एक्स एक्स वाला बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी का वीडियो में

तस्वीर का शीर्षक ,

विडिओ सेक्सी हँड: एक्स एक्स वाला बीएफ, इसके बाद जब भी आंटी को चुदवाना होता तो वो मुझे कॉल करके बुला लेती है लेकिन मालती ने मुझे जाह्नवी से मिलने के लिए सख्ती से मना किया हुआ है.

रवीना टंडन सेक्सी ओपन

रितु दीदी ने मुझसे पूछा बताओ- ये दोनों लड़के लड़की क्या कर रहे हैं?मैं चुप रहा, रितु दीदी मुझ से उम्र में काफी बड़ी थीं. आर्केस्ट्रा के सेक्सी गानेफिर तो हमारी आदत ही बन गई, हम घर में घुसते ही सबसे पहले अपने कपड़े ही उतारते, घर का काम करते-करते एक दूसरे के अंगों से छेड़खानी भी कर देते.

दीपिका के क्या होंठ थे, उसके होंठ थोड़े भीगे हुए लग रहे थे, मैंने धीरे धीरे अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए. सेक्सी बताओ सेक्सी वीडियोमेरे ज्यादा समझाने पर और शायद चुदास के चक्कर में एक दिन सुबह कॉलेज न जाकर हम होटल में गए.

तेरी माँ हम दो दोस्तों के साथ मस्ती करती थी और तू 3 लड़कों के साथ करती है.एक्स एक्स वाला बीएफ: बात तब की है जब मैं बारहवीं की परीक्षा के बाद मेडिकल की कोचिंग के लिए अपने दोस्तों के साथ उत्तम नगर में फ्लैट लेकर रहता था.

मैं वहां से चला गया क्योंकि मेरे दिमाग़ ने काम करना बंद कर दिया था.लेकिन फिर सविता भाभी जो खेल खेला, उसे देख कर आप भी हस्तमैथुन करने पर मजबूर हो जाएंगे.

सेक्सी महिलाओं - एक्स एक्स वाला बीएफ

संगीता ने मेरे सामने ही कपड़े पहनने शुरू किए, उसकी ब्रा का हुक मैंने लगाया उसको उसके कपड़े पहनने में हेल्प की.जिस दिन दोपहर की यह घटना है उस दिन रात को और अगले दिन बहूरानी ने मुझे कुछ भी नहीं करने दिया; कहने लगी कि उसकी गांड बहुत दर्द कर रही है और उसे चलने फिरने में भी परेशानी हो रही है.

थोड़ी देर बाद उसने मेरा हाथ हटा दिया और कार को एक साइड करके रोकने को बोला. एक्स एक्स वाला बीएफ जो मेरी राइट साइड की लेडी थी उसने बोला- ज़्यादा ही भाव खा रहा है मादरचोद.

फिर भी वो डरा नहीं और उसने मेरी गांड की छेद पे किस किया और फैला कर देखने लगा.

एक्स एक्स वाला बीएफ?

‘ओफ़्फ़…’ क्या अहसास था… क्या सिहरन थी!’कितने गर्म होंठ… धीरे धीरे मेरी चूची उनके मुँह में समा गई. उसके बाद मैं कई दिन उनसे नहीं मिलती पर जब जिस्म नहीं मानता तो जा कर उनसे फिर मसलवा लेती हूँ. जैसे ही लाइट ऑफ हुईं, जिस लड़की ने मुझे कहा था कि खाने का सामान है, उसने मुझे पॉपकॉर्न ऑफर किया.

मुझे गुस्सा आया कि फ़ोन तो कर सकते थे पर कैसे इतनी मुलाकातों के बाद भी हम दोनों ने एक दूसरे का फ़ोन नंबर नहीं लिया था. रोस्टन और सिंडी कुछ बात कर रहे थे कि अचानक ही उसने सिंडी के चूतड़ पर चपत लगा दी और हम हँस दिए, उसके बीच पर ही मस्ती करने लगे. कुछ ही मिनटों बाद मुझे अनुभव हुआ कि मेरे लंड पर गांड का कसाव कुछ ढीला पड़ गया साथ ही बहूरानी भी कुछ रिलैक्स लगने लगीं थी.

हम सभी ने नाश्ता किया और मैं अपने पुराने दोस्तों से मिलने बाहर चला गया. मैंने चाची का हाथ उठा कर अपने लंड पर रखा और उनके हाथ से ही लंड को सहलवाने लगा. वो बहुत ही गोरी, आँखें एकदम काली, गोल और बड़ी आँखें, गालों पर टमाटर जैसी लाली दिखाई देती थी.

मैं दिल से लोलीपॉप की तरह लंड चूस रही थी तो वहीं आशीष मेरी बुर को चाट रहे थे. हम दोनों लोग अब पकौड़े खाने लगा, मैंने भाभी की तारीफ करना शुरू की- वाह भाभी, क्या आप स्वादिष्ट पकौड़े बनाए हैं.

मैंने सैफिना का हाथ उसके बूब्स से हटाया और खुद उसके बूब्स दबाने लगी और चूसने लगी.

उस टाइम तो मैंने मोबाइल वापस कर दिया और उसी दिन से मन ही मन मैंने उन आंटी को चोदने का मन बना लिया.

” जो होता है तो उसमें सब औरतें और लड़कियां रतजगे में पूरियां और कुछ खाने का सामान बनाती हैं. थोड़ी देर बाद मैं चाय छान कर लाने के लिए जाने लगा तो चाची बोलीं- मेरे लिए मत लाना, मैं नहीं पियूंगी. दूध पीकर मैंने गिलास आंटी को वापस दे दिया।आंटी बोली- बेटा, मैं दूसरा गिलास दे देती.

नीता से लंड सहलवाते हुए पप्पू अब नीता की शॉर्ट्स में हाथ डाल कर उसजवान लड़की की नंगी गांडमसलने लगा. फिर जॉय ने एक दिन घूमने का प्रोग्राम बनाया और ये सब बाहर घूमने के लिए निकल गए. ’ करे जा रही थी और अपनी कमर हिला कर पूरा लंड अन्दर खा जाना चाहती थी.

अब मैंने उसे होंठों पर चूमते हुए उसके एक-एक करके सभी कपड़े उतार दिए.

मम्मी-पापा फिर गाँव गए और वहाँ पता चला कि उसके ससुराल वाले उसे अब रखने को रेडी नहीं हैं तो वो गाँव में ही अपने घर पर ही अपने बच्चे के साथ रहने लगी. आपका ज़्यादा वक़्त बर्बाद ना करते हुए अपनी हिंदी सेक्स स्टोरी पर आता हूँ. मैं धीरे-धीरे उसके नंगे जिस्म पे चढ़ता गया और फाइनली उसके होंठों पर मैंने अपने होंठ रखे.

मैंने पूछा- रितु दीदी ये बताएं कि क्या आपने किसी लड़के को लड़की को चोदते या लड़की को चुदते हुए देखा है?रितु दीदी बोलीं- हाँ कई बार. मैंने थैंक्यू कहा और पूछा- जल्दी चली गई, ब्वॉयफ्रेंड से मिलना था क्या?उसने कहा- मेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं है. दस मिनट तक धकापेल चोदने के बाद भाई ने पोजीशन चेंज की और मुझे सोफे पे लिटा कर मेरे दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख कर मुझे ज़बरदस्त चोदने लगे.

उसने बहुत ही सेक्सी पारदर्शी एक नाईटी पहन रखी थी जिसमें से उसका सारा बदन नंगा दिखाई दे रहा था.

फिर मेरा भी निकलने वाला था, मैंने जोर जोर से 5-10 झटके मारे और मेरा सारा वीर्य मोनिका की चुत में लबालब भर गया और बाहर आने लगा. मैंने रोस्टन से मेरे ऊपर माल निकालने से मना कर दिया था तो वो उसके लंड को सिंडी के मुँह के पास ले गया और कंडोम कुछ ही देर में उसने उसका सारा माल सिंडी के मुँह में गिरा दिया.

एक्स एक्स वाला बीएफ दोस्तो, मेरी चचेरी बहन की सेक्स स्टोरी आपको कैसी लग रही है? आप अपने विचार भेजें!कहानी जारी है. उसके हेलमेट जैसे दो गोरे चूतड़ मेरे सामने थे जिनको देख कर सैर करते वक्त मेरा लंड खड़ा हो जाता था.

एक्स एक्स वाला बीएफ मैंने नोटिस किया कि सैफिना लगातार मुझसे नज़र बचा कर शहज़ाद को ही देखे जा रही थी. सच में थोड़ी देर बाद मुझे भी बहुत मजा आने लगा, जिसको मैं ब्यान नहीं कर सकती.

फिर मॉम ने यश से कहा- यश बेटे, मेरी बेटी को वैसे ही खूब मजा देना, जैसे मुझको देता है… जम के चुदाई करना इसकी चूत की… एक मर्द के लंड का पूरा सुख देना मेरी कुंवारी बेटी को!मैं तो अपने यार यश के लौड़े के लिए कब से तड़प रही थी, मैं उस का लंड हाथ में लेकर सहलाने लगी.

आदिवासी सेक्सी आदिवासी सेक्सी आदिवासी

बल्कि इसका सुख हमें यह हुआ कि जब हम थक कर घर आते तो वो घर पर होती और हमें चाय वगैरह बना देती और खुद भी पीती और चली जाती. शहज़ाद सैफिना के ऊपर आया तो मैंने अपने हाथ से पकड़ कर शहज़ाद का लंड सैफिना की चूत में डाला और उसके मम्मे जोर जोर से रगड़ने लगी. अब सब आपके जैसे सीधे तो है नहीं जो मुझे ऐसे आधी नंगी देख कर आँखें झुका लेंगे.

उस वक्त मैं उनकी चुचियां चूसने लगा और वो मेरे बालों में हाथ फेरने लगीं और दूसरे हाथ से मेरे लंड को सहलाने लगीं. वो रात को जब मेरे पास सोने आती तो उसके शरीर से रसोई की बास इतनी आती कि मेरे मन की रोमांस की आशा ही मर जाती. मैंने एक हाथ सोनिया की कमीज़ में डाला और उसकी ब्रा के ऊपर से उसके एक मम्मे को दबाने लगा, जिससे सोनिया को मजा आने लगा.

इसके बाद मैंने संगीता को पानी में उल्टा किया और उसके ऊपर चढ़ कर उसकी गर्दन से उसको चूमना शुरू कर दिया.

उसकी लंबाई 5 फीट 5 इंच, रंग गोरा, नशीली आँखें, पतले-पतले होंठ, पतली कमर, मीडियम साइज के चूचे… मतलब एकदम टंच माल थी।वह मेरा टारगेट इसलिए थी क्योंकि उसे मेरी और रचना की बातें पता चल चुकी थी और वह भी मुझे परेशान करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ती थी। वह जब भी मिलती तो ‘लड़की से पिट गया’ कह कर मुझे चिढ़ाती. भाभी की कामुक सिसकारियां और बढ़ गईं और वो अपने पैरों के बीच में मुझे कसके दबाने लगीं. फिर मैंने उसको अपनी बांहों में भरते हुए उसके होंठों पर चुम्मा देकर मैंने उससे कहा- आई लव यू.

मेरी चुत ने मेहता के लंड को भी पसंद कर लिया था और उसके लंड को खून का टीका लगा कर उसके लंड से भी शादी कर ली थी. अपने दोनों हाथों को गोरी की कमर पर टिकाए हुए, रुस्लान अपने कठोर लंड को आधा अन्दर डालते हुए चोदने लगा. मगर मेरी इच्छा है आपके साथ एक बार सोऊं क्योंकि आपके जैसा मर्द शायद ही कहीं होगा.

विवाह के दो वर्ष बाद ही मुझे जीवन की सब से बड़ी ख़ुशी तब मिली जिस दिन तरुण ने गाँव के शिशु मंदिर में वरुण को दाखिल कराया. मोना- नहीं तुम आराम करो, मैं ले आऊंगी, मुझे और भी जरूरी चीजें लानी हैं.

उसने टॉवल ऊपर करके पहले तो उसकी जांघों से नीचे एड़ियों तक की मालिश की और रीना से सहयोग मिलता देख कर उसकी जांघों से बगल में उसकी चूत तक भी हाथ फिर आया. फिर मैक्सी के अन्दर हाथ डाल के पेटीकोट का नाड़ा खोलने लगीं और उसे भी उतार दिया. वो बोला- आराम से पकड़ ले यार… तेरा ही है।मैंने उसका खड़ा हो चुका लंड अपनी मुट्ठी में भर लिया और जींस के ऊपर से ही उसको रगड़ने और सहलाने लगा जिससे वो तनकर झटके मारने लगा.

अब आप लोग ही बतायें कि मुझे और आशीष को क्या करना चाहिए? आपके सार्थक और सभ्य भाषा में सुझावों का इंतज़ार रहेगा.

दोस्तो मैं आपको आज मेरी लाइफ की एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसने मेरी ज़िंदगी को बिल्कुल बदल कर रख दिया. अबकी चुदाई पहले से भी ताबड़ तोड़ थी, घमसान चुदाई से साली की चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था, मेरा लंड उसके पानी से तर हो गया. इस कॉमिक्स में शोभा का जवान और कुंवारा शरीर इतना मस्त दिखाया गया है कि मुझे लगता है कि पाठकों के लंड और चुत देखते ही फड़फड़ाने लगेंगे.

मैंने संगीता का शर्ट उतारा, उसने अन्दर ब्लैक ब्रा पहनी हुई थी, जिसमें उसके मोटे मोटे 36 साइज़ के चूचे बड़े सेक्सी लग रहे थे. फिर एक दिन मोबाइल में फिर से कुछ प्रॉब्लम हो गई तो आंटी ने अपना मोबाइल मुझे सही करने के लिए दिया.

जहां हम रुके, वो कोई चिंटू का ही परिचित था और मैं पहले भी उनके साथ उस घर में रुकी हूँ तो कोई प्रॉब्लम भी नहीं थी. उसके बाद उसने मेरी स्कर्ट भी निकाल दी और मुझे भी पूरी नंगी कर दिया. काकू भी बलिष्ठ कश्मीरी पट्ठा था, उसने अपना लंड पूरा अंदर पेल दिया था और फुल स्पीड से रीना को चोद रहा था.

भाभी देवर की ब्लू सेक्सी

फिर मैं बहुत हिम्मत करके अपना हाथ सलवार के ऊपर से ही अपनीचचेरी बहन की चूतके ऊपर ले गया.

वो सिर्फ पेटीकोट में झुककर झाडू लगा रही थीं, उससे पीछे से उनकी गांड की दरार भी साफ़ दिख रही थी. मैंने दोनों टांगों को चौड़ा भी कर दिया और जैसे ही अपना सर उसकी चूत के पास ले गया तो उसने फिर उसने टांगों को भींच लिया. वहीं मैं मन में सोच रहा था कि मैं किस दिन काम आऊंगा, भाभी कभी अपने देवर से भी प्यार कर लो… मगर कहने की हिम्मत न हुई.

मेरी नज़र कच्चे केलों के गुच्छे पर गयी जिसमें बड़े बड़े लम्बे मोटे साइज़ के हरे हरे कच्चे कड़क कठोर केले लगे थे. अभी तक आपने पढ़ा कि मैंने अपनी बहु की झांटें शेव करके उसकी चूत को चिकनी कर दिया. सेक्सी फिल्म चोदा चोदी दिखाओदोस्तो, मेरी चचेरी बहन की सेक्स स्टोरी आपको कैसी लग रही है? आप अपने विचार भेजें!कहानी जारी है.

जकूज़ी में वो मुझे इस तरह से पोज़ दिलवाता था कि सबसे बड़ा स्प्रिंग जेट से निकला पानी सीधा मेरी चुत से टकराये और इसी दरम्यान वो मेरी गांड मारता रहे. मोनिका के पापा रोज ड्रिंक करते थे, उनका इतना डर नहीं था, जितना मम्मी का था.

अप्रैल के दूसरे सप्ताह मेरे ट्रान्सफर के आर्डर आये और मैं इंदौर पहुँच गई. गुलशन जी को लगा कि सुमन गहरी नींद में है, तो वो थोड़ा खुलकर उसके मम्मों को सहलाने लगे. क्या तुम मुझे ये दिखा सकते हो?मैंने कहा कि ऐसी मूवी तो मैंने भी नहीं देखी.

दोस्तो, शावर के नीचे मुठ मारने का मजा ही अलग होता है और अगर चूत मिल जाये तो सोने पे सुहागा. हम दोनों ने मन्दिर में जा कर खून से माँग भर के शादी कर ली और अपने-अपने घर चले गए. अंकल देखो मैंने आपको बताया कि वो लोग क्या बोल कर छेड़ते हैं, रही बात कहाँ टच करते हैं… वो तो मैं उनको करने नहीं देती.

पर कविता ने कहा- पहले आप मेरी मसाज कर दो, मुझे ज्यादा नहीं करानी, पर इसे पूरी करानी है, आप इसकी मसाज फुर्सत से बाद में करना.

मैंने रितु दीदी से पूछा कि अन्दर झड़ जाऊं कि बाहर?वो बोलीं- अन्दर ही झड़ जाओ. एक झटके में नंगी हो गईं और उन दोनों के जिस्म देख कर सुमन तो बस देखती रह गई.

2-3 मिनट तक आंखों की लुका छिपी से मुझे ये तो पता लग गया कि वो भी किसी बात को लेकर डरा हुआ है. सही मानिए कि मैं सिर्फ उन्हीं लड़कियों की बात कर रहा हूँ जो सुंदर हैं, ना कि किसी रांड जैसी दिखने वाली लौंडियों की बात कही गई है. और फिर शुरू हुआ गर्दन से लेकर चुत का मसाज। हमारा सर टेबल से लटक गया था.

मैं 12 बजे से लेकर सुबह 4 बजे तक चाची को चूमता रहा और चाची भी पूरी तरह मेरा साथ देती रहीं. सैफिना अब पूरी तरह खुल चुकी थी और अब उसे कोई भी डर या झिझक नहीं थी, वो बोली- साहब आपने तो मुझे नौकरी से निकालने की बात कह कर डरा ही दिया था. जैसे ही रूपा उनके पास आई, पप्पू ने उसे खींच कर अपनी गोद में ले लिया और चूमने लगा.

एक्स एक्स वाला बीएफ मणि बिस्तर पर मेरे पास आकर बैठ गया और उसने मेरे हाथ पकड़ कर कहा कि हम दोनों दोस्त की तरह रहेंगे. तभी वह पुरुष कपड़े पहन कर बाहर आया और बोला- तुम अभी तक यहीं बैठी हो? अब तो बारिश भी बंद है इसलिए तुमने जहां जाना है जल्दी से चली जाओ.

न्यू सेक्सी हिंदी मूवी

टीना की बुर अब लावा उगलने को तैयार थी और ऐसी चुसाई एक कमसिन कली कहाँ तक बर्दाश्त कर सकती थी. मैंने फिर कहा- साली अब बहाने मत बनाओ, साफ़ साफ़ कहो कि जीजू से डर गई हो. कहानी का पिछ्ला भाग:पोर्न स्टोरी : मेरी पहली चूत चुदाई के हसीन पल-1मेरी इस रियल पोर्न स्टोरी में आपने अब तक पढ़ा हमारे घर में इंजीनियरिंग का छात्र अर्जुन किराये पर रहता था.

दादीजी गाँव में अकेली रहती थीं, सो मैं माँ के साथ अक्सर गाँव जाया करता था. यह सुन कर मैं जल्दी ही उसने चिपक कर सो गया ताकि जल्दी से कल आ जाए और मुझे जवाब मिल जाए. नंगी सेक्सी वीडियो गुजरातीतभी मुझे रागिनी की मादक सिसकारी सुनाई दी- आहहहसीसी कम ऑन मेरी चुत देखो.

मैं थोड़ी और हिम्मत करके उसके पास गया और अबकी बार मैंने बहाने से अपनी चारों उंगलियां उसके लंड पर फिराते हुए पूछा- रिक्शा कहां से मिलेगी?लेकिन अगले ही पल उसने पूछ लिया- लेना है के… लोला मेरा? (लेना है क्या….

वो पहले कुछ बोला था जिसे मैंने नहीं सुना इसलिये वह मुस्कुराते हुए भारी मर्दाना आवाज़ में दोबारा बोला- हाँ भाई! क्या हुआ? क्या चाहिये?साला उसका तो अंदाज़ ही कातिलाना था… हल्की मुस्कान, काली शर्ट की खुली बटन से दिखती फूली मर्दाना छाती और चेहरे पर हल्की दाढ़ी मूँछ उसे पक्का मर्द बना रही थी. मैंने उसकी चूत की फांकों दोनों पंखों को पकड़ कर फैलाया और उसके साइड में शेव करने लगा… अचानक मुझे महसूस हुआ कि अन्नू की गांड बहुत ज़्यादा हिल रही है.

इस झटके से मेरा आधा लंड उसकी चुत में जा चुका था, जिससे संगीता दर्द के मारे कराह उठी. ” मैंने बहू रानी की पतली कमर दोनों हाथों से कसके पकड़ के उसकी गांड में लंड से कसकर ठोकर लगाई, साथ में नीचे उसकी चूत में अपनी बीच वाली उंगली घुसा के अन्दर बाहर करने लगा. हम दोनों इतनी जोर से सिसकारियाँ भर रहे थे कि निश्चित ही दूसरे कमरे में मेरी गर्लफ्रेंड भी समझ गई होगी कि उसकी माँ मुझसे अपनी चूत चुदवा रही है.

उसकी बात सुन कर मेरी आँखों से अश्रु निकल आये और मैंने कहा- मुझे खुद नहीं मालूम कि मैंने कहाँ जाना है.

तभी मणि मेरे होंठ चूसने लगा और अपना लंड हाथ से मेरी चूत के छेद पर पर अच्छे से लगा कर जोर से एक झटका दिया. मैंने अपने लंड को उसकी सुन्दर और फूली हुई चूत पर रखा और अंदर करने लगा. फिर पायल ने मेरे लंड को अपनी चुत में लेकर चूचे हिलाते हुए उछलने लगी.

सेक्सी भेज दीजिए वीडियोउसकी बात सुन कर मेरी आँखों से अश्रु निकल आये और मैंने कहा- मुझे खुद नहीं मालूम कि मैंने कहाँ जाना है. फिर थोड़ी देर बाद मैंने उन्हें बिस्तर पे चित्त लिटा दिया और खुद 69 की पोजीशन में उनके ऊपर आ गया.

সেক্স নাম্বার

उसने मेरी कमर में हाथ डाला और मुझे खींच कर बोला- लंड चूसेगी?मैं कुछ नहीं बोली. जगह कम होने की वजह से हम लेट नहीं पाते थे, कभी कभी तो मैं किस करते हुए ही मोनिका का लोवर पैंटी उतारता और उसकी एक पैर उठा कर अपने कंधे पर रखता. अंदर जाते ही उसने प्यार से हमारे हाथों में एक उम्दा ड्रिंक थमाई और कहा- मैडम, आप दोनों अब मसाज करवा लें.

मैंने तुरंत ही उसे अपनी बांहों में भर लिया और पागलों की तरह किस करने लगा. मैं बोला- मैडम रूको, आज मैं आपको पूरा मज़ा दूँगा ताकि आप याद रखो किसी ने चोदा था. साथ ही उत्तेजना में उसने मेरे कंधे पर काट लिया… जिससे मेरी चीख निकल गई.

कहानी का पिछला भाग:आए थे घूमने, चोद दी चूतें-1अब तक की चुदाई की कहानी में आपने मेरी गर्लफ्रेंड की सहेली नेहा को मेरे सामने नंगी होते हुए पढ़ लिया था. वो लंड हिलाता हुआ बोला- ले यार कैसी बात कर रही है… ले तेरे लिए मैं भी हो गया नंगा. फिर उसने मेरे कपड़े उतारने शुरू कर दिए उसने मेरे कपड़े उतारते ही मेरा लंड मुंह में ले लिया.

यही सोचते सोचते मैं ड्राइंग रूम में नंगा ही टहलने लगा; टाइम देखा तो रात के दो बजने वाले थे. एक दिन की बात है जब मेरी नानी की तबीयत अचानक खराब हो गई और मम्मी पापा को नानी के यहाँ जाना था.

मुश्ताक ने नेहा को किस करते हुऐ उसकी साड़ी, पेटीकोट और ब्लाउज निकाल दिए और नेहा ने उसके कपड़े उतार दिए.

गुलशन जी उठे और बाथरूम चले गए और सुमन रात की बात सोच कर मुस्कुराने लगी. सेक्सी वीडियो एचडी 16 सालमैं कुछ करता या कहता उससे पहले ही बस रुक गयी और सभी के साथ हम भी डिनर के लिए उतरने लगे, उतरते हुए उसने कहा- वाह बच्चा, किस्मत जोरदार है तुम्हारी, यहाँ तो मेडिकल भी है. सेक्सी सेक्सी सेक्सी वीडियो डाउनलोडकुछ देर बाद आंटी ने कहा- राज थोड़ा रुको, पहले जाओ और मेन गेट पूरा बन्द कर दो. शहज़ाद ने सैफिना को उठाया और उसे 69 की पोजीशन में अपने ऊपर लिटा लिया.

गांड के छेद को लंड की नोक से रगड़ते हुए मैं एक हाथ से उसकी बुर के लहसुन को मींज रहा था.

उसके बाद मैं लौट आऊँगा।तब से तीन साल हो गये, विक्रम हर महीने एक मोटी रकम भेजता है. और वो चली गई- भाग 1और वो चली गई- भाग 2मध्य प्रदेश में गर्मियां बड़ी भयानक होती हैं. मैंने अपने लैपटॉप पर मूवी लगा दी और उसकी गोद में सिर रख के देखने लगा.

ऐसा लग रहा है जैसे फट जायेगा… मजा तो बेइंतेहा आ रहा है लेकिन दर्द सा हो रहा है यार… अब नहीं करते यार!मैंने उसे समझाते हुए बोला- तुम्हारा यह पहली पहली बार है और लण्ड लगभग 1 घण्टे से फूल तम्बू की तरह तना हुआ है और अभी तक उसका उपयोग नहीं हुआ है इसलिए तुम्हें ऐसा लग रहा है… डोंट वरी…बोलते हुए मैंने एक बार फिर अपना मुँह उसके लोवर में घुसा दिया. पर मैंने नोटिस किया कि सैफिना ही शहज़ाद को रिझाने की कोशिश करती, शहज़ाद का कोई ज्यादा ध्यान इस तरफ नहीं था. मैंने लंड फिर से चुत पर सैट किया और एक धक्के में पूरा अन्दर डाल दिया.

ತೆಲುಗು ಹೀರೋಯಿನ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೋಸ್

उसने पूछा- दर्द हो रहा है क्या?मैंने सर हिला के ‘हाँ’ में जवाब दिया. आप मुँह से लंड चूसती हैं तब ज़्यादा मजा आता है, अब ये चुत थोड़े ही लंड को चूसने वाली है. हैलो दोस्तो, कैसे हो आप सब?मेरा नाम सैम है बदला हुआ, मैं लखनऊ उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ.

उस समय मैं नहाने जा रही थी, मैंने उनसे थोड़ी देर में नहाकर आने के लिये बोला.

वाकई मर्द था यार… किलोमीटर भर चलने के बाद एक पार्क के सामने उसने बाइक रोकी और उतर कर मूतने लगा.

फिर उस दिन के बाद से हम दोनों कॉल पर बात करने लगे और देर तक बातें करने लगे. दोस्तो आ गई मैं नए पार्ट के साथ, अब कहानी में अलग मोड़ आ गया है तो चलो देखते हैं आगे क्या हुआ. सेक्सी मूवी एचडी वालीअब मामा जी का लंड सारा रस निकल चुका था, धीरे धीरे लंड सुकड़ने लगा था, मामा जी को नींद आने लगी थी, शायद काफ़ी थक चुके थे, मैंने मामा जी को आवाज़ दी पर मामा जी जवाब नहीं दे रहे थे, मैंने दो तीन बार आवाज़ दी तो मामा जी की नींद खुल गयी, मामा जी उठ कर बाथरूम चले गये.

मेरा नाम ममता है, मैं 49 साल की हूँ, शरीर से भारी हूँ और एक साधारण से चेहरे मोहरे वाली औरत हूँ, अकेली रहती हूँ, एक ऑफिस में काम करती हूँ। ऑफिस के बहुत से लोग मुझ पर लाइन मारते हैं, मगर मुझे पता है कि ये सब सिर्फ मेरे तन के दीवाने हैं, मेरे मन से किसी को कोई मतलब नहीं. जब सुमन से बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने दूसरा दांव खेला, जो गुलशन जी के लिए भी फायदेमंद साबित हुआ. कुछ देर तो अनामिका राहुल का भार सहती रही लेकिन फिर उसने राहुल को हटने के लिए कहा.

तब मेरे दिमाग में कुछ डाउट हुआ कि कहीं ये मुझे किसी दूसरे बेस पर कमेंट पास न कर गई हों. वो खुद साढ़े पांच फुट के आस पास लंबी, उसका चेहरा बिल्कुल एम्मा वाटसन जैसा, गोरी इतनी.

खुद कपड़ों के अंदर आग लेकर घूम रही है और दूसरों की तारीफ करती है?रिया जैसे मेरे आमंत्रण का ही इंतजार कर रही थी, आधा मिनट भी नहीं लगा उसे कपड़े उतारने में, उसका संगमरमर सा बदन देखकर मेरी चुत ने पानी छोड़ना शुरू किया.

और उसने बेस्ट ऑप्शन किया, अगले ही कुछ पलों में मैं भी जन्नत से सीधे बस की स्लीपर में आ गया. गुलशन जी का मन था कि वो सुमन के साथ लिपट कर सोएं मगर कुछ सोचकर वो दूसरे कमरे में चले गए और सो गए. अब आगे:मम्मी ने बेड से उठते हुए कहा- ये कुछ ज्यादा ही हो गया।ऋतु ने उनसे पूछा- क्या आपको ये सब अच्छा नहीं लगा मम्मी?मम्मी ने धीरे से कहा- हम्म्म्म हाँ अच्छा तो लगा… पर ये सब एकदम से हुआ… मेरी तो कुछ समझ नहीं आ रहा है.

सेक्सी ब्लू फिल्म भाई बहन का उसने अपना हाथ मेरे हाथ में रहने दिया और कहने लगी- अपनी अपनी किस्मत है. मूवी में हॉट सीन चलने के कारण मेरा पप्पू तो उस समय सलामी दे रहा था.

विनय ने हंसते हुए कहा- कविता, यही तो जिन्दगी है, इसमें कैसा शर्माना. उसकी हाइट 5 फीट से ज़रा ही ऊपर है, उसके बाल औसत लड़कियों के जितने ही हैं. इससे लंड कहते हैं और ये जो तेरे पैर के बीच में है, इसे चुत कहते हैं.

पंजाबी एचडी सेक्सी मूवी

नीता के तड़पने पर ज़रा भी ध्यान ना देते हुए, पप्पू ने नीता की कमर कस कर पकड़ी और फिर आधा लंड बाहर निकाल कर पूरी ताकत से चूत में घुसा दिया. हम दोनों यहाँ से रात को आठ बजे निकले क्योंकि ससुर जी उस दिन दूकान से लेट हो गए. फिर 15 मिनट गुजर गए तो जय का लंड मेरी चुत में ही फिर से खड़ा होने लगा.

ज़िंदगी में पहली बार इतना काला, मोटा और लंबा लंड देख कर रूपा खुश हो कर पहले उसे मसलने लगी. एक दिन मैं आंटी के घर गया, वो उस समय अकेली थीं और घर का काम कर रही थीं.

सुमन ने इनडाइरेक्ट्ली अपने पापा के लंड को देखने की इच्छा जाहिर कर दी.

गुलशन- हाँ ऐसे ही करेंगे, चलो अब पहले तुम्हारी आँख और हाथ बाँध दूँ. मैं भी बहुत जोश के साथ चुदाई करते हुए बोला- आज तेरी चुत की धज्जियाँ उड़ा दूँगा रानी. टीना- चल मेरी जान, अब जल्दी से बता तेरे पास बताने को ऐसा क्या खास है?सुमन- दीदी, आजकल पापा रात को मेरे कमरे में आते हैं और बातों ही बातों में मुझे टच करते हैं.

वो बोलीं- क्या हुआ?मैंने कहा- आपने अभी क्या बोला?उसने कहा- क्यों सुना नहीं?मैंने बोला- सुन तो लिया था. मैं बहुत ज्यादा हैंडसम तो नहीं हूँ, पर औसत से थोड़ा अच्छा दिखता हूँ. एक दिन भैया ड्यूटी से वापस आ रहे थे, वे अपने हाथ में कुछ सामान लिए हुए थे.

उस रात मैंने रतना की चूत इतनी बार चोदी और गांड इतनी बार बजाई कि वह लस्त पस्त हो गई थी.

एक्स एक्स वाला बीएफ: उसका फिगर 32-30-32 का ऐसा मदमस्त था कि जो भी एक बार देख ले, तो देखता ही रह जाए. मैं अपने हाथ से उसका लंड हिला रही थी, उसके टट्टे मसल रही थी, कभी उसके निप्पल चूस रही थी, काट रही थी.

वो मान गई… तो पहली डेट पर तो मैंने उसे सिर्फ़ किसिंग की थी लेकिन दूसरी बार मैं उसे अपने घर ले आया. पप्पू के धक्कों से नीता का पूरा जिस्म हिल रहा था पर नीता खुशी खुशी चुदवा रही थी. जब उसका लिंग उसके जांघिया में छुप गया तब मैं वहां से हट कर बरामदे में वैसे ही बैठ गयी जैसे पहले बैठी थी.

दोस्तो इस कहानी के कमेंट आने के बाद आपको मैं अपनी अगली कहानी बताऊंगा.

लंड का पानी निकलने के बाद अतुल शांत हो गया तो फ्लॉरा भी उन दोनों के साथ चुत की झांटें साफ करने चली गई. आशा है आप भी मेरी इस ‘सफर की डुबकी’ में डूबे होंगे!मेरी फ्री सेक्स स्टोरी पर आपके विचारों का स्वागत है और अगर रश्मि, आप भी यह स्टोरी पढ़ रही हो तो प्लीज मुझे एक बार जरूर मेल करना. फिर क्या था, मैं उनके मम्मों को एक हाथ से दबा रहा था और किस किए जा रहा था, दूसरा हाथ चाची की चुत में डाल रखा था.