गुजरात के बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म देसी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ हिंदी भाई बहन की: गुजरात के बीएफ वीडियो, मगर वह तेजी से अपने चूतड़ों को आगे की तरफ धकेल रहे थे और पूरा लंड दीदी के गले में उतार रहे थे.

इंडियन क्सक्सक्स वीडियो

कपडे हाथ में लेकर अपने कमरे में जाने लगी तो मुझसे चला भी नी जा रहा था. पंजाबी सेक्सी ब्लू पिक्चरजब मेरा लंड शांत हो गया, तब मैं उसके ऊपर से हटा और अपने लंड को उसकी चुत से बाहर निकाला.

हालांकि हम दोनों अलग अलग रूम में रहते थे, लेकिन डिनर वगैरह साथ में ही करते थे. सेक्सी वीडियो पोर्न एचडीहालांकि हम दोनों अलग अलग रूम में रहते थे, लेकिन डिनर वगैरह साथ में ही करते थे.

नवीन के लंड से चुदकर मुझे पहली बार इतना आनंद मिला कि मुझे उससे प्यार ही हो गया.गुजरात के बीएफ वीडियो: मैंने रुपये लेने से मना किया, पर वो मानी नहीं और अगली बार मिलने का भी प्रॉमिस किया.

वो अपने साथ एक क्रीम की शीशी लिए हुए था, उसने उसमें से बहुत सी क्रीम निकाल कर मेरी बुर के अंदर अपनी उंगली डाल कर अच्छी तरह से लगा दी.मेरा अब मामा के घर जाना बहुत ज्यादा हो गया था और किसी को कोई शक भी नहीं था इसलिए जब भी मौका मिलता हम एक दूसरे को किस कर लेते थे.

बाप बेटी की नंगी चुदाई - गुजरात के बीएफ वीडियो

जैसे ही मैं वॉशरूम से आया, वैसे ही कल्पना उठ कर जाने को हुईं, पर उनके पैर लड़खड़ाने लगे … उन्हें चलने में तकलीफ हो रही थी.जमा तो ठीक वरना मायके चली जाऊंगी- ठीक है मम्मी जी, मुझे आपकी सलाह ठीक लग रही है … बाद का बाद में देखेंगे.

सासू माँ ने लंबी सांस लेते हुए कहा- ह्म्म्म … एक मिनट तू रुक बेटा, मैं अभी आयी. गुजरात के बीएफ वीडियो मैंने उसको बताया- मेरे दोस्त का नौ इंच का लंड है, ऐसा मूली जैसा ही लगेगा जब वो तेरी चुत में जाएगा.

मैं अपने हाथों से अपने दूध दबाने लगी, मेरे मुँह से निकलने लगा- याल्ला … रहम कर! ऐसी चूत चुसाई तो मेरे अब्बू ने भी नहीं करी कभी!मेरी हालत देखकर अम्मी और भाभी भी उत्तेजित होने लगी और अब्बू भाई को ज्यादा परेशान करने लगे.

गुजरात के बीएफ वीडियो?

कुछ देर बाद देविका भी आ गयी, मैंने उनको दोनों से मिलवाया, दोनों औरतें आपस में बात करने लगी और मैं और घोष बाबू पार्टी से थोड़ा अलग हो गए और मदिरापान की महफ़िल की तरफ चले गये. मैं जैसे ही झटके देता, वो नाखून मेरे सीने में कंधों पर पीठ में घुसा देती थी. कुछ देर में हम भैया के दोस्तों के यहां चले गए, जहां हमने जम कर होली खेली और साथ में दारू भी चढ़ा ली.

मैं स्कूटर थोड़ा तेज़ चला रहा था और कोई सामने आ जाता था तो एकदम ब्रेक मारते ही भाभी मुझसे लगभग सट जाती थी. जिस तरह से वह मेरे लंड को चूस रही थी उससे तो साफ पता चल रहा था कि वह एक पुरानी खिलाड़ी है. अनुष्का ने पूछा- क्या देख रहे हो? मैं अच्छी नहीं लग रही क्या?मैंने कहा- आज तो आप कमाल लग रही हो मैडम.

आख़िर जब बहुत देर बाद उसके लंड का पानी निकलने को होने लगा तो बोला- दीदी, क्या तुम्हारी चूत को हरी भरी कर दूं? फिर उस बच्चे का मैं बाप और मामा दोनों ही बन जाऊँगा. फिर उसने मेरी नाइट पेंट को मेरे घुटनों तक उतार कर मेरी चूत में अपनी जीभ डाल कर मेरी चूत का सारा पानी निकाल दिया. फिर मैंने उससे कहा- एक वादा करोगी?वो बोली- हां बोलो?मैंने कहा- जो मैं बोलूंगा, वो करोगी?वो मेरी बात मान गई.

तब उसने मुझसे पूछा कि क्या हम कभी रतिक्रिया नहीं करते?मैंने कहा- हां करते हैं, पर बहुत कम करते हैं. उसने कहा- जान इतनी जल्दी भी क्या है, पहले तुम्हें मेरे लंड को चूसना होगा.

मैं उसके चूचों को घूर रहा था तो उसने मुझे एक शरारत भरी स्माइल दी और मेरे सामने ही बैठ गई.

5 इंच का लौड़ा उसके मुख में था।अब मैंने सोचा कि कुछ और नया किया जाये।मैंने उसको उठाया वहां से और रूम के अंदर बेड पर ले गया.

सोफे पर बैठते और मेरी तरफ देखते हुए उन्होंने मुझसे बोलना शुरू किया- हां तो आप क्या कह रहे थे?मैं- मैम, मैं यहां कुछ कहने नहीं, करने आया हूँ. दीदी ने जीजू से कहा- यार आज कुछ करना ठीक नहीं रहेगा, रचना यहीं है।जीजू- अरे यार, आज पहली बार तो तुमने हां बोली, अब इन्कार मत करो. मैंने सोनू के मुंह को अपने हाथ से दबाकर, एक जोर का झटका दिया और सोनू की चीख को उसके मुंह में ही दबा दिया और अपने लंड की हरकत को जारी रखते हुए एक और जोरदार झटके से आधा लंड अंदर घुसेड़ दिया.

अब की बार मैंने उसे डॉगी स्टाइल के लिए बोला, तो वो तुरंत तैयार हो गयी. वहां पलंग के साथ ही एक पालना रखा था, जिसमें उसका बच्चा सोया हुआ था. उनके समेत आप सभी का पुनः आभारी हूँ और दिल से पुनः क्षमाप्रार्थी हूँ कि मुझे आगे की स्टोरी भेजने लिए थोड़ा समय लगा.

मैं डर और उत्तेजना के कारण कांपने लगा और अनायास ही मेरे हाथ उरोजों तक पहुंच गए.

मैं- अब ऐसी प्यारी चूत और गांड मिले, तो ये रात दिन खड़ा ही रहेगा मामी जी. मैंने अपना मुँह इधर उधर घुमाते हुए कहा- अब आपको क्या बताएं काका कि कितना बड़ा कांटा चुभा है. नहीं! मैं तुम्हें अपनी गाँड नहीं मारने दूँगी, सुना है बहुत दर्द होता है! ज़रीना ने जवाब दिया।गाँड तो तुम्हें मरवानी पड़ेगी! हाँ, तुम्हें दर्द होगा तो मैं रुक जाऊँगा.

अगर वह किसी को एक बार देख ले, तो मेरी गारंटी है कि वो उसका दीवाना हो जाएगा. मेरे प्यारे दोस्तो, मेरा नाम कोमल है और मैं पानीपत हरियाणा (बदली हुई जगह) से हूँ। अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है। कुछ गलती हो जाये तो अपनी प्यारी सी दोस्त समझकर माफ कर देना।मैं थोड़ा अपने बारे में बता दूं। मेरी उम्र 19 साल है और मैं बी. पर आपने कभी मेरे बारे में सोचा कि आपके बिना मैं यहाँ कैसे रह रही हूं?”तुम लोगों के लिए ही तो मैं बाहर रहता हूं.

उसने कमरे का दरवाज़ा बंद कर दिया और मुझे कम्बल ओढ़ने के लिए कह दिया.

जवान कॉलेज गर्ल की सेक्स कहानी के पहले भागकिस्मत से मिली कॉलेज गर्ल की चूत-1में आपने पढ़ा कि कैसे मुझे एक जवान लड़की सिनेमा हॉल में मिली और अब वो मेरे होटेलरूम में मेरे साथ मेरे बेड पर थी पर चुदाई के लिए मना कर रही थी. मामी जी भी पीछे की ओर अपनी गांड मेरे लंड पर दबा कर अपने चूतड़ों की दरार में लंड महसूस करके मस्त हो रही थीं.

गुजरात के बीएफ वीडियो मगर मेरी चालू बीवी भी खेली खाई चुदक्क्ड़ थी, अगले दो मिनट के भीतर ही वह उछल कर बेड से बाहर आ गई और प्रशांत को जीभ निकाल कर ठेंगा दिखाने लगी. कल्पना- अभी तक आपने कितनी लड़कियों के साथ सेक्स किया है?मैं- सेक्स तो मैंने पता नहीं कितनों के साथ किया है, पर इस काम में मैं पिछले दो साल से ही हूँ.

गुजरात के बीएफ वीडियो इस बीच उसका मुँह मेरे लंड की तरफ आ रहा था, पर उसने खुद से रोक ही लिया. उसने क्लिट तो रगड़ रगड़ कर लाल कर दिया और चूत की आग को जितना भी भड़का सकता था भड़का दी.

थोड़ी देर चूत पर लंड रगड़ने के बाद वो अब लंड लेने को बेकाबू होने लगी.

सेक्सी बीएफ इंग्लिश इंग्लिश

उसका लंड मेरे मुंह में जब पूरा तन गया तो मेरी सांस भी रुकने लगी थी. उसने कहा- थोड़ा सब्र तो करो!मैंने उससे कहा- यार, अब इन्तजार नहीं होता तुम बस मेरी हो जाओ!फिर उसने मुझे कहा- बस 5 मिनट में मैं फ्रेश होकर आती हूँ. वो लोग हमारे शहर में नए थे। उसके परिवार में उसका एक छोटा भाई और उसके मम्मी पापा। वो हमारे घर के पास रहते थे और उसका भाई काफी छोटा था तो उसकी मम्मी को कोई काम होता था तो वो मुझे बोल देती थी.

जैसे कि ‘मैं उससे क्यों बात करता हूँ और बाकी कम उम्र की लड़की से नहीं. हम जल्दी से टैरेस पर पहुंचे तो वहां का दृश्य देखकर मुझे थोड़ी शर्म आने लगी. मामी जी के मुँह से एक हल्की चीख निकल गई- ह्ह्ह उम्म्ह… अहह… हय… याह… सीईई ईईईई अहह.

धीरे-धीरे मैंने एक हाथ उसकी पैंटी के ऊपर लगाकर देखा तो वह पूरी गीली हो चुकी थी.

‘अन्तर्वासना’ एक ऐसा ही पटल है, जिसके माध्यम से हम दोबारा उन कहानियों को जीते हैं. मैंने रेड ब्रा पेन्टी स्ट्रिंग वाली और ब्लैक कलर का घुटने तक का सिल्क का गाउन पहन लिया. उसे घर से बाहर निकलने का बहुत ही कम मौका मिलता था इसलिए वो खूब खुल कर मस्ती कर रही थी.

अभी मैं ये सोच ही रहा था कि पता नहीं उसके घरवाले अभी तक गए हैं या नहीं. थोड़ी देर बाद मेरा दोस्त उसकी वाली को लेकर झाड़ियों में एक कोने में चला गया. ज्यादा देर न करते हुए मैंने उसके टॉप में अपना हाथ घुसाकर ब्रा के ऊपर से ही उसके बोबे मसलना चालू कर दिया.

उसके जाने के बाद मैं पायल को और उसके बदन को बहुत ही ज्यादा मिस कर रहा था. अब आगे:मैं उसके मुँह में ही झड़ गया और थोड़ी देर तक मैंने लंड को मुंह में ही रहने दिया और उसने मुझे जोर से धक्का देकर हटा दिया और थोड़ा वीर्य पी गयी मेरी प्यारी बहन.

चूमते चूमते ही मैंने अपने हाथ पीछे ले जाकर उसकी सलवार के अन्दर डाल दिए, जो इलास्टिक वाले इजारबंद वाली थी. जैसा आपने मेरी कहानी के तीसरे भागइश्क विश्क प्यार व्यार और लम्बा इन्तजार-3में पढ़ा था कि मोनिका की शादी हो गई थी. फिर वह अपने हाथों से मेरे अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाने लगी.

इस घटना के बाद बात इतनी अधिक बढ़ गई कि हम दोनों का कॉलेज साथ में जाना छूट गया.

(पहले ही काफी गीली हो चुकी है)तभी मेरे ध्यान में आया कि अभी से मेरी योनि कितना पानी छोड़ चुकी है. मैनेजर सर के पास सारी लड़कियां इंटरव्यू के लिए जाती हैं क्योंकि वो ही जॉब देते हैं. अनन्त ने अपने लंड को दीदी के मुंह में तेजी के साथ धकेलते हुए अंदर बाहर करना शुरू कर दिया.

नहीं जाने की वजह उसने बताई कि माँ भाई जल्दी चले गए थे, सुबह का उसने ही घर का सारा काम किया. अपने अलग तरह के खास अंदाज में करीब तीन-चार मिनट तक फिंगरिंग करने के बाद प्रशांत ने नीना की एक टांग को उठाया और चूत के मुहाने पर अपना लंड सटा दिया.

भाभी भी बोलीं- ठीक है मम्मी … मैं अभी यहीं आदी के साथ बैठी हूं, फिर चली जाऊंगी. उसने मेरे हाथों से कंडोम का पैकेट ले लिया और उसे देख कर मेरी तरफ देखा. हमारी सांसें अभी धीरे-धीरे धीमी हो रही थी तभी अनुष्का मैडम को कोई बुलाने आ गया.

एचडी बीएफ वीडियो एचडी बीएफ वीडियो

अब पायल ने अपने मुँह को मेरी नाभि पर लगा दिया और मेरी नाभि के उभरे हुए भाग को अपने दांतीं से पकड़ कर कसके काट लिया.

मैंने जल्दी से उसके गालों के ऊपर किस की और फिर उसके नर्म मीठे होंठों को चूसने लगा. हम दोनों का किस कब स्मूच में बदल गया, कब हमारी जीभें एक दूसरे के मुँह में आने जाने लगीं, पता ही नहीं चला. अगले 2 दिन मैंने मम्मी जी से कोई बात नहीं की … मम्मी जी से नजरें मिलाने में भी अजीब लग रहा था.

फिर मैंने उसकी ब्रा को पकड़कर अपने हाथों में ले लिया और उसके चूचों को दबाने और सहलाने लगा. तब मेरे एक दोस्त ने बताया कि मैं खाली टाइम पर ट्यूशन पढ़ाया करूं जिससे मेरा टाइम पास भी हो जाएगा और कुछ पैसे भी आ जाएंगे।उसके दूसरे दिन मेरे दोस्त ने बताया कि उसके एक जान-पहचान वाले को होम ट्यूटर की जरूरत है और मुझे वहां जाने के लिए बोला और वहाँ का पता दे दिया. एक्स एक्स एक्स सेक्सी पिक्चर बीपीमैंने एक दिन उससे उसके बॉयफ्रेंड के बारे में पूछा, तो उसने मना कर दिया.

पर सुखबीर कहीं न कहीं से बात शुरू कर अपनी पारिवारिक जीवन की बातें करने लगता. फिर दीदी की सासू माँ बोलने लगी- क्या चल रहा था वो? और कब से चल रहा है?हम दोनों चुप थे.

लाइट जल रही थी, पूरी नंगी भाभी को देख कर मुझमें उत्तेजना भी बहुत आ रही थी, पर जब बिना कुछ किए ही मज़ा आ रहा था तो मैं क्यों कुछ करता. मेरी बीवी ने जब से मेरे बारे में कमर दर्द का इलाज बताया था, तब से मेरी मामी का नजरिया मेरी ओर कुछ अलग ही नजर आने लगा था. खैर बुआजी का व्यवहार और पापा व मम्मी की सूझ-बूझ से दीदी की सगाई विनय भैया के साथ कर दी गई। अब विनय भैया विनय जीजू बन गये थे.

मम्मी कहने लगी आज तो मेरा भी बहुत दिल कर रहा है, वैसे भी तीन-चार दिन हो गए हैं और बच्चे भी सो गए हैं. लगभग दस मिनट बाद मैंने भी उसके मुँह में अपने लंड का सारा पानी निकाल दिया और वो मेरे लंड का सारा पानी पी गयी. उन्होंने मुझे अपने सीने से लगा लिया और मुझे चुप कराने लगे।उन्होंने मुझसे पूछा- क्या तूने किसी के साथ गलत काम किया है?नहीं पापा!” मैंने कहा.

यह पहला इस तरह का एहसास था, मुझे अपने आप ही लगने लगा कि मामा बस कुछ कर दें, मेरी यह तड़प मिटा दें और मुझे छोड़ें नहीं, बस ऐसे ही बांहों में कसे रहें.

मैंने लंड खींचने की कोशिश की, उनको इशारा भी किया, पर उन्होंने लंड को नहीं छोड़ा. फिर कुछ समये बाद कौशल्या जी ने हमारी मुलाकात एक बड़े बिज़नसमैन से करवाई, जो उनके कंपनी के अच्छे खासे इन्वेस्टर थे मिस्टर रंजन घोष।घोष बाबू- हेलो सर, नाइस मीटिंग यू! और कैसा चल रहा है, घर पे सब ठीक ठाक है ना सर!मैं- बस सब प्रभु की कृपा है घोष बाबू, आप सुनाइये, और कौन कौन आये हैं पार्टी में साथ?घोष बाबू- मेरी पत्नी और मैं … रुकिए उनसे मिलवाता हूँ.

उसने फिर मुझसे कहा- आप लगता है नई आयी हो यहां?मैंने कहा- हां अभी कुछ ही दिन हुए यहां आए. जब भी वह मुझसे मिलती थी मेरे साथ को पाकर मुझमें पूरी तरह खो जाती थी. कभी कभी 2 उंगलियों में उसकी निप्पल को भी ले कर मसलता और कभी बहुत ज़ोर से खींचता, उसके निप्पल तने हुए थे.

मैंने दोबारा पूछा- पिछली बार वो कब आये थे?मेरे इस सवाल पर जीजू थोड़े से घबरा गए मगर उन्होंने फिर भी जवाब दे दिया और मुझसे पूछने लगे- तुम ये सब क्यों पूछ रही हो?मैंने जीजू को बता दिया कि मैं उनके और अजय के बारे में सब जानती हूँ. मैंने भी अपने लंड का टोपा उनकी गांड के छेद पर रखा और धीरे धीरे अन्दर ज़ोर लगाने लगा. इस सारी हरकत को सोनम देखने लगी और उसकी मम्मी भी जब भी आएं, तो मुझे आशीष को हंसते बात करते देखें, तो शायद उन्हें भी शक हो गया था.

गुजरात के बीएफ वीडियो बेडरूम में अन्दर जाके मैं उसके ऊपर टूट पड़ा और जल्दी ही उसके सारे कपड़े निकाल कर मैंने उसे नंगी कर दिया. अब मेरा भी लंड खड़ा हो चुका था और कोमल को भी बार-बार टच होने से वो भी बेचैन होने लगी थी.

हिंदी बीएफ चुदाई दिखाएं

मीरा- हां जाओ, लेकिन एक बात ध्यान से सुनो, जहां मैं तुम्हारे काम की बात करूँगी, वहां पर मेरी नाक नहीं कटनी चाहिए. वैसे यह कहानी मैंने आहना को बता कर ही लिखी है … और उसे बहुत पसंद भी आई है. तभी एक लड़के का फोन बजा, तो फोन उठा कर बोला- हम तो उस मंदिर वाली रोड से 10 किलोमीटर आगे हैं, यहां एक लड़की पकड़ ली थी, बस उसे ही चोद रहे थे.

मुझे हिम्मत ज्यादा इसलिए भी करनी पड़ी क्योंकि उसका भाई उस गली का दादा था. चूत में तो लंड को अन्दर खुद मेहनत करनी पड़ती है, लेकिन मुँह में लंड की सेवा, लड़की की जुबान करती है … आह … कैसी लपर लपर करके लंड को चारों तरफ से सहलाते हुए मजा देती है … इस मजा को शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता है. सेक्स बुर!”अभी तो मेरे होंठ अपने होंठों से जूठे किये ना तुमने, तो इस बोतल का क्या?”उनकी बातों से मैं शर्म से पानी पानी हो रही थी.

वो वेटर अब वहां काम नहीं करता है, लेकिन मैं जब भी उस होटल में जाती हूँ, तो उस वेटर को जरूर याद करती हूँ, जिसने मुझे मैनेजर सर से चुदवाते हुए देख लिया था.

मैं कुछ देर इंतज़ार करने के बाद अंदर चला गया और मैंने अंदर जाकर आवाज़ लगाई कि मैडम मैं आ गया हूँ।जो लड़की अंदर से बाहर निकलकर आई उसको देखकर मैं हैरान था. ये कहानी मेरी और मेरे पड़ोस में रहने वाली भाभी की है। भाभी के बारे में बताऊं तो वो एक काम की देवी है। उसके बूब्स और उठी हुई गांड जो भी देखे, देखता ही रह जाए और भगवान से प्रार्थना करे कि ये सुंदरी अभी मिल जाए और इसके चूचे चूस लूं … गांड में लण्ड डाल दूं।देखने में भाभी का रंग गोरा चिट्टा, बिलकुल चिकनी चमेली है वह.

मीना सोचने लगी कि आखिर चिन्टू उसके यहां क्यों आता है, इतना ज्यादा आने जाने का क्या कारण हो सकता है?22 साल का चिन्टू दीखने में ठीक ही था, अभी तक उसकी शादी नहीं हुई थी. उसने ब्लैक आर पार दिखने वाली ब्रा पहनी हुई थी, जो उसके बर्थ डे पर मैंने दिलाई थी. तू भी सुन प्रमिला आज के बाद मेरे बेटे को खुश रख ना तेरा काम है और तू सुन प्रकाश, तेरी बहन अब जो तेरी पत्नी बीवी बनी है, वो मेरी लाड़ली बहू है, उसका पूरा ख्याल रखना.

मैंने कुछ महीनों पहले अपनी सेक्स कहानी पेश की थीदोस्त को जन्मदिन का तोहफ़ाजिसमें मैंने अपनी मंगेतर वैशाली को अपने दोस्त बृजेश को उसके जन्मदिन के तोहफ़े के तौर पर चोदने के लिए गिफ्ट की थी, उसके बारे में बताया था.

तब उसने मेरा हाथ पकड़ा और कहा- चिंता मत करो, तुम्हें आज मैं और तुम्हारे अंकल तुम्हें जन्नत की सैर करवा देंगे. मैंने जल्दी-जल्दी सलवार ऊपर करके नाड़ा बांधा और कुर्ते को नीचे किया. ये कोई कहानी नहीं, बल्कि एक सच्ची घटना है, जो कि मेरे ओर मेरी बड़ी कजिन के बीच घटी थी.

ब्लू फिल्म नंगी ब्लू फिल्ममेरी चाची स्कूल टीचर हैं, जिस वजह से उनको रोज़ सुबह जल्दी उठना होता था. भाभी ने मेरे लंड को हाथ में पकड़ा और धीरे धीरे अपनी चूत पर टिका कर उसे चूत पर रगड़ते हुए हिलने लगीं.

सेक्सी बीएफ मुसलमान की

उसके बाद जाने मुझे क्या हुआ कि मैं भी उसे बार बार देखने लगी … और वह तो मेरी तरफ बस देखे ही जा रहा था. जब कुछ देर के बाद मैंने अपनी सलवार के ऊपर अपनी पैंटी पर हाथ लगाया तो मेरे बदन में एक सरसरी सी दौड़ गई. फिर भी एक और दबी-घुटी हुई हलकी सी चीख निकल ही गई- ई ई माँ … ऊऊ ऊ आ … आ आ ई ई माँ … आ आ आ … मर र र र गई … ईई ई ईई … सी … सी.

बस पांच मिनट की चुत चटाई के बाद उनके सब्र का बांध टूट गया और चूत का लावा निकल गया. वो एकदम से बोली- ये क्या कर रहे हो आप?मैंने कहा- कुछ नहीं जान, तुझको चोदने के लिए गर्म कर रहा हूँ. सुबह की रोशनी खिड़कियों पर लगे पर्दों के बावजूद बेडरूम में पहुंच रही थी.

फिर मैंने चाची को कुतिया बनने को कहा, चाची भी झट से कुतिया की तरह घुटने और हाथ के सहारे बैठ गईं. मेरी जीभ जैसे ही भाभी के चूत के दाने पर लगी 2 मिनट बाद ही भाभी ने मेरा सिर अपनी जांघों के बीच में दबा लिया और आ … आ … करने लगी. अब आगे …उनकी बातों से मुझे अहसास होने लगा था कि सर की नज़र मेरी कच्ची जवानी पर है और मैडम भी उनके साथ मिली हुई है.

एक दिन उस भाभी के पति यानि मेरी बुआ के लड़के ने मुझे बाहर अंडे खाते हुए देख लिया, तो वो मुझसे बोले- तू घर पर ही अंडे क्यों नहीं खाता?तो मैंने बताया- बुआ के घर अंडे नहीं खाते. मैंने उसके भीगे मुंह वाले लंड को बिना पूछे ही अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

इस बार मैंने कुर्ता ऊपर किया और हाथ अन्दर डाल कर उसके बोबे दबाने लगा.

मैं दोनों हाथों से उसकी चुचियाँ मसल मसल कर किसी बच्चे की तरह उसका दूध पी रहा था. भोजपुरीxxxमामी बोली- तुझको मैंने हमारी चुदाई लाइव दिखाई थी न? अब तू भी तैयारी कर ले उसके लिए. ओपन सेक्सी वीडियो दिखाइएमुझे लगा कि अगर कोमल दो मिनट भी मेरे लंड के साथ यही हरकत करती रही तो मेरा लंड जल्दी ही वीर्य बाहर फेंक देगा. मैं भी बेशरम होकर बोला- तुझे तो मैं जिस दिन यहाँ आया था उसी दिन से चोदने की फिराक में था पर रिश्तों का लिहाज कर रहा था.

दूसरे दिन सब आये तब एक आंटी डायरेक्टर सर के पास गयी और उनसे बोली- हम लोग कैसे पढ़ेंगे जब सर ही नहीं हैं तो?कुछ देर बाद डायरेक्टर सर ने मुझे बुलाया और कहा- जब तक दूसरे सर नहीं आ जाते, तब तक तुम उन लोगों को हेल्प कर देना.

”अच्छा चल मैं भी कभी कभी तुझे आइसक्रीम को पैसे दे दूंगा, पर तू किसी को बताएगी तो नहीं. इतना कहते हुए उसने सारे कपड़े उतार कर फैंक दिए और उसके लंड को कस कर पकड़ लिया. उनका सिर मेरे कन्धे पर आ गया, जिस वजह से उनके दोनों स्तन सामने की ओर उभर गए.

मैंने कहा- मगर फोन तो संजीव का था, आप कैसे बात करते थे?वह बोला- अरे, हम पुराने यार हैं. मैंने उससे पूछा कि उसे मज़ा आया या नहीं तो बोली- ऐसा कभी किसी के साथ नहीं आया. रात में सिर्फ आशीष को ही सोचती रही और अन्दर ही अन्दर उसे पसंद करने लगी.

बीएफ बीएफ बीएफ वीडियो एचडी

मैंने तुम्हारे लिए फुल बॉडी वैक्स, मैनीक्योर, पैडीक्योर सब करवाया है और अपनी चूत के बालों को दो बार साफ करवाया है. मैंने उससे कहा- इतनी रात को मेसेज कर रही हो?वो बोली- यार मुझे नींद नहीं आ रही थी. फिर अगले ही पल एकदम बिजली की सी फुर्ती से मेरी साली पायल ने मेरी पैन्ट के ऊपर से मेरे तने हुए हथियार को भी जोर से काट दिया.

थोड़ा सा अड्जस्ट करते हुए उसने मेरी चूत में फिर से अपना लंड घुसा दिया.

फिर मैंने उसे बताया कि मैंने ये नाटक क्यों किया क्यों तुम्हारे भाई के डर से मैं हर कदम सोच समझ कर उठाना चाहता था.

तभी भाभी बोली- तू तो बोल रहा था कि तुझे कुछ नहीं पता और तूने पहले कुछ नहीं किया है?मैंने जबाब दिया- भाभी ये सब तो मैंने सेक्स फिल्मों में देखा है. लंड को भाभी के मुँह की गर्मी का अहसास होते ही मुझे बड़ा मजा आने लगा था. सनी लियोन की सेक्सी फिल्म वीडियोउसकी दर्द भरी सिसकारियों के कारण मैं भी तीन-चार धक्कों के बाद ही उसकी चूत में झड़ने लगा.

क्योंकि यह बात तो केवल भाभी के माता पिता और उनके पति या फिर भाभी ने किसी और मर्द से चुदावाया हो वही जान सकता है। तुम्हारा शक सही है, मैंने अपनी भाभी के शरीर के एक एक हिस्से का जम कर मजा लिया है। मैंने मधु भाभी की जबरदस्त चुदाई की है।मैं यह सुनकर दंग रह गया. एहसास तो उनको भी मेरी इस हरकत का हो गया था, पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं थी, तो मैंने भी मौके का फायदा उठाकर अपना एक हाथ उनके उभरे वक्ष पर रख दिया. उसके बाद अनुष्का ने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया और मेरे लंड के टोपे को पीछे खींचकर उसको सहलाने लगी.

अब प्रशांत ने नीना के चूतड़ पर अपने हाथों की मजबूत पकड़ बनाई और दे गचागच, दे गचागच, चूत में धक्के पर धक्का मारने लगा. उनके होंठों पर एक नशीली मुस्कान थी।भाभी- देवर जी, ज्यादा मत देखो नजर लगाओगे? आपका देखो पैंट में तम्बू खड़ा हो रहा है.

फिर घर के सारे सदस्यों के साथ हमने खाना खाया और बैडमैन और मैं मेरे रूम में आ कर आराम से लेट गए और रात की प्लानिंग करने लगे.

उन्होंने जोरदार धक्के दिए और तकरीबन 15 मिनट की पारी में उन्होंने भाभी की हड्डी पसली चटका दी. फिर बैडमैन ने पास में रखी इत्र की शीशी से इत्र निकल के एक बूँद मेरे चूत में डाल कर अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. और निकालो?” सर ने ज़ोर देकर कहा।जी … और नहीं है एक भी अब मेरे पास!” मैंने जवाब दिया।तुम कुछ भी कहोगी और मैं विश्वास कर लूँगा? तलाशी तो देनी ही पड़ेगी तुम्हें!” उन्होंने बनावटी से गुस्से से मुझे घूरा.

ब्लू सेक्सी वीडियो ब्लू पिक्चर अब उसने जांघों को ढीला कर दिया था और मेरे मुँह पर जोर जोर चुत को दबाने लगी. मामी भानजा की यह चुदाई बीस मिनट तक चलती रही होगी।फिर उसके दस मिनट के बाद मैंने उनसे कहा- मामी जी, मैं भी झड़ने वाला हूं.

हालांकि उनकी रजाइयाँ काफी गंदी सी थी इसलिए मैंने मना कर दिया और बोल दिया कि मैं ठीक हूं. विपिन बोले- मामी के सामने ही?मैं तुनक कर बोली- क्यों, ऊषा को पेलने में तो जरा सी भी शर्म नहीं आई, जो अब आ रही है!हार कर मेरे भोले विपिन जी नंगे हो गए और बड़े प्यार से ब्लाउज को और फिर मेरी ब्रा को उतारा. दादाजी तो वैसे दिखने में दादाजी नहीं लगते थे, पर चूंकि वे रिश्ते में दादा लगते, तो उन्हें दादाजी ही बुलाना पड़ता था.

जींस वाली का बीएफ

मैंने कहा- ठीक है, मैं थोड़ी देर में आता हूँ … मगर तुम्हारा फ्लैट नम्बर क्या है?उसने मुझे अपने फ्लैट का नम्बर बता दिया और मैं काम खत्म करके उसके घर की तरफ चला गया. हम दोनों ही एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं और हमारी सेक्स लाइफ भी बहुत ही अच्छी है. गुस्से के कारण उसने मुझे अपने से दूर कर दिया उसकी चूत मेरे वीर्य से लबालब भर गयी थी,मैंने उसे दोबारा चोदने को बोला तो उसने गुस्से के कारण मना कर दिया.

और मेरी बेटी प्रिया की शादी कुछ महीने पहले ही मैंने एक अच्छे वेल सेटल्ड लड़के से कर दी. भाभी अपने मम्मों को जाँघों में फंसा कर उनको दिखाते हुए भाभी मेरे लंड को इनवाईट करने लगी.

उसने मेरे यह कहते ही मेरे होंठों को चूम लिया और बोला- तू बहुत अच्छी है पर एक बात बोलूं, तू बिल्कुल एक नंबर की माल लगती है.

मैं उंगली को अंदर बाहर करने लगा, तो वह अपने चूतड़ हिलाकर उसे जगह देने लगी. मुझे लग रहा था कि मेरा दोस्त और उसकी गर्ल फ्रेंड अपनी चुदाई पूरी कर चुके हैं इसलिए अब उनको वापस जाने की जल्दी मची है. मैंने उससे नार्मल बात की और जो उसने डाउट पूछा, वो बताया और उसे बिना हाथ लगाए वापस आ गया.

शाम को पांच बजे मेरी नींद खुली तो देखी कि वो सो रहा है और मेरी भाभी उसके लंड के साथ खेल रही है, चूस रही है. अगले 2 दिन मैंने मम्मी जी से कोई बात नहीं की … मम्मी जी से नजरें मिलाने में भी अजीब लग रहा था. हालाँकि मैं उन्हें बुरी निगाह से नहीं देखता था, न ही उनकी नज़र में मुझे कुछ वैसा दिखाई देता था.

क्या हुआ नीतू?”मैं उन्हें बोली- अंकल, मुझे ठीक से पकड़े रखो, नहीं तो मैं गिर जाऊंगी.

गुजरात के बीएफ वीडियो: मैंने कहा- तुम खुद ही उतार लोउसने कहा- ठीक है, मैं ही उतार देती हूँ. खेलते समय वह बीच बीच में मेरा हाथ दबा देता और फिर मुझे चुपके से छू लेता.

उसके आते ही मैंने उसके होंठों पर एक ज़ोर का किस किया और वो भी मुझे किस करने लगी. हम दोनों एक दूसरे के साथ सेक्स करने के लिए चुदासे हो उठे थे, पर हमें सेक्स करने के लिए मौका नहीं मिल रहा था. एक दो बार अवश्य और कामुकता में आकर उसके चूतड़ों पर जोर से चांटे मार देता.

दोस्तो, ये तय बात है कि अगर किसी औरत को पूरा सैटिस्फैक्शन देना हो, तो उसे पहले खूब गर्म करो.

मैंने उसके मम्मों को कसके दबाया और उससे पूछा- आज से पहले तूने किसी का लंड अपनी चुत में लिया है?तो उसने मना कर दिया. फिर दीदी खाना बनाने लगी और हम लोग टीवी देखने लगे। मैंने देखा वे सब मुझसे छुपाकर कुछ बात कर रहे थे. वो कहने लगीं- ये सब क्या बोल रहे हो?तब मैंने उनसे कहा- मुझे चोदते समय गालियां देना अच्छा लगता है.