मीनाक्षी का सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी में बीएफ सेक्सी चुदाई वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

বেঙ্গল ব্লু ফিল্ম: मीनाक्षी का सेक्सी बीएफ, उसके कहने पर मैं झुक गई और उसने पीछे से मेरी प्यासी, चुदासी और गीली चूत में अपना लंड घुसा दिया.

इंडियन देहाती ब्लू पिक्चर

फिर मैंने पति की जांघों पर अपने हाथों का सहारा लेते हुए अपनी गांड को उनके लंड पर उछालना शुरू कर दिया. सेक्सी बीएफ दिखाना वीडियो मेंवो दोनों हाथों से मेरे चूचों को दबाने लगा और हाथों में लेकर मसलने लगा.

हर्ष मुझे लंबी रेस का घोड़ा लग रहा था, वह मुझे बहुत बुरी तरह से चोद रहा था. देसी सेकसी बीडीओवैसे भी अब उसका जिस्म सुलग चुका था और बेशर्मी उस पर हावी थी क्योंकि पानी से बाहर आते ही दोस्त की बीवी ने तो अपनी अंडरवियर पहन ली थी लेकिन मेरी वाली बेधड़क नंगी ही रेत पर चल रही थी.

मेरे चूतड़ देख कर वह मस्त हो गया- यार, तेरे तो चूतड़ क्या हैं … लौंडियों को मात करते हैं.मीनाक्षी का सेक्सी बीएफ: मैं अपनी बीवी को आंखों के इशारों से कह रहा था कि आज रात में हम बहुत मस्ती करेंगे.

मैंने फिर चुटकी ली- भाभी जान, ऐसे ही बाहर आओगी क्या?उन्होंने कुछ जवाब नहीं दिया और कहा- प्लीज जल्दी दे दो, ठंड लग रही है।मैंने भी ज्यादा देर न करते हुए उन्हें ब्रा पैंटी और गाऊन दे दिया। मेरे मन से डर निकल चुका था, जब कपड़े दे रहा था तो मैं अंदर झांकने की कोशिश भी कर रहा था।भाभी दरवाजे के पीछे सिमटी हुई थी पर उनकी पीठ, गांड और सीने के उभार थोड़ा दिख रहा था।मैं गरम हो रहा था।भाभी दो मिनट बाद बाहर आई.फिर वो धीरे धीरे मेरी नर्म गुदाज गांड पर हाथ फेरने लगा। मैंने उसका हाथ हटा दिया और उठ बैठा।उसने लाइट ऑन की और मुझे बुरी तरीके से घूरा। उसने लाइट ऑन ही रहने दी और मेरे सामने ही अपनी अंडरवियर नीचे खिसका दी।मैंने आंखें बंद कर ली। तब तो मुझे साइज का कुछ पता नहीं था पर अब लगता है उसकी बीवी उसको देती नहीं रही होगी तभी उसने ऐसी हरकत की.

ऐश्वर्या राय सेक्सी बीएफ - मीनाक्षी का सेक्सी बीएफ

परवीन आंटी मुझे पीछे से चूम रही थीं और हिना आंटी मेरे लंड को सहला रही थीं.मेरा लंड तनना शुरू हो गया था और मेरी लोअर में एक तरफ आकर उसने आकार ले लिया था.

” नीलम से अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था। वह जल्द से जल्द अपनी चूत में अपने ससुर का मोटा लंड घुसवाना चाहती थी इसीलिए उसने ज़ोर से सिसकारते हुए कहा।ओहहहह बेटी… यह ले, मैं अभी तुम्हारी चूत में लंड घुसाता हूँ. मीनाक्षी का सेक्सी बीएफ फिर मैंने उन सभी को किसी तरह मना लिया और मैं नौकरी के लिए चंडीगढ़ चली गयी.

मैं, चाची जो सामान लायी थीं … हनी चॉकलेट सीरप वगैरह और हिना आंटी के सामान डिल्डो, हैंड कैप्स ब्लाइंड फोल्ड … वो सब एक बैग में डालकर हाथ में पकड़े आ रहा था.

मीनाक्षी का सेक्सी बीएफ?

मैं समझ गया कि क्या करना है, मैंने उनकी चुत के ऊपर दाने को चाटना शुरू कर दिया. उसकी चूत की बारिश से मैं भी पिघल गया और मैंने अपना पूरा वीर्य उसकी चुत में ही छोड़ दिया. तभी वह झटकते हुए बोली- छी: वहां पर भी कोई करता है क्या?मैंने उसको बोला- लड़की के तो दोनों छेद ही लंड डालने के लिए बने होते हैं.

उस टाइम पर मोबाइल तो हुआ नहीं करते थे, तो हम लोग सेक्सी किताबों को देख देख कर ही छत पर बैठ के मुठ मारा करते थे. यह कह कर मैंने उसे बेडरूम और टॉयलेट वाले किस्से के बारे में सब बता दिया. मैंने उसको वहीं पर छोड़ दिया और उसके नीचे से होते हुए उसके होंठों पर आ गया.

नीता ने एक खीरा रेखा की ओर उछाल दिया और अपना खीरा अनीता की चूत में घुसा दिया. अमूमन सोसाइटी में पूल फ्लैट्स के पास होते हैं पर यहाँ पूल सोसाइटी के क्लब के पीछे की ओर बना था, जहां कुछ एकांत सा रहता है, शायद इसीलिए सात बजे के बाद लोग अपने बच्चों को नहीं भेजते थे. वो बोली- तुम हर शनिवार और रविवार मेरे पास आ जाया करो और इसी तरह से मज़ा ले लिया करो.

चूंकि उसने कमीज़ के नीचे कुछ नहीं पहना था, इसलिए उसके मम्मे सागर के हाथों से दब रहे थे. पहले तो मैंने एक दो बार छुड़ाने का झूठा नाटक किया लेकिन उसके बाद मैं भी प्रशांत का साथ देने लगी.

उसकी वाइफ ने मेरी पत्नी की नाइटी एकदम ऊपर कर दी और फिर पेंटी भी उतार दी.

मैंने वापस मुड़ कर देखा तो उसकी छाती पर से उसका दुपट्टा उतर चुका था और केवल एक ही कंधे पर लटक रहा था.

मैंने एक ज़ोरदार धक्का दे दिया, मेरा पूरा लंड उनके अन्दर घुसता चला गया. अभी कुछ ही देर हुई थी, मैं उसके बदन से खेल रहा था कि उसने मुझे धक्का देकर नीचे कर दिया और खुद मेरे ऊपर आ गयी और मेरे होंठों को और सीने पर पागलों की तरह चूमने लगी. दिलावर बोला- गीता रानी, रात को मंजू के साथ तैयार रहना, उसके पास फ़ोन है.

उसको देख कर तो कोई भी लड़की उससे चूत चुदवाने के लिए तैयार हो सकती थी. उसके जाने के बाद मैंने बिस्तर पर बिछी चादर को बदल कर बाल्टी में भिगो दिया ताकि किसी को मेरी चुदाई के बारे में शक न हो. मैंने उसे जोर से अपनी बांहों में भर लिया और उसे गोद में उठा कर अन्दर कमरे में ले आया.

जब आंटी काफी गर्म हो गई तो आंटी के पैर ने हल्का सा दबाव मेरे लंड पर बनाना शुरू कर दिया.

जब मैं उसके कमरे की तरफ जाने लगा तो दरवाजे के पास पहुंच कर मुझे अंदर से कामुक आवाजें सुनाई दे रही थीं. इस बात का कुछ असर हुआ और सागर ने चड्डी छोड़ कर सारे कपड़े उतार दिए. स्स्स … हाय … मेरे मुंह से कामुक सिसकारियां ऐसे फूट रही थीं जैसे साक्षात कामदेव की आत्मा मेरे अंदर प्रवेश कर गई हो.

’ उसने अपने आप से कहा और जैसे जैसे उसका बदन ठंडा पड़ता गया, उसका बदन शांत हो गया लेकिन चूत और गांड में दर्द अभी भी था।अब बेचारी क्या करती, कोई चारा नहीं था उसके पास … उसने किसी तरह रोटियां पकाई।वक़्त बीतने के साथ साथ दर्द बढ़ता जा रहा था, उसने पानी हल्का गर्म किया और एक कपड़ा लेकर टाँगों पर लगा हुआ वीर्य साफ किया और फिर अपनी चूत और गांड को गर्म पानी से साफ करने लगी. समय निकाल कर वो भी मेरे रूम पर चली आती और हम एक दूसरे में लिप्त हो जाते, हमारे बीच चूत लीला शुरू हो जाती. मेरे हाथ का बना खाना खाइयेगा और उसके बाद मेरी तरफ से थैंक्स गिविंग पार्टी.

वो उसे देख कर बुरी तरह शरमा गयी और उसने अपने दोनों हाथों से अपना चेहरा ढक लिया.

अब शबनम उह … आक्ह … क्या कर दिया तुमने राजीव … अब जल्दी से घुस जाओ अंदर, मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा …राजीव ने उसकी चूत चाट कर उसका पानी छुड़ा ही दिया … उसका पूरा मुँह भीग गया … अब वो 69 पोजीशन में आ गए. मैंने बेडशीट धुलने डाल दी, फिर ऐसे ही एक दूसरे की बांहों में लेट गए.

मीनाक्षी का सेक्सी बीएफ मैं खाना लेने गया ही था कि उसने मुझे कॉल किया कि तुम 2-3 बियर लेते आना. आपको मेरी आज की गांड चुदाई कहानी कैसी लगी मुझे मैसेज करके बताना और कमेंट भी करना अगर अच्छी नहीं लगी हो तो.

मीनाक्षी का सेक्सी बीएफ थोड़ी देर बाद जब हम दोनों अलग हुए तो मैंने उसे अच्छे से देखा, उसने साड़ी पहन रखी थी. सर के लंड को अपने हाथों से हिलाते हिलाते, मैंने सर को बेड पर धक्का दे दिया.

मेरे घर में मैं और मेरी पत्नी शहर में रहते हैं और मेरे मम्मी पापा गांव में रहते हैं.

सेक्स सेक्स बीएफ एचडी

दोस्तो, जब लड़का लड़की से 5-6 साल बड़ा हो, तो वो उसे ज्यादा प्यार देता है. अब मेरा मन कर रहा था कि दीदी की पोजीशन बदलवा दूं लेकिन लंड चूसने की बात पर दीदी मुझसे गुस्सा हो गई थी इसलिए मैंने चुप रहना ही ठीक समझा. मेरे चेहरे पर थकान देख कर दीदी ने मुझसे कहा कि आकाश तुम अब आराम कर लो, हम कल बात करेंगे.

वो भी मुझे शादी करने के लिए तैयार थीं, लेकिन किसी वजह से उसकी फैमिली नहीं मानी और हमें अलग होना पड़ा. मेरी बुरी तरह चीख निकल गई, मैं उनकी पीठ को सहलाने लगी और वो धीरे धीरे मेरी चूत में झटके लगाते रहे. शावर के नीचे भी चिपट कर दोनों ने मजे किये … नहाते नहाते राजीव का फिर खड़ा हो गया.

अभी मैं उससे कुछ कहना चाह रही थी कि यह क्या किया, तभी उसने एक और करारा सा धक्का दे मारा और उसका तीन चौथाई लंड मेरी चूत के अन्दर घुस गया था.

वो पूछने लगी- हम कहां मिलेंगे?मैंने उससे बोला- तुम अपने मायके आ जाओ, आगे का कार्यक्रम मैं बाद में बता दूंगा. जिस वजह से उसकी सफ़ेद शर्ट से उसकी ब्रा और निप्पल के उभार साफ़ साफ़ दिख रहे थे. उपिंदर ने पैंट और सफेद अंडरवियर उतार दिया और दीवार पे दोनों हाथ रख के खड़ा हो गया। शैली उसके पीछे बैठी, चूतड़ों को चूमा- हाय कितने दिनों बाद ये जवां मर्दाने चूतड़ और गांड मिल रही है प्यार करने को!फिर उसने चूतड़ फैलाये और उसके होंठ और जीभ शुरू हो गए। कभी चाटती, कभी चूमती, कभी चूसती।अंशु बोली- साली दीवानी हो गयी है.

वैसे भी बाहर जाकर अगर चूत न मारो तो फिर घूमने फिरने का मजा ही क्या. मैंने तो अपना वीर्य निकाल लिया लेकिन उसके बारे में तो मुझे ख्याल ही नहीं आया. जीशान क्यों किया ऐसा?मैं- आपको पता है कि मैं औरत का कितना सम्मान करता हूं और उसकी खुशी का ख्याल रखता हूँ.

इस तरह से आंटी के साथ मेरी नजदीकी और भी बढ़ गई थी क्योंकि जहां पर खाने तक बात पहुंच जाती है तो फिर ज्यादा कुछ और औपचारिकता नहीं रह जाती है. वो चिल्लाने लगी लेकिन मैंने अपने होंठों से उसका मुंह बंद किया और लंड बाहर खींच कर थोड़ा फिर और तेज झटका लगाया और पूरा लंड चूत में समा गया।उसके मुंह से आवाज़ निकली तो सही लेकिन लिप-लॉक होने के कारण इतनी नहीं निकली।मैं धीरे-धीरे धक्के मारने लगा और वो अब शांत हो गयी और चुदने का मजा लेने लगी। उसका दर्द कम होता जा रहा था और उसके मुंह से अब सिसकारियां निकल रही थीं.

वो मेरे चेहरे की तरफ देख रही थी और मैं उसके चेहरे को पढ़ने की कोशिश कर रहा था. मैं वो विदेशी दवाई को निकालने लगा, उसको कैसे यूज़ करते हैं, ये सब पढ़ रहा था. मेरा लंड उत्तेजित तो पहले ही था, अब 120 डिग्री पर पेट को लगने लगा था.

तो उसने भी मुश्ताक को कहा- नहीं ऐसा नहीं है!कह कर उसने मुश्ताक को किस किया.

तब डॉक्टर बोला- हां शायद हो गई साफ … लेकिन इसे पूरी तरह से चेक करना पड़ेगा. इतना कह कर वो कमरे के अन्दर आ गए और बोले- देखो रोहन … तुम मुझे बहुत अच्छे लगते हो और मैं ये भी जानता हूँ कि मैं भी तुम्हें अच्छा लगता हूँ, फिर दिक्कत क्या है?मैंने बोला- अंकल दिक्कत कुछ नहीं है … बस मैं थोड़ा शर्मीला हूँ. अन्दर आकर मैंने दरवाजा बंद किया, अपनी बांहें फैलाईं तो डॉली करीब आकर लिपट गई.

फिर उसने अपना लंड बाहर निकाल लिया और मैंने अच्छी तरह उसके लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया. इसलिए हफ्ते भर का माल उनके मोटे लौड़े में इकट्ठा हो गया था जो उनको इंतजार नहीं करने दे रहा था.

मैंने अपने घर पर बोल दिया था कि मैं अपने भाई के दोस्त की शादी में जा रहा हूँ. कुछ इस तरह दो लंडों का मजा देने के बाद हमने अपने लौड़ों को बाहर निकाल लिया. मैंने मुश्किल से उसको अपनी लोअर में छुपाया लेकिन उसका आकार अभी भी साफ दिखाई दे रहा था.

सेक्सी बीएफ बीपी हिंदी

उसने मेरे विरोध को दरकिनार करते हुए मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगी.

मैंने अपने बेकाबू से लंड को दीदी के हाथ में पकड़ा कर दीदी को चूसने का इशारा किया तो दीदी ने खड़ी होकर मुझे जोरदार तमाचा मारा और कहा- बहनचोद, मैं रंडी हूं क्या जो तू मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोल रहा है?दीदी की इस बात पर मुझे गुस्सा आया लेकिन मैंने कुछ कहा नहीं क्योंकि बना बनाया काम बिगड़ सकता था. अपने खुद के शरीर को देखते हुए और पूरे शरीर पर हाथ फिराते हुए उसके दिमाग में केवल अंकित का ही ख्याल आ रहे थे. मगर बीतते दिनों के साथ अब काजल भी चोरी-चोरी मुझे देखने की कोशिश करती थी लेकिन कभी खुलकर उसने भी मेरी तरफ नहीं देखा.

समय निकाल कर वो भी मेरे रूम पर चली आती और हम एक दूसरे में लिप्त हो जाते, हमारे बीच चूत लीला शुरू हो जाती. ”अच्छा? फिल तैसे थीत हुए?” गौरी की आँखें जैसे चमक ही उठी। उसे लगने लगा था अब तो उसकी समस्या का समाधान अवश्य ही मिल जाएगा।यार प्राइवेट बात है. प्रियंका चोपड़ा की सेक्सी वीडियो मेंमां और पापा के जाने के बाद विनय को फोन करके मैंने अपने घर पर बुला लिया.

अब रुचि झड़ना शुरू हो गई और उसकी सिसकियाँ और तेज़ हो गईंक़रीब पंद्रह मिनट तक मैं रुचि का मुखमैथुन करता रहा और वो झड़ती रही. एक दिन मैं दोपहर में किसी काम से बाहर चला गया, तो मैं उसके भाई को अपने सेंटर पर छोड़ आया.

ऐसे सेक्स करते करते हम दोनों चरम सीमा पर पहुच गए और हमारा का पानी निकल गया. तब उसने मुझे अपना व्हाटसअप नम्बर दे दिया और हम समय मिलते ही विडियो कॉल करने लगे. ऐसा अनेक बार होता है और जब सबके पार्टनर बदल जाते हैं तो दूसरा राउंड शुरू होता है जिसमें बोतल नीचे रख कर घुमाई जाती है.

उसने मुझे जगाया और मेरे लिए कॉफी बनाई और हम दोनों ने साथ में कॉफी पी. जोड़ी कैसे बनीं? यह जानिये …मुश्ताक को मिली नायरा;धीरज को मिली शबनम;राजीव को मिली पिंकीऔर राहुल को मिली सीमा. अपने खड़े हुए लंड पर सोनू ने कॉन्डम चढ़ा दिया और उसको मेरी गीली और चिकनी हो चुकी चूत पर रख कर मेरे ऊपर लेटता चला गया.

वो बोला- बस एक बार मुंह में ले लो, उसके बाद फिर से वापस निकाल देना.

इसलिये मैंने धीरे से उसके दोनों चूतड़ों को अपने हाथों से कस कर पकड़ा और एक जोर का धक्का उसकी गांड में दे मारा, जिससे मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी गांड में समा गया. मैंने कहा- मेरा मन भी कर रहा है कि मैं तुम्हारा लौड़ा लेकर मुंह में भर लूं.

दीदी की उम्र 28 साल थी, उनका फिगर 36-32-36 का बहुत ही सुंदर और भरा हुआ बदन था. उसके बाद मैं बेड पर ऊपर चढ़ गई और अपने दोनों पंजों को बेड से बाहर करते हुए अपना चेहरा और अपने चूचे मैंने बेड पर टिका लिये. तभी मैंने उनका अंडरवियर भी उतार दिया और उनके लंड को देखा, जो कि अब तक का मैंने सबसे बड़ा लंड देखा था.

जब मैं उसके घर में पढ़ाई कर रहा था, तो उसने पढ़ाई करते समय मुझसे बोला. कई बार घर आने में देरी भी हो जाती थी तो खाने की भी समस्या हो जाती थी। मेरी पत्नी की बहन जिन्हें मैं भाभी कहता था वो बहुत ही अच्छे स्वभाव की महिला थी, वो मेरा काफी ख्याल रखती थीं. मैंने भी देर न करते हुए अपना 6 इंच का लंड उनकी चुत के ऊपर रगड़ना शुरू कर दिया.

मीनाक्षी का सेक्सी बीएफ मैंने तभी संजना को कॉल किया तो उसने अभी भी मेरा फोन रिसीव नहीं किया. पंकज ने पूछा- ये क्या कर रही हो?तो सारिका हंस कर बोली- तुम्हारे पास तो मैं हूँ आग बुझाने को … पर राहुल की आग कौन बुझाएगा? इसीलिए आग पर पानी छिड़क कर उसे बढ़ने से रोक रही हूँ.

बीएफ वाला वीडियो बीएफ

इसी बीच मेरी बीवी सुधा भी मायके से लौट आई थी तो मुझे ज्यादा सावधानी रखने की जरूरत थी. मेरे भाई से चूत चुदाई की यह कहानी मेरे मुख से सुन कर मजा लें!https://cdn. मैं श्वेता को फिर से चोदने लगा और पूरा लंड बाहर निकाल कर फिर से पूरा घुसा देता था.

इस पोज़ में उसने मुझे 5 मिनट चोदा और मेरी चूचियों को चूस चूस कर लाल कर दिया. वीना आंटी को भी चुदने में अब मज़ा आने लगा था- आ ह आह आह और जोर से वरुण … फाड़ दे मेरी ये चूत तू आज … साली बहुत तड़पाती है मुझे. एक्स एचडी वीडियो हिंदीप्रशांत दीदी की चूत में धक्के देते हुए उसकी चूत की चुदाई करने लगा और दीदी उसके लंड को मजे से चूत में लेती हुई आवाजें करने लगीं.

” वह टेंस हो कर बोला।डोंट वरी नितिन … यह शॉर्टकट है … मैं पहले भी इस रास्ते पर आई हूं …” मैंने उसे तो बोल दिया पर वह स्कूल के वक्त की बात थी और उसके बाद मैं उस रास्ते पर कभी नहीं गयी थी।मैं दुआ करता हूँ कि तुम सही हो … अगर गलत हुई तो घूम कर वापस जाने का कोई फायदा नहीं होगा … तब तक ट्रेन छूट जाएगी.

चाची ने कहा- यहां रहने से मुझे बार-बार तुमको घर से बुलाना भी नहीं पड़ेगा तो मुझे भी आसानी हो जायेगी. वो उठा कर अपने बैग से कपड़ा ले आयी, उस कपड़े से उसने अपनी चूत और मेरा लंड को साफ़ किया.

जब वो मेरा लंड चूस रही थी, तभी मैंने थोड़ा सा झुककर उसकी ब्रा खोल दी और उसके बड़े बड़े चुचे उछल कर बाहर आ गए. इधर महेश ने अपनी बहू नीलम के कमरे में जाकर उसको गर्म कर दिया और उसको नंगी होने के लिए मजबूर कर दिया. मैं उसके होंठों को चूसने में लगा हुआ था और वो मेरी लार को पीने में लगी हुई थी.

चाची- वाह रे मेरे बेटे, इतना सब कुछ जानता है … किसने बताया ये सब? सच बता, तू पहले भी सेक्स किया है ना?मैंने थोड़ी शर्म से हां कह कर सर हिलाया.

जब तूफान ठहरा तब उसने कहा- तुम तो ऐसे मुझे चोद रहे थे जैसे मेरी जान ही निकाल दोगे।मैंने कहा- क्या करूँ … अपनी पत्नी को चोद रहा हूँ किसी और को नहीं!हम दोनों ही हंसने लगे और फिर उसके हम बाथरूम चल दिये फ्रेश होने!वहाँ भी फिर एक बार तूफान आया और फिर हम फ्रेश हो कर निकले. उसके जाने के बाद मैंने बिस्तर पर बिछी चादर को बदल कर बाल्टी में भिगो दिया ताकि किसी को मेरी चुदाई के बारे में शक न हो. ”मैं कहना चाहती हूं, तेरे चेहरे की लाली बहुत कुछ बता रही है … मेरी जान.

इंडियन कॉलेज xxxतुम अपने हाथ से ठीक तरह से मालिश नहीं कर पा रही होगी इसलिए दर्द नहीं जा रहा. आहाहा क्या मजा आ रहा था दोस्तो … मेरा लंड के तो वारे न्यारे हो गए थे.

बीएफ सेक्सी वीडियो कॉलेज

शर्ट का गला काफी गहरा था और दोनों चूचों के बीच की दरार काफी खुली दिखाई दे रही थी. आप लोग तो जानते होंगे कि ठंड के मौसम में पार्क कितना अच्छा लगता है. फिर वो जाने लगी और कुछ कदम चलने के बाद बोली- यदि आपको सही लगे तो मैं आपके साथ ही चलूं क्या?मैंने कहा- आपकी मर्जी है.

अपने लिए चाय लेकर मेरे पास वाले सोफे पर बैठ गई। हम तीनों चाय पी रहे थे तो मेरी नज़र बार-बार सुलक्षणा के बूब्स पर ही जा रही थी।बातों-बातों मैं मैंने महसूस किया कि आंटी की तबियत ठीक नहीं थी तो वो चाय पीने के बाद बोली- बेटा तुम दोनों बातें करो, मेरी तबियत ठीक नहीं लग रही है तो मैं थोड़ा आराम कर लेती हूं. ” समीर ने अपनी बहन को निहारते हुए कहा।बस अब आगे कुछ भी बोले तो मेरे मरा मुंह देखोगे. कई दिनों के बाद पति का मोटा लंड ले रही थी इसलिए एक बार मुझे काफी दर्द हुआ लेकिन मेरे पति मेरी बहुत चुदाई कर चुके हैं इसलिए मुझे उनका लंड लेने में ज्यादा परेशानी नहीं होती.

उनमें से सीमा तो ज्यादा ही मस्त थी और स्वीमिंग सीखना चाहती थी, वो बरमूडा और टी शर्ट पहन कर आई थी. खैर फिर वो शाम आ ही गयी जिसका मुझे इंतज़ार था। कैब का कॉल आया और मैं घर से बाहर आ कर सड़क पर खड़ा होकर इंतजार करने लगा. उसकी गोल गांड में मेरे लंड के झटके लग कर मेरा हाल बेहाल हुआ जा रहा था.

गर्मी का दिन था तो विवान भैया जब भी आइसक्रीम खरीदते थे तो मेरे लिए जरूर खरीदते थे. मेरे बॉस ने मुझे पिक किया और वो मुझे देखते ही बोला- वाह आज तुम बहुत सेक्सी लग रही हो.

मैं उसके चूतड़ों को बड़ी वासना से देख ही रहा था कि तभी उसने पीछे पलट कर कहा- आप मुझे ऐसे क्या देख रहे हो … चलो बिस्तर पर जाओ.

अब मैं हैंडसम तो था ही, तो मुझे मेरी क्लास की लड़कियां मुझे खुद ही लाइन देती थीं, पर मैं किसी को भाव नहीं देता था. ववव क्सक्सक्स सेक्सीफिर दो मिनट के बाद मेरे लंड ने भी अपना लावा आंटी की चूत में निकाल दिया. एक्स वीडियो हिंदी में दिखाइएजोड़ी कैसे बनीं? यह जानिये …मुश्ताक को मिली नायरा;धीरज को मिली शबनम;राजीव को मिली पिंकीऔर राहुल को मिली सीमा. मैं रुक गया और बोला- मॉम पहले एक वादा करो, तुम रोज़ मुझसे चुदवाओगी.

मैंने फ्लैट का दरवाज़ा खोलने से पहले उससे अपने फ्लैट की दशा के बारे में बता दिया कि मेरा थोड़ा गन्दा होगा, तो तुम्हें मैनेज करना होगा.

ऐसा करते करीब 2 महीने बीत गए और फिर उसने मुझे एक आश्चर्यचकित कर देने वाली बात बताई कि वो मेरे बच्चे की माँ बनने वाली है।मैंने पूछा- कैसे?तो उसने बताया- जब अंतिम बार हमारे बीच में सेक्स हुआ था तो मैंने उसके बाद कोई दवा नहीं ली थी क्योंकि मुझे पहले से ही पता था कि मेरी शादी की बात कहीं और चल रही है और हमारी शादी सम्भव नहीं है. इतने में ही मेरी सास कहीं से बीच में आ पड़ी और उस दिन मेरे अरमान सब पानी में बह गए. मैंने इसके दूधों को दबाते हुए इसके होंठों को चूस डाला और फिर इसकी गर्म चूत में लौड़ा भी पेल दिया.

मैंने फांकों को रगड़ते हुए उनकी फुद्दी के अन्दर उंगली करनी चालू की, वो अन्दर से बहुत मुलायम और गीली थी. फिर उसने मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर अपनी चूत के मुँह पर रखा और मुझे इशारा किया, तो मैंने जोर लगा कर धक्का दे दिया. लंड चूसते हुए ही उसने मेरे आंडों को भी सहलाना शुरू कर दिया और एक मेरी गोटी को उसने अपने मुँह में ले लिया.

बीएफ भाभी की चुदाई दिखाओ

फिर उसने मुझे अपने केबिन में बुलाया और पूछने लगा कि तुम्हारे सामने एक गैर मर्द ने तुम्हारी बीवी की चुदाई कर दी तो तुम्हें बुरा नहीं लगा?मैंने कहा कि शुरू में तो मुझे बहुत गुस्सा आया था लेकिन फिर बाद में सब नॉर्मल लगने लगा था. हम दोनों ऐसे ही मजाक करते हुए एक दूसरे को छेड़ रहे थे कि तभी मीनू हम दोनों को ढूंढती हुई आ गयी. जैसे ही उसने कमीज उतारा, मैं उसकी ब्रा पर टूट पड़ा और उसकी ब्रा के ऊपर से उसके चूचों को दबाते हुए उसके होंठों को काटने लगा.

अब मेरा भी पानी निकलने वाला था, मैंने मॉम से बोला- रस कहां निकालूं?तो मॉम ने कहा- बेटा अन्दर ही अपना पानी निकाल दो, मैं तुमको महसूस करना चाहती हूं.

जैसे कि दोस्तो … मैं आपको पहले भी बता चुका हूं कि लड़कियों की बड़ी सी गांड मेरी सदा से ही कमजोरी रही है.

ये लड़की कौन बैठी थी तुम्हारे साथ हॉल में?” मैंने सहजता से पूछा।काजल… मेरे कॉलेज की दोस्त है। हम दोनों एक ही क्लास में हैं।”‘ओके’ इससे ज्यादा न तो मैंने कुछ कहा और न ही सुमिना से कुछ और पूछने के लिए मेरे पास अभी था। वो कहते हैं न कि ‘ठंडा करके खाना चाहिए…’ बस उसी नीति का ख्याल आ गया था।मैं हॉल में जाकर टीवी देखने लगा. फिर मैंने उसे कुतिया बना दिया और उसके पीछे जाकर अपना लंड एक ही शॉट में पूरा अंदर डाल दिया. मराठी व्हिडीओ ट्रिपल एक्सशाम को जैसे ही उन्होंने मुझे देखा, वो एकदम मचल गए और घर में घुसते ही मुझे जोर से बांहों में कस लिया.

अगर आप सबको मेरी ये सच्ची कहानी अच्छी लगी हो, तो मुझे मेल जरूर करना. साथ में यही डर था कि कहीं नेहा ने मुठ मारने वाली बात आंटी को बता न दी हो. 30 बज रहे थे इसलिए ज्यादा विस्तार में पूछे बिना हम दोनों ने कपड़े पहने और अपने अपने बिस्तर पर लेट गए.

मैंने उठते ही पति के लंड को अपने मुंह में लेकर उनका लंड गीला कर दिया. कहीं ऐसा न हो कि मैं आपके गंदे कमेंट्स के कारण आगे कहानी लिख ही न पाऊं.

दोस्तो, आगे की कहानी में मैं आपको बताऊंगी कि कैसे मैंने ससुर जी और उनके दोस्त से अपनी चूत की चुदाई करवाई लेकिन अभी वो कहानी मैं बाद में सुनाऊंगी.

उसने गुस्से में मुझे डांट तो दिया लेकिन अब उसको बात संभालनी मुश्किल हो रही थी. उस पल का आनंद यहां शब्दों में लिखना तो मुमकिन नहीं लग रहा है लेकिन वो अहसास इतना आनंदमयी था कि ऐसा लग रहा था कि इससे ज्यादा मजा किसी और चीज में हो ही नहीं सकता है. उसके लाल रसीले होंठ बिना बोले भी राहुल को बुला रहे थे पर राहुल तो मंत्रमुग्ध सा बैठा था.

संभोग करने की वीडियो कामुकता से भरी इस सेक्स कहानी में अभी तक आपने पढ़ा कि मैं अपनी कुंवारी गर्लफ्रेंड को उसकी सहेली के कमरे में एक बार चोद चुका था. मैंने अपने फोन को हाई वाइब्रेशन मोड पर सैट किया और आंटी के फोन से उस पर फोन करने लगा.

अपने दोनों हाथों की कुहनियों को घुटनों पर टिका कर अपनी ठुड्डी उस पर सेट कर रखी थी. डीवीडी के चलते ही स्क्रीन पर एक मस्त लंड आ गया और आवाज़ आने लगीं कि मैं एक लंड हूँ, जिसका काम है मूतना. मम्मी के जाने के बाद मैंने लगातार आंटी के बारे में सोच कर दो बार मुठ मारी.

सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी में

मैंने एक को जैसे ही अपने मुँह में लिया, उसने मुझे अपने सीने से चिपका लिया. रेखा और अनीता को उस दिन एक खीरे से चुदाई करते देख नीता की हिम्मत पड़ गयी कि वो अपना वाइब्रेटर इन सबको दिखाए जबकि इसके बारे में तो उसने अंकित को भी नहीं बताया था. मैंने उसे ज्योति को देते हुए कहा- आई लाइक यू ज्योति!उसने हंसते हुए फूलों के गुलदस्ते को लिया और कहा- मी टू.

मैं उसकी दोनों टांगों के बीच में आ गया और अपने लंड को उसकी चूत पर सही जगह सैट कर दिया. मैं नौकरी ढूँढ रहा था, तो मेरी बुआ जी ने मुझे एक जगह जॉब बताई और कहा कि मैं उनके यहां आ जाऊं, तो वहीं से जॉब के लिए इंटरव्यू दे दूं, तो आसान रहेगा.

” नीलम ने अपने पति को चेतावनी देते हुए कहा।भाड़ में जाओ!” समीर ने गुस्से से अपना अंडरवियर पहन लिया और कमरे से बाहर निकल गया।समीर बाहर आते ही सोफ़े पर बैठ गया.

तुमने मुझे पहली बार देखा है क्या? अभी आधे घंटे पहले तक तो तू मेरी बेटी जैसी थी. विनय मेरे साथ पोर्न देखने लगा और फिर उसका हाथ मेरे एक दूध पर आकर उसको दबाने लगा. अपनी मदमस्त सास के स्तनों को सहलाते हुए मैंने उनसे पूछा कि आपने सात साल से सेक्स का आनन्द नहीं लिया, क्या आपको कभी अन्दर से तड़प नहीं होती थी?वो पहले तो शर्मा गईं और कुछ नहीं बोलीं.

मुझे मकान मालकिन की बीवी यानि मेरी भाभी पसन्द आ गयी थीं, मैं उन्हें चोदने के सपने देखने लगा. मैंने सोचा कि अब उसके घर आ ही गया हूं तो उसके माता-पिता का हाल ही पूछता चलूं. पांच-सात मिनट तक नंगी चूचियों और चूतों को मन ही मन सिसकारियां भरते हुए देखने के बाद आखिरकार मैंने अपने अंडकोषों में हवस की गर्मी से उबल रहे वीर्य पर नियंत्रण खो दिया और मेरे तने हुए लंड ने अपना सारा उबाल वीर्य के रूप में अंडरवियर में ही उड़ेल दिया.

उस रात अर्पित भी मुझे चोदना चाहता था, लेकिन मेरी गांड बुरी तरह से परपरा रही थी.

मीनाक्षी का सेक्सी बीएफ: वीना आंटी को भी चुदने में अब मज़ा आने लगा था- आ ह आह आह और जोर से वरुण … फाड़ दे मेरी ये चूत तू आज … साली बहुत तड़पाती है मुझे. जैसे ही आशीष ने यह सब बात बताई तो मैं घबरा गई क्योंकि जीजा को अब शायद हमारे बारे में सब कुछ पता लग गया था.

इसलिए उसे चोदते हुए मैंने उसकी चूचियों को ब्लाउज के ऊपर से ही दबाना शुरू कर दिया। थोड़ी देर में मैंने उसके ब्लाउज का हुक खोल दिया और और ब्रा को ऊपर सरका दिया।सच में आज ऐसा लग रहा था कि मानो कोई जन्नत की परी मिल गयी, एकदम गोरे चिकने और गोल-गोल बड़े-बड़े दूध थे उसके और निप्पल एकदम गुलाबी. आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी, कमेंट करके बतायें या फिर मेरी मेल-आई डी पर अपने मैसेज भेज कर प्रोत्साहित करें. उन्होंने साफ ही बोल दिया था कि जब भी तुम्हें किसी भी चीज की जरूरत पड़े तो मुझे बता दिया करो.

मैं खूब अच्छे से झटके लगा रहा था और वो भी पूरे जोश में नीचे से अपने चूतड़ उठा उठा कर मेरा भरपूर सहयोग कर रही थीं.

उसके बाद भी हम प्यार करने का कोई मौका नहीं छोड़ते थे।अफसोस कि अब भैया भाभी नोएडा शिफ्ट हो गये हैं और अब हम देवर भाभी के बीच फोन सेक्स और पुराने लम्हों को याद करने के अलावा कुछ नहीं होता।देवर भाभी की गर्म चुदाई पर आप अपनी प्रतिक्रियाएं नीचे दिए मेल पर दे सकते हैं। आप लोगों के लिए अपनी कहानियों की पोटली में से फिर कुछ लेकर हाजिर होऊंगा. फिर कुछ देर बाद उपासना उठी और सारा समान फ्रिज में और रसोई में सेट किया और फिर दोनों के लिए पानी और चाय बना कर लायी. इसलिए आज मैंने सोचा कि मैं भी अपनी वो कहानी लिखूं, जिसने मुझे सिर्फ कुछ समय के लिए ख़ुशी दी थी.