बनारस के बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,बड़े लंड वाली सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

ससुर बहू की सेक्सी बीएफ: बनारस के बीएफ वीडियो, मैं कुछ देर के लिए उसके ऊपर ही पड़ा रहा तो कुछ देर के बाद वो शांत हुई.

xnxx हिंदी में

फिर मैंने ठान लिया कि गर्लफ्रेंड तो इसको ही बनाऊंगा, चाहे जो भी हो जाए. मुसलमान चुतएक दिन सुबह छत पे जब मीरा अपने प्लांट्स की देखभाल कर रही थी और पानी डाल रही थी, तो वहां फर्श पे पानी फ़ैल जाने की वजह से वो फिसल कर गिर गयी और कराहने लगी.

वह बोली- तुम कहां करने वाले हो पहले ये बताओ? कहीं तुम मेरी गांड में डालने के बारे में तो नहीं सोच रहे? मैं गांड में नहीं करवाऊंगी, पहले ही बता रही हूँ. सेक्सी वीडियो मोबाइलइसके बाद मैंने अपनी गांड को हिलाया, तो मेरे पति ने अपना लंड मेरे चुत से बाहर निकाल दिया.

एक बार वे मुझे गर्मियों में बेर खिलाने एक सुनसान बेरी के पेड़ के पास ले गए थे.बनारस के बीएफ वीडियो: अब राधिका ने मेरे 7 इंच के लंड को मेरे निक्कर से बाहर निकाला और हाथ में लेकर लंड को हिलाया.

इसके लिए एकांत की जरूरत थी, जिसके लिए मकान मालिक का घर पर नहीं रहना जरूरी था.मौसी के बारे में ये कहना गलत नहीं होगा कि उनको देखकर हर मर्द एक बार उन्हें अपने नीचे जरूर लिटाना चाहेगा.

ब्लू पिक्चर चाहिए ब्लू - बनारस के बीएफ वीडियो

चाची ने बनावटी गुस्से में कहा।मैं- जाते हैं चाची।सभी दोस्त धर्मशाला की ओर प्रस्थान कर गये.वो अन्दर से एकदम गोरी-चिट्टी थीं और उनका बदन दूधिया रंग के बल्ब की रोशनी में चमचमा रहा था.

अब मैं उसके मम्मों को दबा रहा था और वह मेरे होंठों को चूसते हुए ‘ऊंह … ऊंह …’ की आवाज कर रही थी. बनारस के बीएफ वीडियो आंटी के कोमल हाथों का स्पर्श और आंटी के मस्त गोल गोल दूध के दर्शन, जिसके वजह से मेरा हरामी लंड फिर से खड़ा हो गया.

थोड़ी देर ऐसे ही लिपटे रहने के बाद हम अलग हुए और मैंने उसे लेटने को कहा.

बनारस के बीएफ वीडियो?

हम दोनों के पानी के मिलने से दिलिया के चेहरे पर एक अजीब सा सकून था. मैंने उससे पूछा- लास्ट टाइम एमसी कब आई थी?वो बोली- बस दो तीन दिन बाद आने वाली है. गुलाबो भी दर्द के मारे चिल्लाने लगी- आहहह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आई उउउइइई ओह्ह बहुत दर्द हो रहा है.

वह एकदम से मेरे बालों को पकड़ कर मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाने लगी. जल्दी ही हम दोनों के कपड़े उतरते चले गए और हमारे नंगे जिस्म आपस में गुंथ गए. हमारी बहुत बातें हुई हैं और मैं एक बात और कह देना चाहता हूँ तुम बुरा मत मानना, आई लव यू सुमन.

सर ने लंड पर मम्मी के हाथ का टच महसूस किया तो वे भी मम्मी के दूध दबाते हुए बोले- अच्छा वो बात. मम्मी ने कहा- आआह … अगर तुम मुझे पति की तरह सुख दे सकते हो तो … मुझे सुख दे दो … मुझे चोद दो. एक दिन भाभी को मार्केट से कुछ सामान लेना था तो उन्होंने मुझसे साथ चलने को बोला.

एक दिन ऊपर वाले ने मेरी हालत को समझा और मुझे चुदाई के सुख से रूबरू करवा दिया. करीब पांच-छ: मिनट बाद दरवाजा खटकने के साथ एक आवाज यह कहते हुए सुनाई पड़ी- निकला नहीं क्या अभी तक?मैंने भी जवाब दिया- बस जान रूको, खलास होने वाला हूं.

पहले मैंने एक ही हाथ लगाया, लेकिन जब मुझसे रहा नहीं गया तो दूसरा हाथ भी लगा दिया.

मिनी ने मेरी हालत समझते हुए मुझसे पूछा कि क्या तुम्हारा सेक्स करने का बहुत मन है?मैंने हामी भरते हुए मिनी से भी पूछ लिया- यदि तुमको सेक्स करने का मन है तभी मैं आगे बढूँगा … अन्यथा मुझे सेक्स करने की जल्दी नहीं है.

अजय ने मीना का एक एक पेग और बनाकर खुद ही उसके मुंह में गिलास लगाकर उसे पिला दी. भाभी ने शायद सब समझ लिया था, इसलिए उन्होंने बेख़ौफ़ मेरा फ्रेंची भी उतार दिया. मैं अपने दोनों हाथ बीवी के चूतड़ों पर रखकर उसकी चुत को आराम से चोदने लगा.

मार्केट पहुंच कर भाभी ने सारा सामान ले लिया और थोड़ा बहुत चाट पकौड़ी खा पीकर हम घर के लिए वापस निकल पड़े. कुछ देर बाद मैं दिलिया को उठा कर बैठ गया, दिलिया मेरी गोद में थी, मैंने ध्यान रखा कि मेरा लण्ड चूत से बाहर न निकले. मैं उसको देखता रहा। वो जैसे-जैसे साँस ले रही थी उसके चूचे ऊपर नीचे हो रहे थे जो मुझे अपनी ओर खींच रहे थे.

’मैंने अंकल का लंड मुँह में लिया और उनके चूतड़ों को अपनी बांहों के घेरे में ले लिया.

मेरा हाथ अपने हाथों में ले कर बोली- एक तो तुम्हें गुस्सा बड़ी जल्दी आता है. उसकी गर्म सांसों की वजह से मेरे लौड़े का साइज़ बढ़ने लगा और कुछ ही देर में मेरा लौड़ा पूरे जोश में आ गया. मेरे मुंह से कामुक सिसकारी निकल रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… जोर से करो … पी जाओ दीपक … मेरे दूधों को काट लो … आह्ह … बहुत मजा आ रहा है.

वह बोली- तो फिर रोका किसने है?इतना कहते ही हम दोनों ने एक दूसरे के कपड़े उतारने शुरू कर दिये. मैं- वैसे तो मैं तैयार हूं … लेकिन आज फिर तुम अपने पति से बात करो, शायद कोई बात बन जाए. फिर उसने मुझसे भी कपड़े निकालने को कहा तो मैंने भी जल्दी से अपनी पैंट और टी-शर्ट उतार दी.

थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहने के बाद एक बार कसमसा कर मैंने अपना हाथ और पैर फिर से उनके ऊपर रख दिया.

मैं अपने घुटने उसकी जांघों से लगा कर, अपना हाथ उसकी जांघों पर फेरने लगा. एक दिन की बात है … शूटिंग के बीच में आन्या को डायरेक्टर ने अपने रूम में बुलाया, पर तभी सैट की लाइट चली गई.

बनारस के बीएफ वीडियो इतने में सृजन भाभी ने अपने पर्स से 500 का नोट निकाला और मेरे पैसे भी दे दिए. मगर यार तुम सच में शादी के बाद ही अपने बदन को छूने दोगी क्या?इन्दु – जी, बिल्कुल सही समझा आपने.

बनारस के बीएफ वीडियो मेरा ध्यान अब भी उसकी चूचियों पे था और वो इस बात को भली भांति समझ रही थी, पर बोल कुछ नहीं रही थी. उसके बाद चुदाई का दूसरा राउंड शुरू हुआ जिसमें दोनों ही कमसिन जवानी बारी-बारी से मेरे लंड के नीचे आकर रंडियों की तरह अपनी चूत चुदवाने लगीं.

अपना सर मुझसे दूर ले गई और उसने अपनी चुत को मेरे लंड के सामने कर दिया.

सेक्सी बीएफ फुल एचडी 2021

मैं गिलास लेकर उठा और पीछे की तरफ से जाकर सारा दूध वाशबेसिन में डाल दिया. मैंने सोचा कि आज घर पर तो कोई है नहीं तो क्यों ना अपनी चूत पर से बाल ही साफ कर लूं। बाल साफ करने के बाद मैं खूब अच्छी तरीके से नहाई और नहाने के बाद मैं नंगी ही कमरे में आ गई।जैसे ही मैं कमरे में आई तो मैं जीजू को कमरे में बैठा देखकर चौंक गई, मुझे पता ही नहीं चला कि जीजू हॉस्पिटल से कब वापस आ गए. मैं उसे देख कर यही सोच रही थी कि आज तो पहला दिन है, अभी तो पूरी रात बाकी है और कल का पूरा दिन … और रात पता नहीं! तब तक ये मुझे कितना चोदने वाला था.

मैं उनकी चुत को चूसने और चाटने लगा, साथ में चुत में 2 उंगली डाल कर लंड के लिए जगह बनाने लगा. मैंने कुछ पल सोचने के बाद उससे कहा- ठीक है, कहाँ पर मिलना है?उसने कहा- वह सब मैं आपको फोन करके बता दूंगी. एक दो जगह से चूची को काट भी लिया जिसका निशान अभी भी पड़ा हुआ है मेरी चूची पर.

वो खुद अपने बूब्स मसल रही थीं और अपनी उंगली चूत में डाल के मज़े ले रही थीं.

नम्रता मुझे इस तरह घूरते देखकर बोली- इस तरह क्यों घूर रहे हो?मैंने कहा- मलाई अभी बाकी है. आज भी वो दोनों एक साथ होने या मौका मिलने पर खुल कर चुदाई या कई बार तो साड़ी ऊपर उठा कर फटाफट वाली चुदाई कर लेते हैं. कुछ देर बाद वो भी मजे लेने लगी और नीचे से अपनी कमर उछाल उछाल कर मेरा साथ देने लगी- आहहहह आउच आह हहह … और जोर से चोदो और जोर से … आह मर गई रे ए.

जब मैं उससे बहुत ज्यादा क्लोज हो गई, तो मालूम हुआ कि उसके भी बहुत ब्वॉयफ्रेंड थे. अंदर पहुँचा तो देखा भाभी की बहुत ही करीबी फ्रेंड रश्मि साथ में बैठी हुई थी. शायद वह भी मुझे थोड़ा बहुत अन्दर ही अन्दर चाहने भी लगी, यह बात उसने मुझे बाद में बताई थी.

उसने मेरे चेहरे को अपने बोबों में दबा लिया और खुद उचक-उचक के चुदने लगी। मैं उसके मम्मों को अपने चेहरे पर महसूस कर सकता था।उसके उरोजों से नाश्ते के दौरान लगाए गए जैम की खुशबू आ रही थी जो उसने मुझे नाश्ते में खिलाया था। यह पोज़ काफी उत्तेजक था. फिर क्या था कुछ ही पलों में मेरा लंड सात इंच का कड़क सरिया बन गया था.

भाईदूज वाले दिन लंड के सुपारे पर तिलक करवा कर वो मेरी चूत पेलता था और कहा करता था- देख ले साला यह लंड पूरा बहनचोद है. किस करते करते मैंने उसकी टांगों को खोला और उसकी गीली हो चुकी चुत पर अपना लंड रख दिया. मैंने आहें भरते हुए कहा- थैंक्स गॉड … मैं तो समझा कि आपकी तबियत खराब हो गयी है, इसलिए आपने छुट्टी ली है.

वो मुझे वाशरूम तक ले गए और वाशरूम के दरवाजे पर खड़े होकर अपना हाथ आगे किया और बोले.

वो कभी लिंग दाएं, तो कभी बांए, तो कभी ऊपर, तो कभी नीचे करके मेरे योनि द्वार को ढूंढने लगा. फिर घस्से मारते मारते मैंने उसकी फुद्दी का दाना भी सहलाना जारी रखा. मेरी रगड़ाई में कभी लंड उसकी चूत पर जोर से लग जाता, तो वो कराहने लगती.

मुझे मिनी ने बताया कि नीचे फ्लोर पर एक और रूम बुक है जहां मिनी ने कपड़े बदले हैं. उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल थे, मैंने उसकी चुत को बड़े मजे से चूसा और फिर उसको अलग कर दिया.

आप सबको कैसी लगी यह साड़ी वाली भाभी की चुदाई कहानी?मुझे जरूर बताइएगा. साथ ही अमर ने हाथ नीचे किया और पिंकी के पेटीकोट के नाड़े को खींच दिया. मैं उनके रूम से निकल कर हॉल में आ गया और सोफे पर बैठ कर उनका इंतजार करने लगा.

बाप बेटी का बीएफ मूवी

‘तूने खुद मसली हैं अपनी चूचियां?’वो- साली सहेलियों ने पूरा बिगाड़ कर रख दिया था … तुम वो सब छोड़ों … और अन्दर डालो लंड.

उसकी चूत का रस बह कर उसकी जांघों से होता हुआ टांगों पर आ रहा था। मैं उसके रस को चखना चाहता था लेकिन इस पोज़ में संतुलन बनाने के लिए उसे पकड़े रहना जरूरी था।वो एकदम गर्म हो चुकी थी। किसी रंडी की तरह मुझे गालियां बक रही थी- चोद बहनचोद … भड़वे, जब देखो मेरी गांड के पीछे पड़ा रहता है. मम्मा ने गुस्से में कहा- अपनी मां से शादी करनी है तुझे … पागल है क्या? मां से भला कौन शादी करता है?मैंने बेशर्मी लेकिन अपराध भरे स्वर में बोल दिया- मैं तो करना चाहता हूं. मैंने पूछा- आपको कैसे पता कि उधर जंगल उगा है?उन्होंने बताया कि जब मैं मोबाइल लेकर आयी थी, तब मैंने तुम्हें नहाते हुए देख लिया था.

उसकी बड़ी बड़ी आंखें थीं, पूरे 6 फिट लंबाई और मजबूत कसरती शरीर का सांड जैसा लगता था. मुझसे भी रहा नहीं गया तो मैंने अपने हाथों से उसका सर पकड़कर उसका माथा चूम लिया. हिंदी सेक्स करते हुए वीडियोतो एक छोटी सी मीठी कराह के बाद मीरा अपनी कमर उछाल कर रितेश का साथ देने लगी.

मैं कल शुभी को तुम्हारे पास ले आऊंगी मगर जो कुछ भी करना है तुम खुद ही कर लेना. मज़बूर … कैसे?” वसुंधरा ने चौंक कर आँखें खोली और सीधे मेरी आँखों में झांका.

तब मैंने अपने रूम का दरवाजा खोल कर कहा- कोई चेंज करने की ज़रूरत नहीं, सब कुछ उतार कर मेरे पास आ जाओ. ज़रीना और मैं आज रात तुमको छोड़ने वाली नहीं हैं, पर उसका पहली बार है, इसलिए थोड़ा घबरा रही है. फिर फ्रेश होते हुए मैं सोचने लगा कि क्या कभी मैं असल में भी किसी को चोद पाऊंगा? मैंने कभी किसी के साथ अब तक सेक्स नहीं किया था.

रानी ने मुझे प्यार से कई बार चूमा और फिर मूर्छित सी होकर मेरे ऊपर ढेर हो गयी. उसने मुझे होंठों पर एक जोरदार चूमा लिया और कानों में बोली- अभी सोना मत, शिल्पा को सो जाने दो. चाची भी मुझसे कुछ भी नहीं बोलीं और मुझे भी उनके मम्मों के स्पर्श को पाकर बहुत मज़ा आ रहा था.

वो तो सेक्स की चुल्ल ऐसी होती है कि चुदाई के समय न जमीन के कंकड़ गड़ते हैं और न कपड़े खराब होने की परवाह होती है.

मेरी देसी गर्लफ्रेंड की Xxx कहानी अच्छी लगी या नहीं? आप मुझे मेल करें. मैंने सोनू को अपनी छाती से लगा लिया और उसकी टांगें चौड़ी करके अपने हैवी लंड को उसकी चूत के नीचे लगाया.

वह बोली- ठीक है, मगर वादा करो कि अंदर नहीं डालोगे?मैंने कहा- नहीं, अंदर नहीं डालूंगा. कानों … कंधों … पर चुम्बनों की झड़ी लगा दी।उसने भी मुझे चूम चूम कर मेरे अंगों को लाल कर दिया. कुछ देर हमने बैठकर इधर उधर की बातें की और बातों ही बातों में मैडम ने बताया कि वो अकेली रहती हैं.

एक बार फिर से कामदेव ने मुझ पर आक्रमण कर दिया था और एक बार फिर से मेरे कामध्वज में कामज्वाला का प्रवेश हो गया था लेकिन इस बार मैंने विवेक का दामन हाथ से नहीं जाने दिया. मैंने हाथ बढ़ा कर अपने थूक से पति का लंड गीला कर दिया था, इसलिए उनका लंड मेरे चुत में आसानी से घुसने लगा. मुश्किल से एक या डेढ़ मिनट ही बीता होगा कि उन्होंने मेरे बाल कस कर पकड़ लिए और काँपने लगीं … और भलभला कर मेरे मुँह में ही झड़ गईं.

बनारस के बीएफ वीडियो अब वो कभी भी बाहर निकल सकती थीं, इसलिए मैं जाकर बाहर बरामदे में बैठ गया. उसने मेरी बात मानी और लिंग पर थूक मल कर चिकना किया और फिर पहले की भांति लिंग घुसाने का प्रयास करने लगा.

सेक्सी एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी

नितिन ने मेरी चुत पर एक गहरा चुम्बन किया, फिर अपनी जीभ का कमाल दिखाते हुए दो मिनट में ही मुझे झड़ा दिया. कल्पना- कहां?मैं समझ गया कि ये क्या सुनना चाहती है मेरे मुँह से, फिर भी मैंने भी उन्हें और तड़पाने का सोच लिया- अभी थोड़ी देर पहले ही आपने बोला ना कि आपके पैरों के बीच दर्द कर रहा है, तो वहीं सिकाई करनी पड़ेगी ना. थोड़ी देर बात करने के बाद बाद मोनू ने उसके होंठों पर चुम्बन करना शुरू कर दिया.

वो सेक्सी नज़ारा देखते देखते मैं इतना खो गया था कि मुझे पता ही नहीं लगा कि पम्मी आंटी मुझे कब से आवाज़ लगा रही हैं. मेरे पड़ोस में सुमन के पापा का ननिहाल था और वह उसी शहर से पढ़ाई कर रही थी. पटना की सेक्सीयह नजारा तो बहुत ही अलग था, अब मेरे सामने चुत भी मुँह खोलकर लंड मांग रही थी और गांड भी मेरा लंड अन्दर लेने के लिये तैयार थी.

यह सुन कर वो हवस से मुस्कुराने लगीं और उन्होंने अपनी टांगें किसी रंडी की तरह ही खोल दीं.

मैंने कुछ देर ऐसे ही रहने दिया, जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैंने उसके मुँह से अपना मुँह अलग किया और देखा कि उसकी फ़ुद्दी से खून निकल रहा था जिससे बेड की चादर खराब हो गई थी. भाभी ने मुझे ये भी बताया- रश्मि की वजह से ही मैं कोलकाता शादी में नहीं गयी।हम दोनों से मुखातिब हो के भाभी ने कहा- मैं अब अगले 2 घंटे के लिए तुम दोनों को अकेले छोड़ रही हूँ.

पूरी चुदाई करने के बाद दोनों ने नंगे ही खाना बनाया और खाना खाकर पहले तो भैया ने भाभी की चूचियां चूसीं, फिर भाभी की चूत तब तक चाटते रहे जब तक वो झड़ नहीं गयी और फिर लंड पर तेल लगा कर आशा भाभी की गांड में अपना मोटा काला लंड घुसा दिया. हाय! पूजा की चूत … ओह्ह … उसके चूचे … उफ्फ मिल जाये तो उसकी चूत को चोद दूँ. कुछ देर बाद मोटे लंड को जज्ब करने के बाद गांड और ढीली हुई तो मैंने अपना आधे से ज्यादा लंड अन्दर पेल दिया.

करीब 10 बजे जोन्स रूम में आया और तुरंत मुझे नंगी करके चुदाई चालू कर दी.

धीरे-धीरे उसे मजा आने लगा और वह अपनी गांड उठा कर मुझे इशारा करने लगी. सोनिया अपनी मम्मी को बोल रही थी- मम्मी मनदीप आया है, वो अन्दर सो रहा है. मैं जोर से चिल्ला उठी ऊऊऊउई उमाआआ … आआ!उसने मुझे जोर से दबा लिया और दूसरे ही धक्के में पूरा का पूरा लंड मेरी चुत की गहराई में उतार दिया.

मेरा सेक्स वीडियोआंटी रखवाने वाला सामान लेने दूसरे कमरे में गईं तो मैंने अपने लंड को बैठाने की कोशिश की. कुछ देर चुप रहकर और एक लंबी सांस लेते हुए आंटी आगे बोलीं- अर्जुन, क्या तुम मेरे साथ सम्भोग कर सकते हो?यह सुनकर कुछ देर के लिए तो मैं सुन्न हो गया था.

काजल के बीएफ हिंदी

हैलो फ्रेंड्स, मैं अंकित, मैं अन्तर्वासना का एक नियमित पाठक हूं और इधर मैं सेक्स से भरी कहानियां पढ़ना बहुत ही ज्यादा पसंद करता हूं. वो मुझे बहुत किस कर रहे थे और मैं भी उन्हें किस पे किस करे जा रहा था. दोस्तो, मेरा शरीर भी अकड़ रहा था, मैंने तुरंत मम्मी के गुलाबी होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

वो अब रेड कलर की ब्रा और ब्लैक कलर की पैंटी में थी 36डी साइज के बूब्स को मैं ब्रा के ऊपर से ही मसलने लगा, वो आंखें मूंदे हुए बस बड़बड़ाये जा रही थी. इसके बाद मैंने अपनी मम्मा सौम्या को गोद में उठा लिया और उन्हें चूम कर कहा- आई लव यू सौम्या!सौम्या- आई लव यू टू मेरे राजा!हम दोनों के होंठ एक दूसरे के होंठों से कब मिल गए, हमें भी नहीं पता चला. पूजा अपने दोनों हाथ से मेरे सर के बाल पकड़ कर दर्द सहने की कोशिश कर रही थी.

मेरा लंड खड़ा ही तन्ना रहा था, यही सोच सोच कर कि आज इतनी खूबसूरत उस औरत को चोदूंगा, जो रिश्ते में मेरी मम्मी है. वो हंसी और अपने सीधे हाथ से मेरा लंड पकड़ कर वो आगे और मैं पीछे जाने लगे. अब अगली सुबह की बात बता रहा हूँ:प्रीति ने ट्रे से ब्रैड उठाया और मुझसे बोली- आज मैं ही तुम्हारा नाश्ता हूँ जान, आ जाओ, खा लो मुझे.

जब ये फोन आया, तो उस आवाज से मुझे ये बिल्कुल भी नहीं लगा था कि वो इस उम्र की औरत होंगी. ’‘जी मैं समझी नहीं?’आंटी ने साड़ी खींच के मम्मी को नंगी कर दिया- चीज़ अच्छी है.

सच में किसी लड़की को कभी अधूरा पूरा संतुष्ट किये बिना नहीं छोड़ना चाहिए.

वो भी मेरे गले में बांहें डाले मेरे से एकदम चिपक गयी। उसे वैसे ही लेकर मैं कुर्सी पर बैठ गया। वो मेरे गले में बांहें डाले हुए थी. सेक्स वीडियो चुदाई वीडियोउसने मेरे सिर को टांगों से टाइट जकड़ लिया और जोर-जोर से सिसकारियां लेने लगी। उसके मुंह से बस आआ उम्म्ह … अहह … हय … याह … आहह ओह मुंऊ … उम्मईं आआहह … ही निकल रहा था।फिर मैंने उसे मेरा लंड चूसने को कहा. पॉर्न व्हिडीओ ट्रिपल एक्समैंने लंड हटाया और उसकी चूत में उंगली डालकर उसकी चूत का चिकना पानी निकाला. मुझे बहुत तकलीफ हो रही थी और मैं जोर जोर से चिल्ला रही थी मगर जैसे उसे बहुत मजा आ रहा था.

मैं जानता था कि अगर पहले दिन की तरह इसकी चूत ने पानी छोड़ दिया तो आज भी मेरे खड़े लंड के साथ धोखा हो जाएगा.

ऐसे में मैं ज्यादा देर टिक नहीं पाई और मेरा पानी निकल गया, उसको भी वह पूरा चाट गया. इस वजह से मम्मी का पालू बार बार सरक जा रहा था या शायद मम्मी खुद ही ऐसा कर रही थीं. फिर मैं थोड़ा नार्मल हुआ, तो अंकल ने फिर से मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगे.

मेरी पिछली कहानी थी:रिश्ते में बहन के साथ सेक्स सम्बन्धमैं आपके सामने अपनी एक सेक्स कहानी लेकर हाज़िर हुआ हूँ. यह सोचते ही मेरी धड़कन और सांसें तेज हो जा रही थीं और नीचे मेरी पैंटी बार-बार गीली हो जाती. क्या पुट्ठे बनाये … कसरत करते हो क्या?मेरे सीने पर हाथ फेरते रहे, फिर करवट बदल कर मेरे से चिपक गए.

सपना चौधरी सेक्स बीएफ

मैंने कहा- हां मेरी जान, अब मैं तुम्हारी चूत को कभी प्यासी नहीं रहने दूंगा. मेरा हर ब्लाउज डीप गले का ही होता है, इस वजह से स्तनों के बीच की घाटी साफ साफ दिख रही थी. हमने थोड़ी बहुत बात की, फिर उसने मुझे कॉफ़ी के लिए पूछा, तो मैंने उन्हें मना नहीं किया.

”बोल दो … वो तो पहले ही तीन पैग मार कर आउट हो गया है … अगर होश में होता, तो भी कुछ नहीं बोलता … वो खुद ही तो तुम्हें मेरे लिए लेकर आया है.

मैं मन ही मन ये सोच कर के बिना कुछ कहे खुश होने लगा कि इसको जीभ से दर्द हो रहा है, तो आज मेरे लंड को कैसे लेगी.

चार साल पहले मैं जब राजकोट में रहता था, मेरे पड़ोस में एक फैमिली थी, जिसमें अंकल आंटी, उनका बेटा और उनकी बहू नफीसा थे. फिर वह गुस्से में बोली- तुम मेरे साथ ये कैसी बातें कर रहे हो? तुम्हें लड़कियों से बात करने की तमीज नहीं है क्या? अगर दोबारा तुमने मुझसे इस तरह की बात की तो मैं तुम्हारी माँ से इसके बारे में शिकायत कर दूंगी. मोनिका की चुदाईथोड़ी देर में वह शांत हो गई और अपनी कमर ऊपर की तरफ करके मुझे आगे बढ़ने का संकेत देने लगी.

मैंने मन में एक प्लान बनाया जो मैंने अन्तर्वासना की एक कहानी में पढ़ा था. कल्पना- दर्द चला गया अब … और अब कभी दर्द नहीं करेगा वहां … जितना दर्द होना था हो चुका, अब तो बस!यह कह कर उन्होंने अपनी बात अधूरी छोड़ दी. हाय दोस्तो, मैं प्रतिभा, चुदाई की कहानियां आपको बहुत पसंद है, मैं इस बात को भली भांति जानती हूँ.

लेकिन जिम में जाने के कारण उनके लचीले जिस्म ने मेरे लंड को अपनी चूत में अन्दर तक आराम से चले जाने दिया. वो दोनों मेरे बूब्स और चूत को चूस रहे थे और मैं अब जोर-जोर से सिसकारियाँ ले रही थी.

उस दिन हमने करीब 10 मिनट तक होंठों से होंठों को मिलाया और किस करते रहे.

जीजू ने मुझे अपनी दोनों बांहों में कस लिया और मुझे किस करने लगे, मेरे दोनों बूब्स जीजू की छाती से चिपक गए एकदम से और धीरे धीरे मेरे दोनों हाथ भी जीजू से लिपट गए, अब हम दोनों एक दूसरे को चूमने लगे. दोस्तो, मैं आपका दोस्त सन्नी सिंह, आज मैं आपको सुनाऊंगा मेरे परिवार की कहानी. झड़ने के बाद मैंने देखा कि भाभी के चूतड़ों के नीचे पूरा पानी पानी हो रखा था.

बाप और बेटी की चुदाई की कहानी मैंने अपने घर पर कॉल करके बोल दिया कि मैं आज रात अपने दोस्त के घर पर ही रुकूंगा. झाड़ू लगाते लगाते जब वो सोफे के पास आईं तो मुझे उनकी ब्लाउज से उनके प्यारे सेक्सी दूध साफ़ दिख रहे थे और ललचा रहे थे.

अंकल बोले- अरे हां, नहीं तो आज का पीरियड रिवीजन में ही खत्म हो जाएगा … नीतू तुम बेड पर लेट जाओ, हमें अब आगे बढ़ना होगा. कुछ पल कमरे में पूरा सन्नाटा था, थोड़ी देर बाद मैंने अपनी आंखें थोड़ी खोलीं, तो अंकल मेरे उभारों को बिना पलक झपकाए लगातार देखे जा रहे थे- सुंदर, अति सुंदर … नीतू सच में मैं बहुत भाग्यशाली हूँ, जो मुझे तुम्हारा यह हुस्न देखने को मिला है. भाभी ने मुझे बिठा कर पूछा- क्या हुआ था?मैंने बोला- कुछ नहीं, वो बहुत दिनों से वर्काउट नहीं हुआ है, तो नस पर नस चढ़ गयी थी.

बीएफ एचडी में साड़ी वाली

मुझे अपने आप पर बहुत गुस्सा आया कि मैंने उसके साथ की हुई दोस्ती को भी खत्म कर दिया. मेरी तो हालत एकदम खराब होने लगी और मैं जोर-जोर से आहें भरने लगा- आह भाभी और जोर से चूसो और अन्दर तक लो!मैं उनका सर पकड़ कर उनके मुँह को चोदने लगा. एक दिन जब कॉलेज खत्म हुआ, मैं उसको छोड़ने उनके रूम की तरफ जाने लगा, मैंने उससे कहा- आपके लिये मैंने कुछ किया है.

‘उपिंदर … वो अजय का दोस्त, उसके डैडी के जन्मदिन के लिए हम क्यों जाएं?’‘मम्मी मुझे सब पता है कामिनी दीदी के बारे में … और जो आपने उपिंदर के साथ किया है, वही मैंने भी किया है. मेरी बीवी सीधे लेट गयी और उसने अपनी चड्डी से चुत से बहता हुआ वीर्य पौंछ दिया.

बीवी ने बगल में रखी वैसलीन की डिब्बी मेरे हाथ में दे दी, जो उसने पहले से ही अपने पास ले रखी थी.

इतना बोलकर मौसी जल्दी जल्दी अपने रूम में चली गईं और मैं पीछे से उनकी हिलती गांड को देखता ही रह गया. दोस्तो, सभी लड़कियों को मेरे खड़े लंड का नमस्कार और सभी भाइयों को लड़कियों की चूत की तरफ से नमस्कार. मैं धीरे धीरे उसके करीब जाने लगा और उससे बात करने की कोशिश करने लगा.

अभी तक जिन लोगों ने चूत नहीं चाटी है मैं उनको बताना चाहता हूँ कि दुनिया का असली मज़ा चूत चाटने में ही है. मेरी कामोतेजना का अब ठिकाना ही नहीं रहा और मैं कराहने और सिसकने लगी. ’मैंने राजिंदर के और शैली ने उपिंदर के कपड़े उतारे और फिर दोनों के लंड चूसे.

सलोनी- जी नहीं, ऐसा कुछ नहीं होगा और हां अब यदि आपने अब न बताया तो शायद वैसा ही हो सकता है जो आपने कहा.

बनारस के बीएफ वीडियो: वो मेरे नितंबों को पकड़कर अपने मुँह में लौड़े को धकेलने लगी और खूब बढ़िया से लौड़े को चूसने लगी. मैंने फोन पर इन्दु से कहा- अच्छा मैडम, थोड़ा काम है, कोई बुला रहा है, जाना पड़ेगा, लव यू.

मेरे आने की खबर अंकल को पहले ही लग गयी, मेरा दरवाजा खटखटाने से पहले ही उन्होंने दरवाजा खोला. तुम भी अपने फोन को कुछ इस तरह से अड्जस्ट कर लेना ताकि पूरी चुदाई रेकॉर्ड हो जाए तो फिर मैं उसको देखूँगी. मेरे पति का लंड सीधे मेरे बच्चेदानी से जाकर टकराया और मेरे मुँह से चीख़ निकल पड़ी.

फिर जब मैंने थोड़ी सी जबरदस्ती दिखाई तो उसने अपना मुंह खोल दिया और मेरी जीभ को भी अपने मुंह में अंदर जाने का रास्ता दे दिया.

कुछ देर चुप रहकर और एक लंबी सांस लेते हुए आंटी आगे बोलीं- अर्जुन, क्या तुम मेरे साथ सम्भोग कर सकते हो?यह सुनकर कुछ देर के लिए तो मैं सुन्न हो गया था. भैया स्लैब पर भाभी की चूत चाटने में लगे हुए थे और मैं अपनी चूत को शांत करने की नाकाम कोशिश कर रही थी. मैंने पूरी ताकत से ब्रेक मारे, पर मुझसे स़्कूटी नहीं संभली और मैं वहीं गिर गई.