खूबसूरत जवानी को आंखों से ही चोदने लगा.

फ़िर मैं मौसी की गांड को चूमने लगा और कभी कभी दांत से हल्के से काट भी लेता.

वो उसको नंगा करके उसके दूध पी रहा था और उसके बाद उसने उसकी चूत भी चाटी. उसी समय मैंने इशारा किया, तो दीदी ने भी अपनी साड़ी को ऐसे सेट किया कि उनकी चूचियों का एक बड़ा हिस्सा दिखने लगा. नेपाली इंग्लिश बीएफदेसी अंकल सेक्स कहानी मेरे पापा के दोस्त के साथ मेरे सेक्स सम्बन्धों की है.

मेरा 7 इंच लंबा और ढाई इंच मोटा लंड अभी आधा ही घुसा था कि चाची जोर जोर से चिल्लाने लगी, बोली- मेरे राजा, आराम से करो. उसने पीछे से मेरा टॉप पूरा ऊपर कर दिया और अपना 7 इंच का लंड मेरी गांड पर रगड़ने लगा. उन्होंने बताया- जब तेरे डैड बाहर चले जाते थे तो मैं कॉलबॉय को बुलाकर चुदाती थी.

मैं भी झट से बोल पड़ा- मुझको भी अपनी दीदी की चूत का बर्थडे मनाना है. उसके बाद उन्होंने खुद लंड पकड़ कर अपनी चुत में सैट किया और उसके ऊपर बैठ कर झटके देते हुए लंड चोदने लगीं.

मेरा हाथ मुंतजिर के मम्मों पर कस गया और मैं उनके होंठों का रसपान करने लगा.

भाभी अपनी एक बैग लेकर वाशरूम में गयी और मैं उनके आने का इंतजार करने लगा. गांड के छेद में पेटीकोट के ऊपर से ही डॉक्टर उंगली डाल रहा था, जिससे मैं उछल उठी और मेरी मादक सिसकारी निकल गयी. कुछ देर बात करने के बाद शरद ने राजीव सर भी बात की और फिर उन्होंने फ़ोन रख दिया.

कैटरीना कैफ की बीएफ फिल्म फिर डायरेक्टर रश्मि के ऊपर चढ़ कर उसके बोबों में लंड रगड़ने लगा और उसके सिर की तरफ़ से कैमरा लिए राजू ने मेरी बीवी के मुँह में लंड दे दिया. जब मैंने ये बात उन्हें बताई तो उन्होंने कहा कि मैं भी तुम्हें आज घर नहीं जाने देना चाहती हूँ.

यारो … मैं प्रिया अपनी सेक्स कहानी में आपको अपने जेठ जी के साथ चुदाई की कहानी में सुना रही थी. दसेक झटकों के बाद एक बार फिर मैंने उनकीरसीली चूतको और रसदार बना दिया. अब मैंने भी उसको लिटा कर करीब 20 मिनट उसकी चूत को चूस चूस कर उसका पानी निकाल दिया.

राणी मुखर्जी सेक्सी बीएफ

मैंने जाते ही मोटो पर चुम्मियों की बौछार कर दी और उनके गले पर अपने दांत गड़ाने लगा. थोड़ी देर तक हम दोनों अपने मोबाइल में खोए रहे और अंतत: उन्होंने केबिन के माहौल की खामोशी को तोड़ा. तभी उन्होंने मुँह ऊपर उठा कर अपने होंठ मेरे होंठों से चिपका दिए और मुझे चूमने लगीं.

निशा की नजर जैसे ही मेरे पजामे के ऊपर पड़ी और उसने देखा कि मैं लौड़े को सहला रहा हूँ तो वह बिना पलकें झपकाए मेरे हाथ को देखती रही. मैंने लौड़े पर खूब सारा साबुन मला और रूपा भाभी को याद करके अपनी कल्पना में उनको चोदने लगा.

मेरा लण्ड आंटी की चूत से सटा हुआ था जिसे आंटी अपनी चूत में लेने के लिए बावली हो रही थीं.

तो राजू ने गौरी को अपनी गोद में बिठाया और अपना लंड उसकी चूत में कर दिया और फिर गौरी से बोला- चल ऐसे ही चाय पिएंगे।अब ऐसे चाय क्या खाक पी जाती।एक दो घूंट में ही चाय गुड़क कर राजू ने गौरी की बढ़िया वाली चूद चुदाई करी. फिर मैंने जल्दी से कहा- मुझे कंडोम तो पहन लेने दो!इस पर नन्दिनी मुस्कुरा कर बोली कि मुझे कंडोम में मज़ा नहीं आता जान … फिक्र ना करो, मैं वक़्त से पहले निकल जाऊंगी. मैंने घर पर बात कर ली है कि मेरे साथ मेरा ऑफिस से जूनियर आ रहा है, उसे ग्वालियर में काम है, तो वो यहीं घर पर दो दिन तक रहेगा.

कभी कभी मैं अपने लंड से उसकी गांड को भी सहला देता था जिससे कोमल एकदम आंखें बंद करके सेक्स का पूरा मज़ा ले रही थी और खुद ही अपने चुचियों को सहला रही थी. मेरा लंड अर्शिया की जांघों को चीरते हुए अर्शिया की चुत तक जा रहा था और वो चुत से रगड़ रहा था. फिर जैसे ही मैं कुछ शांत हुई, तो आशीष ने अपने लंड से मेरी पूरी सील तोड़ते हुए अपना लंड अन्दर घुसा लिया.

सबसे पहले मैं अपने बारे में आपको बता देता हूं कि मैं 6 फुट का एक लंबा चौड़ा और जवान गबरु लड़का हूं.

एक्स एक्स बीएफ फिल्म हिंदी: उसने अपने मम्मों पर ब्रा नहीं पहनी थी, जिसकी वजह से उसकी कुर्ती उतरते ही मुझे उसके बड़े बड़े चुचे दिखने लगे थे. उसने सरिता भाभी से पूछा- क्या हुआ भाभी, आप इतनी घबराई हुई क्यों हो?सरिता भाभी ने अपने चूचे उसकी छाती से रगड़ते हुए कहा- किचन में चूहा है, मुझे बड़ा डर लग रहा है.

ये कुछ ही क्षणों में दूसरी बार था जब हमारे शरीर एक दूसरे से रगड़ रहे थे. वो कामुक आवाज़ निकाल रही थी- ऊऊ … हम्म … तेज तेज चोदो साहिल हैया … आह मजा आ रहा है. वो अपनी मस्ती में बोला- आह सोनिये … मैंने सही जगह लंड पेला है … आज मेरा लंड बहुत कड़क है, इसे तेरी गांड की सैर करनी थी.

मैंने उसकी तरफ अपनी बांहें फैला कर पूछा- क्या मुझे इजाजत है कि मैं अपना सुनहरा पल पा सकूं!उसने उसी पल उठ कर मुझे अपनी बांहों में भर लिया और वो मेरे होंठों से होंठ लगा कर चूमने लगी.

तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी यह Xxx ब्रदर एंड सिस्टर कहानी … आप लोग कमेंट करके मुझे जरूर बताइएगा और मुझे मेल भी कीजिएगा. दोनों मम्मों के बीच की घाटी ऐसी थी कि लगा बस उसको चूमने के समय निप्पल कान तक पहुंच जाएंगे. जब भी मैं जांघ को चाटते हुए चुत के पास पहुंचता, वो गांड उठा कर चुत को मेरे मुँह में में देने को कोशिश करती.