घरवाली बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ मूवी सनी लियोन

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ भेजिए भोजपुरी में: घरवाली बीएफ, पहले सर तुम्हारी चूत मारेंगे और फिर उसके बाद मैं अपनी सेक्सी चुदक्कड़ बीवी की चुदाई करूंगा.

एचडी हिंदी बीएफ चुदाई

10 मिनट तक चूची चूसने के बाद मैंने उसको घोड़ी बनाया और उसकी गांड पर अपने लंड का टोपा रख दिया. लड़कियों की सील तोड़ने वाली बीएफसुजाता घर में नॉर्मल कपड़ों में रहती थी लेकिन आज उसने एक टाइट सूट पहना हुआ था जिसके नीचे एक फिट पजामी थी.

चलो, फिर मैं खाना बनाकर लाता हूँ, फिर मैं तुमसे अपने बारे में बात करूंगा. बीएफ लाईव्हफिर अंदर ही अंदर लौड़े को चूसने लगी और जब बाहर निकाला तो मेरा लंड एकदम से साफ था.

अब वो खुले रूप से अपनी चूचियों के दर्शन मुझे करवाती थी लेकिन कभी अपनी तरफ से कुछ भी पहल के संकेत नहीं दे रही थी.घरवाली बीएफ: आह्ह … तुम्हारा लंड तो बहुत मजा दे रहा है। ओह्ह … और जोर से … और तेज इमरान … आह्ह … मजा आ रहा है।इस तरह से भाभी मस्त कामुक आवाजें करते हुए चुदवा रही थी और मेरा जोश भी बढ़ता जा रहा था.

जैसे ही उंगली उसकी चूत में गयी तो वो हड़बड़ा कर उठ गयी और उसने मेरे गाल पर जोर से तमाचा मार दिया.अपना हाथ मैं अन्दर ले गया तथा पैन्टी के अन्दर हाथ डालकर उनकी चूत सहलाने लगा.

हिंदी बीएफ सेक्सी मराठी - घरवाली बीएफ

उनके लन्ड के मुँह से भी उत्तेजना के मारे लार टपक रही थी। मैं तो आज सातवें आसमान पर उड़ रही थी.उस दिन में मैंने अपना नम्बर उन्हें यह कहकर दे दिया कि कभी बाजार से कोई सामान मंगवाना हो, तो मुझे बता दिया करें, मैं ला दिया करूंगा या कोई और हेल्प चाहिए हुआ करे, तो बता दिया कीजिएगा.

एक दिन खाना खाते हुए मजाक में मैंने कह दिया कि दीदी इतनी सेवा तो शायद मेरी बीवी भी नहीं करेगी. घरवाली बीएफ वो इतनी सेक्सी माल थी कि जो भी उसे एक बार नजर भर कर देख ले, उसका लंड बिना उसे चोदे शांत ही न हो पाए.

मैं अपना आंचल नीचे गिरा देती और खूब झुक झुक कर मौसा जी को खाना परोसती.

घरवाली बीएफ?

आह्ह मजा आ रहा है … ओह्ह … अम्म … और जोर से!कुछ देर चूत को चाटने के बाद मैंने उनकी चूत में अपनी उंगली घुसा दी. मैंने आंटी को अपनी बांहों में लेकर चूमते हुए कहा- आह्ह … देखने तो मेरी जान … आज तो मूड बना दिया तूने. सुरेश- सुबह जो गधे का लंबा सा लटक रहा था, उसको क्या बोलते हैं … तुम्हें पता है?मीता- पहले तो मुझे उसका नाम नुन्नू पता था.

साला ये भूत आख़िर चाहता क्या है?मुखिया- मैं कैसे रोक सकता हूँ साहेब, आप ही कोई जुगाड़ लगाओ. जैसे जैसे मैं उनको कोमल शरीर को स्पर्श करता, मेरा लंड कठोर होता जा रहा था. समीक्षा ने कहा- जीजू आपने कभी बताया ही नहीं कि आप लोगों ने बच्चा कब प्लान कर लिया.

कहानी में मैं बताऊंगा कि कैसे मैंने अपनी बहन की चूत की आग को ठंडा किया. हरी- मैडम जी मज़ा नहीं आ रहा क्या?सुमन- मज़ा तो बहुत आ रहा है … तभी तो चुत टपक रही है. अब मेरी मानसिकता का स्तर भी बढ़ चुका था। थोड़ा सा अहं भाव भी आ गया था.

वो दर्द से कराह रही थी। उसके मुंह से आईई … आईई … उफ्फ … मर गयी … जैसे शब्द निकल रहे थे. उस दिन हम दोनों होटल के कमरे में अन्दर जाकर पहले हमने एक दूसरे को ज़ोर से हग किया और स्मूच किया.

करीब आधे घंटे की घमासान सास की चुदाई के बाद मैं उनकी चुत में ही निकल गया.

फिर वो शांत होने लगी।अब भी मेरे अंदर की आग शांत नहीं हुई थी। मैंने तुरन्त अपने लंड पर कंडोम लगाया और उसकी टाइट चूत पर लंड रख दिया.

भाभी ने शायद सपने में भी नहीं सोचा था कि उनका देवर उनको इतनी बेरहमी से चोदेगा. थोड़ी देर लंड चुसवाने के बाद रणजीत ने लंड को मुँह से निकाला, तो मुनिया उसको देखती रह गई. भाभी- आह … आगे बढ़ो न!मैं- जानू अब आप मेरे ऊपर आकर मेरा लंड चूसो और मैं अपने होंठों से आपकी सेक्सी और गुलाबी कोमल सी चूत का रस निकालता हूँ.

ऐसा लग रहा था जैसे वो पहली बार इस आसन में अपनी चुदाई करवा रही हो।खैर, मैंने ऐसे ही लगभग 5 मिनट तक चोदा. मैंने भी तरसते हुए कहा- चोद लो मादरचोदो, मुझे जी भरकर पेल दो, मैं जितनी चाहे चिल्लाऊं लेकिन मुझे छोड़ना नहीं. अगर आपको इस एडल्ट सेक्सी चैट में मज़ा आए, तो फिर हम लोग आगे की सोचेंगे कि क्या करना है.

ये कहानी का पहला हिस्सा है, इसके बाद आपकी फरमाइश के बाद मैं इसका दूसरा भाग भी लिखूंगा.

कभी मेरी बेटी को बिना दुपट्टा के घर के बाहर देखा है तूने? हां आज वो शहर में पढ़ाई कर रही है, वहां भी वो अपनी तमीज़ और तहज़ीब नहीं भूली है. मैं और मोनिषा रूम में जाकर पढ़ाई करने लगे और मां पिताजी भी सोने के लिए हॉल मैं चले गए. मौका नहीं मिल पा रहा था शुरूआत करने के लिए। मैंने सोचा कि बिना योजना बनाये तो चूत नहीं मिल पायेगी.

मैंने भाभी से कहा- मेरा बहुत खड़ा हो गया है, उसका इलाज तो कर दो भाभी. सर का लंड पकड़ कर मैं पहले से ही मचल रही थी और ऊपर से सर के सख्त हाथ मेरे बोबों को भींचने में लगे हुए थे. इधर मैं एक बात बता दूँ कि लड़कियों को भी अपनी चूत चुदवानी इतनी ही अच्छी लगती है, जितना हम मर्दों को लंड हिलाना अच्छा लगता है.

मैंने बैठे बैठे ही दरवाजे की ओर देखा कि संगीता मुश्किल से रवि को संभाल पा रही थी.

आशा है यह काल्पनिक इंडियन सेक्सी गर्ल स्टोरी आप सबको अच्छी लगी होगी. देखते देखते कब उन दोनों के होंठ एक दूसरे से मिल गए, कुछ पता ही नहीं चला.

घरवाली बीएफ और हां … तेरी नज़र तो मीता की बहन पर भी है … इतना काफी है या और भी बताऊं … मेरे पास बहुत कुछ जानकारी है. मैंने आंटी को बेड पर गिरा लिया और उसकी मैक्सी में हाथ देकर उसकी चूचियों को दबाने लगा.

घरवाली बीएफ सांप को जब बाहर निकालोगे तभी तो वह अपना रास्ता खोजेगा?सिग्नल साफ था. अब हाल ये था कि धोती उसके लंड को छुपाए हुए थी, बस बाकी वो नीचे से पूरा नंगा हो चुका था और मुनिया से जांघों की मालिश करवा रहा था.

सच में मैं बता ही नहीं सकता कि वो इस समय कितनी अधिक मादक और खूबसूरत लग रही थी.

सेक्सी वीडियो फिल्म देना

फिर एक दिन जब मुझे वीजा मिल गया, तो मैं बहुत खुश हुआ और अपनी इसी ख़ुशी में मैं झूमता हुआ बस से अपने घर वापिस जा रहा था. ये आज सुहानी को चोद कर मालूम हुआ।अपना पूरा दम लगाकर मैं मेरे मोटे लंड की पूरी लंबाई को उसके बिल में पेलता तो वह जोर जोर से दर्द में आह्ह … आह्ह … करने लगती मगर रुकने के लिए उसने एक बार भी नहीं कहा. सुरेश- ओह अच्छा … अब क्या इरादा है मेरी जान, सोना नहीं है क्या … या दोबारा चुदने का विचार है.

मैंने वो भी की थी और मालिश के बाद अपनी उंगलियां अन्दर डालने की कोशिश भी की, लेकिन मेरी दो उंगलियां आधी भी ढंग से अन्दर नहीं जा रही थीं. तभी मामी बोली- अरे रुक ना पूजा! जब ये कह रहा है तो जरूर कुछ मजेदार ही होगा. दूसरे हाथ से उनके पेटीकोट को ऊपर करके पैन्टी उतार दी और उनकी चूत सहलाने लगा.

मैं मस्ती में उसके नंगे जिस्म को देखने लगी,तभी कासिब ने अपने एक हाथ से मेरा चूचा मसल दिया और बोला- उउउ मेरी हॉट दिलकश … मेरी प्यारी बहना, तू कितनी खूबसूरत है.

थोड़ी देर ये किस चलता रहा, उसके बाद सुमन ने सुरेश को हटा दिया और कहा- पहले जाकर फ्रेश हो जाओ. मैं सोच रहा था कि जब यहां तक पहुंच चुका हूं तो चूत में लंड डालने में भी कामयाब हो जाऊंगा. तो वो बोली- आपकी दीदी की ननद कल फ़ोन लेकर आई थी, तो उसमें से आपका नंबर लिया था.

हरी- आप फ़िक्र मत करो, बस मेरा कमाल देखना, कैसे साली को आज की चुदाई से अपना गुलाम बना लूंगा. मैं उसकी चूत को रगड़ते हुए कहा- हां मेरी जान … आज तेरा पति बनकर तेरी चुदाई करूंगा. उसे देखते ही मुझे सुबह वाला दृश्य स्मरण हो आया जब मेरा लंड उसके कोमल हाथों में था.

मेरे वे भाई लोग, जिन्होंने इस तरह से अपनी गांड चटवाई होगी, वो ही इस सुख का अंदाजा लगा सकते हैं. मैंने जोर लगाया तो मेरी चूत की सील टूट गयी और सब कुछ खूनम खून हो गया.

फिर से उसके दोनों छेदों को अपने अपने पानी से सींचा था … उसे हरा भरा बना दिया था. मैंने खिड़की की ओर अपनी पीठ कर ली थी और भाभी बर्थ के दूसरे कोने पर बैठी थी. जब भाईसाहब अपने स्टाफ के यहां एक शादी में गये तो उस दिन भाभी ने अपनी ननद सोनिया को चुदवाने का प्लान कर लिया.

मैं उनके पीछे चलते वक्त उनकी मटकती गांड देख रहा था, जिससे मुझे रहा नहीं गया और मैंने उनकी गांड पर एक चमाट लगा दी.

वो कभी आंड पकड़ने लगती तो कभी लौड़े को ऊपर नीचे करने लगती। मैं बाहर के गेट को देखता हुआ उसके मोटे चूचों को दबा रहा था। हम अपनी कोशिश के हिसाब से जितना हो सकता था उतना मजा ले रहे थे।फिर अवनी ने रात की बात बताई कि मामी को शक हो गया है. ये मेरी पहली कहानी है। मैं अन्तर्वासना पर रोज़ाना सेक्सी कहानियां पढ़ने का मजा लेता हूं. राहुल अब रूचि के आंखों में देखे जा रहा था और रूचि भी उसकी आंखों में डूबी हुई थी.

इतने में राहुल ने मेरी पीठ पर हाथ फिराते हुए ब्रा के हुक को खोल दिया और मेरे दोनों सफेद कबूतरों को आजाद कर दिया. अब अपने काम से शहर जाता हूँ, फिर वापस यहीं आ जाता हूँ और मौका देख कर उस लड़की के ऊपर ऊपर से मज़े ले लेता हूँ.

उनके भीगे हुए ब्लाउज में उनकी मोटी मोटी चूचियों के निप्पल देख कर मेरी नजरें बार बार मॉम के बूब्स पर ही टिकने लगीं. जैसे कि मैंने ऊपर ही बताया था कि मेरी भाभी का फिगर साउथ की हीरोइन काजल अग्रवाल की तरह एकदम मस्त है. क्या बताऊं दोस्तो, उसका वो नंगा जिस्म ऐसे था कि मुर्दे के लंड में भी जान फूंक सकता था.

సెక్స్ గుర్తు

गरिमा बोली- एक बार में कैसे?साक्षी सुनीता के पास गई और सुनीता से बोली- चल सिर के ऊपर हाथ उठा!इसके जवाब में सुनीता ने कुछ नहीं कहा.

मैं उनके निप्पलों को जोर से चूस रहा था और बीच बीच में काट लेता, जिससे वो कामुक सिसकारियां लेने लगतीं. दिसंबर महीने में बाइक चलाने का अनुभव तो आप में से भी कईयों ने किया होगा. बुर से प्रीकम के पानी की बूंदों से उसकी बुर किसी हीरे जैसी चमक रही थी.

पर सर्दी की रात होने के कारण डर नहीं था और हम दोनों एकदूसरे को रौंदने में लगे थे. रोहित, तू कुछ अपने मोबाइल में दिखा ना हंसी मजाक का फनी वीडियो?मैंने कहा- जी मामी. हिंदी में बीएफ फिल्म एक्स एक्स एक्समेरा मुंह सीधा उनकी चूचियों पर जा लगा और मैं उनको जोर जोर से चूसते हुए पीने लगा.

मैंने भी उनकी आँखों में आँखे डाल कर नज़र मिलाई और एक हल्की सी मुस्कान मेरे होंठों पर तैर गयी. सुमन- आप चुप रहो मुखिया जी, हां तो कालू तुम क्या कह रहे थे?कालू- मैडम जी, ये तहखाना बहुत समय से बंद पड़ा है.

मैंने क्या किया?मेरी पिछली कहानी थी:चोद चोद कर साली की हालत खराब कीआज की यह कहानी मेरे एक फैन आयुष की है. मैं आगे बढ़ गया और लौटकर आकर बाइक रोकी, तो भाभी झट से अपनी गांड उचकाते हुए बाइक पर बैठ गईं. नीचे फर्श पर देखा, तो चीनी का डब्बा खुला होने के कारण बहुत सारी चींटियां जमीन पर घूम रही थीं.

अब हरी होंठों से लेकर नाभि तक जीभ को घुमाता जा रहा था और सुमन खड़ी हुई मज़े ले रही थी. कोई भी उसकी तरफ देखता तो वो उसकी पहली नजर उसके इन रसभरे उभारों पर ही टिक जाएगी. मैंने लंड का सुपारा फिर से चूत पर रखा और धक्का देकर लंड को पेल दिया.

आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीबॉलीवुड एक्ट्रेस के साथ सेक्सज़रूर पढ़ी होगी.

समीक्षा को चोदते चोदते मैंने लंड बाहर निकाला और एक पिचकारी उसके मुँह में मार दी. दीदी ने तब द्विअर्थी भाषा में बात की- बहुत प्यासे लगते हो?मैंने सुरूर में कहा- क्या करें बिना पानी कोई सहारा ही नहीं है.

उस रविवार को शाम से ही मुझे अजीब सी मस्ती सूझ रही थी, न जाने क्यों मेरी योनि बार बार गीली हो रही थी और मेरे स्तनों में एक अजीब सी मस्ती भरी बेचैनी सी थी. नाईट बल्व में इतना उजाला नहीं था कि ने उसके नंगे बदन मैं निहार सकता. मेरे साथ एक बार ऐसी बहुत सुन्दर घटना हुई जिसको मेरा मन किया कि आप लोगों के साथ शेयर करूं.

फिर साले ने पूछताछ करके पता लगा लिया कि वो कौन है, कहां रहती है … और तो और उसको अपने हवेली दी, ये भी उसको पता है. रणजीत- वाह रे मुनिया, तू तो बहुत बड़ी हो गई रे, तेरी भाबी बता रही थी तू भी उसका काम में बराबर साथ दे रही है. मैंने उसे कैसे चोदा?दोस्तो, मैं प्रेम अन्तर्वासना पर आपका स्वागत करता हूँ.

घरवाली बीएफ मेरा लंड फुल टाइट हो चुका था और अंडरवियर के ऊपर से ही तम्बू बना रहा था. बस उसकी तरफ से हरी झंडी मिलते ही मुझे ऐसा लगा जैसे मैंने सपने में आसमान में किसी हूर को देखा था और वो खुद चुदने आ गयी.

கிங் மாஸ்டர்

मैंने फिर से उसकी चूत में अपना लंड डाला और गांड उठाते हुए चुत में लंड के धक्के देने शुरू कर दिए. जब मैं सेक्स करता हूं तो मेरी बॉडी का व्यायाम भी हो जाता है। जवान लड़के सुबह-सुबह पुशअप मारते हैं लेकिन हम जैसे अंकल लोगों का तो रात में सेक्स करते हुए ही पुशअप हो जाता है. मैं उनके निप्पलों को जोर से चूस रहा था और बीच बीच में काट लेता, जिससे वो कामुक सिसकारियां लेने लगतीं.

तंग आ के मैंने फैसला कर लिया कि इस निगोड़ी योनि का अब कुछ न कुछ तो करना ही है आज. इस तरह से मेरी मां की करतूतें मुझे काफी समय पहले से ही पता लगनी शुरू हो गयी थीं. बीएफ वीडियो में देखने वालामैंने कहा- तो जब मैं आपको लंड दिखाता था तो कैसा लगता था?वो बोली- पहले दिन तो मैं डर ही गयी कि इस लड़के को ये क्या हो गया जो बाहर नंगा घूम रहा है! उसके बाद फिर मुझे अच्छा लगने लगा.

अब आप समझ ही गए होंगे कि बहुत गर्म प्यार यानि भयंकर वाली चुदाई होना तय हो गई थी.

फिर मेरी गर्दन और छाती पर चूमती हुई एकदम से नीचे आकर उसने मेरे अंडरवियर को खींच दिया और मेरे लंड को एकदम से मुंह में भरकर चूसने लगी. सुमन का हाथ पकड़ कर मुखिया उसको बाहर ले गया और तहख़ाने के दरवाजे से कान लगाया.

शायद भाभी अपनी पति के बारे में सोच रही थीं, जिसकी वजह से उन्हें अब अच्छा नहीं लग रहा था. भाभी- हटो… यह क्या कर रहे हो?मैंने कहा- गर्लफ्रेंड को चुम्मी कर रहा हूँ. जब तक वो पूरी तरह से झड़ नहीं गई, तब तक मैंने अपना मुँह उसकी बुर से नहीं हटाया.

मैं सड़क से उतरकर पास के गेहूं के खेत के अंदर चला गया और अपना बैग जमीन पर रखकर बड़ी तेजी से अपनी पैंट उतारने की कोशिश करने लगा। मेरे काले केले का थोड़ा रस जांघिया में गिर चुका था.

वो दो पैग बनाए और मुझे व्हिस्की का गिलास दिया, खुद वोदका का पैग लेकर बैठ गई. मैं तो साला बिना पिए कभी किसी को नहीं चोदता … मगर आज उस मैडम को तो ऐसे ही चोदूंगा. भाभी- खुशी अभी सोई है, सुबह होने वाली है प्लीज कुणाल … जो भी करना है … जल्दी करो.

सूट वाली सेक्सी बीएफफिर हमारी मुलाक़ात जर्मनी में कैसे हुई और कैसे मैंने उसकी गर्म प्यासी फुद्दी और गांड की ठुकाई की. जैसे ही पैंटी निकल गयी, उसकी चिकनी मक्खन जैसी मुलायम चूत राहुल के सामने आ गई.

आम्रपाली दुबे सेक्स वीडियो

अब आगे की न्यू चूत की सेक्स कहानी:सुरेश- अरे नहीं नहीं … वो हक़ सिर्फ़ तुम्हारा है. मेरा लन्ड उनकी मखमली चूत में घुसने के लिए दबाव बना रहा था। अब मैं थोड़ा नीचे सरका और उनके गोरे-गोरे गले पर किस करने लगा। मुझे गले में किस करने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था। वो बस विरोध जताने के लिए चेहरे को इधर उधर कर रही थी।अब मैंने उनकी साड़ी का पल्लू ब्लाउज के ऊपर से हटा दिया। उनके बड़े बड़े पपीते जैसे स्तन मेरे सामने थे और मैं उन पर टूट पड़ा. पति के दोस्त से चुदाई की सोचकर मेरे ऊपर सेक्स का एक अलग ही नशा चढ़ जाता था.

तो दोस्तो, कैसे लगी यंग गर्ल सेक्सी चूत स्टोरी, मुझे मेल करके जरूर बताएं. ब्रा पेंटी तो वो वैसे भी नहीं पहनती थीं, सो पैरों के बीच की जगह दिख रही थी. अब्बू अम्मी के पास जाकर उनकी गांड की तरफ बैठ गए और अम्मी का पेटीकोट धीरे से उठा कर उनकी पूरी गांड को नंगा कर दिया.

पराये मर्द के माल के लिए पता नहीं मेरे अंदर ये प्यास कैसे जाग गयी थी. वो एकदम से चिल्ला पड़ी- ऊईई … ईईई … आआ आह्ह … मर गयी रे … फाड़ दी हरामी … इतनी जोर से क्या जरूरत थी … आह्ह … हाये … मेरी गांड … मर गयी मम्मी।मैंने पीछे से आंटी को कस कर पकड़ लिया और उनकी चूचियों को सहलाते हुए पीठ पर किस करने लगा. तो मैंने देखा कि भैया और भाभी पुणे वापस जाने के लिए अपने बैग लेकर हमारे घर आए हुए थे.

इसलिए वो मेरे हाथों को छोड़कर मेरा चेहरा पकड़कर मुझे जोर-जोर से चूमने लगी. उन्होंने पहले लंड पर तेल लगाया और फिर मुझे नीचे झुका कर अपने लंड को मेरी गांड में लगा दिया.

पहले से ही रमेश बाबू के बेटे राहुल ने मां से मेरी फिगर व साइज़ के बारे में पूछ लिया था.

लंड चुत की फांक के साइज से ज्यादा बड़ा होने से अन्दर लेने में दर्द होता ही है. बीएफ सेक्सी गांव देहातीशायद वो झड़ चुकी थी, लेकिन वो भी मेरे लंड को बॉक्सर से आज़ाद करके ऊपर नीचे करने लगी. कॉलेज की लडकी का बीएफउन्होंने मेरे निप्पलों पर पहले हल्के से किस किया, फिर जोर से चूसना शुरू कर दिया. उसके दोनों मम्मों के बीच में मेरे लंड को फंसा कर उसने लंड की बूब फकिंग शुरू कर दी.

वैसे भी सुबह मुझे हवेली में सामान शिफ्ट करना है, तो काम ज़्यादा है.

मेरा पूरा लंड उसकी चूत में अंदर तक घुस गया। अब मैं ऐसे ही जोर जोर से उसको चोदने लगा. हाय … सेक्सी भाभी … आह्ह … करने दो ना प्लीज!इतना कहकर मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. अब अम्मी ने टांग को और खोल कर मोड़ लिया, जिससे उनकी गर्म चूत पूरी मुझे और अब्बू दोनों को दिखने लगी थी.

जैसे कि उनका प्यार रस उनके होंठों में जमा हुआ था, जो कि अब वो पीने में व्यस्त थे. देसी फैमिली सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी मौसी के घर गया तो मेरा मन बहकने लगा. मेरी अम्मी देखने में हमारी मां कम, बड़ी बहन ज्यादा लगती हैं और वे अपनी उम्र से 8-10 साल कम की लगती हैं.

பாய்ஸ் பாய்ஸ் செக்ஸ் வீடியோ

वो बोली- तो क्या ये अंदर ही अंदर फन फैलाता है?मैंने कहा- नहीं आंटी, ये बाहर निकल कर डस भी लेता है. पहली चूत चोदने के बाद दोबारा भी कोशिश करता रहा कि दूसरी चूत कैसे मिले लेकिन मुझे सफलता नहीं मिली. फिर मैंने उसके कंधे पर हाथ रखकर अपने हाथ को उसके टॉप में अंदर डाल दिया.

जब सुरेश को लगा मीनू डर रही है, तो उसने कहा- तुम इस बिस्तर पर लेट जाओ, मुझे आराम से देखने दो, फिर मैं तुम्हें दवा दूंगा.

उनका मानना है कि मैं सूट सलवार की बजाय साड़ी और ब्लाउज में ज्यादा सेक्सी और सुन्दर लगती हूं.

नीला की गांड में मेरा लम्बा काला लंड घुसा हुआ था, उसकी चुत में बियर की बोतल का मुँह घुसा था और ऊपर से मैं उसकी चूची को मसलता हुआ उसे किस पर किस किए जा रहा था. फिर एक दमदार झटका मारते हुए पूरा का पूरा लंड भाबी की चूत में घुसा दिया. www.com एक्स एक्स एक्स बीएफछोटी चूत की कहानी में पढ़ें कि भाभी ने अपनी जवान ननद को रात को उसके भाई से अपनी चूत की चुदाई का सीन दिखा कर कैसे गर्म किया.

सिमरन ने कहा कि आपने मेरी पूरी फैमिली की बातें सुनी!मैंने कहा- हां मगर तुमने झूठ क्यों बोला कि तुम किसी फैमिली में हो. मैं कमरे में वापस जाने से पहले अन्दर से नंगा हो गया और सेक्स बढ़ाने वाली गोली खा कर उसके सामने जा कर खड़ा हो गया. भाभी की टांगें हवा में उठ गई थीं और उनके मुँह से मादक सिसकारियां माहौल को और भी मस्त कर रही थीं.

मुखिया- तू पागल हो गया है क्या! उस हरामी को कौन देगा शहर की लड़की … और तो और सुमन के बारे में उसको बोल दिया. मैं- भाभी, मैं जब भी अपने दोस्तों से मिलता हूँ, तो उनके गले लगता हूँ.

उसके बाद मैंने उन्हें कैसे ट्रिक से नंगी किया, फिर उनकी चूत चुदाई की.

मुझे उस वक्त उनके चूचे अपनी आंखों के बिल्कुल सामने दिख रहे थे, जिससे मेरा लंड एक बार फिर तन गया. मैं बोला- ये किसलिये?सोनिया बोली- ये हमारे पहले मिलन की निशानी के लिए. तो मेरे प्यारे दोस्तो, आपको मेरी यह देसी चूत की इंडियन चुदाई कहानी कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपने सुझाव जरूर भेजें.

हिजरा बीएफ सेक्स दस मिनट तक ऐसे ही बिना रुके मैं अपनी बीवी की चूत चुदाई करता रहा और फिर अचानक से मेरे लंड के अंदर से एक तूफान सा उठा. एक तरफ में केवल गेहूं के खेत लहलहा रहे थे तो दूसरी तरफ नदी में औरतों की जवानी.

न्यूयार्क से आने के दूसरे दिन में सुबह को उठकर मैं फ्रेश हुआ और अपने कमरे से बाहर आया. फिर भी उनके लन्ड से जी नहीं भरा था, लेकिन अब सर ने मुझे लिटा दिया और खुद मेरे ऊपर चढ़ गए. उसका गला भी काफी खुला था, जिससे सुमन की चूचियों की क्लीवेज साफ नज़र आ रही थी.

अलिफ लैला 35 भाग

इसके बाद मैं आपको अपनी गोद में उठा कर बेड पर ले जाऊंगा और धीरे धीरे आपकी साड़ी को हटा दूंगा. मुखिया- अरे तो वो सुमन को कैसे जानता है? कब देखा उसने उसको?कालू- जिस रात वो गांव आई थी. कुछ देर लन्ड चूसने के बाद राजेश ने मेरी दोनों टांगों को एक दूसरे से सटा दिया और आंडों पर ढेर सारा थूक दिया.

मुनिया जल्दी से मुखिया के पास जाकर बैठ गई और उसकी जांघों के ऊपर हाथ घुमाती हुई धीरे से लंड को पकड़ लिया. मैं भी देर ना करते हुए उनकी टांगों के बीच में आ गया और अपना लंड उनकी चूत में लगाने लगा.

आप समझ ही सकते हो कि एक सेक्सी फिगर वाली जवान लड़की जब साथ में सटकर बैठी हो तो क्या हालत होती है.

जब मैंने घूम कर देखा, तो मेरे पीछे मेरा भाई कासिब नंगा खड़ा था और उसका गर्म लंड मेरे नंगे चूतड़ों पर चुभ रहा था. मैंने उसे 6 महीनों में ही पटा लिया था और उसके बाद दस बारह बार चोद भी चुका था, पर नई नई चुदाई के काफी समय के बाद कुछ ऐसा हुआ, जो मुझे अन्दर तक मजा दे गया था. आधा खुला ब्लाउज और नंगे सपाट पेट से खिलखिलाती हुई उसकी नाभि मुझे लगातार मदहोश कर रही थी.

अब हमारी बातें शुरू हो गईं और अब तो कुछ हॉट और सेक्सी बातें भी होने लगी थीं. फिर हम दोनों 69 की अवस्था में आ गए और एक दूसरे को पूरी तरह से पागल बनाने में लग गए. जब मैं अंडरवियर बदलकर गमछी लपेटने लगा तो वह मेरी ओर तेजी से आने लगी। उसे देखा तो मालूम हुआ कि उसकी नजर तो मेरी गमछी से ढके लंड के उभार पर ही थी.

आपको मेरी देहात सेक्स कहानी अच्छी लगी हो तो मुझे बतायें और कुछ कमी रह गयी हो तो वो भी बतायें.

घरवाली बीएफ: मुझे टीवी देखने का कुछ खास शौक नहीं हैं, तो मैं बस यूं ही कुछ टाइम टीवी देखकर अपने रूम में जाकर मोबाइल में पोर्न मूवी देखने लगा. इधर सुरेश भी कोई तगड़ा मर्द नहीं था, वो तो पहले ही बहुत ज़्यादा उत्तेजित था.

आपकी पिंकी सेन[emailprotected]छोटी चूत की कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 6. जैसे ही वो आयी, मैंने उसे स्कूटर पर बिठाया और हम दोनों मेरे घर की ओर निकल पड़े. चूत का टेस्ट सबसे लाज़वाब होता है। मैं लगभग दो से तीन मिनट तक उनकी चूत को ऐसे ही चूमता, चाटता और चूसता रहा।तभी मैडम जी सिसकारते हुए बोलीं- आह्ह … राज, अब और मत तड़पाओ.

मैं वहां पर उनके साथ चाय पीते हुए गपशप करता रहता और उनकी मदमस्त चूचियों को आंखों से चोदता रहता.

वो लंड चूसने में एकदम एक्सपर्ट थी यार … बता नहीं सकता कि कितना मजा मिल रहा था. भाबी जी के ससुर के मरने के बाद वो अपने पति के साथ रहने दूसरी जगह चली गयी और हम दोनों की चुदाई का सिलसिला वहीं रुक गया। अगली कहानी में मैं बताउगा कि भाबी जी कीछोटी बहन की चूतको मैंने कैसे चोदा।मेरी ये देसी भाबी सेक्स कहानी आप लोगों को कैसी लगी इस पर कमेंट जरूर कीजियेगा. कुछ देर बाद वो दोनों उठ गए और बाथरूम में जाकर दोनों ने एक दूसरे को साफ किया.