बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ

छवि स्रोत,ओपन शोट सेक्सी व्हिडीओ

तस्वीर का शीर्षक ,

होली वीडियो बीएफ: बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ, सौरभ ने भी अपना लोअर निकाला और मेरी टांगों के बीच में अपने लण्ड को पकड़कर बैठ गया.

सेक्सी वीडियो पति पति

मेरे निप्पलों पर उसने जीभ फिराई, तो इस बार आह निकलने की बारी मेरी थी. सेक्सी पिक्चर दिखाइए पंजाबी मेंरेहाना- अच्छा तो यह बात है, मगर मैं घर कैसे जाऊँगी?रमेश- घर क्या तुम ब्रा और पेंटी में जाओगी? चुपचाप अपने ऊपर के कपड़े पहनो और चली जाओ।वो मुस्करा कर उसके पास आई और उसका फोन उठा कर नम्बर लगाने लगी.

मैं रोज दिन में रोहन के जाने के बाद थॉमस के घर चुदाई करवाने जाती थी या कभी कभी वो मुझे चोदने के लिए मेरे घर आ जाता था. सेक्सी लड़की कपड़ेअब मैंने भाईजान के बॉक्सर के अंदर हाथ डाल लिया और उनके लंड को सहलाने लगी.

फिर वो चुदासी भाभी धीरे से मेरे कान के पास होंठ लाकर बोलीं- मैं जानबूझकर तुम्हारे पीछे मूतने के लिए बैठी थी.बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ: मैं तो उसकी चुत में इतना ज्यादा खो गया था कि मुझे कुछ होश ही नहीं था.

मैंने तो सोचा ही नहीं था कि इस उम्र में मुझे तुम जैसा कोई मिल जाएगा?मैंने कहा- आंटी आप तो बहुत जवान और हॉट हो, बिल्कुल 25 साल की लड़की की तरह से हो.लड़कियों को शायद खुद को यह खुशबू नहीं आती है मगर चूत चूसने वाले इसको तुरंत पहचान लेते हैं.

वीडियो सेक्सी 4g - बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ

तो भाभी बोलीं- मुझे प्यासी छोड़ कर कहां जा रहे हो?मैं- भाभी बस अभी आया.लेखक की पिछली कहानी:बेकाबू जवानी की मजबूरीमेरे प्यारे दोस्तो, धन्यवाद आपके प्यार और मेसेजस के लिये! आप लोगों का कहानी के प्रति समर्पण मुझे लिखते रहने के लिये प्रेरित करता है.

और आज बुआ की दूसरी बेटी रंजुमुनी की पेलने की बारी है।रीना अपनी मम्मी के साथ सोने वाली है. बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ उनको यह करतब करते देख मेरे भी तन बदन में आग लग गई और मेरी चूत भी लौड़ा मांगने लग गई.

मैं- कोरियर शायद आपके पति ने भेजा है ना? लगता है सर बहुत प्यार करते हैं आपसे?वो- हां.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ?

उसने कहा- आज रात में यहीं रुक जाओ न!मैंने कहा- नहीं, मैं यहां नहीं रुक पाऊंगा. ’करीब 30 मिनट की मेरी सुरंग की खुदाई के बाद मेरी ज्वालामुखी ने अपना सारा लावा बाहर निकाल दिया. फिर बताओ और क्या करोगे?अब मैंने अनजान बनते हुए पूछा- हां तो मैं कहां पहुंचा था?वो- तुम मेरी दोनों बांहों को चूस रहे थे.

शाही सर ने जानबूझ कर लंड चुत कह कर उसको और भी खोलने का प्रयास किया था. मेरी आंखों में आंसू आ गए थेमेरे आंखों में आंसू देखकर दोनों ने अपने लंड बाहर निकाले, तब मुझे सांस आयी. जो लोग लड़कियों की माहवारी के समय चूत चूसते हैं वो इस विशेष सुगंध को पहचानते हैं.

अगर आप रोजाना सेक्स ना करके बहुत दिनों के अंतर पर सेक्स करोगे, तो ये स्वाभाविक है. मैं- हम्म … और जब तुम्हारे सीने पर चूमूंगा तो …वो- तो क्या?मैं- तो तुम्हें अच्छा नहीं लगेगा?वो- हम्म … बहुत अच्छा लगेगा. बाभी Xxx हिंदी कहानी का अगला भाग:बंगालन भाभी को फ्लैट दिला कर चोदा- 3.

फिर एक बार उसने मिलने के लिए कहा तो मैंने दो दिन के बाद उससे मिलने के लिए बोल दिया. सूरज ने हाथ से लंड हिला कर उसे खड़ा करने की बहुत कोशिश की, पर फिर उसका लंड खड़ा ही नहीं हुआ.

फिर बूढ़ा खुद बैंच पर बैठ गया और उसने मुझे अपनी गोद में बैठने के लिए कहा.

रश्मि ने अपनी फांकों को फैला दिया और मेरी जीभ भी उन फांकों के बीच चलने लगी.

आपकी कोई गर्लफ्रेंड हो तो बताओ?भाईजान बोले- तेरी फिक्र है इसलिए मैंने कोई लड़की नहीं देखी. उसने उत्सुकता से पूछा तो मैंने कहा- बात ये है कि तुम अभी बिस्तर (बेड) पर अकेली हो और उम्र के इस मोड़ पर तुम्हें एक साथी चाहिए … साथ कोई है नहीं इसलिए तुम्हें नींद नहीं आ रही है. रिया- हां अब बोल, क्या बात है?रेहाना- पहले तू प्रोमिस कर मेरी बात का बुरा नहीं मानेगी.

वो ब्लाउज और पेटीकोट में रह गई थीं और मुझे अपने ऊपर से हटाने की कोशिश कर रही थीं. कुछ देर बाद हमारा नम्बर आया और हम अन्दर चले गये।जैसे ही मैं अन्दर गयी … ये क्या … वहां एक पुरूष डाक्टर बैठा था. वो बोली- राज, तुम मस्त चुदाई करते हो!मैंने अब और तेज़ तेज़ झटके मारने शुरू कर दिए.

इसलिए मैं अब शायरा के ऊपर आ गया और एक हल्का सा किस शायरा के होंठों पर कर दिया.

इसी से संबंधित एक घटना मैं आपको आज बता रहा हूं जो कुछ महीने पहले की ही है. दोस्तो … मैं चन्दन सिंह एक बार फिर से अपनी भतीजी और उसकी मौसी सास की चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. मैंने उनकी दोनों टांगों को उठा कर अपना लंड उनकी गांड पर सैट कर दिया और एक ही बार में पूरा लौड़ा गांड में घुसा दिया.

आगे भाग में इस सेक्स कहानी को पढ़ कर आपके लंड से पानी जरूर निकल आएगा. मैंने एक बार झुक कर आंटी के मम्मों को मुंह में लेकर दो- तीन बार चूसा. दारू गटकने के बाद वो उठी और आंखों से मुझे बाथरूम में चलने का इशारा किया.

वो- और तुम्हें भी?शायरा ने कल मेरी और ममता जी की बातें सुनी थीं, इसलिए उसको पता था कि मेरा और मेरी भाभी का चक्कर चल रहा है.

उसके टीशर्ट में से उसकी गोल गोल नर्म चूचियां दबाने में अलग ही मजा आ रहा था. मन ही मन मैंने भी सोचा कि सही बात है कंडोम लगाकर तो मुझे भी मजा नहीं आता अपनी कूट की चुदाई करवाने में.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ अगर मेरा एहसान मान कर चुकाना ही चाहती है तो विजय का लण्ड हमेशा खाती रहना. मैंने कहा- वो कहाँ से आएंगी?भाभी- किट्टी की मेरी जो फ्रेंड्स हैं, सब लण्ड को तरसती हैं, कइयों ने तो सालों से लण्ड के दर्शन नहीं किये हैं, वे तो हैं ही, किसी की बेटी को बच्चा नहीं होता तो किसी की बहू के बच्चा नहीं होता, सब चोदने को दिलवा दूंगी, लेकिन तुम मेरे विश्वासपात्र बने रहना.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ इस समय मेरे मुँह से वैसी ही आवाजें आ रही थीं, जैसी एक कुत्ता के मुँह से कोई तरल खाते या चाटते टाइम स्लक स्लक की आवाज़ आती है. मैंने उसकी तरफ देखा- तो उसने क्या कहा?वो बोली- पहले तो वो बोला कि नैना, अब राहुल बड़ा हो चुका है … वो 6वीं क्लास में पढ़ता है … क्या अब दूसरा बच्चा करना ठीक होगा? फिर मैंने बोला कि नहीं … कुछ भी हो … मुझे करना है.

मेरी…आह्हह्ह।संजय पीछे से गीत की गांड में झटके लगाता हुआ और उसके चूतडो़ं को संभालता हुआ बोल रहा था- उफ्फ.

ट्रिपल सेक्स पोर्न वीडियो

मैंने कहा- तुम साले सारे बुड्ढे इतनी ठरकी कैसे हो सकते हो?यह कहकर मैं हंसने लगी. बड़ी चाची ने मेरी टी-शर्ट को निकाल दिया और छोटी चाची अपने एक हाथ मेरे लंड को पजामे के ऊपर से टटोल रही थीं. केवल नेहा के साथ थोड़ी बहुत चूमा चाटी हुई और हम सब लोग अपने अपने काम पर चले गए.

फ़िर बड़ी चाची ने मुझे गाली देकर कहा- मादरचोद … मुझे ही नंगी करवाएगा या खुद भी लंड निकालेगा?मैं बेड पर ही उठ खड़ा हुआ और नीचे उतर कर मैंने दोनों को अपनी बांहों में ले लिया. उत्तेजना के मारे अभी भी शायरा का चेहरा एकदम सुर्ख लाल हो रहा था और आंखें जल रही थी. भाभी की चूत चोदने के लिए नहीं मिली तो मैंने अपनी वासना कैसे शांत की?अन्तर्वासना के सभी रीडर्स को मेरा हैलो.

जोरदार चुदाई की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं अपनी चूत में मची सेक्स की खलबली को अपनी भाभी के भाई के लम्बे लंड से शांत करवा रही थी.

उसे मैंने अपनी गोद में दोनों तरफ़ टांगें चौड़ी कर बैठा लिया, तो अर्चना की चुत और मेरा लंड दोनों आमने सामने आ गए. मेरा लंड खड़ा करने के लिए एक सेक्सी महिला की मद भरी आवाज ही काफी थी. क्योंकि अगर एक बार ये सब शुरू हो जाए … तो फिर भावनाएं काबू करना बहुत मुश्किल हो जाता है.

मैंने पूछा- रोहतक में कहां?तो वो बोली- झज्जर चुंगी के पास कल मिल जाना. पर आज मैं एक वादा तुमसे करता हूं कि जिंदगी भर तुम्हारा साथ नहीं छोडूंगा, तुमसे ऐसे ही प्यार करता रहूंगा. गीतिका कहने लगी- चलो जो होगा देखा जाएगा, लेकिन जिंदगी का मजा एक ही रात में आ गया.

शमा बोली- अरे पागल हो क्या … क्या कह रहे हो दीदी जी से!मैंने कहा- अरे नहीं, कोई बात नहीं, तुम छू सकते हो. आंखें पानी से भर गयीं लेकिन उनके चेहरे पर एक संतुष्टि सी आ गयी थी लंड को चूत में लेकर.

उसके बाद जुबान और हाथों से थूक को लिंग की पूरी लम्बाई में फ़ैला दिया. मैं उसके ऊपर लेट गया और उसके होंठों को चूसते हुए तेज-तेज उसकी चूत में लंड को पेलने लगा. वो मुझे जोर-जोर से अपने लण्ड पर उछाल रहा था और मैं उसकी गोद में ही एक बार झड़ चुकी थी.

वो- तुम एक लड़के हो, मुझे अकेले पाकर ऐसे ही जाने दोगे?मैंने कहा- तुम्हें क्या लगता है?वो- मुझे नहीं लगता कि तुम मानोगे.

पहनने के बाद देखने में ऐसा लग रहा था जैसे गीत की चूत पर एक लंड उग आया हो. मैं- अरे तुम इतनी जल्दी कैसे झड़ गयीं?ज़ारा- जान मैं काफी देर से गीली जो थी!मैं- अब इसका क्या करूं?ज़ारा- जान चूत ही तो झड़ी है गांड बाकी है मेरी!मैं- लेकिन गांड में तुम्हें दर्द होगा!ज़ारा- देखिये जनाब, आज से ये घर मेरी सल्तनत है और यहां जो मैं कहूंगी वही होगा! हुकुम की तामील हो!कहकर हंस पड़ी और मेरा लंड चूसने लगी. इस तरीके से रात को जब हमारा प्रोग्राम होता और बसन्त अंकल सोने लगते तो अक्सर दो तीन बार लाइट जाने लगी थी.

मैं स्टेज के सामने कुछ दूरी पर ऐसे बैठ गया, जहीं से खुशी मुझे देख सके और मैं खुशी को देख सकूं. वो अपनी इस नयी उपलब्धि में इतना खो गया था कि उसे अपने दोस्तों की भी याद नहीं आयी.

मैंने कहा- मादरचोदो क्या चाहते हो?तो वे बोले- हम चाहते हैं कि तुम हमसे लंड की भीख मांगो. मैं- कप्पो रानी … आह तेरी गांड बहुत मस्त है … पूरे महीने इस ठंड में तुझे ठंड नहीं लगने दूँगा … मैं आपको इतना चोदूंगा कि आप हमेशा मेरे साथ नंगी रहने चाहोगी. मनु ने मुझे दीवार की ओर मुँह करके खड़ा कर दिया और मेरी एक टांग चेयर पर रखकर मेरी गांड को थोड़ा सा ऊपर किया और उंगली से मेरी गांड में क्रीम लगाना स्टार्ट कर दिया.

बड़े लंड की सेक्सी

उसके बाद संजय ने गीत के चूतड़ों के नीचे हाथ लगा कर हमें थोड़ा सहारा दिया और अब मैंने गीत को थोड़ा और ऊपर को किया जिससे संजय को एडजस्टमेंट हो जाए.

मेरी पहाड़ जैसी चुचियों की क्लीवेज भी ब्लाउज के गहरे गले में से काफी ज्यादा झलक रही थी. तो मम्मी बोली- देखो कैसी पागल लड़की है पहले ब्रा उतार नहीं रही थी, अब पहन नहीं रही है. हम दोनों अपने चुसाई के कार्यक्रम में इतने खो गए थे कि कब मैं उसके मुँह में और वो मेरे मुँह में झड़ गई, पता ही नहीं चला.

उन्होंने कहा- नयी नयी शादी होने पर तो हर पति पत्नी रोज रात में एक बार सेक्स करते ही हैं. इसके उलट सूरज के दोस्त लोग उसे चढ़ा रहे थे कि तूने अपनी गर्लफ्रेंड के साथ अभी तक कुछ किया कि नहीं, ऐसे ही रहेगा क्या … वगैरह वगैरह. प्यार गंदा फोटो शायरीवो चूत को पूरा ऊपर ले लेती जिससे लंड की सुपारी का थोड़ा सा भाग चूत में रह जाता.

अब भला मैं क्या जवाब देता … अट्ठारह उन्नीस साल की दो अप्सराओं के बीच सौंदर्य की इस प्रतिस्पर्धा के बीच मैं फंस गया था. मैं थॉमस की बांहों बहुत खुश हो रही थी क्योंकि बहुत दिनों बाद मुझे थॉमस के लंड का स्वाद चखने को मिलने वाला था.

नेहा की गांड में गीत ने अपने हाथ से संजय का लंड टच करवाया और मैंने ऊपर से नेहा के दोनों कंधे पकड़ कर उसे धीरे धीरे नीचे कर दिया. चूत पूरी तरह से पनियाई हुई थी, बाहर भैंसा की चुदाई की खच … खच … आवाजों ने माहौल को और सेक्सी बना रखा था. मेरे चूत मसलने का असर ये हुआ कि उसने अपनी जांघें थोड़ी सी खोल दीं जिससे उसकी समूची चूत मेरी मुट्ठी में बड़े आराम से आ गयी.

आनन्द के वशीभूत शायरा के मुँह से अब जोरों से सिसकारीयां फूटना शुरू हो गयी थीं, इसलिए उसका‌ मजा और अधिक बढ़ाने के लिए मैं अपने एक हाथ से उसकी दूसरी चूची को दबाने भी लगा. मैंने कहा- ये सब तुमने कहाँ से सीखा?सौरभ- मेरे दोस्तों ने बताया था. अपनी गांड चुत को साफ़ किया और बीस मिनट के बाद बाथरूम से बाहर निकलने लगी.

बस फिर क्या था … कविता मेरी जुबान को मस्ती भरे अन्दाज में चूसते हुए खेलने लगी और मेरे स्तनों को मसलने लगीमुझे ऐसा नहीं लग रहा था कि कोई औरत मेरे साथ सेक्स कर रही है, बल्कि कोई मर्द ही मेरे साथ मस्ती कर रहा है.

मैंने बोला- भाभी आपने अपना जवाब नहीं दिया कि अभी आप लोग कितने दिनों के अंतर पर सेक्स करते हैं?भाभी मेरी बात का जवाब नहीं दे रही थीं. उस समय मेरी चुचियों का साइज 34 था और चुचियाँ ही मुझे ज्यादा परेशान करती थीं.

इस तरह बीतते समय के साथ हर उम्र की महिला ग्राहकों के लिये मेरा नजरिया एक नादान उम्र के निश्छल आकर्षण से हटकर उनके जिस्म को छूने और टटोलने की ओर हो गया था. संजय जैसे जैसे गीत की चूत को चोदता गीत की गांड में अपने आप ही मेरे लंड के झटके लगते रहते. अनीता ने कहा- चल भाग कमीनी … जितनी जल्दी हो सके भाग जा … समझ ले कि धंधे में ग्राहक को खुश करना रंडी की जिम्मेदारी होती है और तू है कि खुद मजे लेकर पसर जाती है.

भाभी कराह उठीं- धीरे करो … क्या जान ही निकालोगे?मैंने- जान निकाल लूंगा, तो बाकी की खुशियां कैसे ले दे सकूंगा. मेरी इस सेक्स कहानी के पिछले भागपड़ोस की भाभी सेक्स की चाह-2में आपने जाना कि मैंने भाभी की पैंटी थोड़ी खींच दी थी. मुझे आपसे मिलना है।फिर मैं बोली- हम इतनी दूर रहते हैं तो हम कैसे मिल सकते हैं?वो बोले- मैं आपके लिए कहीं भी आ सकता हूं.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ उसके घुटने और पीछे का भाग इतना सेक्सी था कि मेरा दिल कर रहा था कि अपना लंड इसी में घुसेड़ दूँ. फिर मैंने जिया की चुत से लंड खींचा और उसको कुतिया बन जाने का इशारा किया.

पेशाब करती हुई सेक्स वीडियो

रजत भैया कम्पनी में सीईओ हो गए हैं और शशि भाभी एक मैनेजमेंट कॉलेज में लेक्चरर हो गई हैं. मुझे सौरभ पर गुस्सा आ रहा था क्योंकि वह यह सब बड़े हल्के हाथ से धीरे धीरे कर रहा था जबकि मैं पूरी तरह से उत्तेजित हो चुकी थी और मैं चाहती थी कि वह मेरे शरीर के हिस्सों को जोर जोर से मसले, रगड़े. अब अगले भाग में मैं आपको इस सेक्स कहानी का अगला भाग लिखूंगा, जिसमें मैंने भाभी की चुत गांड दोनों चोदीं और उनको एक बच्चे की मां भी बना दिया.

मैं मामी को जोर जोर से किस किए जा रहा था और धीरे धीरे उनकी चुचियों को भी दबा रहा था. कोई 5 मिनट में गुड्डी की चूत ने पानी छोड़ दिया और मैंने थोड़ा सा उसकी चूत का पानी पिया. ओपन सेक्सी वीडियो गांव कीदो बार के बाद तो आँटी ने बसन्त अंकल को कहा कि बार बार लाइट जाने लगी है अब हम यह कमरा खाली करवा लेते हैं, मैं बच्चों के साथ ऊपर ही सो जाया करुँगी.

इस पर उन्होंने अपने दोनों हाथों से अपना मुँह छुपा लिया और बोलीं- तुम बहुत हॉट हो यार.

इसी से संबंधित एक घटना मैं आपको आज बता रहा हूं जो कुछ महीने पहले की ही है. फिर मेरे पेट से चूमते हुए उसने मेरा लोअर निकाल दिया और मेरे जॉकी के ऊपर से ही मेरे हथियार को चूमने लगी.

गीत की गांड में लंड घुसा होने की वजह से उसकी चूत में भी मज़ा ज्यादा आता क्योंकि जब गांड की मांसपेशियाँ कसावट में हों तो चूत में मज़ा आना स्वाभाविक ही है. एक दिन मेरी फ्रेंड मुझसे बोलने लगी कि अभिषेक ने एक जगह शाम में इंग्लिश की कोचिंग ज्वाइन की है, क्यों ना हम लोग भी उसी कोचिंग को ज्वाइन कर लें. मैंने अपनी उंगली की एक पोर चूत में धीरे से घुसा दी और धीरे धीरे उसे अन्दर बाहर करने लगा.

करीब आधे घण्टे बाद मेरे कमरे की बैल बजी, मैंने दरवाजा खोला तो देखा वही कपल बाहर खड़ा था.

इस लॉकडाउन में जब भी मौका मिलता, तो हम दोनों एक दूसरे के अन्दर समा जाने के लिए बेताब हो जाते. मैंने कहा- ऐसे नहीं, यहां साथ में ही एक कोठी के ऊपर मेरा रूम है, जब भी तुम चाहो पार्क की बजाए मेरे कमरे में मिल लिया करो. मैंने कहा- कितने दिन हो गये भाभी आपको चुदे हुए?वो बोली- बहुत टाइम हो गया है इसलिए दर्द हो रहा है.

चीन के सेक्सी व्हिडीओमैंने बिना देर किए उसकी चूत में जैसे ही लंड डाला, वो ‘उम्म उम्म आह. नेहा को मैंने बैठने के लिए कहा तो नेहा मेरे सामने ही बैठ गई जिससे मुझे उस लड़की को देखने में दिक्कत होने लगी।मैंने नेहा को साइड होने का इशारा किया, नेहा साइड तो हो गई पर उसने भी पलट के देख लिया कि आखिर मैं देख क्या रहा हूँ।नेहा समझ गई कि मैं क्या देख रहा हूँ, नेहा ने मुस्कुराते हुए कहा- सर खाना हो गया, या कुछ लाऊं?मैंने कहा- ला सकोगी??नेहा जानती थी कि मैं क्या कह रहा हूँ.

सेक्सी वीडियो देखकर

मेरा मन लालच से भर गया और मैं उसे चाट लेने को झुकी, पर कविता ने मुझे रोक लिया. मैं थॉमस की बांहों बहुत खुश हो रही थी क्योंकि बहुत दिनों बाद मुझे थॉमस के लंड का स्वाद चखने को मिलने वाला था. योनि तक तो ठीक समझ आ रहा था, पर मेरी गुदा द्वार को क्यों चाट रही है.

इतने में मैंने खाना खत्म किया और मौसी को बोलने गया कि मैं घर जा रहा हूँ. गीत मुझे फॉलो करती जा रही थी और जैसे मैंने गीत को बताया वैसे ही गीत ने नेहा की दोनों टांगों को अपने कन्धों पर रख लिया. मैंने उससे पूछा- चाय पियोगी?उसने उत्तर दिया- हां पिला दो, थकान कम हो जाएगी.

बूढ़े को पता नहीं कितना मज़ा आया होगा मेरे बूब्स के साथ अपनी कोहनी रगड़ कर!फिर मैंने बूढ़े को थोड़ा और मज़ा देने के बारे में सोचा. इस बार उसके हाथ से एक अलग अंदाज में मेरा हाथ टच हुआ, तो मेरे दिल में एक अजीब सी धक धक हुई. नहीं तो मुझे कल फिर से आना पड़ेगा।डाक्टर गर्दन हिलाते हुए मना करने लगा.

वो- ये लो … पर देख लेना उसमें पैट्रोल भी है या नहीं, बहुत दिनों से ऐसे ही खड़ी है. हम चारों के मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं और चारों ही चुदाई में पूरी तरह से लीन हो गये थे.

उनमें से किसी ने मुझे देख कर शॉकिंग रिएक्शन नहीं दिया, ये मुझे समझ नहीं आया.

मेरा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया।वो ‘अआह हाय … ऊई ईल्ल्ला ल्ल्ला अम्मी … मर गई’ चिल्लाने लगी और पैर पटकने लगी. हीरोइन की सेक्सी डाउनलोडउम्मीद है आपको मेरी पिछली कहानीफिटनेस सेंटर में भाभी को पटायाकाफी पसंद आयी होगी. सेक्सी ब्लू फिल्म चुदाई की वीडियोअब मेरी भी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी थी और मैं वापस अपने मायके आ गई थी. फिर वो मेरे साथ सोने कि जिद करने लगी, मुझे थक हार उसे अपने साथ सोने देना पड़ा.

तो वह नर्स बोली- बिना देखे तो दवाई देना ठीक नहीं है एक बार चेक करा दीजिये.

मेरी बंगाली सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक बंगाली कपल मेरे फ्लैट में रूम सेट किराये पर लेने आया. कुछ धक्कों के बाद हम दोनों जोश में होश को खोने लगे और ताबड़तोड़ चुदाई का मंजर चलने लगा. रात को विजय बाहर वाले रुम में अकेला ही सोया जबकि मैं बच्चों के साथ अंदर वाले रूम में सोई.

सेशन क्लोज करने से पहले कुछ देर तक मैंने मेघा के साथ और भी फ्लर्ट किया. जब थोड़ी देर बाद दिमाग शांत हुआ, तो हम दोनों ने फिर से बैठ कर बात की. मैंने इस मौके का फायदा उठाते हुए उसकी साड़ी ऊपर की और पैंटी हटा कर उसकी चुत में उंगली करने लगा.

ब्लू फिल्म सेक्सी इंडिया

कुछ ही देर में भाभी ने दो पैग खींचे और मटन की चाप उठाकर ऐसे चूसने लगीं कि जैसे लंड चूस रही हों. उनको भी शायद चुदने की कुछ ज्यादा जल्दी थी, तो उन्होंने अपना ब्लाऊज और पेटीकोट खुद ही निकाल दिया. एक दिन मैं अरुण को पढ़ाने से आधा घंटे पहले भाभी के पास बैठा हुआ बात कर रहा था.

इस पर मैंने उनसे पूछ लिया- आप लोग कितने दिनों के अंतर पर सेक्स करते हैं.

मैंने आह करते हुए कहा- आह श्यामू … ये क्या कर रहा है?वो बोला- मालकिन अपनी जीभ से आपके ज्वालामुखी के मुँह की मालिश कर रहा हूँ.

ऊपर से हमारा बॉलीवुड … और अब तो वेब सीरिज भी … आजकल ऐसे गाने और फ़िल्में बनती हैं कि जवान होते बच्चों की उत्तेजना में घी डालने का काम करती हैं. क्योंकि वो पहले ही दो बार झड़ चुका था उसे खड़ा करने में मुझे बहुत टाइम लगा. सेक्स सेक्स सेक्सी पिक्चर हिंदीइस पर वो मादक आवाज में बोलीं- साले, मुझे आंटी मत बोल … मुझे अपनी सविता रखैल बोल … क्योंकि मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा है तेरे लंड से चुदने में … आह मैं अब हमेशा ही तुम्ह़ारे लंड से चुदना चाहती हूँ.

बाहर आकर गार्ड ने अपनी एक्टिवा स्टार्ट करके मुझे पीछे बैठाया और एटीएम ले गया. हॉट साली की चूत कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन में मैं अपनी ससुराल में फंस गया. दीपिका- अच्छा ये बताइये, क्या आप हर रोज ड्रिंक करते हैं?मैं- नहीं, कभी कभी.

और मुझे डांस का ड भी नहीं आता, मैं चाहता हूं … आप मुझे डांस सिखा दो. अभिषेक ने मेरी सहेली को पकड़ा और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और एक बहुत तगड़ा वाला स्मूच किस करने लगा.

हमने खाना खाया और मेरे घर की तरफ चल दिए।उसने मुझे रात के लिए भी बोला लेकिन मैं नहीं चाहती थी रात को होटल में रूकूं।उसने मुझे मेरे घर से 100 मीटर दूर छोड़ दिया और वो अपने होटल की तरफ चल दिया।ना ही मैंने और ना ही मयंक ने एक दूसरे का कॉन्टेक्ट नंबर लिया ना ही कोई जान पहचान की।ना ही हम कभी दोबारा मिले।धन्यवादआपको मेरी ये Hot Sence of Sex स्टोरी कैसी लगी मुझे[emailprotected]पर मेल कर के जरूर बताना।.

स्टेशन दस बीस किलोमीटर की दूरी पर होते थे … तो ये समस्या आड़े आ रही थी. अपनी भारी गोरी गांड को भाभी ने ऊपर उठाया और मेरे लण्ड को अपनी चूत के छेद पर फिट करके नीचे बैठने लगी. आज मैं उसे एक रण्डी की तरह चोदना चाहता था।मैंने दीदी को उल्टा किया और उसके चूतड़ों पर अपने दांतों से काटने लगा.

लड़का चोदने वाला सेक्सी वीडियो फुद्दी की ऐसी हालत देख उसने अगले ही पल अपना लंड मेरी फुद्दी के मुँह पर रखा और मेरी फुद्दी में धकेलने की कोशिश करने लगा. अब देख क्या रहा है मुझे … कहीं से पैड लाकर दे … आह्ह मम्मीईई … बहुत दुख रहा है … और जलन‌ सी भी हो रही है.

नमस्ते दोस्तो, मैं अपना गर्म सेक्स अनुभव आपको बताने आया हूं जो मुझे (23 साल की उम्र में) अभी हाल ही में हुआ था. सभी ने दीपक के कमरे में इकट्ठे की चुस्कियां लेते हुए आएशा भाभी के साथ खाना खाया।आएशा को कुछ ज्यादा चढ़ गई तो उसने रीना को अपने बांहों में जकड़ा और रीना की चूत चुसाई करके उसे धन्यवाद दिया. इस पर लण्ड पर पहला हक तुम्हारा है उसके बाद मेरी पत्नी का! तुम जब भी मुझे कहीं भी बुलाओगी … मैं कैसे भी हालत में रहूंगा तो तुम्हारी चूत की सेवा करने हाजिर को जाऊंगा.

देवर ने भाभी को साड़ी में चोदा

अब भाभी बोलीं- देवर जी आप देर मत करो … आज मेरी गांड का भी उद्घाटन कर ही दो, मुझे नहीं पता था कि इसमें भी इतना मजा आता है … नहीं तो मैं कब का आपका लंड अपनी गांड में घुसवा चुकी होती. मैंने चुदाई रोककर लंड बाहर निकाला और पीछे हटकर गीतिका की चूत की एक मोटी फांक को अपने मुंह में भर कर चूसने लगा और उसको अपने दाँतों से चबाने लगा. अभिषेक के पिताजी शहर के रसूखदार हस्ती थे … इसलिए अभिषेक से लगभग पूरा स्कूल टीचर और प्रिंसिपल तक डरते थे.

मैंने पूछा- क्या हुआ था?(आगे की भाई की चुदाई कहानी भाभी के मुख से) भाभी बताने लगी- जब मैं बिन्दू की उम्र में थी तो मैं गजब की सुंदर थी. मैं वहाँ एक महीने रही थी और एक महीने में मेरी बहुत बार चुदाई हुई।अगर आप लोग चाहते हैं कि मैं अपनी और भी कहानियाँ लिखूं तो आप लोग मेल करके बताना कि कहानी कैसी लगी।[emailprotected].

ये सेक्स कहानी तब की है … जब मैं दिल्ली रहकर अपनी ग्रेजुएशन कर रहा था.

उसने अपनी टांगें हवा में उठा दीं तो मैं समझ गया और मैं उसकी पैंटी उतारने लगा. मेरा मन उसकी चुदाई का था तो मैंने उससे कहा- चलो … अभी मजा करते हैं!लेकिन मेरी आशा के विपरीत उसने मुझे मना कर दिया. अभिषेक के हाथ उसके सर के नीचे थे, तो मैंने बगल में रखी अपनी पैंटी, ब्लाउज और पेटीकोट लिया और बाथरूम में जाकर उनको पहन लिया.

उसके देखने के बाद भी उसकी सेक्सी गांड को हवस भरी नजर से घूरता ही जा रहा था. मौसी बोल रही थीं- आह आज न जाने कितने वर्षों की आस पूरी हुई … मैं न जाने कबसे अपनी चुत चटवाने की सोच रही थी लेकिन तेरे मौसा ने आज तक मेरी चुत कभी चाटी ही नहीं. एक दिन मैंने छुप कर साली के कमरे में झांका तो …दोस्तो, एक बार फिर से आपका प्यारा शरद सक्सेना एक नई सेक्स कहानी के साथ आपके सामने हाजिर है.

इस पर उसने भी साफ साफ कह दिया कि मैं ऐसा कुछ नहीं चाहती हूँ … शादी की बात तो क्या, मैं तो मिलना भी नहीं चाहती हूँ.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ: इससे पहले मैं कुछ और बोलती, उसने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और मुझे चूमने चूसने लगी. एकदम से लॉकडाउन की स्थिति बन गई थी तो मैं समझ ही न सका कि ये मामला इतना लम्बा चलेगा.

बड़ी औरत की समझदारी इसी में है कि वह इस बात का ध्यान रखें कि उसकी लड़कियों को वक्त पर सही लण्ड मिल जाए, उनकी चूत की प्यास सही तरीके से बुझ जाए ताकि वह कहीं बाहर खराब ना हो. जैसे ही मैंने उन्हें अपने ऊपर बैठने को बोला, वो मेरी जांघों पर बैठ गईं और अपनी चुत को मेरे लंड पर घिसने लगीं. मैं- अरे तुम इतनी जल्दी कैसे झड़ गयीं?ज़ारा- जान मैं काफी देर से गीली जो थी!मैं- अब इसका क्या करूं?ज़ारा- जान चूत ही तो झड़ी है गांड बाकी है मेरी!मैं- लेकिन गांड में तुम्हें दर्द होगा!ज़ारा- देखिये जनाब, आज से ये घर मेरी सल्तनत है और यहां जो मैं कहूंगी वही होगा! हुकुम की तामील हो!कहकर हंस पड़ी और मेरा लंड चूसने लगी.

खासकर तब तक नहीं जब तक कि वह अपनी चूत में तुम्हारी पूरी मुट्ठी ही न ले ले.

लेकिन चुदाई का मौका नहीं मिल पा रहा था क्योंकि मल्लिका हमेशा घर पर होती थी. मैं और भाभी बेड के सिरहाने अपने आधे शरीर तक चादर लेकर दूध पीने और डॉईफ्रूट खाने लगे और बातें करने लगे. नेहा गीत की तरफ़ मुंह बनाते हुए बोली- ऐ साली, दो दो तो तुझे चाहिएं वो भी एक साथ!मैंने फिर कहा- कोई बात नहीं, तुम्हारी दो दो वाली ख्वाहिश भी पूरी कर देते हैं जानेमन, कुछ टाइम रुको बस.