नंगी बीएफ चुदाई वाली पिक्चर

छवि स्रोत,मराठी भाभी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स वीडियो सेक्सी फोटो: नंगी बीएफ चुदाई वाली पिक्चर, वो बोले- मैं किसी को भेजता हूँ। मैं तो बहुत दूर हूँ।पिता जी भी बाहर थे तो इन्होंने लड़का सुनील भेज दिया शोरूम से.

बीएफ बीएफ दिखाएं

अब पिताजी की तबियत ज्यादा खराब रहने की वजह से वो मां की चुदाई नहीं कर पाते थे. ગુજરાતી ભાભી ની ચૂદાઈआज वेदांत सारा दूध पी गया और बाकी दूध की मैंने खीर बनायी, जो अभी तुमने खायी है.

’मैंने भी राजेश का लंड मुँह में ले लिया और उसे फैंटते हुए लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. बीएफ पिक्चर नईआह नीचे मामी जी आपकी चूत मेरे लंड को कैसे निचोड़ रही है … उईईई … मेरी प्यारी मामी जी.

हम दोनों किस करने लगे, हमारी जीभें एक दूसरे के मुँह में जा रही थीं.नंगी बीएफ चुदाई वाली पिक्चर: कुछ देर बाद दीदी ने रमेश से कहा- एक बार फिर से अपने छोटू पहलवान को मेरी चुत में डालो.

रमेश ने कहा- ठीक हैदीदी ने एक हाथ से अपनी चुत ढक ली और एक हाथ दोनों मम्मों के निप्पल ढक लिए.मैंने आंखें मलते हुए बाहर की तरफ देखा तो ट्रेन आगरा स्टेशन पर खड़ी थी.

बीएफ सेक्सी ओपन - नंगी बीएफ चुदाई वाली पिक्चर

जीनिया ने मेरा बरमूडा नीचे खिसकाकर मेरा लण्ड अपनी मुठ्ठी में ले लिया.मैंने उसकी प्यास का कारण पूछा तो उसने बताया कि उसका पति महीने महीने बाद आकर उसकी प्यास बुझाता है और वह भी पूरी तरह नहीं ठंडा कर पाता.

मैंने चाची की आवाज सुनी- भई, मैं तो अपना मसला हल कर लेती हूँ … तेरी तरह मोमबत्ती से काम नहीं चलाती हूँ. नंगी बीएफ चुदाई वाली पिक्चर मुझे आज पहली बार ऐसा लगा, जैसे पूनम बुआ का झुकाव मेरी तरफ बढ़ रहा है.

अब उसकी गान्ड में लन्ड अन्दर बाहर होने लगा और मैं दर्द से चिल्लाती रही.

नंगी बीएफ चुदाई वाली पिक्चर?

अब भाभी के जीने का सहारा मात्र उनका बच्चा रह गया था जो अब 9 साल का हो गया था. मैंने देखा कि भाभी के कमरे का दरवाजा भी खुला है … मतलब कुंडी नहीं लगी थी बस यूं ही उड़का हुआ था. मिहिका बोला- कौन सा स्टाइल कह है?मैं बोला- कुते कुत्ती आला!मिहिका हंसी और उठ कर सर बेड पर लगा कर गांड उठा ली.

कुछ देर बाद शहज़ाद उठने लगा, तो रुबिका ने कहा- कहां जा रहे हो?शहज़ाद बोला- पानी पीने. अब मुझे लगा कि शीना नॉर्मल हो गयी है तो मैंने धक्कों की रफ्तार बढ़ा दी. फिर लंड से एक के बाद एक वीर्य की कई पिचकारियाँ निकली जो दोनों की चूचियों और पेट पर गिरती गई।देसी गन्दी चुदाई में पूर्ण रूप से स्खलित होने के बाद मैं बेजान हो गया और बेड पर बैठ गया।प्रथम रूपाली आगे बढ़ी और अपनी जीभ से नीतू के स्तन पर लगे मेरे वीर्य को उठा कर चाट लिया.

मैं बोली- ऐसे मत कर! सुन … तू अपनी एक उंगली मेरी चूत में डाल दे, मुझे अंदर बहुत खुजली हो रही है. मैं- तुमने उसे सबकुछ अच्छे से समझा दिया न?यामिना- मैंने उसे समझा दिया है कि यदि आप उससे खुश हुए तो नौकरी पक्की होगी, अब आगे आप देख लेना, मैं तो उसकी माँ हूँ, इतना ही कह सकती थी. वाइफ एक्सचेंज सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे पति के दोस्त की बीवी प्रेगनेन्ट नहीं हो पा रही थी.

उसे मेरे साथ रहते हुए करीब चार महीने हो गए थे, एक दिन अचानक दोपहर में आ गई और मुझसे लिपटकर मुझे बेतहाशा चूमने लगी. दोस्तो, कैसे हैं आप सब … मजा आ रहा है कि नहीं मेरी इस सेक्स कहानी में?देसी ब्लो जॉब सेक्स कहानी के पिछले अंकबहन ने सगे भाई को कुंवारी चूत दिखाईमें आपने पढ़ा था कि अभय अपनी बहन ममता से अपना लंड चूसने के लिए कह रहा था.

भाभी हो हो करके ऐसे हंस दीं मानो उन्होंने कोई बचकानी बात सुन ली हो.

जैसे ही मेरा पूरा लंड गांड में चला गया, मैं वैसे ही थोड़ी देर रुका रहा.

उनको चैक करके शहर से लाना है, तो वो आज संडे को शाम को निकलेगा और मंडे शाम तक आएगा. करीब पंद्रह मिनट बाद चाची बोलीं- आहह बस बस आह मैं झड़ गई हूँ … प्लीज छोड़ दो ना!सर बोले- स्साली मादरचोद … थोड़ी देर रुक जा कुतिया. मैंने कहा- चिंता मत मेरी रंडी … तेरा बेटा जल्दी ही अपनी अम्मी की चुत में अपना लंड पेलेगा.

फिर सुम्मी और हरीश दोनों कार में बैठकर शहर से दूर जंगल के बीच में बने सुम्मी ने पति के फार्महाउस में आ गए. पांच मिनट बाद गीत मेरे पास आयी और पानी देती हुई पूछने लगी- आप क्या लेंगे कॉफ़ी या चाय?मैंने कहा- आपने चाय पर बुलाया था तो चाय ही लेंगे. ये कहकर वो बेड पर घोड़ी बन गईं और मुझसे बोलीं- आओ और पीछे से लंड डालो.

चार दिन बाद बरखा घर आ गई और उसके करीब एक हफ्ते बाद चित्रा जयपुर वापस चली गई.

दरवाजे के बाजू की खिड़की थोड़ी सी खुली थी तो मैंने वहां से देखा कि मेरा दोस्त रमेश मेरी दीदी का फोटो शूट कर रहा था. मगर हम अभी करीब तक नहीं आए थे।जब वो काम करने लगता तो निक्कर सी और बनियान ही पहनता था।दो चार दिन के बाद उसने दूसरी जगह का काम भी ले लिया और मेरे पति से कहा- यहां मैं अकेला संभाल लूंगा बाकी लोगों को दूसरी साइट पर भेज देता हूं. कुछ देर बाद उसने एकदम से बेड पर शहज़ाद के ऊपर गिर कर उसका लौड़ा बेसब्री से चूसने लगी.

अब मेरी सिसकारी निकलने लगी- आह … ससस्स … म्म्म्म मम … आआस्शह … चूस रंडी चूस मेरा लंड!वो भी मस्ती से लौड़ा चूसने में लगी रही. एक दिन मैंने पापा से कहा- पापा, मैं कब तक मुठ मारता रहूंगा, मुझे भी किसी की चुत चोदना है. उसी समय उसके मुँह से ‘आ … आ … एम्म … एमेम … इसस्स …’ की सिसकारी निकलने लगी.

उसने मेरे फोन का उत्तर न मिलने के कारण मेरे ऑफिस में मेरे कुलीग को फ़ोन करके पूछा कि मैं कहां हूँ.

हम दोनों बिस्तर पर नंगे लेटे रहे, उसने खाना तैयार किया और चली गई।फिर हमने नंगे बदन खाना खाया और दिन में दो बार जमकर चुदाई की और शाम को अपने घर आ गए।दोस्तो, आज मैंने मालती को जमकर चोदा था और जान गया था कि मेरा लौड़ा उसकी पहली पसंद हैं।मेरी कहानी पढ़कर कमैंट जरूर करें।[emailprotected]. फिर रमेश ने बड़ी स्टाइल से दीदी की नंगी चुत की एक दो फोटो ले लिए कुछ पोज उसने दीदी से खुद की चुत में उंगली करवाते हुए और दूध मसलवाते हुए ले लिए उसने मेरी दीदी की रंडी की तरह फोटो ले ली थीं.

नंगी बीएफ चुदाई वाली पिक्चर उसका लंड बाहर निकला, तो शीला आंटी ने मोबाइल एक तरफ रखा और कपड़े उतार कर अपनी गांड हिलाते हुई आ गईं. अब मेरे पास कोई रास्ता नहीं था।मैंने कहा- उसके बाद पक्का बच जाऊंगा?वो बोली- मालती धाकड़ का वादा है, चल अब शुरू हो जा।मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया उसकी चूचियों को मसलने लगा, उसके होंठ चूसने लगा.

नंगी बीएफ चुदाई वाली पिक्चर डर्टी भाभी- नहीं आरुष, अगर मुझे नार्मल सेक्स करना होता … तो मैं किसी से भी कर लेती. पानी जांघों तक बह रहा है।उसने तेज़ तेज़ झटके दिये और जब उसका गर्म लावा छूटने लगा मैं फिर से झड़ गई.

वो थोड़ा सा लंड मुँह के अन्दर लेती और बाहर निकाल कर उसके सुपारे को जीभ से चाट लेती.

सेक्सी धारा

मेरी मौसी का काफी बड़ा सिलाई सेंटर है, जिससे उनकी काफी अच्छी कमाई हो जाती है. उसके जाने के बाद शुरूआत में मैं ही अकेली थी तो शहज़ाद के लंड से खूब मज़े लेती. ’अब खड़ी रहो और मजे लो!”कहते हुए मैंने एक जोर का धक्का मारा तो बहार की बुर की झिल्ली फट गई, मेरा लण्ड खून से सन गया.

अब मैं दीदी की चुत के पास मुँह करके लेटा था और मेरा लंड दीदी के मुँह के पास था. मैंने भी अपनी चुत को अंकल के लंड पर घिस कर उन्हें अपनी सहमति जता दी थी. वो मुझे चोदने लगे और मैंने उनको बांहों में जकड़ कर टांगें भी लपेट लीं और चुदने का मजा लेने लगी.

वो बोलीं- मुझमें ऐसी भी कौन सी चीज है, जो तुमको पसंद आ गई?मैंने शर्माते हुए कहा- मैंने अभी तक आपके जैसी कोई भी लड़की नहीं देखी.

मैंने आपकी पिक्चर कोई सेव नहीं की है और आप भी मेरा नम्बर डिलीट कर दो. तीन जवान लड़कियों को मैंने कैसे चोदा? मजा लें पढ़ कर!कहानी के पहले भागअमीर लेडी की प्यासी चूत चोदीमें आपने पढ़ा कि कैसे पेट्रोल पम्प पर मेरी बहस हो गयी तो पम्प की मालकिन ने आकर मामला सुलटाया. हम दोनों ने दस मिनट तक फ्रेंच किस किया और फिर हम दोनों ने एक दूसरे को ‘आई लव यू.

मैंने एक को अपने हाथ में ले लिया और मसलने लगा और दूसरे के ऊपर मुँह रख दिया. वो सिसकारते हुए बोले- हए … रंडी … तेरी अदा पागल कर देगी।मैं सामने से सुन्दर के आंड चूस रही थी कि सुरजन ने चूत तेज़ी से चोदनी शुरू कर दी. वो बार बार कह रही थी कि सब्र कर लो लेकिन मैं अपना काम जल्दी निपटा देना चाहता था.

जल्दी आओ विदाउट टिकट चलने में भी कोई फांसी नहीं लगेगी, जुर्माना लगेगा तो हम भर देंगे. चूंकि इस वक्त पूरे घर में मैं और मां ही थे और हम दोनों हॉल के बाजू वाले रूम में नीच बिस्तर बिछा कर चुदाई कर रहे थे.

मैंने कहा- भाभी, अब फिर से हालत खराब होने लगी है … मुझसे रहा नहीं जा रहा है. मेरी मां रज्जी ने मेरी पूरी पीठ पर अपने नाखूनों से खरोंच कर निशान बना दिए थे. मैंने मां को अपने लंड की ओर इशारा किया तो मां बोलीं- धत्त पागल, मुझे बहुत काम है.

रितेश ने उसे फोन पर ही चूमते हुए कहा- अरे जान, दो दिन के लिए अपनी चुत को समझा लो … मैं वापस आकर तुम्हारी चुत का भोसड़ा बना दूंगा.

मगर जब मौसी बाहर आईं तो मैं भी अपनी नजरें चुराता और लंड छुपाता हुआ बाथरूम में चला गया और अपने आपको साफ करके वापस आ गया. मैंने अपने बिस्तर के बगल की टेबल पर रखी बोतल को देखा, तो वह ख़ाली थी. वैसे भी तुम्हारे पास कोई सबूत नहीं है … तुम्हारी बात कोई नहीं मानेगा.

रेड कलर की पैंटी … रेड कलर की ब्रा और उसके ऊपर छोटी सी रेड कलर की ही बेबी डॉल पहनी हुई थी. आयुषी मुझे बहुत प्यार करती है और सेक्स में तो वह मुझे और भी ज्यादा प्यार करती है.

हॉट बेब सेक्स कहानी मेरे साले की नवविवाहिता पत्नी की बुर चुदाई की है. मैं- अब तक आपकी चूत इतनी कसी कैसे है?मौसी ने बता कि मेरे पति ने केवल मुझे बहुत कम बार ही चोदा था. तब मुझे लगा कि अब वो ठीक है, मैंने अपने होंठ उसके होंठों से अलग किये और पूछा- ठीक हो?उसने हां में सिर हिलाया तो मैंने धीरे धीरे धक्के मारने शुरू कर दिए.

ससुर ने बहु को पेला सेक्सी

वो अपने भाई के हाथ को महसूस करके गर्मा उठी और उसकी चूत लगातार पानी छोड़े जा रही थी जिससे अभय का हाथ गीला होने लगा.

वो मेरे होंठों को चूमने लगी तो मैं भी उसके रसीले होंठों का रसपान करने लगा. थोड़ी देर बाद पूजा उठी और अन्दर से एक बड़े से कटोरे में तरल चॉकलेट जैसा पदार्थ ले आई. अगर उन्हें इतनी ही शर्म का ख्याल है, तो वो अपनी समीज उतार ही क्यों रही हैं.

हां, एक बात और जो नए पाठक पाठिकाएं मेरी बहूरानी अदिति और मेरे यौन संबंधों को लेकर अनभिज्ञ हैं; उन्हें यह बात जरूर से ही कचोटेगी कि कैसे कोई पुरुष अपनी बेटी सामान पुत्रवधू के साथ सेक्स कर सकता है?आपकी जिज्ञासा उचित और सही है. वो मुस्कुरा कर बोला- अच्छा!डॉक्टर ने मुझ पर लाइन मारना शुरू कर दिया था और मैं भी उसका पूरा साथ दे रही थी. राजस्थानी हिंदी सेक्स बीएफअफ़रोज़- क्यों आपा?मैं- अरे यार, तू अपनी ज़िंदगी की पहली चुदाई अपनी ही बहन की कर रहा है और उसी बहन की, जिसकी चुत को तू जाने क़ब से चोदना चाहता था.

इसलिए मैंने पूनम बुआ को समय देना सही नहीं समझा; मैंने देर ना करते हुए लंड पर थोड़ा जोर लगाया और देखते ही देखते मेरा लंड पूनम बुआ की चुत में घुस गया था. मैंने भी देर करना मुनासिब नहीं समझा और अपने लंड को उसकी चुत पर सैट करके एक धक्का दे दिया.

फिर बहूरानी ने अपने पांव मेरी कमर के ऊपर से हटा लिए और अपनी कमर उठा कर चोदने का संकेत किया. वो सेक्स के समय मेरे दोनों होंठों को कसकर चूमते थे, मेरी जुबान को भी मुँह में लेकर चूसते थे. तो मैंने उसे ठीक ठाक जवाब नहीं दिया और वहां से नीचे अपने कमरे में आ गया.

लेकिन मैं उसे हर बार रोक देता क्योंकि आज मैं नीतू को वासना के अंतिम पड़ाव तक तड़पाना चाहता था।कुछ देर बाद जब मैं लहंगे से बाहर निकला तो देखा कि नीतू आँखें बंद कर के पड़ी थी और लम्बी आहें भर रही थी।मैंने उसके लहंगे के नाड़े की गांठ खोल दी और उसके लहंगे को पकड़ के कमर के नीचे सरकाने लगा. फिर मैंने भी देर न करते हुए उसके मुँह में अपने लंड का पानी छोड़ दिया. हमने जम के चुदाई के मज़े लिए। घर का ऐसा कोई कोना नहीं बचा जहाँ उसने मुझे ना चोदा हो।2 दिन बाद जब वो गया तो बुरा तो बहुत लगा … पर शायद यही ज़िन्दगी है।उस दिन के बाद सागर और मैं अक्सर बात करने लगे।आज भी हम इतना है करीब हैं जितना 3 साल पहले थे।दोस्तो, आशा करती हूं कि आपको मेरी यह हॉट फॅमिली सेक्स कहानी पसंद आई होगी।अगर इस सेक्स कहानी पर कोई अपनी राय मुझे भेजना चाहता है, तो जरूर भेज सकता है.

लेकिन वो झड़ते टाइम इतनी जोर से चिल्लाई थीं कि आस पास के फ्लैटों में भी उनकी आवाज पहुंच गयी होगी- आह यस्स … आई एम कमिंग … ओह्ह ओह्ह आह उऊऊ हम्म्म्म!करीब पांच मिनट तक भाभीजी रुक रुक कर झड़ती रहीं.

पूनम ने कुछ ही पलों बाद मेरा पूरा लंड जीभ से चाटना शुरू कर दिया और देखते ही देखते मेरा पूरा लंड, टोपे से जड़ तक, बुआ के थूक से गीला होकर चमक रहा था. दस साल पहले पहाड़पुर और सितमगढ़ के राजघरानों के काफी अच्छे संबंध थे.

चाची जाने को हुई ही थीं कि तभी मैं नहा कर सिर्फ तौलिया में बाहर आ गया. मेरी आंखों में देखते हुए मामी जी भी धीरे धीरे सिसकारियां लेने लगीं- आह आह … ओह्ह … ओह्ह राहुल मेरी चूत. ये सब बातें मुझे कुछ इशारे से महसूस होते थे कि बड़ी दीदी भी मेरे लंड से चुदना चाहती हैं.

दोस्तो, मैं तन्मय … आप सभी को आज मैं अपने साथ हुई एक सच्ची घटना के बारे में बताने जा रहा हूं. मैंने थोड़ी दबी आवाज़ में कहा- अन्दर आ सकता हूँ?उसने फिर बतमीज़ी से कहा- अब आ ही गया है … तो घुस जा मेरी गांड में. फिर घूंघट उठा मेरे होंठों को धीरे से चूमते हुए बोले- वाह … क्या खूबसूरती की मूरत हो।धीरे धीरे कपड़े बदन से हटते गए और मुकेश ने मुझे बांहों में कस लिया।उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और अपने अकड़े लंड पर रख दिया.

नंगी बीएफ चुदाई वाली पिक्चर कुछ देर रुकने के बाद मामी हम लोगों से मिलकर जब जाने लगीं, तो मेरी मम्मी ने उन्हें रोका. उस समय तो वो लोग चले गए, पर रोजाना दोनों समय आकर वो लोग चंदा देने की मांग करने लगे.

लंड बुर वाली सेक्सी वीडियो

मैंने पूछा- मुस्कुरा क्यों रही हो!वो बोली- मैंने लंड की लंबाई और मोटाई नाप ली और मुझे आज जन्नत की सैर होगी. इस बार वो अपनी झांटें रिमूव करके आयीं थीं तो उसकी सफाचट चूत दमक रही थी और उसके बदन से उठती शावर जैल की महक से रूम रूमानी हो उठा था. कहानी के पिछले भागमौसी की जेठानी की मालिश करके चोदामें आपने पढ़ा कि मैंने मौसी की जेठानी की मालिश करके ओरल सेक्स किया फिर उसकी चूत चोदी.

फिर उसने मेरे पूरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और गले तक लेकर चूसने लगी थी. और मैंने उसे 8-10 अंग्रेजी के सेन्टेंस और 10-12 स्पेलिंग लिखने को बोला. સસુર બહુ સેક્સउस दिन शाम में मुझे ये बात फिर ध्यान आई, तो मुझे लगा जैसे पूनम बुआ के मन में कुछ तो चल रहा है.

मैंने बहार की टाँगें उठाकर अपने कंधों पर रख लीं और अपनी राजधानी एक्सप्रेस चला दी.

रात को भी मुकेश को दारू पिलाकर हम सुला देते और खूबचुदाई का मजाकरते।गुलाब को गए हुए तीन महीने हो गये हैं. मुझे सिर्फ अपने सुख की पड़ी थी और तुम्हारे दर्द को भूल गया।नीतू ने आगे बढ़कर मेरे होंठ पर अपने होंठ रख कर मुझे चुप करवा दिया.

जीनिया के कहने पर पायल ने कहा- मुझे नॉनवेज तो खाना नहीं है, तुम दोनों चले जाओ. प्रिंसेस सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं कहानी के पात्रों का परिचय दे देता हूँ. मैं धीरे-धीरे अपनी जीभ उसकी गांड के छेद से होते हुए चूत तक ले गया और अपनी जीभ को उसकी चूत के चारों तरफ घुमाने लगा.

मैं बोली- जब निकलेगा तो बता देना और अपना वीर्य चूत में मत छोड़ना, वर्ना मैं तेरे बच्चे की मां बन जाऊंगी।इतना बोले हुए दो मिनट हुई थी कि वो जोर से सिसकारियां लेने लगा- आह्ह … दीदी … आह्ह … आह्ह … निकलने वाला है.

आपको ये वर्जिन Xxx कहानी कैसी लगी, वो आप मुझे ईमेल में बता सकते हैं. इसलिए मैं रूही से बात करूंगी।सागर- नहीं भाभी, ऐसा मत करना, वरना उसे लगेगा कि मैंने आपसे उसे बुराई करी है। आपने सही कहा शायद यही लाइफ है। वैसे भाभी, आप कई साल से अकेली हो. फिर एक दिन मैंने पायल से कहा- तुम मेरी अच्छी दोस्त हो, मेरी एक मदद करो.

भाभियों की सेक्सी मूवीउसने मेरे फोन का उत्तर न मिलने के कारण मेरे ऑफिस में मेरे कुलीग को फ़ोन करके पूछा कि मैं कहां हूँ. उसने इस समय होंठों पर हल्की सी लिपस्टिक लगा रखी थी, वो खुले बाल में बहुत सुन्दर लग रही थी.

राजस्थानी मां बेटे का सेक्सी वीडियो

मेरे घर पर सभी लोग होली मनाने के लिए गांव चले गए थे और लॉकडाउन लगने से पहले वापस न आ सके. थोड़ी देर सबने मिल कर टीवी देखा, फिर अपने अपने रूम में सोने चले गए गए. मां ने अपने दोनों हाथों को मेरी गांड पर रखे और मुझे जोर से धक्के मारने को बोलने लगीं.

अदिति … मेरी जान; मत रोको मुझे … आज मैं तुझे अपना बना कर ही छोडूँगा, तू इस पेड़ का सहारा लेकर झुका जा!” मैंने कहा. प्यासी गरम औरत की सेक्स कहानी में पढ़ें कि पार्क में सैर के वक्त एक सेक्सी भाभी से मेरा नैन मटक्का हुआ. मेरा लौड़ा साहिल की रंडी छिनाल अम्मी शन्नो को गपागप गपागप चोद रहा था.

मिलने के बाद अदिति के साथ चुदाई की तमन्ना कैसे पूरी होगी यह यक्ष प्रश्न अब मेरे सामने था; क्योंकि शादी समारोह में तो वो सब कर लेना संभव ही नहीं था. उन्होंने मेरे होंठों को चूमना चूसना शुरू कर दिया और मैं उनके बदन को सहलाने लगी. रात में आठ बजे उठी तो कुछ खाने का मन नहीं कर रहा था तो चाय बना कर बिस्कुट खाई और टीवी देखने लगी.

विवेक को बहुत भूख लग रही थी, तो उसने कहा कि इधर तो बैठने की जगह ही नहीं है. मेरी अन्धी कामुकता की कहानी में पढ़ें कि जब मुझे लगा कि मेरी बहू से मिलने का अवसर प्राप्त हो सकता है.

देसी मेड Xxx कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन में पैसे की तंगी के कारण मेरी चाची लोगों के घरों में बर्तन झाड़ू करने लगी.

यदि तेरी दीदी हां करें, तो मैं उनकी फोटो ले लूं!मैंने अपनी दीदी से पूछा- दीदी, रमेश आपकी कुछ फोटो लेना चाहता है. वीडियो ब्लू ब्लू फिल्मफ़लक पूछने लगी- सर, प्रैक्टिकल कैसे होगा?मैंने कहा- वह सब मैं तुम्हारी मम्मी को बता दूँगा. ब्लू पिक्चर दो ब्लूमैं चुदाई कि मस्ती में सिसयाने लगी- आहह इस्स आह आह ओह ओह प्लीज आहह ओह धीरे धीरे. चूंकि इस वक्त पूरे घर में मैं और मां ही थे और हम दोनों हॉल के बाजू वाले रूम में नीच बिस्तर बिछा कर चुदाई कर रहे थे.

तू धो लेना।वो बोला- ठीक है दीदी, अभी लाकर देता हूँ।मेरा भाई तुरन्त एक चुन्नी ले आया।मैंने कहा- चल पीछे मुँह करके खड़ा हो जा.

जो माल होंठों पर और लंड पर लगा रह गया था, भाभी उसे भी पूरी तरह से जीभ से चट कर गईं. लगभग 20 मिनट किस करने के बाद मैंने अपने कपड़े उतारे और अपना लंड उसके मुँह के पास रख दिया. कुछ ही देर बाद हमारी ट्रेन के बगल से दिल्ली से आती हुई कोई राजधानी एक्सप्रेस धड़धड़ाती, हॉर्न बजाती हुई क्रॉस हो गयी.

मैं भी हल्के हल्के से अपनी बीच वाली उंगली को मालिश के बहाने उसके छेद में डाल निकाल रहा था. पूनम बुआ की चुत पर झांटें उगी थीं … शायद कुछ महीनों से काटी ही नहीं गई थीं. फिर वो बोला- लगता है आपका गुलाब के बिना मन नहीं लगा!मैं बोली- ये बेकार की बातें छोड़ो, ये बताओ कि वो है कहां?वो बोले- उसके पिता का इंतकाल हो गया है.

दिल्ली की सेक्सी वीडियो दिखाएं

दोस्तो, आपने मेरी देसी ब्लोजॉब स्टोरी के पिछले भागसेक्सी लड़की ने मेरा लंड चूसामें लंड चुसाई का मजा लिया था. बहार के ऊपर झुकते हुए मैंने उसकी चूचियां पकड़ लीं और ठोकर मारकर लण्ड को उसकी बुर के अन्दर धकेला. अपनी टांगें फैला कर चाची ने मेरे सर को अपनी चुत पर दबाया तो मैं चुत पर थूक लगा कर चाटने लगा, जीभ अन्दर डालने लगा, उनकी क्लिट से खेलने लगा.

कॉलेज में ज्यादातर फस्ट ईयर के स्टूडेंट जा रहे थे पर सीनियर स्टूडेंट भी थे.

इधर प्रकाशित कुछ सेक्स कहानी बहुत ही अच्छी होती हैं, उनको बार बार पढ़ कर लंड हिलाने का मन होता है.

लेकिन सच में उसने अपने कूल्हे नचा कर समूचा लंड अपनी गीली चूत में लील लिया. फिर मैंने उनको दोबारा गर्म किया और अबकी उनका सुपारा मेरी चूत में आ ही गया. बीएफ इंडिया वालेमैं- कुछ नहीं होगा मेरी जान!लोलिशा- क्या मतलब?हम दोनों एक दूसरे से अलग हुए कि तभी फोन बजा।मेरे ड्राइवर देव का कॉल था।मैंने उसे कहा कि आते वक्त कुछ खाने के लिए लेते आना।फिर मैं बाथरूम में गया और फ्रेश होकर आ गया.

मैंने अपनी मां रज्जी से कहा- डालूं जान?मेरी मां रज्जी- आंह विशु, आराम से डालना. मैंने प्रभा को समझाते हुए कहा- यार तुमसे तो मेरा लंड ही नहीं सहा जा रहा है … और तुम बोलती हो कि आने वाले समय में हम दोनों शादी करेंगे, तुम अभी ही मेरा जरूरत पूरी नहीं कर पा रही हो. मैं बोली- मामा जी, इतनी होली तो खेल ली, मुझे पूरा रंग दिया और कहां रंग लगाना बाकी रह गया है!मामा ने जेब से गुलाल निकालकर मेरे सीने पर मारा और बोले- इन पर तो रंग लगाया ही नहीं है.

मैंने कहा- आप मुझे बता रही हैं या इनवाइट कर रही हैं?भाभी हंस कर बोलीं- राज मैं तुमको बुला रही हूँ. ये देख कर बंगालिन भाभी अपने दूध मसलती हुई बोलीं- काश मेरा कोई देवर होता तो मैं भी इतनी मस्त चुदाई का मजा ले लेती.

लेकिन ये सब ऐसे नहीं, हम लोग पहले शादी करेंगे … फिर एक दूसरे के बनेंगे.

मैंने मसखरी की- क्या तुमने अब तक इससे छोटा लिया है!वो हंस पड़ी और बोली- अभी तो जवान हुई हूँ, इससे पहले कैसे किसी का ले सकती थी. मेरी गर्लफ्रेंड Xxx चुदाई कहानी आपको कैसी लगी, यह बताने के लिए मेल जरूर करें. फिर बहूरानी ने अपने पांव मेरी कमर में लपेट कर मुझे अपनी बांहों के घेरे में बांध लिया जैसे उसे डर था कि मैं कहीं लंड को उनकी चूत से बाहर न निकाल लूं.

जैकलीन की सेक्सी फिल्म मम्मी ने मौसी से बात की तो मौसी ने भी कहा- हां मेरे घर भेज दो, इसमें पूछने की क्या बात है. मैंने कहा- ओके तुमको जब भी मेरा लंड चूसने का मन हो, मुझे बोल देना मेरी जान मैं उसी वक्त हाजिर हो जाऊंगा.

मैं आज आपको मेरी और गीत (काल्पनिक नाम) की मजेदार देसी हॉट चुत सेक्स कहानी सुनाता हूँ. कुछ देर बाद मैंने फिर से शन्नो के बूब्स दबाने शुरू कर दिए और चूसने लगा. उसके बाद मैंने मम्मी के सामने अपनी पड़ोसन चाची को भी चोदा और मम्मी की गांड भी मारी.

jk सेक्सी वीडियो

”दस मिनट में ही एक लम्बी सी मर्सिडीज कार में पंप मालिक सुधीर आ गये और बोले- मैं अपनी वाइफ के साथ एक पार्टी में जा रहा था. अब तो ममता की सहन शक्ति जवाब देने लगी और उसकी चूत ने भलभला कर पानी छोड़ दिया. अब मैं उसकी चूत में अपनी उंगली और अपनी जीभ फिरा रहा था और उर्वशी मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूस रही थी.

यह बोलकर मैं अपने कमरे मैं आ गया थोड़ी देर बाद मेरे मोबाइल मैं मैसज आया- लकी मैं तुमसे मिलना चाहती हूँ … क्या तुम छत पर आ सकते हो?मैं कपड़े बदल कर छत पर पहुंच गया. मैं- अरे वो क्या करने को दिल करता है ये तो बता?मैंने इठलाकर पूछा, तो वो बोला- आपा इनको सहलाने का और इनका रस पीने का.

ममता लंड मुँह से निकाल कर बोली- ऐसे क्या देख रहे हो? क्या किसी ने इस तरह तुम्हारा लंड नहीं चूसा? वैसे मेरी रगों में भी वही खून दौड़ रहा है.

मैं हंसते हुए बोली- आज तो अच्छी टिप मिल गयी तुम्हें!वो बोला- मैडम मुझे तो आज इंसान में जन्म लेने का फल मिल गया. कोई पांच मिनट की चुत चुसाई में वो बुरी तरह से अकड़कर झड़ गयी थीं और उनकी चुत से नमकीन अमृत निकलने लगा. मैंने जब उन तीनों को पहली बार देखा … तो तभी मन बना लिया था कि जब ये ऊपर से देखने में इतनी खूबसूरत हैं, तो इनकी चूत और गांड कितनी मस्त होगी.

मैं पूरी कोशिश करूंगी कि अपनी दूसरी सेक्स कहानी जल्द ही आपके लिए ला सकूं. उसके पानी की गर्मी से मेरा भी पानी निकल गया और मैं उसके अन्दर ही झड़ गया. मेरे दोस्त के जाते ही वो मेरे पास आकर बैठ गये और फिर हम दोनों टीवी देखने लगे.

उस दिन उन्होंने बोला- आज आप बाहर काउंटर पर बैठो … क्योंकि वो बाहर वाली लड़की आज छुट्टी पर है.

नंगी बीएफ चुदाई वाली पिक्चर: मैं मदहोश होकर उन तीनों लड़कों के फूलते लंड की तरफ देख रही थी और अपनी चूचियां मसल रही थी. मैंने पूछा- तुम बिना कुछ कहे क्यों चली गई थीं?उसने बताया- मैं अपनी क्लास के लिए लेट ही रही थी और मैं आपके आने का इंतजार कर रही थी.

वो चुत को चाटने का कहने लगीं, उनके कहे अनुसार मैं उनकी चुत को चाटने लगा. इस पोजीशन में उन्होंने मुझे 25 या 30 मिनट तक चोदा।इस बीच मैं 3 बार झड़ चुकी थी।अब वो मुझे बहुत तेज़ गति से चोद रहे थे।तभी उनके झटके तेज़ हो गए. फिर बहूरानी मेरे लंड पर अपनी चूत रख कर बैठती गई और पूर लंड लील गई फिर वो मुझे देख कर मुस्कुराई और फिर अपनी एड़ियों के सहारे बेड पर उल्टा घूम गयी जिससे उसकी पीठ मेरी तरफ हो गयी, लंड अभी भी उसकी चूत में धंसा हुआ था.

एक दिन मेरा दोस्त मुझसे मिला और कहने लगा- यार तुमने जो मुझे सिम कार्ड दिया था, वह सिम मैंने मोबाइल से निकाल कर रख दी थी मगर अब शायद वो सिम कहीं खो गई है.

वो भी बहुत ज्यादा गर्म हो रही थी और बार बार मुझे अपने ऊपर खींचकर मेरे होंठों को चूमने की कोशिश कर रही थी. मैं उसकी गैलरी देख रही थी कि मेरे मन में हुआ कि उसकी हिडन फाइल्स देखी जाएं. कॉलेज में ज्यादातर फस्ट ईयर के स्टूडेंट जा रहे थे पर सीनियर स्टूडेंट भी थे.