बीएफ बीएफ बंगाली बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ चित्र में

तस्वीर का शीर्षक ,

सनम रे गाना: बीएफ बीएफ बंगाली बीएफ, फिर उन्होंने स्कर्ट को पीछे से ऊपर किया और मेरी चूत में अपनी हथेली को लगाया.

सेक्सी डीजे बीएफ सेक्सी

मैं अन्तर्वासना का बड़ा फैन हूँ और इधर प्रकाशित हर चुदाई की कहानी को रोज पढ़ता हूँ. बीएफ बीएफ दिखानाउसकी इस बात से मैं चौंक गया, मैंने ध्यान दिया तो मुझे उसके हाथ में नींद की गोलियां दिखाई दीं.

मेरे इतना बोलते ही उसने एक धक्का मारा जिससे उसका लण्ड मेरी चूत को चीरते हुए अंदर चला गया. गाने वाले बीएफमुझे अब दरवाजे पर किसी के होने का आभास सा हुआ, मगर मैंने जब दरवाजे की तरफ देखा तो मुझे‌ नेहा नजर आयी.

सर ने गुर्राते हुए मुझे मेरा काम याद दिलाया और पिंकी को सीधी करके अपनी बाँह के सहारे अपनी गोद में झुला सा लिया.बीएफ बीएफ बंगाली बीएफ: पर इस बार मैं अड़ गयी- नहीं सर … ये नहीं!मैंने एकदम से सीधी खड़ी होकर कहा.

अब आगे:मैंने भी अब उसे ज्यादा नहीं तड़पाया और अपनी जीभ को नुकीला करके उसकी संकरी गुफा में पेवस्त कर दिया, मगर जैसे ही मैंने अपनी जीभ को उसकी चुत की गहराई में उतारा, मेरा मोटा सुपारा उसके मुँह में होने के बावजूद वो ‘उह … उउऊऊ … अह्हहहं …’ कहकर जोरों से सिसक उठी और अपनी चुत को मेरे मुँह पर जोर से दबा दिया ताकि मेरी जीभ अधिक से अधिक उसकी चुत की गहराई में उतर जाए.पहले तो वंदना को मुझसे बात करने में शर्म आ रही थी लेकिन थोड़ी देर बाद वह भी मुझसे ऐसी बातें करने लगी.

वीडियो में हिंदी फिल्म बीएफ - बीएफ बीएफ बंगाली बीएफ

वह बोल पड़ी- बस कर मादरचोद! अब क्या चाट-चाटकर ही गीली करेगा मेरी चूत को या अपना माल भी गिराएगा इसके अंदर?मैंने कहा- रंडी रुक, पेलता हूँ तुझे.अब मैं जब भी कोलकाता जाता हूँ, तो उसको होटल में बुलाकर जबरदस्त तरीके से चोदता हूँ.

उसने मुझे बैठने का इशारा किया, तो मैं कन्फर्म हो गया था और उसने अपने आपको थोड़ा उठाया और मेरा लंड बाहर निकाल कर लंड पर बैठ गई. बीएफ बीएफ बंगाली बीएफ वो मेरे शरीर को बहुत वहशी नजरों से देख रहा था, मानो मुझसे खेलना चाहता हो.

मामी ने पूछा- चूत में बाल हैं क्या?मैंने कहा- नहीं मामी, आज सुबह ही साफ किए हैं.

बीएफ बीएफ बंगाली बीएफ?

मैं वापस बेड पर जाकर लेट गई और मामी ने सामान चेक किया और उससे कुछ बातें करने लगी. दो छत्तीस साइज़ के मम्मे और दो बत्तीस साइज़ के सख्त बूब्स आज़ाद हो गए. चाची मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी और मुझे गज़ब का मज़ा आने लगा.

वो मेरे सिर को अपनी छाती पर दबाने लगी और मैंने भी रूपा के निप्पल को चूसते हुए एक और जोरदार धक्का मार कर अपना पूरा का पूरा लंड रूपा की चूत की गहराई में उतार दिया. अनुप्रिया बोली- मम्मी का है, पापा मम्मी की चुदाई शुरू हो रही होगी, मम्मी हमें बुला रही हैं. पुनीत जी मुझे लगता है, मेरी चूत फट गयी है पीछे भी लगता है मेरी गांड को चीर फाड़ दिया है.

मैं उसकी साइड में आके उसके बूब को चूसने लगा और एक हाथ मैंने उसकी पैंटी में डाल के उसकी चूत पे फिराने लगा. मैंने अब चाची की चूत की फांकों को खोलकर उसकी चूत के अंदर अपनी जीभ डाल दी. मेरा विक्रम ठाकुर है और मैं मध्यप्रदेश के ग्वालियर शहर में रहता हूं.

धीरे धीरे वो भी अपनी कमर उठा कर अब मेरा साथ देने लगी थी और कामुक आवाजें निकाल रही थी- और ज़ोर से मेरे राजा … चोदो चोदो मेरे राजा … फाड़ दो आज इसे! आज से मेरा सब कुछ तुम्हारा … आज मैं अपने अभय की रखैल हूँ. इसलिए मैं भी अब मजे से नेहा की चुत को चाट चाट कर उसके रस को पीने‌ लगा.

इस बमपिलाट झटके से मेरा पूरा का पूरा लंड उनकी चूत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया.

मैं अपनी सहेली से इसलिए भी दोस्ती करे रहती थी क्योंकि वो हमेशा बाजार जाती थी, तो मेरा कोई काम भी करवा देती थी.

आप सब लोग मुझे मेरे ईमेल करके मेरी लेस्बियन कहानी पर अपनी प्रतिक्रिया दे सकते हैं. उस जालिम ने जुल्म तो तब किया, जब वो अपनी 3 उंगलियां, दर्द होने बाद भी मेरी चुत में मेरे दाने को चूसते हुए अन्दर बाहर कर रही थी. मैं- क्या बात है … आज रात में याद किया?भाभी- क्यों … क्या मैं आपको याद नहीं कर सकती?मैं- कर सकती हो भाभी जी, लेकिन अचानक याद किया, तो कुछ खास बात होगा तभी ना!भाभी- नहीं वैसे कुछ नहीं है, बस आपकी याद आ रही थी, तो मैंने सोच कॉल कर लेती हूँ.

मैंने भी इसके बाद दीदी के होंठों से होंठ लगा कर जीजा जी के रस का स्वाद लिया. मम्मी ने मेरे सर पर हाथ रखा और बोली- जोर से लगा क्या?मैं बोली- हां मम्मी, दर्द है. नाम- श्वेता गुप्ता (परिवर्तित), सेक्सी बदन, उम्र-29 वर्ष, पति ने धोखा देकर इन्हें 10 साल पहले छोड़ दिया था, अब ये अपने पेरेंट्स के साथ रहती हैं.

भाभी- तो आप लोगों की बात कहां तक पहुंची थी?मैं- क्या मतलब … मैं समझा नहीं भाभी?मैंने अंजान बनते हुए भाभी से पूछा.

मैं अपनी सहेलियों की खुशहाल सेक्स लाइफ को देख कर जलने लग जाती थी क्योंकि उनकी चुदाई बहुत अच्छी चल रही थी और वो अपनी लाइफ में बहुत खुश थी. आठ बजे ट्रेन पहुंच गयी, चूँकि मैंने पिछले 2 सालों से मालिनी को सिर्फ तस्वीरों में देखा था, इसलिए मैं भी काफी उत्साहित था. उन दोनों ने मुझे किस करना और मुझसे अपने चूचे चुसवाना चालू रखा हुआ था.

सुलेखा भाभी का तो रस स्खलित हो गया था जिससे‌ वो‌ अब शिथिल पड़ गयी थीं. बिल्कुल छोटी सी, कमसिन और चिकनी चुत थी उसकी और चूत की दीवारें रस से भरी हुई थीं. वो ज़ोर से सीत्कारें भर रही थीं- आह ये तूने क्या कर दिया … अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है … मेरी जान जल्दी से चोद दो … मेरी चूत में आग लग रही है.

वो कुछ लेने को पीछे हुईं, तो मेरा खड़ा लंड सीधे उनकी गांड की दरार में चला गया.

ये सब दीदी के साथ ही करना!” प्रिया ने झूठमूठ का गुस्सा दिखाते हुए कहा, मगर मुझे हटाने की कोशिश या फिर मेरा विरोध उसने बिल्कुल भी नहीं किया. जैसे ही लिफ्ट बंद हुयी मैंने हिम्मत की (हिम्मत इसलिए क्यूंकि इससे पहले कभी मैंने ऐसा कुछ भी नहीं किया था) और रोजी को खींचकर गले से लगा लिया। वो एक टूटी हुयी बेल के जैसे मुझसे लिपट गई। कुछ देर मेरे हाथ उसकी पीठ पर चले और फिर अपने आप मैंने उसके दोनों नितम्बों को अपने हाथों में ले लिया और दबाने लगा। मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए, वो भी मेरा साथ देने लगी.

बीएफ बीएफ बंगाली बीएफ वो बूढ़ा मुझसे रिक्वेस्ट करते हुए बोला कि उनकी ऊपर की सीट है, तो आप प्लीज़ ऊपर शिफ्ट हो जाइए. वह बोली- मुझसे ज्यादा तो आपको ही पता होगा इन सब चीज़ों के बारे में.

बीएफ बीएफ बंगाली बीएफ तब वो बोली- हाँ, मेरी तरफ क्या देख रही हो? आज देख लेना! ठीक है। और तुम लोग जो करती हो … वो क्या मैं नहीं देखती हूँ? मैं भी देखती हूँ और वो सब मैं भी करना चाहती हूँ यार तुम लोगों के साथ!तभी मैंने कहा- मम्मी, कमरे में चलो … वहीं बैठ के बातें करेंगें।और हम तीनों कमरे में आ गयी. मैंने उसकी पैंटी भी उतार दी और उससे चूमते चूमते लिटा कर उसकी चूत को भी चाटने लगा.

मैं जैसे ही अजनबी अंकल की गोद में बैठी, उनका लंड मेरी चूत से छू गया.

ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ सनी लियोन

फाइनल एग्जाम शुरू होने से कुछ दिन पहले किसी सबजेक्ट के सिलसिले में मेरी गुड़िया से बात हुई और फिर धीरे-धीरे हम दोस्त बन गए और तब मुझे पता चला कि गुड़िया मुझे लाईक करती है. मेरे देवर ने मेरी चूत में उंगली करने के बाद अपना लंड चूत में डाल दिया और चूत चुदाई होने लगी. वो मेरे कंधे को पीछे से पकड़ कर बहुत तेजी से धक्के लगाने लगा और एक मिनट के अन्दर ही रमीज का पूरा रस मेरी गांड में भर गया.

उसने मेरी पैंट को खोल दिया और मैंने झट से अपनी पैंट को अपनी टांगों से नीचे खींचते हुए बिल्कुल अलग कर दिया. मैंने एक हाथ से चूची पकड़ी और दूसरे हाथ से उसकी चूत में भी उंगली डाल दी. लेकिन इस बार मैंने उसके रुकते ही वापस से पलटी मारी और उसके ऊपर आ गया.

फ़िर मैंने उस तरफ़ ध्यान न देते हुए उसकी चुत पर ध्यान लगाया और मैं भी और जोर से चूसने और उसके दाने को काटने लगा.

मेरी सहेली के पति ने मेरी दोनों जांघों को फैला दिया और मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया. और अगल बगल में किसी का भी घर उतना ऊपर नहीं है, तो किसी का देखने का कोई डर नहीं था. वो बोली- फिर तो मेमसाब आ जाएंगी फिर मेरी तरफ़ थोड़ा देखोगे?मतलब उसे भी नीचे आग लगी हुई थी.

मुझे सुराख नहीं दिखा, पर एक रोशनदान था, जिसमें से सुनीता अच्छे से दिख सकती थी. जो भी उनको एक बार देख ले, तो मेरा दावा है कि वो बिना अपना लंड हिलाए नहीं रह सकता है. पुनीत ने अंग्रेजी में उन दोनों को कुछ बोला, उसका मतलब शायद यही था कि मैं पागल हो रही हूं.

उसने मेरी तरफ देख के बोली- बाबूजी, जरा खिड़की बंद कर दो, जोर से हवा चल रही है, मेरे बच्चे को ठंड लग रही है. अंकल सेक्स के लिए तैयार थे, उन्होंने मेरी चूत में किस करते हुए बोला- आज साली 2 रंडी रानी मुझे बहुत मज़ा देंगी.

मुझे हंसते देखकर वह भी मुस्कुराकर अन्य ग्राहकों को दूध देने में लग गया. चाची मेरा लंड लेने के बाद पागल हुई जा रही थी, मेरे होठों को चूस रही थी, मेरी कमर को नोच रही थी. उसने मुझे उसे घूरते हुए देख लिया और एक बार अपने मर्दों की तरफ देखा.

तब मैंने मम्मी से कहा- जोधपुर क्यों जा रहे हो?तब मम्मी ने मुझसे कहा कि तुम्हारे पापा को अपने बिजनेस के सिलसिले में अचानक जोधपुर जाना पड़ रहा है.

तभी एक आदमी की आवाज आई- चल अभी अगला कौन चोदने आ रहा है?तभी 6 फीट का लंबा सा आदमी आया. वो बोली- आपकी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं उसके एकदम से दागे गए इस सवाल से थोड़ा शॉक्ड हुआ. मैं पूरे जोश के साथ ब्रा में छुपे मम्मों पर टूट पड़ा और ब्रा के ऊपर से ही गुड़िया के मम्मों चूसने व काटने लगा.

वह बोली- प्लीज़ नीलेश … अब तड़पाओ मत और मेरी चूत में कुछ डाल दो … मुझसे रहा नहीं जा रहा है अब. मुझे उसके लंड घुसने से एकदम से दर्द सा हुआ, पर कुछ ही पलों बाद मेरी चूत ने इस मीठे दर्द को जज्ब कर लिया और मैं उसके लंड से चुदने का मजा लेने लगी.

तभी उन्होंने कहा कि आपकी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?उनकी एकदम से इस तरह की बात करने लग जाने से मैं चौंक गया कि मैम ये क्या कह रही हैं. मैंने उसे देख कर एक कुटिल मुस्कान दी और जोर से उसकी बेटी की चूत में उंगली दबा दी. वो चुप हो गई और अपने हाथ से मेरे लण्ड को पैंट से बाहर निकाल कर आगे-पीछे करने लगी मैंने भी अपने एक हाथ से उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और हाथ अंदर पैंटी में डाल दिया.

सेक्स ब्लू पिक्चर फिल्म

उनकी मादक अदा देख कर मुझसे भी रहा नहीं गया, मैंने उठकर उनके होंठों को चूमने की कोशिश की, मगर सुलेखा भाभी ने मुझे धकेलकर फिर से बिस्तर पर गिरा दिया और दोनों‌ हाथों से मेरी टी-शर्ट को पकड़ कर उसे ऊपर खींचने लगीं.

आपने मेरी पिछली कहानियां पढ़ीं और सराहा उसके लिए आपका दिल से धन्यवाद. भाभी- अच्छा और अभी क्या कर रहे हो?मैं- आपसे बात कर रहा हूँ … और आपसे बात करके मुझे बहुत अच्छा लग रहा है. मुझे सन्नी से इतना ज़्यादा प्यार हो गया था कि मैं उसके लिए अपनी जान भी दे सकता था.

देवी- अरे आराम से जानू … आज कुछ ज्यादा जोश में हो … थोड़ा धीरे करो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मार ही डालोगे क्या … थोड़ा धीरे आअह्ह आह्ह्ह!मैं पूरे तेजी से उसकी चुदाई करने लगा, पर पता नहीं क्यों, आज मुझको क्या हो गया था. मैंने एक झटके में आंटी की नाइटी उतार दी और उनके बालों को हटा कर उनकी गर्दन पर अपने होंठ रख दिए. देसी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफअब मैं कहां रुकने वाला था, मैंने अपना सर फिर से सामने वाली सीट पर लगाया.

पर अंकल को कोई फर्क नहीं पड़ा, दर्द के बाद भी उन्होंने पूरी ताकत लगा कर अपना लौड़ा मेरी गांड में घुसेड़ दिया. फिर मेरी किस्मत चमकी और सोहन ने मुझे कॉल किया और कहा कि हेमा की जवानी और सेक्स के मज़े लेने हो तो तुरंत आ जाओ.

और हुआ भी कुछ ऐसा ही … मेरे मित्र ने मुझसे पूछा- क्या बात है मास्टर जी … आपकी तो निकल पड़ी है, आपकी पड़ोसन तो कितनी जबरदस्त है, एकदम खरा सोना … आपने कुछ चान्स मारा कि नहीं, बाइक में तो खूब घुमाते हो, कभी बिस्तर में मजे लिए?मैंने भी थोड़ी सहजता से जबाब दिया- नहीं यार, वो एक पतिव्रता महिला है, मुझे नहीं लगता कि वो कभी किसी गैर मर्द के साथ हमबिस्तर होना चाहेगी. जैसे ही मालती मेरी चूत में डिल्डो डाल कर अन्दर बाहर करने लगी, तो मैं भी नीचे से गांड को उछाल उछाल कर उसे अपने अन्दर करवाने में लग गई. अभी टोपा ही अन्दर गया था कि मैम चिल्लाने लगीं और उनकी आंख से आंसू आने लगे.

लाइट स्काई ब्लू कलर की जीन्स की कैप्री, जो बिल्कुल उसकी टांगों के साथ चिपकी हुई थी, जिसमें से उसके उठे हुए चूतड़ बड़े मस्त लग रहे थे. मेरी उम्र 28 साल है और मैं अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज़ पर सेक्सी कहानियाँ पढ़कर मज़ा लेती रहती हूँ। मैं अक्सर कहानियाँ तभी पढ़ती हूँ जब घर पर कोई नहीं होता है. अब तक की इस मस्त सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि नेहा अब खुलती जा रही थी उत्तेजना के वश उसने अब शर्म हया छोड़ दी और खुद ही अपनी चुत को मेरे मुँह पर घिसना शुरू कर दिया था.

इस चोदन कहानी के पहले भाग में आपने पढ़ा कि चंढ़ीगढ़ में मैंने एक रूम किराये पर लिया मगर साथ में ही मिली दो गर्म भाभियां, दोनों ही हुस्न की मल्लिकाएँ थीं और शायद एक दूसरी से जलती थीं.

उन्होंने मेरे होंठों को तो अब छोड़ दिया और दोनों हाथों से मेरी पीठ को पकड़कर जल्दी जल्दी अपनी कमर को उचकाते हुए मुँह से ‘इईईई … इश्श्शश … आआ … अह्ह्ह्हह …’ की आवाजें निकालने लगीं. प्रमिला ने बड़ी हैरानी से मेरी तरफ देखा और बोली- अच्छा … मैं नहीं मानती?एकता ने कहा- अच्छा … तो आज रात आजमा कर देख लो.

जिस वजह से मैं अपनी नवविवाहिता पत्नी को अपने घर छोड़ कर उस शहर में चला गया. मैं अब जोरों से‌ नेहा की‌ चुत को‌ ऊपर से‌ नीचे तक चाटने‌ लगा, जिससे नेहा की‌ सिसकारियां और भी तेज हो गईं. मैं देखने लगा, उसके बूब्स बहुत ही हॉट सुंदर लग रहे थे और आंटी की सलवार में से उनकी काली रंग की पेंटी भी मुझे साफ दिख रही थी जिसको देखकर मैं बहुत उत्तेजित हुआ जा रहा था और मेरा मन कर रहा था कि मैं अभी उसी समय उनको पकड़कर वहीं पर उनकी चुदाई कर दूँ.

मुझे इतना समझ आया कि वह बोल रहा है कि ऐसी पोजीशन बनाओ कि तीनों एक साथ चोद सकें. इतना कहते हुए गौरव ने मेरी टांगें चौड़ी करके अपना मुँह मेरी चूत में रखकर जैसे ही चूत में जीभ को डाला, मैं उछल पड़ी. तो जगत अंकल बोले- सेक्सी वन्द्या अब थोड़ा ऊपर नीचे बैठो … धीरे धीरे अन्दर बाहर होगा, तो दो-तीन मिनट में तुम्हें जन्नत लगने लगेगी.

बीएफ बीएफ बंगाली बीएफ मैं तो जैसे स्वर्ग में था, क्योंकि मेरी बीवी ने आज तक कभी मेरा लंड मुँह में नहीं लिया था. मैंने उसके बोबों के बीच में तने हुए उसके निप्पल्स को अपनी चुटकी में भरकर मसल दिया तो वो उछल पड़ी.

एक्स एक्स एक्स सेक्स हिंदी एचडी

मैंने कंडोम इस लिए लगाया था कि रिक्शे वाले के लंड ने नेहा को चोदा था. फिर उन्होंने मेरे ऊपर आकर अपना लंड मेरी चूत पर सेट किया और एक जोरदार धक्का लगाया जिससे उनका आधा लंड मेरी चूत में घुस गया. ऐसी चुदाई हो रही थी, जिससे लग रहा था कि ये ऐसे ही चलती रहे, कभी खत्म ही ना हो.

तुम बेफिक्र चोदो … जब मेरी चूत में तेरे लंड की रगड़ पड़ेगी, तो इसकी गर्मी कम हो जाएगी. आपकी बहू ने कहा था कि आप स्कूल से जल्दी आ जाएंगे, सो उसने मुझसे थोड़ा घर का ध्यान रख लेने को कहा है. डॉग एंड गर्ल्स बीएफएक दिन मैंने पान दुकान वाले से उस लड़के के बारे में पूछा, तो पान वाले से पता चला कि वो एक अमीर घर का एकलौता लड़का है, पर थोड़ा गांडू किस्म का है.

यह सुनकर वो चौंक गयी और कहने लगी- नहीं आप सो जाओ, मुझे आपकी मदद नहीं चाहिए.

एक दिन हमारी ट्यूशन क्लास के बाद उसने मुझे गली में रोक लिया और कहा कि वह मुझे बहुत पसंद करता है और मेरे साथ फ्रेंडशिप करना चाहता है तो मैंने भी उसे हाँ कर दी. उसके लिंग में अजीब सा आकर्षण था, जो मुझे और अधिक उत्तेजित कर रहा था.

दूसरी तरफ प्रीति मेरी सहेली थी, इस वजह से मेरा सुखबीर के साथ कोई विचार अभी तक नहीं बन सका था. वन्दना पूछने लगी- मामा मामी गए?मैंने उससे कहा कि हां मेरी जान गए और मामा मामी नहीं, पापा मम्मी बोल. इसी दर्द के वजह से मैं जाग गया था लेकिन पल्लवी अपनी आँखें बन्द किये हुये मुझे लगातार चोदे जा रही थी। अब उसके इस तरह नोचने से मीठे दर्द के जगह दर्द ने ले ली और जिसको अब बर्दाश्त करना मुश्किल लग रहा था.

इसके बाद उन्होंने दीदी को पैसे दिए और कहा- अब तू जा और अलगे हफ्ते दुबई से कुछ लोग आएंगे, हम तुझे फोन कर देंगे तो तू से फिर आ जाना.

मैंने कहा- सोनू, मुझसे कुछ भी मत छुपाओ क्योंकि जिस दिन मैं और मालती भाभी पिक्चर देखने गए थे तो वहां तुम किसके साथ पिक्चर देखने गई थी?सोनू ने कुछ झिझकते हुए यह बात स्वीकार कर ली और कहा कि वह मेरा बॉयफ्रेंड नहीं है, ऐसे ही मेरी क्लास में पढ़ता था और मुझे मिल गया था. उन्होंने डबल बेड के गद्दे उठा कर नीचे फर्श पर बिछा दिए और मुझे उठाकर गद्दे पर लिटा दिया. बस सर्विस ही तो की है लेकिन मीना ने प्यार से कहा- आप रख लो ना प्लीज!मीना के कहने पर मैंने वो पैसे रख लिए और मैं वहां से वापस आ गया.

बुद्धि बीएफतुमने रूमानी क्रोध से मुझे देखकर मुझ पर ग़ुस्सा किया, लेकिन तुम्हारी आंखें कुछ और ही कह रही थीं, जैसे आओ ना … मुझे अपनी बांहों में लेकर मुझे मसल दो … मेरी सारी गर्मी निकाल दो. पहली बार जब मैं उससे बाजार में मिला तो मैं उसे देख कर जरा मुस्कुरा दिया, तो उसने पलट कर हाथ हिला कर मुझे विश किया.

सेक्स सेक्स बीपी वीडियो

अब उसे भी मजा आने लगा था और वो नीचे से कमर उठा उठा के मेरे धक्कों का जवाब दे रही थी. आपसे कोई दिक्कत नहीं है, यह समझिए कि गाड़ी में आप दोनों के अलावा कोई नहीं है. मैं देखने लगा, उसके बूब्स बहुत ही हॉट सुंदर लग रहे थे और आंटी की सलवार में से उनकी काली रंग की पेंटी भी मुझे साफ दिख रही थी जिसको देखकर मैं बहुत उत्तेजित हुआ जा रहा था और मेरा मन कर रहा था कि मैं अभी उसी समय उनको पकड़कर वहीं पर उनकी चुदाई कर दूँ.

मैंने अंकल की तरफ जोर से घूरा कि बगल से दो अनजान व्यक्ति हैं … और आगे मम्मी हैं … तो वो इस तरह की हरकत न करें. सर्दियों के दिन थे, इस वजह से हमने उसे वहीं रुकने के लिए कहा और वह मान गया. इस तरह की बातों में जब हम लोग आपस में खुल गए, तो धीरे धीरे हम लोग सेक्स चैट करने लगे.

चूत अब अपना रास्ता पूरा खोल चुकी थी, इसलिए अब मुझको इस डिल्डो को अन्दर करवाने में कोई तकलीफ़ नहीं हुई क्योंकि यह पहले वाले से कुछ कम मोटा था. उसने चाय की ट्रे एक टेबल पर रखी और जैसे ही कप में चाय डालने के लिए वो झुकी … हाय क्या नज़ारा था मेरे सामने … मेरे नजरें सीधी उसकी नाइटी के अन्दर उसके चूचुकों को घूरने के लिए मानो अपना आकार फैला रही हों. जिस गांड को मैं हमेशा कपड़ों के ऊपर से देख देख कर तरसता था, आज वह गांड मुझे चुदाई के लिए मिल ही गई.

तभी नामित भी मेरे साथ ही झड़ गया और उसने अपना पूरा माल मेरी चुत में ही छोड़ दिया. मेरे मन को बहुत बुरा लगा कि मर्द होकर खुद सीट पर बैठ गए और बूढ़ी और जवान औरतों को नीचे बिठा दिया.

क्यों? क्या हुआ? तुम क्या सोच रहे थे कि मुझे कुछ पता नहीं? तुम दोनों के बीच जो कुछ चल रहा है, मुझे सब पता है.

मगर जैसे ही मेरा हाथ उसकी मुनिया के करीब पहुंचा, उसने मेरे होंठों पर अपने दांतों से काट लिया और तुरन्त जांघों को भींच कर अपनी मुनिया को छुपा लिया. हॉट ऑंटी बीएफब्लाउज के नाम पर ब्रा टाइप के कपड़े से भाभी की आधी से अधिक पीठ दिख थी. हरियाणवी बीएफ सेक्सी हिंदीपर अपने ब्वॉयफ्रेंड के बारे में मैं अपनी सहेली को नहीं बताती थी, क्योंकि वो साली इतनी बड़ी रंडी है कि मेरे ब्वॉयफ्रेंड पर भी लाइन मारना शुरू कर देती थी. फिर मैंने भाभी को वहीं पास में पड़ी मेज़ पर लिटाया, तो देखा कि उसने अपनी चूत के पूरे बाल साफ़ कर रखे थे.

सब कुछ सही जा रहा था, सारी तैयारी पूरी हो गयी थी कि जाने के कुछ दिन पहले पता चला कि मेरे दोस्त के कजिन की बैंक की परीक्षा उसी वक़्त है और उसे अटेंड करना ज़रूरी है तो उसका जाने का प्रोग्राम रद्द हो गया.

मुझे तुम लोग अच्छे लगते हो, तो मैं बिल्कुल आपके घर आऊंगा … तुम्हें कोई परेशानी है … तो बताओ?मैंने तुरंत डरते हुए कहा- ठीक है. जगत अंकल मुझसे बोले- वन्द्या अब बताओ, तुम्हारा चुदवाने का मन हो रहा है कि नहीं?इस पर मैं कुछ नहीं बोली, पर मैंने अंकल का हाथ पकड़ लिया और अपनी चूत में रखकर दबवाने लगी. अब मैं अपने कपड़े खोल चुका था क्योंकि मेरा लन्ड पहले बिताई रात के बारे में सोचकर और आज देखे नीलम के रूप की वजह से अकड़कर तना हुआ था और उसे कैद करके रख पाना अब मेरे बस में नहीं था। मैं बिल्कुल नंगा बैठा हुआ था.

लेकिन मामा ने अबकी बार कोई एतराज़ नहीं किया और मैंने हल्के-हल्के पेंट के ऊपर से ही लंड को सहलाना शुरू कर दिया. सलवार के नाड़े को खोलने के लिए कुछ देर तो वो ऐसे मेरे ऊपर लेटे लेटे ही कोशिश करती रही, मगर जब कामयाब नहीं हो सकी तो वो झुंझला उठी और झटके से मुझे छोड़कर अलग हो गयी. कुछ देर में अनिल आया तो मैंने पूछा कि कहां थे इतनी देर से … मैं 10-15 मिनट से जाग रहा हूं.

एक्स वीडियो एक्स

उनके बदन के स्पर्श से मेरे अंदर बिजली सी दौड़ गयी और मेरा लंड जो 3 इंच मोटा है पूरा कड़क हो गया और अंडरवीयर से बाहर से दिखाई देने लगा. फिर मैंने कुछ देर सोचने के बाद उसे वापस बुलाया और कहा कि बैठ मेरे पास. मैंने तेजी बढ़ा दी, वो भी सिसकारियां लेने लगा- अहह आह्ह आहह …फिर एक जोर के झटके के साथ मैं उसकी गांड में झड़ गया और वो भी मेरे तोंद पर झड़ गया.

मैं इस कदर उसे चूम रहा था कि वो दर्द से आह की आवाज भी ना निकल सकती थी.

इससे पहले कि लंड चुचियों के बीच में जाता, उसने अपनी चुचियां ऊपर कर लीं और अपने दोनों हाथों से मेरी जांघें नीचे दबा कर बोली- बदमाशी नहीं और चीटिंग भी नहीं.

तो पियू ने भी मुझे उसका बनाया हुआ खाना टेस्ट कराया, सब लोग साथ में होने की वजह से मै पियू से ज़्यादा बात नहीं कर रहा था. तभी मुझे खिड़की पर किसी के होने का आभास सा हुआ, जिससे मेरी नजर खिड़की पर चली गयी, जो कि हल्की सी खुली हुई थी. एक्स वीडियो बीएफ डाउनलोडमैंने उससे सेक्स करने की बात कही, पहले तो उसने मना कर दिया, लेकिन काफी मनाने के बाद मान गई.

मुझे लगा कि अगर वो हिली, तो मैं अपने हाथ को हटा लूंगा, जिससे उसको ऐसा लगेगा कि गलती से हुआ होगा. यह वाकयी बेहद जरूरी था, क्योंकि एक बार फिर से मेरी नीना रानी मुख-मैथुन का सुख देकर अपने किराएदार प्रशांत के लौड़े का एहसान उतारना चाह रही थी और उसने किया भी. उंगली से मेरी चूत को कुरेदते हुए जेठ जी बोले- नीतू रानी, तेरी चूत बहुत टाइट भी है.

लिहाजा बगल में रखे हुए थर्मस से गरम पानी निकालकर उसने पहले अपनी चूचियों से लेकर पेट से होते हुए चूत तक की सफाई की. मैंने अपना पजामा उतार दिया और अपना 8 इंच का लंड उसके हाथों में थमा दिया.

फिर मेरे लंड को तुम्हारे मुँह में भरकर मैंने तुम्हारी गीली चुत चाटना शुरू किया था.

तब भी नामित मेरी नहीं सुन रहा था उसने वहीं सोफे पर मुझे लिटाया और मेरी चूत में अपनी जीभ घुसेड़ दी. मैंने उसकी पूरी 30 मिनट तक चुदाई की और फिर अचानक मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ. एक दिन की बात है मैं जब रात को पेशाब करने उठा तो भाभी जी रो रही थीं.

बीएफ हिंदी सीन भाभी ने लगभग 10 मिनट तक मेरे लंड को मुंह में लेकर जबरदस्त तरीके से चूसा और मैंने अपना माल भाभी के मुंह में छोड़ दिया. क्या बात हो गई?तभी मामी ने आंख मारी और मुस्करा कर बोली- मेरे यहाँ पर मेरी एक प्यारी भान्जी है, हम तीनों ही मज़े करेंगे.

प्रार्थना ख़त्म हुई और मैं अपने ऑफिस रूम की तरफ जा रहा था कि तभी मुझे ऑफिस स्टाफ की खुसुर-फुसुर सुनाई पड़ी. मैं- जेठ जी, आज से मैं आपकी भोग्या पत्नी हूँ, आपको जो करना है, वो करो और वैसे मुझे भी आपका लॉलीपॉप अच्छे से देखना है और चूसना है. मैंने एक दिन यही सब देखने में निकाल दिया कि वह किस टाइम घर से निकलता है और फिर वापस कब आता है.

सेक्सी वीडियो एचडी बीपी

मैं प्रिया के बारे में सोच ही रहा था कि तभी नेहा ने अपनी चुत को मेरे पूरे चेहरे पर जोरों से दबाकर रगड़ दिया. इसके बाद से मैं अपने देवर से खुल गई थी और अब तो मेरे पति मुझे चोदें या नहीं चोदें, मेरा देवर मुझे अपने मोटे लंड से बड़ी तसल्ली से चोदता है और मेरी चूत की आग को शांत करता है. मेरे पति यह नजारा देखकर एकदम भौचक्के से रह गए क्योंकि आज से पहले मैं इतने जोश में कभी नहीं चुदी थी।लेकिन वो जानते थे कि यह सारा खेल उन्होंने ही रचा है तो अब एतराज भी क्या करना!वे सब देख रहे थे कि कैसे उनकी प्रिय पत्नी को कोई कोई गैर मर्द नोच रहा था.

वो मेरे सर को अपनी चुची पर दबाने लगी और बोली- हां बिल्कुल ऐसे ही और जोर से!मैंने भी उसकी बात रखते हुए जोर जोर से चूची चूसना शुरू कर दिया और पूरे जोर से दूसरी चुची को दबा रहा था जैसे उसे उखाड़ ही लूँगा. 8 वर्षों से मैंने किसी स्त्री को आंख उठा कर नहीं देखा था, लेकिन कौशल्या की मिलनसारिता और हँसमुख मिजाज ने मुझसे बातें करना सिखा दिया था.

दादाजी ने ही अपने दोनों हाथ सोनल के गाउन के ऊपर से ही दोनों स्तनों पर रखे और उनको मसलने लगे.

”जान निकाल दी आपने तो मेरी … मेरी सील तोड़ राजा … आज पहली बार ऐसा लगा कि चुदाई हुई है मेरी … अब आपका जब जी करे, मुझे चोदने आ जाना. मैंने कहा- सोनू, मुझसे कुछ भी मत छुपाओ क्योंकि जिस दिन मैं और मालती भाभी पिक्चर देखने गए थे तो वहां तुम किसके साथ पिक्चर देखने गई थी?सोनू ने कुछ झिझकते हुए यह बात स्वीकार कर ली और कहा कि वह मेरा बॉयफ्रेंड नहीं है, ऐसे ही मेरी क्लास में पढ़ता था और मुझे मिल गया था. एक घपाक की आवाज से मेरा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ सीधा अन्दर घुस गया.

उसकी नाकामयाब कोशिश को देखते हुए मैंने खुद अपनी पैन्ट का बटन खोल दिया. मैंने मुस्कुरा कर कहा- ह्म्म्म ये बहुत बढ़िया काम किया … चल रूपा मेरे लंड पर कंडोम लगा दे. अब मुझमें इतनी भी हिम्मत नहीं बची थी कि मैं उठ कर बाथरूम में जाकर अपनी चूत को साफ़ करके अपने कपड़े पहन सकूं.

धीरे-धीरे मैंने चाची के पेट को चाटते हुए उनके पूरे पेट को गीला कर डाला और फिर मैं नीचे की तरफ बढ़ने लगा.

बीएफ बीएफ बंगाली बीएफ: लेकिन मेरे लिए ये एक फ़ायदे वाला काम हो गया और मैं उसकी चुत को अपने मुँह में भरकर जोर से चूसने लगा. इसी लिए हम लोगों ने मोटरसाइकिल को बिना स्टार्ट किये ही धकेलते हुए ही रवि मामा के फार्म हाउस तक जाने का निर्णय लिया.

जगत अंकल बोले- मम्मी कुछ बोलेगी तो मैं बोल दूंगा कि मेरे पैर दर्द करने लगे हैं … इसलिए बदल लिया, तू चिंता मत कर मैं सब सम्हाल लूंगा. कुछ देर में अनिल आया तो मैंने पूछा कि कहां थे इतनी देर से … मैं 10-15 मिनट से जाग रहा हूं. फिर मैंने वंदना की गांड में दो उंगली डाल कर छेद को चौड़ा किया और फिर अपने लंड को पकड़ कर वंदना की गांड में लगा दिया.

करीब 10 मिनट के बाद मेरा माल झड़ने को आया तो मैंने उसके सर पर हाथ फेर कर इशारा किया, तो वो थोड़ा तेज़ गति से लंड चूसने लगी.

मैं वापस बेड पर जाकर लेट गई और मामी ने सामान चेक किया और उससे कुछ बातें करने लगी. उस शॉप का मालिक तो मैं ही हूँ लेकिन शॉप में मेरे साथ ही एक औरत भी काम करती है. फिर लड़कियां वहां से चली गयीं।राहुल मुझसे बातें करने लगा, राहुल ने पूछा- भाभी आपको कुछ चाहिए तो नहीं? कोल्ड ड्रिंक वगैरह?मैंने मना कर दिया।फिर थोड़ी देर बाद हम लोग ऊपर छत पर चले गए.