इंडियन बीएफ वीडियो दिखाएं

छवि स्रोत,हॉट फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

रंडियों की सेक्सी चुदाई: इंडियन बीएफ वीडियो दिखाएं, वो दीदी की चुत में तेल लगाने लगे, तो दीदी ने भी अपने हाथों में तेल ले कर उनके लंड में तेल लगा दिया.

मारवाड़ी चोदा चोदी

जब तक हमारा मिलना नहीं हुआ, तब तक हम दोनों वीडियो कॉल करके एक दूसरे से खुल कर सेक्स की बात करने लगे थे. इंडियन नंगे फोटोफिर चाची बोलीं- अपने मन की कर ली हो, तो अब मेरे मन की भी कर दो … मुझसे रहा नहीं जा रहा है … क्यों मुझे तड़पा रहे हो.

आह्ह … मजा आ रहा है … ऊईई … मां!वो पूरी जीभ को मेरी चूत में घुसा कर उसे जीभ से ही चोदने लगा था. सेकसी विडीयेवो खुद बेबी होने के बाद 34 से 36 नाप के हो गए हैं … और मेरे हिप्स भी अब 36+ के हो गए हैं.

तब उसने अपने टेबल पर रखी पुड़िया में उंगली लगाई और हल्का से मेरी बेटी की मुँह में लगा दी.इंडियन बीएफ वीडियो दिखाएं: नमस्कार दोस्तो, यह मेरी पहली सच्ची घटना है मामी की चुत चुदाई की; अगर कुछ गलती हो जाए तो नजरअंदाज कर दीजिएगा.

उसकी बूब्स को मसलते हुए मैंने उसके निप्पलों को दांतों से काटा और उसको इतनी गर्म कर दिया कि वो उठ गयी.इतना कहने के बाद मैंने 15-20 जोर के शॉट मारे और हम दोनों साथ में ही झड़ने लगे.

सपने में खुद को बच्चा होते हुए देखना - इंडियन बीएफ वीडियो दिखाएं

यह कहानी आप संदीप की जुबानी ही पढ़ियेगा, इसमें कामुकता और वासना का तड़का मैंने लगाया है, उम्मीद है आपको पसंद आएगा.मैंने मन में सोचा कि इसे क्या पता कि मैंने इसकी चुदाई इसकी भाभी की रजामंदी से ही की है.

मेघा के साथ भी ऐसा हुआ, मैंने अपना लंड उसकी चुत पर घिसा … तो उसने गांड उठाते हुए कहा- अब डाल भी दो … इतना क्यों तड़फा रहे हो. इंडियन बीएफ वीडियो दिखाएं वाह … क्या मस्त नज़ारा था … चुत के नीचे छोटा सा पिंक छेद अपने आप ऐसे खुल और बंद हो रहा था, जैसे कि तितली के दोनों पर खुलते और बंद होते हैं.

” मैं लाज शरम त्याग कर चुदासी होकर बोली और जेठजी और जोर जोर से मुझे चोदने लगे.

इंडियन बीएफ वीडियो दिखाएं?

कुछ देर तक मैं उनके होंठों को … या यूं कह लीजिए कि हम एक दूसरे के होंठों को चूमते और चूसते रहे. एक दिन जब हम कॉलेज जा ही रहे थे, तो कैंपस में संदीप ने पीछे से आवाज लगाई- गीत … ओ गीत … जरा एक मिनट रूको तो सही. ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’जेठ जी का मोटा लंड मेरी बच्चेदानी से जा टकराया और वो ताबड़तोड़ चुदाई करने लगे.

अपनी पहली सेक्स कहानीबॉडी मसाज और चूत की चुदासके बाद मैं आपके लिए अपनी नयी कहानी लेकर आया हूं. स्लीवलेस ब्लाउज था मेरा … और साड़ी मैं नाभि के नीचे बाँधती हूँ जिससे मैं और भी सेक्सी दिखूँ और लोग मुझे देखें। इससे मेरी नाभि और पूरा पेट और पीछे से पूरी नंगी कमर दिखती है।गर्मी का टाइम था. शैली ने मेरी बात मानते हुए चाय एक तरफ रख दी और मेरे पाद आकर मेरे होंठों पे अपने होंठ रख दिए और मुझे चूमने लगी.

ये कह कर मैंने उसकी दोनों टांगों को फैला कर उसके पेट की तरफ मोड़ दिया. उसकी मस्त शेप वाली गोल मटोल जांघों में फंसी जीन्स की जिप के अगल-बगल लौड़े के करीब बनी पैंट की सिलवटें देख कर मेरी सांसें भारी होने लगीं. आयशा- यार काश मेरा भी तेरे जैसा कोई भाई होता!मैं- तो क्या करती फिर तू? मैंने उसे छेड़ते हुए पूछा.

मैंने उसकी मोटी गांड को दबाते हुए इसी क्रिया को जारी रखा और वो अपनी गांड को दीवार से रगड़ते हुए कभी नीचे होने लगी और कभी ऊपर। ऐसा लग रहा था कि अब उसको हर हालत में अपना पानी छुड़वाना है. मैं उसे चोदने लगा, वो बोल रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उम्महह आह आह आह … ज़ोर से चोद … और जोर से!कमरे में फच फच फच की आवाज आ रही थी.

मेरे मम्मे उसकी छाती से रगड़ रहे थे और मैं वासना के समंदर में डूबती जा रही थी.

अब तक की मेरी इस रोमांटिक सेक्स स्टोरी में पढ़ा कि गीत और मनु संदीप के जन्मदिन पर उसके घर पहुंची और वहां कोई उनका बेसब्री से इंतजार कर रहा था.

फिर मैंने ससुर जी को फोन लगाया तो वो बोले- अगर कोई साधन मिलता है तो तुम लोग उस पर आ जाओ. काले बालों की चोटी, काली नागिन से बलखाते दोनों चूतड़ों पर बारी बारी से थपकी देते हुए किसी भी मर्द का कलेजा मुँह में लाने को मजबूर कर दे. सपना बोली- क्यों कोई लड़की पहली बार देखी है क्या … और कभी किसी से मिले नहीं … कभी किसी से बात नहीं की?मैं- मिला हूँ, देखा भी है और बात भी की है … पर इस तरह अकेले कभी नहीं मिला.

उन्होंने मुझे बताया कि अब तो तुम मेरी धर्मपत्नी हो, अब मैं जब चाहूँ, तब तुम्हें प्यार करूंगी. मनीषा ने फिर से अपनी चूत के होंठ खोले और अपनी चूत सावधानी पूर्वक मेरे लण्ड पर रख कर दबाव डाला तो लण्ड का सुपारा उसकी चूत में चला गया. मैं अभी भी चुप थी, मेरा भाई फिर बोल पड़ा- दीदी, आप मुझ पर भरोसा कर सकते हो.

करीब 5 मिनट ऐसे ही चोदने के बाद मैं पीठ के बल लेट गया और भाभी मेरे लंड के ऊपर बैठने लगीं.

अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज के माध्यम से मुझे कुछ मित्रगण ऐसे मिले हैं, जो न केवल मेरी कहानियों की हर दिन प्रतीक्षा करते हैं बल्कि उसके साथ ही इन्सान होने के नाते एक अपनी मित्रता का अहसास भी करवाते हैं. जीजा अपने लंड को बाहर निकालने वाले थे लेकिन मैंने उनका हाथ पकड़ लिया. काफी बड़ा घर था जिसके आधे हिस्से पर मेरा कब्जा था और बाकी आधा बड़े भैय्या का था.

मेरी मम्मी की उम्र 39 साल है, वो दिखने में बड़ी ही गोरी हैं और भरे हुए जिस्म की मालकिन हैं. उसने फिर से ऊपर से नीचे तक मुझे किस करना शुरू किया और हल्के हल्के से काटना भी शुरू किया. आज शैली को पूरी नंगी करने में मुझे कोई भय नहीं था क्योंकि आज तो उसकी मम्मी ने ही उसे मेरे पास चूत चुदाई के लिए भेजा था.

बेड पर सबसे किनारे मैं लेटा, फिर प्रियांशु, पूजा और सबसे किनारे मीना.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:क्रॉस ड्रेसर की सुहागरात की गे स्टोरी-2. मैं खुद सोच में पड़ गयी थी कि एक पढा़ई करने वाली लड़की पटाखा कैसे बन गयी.

इंडियन बीएफ वीडियो दिखाएं दोस्तो, मैं आपकी सैक्सी और हॉट भाबी कोमलप्रीत कौर अपने प्यारे प्यारे देवरों और अपने दीवानों (चाहे वो किसी भी उम्र के हों) के लिए अपनी चुदाई का एक गरमागरम किस्सा लेकर फिर से हाजिर हूँ. फिर भी वो मेरे हर धक्के को झेल रही थीं क्योंकि वो मुझसे आज पूरी तरह से चुदना चाहती थीं.

इंडियन बीएफ वीडियो दिखाएं उसने दीदी की टांगों को दोनों हाथों से पकड़ कर उसकी चूत में लंड को रख दिया. मैंने पूछा- शादी को कितने साल हो गए?तो उसने बताया- 9मैंने पूछा- आपकी उम्र क्या है?तो वो बोली- क्यों उम्र से क्या करना है?मैं बोला- ऐसे ही!तो बोली- 33 साल!मैं बोला- अच्छा!उसने मेरी उम्र पूछी तो मैंने बताया- 29वो बोली- लगते नहीं हो.

मैंने जब उनके मुँह से चुदाई जैसे शब्दों का प्रयोग सुना तो मैंने हिम्मत बढ़ाई और उनसे पूछ लिया कि तो अब तक उन अंकल से कितनी बार चुदाई करवा चुकी हो?फिर उन्होंने सब कुछ मुझे बता दिया कि कब, कहां और कितनी बार दोनों ने मज़े किए.

वीडियो बीएफ मूवीस

लेखक की पिछली कहानी:कुंवारी नातिन को कराई लौड़े की सवारीरिटायरमेंट के बाद मैं अपने पुश्तैनी घर में रहने लगा. मेरे बहुत ज़ोर देने पर भी जब वो नहीं मानी, तो मैंने सोचा जाने दो … आज पहली बार ही तो है … दूसरी बार कैसे भी करके चाची की गांड भी मार लूँगा. मोनिका- अच्छा है … मैं डर रही थी कैसे बताऊंगी, तुम मुझे वादा याद दिलाओगे बेबी हमारे होने का … जो मैंने तुमसे किया था.

मैंने उससे उसका चेहरा पकड़कर पूछा- क्या हुआ?उसने धीरे धीरे बोलना शुरू किया कि उसकी रूममेट के मम्मे उसके मम्मों से बहुत बड़े हैं. हम लेटे हुए किस किए जा रहे थे और मैं दोनों हाथों से उसके चूतड़ मसले जा रहा था. वो बोलीं- काश तुम्हारे चाचा के बदले मैंने तुमसे शादी की होती, तो ऐसी चुदाई मुझे हमेशा मिलती रहती.

कुछ देर इसी पोजीशन में मेरी चूत चुदाई करने के बाद उसने मुझे घोड़ी बनने को कहा.

सागर- तो पहन कर कब दिखा रही हो?मैं- अच्छा … मुझे लगा तुम उतार कर देखना चाहते हो. मैं और लोगों की तरह झूठ नहीं बोलूंगा कि मेरा लंड 8 इंच का है या चार इंच मोटा है. ड्राइवर और ससुर जी साथ में खाना खा रहे थे और साथ ही साथ बातें कर रहे थे.

डिनर-टेबल पर ऊँचे कैंडल-स्टैंड में तीन बड़ी-बड़ी मोमबत्तियां जल रही थी और कॉटेज की तमाम दूसरी फालतू लाइट्स बंद कर दी गयी थी. वो रास्ते में मेरे हाथों को नीचे करवाते रहे और अपने खड़े लंड के पास ले गये। मैं आराम से पीछे बैठे बैठे यही सोच रहा था कि उनको मेरी कितनी चिंता है और वो बस मेरे गिर जाने के डर से ही बार बार मेरा हाथ टाइट करवा रहे हैं. अगली रात मैं पूरी दुल्हन की तरह सजी और जेठजी दूल्हे की तरह और पूरी रात में उन्होंने मुझे तीन बार चोदा.

भाभी मेरे लंड को पकड़ कर बोलीं- भोसड़ी के … जल्दी से इससे मेरे अन्दर डाल कर चुदाई कर दे … ज्यादा बकचोदी बाद में करना. फिर भी अब हालत ऐसी थी कि एक भी कपड़े का तन पर रहना किसी बड़ी बाधा जैसा था.

आशीष को मैं प्यार करती हूं लेकिन उस वक्त के हालात ऐसे थे कि मेरे जीजा ने मुझे रंडी बनने पर मजबूर कर दिया था. उसने जैसे ही मेरा शॉर्ट्स उतारा, तो मेरा आधा खड़ा लंड उसके चेहरे के सामने आ गया. मगर हम लोग सड़क के किनारे पर ही थे इसलिए ज्यादा देर रुक नहीं सकते थे.

इसलिए मैंने उसे दबोचे रखा और धीरे धीरे लंड को इंच दर इंच अन्दर सरकाता रहा.

हो सकता है मेरे कुछ सवाल तुमको अटपटे लगें पर अपना दोस्त समझकर जवाब देना, सारी बातें तुम्हारे और मेरे बीच रहेंगी. रात में दो बार की चुत चुदाई की वजह से उसे दर्द हो रहा था और दर्द की वजह से उसकी चाल बदल गई थी. ममता ने अपनी साड़ी और ब्लाउज़ उतार दिया, वो अब पेटीकोट और ब्रा में थी.

ऊपर का पंखा अभी चालू है।इतने में वो आगे बढ़ गयी और कहा- ऊपर ही चलते हैं. इस पोज में मुझे भी थोड़ा आराम मिल रहा था और भाभी भी कुछ ही देर में जोर जोर से ऊपर नीचे होने लगीं.

दोस्तो, मेरी रण्डी बनने की क्सक्सक्स कहानी में आपने पढ़ा कि एक फार्म हाउस में तीन कॉलेज गर्ल रण्डी बन कर पासी कमाने के लिए तीन मर्दों से चुद रही थी. उसके बाद मेरा मन लंड को हिलाने के लिए करने लगा क्योंकि उत्तेजना तो पहले से ही थी. यह भी मुझे बाद में पता चला कि इस बात के लिए उन दोनों की बात पहले ही हो चुकी थी.

और कुत्ते का बीएफ

वो रास्ते में मेरे हाथों को नीचे करवाते रहे और अपने खड़े लंड के पास ले गये। मैं आराम से पीछे बैठे बैठे यही सोच रहा था कि उनको मेरी कितनी चिंता है और वो बस मेरे गिर जाने के डर से ही बार बार मेरा हाथ टाइट करवा रहे हैं.

अब मैंने लाल रंग का अबीर अपने हाथों में लिया और आंटी की छाती पर रगड़ने लगा. मैंने उनकी दोनों जांघों को हाथ लगाया तो उन्होंने खुद अपनी टांगें फैला दीं. मैं अब मालकिन को क्या जवाब दूँ? यह सोचते हुए मैं दुकान के पास आ गया.

मैं राजवीर, वसुंधरा के इस कॉटेज को जैसे चाहे यूज़ कर सकता था, चाहे तो किराए पर दे सकता था या बेच सकता था. अविनाश- तो तैयार हो न … दूसरे राउंड के लिए?आलिया- भाई इस समय में बहुत थक चुकी हूँ. मोटा लंड वाला सेक्सी वीडियोतो वो धीरे से बोली- कुछ मत कहो … तुमसे ज्यादा मैं तुम्हारे लिए तड़फती थी.

मैं वहां पर पढ़ाई कर रहा हूँ, जहां पर पढ़ने का, हिन्दुस्तान का हर लड़का सपना देखता है. मुझे थोड़ा दर्द का अहसास हुआ लेकिन थोड़ी देर में सब सामान्य हो गया, मैंने उसे अपने पैरों से उसको जकड़ लिया था.

मैंने प्रीति की सलवार में उसकी चूत में हाथ डाल दिया और उसके दाने के ऊपर उंगली चलाने लगा. मैंने भी उसकी कमर को थाम लिया और उसको लंड पर उछलने में मदद करने लगा. फिर थोड़ी देर के बाद वह लुड़कते हुए मेरे बगल में लेट गई- सुरेश … अब हफ्ते में 5 से 7 बार तू यहीं मेरे पास सोएगा.

मैंने इस पोजीशन में उसका एक पैर हवा में उठा कर लंड मेरी गर्लफ्रेंड की चूत पर सैट कर दिया. एक कहानी खत्म होने पर मैंने एक दूसरी कहानी को पढ़ना शुरू किया, पहली वाली कहानी देवर भाभी पर आधारित थी, किन्तु अब जिस कहानी को मैं पढ़ रही थी, इसमें अपनी सहेली की चुदाई लाइव देखकर एक लड़की की कामवासना जागृत हो गई थी. करीब 15 मिनट बाद मैंने अपना माल मामी की चूत में ही निकाल दिया और उनके ऊपर गिर कर किस करने लगा.

आदी- नहीं … मैं बता दूंगा … तुम मेरे लिए कुछ नहीं कर रही हो … और न ही मुझे बाहर कुछ करने दे रही हो.

सेक्स के साथ ही अपनी पुरानी यादें ताजा की और फिर वहां से दुबारा मिलने का वादा करके चले आए. हालांकि मेरे मन में मामी के लिए उस वक्त केवल प्यार था और वो मुझे बड़ी खूबसूरत लग रही थीं.

मैं मुठ मार कर उनके सामने वीर्य निकाल देता था और वो अपनी चुत में उंगली करके झड़ जाती थीं. उसने हाथ से सहलाते हुए मेरी फुदी में अपना लंड डाल दिया और खड़े होकर मेरी कमर को पकड़ कर मुझे चोदना शुरू कर दिया. कहानी पर अपने कमेंट के जरिये मुझे जरूर बतायें कि आपको मेरी कहानी में मजा आया या नहीं.

उसे मैं किसी रंडी की तरह अपनी चूत और गांड की साइज पूरी तरह से दिखाने लगी. मेरे घर के लोग मेरी खुशी के अनजान रहस्य को समझने की कोशिश में आखिर में पूछ ही बैठे कि क्यूँ रे गीत … आज इतनी खुश क्यों है. शायद कल्पना में मैंने अपनी चूत को कुछ ज्यादा ही जोर से रगड़ दिया था.

इंडियन बीएफ वीडियो दिखाएं बेटा शैली, तुम मेरी सेक्स की जरूरतें पूरी तो नहीं कर सकती लेकिन कम जरूर कर सकती हो. अंकल मेरी मां की गांड की चुदाई इतने जोर से कर रहे थे कि उनके टट्टे मेरी मां के चूतड़ों पर आकर टकरा रहे थे और चट-चट-चट की आवाज हो रही थी.

बीएफ गधे वाली

मैं आपके लिए आगे भी इसी तरह चुदाई की गर्म कहानियां लेकर आती रहूंगी. मेरे दोस्त लोग मुझ पर कॉमेंट करते थे- यार, तेरी दीदी तो काफ़ी हॉट माल है … बिना शादी के कैसे रह लेती है?कोई बोलता- यार सारी भूमिहार लड़कियां ऐसी ही होती हैं. उसके बाद उसने अपनी गांड उठाई और मेरे लंड पर अपने चूतड़ों को रगड़ने लगी.

मैं इधर से उसे बोलता- हां ले रानी … मैं तेरी चुत में लंड पेल रहा हूँ. उसने मेरे कंधों पर दोनों तरफ हाथों से थाम लिया और उसके बाद उसने उछलना शुरू कर दिया. लड़के सेक्स कैसे करते हैंमैं- अरे तुम क्यों दे रहे हो, मैं दे देती हूं न … मेरे ही तो सारे कपड़े थे.

वो भला फ्री में किसी को सोने की अंगूठी देकर क्यों जायेंगे?वो कहने लगी- तेरे बारे में सारे मौहल्ले में खबर फैली हुई है.

अब मुझे दो ब्वॉयफ्रेंड सँभालने थे, मैं दोनों में से किसी को नहीं छोड़ सकती थी … क्योंकि एक मेरी पैसों की जरूरत पूरी कर रहा था और दूसरा मुझे मेरी चुत ठंडी करने के लिए चाहिए था. अब मुझसे खड़े नहीं रहा जा रहा है।अभय सेठ ने कहा- मगर पहले एक बात तो बता बंध्या रंडी, हमारे अलावा अगर और मर्द होते तो क्या उनसे भी चुदवाती तू?मैं बोली- हां मैं सबसे जम कर चुदवाती.

मैं भी उसके सर के नीचे से अपने हाथ डालकर उसके सर को अपने मम्मों पर दबा रही थी. संजू इस वक्त कैपरी और स्लीवलैस शर्ट पहने थी, जिससे उसकी जवानी कयामत ढा रही थी. मैंने फिर भी उसको अनसुना कर दिया और पीछे धकेल दिया और उसकी एकदम गोरी गुलाबी चुत को चूम लिया.

उसने बताया- मज़ा आ गया … अच्छा लण्ड और अच्छी चुदायी थी।उसके चहरे से खुशी साफ़ दिख रही थी।उसके बाद ये हमारा खेल चलता रहा काफी टाइम तक! उसके बाद उसने अपनी एक सहेली को भी मेरे से चुदाया.

सेक्सी भाभी की चुदाई की कहानी के अगेल भाग में पढ़ें कि क्या मैं अपनी प्यासी चूत ड्राईवर से चुदा पाई?[emailprotected]कहानी का अगला भाग:ऑटो ड्राइवर ने सारी रात चोदा-2. मालकिन को भी शायद अच्छा लग रहा था इसलिए उसने खुद ही अपनी साड़ी को और ऊपर खींच लिया. मैंने भी उसकी कमर को थाम लिया और उसको लंड पर उछलने में मदद करने लगा.

बॉस के साथमैंने कहा- टाइम फिक्स नहीं कर सकता लेकिन रोज किसी भी समय एक घंटा पढ़ा दिया करुंगा. क्योंकि जब एक बार वो चोदना शुरू करता है, तो बिल्कुल जालिमों की तरह चोदने लगता है.

योगा बीएफ एचडी

तभी विवेक ने जोर से अपना अंगूठा मेरी चूत में डाला कि मेरे मुंह से सी… सी. जब भी कोई लड़की मेरे पास किसी काम से आती थी तो मेरा ध्यान उसकी चूचियों की वक्षरेखा पर चला जाता था. मगर सच कहूँ, मुझे इस तरह अपने शौहर से फरेब करना बड़ा अजीब लग रहा है.

अब प्रीत ने भी अपने डैडी का बिजनेस ज्वाइन कर लिया था, तो वो अब बहुत बिजी रहने लगा था. ‘प्रिया मैं तुम्हारी परेशानी को समझ सकता हूं … लेकिन मैं तुम्हें यकीन दिलाता हूं कि मेरी वजह से तुम्हें कभी कोई परेशानी नहीं होगी … हमारे बीच जो कुछ भी होगा, वो तुम्हारे, हमारे और श्वेता के बीच ही रहेगा … तुम्हारे मम्मी और पापा को कभी नहीं पता चलेगा. संदीप आदमजात नग्नावस्था में था और मैं अभी भी ब्रा पैंटी की कैद में बंधी हुई थी.

मैंने उंगली धीरे धीरे करके काफी अन्दर कर दी थी और उसकी चुत की गर्मी का मजा लेना चालू कर दिया था. अब अगले दिन शुक्रवार था, पर रोहित बालकनी में आया नहीं … ना ही उसके जाने की आवाज़ आयी।मुझे कुछ गड़बड़ सी लगी आज तो कॉलेज स्कूल छुट्टी भी नहीं थी. अब मेरा भी पानी छूटने वाला था, तो मैंने उसके मुँह से लंड निकाल लिया.

कुछ पल का विराम देकर मैंने उसकी चूचियों को अपने हाथों में पकड़ लिया और उसकी चूत में लंड को आगे पीछे करने लगा. उसने तुरंत अपना लंड निकाला और एक ही झटके में मेरी चूत में लंड उतार दिया … जिससे मेरा दर्द और बढ़ गया.

मैंने अपना मुँह हटाया और कहा- हम ह्म्म्म्म … हाथ हटा मादरचोद … जान लेगी क्या … मेरा सर घुसवाएगी क्या भैनचोद सांस भी नहीं आ पा रही है.

मुझे यकीन हो गया था कि चाची ठीक तरह से सेटिस्फाई नहीं हो पा रही है. प्रोन वीडियोमैंने प्रीति को कहा- प्रीति, कभी इस चुदाई को भूल नहीं पाऊँगा मैं!प्रीति मेरे सामने बिना कपड़ों में मेरी गोदी में बैठी थी. बुर में लंड बुर में लंडयह बात 7 साल पहले की है जब मैं अपनी स्कूल की पढ़ाई खत्म करने वाला ही था. उसने कहा- अपनी ही सहेली से गाली खाने में हर्ज ही क्या है … और गीत डार्लिंग वैसे भी मुझे तू गालियां नहीं दे रही थी, मुझे तो तेरे प्यार की बेचैनी ने गालियां दी हैं.

दरअसल मैं उससे बातें करके उसे सामान्य करना चाहता था ताकि वो मुझसे ना शरमाए.

ममता मेरा लण्ड पकड़कर वो खेलने लगी, कभी चूमती, कभी चाटती और कभी चूसने लगती. मैम फिर दीदी की तरफ देखते हुए बोली- क्या बात है प्रिया आज बहुत उदास लग रही हो?श्वेता दीदी- कुछ नहीं मैम, इसकी थोड़ा तबीयत खराब है. पैंटी के अंदर हाथ डाला तो उंगलियां उसकी चूत के रस से चिपचिपी हो गयीं जिसे मैंने मुंह में डालकर उसकी चूत के पानी का स्वाद चखा।नमकीन सा स्वाद था उसकी चूत के पानी का जो मुझे काफी पसंद आ रहा था.

ये मेरा पहला अनुभव था, जिसकी उत्तेजना की वजह से मैं कुछ ही मिनट में ही आंटी की मुँह में झड़ गया. मेरी हाइट 5 फीट 7 इंच है और जबकि मेरी दीदी आरती की हाइट 5 फीट 6 इंच है. हमने बड़े मजे से खाना खाया और इस दौरान हम दीदी से और ज्यादा घुल-मिल गए … या कहा जाए, तो खुल गए.

सेक्सी बीएफ वीडियो मोटी औरत की

आलिया- आहह ओह भाई याह अम्मह आह ओह भैया आपने तो मेरी गांड की मां चोद दी. मैंने मीना के होठों पर होंठ रख दिये और उसके चूतड़ दबाने लगा जिससे वो मदहोश होने लगी. पर कुछ ही देर में मुझे ऐसा लगने लगा था कि साली जंगली बिल्ली की तरह मुझे सालम खा जाना चाहती थी.

नंगी सायरा ने अपने कपड़े मेरे बेड पर देखे तो वो ठिठक गयी और मुझे देखने लगी।उसके मन के संशय को मिटाने के लिये मैं बोला- मैं ही लाया हूं।हल्की सी मुस्कुराहट के साथ उसने बेड पर ही पड़े मेरे तौलिये को लिया और अपने जिस्म को अच्छे से पौंछने लगी.

अगर दर्द होगा तो हम फिर कभी करेंगे।वो ना नुकुर करने लगी अंत में मान ही गयी।अब मैं उठा और अपने लण्ड को एक हाथ से पकड़ कर उसके मुँह के पास चला गया और उसे चूसने को कहा.

मैंने भी अपने दोनों हाथों से उनकी कोली भर ली और अपनी गर्म चूत में लंड का अहसास करने लगी. हम दोनों अपनी बहन को बेरहमी से चोदने में लगे थे और वो दोनों जोर से चिल्लाते हुए गांड मारने के लिए मना कर रही थीं. दिल्ली सेक्सी पिक्चर वीडियोहल्का सांवला चेहरा, काफी पतली कमर, थोड़ी सी उठी हुई गांड और छोटी-छोटी चूचियां कयामत ढा रही थीं.

खैर … ये सब तो उसे कल्पना करने के लिए बताया जाता है, जिस बताने के लिए कोई उदाहरण न हो. कल जब से तुम्हें देखा … तब से दिल दिमाग और लंड … तुम्हारी गांड के छेद पर अटका है. मैंने धीमे से कहा- आंटी कल तो आप जा ही रही हो, तो मेरे साथ इस सेक्सी नाईटी में एक बार फिर आ जाओ न.

इसके बाद हम जीजा-साले ने मिलकर पूरे घर की सफाई कर दी, वाशिंग मशीन में कपड़े डाल कर धो लिए, उन्हें सुखाने का काम पूरा किया. मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूं?फिर मैंने अपनी जेब से फोन निकाला और मॉम की पोर्न वीडियो बनाने लगा.

मैंने चाची की चूत को चाटना शुरू किया और उन्होंने मेरे लंड को चूसना शुरू किया.

जब मैं संगीता को पढ़ा रहा होता तो मीना हम दोनों के लिए चाय नाश्ता ले आती. उसने मुझे थैंक्स कहा।मैं जानती हूं कि आज के समय में भरोसा करना मुश्किल है लेकिन कभी-कभी आपको वह मिल जाता है जो आप दिल से चाहते हैं।मुझे भी थोड़ा भरोसा करने लायक एक दोस्त मिल गया था. भाभी ने कहा- क्यों, किस्मत में क्यों नहीं हूं मैं? अगर तुम चाहो तो मुझे अपनी बना सकते हो.

घड़ी सेक्सी वीडियो दिखाइए मूवी ज्यादा अच्छी नहीं थी, तो हम दोनों विक्की के फ्रेंड के फ्लैट पर आ गए. थोड़ी देर बाद वो आ गया, विक्की बोला- क्या हुआ?मैं बोली- कुछ नहीं, मुझे डर लग रहा है.

तेरे जीजा रात में मेरी ऐसे बजाते हैं कि उसकी झनझनाहट कई दिनों तक मेरी चूत में गूंजती रहती है. मैंने अपनी इस पोस्ट में एफबी पर उसकी तरह कोई बंदिश नहीं लगा रखी थी. इस चारदीवारी ने मुझे जाने कितनी रातें बेबसी के आलम में सिसकते हुए देखते गुज़ारी हैं और इसी चारदीवारी ने मुझ अभागिन पर नसीब को मेहरबान होते देखा है, आपको मुझ पर क़रम करते देखा है, मेरे प्यार को परवान चढ़ते देखा है.

सेक्सी बीएफ खून खच्चर वाली

सारा थूक मॉम के मुंह से गिरता हुआ उनकी मस्त मुलायम चूचियों पर गिर रहा था। यह चीज शर्मा अंकल भी देख रहे थे और फिर वो मॉम की गर्दन को अपनी जीभ से चाटते हुए मॉम की चूचियों पर पहुँच गए. मालिश वाले लड़के के जाने के बाद पायल बोली- नानू आप रोज मालिश करवाते हैं क्या?उसकी ओर देखते हुए मैंने कहा- हां, रोज कराता हूँ. फिर आलिया धीमे से उठकर बाथरूम में चली गई और हम तीनों ने एक एक पैग और बना लिया.

मैंने कहा- इसकी क्या जरूरत है?उन्होंने कहा कि मैं तुम्हें बताऊंगी कि तुम्हारे भैया मुझे कैसे प्यार करते हैं. कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मेरी (विशाल की) दीदी प्रीति के ब्वॉयफ्रेंड ने उसको ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया था.

जब मैं उससे अलग हो गई तो उसका अधूरापन उससे ज्यादा देर बर्दाश्त न हुआ और वो मुझ पर खिसियाने लगी- ये क्या दीदी!अब बीच में ही क्यों छोड़ दिया? मुझे आपसे ये उम्मीद कतई नहीं थी.

वो सब कुछ इतनी तेजी के साथ कर रही थी कि मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि कोई औरत किसी मर्द के जिस्म की इस तरह प्यासी हो सकती है. अगले दिन मैं फिर से जल्दी तैयार हुआ लेकिन फिर वो उसी किरायेदार से लिफ़्ट लेकर चली गयी. कुछ ही धक्कों के बाद स्नेहा भाभी भी जोर जोर से अपनी गांड को पीछे करने लगी थीं.

उन्होंने धीरे से कराहते हुए कहा- एक ही बार में डाल कर 5-6 धक्के मार दो … मेरी परवाह मत करो!ये सुनते ही मैंने लंड को बाहर को खींच कर बाकी लंड पर तेल की बूंदें टपकाईं और तेल की चिकनाई कुछ ज्यादा करते हुए एक जबरदस्त धक्का दे मारा. इसलिए मैं पोर्न देख कर मुठ मार लिया करता हूँ और अपनी जवानी की आग को शांत कर लेता हूं. आजकल मैं अपने काम में बहुत बिजी रहती हूं, तो मैं सभी को रिप्लाई नहीं कर पाती हूँ.

अब वो मेरी चूत के दाने को सहलाते हुए उंगलियां अन्दर बाहर कर रही थीं.

इंडियन बीएफ वीडियो दिखाएं: जब भी गर्म पानी के छींटे उसकी चूत पर लग रहे थे तो उसकी चूत में दर्द हो रहा था. उसकी आंखें इतनी मादक और आकर्षक हैं, जिससे कोई भी मर्द उसकी तरफ आकर्षित हो जाए.

हम एक दूसरे को चूमते हुए एक दूसरे के वस्त्र उतारते हुए उनके बेडरूम जाने लगे. उसके साथ सेक्स करने के लिए मेरे मन में पहले दिन से ही ख्याल आने लगे थे. फिर दो चार धक्कों के बाद अंकल ने अपना लंड मेरी गांड से निकाल कर चूत में डाल कर सारा वीर्य मेरी चूत में भर दिया.

ऐसे ही बड़बड़ाते हुए वह जोर जोर से ऊपर नीचे अपनी गांड को हिला रही थी.

लोहा पूरी तरह से तप रहा था, मैंने ज्योति को बेड पर लिटा कर अपने लण्ड का सुपारा उसकी बुर पर रगड़ना शुरू किया तो वो चूतड़ उचका उचकाकर लण्ड को बुर में लेने की कोशिश करने लगी. फिर उसने मेरी टांगों के बीच में हाथ ले जाते हुए मेरी पैंटी के ऊपर से मेरी चूत को मुट्ठी में भरने की कोशिश करते हुए उसको दबा कर देखा. धीरे-धीरे लंड ने अपना आकार ले लिया और वह जोर से मेरे मुंह को चोदने लगा.