सेक्सी बीएफ फिल्म ब्लू फिल्म

छवि स्रोत,ससुर बहू सेक्सी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

साउथ इंडियन सेक्सी ब्लू: सेक्सी बीएफ फिल्म ब्लू फिल्म, यानि मेरी तरफ जहाँ खड़ा होकर अपनी मॉम और उस आदमी का ये वासना भरा खेल देख रहा था.

सेक्सी पिक्चर व्हिडिओ गाणे

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार! यह मेरे भैया भाभी की सुहागरात की कहानी है. सबसे छोटी बच्ची की सेक्सी वीडियोउन दोनों को दीन दुनिया का कोई होश नहीं था और वे दोनों घर में मेरी उपस्थिति को भी भूल चुके थे.

तब एक लड़के ने कहा- अगर एक भी नोट कम हुआ तो हम तुमको जितने कम होंगे, उसके दस गुना देंगे. सेक्सी किन्नर कीमैंने उससे कहा- ज़रा आराम से कीजिएगा, मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूँ.

मैं इससे बोल कर गया था कि 2-3 घंटों में वापिस आता हूँ… मगर इसने अपने यार बुला रखे थे वहाँ पर.सेक्सी बीएफ फिल्म ब्लू फिल्म: करीब एक घंटे की चुदाई के बाद मैं थोड़ा थक गया था और बेंच पर ही बैठ गया.

वो लंड चुसाई से बहुत खुश हुआ और बोला कि तुम तो बहुत कमाल की चीज़ निकली.सिसकारियाँ लेते हुए रेखा रानी ने इसी प्रकार प्रसन्नतापूर्वक अपने दोनों पैर चटवाये.

सेक्सी भाई और बहन की - सेक्सी बीएफ फिल्म ब्लू फिल्म

आपको पता था भाभी पीरियड से हैं तो आप चूत तक हाथ नहीं लेकर गए और धोखे में मेरे पूरे जवान और कुंवारे बदन को मसलते रहे.मैंने दोस्त से पूछा- भाई, तू मुझे कहाँ लेकर आ गया है, मुझे तो डर लग रहा.

छेद खुला हुआ था और लगता था कि वह कोई भी साइज़ आराम से ले सकने में सक्षम थी। मैंने उसके दोनों पैरों को इस तरह उसके पेट से सटा दिया कि उसकी गुदा का छेद सामने आ गया।देख कर ही वह किसी कदर खुला हुआ लग रहा था. सेक्सी बीएफ फिल्म ब्लू फिल्म मेरा मूड अब बिल्कुल शानदार बन चुका है… और कंपनी तो तुम देख ही रहे हो, कितनी शानदार है! और क्या चाहिए एक सुन्दर पत्नी को अपने लविंग हसबेंड से!” नताशा ने हँसते हुए जवाब दिया.

” कहकर रेखा रानी ने अपने कपड़े पहने, बाथरूम में जाकर मुंह हाथ धोये और हल्का सा मेक अप करके तैयार हो गई.

सेक्सी बीएफ फिल्म ब्लू फिल्म?

मैं बोली- अभी थोड़ी देर में हमारी शादी हो जाएगी, हम दोनों पति-पत्नी बन जायेंगे. एक दिन उसने कहा कि पता नहीं कैसे वो लड़का मेरी फ्रेंड की चुत को चाटता है. और अब तो कामिनी भी पूरी तरह गर्म हो कर मेरा लंड चूसे जा रही थी और मैं उसके मुंह मे ही झड़ गया.

मेरा बचा हुआ पूरा 5 इंच का लंड उसकी सील को तोड़ता हुआ अन्दर घुस गया. वो मेरी चूची को ऐसे चूस रहा था, जैसे वो मेरी चूची को एकदम निचोड़ ही देगा. अन्तर्वासना के मेरे प्रिय पाठको और प्रशंसको, अभी देखा आपने कि मैंने अपनी बहूरानी की गीली रसीली चूत में अपना लंड एकदम से पेल दिया था तो बहूरानी जी कैसे कैसे एट्टीट्यूड दिखा रही थी, कितनी हाय तौबा मचा रही थी? जैसे आसमान टूट पड़ा हो उसपे; मुझे कसाई सिद्ध करने पर तुली थी.

तभी एक दिन घर में मैं अपनी बहना के साथ अकेली रह गयी तो मेरी बहन ने मुझे बिना मर्द के योनि की खुजली मिटाने का तरीका सिखाने का फैसला किया. फिर दूसरा बोला- हम दोनों को आपकी चुत मारनी है, अगर आपने मना किया तो हम ये वीडियो नेट पर डाल देंगे. उसने मुझे कहा- तुम को थोड़ा ज्यादा दर्द होगा जो तुमको सहन करना होगा.

काजल दीदी ने ज्योति से कहा- इसको पकड़े ही रहेगी या सहलायेगी भी?अब ज्योति को मेरे लंड को आगे पीछे करके सहलाना शुरू किया तो कविता ने ज्योति को फिर से टोका कि लंड खड़ा हो गया है, इसे मुँह में लेकर चूस और लंड के सुपारे को नंगा करके उसे जीभ से चाट. मेरा मेरी सहेली के घर आना जाना लगा रहता है और वो भी मेरे घर आती रहती है.

जब रात को 11 बजे मैं सोने लगा, तो वो आकर बोली कि मुझे आपके रूम में सोना है.

उस दिन मम्मी मेरे मामा के यहां गई हुई थी, तो मैंने लैपटॉप निकालना औरएडल्ट मूवीदेखने लगा.

अब बापू ने और ज़ोर से धक्का मारा और उसका पूरा मूसल लंड पद्मिनी की नन्ही सी चूत की गहराइयों में धँस गया. यह तय करके मैंने पूजा से खुली बातें करना शुरु किया ताकि अगर उसका मन मेरे साथ चुदवाने का हो तो मुझे भी एक लम्बे अरसे के बाद चूत चुदाई का सुख मिल जायेगा और पूजा भी कहीं बाहर किसी और से चुदवाने का नहीं सोचे. अंकल बोले- मस्त लन्ड है रे तेरा!फिर मैंने एक और जोर का धक्का लगाया, इस बार लन्ड पूरा अंदर चला गया.

मेरी वाइफ ने फोन काट दिया फिर अगले दिन मेरे फ्रेंड ने फोन किया और बोला- भाभी, उसने आज नाइट में आने को बोला है. क्योंकि हम लोग जवानी में ही अपनी चुत का भोसड़ा नहीं बनवाना चाहते थे. और तूने ये सब किधर से सीखा?मैंने कहा- मॉम आप एक औरत हो और में एक मर्द हूँ.

मुझे लगा रास्ता साफ़ है और फिर मैंने कहा- भाभी अगर कोई भी काम हो तो मुझे बता देना.

जब मैंने पेशाब करना बंद कर दिया तो साली खड़ी हो गयी और मुझे बैठने को बोली. यह तो पक्का थाकिरेखा जैसी कामुक पटाखे को झेलना शशि कांत के बस का रोग तो था नहीं. शुभ चुदाई दोस्तो! मैं आनंद अपनी ही माँ प्रभा का पति!मेरी पिछली कहानी के तीनों भागमेरी मम्मी रंडी निकली-1मेरी मम्मी रंडी निकली-2मेरी मम्मी रंडी निकली-3आप लोगों ने सराहे, उसके लिए धन्यवाद!तो अब तक अपने देखा कि कैसे मुझे मेरी मम्मी के रंडी होने के पता चलने के बाद मैंने दूसरे शहर जाकर अपनी ही मम्मी से शादी कर ली और उसके बाद अपनी बहन शीतल और माँ प्रभा को पेलता हूँ.

चूत में उंगली डालने के बाद बोले- कितनी गर्म है तेरी चूत वन्द्या… लग रहा है उंगली जल जाएगी, और बहुत गीली भी है!और फिर सीधे अपने जीभ निकाल कर बोले- इतनी सेक्सी चूत आज तक मैंने देखी नहीं!अब सीधे मेरे चूत में अपनी जीभ डाल दी और बहुत जोर-जोर से अंकल मेरी चूत चाट कर बिल्कुल चूस ले रहे थे. अन्तर्वासना के चाहने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मेरी गर्म कहानी के दूसरे भागचुदाई की कहानी शबनम भाभी की-2में आपने पढ़ा कि भाभी ने मुझे उनके नाम की मुठ मारते देख लिया. लेकिन ऐसा ही होता है, इसीलिये तो लड़का लड़की की शादी की जाती है कि वे अपने कमरे में जब भी उन्हें खुजली हो.

तब मैंने उसको सब बताया कि मैंने बहुत सी आंटी और लड़कियों और भाभियों को चोदा है.

इतने जोर से धक्के लगा रहा था कि पूरा कमरा ‘भच-भच’ की आवाजों से गूंजने लगा था और वह अपनी चीखें दबाती कराह रही थी उम्म्ह… अहह… हय… याह… लेकिन लग नहीं रहा था कि उसे कोई तकलीफ हो रही थी।बस. वह किसी बड़े शहर का था, सरकारी नौकरी लग गई, ज्वाइन कर ली तो छोड़ना नहीं चाहता था, काम भी नहीं करना चाहता था.

सेक्सी बीएफ फिल्म ब्लू फिल्म मैंने उसको ये भी कहा कि तुमको मैं इस जानकारी के लिए अलग से बोनस दूँगी, जिसका किसी को भी पता नहीं लगना चाहिए. शादी के बाद हर लड़की कुछ सपने संजोए होती है कि उसके साथ उसका पति किस तरह से उससे अपने प्यार का इज़हार करेगा.

सेक्सी बीएफ फिल्म ब्लू फिल्म मेरी मौसी की चुत चुदाई कहानी पर आप अपने विचार मुझे मेल से भेजें![emailprotected]. मैं बोली- तुम्हें दूल्हा बनना है, तो तुम अपने अच्छे कपड़े पहन लेना और अच्छे से तैयार हो जाओ.

जैसे ही उसके पापा को कमरे में बंद किया, वो फिर मेरे गले लग गयी और रोते हुए थैक्स बोली.

हिंदी सेक्सी व्हिडीओ हिंदी आवाज

वो लंबाई में मुझसे कम है और मैं हट्टा कट्टा हूँ तो वो मुझसे छोटी लगती है. फ़िर बड़ी चाची ने हंस कर छोटी चाची के दोनों चूचे अपने मुँह में भर लिए और चूसने लगीं. बेटी टॉवल हटा के नंगी हो गई थी तो माँ भी ब्रा और पेंटी निकाल कर चुत में उंगली कर रही थी.

तब उसने मुझे अपनी ऑडी में बिठाया, नंबर एक्सचेंज किए और मुझे घर के बाहर तक ड्राप करके अपने घर दिल्ली चली गयी. कोई और साधन नहीं है?भाभी ने कहा- किस लिए?मैंने- प्यास बुझाने के लिए?तो भाभी ने गहरी सांस लेते हुए कहा- कौन मेरा सहारा बनेगा?मैंने कहा- भाभी मैंने आपको एक बात बोली थी. जिस वक्त मैं उनके मम्मों की घाटी को देखता हूँ उस वक्त वे जानबूझ कर मुझे अपने मम्मे दिखाती रहती हैं.

इसलिए बेहतर रहेगा कि यदि आपने कहीं इस वीडियो की कॉपी रखी हो तो उसे भी डिलीट कर दो.

वैसे भी उसको मेरी छेड़ छाड़ में, चूतड़ या चुची या जांघें सहलवाने में बड़ा आनन्द आता है, जबकि सब लड़कियों की तरह ऊपर से नक़ली गुस्सा दिखाती है. राज इतना करो कि मैं उस दिन देखी मधु की चुदाई भूल जाऊँ… उस दिन तुम दोनों की चुदाई देख मुझे भी इच्छा होने लगी, उस दिन मधु को चोद रहे थे… मैं उस दिन कितना तड़पी हूं… आहह आमम्म इइइइइ…कुछ ही देर में मैं झड़ चुकी थी, मैं राज से बोली- बस बस और नहीं राज… मैं हो चुकी हूं!लेकिन वो और स्पीड से लंड मेरी चूत में अंदर बाहर करने लगा. दो दिन बाद मैं आधी रात को उठ कर बाहर आई तो देखा कि बिंदु के कमरे में रोशनी जल रही है और पापा तो यहाँ पूरे अगले दस दिनों के लिए नहीं थे.

शाम हो चली थी, हम दोनों ने दो दो पेग ला गए तो संजू ने मंजू को भी पीने को कहा, मंजू मना करने लगी, उसको ठंडे पानी में नहाने से बदन दर्द जो होने लगा था. पर एक बात समझ में नहीं आई कि आखिर वह उस ब्रा पेंटी का करेगा क्या?पर मैं भी समझ गई कि आखिर वह मुझे चोदना तो चाहता है. वो बोलीं- ठीक है, चलो देखते हैं।तो इस प्रकार मेरी कहानी का एक भाग और ख़त्म होता है, लेकिन अभी बात बाकी है.

फिर उसने हँसते हुए अपने हाथ पीछे ले जाकर अपनी ब्रा के हुक खोल दिये अब मैं आराम से उसके बूबस को दबा सकता था. मैंने उसकी चूत को लगभग पूरा अपने मुँह में भर कर चूसा तो उसका रस छूट गया.

इतना कड़ियल लंड है कि एक बार जिसकी चूत को चोद दिया तो वो दोबारा चुदने को बेताब रहती है. यह कहकर मॉम ने अपना एक दूध का थन पकड़ कर और एक हाथ से नवीन का सर पकड़ कर अपना चूचा उसके मुँह में ठूंस दिया और जैसे ही नवीन ने मॉम का निप्पल चूसना शुरू किया, मॉम आह. मैं आंटी की ब्रा का हुक खोलने लगा, जल्दी के चक्कर में हुक खुल ही नहीं रहा था तो मैंने ब्रा को पूरा दम लगा कर फाड़ दिया.

ऐसा लग रहा था, जैसे कोई युद्ध चल रहा हो और कोई भी हारना नहीं चाहता रहा था.

थोड़ी देर बाद मेरे लंड ने हरकत की और अपनी औकात पर आने को हुआ तो माधुरी ने मुझे पलंग पर बिठा कर खुद नीचे उतर गई. मैंने कहा- क्या बोल रहे हो?मुझे जवाब मिला कि बहुत ज्यादा बनने की कोशिश ना करो, जो पासपोर्ट आया है ना. इतने जोर से धक्के लगा रहा था कि पूरा कमरा ‘भच-भच’ की आवाजों से गूंजने लगा था और वह अपनी चीखें दबाती कराह रही थी उम्म्ह… अहह… हय… याह… लेकिन लग नहीं रहा था कि उसे कोई तकलीफ हो रही थी।बस.

फिर हमने इसके सुर ताल (स्टेप) तैयार किए व एक्शन (भंगिमाएं) भी सोचे. हमें कोई भी काम होता है, तो हम दोनों सखियाँ साथ में बाजार जाती हैं.

अब तो मुझे भी खुद पर नियंत्रण रख पाना मुश्किल हो गया था और मैं जैसे उस पर टूट पड़ा और पागलों की तरह उसे चूमने चाटने लगा. उसको भी बार बार चोदने के लिए मुझे जगाये रखना पड़ता है क्यूंकि मेरा लंड इतना हरामी है कि कमबख्त को जब तक तीन बार चूत में घुसकर उसकी खबर अच्छे से न मिले तब तक जान में आफत किये रखता है. लेकिन बहरहाल जब एक पोज़ीशन में देर हो गयी तो मैं नीचे हो गया तो नितिन ऊपर से उसकी गांड मारने लगा।लेकिन एक पोजीशन तो रज़िया की भी थी और वह भी थकनी ही थी.

हिंदी फिल्म सेक्सी देखने की

फिर 4-5 मिनट बाद हम दोनों उठे और वो मेरे लंड को चाटकर साफ करने लगी.

वहां से फिर उसने अपने हाथ को पद्मिनी की बांहों के नीचे फेरा, जहाँ छोटे छोटे बाल उग गए थे… और अपनी नाक को वहां रगड़ कर सूंघना शुरू किया. मैंने तुरंत उनके मुँह पर हाथ रखा और उसके ऊपर चिल्लाया- साली मेरे को मरावाएगी तू…तो बोलीं- कमीने धीरे नहीं डाल सकता क्या लंड चुत में… मैं कोई रंडी नहीं हूँ. शराब के अन्दर जाते ही मैं भी खुद को तरोताजा महसूस करने लगी और मैं चुदवाने के लिए तैयार हो गई.

फिर मैंने उनको अपनी तरफ खींचा और उनकी चुत को पेंटी के ऊपर से ही चाटना शुरू कर दिया. हमें कोई भी काम होता है, तो हम दोनों सखियाँ साथ में बाजार जाती हैं. తెలుగు వీడియోస్ సెక్స్अंजलि तो गुस्से से लाल हो गयी, उसकी उम्र करीब 24 साल थी और शिवानी अभी 23 की हुई थी पिछले महीने में! उन दोनों ने अपने बाप को बहुत सी गालियाँ दी और कहा- हमारी फ्लाइट टिकट बुक करो, हमें मिलना है उस रांड औरत से!उसके पापा ने टिकट करवा दी और दोपहर तक वो भी दिल्ली से कोलकाता पहुंच गए.

भाबी ने मुस्कुरा कर मेरा हाथ पकड़ा और अपनी तरफ खींचते हुए कहा- बंदी हाजिर है… ले लीजिए. तो मेरी वाइफ ने रंजीत का लंड पकड़ कर अपनी चुत में सैट किया और बोली- अब धक्का दे.

मेरा हाथ अपने आप लालजी के लंड में चलने लगा और मैं हाथ से लंड को मुठ मारने के अंदाज में रगड़ने लगी. मैं तो होश में नहीं था करीब दस मिनट से ज्यादा की एकता की गांड चुदाई के बाद मैंने उसे ऊपर से हटाया और डॉली को बेंच पर लेटा दिया. उसने मुझे किस करते अपने हाथों से मेरे हाथ नीचे कर दिए और अपने बूब्स टॉप्स से फिर छिपा लिया.

कुछ देर बाद वो फ़ोन से बात करते हुए गेट पर आई और कहा कि मैं गेट पर हूँ. पहले मैंने उनके होंठों को चूसा, फिर चूची और फिर उनकी नाभि में चूसना चालू कर दिया. तो ये सुनते ही मैं गर्म हो गया और किस करते हुए उसके चूचे दबाने लगा.

शायद नेहा ये समझ गयी थी, इसलिए उसने एक झटके में मेरे पैंट खोल दी और मैंने उसकी खोल दी.

पहले तो मैंने मना कर दिया पर फिर यह सोच कर हामी भर दी कि चलो कुछ नहीं से 8000/- ही बेहतर हैं।मुझे ग्यारहवीं क्लास को मैथ पढ़ाना था, गिन कर चार स्टूडेंट्स थे पर अपनी एक स्टूडेंट दीक्षा को देखते ही मैं उस पर फिदा हो गया था। इतनी ग़ोरी की छूने से मैली होने का डर… देखने में बिल्कुल अदिति राव हैदरी… पर उससे भी मासूम होंठ इतने लाल कि देखते ही उन्हें चूसने को जी मचलना शुरू कर देता. उसने मुझे नीचे बैठा दिया और लंड चूसने को कहा, मैं उसके लंड को चूसने लगी.

मेरे प्यारे दोस्तो, मेरा नाम नरेंद्र जैन है, मेरी आयु 47 साल है, मैं एक सरकारी कर्मचारी हूँ, अच्छा वेतन पाता हूँ. मनोरमा ने कहा- अगर एक रात उसके पास रह कर चुदवा लोगी तो चूत का क्या घिस जाएगा, वो तो चुदने के बाद वापिस फिर वैसी की वैसी ही रहेगी मगर पैसे पूरे मिल जाएंगे. मैंने हैरान हो गया कि ये अपनी गांड मरवाना चाह रही है? मैंने उसकी आँखों में प्रश्नवाचक दृष्टि से झाँका तो उसके चेहरे पर हल्की सी मुस्कान आई और उसने ‘हाँ’ में सर हिलाया.

अब मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैंने उसके पास अपना एक पैर लाकर उसकी जांघों पर रख दिया. ” चेतना बोली।जी मेमसाब सबसे बड़ी होली तो हमारे गांव में ही मनाते है, एक दूजे को रंग लगाकर… थोड़ी भंगवा पी कर। बहुत मजा आता है. पद्मिनी के पाँव उत्तेजना से काँपने लगे और वह बोली- छी: बापू, क्या गंदी जगह को चाट रहे हो.

सेक्सी बीएफ फिल्म ब्लू फिल्म पी में।मैंने पूछा कि गगन कब तक आएगा तो सागर ने बताया कि वो किसी डॉक्टर के पास गया हुआ है. इसके मैं अपनी सहेली के कमरे में जाकर सो गयी और अब हम दोनों को जब भी मौका मिलता है, हम दोनों लोग सेक्स कर लेते हैं.

सेक्सी पिक्चर वीडियो में फोटो

तब उसने बताया कि कम्पनी लॉ बोर्ड ने किसी ऑफिसर को कुछ छानबीन करने के लिए कहा हुआ है. थोड़ी देर बाद मैंने लंड को निकाल कर एकता की गांड में डाल दिया और अन्दर बाहर करने लगा. एक दिन भाई का नानी के यहाँ जाने के कारण मैं आंटी को बाईक से अस्पताल ले जा रहा था.

मैंने उसकी तरफ लालसा भरी निगाहों से देखा और अश्शीलता से पैन्ट के अंदर खड़े अपने लंड पर हाथ फेर कर पूछा- क्या हुआ है आपको… आप तो अच्छी भली लग रही हो?वो अपनी चूचियों को खुजाते हुए बोली- पहले आप कसम खाओ कि किसी को नहीं बताओगे. अब उन्होंने खुद अपने हाथों से मेरे लंड को छेद पे सैट किया और बोला- अब करो. ब्लू फिल्म सेक्सी दिखाओ ब्लू फिल्ममैं घर पर खाली बैठा रहता था और घर में बस चाचा, चाची एक बहन थे, बाकी सब लोग दिल्ली में थे.

वह थोड़ा कसमसाने लगी तो मैंने उसके कन्धों को पकड़ कर जोर लगा कर एक ही झटके में पूरा लण्ड अन्दर ठोक दिया.

मैंने अपने चूतड़ों से एक झटका मारा और मेरा लंड बिना किसी रोक टोक के मेरी बहन की चूत में घुसता चला गया. जैसे ही नवीन ने मॉम की चूत को हाथ लगाया, मॉम जैसे पागल सी हो गईं और उन्होंने नवीन के बालों को मुठ्ठी में कस कर पकड़ लिया.

अब हम लोगों का जब भी मन करता है, हम लोग उसी होटल में जा कर चुदाई कर लेते हैं. लेकिन उस मिंटू को पटा था कि मुझे दर्द होगा तो उसने पहले ही अपने होंठ मेरे होंठों पर रख कर मेरा मुंह दबा लिया था, तो मैं चीख नहीं पायी. उसकी चूत अब तक खूब रसीली हो उठी थी और लंड अब सटासट, निर्विघ्न चूत में अन्दर बाहर होने लगा था.

और बिमारी के कारण सुहागरात भी नहीं मनी और निकाह के कुछ दिन बाद ही वे चल बसे और तुम्हारी ये नूरी खाला शादी कर के भी कुंवारी रह गयी.

उसने देर न करते हुए अपनी उंगलियों को पद्मिनी की पेंटी पर ठीक चूत के पास फेरा. उधर पूजा ने सोचा कि जब भाई बहन चुदाई कर रहे हैं तो फूफाजी से चुदाने में काहे की शर्म. वो ऐसे किस कर रही थीं कि मैं अपने आपको रोक नहीं पाया और उन्हें अपनी बांहों में पकड़ लिया.

दिन सेक्सीपद्मिनी ने आँख खोल कर बापू की आँखों में देखना चाहा तो देखा कि बापू की दोनों आँखें बंद थीं और वह पद्मिनी के जिस्म को भोगने जैसा मजा ले रहा था. जब उन्हें मजा आने लगा तो फिर भाभी जी खुद अपनी कमर उठा उठा कर मुझसे चुदने लगीं और मेरे लंड को अपने अन्दर तक डलवाने लगीं.

जबरदस्त फुल सेक्सी

उसकी आंखें बंद थीं तो मैंने अपने लैपटॉप के बैग में हाथ डाला और उसमें से एक गुलाब निकाला, जो मैं उसके लिए लेकर गया था. मेरी गर्म कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि कैसे मेरे उसके निप्पल का कलर पूछने पर मेरे दोस्त की बीवी नाराज हो गयी थी, लेकिन रात के तीन बजे उसने व्हाट्सअप पर ‘ब्राउन’ के रूप में कलर लिख भेजा था।जिसे पढ़ कर मेरा स्ट्रेस जाता रहा था और नीचे मैंने बस इतना लिख दिया था कि ‘मुझे भी यही लगा था।’बहरहाल, यह पहली बाधा थी जो उसने सफलतापूर्वक पार कर ली थी और मैं आज के लिये इतने पर ही खुश था।दिन गुजर गया. मेरे मुख से निकला- ये क्या कर रहे हो तुम लोग? मधु… तू तो कह रही थी कि तुम लोग बाते करने आते हो?मधु सिटपिटाती हुई सी बोली- हं… हाँ सुनीता… मगर मैं क्या करती यार, इसकी बात ना मानो तो बुरा मान जाता है ये…राज बोला- सुनीता आ जाओ ना… नहीं तो तुम भीग जाओगी.

वे सुबह सुबह योग करती हैं खाना पीना भी प्रॉपर फ़ूड डाइट ही लेना उनकी आदत में है. तभी छोटी मामी आईं और बोलीं- क्या हुआ? यहाँ क्यों बैठा है?तो मैं बोला- कुछ नहीं, वो थोड़ा सिर दर्द है!छोटी मामी बोलीं- मेरा भी इस चिक-चिक पिक-पिक की वजह से दिमाग खराब हुआ पड़ा है. तुम चाहो तो मुझे गाली भी दो, उल्टा मुझे और अच्छा लगेगा अपने लिए गाली सुनने में!मैंने कहा- बाबू, मैं हमारी मम्मी को भी ठोकना चाहता हूँ.

मैंने रीनू को घोड़ी बना कर पीछे से उसकी चूत में लंड घुसेड़ा, रीनू को बड़ा मज़ा आ रहा था, वो बोली- भैया जोर जोर से धक्के मारो. मैंने भी अपने लंड को हिलाकर वापिस निक्कर में डाला और उनकी तरफ चला गया, उनको गले लगा लिया और उनका एक हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया. एक दिन मैंने उनसे उनकी फोटो मांग ली तो सुकन्या जी बोलीं- फोटो की क्या जरुरत है, मैं तो आपसे मिलने का सोच रही हूँ.

वो समझती रही कि वो कोका कोला पी रही है और उसने कोकाकोला के चक्कर में पूरा पौवा पी लिया. अपने ऑफिस से मैं छह साढ़े छह तक घर पर आता था और मेरा बेटा अंकुश करीब 7 बजे घर आता था।तो हुआ यों कि लगभग छः महीने पूर्व एक दिन मैं अपने दफ्तर से दोपहर तीन बजे घर आ गया.

अब यह समझ लो कि मैं एक लड़का हूँ और तुम उसके लंड को अपने मुँह में लेकर चूस रही हो.

अब मैंने अपना लंड सैट कर के उसकी चूत पर लगाया और एक ज़ोर का धक्का दे मारा. प्यार मोहब्बत वाली सेक्सीवो तुरंत जग गई, उसने खुद को बहुत छुड़ाने की नाकामयाब कोशिश की, लेकिन न छूट पाई. हिंदी सेक्सी व्हीडीओमैंने हिमानी को आज घोड़ी बनने को कहा तो वह पूछने लगी- क्या गाण्ड मारनी है?मैंने कहा- नहीं, चुदाई तरह तरह से होती है. शाम को मैं पूरी तरह से बन ठन कर ठीक समय पर होटल मेट्रो के बाहर खड़ी थी.

लगता था जैसे कि 18 साल की कोई कच्ची कली हो, जिसकी कली अभी खिली ना हो.

मैंने तुरंत सबा की बुर में से अपना लंड निकाला और अपनी पेन्ट पहन ली. मेरे देखते देखते सुरेंद्र जीजा का लन्ड बहुत बड़ा हो गया और वह हांफने लगे. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:रोहतक के मलंग ने हिला दिया पलंग-2.

मैंने सर झुका कर आदाब बजाया और अगली फ्लाइट से कश्मीर श्रीनगर निकल गया. फिर मुझसे इतराते हुये बोलीं- कुछ पियोगे जनाब?मैंने कहा- मुझे तो आज बस तुमको पीना है. साथ ही उनकी आँखों में आज चुदास और वासना का नशा भी साफ़ साफ़ दिख रहा था.

मोटे मोटे चित्र वाली सेक्सी

जब मैंने उसको देखा तो वो कोई 50 साल का बुड्डा होगा, मुझे डर लगने लगा और मैं वहाँ से हट कर दूसरी जगह खड़ा हो गया और अपने काम पर चला गया. मेरे हाथ में मेरा मोबाइल था तो जब उनके बच्चे को दिख गया और वो जिद करने लगा. वो बोली कि पीछे गर्मी लग रही है, तो मैंने एसी के कारण उसको आगे की सीट पर आने को कहा और वो आगे आ गई.

अहाना की आंखें मुंदी जा रही थीं और वह एक हाथ से अपने ऊपर लदे राशिद की पीठ सहला रही थी तो दूसरे हाथ से उसका सर.

अपने हाथों से उसकी पीठ को सहलाते हुए उसके गर्दन पे ऊपर हाथ फिराते हुए मैं भी आगे बढ़ने लगा.

उसने मुझे उठा कर मेरे मम्मों को जी भर कर जोर जोर से मसलना चालू कर दिया. कुछ देर उसकी गर्दन पर चूमने के बाद मेरे होंठ ऊपर उसके कोमल गालों पर से होते हुए उसके होंठों पर आ गये. चुदाई सेक्सी इंडियनबात करने के क्रम में मुझे बहुत कुछ रहस्य पता चला जो मैं आपसे फिर कभी शेयर करूंगा.

मैं भी अपनी सहेलियों की तरह अपनी चुत चुदवाना चाहती थी लेकिन मुझे ये डर लगता था कि कहीं घर वालों को ये बात पता चल गयी तो वो लोग मुझे मारने लगेंगे. मैंने अपनी दोनों बांहें उसकी कमर पे डाली और उसके कामुक बदन को सहलाने लगा. मॉम भी मदमस्त होकर नवीन का सर पकड़े हुए अपने चुचे नवीन के मुँह में ठूँसे जा रही थीं.

धीरे धीरे उसको मैं होटल में ले जाने लगा और कॉलेज मिस करके घुमाने ले जाता. आपके लिए मैं फिर से उस घटना के आगे की कहानी लेकर आया हूँ कि कैसे मैंने अपनी गर्लफ्रेंड की चूत में अपना डाल कर उसकी सील तोड़ी, उसको जवानी का पूरा मज़ा दिया और अपनी ज़िंदगी का पहला सेक्स किया.

तभी मैंने लाल जी के होंठों को अपने होंठों में जकड़ लिया और जमकर चूसने लगी.

उसने सोचा और अपने आप से कहा कि उसने आज पद्मिनी को चोदने को सही निर्णय लिया है. इस पर आंटी ने बिस्तर के नीचे से डेरी मिल्क की टॉफी निकाली और मेरे लंड पर और अपनी चुत पर रगड़ ली. कितना मजा आता है।” उसने मेरे कान में फुसफुसाते हुए कहा।और वाकयी महसूस करते मेरे दिमाग में चिंगारियां छूटने लगीं.

நமீதா எக்ஸ் வீடியோ उसने मेरे ऊपर आकर लंड को हाथ में लिया और लंड की स्किन ऊपर नीचे करने लगी. कुछ दिनों तक हमारी नॉर्मल बात चलती रहीं और एक दिन अचानक से उन्होंने बोला कि मेरे पति 2 दिन के लिए बाहर जा रहे हैं, क्या हम कहीं बाहर चल सकते हैं.

मैं समझ गया कि अब ये वाईल्ड सेक्स चाहती है, तो मैं भी उसी हिसाब से तैयार हो गया. वार्डन ने मुझे मेरा कमरा दिखाया तो मैं वहां गया और अपना जो भी सामान लाया था, वो वहां रख कर सो गया. जब उनका काम हुआ तो रंजीत बोला कहां- कहां निकालूँ?मेरी वाइफ बोली- मेरे अन्दर ही निकाल दो.

सेक्सी+गर्ल्स

उसने जल्दी से अपनी कोमल बांहों का हार बापू के गले में डाल दिया और उसके सीने से चिपक गयी. अगर इंडिया हार गया तो आप जो कहोगी मैं करूँगा और अगर इंडिया जीत गया, तो जो मैं कहूँगा वो आपको करना पड़ेगा. कैसे मैंने कोमल भाभी की सहेलियों को चोदा, वो मैं अपनी अगली चुदाई की कहानी में लिखूँगा, तब तक के लिए विदा दोस्तो.

फिर उसने अपने ढपाल लौड़े को दोबारा मेरी बला की खूबसूरत रूसी वाइफ की गांड में घुसेड़ दिया. मैं पीछे से गया और अपने बाएं हाथ से उनकी पतली कमर पे अपने हाथों का घेरा बनाते हुए हल्के हाथों से उनको जकड़ लिया और बाएं तरफ के बालों को अपने दाएं हाथों से दूसरे तरफ करते हुए, अपने होंठों से उनकी सुराहीदार गर्दन को चूमने लगा.

” वह बोला।वाओ…” मैं बोली।हाँ… अइसन ही थी सुहागरात पर!” वह बोला।तो क्या किया तुमने?” मैंने पूछा।फाड़ दी थी… बहुत रोई थी!” वह बताने लगा।” अच्छा… मगर हमें तो मजा आ रहा है.

तुम्हारे दूध को पकड़ सकता हूँ?उसने कहा कि तुम पकड़े हुए ही हो और कैसे पकड़ना है?मैंने कहा- मतलब मैं इनको देख सकता हूँ. रात तो दस बजे मैं पूरी नंगी हो कर अपने रूम में बैठी थी और बिंदु अपने साथ जगत को लाई. दोनों ने ऊउह्ह्ह यम्मी उह्ह्ह्हह…” की आवाज़ के साथ मेरा लंड चाट चाट के साफ़ कर दिया.

अपने साथ उसको बिठा कर बोला- यार, अपने पूरे कपड़े उतार दो, यहाँ पर कपड़ों का कोई काम नहीं है. चूंकि मुझे बुखार था, मैं ढीली पड़ती जा रही थी मगर वो छोड़ ही नहीं रहा था. बहुत खुजली हो रही है, पति तो ठीक तरह से चोदता नहीं, आप ही अपने इस हथियार से कुछ मज़े दिलवा दो.

तुम चाहो तो मुझे गाली भी दो, उल्टा मुझे और अच्छा लगेगा अपने लिए गाली सुनने में!मैंने कहा- बाबू, मैं हमारी मम्मी को भी ठोकना चाहता हूँ.

सेक्सी बीएफ फिल्म ब्लू फिल्म: मैं अब उसकी गांड, जिसमें आर्थर का लंड मस्त होकर अन्दर-बाहर हो रहा था, के मेकेनिज्म को समझने की कोशिश करने लगा. मेरे लण्ड को हाथ में पकड़ कर बोली- राज! तुम तो वाकई में मर्द हो, इतना बड़ा हथियार.

कभी माथे पर आयी हुई अपने बालों की लट को वापिस सिर तक ले जाती, नाज़ुक से सुन्दर से हाथों से. मैं घर पर खाली बैठा रहता था और घर में बस चाचा, चाची एक बहन थे, बाकी सब लोग दिल्ली में थे. उसके बाद मैं उन्हें गोद में उठा कर बाथरूम तक लेकर गया और उनसे बोला- आप फ्रेश हो जाओ, मैं आपके लिए कॉफ़ी बना कर लाता हूँ.

इसी दौरान बापू ने नीचे बैठ कर पद्मिनी की चूत की एक मस्त पप्पी ले ली.

उसको दिमाग में बुखार था, जिसकी वजह से वह लड़की पागलों जैसा व्यवहार करती थी. तुम उसे मेरे साथ चोदना ताकि वो भी संतुष्ट हो जाए।मैं समझ गया कि मैं यहां शिकार करने की योजनाएं बना रहा था और यहां तो शिकार मेरे लिए पहले से तैयार था। मैंने थोड़ी आनाकानी की दिखाने के लिए और फिर हाँ कह दिया।जैसे ही मैंने हाँ कहा, शीतल और काजल दोनों हाथ मेरे शरीर पर रेंगने लगे। मैं तो अब जन्नत में था. अपनी चुत खोल खोल कर उसको दिखाती जाती थी और डांस के नाम पर बस इधर उधर हिल रही थी.