बीएफ बीएफ बीएफ चाहिए

छवि स्रोत,हिंदी में सेक्सी गाना

तस्वीर का शीर्षक ,

குரூப் செக்ஸ் வீடியோஸ்: बीएफ बीएफ बीएफ चाहिए, तो दोस्तों, फिलहाल इस सेक्स कहानी में इतना ही, अगली सेक्स स्टोरी में मैं बताऊंगा कि मैंने भाभी को कैसे चोदा और कैसे हमने थ्री-सम का प्लान बनाया.

आलिया भट्ट सेक्स वीडियो

खैर मैंने उसको फोन किया और पूछा कि आज तो बाहर गया हुआ था तुमने फोन क्यों नहीं किया?तो बोली- अचानक उसका फोन आ गया था. काजल अग्रवाल एक्स एक्स वीडियोपर वो माने तब न!हां बहुत जोर देने पर कभी कभार मेरे लंड की मूठ जरूर मार देती थी.

अपने फुद्दू पति को जलाने के लिए मैंने क्या किया?हैलो फ्रेंड्स, अब तक की प्यासी जवानी की कहानी में आपने जाना था कि मैं अपने पति रोहन के सामने अपनी चुदाई दिखाना चाहती थी, इसलिए मैंने अपने बॉयफ्रेंड थॉमस का लम्बा और मोटा लंड चूसकर खड़ा कर दिया था. नाक की नथनी की डिजाइन फोटोचूत चाटने के बाद अंकुश ने मुझे बालकनी की रेलिंग पर झुका कर मुझे घोड़ी बना दिया और अपने लंड के टोपे को मेरी चूत के अन्दर डाल दिया.

मैंने उनको कस कर पकड़ लिया और लंड का दर्द चूत में बर्दाश्त करने लगी.बीएफ बीएफ बीएफ चाहिए: जैसा कि आपको मालूम है कि जब मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को पहली बार मौसी के घर में चोदा था.

थोड़ी देर बाद उसने मेरी गर्लफ्रेंड की टांगों को हवा में उठा कर उसकी चूत को पेलना स्टार्ट रखा … और जोर जोर से चोदने लगा.और थे भी … भले चुदाई कपल!हा हा हा!हमने एक दूसरे को वादा किया कि कभी भी वो दिल्ली आये या मैं बंगलौर आऊँ तो हसीं रात साथ गुजारेंगे।मैं ये सोचते हुए वहाँ से लौट आई कि अगर ऐसा लंड मिले तो कौन छोड़ेगा.

दीपिका पादुकोण xxxx - बीएफ बीएफ बीएफ चाहिए

इस पर डेज़ी मुस्कुराई और बोली- इसी लिए मैं तुम्हारे साथ आई हूँ … मुझे तुम्हारी बुरी आदतें पसंद आईं, लेकिन एक शर्त है कि एक तो ये राज तुम राज ही रखोगे और दूसरा मुझे बीच में प्लास्टिक नहीं चाहिए … मुझे फील करना है.मेरा लंड उसकी देसी चूत को चीरता हुआ आधा अंदर घुस गया।ओ ओ ओ मां मर गयी!” वह चिल्ला उठी.

उनके मुँह से जैसे ही ‘अओह …’ निकलने वाली थी … मैंने झट से अपना मुँह मैडम के होंठों पर रख दिया. बीएफ बीएफ बीएफ चाहिए कहानी पर कमेंट्स करना न भूलें और अपने मैसेज भेजने के लिए नीचे दिये ईमेल का प्रयोग करें.

अर्पित मेरी जांघों के अंदर चूमता हुआ मेरी चूत के इर्द गिर्द चूम रहा था.

बीएफ बीएफ बीएफ चाहिए?

जो लेडी पूरे मोहल्ले में अपने अखड़पन और झगड़ालू स्वभाव के लिए मशहूर थी, वह भीगी बिल्ली बनी हुई थी. तो भाभी बोली- अरे … अरे … आप तो अभी से शुरु हो गए? इतनी भी क्या जल्दी है? हम लोग हनीमून मनाने ही आये हैं. इसमें खतरा है तो ऐसा क्यों करती है?रमेश- रति, तुम भी ना बहुत डरपोक हो। यह मेरी बेटी है। इसे अच्छी तरह पता है कि बिजनेस कैसे किया जाता है, यह कोई ख़राब काम नहीं कर रही.

उफ्फ़ … अंकल जान लोगे क्या मेरी?”मैं कभी उस नाजनीन की पीठ चूसता, कभी गर्दन, कभी कान चूसता चला गया. ऊपर इलास्टिक के दम पर टिके रहने वाली फैंसी फ्राक पायल के नोकदार मम्मों में अटका हुई सी प्रतीत हो रही थी. मैंने वो क्रीम कमोड में बहा दी है और अब आप फिर से लाना भी मत!” वो झट से बोली.

देखने में दोनों लड़के सुंदर थे, खूबसूरत, गोरे, चिट्टे, पतले, लंबे और सबसे खास बात दोनों कच्चे कुँवारे।मैं कुछ देर बैठ कर सोचती रही और प्लान बनाती रही कि क्या करूँ। अब तो दीपक की भी पूरी मंजूरी है कि मैं बाहर किसी और के साथसेक्स कर लूँ. ”वो कैसे?” उसने चहकते हुए पूछा।अब थोड़ी देर के लिए तुम्हारे इन खूबसूरत पैरों को छूने का और मौक़ा मिल जाता पर तुम हो कि उसके लिए भी मना कर रही हो. आपको छोटे भाई से कुंवारी लड़की की चुदाई कहानी अच्छी लगी या नहीं?मुझे मेल जरूर करें.

मैंने नाश्ता खत्म किया और चाय पीकर मां को बोला- मैं जरा बाहर जाकर आता हूँ. शेफाली- रोमा मेरी किटी पार्टी कैंसिल हो गई है … और स्विमिंग के लिए भी हम लेट हो गए हैं.

वो अपने मजबूत हाथों से मेरी गांड पर थप्पड़ भी मार रहा था, जिससे मुझे बहुत ज्यादा कामुकता चढ़ रही थी.

संगमरमर की तरह तराशा हुआ गुरजीत का जिस्म देखकर मेरा लण्ड उछलने लगा.

मेरी मेरी चुदाई की आग की कहानी के पिछले भागसहेली के पति से फ्री सेक्सी इंडियन चुदाई-2में अब तक आपने पढ़ा कि शेफाली ने मुझे पहले तो किसी किटी पार्टी में जाने का कह दिया था. अब अपने पैरों को नजदीक लाकर उसने अपने घुटनों पर हाथों को रख कर डिल्डो पर ऊपर नीचे होना शुरू कर दिया. वो रमेश के पास आयी और उसके लंड को हाथ में लेकर एक बार सहलाया तो रमेश के मुंह से आह्ह करके एक सिसकारी निकल गयी.

यकीन मानिए दोस्तो, प्रतिभा के हुस्न ने उस सादे पानी में भी नशा भर दिया था. आंटी ने मेरी तरफ एक सेक्सी सी स्माइल दी और कहने लगी- ठीक है, बैठो मैं अभी आती हूँ. तभी मां मेरे कमरे में आ गईं और मैं उन्हें देख कर अपनी लुंगी को सम्भालने लगा था.

इसके बाद धीरेन्द्र की तरह सबने अपने लंड निकाले और मेरे सामने पेश कर दिए.

ये मुझसे बर्दाश्त नहीं होगा।कुसुम- सॉरी यार माफ कर दो! पर तुम इतना अधीर कैसे हो सकते हो!मैंने कहा- कुछ लोग कुछ ना होकर भी बहुत कुछ होते हैं, मेरे लिए वो लड़की क्या मायने रखती है मैं बता नहीं सकता।इतना कहते हुए मैंने आगे लिखा कि चलो कल बात करते हैं, आज मुझे आराम करने दो।और मैंने मैसेज करना बंद कर दिया. मैंने अपने दोनों हाथ उसकी कमर में डाले और उसकी चूची पर मुँह लगा दिया. उन दिनों की उन घटनाओं को गहराई से सोचा तो बात जंच गई और उन्हीं सब बातों को लेकर यह कहानी गढ़ने की शुरुआत की.

मैंने भी सारा ध्यान चुदाई पर केंद्रित कर 10 15 शॉट लगाए और अपने लण्ड से वीर्य की गर्म गर्म पिचकारियाँ मारते हुए अंदर तक बिन्दू की गहराइयों को लबा लब भर दिया और बिन्दू को बेड पर धकाते हुए लण्ड डाले डाले उसकी कमर के ऊपर पसर गया. फिर थोड़ी देर के बाद उसने फिर से मेरी बीवी की चूत में उंगली करना शुरू कर दिया. फिर कुछ देर बाद उसने फिर से लंड चूत में से निकल कर गांड में डाल दिया और धक्के मारने शुरू कर दिए.

उसके दोनों पैर फैला कर उसकी पैंटी से ढकी चूत के ऊपर अपना लंड पेंट के साथ से ही रगड़ दिया.

ऊपर आकर मैं अपने कमरे में लेटा ही था कि बिन्दू मेरे कमरे में कुछ लेने के बहाने से आई. उससे जब अंतिम बार 28 जून को बात हुई थी तब उसने कहा था कि जब मैं नया फोन और नई सिम ले लूँगी, तब तुमसे फिर पहले जैसे बात किया करूँगी.

बीएफ बीएफ बीएफ चाहिए तो उन्होंने व्हाटसअप पर मुझे अपने चूचों की और झांट रहित चूत की पिक भेजी. मैंने उसके लंड के टोपे को किस किया और फिर धीरे धीरे उसका पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

बीएफ बीएफ बीएफ चाहिए इन दो महीने में गर्मियों की छुट्टियों में हम सब लौंडे काम चलाऊ तैरना सीख गए थे. मैंने कहा- मैं चाहता हूं कि तुम मेरे सामने किसी और मर्द के साथ शारीरिक संबंध बनाओ और मुझे देखने दो.

उसके बाद थॉमस ने अपना लंड मेरे मुँह से बाहर निकाल लिया और बेड पर खड़ा हो गया.

बीएफ चुदाई ओपन

कुच्ची- अबे कमीने अगर बता दिया होता कि मैं आ रहा हूँ … तो तेरी खुशी कहां देखने को मिलती. जबकि सत्यता ये थी कि सलीम का लंड मेरी जांघों में ही उछलकूद करके झड़ गया था. ये ध्यान रहे कि तुम उसकी तरफ कामुकता में पागल हो और वो तुम्हें पिछले कई महीनों से जानती है और तुम्हारे साथ दोस्त की तरह सहज रहती है.

सभी को सोने की जल्दी थी, बहुत सारी नर्स गांड मरवाने को बेकरार थीं और सबकी सबने अपना अपना लंड सिलेक्ट कर लिया था. और वैसे भी आज कल खूबसूरत लड़कियों को कौन सही सलामत छोड़ता है।उसके जवाब में मैंने हाँ में सिर हिला दिया और चप्पल उतार के गद्दे पे बैठ गयी।भले ही वो मेरा बॉयफ्रेंड ना हो पर ऐसे हालात में मन तो करने ही लगता है।सुनील ने कहा- चलो शुरू करते हैं. उसका कहना है कि इस पोजीशन में लन्ड बिल्कुल अन्दर तक जाता है।आज की कहानी की ओर … यह कहानी मेरे और मेरी तहेरी भाभी के बीच की है, यानि कि मेरे सगे बड़े ताऊ जी की बहू।चोदना तो मैं भाभी को बहुत पहले ही चाहता था लेकिन परिवार की भाभी हैं इसलिए कुछ भी करने से डर लगता था.

मैंने कैसे उनकी गांड मारी?दोस्तो, मेरा नाम सूजल शर्मा (परिवर्तित नाम) है। मैं मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर में रहता हूँ। मेरी उम्र 28 साल है.

मैंने उसके कान खींचते हुए कहा- तुम्हारे भैया नहीं हैं तो कुछ ज्यादा बोल रहे हो तुम. नेहा ने बैठे- बैठे किचन में काम कर रही अपनी मम्मी की तरफ देखा और बोली- राज, अगर आज आप नहीं होते तो यह बच्चा भी जाना था और हमारी बेईज्जती भी होनी थी. मैंने अंकल से कहा- मैं चाहता हूं कि आप मेरे पूरे कपड़े उतारें और फिर मैं आपके पूरे कपड़े उतारूं।अंकल बोले- ठीक है! ऐसा ही करते हैं.

आपसे विनती है कि आप इस लेस्बियन मजा हिंदी कहानी को अपने साथियों से शेयर जरूर करें. उन्होंने मेरे सिर पर प्यार से हाथ फेरा और कहा- बहू आगे बढ़ और अपनी इच्छा पूरी कर ले. उन्होंने मेरी चूचियों को मुंह में भर लिया और मेरे मुंह से ऊंम्मह्ह … करके एक लम्बी सिसकारी निकल गयी.

साढ़े नौ के करीब निष्ठा ने खाना के लिए पूछा तो मैंने कहा- यहीं बेडरूम में ले आओ. लेकिन मेरे पीछे होते ही मामी ने भी थोड़ा पीछे होकर मेरे लंड से अपने गांड की दरार को टच किया.

फिर रॉन ने उसको घोड़ी बना लिया और उसकी चूत में पीछे से लंड पेल दिया. एक दिन हम दोनों भाई बहन उसी बेड पर सो रहे थे कि तभी अचानक मेरी आंख खुली और मैंने देखा कि मेरा भाई अपने लंड की खाल को ऊपर नीचे कर रहा था. जहाँ वो मुझे चोद रहा था, वहाँ हम दोनों को कोई भी नीचे से देख सकता था.

कई कहानियों में मैंने पढ़ा था कि पति अपनी पत्नी की चुदाई गैर मर्द से करवा देता है.

जुनैद ने मुझे चुदने के लिए राजी देखा और मेरे हाथ को अपने लंड पर महसूस किया, तो उसने जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार दिए. तो वो जोर से सिसकारने लगीं- उह उह आह विकास … आज मुझे पूरी तरह से चुदाई का मज़ा दे दो. तो जितनी भी इसने उसको वीडियो, फोटो भेजे थे, और इन दोनों की जितनी भी चैटिंग भी सब वापस आ गयी.

मेरी सेक्स कहानी के साथ बने रहने और हौसला बढ़ाने के लिए मैं आप सभी का आभारी हूँ. लेकिन भाभी ने गोवा में शार्ट गाउन और भैया ने फ्रेंची अंडरवियर पहना था.

नमस्कार दोस्तो, आज मेरी इस सेक्स कहानी का अगला पार्ट आपकी सेवा में हाजिर कर रहा हूँ. फिर 5 मिनट बाद आप बोलीं कि अब मत तड़पाओ प्रकाश, बस मुझे चोद दो अब प्लीज़. मैंने एक उंगली पैंटी के अंदर भी डाल दी लेकिन चूत पर नहीं गया और उसकी पैंटी उठा कर जीभ से उसकी चूत के अगल बगल चाटने लगा.

चाची भतीजा का बीएफ

दीदी मेरी विचारमग्न आंखों को देख कर हंसते हुए बोली- वो तो तेरा पति था … इसलिए सोची कि थोड़ी सा टेस्ट बदल लूं.

मां के लंबे और काले बाल कमर के नीचे तक उनके मादक चूतड़ों तक लहरा रहे थे. जिम काफी बड़ा था और चारों तरफ ग्लास लगी थी और सामने की तरफ एक बड़ी बालकनी थी जहाँ से पूरा शहर दीखता था. मैंने कहा- आज तुम कोई गोली खा लेना ऐसा न हो कि तुम प्रेग्नेंट हो जाओ?नेहा कहने लगी- आप मेरे लिए दवाई ले आना, हम जब भी करेंगे, मैं खा लिया करूंगी.

इस पर मामी बोलीं- तुम अपना लंड किसी की में भी पेल दो, जो भी तेरा नौ इंच का लंड अपनी चुत में लेगी, वो बड़ी खुशकिस्मत होगी. मेरी गांड को फिर से गीला करके वह उठा और अपने गीले लण्ड को मेरी गांड के छेद पर टिका दिया। उसके लण्ड के आगे का हिस्सा मेरी गांड पर किसी गर्म लोहे के छूने का अहसास दे रहा था। मैं अपने निप्पलों को धीरे धीरे दबा रही थी और मैंने अपनी आंखें बंद कर रखी थी।उसने मेरा हाथ चूचियों से हटाया और अपने हाथों से निप्पल को मरोड़ते हुए एक जोरदार शॉट मारा. ऐश्वर्या राय सेक्स वीडियोकुछ देर की लंड चुसाई के बाद उसके लंड की मलाई बह निकली, जिससे मेरा पूरा मुँह भर गया और बाहर गिरने लगा.

मैंने भी सारा ध्यान चुदाई पर केंद्रित कर 10 15 शॉट लगाए और अपने लण्ड से वीर्य की गर्म गर्म पिचकारियाँ मारते हुए अंदर तक बिन्दू की गहराइयों को लबा लब भर दिया और बिन्दू को बेड पर धकाते हुए लण्ड डाले डाले उसकी कमर के ऊपर पसर गया. मैंने उसकी एक टांग को अपने कंधे पर रख रखा था और उसकी दोनों चूचियों को अपने हाथों से पकड़े हुए था.

मां अपने कपड़े पहन कर हम दोनों के लिए चाय बनाने किचन में चली गई थीं. मैंने नेहा के नीचे वाले होंठ को अपने मुंह में ले लिया और उसे चूसने लगा. लण्ड को थोड़ा और अंदर तक लेने के लिए भाभी ने अपने पांव को थोड़ा खोला.

ये बात तब की है, जब मेरे अब्बू टूर पर बंगलोर गए हुए थे और मेरी बहन अपनी कोचिंग क्लास के लिए गई हुई थी. फिलहाल अपनी बुर की आग शांत करने का कोई तरीका अभी तक मेरे पास नहीं था. कुछ देर की चूमा चाटी धींगा मस्ती कुश्ती के बाद निष्ठा रानी मेरे बगल में मेरी बायीं ओर लेट गयीं और मुझसे चिपक कर अपने बाएं पैर से मेरा लंड छेड़ने लगीं.

श्लोक के लंड को पकड़ कर वीना ने अपनी चूत पर लगाते हुए सेट किया और बैठने लगी.

मैं तुम्हें बॉयफ्रेंड नहीं बनाऊँगी, क्योंकि मेरा है पहले से ही।सुनील ने कहा- पता नहीं साले को कैसे मिल गयी तुम, खैर जाने दो, आज उसकी मोहब्बत को मैं चोदूँगा पूरी रात।इतना कह के उसने ज़बरदस्ती अपने होंठ मेरे नर्म गुलाबी होंठों पे रख के ज़ोर से दबा दिये. लंड के ऊपर की त्वचा नीचे सरक चुकी थी और मेरा गुलाबी सुपारा चमक कर प्रतिभा की आंखें चौंधिया रहा था.

फिर उसने मेरे लंड को जोर से दबा कर मेरी तरफ कातिल अदाओं के साथ देखा, जैसे पूछ रही हो कि क्यों अंकल मज़ा आया क्या?‘आह उह्ह. फिर उन्होंने अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों गाल प्यार से खींच दिये. अब धीरे-धीरे मम्मी को भी मज़ा आना शुरू हो गया था क्योंकि मम्मी ने भी बहुत दिन से लंड नहीं लिया था.

पर मुझे वो न तो वो मजा दे पाया, जो मैंने उम्मीद की थी … और न ही मैं पिछले डेढ़ सालों में मां नहीं बन सकी थी. उनके जांघों वाले हिस्से में मैंने एक दो झटके से महसूस किये और उसके बाद वो हिले ही नहीं. मैंने उनके मम्मों को दबाते हुए धीरे धीरे अपने लंड को आगे पीछे करने लगा था.

बीएफ बीएफ बीएफ चाहिए उसने लंड को चिकना करके रीता की चूत में पेल दिया और उसको पकड़ कर चोदने लगा. ये शरद का थोड़ा सा अजीब व्यवहार था, पर इससे मुझे उत्तेजना ज्यादा मिल रही थी.

पंजाबी फिल्म बीएफ

पहले वाली कहानी में मैंने आपको बताया था कि शिवानी भाभी ने मुझे नीचे वाले फ्लोर में रहने वाली भाभी सुमीना की चूत दिलवाने का भी वादा किया था. अब सरोज के साथ मुझे ये सब करने में मजा आने लगा था क्योंकि पति का अधूरापन कहीं न कहीं सरोज पूरा कर रही थी. उन्होंने कांपते होंठ मेरी ओर बढ़ाए … और मैंने उन्हें अपने होंठों से थाम लिया.

हम दोनों जोर जोर से धक्के लगाने लगे और तभी विनीता ने दोनों टांगों को मेरी कमर पर लपेट कर मुझे अपनी ओर खींचते हुए और ज्यादा कस लिया. उन्होंने मेरी चूचियों को मुंह में भर लिया और मेरे मुंह से ऊंम्मह्ह … करके एक लम्बी सिसकारी निकल गयी. अफगानिस्तान का सेक्सी वीडियोहम उन्हें लगातार गालियां दे रहे थे कि सालियों ने यहां गंदगी फैलाई हुई है … गश्ती हैं साली रंडियां.

दोस्तो, मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी चुत चुदाई की कहानी पढ़ने में मजा आ रहा होगा.

अब सनम ने एकदम से राजू को अपने कब्जे में ले लिया और उसे ज़ोर ज़ोर से किस करने लगी. कुछ देर बाद शालिनी ने मुझे रोका और मेरे गाल पर एक किस करके वो मुझे सो जाने का इशारा करने लगी.

उसके कुछ कहने से पहले मैंने कहा- बैठो गाड़ी पर पहले … रास्ते में बात करना ठीक नहीं। बात तो चलते चलते भी हो सकती है।ठीक है. फिर एक दिन संडे को शेफाली मेरे घर आई और उसने मुझसे कहा- चलो स्विमिंग के लिए चलते हैं. शर्मिष्ठा के दर्द से छटपटाने की आवाजें तब भी लगातार बाहर आ रहीं थीं.

मैं बोला- तुम्हें अभी से पैसों की लगी है, पहले बच्चे को ठीक तो हो जाने दो.

भाभी धीरे धीरे मेरी तरफ झुक कर बैठ गई और अपना एक हाथ उन्होंने बीच में रख लिया. करीब पांच मिनट के बाद दोनों का मौसम बन गया, तो मैंने इस बार उसे घोड़ी बना दिया और पीछे से लंड पेल दिया. फिर मैं उसको लेकर दीवार की साइड से हट गया और गांड पर हाथ लगा कर उसे उल्टा कर दिया.

मुंबई में सेक्समैंने उंगली और अंगूठे से नेहा की चूत के बाहरी होंठों को थोड़ा खोला तो चूत की दरार के ऊपर बहुत ही सुंदर गुलाबी रंग का मोती सा बना हुआ था जो उसका क्लीटोरियस था. और मुझसे कहने लगे कि अपना मेडिकल करवाकर आप भी रिपोर्ट लिखवा दो कि इसने आप को मारा है.

बीएफ वीडियो में दिखाई देने

फिर मैडम बोलीं- कितने बजे तक के लिए आए हो?मैं बोला- मुझे 6 बजे तक घर के लिए निकलना है. उनकी आह निकलती रही- आंह … चाट डालो … उन्ह … ऐसे ही चाटो … हां और अन्दर तक चाटो. गुरजीत की चूत के लबों से खेलते खेलते मैंने अपनी ऊंगली उसकी चूत में डाली तो चिंहुक गई.

उन्होंने कांपते होंठ मेरी ओर बढ़ाए … और मैंने उन्हें अपने होंठों से थाम लिया. एक बार तो मुझे मजा आया लेकिन फिर मेरी आंखें खुल गयीं और मैं छुड़ाकर भागने की कोशिश करने लगी. बड़ी- बड़ी चूचियां, सुंदर नैयन नक्श, मोटी मोटी आंखें, शरीर के ऊपर मलाई जैसी स्किन, लेकिन पति के गंदे स्वभाव और बेमेल शादी से दुखी होकर नेहा ज्यादातर चुप ही रहती थी.

मैं थॉमस के लंड पर एक दो बार उछली और उसके लंड को पूरा अन्दर तक ले लिया. उसके दोनों पैर फैला कर उसकी पैंटी से ढकी चूत के ऊपर अपना लंड पेंट के साथ से ही रगड़ दिया. … एक ही बार में पूरा का पूरा लंड डाल दे … फाड़ दे मेरी चुत आज … आज खून निकाल दे इसमें से … आज पूरी की पूरी प्यास बुझा दे अपनी मामी की.

पर इन्होंने तो सारे प्लान पर पानी फेर दिया था।वो उधर से हेलो हेलो बोल रहे थे. रात को देर से लौटूँगा या फिर सुबह ही लौटूं शायद।रति- बस यही तो है बुरी आदत है आप दोनों बाप- बेटी में! मुझे तो घर में सिर्फ पहरेदार ही बना दिया है आप दोनों ने।रमेश- मेरी जान, यूँ उदास होकर मत विदा करो.

मुझे उसके लंड से लगने लगा था कि बिना चिकनाई के इसका लंड लेना मेरे लिए कष्टकारी हो जाएगा.

हॉस्टल में मेरे साथ मेरी एक बहुत पक्की सहेली रहती थी जिसका नाम सनम जहाँ था. क्षक्शक्शक्शउन्होंने फिर मेरी जांघों को फैला दिया और मेरी टांगों के बीच में आ गये. मेवाती कॉल रिकॉर्डिंगअन्दर जाकर मैं कार से उतरी, तो अंकुश ने कहा- चलो शेफाली, कबसे तुम्हारा वेट कर रही है. उन्होंने बेडशीट निकाल कर रख दी और मुझसे बोलीं- चलो बाथरूम में चलते हैं हर्षद.

मैंने थॉमस से बोला- थॉमस, अब मुझे स्विमिंग करनी है … यह मेरी स्विमिंग का समय है.

अब आगे की जबरदस्त चुदाई की कहानी:मुझे समझते देर न लगी कि अब एक्साइटमेंट का एक अलग मजा होने वाला है. बेड पर बैठते हुए बॉटल से न्यू पैग बना कर उसने सोडा मिलाया और 2 सिप मार कर लड़की को इशारे से अपने पास बुलाया।इधर आओ. मैंने कहा- नहीं, मैं गांड नहीं मरवाता हूँ।वो बोले- तो मेरा अपने हाथ से ही हिलाकर निकाल दो.

मैं थॉमस के लंड पर एक दो बार उछली और उसके लंड को पूरा अन्दर तक ले लिया. उसी ने मुझे बहुत सारे तरीके बताये कि कैसे एक तलाकशुदा औरत की चुदाई करनी चाहिए. मुझे उसके लंड से लगने लगा था कि बिना चिकनाई के इसका लंड लेना मेरे लिए कष्टकारी हो जाएगा.

सुधा भाभी की चुदाई

मैंने देखा वो मेरी तरफ ही आ रहा था … शायद किसी को चाय देने!तो मैंने उसे बुलाया और बोली- शाम को जब हॉस्टल आओ तो मेरे रूम से भी कपड़े ले लेना!वो बोला- ठीक है. मैं शाजिया के रसीले चूचों को बारी बारी से चूसने के साथ ही नीचे से उसकी मखमली चूत में ज़ोर ज़ोर से धक्के मारे जा रहा था. कोई 5 मिनट की चूमा चाटी के बाद मामी ने मुझे पलंग पर धक्का दे दिया और मेरी जींस निकालने लगीं.

वो जानता था कि रश्मि रवि की बेटी है और यही उसका मकसद था कि वो रवि की बेटी को रंडी बना कर उसके बाप के सामने ही पेले.

लेकिन तभी सना ने एक बम और फोड़ा- मेरे पास उस काम की रिकॉर्डिंग भी है और कुछ फोटो भी हैं.

इस बीच मुझे याद आया कि राजू ने बताया था कि वो रोज रात को ख़ुफ़िया रास्ते से हॉस्टल में आता है. अब मैंने इसी तरह चुदाई शुरू कर दी, मैंने प्राची भाभी के पैरों को हाथों से संभाला था, तो उन्होंने खुद अपने स्तन संभाल रखे थे. यूट्यूब भेजो यूट्यूबचूचियाँ भारी भारी गोल होनी चाहिए, गांड भी भरी और गोल होनी चाहिए, चूत भरी और मोटी होनी चाहिए, मुझे सूखी हुई चूत जिसमें से केवल छेद दिखाई दे, वैसी चूत कम पसन्द है.

क्या खुद नई दुल्हन से मजा करने के बजाय मुझे सौंपेगा? या कुछ और ही बात है?कुसुम ने कहा- यार, ये सब मैं क्या जानूं? ये सब तुम उस लड़की से ही पूछना. दोस्तो, मैं राजवीर, महायाराना के अंतिम भाग के साथ आपका मनोरंजन करने के लिए एक बार फिर से हाजिर हूं. दोस्तों मैं बता नहीं सकता कि मामी की चुत से क्या मस्त खुशबू आ रही थी.

तालाब की ऊंची दीवार से पानी में कूदते, जिसे हम मुटार लगाना कहते थे. यह देखते ही एसएचओ को गुस्सा आ गया और उसने उठकर रोहित को तीन चार थप्पड़ जड़े और उसको गले से पकड़कर पूछा- कहां के रहने वाले हो?रोहित ने अपने शहर का नाम बताया.

मैंने पूछा- दुबारा क्यों नहाई?तो बताया कि उसे नीचे चूत में चिपचिपा सा लग रहा था … और उसका मन एक गर्म चुदाई का था.

मैंने उसके गले में हाथ डाल दिया और उसके लंड के मस्त झटकों को चूत की गहराई तक लेने लगी।अर्जुन खड़ा हो गया. उसने मुझसे कहा- एक बार मौक़ा दो ना बाजी!मैंने कुछ नहीं कहा और सीधी लेट गयी. वे बोले- तूने अभी तक किस किस की मारी?नसीम बोला- दो की मार चुका हूँ.

व्व्व पोर्न कॉम क्या मैंने तुम्हारा लंड चूसा?मैं- बता तो रहा हूँ मेरी छिनरो … मैंने कहा कि भाभी आपने ये क्या कर दिया. अच्छी इसलिए कह रही हूं क्योंकि जब पास में पड़ोसी जानने वाले हों तो खुलकर कुछ भी नहीं किया जा सकता.

और मेरे कॉलेज तक भी ये खुशखबरी पहुँच चुकी थी।तन्वी का फोन आया और उसने पूछा- तो लड़की जीतने लगी है, तू इतनी होशियार है या चुदक्कड़, मैं क्या समझूँ?मैंने कहा- तू तो सब जानती ही है, कभी कभी जीतने के चुदना भी पड़ता है।सुनील ने मुझसे फोन कर के कहा- फ़ाइनल जीतने के लिए कब चुदवाओगी?मैंने कहा- ऐसा करते हैं, फ़ाइनल जीत जाऊँ तब करते हैं. विन्नी की तरफ देख कर मैंने पूछा- आपको कोई प्रॉब्लम तो नहीं है ना मेरे रूम में खाने में?उसने ‘न’ में जवाब दिया. गीली जीभ पूरी निकाल कर मैं नीचे से उसकी नर्म मुलायम चूची को चाटता, तो मीता मचल जाती.

एक्स एक्स एक्स दूधवाली

अब आगे पढ़ें कि कैसे बेटे ने मां को चोदा:मैं मां की चुत पर अपनी जीभ फिरा रहा था. पॉपकॉर्न खत्म हो गये तो मैंने गुरजीत का अपने हाथों में ले लिया और हौले हौले से सहलाने लगा. पत्नी की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मैं रोमांच के लिए अपनी बीवी की लाइव चुदाई गैर मर्द से देखना चाहता था.

उसकी तरफ देख कर मैंने अपना सीना फुलाया, तो उसने मेरे दूध देख कर बोला- मुझे सेब भी बहुत पसन्द हैं. कॉलेज गर्ल की नंगी चूत की कहानी का पिछला भाग:कभी कभी जीतने के लिए चुदना भी पड़ता है-1सुनील ने बिना डरे कहा- मुझे जेल पहुंचा के तुम ट्रॉफी तो नहीं जीत पाओगी.

कुछ समय तक किस करने के बाद मैंने उसकी साड़ी का पल्लू खींचकर उसे कपड़ों से आजाद कर दिया.

मेरे पति ने मेरी चूत में जीभ की नोक से छेड़ना शुरू किया तो मैं मदहोश होने लगी. मेरी चूत से उबलती हुई पानी की धार मेरी मोटी जाँघों से होकर नीचे फ़र्श तक जा रही थी।मैं बीच बीच में चूत से उंगली निकाल कर अपने मुख में लेकर पानी का स्वाद ले लेती। इन्ही सब के दरम्यान लगभग 10 मिनट बाद उसने अपने धक्कों की स्पीड बहुत ही तेज कर दी और जोर जोर से आहें भरने लगा।अब मैं समझ गयी कि उसका माल निकलने वाला है. मैंने भी जिद नहीं की और ममा को बोल दिया- मैं भी अपने बॉयफ्रेंड को घर बुलाऊंगी, तो आप भी मत देखना.

दोनों मर्दों के मुंह से निकलने वाली सिसकारियों से होटल का रूम गूंज उठा. अंकल दूसरे कमरे में सोने चले गए।लगभग एक घंटे के बाद मैंने अपने कमरे के दरवाजे को बंद होते हुए देखा। मैंने देखा कि मम्मी कमरे से बाहर गयी हैं। मैं समझ गया कि अब मम्मी उन अंकल के कमरे में गयी होंगी. मेरी बात सुन कर वो खुशी से ऐसे उछल पड़ा … जैसे कि उसी ने गुड़िया को चोद लिया हो.

चूंकि मैं दो-तीन दिन वहां पर रुकने वाला था इसलिए मुझे चुदाई की भी कोई जल्दी नहीं थी.

बीएफ बीएफ बीएफ चाहिए: कुछ देर तक उसकी गांड को चोदने के बाद रमेश ने अपने लंड को बाहर निकाल लिया. एहसास ना हो जब तकएक लम्बी चुदाई काना जाने देना अपने साथी कोजब तक उसकी चूत ना बोलेलंड की बानी उसकी ठुकाई काहम रास्ते में जा रहे थे, तो मुझे होटल से पहले रास्ते में स्पोर्ट्स की दुकान थी.

कुछ देर बाद मैंने लण्ड को बाहर निकाला तो बिल्दु की चूत से वीर्य बाहर आकर उसकी गांड को भिगोते हुए बेड पर टपकने लगा. फिर मैंने उसके पति समीर से पूछा- आप लोगों को यहां आने की जरूरत क्यों पड़ी, जबकी आपके पास तो पूजा जैसा ख़ास तराशा हुआ हुस्न है. अब मैंने जोर जोर से उसकी चुदाई चालू कर दी और करीब 10 मिनट तक चोदता रहा.

मैंने भी इसका कोई विरोध नहीं किया, तो वो धीरे धीरे जांघ को सहलाने लगे.

उसके नीचे ब्लाउज, ब्रा, पेटिकोट या पेंटी कुछ भी नहीं पहना हुआ था उसने. जंघाओं पर गांड पर पीठ पर कंधे पर सभी जगह लंड की सैर कराते हुए मैं प्राची भाभी को और बेचैन कर चुका था. वैसे भी शेफाली तुम्हें तो पता ही है ना कि मुझे ऐसे एडवेंचर्स का कितना शौक है … तो ये मौका मैं कैसे जाने देता!शेफाली- अंकुश ये क्या किया तुमने … रोमा क्या सोचेगी हम लोगों के बारे में!अंकुश- क्या सोचेगी … उसे पता है कि एक हस्बैंड वाइफ ऐसे अकेले में क्या करते हैं.