हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी

छवि स्रोत,सोते हुए जबरदस्ती सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो 9in: हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी, मैंने उसी अवस्था में अपने एक हाथ का सहारा लिया और अपने चूतड़ को हल्का पीछे खींचा और थोड़ा जोर से धक्का मारा तो मेरा लण्ड सरसराता हुआ आधे से ज्यादा चूत के अंदर घुस गया.

सेक्सी दुल्हन सेक्सी

मैं कंप्यूटर में तेज़ हूँ क्योंकि मुझे कंप्यूटर पढ़ना बहुत अच्छा लगता है. सेक्सी वीडियो हिंदी नई वालीकुछ देर बाद मैंने आंखें खोलीं, तो देखा वो मेरे लंड को किस करते करते उसको अपने सारे चेहरे पे फेर रही थी.

जब राजन अंदर आ गया तो मैंने उससे पूछा- यहां पर मेरे पहनने के लिए कुछ है क्या?राजन ने कहा- मेरे पास एक शर्ट है. सेक्सी फिल्म 2 सालअपने होंठों में उन्होंने मेरे टाइट निप्पल को दबा लिया था और किसी बच्चे की तरह उसको चूसने लगे.

मेरे हाथ लगाते ही रवि मामा भी बिल्कुल शांत हो गए और लम्बी सांसें लेने लगे.हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी: वो बोली- इनके पापा रात को आएंगे क्या?मैं- उनकी नाइट ड्यूटी है और वो सुबह 8 बजे तक आएंगे.

दीदी ने मेरी तरफ देखा और अजय से पूछा- इतनी रात को कैसे आना हुआ?अजय ने बताया कि वह किसी काम से यहाँ पर आया हुआ था मगर काम करते हुए रात में देर हो गयी इसलिए उनके पास चला आया.कैसे हुआ ये ऐसा?मैंने कहा- तुमको याद कर करके मुठ मारने से ऐसा हो गया है.

सेक्सी फिल्म वीडियो कार्टून - हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी

आशा को मुँह में लंड लेना अच्छा नहीं लगता था तो वह लंड मुँह में नहीं लेती थी.लुट गयी उनकी आबरू!विपिन जी ने स्वाभाविक प्रश्न पूछते हुए कहा- मामी आपको कैसे पता चला?मामी- हम औरतें ईश्वर की बहुत ही रहस्यमयी रचना हैं.

वो मुझसे बोली- आराम से चलो यार अच्छा लग रहा है … ठंडी ठंडी हवा आ रही है. हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी वैसे आसपास के गांवों में हमारा परिवार काफी इज्जतदार और फेमस हैं, इसलिए काफी लोग मुझसे संपर्क बनाने की कोशिश करते हैं.

इधर मैं भी इंदु की चुत को पूरे करीब से देख रहा था और चुत को जीभ से चाट रहा था.

हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी?

उसने मेरे टट्टों को छेड़ दिया और मैंने अनुष्का की कमर पर हाथ रख दिये. विमला- अरे भाभी, आपने अभी तक कपड़े नहीं बदले?मैंने कहा- नहीं, मुझे इन कपड़ों में शर्म आएगी. एक दिन मैंने उससे पूछा- कभी किस किया है?वो बोला- नहीं … नहीं किया अभी तक.

उसने टिश्यू पेपर से अपने मुंह को साफ किया और अपने होंठों को पौंछ लिया. कुछ ही देर में भाभी ने अपनी चूचियां और अपने मुंह को बेड के ऊपर रख दिया, जिससे मैंने उनकी जांघों को पकड़ कर जोर-जोर से चुदाई शुरू की. अब मैंने भाभी की टांगें खोलीं और उसकी चूत देखी, भाभी की चूत पर एक भी बाल नहीं था, शायद नहाने से थोड़ी देर पहले ही भाभी ने चूत शेव की थी.

मामा के लंड की सवारी करते हुए वह मामा के निप्पलों को होंठों में लेकर चूसने लगी. तो फिर हमने अपना किस तोड़ा और मैं उनको अपनी गोद में उठा कर बेडरूम में ले गया. मैं- अरे रमेश काका, आप तो गांव गए थे ना?रमेश- वो छोटे मालिक जिस काम के मैं लिये जा रहा था, वो काम मेरे दोस्त भूरिया जो अपने पास वाले फार्म हाउस में रहता है ना, उसने कर दिया.

अब मैं इतना सख्त मिजाज लड़का तो हूँ नहीं कि मेरी जान, मेरी बीवी … जो इतनी सुंदर दिल और जिस्म की मालकिन है, उससे ज्यादा देर दूर रह सकूँ. आइडिया तो झकास था यार!सुधा ने कहा- मामी मुझसे कहने लगी, देख ले सुधा तुझसे मिलने के लिए मुझे इतने पापड़ बेलने पड़े हैं.

कुछ ही देर में सारा ने मेरा लंड अपनी चूत में डाल लिया और हम लिप किस करते हुए चुदाई करने लगे.

और सच बताऊँ तो मुझे बहुत ही मजा आने लगा और अपने हाथों से चाचा जी के सिर को चुत पर दबाने लगी। वे अपनी जीभ से कभी चुत के होंठों पर फिराते, कभी जीभ को चुत के अंदर तक घुसा देते.

तांत्रिक ने कहा- तुझे अपने बेटे से शादी करनी होगी और इसको जीवन भर इसको पति के हर सुख देने होंगे. अभी वह अपनी नाइटी को हटाने नहीं दे रही थी इसलिए मैं उसको कपड़ों में ही नाइटी के ऊपर से ही चूमने लगा. अब उनके लंड में धीरे धीरे तनाव आने लगा और 30 सेकेंड में ही लंड तनकर बम्बू बन गया.

उसके बाद उसने मेरी ट्रैक पैंट को पकड़ कर नीचे खींच दिया और मेरी टांगों से बाहर निकाल दिया. मुझे भाला इस बात पर क्या ऐतराज हो सकता था, मैंने भी हाँ कर दी और तय किये गए समय पर उसे ऋषिकेश बस स्टैंड पर लेने चला गया. मैं समझ रहा था कि ये बिस्तर से उठ कर भागने की कोशिश करेगी, लेकिन वो बिस्तर से नहीं उठी.

उसने अपनी उंगली से मेरी चुत की पंखुड़िया खोलीं और मेरी चुत के दाने पर अपनी नुकीली की हुई जीभ से दंश मार दिया.

उसके बाद हम अच्छे दोस्त बन गए, फिर मैंने उससे उसका फ़ोन नंबर मांगा और उसने बिना कुछ सोचे दे दिया. वो जब रसोई में काम कर रही थी, तो मैं बार बार रसोई में जा कर उसके चुचे और गांड मसल रहा था. धीरे-धीरे मैं नीचे की तरफ बढ़ रहा था और अनुष्का मेरे चूमने से अपनी गांड को और ऊपर उठाती जा रही थी.

मुझे लग रहा था कि उसका पति उस पर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाता है इसलिए वह मेरे लंड से चुदकर अपनी प्यास बुझा रही थी. अब जैसे ही दबाव मेरे ऊपर आता, मैं उसे अपने हाथ से भींचता और अपना मुँह उसके स्तन पर रगड़ देता. मैं डर के मारे कांप रही थी पर न जाने कौन सी उत्सुकता थी कि कदम कमरे तक पहुंच गये। दरवाजा बन्द था पर खिड़की पर किसी का ध्यान नहीं था.

उसके बाद उसने अपने लंड पर भी कुछ क्रीम लगा ली जिससे बुर और लंड पूरी तरह से चिकने हो गये.

इंदु मेरे पास आयी, मैं उसे लिप किस करने लगा और उसकी चुत में उंगली! चुत के आसपास ज्यादा बाल होने से बाल उंगली में फंस जाते जिससे इंदु को तकलीफ होती. पर यह बात मंसूर भाई ने भाभी को बताई नहीं थी, तो वह समझती थी कि उनमें ही कमी है.

हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी मैं- अरे रमेश काका, आप तो गांव गए थे ना?रमेश- वो छोटे मालिक जिस काम के मैं लिये जा रहा था, वो काम मेरे दोस्त भूरिया जो अपने पास वाले फार्म हाउस में रहता है ना, उसने कर दिया. भाभी की सिसकारी नकल गयी और तुरंत 69 की अवस्था में आ गयी। पांच मिनट में ही भाभी अकड़ने लगी और जोर-जोर से अपनी चूत मेरे मुँह पर पटकते हुए लंड को चूसते हुए काटने लगी।दोबारा भाभी की चूत से लावा फूट पड़ा जिसको मैं फिर पूरा पी गया। लेकिन इतनी देर की लंड चुसाई से मैं भी भाभी के मुँह में ही झड़ गया.

हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी मैंने अपने पैरों से उनके दोनों पैर फैलाए और अपने लंड को उनकी चुत के आस पास जमा कर रगड़ने लगा. मम्मी जी- बेटा, दो दिन बाद हम सूरत जा रहे है, तुझे साथ में नहीं ले जाऊँगी, बोल तो किसी को बुक करूँ तेरे लिए या तो तू खुद किसी को ढूंढ लेगी?मैं- मैं किसे ढूंढूंगी मम्मी जी यहां, यहां तो कोई पहचान का है भी नहीं, आप ही देख लो क्या करना है आपको.

मेरी एक ही औलाद है मेरी बेटी … वो अठारह साल की हो चुकी है, उसका नाम है आरज़ू.

फोटो में सेक्सी

आज मैं आपको अपनी वो सच्ची घटना बताने जा रहा हूँ, जो कि मेरे साथ कुछ एक साल पहले घटी थी. एक पल बाद मैं उल्टा हो गया और मैंने फिर से भाभी को अपना लंड मुँह में दे दिया. पहली रात की यादें ताज़ा सी होने लगीं कि कैसे एक मर्द मेरी जवानी को लूट के मुझे अपनी वासना में झोंक देगा.

कुछ भी बताओ दस मिनट के बाद भूल जाती थी और वो मेरे बगल में ही बैठती थी. मैं बोला- इस पिक को देख कर तो इस रंडी को चोदने का मन हो रहा है … ठीक है, मैं आता हूँ. आखिर मीना की आँखें तब खुली जब उसने अपनी आँखों से अपनी बेटी को अपने प्रेमी के संग हमबिस्तर होते देखा.

उन्होंने झट से अपनी पैंट की ज़िप खोल कर अपना लंड मेरी आँखों के सामने निकाल दिया.

कपड़ों के ऊपर से ही उसकी चूत पकड़ कर अपने मुँह में दबा ली और उसको चूसता गया. मेरी ट्रेन करीब रात के बारह बजे की थी, तो मैं साढ़े ग्यारह स्टेशन पर आ गया. उसके बाद उसकी विडियो दुबारा देख मैंने अपनी बिटिया के नाम से मुठ मारी.

मेरे इस सवाल पर वह थोड़ी सी मुस्कराई और बोली- क्या आप मुझे वहाँ तक ड्रॉप कर सकते हैं?मैंने कहा- मैं भी तो उसी तरफ ही जा रहा हूँ।यह सुनकर वह मेरी बाइक की तरफ बढ़ी और मेरी बाइक के पीछे बैठ गई. वहाँ पर बुलाकर मैंने कैसे उसकी चुदाई की वह सब अगली कहानी में आप लोगों को सुनाऊंगा. वो अब भी पीछे ही मुड़ी हुई थीं, उसी स्थिति में मामी ने मेरे सर पे हाथ रखा और मेरा सर अपने कन्धे पर दबा कर कहा- सच?अनायास ही मेरे हाथ उनकी कमर पर बंध गए.

सारा फिर मुझ से लिपट गयी और बोली- आप मुझे अकेली छोड़ कर न जाया करें, मुझे साथ ले कर चला करें. उसके मुंह में जब मेरा लंड जा रहा था तो मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था.

मैंने उसको बताया- मेरे दोस्त का नौ इंच का लंड है, ऐसा मूली जैसा ही लगेगा जब वो तेरी चुत में जाएगा. मैं थोड़ा एडजस्ट हो गया और एडजस्ट होकर उसका एक हाथ अपने लंड पर रखा और उसके मुँह के पास ले आया. करीब दस मिनट की चुदाई के बाद मेरा फिर से छूट गया और भाभी भी तब तक झड़ चुकी थी.

अब कोमल पूरी भीग चुकी थी और उसकी टी-शर्ट उसके बदन से एकदम चिपक गयी थी जिससे उसके बोबे और निप्पल साफ़ झलक रहे थे.

अब मुझे थोड़ी एक्साईटमेंट होने लगी कि चलो फाइनली अब मेरी सुहागरात होगी, भले ही दूल्हा एक रात के लिए ही हो, तो क्या हुआ मजा तो आएगा. चार कद्दावर सांड के लंड को पा कर मेरे तन मन को दर्द के साथ सुकून भी मिल रहा था. मैं भी जीजा की बात से सहमत हो गई थी क्योंकि मेरी योनि का दर्द कम होना शुरू हो गया था.

एक ने उसके दोनों हाथ पकड़ लिए, दूसरे ने स्टॉकिंग्स भी फाड़ कर अलग कर दिए. दस मिनट हम दोनों उठे और एक दूसरे की बांहों में बाहें डाल के बाथरूम से बाहर आ गए.

उनके नंगे बदन को देख कर रात की घटना अब मेरे दिमाग में आने लगी थी और मेरा ध्यान मामी जी की चिकनी चमकती हुई गुलाबी चूत पर केंद्रित हो गया. हम कब उस रोमांटिक पल से काम वासना की ओर चल दिये हमें पता ही नहीं चला। हम दोनों की किस और टाइट होती चली गयी और उसने मुझे धकेल के दीवार से सटा दिया और हम दोनों काफी ज़ोर से एक दूसरे को किस कर रहे थे, हम दोनों एक दूसरे के होंठों की होंठों से रगड़ रहे थे, अब वो मेरे और मैं उसके होंठों को चूस रही थी। लगभग 1-2 मिनट के किस के बाद हम हटे, हम दोनों के दिल ज़ोरों से धड़क रहे थे।कहानी जारी रहेगी. तब तक मेरा हाथ अपने आप ही मेरी चुत तक चला जाता और चुत को पैंटी के ऊपर से सहलाने लगता.

सेक्सी रोड

अब मैं सहम गई।तब दीदी ने मुस्कराते हुए कहा- रचना, तू भी जवान हो गई है, तुझे भी मस्ती का हक है। तू घबरा क्यों रही है? तू अपनी दीदी के घर आई है और तेरी चूत को शांत करने की जिम्मेदारी मैं ही लूंगी.

जब वह मेरे पास पानी लेकर आई तो मुझे झुककर पानी का गिलास पकड़ाने लगी. फिर एक ने रिया को घोड़ी की पोज़िशन में करके अपने लंड को उसकी गांड के छेद में लगाया और हल्का सा झटका दे दिया. विनय के लंड का साइज ज्यादा बड़ा नहीं था इसलिए दीदी उनके लंड आराम से चूस पा रही थी.

मैंने एकदम से उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और उसकी ज़ोर से उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल गई. हम दोनों पूरे पसीने में भीगे हुए थे लेकिन हमारी वासना अभी पूरी नहीं हुई थी. सेक्सी नंगी विडिओउसने मुझसे कहा- क्या फिर से मेरी चूत मारनी है?तो मैंने हां कहा और उसे डॉगी बना कर फिर से चुदाई करने लगा.

उन्होंने एक दिन पूछा- क्या जो गांव में मोहल्ले में चर्चा है … वह सच है?तो मैंने सर झुका लिया. मैंने पूछा- क्या हुआ भाभी, फिर से तबियत ख़राब? आप ठीक से इलाज क्यों नहीं करवाती?उन्होंने लगभग कराहते हुए कहा- तो कर दो न इलाज…मुझे तो यही चाहिए था.

कुछ देर बाद 69 की सी स्थिति बन गई और संजय का लंड कोमल के मुँह में आ गया. वो मेरे लंड से अपना मुँह चुदवा रही थी और मैं उसकी चूत को अपनी जीभ से चोद रहा था. हालांकि हम दोनों अलग अलग रूम में रहते थे, लेकिन डिनर वगैरह साथ में ही करते थे.

लेडी ने मेरी जांघ पर हाथ फेरते हुए पूछा- फिर तुम क्या करते हो?मैंने उसका हाथ अपने लंड की तरफ बढ़ता हुआ महसूस किया. इसी समय मेरे दिल का पुराना कीड़ा फिर से ज़िंदा हुआ और फिर से दिल उनके मस्त लंड का स्वाद चखने और उनके जिस्म का आनन्द लेने के लिए मचलने लगा. भाभी के हाथ की उंगलियां बहुत पतली और नरम थी, उसी तरह से पांव की उंगलियां भी बहुत सुंदर थी जिनके ऊपर बहुत सुंदर नेलपेंट लगा हुआ था.

माँ ने आवाज़ सुनी और दौड़कर बाहर गयी- प्रणाम बाबा … धन्य हो गयी मेरी कुटिया जो आप पधारे, कृपा करके अन्दर पधारें.

अब रवि मामा की बीवी भी लगभग 2 साल से नहीं थी और शायद इसी के चलते उनका दिमाग दूसरे की बीवी और गर्लफ्रेंड में ज्यादा लगने लगा था. मैंने सोचा कि शायद अब अनन्त दीदी की टट्टी करने वाली जगह में अपने लंड को डालने की तैयारी में है लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया.

उसे लग रहा था कि शायद चिन्टू उससे नाराज है, तभी तो वो उसके घर नहीं आया. अब भाभी ने मुझे अन्दर बुलाया और अपने लड़के को पैसे देकर बाहर जाकर खेलने को बोला. फिर मैंने उससे कपड़े पहनने के लिए कह दिया और उसको अपने कमरे में जाने के लिए कह दिया.

मैंने हिम्मत करके पूछा- क्या हुआ मीना जी, आपको पसन्द नहीं आया जो भी रात में हुआ?मीना धीरे से बोली- कल रात बहुत पी ली थी, अब सर दर्द कर रहा है. उसका लंड कैसा होगा यह सोच सोच कर ही मेरे मुंह में पानी आता था और भूख प्यास का तो पता ही नहीं चलता था. अपने होंठ उसके होंठों पर रखे ओर हाथ चूचों पर रखकर एक जोरदार झटका दे मारा, तो मेरा आधे से ज्यादा लंड चूत में घुस गया और भाभी छटपटाने लगी.

हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी मैंने भी मौके का फायदा उठाकर दोनों हाथ उनके टॉप के अन्दर करके उनकी कमर और पीठ को सहलाने लगा. मेरी नींद पूरी नहीं हो पाई थी, तो मैंने उससे कंबल ले लिया और वापस सो गई.

सेक्सी बीपी आदिवासी बीपी

उस वक्त उसने लाल रंग का टॉप और काली जीन्स पहनी हुई थी, जिसमें से उसके बूब्स और उसकी गांड का उभार बिल्कुल साफ दिखाई दे रहा था. इन्हीं चूचियों के बारे में सोच कर मैंने कल रात को अपने लंड की मुट्ठ मारी थी. अगले ही दिन मुझे साक्षी का फोन आया, उसने पूछा- तुम कहां पर हो?मैंने कहा- मैं कॉलज में हूँ.

लगती क्यों नहीं, जब कोई दिल से और सच्ची कहानी लिखता है, तो वो पसन्द आती ही हैं. मैंने उससे कहा कि मेरी ब्रा उतार दे, पर उसने मुझसे विनती की कि मैं इसे उतारने की नहीं कहूँ, बल्कि इसी तरह इन कपड़ों में ही संभोग करने दूँ. जंगल सेक्सी हिंदी मेंमैंने कहा- क्या हो रहा है?तो वो बोली- पता नहीं लेकिन तुम कुछ तो करो प्लीज।मैंने कहा- क्या करूँ?उसने कहा- अब डाल दो ना प्लीज …मैंने कहा- क्या डाल दूँ?उसने कहा- मेरी चूत में तुम्हारा लंड डाल दो, वरना मैं मर जाऊंगी। अब मुझसे सहन नहीं हो रहा.

वो इतनी अधिक गोरी थी कि उसे देख कर ऐसा लगता है कि वो अभी दूध में नहाकर आयी है.

कुछ देर बाद मैंने शीनम से कहा- शीनम, आज मैं तेरी गांड भी मारना चाहता हूँ. उसकी मम्मी को भी उसकी मामी और वह उसकी जेठानी ने सब बता दिया था, तो आशीष को भी बहुत डांट पड़ी थी.

बात एक साल पुरानी है मेरी बीवी और बेटी सर्दियों में छह महीने मेरे साथ रहने के लिए गांव से दिल्ली आए हुए थे. बस मैंने हिम्मत बढ़ा दी और अपना हाथ उनकी ब्रा में डाल कर उनके एक चूचे को अपनी हथेली में भरके सहलाने लगा. उसके इस तरह से मेरा ख्याल रखने से मुझे वह अब अपने आप अच्छा लगने लगा.

उसके बाद उन्होंने मुझसे कहा- विशु बेटा आज तुम यहीं रुक जाना और हमारे साथ ही खाना खा लेना.

फिर मामी ने मुझ पर मेहरबान होकर मुझसे अपने बगल की एक आंटी और एक भाभी की मालिश भी करवाई और चुदाई भी करने को मिली. मैंने कहा- सच बता, क्या कर रहा था? क्या तू बेड पर इन तकियों के साथ मैथुन कर रहा था अपने लिंग से?वह बोला- नहीं माँ, मैं तो कुछ नहीं कर रहा था. उसने कहा कि इतना लेट रिप्लाई क्यों किया?मैंने उसे सब बताया कि मैंने उसका मेल देखा ही नहीं था.

सेक्सी पिक्चर नाइटहम दोनों उसके बाद वहीं बिस्तर पड़े रहे और फिर थकान उतरने के बाद नहाने के लिए बाथरूम में चले गये. मेरा नाम दिलदार सिंह है, मैं दिल्ली में किराए के मकान में रहता हूँ.

गांव की सेक्सी लड़की सेक्सी

किसी को कुछ बता तो नहीं देगी ना?” सर ने मेरी चूचियों को घूरते हुए पूछा. मैंने कोलेज के बाद आगे पढ़ाई करने और अपना करिअर बनाने के लिए अपना छोटा शहर छोड़ कर पास के बड़े शहर में जाने का तय किया और मेरे माता-पिता ने भी बिना हिचकिचाहट सहमति दे दी. शाम को पांच बजे मेरी नींद खुली तो देखी कि वो सो रहा है और मेरी भाभी उसके लंड के साथ खेल रही है, चूस रही है.

उन्होंने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर ऊपर नीचे रगड़ा और फिर छेद में थोड़ा सा घुसाकर टिका दिया. अब तुम मेरे लंड को हिलाओ इसको अपनी चूचियों पर लगाओ और देखो कि इसमें से कैसे पानी निकलता है. मैंने भाभी को पलंग में थोड़ा बाहर तरफ खींचा और उनकी दोनों टांगों के बीच में खड़ा हो गया.

लेकिन मैं ये तो भूल ही गई थी कि पुराने घर में कुछ रिनोवेशन (मरम्मत) का काम चल रहा है और मेरे पति अपने दोस्तों के साथ बाहर गए हुए हैं. अचानक चिन्टू मीना के एकदम पास आया और बोला- मौसी, तुम बहुत सुंदर हो?चिन्टू की यह बात मीना को अजीब सी लगी, पहले तो मीना चौंकी, उसके बाद हंसकर टालती हुई बोली- चिन्टू बेटा, तुम मजाक अच्छा कर लेते हो. चुदाई इतनी कामुक हो चली थी कि हम दोनों सेक्स करते करते तेज स्वर में चुदासी आवाजें निकालने लगे.

… सच में बहुत मजा आ रहा है … हां…ऐसे ही … ओह्ह्ह सैयां जी … मैं आज से आपकी पत्नी बन गयी. भाभी कहने लगी- ठीक है, किसी दिन आएगी तो मैं तुम्हारी तारीफ कर दूंगी.

ठीक है वो पूरी ईमानदारी से मेरे साथ रही और वासना तो वासना है, सबकी जरूरत होती है.

दोस्तो, एक बात कहना चाहता हूँ कि जब तक चुदाई में लड़की खुल कर मजा न ले, तब तक चुदाई अधूरी ही रहती है. सेक्सी वीडियो कैसेमैंने उनकी नाइटी के ऊपर से उनकी योनि को टटोलना शुरू किया और मैंने देखा कि उनकी योनि पानी छोड़ रही थी. अनीता की सेक्सी फिल्मएक दिन मैं शाम को ऑफिस से घर जा रहा था, तब मुझे भाभी बस स्टॉप पर दिख गईं. उसने थकी हुई आवाज में हांफते हुए कहा- आज तक मैंने ऐसी चुदाई नहीं करवाई यार … मैं तो आपकी चुदाई की दीवानी हो गई.

मैं अपना निक्कर उतारने वाला ही था, तभी मोनिका बोली- रुको मैं उतारूंगी.

शाम पांच बजे वो फिर रूम पे आयी एकदम क़यामत बन कर और फिर अच्छे से शाम आठ बजे तक चुदती रही. मोनिका ने मस्ती में अपनी आंखें बंद कर लीं और और उसकी आहें निकलने लगीं. उसने फिर से मेरा हाथ हटाने की कोशिश की मगर अब मुझसे रुका नहीं जा रहा था.

फिर बोली- जो बात वहां बोल रहे थे, उसे साबित कर सकते हो?मुझे उसके इस बर्ताव से बहुत हैरानी हुई. मैंने उससे पूछा- क्या बात है … आज अचानक मुझे मिलने क्यों बुलाया है?वह बोली- मुझे तुमसे बहुत जरूरी बात करनी है. कल्पना- क्या?मैं- अगर आपको आज का दिन आपके जिंदगी का एक यादगार दिन बनाना है, तो सबसे पहले आपको अपने में से सारी झिझक निकलना पड़ेगी, तभी आप सेक्स को एन्जॉय कर पाएंगी और दूसरी बात आपको मुझे पूरा सहयोग देना पड़ेगा.

सेक्सी रिमोट

मैंने इंदु को बोला- भाभीजी आओ, मैं आपकी चुत चाटता हूँ, आप मेरा लंड चूसिये 69 की अवस्था में! बड़ा मजा आयेगा. दीदी ने कहा- मैं फ्रेश होती हूँ, उसके बाद तुम भी फ्रेश हो जाना और बेडरूम में आ जाना. दादी उन्हें पिछले पंद्रह साल पहले ही छोड़ कर चली गई थीं, तब मैं सिर्फ 3 साल की थी.

अपनी दोनों कुहनियों से मैंने सोनू को अपने शरीर के नीचे साइडों से दबाया और लंड पर थोड़ा दबाव और डाला.

चार दिन के बाद मैंने दुकान खुली देखी, तो दूध वहीं लेने चली गयी क्योंकि बगल से लेती, तो शायद सुखबीर बुरा मान जाता.

जैसे जैसे लंड उसकी चूत की चुदाई कर रहा था मेरे अंदर का जोश बढ़ने लगा था और रीना का मजा भी ज्यादा होता जा रहा था. मगर मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया और उसके होंठों को चूसने लगा. ट्रिपल एक्स सेक्सी वीडियो देहातीवहां होंठ चूसते हुए ही नीचे धकेल कर सोफे पे बिठाया और उसे नीचे लाके पायल के होंठ का रसपान शुरू किया.

चूंकि हम दोनों कम्बल के अन्दर थे और में थोड़ी थोड़ी देर बाद मुँह बाहर निकाल कर देख रहा था कि कोई देख न ले. उसके बाद विनय जीजू ने अचानक ही अपने लंड को दीदी के मुंह से निकाल लिया और विनय के हटते ही अनन्त ने भी अपनी जीभ दीदी की चूत से निकाल दी. चूंकि ये मेरा पहला कॉल था, तो मैं थोड़ा एक्साईटेड भी था और थोड़ा नर्वस भी था.

मैं और सोनम चारपाई पर बैठे थे, तभी आशीष सामने खड़ा हो गया, तो सोनम बोली- यह मेरे भैया हैं, मेरी बुआ के बेटे हैं. मामी ने शायद लिंग के उभरने का अहसास कर लिया था, वे जोर जोर से सांसें लेने लगीं.

अब मैंने सोचा कि इसे कुछ ऐसा बताऊं कि दोनों पति पत्नी के संबंध अच्छे हो जाएं.

संजय ने मणि को इशारा किया, तो संजय ने लंड बाहर निकाल कर कोमल की चूत, संजय के लंड के लिए खाली कर दी. आज मैं दूसरे रूम में सोया था जिसका एक दरवाजा बाहर गली में खुलता था और एक अंदर ताकि रात को उठ के जाऊँ तो किसी को मालूम ना लगे।रात हुई, करीब 11:30 बजे इंदु की कॉल आयी- आ जाओ, घर में कोई नहीं है,मैंने बोला- ठीक है, आ रहा हूँ. जैसे ही उन्होंने अपनी साड़ी का पल्लू नीचे किया, मुझे सीधे अन्नू (मामी की बहन) की याद आ गई.

गोदावरी सेक्सी वीडियो उसकी आँखों से आंसू आ गए, उसकी चूत बिल्कुल फट गयी थी और उसकी सील टूट गयी। उसकी चूत में से खून आने लगा. मैं डर के मारे कांप रही थी पर न जाने कौन सी उत्सुकता थी कि कदम कमरे तक पहुंच गये। दरवाजा बन्द था पर खिड़की पर किसी का ध्यान नहीं था.

मैंने भाभी को लेटा लिया और उसकी टांगें अपने कंधों पर रखते हुए लंड सैट करके पहला झटका मारा. घर में चुत मिल जाए तो क्या कहने, पकड़े जाने का डर नहीं होता और जब चाहो तब अपनी हवस मिटा लो. दस मिनट की मम्मों और होंठों की चुसाई के बाद उन्होंने मुझे बेड पर धक्का दे दिया.

इंडियन सेक्सी एमएमएस वीडियो

कुछ देर बाद मैंने उसकी चूत में पानी छोड़ दिया और उसके ऊपर ही गिर गया. ये कोई कहानी नहीं, बल्कि एक सच्ची घटना है, जो कि मेरे ओर मेरी बड़ी कजिन के बीच घटी थी. इन आँसुओं की वजह से वो इतनी गीली हो चुकी थी कि लंड कैसे अंदर फिसल गया कुछ पता ही नहीं लगा.

जिंदगी में अक्सर इस तरह के वाकये हो जाते हैं जब हमको पता नहीं चल पाता कि कौन आदमी हमसे किस मोड़ पर टकरा जाए. मेरी तरफ से कोई प्रतिक्रिया ना होने पर अब चाचा की भी हिम्मत बढ़ी। उनका हाथ मेरी सलवार के नाड़े को टटोलने लगा.

उसने जाते समय कहा- जब भी मेरी चुदाई की इच्छा होगी, तब मैं तुम्हें बुलाऊंगी, तुम मना मत करना.

उसने मुझसे फ्लैट की चाबी मांगी लेकिन मैंने उसको चाबी देने से मना कर दिया. उन्होंने थोड़ा नर्म-चिकने कपड़े का सिला हुआ फॉर्मल पेंट पहन रखा था, जिस पर से लंड को सहलाना मानो लंड को छूने के ही समान था. फिर वे लंड को चुत पर सैट करने लगीं और उसे अपनी चुत में फिट करने लगीं.

मैं उसके नंगे बदन को देखना चाहता था, मैंने उसके और अपने सारे कपड़े उतार दिए, फिर मैंने उसकी नंगी टाईट चूत धीरे धीरे से सहलाई. उन्होंने दोबारा बोला- अगर कोई प्रॉब्लम है तो तुम मुझे बताओ … जब तक तुम किसी से अपनी प्रॉब्लम शेयर नहीं करोगे, तो तुम्हारी समस्या कैसे खत्म होगी. जब मैं बाहर निकली तो विमला बोल पड़ी- अरे वाह भाभी … आप तो मस्त माल हो एकदम.

उसमें दिखाए गए लेस्बियन चुदाई के दृश्य से हम दोनों काफी गर्म हो गई थी.

हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी: समय बीतने के साथ उनका काम बढ़ता गया, तो हफ्ते के 2 से 3 दिन उधर ही बिताने लगे. फिर उसने मुझे डॉगी पोज में झुका लिया और घुटनों के बल खड़ा होकर मेरी गांड में अपना लंड पेलने लगा.

कुछ देर के बाद मैंने हाथों को उसकी गांड से हटा लिया और आगे से उसकी चूचियों को पकड़ लिया और उसकी जबरदस्त चुदाई शुरू कर दी. साड़ी निकालने के बाद मैंने उसकी ब्लाउज़ के डोरे खोल दिये और उसे निकाल दिया. मैंने भी देर ना करते हुए सारे कपड़े उतार दिए और नंगा हो कर उनके सामने खड़ा हो गया.

मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और उसकी गीली चूत को गचागच चोदने लगा.

वो मुझसे बोला- अगर तू गाड़ी से नीचे भी उतरा, तो फिर तेरी जीएफ की खैर नहीं … अभी तो हम आराम से चुदाई करेंगे … तूने चूँ-चपड़ की तो चुदाई के साथ ठुकाई भी करेंगे. ‘भैया, ये… ये क्या?’‘शैली, समझ मेरी बात को, ये मैं हूँ और अब उपिंदर मेरा बॉयफ्रेंड है. इसके अलावा वो मेरे मामा थे इसलिए लिहाज भी था और उनसे गन्दी बातें भी नहीं कर सकता था, क्योंकि डरता था.