बीएफ एचडी भेजिए

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ यूट्यूब

तस्वीर का शीर्षक ,

सविता भाभी की चुदाई बीएफ: बीएफ एचडी भेजिए, उनके शरीर से उल्टी की गंध आ रही थी तो हम दोनों साथ में नहाये और कपड़े पहन कर मैं आंटी को लेकर अपने घर आ गया.

14 साल की लड़कियों का बीएफ

पापा ने उसके मम्मों को दबा दबा कर पीना शुरू किया, जैसे पड़ोस वाली चाची का लड़का उनका दूध पीता है. बीएफ सेक्सी हिंदी में वीडियो एचडीप्रथम वर्ष में था, उस वक्त मेरी बहन की शादी हुई और मैं अपना पहला सेमेस्टर खत्म कर के अपनी दीदी के ससुराल पहुँच गया.

मैं उसके एक दूध को चूसने लगा वो मेरे सिर पर हाथ घुमाते हुए दूध पिला रही थी और अपने हाथ से मेरे लंड को सहला रही थी. बीएफ एचडी वीडियो कॉममेरे होंठों को छोड़ कर दिनेश बोला कि चाचा अब वन्द्या बहुत ज्यादा चुदासी हो गई है.

वहाँ पर उसे कोई नई लड़की मिल गई थी, जिसके मां बाप कनाडा में रहते थे और उसको पढ़ने के लिए भारत में भेजा था.बीएफ एचडी भेजिए: लेकिन मुझे गंदी भाषा लड़की के सामने बोलना पसन्द नहीं है और अच्छी लड़कियां भी गंदे शब्दों को सुनना पसंद नहीं करती हैं.

कुछ देर बाद वो मेरी चुत के होंठों को जितना भी फैला सकता था, फैला कर अपनी ज़ुबान उस में घुमाता था.वो मेरी चूत में जोर जोर से झटका देने लगा और हम दोनों कुछ देर की चुदाई के बाद झड़ गए.

बीएफ इंग्लिश फिल्म भेजो - बीएफ एचडी भेजिए

मेरा लंड झड़के मुरझा चुका था और रानी की लार व मेरे माल की बूँदों से लिबड़ा एक तरफ को पड़ा हुआ था.मुझे खुद पर कंट्रोल नहीं हुआ और मॉल के बाथरूम में जाकर दो बार मुठ मारी.

फिर मैं भाबी को जोर जोर से चोदने लगा और उनके बड़े बड़े मम्मों को दबाने लगा. बीएफ एचडी भेजिए मैंने कहा कि दीदी मैं खाना खा रहा हूँ, मैं अभी नहीं जाऊंगा और वैसे भी मैं आपको कई बार देख चुका हूं.

थोड़ी देर बाद मैंने सोचा कि क्यों ना क्लास में चलकर थोड़ा मैथ पढ़ लूँ.

बीएफ एचडी भेजिए?

थोड़ी देर बाद जीजाजी बाहर झाँकने लगे और मुझे टीवी देखता देख वापिस अन्दर चले गए. भाभी ने मेरी आँखों में झांकते हुए कहा- मुझे सिर्फ तुम्हारा प्यार चाहिए, बेहिसाब प्यार और हमारे बारे में किसी को पता नहीं चलेगा. उसने तुरंत मेरी चूत में अपना लंड डालना शुरू किया, मेरी चूत बहने लगी थी मतलब बहुत गीली हो चुकी थी.

शबाना ने अपने कपड़े ठीक करते हुए कहा- माँ ना आ जाए, अब मैं चलती हूँ. अब दीदी ने मेरे चेहरे को अपने हाथों में लिया और धीरे धीरे गाल पे किस करने लगी. गाड़ी जब मैंने अपने घर पास रोकी, तो आंटी बोलीं- पहले मेरे घर चलो, वहाँ मुझे कुछ काम है.

चूँकि गीता को पैसे मिल चुके थे और उस पर पैसों की गर्मी भी उस पर चढ़ चुकी थी. थोड़ी देर बाद उनको मजा आने लगा और वो चूतड़ों को उठा कर गांड चुदवाने लगीं. तुम हो ना सेक्सी!उसने शर्मा कर अपनी आंखें बंद कर लीं और इसी बात का फायदा उठा कर मैं दीदी को किस करने लगा.

तो उसने मुझे बताया कि वह ग्रेजुयेशन कर रही है और साथ ही सिविल सर्विसेज़ की तैयारी भी कर रही है. राज ने दरवाजा खोला, वो बाहर निकला, बोला- यार तुम? मधु कहाँ है?मैं हैरानी से बोली- मधु यहाँ नहीं आयी? मैं उसे ही ढूँढती हुई यहाँ आयी हूँ.

ऐसा कुछ देर करने के बाद मैंने उन्हें सीधा लेटाया और मैं उनके दोनों पैरों के बीच में आ गया.

कुछ ही देर में मालिक सो चुके थे और मैडम अपने मोबाइल में बिजी थी।पता नहीं क्यों… मुझे ऐसा लग रहा था कि काश मैडम मुझे फोन करें।मैं अब वहाँ से बाहर आ गया और बाहर आकर लॉन में हरी घास में जमीन पर हाथ पैर फैला कर आसमान को निहारता हुआ लेट गया.

सच में क्या क्या काँटा माल है, क्या कदली सी जाँघें हैं उसकी, आह… क्या मस्त नाज़ुक नाज़ुक कोमल उभरी हुई चूचियां हैं साली की, पट्ठी जब रास्ते में चलती है तो उसी वक़्त लंड खड़ा हो जाता है और उसको चोदने को मन करता है. भाबी 5 मिनट में ही मेरे मुँह में झड़ गईं, लेकिन मेरा लंड चूसती रहीं. जिस पर अंजलि भी सिसकारी भरने लगी!तभी शीतल ने शिवानी की स्कर्ट उठा कर बियर उड़ेल दी जिससे शिवानी की पैंटी गीली हो गयी और मुझे बोली- भैया, अब आगे बढ़ो और पूरी पैंटी चाटो!मैंने शिवानी की स्कर्ट उठा कर उसकी चूत पैंटी के ऊपर से चाटनी शुरू कर दी.

थोड़ी देर बाद जब मैं झड़ने को हुआ तो मुझे याद आया कि मैंने इस बार कंडोम तो लगाया ही नहीं. उसकी गर्मी पाकर साथ में मैं भी झड़ने वाला था, तो मैंने अपना लंड बाहर निकाला और झड़ गया. बापू के दिल में यह सोचकर की एक जलन सी भी हो रही थी कि कोई और मर्द इतनी खूबसूरत जवान उसकी कुंवारी बेटी को छुए.

और ये सब मेरे लिए पहली बार है!मैं- प्लीज कामिनी, एक बार चूस कर तो देखो, तुम्हें जरूर अच्छा लगेगा!कामिनी- नहीं…लेकिन नहीं नहीं करते करते हुए मैंने उसके मुंह में अपना लंड डाल ही दिया लेकिन उसने झट से बाहर निकाल दिया और बोली- छी… कितना गंदा टेस्ट है.

और अब तो कामिनी भी पूरी तरह गर्म हो कर मेरा लंड चूसे जा रही थी और मैं उसके मुंह मे ही झड़ गया. मेरा पूरा नंगा पेट, खुली नाभि और ब्लाउज में उभरे हुए चूचे देख कर कोई भी पागल हो जाता. हम दोनों चुदाई करने के बाद बिस्तर पर लेट गए और कुछ देर आराम करने के बाद हम दोनों लोग फ्रेश हुए.

वो अजीब तरह की आवाज निकाल रही थी और उसकी मदमस्त कामुक आवाज से मुझे और भी मजा आ रहा था. जब वो चुदाई करता था तो बहुत आराम से शुरू करता था और करते करते पूरा जंगली हो जाता था. मैंने सलवार के अंदर हाथ डाला तो देखा आंटी की चूत गीली हो गई थी, उनकी पैंटी पूरी तरह से गीली हो चुकी थी.

जिन कपड़ों को मैंने डाला था, उसमें से मेरे मम्मों की घुंडियां और चूत के बाल भी नज़र आ रहे थे.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम रॉकी है, मेरी उम्र 32 वर्ष और मैं उदयपुर राजस्थान से हूँ। कभी कभी आपके हमारे जीवन में ऐसी घटनाएं घट जाती हैं जिनको हम कभी भुला नहीं पाते। कुछ ऐसा ही एक वाकया मेरी जिंदगी के साथ भी जुड़ा हुआ है जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता. मैंने झोंक में कह दिया कि अगर भारत जीत गया तो आप मुझे 100 किस देना.

बीएफ एचडी भेजिए मैं हिमानी को प्यार करते हुए, उसके मम्मों और होंठों को चूसते हुए उसे मजे की पोजीशन में ले आया और वह दर्द भूल कर मेरा साथ देने लगी और आनंद जाहिर करने लगी. एक दिन मैं और बलवीर एक घर में अकेले बैठे थे, मैं गुनगुनाने लगा- मेरी चू… चू… चू… चूत!वह हँसने लगा.

बीएफ एचडी भेजिए मेरा पूरा नंगा पेट, खुली नाभि और ब्लाउज में उभरे हुए चूचे देख कर कोई भी पागल हो जाता. तभी आंटी की आवाज आई- शब्बो बेटा, तुम्हारे अब्बू की दवा कहां पे है, आके जरा दे दो.

मैंने हँस के बोल दिया- तेरा चुदाई करने का मन किया तो तेरे को चुत कहाँ से मिलेगी, हाँ अगर तेरी कोई गर्लफ्रेंड है तो तेरा काम बन सकता है, लेकिन मुझे तो हिला के ही तसल्ली करनी पड़ेगी.

सेक्सी डब्लू डब्लू डॉट कॉम

आठ इंच लंबा और तीन इंच मोटा लंड मेरी चुत में फंस फंस कर जा रहा था और जगत बुरी तरह से चुत को ठोक रहा था. वो झट से मान गई और जब वो मुड़ी तो उसकी ब्रा उसके शरीर से अलग हो गई और उसके बड़े बड़े मम्मों की उन्नत चोटियां मेरी आंखों के सामने थीं. मुझे नीचे उनकी चुत में गर्म लावा फूटने का अहसास हुआ, मैं समझ गया कि बड़ी चाची का काम हो गया.

मैं रूम में डायरेक्ट घुस गया और चलते चलते ही कहा कि लीजिए आपका आम, खैर आपको ये पसंद नहीं आएगा क्योंकि आपके पास तो इससे भी मीठा आम वो भी बिना गुठलियों वाला है. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:बस में मिली लड़की ने दिलाया ज़न्नत का मजा-2. वही तो मैं कह रही हूँ कि कैसे भी नहीं घुस सकता, मुझे उल्लू न बनाओ। बड़े होशियार बनते हो।”अरे बाबा, तेरे सवाल का जवाब ही दे रहा हूं, जो पूछ रही थी कि कपड़े क्यों उतारे। यह ऐसे नहीं घुस सकता, जब तक अहाना की मुनिया में चिकनाई न आ जाये।”और वह कैसे आयेगी?” मैंने संशक स्वर में कहा।ऐसे!” कहने के बाद राशिद अहाना पर लद गया और उसे सहलाने लगा.

धीरे-धीरे उनकी स्पीड बढ़ती ही जा रही थी और वो लगातार धक्के लगा रहे थे.

जो बातें कर रहे थे ब्लू फिल्म देखने के बाद और चुदने के टाईम, वह सब भी फिल्म में है।मैं बेबसी से होंठ कुचलती उसे देखने लगी।समर- वैसे मेरी आदत है लोगों के वीडियो शूट करने की. इससे ज्योति को बहुत तेज दर्द हुआ लेकिन काजल दीदी के होंठों में होंठ फँसे होने के कारण उसकी चीख नहीं निकल सकी. उसने उठकर अपने आप को सही पोसिशन में सेट किया और लंड के सुपारे को अपनी मधु से लबालब बुर के मुंह पर जमाया और ‘राज.

पहले तो मैंने भाभी की कमर को अपने दोनों हाथों में पकड़ कर उनकी नाभि को चूमा, फिर अपनी जीभ से उसको चाटने लगा. ऐसे अलग अलग स्टाइल में करीब 15 मिनट तक मुझे चोदने के बाद फूफा जी ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और फिर मुझे बैड पर पटक दिया और अपना लंड मेरी चूत में से निकाल कर मेरे मुँह के ऊपर ले आए और फिर उनके लंड से एक जोरदार पिचकारी निकली, जिसने मेरे चेहरे, मेरे बूब्स और मेरे पेट को भी गाड़े वीर्य से भर दिया. अंत में साड़ी खुल गई तो मैंने पेटीकोट का इजारबंद खींच दिया और वो सरसराते हुए नीचे रहम की भीख मांग रहा था.

मैंने उससे पूछा कि इतना मस्त लंड चूसना किधर से सीखा है?वो हंस दी लेकिन कुछ बोली नहीं, उसकी इस अदा से मुझे पक्का यकीन होने लगा था कि साली लंडखोर है और चुदी चुदाई चुत है. मैंने साथ में ये भो सोचा कि इससे फिलहाल बना कर रखने में ही भलाई है.

तुम लखनऊ में हो तो प्लीज़ दीदी के घर चले जाओ क्योंकि पापा किसी काम के सिलसिले में बाहर गए हैं और घर में छोटी और माँ ही है. काजल का इन्तजार था मुझे उसको चोदना पड़ता इसलिए मैंने माधुरी को दुबारा नहीं चोदा. मैंने हिमानी को आज घोड़ी बनने को कहा तो वह पूछने लगी- क्या गाण्ड मारनी है?मैंने कहा- नहीं, चुदाई तरह तरह से होती है.

मैं आठ बजे कोमल भाभी के घर गया, बेल बजाई तो भाभी ने लाल रंग की साड़ी पहनी हुई थी.

’तब नेहा तुमको धक्का मार कर खुद को छुड़ा लेगी और बोलेगी कि ‘तुम्हारी यह हरकत… मैं आज ही तुमको पुलिस में दे दूँगी… पापा से बोल कर तुम्हें जेल भिजवा दूँगी… क्या समझते हो खुद को!’ उसके बाद मैं जैसे कहूँगी, तुम दोनों वैसे ही करना. इसलिए मैं अपनी बड़ी बहन, जिसका नाम प्रिया था, उस पर डोरे डालना शुरू कर दिया. अब मनोहर ने मेरी दोनों टांगों को पूरा फैलाकर अपने कंधे पर चढ़ा लिया और अपने मोटे लम्बे लंड को मेरी चूत में टच कराया.

मैंने उसके मम्मों के निप्पलों को अपने होंठों में भर कर मींजना शुरू कर दिया. जब रात को 11 बजे मैं सोने लगा, तो वो आकर बोली कि मुझे आपके रूम में सोना है.

मेरा डर थोड़ा कम हुआ और मैंने हंसते हुए कहा- आंटी, देख कर क्या करूंगा, बस हाथ का काम कर लेता हूं. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था, मुझे तो लग रहा था कि जैसे मैं आज जन्नत का सैर कर रहा हूँ. [emailprotected]भाभी सेक्स स्टोरीज का अगला भाग:भाभी के जिस्म की चाहत-2.

दीपिका चोपड़ा सेक्सी

उन्होंने पैर से ही मेरे बॉक्सर को नीचे कर दिया और मुझे अपने ऊपर खींचने लगीं.

बात तब की है, जब हम सब दोस्त मिल कर छुट्टियों के दिन काम के लिए जाते थे. वो बोली- छोड़िए ना… क्या कर रहे सुबह सुबह…मैंने कहा- प्यार कर रहा हूँ. धीरे धीरे सहलाने से शायद उन पर भी वासना की हवस चढ़ गई और कुछ समय बाद मैंने धीरे से अपनी एक उंगली उनके मम्मों पर लगाई.

सुन कर मुझे भी खुशी हुई और फ़िर मैंने वही दवाएं कंटिन्यू कर दीं एक और सप्ताह के लिए. अपना रस किधर निकालूँ?उन्होंने कहा कि उनकी चुत प्यासी है उसी में झड़ जा. सेक्सी बीएफ बुर की चुदाई सेक्सीमैंने उन सब लोगों से पूरी तरह से रिश्ते तोड़ दिए हैं, जिनको मेरे बारे में कुछ भी पता है या था.

हम दोनों बुरी तरह से वासना के दरिया में डूब कर कामुक आहें भरने लगे. अगले दिन शादी थी तो उसकी तैयारियों व खाना पानी में कब शाम हुई पता ही नहीं चला और बारात के टाइम पर मैं तैयार होकर सबके साथ पहुंचा.

किसी ने लिखा कि कहानी बिल्कुल बेकार और बकवास है… कुछ ने मुझे धंधा करने वाली तक कह डाला. मेरी बहन रीनू चालीस साल की है लेकिन भेण की लोड़ी तीस साल जैसी ही दिखती है. मेरी टांगों के बीच आकर उन्होंने मेरे पैरों को घुटनों के पास से मोड़कर मेरे पेट की ओर किया.

इसके कुछ देर बाद मैं जब खाना खाने बैठा, तभी दीदी नहाने के लिए आ गई और पहले के जैसे कपड़े पहन कर नहाने लगी. मेरे पापा की उस वक्त एक एक्सीडेंट में मृत्यु हो गई थी जिस वक्त मैं छोटा था. फिर उनको मेरे लिए कोई लड़का ढूँढना की मेहनत भी नहीं करनी पड़ी और इस तरह से मेरी शादी हो गई.

मैंने देखा कि मेरी बड़ी बहन सोनिया टाँगें फैलाकर अपनी चूत रगड़ रही है और आँखें बंद करके सिसकारियां ले रही है.

भाभी ने हंसते हुए कहा- अब तुम पैंटी पहनोगे?मैंने पैंटी को अपने नाक के पास लाकर सूंघते हुए कहा- अब आप चाहे जो समझ लें. मैंने पूछा कि उसने उस क्लिप को कहीं नेट पर अपलोड तो नहीं कर रखा है?वो बोली- नहीं.

उसके बाद 6 महीने तक मैंने उसके साथ सेक्स का मजा लिया और उसकी सेक्सी चुत को भी दिया. अब मैंने सोच लिया था कि आज तो कुछ भी हो जाए, नेहा दीदी को चोद कर ही रहूँगा. यहाँ होटल में ही किसी को पटा लो, और कोई ना पटे तो यहाँ के स्टाफ के किसी लड़के के साथ अपनी प्यास बुझा लो!तब अंकुश के एक मित्र ने मुझे कहा कि भाभी आप खीरा, गाजर, मूली या केला लेकर उससे अपनी कामुकता को शांत कर लो।तब मैं पूरी नग्न थी लेकिन जैसे उन तीनों दोस्तों के लिये तो मेरा कोई वजूद ही नहीं था वहां… इससे अधिक मेरा अपमान और क्या हो सकता था.

मैंने न जाने किस सोच में उनके पीछे से जाकर उनकी चुचियों को पकड़ लिया और मसलने लगा. उनके घर में उनके दो बेटे और एक बेटी रिया रहती थी, जो कि जरा सांवली थी, लेकिन माल गजब की थी. तभी वो एकदम से खुद ही मेरे ऊपर चढ़ गईं और मुझे ऐसे किस करने लगीं, जैसे वो बहुत ज्यादा प्यासी हों.

बीएफ एचडी भेजिए नताशा ने उसके नजदीक पहुँचते ही अपने हाथों से उसकी चैन खोल दी और अपना हाथ अन्दर घुसेड़ कर उसका लंड तलाश लिया. उसने पूछा कि कहां जा रहे हो?मैंने बताया कि शहर में पढ़ाई के लिए जा रहा हूँ, उधर एक हॉस्टल में रहता हूँ.

सेक्सी ब्लू पिक्चर नंगी चुदाई वीडियो

फिर भैया ने भाभी की दोनों टाँगों को उठा कर खोल दिया और चूत को देखने लगे।अब मेरीभाभी की चिकनी चूत फाड़ने की तैयारीथी तो भैया ने अपना लंड भाभी की चूत के छेद पर लगा दिया और जोर लगाने लगे. उसको शायद यह बात पसंद आ गई और बोली- अगर आपकी चुदाई में रात को देर ना लगे तो मैं आपके साथ चलूंगी. फिर मेरे पास एक चाचा बैठे थे, वो वहां से उठ गए और बस रुकवा कर उतर गए.

मैंने नीचे से उसकी साड़ी और पेटीकोट को खोल कर निकाल दिया और उसकी लाल रंग की पेंटी को भी निकाल कर अलग कर दी. मैं वहाँ गया और कुछ भी काम ढूंढकर करने लगा जिससे चाची सोचें कि मैं बिजी हूँ. 16 साल की छोरी की बीएफमेरी सेक्स स्टोरी के पहले भागफ़ेसबुक पे पटा कर चंडीगढ़ में चोदा-1में आपने पढ़ा कि फेसबुक पर मेरी दोस्ती एक लड़की से हुई, बात आगे बढ़ी और मिलने तक पहुंची, मिलने के बाद सेक्स तक पहुंची और आखिर हम दोनों पहुँच गए होटल के कमरे में!अब आगे:और फिर आरुषि ने मुझे अपने ऊपर खींचते हुए दोबारा से मेरे होंठ जकड़ लिए अपने होंठों में और आँखों ही आँखों में मेरे ऊपर आने की इच्छा जताई.

तब उसने कहा- कोई गांड भी चोदता है क्या?मैंने कहा- और नहीं तो क्या!उसने कहा- मैंने बहुत इंग्लिश ब्लू फिल्मों में तो देखा है गांड चोदते… लेकिन भारत में भी ऐसे गांड चोदने का रिवाज है क्या? आज तक मैंने नहीं सुना कि कोई गांड भी चोदता है यहाँ!मैंने कहा- जानू, तुम एक बार गांड मरवा कर देख तो लो, तुम्हें भी मजा आएगा, अगर नहीं आएगा तो मैं तुम्हारी गांड नहीं मारूँगा.

वो ‘फक मी हार्ड… चोदो मुझे… फाड़ दो मुझे!’ बोल के सिकसकारियाँ भरने लगी. भाबी पूरी गर्म हो चुकी थीं, उनकी आँखों मेंवासना की खुमारीसाफ़ देखी जा सकती थी.

जानते हैं भाईजान मेरी 5 फ्रेंड हैं, जिनमें से 3 का अपने बड़े भाई से और एक का अपने छोटे भाई से चक्कर है. अब एकता को भी अच्छा लगने लगा और अब वो खुद ही लंड ऊपर नीचे होते हुए पूरा लवड़ा अन्दर बाहर लेने लगी. अब रेखा रानी के मुंह से भी उत्तेजना से भरी हुई सीत्कार आने लगी थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ लगता था कि मेरी दूसरी रानियों की तरह यह रांड भी पांव चटवा के बहुत मज़ा पाती थी.

कुछ समय बाद ही उसके पियक्कड़ पापा के चिल्लाने की आवाज़ आयी तो मैं दौड़ के ऊपर गया और मुन्नी के साथ मिल कर उन्हें पकड़ कर एक कमरे में बंद कर दिया.

कुछ देर बाद मेरा भी निकलने वाला था तो मैंने कहा- जानम, मेरा भी निकलने वाला है, कहाँ निकालूँ?तो आरुषि ने मुझे उसकी फुद्दी के अंदर ही झाड़ने की इच्छा ज़ाहिर की. पद्मिनी में वह सब था, जो किसी भी मर्द, जवान से अधेड़ उम्र के चाचाओं तक को रिझा सके. जिससे मेरा लंड ज्योति की चूत में जड़ तक घुस गया, इधर ज्योति को बहुत तेज़ दर्द हो रहा था.

बेस्ट सेक्स बीएफहमें औंधा लिटाये वह पीछे से जैसे लिंग डाल के फिसल रहा था, वैसे ही फिर लिंग डाल के धक्के लगाने लगता।लेकिन फिर भी हमें मजा तो आ ही रहा था और हम दोनों ही सिसकार-सिसकार कर मजे ले रहे थे। और इसी तरह धक्के लगाते-लगाते उसका लिंग फूल कर मेरे चूतड़ों की दरार में बह गया और वह साइड में लुढ़क कर हांफने लगा।हालाँकि हम मंजिल तक नहीं पंहुचे थे. [emailprotected][emailprotected]मेरा फेसबुक आईडी / लिंक है- https://www.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीपी सेक्सी वीडियो

मैंने कहा- मुँह से मत चूसो, मुझे पेशाब करनी है, वीर्य नहीं निकालना है. हम वो सच में कब करेंगे?उसने कहा- जल्दी ही…उसने फ़ोन पर गुड नाईट कहा और फ़ोन रख दिया. जिस पर अंजलि भी सिसकारी भरने लगी!तभी शीतल ने शिवानी की स्कर्ट उठा कर बियर उड़ेल दी जिससे शिवानी की पैंटी गीली हो गयी और मुझे बोली- भैया, अब आगे बढ़ो और पूरी पैंटी चाटो!मैंने शिवानी की स्कर्ट उठा कर उसकी चूत पैंटी के ऊपर से चाटनी शुरू कर दी.

सामने हॉल में अंकल-आंटी बैठे चाय पी रहे थे तो मुझे देखते ही अंकल बोले- अरे रोहण बेटा, बाहर क्यों खड़े हो, अन्दर आओ. खुजली तो तुझे भी होती है, तू राशिद के रोल में आ जा, हम दोनों की खुजली मिट जायेगी।”मुझे कब खुजली होती है?” मैंने सख्त हैरानी से उसे देखा।जिस रात मैंने और राशिद ने अपनी खुजली मिटाई थी और नीचे वापस आये थे, तो मैं तो चैन से सो गयी थी और हमेशा की तरह सुबह उठ गयी थी, लेकिन तू सोती रही थी ग्यारह बजे तक. फिर दो दिन हमने बहुत चुदाई की और मैंने भाभी को अलग अलग स्टाइल में चोदा.

तब मम्मी ने पापा से कहा कि लाइट तो ऑफ कर लिया करो वरना कभी लड़की जाग गई तो उसे नज़र आ जाएगा. मगर साली की गांड बहुत टाईट थी, लंड जा ही नहीं रहा था और वो कह रही थी- मान जाओ, गांड में नहीं जायेगा. बाथरूम में पानी गिरने की आवाज़ और उसका गाना गुनगुनाना ‘मेरे रश्के कमर… तेरी पहली नजर.

फिर करीब आधे घंटे की लगातार चुदाई में वो तीन बार झड़ गईं और मैं भी उनकी चूत के अन्दर ही झड़ गया. भाईजान अपने लंड को हाथ से पकड़ कर मेरे मुँह की ओर करे खड़े थे कि तभी उनके लंड ने एक तेज़ धार के साथ अपना सफेद गाढ़ा पानी मेरे मुँह के अन्दर डालना शुरू किया.

बिंदु ने उसको समझाया कि कभी कुत्ते को कुतिया पर चढ़ते हुए देखा है?तो बोला- हां बहुत बार.

मेरा लंड 8 इंच का है, वो भी मोटा खीरा सा है, हां थोड़ा काला जरूर है, मगर मस्त है. इंग्लिश में बीएफ इंग्लिश बीएफरंजीत बोला- भाभी, धीरे से नहीं जाएगा आपकी चुत भी बहुत टाइट है और एक लंड पहले ही आपकी चुत में घुसा हुआ है. जानवरों के बीएफ वीडियोवो मेरे लंड की इतनी आदी हो गई कि अपनी दीदी से मिलने के बहाने मेरे घर पर आ जाती और हम फिर जम कर चुदाई का गेम खेलते. मामी बोलीं- अरे मेरे राजा, तनिक आराम से, धीरे धीरे… तुम तो यार किसी एक्सप्रेस की तरह भागे जा रहे हो! जरा छोटे स्टेशन्स का व्यू भी लेते जाओ!तो मैंने थोड़ी शांति पकड़ी और अपना एक हाथ उनकी योनि पर ले गया.

अगर इंडिया हार गया तो आप जो कहोगी मैं करूँगा और अगर इंडिया जीत गया, तो जो मैं कहूँगा वो आपको करना पड़ेगा.

क्या मुझे घर के बाकी लोगों को बुलाना चाहिये?लेकिन इससे ज्यादा मुझ पर यह उत्कंठा भारी पड़ रही थी कि आखिर पहले या अब ये भाई बहन नंगे होकर क्या रहे थे?इस कशमकश में कम से कम इतना वक्त तो गुजर गया कि राशिद अपनी लोअर पहनता बाहर निकल आया और बाहर अकेले मुझे देख ऐसा लगा जैसे उसकी जान में जान आई हो।तुम यहां क्या कर रही हो?” उसने धीरे से मेरा हाथ पकड़ते हुए कहा।अहाना को ढूंढ रही थी, पर तुम लोग कर क्या रहे थे. मैंने पूछा- अच्छा? कब सपना देखा तूने इस चुदाई का?रेखा बोली- मैं क्यों बताऊँ? मैं न बताती अपने सपने को… यह तो मेरा प्राइवेट मामला है. अब उसकी सीत्कारें बढ़ने लगी वो जोर जोर से उम्म्ह… अहह… हय… याह… करने लगी, उसे खूब मजा आ रहा था.

फिर उठ कर दोनों अलग अलग होकर बाथरूम में गए और उसने रात को ही सलवार ओर तौलिया को धोया. अलका ने कॉफ़ी मग के पास नाक ला कर दो तीन गहरी गहरी सांसें लीं- हूँ… खुशबू तो बढ़िया है इस ब्रांडी की… आइये लेखक साहिब आराम से बैठ कर कॉफ़ी पीते हैं. उस दिन भी हमेशा की तरह वो वॉशरूम में गईं और नहाने की तैयारी करने लगीं, ये वो समय था, जब कोई मर्द नहीं होता.

कॉलेज की सेक्सी लड़कियों का वीडियो

मुझे सुंदरता से भी सुंदर वह रूपसी न्योता दे रही थी, उसके एक-एक अंग को चूमने का उसके जिस्म से खेलने का अब मैंने अपने मर्द होने का एहसास करते हुए उभरे हुए मैडम के पुष्ठ नितम्बों को सहलाना शुरू कर दिया. वो अपने मुँह को उसकी गर्दन पर दबाते हुए अपने जीभ को उसकी गाल पर फेरते चाटते… उसका लंड वहीं फांक में काफी देर तक फंसा रहा. बड़ी हॉल नुमा झोपड़ी थी, एक हिस्से में दो भैंसें बंधीं थी, दूसरे में पुआल बिछा दिया था, उस पर दरीनुमा फर्श बिछा था.

उसने कहा कि कैसे एक नंगी लड़की को देख कर कोई उसे नहीं चोदे बिना रह पाएगा.

जिन्होंने मुझे बुलाया उनका (काल्पनिक) नाम- सीमा, उम्र 39वर्ष (सबसे बड़ी), विवाहित लेकिन पति ने छोड़ (धोखा) दिया.

अभी मैं लंड की रगड़न का मजा ले ही रही थी कि उसने एक तेज धक्का दे मारा. ऐसे ही मैंने एक दिन कहा- हमेशा ऐसा ही होगा या सामने से भी किस होगा?तो उसने फिर से मना कर दिया. बीएफ पिक्चर दिखाइए बीएफ बीएफक्योंकि हम सोसाइटी में तो बात नहीं कर सकते… और मैं आपको फोन कर लूंगी.

खाइके पान बनारस वाला…” गाना गाते गाते नीचे चला गया।बढ़िया है तुम्हारा नौकर. उनको मैं शुरूआत से ही मतलब अपनी शादी के बाद से ही पसंद करता हूँ क्योंकि वो मेच्यूर फिगर की औरत हैं और मुझे मेच्यूर उमर वाली औरतें बहुत पसंद हैं. उन्होंने पूछा- मतलब?मैं दौड़ कर चाची के पास को गया और उन्हें गले से लगा कर कान में कहा- आप अब मुझसे चुदोगी.

केबल पर टाइटैनिक मूवी आ रही जो कि मेरी पसंदीदा मूवी है, तो हम टाइटैनिक मूवी देखने लगे. तभी वो एकदम से खुद ही मेरे ऊपर चढ़ गईं और मुझे ऐसे किस करने लगीं, जैसे वो बहुत ज्यादा प्यासी हों.

” डॉक्टर का इशारा मुझसे था लेकिन मुझे डॉक्टर की यह बात अच्छी नहीं लगी।मैं इन पर भरोसा कर सकती हूं, आप जो पूछना चाहते हैं पूछ सकते हैं.

मैं भी उसकी चूत और चुचियों को मसलता रहा और उसके होठों को चूसता रहा. भूख तो मुझे भी लगी थी, मैंने उसे पिक किया तो उसने कहा कि कहां चलोगे?मैंने कहा कि मेरे घर चलो. एक तो उसका लन्ड ही मोटा सख्त जबरदस्त था फिर उसके जोरदार झटके अपनी कमर का पूरा जोर लगा रहा था गांड का भुर्ता बना कर रख दिया, तबियत मस्त हो गई, बहुत दिनों बाद किसी ने ऐसी जबरदस्त चुदाई की… मजा आ गया!फिर वह चिपक कर रह गया, अब झड़ रहा था.

सेक्सी बीएफ हिंदी पुरानी अब मैं धीरे धीरे उसके दोनों मम्मों के दूध को पीने लगा और मजा लेने लगा. घोड़ी बन कर चुदाने में मुझे थोड़ा दर्द हो रहा था मगर मैं दर्द की परवाह किए बिना फूफा जी पूरा लंड अपनी चूत में घुसवाना चाहती थी.

तो वो मेरे लंड को ऊपर से रब करने लगी और कहती- अभी भी शांत नहीं हुए हो बेटा?तो मैंने कहा- आपके जैसा फिगर लंड को शांत कहाँ होने देता है मम्मी जी?वो मुस्कुराने लगी, कहने लगी- अब तो कुछ नहीं हो सकता क्योंकि अभी काम वाली आ जाएगी और दस बजे आपको ऑफिस भी जाना है और शाम तक तो आपका साला भी आ जाएगा! रात यहाँ रुक भी जाओगे तो भी कुछ नहीं हो पाएगा. जो धीरे धीरे ज़्यादा गोरी दिखाई देता है, उन हिस्सों पर, साफ़ दिख रहे थे और पद्मिनी बहुत ही सेक्सी लग रही थी. मम्मी भी चूसने लगी और मैंने शिवानी का टॉप उतार दिया और उसके बूब्स मसलने लगा, निप्पल चूसने लगा और मम्मी को बोला- शिवानी की चुत में जीभ घुसा के चोद इसे!मम्मी ने शिवानी की चुत जीभ से कुतिया जैसे चाट के जीभ अंदर घुसा दी.

सऊदी अरब की ब्लू सेक्सी

बिल्कुल भी देरी न करते हुए मैंने जीन्स और शर्ट उतार फेंकी और बिल्कुल नंगा हो गया. उनमें से एक बोली- बात तो तुमने पते की कही है, चलो आ जाओ!चूंकि पकड़े जाने का खतरा था तो उन्होंने केवल आवश्यक कपड़े ही उतारे।मैं उनके पास गया और पतली वाली को कमर से पकड़कर उसके होंठों को अपने होंठों में लेकर किस करने लगा. फ़ोन पर तो मैं कम ही बात करता था, पर व्हाट्सैप पर दिन भर उनके साथ ही रहता था.

मैंने उसकी बात का कोई जवाब नहीं दिया और सीढ़ियों से नीचे उतरने लगा। वो भी मेरे पीछे-पीछे नीचे उतरता हुआ मुझे रोकने की कोशिश करने लगा- प्रवेश… सुन ना यार… मेरी पूरी बात तो सुन ले, कहां जा रहा है… रूक तो एक बार…मैं मेन गेट पर पहुंच गया तो उसने मेरा हाथ पकड़़ लिया- रुक जा यार… आई एम रिअली सॉरी. धीरे धीरे मेरी रफ़्तार भी मैंने बढ़ा दी, मैं आंटी को पूरे जोर के साथ चोद रहा था, पूरे कमरे में फच फच थप थप की आवाज में गूंज रही थी, साथ ही आंटी की सिसकारियां भी गूंज रही थी.

मेरा मूड अब बिल्कुल शानदार बन चुका है… और कंपनी तो तुम देख ही रहे हो, कितनी शानदार है! और क्या चाहिए एक सुन्दर पत्नी को अपने लविंग हसबेंड से!” नताशा ने हँसते हुए जवाब दिया.

चुदाई के बाद हम सबने अपने अपने कपड़े और जब मैं जब में अपने घर आने लगा तो भाभी की भाभी ने मुझे रोका ओर मेरे होंठों पर एक मस्त किस करके मुझे 2000 रुपए देकर कहा- अब से जब भी मैं तुम्हें बुलाऊं, तो तुम्हें मुझे चोदने आना पड़ेगा. मेरी गांड चुदाई की सेक्स कहानीनई जगह, नये दोस्त-3में मैंने आपको बताया कि मैं एक कस्बे में नौकरी पर गया तो मुझे वहां कैसे कैसे लौंडे, माशूक, गांडू मिले. मेरे लौड़े ने बीस पचीस तुनके मारे और हर तुनके के साथ गरम वीर्य के मोटे मोटे थक्के रेखा रानी के मुंह में झाड़े.

मैं सुन्न हो गया… मानो मैं कुछ हूँ ही नहीं! मैं तो बेवजह ही उछाल भर रहा था, मंजू तो मुझे अपना पति समझ रही थी. मैंने उसकी चूत पर लंड लगाया और एक झटके में उसकी चूत में अपना 7 इंच का खड़ा लंड डाल दिया. आह आह आह वाह वाह वाह… क्या मदमस्त जवानी थी! बदन ऐसा जिसको देख कर साधु महात्मा सारा महात्मापन भूल के लंड को हिलाने लग जाएं.

जब काम वाली अंदर के कमरे में सफाई कर रही थी तो मैं किचन में अपनी सास के पास गया और कहा- चलो सेक्स नहीं कर सके लेकिन आपको मेरा पानी तो निकालना होगा क्योंकि मेरे भी जाने का टाइम हो रहा है.

बीएफ एचडी भेजिए: उसके मुंह से हाय उम्म हाय मम्म आह आह ऊ ऊ ऊ जैसी आवाज़ें मेरी ठरक को कई गुना करे जा रहीं थीं. फिर कुछ ही सालों बाद उनका तबादला कानपुर हो गया, इस तरह वो और हम दूर हो गए.

इतना बोल के वह भी जूसी रानी की तरह इधर उधर सरक ली किसी से गप्पें चोदने. हम तीनों ही इतने गर्म ही हो गए थे कि पता ही नहीं लगा, कब थ्री-सम शुरू हो गया. भाभी की मटकती गांड को देख कर हर कोई उनकी चुत चोदने को तैयार हो जाए.

छी!”अच्छा तुम्हें समलैंगिकों के बारे में पता है, जो एक दूसरे से ही सेक्स करते हैं। बताओ लड़का लड़के से कैसे सेक्स करेगा, दोनों के पास तो एक जैसे मुनिया है।”उनकी मजबूरी हो सकती है पर लड़की के साथ.

या खुदा !! उनका नर्म गर्म हाथ पकड़ते ही मेरे तनबदन की आग और भड़क गयी और मेरा लंड सनसनाता हुआ पूरा 8 इंची बड़ा हो गया और सलामी देने लगा. एक निपुण मूर्तिकार द्वारा घड़ी गयी किसी हसीन मूर्ति सी पतली कमर, उसके नीचे ग्रेसफुली फैलता हुआ नितम्ब तक का बदन, फिर उतना ही ग्रेसफुली टांगों तक जाता हुआ साटिन सा चिकना शरीर. अगले दिन मैं घर में बैठकर खाना खा रहा था और दीदी उसी समय नहाने लगी.