मोटी लुगाई की सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,नंगी सेक्सी वीडियो हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो सेक्सी औरत का: मोटी लुगाई की सेक्सी बीएफ, फिर मैंने उसकी चूत पर अपने को अपने लंड के सुपारे से रगड़ना शुरू कर दिया.

हिंदी में चुदाई वाला वीडियो

बहुत मजा आ रहा था उसकी गांड पर लंड लगाकर। शायद उसको भी मजा आ रहा था क्योंकि वो आराम से अपनी गांड पर मेरे लंड को लगवा कर खड़ी हुई थी. హిందీ సెక్స్ సెక్స్मैक्सी जब ऊपर उठती, तो कुछ इस तरह से हो जातीं कि मुझे आंटी का सिर्फ पेट ही दिख पाता था.

दोस्त की मम्मी पूछने लगी- अरे तेरी बीवी कहां है? वो तेरे साथ में नहीं रहती क्या?ये पूछ कर आंटी ने जैसे मेरी दुखती हुई रग पर हाथ रख दिया. बीपी सेक्सी वीडियो भेजेंलड़कों को सील पैक चूत चोदने के लिए मिला करें और लड़कियों को भी लम्बे मोटे लंड अपनी चूत में लेने के लिए मिलते रहें.

जब देहाती लोग उतर गए, तो तेरी लुगाई को खड़ा करके सुभाष भईया ठोकने लगे.मोटी लुगाई की सेक्सी बीएफ: इसलिए तुम पूरी ताकत से मुझे चोद कर मेरी चूत फाड़ दो।मेरी बात सुनकर नीरव को बहुत खुशी हुई।इसी के साथ उसके मोटे लंड का मेरी चूत में अंदर बाहर होना शुरू हुआ.

उस दिन मुझे अपने पति मनीष और मनोहर के व्यक्तित्व का अंतर मालूम चला.उसकी चीख निकली और मैंने तुरंत उसके होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिया.

एडल्ट फिल्म दिखाएं - मोटी लुगाई की सेक्सी बीएफ

मैंने कहा- तो गाउन को उतार दो ना मैडम … आपके पक्के आशिक को आज पूरी नंगी मैडम चोदने का मन है.मैं कंडक्टर के साथ अपनी बातें खत्म की और सोचा कि बस तो खाली हो गई है, अब मैं पीछे अमिता के साथ बैठ जाता हूं.

मंजू का पूरा चेहरा मेरे पेट से चिपक गया था और उसकी ठोड़ी मेरे अंडकोषों को टच कर रही थी. मोटी लुगाई की सेक्सी बीएफ मैंने कुछ समय बाद धीरे से लंड को अन्दर बाहर किया तो उसको भी मज़ा आने लगा और वो मेरा साथ देने लगी.

मैं तयशुदा दिन और शाम को आठ बजे उस जगह पहुंच गया और मेरी सलहज का इंतज़ार करने लगा.

मोटी लुगाई की सेक्सी बीएफ?

हर किसी की लाइफ सेक्स जरूरी होता है और यह खुशी मैं तुम्हारी दीदी को नहीं दे सकता हूँ, इसलिए तुम हमारी मदद करो. उसके बाद बाहर आकर भाभी मेरे लंड को पकड़ कर बोली- ये तो बहुत काम की चीज है रे! मेरे ही घर में इतना दमदार लंड था और मुझे पता ही नहीं चला. थोड़ी देर तक मैं उसकी बुर को रगड़ता-मसलता रहा और उसकी चूचियों को दबाता रहा।मिनी अपना हाथ मेरी पैंट के ऊपर से मेरे लण्ड पर रखे थी। उसने अपने हाथ से मेरे लण्ड पर दो थपकियाँ लगाईं।मैं उसका इशारा समझ गया और अपनी चैन खोलकर लण्ड निकाला और मिनी के हाथ में दे दिया।लण्ड एकदम कड़क हो रहा था, मैंने मिनी से कहा- तुम्हारी यह बहुत प्यासी है.

फिर वो खड़ी हुई और मेरे सामने अपनी जीभ से अपने होंठों को चाटते हुए बोली- कैसा लगा मेरे राजा!मेरे चेहरे पर एक वासना से भरी मुस्कुराहट आयी और मैं बोला- साली, उम्मीद से भी ज्यादा मस्त है तू!वो बोली- अभी कहां मेरी जान, अभी तो पूरी रात बाक़ी है. कुछ ही पलों में उन्होंने अपने दोनों पैरों को मेरे सिर पर दबा कर अपनी चुत का पानी छोड़ दिया और शांत हो गईं. इस बीच मैं उसे किस करता रहा और और उसके थनों को निचोड़ता और चूसता रहा.

जैसा फिगर मैंने देखा था, रियलिटी में वो उससे भी ज्यादा सेक्सी लग रही थी. सोनम ने मेरे लोवर के अन्दर हाथ डाल कर जब मेरे 7 इंच लम्बे लंड को महसूस किया, तो उसने लंड बाहर निकाल लिया. किंतु जब मेरे साथ भी ऐसी घटना हुई, तब मुझे यकीन हुआ कि यह सब सच्ची कहानियां हैं.

एक दिन मैं अपनी छत पर गया तो मैंने देखा कि वो लड़की पहले से छत पर ही थी. मनोज ने कहा- कहां और कैसे करना है?सुनीता ने कहा- मुझे तो पता नहीं टू देख कैसे करना है.

मैंने कहा- अरे नहीं सर, बस मैं रोज थोड़ी एक्सरसाइज कर लेता हूं इसलिए मेहनत करने की आदत सी हो गयी है.

उसके बाद वो मेरे ऊपर से उतर कर बिस्तर पर लेट गयी और मुझे अपने ऊपर आने को कहा.

मैंने उनकी एक न सुनी और एक ही झटके में उनकी गांड में लंड ठांस दिया. मैंने कहा- ठीक है … आप लंड तो चूसो … तीन दिन तक मेरे माल की एक एक बूँद सिर्फ आपकी चूत में ही जाएगी. मैंने कहा- मामी मैं झड़ने वाला हूँ, माल कहां निकालूं!वो बोलीं- राजा जहां मन करे वहां निकाल दो.

मैं बोली- ठीक है … मैं तुझे माफ़ भी कर सकती हूँ … और तुझे किसी बड़ी पोस्ट पर भी सैट करवा सकती हूँ. स्मृति का कद पांच फीट पांच इंच, तीखे नैन नक्श, गोरा रंग व भरा बदन मुहल्ले के सभी लड़कों के दिल में हलचल मचाये हुए था. उन दोनों की आवाजों की उत्तेजना में लंड को हाथ में लेकर मुठ मारने लगा.

धीरे धीरे अब मैंने उनकी चूचियों को मसलते हुए लंड के धक्कों की स्पीड तेज कर दी.

जैसे ही उसको इस बात का आभास हुआ कि उसकी पैंट नीचे सरका दी गयी है और मेरे हाथ की पहुंच उसकी पैंटी तक हो गयी है तो वो एकदम से संभल गयी. मैं बुरी तरीके से हांफ रहा था और निशा की सांसें भी सामान्य नहीं हो पाई थी. इसके बाद मैंने होटल के काउन्टर पर फोन करके एक ब्लैक लेबल की बोतल मंगाई और सिगरेट की डिब्बी मंगा ली.

वो बार बार इधर उधर नजर दौड़ा कर ये सुनिश्चित कर रही थी कि कोई हम दोनों को ये हरकत करते हुए देख न रहा हो क्योंकि वो घर की इज्जत थी. मुझे उसकी बात सुनकर पहले तो आश्चर्य हुआ कि ये डैड के साथ सेक्स करती है … मगर मुझे इससे क्या था. उसने बात को थोड़ा सा और खींचा और मनोज से कहा- मनोज तुम इतनी खूबसूरत हो, क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मनोज ने शर्माते हुए कहा- नहीं भाभी, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

मैं स्कूल में बायलॉजी की स्टूडेंट थी तो किसी भी चीज के बारे में पूरा रिसर्च कर डालती थी.

तो वो खुद ही कहने लगी थी- आह मेरे राजा कब चोदोगे अपनी इस रांड को … आंह जल्दी पेलो ना … फिर अम्मी आ जाएगी. बड़े करीने से बंधी रेखा की साड़ी उसके जिस्म से अलग करके मैंने रेखा को गोद में उठा लिया और उसके होठों पर अपने होंठ रख दिये.

मोटी लुगाई की सेक्सी बीएफ मौसी के साथ लेस्बियन सेक्स कहानी को अगले भाग में पूरा लिखूंगी … आप मुझे मेल करें. उन्होंने पूछा- पूरा बोल न … यदि तू मेरा पति होता तो क्या?मैंने कहा- कुछ नहीं … बस …तो वो बोलीं- क्या सच में मैं तुझे इतनी पसंद हूँ?मैंने कहा- हां चाची … सच में आप मुझे बहुत सुन्दर लगती हो.

मोटी लुगाई की सेक्सी बीएफ मैंने बच्चों के बारे में पूछा तो भाभी बोलीं- घर पर मेड है, वो सम्भाल लेगी. उस दिन घर पर कोई नहीं था इसलिए बहन को छुप कर देखने में मुझे भी कोई खास परेशानी नहीं होने वाली थी.

मैंने आगे बढ़ कर अपना एक हाथ उनके पेटीकोट के ऊपर से ही मामी की चुत पर हाथ रख दिया.

देसी बीएफ बीएफ बीएफ

मैंने घर पर दोस्त के भाई की शादी में बारात में जाने की कह दी और कपड़े लेकर निकल गया. बिल्कुल साफ सुथरी चिकनी गोरी चूत … हल्की सी गुलाबी रंगत लिए हुए मुझे तरसा रही थी. फिर मैंने कार से वो पार्सल निकाले और आंटी के साथ अन्दर उनके घर में आ गया.

आंटी की गांड बड़ी होने की वजह से जल्दी से इस पोजीशन में लंड गांड में घुसा नहीं और बड़ी मुश्किल से ही लंड को अंदर घुसेड़ा. मगर हो सकता है, हमारी इस बातचीत से तुम्हारी समस्या का कोई हल निकल आए।मैंने कहा- ठीक है।वो आगे आए, मेरे हाथ को अपने हाथ में पकड़ा मुझे थोड़ा अचरज हुआ।मगर मेरे हाथ को अपने दोनों हाथों में पकड़ कर वो बोले- अब मैं अपने दोस्त की बीवी से नहीं बल्कि अपनी दोस्त से बात कर रहा हूँ. मैं भी छत पर चला गया, तो भाभी कुर्सी पर बैठी थीं … और शायद रो रही थीं.

मेरी चूत से निकले रस ने उसके लंड को भिगो दिया और अब पच-पच की जोरदार आवाज होने लगी.

मौसी की उम्र 38 साल है और वो साढ़े पांच फिट की हाइट वाली एक मदमस्त महिला हैं. आह्ह चोदो मुझे… चोदते रहो।मामी की ये बातें मुझे उनकी चूत को और जोर से ठोकने के लिए उकसा रही थीं. अब उसको भी सांस लेने में दिक्कत होने लगी। तो मैंने बाहर निकाल लिया.

मोहित सिंह मुझसे मुखातिब हुए- मादरचोद तू कौन है … जो मेरी बेटी से अपना लंड चुसवा रहा है?मैं- म. वैसे एक लड़की से बात की है जो कि बड़ी ही आसानी से चूत देने के लिए तैयार दिख रही है. मैं बस इस फिराक में था कि कब मुझे उनसे मिलने का मौका मिले और आंटी की चूत चुदाई का मजा ले सकूं.

टोल नाके पर बस धीरे धीरे लाइन में आगे बढ़ रही थी और हम टोल नाके की बल्ब की रौशनी में चादर के अंदर धीरे धीरे चुदाई करने लगे. जिया मेम ने उस पर्ची को खोला और उसको खोल कर हम दोनों के सामने कर दिया.

मैंने उसकी ये हालत देख कर उसकी कमर दीवार से सटा दी और उसके होंठ अपने होंठों में जकड़ लिए थे. जीजू आगे बोले- मैं तुम्हारी दीदी को वो खुशी नहीं दे पा रहा हूँ … वरना तुम्हारी दीदी को भरपूर खुशी देता. भाभी बोलीं- यहां सब लोग हैं… कोई देख लेगा… प्लीज़ मेरा हाथ छोड़ो… मैं आती हूं.

मुझे ये तो नहीं पता था कि उन दोनों का सामान कैसा है … लेकिन बस मुझे प्रीति को सबक सिखाना था.

मैंने कहा- आपकी आंखों के आंसू तो कुछ और कह रहे हैं भाभी जी … प्लीज बताइए ना … आखिर क्या ऐसा हुआ है?तब उन्होंने कहा कि तुम्हें क्या बताऊं … तुम अभी नहीं समझ पाओगे. उसने मुझे अलग-अलग पोजीशन में चोदा।सुहागरात की चुदाई के बाद न जाने कब हमारी आँख लग गई।सुबह सूरज की चमकती रोशनी से मेरी आँख खुली। दिन निकल आया था. मैंने कहा- ठीक है, मैं जा रहा हूं लेकिन जब तुम पापा से बात करो तो मुझे कॉल कर लेना ताकि मैं भी बात सुन सकूं.

ससुराल में सास और बीवी की चुदाई के बाद भी मेरी चालू बीवी की चूत की प्यास शांत होने का नाम ही नहीं ले रही थी. आंटी जल्द ही तड़प उठीं और आवाज निकालने लगीं- आह गोलू … आआईईई … मैं मर जाऊंगी … जल्दी करो.

मैं भी उसे पसंद तो करती थी लेकिन …दोस्तो, मैंने अपनी पिछली गे क्रॉसड्रेसर सेक्स स्टोरीबॉटम क्रॉसड्रेसर की सेक्स स्टोरीमें आपको बताया था कि कैसे दुकानदार नीरव से मेरी मित्रता बढ़ती गई. मैंने हैरानी से उसकी तरफ देखा और अपना डर खत्म करके चुपचाप खाना खाने लगा. मैंने वीर्य वाले कंडोम को डस्टबिन में फेंक दिया और दीदी के पास लेट गया.

बीएफ फिल्म भेजो वीडियो में

फिर भी कंट्रोल करके मैंने धीरे धीरे पैंटी के अंदर हाथ देने की कोशिश की.

हम जीजा-साले इधर-उधर की बातें करने लगे, तभी दीदी ने खाना खाने के लिए आवाज दे दी. मेरी दोनों टांगें फैला दीं और मेरे लंड को 2-3 इंच अपने मुँह में लेकर अपनी जीभ को मेरे सुपारे पर रगड़ने लगी. उसने अपनी चूत को मेरे मुंह पर लगा दिया और मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया.

इस बार रोशन लाल ने अलीज़ा की ड्यूटी अपने फार्महाउस पर लगवा दी, इधर वो मीटिंग करता था और सबको पार्टी देता था. रास्ते भर मैं यही सोचता आ रहा था कि चार दिन और पांच रातों तक अमिता सुभाष के पास रही. एक्स एक्स सेक्सी फिल्मरोहित के कंधों को मैंने कस कर पकड़ लिया और मेरी चूत में झटके लगने लगे.

कोमल दीदी हंसते हुए बोलीं- आराम से करो … तुम्हें कोई रोकने नहीं आएगा. मेरी चूत के ताले के लिए मौसा के लंड से अच्छी चाबी और कोई हो ही नहीं सकती थी.

अमन ने मेरे हाथ से मेरी ब्रा ले ली और साइड में रख दी और फिर से चुदाई का एक और राउंड शुरू हो गया. उस समय मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरे लंड में उस चुदाई से सूजन आ गयी हो. अब जब ऐसी आवाजें कानों में पड़ रही थीं तो मेरा भी उत्तेजित होना स्वाभाविक था.

उस दिन मैंने रेड कलर में बड़े गले का टॉप पहना हुआ था, जिसमें से मेरे 36 इंच के चूचे साफ नजर आ रहे थे. इधर खड़े होकर कब तक चुदाई करोगे?मैंने मोनिका को गोद में उठाया और बेडरूम में आ गया. मेरे मन का असमंजस अब खत्म हुआ और अंत में मैंने सरिता दीदी को चोदने का फैसला ले लिया।उठ कर मैं रूम में से निकल कर सीधा दीदी के रूम की तरफ गया.

रात 11 बजे मैं अपनी गर्लफ्रेंड से कॉल पर बात कर रहा था, तभी मुझे किसी के आने ही आहट मिली.

[emailprotected]हिंदी इन्सेस्ट सेक्स स्टोरी का पहला भाग:मेरी चुदक्कड़ मां को चोदा-2. उसी वक्त से मां की चूत का वो नजारा मेरी आंखों के सामने से हटता नहीं है.

वो भी गांड को हिला हिला कर अपनी चूत में अपने ही ससुर का लंड लेने लगी. मैंने उसकी ये हालत देख कर उसकी कमर दीवार से सटा दी और उसके होंठ अपने होंठों में जकड़ लिए थे. मगर करिश्मा जैसी हसीना से अपने होंठों पर चुम्बन पाना मेरे लिए एक सौभाग्य जैसा था.

मैं अपनी जांघों को समेटने की कोशिश करते हुए चूत को जांघों के बीच में छिपाने की कोशिश करने लगी. मेरे बेटे की शादी में पड़ोस के घर से चार लोग आये और 101 का शगुन दे गये. मेरी गर्लफ्रेंड अंजना की मॉम गर्ल्स स्कूल में टीचर थीं … और उसके डैड मोहित सिंह बाय्स स्कूल में थे.

मोटी लुगाई की सेक्सी बीएफ नीचे से मैंने काले रंग की ब्रा पहनी हुई थी जिसमें मेरी गोरी चूचियां बहुत मस्त लग रही थी. उधर एक रूम बुक करके भाभी मेरे पास वापस आ गईं और हम दोनों उधर से उठ कर कमरे में आ गए.

देसी सुहागरात वाली बीएफ

चुदाई की कामुक आवाजें पूरे कमरे में गूँज रही थी।इस बार वो जैसे पागल हो गयी. उसके बाद मैंने अपने लंड पर कॉन्डम लगा लिया और उनकी चूत में लंड दे दिया. मैंने बताया- हां उसने मुझे पहले बताया था मगर मुझे अभी ये नहीं मालूम था कि उसका प्रोजेक्ट का काम फाइनल हो गया है.

लेकिन जाने के समय भाभी की तबियत खराब हो गई, तो वे जाने से मना करने लगीं. मैं खा ही रहा था कि मुझे कुछ गिरने की आवाज आई और साथ में ताई भी चिल्लाई. ब्लू फिल्म सेक्सी मूवी हिंदीराज भी मेरे बड़े मम्मों को खूब काटते सहलाते हुए मुझे मजा देने लगा था.

मेरा लंड बाहर आते ही उसने कसके अपने एक हाथ में पकड़ लिया और बोली- अरे रे रे इतना बड़ा है तुम्हारा साहब.

तब तक हम दोनों सहज हो जाते हैं व एक मित्र की भांति एक दूसरे से घुलने मिलने का प्रयास करते हैं. निगार आंटी आए दिन नजमा आंटी के घर मुझे मिलने के लिए बुलातीं और मेरे लिए हमेशा कुछ न कुछ गिफ्ट लेकर आतीं.

मेरी चूत ने अब लंड को एडजस्ट कर लिया था और मैं चुदने का मजा लूटने लगी. दोस्तो जैसा कि आपने मेरी गर्ल्स Sexxx स्टोरी के पहले भागऑटो में मिली एक जवान लड़की की अन्तर्वासनामें पढ़ा कि मैंने काजल भाभी को चोदा और अपना बीज पारुल की प्यासी सहेली साधना को पिलाया. अभी थोड़ी देर ही हुए थे कि सरला फिर बोल पड़ी- आह मेरा होने वाला है.

इसके बाद मैंने उनकी साड़ी और पेटीकोट खोलकर उनको पूरी तरीके से नंगा कर दिया.

14 फरवरी का दिन था और मैं सुमित से मिलने के लिए काफी उत्सुक हो रही थी. हम दोनों सप्ताह में एक या दो बार होटल में जरूर जाते हैं और चुदाई करते हैं. ज्यादा दर्द हो रहा था क्या?जिया- मेरी जगह तुम होते तो तुम्हें पता चल जाता कि कितना दर्द हुआ और कितना नहीं.

हिंदी बीपी ब्लू पिक्चरउन्हें स्कूल के लड़कों के इन इरादों का अच्छे से पता था, तभी वो जानबूझकर लड़कों को देखते ही अपनी चाल बदल देती थीं. तभी मेरे मन में शैतानी ख्याल आया कि जाकर देखना चाहिए कि पापा अब क्या कर रहे होंगे!मगर देखने जाऊं तो कैसे जाऊं.

दे सेक्सी बीएफ

हम दोनों खाना खाकर उठे, तो मामी ने अपने बेड के बगल में मेरा बिस्तर लगा दिया और बोलीं- इधर सो जाओ. फिर तो मुझसे भी रहा न गया और मैं अपने लौड़े को अंदर पूरी ताकत लगा कर धकेलने लगा. एक दो लड़कियों से मैंने बात भी की लेकिन उनकी चूत तक पहुंचने का सफर पूरा ही नहीं हो सका.

मेरे झड़ने के बाद हरि ने मुझे एक पैग पिलाया, जिससे मुझे राहत मिल गई. और वो भी जब लंगड़ा कर चल रही थी तो पता नहीं मुझे एक अलग मजा आ रहा था. मगर पिंकी ने मेरा लंड अपने मुँह से नहीं निकाला … उसने लंड का सारा पानी पी लिया था.

जब मैंने सर उठा कर बिस्तर पर देखा, तो उस बेड की बेडशीट पर बहुत सारा खून पड़ा था. शादी के दौरान मेरी स्मृति से भी नजदीकियां बढ़ गईं और आंटी भी मुझे बेटा बेटा कहते न थकतीं, स्मृति को चोदने की मेरी इच्छा पूर्ण होने की सम्भावना बन गई थी. लोवर उतरते ही मेरा खड़ा लंड उनके सामने था, जिसे देखते ही भाभी ने अपने हाथों में पकड़ कर कहा- आह बहुत मोटा और बड़ा लंड है.

उसमें कुछ काले हब्शी लोग भी थे जिनका लंड बहुत बड़ा था और उनमें से एक आदमी एक गोरी लड़की की चूत में पूरा लंड घुसा रहा था. मैं फिर नीचे बैठ गयी और मैंने उसका लंड चूसने के लिए उसको खड़ा कर दिया.

धीरे से धक्के लगाते हुए मैंने जिया मेम की चूत को चोदना शुरू कर दिया.

करीब 5 मिनट लंड चूसने के बाद, मंजू ने मुझे किचन की पट्टी पर झुका दिया और मेरा बॉक्सर नीचे करते हुए मेरी गांड चाटने लगी … साथ ही मेरे लंड को मुठियाने लगी. सेक्स ब्लू इंग्लिश फिल्मधीरे धीरे मैं हाथ को उसके दूधों तक ले गया और फिर आहिस्ता से हाथ उसके बूब्स पर रख दिया. सेक्सी बीपी फिल्मेंजल्दीबाजी में मैंने आरक्षण नहीं करवाया था, इसलिए मैं एक अच्छी जगह देखकर ट्रेन में खिड़की वाली सीट पर बैठ गया. उधर हरि मेरे मम्मों से खेल रहा था और विशाल ने मेरे मुँह में अपना लंड दे दिया था.

फिर मैंने अपने लंड को उनकी चूत पर सेट कर दिया और धक्का देने ही वाला था कि लवली आ गयी.

ये सुनकर भाभी मुस्कुरा दीं और मेरे लंड को हाथों में भर के हिलाने लगीं और अपनें होंठों से लंड पकड़कर उस पर जीभ फिराने लगीं. मेरा लंड उसकी चूत में था और उसकी चूची मेरे सीने से चिपकी थी और हम एक दूसरे की लार पी रहे थे. तो वो बोली- बस ओके … मैंने आई लव यू भी कहा था … क्या उसका जवाब ओके होता है?मैंने बेमन से करिश्मा को ‘आई लव यू … कहा.

मैं उसका पूरा साथ दे रही थी।जोश में मैंने उसकी शर्ट के सारे बटन तोड़ दिये और शर्ट उतार दी।फिर उसने मेरे पूरे कपड़े उतार दिये सिर्फ पैंटी को छोड़कर!और वो धीरे-धीरे मेरे बदन को चूमता और चाटता हुआ नीचे बढ़ता गया।वो मेरे पेट और नाभि को चाटने लगा. मेरी मा सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि माँ की चुत चुदाई दो पराये मर्दों से होते देखी मैंने. वो एक हाथ से मेरे लंड को हिला रही थी और दूसरे हाथ की बीच की दो उंगलियों को मेरी गांड के छेद पर रगड़ने लगी.

देसी बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी

मुझे पता नहीं क्या हुआ कि मैंने मन में ठान लिया कि इसकी चूत तो लेकर ही रहूंगा. कुछ देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसके पैरों को अपने कंधे पर रख लिया. गांव आने के बाद अब मेरा मन पहले के मुकाबले ज्यादा सेक्स के बारे में सोचने लगा था.

मुझे उनकी चीखों से मानो ऐसा लग रहा था जैसे मैं किसी सील पैक माल को चोद रहा होऊं.

इरोटिक ब्लोजॉब सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैं अपने बदन की मालिश कर रहा था और हमारी नौकरानी ने मेरा खड़ा लंड देख लिया.

अगले दिन ऑफिस में मेरी मीटिंग का नंबर दोपहर के बाद ही था, तो मैंने ऑफिस फ़ोन किया कि शायद मुझे देर हो सकती है. वैसे तो ऑफिस वाले कुछ और दिन का काम बता रहे हैं, पर वो करवाचौथ आ रही है तो मुझे आपकी बहू के पास जाना पड़ेगा. वीडियो मराठी बीपीमैंने उसके पैरों पर किस करता हुआ धीरे धीरे साड़ी को ऊपर किया और नीले रंग की पैंटी पर नजर पड़ी.

कहानी के बार में कुछ और कहना चाहते हैं तो आप मुझे ईमेल पर भी संपर्क कर सकते हैं. उसे देखते ही मैं समझ चुका था कि यह अब मेरे सभी चीजों में निगरानी रखेगी और कोई भी चूक होने पर यह घर वालों को बता देगी. मैं सोच में पड़ गया कि इतनी रात में उन्होंने मुझे क्यों बुलाया है?मैंने उनके रूम के पास जाकर नॉक किया.

क्योंकि मुझे प्रोटीन ड्रिंक, मैगी और ऑमलेट आदि खुद बनाने का शौक है. ऐसी चिकनी चीज है तू।मुझे गुस्सा आया और मैं बोला- ठीक है आज तुम्हें दिखा ही देता हूं अपना लंड.

मौसा ने मामी की चूत पर थोड़ा सा तेल लगाया और थोड़ा सा तेल उनके दोनों गोल मम्मों पर लगा कर मालिश की.

फिर हम सिर्फ फोन पर बात करने लगे।एक दिन बात करते हुए उसने मुझे मिलने के लिए पूछा. उनका हाथ मेरी ओअर में घुसा हुआ ऊपर नीचे चलता हुआ साफ दिखाई दे रहा था. मैंने बुआ से पूछा- कहां निकालूं?बुआ ने अपनी गांड में से मेरा लंड निकला और अपना मुँह मेरे सामने कर दिया.

चुदाई वाला वीडियो दिखाइए मैंने उसे हल्की सी आवाज देते हुए कहा- माँ?माँ ने तुरंत अपनी कुहनी से अपनी दोनों आँखें छुपा लीं मगर बोली कुछ नहीं. जाते हुए वो बोले- तो फिर हमें खुश करने का प्रोग्राम कब रख रही हो अंजलि जी?मैं बोली- दो दिन के बाद मेरे घर पर आ जाना.

एक पल के लिए ठिठकने के बाद रेखा ने अपने दोनों हाथों से मेरा हाथ पकड़ा और अपनी आँखों से लगाकर बोली- आज सोमवार है, भगवान भोलेनाथ को साक्षी मानकर मैं आपकी मुहब्बत स्वीकार कर रही हूँ. तुमने मुझे बहुत तड़पाया है डिम्पल है, अब और सब्र का इम्तेहान मत लो. इसलिए पिताजी ने निर्णय लिया है, चूंकि अभी दशहरे के अवकाश में कॉलेज बंद रहेगा व बलविंदर जी की पत्नी मायके जा रहीं हैं, मैं उनके घर इन 7 दिवस के लिए उनके पास रहकर गणित का उचित मार्गदर्शन पाते हुए अभ्यास कर सकता हूँ.

हिंदी पिक्चर बीएफ सेक्स

तभी करिश्मा ने मुझे हिलाया और कहा- यहीं खड़े रहोगे या अन्दर भी आना है. कम से कम 9 या 10 पिचकारियां माल की उनकी चूत में निकलीं … औऱ मैं उन्हीं के ऊपर गिर कर सो गया. महीने, पन्द्रह दिन में जब उसकी इच्छा होती है, अपनी गर्मी उसी तरह से उड़ेल जाता है जैसे पीकदान में लोग थूक कर चल देते हैं.

जिधर से शादी होनी थी, वो जगह हमारे घर से करीब एक घंटे की दूरी पर थी. अपनी बनियान उठा कर अपना शरीर दिखा कर मुझे चूत चुदवाने के लिए उकसाने लगा.

थोड़ी देर तक चुत मारने के बाद मैंने बुआ से बोला- मनीषा रानी … अब मुझे तुम्हारी गांड मारनी है.

आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपनी राय जरूर बतायें. अब वहां चूंकि बैठने के लिए जगह कम थी तो वो इसी बेंच पर थोड़ा सा आगे को होकर बैठ गया. करीब 10 मिनट लगातार मैंने धक्के लगाए होंगे, तब तक साधना फिर से झड़ गई.

मेरी पत्नी जमीन की मालकिन है इसलिए उसके पिता ने उसकी शादी जल्दी ही कर दी थी ताकि बाद में कोई समस्या न हो. आंटी ने अपनी फ्रेंड से कहा- यही है वो … जिसके आने का मुझे इन्तजार था. उसने मुझे उसकी जांघों के बीच में खड़े उसके लंड के ऊपर बिठा लिया और मुझे फिर से चोदने लगा.

दीदी कमर उठा कर उछलने की कोशिश कर रही थीं और अपने मुँह से मादक आवाजें निकाल रही थीं.

मोटी लुगाई की सेक्सी बीएफ: जैसे ही मां घोड़ी बनी तो उस आदमी ने माँ के चूतड़ों पर अपनी बेल्ट मारनी शुरू कर दी. मैंने सोचा कि ये दीवार कहां से आ गयी? मैंने देखा तो सामने एक 35-40 साल का बाऊंसर था.

मैंने सोचा कि कुछ सेक्स वीडियो या नंगी फोटो ही देख लेता हूं टाइम पास करने के लिए. सुभाष ने बताया कि वो दोनों उसके जिगरी दोस्त थे और धंधे में पार्टनर भी थे. मैं उसके काफी करीब गया और मैंने धीरे से पेटीकोट ऊपर खिसका दिया। आह … क्या मस्त गोरे गोरे सुडौल चूतड़ थे। मैं और नजदीक गया तो गोरी चिकनी जांघ एकदम गोल मोटी और मस्त थी और जांघों के बीच में शकरकंद जैसी गुलाबी उभरी हुई चूत, जिस पर छोटे-छोटे काले घने बाल उगे हुए थे.

करीब दो महीने तक बातों के बाद हमने मिलने की सोची और हम दोनों उसी रेस्टोरेंट में मिले.

मगर ये बता कि मेरे जाने के बाद तूने किसी और को तो नहीं चोदा ना?मैं बोला- दीदी, आपकी चूत की सील पंकज ने तोड़ी थी. नानी का घर हमारे घर से इतनी दूरी पर था कि पहुंचने में 5-6 घंटे लग जाते थे. मौसी भी मेरी पीठ पर अपने नाखूनों को चुभा रही थी जिससे पता चल रहा था कि मौसी को मेरा लंड लेने में कितना मजा आ रहा था.