हिंदी में बीएफ दिखाओ बीएफ हिंदी में

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो हिन्दी आवाज में

तस्वीर का शीर्षक ,

सकसी मुवी: हिंदी में बीएफ दिखाओ बीएफ हिंदी में, ऊपर मस्त धूप थी, भाभी सुखाये हुए कपड़े लेने लगी तो मैंने पीछे से उसे पकड़ लिया.

पंजाबी सेक्सी व्हिडिओ नवीन

जांघों तक उसका कुर्ता था, मगर नीचे नंगी गोरी, चिकनी टाँगें चमक रही थी. काशीपुर की सेक्सीवाह क्या जबरदस्त चूचियां थीं… एकदम मस्त… लाल और गोल… अभी तक किसी ने उसकी चूचियों पर हाथ तक नहीं लगाया था.

नीलम ने मेरी ही मौजूदगी में निखिल को राखी बाँधी थी जिसने मुझे यह मानने के लिये प्रेरित किया था कि दोनों के बीच भाई बहन का रिश्ता था. देवर भाभी ब्लू सेक्सीमोना ने गोपाल को यकीन दिलाया कि वो उससे गुस्सा नहीं है, उसको जो करना है.

अपने आप चुत की खुशबू लेते हुए तेरे पास आ जाएँगे समझी!मोना- नहीं यार.हिंदी में बीएफ दिखाओ बीएफ हिंदी में: मुश्किल से दो मिनट में मस्ताना ने अपनी पूरी मलाई सबीना को खिला दी और रफीक ने जमीला को!फिर हम ऐसे ही बेड पर लेट गए और एक दूसरे को बाँहों में भरकर कब सो गए पता नहीं चला.

वहाँ एक डबल बेड था 5-10 मिनट हमने बातचीत की और फिर मैंने उसे कहा कि लाइट बंद कर दे.मेरी धर्मपत्नि हल्के हाथों से सहलाते हुए दोनों गर्दभ लंडों को अपनी नर्म-गुलाबी जीभ से कुछ देर सहलाती रही, इसके पश्चात् सामने खड़े रुस्लान ने अपनी पोजीशन पक्की करते हुए शानदार पोर्न एक्ट्रेस के मुंह को अपने पत्थर लंड से चोदना चालू कर दिया.

पंजाबी भाषा सेक्सी वीडियो - हिंदी में बीएफ दिखाओ बीएफ हिंदी में

वह रेलिंग से टिक कर खड़ा हो गया जिससे उसका लंड रेलिंग को टच कर रहा था और मेरी नज़र उसके लंड के उभार पर ही अड़ी हुई थी.मैंने पेशाब करने के बहाने स्कूटी को रोक दिया और उसको बताया कि तुम स्कूटी पकड़ कर रखो.

मैं जोर जोर से चिल्लाने लगी और बेटे का साथ देने लगी- आअहह आअहह बेटा रुकना नहीं. हिंदी में बीएफ दिखाओ बीएफ हिंदी में मैंने- हैलो, दरअसल वो मेरी मॉम ने ये कुछ प्रसाद भेजा था, हमारे घर आज पूजा थी तो.

ये खेल ज़्यादा देर नहीं चला क्योंकि दोनों ही बहुत ज़्यादा उत्तेजित थीं.

हिंदी में बीएफ दिखाओ बीएफ हिंदी में?

मैंने अपने हाथ यश के सीने पे रख कर ऊपर नीचे होने की स्पीड बढ़ाई और पूरी ताकत से खुद की ही चूत चुदवाने लगी. क्योंकि मैं भी कामोन्माद के समीप पहुँचने वाला था इसलिए मैंने माला की बात मानते हुए अत्यंत तीव्रता से धक्के लगते हुए अपने लिंग को उसकी योनि के अंदर बाहर करने लगा. सबके एक साथ लिए थे, फ्लॉरा दीदी आपको दर्द नहीं हुआ क्या?फ्लॉरा- अरे दर्द तो बहुत साल पहले हो चुका, अब तो बस मजे ही मजे हैं यार.

कुछ देर बाद उसने अपनी पकड़ ढीली की और मैंने उसका लंड चूसना शुरू किया. संजय समझ गया कि ये ठंडी हो गई है, तो उसने अपनी रफ़्तार कम कर दी और पूजा के होंठ चूसने लगा. लगभग दस मिनट बाद वो हटीं और मुझे अपने ऊपर चढ़ा कर मेरे लंड को अपनी चूत में डलवाने लगीं.

उसकी बात सुनकर मैंने धक्के लगाना बन्द कर दिया और चुपचाप उसके ऊपर लेटा रहा. इसी वजह से जब मेरी बिल्ली हम दोनों के लंडों को इकट्ठा मुंह के अन्दर डालने का प्रयास करती थी तो उसे कामयाबी नहीं मिल रही थी. सुमन- आप ऐसे क्यों बोल रही हो दीदी? मैंने मना कब किया, मौका आएगा तब मैं भी कर लूँगी ना.

मुझे भी घर पहुंचना है और तुझे अपने पी जी!इतना कहकर मैं उठकर दरवाज़े की तरफ बढ़ा. वो खुद दोबारा अपनी चुत चटवाना चाहती थी क्योंकि एक बार में उसकी वासना शांत नहीं हुई थी.

मैं कराहने लगी और रोते हुए बोली- मैं आपको कल रात गांड मारने दे दूँगी पर अभी छोड़ दीजिए.

थोड़ी देर बाद मुझे दूल्हे का कॉल आया- तुम्हें सब यहाँ बुला रहे हैं.

एक मेरी चूची मसल रहा था, एक चूची काट रहा था, एक मेरे मदमस्त होंठों को अपने होंठों से चूसे जा रहा था, एक मेरे नर्म नर्म गालों को अपने दाँतों से चबा रहा था और मेरी गांड मसल रहा था और एक मेरी सबसे बड़ी अमानत यानि मेरी चूत को मसल रहा था, मसलते-मसलते वो उंगली भी कर देता था जिससे मैं चिहुँक जाती थी. सांचे में ढला हुआ बदन, गोरा गुलाबी रंग जैसे दूध में केसर घोल दी हो! वासना की अगन में जलती हुई नवयौवना का मादरजात नंगा बेदाग़ जिस्म मुझे जैसे चीख चीख कर पुकार रहा था कि आओ और रौंद डालो मुझे…उसके दोनों पुष्ट स्तन भी अभिमान से जैसे सिर उठाये मुझे चुनौती देने के अंदाज़ में तने हुए थे. मैंने आगे की बात बताना शुरु की ही थी कि कंडक्टर ऩे आवाज़ लगाई- बहादुरगढ़ की सवारियाँ उतरने के लिए तैयार हो जाओ!बस बहादुरगढ़ के स्टैंड पर पहुंच वाली थी और बस की लाइटें जला दी गई, उसने एकदम से अपनी पैंट की चेन खोलकर अपना लंड पैंट के हुक के नीचे दबाकर शर्ट के तले छिपा दिया और चेन बंद कर ली ताकि किसी को उसका खड़ा लंड दिखाई न दे।उसने मुझसे मेरा नंबर मांगा, तो मैंने अपना नंबर बता दिया.

इस होम सेक्स स्टोरी के पिछले भाग में आपने पढ़ा था संजय के लंड ने पूजा की गांड का उदघाटन भी कर दिया. दरअसल सुमन उत्तेजित हो गई थी और वो नहीं चाहती थी कि वो पापा को इससे ज़्यादा मौका दे, वरना कुछ भी हो सकता था. दर्द न सह पाने के कारण उसने मुझे लात मारकर बिस्तर के नीचे गिरा दिया और जोर-जोर से रोने लगी.

फ्लॉरा- सस्स आह भाई… ठीक से करो ना उफ़ थोड़ा और ऊपर करो आह वहां बहुत जलन हो रही है ससस्स प्लीज़ करो जल्दी.

उधर मोना ने भी चाल खेली और गोपाल को सूखा ही रहने दिया ताकि उसकी तड़फ बढ़ जाए और वो नीतू को चोदने का पक्का मन बना सके. मैं समझा नहीं तुम ठीक से बताओ वरना मैं फिर कोई ग़लती कर दूँगा।मोना- हा हा हा तुम बहुत स्वीट हो यार. हम फिर किस करने लगे और मैंने फिर उसे उठा लिया और बहन की पैंटी निकालने लगा.

फिर वो खड़ी हुई और मेरे कपड़े निकलने लगी और मेरे लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही दबाने लगी. उनके साथ भी मेरी अच्छी पटती है, मैं जब भी उनसे मिलता, बहुत सी डबल मीनिंग बातें कर लेता था. थोड़ी देर मैं उन्होंने रेजर लाकर मेरी प्यारी सी मुनिया का मुंडन कर दिया.

जो आराम से अपने बेड पे सोया हुआ था। वैसे टीना ने उसके बारे में सुमन को बताया था मगर उसे देखा सुमन ने आज ही था। इस वक़्त सुमन की साँसें उखड़ी हुई थीं.

तो उन्होंने कहा- लगता है आज ज़्यादा ही गौर से देख रहे हैं?मैं सिर्फ़ मुस्कुरा के रह गया. मैंने पूछा- ये क्या?तो बोली- निशा भाभी, आज मत रोको मैं बहुत तनाव में हूँ।मैं भी चुप हो गई, गर्म तो मैं भी हो गई थी, मैं भी उसकी चूचियाँ दबाने लगी.

हिंदी में बीएफ दिखाओ बीएफ हिंदी में वैसे तो उस वक़्त लंड सोया हुआ था, मगर सुमन के दिल में आया कि ये अच्छा मौका है, वो लंड के एकदम करीब है. वो आते ही बेड पर मेरे ऊपर लेट गई और मुझे जोर से बाहों में भींच लिया.

हिंदी में बीएफ दिखाओ बीएफ हिंदी में मैंने भी दीदी पर थोड़ा पानी डाल दिया लेकिन वो मुझे ऐसा करने से मना ही नहीं कर रही थीं. स्वान उसके नीचे लेटा हुआ था, और मैं उसके मुंह के नीचे!!!अगली बारी में एंड्रयू को झुक कर अपना घुटना नताशा के पीछे बने हरे रंग के खाने पर रखना पड़ा, और मुझे उसके सामने बैंगनी रंग पर.

वहां पहुँच कर ममता ने अपने पति जॉय को कॉल कर दिया कि उसकी तबीयत खराब है तो वो किसी के यहाँ रुकी है.

सेक्सी एक्सएक्सएक्स hd

कुछ ही मिनट में वो मेरी पूरी चुत को चाट चाट कर मेरी चुत का सब पानी पी गया. अब मैंने उसके एक चूचे को अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगा और एक हाथ से उसके दूसरे चूचे को पकड़ कर दबाने और मसलने लगा. तो उन्होंने कहा- लगता है आज ज़्यादा ही गौर से देख रहे हैं?मैं सिर्फ़ मुस्कुरा के रह गया.

राहुल ने मेरी गांड पर थोड़ा तेल लगाया और मेरी गांड पर अपना लंड घिसने लगा. मैं बुद्धू बनकर उसके उरोज को मसलने और उसका दूध पीने के लिये बेताब हो जाता था. जमाई ने अपनी जीभ नुकीली करके अपनी सास की जलती हुई चूत में डाल कर उनकी चूत की मलाई को पीने लगा.

अब संजय उसके मखमली होंठों को चूसने लगा और एक हाथ से उसके मम्मों को दबाने लगा.

वो इतनी मदहोश हो गई थी कि मैंने उसकी सलवार और पेंटी पूरी तरह से उसकी टांगों से निकाल दी और उसे पूरी नंगी कर दिया. मेरे पास आकर उसने मेरे हाथ में एक गोल्डन नोज रिंग पकड़ाई और कहा- चल इसे अपने नाक में पहन. उसने मेरा हाथ पकड़ के अपनी ओर खींचा, उसने मेरी पेंट में कुछ रखा और कहा- तुम्हारे लिए गिफ्ट है, घर जाके देखना.

तभी मेरी बीवी की नज़र मुझ पर पड़ी, उसने मुझसे कहा- नींद नहीं आ रही क्या?‘ये सब देख कर नींद कैसे आएगी?’उसने मुझे बुलाकर अपना एक मम्मे को मेरे मुँह में डाल दिया. मगर सुबह तय किये हुए पैसे ना लेकर हमने लड़कों को अच्छा झटका दिया।गोवा से वापिस दिल्ली आकर मैं और रिया ऑफिस के कामों में उलझ गयी. वहां पर ब्रा देखने लगीं। मैं वहीं वैसे खड़े रहा और उसको देखता रहा। उसके बाद उन्होंने एक ब्रा खरीदी और चलती बनी।फिर कुछ दूर जाके रुक गईं और पीछे मुड़कर मुझे देखने लगीं। फिर पता नहीं उनका क्या मन हुआ, उन्होंने अपने पर्स में से एक पेपर निकाला.

ऐसे जवान मर्द बड़ी मुश्किल से मिलते हैं और वह तो किसी गांव का ठाकुर लग रहा था… उन्हें तो लड़कियाँ ही आसानी से मिल जाती हैं, फिर लड़कों की क्या जरूरत… और वह लड़के से सेक्स करना गांडूपन भी मानते है इसलिए मुझे जो मौका मिला था उसे मैं सौभाग्य मान रहा था और उसे भी पूरा मजा देना चाहता था. मैंने छुप कर देखा कि मेरा बेटा अपनी माँ की नंगी चुची को देख रहा है और एक हाथ से अपने लंड को पैन्ट में छुपा रहा है.

हालांकि सुमन ने कभी चुदाई नहीं की थी मगर एक बार चुत रगड़ते टाइम उसकी उंगली जरा सी अन्दर घुस गई थी बस उसी पल से उसको अहसास हुआ कि ये छोटी सी उंगली से इतना दर्द हुआ तो लंड से कितना होगा और यही डर धीरे-धीरे उसको चुदाई के खिलाफ कर चुका था. एक दिन खबर आई कि चाची की माँ की तबियत ख़राब है, तो चाची अगले दिन वहाँ चली गईं और चाचा अगले दिन उनको छोड़ कर वापस आ गए. सुमन अब तक जो भी कर रही थी, ये उसके लिए आसान नहीं था मगर वो हिम्मत करके सब कर रही थी.

उसने कब अपनी जीभ मेरे मुंह में धकेल दी, पता ही नहीं चला, मैं उसे चूसता रहा और फिर दोनों बूब्स दबाता मसलता रहा.

नमस्ते दोस्तो, मैं प्रनब मंडल कोलकाता से मैं बँगाली हूँ इसलिए कहीं गलती हो जाए तो माफ़ करना। यह मेरी प्रथम सच्ची सेक्स स्टोरी है यदि यह आपको अच्छी लगी तो मैं और अच्छी से अच्छी कहानियाँ पेश करुँगा।रूपा मेरी कजिन सिस्टर यानि बुआ की लड़की थी, वह मेरे घर के पास ही रहती थी. अच्छा कर लूँगा अब जल्दी कर, इसका पानी निकालने के बाद तुझे नाश्ता भी रेडी करना है और खुद को भी रेडी करना है. इधर सविता और मैं भी गर्म हो गये थे पर उस वक्त हमने सेक्स करना ठीक नहीं समझा और बस किस कर के ही वापिस आ कर सो गये.

लेकिन जैसा कि मैंने शुरू में ही बोल दिया कि कोई भी हो, बात करने का जब तक मजबूत आधार ना हो, तब तक मैं बात नहीं करता हूं। क्योंकि मुझे भी टाइम निकालना पड़ता है. क्योंकि अब वो अच्छी तरह समझ गई थी कि संजय और उसके दोस्त भी उसको चोदना चाहते हैं.

मैंने उसे देखा तो हंस दिया।मैं समझ गया कि इसे गांड मराने की जल्दी है।मैंने कहा- पलट जा यार. दोनों ओर से पूरा जोश था… वो मेरी पीठ पर अपने नाखून गड़ा रही थी, मेरे कंधों पर दांतों से काट रही थी. आपके देश में तो लड़कियां बेपर्दा घूमे तो भी अन्य लोगों को तकलीफ होती है और यहाँ थाईलैंड में तो हर लड़की को वेश्या समझा जाता है.

गूगल सेक्सी वीडियो भेजो

वो बेडरूम में पहुंची तो देखा रीना बेड में घुस चुकी है और अधलेटी होकर उसकी ओर देख कर मुस्कुरा रही.

आज सुमन मुझसे बिना बोले चली गई, पहले तो ये ऐसी नहीं थी। लगता है इसे भी बाहर की हवा लग गई है. उस दिन मैं उनके घर कुछ सामान देने के लिए गया था और अहोभाग्य कि आंटी जी घर पर नहीं थीं. भाभियाँ हर वो सुख दे सकती हैं जो एक गर्लफ्रेंड या लवर कभी भी नहीं दे सकती। इसी लिए कहते हैं कि अगर गर्लफ्रेंड चुदाई की शुरूआत है.

मैंने पहले तो भाभी के झांकते स्तनों को जी भर के चाटा और फिर ब्रा को बिना खोले ही अन्दर हाथ डालकर बाहर निकाल लिया. ”लो सेट कर दिया चूत पर… ऑन करते ही चुदाई शुरू! ये लो, ये इसको तेज धीरे करने का रिमोट, तुम्हारे हाथ के पास है जितना तेज करना चाहो कर लेना!’ये तो असल लंड जैसे अंदर जा रहा है?”मनोज ने मेघा का दूसरा हाथ खोल के उस की चुचियो पे बैठ गया- लो चूसो इसे!आआआ स्सस्सस्सस मूऊमूऊ… टेस्टी है! आआआ… मैंने स्पीड तेज केर दी है… आआह… आह… बड़ी तेजी से चोद रहा है नीचे से ये डिल्डो!”आआआ. सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी में फुल मूवीतो क्या मेरे भी खून निकला है?पूजा उठकर देखना चाहती थी मगर संजय ने उसको रोक दिया और उसको अच्छी तरह समझाया कि ये सबके साथ होता है, तेरे में से भी निकला.

जब ऋतु ने ये देखा तो वो धीरे से बेड पर पूजा के बगल में लेट गई और हवा में अपनी टांगें उठा कर अपने हाथों से पैरों को पकड़ लिया और उसकी चूत खुल कर सामने आ गई. आज कितने टाइम बाद आपकी गोद में सर रख कर सोऊंगी और आप मेरे बालों में हाथ घुमा कर मुझे सुलाओगे.

उसकी गुलाबी रंग की चूत काली टांगों के बीच चमक रही थी और आँखें बंद करे वो मेरा लंड चूसने में लगी हुई थी. हालांकि इनका असर स्पष्ट नहीं दिखता, पर लंबी अवधि के बाद आप स्वतः अपनी कमजोरी को जान जाओगे. ड्रिंक्स और लेट नाइट पार्टी से दोनों को एतराज नहीं है, पर घर आने के बाद एक जोरदार सेक्स उनकी आदत में शुमार हो गया है.

तू मेरे बिल्कुल पास बैठ कर चुदाई देखना और संजय को पता भी नहीं चलेगा. अपनी नाकाम कोशिश के बाद मम्मी तुरंत दरवाजे की तरफ भागी पर जीजाजी लपककर दरवाजे पर खड़े हो गये. इसी वजह से मेरा लंड फिर से पूरी तरह खड़ा हो गया और कैप्री में तम्बू बन गया.

चूंकि हम खड़े थे, अतः मैंने थोड़ा नीचे हो कर पोजीशन बनाई, परंतु कैप्री टांगों में होने के कारण टांगें चौड़ी नहीं हो सकती थी इसलिए लंड चूत के अंदर नहीं घुस सका.

उसका नाम नैना था, वो दिल्ली की रहने वाली थी और बहुत सुन्दर और स्मार्ट लड़की थी. गुलशन जी ऊपर से नीचे तक फ्लॉरा को चाट रहे थे, उसकी चुत को चूस रहे थे और वो जल बिन मछली की तरह तड़प रही थी.

सुबह चारों एक साथ नहाये और सबीना जमीला और रफीक मुझे रेलवे स्टेशन छोड़ने आये. तभी यश, जो मेरे मुँह को चोद रहा था, उसने मेरे मुंह में ही अपना वीर्य छोड़ दिया और मुझे एक एक बूंद पीना पड़ा. अन्तर्वासना पर मेरी यह पहली सेक्स स्टोरी है। यह कहानी 4 साल पहले शुरू हुई थी, तब मैं एग्जाम की तैयारी कर रहा था.

मीना ने अपनी तरफ़ से जितना हो सका मोना को चुदने के लिए मना लिया, उसके बाद वो चली गई. ये बोले- आज क्या मन है जानू? आज तो मनोज आया है, आज अपनी इच्छा पूरी कर लो, बहुत मजा आएगा! तुम कहो तो सारा कार्यक्रम मैं तय कर लेता हूँ, तुमको तो ज्यादा कुछ नहीं करना है. सुमन- नहीं आप फिर गर्म हो जाओगे तो मुझे भी आपका पानी निकालना पड़ेगा.

हिंदी में बीएफ दिखाओ बीएफ हिंदी में ये देख कर मेरा बुरा हाल हो रहा था और इसलिए मैं वहीं पर अपनी चुत में उंगली करने लगी और अपना पानी झाड़ दिया. ना चाहते हुए भी उसका हाथ अपने आप बुर पे चला गया और वो अपनी बुर को सहलाने लगी.

थ्री एक्स सेक्सी व्हिडिओ एचडी

अब मैंने उसके एक चूचे को अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगा और एक हाथ से उसके दूसरे चूचे को पकड़ कर दबाने और मसलने लगा. मैं चौथी मंजिल पर पहुँचा लेकिन वहाँ भी मुझे सफलता नहीं मिली क्योंकि वहाँ पर डॉक्टर्स, नर्स, वार्ड बॉय के आराम करने और कपड़े बदलने के कमरे बने थे जिसमें कोई नहीं था, बस एक कमरे मैं एक आदमी डॉक्टर के सफेद वाले कपड़ों पर प्रेस कर रहा था और दूसरा सफेद चादरों को तह कर रहा था. वह मेरे लंड पर चढ़ गई, उसने अपने हाथ मेरी गर्दन पर डाल लिए और अपने पैर मेरी कमर से लपेट लिए.

मैंने भी आव देखा ना ताव, उसके सूट को पूरा उतार दिया और अब मेरे हाथ उसके दोनों चूचों को मसल रहे थे. मेरी पिछली कहानी में जो लड़की है, उसके साथ ही … लेकिन मैं सोचता हूं कि अपनी नई किरदार के साथ कहानी लिखूँ।तो आज मैं वहीं से शुरुआत करता हूं. वीडियो देखना सेक्सी वीडियोनिखिल नीलम के ब्लाउज में हाथ डालता था, उसके उरोज को उग्रता से दबाता था, उसको चुम्बन भी करता था.

कुछ 10 सेकंड के लिए हम एक दूसरे को घूरते रहे और फिर एक टेढ़ी सी मुस्कान लिए समझ गए.

लेकिन तुम्हारा लंड अन्दर नहीं जा सका, तब तुमने मेरी गांड में तेल लगाया और फिर एक जोर का झटका मारा तो तुम्हारा थोड़ा सा लंड मेरी गांड के अन्दर चला गया. नताशा मेरे और स्वान के बीच अपनी दाईं करवट लेट गई और बायाँ पैर थोड़ा सा फैला दिया जिससे कि मुझे उसकी चूत में धक्के लगाने में आसानी हो.

पर मैं कहाँ मानने वाला था, मैंने कहा- नहीं अंकल, जल्दी भेज दीजिये, अभी अभी एक नया बैच चालू हुआ है, उसमें मेरा दोस्त पढ़ने भी जाता है, ज्यादा लेट हो जायेगा तो उसका कोर्स भी छूट जायेगा. फिर तुम ये सब कैसे जानते हो?”तो मैंने उसे अन्तर्वासना साईट के बारे में बताया कि उधर की चुदाई की कहानी पढ़ पढ़ कर ये सब सीख गया हूँ. बोतल यहीं रख दूँ या आप फ्रिज से निकाल कर पी लेंगे?”मैंने बोतल वहीं रखने को बोला और वो रख कर चली गयी.

कुछ देर बाद मैंने भाभी की चुची को सहलाना शुरू किया तो मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

लेकिन वो हटी ही नहीं और आखिरी बूंद मेरे लंड से निचोड़ कर सारा वीर्य पी गई. कुछ देर के सफर के बाद, हमें एक स्पीड बोट पे छोड़ा गया जहां हमारा बहुत जम कर स्वागत हुआ. इधर सविता और मैं भी गर्म हो गये थे पर उस वक्त हमने सेक्स करना ठीक नहीं समझा और बस किस कर के ही वापिस आ कर सो गये.

क्या वीडियो सेक्सीमुझसे रहा नहीं गया तो मैंने अपना मुँह यश के सीने पे दे मारा और उसके निप्पल मुँह में लेकर मैं उसे अपने दांतों से कुरेदने लगी. प्राची भाभी जब मेरा स्वागत कर रही थीं और जब मेरा नम्बर मांग रही थीं, तब मैंने गौर किया था कि उनकी हाइट मेरे कानों तक रही होगी.

सेक्सी व्हिडिओ ब्ल्यू फिल्म

खैर जो भी हो… मैंने भी ऋतु को अनसुना किया और झटके से उसकी चूत में डाल दिया!ऋतु नाम की जिस गाड़ी की सवारी मैं कर रहा था, वो पहले से ही राहुल नाम के यात्री को सफ़र करा चुकी थी इसलिए उसे ज्यादा दर्द नहीं हुआ. फिर धीरे से मैंने हाथ उसकी जीन्स के अन्दर डालना चाहा, पर जींस टाइट होने के वजह से हाथ अन्दर नहीं जा पाया. दस दिन बाद भाभी जालंधर आ गई और मेरी उनसे फोन पर मिलने की बात हो गई.

मैंने भाभी की मालिश शुरू की, तभी उन्होंने हाथ पीछे करके ब्लाउज और ब्रा को खोल दिया. फिर भाभी ने बाकी की आधी डेरी मिल्क मुझे दी और बोलीं- अब तुम इसे मुझे लगाओ. मैं घबरा कर वापस आने लगा तो मैंने देखा कि वो केवल पेटीकोट और ब्लाउज़ में थीं और उनका क्लीवेज साफ मुझे दिख रहा था.

अब रोज रात को मैं उसे याद करके मुठ मारता और अब मैं उसे किसी भी हाल में चोदना चाहता था. आआआआअ… मेरा होने वाला है!” मेघा तड़पने लगी और उस की चूत ने पानी छोड़ दिया. मैं उन्हें गोद में उठाए हुए किस करते करते ही उनके साथ किचन में गया.

सासू माँ ने जमाई बेटे के लंड को पकड़ लिया और अपनी चूत पर रगड़ने लगीं. यह पहली बार था कि वो मुझे पप्पी दे रही थीं वरना अब तक हर बार मैंने ही शुरुआत की थी.

वो उत्तेज़ित हो गई और चुत के पानी चोदने से लंड को भी फिसलने में मदद मिल गई.

एक नर्स से फोन सेक्स के बाद चुदाई-1मंगल की सुबह हम दोनों ने दोपहर में मिलने का तय किया और मैंने समय से पहले ही होटल पहुंच कर अपनी तैयारी कर ली. सेक्सी वीडियो गर्ल एंड हॉर्सचाची की टांगें चौड़ी करके मैं उनकी टांगों के बीच आ गया और एक हाथ से अपना लंड उनकी चूत पर रगड़ने लगा. पंजाबी सिंगर सेक्सी वीडियोप्राची भाभी के जिस्म से मंहगे परफ्यूम की खुशबू आ रही थी, जो वासना में मिलकर वातावरण को कामुक बना रही थी. मैं उसके मस्त लंड को जीन्स के ऊपर से ही सहलाने लगा और मैंने अपना मुँह उसके लंड पर पैंट के ऊपर से ही रख दिया.

सविता को लगा कि उनकी सहेलियां उन्हें फिर से तंग करने आ गईं तो उन्होंने झुंझलाते हुए कमरे का दरवाजा खोला तो सामने अपने पति के दोस्त प्रेम को खड़ा पाया.

\मैंने कच्छी को भी नीचे किया और आधी जाँघों तक खोल दिया, पूरी नंगी भी नहीं कर सकता था क्योंकि वो गार्डन था और डर भी लग रहा था कि कोई आ ना जाए!मैंने उसको अपने लंड पे बैठने को कहा तो वो धीरे से मेरे लंड के ऊपर आ गई और मैंने उसकी फुद्दी के बाल हटाए और लंड के लिए जगह बनाई. लंड पकड़ ना!दोस्तो, उस भिखारी के लंड को पकड़ कर सुमन को अच्छा लगा था और अभी भी उसका मन था। मगर थोड़ा नाटक तो करना पड़ता है ना. फिर हम बारात लेकर लड़की वालों के घर गए और वहाँ पर रवि ने कैसे एक लड़की की चूत मारी.

फिर सुबह-सुबहपापा का लंडखड़ा करने की क्या वजह थी?सुमन- दीदी में बस चैक करना चाहती थी कि मेरे ऐसा करने से पापा का रिएक्शन क्या होता है?टीना- अच्छा तो तूने अपनी करनी का नतीजा देख लिया ना. कुछ देर पीने के बाद मैंने रिया से पूछा- बेली डांस आता है?उसने कहा- हाँ, क्यों?उसका हाथ पकड़कर मैंने कहा- फिर क्या यहाँ हम झक मारने आयी हैं? चल लड़कों की वाट लगाती हैं. उसकी आवाज से मैं पहचानता हूं कि वो मेरी इकलौती बहूरानी अदिति थी जो मुझे अपना पति समझ के सम्भोग करने के लिए उकसाती है, मुझसे लिपटती है, मेरा लंड चूसने लगती है.

सेक्सी वीडियो लड़की चुदाई वाली

अभी तक आपने पढ़ा कि मैं एक कपल के घर गया वहां मुझे भाभी के साथ उनकी ननद भी मिली. अपने प्रतिसाद मुझे भेजते रहें और साथ ही मुझे आपके दिमाग में भी कुछ ऐसे नए आइडिया हो तो लिख भेजिए, मैं कोशिश करूंगा कि उनको इस कहानी का हिस्सा बनाकर प्रस्तुत किया जाये. कुछ देर बाद नताशा भी हमारे कमरे में आ गई, और मैंने एंड्रयू के साथ अपनी बीवी का परिचय कराया.

मैंने भी उसका समर्थन करते हुए कहा- हाँ यार! सही है, क्या करो अब, यहाँ टाइम पास नहीं होता… आप अपने किसी रिश्तेदार के साथ आये हैं क्या?उसने कहा- हाँ यार.

मैं भी खुश हूँ, फिर मैंने काजल भाभी की सहेलियों के साथ भी चुदाई की.

मैंने कहा- पण्डित जी, आपको जब भी स्वाद चेंज करने का मन हो तो बोलियेगा, मैं बना दिया करुँगी. मैंने कहा- आ जाओ कल रूम पर!वो तय समय के अनुसार अपनी स्कूटी लेकर के मेरे से मिलने आ गई. वॉइस की सेक्सी वीडियोतो मुझे अच्छा लगने लगा है।मैं भी उसकी बात पर उसे तिरछी निगाहों से देख कर हंस देती थी।फिर छह दिन बाद उसने मुझसे पूछा- मेम साब, साहब कहाँ हैं दिखाई नहीं दे रहे हैं?मैंने कहा- उन्हें काम से ही फुर्सत नहीं रहती है, उनकी दो शिफ्टों की नौकरी है।दूध वाला मुस्कुराया और बोला- एक बात बोलूँ मेम साब, आप बुरा तो नहीं मानोगी?मैंने मुस्कुराते हुए कहा- नहीं.

जैसे ही उसकी चुत चोदने को मिलेगी, मैं आपको अपनी चुदाई की कहानी लिख दूंगा. टीना की मस्त चुदाई के बाद जब संजय घर पहुँचा तो उसकी माँ ने लेट आने की वजह पूछी तो संजय ने बहाना बना दिया. अब सुमन की उत्तेजना बहुत बढ़ गई थी चुत के बाँध को रोके रखना अब उसके बस का नहीं था.

मैं बस आ ही गई; इस पल को अच्छे से महसूस करना चाहती हूँ; लंड की धड़कन को, इस सुखद अनुभूति को अपनी यादों में बसा लेना चाहती हूँ हमेशा के लिए!’ वो मेरा माथा चूमती हुई बोली और अपनी चूत ऊपर की ओर उठा दी. सब के सब फिर पूल में दाखिल हुए और वहाँ चुदाई का एक और आखरी दौर चला!जब हम दोनों ने तैयार होकर चलने की सोची तो लड़कों के चहरे पे ऐसे भाव थे कि उनकी पसंदीदा चीज कोई उनसे दूर ले जा रहा था.

उनकी जाँघें काँपने लगी और वो सिसकारते हुए बोली- ओह बेटे, क्या कर रहे हो? आआआः हह बेटे बहुत अच्छा कर रहे हो… ओह सही जा रहे हो… ऐसे ही अपनी जीभ मेरी चूत पर फिराते रहो और चूसो मेरी चूत को…फिर मैंने पनियाई हुई माँ की चूत के छेद में अपनी जीभ को नुकीला करके पेल दिया और तेज़ी के साथ अपनी जीभ को नचाने लगा.

मैंने टीवी की ओर देखा तो टीवी पर वो लड़का, लड़की को कुतिया बना कर चोद रहा था. तो मैं बोली- अब तो जाने दो, तुम लोगों ने मेरी पूरी इज़्ज़त लूट ली, अब क्या करोगे?तभी सुरेश मुझे पीछे से दबोचते हुए बोला- रानी, ये तो शुरुआत है. फिर मैंने अपनी टांगें पूरी चौड़ी कर दी, शहज़ाद मेरी टांगों के बीच में आया और लंड को मेरी चूत पर लगा कर धक्का लगा दिया.

स्कूल की सेक्सी व्हिडीओ मेरी ‘हाँ’ सुनते ही उसने एकदम से मेरे होंठों पर किस लिया और मेरी गोद में आकर सीने से सीना लगा कर बैठ गई. पूजा ने अपना मुंह जल्दी से खोला और मैंने आगे बढ़कर उसका मुख अपने लंड से भर दिया.

वो अपना लंड नताशा के मुंह के सामने ताने अपने घुटनों के बल बैठ गया और नताशा ने बिना देर किए, स्वान के लंड के साथ-2 उसके लंड को भी अपने मुंह का निवाला बना लिया और इकट्ठे दो-2 हॉट डॉग्स का मजा लेने लगी. सुमन- ये आप क्या बोल रही हो ऐसा कैसे मुमकिन है दीदी?टीना- अरे मैं बातों के दौरान संजय को ब्लाइंड सेक्स के लिए राज़ी कर लूँगी. मैंने कहा- मगर तुमने अभी थोड़ी देर पहले कहा कि तुम 10 साल से ये काम कर रही हो.

यूपी सेक्सी यूपी सेक्सी

मेरे अंदर की हवस उसकी मटकती गांड देखना चाहती थी मैं दो कदम पीछे चलने लगा, और दोस्तो, जो मैंने देखा वही आपको बता रहा हूँ. कहाँ जा रहे हो?मैं शरमाते हुए उनके पास गया तो वो बोलीं- आओ तुम भी यहीं लेट जाओ न. विकास की नजरें तो पूजा के शरीर से हट ही नहीं रही थी और सन्नी ऋतु के नंगे शरीर का आँखों से चोदन करने में लगा हुआ था.

कुछ मिनट बाद सुरेश ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और मेरी चूत में जोर से पिचकारी मार कर अपने वीर्य से मेरी चुत को गीला किया. सविता भाभी को ये जानकर बड़ी निराशा हुई कि अशोक को उसकी कोई परवाह ही नहीं है, आज उसके मन में चुदाई को लेकर कितने अरमान थे.

फिर एक बड़ी दीदी ने बताया की कोई भी औरत अपने पति के साथ दूसरी लड़की को ये सब करते देख कर गुस्सा हो जाती है.

सविता भाभी को ये जानकर बड़ी निराशा हुई कि अशोक को उसकी कोई परवाह ही नहीं है, आज उसके मन में चुदाई को लेकर कितने अरमान थे. इस दौरान मैंने गौर किया कि ट्यूशन के टाईम मैं इधर उधर देखता तो वैशाली मेरी ही तरफ देखती रहती थी. मैं मुस्कुराई और उसका पैग उठा कर नशीली आंखों से उसे देखते हुए सिगरेट पीने लगी.

मैंने एक हल्का झटका मारा और मेरा पूरा लंड उसकी रसीली चूत में जा घुसा।ऋतु ने अपनी आँखें बंद कर ली और पीछे हो कर तेजी से धक्के मारने लगी. मगर अगले ही पल मेरे दिल ने कहा- कमीनी निकी, तू तो गजब ढा गयी यार, कोई रण्डी भी एक साथ पांच लंड से नहीं चुदाती होगी. क्योंकि टीना की स्कीम इतनी ज़बरदस्त थी कि बरखा को भी यकीन हो गया कि अब अतुल नहीं बचेगा.

जीभ अन्दर डाल कर नाभि को खूब अच्छे से चूसा- तुम्हारी चूत से मस्त खुशबू आ रही है जान.

हिंदी में बीएफ दिखाओ बीएफ हिंदी में: अपना लंड अंदर तक डाल के मुझे मजे दो… आह आह ओह ओह ओह…!जब सरिता की मस्ती रमेश को दिखी तो उसने एक और झटके के साथ लंड के बाकी के हिस्से को भी उसकी बुर में डाल दिया- उईईई माँ मर गई रे… उई उई उई ओहोहोहो ओहोह आह्ह्हह्ह आह्ह्ह्ह ओह्ह आह ओह आह्ह्ह… माँ… माँ… धीरे धीरे… बहुत दर्द हो रहा है. हमारी जीभ आपस में कबड्डी खेलने लगी थीं और हम एक दूसरे के जिस्म की गर्मी को महसूस कर रहे थे.

तब मैंने उससे कहा कि मैं जैसा कहूँ, तू वैसा ही करेगा तो मैं तेरे अब्बू को कुछ नहीं बोलूँगी. मुझे भी उसकी चुदाई करने में बहुत मजा आ रहा था।मैं ऐसा तो नहीं कह सकता कि मुझे ऐसी चुदाई का आनंद कभी नहीं मिला. वो भी थोड़ी शरमाई और मेरा खड़ा लंड पकड़ कर बोली- तू भी तो इस मलिका का आशिक लग रहा है.

मैंने दो उंगलियां उसकी चूत में डालकर चूत को उंगली से भी चोदना चालू रखा.

मैं साफ कर देता हूँ।पूजा बेचारी इतना डर गई थी, उसको कुछ समझ ही नहीं आ रहा था। उसने साइड होकर अपनी पेंटी उतार कर संजय को दे दी।संजय- तू जा बाथरूम में. मेरा लंड उसकी चूत को एकदम फंस कर चोद रहा था, वह भी अपनी पहली चुदाई का पूरा आनन्द उठा रही थी… वो अपनी टांगें मेरी कमर से लपेटे हुए थी और उसने अपनी बांहें मेरे गले में डाल रखी थी… हम दोनों के लैब एक दूसरे से लम्बे समय के लिए चिपके रहते… कभी वह मेरी जिह्वा को अपने मुख में लेकर लॉलीपॉप की भांति चूसने लगती तो कभी मैं उसकी जिह्वा को अपने मुख में लेकर टॉफी की भांति चूसने लगता. सुमन ने अपने बाप के लंड पे एक किस किया, फिर मुस्कुराते हुए वहाँ से उठ कर चली गई.