सोनागाछी का बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,जीजा साली शायरी

तस्वीर का शीर्षक ,

मियां खलीफा की चूत: सोनागाछी का बीएफ वीडियो, सोनिया- तुम्हें ज्यादा इंतजार तो नहीं करना पड़ा?रोहन- नहीं बस 20 मिनट.

लौंडिया लंदन चलाएंगे डीजे बजाएंगे

रोहन- तो फिर?सोनिया- मुझे आमने सामने बैठकर इस बारे में बात करते हुए बहुत शर्म आती है. बाहुबली का सेक्सी वीडियोवो बोला- आप लेंगी क्या?मैं- क्या दोगे आप?वो लंड पर हाथ फेरते हुए बोला- जो आपकी इच्छा हो.

ज्योति ने पहले भी अपने बाप का लंड अपनी चूत में लिया था लेकिन उसके बाप के लंड से उसको अभी भी भय लगता था क्योंकि उसका लंड था ही इतना मोटा. फुल हद सेक्सी पिक्चरशान के लंड की लम्बाई भले ही कम थी, लेकिन मोटाई उसके लंड को खासियत देती थी.

घोर आश्चर्य … कि नीता ने अपने हिप्स उठा दिए और प्रिन्स को अपनी पैंटी उतारने में हेल्प कर दी.सोनागाछी का बीएफ वीडियो: वैसे पहले भाभी को उसके पास जाना ठीक नहीं लगा था मगर उस लड़के ने भरोसा दिलाया था कि वो कभी भी कोई ऐसा काम नहीं करेगा जिससे भाभी की बदनामी हो.

कुछ देर लंड चूसने के बाद सुहास ने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरी चुत में अपना लंड डाल दिया और धक्के लगाने लगा.रोहन- कोई बात नहीं लेकिन मेरा नाम रोहन ही है और मैं तो आपको निशा के बजाय सोनिया कहना ही पसंद करूंगा.

हिन्दी सेक्सी विडीयो - सोनागाछी का बीएफ वीडियो

फिर श्वेता दीदी दीदी को छेड़ते हुए बोली- ऐसे भी तो सब खोलना ही पड़ेगा … कुछ भी पहन लो.कितनी अच्छी नींद आएगी प्यार करने के बाद तुमसे लिपट कर तुम्हारी बांहों में सोने में.

साकेत भैया ने दीदी को जोर से पकड़ कर गालों पर किस किया और उन्होंने बोला- अपना कपड़े उतारो ना … मुझे देखना है. सोनागाछी का बीएफ वीडियो मैंने आंटी की चूत के चारों ओर अपनी जीभ से परिक्रमा करना शुरू कर दिया.

मेरे माथे पर पसीने की बूंदें थीं … आंखों में काजल था, जिससे मेरी आंखें तीखी और नशीली लग रही थीं.

सोनागाछी का बीएफ वीडियो?

मैंने चाची की चूत पर अपना लंड सैट किया और ज़ोर के झटके से अपना 6 इंच का आधा लंड चाची की चूत में पेल दिया. मैंने अपनी गांड पर भैया का लंड महसूस किया तो मैं घबरा गया- आ … आप ये क्या कर रहे हैं भैया?भैया- अरे कुछ नहीं रे … बस देख रहा हूँ कि तुझ गांडू की गांड ज्यादा प्यारी है या इस टके टके पर बिकने वाली रंडी की. उन दोनों के जाने के बाद मैंने अपनी चूत को देखा तो मेरी चूत फट चुकी थी.

मैंने अपने हाथ को आगे ले जाकर उसके छेद को उंगलियों से टटोला ही था कि स्स्शशस्स … की आवाज के साथ ही वो कांप गई. दीदी ‘उह … आह … ऊऊऊऊऊ … आ आ आ…’ करते हुए बेड को दोनों हाथों से जोर से पकड़े हुए थी. मैंने मन ही मन सोचा कि यह तो एक फैमिली पार्क लगता है, हम यहां क्यों आए हैं.

चूंकि मुझे भी चुदास चढ़ चुकी थी तो मैंने नीचे ही उसकी पैंट को खोल दिया था और उसकी पैंट को खोलते ही हथौड़े जैसा कोई मोटा सा डंडा उसके कच्छे में छिपा हुआ दिखने लगा था. पिता जी जाइये न प्लीज!” नीलम ने अपने ससुर को वहां से जाने के लिए मिन्नत की. तब तक के लिए आप लोग मेरी नाम की मुठ मारें और अबकी बार सारा वीर्य मेरी गान्ड में डालें।आप लोग कमेंट्स कर सकते हैं।.

उसने पीछे से मेरी गांड में थूक लगा कर अपने लंड का सुपारा मेरी गांड के छेद पर लगा दिया. मेरा पानी छूटने के बाद मैं तो इतना मजा नहीं ले पा रहा था लेकिन उसकी चूत में उंगली जा रही थी तो उसको बहुत मजा मिल रहा था.

जब उस दीवार पर लंड जाकर लगता तो लेडी डॉक्टर के चेहरे पर अलग ही आनंद छलक पड़ता.

ऐसा नहीं है कि मुझे लड़कियां बिल्कुल भी पसंद नहीं हैं, पर औरतें ज्यादा पसंद हैं.

मनु का इंट्रो पूरा भी नहीं हुआ था कि तभी हमारे पीछे से एक आवाज आई- क्यों क्या हो रहा है वहां?हम तीनों ने किसी टीचर के होने की उम्मीद से पलट कर देखा और उनके चेहरे तो पहले से ही उस आवाज की ओर थे. कभी ऊपर नीचे हो रही थी तो कभी आगे पीछे करते हुए पापा के लंड को अपनी चूत में पूरा ले रही थी. उसने मेरा सर पकड़ लिया और मेरे मुँह को चोदने लगा और मेरे मुँह में ही झड़ गया.

कुछ देर बाद मैं झड़ने वाली थी, तब मैं कामुक भरी आवाजें निकालने लगी- और जोर से … अहह और जोर से … पूरा डाल दो … आह … आआ आई लव यू विक्की … आह. एक समय ऐसा था कि जब गोवा में जाते थे तब वहां के शानदार बीच और खूबसूरती के अलावा विदेशी सैलानियों का खुलापन देखना भी जबरदस्त आकर्षण था. मैं और पापा सोच रहे थे कि ये क्या करने वाला है!अन्दर जाकर भाई ने मेरे रूम में लटक रहे झूले को पकड़ लिया और उसको देख कर फिर बाहर चला गया.

मैं नादान बनकर बोला- चाची आपके सामने कैसे?चाची बोलीं- चुपचाप अपना तौलिया खोल … मैं तेल लेकर आती हूँ और तेरी जांघ की मालिश करती हूँ … उससे तेरा दर्द कम हो जाएगा.

जब शहर आने को हुआ तो मैंने उसको बोला कि किसी सुनसान जगह रोक लेना, मुझे टीशर्ट उतार कर ब्रा पहननी है. मुझे ऐसा करते हुए 20 मिनट ही हुई थे कि घर का दरवाजा बजा, पर मुझे सुनाई नहीं दिया. बीवी की अदला बदली की मेरी सेक्स कहानी के पहले भागबीवी की बड़े लंड की चाहत-1में अब तब आपने पढ़ा कि कैसे मेरी बीवी होटल के कमरे में मेरे दोस्त के लंबे लन्ड से चुदी और अपनी मन की इच्छा पूर्ति की। यह तब सम्भव हुआ था जब मेरी पत्नी को प्राइवेसी देने के लिए मैं निक्कू (रॉकी की वाईफ) को लेकर घूमने निकल गया था.

कोमल उसके सामने घुटनों के बल बैठ गई और परमीत को भी उसके सामने ऐसे बैठाया कि वो लंड आसानी से चूस सके. हफ्ते भर से चूत न चोदने के कारण मेरा लंड मानो रॉड की तरह तन गया था. तभी मैंने देखा कि संजय जीभ से अपने होंठों को ऐसे चाट रहा है, जैसे उसे उसका शिकार मिल गया हो.

परमीत के उरोज नोकदार और मदमस्त कर देने वाले तो थे ही … और वह टी-शर्ट पहनने की वजह से ज्यादा नोकदार और शानदार लगते थे.

ताकत इतनी तेज थी कि मुझे लगने लगा कि मेरे चूचे मेरे जिस्म से उखाड़ लिये जायेंगे. काफी देर तक पापा के लंड को हिलाने के बाद भी वो उठता हुआ नहीं दिखा तो मैंने पापा के लंड को अपने मुंह में ले लिया और जोर से चूसने लगी.

सोनागाछी का बीएफ वीडियो हम दोनों ने उस रेस्तरां में खाना खाया और अपनी मंजिल की तरफ निकल पड़े. थोड़ी देर ऐसे ही चोदने के बाद हम तीनों अपने बेड पर आ गए और मैं नीचे लेट गया.

सोनागाछी का बीएफ वीडियो इस पोर्न हिंदी स्टोरी में पढ़े कि जब पति ने अपनी पत्नी को अपने पिता के साथ नंगी देखा तो क्या किया? पत्नी भी जानबूझ कर अपने पति को चिढ़ाती हुई चली गयी. वो बोली- हां, मेरी चूत … आह्ह मेरी चूत … दीदी … मेरी चूत तो चिपचिपी हो चली है.

फिर उसने एक झटके में पूरा लन्ड मेरी बेचारी नन्ही सी बुर में डाल दिया.

मोती गर्ल सेक्स

जैसे ही मैं कुतिया बनी तो उसने पूरा लंड मेरी गांड के अंदर बहुत जोर से पेल दिया. मैंने अपनी शंका को दूर करने के लिए उसकी चूत को सहलाते हुए पूछा- दिस? (इसमें?)उसने अपने हाथ को अपनी गांड के छेद पर रखते हुए बता दिया कि उसका मन अब गांड चुदवाने के लिए कर रहा है. मेरा तो रोम रोम खड़ा हो गया, मेरी गोरी गोरी जांघ अपने आप मचलने लगी।ऐसा करते हुए वो मेरे पेट तक पहुँच गए और मेरी नाभि में अपने होंठ डाल कर चाटने लगे।मेरे मुँह से नशीली सिसकारी निकलने लगी- आआअह्ह ह्ह्हऊऊऊ अओओ ओओह्ह ह्ह्ह शीस्स्स स्स्सस्स … आआअह्ह ईईईई!ऐसा करते हुये वो मेरे दूध तक पहुँच गए, मेरे एक निप्पल को अपने मुँह में भर लिया और एक दूध को अपने हाथों से मसलने लगे.

मैंने होंठों से फांकों को खींचे हुए चूसना शुरू किया, तो उन्होंने मेरा सर अपनी टांगों में दबा लिया. चूंकि मेरी आई-डी लेडी के नाम से थी तो उसको भी मुझसे सेक्स की बात शेयर करने में कोई दिक्कत नहीं होती थी लेकिन उसको नहीं पता था कि उस आई-डी के पीछे एक लड़का बात कर रहा है. मैंने ही उसको संभाला और इस दौरान हमारी नजरें मिलीं और हम दोनों वहीं पर स्मूच करने लगे.

और हां दोस्तो, मैं आपको उन भाभी के बारे में अपनी अगली स्टोरी में बताऊंगा कि मैंने उनके साथ क्या किया और कैसे किया.

इन चारों सहेलियों ने एक अपना व्हाट्सएप्प ग्रुप बना रखा था, पर सबने आपस में एक दूसरे को कसम दे रखी थी कि वे इस ग्रुप को अपने पतियों को भी नहीं बतायेंगी. ज्योति ने बड़े प्यार से महेश के लंड और बॉल्स को चाट चाट कर साफ किया. भाभी मेरे पास आ कर बैठीं और कहा- जो हो गया, उसकी चिंता न करके अब आगे कुछ ग़लत ना हो, उसका ध्यान रखना है.

अब वो भी मूड में आने लगी थी तो मैंने अपना पैग मुँह में लेकर उसकी गांड के छेद में लगा कर उसमें गांड को पिला दिया. कभी कभी तो माँ बाप भी इसमें शामिल हो जाते हैं और वो भी बताने लगते कि वो कैसे याद करते थे. थोड़ी देर ऐसे ही चोदने के बाद हम तीनों अपने बेड पर आ गए और मैं नीचे लेट गया.

अगर वो सच में यहाँ होता, तब वो सुख कितना ज्यादा होता? ये सोचते सोचते ही उसकी आँख लग गयी. उसने भी मेरी टांगें उठाईं और दो तीन झटकों में लंड चूत में उतार दिया.

इससे वो पूरी तरह से मदमस्त हो चुकी थी और गांड उठा उठा कर साथ दे रही थी. मुझे लगा कि मैं अब झड़ने वाला हूं, तो मैंने कहा कि तुम अपनी स्पीड बढ़ा दो. देखो तुमने मुझे बनियान उतारने के लिए कहा, मैंने उसको फ़ौरन उतार दिया.

उस दिन बहुत से लड़कों ने बहुत सी लड़कियों को प्रपोज भी किया, कुछ लड़के लड़कियों की सैटिंग तो पहले से ही चल रही थी और कुछ बेचारे बहुत ज्यादा शर्मीले थे.

वो लगभग हर दूसरे दिन नशे में धुत्त घर आती, लेकिन मामी उसे कभी नहीं डांटती थीं. उसकी सास ने कहा कि हम लोग तो कल ही मेहमानों के लिए सारे उपहार खरीद लायेंगे. अबकी बार राहुल ने भाभी को अपना लंड चूसने को कहा तो भाभी ने राहुल का लंड का सुपाड़ा अपने मुंह में लिया और धीरे-धीरे चूसने लगी.

पता नहीं उस वक़्त मेरे मन में न जाने क्या आया, मैंने उससे कहा- ऐसा जरूरी नहीं है. अब भाभी ने देर न करते हुए मेरी चड्डी में से लंड महाराज को आजाद कर दिया.

मैं बोला- नहीं सच में, तुम्हें देख कर लगता है कि जैसी नक्काशी ताज महल में की गई है वैसी ही खूबसूरती से बनाने वाले ने तुमको भी गढ़ा हुआ है. लेकिन जॉली ने अगले पल एक हाथ उसके गोल गदरायी गांड के दाएं कूल्हे पर रखा और हल्का सा दबा दिया. उसकी चूत से पानी निकलने के कारण उस आंटी की चूत बिल्कुल गर्म और चिकनी लग रही थी.

सेक्सी वीडियो हिंदी हॉट

मैंने एक फिर से जेठजी को आवाज दी, इस बार जेठजी ने एक बार सर उठा कर मेरी तरफ देखा और फिर से सर झुका लिया.

श्वेता दीदी- अरे … तुम बात करो … मैं यहीं पास में ही हूं ना … कोई दिक्कत नहीं होगी. मैं- उम्म्ह… अहह… हय… याह…हिना- मादरचोद मज़े कर रहा है?वो मुझे ज़ोर से थप्पड़ मारने लगीं. अब कुछ ही मिनटों में चार जवां कलियाँ पानी में अठखेलियाँ कर रही थीं.

अब मेरे गालों पर प्यार की खुमारियों के निशान स्पष्ट देखे जा सकते थे. मुझे अपने मुंह में खट्टा मीठा टेस्ट आने लगा तो मैं उसके लंड को मुंह में लेकर आगे पीछे करते हुए चूसने लगी. करिश्मा कपूर की फैमिलीगीत ने दोबारा से कहना शुरू किया- अब बीच में टोकना मत, पूरी बात सुनो, अब मुझे भी बताने में मजा आ रहा है.

एक बार घर के बाहर खड़े हुए उसने मेरे ऊपर कमेंट किया और मैं शरमा कर अंदर आ गई. फिर पापा ने मेरी चूत में एक जोर का धक्का दिया और पूरा लंड अंदर तक घुसेड़ते हुए अपना सारा पानी मेरी बच्चेदानी में गिरा दिया.

वो बोलने लगी- इईईईई माँ आह बचाओ … रहने दो … यार नहीं जाएगा … ये मेरी गांड फाड़ देगा … प्लीज़ … मत करो. फिर धीरे धीरे मैंने उसके मम्मों को कपड़े के ऊपर से ही मसलना शुरू कर दिया. मैं तो बस घर पर अकेला होने का फायदा उठा कर सिर्फ अंडरवियर और बनियान में ही घूम रहा था.

रिया किसी बेबस लड़की की तरह, जो कि वो बिल्कुल भी नहीं थी … उसके लंड के झटकों को सहने के साथ उसके मजे ले रही थी. मैंने प्रिन्स को इशारा किया कि वो अपनी फिंगर्स के हुनर से नीता को उत्तेजित करे. इतने भी बेरहम न बनो जी!वो बोले- क्या मेरा लंड लेने के लिए मेरी बीवी की चूत मचल रही है?उनकी बात पर मैंने कहा- मचल नहीं रही, बहुत बुरी तरह से तड़प रही है.

यह प्लानिंग मैंने उसी दिन शुरू कर दी थी जिस दिन मुझे पता चला था कि मेरे घर पड़ोस वाले घर में शादी होने वाली है.

उसके बाद पंद्रह-बीस मिनट गुजरने के बाद एक लेडी डॉक्टर हमारे रूम पर आ पहुंची. कभी वो लंड को ऊपर-ऊपर से चूसती और कभी पूरा लंड अन्दर लेकर आगे-पीछे करती.

वो बोला- पापा से भी चुदवा ली तूने!मैंने कहा- हां, मैंने पापा से चूत चुदवा ली है. अब मैं भी थक गई और ऐसे ही उनके लंड को चूत में रख कर उनके ऊपर ही लेट गई. कॉल कट करने के बाद अमन बोला- यार, मेरे दोस्त का घर खाली था इसलिये तुम्हें यहां लाया था.

मैंने ये सब दिमाग से निकाल कर ‘मुख्य’ काम पर ध्यान केन्द्रित किया। शायद यही इधर उधर की बातें जो दिमाग में आ रही थी, ये भी मुझे झड़ने से रोक पा रही थी. इस समय रीमा की बातों से तो मैं बहक गयी और मेरा भी मन चुदाई के लिए तड़प उठा. हम दोनों तुरंत वहां से निकल कर एक बार वाले होटल में खाना खाने पहुंच गए.

सोनागाछी का बीएफ वीडियो फिर जब मेरा दर्द कम होने लगा तो उसने मेरी गांड में अपने लंड को हिलाना शुरू किया. अब मैंने अपने सिर को जमीन पर टिका कर अपनी चूचियों को जोर से मसलना शुरू कर दिया.

ब्रेन ट्यूमर हिंदी

आह … गांड मराने में इतना मजा आता है … उह … मुझे तो मालूम ही नहीं था. वो हो गई, तो रोहित उससे सट कर संजू की तरफ करवट बदल कर लग गया और उसने मेरी बीवी की चूत में लंड को फिर से घुसा दिया. उसके तेज धक्कों से मिल रहे आनंद के कारण मैं जल्दी ही सातवें आसमान पर पहुंच गया.

लगभग एक बजे दोपहर में मैं जब खेत पहुँचा, तो वहां कोई नहीं था और मुझे गर्मी के कारण प्यास भी लगी थी. मैंने अपना ध्यान हटाने की कोशिश की और अपने कमरे में जाने लगा तो उसने मुझे आवाज दी. दुनिया का सबसे सुंदर घोड़ाखेत में रात के वक्त मवेशी घुस जाते हैं और सारी फसल को खराब कर देते हैं.

जब वो बिना मूते जाने लगी, तो मैंने आगे बढ़ कर उसका हाथ पकड़ लिया और अपनी तरफ खींच लिया.

इस कहानी के बारे में मुझे मेल जरूर करना मैं आप लोगों से पूछना चाहती हूं कि घर में ही भाई के साथ सेक्स करना कितना सही है. जब प्रिन्स को लगा कि ऐसे बात नहीं बनेगी तो उसने नीता को तौलिया ओढ़ा दिया, अंडरवियर पहना और तौलिया लपेट के बेडरूम की तरफ आया और मुझे आवाज़ दी- भैया, भाभी आपको बुला रही हैं.

30 बजे थे। मेरा मन फिर से मचल गया मैंने निक्कू को थोड़ा और कन्वेंस किया। वो थोड़ा मान ही नहीं रही थी तो मैंने उसे मनाने के लिए उसे कहा कि रात को तुम्हें सर्दी लग रही थी तो मैंने वो सब कुछ किया जो तुम्हारे लिए जरूरी था. मेरी इस सेक्स कहानी के पहले भागशरीफ चाची को अपना लंड दिखा कर चोदा-1में आपने अब तक पढ़ा था कि मैंने चाची को अपना लंड दिखा कर गर्म कर दिया था. चार दिन के टूर में दो दिन तो हम कपल्स ट्रैवल कंपनी के मार्गदर्शन में ही घूमे लेकिन फिर बाकी के दो दिनों में हमें अपनी मर्जी से मन मुताबिक कहीं भी घूमने की आजादी थी.

दीपा मनोज से बोली- तुम दोनों एक साथ नहा लो, अपनी पुरानी यादें ताजा कर लो, मैं रसोई संभाल कर अपने वाशरूम में तैयार होती हूँ.

मैंने बुआ की टांगों को फैलाया और फिर अपना विशाल लंड उसकी चूत के मुहाने पर रख कर एक धक्का दे दिया. वो बोला- आप लेंगी क्या?मैं- क्या दोगे आप?वो लंड पर हाथ फेरते हुए बोला- जो आपकी इच्छा हो. उसी वक्त उसने एक धक्का मार दिया और उसका आधा लंड मेरी चूत में घुस गया.

लडका फोटोतो क्या हुआ … मैं भी तो चुदाई करती ही हूँ उनसे! अगर तुझको मजा लेना है तो बता?”वो कुछ सोचने लगी, फिर बोली- अगर घर में पता लग गया तो?नहीं पता लगेगा. अचानक परी मैम बेड पर सीधी होकर लेट गईं और कहने लगीं- जल्दी मेरी चुत में डाल दे.

जोधपुर की सेक्सी पिक्चर

पार्क में बैठ कर देर तक एक दूसरे को समझना, चाट पकौड़ी खाना या भेल पूरी खाते हुए मस्ती करना, ये सब हम दोनों की आदतों में शुमार हो गया था. मेरा भीगा बदन ऐसे लग रहा था … मानो मैं सीढियों से चढ़ कर नहीं, बल्कि चुद कर आयी हूं. पिंकी ने मुश्ताक के होंठ से होंठ लगाए हुए थे और दोनों पूल की वाल के साथ साथ धीरे धीरे घूम रहे थे.

मैं सोचने लगा कि मेरा तो बहुत छोटा है … और मेरे उधर बाल भी नहीं है. वो एकदम से हुए हमले से दर्द के मारे चिल्लाने लगीं, तो उनके ससुर ने अपना लंड उनके खुले हुए मुँह में डाल दिया. कोमल की इस बात पर संजय ने कहा- बच्चों वाला ताश का गेम मैं नहीं खेलने वाला, कुछ पैसे या शर्त लगे, तो ही पत्ते बटेंगे, वर्ना गप्पें मारकर ही टाईम काट लेते हैं.

शबनम के सारे विचार उसी पर केन्द्रित थे और वो जब भी मौका मिलता, अपने शरीर को उसके शरीर से रगड़ने की कोशिश करती. उन आंटी के गुलाबी रंग के उरोजों पर हल्की नीली नसें ऐसे लग रही थीं, जैसे कोई नीले रंग के बाल हों. समुद्र की अठखेलियां करती हुई लहरें हमारी तरफ जब पहुंच रही थी तो दिल में अलग ही तरंगें सी पैदा हो रही थीं और वह नजारा बेहद रोमांचकारी लग रहा था.

सब तरफ शांति का माहौल था, बस हमारी चुदाई की पचपच, खचपच, पचर पचर, फटफट की आवाज गूंज रही थीं. हम दोनों का जब भी मन करता, लंड उसके मुँह में डाल देता, या चूत में घुसेड़ देता.

मैं चाची के चूचों को छोड़ कर धीरे धीरे उनके सूट को ऊपर करने लगा और उनके नंगे पेट पर हाथ फेरने लगा.

ये टीचर तो नहीं थी, पर हमारे स्कूल के समय में हमारी सीनियर थी, जो इस कॉलेज में थी तो सेकेंड ईयर में, फिर भी अपने तेवर के कारण सीनियर हो चुकी थी. रेप स्टोरीबुआ ने अपने पेटीकोट को अपनी जांघों तक कर लिया और चूत के पास ले जाकर छोड़ दिया. बंधन पिक्चरवही हुआ भी, विनय बॉस के लिए दारू लेकर आ गया और उसने हम दोनों को चुदाई करते हुए देख लिया. फिर चाची रसोई में चली गईं और मुझे पढ़ने का बोल गईं, पर मेरा ध्यान तो पढ़ाई में कम और चाची की मटकती हुई गांड में ज्यादा था.

मेरी पिछली कहानीजिस्म की आग बुझाई ज़िम वाले लड़के के साथको आपने काफी प्यार दिया.

मैंने पूछा- क्या हुआ, रूक क्यों गये?वो बोला- मेरा मन तेरी गांड मारने को कर रहा है. मैं पूरे मज़े लेकर सबा की चुत में जीभ डाल कर उसका पूरा रस निचोड़ लेना चाहता था. मैं कभी उसके होंठों को अपने मुंह में भर कर चूस कर रहा था तो कभी अपनी जीभ को उसके मुंह के अंदर डाल रहा था.

मेरी माँ ने उसके लंड को पकड़ा और मेरे मुँह से लगा दिया और बोलीं- चल चूस इसका लंड और इसे मेरी चुत के लिए खड़ा कर. मैंने कहा- कोई बात नहीं!और फिर:क्या मैं तुम्हें किस कर सकता हूँ?”ठीक है … कर लीजिये!!”और रीतेश सर मुझे बेड पे बिठा के चूमने लगे. मुझे थोड़ा सा डर भी लग रहा था, इसलिए मेरी हिम्मत नहीं हुई और मैं भी जैसे-तैसे सो गया.

जापान सेक्सी वीडियो एचडी

” मधुर ने मेरी ओर देखते हुए कहा।भई इतने सुन्दर दिल के आकार के केक पर छुरी चलाने का काम तो बस आप जैसी हसीनाएं ही कर सकती हैं. तभी वो झड़ गई और उसका पानी उसकी जांघों से होता हुआ फर्श पर गिरने लगा।मगर मैंने उसे अभी छोड़ा नहीं था क्योंकि मुझे अभी उसकी गांड मारनी थी।मैंने उसे गोद में उठा लिया और बिस्तर में ले जा कर पेट के बल लेटा दिया और झट से तेल की बोतल ले आया और उसके गांड के छेद में तेल लगा दिया।वो समझ गई थी कि मैं क्या करने वाला हूँ. बीच बीच में मैं उनके निप्पल को भी दांतों से दबा देता था, इस पर वो पागल हो जा रही थीं.

संजू उठी, तो उसकी चूत से एक काफी गाढ़ा सा सफेद वीर्य, थक्का की शक्ल में बेड पर गिर गया.

मेरी चीख निकल गई … लेकिन अभी चीखने चिल्लाने से किसी बात का कोई डर नहीं था.

बस वहां से 7 बजे चली और 7:45 पर मैं वापिस कॉलेज वाले बस स्टॉप पर उतर गया. बस इसी बीच सारिका ने मुझे यशिमा के बारे में बताया कि उसने लव मैरिज की थी, पर उनकी शादी के 4 साल बाद ही दोनों में तलाक हो गया. सेक्सी हिंदी एचडी मेंये सबका तय था कि चूंकि दो दिन कहीं बाहर नहीं जाना, बस इसी विलेज में रहना है जहां स्टाफ के अलावा कोई बाहर का नहीं आएगा तो इन दो दिनों कोई भी लड़की या लड़का अंडरगारमेंट्स नहीं पहनेगा.

मैंने उसके चूचों को जोर से दबाया तो उसके मुंह से सेक्सी आवाजें निकलने लगीं. मैंने जाते वक्त उनसे यह कहा- एक निवेदन है कि अब आप ये बात अपने तक ही रखिएगा. चोद दो मुझे जोर से… आह्हह … मेरी जान।मेरा जोश भी पूरा बढ़ता जा रहा था.

” नीलम शर्म से अपने ससुर के सीने पर मुक्के मारकर वहां से उठते हुए बोली।बेटी, तुम तो नाराज़ हो गई, क्या करूँ तुम्हारी हर चीज़ मुझे इतनी सुंदर लगती है कि मैं अपने आप को रोक नहीं पाता!” महेश ने अपनी बहू को बाज़ू से पकड़ते हुए कहा।छोड़ो पिता जी, इस वक्त यह सब ठीक नहीं है, हम रात को मिलेंगे. मैंने उसकी चूत के अन्दर लंड डाला … मेरा लंड एक झटके में आधा अन्दर चला गया.

आज उसे चोद कर ऐसा मस्त कर दो कि वो अपनी पहली सुहागरात भूल जाए और आज की रात को ही याद रखे … जाओ … जाओ ना.

चूत साफ किए मुझे कुछ ही दिन हुए थे, इसलिए छोटे-छोटे रोंए चूत की खूबसूरती बढ़ा रहे थे. ज्योति ने बड़े प्यार से महेश के लंड और बॉल्स को चाट चाट कर साफ किया. अब हम दोनों ने खाना खाया और मेम को सब काम ब्रा पेंटी में ही करने को बोला.

सेक्स फिल्म वीडियो में हिंदी अब वो भी मूड में आने लगी थी तो मैंने अपना पैग मुँह में लेकर उसकी गांड के छेद में लगा कर उसमें गांड को पिला दिया. सोनिया- काटो ना मेरी चूचियों और निप्पल्स को अपने दांतों से जोर जोर से जानू.

साथ ही अपना खड़ा लंड उसके हाथ में पकड़ाते हुए कहा- तुझे शर्म नहीं आती दूसरों की चुदाई देख कर … अब मेरे सामने नाटक चोद रही है. और अपना लोहे की तरह सख्त लंड मेरी चूत पे खड़ा कर के धीरे धीरे घुसाने लगा।शुरू में तो मुझे बस हल्का सा खिंचाव सा ही लगा पर फिर जब उसका लंड मेरी चूत की सील पे जा के अटक गया तब मुझे हल्का हल्का दर्द सा होने लगा और मेरे मुंह से ‘आई … सीईई …’ निकल गयी. … वैसे भी मैं ये सब अपने पति को बता ही दूंगी … क्योंकि वो मुझसे बहुत प्यार करते हैं और वही तो मुझसे ये सब करवाने की फैन्टेसी रखते हैं.

हिंदी में बोलने वाली सेक्सी फिल्म

वो बोला- भाभी, ऐसी भी क्या लाज है, यहां पर हम चारों के अलावा और कौन है. तभी भाभी ने उसका सर हिलाते हुए और उसके सर पर हाथ फेरते हुए कहा- मोना, अभी ये अन्दर डालेगा. हम साथ जाने लगी तो रास्ते में मैंने इकरा को सब बताया जो मैंने रात में अपनी कुंवारी बुर के साथ किया था और जो मजा मुझे मिला था.

दोस्तो, ऐसे ही दिन निकलते गए और साथ बैठ टाइम निकलते गए, पर अब मुझसे रुका नहीं जा रहा था. अगर वह होश में रही तो उसको पति की मौत की खबर शायद बर्दाश्त नहीं हो पायेगी.

कुछ 10-15 मिनट हुए होंगे और जॉली ने रिया के मुँह में नौ इंच तक लौड़ा पेल दिया.

मैं भाभी को चूमने के लिए आगे बढ़ता इससे पहले ही वो अलग हो गयी और बाथरूम में चली गयी. वैसे तू कब से कर रहा है ये काम?मैं कुछ न बोला, उन्होंने फिर जोर से बोला- मैं कुछ पूछ रही हूं तुमसे?मैंने कहा- जब से कॉलेज शुरू हुआ है. दीदी- और अर्णव?श्वेता दीदी- अरे वो रात में आएंगे, तब तक अर्णव सो भी जाएगा.

आप सबका अच्छा फीडबैक मिला, तो मैं अपनी चुदाई की दूसरी कहानी भी भेजूंगी. चाची के मुँह से बुरी तरह से कामुक सिसकारियां निकलने लगी थीं- ईश्श्श्श् … आहहह … दीपउउउ … आंह … उंह … हाय राम … क्या मस्त चुचे चूसता है यार तू. उन दोनों के लंड एकदम से तने हुए थे और दोनों के लंड पर केक लगा हुआ था.

मैं उसके मुँह में अपना जीभ घुमाने लगा, वो भी अपनी जीभ और होंठों से मेरी जीभ चूसने लगी.

सोनागाछी का बीएफ वीडियो: फिर वो अपने हाथ से अपनी चूत के दाने को मसलने लगी, जिससे वो अब सहज हो गई थी. उसने मेरा हाथ पकड़ कर नीचे चूत पर रखवाया, तो मैंने उसकी पेंटी भी निकाल दी.

उसने अपना माइक्रोवेव यहीं रख लिया था ताकि जो स्नैक्स गर्म सर्व होने हों वो हाथ की हाथ गर्म होकर सर्व हो जाएँ. मगर अब मुझे अच्छा लगने लगा था क्योंकि मेरी चूचियों के निप्पल भी अब खड़े हो गये थे. मनोज ने दीपा की ब्रा ऊपर करके उसके मम्मे निकाल दिए और उन्हें चूसने लगा.

मेरा एक हाथ उसकी गांड के नीचे था और दूसरा हाथ उसकी चूत के होंठों को मसाज दे रहा था.

फिर बात करते और चिपकते हुए हम सोने की कोशिश करने लगे पर नींद कोसों दूर थी. मैं गिगिड़ाने लगा- मुझे माफ़ कीजिएगा … मैंने गलती से आपको कोई और समझ के. ” महेश ने अपनी बहू के क़रीब जाते हुए कहा।पिता जी आप भी … अच्छा यह लो.