हिंदी पिक्चर चुदाई बीएफ

छवि स्रोत,ब्लू पिक्चर सेक्सी हिंदी वीडियो एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

बोलो बीएफ चाहिए: हिंदी पिक्चर चुदाई बीएफ, वो अपनी जीभ को नोकदार बना कर चूत के अन्दर घुसाने का प्रयत्न करने लगा.

गिराने वाला सेक्सी वीडियो

20-25 मिनट रुकने के बाद उसने मुझे फिर से अपना लंड चूसने के लिए कहा. घोड़ा और लड़की की नंगी सेक्सीजब ब्लाउज निकाला तो देखा कि उसने नीचे से एक सेक्सी काली ब्रा पहनी हुई थी.

उसकी उम्र कोई 30 साल के आसपास है, उसकी शक्ल बिल्कुल सिंगर नेहा कक्कड़ से मिलती है. सेक्सी वीडियो ब्लू एक्स एक्समैं लगातार किस करते करते और उसकी चुचियों को दबाते हुए अपने एक हाथ से नाईटी को ऊपर उठाने लगा.

मगर एक लड़की दूसरी लड़की के साथ ऐसा भी कर सकती है, ये मैंने कभी सोचा ही नहीं था.हिंदी पिक्चर चुदाई बीएफ: मैं क्लास में बैठी संदीप की ही यादों में खोई रही, कौन आया क्या पढ़ाया, कुछ पता नहीं.

अब आप जानते ही हैं कि जब कोई आपकी चाहत आपके सामने सेक्स की भूख को लेकर रोए तो आपका लंड खड़ा हो जाना लाजिमी है.मुझे जरा भी अंदाजा नहीं था कि वो मेरा इस कदर फायदा उठाएगा। मैं पूरी तरह टूट चुकी थी।बहनचोद …” चैट्स पढ़ कर विशाल गुस्से में चिल्लाया.

सेक्सी चोदते सेक्सी - हिंदी पिक्चर चुदाई बीएफ

चुत में लंड अन्दर डालते हुए मेरे लंड के टोपे पर भी थोड़ा दर्द हुआ, पर चुदाई के नशे में मैंने दर्द की परवाह न करते हुए अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.मैं ऐसी ही नंगी आदी के रूम के पास आई और दरवाज़े को धक्का दिया, तो वो नहीं खुला.

इस का कारण पुरुष के डी एन ए में है, शैय्या पर अपनी सहचरी के साथ अपनाये गये ऐसे आक्रामक क्रिया-कपालों से पुरुष को अपने पौरुष का अहसास होता है. हिंदी पिक्चर चुदाई बीएफ मैंने एक तकिया उसके चूतड़ों के नीचे रखकर उसकी बुर ऊंची कर दी और फिर से उसकी बुर खोलकर लण्ड का सुपारा रगड़ने लगा.

पूरा लौड़ा चुत में पेलने के बाद मैं थोड़ी देर के लिए यूं ही रुक गया और चुत की गर्मी का अहसास करने लगा.

हिंदी पिक्चर चुदाई बीएफ?

अतितीव्र कामानुभूति के कारण वसुंधरा की पेशानी पर पसीना छलछला आया, वसुंधरा का सारा चेहरा सुर्ख हो उठा, आँखें में फिर से मद छा गया जिस के कारण वसुंधरा की आँखें गुलाबी हो उठी और रह रह कर मुंदने लगीं. मैं- अब क्यों डांटेंगी … अभी तो बोली नहीं बताओगे, तो मम्मी डांटेंगी … अब कहती हो कि बताओगे तो डांटेंगी. डिनर-टेबल की मास्टर्स चेयर पर बैठी वसुंधरा अपने बायें हाँथ की कोहनी टेबल पर टिका कर अपनी बायीं हथेली से अपनी ठुड्डी को सहारा दिये अपलक मेरी ओर देख रही थी.

फिर तभी हम दोनों ने वो सुना, जिसे सुनकर हम दोनों को विश्वास ही नहीं हुआ और सर चकराने लगा. साकेत भैया- क्या हुआ? दर्द हो रहा है क्या?दीदी हाथ जोड़ते हुए बोली- हां बहुत दर्द हो रहा है … मुझसे नहीं होगा. उनकी उंगलियों को मुँह में लेने लगा और उनके मम्मों को बेतहाशा दबाना चालू कर दिया.

कुछ देर बाद जब मैं अपनी कॉलोनी में पहुंचा, तो दीदी को अंकल के दरवाजे पर खड़ा पाया. वो मेरे बालों को खींच कर अपने ऊपर आने का निमंत्रण दे रही थी, जिसका पूरा सम्मान करते हुए मैंने चूत के ऊपर अपने लंड को रख दिया. सपना और मैंने उस दिन और 4 बार सेक्स किया और शाम को मैं अपने घर आ गया.

मैंने समय नहीं गंवाते हुए अपने लंड का सुपारा चाची की चुत पर रख दिया और धीरे से अन्दर पेल दिया. जैसे तैसे सुबह हो गयी।अब मैं जल्दी ही दूध लेने चली गई क्योंकि संजय अकेला था तो सोचा कि शायद फिर से उसके लंड के दर्शन हो जायें.

मुझे देखते ही उन्होंने मुझे साड़ी पहना दी और मुझे बिस्तर पर घूंघट निकाल कर दुल्हन के जैसे बैठा दिया.

हम सब नंगे ही टेबल पे नाश्ता करने लगे।आखिर में मैम फ्रीज़ से आइसक्रीम लायी.

मैंने उन्हें गांड की चुदाई करने की इच्छा बताई तो भाभी बोलीं- नहीं यार … वहां बहुत दर्द होगा. मैंने एक दिन काले रंग का डीप गले वाले वार्मर में अपनी तस्वीर निकाल कर अपनी व्हाट्सप्प प्रोफाइल पर लगा दी. खैर इस समय ममता प्रकाश को याद करके अपना समय खराब नहीं करना चाहती थी.

दीदी अपने दोनों पैर हवा में उठाए हुए अपने दोनों हाथों से मेरी पीठ पकड़ कर अपने भाई के लंड से चुदाई का मजा ले रही थीं. आलिया- आहह ओह भाई याह अम्मह आह ओह भैया आपने तो मेरी गांड की मां चोद दी. एक खूबसूरत जवान लड़की जब चुदाई के लिए तड़प रही हो तो किसी का भी हाल ऐसा ही हो सकता था.

उस युवा दुकानदार ने मुस्कुरा कर कहा- फ्रेंड या बॉयफ्रेंड?इस पर हमने थोड़ा सख्त लहजे का प्रयोग करते हुए कहा- सिर्फ फ्रेंड है और आप अपना काम कीजिए.

मैं भी जवान हो रहा था इसलिए मेरा ध्यान कई बार सेक्सी लड़कियों की ओर चला जाता था. कोई पांच मिनट तक लगातार चुत चोदने के बाद हम दोनों जीजा साले ने अपनी अपनी जगह बदल ली और अब हम दोनों ही अपनी-अपनी बहनों को घोड़ी बना कर चुत में लंड डालने लगे. उस पर कब से नजर है मेरी जान?मैंने कहा- प्लीज, एक बार सैट करा दो ना!वो हंसकर बोली- अरे वो आपको सह भी पाएगी … कहां आप 78 किलो के और कहां वो बेचारी मुश्किल से 40 किलो की.

मेरी पढ़ाई भी चल रही थी, तो मम्मी पापा से बोलीं- आप वहां नौकरी करो, हम लोग यहीं रुकेंगे. संदीप ने ऐसी पोजीशन में मेरी कमर को थाम रखा था और वो कभी-कभी मेरे रसीले मम्मों को दबा देता था. मगर रेशमा ने एकदम से मेरी पकड़ से छूटते हुए मेरे लंड को बाहर निकाल दिया और मेरी तरफ गुस्से से देखा.

उनकी बिना बालों वाली चिकनी सी आर्मपिट देख कर मेरा मन उनको चाटने के लिए करने लग गया.

और मुझे भी इस बात से कोई दिक्कत नहीं थी क्योंकि ऐसी सर्दी में कोई फुदी को गर्म करने वाला मिल जाए तो मज़ा आ जाता है. अन्तर्वासना पर कुछ सेक्स स्टोरी तो मुझे कल्पना मात्र लगती हैं और कुछ बहुत ही रोमांटिक और सत्य लगती हैं.

हिंदी पिक्चर चुदाई बीएफ वो मुझे चूमते हुए बोलीं- दरवाजा खुला रखना है क्या?मुझे याद आया कि जल्दीबाजी में दरवाजे बंद ही नहीं किये थे. क्योंकि वह बहुत अच्छा था इसलिए मुझे उसे नंबर एक्सचेंज करने में कोई परेशानी नहीं हुई.

हिंदी पिक्चर चुदाई बीएफ फिर मैं बर्तन साफ करने लगा और काम खत्म करने के बाद मैं उन लोगों के पास चला आया. प्रीति:मैं छत पर बैठी रो रही थी, मेरे हाथों में शराब की बोतल थी। वैसे मैं शराब पीने की आदी नहीं थी.

हम दोनों गर्म होने लगे और पांच मिनट के बाद ही रीना के बदन पर केवल ब्रा और पैंटी ही रह गयी थी.

সেক্সি ব্লু ফিল্ম চুদাচুদি

लंड बाहर निकलते ही उसने अपने दोनों हाथ पीछे की तरफ ज़मीन पर रखे और जोर जोर से सांस लेने लगीं. आशा है आप सभी प्रिय पाठकों को पसन्द आयेगी।मेरी इससे पहली कहानी बॉडी मसाज और चूत की चुदास को लेकर आप लोगों के बहुत से सुझाव और मेल आये. किसी काम के सिलसिले में आई थी तो सोचा आपसे मिल कर आपका शुक्रिया अदा कर दूँ.

राजन ने उसके होंठों पर एक प्यारा सा किस दिया और उसे लेकर बेड पर आ गया. अंकल का लंड हाथ में लेते ही मम्मी बोलीं- आह तुम्हारा इतना बड़ा है?वो अंकल के लंड को प्यार से मसलने लगीं. मैं भगवान से यही प्रार्थना कर रही थी कि इसका मन फिर से ना करें नहीं तो यह मेरी बैंड बजा देगा.

कहानी के इससे पहले वाले भाग में आपने पढ़ा कि जीजा के दोनों दोस्तों ने मेरी चूत और गांड को चोद दिया था और मुझसे चला भी नहीं जा रहा था.

फिर जीजा जी ने आलिया के होंठों से गिलास लगाया और धीरे धीरे उसे पूरी पिला दी. ऐसा कहते हुए बिक्कू ने मेरी स्कर्ट को पकड़ कर नीचे मेरे घुटनों तक खींच दिया. मैंने उसके मुँह से लव यू सुना, मैंने भी उसे आई लव यू टू जान … कह दिया.

मैंने फिर से अपनी कमर को उचकाकर एक धक्का लगा दिया। पिंकी तो पहले से तैयार थी, उसने भी अपनी कमर को लय में उचका दिया, उसकी चूत भी कामरस से लबालब थी और एक बार में लगभग मेरा पूरा ही लण्ड उसकी चूत में उतर गया।पिंकी के मुंह से एक बार फिर से ‘आह्ह्ह्ह …’ की एक मीठी सी कराह निकल‌ गयी।पिंकी ने मुझे अब तुरन्त ही अपनी अपनी दोनों जाँघों के बीच अपनी टांगों से जकड़ सा लिया. आलिया- आहह याह या अम्मह ओह राज फक मी हार्ड … और जोर से चोदो राज … जैसे अपनी दीदी को चोदते हो. उसने आईने में देखते हुए मुझे आँख मारी तो मैं भी उसकी तरफ देखकर मुस्करा दी.

उसके 5 मिनट बाद मैंने भी अपना पानी निकाल दिया मैम की चूत में।तब तक उनके हस्बैंड भी मैम के मुंह में झड़ चुके थे।उसके बाड मैम नंगी ही बाथरूम में गयी और अपने को साफ़ करके आई. तब मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रखा और अपना मुँह उसके मुँह पे रख दिया ताकि उसकी चीख बाहर ना जाए.

निधि बोली- जब आप गर्म होते हो, तो बहुत गालियां देते हो जी … और मेरे को बहुत मज़ा देते हो. अब मैं बिल्कुल नंगी हो चुकी थी और उसका अकड़ा हुया लंड उसके अंडरवीयर में से ही मेरी फुदी पर महसूस हो रहा था. कुछ देर बाद मैंने अपना लंड उनकी गांड में ही झाड़ दिया और उनकी कमर पर लेट कर लंबी लंबी सांसें लेने लगा.

उसने आते ही मम्मी से पूछा- आंटी कैसी हैं, प्रिया कहां है?मम्मी- हां बेटा मैं ठीक हूं.

वो भी मस्त हो चुकी थी और पूरे लंड को आराम से चूत में अंदर तक ले रही थी. मैं तेरे भाई का दोस्त था इसलिए रुक जाता था वरना मैंने तुझे कई बार ऐसी हालत में देखा था कि तेरी चूत को चोदने के लिए तड़प उठता था मैं. मैं दोनों सीटों के बीच बने एक छोटे से बक्से पर बैठ गयी, और गियर हैंडल मेरी दोनों जांघों के बीच में आ गया, जिस कारण मैंने अपनी एक टाँग उठा कर दूसरी टाँग पर रख ली और मेरा ड्राइवर साइड का चूतड़ भी उँचा उठ गया जिसे देखकर ड्राइवर का मन भी ललचा गया, जिसे मैंने उसकी ललचाई नज़र देखकर भाम्प लिया था.

अब तक की मेरी सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैं और मनु, परमीत के घर गए थे, जिधर उसने हम दोनों को एक डिल्डो दिखाया. संजू के भैया झट से तौलिया खोजने लगे और प्रियंका बगल में पड़े चादर से बदन ढकने का प्रयास करने लगी.

मैं पहुंचा तो मीना हाथ में टॉवल पकड़े खड़ी थी, बोली- बस पांच मिनट रुको, मैं नहा कर आती हूँ. मैंने जल्दी से अपने कपड़े पहने और सर ने मुझे मेरे घर के पास छोड़ दिया।फिर अगले दिन मैं तय जगह पर पँहुचा तो रमेश सर आये हुए थे. तब तक के लिए विदा! मेल करके जरूर बताना कि मेरी कहानी कैसी लगी?[emailprotected].

नंगी फिल्में वीडियो

फिर मैंने स्नेहा भाभी को हल्का सा आगे की तरफ झुका दिया, जिससे उनकी गांड पीछे से ऊपर हो गई और मैंने पीछे से उनका सूट उठा दिया.

लेकिन अब ये एक नया रूटीन हो गया था कि लगभग हर रोज साकेत भैया कॉलेज में छुट्टी के बाद हम लोग के साथ ही आते थे. एक दिन हुआ यूं कि मुझे लगा कि शायद अन्दर चाचा वाले कमरे में कोई घुसा है. उन्होंने चहकते हुए कहा- जी आप गीत के बड़े भाई … और मैं परमीत की बड़ी बहन हूँ.

मैंने उनसे पूछा- ये कैसी है?उन्होंने मुझे बदमाश कह दिया और जवाब दिया- सुपर हॉट. वो बोली- ठीक है ऊपर चलो, यहां नहीं!मैंने उसको गोद में उठाया और सीढ़ियां चढ़ कर उसको उसके रूम में ले गया. काजल राघवानी की सेक्सी वीडियो चुदाईसचिन मेरी टांगों के बीच आया और मेरी दोनों टांगें अपने कंधों पे उठा ली और चूत में लंड डाल के घपाघप ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा।मेरी आँखें बंद थी और मैं बस अपने होंठ को दाँतो से दबाये ‘सी … सी … आई … आई … आहह … अहह … ‘ करते हुए बेड में ऊपर नीचे होते हुए चुदवा रही थी। मेरी चूत मुझे हर झटके के साथ आनन्द से भर रही थी.

चाची बोलीं- नहीं अभी एक बार शॉवर ले लेते हैं … फिर कमरे में चलेंगे. उसने मेरी नाइटी की डोरियों को मेरे कंधे से हटा कर साइड में कर दिया और मेरे मम्मों को दबाने लगा और चूसने लगा.

वसुंधरा के दोनों हाथों की उंगलियां मेरी पीठ के निचले भाग पर दाएं से बाएं, बाएं से दाएं गश्त लगा रही थी. जेठजी मेरी तरफ ही देख रहे थे, जैसे वो जानने को बेचैन से थे कि आगे मैं क्या करने वाली हूँ?मैं उनकी मनोदशा समझ गयी और अब मुझसे भी और देरी बर्दाश्त नहीं हो रही थी. मैंने उन्हें चुप कराया और पूछा- क्या हुआ चाची?चाची कहने लगीं कि ये सब जो मैं कर रही थी … मेरा उन पड़ोसी अंकल के साथ रिश्ता बना हुआ था, वो मेरी मज़बूरी थी.

साथ ही मां को बेड की चादर पर लगा हुआ मेरी चूत का रस और साथ ही विवेक और अभय सेठ के लंड का रस लगा हुआ मिल गया. वो दोनों चलते हुए मां से कहने लगे कि आपको किसी भी चीज की जरूरत हो तो हमें बताइयेगा. थोड़ी देर बाद उसे प्रकाश की बहकी बहकी आवाज में गाली की आवाज आयी- साली रंडी, मेरा मजाक बनाती है.

” सायरा बोली।मेरा निकलने वाला था, सायरा को उसी पोजिशन में लेकर कमरे में आया और पलंग पर लिटाते हुए उसको चोदने लगा।आठ-दस धक्कों के बाद मेरा निकलने लगा तो मैंने लंड को बाहर निकाला और उसकी चूत के ऊपर ही सायरा माल गिरा दिया और उसके बगल में पसर गया।सायरा ने अपनी उंगलियों के बीच मेरे वीर्य को कैद किया और मलने लगी.

अब आगे:तभी मैंने देखा कि दीदी की बुर से थोड़ा थोड़ा पानी बाहर आ रहा था. इसी तरह से चुदते हुए एक पल ऐसा आया, जब स्वीटी आंटी ने मुझे और मैंने स्वीटी आंटी को देख लिया.

जहां कॉलेज के लड़के लड़कियां आकर चूमा-चाटी कर लेते थे और हाथ से एक दूसरे को मसल देते थे. मेरे कमरे में आकर उसको जबरदस्ती दूध पिला दिया … और वो मेरे साथ खेलते खेलते सो गया. तब उसने अपने टेबल पर रखी पुड़िया में उंगली लगाई और हल्का से मेरी बेटी की मुँह में लगा दी.

अविनाश ने सिगरेट सुलगाते हुए कहा- हमारी फैंटेसी पूरी करने के लिए तुम दोनों का धन्यवाद. कम्पाउण्डर जैसे ही अन्दर आया, वो बोला- अभी जितने भी पेशेंट हैं, उन सभी को बोलो कि अभी मैं बिजी हूँ. तभी अभय बोला- यार, मैं भी नंगा हो जाता हूं और इसकी भी यह नाइटी उतार देते हैं।विवेक बोला- अभय जी, आप अपने कपड़े उतार लो.

हिंदी पिक्चर चुदाई बीएफ और मैं चाटने लगा उसकी चूत! वो ‘और चाट अभिराज आहाहा हाहा हाहा … मजा आ रहा है … ज़ोर से … ज़ोर से! और ज़ोर से … खा जा!इतने में वो झड़ गई, मैंने उसकी चूत चाट कर साफ कर दी. उसने बालकनी में आकर इधर उधर देखा और कोई समस्या न पाते हुए अंकल फिर से अन्दर घुस गए.

नंगे सेक्सी व्हिडिओ

कुछ देर बाद मैंने एक जोर का झटका मारा, जिससे मेरा आधे से ज्यादा लंड चुत में घुस गया. तो चलते हैं कहानी की तरफ सोनम की जुबानी:दीदी के बॉस मुझे अपनी गोद में उठा कर एक रूम में ले गए. आज ऐसा क्या हो गया कि आप दादी को याद करके उदास हो गये?”क्या बताऊँ बेटा, जब तक इन्सान की जरूरतें पूरी होती रहती हैं, उसे किसी की याद नहीं आती और ख्वाहिशें अधूरी हों तो हर पल याद आती है.

रात में दो बार की चुत चुदाई की वजह से उसे दर्द हो रहा था और दर्द की वजह से उसकी चाल बदल गई थी. मैंने कहा- आह्ह … मेरी कुतिया, मुझे भी तेरी चूत चोद कर बहुत मजा आ रहा है. सेक्सी फुल ओपन सेक्सीमैंने अपना एक हाथ सूट के ऊपर से ही उसकी नरम चूचियों पर रख कर दबाने लगा.

मैं कंडोम निकाल कर उसका लंड साफ़ कर ही रही थी, तभी वो अपना लंड मेरे चेहरे पर और होंठों पर रगड़ने लगा.

अब तक की सेक्स कहानीभाभी को प्यार से चोदा-1में आपने पढ़ा कि एक नवविवाहित भाभी मुझे एक पार्टी में मिली. मैं किचन में गई, उसके लिए दूध लेकर आदी को उसके कमरे में जाकर दे दिया.

उसके बाद उसने अपनी गांड उठाई और मेरे लंड पर अपने चूतड़ों को रगड़ने लगी. मैंने उससे उसका चेहरा पकड़कर पूछा- क्या हुआ?उसने धीरे धीरे बोलना शुरू किया कि उसकी रूममेट के मम्मे उसके मम्मों से बहुत बड़े हैं. चाची धीरे धीरे आवाज निकालने लगीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आ … उ … ओ … उइ माँ … करो जोर से करो.

दीदी- लेकिन अगर मम्मी पापा को पता चल गया तो?श्वेता दीदी- वो तुम हम पर छोड़ दो.

मैं दीदी के बदन को चूमने लगा और उनकी ब्रा को निकाल कर उसके रसीले मम्मों को मसलने लगा. वो मुझसे लिपटते हुए मेरे मुंह को अपने नाभि वाले हिस्से में दबाने लगी. अगले ही पल दीदी ने अपने होंठों को मेरे होंठों पर रख दिया और मुझे प्यार करने लगी.

पशु जानवरों की सेक्सीमैंने बोला- हां बोलो न!मेरी आंखों में झांक कर संजू बोली- आज रोहित आया था. मैं उसके और उसके बॉस के साथ मजे लेने की बात कर रही थी कि तभी पीछे से बिक्कू आ गया.

नक्सनक्सक्स

उसने सिक्योरिटी से बात करवाने को कहा और लिफ्ट से ऊपर आठवीं मंजिल पर आने को कहा. मैं हैरान होते हुए- चुप कर! ऐसे थोड़ी न होता है?वो बोली- अरे, होता है मेरी जान. अचानक से दीदी का ये कहना कि उनको नींद आ रही है, मैं समझ गया कि अंकल ने दीदी को पानी में कुछ ऐसा पिलाया है, जिससे चुदाई करने में मजा आ सकता होगा.

अब मेरा दिमाग खराब हुआ कुछ कुछ माजरा समझ आने लगा फिर भी नासमझ बनती हुई- आज का तो तेरा कॉलेज गया, चल तुझको चाय बना के पिलाती हूँ. इस बार उसने पैंटी उतार दी थी, लेकिन ब्रा पहने हुए अपने एक हाथ से अपने निप्पल दबा रहा था. तभी जीजा जी ने नताशा को बेड पर लेटा दिया और पूरे नग्न होकर ड्रावर से कंडोम निकालकर पहन लिया.

थोड़ी कोशिश करने के बाद उसका पूरा लंड मेरी गांड में चला गया।कुछ देर तो दर्द हुआ लेकिन फिर मुझे मजा आने लगा और मैं पूरे जोश से उसका साथ देने लगी. थोड़े धक्कों के बाद राजन ने शोभा को घोड़ी बनाया और पीछे से अपना मूसल उसकी चूत में देकर धक्के शुरू कर दिए. मेरा मन कर रहा था कि आज इसको कैसे भी करके चोदना है … हालांकि उससे दो अर्थी बात करते समय मुझे अंदाजा हो गया था कि लौंडिया हंस दी है, तो फंस भी जल्दी ही जाएगी.

फांकें फैलाते ही गुलाबी पंखुड़ियों पर लिसलिसापन देख गुलाब पर ओस की सुनहरी बूंदों का सहज अहसास मन में तरंगित हुआ. उसने हंस कर मेरे से हाथ मिलाया, हाल चाल पूछा, रास्ते की परेशानी पूछ.

हमारे पड़ोस में एक सिंधी परिवार रहता है जिसके मुखिया का नाम लोक नाथ लखमानी है, उनकी पत्नी का देहांत हो चुका है.

मैंने ना में सर हिलाया तो भैया खड़े हुए और बाहर चले गये।मैं वहीं बैठा रहा।भैया थोड़ी देर में दो ग्लास के साथ वापस आए।उन्होंने एक ग्लास में से कुछ पिया और सीधा मेरे मुँह में डाल कर मुझे किस करने लगे।वाइन थी।मैंने थूकना चाहा पर उन्होंने आँखें दिखाई तो मैंने गटक ली. सारिका की सेक्सीकुछ देर के बाद दोनों शांत हो गए, तो मैंने समझ लिया कि दीदी अब पूरी तरह से उसकी रखैल बन गई थीं. 80 साल औरत का सेक्सी वीडियोयह कोई झूठी कहानी नहीं है, ये सब मेरे परिवार में हुआ है और होली के बाद से तो किसी को भी किसी तरह की रोक टोक नहीं है. और वो मेरे लन्ड पर बैठ के मुझे चोदने लगी और आह आह आह आह की आवाज निकाल रही थी.

फिर मैंने उसके लंड को उसके कच्छे को हटाते हुए एक तरफ से जिप के बाहर निकाल लिया.

दोस्तों उसके मुँह ये सुनते ही तो मैं इतना खुश हुआ कि बस उस रात को मुझे नींद ही नहीं आयी. वह मेरे बालों को मेरी कमर से हटाकर गर्दन के पास मेरी कमर पर किस करने लगा. मेरे इशारे को समझते हुए वो मेरी बांहों की कैद में आ गयी और अपने दोनों पैरों को फैलाते हुए बैठने लगी.

मैंने अपनी बीवी के वीडियो में उसका नंगा और गोरा जिस्म देखना शुरू किया. मैं भी जवान हो रहा था इसलिए मेरा ध्यान कई बार सेक्सी लड़कियों की ओर चला जाता था. मैं रुक गया और उनकी चूत की फांकों को अपने हाथ से मलने लगा और उनकी गर्दन पर किस करने लगा.

रंडियों का सेक्स

मेरी कमर के दोनों बगल में उन्होंने अपने दोनों घुटने टेक दिए और थोड़ी देर तक वह अपनी गांड मेरे लंड पर घिसती रही. जोर देकर मैं बोली- नहीं बता, मुझे जानना है?वो बोला- मैंने उसे एक पेन ड्राइव दी थी, उसकी करतूतों का चिट्ठा था उसमें. जीजा जी ने पैग बनाए और पहले मुझे गिलास देते हुए बोले- लो थकान दूर करो.

चाची ने अपने घर पर बहाना किया था कि मैं अपनी सहेली से मिलने जा रही हूं.

थोड़ी देर बाद मैंने आदी को आवाज़ लगाई- बाबू स्कूल से आ गए क्या?आदी बोला- हां दीदी.

”मुझे सहन नहीं हो पा रहा था तो मेरे पेशाब की एक मोटी धार मेरी फुद्दी से निकल गई. 15-20 मिनट मेरी इस तरह चुदाई करने के बाद राज अंकल ने अपना लन्ड मेरी चूत में, असलम अंकल ने मेरी गांड में और भानुप्रताप अंकल मेरे मुँह को चोदने लगे. सेक्सी वीडियो फुल मजाये सुन कर मेरी धड़कनें बढ़ गयीं। आज उनके इस अवतार को देख कर मुझे दीदी के करीब जाने में भय सा लग रहा था.

मैंने देखा कि चाचा बेड पर आते और चाची की नाइटी उठा कर उनकी बुर में अपना लंड डाल कर तीन-चार धक्के लगाते और फिर झड़ जाते. मैंने उनसे दोनों चॉकलेट ले लीं और बोला- ठीक है भैया … अब मैं खेलने जा रहा हूं. मैंने लंड को निकाल कर फिर से पेल दिया और उनकी गांड में लंड को अन्दर बाहर करने लगा.

अब हम उपहार लेकर उसके दुकान से निकल गए और वो दूर तक हमें देखता रहा. अब गुत्थम गुत्था का दौर थमने लगा, क्योंकि बुखार अब ऊपरी नहीं, बल्कि अंदरूनी हो चला था.

अंकल ने अपने लंड को मम्मी को चुदाई की पोजीशन में लिटा कर उनकी चूत पर लंड को रखा और एक जोर का धक्का मार दिया.

अब अगले दिन शुक्रवार था, पर रोहित बालकनी में आया नहीं … ना ही उसके जाने की आवाज़ आयी।मुझे कुछ गड़बड़ सी लगी आज तो कॉलेज स्कूल छुट्टी भी नहीं थी. उसके बाद फिर मेरी क्लास का टाइम हो रहा था, वो मुझे छोड़ने के लिए भी आई. यही सवाल उसने मुझसे किया तो मैंने भी कह दिया कि जिस तरह तुम्हें जगह नहीं मिली, उसी तरह मुझे भी नीचे सोने की नहीं मिली.

सेक्सी सेक्सी जंगली सेक्सी मेरे मुख से संतोष और आनन्द से भारी सिसकारी निकली ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’एक अरसे के बाद मेरी फुदी को बढ़िया लंड मिला था. और वो अपना लोवर पहन कर बोले- मैं आता हूँ जान एक ड्रिंक लगा के!मैं वैसे ही नंगी लेटी रही और मेरी आँख लग गई.

मेरी आंखें तो मुंद ही गई थीं, बस सारी चीजें छूकर लिपटकर ही हो रही थीं. प्रकाश की बीवी ममता बहुत हंसमुख और जिंदादिल और उम्र में प्रकाश से चार पांच साल छोटी थी. गांव में पहले जल्दी शादी हो जाती थी तो कम उम्र में मेरी भी शादी हो गयी थी।मेरी पति शुरू खेती ही करते हैं और शराब भी बहुत पीते हैं.

भोजपुरी ब्लू फिल्म दिखाएं

बार-बार उसके पेट से होते हुए उसकी चूचियों पर हथेलियों को ले जाकर उसके उभारों को दबाने लगा था मैं. तुमको अपनाकर एक कुंवारी लड़की को बांहों में लेने के सुख से मैं वंचित तो हुआ हूँ लेकिन अगर तुम चाहो तो इसकी भरपायी कर सकती हो. हम दोनों बैड से जब नीचे उतरे तो देखा कि बैड पे जो चादर थी उस पर खून और वीर्य लगा था.

पैग का एक घूँट लिया और एक सिगरेट जला कर गिलास लिए बाथरूम में चले गए. मैं बार बार भाभी के चूचों के निप्पल दबा कर चूसता और हर बार भाभी का दूध मेरी पकड़ से छूट जाता.

इधर भाभी की बहन रुबी (काल्पनिक नाम) जो कि बहुत चुलबुली थी, उससे मेरी कभी कभी बात होती थी.

फिर मेरे मन में जाने क्या आया कि मैंने उसके चूतड़ों पर काट खाया, वो दर्द से कुलबुला गयी और उठ कर बैठ गयी. कुछ देर बाद मैंने भाभी की सलवार खोल कर लंड डाल दिया और उनको चोदने लगा. उसने अब स्कूटी की रफ्तार धीमी कर दी थी और वह चूत पर मेरी उंगलियों की छुअन को महसूस कर मजा लेने लगी थी.

मैंने बोला- हां बोलो न!मेरी आंखों में झांक कर संजू बोली- आज रोहित आया था. ”सिल्क- अब जाने भी दीजिये … मत कीजिये इतनी तारीफ!फिर मैंने पूछा- आप कॉफी लेंगी?और दो कॉफी आर्डर करके मैं उनसे बात करने लगा. चाची लंड सहलाते हुए बोलीं- इतना बड़ा तो तुम्हारे चाचा का भी नहीं है.

फिर हम तीनों ने साथ खाना खाया, सोनू थका होने के कारण जल्दी कमरे में चला गया.

हिंदी पिक्चर चुदाई बीएफ: अब तक अपनी गर्दन उठाकर मैं ये सब देख रही थी लेकिन जैसे ही लंड मेरे जिस्म के अंदर गया, मैंने अपनी गर्दन को वापिस बेड पर टिका दिया. मैंने उनको हौसला देते हुए कहा- मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है … और वैसे भी हम कौन सी शादी कर रहे हैं.

मैं अपना मुँह वहां ले ही गया था कि पिंकी ने अपने एक दूध को मेरे मुँह में घुसा दिया. मेरे गर्म वीर्य की धार के कारण पिंकी भी अब अपनी मंजिल पर पहुंच गयी थी जैसे मेरे ही झड़ने का इन्तजार कर रही थी। जैसे ही मेरे लण्ड से उसकी चूत में वीर्य की पिचकारियाँ निकलना शुरु हुई, उसने भी अपने हाथ पैरों को समेटकर मुझे कसकर अपनी बांहों में भींच लिया और अपनी चूत में ही मेरे लण्ड को दबोचकर उसे रह रह कर अपने प्रेमरस से नहलाना शुरु कर दिया।उसकी चुत लपलपा कर मेरे लंड को चूस रही थी. इसी बीच मैंने स्नेहा भाभी की चूत में एक उंगली कर दी और अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने अपने बैग से तेल की शीशी और कॉण्डोम का पैकेट निकाला व बेड पर आ गया.

उन दोनों बीच में यही तय हुआ था कि शान्ति भाभी उसकी मेरे लंड से जबरदस्त चुदवायी करवा देंगी. एक दो बार तो उसने अपनी उंगली को मेरी फुदी के अंदर घुसेड़ने की कोशिश भी की, मगर पैंटी और पजामी के कारण वो सफल नहीं हो सका. थोड़ी देर में पूरा लंड उसने अन्दर ले लिया और अब वो भी गांड उछाल कर मेरा साथ देने लगी.