इंग्लिश एचडी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी मूवी अंग्रेजी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स सेक्सी फिल्म हिंदी: इंग्लिश एचडी बीएफ वीडियो, उस चर्बीदार फूली हुई योनि की वजह से उसे मजा और आ रहा था क्योंकि पतली दुबली लड़कियों की सपाट योनि की वजह से धक्कों के समय हड्डियां टकराती हैं … तो दर्द होता है.

સેકસ કહાની

उम्मीद है कि आपको मेरी सच्ची क्सक्सक्स स्टोरी पसंद आयी होगी … कृपया mahe[emailprotected]पर अपनी कीमती राय दें. इंग्लिश वीडियो सेक्सी हिंदी मेंकुछ देर तक तो हम बातें करते रहे लेकिन फिर धीरे-धीरे आंखें भारी होने लगीं क्योंकि मैं तो मुठ मारकर आया हुआ था.

लगभग 34 इंच के बूब, कमर 28 इंच की … और 34 इंच की तोप सी उठी गांड थी. मेरा बलात्कारउस दिन के बाद तो रोज हम दोनों के बीच में फोन पर सेक्सी बातें होने लगीं.

मुझे उसको लेकर ये अंदाज़ होने लगा था कि जैसी ये दिखती है, वैसी है नहीं.इंग्लिश एचडी बीएफ वीडियो: फिर मैंने उस पर रहम करते हुए उसकी चूत को ऊपर लेकर 69 की पोज़िशन बना ली और जीभ से उसकी चूत और गांड चाटने लगा.

मेरा सात इंच से ज्यादा का लंड मेरे अंडरवियर से बाहर आने के लिए जैसे तड़प रहा था.मैं लगातार उसके होंठों पर जीभ घुमा-घुमा कर उसके लाल रसीले होंठों का रसपान कर रहा था.

जानवर का सेक्सी वीडियो जानवर का - इंग्लिश एचडी बीएफ वीडियो

मैंने उसे बाथरूम के फर्श पर ही लिटा दिया और उसके गालों को चूसने लगा.इसलिए उसने मेरा लंड हाथ से पकड़ कर अपनी बुर की दरार के बीचों बीच सैट कर दिया औऱ अपनी बुर को मेरे लंड पर दबाने लगी.

उधर कुछ देर बैठ कर बात हुई, फिर मैं कमरे के बाथरूम में जाकर फ्रेश हुई. इंग्लिश एचडी बीएफ वीडियो मैं भी उनके जिस्म की गर्मी में आंखें सेंकने के लिए हाजिर हो जाता था.

मैंने श्वेता से कहा- तुम आगे जाकर रुक जाना … मुझे दुकान से कुछ लेना है.

इंग्लिश एचडी बीएफ वीडियो?

हुआ यूं कि उसने कोई परीक्षा फॉर्म भरा हुआ था, जिसका सेन्टर कानपुर था. रोनिता के मुँह से मदमस्त सिसकारियां निकल रही थीं- अहह यहह कम्म अह्ह उह अह्ह्ह कम्मं ऐसे हीईई अहह चोदो … और जोर से … अह्ह एहहह कम्मं हहह ओह्ह अहह फ़क मी हार्ड … यहस अह्ह. मैंने उससे सामान्य बात की और …हैलो भोसड़ी पसंद करने वालो … मेरा नाम महेंद्र गांधी है … मैं हनुमानगढ़ के पास स्थित रावतसर का रहने वाला हूं.

चलिए अगले भाग में आपको लिखता हूँ कि मेरी भतीजी ने मेरे लंड को सुकून दिया या नहीं. जहां राजशेखर को बदलाव की इच्छा थी, वहीं निर्मला संतुष्टि की अपेक्षा रखती थी. मैंने हंसी मजाक करते हुए आंटी से कह दिया- आंटी आप हां तो करो … पैसे देने वालों की तो मैं लाइन लगा दूंगा.

मैं सोच रहा था कि अगर कोई दिक्कत होगी तो मैं बाद में कहीं और शिफ्ट कर लूंगा लेकिन फिलहाल सामान रखने के लिए एक रूम की तो मुझे तत्काल आवश्यकता है. लेकिन एकता और कल्पना को यह आइडिया उत्तेजक लगा और उन्होंने बाकी सबको भी मना ही लिया. कोई दस मिनट तक गांड मारने के बाद उसने अपने लंड का पानी दीदी की गांड में ही छोड़ दिया.

वो गर्म सिसकारियां लेती, उससे पहले मैंने अपने होंठों से उसके होंठों को दबा लिया. देखो भाई हमारे पास पैसे की कमी नहीं है, मैं तुम्हें मुँहमांगी रकम दूँगा … बस मुझे एक वारिस दे दो.

मगर मैंने उसको ऐसे ही उसके हाल पर छोड़ रखा था क्योंकि अगर एडजस्ट करने की कोशिश करता तो हवस भी साथ में झलक जाती.

मैंने बोला- इसमें मैं आपकी क्या मदद कर सकता हूँ?तो भाभी मुस्कुराती हुई बोली- तुम अन्दर भी आओगे या सारी बातें दरवाजे पर ही करोगे.

फिर मैंने ज्योति की चूत का रस अपने लंड पर लगाया … ज्योति मेरे लंड को देख कर घबरा गयी और बोली कि आह … इतने बड़े लंड से तो मैं मर ही जाऊँगी. रात का खाना खाने के बाद फिर मैं सोने की तैयारी कर रहा था लेकिन मामी के साथ हुई कुछ बातों को याद करके उत्तेजित हो गया और मेरा लंड बिल्कुल खड़ा होकर सलामी देने लगा. उसी रात को उसका मैसेज आया कि मैं आपकी रिस्पेक्ट करती हूं, हमारे बीच अभी ये बातें अच्छी नहीं हैं.

उसके चूचे इतने छोटे थे कि मैं उन्हें अपने मुँह में पूरा भर लेता था. दो घंटे के बाद उसका फोन आया कि वो अपना कॉलेज का काम खत्म करके आ गई है. मैंने उसने भी लंड ऊपर नीचे करने को कहा, तो वो लंड को अपने हाथ से ऊपर नीचे करने लगी.

शायद आंटी के दिल में भी मुझसे चुदने की इच्छा थी, पर वो कह नहीं पा रही थीं.

सरस्वती- क्या नहीं दिया, दो बार तो चोदने दिया, वो भी इतना रिस्क उठा कर, पकड़े जाते तो दोनों को पिट-पिट कर मार ही देते गांव वाले … और क्या देती?सुरेश- चोपा नहीं दिया था न तूने. अब मैं उसके पेट पर अपनी जीभ फेरने लगा, उसकी गहरी नाभि को चूमने लगा. पेशाब करने के बाद कजरी एक उंगली चुत के अन्दर डाल कर चुत को ठंडा करने लगी.

राजशेखर को जरूर दर्द हो रहा होगा मगर एक मर्द के लिए सबसे बड़ी उपलब्धि तो यही होगी कि उसके मर्दाना ताकत के आगे औरत झुक जाए. फिर वो मेरे साथ सोफे पर बैठ कर बोली- यार तुम तो इतने जवान और खूबसूरत हो … तुम कॉलब्वॉय क्यों बन गए हो. काफी देर मेरे बदन से खेलने के बाद उसने कहा- निर्मला आओ तुम भी तैयार हो जाओ, तुम दोनों को मुझे बारी बारी से चोदना है.

वैसे भी हम दोनों भाई-बहन थे इसलिए उसको मेरे अंदर दबी वासना का आभास नहीं हो रहा होगा शायद.

इसलिए मैंने कह दिया था कि पहले मैं किसी काम से जाऊंगा और उसके बाद कॉलेज आऊंगा. उसने कुछ पल तो मुंह को बंद रखा लेकिन फिर उसने मुंह खोल दिया और अब हम दोनों की जुबान एक दूसरे की लार को एक दूसरे के मुंह से खींचने लगी.

इंग्लिश एचडी बीएफ वीडियो उसने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और बोलने लगी- अब और मत तड़पाओ!मैंने भोलेपन से कहा- मसाज तो कर लेने दो मुझे!वो बोली- मुझे नहीं करवानी मसाज वसाज … मैं तो आपके घर पर ही आपको अकेला देख कर चुदने को तड़प रही थी. वाकयी राजशेखर का चेहरा देखकर भी लग रहा था कि वो बहुत आनन्द ले रहा था.

इंग्लिश एचडी बीएफ वीडियो उसने मुझसे अपनी झेंप मिटाने के नजरिये से कहा- अरे मैं टॉयलेट साफ करने गई थी, लेकिन मैं भूल गई थी कि तुम अन्दर हो. उनकी बिना दुपट्टे वाली चूचियां मुझे दिखने लगीं और मुंह में फिर से लार आने लगी.

वो मामी के चूचों को दोनों हाथों से जैसे निचोड़ते हुए उनका दूध निकालने की कोशिश कर रहे थे.

हिंदी सेक्सी चोदा चोदी एचडी

वो कभी उस मूली को अन्दर डालने की कोशिश भी करती और अपने मुँह से कुछ बड़बड़ाती भी जा रही थी- आह … आ जा … मेरी बुर चाट ले … आंह कसके चाट कर खा जा मेरी बुर को … आंह … साले … आजा. मास्टर साहब- हां … पहले करता था, वजन उठाता था, दौड़ता तो अब भी हूँ. अब मुझे चोदने के लिए हर दूसरे हफ्ते लड़की चाहिए होती है, इसीलिए मेरी कई जुगाड़ें हैं, जिन्हें मैं गाहे बगाहे चोदता रहता हूँ.

लगभग दो साल बाद मैं अपने अन्दर रोमांच महसूस कर रही थी और आंखें बंद करके लेटी हुई थी. मैं मुठ मारने में बिजी था, तभी अचानक मुझे लगा कि कोई टॉयलेट का गेट खोल रहा है. इस वक्त उसका एक हाथ दीदी की गांड को पकड़े हुए था, दूसरा टाँगों को जकड़े था.

उसने भी शर्मिंदगी सी महसूस करते हुए नजरें झुका लीं और मैं भी शर्माती हुई उससे अलग होकर बैठ गयी.

अब आगे:सुरेश समझ गया कि मैं झड़ गयी हूँ इसलिए उसने मुझसे कहा- पानी निकल गया तुम्हारा?मैंने भी जवाब में सिर हिला दिया. रात के 9 बजे के करीब मैं भाभी के रूम में चला गया और अपनी किताब लेकर बैठ गया. मामी के मोटे चूचे वीडियो में हिलते हुए देख कर मैंने तेजी से अपने लंड पर हाथ चलाना शुरू कर दिया.

उसने झुकते हुए चादर सही की, तो उसी समय मुझे उसके चुचों की नाली के दर्शन हो गए. कजरी ये सुनकर हंसने लगी और बोली- मैं तो आपको अपनी चुत दे दूंगी बाबू जी … पर आपको भी हमें कोई सौगात देनी होगी. मैं भी नीचे से कमर हिलाते हुए उसे उसके लंड को अपनी चूत में और अन्दर घुसवा रही थी.

वहीं दूसरी तरफ से मेरा ब्लाउज फट कर एक स्तन का हिस्सा उसी के हाथ में रह गया. अब मैं उसको गले पर, चूचियों पर, पेट पर और नाभि पर चूमते हुए उसकी चूत पर पहुंच गया और उसकी चिकनी चूत पर अपना मुँह रख दिया.

इसलिए मैंने कह दिया था कि पहले मैं किसी काम से जाऊंगा और उसके बाद कॉलेज आऊंगा. वो लंड का रस ऐसे चूस रही थीं कि जन्मों की प्यासी हों, उन्हें ये रस कभी मिला ही न हो. दो मिनट तक एक दूसरे के होंठों को चूसते हुए उसने लंड को तेज गति से सहलाया.

इस बार हमारी चुदाई का राउंड 35 मिनट तक चला और मैंने उसकी चूत को रगड़ दिया.

करीब 5 मिनट बाद उसने एक हाथ से मेरा सर दबाया और मेरे मुँह में झड़ गया. फिर उसके मुँह को अपने लंड के पास ले गया और मुँह में लेने का इशारा किया किया- प्लीज …तो उसने लंड को मुँह में ले तो लिया, लेकिन कुछ ही देर में उसे उबकाई आने लगी. अभी इससे पहले कुछ और वो बोलती, मेरा हाथ उसके पैरों से होता हुआ, साड़ी के अन्दर चला गया.

मैंने कहा- मगर मामी अगर आपको गर्भ ठहर गया तो?वो बोली- तो क्या हुआ? किसी को पता नहीं चलेगा कि मेरे पेट में किसका बीज है. पीछे से कोई मेरी गांड रगड़ रहा था था तो आगे से मेरे बूब्स भी दब रहे थे.

चूंकि रीता ने मुझे चोदने के लिए बुलाया था … इसलिए मुझे पहले उसी को चोदना था. फिर उन्होंने अपना दूसरा हाथ मेरी गर्दन के नीचे से निकाल मेरे सर को सहारा दे दिया व पीठ पर मोड़ कर और करीब कर लिया. मैं सोचने लगा कि भाभी सही बोल रही हैं। और वैसे भी मेरा भी तो काम बन रहा था। यह सोचकर मैं उनके कमरे में चला गया.

मियां खलीफा सेक्सी न्यू

मैंने बुआ की गांड कैसे मारी, ये आगे की रिश्तों की चुदाई कहानी में बताता हूँ.

अब मुझे ये पता नहीं था कि गिलास में बीयर थी, शराब थी, या कोई कोल्ड ड्रिंक थी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:प्रिंसीपल मैडम के साथ कार सेक्स-2. फिर मैं घुटनों पर बैठी और पैंट के अंदर से उसका लण्ड पकड़कर बाहर निकाला.

मुझे सेक्स करने में जितना मजा आता है उतना शायद ही किसी दूसरे काम में आता हो. इसलिए हरामखोर को सॉफ्टवेयर वाली सीडी लाने के लिए बाजार जाना ही पड़ा. राजस्थानी गर्ल सेक्सीकुछ समय तक ऐसे ही एक दूसरे पर पड़े रहने के बाद हमने अपने-अपने कपड़े पहने.

उसे इतना मज़ा आ रहा था कि मैंने पोजीशन बदलना भी ठीक नहीं समझा और चूत की सेवा में लगा रहा. इस तरह से वो दोनों गंदी गंदी बातें करते हुए एक दूसरे के साथ चुदाई का पूरा मजा ले रहे थे.

अब आगे:सुरेश समझ गया कि मैं झड़ गयी हूँ इसलिए उसने मुझसे कहा- पानी निकल गया तुम्हारा?मैंने भी जवाब में सिर हिला दिया. जब ज्योति का हाथ मेरे लंड से स्पर्श हुआ, तो मुझे बहुत ही मजा आया और मैं अपने आपको रोक नहीं पाया और मेरे मुँह से ‘आआहह …’ की आवाज निकल गयी. उन्होंने संजय के लंड को पकड़ा और बोलने लगीं- अब देर न करो मेरे राजा … जल्दी से लंड पेल दो … मेरी चूत की प्यास बुझा दो.

मैं अपने हाथों से उसके मम्मों को सहला रहा था और साथ ही निप्पल को भी छेड़ता जा रहा था. वो शर्म से अपना मुख मेरे सीने में छुपा लेती और हल्के-हल्के काटती।पूर्ण समर्पण के साथ एक दौर सम्भोग का और चला।शाम गयी थी. बात आगे बढ़ी और …आपने मेरी इस सेक्स कहानी के पहले भागछोटी बहन के साथ चोदा चोदी कहानी-1में अब तक पढ़ा कि घर में हम दोनों भाई बहन ही अकेले थे.

इस पोजीशन में कई मिनट चोदने के बाद मेरा पानी निकलने वाला था, तो मैंने उससे पूछा- कहां निकालूं?उसने कहा- मेरे मुँह में निकालना.

मेरे दोस्त की बहन मुझे बेहद पसंद करती है और वो मेरे लिए कुछ भी कर सकती है। मैं भी वासना से उसे चोदने की चाह रखने लगा. तभी अचानक किसी ने मेरी चादर में हाथ डालकर सीधा मेरे लंड को पकड़ लिया.

फिर उसने मेरी पैंटी भी निकाल कर मुझे पूरी नंगी कर दिया।मैं कामवासना के ज्वर से तड़पती हुई बिस्तर के चादर को हाथों में लपेट कर दबा रही थी।उसने मेरी टांगों को फैलाकर मेरी अनचुदी चूत के दर्शन किये। मेरी कुंवारी चिकनी चूत को देखते ही उसकी जीभ लपलपाने लगी।वो मेरी चूत के ऊपर झुका और उसने मेरी चूत पर अपने होंठ लगा दिए. अब मैं जन्मजात नंगा था। मैंने भाभी को सीधा लिटाया और खुद उनके पैरों के पास आ गया।मैंने भाभी के पैरों के तलवे चाटने शुरु किये. हुआ यों कि भाभी ने एक दिन बाथरूम में नहाते हुए मेरा लम्बा और मोटा लंड देख लिया.

फिर उसने मेरी ब्रा और पेंटी निकाल दिए और मैं उसके सामने नंगी हो गयी. मैं पास खड़े लोगों पर नजर भी बनाये हुए था कि कहीं कोई हमें यह रासलीला करते हुए देख न रहा हो. लेकिन उसकी चुत की दीवारों को मेरे मोटे लंड से बड़ा दर्द होने लगा था.

इंग्लिश एचडी बीएफ वीडियो सुरेश हम दोनों के पास आया और मुझे बोला- पहचाना मुझे?मैं थोड़ी आश्चर्य से देखती हुई बोली- हां, पहचान लिया. जैसे तैसे करके हम लोग पालदा में कार्ड देने के बाद वापस आते हुए इंदौर पहुंच गये.

तीसरा सेक्सी

मैंने उसको लेटा दिया और उसकी टांगों को फैला कर उसकी चूत को चाटने लगा. मैसेज में लिखा था ड्रेस कोड का डिसाइड किटी पार्टी में पहुंचने के बाद ही होगा. कम्पयूटर का सारा सेटअप करने के बाद मैंने अपने दोस्त को बाय बोला और उसके घर से तुरंत अपने आपको अनइन्सटॉल कर लिया.

मैंने आंटी से कहा- आंटी मुझे औरतों में सबसे ज्यादा उनका बदन चाटने में बहुत अच्छा लगता है … खासकर उनकी गांड में जीभ डाल कर चाटने में तो मेरा मजा चौगुना हो जाता है. मैंने भी बड़े प्यार से अपना मुंह खोला और उसके अमृत का रसपान किया।ठीक मेरे पायजामे के ऊपर अपनी गांड टिकाकर बैठ गयी और हिलने लगी. भोजपुरी हीरोइन का सेक्स वीडियोकरीब दस मिनट बाद मैंने उसको धीरे से उसके कान में बोला कि तुम ढक्कन उतार दो रानी … अब खेल शुरू करते हैं.

अब आगे:तभी मेरी एक तेज ‘आआइई … उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ आवाज निकली और बस मेरी योनि से रस की फुहार छूट पड़ी.

शायद वो भी मेरे चूचों को अपनी पीठ पर महसूस कर रहा था और गर्म हो गया था. उसकी चूत चाट चाट कर लंड ने इतने झटके दे दिये थे कि कामरस से पूरा अंडरवियर गीला हो गया था.

माँ पता नहीं क्यों बहुत मुस्कुराईं और फिर हमें होम वर्क करने को कह कर लाला की दुकान पर चली गईं. आंटी अपने कपड़े गहरे गले के पहनती थीं, इसलिए उनके मम्मों की दरार हमेशा साफ़ दिखती थी. अब वो मेरी ओर बढ़ा और मेरे दोनों हाथों को पकड़ मेरे स्तनों और योनि से हटा कर मुझे अपनी बांहों में भर लिया.

चूंकि ये उसका ही शहर था और वहां सब जान पहचान वाले भी थे, इसलिए उसका डरना लाजिमी था.

मुझे उनकी बॉडी की गर्माहट महसूस होती, लेकिन कुछ समझ में नहीं आता कि मुझे क्या हो रहा है. मैं चूतड़ों को उठा उठा कर सुरेश को मजा देती रही, झड़ती रही और सुरेश ऊपर से ठोकर मारता हुआ अपने रस की पिचकारी मेरी योनि के भीतर छोड़ने लगा. लेकिन मैं बस यही सोच रहा था कि यहां तो चोदने को बहन भी है, वहां पर लंड के लिए कौन मिलेगा.

बच्चों के खेलने वाले गेममैंने गर्दन उठाकर देखा तो मेरा अंडरवियर साफ दिख रहा था और लोअर को मेरी जांघों पर लाकर छोड़ दिया गया था. इस गांडू कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि क्या मास्टर साहब का लंड मेरी गांड में घुस पाया या नहीं.

चुदाई वाली सेक्सी बातें

ब्रा न होने के कारण उसकी चूचियों के दाने भी ऊपर आकर बता रहे थे कि वो किसी की चुटकी में आकर दबने के लिए तैयार हैं. मैं थोड़ा खुश हुआ, इसी खुशी में मैंने कहा- आज तुम मुझे ज़िन्दगी भर याद रखोगी. पर ये शरीर का मिलन ही कुछ ऐसा है, जब इंसान जल्दी चाहता है, तो होता नहीं और जब नहीं चाहता है, तो हो जाता है.

बीच बीच में मम्मों को भी काट रहा था और बहुत ही रफ्तार से झटके पर झटका दे रहा था. मैंने भी उसके लंड को अपने हाथों से पकड़ कर सहलाया और धीरे से उसके लंड के सुपारे पर अपनी जीभ फेर दी. इतना सुनने के बाद मैं थोड़ा शरारती अंदाज़ में बोला- आप इतनी जवान दिखती हो … मेरी उम्र की ही हो, अब मैं आपको आंटी तो बुला नहीं सकता … तो आप ही बताइए कि मैं आपको क्या बोलूं … आप जो बोलेंगी, मैं आपको वही बुलाऊंगा.

मैंने बहुत कोशिश की, मगर मुझे हर बार काफी दर्द हुआ और अन्दर डाली भी नहीं गई. मैं- साली कुतिया … तेरा बुढ़ापा आ गया … मगर बदन की गर्मी कम नहीं हुई कमीनी. लोलिपोप की तरह उसने चूसते हुए, मुठ मारते हुए उसने मेरा पानी निकाल कर पी लिया।और वो मसाज के पैसे दे कर चली तो गई.

मेरे अन्तर्वासना के दोस्तो … मैं आप लोगों के साथ अपनी कहानी शेयर करने जा रहा हूं. वो डरते हुए बोली कि मेरी छाती पर धक्का लगा, तो मुझे वहां दर्द हो रहा है.

चूचियों के निप्पलों को अपने होंठों से पकड़ कर खींचते हुए मैंने सौम्या की चूत में खलबली मचाना शुरू कर दी थी.

भाभी ने मस्त होते हुए कहा- आह … मेरे कुत्ते को कुतिया की गांड बहुत अच्छी लग रही है … आह क्या मस्त चाटता है. जानवर की सेक्सी व्हिडिओमेरे गांव से शहर जाने के लिए 2 किलोमीटर पैदल चलकर बस पकड़नी पड़ती है. लेडी एनिमल सेक्सदोस्तो, मैं घर जाकर यह सोचने लगा कि जैसा सभी ने उसके साथ किया, वैसा ही मैंने भी उसके साथ किया. उनका एक हाथ मेरे लंड पर चलने लगा और वो मेरे शॉर्ट्स से लंड को बाहर निकाल कर आगे पीछे करने लगीं.

मैं कभी कभी उसके लाल होंठ भी चूम लिया करता था और कभी कभी उसकी छातियां भी मसल दिया करता था.

रोनिता ने कहा- तुम तो बड़े भुल्लकड़ निकले … मुझसे रोज बात करते हो और आज पहचान भी नहीं पा रहे थे. मेरा मन कर रहा था कि अभी संजय को बुला लूं और उसके लंड से चुदवा कर अपनी चूत को शांत कर लूं. वो आहें भरने लगीं- आ … मममम … अच्छे से चूसो … बहुत मजा आ रहा है … आह खा जाओ पूरा … मेरी चुत को चाट लो.

उसकी चूत से निकलते पानी से मेरे लंड की ठोकर लगतीं, तो एक मधुर आवाज़ आने लगती ‘फ़च्छफ़च फ़चफच. मैं सोचने लगा कि भाभी सही बोल रही हैं। और वैसे भी मेरा भी तो काम बन रहा था। यह सोचकर मैं उनके कमरे में चला गया. मेरे दोस्त की ये हिंदी सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी … मेरी इस सेक्स कहानी के लिए आप मुझे मेल करके बताएं.

डिलीवरी औरत की सेक्सी वीडियो

मेरे चूचों को जोर से अपने हाथों में दबाते हुए उनको मुंह में लेकर पीने लगे. मैंने उसका हाथ पकड़ कर फिर से अपने लंड पर रखा और अपने लंड पर ही दबाए रहा. मेरे मुँह से निकल गया- मे आई कमिंग वंदना!सब देखने लगे, मैंने तुरंत ‘मैम …’ कहकर कवर किया.

आंटी को जो सुख अपनी शादी के इतने सालों में ना मिला था, वो मैंने उन्हें 3 महीने चोद कर दिया था.

अमित इन 5 दिनों में तुम चाहो, तो मुझे अपनी फ्रेंड, गर्लफ्रेंड, रांड या बीवी समझ कर खूब एन्जॉय कर सकते हो.

मॉम ने कहा- ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- चुप रह रंडी … जो मैं कर रहा हूँ … मुझे क़रने दो, नहीं तो मैं अपने सारे दोस्तों से तुझे चुदवाऊंगा. उसकी मदभरी आंखें इस बात का इशारा कर रही थीं कि आ जाओ राजा तुमको इन्हीं आमों का रस चूसना है. साउथ के सेक्स वीडियोइनमें से साधारण मजे भी है और कुछ अश्लील भी होते हैं जैसा जिसका ग्रुप हो और अब जैसा कि सबको पता है कि जहां एक समय कॉलगर्ल मिला करती थी मर्दों के लिए, अब ठीक उसी तर्ज पर प्लेबॉय या जिगोलो ब्वॉय भी उपलब्ध हैं और वह भी पूरी निजता के साथ!यदि किसी पाठक, पाठिका ने एकता कपूर की वेब सीरीज xxx देखी है तो पता होगा कि आजकल यह सब कितना कॉमन होता जा रहा है.

ये बात सुनकर मैंने खुशी से भाभी की चूची जोर से दबा दी तो भाभी ने कहा- जाओ अपनी चालू मॉम शालिनी रंडी की चूची दबाना … उसके कुछ ज्यादा ही बड़े हैं. कैसे मैंने अपने छोटे भाई से चुदाई करवा के अपनी वासना की आग बुझाई। ये सब अगली कहानी मैं बताऊंगी। तब तक के लिए विदा।[emailprotected]. दस मिनट चोदने के बाद मैं औंधा होकर लेट गया और चच्चा ने मेरे पैर कन्धे पर ले लिए.

जब उनसे रहा न गया तो उसने मुझे पीछे धकेला और उठ कर मेरे कपड़े उतारने लगी. मैंने अपनी जीभ को दस्तूर की चूत में डाल दिया और एक हाथ से दस्तूर की गांड का छेद फैलाने लगा था.

मैंने कहा- तुम अकेले सो सकती हो नीचे?वो बोली- नहीं, मुझे तो बहुत डर लगता है.

एक दिन जब मैं दुकान पर अकेला था, तब उसका कॉल आया और इधर उधर की बात करने के बाद उसने मुझे गुस्से में बोला कि समीर आप मुझसे प्यार नहीं करते हो. मैं आशा करती हूं कि हर बार की तरह ये उत्तेजक और गर्म कहानी भी आपको पसंद आएगी. फिर एक दिन मुझे मौका मिल ही गया, जब मेरी माँ को दस दिनों के लिए लखनऊ जाना था और उनकी शाम को ही ट्रेन थी.

सोनाक्षी सिन्हा हस्बैंड नाम मैंने कहा- मतलब तुम्हारे स्तन पर चोट लगी क्या?वो हिचकिचाते हुए बोली- हां … उधर ही. मैंने उस दिन से पहले कभी अपने बदन पर इतना ध्यान नहीं दिया था क्योंकि मैं पढ़ाई और काम में ही व्यस्त रहती थी.

मैं फुलवा भौजी से बोला- भौजी काम जल्दी खत्म कर दो और जाओ, आपके बच्चे इंतजार कर रहे होंगे. मैंने बोला- अब तू सो जा कमीनी या सोच सोच कर उंगली कर ले, हमें अपना काम करने दे. मैंने पूछा- घर में बाकी लोग भी होंगे ही ना?तो वो बोली- आप आ तो जाओ … बाकी सब समझ जाओगे.

देवर भाभी सेक्सी देवर भाभी सेक्स

पहली नजर में प्यार और वासना की कहानी पर अपनी प्रतिक्रिया देकर कहानी की सार्थकता पर प्रकाश डालें. दीदी ने सोमेश से कहा- मेरे लोकेश की किसी भी लड़की से दोस्ती करा दो यार. जिस तरह के मैसेज और फोटो मैंने देखे, उनसे साफ़ पता चल रहा था कि भाभी का उस फ्रेंड के साथ चक्कर चल रहा था.

मास्टर साहब सकपकाए से खड़े रहे, फिर बोले- पत्नी तो दो माह से मायके में है. अब उसको शायद समझ आ गया था कि मैं उसके चूचों को छेड़ने के लिए यह सब कर रहा हूं.

मुझे देख कर वो मुस्कुराया, मैं कुछ देर सोच में पड़ गयी, पर जब मैंने उसे ध्यान से देखा, तो वो मुझे जाना पहचाना चेहरा लगा.

वो नीची नजर से मेरे लंड के उभार को देख कर फिर से अपनी नोटबुक में देखने लगती थी. इसलिए मैंने भी ट्राई करने का मन बना लिया और कहा- तुम भी कम खूबसूरत नहीं हो. जैसे ही मॉम कमरे में आईं, मैंने मॉम की साड़ी उठाई और दो तीन चमाट लगा दीं.

क्या मस्त पतली और गोरी कमर थी … यार मन तो किया कि एक बार कसके दबा दूँ, पर उस समय उसकी हालत पर मुझे दया भी आ रही थी. मैंने फिर शरारती अंदाज़ में बोला- मेरे पास एक तरकीब है, जिससे दोनों की समस्या हल हो सकती है. मैं भी उठ कर बैठी, तो मेरी योनि के किनारे गोलाकार में सफेद झाग सा बना हुआ था.

जैसे ही मैं किस करते हुए उनकी नाभि के पास पहुंचा और जैसे ही मैंने उनकी नाभि पर किस किया, वो सिहर उठीं.

इंग्लिश एचडी बीएफ वीडियो: उसके बाद मैंने भाभी को कुतिया बनाकर कहा- चल मेरी कुतिया रेडी हो जा … आज तेरी चूत नहीं गांड ही चोदूंगा. मैंने थोड़ा सा सरक कर मैडम के करीब आते हुए अपना हाथ उनके मम्मों पर रख दिया.

मैंने पूछा- क्या हुआ भाभी … आप इतनी उदास क्यों हो?भाभी बोलीं- कुछ नहीं … बस ऐसे ही. राजशेखर- रिश्ता हमारा सही है, हमें तो केवल अपने बचे हुए जीवन को मजे से जीना है और जब तक किसी को पता नहीं चलता, ये गलत कैसे हो सकता है. मैं उठ कर पोजीशन में आ गया और बुआ मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं.

अमित अभी तक मुझे कहीं प्यार नहीं मिला … और मैं जैसी मोटी, भद्दी हूँ, उसे देखकर मुझे नहीं लगता कि आगे भी मुझे प्यार मिलेगा.

हालांकि मैं इस मामले में थोड़ी भाग्यशाली हूँ और मेरी कुछ महिला मित्र भी कि हमने जिनके साथ भी संभोग किया, उन्होंने हमारे चरम सुख प्राप्ति को बराबर समझा. सुरेश अपनी मर्दानगी पर इठलाते हुए बोला- आह … और कल कितनी बार पानी छोड़ा था?मैं- एक बार. बात आज से 2 हफ्ते के पहले की है जब सुशी मुझे मिलने के लिए बुलाती थी और हम दोनों चुदाई करने की कोशिश करते थे.