देसी बीएफ दिखाना

छवि स्रोत,कैटरीना कैफ न्यूड

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म भेजो फिल्म: देसी बीएफ दिखाना, मैं उसको घूर ही रहा था कि वो मेरी तरफ देख कर बोली- अब दूर ही खड़े रहोगे या कुछ करोगे भी?ये सुनते ही मैं उसके पास गया.

दादाजी ने पोती

20 मिनट बाद उसकी गांड में ही अपना वीर्य गिरा दिया।फिर उसने अपने कपड़े ठीक किये. पादने की आवाज कैसी होती हैमैं एक चुदक्कड़ महिला हूं और प्रतिदिन अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ कर अपनी चूत में उंगली करती रहती हूं.

जब आग पूरी भड़क गयी और बर्दाश्त से बात बहर होने लगी तो ममता उठी और राजन के ऊपर बैठ गयी और अपने हाथों से उसका लंड अपनी चूत में कर लिया और लगी जोर जोर से उछलने. इंग्लिश में ब्लू पिक्चर सेक्सीजीजा जी- यू आर सो ग्रेट … आप चारों को शर्त तो पता है न?दीदी- हां हमें याद है.

तरुण मेरी पीठ को सहलाते हुए बोला- आई लव यू दीदी।मैंने भी उसको लव यू भाई बोला।इतना सुनते ही उसकी जो पकड़ थी, वो कुछ और आगे बढ़ गई, वो मुझे अपने से समा लेना चाहता था.देसी बीएफ दिखाना: मैडम ने मेरी तरफ देखा, तो मैंने उनको कुतिया बना कर चोदना चालू कर दिया.

तभी चाची बोलीं- आज चाचा नहीं हैं, तू आज मेरे साथ सो जाना … क्योंकि रात को मुझे अकेले सोने में डर लगता है.मैंने उनकी एक चूची के निप्पल को अपनी दो उंगलियों में दबाते हुए जोर से मसल दिया, जिससे चाची के मुँह से कराह निकल गई और उनका मुँह खुल गया.

जी चावला की सेक्सी वीडियो - देसी बीएफ दिखाना

मैंने जैसे ही उसकी चुत पर जीभ फेरी, उसने एक जोर से आह भरी- आह सक मी.उसकी टांगों को अच्छी तरह से पकड़ा और धीरे-धीरे उसकी चूत में लंड को धकेलने लगा.

उस दिन हम दोनों ही बहुत खुश थे और हम दोनों ने एक दूसरे को बहुत प्यार किया. देसी बीएफ दिखाना एक दिन भाभी बोली- शुभम, मेरा मन तुम्हारा माल पीने के लिये कर रहा है.

उसके मुँह से गर्म सिसकारियां निकलने लगीं- ईस्ससस … उम्म्ह… अहह… हय… याह… चूस ले मेरे भैया … आह अपनी बहन के दूध चूस ले.

देसी बीएफ दिखाना?

”ले रंडी मादरचोद … तेरी मां की बुर चोदूं … आह तेरी बहन बुर में लवड़ा डालूं … साली कुतिया ले लो … पूरा लंड डाल दिया … खा बुर में कुतिया. जब तक स्वीटी आंटी मुझसे लगी रहीं, तब तक मैंने उनके गदराए हुए जिस्म को खूब महसूस किया और मज़ा लिया. मैंने लंड आगे पीछे करते हुए इरफान से कहा- अब आप मैडम के बूब्स चूसो … और मैं चूत मारता हूं.

फिर हम एक दूसरी को प्यार से चूमने चाटने लगी।अगले 20 मिनट तक हम सब ने फिर एक दूसरी की फुद्दियाँ चाट चाट कर झाड़ दी। सब ने एक दूसरी का खट्टा नमकीन पानी पिया।सब खुश थी क्योंकि सबका ये पहला लेस्बीयन सेक्स का तजुरबा था जो सबको बहुत पसंद आया।उसके बाद हमने सब एक साथ फिर से नहायी और अपने कपड़े पहन कर चुस्त दरुस्त हो गई. ना ही कभी जेठजी ने ऐसी वैसी हरकत की, जिससे मैं कुछ समझ पाती … और ना ही कभी मेरे मन में जेठजी के साथ ऐसा कुछ करने का ख्याल आया था. संजय के मुख से आहह निकल गई और उसने आंखें बंद करके अपने हाथों से लंड हिलाकर आखिरी बूँद को बाहर निकाला.

बस… अब तो बढ़ते-बढ़ते वासना की आग धधकने लगी और मैंने धीरे से उसके लौड़े पर दबाव देना शुरू कर दिया. थोड़ी देर ऐसे ही चोदने के बाद मैंने अपना लंड निकाला और उन्हें घोड़ी बनने को कहा. मैं अपनी हथेली के नीचे वसुंधरा की गर्म धधकती योनि से निकलती आंच स्पष्ट महसूस कर रहा था.

मैं इस बार गर्मी में घर नहीं जा पाया ज्यादा काम की वजह से तो मेरी माता जी दिल्ली घूमने 15 दिन के लिए आ गयी. मैं उसके दूध चूसता हुआ अपनी गांड उठा उठा कर उसकी बुर को भोसड़ा बनाने में लगा हुआ था.

उसने फिर से पैरों को सिकोड़ने की कोशिश की, तो मैंने उसके पैरों के बीच आकर खुद को फंसा दिया और उसकी चूत पर अपनी जीभ रख दी.

वो भी हांफते हुए मुझे चोद रहा था और आह्ह … उफ्फ करके सिसकारी ले रहा था.

लेकिन अगले ही पल जिस तरह से चाची ने मेरे लंड को चूसना शुरू किया, उससे मुझे समझ आ गया कि चाची पक्की लंड चुस्क्कड़ हैं, बस झिझक के चलते वो लंड मुँह में नहीं ले रही थीं. तभी उसका दुपट्टा सरक गया और उसी पल मेरी निगाहें उसके मम्मों पर चली गईं. फिर आंटी ने मुझे सारी बात बताई कि तेरे अंकल से तो कुछ होता नहीं है.

जब सर का लण्ड खूब टाइट हो गया तो उन्होंने मेरी पैन्टी उतार दी और मुझे अपनी गोद में बैठा लिया और अपना लण्ड मेरी चूत के मुंह पर रख दिया. तो वो बोली- ठीक है, तो तुम्ही उसे हटा दो।चाची मेरी बात समझ गई थी क्योंकि मैंने उन्हें कल ही रात चुदाई करते हुये उनके चूत के ऊपर के बालों के बारे में कहा था. कोई दस मिनट तक लंड चूसने के बाद मैंने उसकी आंखों में वासना से देखा, तो उसने मुझे गोद में उठाकर सोफे पर लिटा दिया.

मैं सोने की कोशिश कर रहा था लेकिन काफी देर लेटे रहने के बाद भी मुझे नींद नहीं आ रही थी।कुछ देर बाद मामी ने मेरी तरफ करवट ली और वह थोड़ा मेरे करीब आ गई और मैं उनकी तरफ करवट करके लेटा हुआ था.

”और उसने कपड़े उतार दिए।मैं भी नँगी हो गयी। बाथरूम में शावर के नीचे उसने मुझे पीछे से जकड़ लिया।उसका हाथ नीचे आया, मेरी जांघों के बीच में …यहां पे चूत होनी चाहिए थी न?”हाँ डॉक्टर साहिबा, मेरी भी यही चाहत है. वो जब तक बोलता कि कहां जा रही हो … तब तक मैं कमरे से बाहर चली गई थी. उसने एक बूंद भी बाहर नहीं गिरने दी, सारा वीर्य पी गयी और मेरे लंड को चूस कर साफ़ कर दिया.

मैं उनकी गांड बहुत दिनों से चोदना चाह रहा था, पर अब जा कर लंड को उनकी गांड मारना नसीब हुयी. उन्होंने ऑनलाइन खाना ऑर्डर किया, कोई 15 मिनट में गरमा-गरम खाना आ गया और फिर हम दोनों ने पेट भर खाना खाया. वो लड़का कैसे अपनी माँ और मेरे ही सामने मेरे नग्न नितम्बों की बाते कर रहा था.

मैं रेहड़ी पर गया और पतली सी लड़कियों वाली आवाज़ में रेहड़ी वाले से कहा- भैया, दस रुपये की जलेबी दे दो.

कुछ देर बाद सुहास ने मुझे गोद में उठाया और वापिस बेडरूम में ले गया. फिर उसका लन्ड खड़ा हुआ तो मैं गांड का छेद सेट करके उसके लन्ड को गांड में पूरा ले गयी.

देसी बीएफ दिखाना फिर उसने शर्त रखी थी कि अगर ये हमसे अपनी चूत चुदवाने के लिए राजी हो जाये तो हम लोग कुछ नहीं कहेंगे. परमीत ने दूसरे तरीके से बात रखी- अच्छा तो ये बताओ कि मेरा बर्थडे गिफ्ट कहां है?इस बार फिर संजय ने कहा- यही तो हैं तुम्हारा बर्थ डे गिफ्ट!इससे हम दोनों का दिमाग खराब हो चुका था.

देसी बीएफ दिखाना मेरी इस हॉट सेक्सी स्टोरी के पहले भागदोस्त की बीवी ने बहाने से चूत चुदाई-1में आपने पढ़ा कि मैं अपने दोस्त के घर उसकी बीवी के साथ अकेला था, उसकी मदद कर रहा था. खैर, सुनील नहाकर उसके कमरे में ही आ गया, तब तक विशाल भी नहा लिया था.

मैंने अपने लंड का सुपारा उनकी गांड के छेद पर रखा और धीरे धीरे धक्का लगाना शुरू किया.

पंजाबी ब्लू फिल्म भेजो

हम सबका होटल एक ही था तो गुड नाईट बोलकर मैं जाने लगा तो मौका देखकर नीलू ने मुझे गले से लगा लिया और गाल पर पप्पी देकर भाग गई।अब मैं आपको नीलू और सरीना के बारे में कुछ बता देता हूँ, नीलू एक 24 साल की ऐसी लड़की है जिसे हर कोई अपने बिस्तर तक लाना चाहता होगा. मैंने मोना से फोन से कहा भी था कि किसी आइटम को लंड की सेवा के लिए बोल दे. मेरी तलाश भी ऐसे ही किसी आदमी को लेकर रहती थी कि कोई मिल जाए जो मुझसे गांड मरवा ले.

जब मेरा लंड पूरा गीला हो गया, तो उसकी कमर के नीचे तकिया लगा कर लंड में कंडोम लगाने जा रहा था. हॉल के बीचों बीच एक मेज को लगाया गया था, जिस पर खूबसूरत तीन लेयर वाला खूबसूरत सा केक रखा था. मैंने अलका को इशारा किया, जिसको वो पलक झपकते ही समझ गयी और उसने अपनी सलवार अपने पैरों से अलग कर, मेरी गोद में बैठने की जगह बना ली.

कुणाल बेड पर चढ़ गया और अपनी टाँगें फैलाकर उसने अपना लंड भी मीना की चूत में घुसेड़ दिया.

वैसलीन की चिकनाई और लगातार अन्दर बाहर करने से अब गांड में दोनों उंगलियां जाने लगीं. न राज … ! अब और नहीं … ! मर जाऊंगी … ! सी … ई … ई … ई!! बस … ! मान जाओ … ! आह … !!’कामदेव की लीला अपने शवाब पर थी. मैं आपको स्वीटी आंटी के बारे में बता दूं कि उनकी उम्र मेरी मामी की सभी सहेलियों में बहुत ही कम है.

जैसे ही मैंने दरवाज़ा पर घंटी बजायी, रूम खुल गया और मेरे सामने बेबी रानी खड़ी थी. ये कहते हुए दीदी उसके उरोजों को दबाने सहलाने लगीं, निप्पलों से खेलने लगीं. मैंने उसे बताया तो वो बोली- तो तुम और चोद लो ना!मैंने उसको एक मेज के सहारे से घोड़ी बनाया और पीछे से लंड उसकी चूत में पेल दिया.

वो आम रास्ता नहीं था फिर भी खेतों की तरफ आने वाले लोग आसपास हो सकते थे. अब मेरी चूत में आगे से उस अजनबी लड़के का लंड घुस चुका था और पीछे से मेरी गांड में भाई का लंड घुस चुका था.

मेरा जिस्म उसके चूमने और चाटने दबाने से हल्का लाल हो गया था।फिर उसने मुझे घोड़ी बना लिया और पीछे से मेरी कमर को पकड़ कर मेरी चूत में लंड डाल कर मुझे चोदने लगा. वह बोली- अमित मैं अपनी ही बेवकूफी के कारण तुम्हारी दुल्हन नहीं बन पाई. पहले निप्पल चूसते, उसके बाद पूरा दूध मुँह में भर कर चूसते, तो मजा आ जा रहा था.

मेरे स्तन कसे हुए होने के बावजूद चुदाई में गति की वजह से बेतरतीब हिलने लगे थे.

कहानी को शुरू करने से पहले मैं अपने बारे में कुछ परिचय दे देता हूं. बल्कि उस समय तो मेरा मन कर रहा था कि उसी समय आपके दूध अपने हाथों से पकड़ कर दबा दूं. मैंने उसका लण्ड अंदर लेना शुरू किया।विशाल:दीदी रंडियों की तरह मेरा लौड़ा चूस रही थी। उन्होंने लौड़े को गले तक उतार रखा था। ऐसा लग ही नहीं रहा था कि वो लंड को पहली बार चूस रही है।वो मेरा लंड अपने गले तक उतार रही थी.

मैं अभी तक झड़ा नहीं था … तो मैंने भाभी को पेट के बल लेटे रहने दिया और उनके पेट के नीचे दो तकिये लगा कर उनकी गांड को ऊपर को उठा दिया. मगर बोली कि वो गाण्ड बिस्तर पर मरवायेगी, अभी उसने उसकी चूत चोदने को बोला.

विशाल सुनील को बताता था कि वो और उसकी बीवी दोनों रात को नंगे होकर विडियो चेट करते हैं. सतीश की पहली पिचकारी सीमा की चूत के अंदर जैसे ही गयी और साथ ही सतीश ने अपना लौड़ा बाहर खींचा और झड़ रहा लौड़ा पास बैठी मुस्कान के मुंह में डाल दिया. फिर मैंने आदी को कॉल किया और बोला- राहुल को कॉल करके बोलो कि दीदी को जहां छोड़ा है, वहीं से जाकर वापस लेकर आ जाओ.

ब्लू पिक्चर चोदी चोदा

वो बोली- मुझको रात में ही मेरठ पहुंचना होगा क्योंकि मैं अपने बेटे को वहीं छोड़ कर आयी हूँ.

उसके हाथों ने मेरे चूतड़ों के पीछे से पकड़ रखा था। सिल्क बार-बार सिसकारियाँ ले रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उह्हं. थोड़ी देर एक दूसरे के नंगे जिस्मों को सहलाने के बाद दोनों फिर से गर्म हो गये. मैंने कहा- मेरी फ्रेंड तैयार है, आप लोग उसके साथ पार्टी कर लीजिये। मुझे जरूरी काम है, मैं जा रही हूँ।वो दोनों लड़के तन्वी को घूर के देखने लगे.

जब वो लन्दन जाने लगी, तो सुरभि की जिद थी कि मैं तुम्हारे ही बच्चे की मां बनूंगी. मैंने उसे बताया था कि जब तू कमोड पर बैठा करे, तो फ्रेश होने के बाद गांड में उंगली किया कर, इससे तेरी गांड को आदत हो जाएगी. वीर्य गाढ़ा करने का तरीकाकुछ देर बाद मैंने दीदी को अपनी गोद में बैठा कर उनके गांड पर लंड सैट कर दिया.

मेरी गांड की चुदाई शुरू हो गयी थी और वो मेरे चूतड़ों पर जोर से चांटा लगाते हुए मुझे चोदने लगा. मैंने वसुन्धरा का चेहरा अपने दोनों हाथों में ले लिया और झुक कर वसुन्धरा की पेशानी पर एक चुम्बन अंकित कर दिया.

आप मुझे लिखियेगा कि कैसी लगी मेरी कहानी?मेरे मेल आईडी[emailprotected]पर. मैंने अन्दर जाकर देखा, तो सामने सुरभि हॉट सी जालीदार नाइट सूट पहने मेरा इंतज़ार कर रही थी. घर के लोग भी अपने अपने कमरे में जाने लगे।मामाजी मामी को चोदने के लिए कमरे में ले गए.

गांड को नीचे करते हुए बार-बार वो मेरे होंठों पर अपने आण्डों को रगड़ने लगा. उसने नीचे बैठ कर मेरी पैंट उतारी और मेरे लंड को निकाल कर चूसने लगी. मैं बहुत दर्द में थी, मेरी कराहें और सिसकारियां पूरे रूम में गूंज रही थीं.

मेरे लगातार चूसने से कुछ देर बाद सुहास का लंड फिर से खड़ा होने लगा था.

आंटी की चूत जितनी गीली हो रही थी मुझे चूसने में उतना ही मज़ा आ रहा था।अब मेरा लिंग अपनी परम उत्तेजना पर आ चुका था. मैंने नीचे से एक जोरदार धक्का दिया, जिससे मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुसता चला गया.

मैंने प्रीति की सलवार को खोलना चाहा तो प्रीति ने मना कर दिया और बोली- रात को करेंगे. संजय और परमीत दोनों पूरे कपड़ों में थे और संजय ने पेंट की जिप खोलकर लंड बाहर निकाल रखा था. हम दोनों को बहुत तेज दर्द हो रहा था तो इस वजह से होंठ छूट गए, हम दोनों की चीख निकल गई।मैंने नीचे देखा तो उसकी चूत से गर्म गर्म कुछ निकल रहा था.

लग रहा था कि शायद उसने इससे पहले भी कई बार अपनी गांड की चुदाई करवा रखी है. खैर दिन में दीदी के साथ गप्पें मार कर टाइम निकल गया और जीजा जी दीदी की रोजाना अच्छे से बजा रहे थे, इसलिए बाकी किसी चीज का मूड नहीं बना. ऐसे ही कुछ देर तक भैया अपना लंड दीदी की बुर मे पेलने के बाद झड़ने लगे.

देसी बीएफ दिखाना एक घंटे बाद आंटी अच्छे से तैयार होकर पिंक सलवार सूट में खाने की टेबल पर आ गईं. यही नहीं उसने फटाफट निर्णय लेते हुए रात एक बड़े होटल में डिनर टेबल और एक रूम बुक कर दिया.

क्सक्सक्स सनी

उसने मेरी पैंटी को खींच कर उतार दिया और सीधा मेरी चूत में जीभ देकर चाटने और चूसने लगा. उसकी गांड उठने लगी थी और वो एकदम से सीत्कार करते हुए अपने जिस्म को अकड़ाने लगी थी. उस दिन मैंने उसकी दो बार और उसकी चूत मारी। फिर मैंने उससे पूछा- मेरे से पहले कितनों के साथ सेक्स किया है?तो वो एकदम से चौंक गयी और बताने से मना करने लगी.

मैं आपको एक सच्ची घटना की कहानी सुनाने जा रहा हूँ, जिसमें 100% सच्चाई है. रोहित अब संजू की साड़ी को थोड़ा ऊपर उठा कर उसी अवस्था में उसके घुटने के नीचे के पैरों को बेतहाशा चाटने लगा. इंग्लिश ब्लूपूरा समाचार तो घर के बाहर ही मिल चुका था, सो उन्होंने दरवाजा खटखटाया.

उसने मुझे उठाया और अपने ऊपर बैठा कर किस करने लगा और मेरे बूब्स दबाने लगा.

एक मिनट बाद आशा दो गिलास पानी लायी, तो नीतू आशा से मजाक करते हुए कहा- आशा, आज तो तू बड़ी खिली खिली लग रही है. सेक्स का बहुत शौक़ीन था विशाल … उसकी मजबूरी थी कि बीवी को छोड़कर यहाँ रहना पड़ रहा था.

कॉफ़ी के दौरान मीना ने रवि से बिजनेस दिलवाने में सपोर्ट देने को कहा और कहते कहते उसने रवि का हाथ अपने हाथों में ले लिया और बड़े अंदाज से बोली- सर, आपको बिजनेस भी मिलेगा और मुझसे कोई शिकायत भी नहीं होगी. मैं समझ चुका था कि ये दोनों मिल कर इस लड़की की चूत चोदने के चक्कर में हैं. जब सर का लण्ड खूब टाइट हो गया तो उन्होंने मेरी पैन्टी उतार दी और मुझे अपनी गोद में बैठा लिया और अपना लण्ड मेरी चूत के मुंह पर रख दिया.

भगवान जाने … ये प्रकृतिप्रदत्त था या वी वाश का कमाल! लेकिन जो भी था … था बेहद लाजबाब!मैं तो वसुंधरा के इस रूप पर मर-मिटा.

आपको पसंद आई या नहीं … मेरी ईमेल आईडी पर संपर्क कर सकते हैं[emailprotected]. सुमन का बेटा पैदा हुआ और उसके पैदा होने के डेढ़ महीने बाद सुमन अपनी ससुराल चली गई. हम कुछ बोल भी नहीं सकते थे क्योंकि अब उन चारों ये हमारे मुँह पर पट्टी बांध दी थी.

सेक्स के बारे में जानकारी बताइएतरुण ने धीरे से मेरी ब्रा को खोल दिया।मेरी दोनों चूचियाँ हवा में लहराने लगी।मैंने कहा- आई लव यू तरुण।उसने मेरी चूचियों को जोर से दबा दिया मुझे लिप किस करने लगा।5 मिनट बाद उसने मुझे घुमा दिया और मेरे भारी भरकम कूल्हों की दरार में वो लंड रगड़ने लगा. वे हाथ को आगे लाकर मेरे पेट को सहला रहे थे, तो मैं उनके अहिस्ता अहिस्ता खड़े हो रहे लौड़े को अपने चूतड़ वाली खाई में महसूस कर रही थी.

एचडी सेक्स ब्लू वीडियो

सी … सीस … ई … सिस उई उई चुद गयी अज … उई अह आह मेरी बहन चु … द … गयी अ. परंतु मैंने उससे शादी के लिए मना किया हुआ है क्योंकि उसके बच्चे नहीं हो सकते. मैं चाची को चोदने के बाद उनके ऊपर से उठा और अपने कपड़े पहन कर वहां से निकल आया.

मैं अपने भैया के आगे आगे चल रही थी और इसी बीच भैया के मन में पता नहीं क्या आया कि उसने मुझे पीछे से पकड़ लिया. चपत की वजह से दीदी की गांड लाल हो गई थी और ऐसा ही हाल आलिया का भी हो गया था. वसुंधरा के दोनों हाथों की सभी उंगलियां मेरी उँगलियों पर कसी हुई थी और वसुंधरा का जिस्म रह-रह कर झटके खा रहा था और उस के मुंह से निकलने वाली सीत्कारों का वॉल्यूम ऊंचा, और ऊँचा होता जा रहा था.

एक फिल्म एक्ट्रेस सी लड़की जब खुद ही चुदने को कह रही हो, तो आप समझो कि लड़के पर क्या बीतती है. दीदी बोली- बड़े बहनचोद हो तुम!भैया हंसने लगे और बोले- हां वो तो हूँ ही … तू भी तो कम नहीं है साली … स्कूल से ही चुद रही है … इतनों से चुदी, मैंने भी चोद दिया, तो क्या ग़लत किया. अपने भी सारे कपड़े उतार कर अपना लंड शाईना की चूत में डालने की तैयारी करने लगा.

कॉफ़ी के दौरान मीना ने रवि से बिजनेस दिलवाने में सपोर्ट देने को कहा और कहते कहते उसने रवि का हाथ अपने हाथों में ले लिया और बड़े अंदाज से बोली- सर, आपको बिजनेस भी मिलेगा और मुझसे कोई शिकायत भी नहीं होगी. लगभग 15 से 20 मिनट लगातार धक्के मारने के साथ मैंने उससे कहा- मैं झड़ने वाला हूं.

अब वो चोदते हुए मुझसे बातें भी करने लगे- मजा आ रहा है?मैं- हां आ रहा है.

मैं बोला- ठीक है मादरचोद वेश्या … अब बोल और क्या क्या जान लिया मेरे बारे में, हरामज़ादी रंडी?बेबी हँसते हँसते बोली- तुझे लड़कियों की सुस्सू पीना पसंद है ना? तू इसको स्वर्ण अमृत कहता है … तुझे लड़कियों के पैरों से बहुत लगाव है. ढोंगी बाबामैंने उस लड़के को गाली देते हुए कहा कि मादरचोद बोट पर तो तेरे लंड की प्यास बुझाई थी. ब्लूटूथ इंडियाउससे सहन नहीं हो पाया और उसने मेरा लंड हाथ में पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर लगाते हुए नीचे से अपनी गांड उठा दी. कुछ ही पल के बाद हम दोनों ही एक दूसरे को पागलों की तरह चूम रहे थे और किस कर रहे थे.

जाते ही उसने मुझे जोर से गले लगा लिया और बोली- मत जाओ ना!मैंने उसको बोला- यार 4 दिन का ही प्रोग्राम था, अब जाना पड़ेगा.

साब का लंड तो मोटा था पर शराब के नशे में साब चुदाई का मजा नहीं दे पाता था. एक रविवार के दिन मैंने संजू को बोला- चलो आज कोई मूवी देख कर आते हैं. ऊपर तो मैंने वसुंधरा के लबों जोड़ को अपनी जुबान से ज़रा सा छुआ लेकिन नीचे से अपना दायां हाथ बढ़ा कर बायीं ओर वसुंधरा की कमर को पकड़ लिया.

काम-रस से मेरा लिंग और वसुंधरा की योनि … दोनों बुरी तरह सने हुए थे. यह मुझे मालूम ना था और उस टाइम जिओ था नहीं जिससे फ्री बातें हो सकें. मैंने भी अपने हाथ से अलका की सलवार के नाड़े को ढीला करके अपनी दो उंगलियां उसकी चुत में डाल दी थीं और उसकी चुत का मर्दन करने लगा था.

बहन भाई की सेक्सी चुदाई

कब नींद आ गई, पता ही नहीं चला।शाम को जब नींद खुली तब क्रिया बेड पर भी नहीं थी. गुड्डी के गोल गोल मक्खन से चिकने, भूरी निप्पल वाले कश्मीरी मम्मे मेरी नज़र के बिल्कुल सामने हो गए तो मेरा दिल उनके साथ खेलने के लिए ललचाने लगा था. मैं आपको यहां एक बात बताना चाहता हूँ कि इस पार्क में ज्यादातर ‘गे’ लोग शाम के समय घूमने आते हैं.

आजकल अमेरिका का वीजा बड़ी मुश्किल से मिलने लगा था … इस वजह से थोड़ी दिक्कत आई, लेकिन हो गया.

मैंने खुश होकर कहा- जानू मैंने तो ध्यान अच्छे से रखूंगा … लेकिन यह अचानक से मन का डर निकला कैसे?गुड्डी बोली- तेरा बर्ताव देखकर अच्छा लगा … तूने मुझे ज़रा सा भी परेशान नहीं किया … इसलिए लगा कि तेरी सम्बन्ध बनाकर अच्छा रहेगा … चुदाई भी तू बहुत मस्त करता न मेरे राजा.

रोहित अब संजू की साड़ी को थोड़ा ऊपर उठा कर उसी अवस्था में उसके घुटने के नीचे के पैरों को बेतहाशा चाटने लगा. मैंने वसुंधरा को अपने साथ लिपटा कर उसके होंठों का एक भरपूर चुम्बन लिया और चुम्बन लेते-लेते अपने दाएं हाथ को वसुंधरा की पीठ पर लेजा कर वसुंधरा की ब्रा की हुक खोल दी. देसी मम्मी की चुदाईविक्की को गए हुए काफी दिन हो गए थे, अब मेरी चुत में आग लगने लगी थी.

थोड़ी ही देर में मैंने अलका की सलवार को उसके चूतड़ों से नीचे को सरकवा दिया, जिससे मैं आराम से उसकी चुत का मर्दन कर सकूँ. फिर हम दोनों ने 69 भी किया।हम दोनों एक दूसरे के यौन अंगों को खाने की कोशिश कर रहे थे।बातों ही बातों में उसने मुझसे कहा- मैंने कभी आपके जैसी भाभी की कल्पना नहीं की थी जो सेक्स से इतनी भरी हुई हो।फिर उसने मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया और मुझे दबा कर चोदने लगा. मैंने तनु की शर्ट उतार दी और उसे भी नंगी कर दिया।अब हम तीनों नंगी थी और एक दूसरी को किस कर रही थी.

फिर नीरज अपनी बहन की चूत में अपनी जीभ घुसाने लगा, तो उसने देखा कि संजू की चूत से पानी की धार निकल रही थी. फिर मैंने उसकी एक टांग मोड़ी और नीचे से उसकी साड़ी के अन्दर हाथ डाल कर उसकी टांगों को मसलता हुआ धीरे धीरे अपना हाथ उसकी जांघों पर फेरने लगा.

मैंने इसके बारे में अलका को बताया, तो उसके चेहरे पर एक धीमी पर कमीनी मुस्कान नज़र आयी.

ममता की तो जान ही निकल गयी, अगर ये रात को आ जाता तो?खैर वो प्रकाश को लेकर अंदर आने लगी और जान बूझकर गेट बंद नहीं किया. मैंने उसकी फ्रेंची पकड़ कर नीचे खींच दी और पूरे से उतार कर बेड के नीचे गिरा दी. एक दिन सुमन अपने आंगन में दिखी, पेट ऐसे फूला हुआ था, जैसे अभी डिलीवरी हो जायेगी.

म से मुस्लिम बॉय नाम मैंने नजरें झुकाकर रजत की ब्रीफ को देखा, तो उसका भी लंड आधा बाहर आ चुका था. मैंने अपने सेक्स अनुभव में ऐसी उपलब्धियां कम ही पाई थीं, इसलिए आज के मिलन को खास बनाने की चाहत, मन में स्वतः जागृत होने लगी.

भैया बोले- यार कंडोम में चोदने का मज़ा नहीं आता है जान … और तुम तो मेरी बीवी हो. भाभी- हां दरअसल मुझे भी थोड़ी घबराहट हो रही थी क्योंकि मैं अभी तक ऐसा किसी दूसरे के साथ नहीं किया है. उधर नीरज धीरे धीरे अपनी बहन की गांड में लंड थोड़ा-थोड़ा अन्दर बाहर करने लगा.

xxxvideo हिंदी

तुम वहां जाकर तुम टीवी में वीडियोगेम खेलना, मुझे उससे थोड़ी बात करनी है. मैं सुहास के लंड को मुँह में लेकर उसके साथ खेलने लगी, वो भी मेरे बालों को पकड़ कर अपने लंड से मेरे मुँह में धक्के मारने लगा. इसके बाद उसने मुझे टेबल के सहारे घोड़ी बना दिया और मेरी चुत में पीछे से पिल पड़ा.

एक बार तो मैंने सोचा कि नजर फेर लूं लेकिन फिर भी बेशर्मों की तरह मैं उसकी तरफ देखता रहा. आह आह उफ्फ्फ्फ़ ओह्ह सं दी दी दी प प आई लव यू!सिल्क हर शॉट में नीचे से अपने चूतड़ उछाल देती.

अलका ने कुछ ही देर लंड सहलाया होगा, मैंने उसको लंड चूसने को कहा, जिसे सुनते ही अलका के चेहरे की जैसे हवाइयां उड़ गईं.

राज! आज की रात मुझे ऐसे प्यार करो कि आप का अंश मेरी कोख में पैर पसार ले. आंटी ने एक बहुत ढीली सी नाइट टी-शर्ट पहनी हुई थी, जिसका गला काफी बड़ा था. संजू की गांड और फैल गई और बेतरतीब तरीके से हिल रही थी … जैसे अब पूरी पसर ही जाएगी.

आज मैं अपने कॉलेज के समय की कहानी सुनाता हूँ।पहले अपने बारे में बता देता हूं. दोस्तो, फिलहाल मैं अपने पाठकों के द्वारा साझा किए अनुभवों को कहानी के रूप में अन्तर्वासना के माध्यम से आप सब तक पहुंचा रहा हूं. नमस्कार दोस्तो, मैं विशाल राव आपका धन्यवाद करता हूं कि आपने मेरी पिछली कहानियों को सराहा.

साथ ही वो नीचे से चूतड़ों के धक्के दे देकर मेरी चूत की हालात खराब कर रहे थे.

देसी बीएफ दिखाना: मैंने भी कहा- तो सुन मेरी जान, अब की बार लंड तेरी गांड में ही जाएगा … नहीं तो तुझे लंड नहीं मिलेगा. हैलो मेरे प्यारे दोस्तो, कैसे हैं आप सब। उम्मीद है हमेशा की तरह मजे में ही होंगे।मुझे ये जान के बहुत खुशी हुई की आप सब को मेरी पिछली कहानीजवानी की शुरुआत में स्कूलगर्ल की अन्तर्वासनाबहुत पसंद आई.

उन्होंने कुछ नहीं कहा और अपनी गांड फैला कर मेरे लंड को लीलना शुरू कर दिया. मैं उनकी गांड बहुत दिनों से चोदना चाह रहा था, पर अब जा कर लंड को उनकी गांड मारना नसीब हुयी. मेरी जीभ ने जैसे ही उसके लंड के सुपारे को टच किया, उसकी सिसकारी निकल गई.

मैंने आंटी से कहा- अबकी बार अपने मुँह में जाम भर के मुझे पिला देना.

उसने मुझे व्हाट्सएप पर ढेर सारी पिक्स भेजी अपनी और मैंने भी उसे अपनी पिक्स भेजी. रानी ने फिर से मुझे तेज़ चुदाई करने को कहा- राजे … राजे … हाय मैं मार जाऊंगी … मादरचोद … अब नहीं रुका जा रहा. अच्छे गोल गोल बड़े से वक्ष उभार … रहा सवाल फिगर का … तो जब मिलूंगा तभी पता चलेगा.