हिंदी बीएफ फिल्म भेजिए

छवि स्रोत,ब्लू पिक्चर सेक्सी भेज दीजिए

तस्वीर का शीर्षक ,

इंग्लिश सेक्सी एप्स: हिंदी बीएफ फिल्म भेजिए, वसुन्धरा ने तत्काल अपनी दोनों टांगें हवा में उठा कर मेरे लिंग का अपनी योनि के मुख पर स्वागत किया.

उड़ीसा में सेक्सी

उस समय उनके पापा की तबियत बहुत खराब थी इसलिए हम वहां पर गए थे, लेकिन उस समय घर पर कोई नहीं था सिवाए एक नौकर के. कपूर सेक्सी पिक्चरबीवी की चुत की चुदाई करके इतना काबिल हो गया हूँ कि अब मैं अपनी बीवी को, वो जितनी देर चुदाई करवाती है, उतनी देर तक उसकी चुत की चुदाई कर देता हूँ.

लाइट और टीवी भी उसने खुद बंद किया और ऐसा करते ही मेरे अंदर वासना का भूत सवार हो गया. सूट सलवार वाली लड़की की सेक्सी वीडियोमैंने अपनी साड़ी और पेटीकोट एक साथ उठाकर अपनी फूल की डिजाइन वाली चड्डी को निकाल दिया और अपने पति की तरफ अपनी गोरी गांड करके आगे की तरफ झुक कर खड़ी हो गई.

मेरी उम्र छब्बीस साल है और मैं लगभग छह फीट की हाइट वाला गोरे रंग का लंबा चौड़ा हैंडसम लड़का हूं.हिंदी बीएफ फिल्म भेजिए: ”नहीं नहीं! मेरे तो हाथों में मेहँदी लगी हुई है, मैं कैंची कैसे हैंडल करुँगी, नाड़े की नॉट कैसे बांधूगी?” वसुंधरा ने सवाल दागे.

मैंने वापस कॉल किया तो बोली- कहाँ हो? पाँच मिनट में तीसरी मंजिल पर पहुँचो, मैं आ रही हूँ.वापिस रखने से पहले सोच क्यों ना तुम्हें भी दिखला दूं … फिर मौक़ा मिले या ना मिले.

बिहारी का सेक्सी व्हिडिओ - हिंदी बीएफ फिल्म भेजिए

चूंकि मुझे रोहन के दोस्तों के लंड से चूत चुदवानी थी तो थोड़ी वैक्सिंग भी करवानी थी, इसलिए रोहन ने भी बोल दिया कि मसाज ब्वॉय को बुला कर मैं अपनी बॉडी की मसाज और वैक्सिंग करवा लूँ.शायद ये उसके सामीप्य का असर था या मैं काफी दिनों से घर नहीं गया था, जिससे मेरी जिस्म की भूख जाग रही थी.

मैंने उसको इशारा किया और वो तुरंत मेरी गोदी में आकर बैठ गयी उसने अपनी चूत मेरे लौड़े पर टिकाई और जोर लगाया, परन्तु लौड़ा अन्दर नहीं जा रहा था. हिंदी बीएफ फिल्म भेजिए उनके जीभ के स्पर्श से अलग ही सरसराहट पैदा हुई, उन्होंने मेरी नाजुक त्वचा पर हल्के से काटना भी शुरू कर दिया.

लोगों की निगाहों से बचकर अपने प्रेमी या प्रेमिका से मिलने जाना एक गुदगुदी और सनसनाहट का मजा देती है.

हिंदी बीएफ फिल्म भेजिए?

उफ्फ … उम्म … आआह्ह … फ्फ …पापा ने मेरे होंठों को दबा कर मेरी चीख बंद कर दी. मुझे देख कर उन्हें थोड़ा शॉक लगा और हड़बड़ाते हुए उन्होंने मुझसे कहा- अरे सोनू, तुम कब आए?मैं- अभी 5 मिनट पहले ही आया, कोई दिखा नहीं, तो यही रुक कर इंतजार करने लगा. मैंने संगीता की चूत को तो चोद दिया था लेकिन मेरी एक हसरत अभी अधूरी ही थी.

मैंने अपना सारा रस उसकी चूत में ही निकाल दिया था और उसके ऊपर ही गिर गया. मेरे बदन पर से पसीना भी अब तक सूख गया था, पर उसकी बदबू अभी तक नहीं गयी थी. सरिता- अंकल और कुछ भी कर सकते हैं क्या?मैं- अरे अभी तो बहुत कुछ है करने को … अभी तो मुझे बहुत सारे खेल आते हैं.

उसके शर्ट के ऊपर से ही मैंने उसकी चूचियों को पकड़ लिया और मसलने लगा. मैंने कहा- शिल्पा ने देख लिया तो?निशा बोली- उसकी फिक्र मत करो और मुझे प्यार करो, जितना कर सकते हो. उस रात को उन्होंने मुझे फिर से दो बार चोदा और अबकी बार उन्होंने मेरी गांड की भी सील तोड़ दी.

फिर मैंने उसकी चूत में ढेर सारा थूक लगाया और अपने लंड पर भी थूक लगा लिया. मैंने ऐसे ही रगड़ रगड़ कर अपना माल उसके पेट पर और चुचियों पर गिरा दिया.

चूंकि हम दोनों एक पब्लिक प्लेस पर थे, इसलिए इससे ज्यादा कुछ नहीं कर सकते थे.

मैंने घबराकर उनका हाथ अपनी छाती से हटाने की कोशिश की पर उन्होंने मेरी चूचियों पर से हाथ नहीं हटाया।क्या हो गया बेटी? इतनी घबरा क्यूँ रही हो? आराम से पेपर करती रहो ना … ये देखो … अंजलि कितने आराम से कर रही है.

मैंने देखा कि उसने अपनी नाइट ड्रेस वापस से पहन ली और फिर लाइट बंद करके अपने घर में अंदर चली गई. लंड को सेट करने के बाद उसने जोर से धक्का मारा तो उसके लंड का सुपाड़ा अंदर चला गया. मैंने ऐसा थोड़ी ही देर ही किया था कि कल्पना भाभी अपना सर इधर उधर झटकने लगीं.

मीरा तो पहले से इतनी गर्म हो चुकी थी कि रितेश के 3-4 मिनट चाटने से ही वो एकदम से झड़ गयी. मुझे ऐसा लगा जैसे उसके लिंग का सुपारा मेरी बच्चेदानी के मुँह से चिपक गया हो. मैं तुम्हें यह भी बताऊंगी कि लड़की को परम सुख का आनंद कैसे दिलाया जाता है.

फिर उन्होंने पूछा- आपकी शादी हो गई?मैंने हंस के बताया- नहीं, अभी तो शादी सगाई के लिए कम से कम 2-3 साल लगेंगे.

मैंने आंटी को फोन किया कि आप लोग कहां हो?तो आंटी बोलीं- हम दोनों होटल पहुंच चुकी हैं. भाभी बार बार ये देख कर मुस्करा रही थीं, साथ में मैं भी मुस्करा रहा था. मैंने कहा- अमीषी तुम बहुत अच्छा लंड चूसती हो … कितनों को चूसा है पहले?वो मेरी तरफ देखते हुए बोली- बस एक का.

मेरा बदन इतना दुख रहा था कि कोई मेरी चूत में तीन लंड भी डाल दे तब भी मुझे पता न चले. मैं यह सब सुन कर बहुत कौतूहल में था कि ना जाने रानी की सुस्सू का स्वाद कैसा होगा … अगर मुझे पसंद न आया तो?गुरू चेला की सेक्स कहानी जारी रहेगी. एक रात मैंने देखा कि उसका गाउन टांगों से हट गया था, उसकी नाजुक चूत दिख रही थी.

वो मना करने लगी लेकिन मैंने उसको वीडियो का लालच दिया तो बोली- ठीक है … कल का कल देखूंगी, अब कपड़े तो दे दो.

सोनू मुझसे पूछने लगी- तुम्हारा कब निकलेगा?मैंने कहा- अभी थोड़ी देर में जब तुम्हें चोदूंगा तो निकलेगा. इस लहंगा गिरने वाले हादसे पर क्षण भर के लिए वसुंधरा ने अपनी आँखें खोली और मेरी आँखें अपने तन के निचले भाग (जोकि करीब-करीब निर्वस्त्र था) पर जमी पाकर फ़ौरन दोबारा बंद कर ली और जल्दी से मेरी तरफ़ पीठ कर ली.

हिंदी बीएफ फिल्म भेजिए आह … क्या माल है तू भी लौंडिया! चूतड़ तो देखो! कितने मस्त और टाइट हैं. बस इतने से ही मेरा पूरा बदन उत्तेजना से थरथरा गया, मेरी गर्दन के पीछे पता नहीं ऐसा क्या था कि वहां उनके होंठ लगते ही मैं आनन्द के सागर में डूबने उतराने लगी.

हिंदी बीएफ फिल्म भेजिए कुछ पांच मिनट तक मैं उसके होंठों को चूस चूस कर खाने के बाद उसे नंगी करने लगा. बात करते हुए काफी रात हो गई थी तो गुड नाइट बोलकर मैं सो गया और कब नींद आ गई, पता ही नहीं चला.

थोड़ा दर्द तो हुआ मगर बढ़ते हुए धक्कों के साथ जल्दी ही मजा भी आने लगा.

লেডিস সেক্স

मेरा हाथ भी अब उसके लण्ड पर तेज तेज चलने लगा, मैं उसका लण्ड जोर जोर से मसलने लगी. जीजू ने मेरा दर्द कम करने के लिए मेरे बूब्स चूसने शुरू कर दिए जिससे मेरा दर्द कम होने लगा. जब तक अपनी मम्मा सौम्या के लिए मेरे दिमाग में ऐसी भावनाएं नहीं आती थीं तब तक मैं मम्मा सौम्या को सुबह से शाम तक कई बार किस कर लेता था.

हम दोनों बातें करने लगे, तो भाभी अपने रिलेशनशिप को ले के काफी मायूस लगी. आन्या वासना से तड़प रही थी और मैं उसकी गांड में उंगली डाल कर उसकी चुत को चाट रहा था. इ!’ की सिसकारी निकली लेकिन इस बार सिसकी में दर्द में आनंद का थोड़ा सा समावेश था.

फिर मैं धीरे-धीरे अपने हाथ को उसके मम्मों पर ले गया और धीरे-धीरे उसके मम्मे दबाने लगा.

एक पल सुखबीर ने लिंग वहीं चिपकाए रखा और फिर से लिंग थोड़ा बाहर खींच कर धक्के मारने लगा. मैंने अपना लंड बाहर निकला, तो भाभी ने मेरा लंड चूस चूस कर सारा पानी अपने मुँह में ले लिया और पी गईं. यह थी मेरी जिंदगी की पहली लड़की की चुदाई की कहानी … आशा करता हूं आपको मेरी हॉट गर्लफ्रेंड सेक्स स्टोरी पसंद आई होगी.

मैंने उनसे जरा चिढ़ कर पूछा कि तो किसको बना लूं!मेम ने मजाक में ही खुद को मेरी गर्लफ्रेंड बनाने की बात मुझसे बोल दी. कुछ ही देर में उसकी चुत पानी छोड़ने वाली थी, मैंने अन्दर तक जीभ पेली तो चुत ने रस छोड़ दिया. चूची चूस रहे थे, चाट रहे थे और हाथ मम्मी की जांघों के बीच में ले जाकर चूत को सहला और दबा रहे थे.

फिर डॉक्टर ने स्टेथोस्कोप से उसको चैक किया और कहा कि मैं तुम्हें एक दवाई लगा देता हूं. अंकल ने अपने दोनों हाथ मेरे पीठ के पीछे ले गए और चतुराई से मेरी ब्रा का हुक को खोल दिया.

भाभी की नजरें मेरे लंड के उभार पर थोड़ी सी रुक गईं क्योंकि मैंने अंडरवियर नहीं पहना था तो लंड का पूरा आकार साफ़ दिख रहा था. इस सेक्स कहानी में मेरी गर्लफ्रेंड की बहन की चुदाई हुई है, जिसको मैंने पूरी रात जमकर चोदा था. धीरे-धीरे मेरी उंगली वसुन्धरा की योनि के निचले सिरे पर वापिस अपने मुकाम तक पहुंची और फिर उसने योनि की दरार के साथ-साथ ऊपर की ओर दोबारा गश्त शुरू कर दी.

मैंने सोचा क्यों न कोशिश की जाए, मिल गयी तो ठीक, वरना अपना हाथ जगन्नाथ.

अंकल जी मेरे दोनों दूध दबा दबा कर चूसने लगे जिससे मेरे निप्पल तन गए और मुझे दूध चुसवाने का मज़ा आने लगा. भाभी ने एक रूम की ओर इशारा करते हुए कहा- आप उस रूम के बाथरूम में जाकर नहा लीजिए, अपने कपड़े सब वाशिंग मशीन में डाल दीजिए और फिर रूम की अल्मारी में मेरे हजबैंड के कपड़े हैं, जो आपको फिट लगें, वो पहन लीजिए. रानी धक्के पे धक्के, धक्के पे धक्के मारे जा रही थी, आआह आआह आआह आआह.

वो बहुत खुश हो गई और अगले दिन उसने वापिस करते हुए कहा- यार, सारी रात इसे ही देखती रही और नींद ही नहीं आई. फिर मैंने ठान लिया कि गर्लफ्रेंड तो इसको ही बनाऊंगा, चाहे जो भी हो जाए.

प्रिया ने मेरे लंड से चूत को हटाया और लंड हाथ से पकड़ कर मुँह में भर लिया. वो खुद अपने बूब्स मसल रही थीं और अपनी उंगली चूत में डाल के मज़े ले रही थीं. ऐसे ही पांच छह जोर के धक्के मारते ही मुझे लगा कि अब मेरी पिचकारी छूटने वाली है.

इंडियन सेक्सी स्टोरी इन हिंदी

उसने कहा कि हां मुझे प्राची ने तुम्हारे साथ सेक्स की सारी बात बता दी थी.

गुलाबो मुझे बेकरारी से चूमने चाटने लगी और चूमते चूमते हमारे मुंह में एक दूसरे का स्वाद घुल रहा था। फिर मैंने उसकी चूची सहलानी और दबानी शुरू कर दी वह सिसकारियां ले मजे लेने लगी. इस पकड़ा-पकड़ी में मेरा तौलिया खुल कर नीचे गिर गया और मेरा हाथ उसके बदन पर कुछ ऐसे पड़ा कि उसके ब्लाउज की डोरियां खुल गयीं. मगर मैं कहां कुछ सुनने वाला था … किस करता रहा और लंड पेलने की कोशिश करता रहा.

मैंने अन्तर्वासना की सभी कहानी पढ़ी हैं, लेकिन मुझे भाई-बहन की कहानी पढ़ने में बहुत मजा आता है। फिर मैंने भी अपनी कहानी लिखने की सोची।उससे पहले मैं आप सब को अपने बारे में कुछ बता देता हूँ. वो कुछ समझ पाती, इससे पहले ही मेरा हाथ उसके लोअर के अंदर डाल दिया!उसने अपनी चूत को किसी दूसरे मर्द से न छूने देने की एक कोशिश फिर से की किन्तु इस बार मेरा दांव अनुभव से किया गया था. देसी गांव की सेक्सी चुदाई वीडियोकरन समझ गया कि मैं झड़ने के करीब पहुँच चुकी हूँ। उसने अपनी बची हुयी पूरी ताकत से धक्के मारने शुरू कर दिया और कुछ ही पल बाद फच्च्ह की आवाज के साथ आआहह हह हहहह… के साथ झड़ गयी और उसे अपने से दूर धकेल दिया और वहीं नीचे बैठ गयी और तेज़ तेज़ सांस लेने लगी।उसने बोला- बस मुझे और झड़ जाने दो प्लीज!मैंने हम्म कहा और खड़ी हो गयी.

जैसे ही मैं उनके पैर पर अपना मुँह रखते हुए उनकी जांघों के पास ले गया, उन्होंने अपने दोनों पैर खोल दिए. इधर मैंने अपने बाएं हाथ को वसुन्धरा की योनि से उठा कर हल्के हाथ से वसुन्धरा की पैंटी घुटनों तक उतार दी और फिर उसी हाथ से वसुन्धरा की रेशमी जाँघों पर हाथ फेरते-फेरते, वसुन्धरा के घुटने खड़े करके वसुन्धरा की पैंटी को भी उसकी ड्यूटी से फ़ारिग कर दिया.

ऐसा ही एक मेल मुझे मिला अजय का जो अपनी वाइफ के साथ पंजाब में रहता है, एक प्यारी सी बच्ची का बाप है. मैंने उसे उठाया और ऊपर उसके बेडरूम में ले जाकर उसे बिस्तर पर लेटा दिया. अभी तो आपको बताया था कि वो पटाखा वाला सीन मेरी जिन्दगी में है ही नहीं.

उससे पहले मैंने अपने मोबाइल पर गाने वाला वीडियो स्टार्ट करके रख दिया था. नीचे उतारने के बाद मैंने संगीता को फिर से फर्श पर लेटा दिया और उसकी चूत में लंड को पेल दिया. com/teen-girls/hot-ladki-sex-kahani/सऊदी में रहने वाली एक लड़की को पढ़ने मिल गयी थी.

वह मुझे पीछे धकेलने की कोशिश करने लगती थी लेकिन मैं अपने पूरे जोश में था.

लड़कियां मेरी तरफ खिंची चली आती हैं … और ये तय मानिए कि जो लड़की एक बार मेरे पास आ गई और उसने मेरे 8″ लम्बे और 3″ मोटे लंड का स्वाद चख लिया, फिर उसको इसकी आदत पड़ जाती है. तुम भी अपने फोन को कुछ इस तरह से अड्जस्ट कर लेना ताकि पूरी चुदाई रेकॉर्ड हो जाए तो फिर मैं उसको देखूँगी.

फिर जल्दी ही मैंने दो उंगलियां डाल दीं और वो और जोर से ओओ ह्ह्ह करने लगी. इसका लाभ यह हुआ कि वो फिर से दोनों टांगें सीधी करके लेट गयी और मेरा साथ देने लगी!मैंने उसको पलट दिया अब उसकी पीठ मेरी तरफ थी. सच कहूं तो मुझे ये सब करने में डर लग रहा था लेकिन मजा भी बहुतआ रहा था.

वहां से मैं अपनी जीभ फैला कर उनकी चूत को चाटते हुए ऊपर की तरफ जाने लगा, जैसे कुत्ते चाटते हैं वैसे. उन दोनों ने थोड़ा सोचा मगर सोचने के बाद बोली हमारे दिमाग में कोई गेम नहीं आ रहा है आप ही बता दो. मेरा ध्यान अब भी उसकी चूचियों पे था और वो इस बात को भली भांति समझ रही थी, पर बोल कुछ नहीं रही थी.

हिंदी बीएफ फिल्म भेजिए अब हम दोनों रोज रात को फोन पे बातें करते और ये बातें दो तीन घंटे से पहले खत्म ही न होती थीं. दोस्तों कहानी इस प्रकार शुरू होती है कि मैं आपका प्यारा शरद इंग्लिश मीडियम स्कूल में एक अध्यापक के पद पर काम कर रहा हूँ.

नंगी सेक्सी वीडियो हॉट

अब संगत का असर कब तक नहीं होता, रिम्पी की दोस्ती का असर मेरे ऊपर भी होने लगा और मैं भी रिम्पी के साथ रहते रहते उसके भाई कुलीन से पट गयी. हम दोनों ने एक दूसरे को ओरल सेक्स देने के बाद एक दूसरे को किस किया और उसके बाद चुदाई की कबड्डी शुरू होने की स्थिति बन गई. उसकी कुर्ती को और सलवार को मैंने उसके होंठों को चूमते हुए निकाल दिया.

वह लंड मुख से निकाल कर बोली- जब मुँह में इतनी मुश्किल से जा रहा है तो चूत में कैसे जाएगा?गुलाबो को काफी डर लग रहा था क्योंकि मेरा लंड काफी लम्बा और मोटा है. इसी तरह मैंने करीब आधा घंटा उन्हें अलग अलग आसनों में चोदा … तब जाकर मेरा पानी निकला. बाथरूम में नहाती सेक्सी वीडियोफिर मैंने अपनी बहन रूपा के मम्मों को मुँह में लेकर चूसना और दबाना शुरू कर दिया.

वो मुझे अपना सिर हिला के बोल रही थी- रॉकी इसे बाहर निकालो, बहुत दर्द हो रहा है.

मैं पोर्न देखने में इतना तल्लीन हो गया था कि मुझे पता ही नहीं चला कि कब भाभी रूम के अन्दर आ गईं. तब तक डायरेक्टर बोला- बस … अब अगली बार ये सब देखूँगा, अभी टाइम नहीं है.

कुछ देर के बाद वो शांत हुई तो मैं उसके बूब्स को चूसने लगा और अपने एक हाथ से उसके बालों और कानों के पास सहलाने लगा. कुछ सेकेंड बाद उन्होंने फिर से आंखें खोल कर मेरी तरफ ऐसे देखा जैसे पूछ रही हों कि क्या हुआ रुक क्यों गए?अब आगे:उनका चेहरा देख कर मुझे हंसी आ गयी और मेरी हंसी देख कर उन्हें भी हंसी आ गयी. मैंने सोनल की तरफ देखा और उससे कहा- सोनल मैं चाहता हूं कि तुम दिशा के मम्मों पर किस करो.

मैं उसके मुँह से लंड डालने की बात बहुत ज्यादा जोश में आ गया और अंधेरे में ही तीर चला दिया.

मैं जहाँ पर जॉब कर रहा था वहाँ मुझे ज्यादा मजा नहीं आ रहा था काम करने में, इसलिए मैंने विशाल भाई से बात करने की सोची. वो चिल्लाने को हुई तो मैंने झट से उसको होंठों को चूसना शुरू कर दिया. मैंने नितिन की तरफ ग़ुस्से से देखा … मैं बियर लेती थी, पर उसके बॉस के सामने मैं बियर लेने में ऑकवर्ड महसूस कर रही थी और उनकी मिसेज भी नहीं थी.

देसी देहाती सेक्सी वीडियो हिंदी!उसकी इस तरह की बातों के बाद क्या हुआ, वो मैं अगले भाग में लिखूंगी. मैंने बिना देर किए पीछे से लंड फच की आवाज के साथ उसकी चुत में डाल दिया ‘आउच अअअअअ यस यस.

सेक्सी विडीऔ

ओह्हो … तो ये बात है!” मेरे ज़हन में अब बच्चे का ख्याल आते ही मेरी सब कुछ समझ में आ गया. भैया भी मज़े से चूचियां चूसते रहे और कुछ 20 मिनट बाद भाभी को रसोई की स्लैब पर बैठा कर चूत चाटने लगे. मैंने अब तक सामने से तो नहीं बोला था पर आज फोन पर आशीष को ‘आई लव यू …’ बोल दिया और वह लगातार मुझे सब बातें बोलने लगा.

मैंने सोनू की चूत में अपना सुपारा अंदर किया, सोनू पीछे मुड़कर मेरी तरफ देखने लगी. मुझे राशि पर गर्व होता था कि वह खुले दिल से अपनी मन की इच्छाओं को पूरी करती है. मुझे गांड मसलने में बहुत मजा आता है, मैं लड़कियों की गांड पर चमाट मारना बहुत पसंद करता हूँ.

गरम भाभी बस सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे चलती बस में एक देसी भाभी और एक गोरे टूरिस्ट की आपस में सेटिंग हुई. फिर हम दोनों एक दूसरे से चिपक कर सो गए।यह थी मेरी मौसी की लड़की के साथ मेरी लंड चुसाई की कहानी. रूपा ने इस पहली चुदाई में अब तक तीन बार पानी छोड़ दिया और मेरा भी पानी निकलने वाला हो गया था.

हां यार, जब अंकल जी मुझमें झड़े तो पता नहीं क्यों एक बार फिर से मुझे मस्त मजा आया और मैं फिर से झड़ गयी थी. ताई हंस कर बोलीं- क्यों ज्यादा गर्मी चढ़ गई थी क्या?ताऊ बोले- हां … अब जल्दी से आ जा.

भैया ने आशा के भाभी के बालों को पकड़ा और अपने लंड की गोलाई पर भाभी के होंठों को फिराने लगे.

मैंने कहा- तुमने पहले कभी सेक्स किया है?वह बोली- यह कैसा सवाल है?मैंने कहा- मैं तो बस ऐसे ही पूछ रहा था. सेक्सी वीडियो लड़की छोटीमैं- रूपा यह ग़लत है, मम्मी पापा को पता चलेगा तो क्या होगा?रूपा बोली- मगर भैया, ये बात तो सिर्फ हम दोनों के बीच में रहेगी. एचडी वीडियो सेक्सी हॉटअब मैं करवट लेकर अपनी बीवी की तरफ मुँह करके हो गया अपना दांया पैर पूजा की कमर के बाजू में रख दिया. मैं सब कुछ भूल के बस उसकी चूत में लंड के धक्के पे धक्के दिए जा रहा था.

मैंने दरवाजे के पास जाकर उस जगह में से देखा तो दोनों की पीठ दरवाजे की तरफ थी.

मेरा दिमाग खराब सा हो गया था, मैंने सारा से कहा- यार, आज मेरी और ज़रीना की सुहागरात है. मगर भाभी के जिस्म और चेहरे पर शिकन नाम की कोई रेखा मुझे कहीं पर भी दिखाई नहीं दे रही थी. मैंने उसकी आंखों में देखते हुए कहा- पीरियडस तो एवरी मन्थस होता है? तो क्या आपने इस पीरियडस के वजह से छुट्टी ली?वो- नहीं पीरियडस के वजह से नहीं, घर में कुछ फंक्शन था, जिसके वजह से मुझे छुट्टी लेनी पड़ी.

मेरे लंड का साइज़ इतना है कि मैं किसी भी गर्ल, आंटी और भाभी को पूरी तरह संतुष्ट कर सकता हूँ. आशीष बोला- तू तो पागल है रे … तेरे जैसी चुद्दक्कड़ चुदासी लड़की का मैंने सुना भी नहीं है … मैं कितना लकी हूं कि तू मेरी बीवी बनने वाली है, पर लगता नहीं कि पहली बार तू चुदवा रही है. दोस्तो, इस बार मैंने कहानी अपने ऊपर न लिख कर कुछ अलग अलग क़िरदारों के ऊपर लिखी है, ताकि मजा भी आए और आप मेरी महिला मित्रों के नंबर मांगने की जिद ना करें.

ड्राइवर और मालकिन का सेक्सी वीडियो

ख्वाहिश तो पूजा की चूत मारने की थी मगर अभी तो पूजा की चूत उपलब्ध हो नहीं सकती थी. जब चाची का दिल करता हिया, वो मुझे बुला कर नंगी होकर लेट जाती हैं और मैं उनकी सवारी करता हूँ. इसीलिए मैंने अपनी मम्मा सौम्या को किस करना और हग करना बन्द कर दिया ताकि दोनों को ही सुविधा रहे.

यह सोचते हुए मैंने जीजू से कहा- ठीक है, लेकिन प्रॉमिस करो कि आप मुझे चोदोगे नहीं, सिर्फ ऊपर ऊपर से ही प्यार करोगे?जीजू- यह हुई ना मेरी साली वाली बात, प्रॉमिस जब तक तुम खुद नहीं बोलोगी तब तक मैं तुम्हें न हीं चोदूंगा.

मैं पहले तो चित लेटा था, फिर मैंने भी करवट बदल कर चेहरा उनकी तरफ कर लिया.

फिर मैंने उसकी चूत में ढेर सारा थूक लगाया और अपने लंड पर भी थूक लगा लिया. मेरे दूध भी आराम से दबाइए ना … मुझे दर्द हो रहा है … आह हहहह … क्या कर दिया आपने अंकल … बहुत अच्छा लग रहा है. धारावाहिक सेक्सी वीडियोतभी स्नेहा ने अपना पैर मेरे ऊपर किया और मेरे लंड को स्पर्श करते हुए रगड़ने लगी.

परन्तु मैं वर्जिन साली की बुर फ़ाड़ूँ … तो कैसे?तभी मेरी पत्नी ने अपनी छोटी बहन से कहा- ऋतु, हाथ पांव धो लो. दोस्तो, आपकी कोमल फिर हाज़िर है अपनी जवानी की कहानी के अगले भाग के साथ. मैंने अब अपनी दो उंगलियां जागृति मेम के मुँह में दे दीं जिनमें उनकी चुत का रस लगा हुआ था.

क्या चिकने चूतड़ थे उनके … चूतड़ों के बीच छोटा सा गुलाबी रंग का छेद था. उसके बाद में 2010 में मेरी शादी तय हो गई, जून में उसका रिजल्ट आया और वो अच्छे नंबरों से पास हो गई.

इसी दौरान मैंने धीरे से उसका हाथ मेरे लंड पे रख दिया और उससे लंड सहलाने को बोल दिया.

मैंने उसे अपनी बांहों उठा लिया तो रिया ने हंसते हुए कहा- चांस मार रहे हो क्या?मुझे गुस्सा आ गया. हम दोनों एक दूसरे से तब अलग हुए, जब दोनों एक एक बार झड़ गए हालांकि मम्मा मुझसे जल्दी झड़ गई थीं लेकिन मज़ा दोनों को पूरा आया. वो खुद ही अपने सारे कपड़े उतार कर नंगी ही मेरे बिस्तर पर बैठ जाती थी और मेरे लंड को मजे ले ले कर चूसती थी.

सेक्सी बीपी हिंदी सेक्स जब उसकी तरफ से कुछ भी प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मेरा साहस बढ़ गया और मैंने उसकी नमकीन बुर पर हाथ रख दिया. बातों बातों में मैंने उससे पूछा- तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है क्या?उसने कहा- आज तक ऐसा कोई मिला ही नहीं, जिसे मैं अपना बॉयफ्रेंड बना सकूँ.

कोमल- लाइट बन्द कर दूँ?मोनू ने मना कर दिया, वो बोला- कोमल मेरे पास आओ. फिर मैंने उसका लोअर थोड़ा नीचे सरका दिया, मैंने उसकी पेंटी भी नीचे सरका दी और जाकर उसकी टाँगों के बीच बैठ गया और उसकी फ़ुद्दी में अपनी जीभ देने लगा. सर्दी थी तो मैंने एक शाल ओढ़ लिया ताकि किसी को पता नहीं चले कि कौन है.

दिल्ली की नई सेक्सी

मैंने भाभी के मुँह से उसके पति के लिए गाली सुनी तो हंस दिया- इतना गुस्सा क्यों करती हो … तेरा परमानेंट ठोकू तो ये ही है. हालांकि मुझे आज मिनी को चोदने का मौका मिल गया था, तो मैंने प्राची के बारे में सोचना छोड़ दिया. बहुत देर तक लंड चूसने के बाद उसने सोफे पर बैठ कर अपनी टाँगें फैलाईं और कहा- आजा मेरे लंड राजा, इस चूत को चाट-चाट कर मुलायम कर और फिर इसमें जलती आग को बुझा दे!मैंने भी राशि के चूत के दाने को चूसना शुरू किया और उसकी सिसकारियों से पूरा कमरा गूँज उठा.

अब मेरा अगला स्टेप था इन अंकल जी को सेड्यूस करने का मतलब उन्हें लुभाने का ललचाने का और उन्हें मुझ पर आशिक करवाने का था. तो कभी अपने बालों को खींचती, मानो उसके बर्दाश्त के बाहर हो रहा था!वो ना चाहते हुए भी सब कुछ चाह रही थी कि उसकी चूत में जल रही वासना की भट्टी में मैं अपने लंड को डाल कर वीर्य की बौछार से उसकी जलती हुई भट्टी को शांत कर दूं.

फ्रेंडस मेरी एक फंतासी थी कि अगर मुझे कहीं से एक ऐसी टाइम मशीन मिल जाए और मुझे उस मशीन के जरिये अपने भूतकाल में जाने का मौका मिल जाए तो मैं क्या क्या करूंगा.

मैंने सोनू की चूत को देखा तो पता चला कि उसने चूत के जो रोयें थे वे भी साफ कर रखे थे और उसकी चूत आज कुछ थोड़ी सी फूली हुई लग रही थी. मुझे सर की हरकतों से कोई ऐतराज नहीं था, मुझे तो सिर्फ पिंकी की ओर से डर और शर्म थी. घर पहुँच कर मैंने महसूस किया कि मेरी चाल बदल चुकी थी, मेरे चलने फिरने में वो पहले वाली बात नहीं रह गई थी, मेरी चूत में भी अजीब से फीलिंग हो रही थी पता नहीं क्यों?अगले दिन मैं स्कूल नहीं गयी, मन ही नहीं कर रहा था तो सारे दिन अपने रूम में बेड पर पड़ी रही और अपनी पहली चुदाई की एक एक बात याद करती रही.

तभी स्नेहा ने अपना पैर मेरे ऊपर किया और मेरे लंड को स्पर्श करते हुए रगड़ने लगी. मैंने भी हिम्मत करके एक बार ब्रेक मार दिया, जिससे भाभी की चूचियां मेरी पीठ में दब गईं और भाभी की आह निकल गई. तब वो बोला- खैर तुम्हारी मर्ज़ी! मगर मैं तो अपना लंड नई लड़की को दिखला सकता हूँ ना?मैंने कोई जवाब नहीं दिया तब वो बोला- तुम्हारी चुप्पी ही मेरे लिए हां है.

फिर रोहन और जॉन भी बेड पर आ गये और मेरे मुंह में दोनों ने फिर से एक साथ लंड डाल दिये.

हिंदी बीएफ फिल्म भेजिए: मुझे ऐसे देख और मेरी हरकतें और चरम सुख की प्राप्ति की कामुक आवाज सुन सुखबीर भी खुद को ज्यादा देर न रोक सका. आज उसने अपने अपने लंबे बालों को जूड़ा में बांधा था और ब्लू सूट में वो कयामत लग रही थी.

मैंने पूछा- किस वजह से टेम्परेचर बढ़ता है?वो मुस्कुरा कर बोलीं- जब किसी लेडी को सेक्स नहीं मिलता, तब ऐसा होता है. तुम्हारे मुंह में ही निकल जाएगा मेरा माल!वह बोली- अगर तुम चूत में निकालोगे तो दिक्कत हो जाएगी. फिर उसने मेरा अंडरवियर उतार दिया और मेरा 6 इंच का लंड तनकर बाहर आ गया.

जल्दी ही हम दोनों के कपड़े उतरते चले गए और हमारे नंगे जिस्म आपस में गुंथ गए.

ऐसे ही एक दिन में उनको बातों बातों में बोल दिया- अगर तुम मुझसे प्यार ही नहीं करती हो … तो मुझे तुमसे कोई बात नहीं करनी. उसके खुले बाल, उसके होंठों की वो लिपस्टिक, उसके वो 34 नाप के उठे हुए मम्मों से फूला हुआ उसका ब्लाउज, उसकी वो बलखाती 30 की कमर … आहहह … और उसकी वो मस्त 36 इंच की थिरकती गांड मुझे किसी और दुनिया में ही ले गयी. मेरा लंड झिल्ली तक पहुँच चुका था मेरा लण्ड हायमन से टकरा रहा था और जब उसने उसे भेदकर आगे बढ़ना चाहा तो गुलाबो चिल्लाने लगी- दर्द हो रहा है … मैं मर जाऊँगी.