बीएफ वीडियो में बीपी

छवि स्रोत,100 पहेलियां

तस्वीर का शीर्षक ,

बेटे की चुदाई: बीएफ वीडियो में बीपी, मामी भी पूरी गर्म थी और मामा भी गर्मजोशी से उसकी चूत को चूसने में लगे हुए थे.

हिंदी एचडी ब्लू फिल्म

फिर 5-7 मिनट बाद जब हम एक दूसरे से अलग हुए, तो सुरेश के चेहरे पर खुशी और संतुष्टि थी. ब्लू फिल्म हिंदी ऑडियोकरीब 5 मिनट बाद मुझे पता चल गया कि अब मैं भी झड़ने वाला हूँ, तो मैंने स्पीड एकदम बढ़ा दिया.

एक दिन मैंने मेरी योजना को इस्तेमाल किया और बातों ही बातों में उनसे उनके उसी फ्रेंड के बारे में पूछ लिया. નેપાળી સેકસી વીડિયોदोस्तो, उस वक्त मुझे जो मजा आ रहा था वो मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकता.

मैंने निशा जी को जाने को बोला … उन्होंने तीन बार पलट के मुझे किस किया … और नम आँखों से धीमी धीमे कदमों से चलीं गयीं।मित्रो, आपको मेरी यह मधुर काम कथा कैसी लगी? मुझे मेल करें.बीएफ वीडियो में बीपी: इसके कुछ देर बाद 69 का खेल हुआ और इस तरह हमने उस दिन 3 बार जबरदस्त चुदाई की.

मेरी इस सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे बेटे ने अपनी माँ को चोदा जंगल में ले जा कर! दिन में उसने मेरी चूत को घर में चोदा और फिर शाम को जंगल में तालाब के किनारे!मां को चोदा कहानी के पिछले भागमां की चूत बेटे से चुदीमें मैंने बताया था कि कैसे मैंने अपने बेटे के लंड को अपनी चूत में लिया था.हम दोनों लैपटॉप पर पोर्न मूवी देख रहे थे और एक दूसरे को किस कर रहे थे.

सेक्सी बीपी फिल्म - बीएफ वीडियो में बीपी

दिसम्बर का महीना था, तो पूजा नहाने के बाद ठंड के कारण हल्की सी सुरसुरा रही थी.जैसे ही मैंने पेटीकोट उतारा और देखा, तो पाया कि उन्होंने नीचे पेंटी ही नहीं पहन रखी थी.

वो मना करने लगी लेकिन मैंने उससे कहा कि एक बार बस मुझे अपनी मुनिया को देखने दो. बीएफ वीडियो में बीपी राजशेखर ने मेरी योनि चाटनी शुरू कर दी, मैं तो पहले से ही काफी उत्तेजित थी और अब तो लगने लगा कि मैं पानी छोड़ दूंगी.

फिर मैम ने मुझे दो वीडियो दिए और कहा- अकेले में देख कर प्रैक्टिस करना.

बीएफ वीडियो में बीपी?

आपने मुझे धमकाया भी नहीं; छूत का रोग बता कर उन लौंडों का भी इलाज कर दिया. मैं- सोनीपत में कहां आना है?रीता- मैं सोनीपत से हूँ उधर रहती नहीं हूँ. दिन में समय मिला, तो मैं सो गई और शाम को उठी, तो सुरेश की आने की बात लेकर दोनों के लिए खाना बनाना शुरू कर दिया.

उसका सुपारा एकदम लाल था जिसको मेरी आशिमा डार्लिंग बिल्कुल लॉलीपोप की तरह चूस रही थी. मामा ने अपने कुर्ते के बटन की तरफ हाथ बढ़ाते हुए कुर्ते को उतारना शुरू किया. मैं जान बूझ कर अपने लंड में झटके देने लगा ताकि उसको मेरी उत्तेजना की प्रबलता का आभास हो सके.

मैंने उससे आंख के इशारे से पूछा- क्या देख रहा है?उसने हाथ में चूची को पकड़ कर खाने के लिए मुँह बनाया और मैं हंस पड़ी. इसके साथ तो समय कम था, इसे घर भी जाना था और बहुत मुश्किल से मानी भी थी. उन लौंडों से हो सकता कि थोड़ा उन्नीस होऊं … उनके जितना माशूक न होऊं, पर अपने को मैं अभी भी लौंडा ही मानता हूँ.

मेरी गोद में आते ही हम दोनों के होंठ एक दूसरे के मुंह से कोल्ड ड्रिंक का मिठास चूसने लगे. उसको देख कर मेरा लंड तन गया और मैंने पीछे से जाकर उसको अपनी बांहों में भर लिया.

मैं- कहां है तू … और क्या अभी अकेली है?सरस्वती- मायके में हूँ, भैया भाभी अपने ससुराल गए हैं … इसलिए आज अकेली हूँ.

मिलने को हम शादी के बाद भी बहुत बार गांव में मिले थे … मगर कभी नंबर नहीं लिया था.

भाभी बोलीं- अबे चूतिये … साले गंडफट … तेरी भाभी तो कब से तेरी रंडी बनने को तैयार थी … तू ही चूतिया था … इतने दिन लगा दिए अपनी भाभी को रंडी बनाने में … आह अब जरा धीरे चोद … मेरी चूत चोदना है … फाड़ना नहीं है. उसने मोनिषा आंटी से कहा- मोनिषा आंटी, बहुत दिनों से आपको चोदने की इच्छा थी. कल्लू मम्मी का बहुत मुँह लगा है, वो मम्मी से काफी मज़ाक कर लेता है, लेकिन मम्मी कभी उसकी बात का बुरा नहीं मानती हैं.

मेरी दीदी ने उसके कंधे पर पैर रख लिया था और अपनी चूत को चटवा रही थी. आपने अब तक इस गांडू कहानी के प्रथम भागगांडू मास्टर साहब और दो चेले-1में पढ़ा कि मास्टर साहब के लंड और उनके दो शिकारों की छिली हुई गांड का इलाज करने के बाद मास्टर साहब मुझे फुसला रहे थे कि किसी तरह से मेरा अहसान उन पर से उतर जाए. वो तेजी से मुंह से मच-मच की आवाज करते हुए मेरी दीदी की चूत को चाट रहा था.

मेरे पिता एक बिज़नेसमैन हैं और वो काम के सिलसिले में अक्सर बाहर ही रहते हैं.

यह कहानी जो मैं आप लोगों के सामने रख रहा हूं यह एक सत्य घटना है जो मेरे साथ हुई थी. फिर मुझे ध्यान आया कि क्यों मामी के नंगे बदन को कैमरे में कैद कर लिया जाये. उस वक्त निर्मला उससे बात करने लगी कि कैसे इस तरह के जीवन को सुखी बनाया जाए.

बीच बीच में मम्मों को भी काट रहा था और बहुत ही रफ्तार से झटके पर झटका दे रहा था. मैं भी थोड़ा मजाकिया किस्म का बंदा हूं तो भाभी और मेरे बीच में मजाक हो जाता था. मैंने कई बार उसको बोला लेकिन वोलंड चुसाईकरने के लिए तैयार नहीं हुई.

मैंने मॉम को खिड़की के बगल में बैठा दिया और खुद मॉम के बगल में बैठ गया.

अब दीदी तड़पते हुए उसको चूत में लंड डालने के लिए जैसे भीख सी मांग रही थी. मैंने बोला- अब तू सो जा कमीनी या सोच सोच कर उंगली कर ले, हमें अपना काम करने दे.

बीएफ वीडियो में बीपी मैंने लंड पर कंडोम चढ़ाया तो वो बोली- मुझे देखना है कि कंडोम लगाने के बाद लंड चूसने में मजा आता है या नहीं. मैंने करीबन पच्चीस मिनट तक उस भाभी की चूत को खूब चोदा और फिर दो-तीन जोर के धक्कों के बाद मेरे पूरे बदन में अकड़न होने लगी.

बीएफ वीडियो में बीपी कुछ देर लंड अन्दर ही रहा, फिर उन्होंने ऊपर नीचे करना जैसे ही शुरू किया, मुझे लगा कि मैं झड़ रहा हूँ. फ्रिज से पानी निकाल कर पीने लगा और वापस जाते हुए मैंने फिर से मामी की गांड पर हाथ मारा.

उसने झुकते हुए चादर सही की, तो उसी समय मुझे उसके चुचों की नाली के दर्शन हो गए.

बड़ी चूची वाला सेक्सी वीडियो

यह जानते ही मैं एकदम खुश हो गई और अपनी टांगों से संजय की कमर को जकड़ कर उससे मस्ती से चुदवाने लगी. आज संजय से चुदवाते समय मैं सोच रही थी कि हम दोनों नंगे हो कर मेरे बिस्तर पर सेक्स कर रहे हैं और मेरे पति ऑफिस के काम से बाहर गए हैं. विभोर पहले से ज्यादा मुझे घूरता था और साथ में मेरी चूची को भी देखता था.

संजय से संयम नहीं हो रहा था, इसलिए उसने जल्दी से अपना लंड मोनिषा आंटी के मुँह में दे दिया और कहा कि मोनिषा आंटी आज आप मेरे लंड को चूसोगी. मैं गांड से धक्के लगा रहा था तो वे बोले- थोड़ा ठहर जाओ!जबकि मेरे दोस्त मारते समय उत्साह दिलाते थे- हां और जोर से बहुत अच्छे।वे बोले- यार लेट जाओ!उन्होंने लंड निकाल लिया और अलग हो गए. उसके बाद मैंने और भी कई बार देखा, जब लाला रात को आता, मैं और दीदी दोनों देखते.

सेक्स तक तो बात सही थी, पर बच्चे पैदा करने के लिए पैसे लेना सही नहीं लग रहा था.

मैंने उसकी गर्दन को पकड़ लिया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर उनको चूसने लगा. मैंने अपना लण्ड मोसी के चूत के मुहाने पर रख के एक तगड़ा झटका लगा दिया जिससे मेरा पूरा लण्ड मेरी प्यारी मोसी की चूत में घुस गया और मोसी के मुँह से दर्द भरी आवाज ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह … फाड़ दी रे मेरी चूत मादरचोद ने …’ निकल गयी और वो दर्द से कराहने लगी. मैं और दीदी चूंकि इकट्ठे ही सोते थे, तो दीदी अक्सर मेरी लुल्ली को छेड़ने लगी थी.

तैयारी तो तेरी भी होगी, दिखा अपनी ज़रा?फिर जब इंशा ने शिफा का लहंगा उठा कर देखा, तो उसकी चूत भी बिल्कुल साफ थी. लेकिन मेरा लंड मोटा होने की वजह से उसकी कुंवारी बुर में घुस नहीं पाता था।मुझे कुछ दोस्तों ने सुझाव दिया कि मैं चुदाई करते समय अपने लंड पर और दोस्त की बहन की कुवारी बुर में वैसलीन लगा कर लंड डालने की कोशिश करूं!फिर एक दिन हम दोनों ने फिर मिलने का प्लान बनाया और प्लान के मुताबिक मैं उसके घर में पहुँच गया. मैंने अपनी ब्रा खोल कर एक तरफ डाल दी और मेरे भाई ने मेरे चूचों को अपने मुंह में भर लिया.

पर एक बात और भी थी कि रूम में आते ही उनका दुपट्टा उनके जिस्म से अलग हो जाता था. मैंने बहुत दिनों से अपने पति के साथ सेक्स नहीं किया था, तो मुझे भी सेक्स करने का बड़ा मन कर रहा था.

उनके लिए अलग से कर्कट का घर था, जो भूसा और जानवरों के रहने के लिए बना था. फिर मैंने ही उससे पूछा- तुम मीरा हो न?वो बोली- हां … और आप अभिमन्यु?मैंने हां में सिर हिला दिया. हम दोनों का ये पहली बार बहन को चोद रहा था, इसलिए मैंने उससे कहा- तुम अपने नीचे तकिया रख लो.

इसके बाद सुनील ने नितिन को रंग लगाया और फिर बाहर होली खेलने चला गया.

मेरे पति दो चार दिन के बाद आने वाले थे, तो मैं सेक्स करने के लिए एकदम फ्री थी. तभी मेरी मम्मी की आवाज आई कि वे लोग बाजार जा रहे हैं और घर का ख्याल रखना. मेरा भी दिल करता कि इसी बेड पर जैसे लाला मम्मी की टांगें ऊपर उठा कर, या मम्मी को घोड़ी बना कर, या अपने ऊपर बैठा कर चोदता है, मैं भी मम्मी को वैसे ही चोदूँ.

मेरे लंड का साइज 6 इंच है और लंड खड़ा होने के बाद इसकी मोटाई 3 इंच हो जाती है. जब मैं बहू के पीछे-पीछे चढ़ा तो मेरे पीछे बीस-पच्चीस सवारियां और चढ़ गईं.

पहली बार मुझे झड़ने में 20 मिनट लगते हैं, दूसरी बार के समय का कोई तय नहीं रहता है. सोनम ने मेरे लंड को अपने गले गले तक लेकर बड़ी मस्ती से चूस चूस कर रीता की चुत की मलाई को साफ़ कर दिया था. दो चार बार मार लो; मन भर लो … आप तो इतने हैंडसम और हट्टे-कट्टे हो … बढ़िया जोरदारी से करोगे; लौंडे भी खुश हो जाएंगे कि डॉक्टर साहब का एहसान पटा.

लंड की सेक्सी चुदाई

दोस्तो, कैसी लगी आपको गर्म भाभी की चुदाई की यह कहानी? मुझे जरूर मेल करके बतायें।[emailprotected].

फिर मैं उठा तो मैंने देखा कि उसकी चूत से उसका पानी और मेरे वीर्य का पानी दोनों का ही मिश्रण बन कर बेड की चादर को भिगो चुका था. मैं भी देख कर हैरान था कि मेरी बहन सच में इतनी चुदक्कड़ और चुसक्कड़ हो चुकी है कि वो पूरे लंड आराम से मुंह में लेकर चूस लेती है. उसका रुझान ज्यादातर सरस्वती पर ही रहता, इस वजह से विमला मुझसे कहा करती कि इन दोनों का चक्कर है.

एक दिन फेसबुक पर मैंने उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट की तो …दोस्तो, मेरा नाम रोहित है. मेरे पूछने पर बुआ ने बताया कि किसी रिश्तेदार की मृत्यु हो गई है, वहां चले गए हैं. चुदाई वीडियो फिल्ममैंने मामी की गांड पर लंड को सटाते हुए कहा- मेरा बेलन भी तैयार है मेरी रानी.

मैं एक पल की भी ही देर नहीं लगाई और अपनी जीभ से भाभी की चुत चाटने लगा. आपको लंड का रस इतना अच्छा लगता है, तो आपके लिए संजय के लंड के रस का इंतजाम भी हो जाएगा.

मैंने बिना कुछ बोले उनकी पीठ पर साबुन लगा कर मलते हुए शरीर को छूने का मजा लेना शुरू कर दिया. मेरी इतनी हिम्मत नहीं थी कि अच्छे से सफाई करूं … इसलिए 2 मग पानी मार कर वहीं लटके तौलिए से योनि को पौंछ लिया और वापस आ गयी. मेरे कहते ही वो लेट गया और मैं उसके लिंग के ऊपर टांगें फैला कर बैठ गयी.

इससे पहले कि वो उसके लंड को चूसना शुरू करती मिहिर ने अपना लंड उसके मुंह से वापस खींच लिया. मैं बीच बीच में ब्रेक दबाता रहा और हर बार ब्रेक दबते ही भाभी मुझसे चिपक जाती रहीं. मैंने अपने लंड को पहले पूरी चुत पर से सहलाया, तो उसने गांड उठाते हुए कहा- भैया अब सब्र नहीं होता … जल्दी से अन्दर डाल दो … अब देर न करो … अपना लंड चुत के अन्दर पेलो.

आप भी पढ़ कर भाभी की चूत का मजा लें!नमस्ते दोस्तो, मेरा नाम अभि है, यह मेरी पहली हिंदी सेक्स कहानी है भाभी की चुदाई की.

थोड़ी देर बाद विभोर और मैं हम दोनों सेक्स करते करते झड़ गए और हमारा पानी निकल गया. इस वक्त तो मुझे वो मुझे अपने लंड के लिए एक चोदने लायक माल दिख रही थी.

उसके चूचे बड़े बड़े होने की वजह से उसके एक बूब को मैं एक हाथ में नहीं पकड़ पा रहा था. वो मैंने उससे बोल दिया, तो वो बोली- ठीक है … लेकिन इस वक़्त सब कुछ ऊपर से ही कर लो … मतलब पूरे नंगे नहीं होंगे. मैंने उससे पूछा- तुम्हें तो गुंडों ने उठा लिया था?वो बोली- हां लेकिन मुझे बहुत मज़ा आया.

उस दिन जिम में सोमेश भैया ने दीदी के लिए एक केक मंगवाया और जिम के खास खास 6-7 लड़कों को बुलाया, आनन्द भी आया था. दो चार बार मार लो; मन भर लो … आप तो इतने हैंडसम और हट्टे-कट्टे हो … बढ़िया जोरदारी से करोगे; लौंडे भी खुश हो जाएंगे कि डॉक्टर साहब का एहसान पटा. मैं अब कुछ नहीं कर सकती थी, उसने जबरदस्ती खींच कर मेरी ब्रा भी मुझसे अलग कर दी थी.

बीएफ वीडियो में बीपी चूंकि चूत पर तेल लगा था और उसके लंड पर भी तेल लगा था इसलिए लंड आसानी से चूत में घुस गया. उसे भी शायद अपने लिंग की चमड़ी में खिंचाव महसूस हुआ, तभी उसने लिंग वापस बाहर खींच लिया और हाथ में थूक लगा कर सुपाड़े से जड़ तक मल लिया.

भोजपुरी अक्षरा सिंह की सेक्सी वीडियो

मगर उधर शिफा को देख कर इंशा ने भी अपना लहंगा ऊपर उठाया और दोनों सहेलियां एक दूसरे के सामने अपनी अपनी फुद्दी रगड़ने लगी. मैंने लंड को तब तक धीरे धीरे चूत में चलाना चालू रखा … जब तक वो दूसरी बार के लिए तैयार ना हो गयी. मैंने पूछा- पहले कभी चुदी हो?उसने कहा कि नहीं … चाहा तो बहुत से लड़कों ने था, लेकिन इज़्ज़त की वजह से और घर में पता न चल जाए, इस वजह कभी नहीं चुदी.

मेरी माँ बेटे की चुदाई की कहानी में पढ़ें कि वासना के वशीभूत हो मैं अपनी माँ के जिस्म को चाहने लगा था. जैसे ही खिड़की खोल कर वो पीछे की तरफ मुड़ी तो मिहिर पीछे खड़ा था और उर्वशी के उरोज मिहिर की छाती से टकरा गये. सेक्सी बफ हिंदी हदमुझे उसके दूध दबाने में जो मज़ा आ रहा था, मैं वो शब्दों में बयान नहीं कर सकता.

इस बार मैंने उसके कंधे को पकड़ा और लंड को देसी बुर पर टिका कर कंधे को अपनी तरफ खींचते हुए जोर का धक्का दे मारा.

अमित इन 5 दिनों में तुम चाहो, तो मुझे अपनी फ्रेंड, गर्लफ्रेंड, रांड या बीवी समझ कर खूब एन्जॉय कर सकते हो. मैंने बोला- आप रिश्ते में मुझसे बड़ी हैं … तो मैं आपको रेनू कैसे बुला सकता हूँ.

अब भी वो लंड को अंदर डालने का बोल रही थी पर मैं चूत को और चाटना चाहता था क्यूंकि मुझे चूत चाटना बहुत पसंद है, खास कर उसमें शहद डाल कर!मैं कई भाभियों की चूत को चाट चुका हूँ. अंदर आने के बाद आंटी हम दोनों को ऊपर वाले फ्लोर पर रूम दिखाने के लिए ले जाने लगी. मैं- कहां है तू … और क्या अभी अकेली है?सरस्वती- मायके में हूँ, भैया भाभी अपने ससुराल गए हैं … इसलिए आज अकेली हूँ.

अब उसको शायद समझ आ गया था कि मैं उसके चूचों को छेड़ने के लिए यह सब कर रहा हूं.

आपको ‘भाई ने बहन की चुत मारी’ रिश्तों में चुदाई की कहानी में मजा आया होगा … इस पर अपनी प्रतिक्रिया दें और अपने मैसेज के जरिये भी अपनी राय देना न भूलें. वो अपनी चूत खोल कर उंगली से रगड़ते हुए बोली- जलते क्यों हो यार … लो तुम भी मेरे मज़े ले लो. विभोर के पास कार भी थी तो कभी कभी वो कार में भी मुझे किस करता था और मेरी चूची को दबाता था.

सेक्सी वीडियो देसी सेक्सी वीडियोआंटी ने मेरे से बोला- अरे मैं भी आपके पास ही रहती हूं … आपके बगल में जो कॉलोनी है, उसी में. मैं उससे बोली- ये तुम क्या कर रहे हो सुरेश, मैं शादीशुदा हूँ और तुम मेरे दोस्त हो.

सेक्सी पिक सेक्सी वीडियो दिखाएं

उसने मुझसे अपनी झेंप मिटाने के नजरिये से कहा- अरे मैं टॉयलेट साफ करने गई थी, लेकिन मैं भूल गई थी कि तुम अन्दर हो. ऊपर से मैं बुर में झटके मार रहा था और नीचे से वो कमर उठा उठा कर मेरे लंड को अपनी बुर में ले रही थी. वो अपनी छत से मुझसे बात करता था और मैं अपनी छत से उससे बात करती थी.

मैंने भी उसको अपनी बांहों में भर लिया और एक एक करके उसके सभी अंग सहलाना शुरू कर दिए. सुलु भाभी ने अपना हाथ वापस खींच लिया और बोली- अब रात काफी हो गई है. मैंने मज़ाक मज़ाक में उसको बोल दिया कि तुम मेरी गर्लफ़्रेंड बन जाओ … और मुझे प्रपोज़ कर दो.

मैं तो जानता था कि मामी फोन के बारे में बात कर रही है लेकिन मेरा मकसद उसकी चुदाई करने से था क्योंकि मामी की बातों से मुझे पूरा यकीन हो चला था कि मामी की चूत की प्यास बार-बार उनको मुझे उनके पास बुलाने के लिए कह रही है. उसके जिस्म को खूब सहला सहला कर मैंने चुप करवाया और उसका मोबाइल लेकर मैंने अपने नम्बर पर रिंग करके उसका नम्बर ले लिया. अब मैंने सोचा कि अपने दिल की भड़ास निकाल लूं … पर ये मुझपे ही भारी पड़ गया.

उनकी भी नजर मेरे पर पड़ी और वे मुझे देख कर न जाने क्यों मुस्कुरा दीं. ये सोच कर मन में आग लगी हुई थी कि मेरे मामा को इतनी मस्त चूत चोदने के लिए मिल रही है.

मेरी ये नर्स सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, मुझे मेरे ईमेल पर जरूर बताएं.

पर उसके दिलो दिमाग में केवल चरम सीमा थी, इस वजह से वो रुक नहीं रहा था और अब मैं भी नहीं चाहती थी कि वो रुके. पटना का सेक्सी वीडियोमैंने दस्तूर की टांगों को फैला कर उसमें थोड़ा थूक डाल कर गीला कर दिया. काले लंड की सेक्सी वीडियोमैं जान बूझ कर लंड में झटके दे रहा था ताकि चाची मेरे लंड को देख कर उत्तेजित हो सके. मैं रात को मुठ मार कर सोने लगा, लेकिन 5 मिनट बाद मेरा लंड फिर से तन कर रॉड जैसा हो गया.

ये तो मैं पहले ही बता चुका हूं कि उसे देख कर मेरा दिल क्या करने को करता था.

लेकिन एक दिन उनमें से एक लड़का दो बुड्ढों को, जिनकी उम्र लगभग 50 से 55 साल थी, को साथ लेकर आया था. उसने मुझसे कहा- भाई मोनिषा आंटी बहुत ही ज्यादा हॉट और सेक्सी हो रही हैं. मैंने सोनू की चूत को देखा तो उसकी चूत से हल्का सा लहू निकला हुआ था.

जरा धीरे से … फट जाएगी आ… आ… आ… ब… स… थोड़ा … रूको!पर मामा जी नहीं रुके, वे जोश में थे. भाभी के मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं और वो बार-बार अपनी टांगों को मेरी गर्दन पर लपेट रही थी. मोनिषा आंटी ने जब उसका लंड देखा, तो लंड देखते ही उसको अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं.

हिंदी सेक्सी बताएं

मैं बोला- मामी मैं जानता हूं कि आप के चेहरे पर जो उदासी है वो मामा की वजह से है. उन्होंने इसका पहले विरोध किया पर थोड़ी देर में वो भी जोश में आ गयी और मेरा साथ देने लगी। अब में उनके रसीले होंठों का रस चूसने लगा. मैं उससे बोली- ये तुम क्या कर रहे हो सुरेश, मैं शादीशुदा हूँ और तुम मेरे दोस्त हो.

वैसे तो हमारी सोसाइटी में सब कुछ पास ही था, पर कुछ जरूरत पड़ती थी, तो ही सुनील हमारे यहां आ जाता.

माँ शर्माती हुई जब लाला के पास से गुज़री, तो लाला बोला- आप पता नहीं कब समझेंगी.

उसकी सांसें तेज़ हो गई थीं और मुँह से सिसकारियां निकल रही थीं- आह आह … हां यश और चूसो … उम्म्ह … अहह … हय … ओह …मैं उसे यूं ही चूमते चूसते हुए नीचे की तरफ आ गया. मैंने एक दो बार भाभी की चूत पर लंड को रगड़ा और फिर उसकी चूत में एक धक्का दे दिया. ক্সক্সক্স ইন্ডিয়ান ভিডিওउसके बाद उसने मेरी बहन की चूत में जीभ डाल दी और जोर से उसकी चूत को अपनी जीभ से ही चोदने लगा.

थोड़ी देर बाद जैसे तैसे करके मैंने कम्प्यूटर में विन्डोज़ इन्सटॉल कर ही दी. मगर उसके लिए मुझे मामी को यह बताना होगा कि मैं उसकी चूत को चोदना चाहता हूं. मैंने पति के आने से पहले अपना सारा काम निपटा लिया और फिर तैयार हो गयी.

कुछ देर तक चूचों को दबाने के बाद उन्होंने मेरी कमीज को निकलवा दिया. वो नीचे को आ कर मेरे लंड को चड्डी के ऊपर से अपने मुँह में लेने लगी.

करीब पांच मिनट के बाद वो संयत हुई और मेरी तरफ देखते हुए मेरे लंड की गति को अपनी कमर हिलाते हुए मिलाने लगी.

अब तक की मेरी इस सेक्स कहानी के तीसरे भागपुराने साथी के साथ सेक्स-3में पढ़ा कि मैं और सुरेश एक साथ बिस्तर पर सम्भोग के लिए आ गए थे. धीरे धीरे वो मेरे स्तनों की ओर बढ़ने लगी और जैसे ही उसने मेरा एक स्तन चूसा और मुझे अचंभित होकर एकटक देखने के बाद दूसरा स्तन चूसा. मैंने उसे पूरी ताकत से पकड़ लिया और अपने चूतड़ों तब तक हिलाती रही जब तक कि मेरा सारा रस न निकल गया.

सेक्सी चाहिए बीपी मोनिषा आंटी पागल हो गईं और मेरे सर को पकड़ कर अपनी चूत की तरफ दबाने लगीं. मैंने कहा- तू मेरी रंडी है न … तो मैं चाहे तुझे मारूं … चोदूं … चुपचाप सह लिया कर … नहीं तो तुम्हारी चूत और गांड का इससे भी चूता हाल कर दूंगा.

मेरा मेल आईडी है[emailprotected]कहानी का अगला भाग:प्यासी टीचर चूत चुदाई ने मुझे चुदक्कड़ बनाया-4. वैसे भी मुझे कोई खासा फर्क तो पड़ने वाला नहीं था क्योंकि मैं खुद काम की प्यासी रहा करती हूं. दोस्तों जैसा कि मैंने अपना नाम रसूल खान बताया … मैं बिहार में रहता हूँ और शादीशुदा हूँ.

मराठी सेक्सी स्टोरीज्

हम दोनों पिछले चार साल से रिलेशनशिप में थे, पर मेरी पढ़ाई के कारण मुझे बाहर ही रहना होता था, तो हम बहुत कम ही मिल पाते थे. मेरी ये लव सेक्स और चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेरे ईमेल पर मैसेज करके जरूर बताएं[emailprotected]मुझे आपके मैसेज का इंतज़ार रहेगा. मैंने उससे पूछा- तुम्हें तो गुंडों ने उठा लिया था?वो बोली- हां लेकिन मुझे बहुत मज़ा आया.

मेरे घर में मेरे मम्मी पापा, बड़ा भाई और एक बुआ रहती थीं जो तब तक कुंवारी थीं. सुरेश का लिंग झड़ने के बाद सिकुड़ कर छोटा जरूर हो गया था, मगर सुपारा मेरी योनि में ही अटका रह गया था.

मेरे ऐसा करने पर एक बार तो मैडम ने मुझे घूर कर देखा मगर फिर हल्का सा मुस्कराई.

इन सर्दियों में मैं अपने गाँव गया तो मैंने हमारे खेतों में काम कर रही गाँव की देसी भाभी की चुदाई कैसे की? मेरी देसी सेक्स की देसी कहानी पढ़ कर मजा लें. दो मिनट तक वो मेरे होंठों के रस को जबरदस्ती चूसता रहा और मैं संघर्ष करती रही. मुझे नहीं पता कि मेरे दोस्त ने अंदर भी मेरी बहन से सेक्स किया या नहीं.

मैं मॉम के पास गया औऱ प्यारी रंडी मॉम ये कहते हुए उनके प्यारे होंठों को चूम लिया. जिस रास्ते पर प्रकाश होता था मेरा रास्ता भी वहीं से होकर गुजरता था. उसने मेरी पैंटी को खींचने की कोशिश की लेकिन मेरी पैंटी मेरी जांघों में फंसी हुई थी.

मैंने बहुत बार आपके साथ सुहागरात मनाई है और बहुत बार सुहाग दिन भी मनाये हैं.

बीएफ वीडियो में बीपी: वैसे मेरी सहेली ने भी मुझे स्कूटी चलाना सिखाई थी लेकिन विभोर से मैंने अच्छे से स्कूटी चलानी सीख ली थी. मैंने भी उसको अपनी बांहों में भर लिया और एक एक करके उसके सभी अंग सहलाना शुरू कर दिए.

मैं भी पास खड़ा कभी अन्दर मम्मी को, तो कभी बाहर अपनी बहन को देखता रहा. मॉम ने पूछा- कहां जा रहे हो?मैंने इशारे से दो उंगलियां दिखाईं और वहां से चल दिया. बहुत मजा आ रहा था मुझे इस कार सेक्स में!मैं बोला- आह्ह … साली, देख क्या रही है, चूस इसे.

दूसरी तरफ मुझे ये भी डर था कि मेरी दोहरी जीवनशैली का उसे पता चल सकता था.

और फिर गांड रगड़ाई से बुरी तरह चिनमिनाने लगती है, तो बंदा यही सोचता है कि अब गांड कभी नहीं मराऊंगा. वो जा रही थी तो मैं पीछे से देख रहा था कि उसकी चाल में थोड़ा फर्क आ गया है. मैं अब किसी भी पल झड़ सकती थी और करीब 10 मिनट के धक्कों के बाद एक पल आया कि मैं अपने पर काबू न रख सकी और जोरों से हिचकोले खाते हुए पानी छोड़ने लगी.