बीएफ का चित्र

छवि स्रोत,बीएफ 16 साल की लड़की का

तस्वीर का शीर्षक ,

इंग्लंड सेक्स: बीएफ का चित्र, सेक्सी इंडियन भाभी की कहानी में पढ़ें कि पड़ोस में एक भैया की शादी हुई तो भाभी को देख मेरा लंड उनको पाने के लिए मचल उठा.

अंग्रेज ने की सेक्सी बीएफ

हॉट गर्ल सेक्स कहानी के पिछले भागचार लड़कों को नंगा करके लंड चूसामें आपने पढ़ा कि चार लड़कों को मैंने सेक्स के लिए अपने घर बुलाया था. इंडियन हिंदी मूवी बीएफभाभी की चुत में फुच्छ फुच्छ करके रस टपका देते हैं, उन्हें भाभी की गर्मी शांत करने से कोई लेना देना नहीं था.

मैं अब स्मृति की कमर के आसपास चूमने लगा। एक उंगली उसकी चूत में डालकर अंदर बाहर करने लगा।स्मृति के मुंह से आह … आहह … करके सिसकारी निकल रही थी. एचडी गर्ल बीएफमैंने भी रिज़वाना से हंस कर कहा- उसे बोल दो कि मन हो तो इधर आकर लाइव फिल्म देख ले.

अब हर रोज़ मॉम और डैड सोने के बाद मैं भाभी के कमरे में आ जाता हूँ और उनके साथ सेक्सी रातें गुजार रहा हूँ.बीएफ का चित्र: दिन भर बातों में उसने बताया कि वो यहां दार्जिलिंग से नई नई आयी है … और अभी अकेली रहती है.

मैंने भी कुछ नहीं सोचा और एक ही बार में अपना लंड चुत में घुसा दिया.मैंने बहुत सारी ब्लूफिल्म्स देखी थीं जिसमें मैंने पोर्न ऐक्ट्रेस को एक साथ आगे पीछे लंड से चुदते हुए देखा था.

लड़का लड़का का सेक्सी वीडियो बीएफ - बीएफ का चित्र

पढ़ाई का बहाना बनाकर हम छत पर चले जाते थे और चुदाई का मजा लेते थे।हम लोगों के बीच में जो भी शर्म थी वो खत्म हो चुकी थी। भाई बहन जैसा कोई रिश्ता नहीं बचा था हमारे बीच।एक दिन विवेक और शिवम दोनों ने प्लान बनाया- क्यों न हम दोनों अपनी अपनी बहन को चोदें?शिवम बोला- बहन मान जाएगी?विवेक बोला- तुम लूसी को तैयार करो, मैं कविता को तैयार करता हूं.जैसे ही शहज़ाद का लौड़ा मेरे सामने आया, मेरी तो आंख फटी की फटी रह गईं क्योंकि उसका लौड़ा जैसे ब्लू फिल्मों में काले हब्शियों का खूब बड़ा लंड होता है, एकदम वैसा ही था.

टॉयलेट में पूरी नंगी बैठी उसकी चुत से अभी भी बूंद बूंद पानी निकल कर जमी पर गिर रहा था. बीएफ का चित्र सेक्स विद माय स्टेप मॉम … मैंने एक रात अपनी सौतेली मम्मी को चोद दिया.

तभी प्रशांत ने मुझे स्मूच करने लगा और राजेश ने मेरे गाउन के नीचे से हाथ डालकर मेरी बिना पैंटी की चूत पर धावा बोल दिया.

बीएफ का चित्र?

क्या भूल गए आप?मैं- बस शीना, मैं यही चाहता हूं कि अगर तुमने चुदाई का पूरा मजा लेना है तो सब खुल कर करना होगा. अगले पांच दिन तक मैंने कंपनी पर पूरा ध्यान दिया और मशीन के बारे में काफी कुछ सीख लिया. जब हर तरफ कोरोना का प्रभाव था, तब मेरे पास एक महिला का फ़ोन आया- हैलो.

पंजाबी आंटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने दोस्त की सौतेली मम्मी को चोदा. शाम को हम जब अलग हुए तो वो चार बार चुद कर न जाने कितनी बार झड़ चुकी थीं. मैंने कहा- हां भाभी आज मुझे अपनी और आपकी दोनों की जवानी की इस आग को बुझाना है.

आशारा के हाथ मेरे बालों पर आ गए और उन्होंने मेरे बाल खींचना शुरू कर दिए. वह बारी बारी से हम दोनों के लौड़ों के सुपारों को अपनी जीभ से चाट रही थी और जोर जोर से लंड को हिला रही थी. जिससे भाभी के 36 साइज का एक बोबा फटे हुए गुलाबी ब्लाउज और काली ब्रा में दिखने लगा था.

अपने साथ आप किसी लेडीज को लेती जाएं … क्योंकि वहां दरवाज़ा नहीं है … बस पर्दा पड़ा है. फिर मैं उंगली निकालकर सूंघने लगा और उनके सामने ही की चूत के रस से भीगी हुई उंगलियां चाटने लगा.

मुझे जोश आ गया और मैं तेज तेज झटके लगाने लगा- हां ले साली रंडी कुतिया … छिनाल … अम्मी ले मेरा लौड़ा … भोसड़ी वाली तेरा बेटा ही तेरे लिए लंड लाया है … ले साली अम्मी चुद हरामन.

पिछली बार सर्दी के दिनों में मेरे दोस्त की शादी थी और इस सेक्स कहानी की नायिका मुझे वहीं मिली थी.

पहले भागदोस्त की अम्मी को दबा कर चोदामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं साहिल शाह की अम्मी शन्नो बेगम की चुत गांड चोद चुका था. कुतिया बनी मुस्लिम रंडी शन्नो अपनी गांड आगे पीछे करके मज़े लेने लगी थी. शेखर ये पढ़ कर मानो एकदम से उदास हो गया, उसने सोचा था कि धारा से ढेर सारी बातें करेगा मगर यहाँ तो खड़े लंड पर धोखा हो रहा था.

फिर एकाएक शिवम के धक्के तेज हो गये और फिर वो भी मेरी चूत में झड़ता चला गया. सोनम ने उसके बाल खींचे और उसको जमीन पर बैठने का हुकुम देते हुए कहा- ठीक है कुत्ते, चल आज दिखा दे कितनी गर्मी है तेरे इस लौड़े में, बैठ नीचे और चाट चाट कर साफ़ कर मेरी ये गीली चुत … बहनचोद तेरा ये लौड़ा देख कर मेरी ये रंडी चुत कैसे टपक रही है. मैं भूल चुका था कि अभी मेरा पानी नहीं निकला, बस ऐसा लग रहा था, जैसे आज मुझे सब कुछ मिल गया है.

यूँ अचानक से शेखर को दौड़ कर अपने कमरे में जाते हुए देख कर रघु भी एक पल को चौंक सा गया और शेखर को पीछे से आवाज़ लगायी- अरे क्या हो गया शेखर भैया? इतनी जल्दी ऑफ़िस से वापस आ गए और यूँ हड़बड़ा कर कहाँ दौड़ रहे हैं?शेखर के ऊपर तो मानो कोई भूत सवार था, उसने रघु की बातों पर कोई ध्यान ही नहीं दिया और सीधा अपने कमरे में जाकर बिस्तर पर अपने लैपटॉप के साथ पसर गया.

वो सिसकारियां भरने लगी और बोली- राज चोदो … चोदो मुझे … और चोदो!मैंने उसकी चूचियों को मसलना चालू कर दिया और झटकों पे झटके लगाने लगा।अब उसे मैंने लंड पर बैठा दिया और उसकी क़मर पकड़कर चोदने लगा. चाची ने मुझे अपने गदराए चिकने शरीर पर भींच लिया और मेरे मुँह और होंठों को चूमने चूसने और काटने लगी. लगभग 10 मिनट तक लगातार लंड चूसती रहने के बाद भाबी मस्त होकर मेरी आंखों में वासना से देखने लगीं.

डॉक्टर की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरी बीवी ने एक डॉक्टर को फंसा कर उसके क्लिनिक में ओरल सेक्स का भरपूर आनन्द लिया. तभी उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया और मुझसे बोले- मेरी जान, मेरा लंड सहला!मैं उनका लंड देखकर गर्म हो गई क्योंकि मेरी चूत से पहले ही पानी बह रहा था. इतने में सब्जी वाले ने कहा- साब पैसे?मेरा ध्यान टूटा, मैंने उसको पैसे दिए और निकल आया.

मैंने बिना देरी किये एक चूचे को अपने मुँह में भर लिया और जोर जोर से चूसने लगा तो मामी बोली- आराम से करो, अभी तो पूरी रात पड़ी है खा ही जाओगे क्या?मैं दूसरा हाथ मामी की चूत पर ले गया तो महसूस किया कि इस बार मामी की चूत बिलकुल साफ़ सुथरी और पहले से काफी गीली थी.

जब तक मेरा रस नहीं निकला, तब तक भाभी गजब तरीके से लौड़े को चूसती रही थीं. राजेश बोला- क्यों यार?मैं बोली- जब दोस्त के प्लाट पर घर बना ही लिया है … तो उस घर में खेलने के लिए बच्चे भी तो चाहिए.

बीएफ का चित्र चाय पीने के थोड़ी देर बाद मैं ऊपर आ गया और आंटी की चूचियों को सोचते सोचते मुठ मारने लगा और अपना वीर्य निकाल दिया. पैंट को मैंनेथोड़ा और नीचे खींचा तो पैंट नीचे से फ़लक के चूतड़ों में फंसी होने के कारण अड़ गई.

बीएफ का चित्र मैंने उसे चित लेटाया और उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख कर चूत की फांकों को लंड से रगड़ने लगा. जो सुकून लंड को चूत में डालने के बाद मिलता हैं कहीं नहीं मिल सकता।ख़ुशी हो या गम … चूत चोद के आप ख़ुशी को दुगना कर सकते हैं और गम को भुला सकते हैं।यह सेक्स एडिक्ट गर्ल Xxx कहानी मेरे कॉलेज के समय की है जब मैंने अपनी दोस्त की बहन की चुदाई की। तब मैं और मेरा दोस्त दोनों 22 साल के थे.

मैं समझ गया कि भाभी कह रही हैं कि शुरुआत में भैया ने जब भाभी की चुत की सील तोड़ी थी, तब भाभी को बहुत दर्द हुआ था और वो ठीक से चल नहीं पाई थीं.

व्हाट्सएप फनी वीडियो डाउनलोड

देवर ने अपने दोस्त को बताया तो दोस्त भी भाभी की चूत मारने की कोशिश में लग गया. शहज़ाद सॉरी बोलते हुए ग्लास हटाने लगा और वो पानी पौंछने के लिए अपना हाथ आगे लाया. मतलब अब नीतू भी मज़ा लेने लगी थी।अभी मैं अपने काम में लगा हुआ था कि पीछे से मौसी की आवाज आई- अरे ओ चूत के नाई … इनका हो जाये तो हमारी भी सेवा कर देना.

उस दिन मेरी प्रिया से इसी तरह की हल्की फुल्की मजाक वाली बातचीत हुई. मैं गांड मारने के दौरान उसकी चुत में उंगली कर रहा था तो उसका भी पानी निकल गया. कुछ दिनों के बाद मेरे हस्बैंड ने मुझसे कहा- मैं मां को साथ ले जाकर अपनी बहन के यहां हो आता हूं.

भानु ने अपनी मां काजल की चुदाई की कहानी मेरे साथ साझा की और माँ चोद कहानी को अन्तर्वासना के लिए लिखने का आग्रह किया.

इस अवस्था ने बैठने के कारण मेरे बूब्स बहुत ज़्यादा लटक कर बाहर को दिख रहे थे. मुझे उनका मोबाइल नंबर भी मिल गया था, तो जब भी भाभी खाली होतीं, वो मुझे बुला लेतीं या हम दोनों की फोन पर बात होने लगती थी. मगर मैंने धीरे धीरे से उन्हें चोदना चालू रखा और कुछ देर बाद भाभी भी मेरा साथ देने लगीं.

मेरा दिल जोर जोर से धड़क रहा था और डर लग रहा था कि कहीं आंटी सब कुछ मेरी मां को ना बता दें. शेखर अब ज़्यादा देर रुक नहीं सकता था, उसने धारा की चूचियों को छोड़ा और उठा कर धारा के दोनों पैरों को अपने कंधे पर टिकाया और लगा बमपिलाट धक्के मारने. अंतत: आज मैं अपनी जिंदगी की एक जवान सेक्सी लड़की की सच्ची सेक्स कहानी लिखने में सफल हो गया और इसे आप सभी के साथ साझा कर रहा हूं.

फिर भी उसने मुझे ताव दिला दिया था, तो अब मुझे उसके सामने अपना हुनर दिखाना ही था. इससे मेरा लंड और भी ज्यादा बौखला गया और हम दोनों जल्दी से एक दूसरे के कपड़े खोल कर एकदम से पूरे नंगे हो गए.

वह हंसने लगी और बोलने लगी- क्या मजाक कर रहे हो यार … मैं कोई खूबसूरत नहीं हूं. मुझे अहसास हुआ कि मैं जितना ज्यादा चूत चूस कर सुख पहुंचाता हूँ, आशारा भी लंड को उसी तेजी से चूस कर मेरा जवाब देती है. ऐसा अक्सर होता था शेखर के साथ … अपनी बीवी की भरपूर चुदाई के बाद भी वो अक्सर थोड़ी देर के लिए ही सही लेकिन सो जाता था।आज भी वैसा ही कुछ हुआ … आज तो शेखर को वो रोमांच मिला था जिसकी बस कल्पना ही करता रहता था वो!खैर थोड़ी देर बाद शेखर को होश आया तो उसे महसूस हुआ जैसे उसकी आँखों की पट्टी खुली हुई है और वो एक ख़ूबसूरत से कमरे में मद्धम सी लाल रोशनी में एक बिस्तर पर लेटा हुआ है.

मैं अपनी मां को काफी देर से चोद रहा था और लगातार झटके मारे जा रहा था.

निखिल बीनबैग पर आगे पीछे होने लगा और अपनी कमर हिलाते हुए अपनी मौसी मीरा की चुत चोदने लगा. भाभी ने थोड़ी ही देर मैं तेज आवाज के साथ पानी छोड़ दिया, जिसे मैं सारा पी गया. उसने फिर दोनों हाथों से अपने स्तन छुपा लिए और वासना की खुमारी में आंखें बंद कर दीं.

अगले पांच दिन तक मैंने कंपनी पर पूरा ध्यान दिया और मशीन के बारे में काफी कुछ सीख लिया. मैंने अपने लौड़े की रफ्तार तेज कर दी … वो लौड़े पर उछलते हुए आटा लगाने लगी.

[emailprotected]वर्जिन Xxx स्टोरी जारी का अगला भाग:कुंवारी बुर में लंड लेने की लालसा- 2. एक महीने बाद मेरे दोस्त की मम्मी का मैसेज आया कि मेरीमाहवारी रुक गईहै और मैं पेट से हो गई हूँ. कुछ देर बाद हम दोनों सामान्य हो गए और अब मैं भाभी को ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा.

सेकसी बीपी

उसकी आंख से आंसू बह निकले पर इन आसुओं में दर्द से ज़्यादा आनन्द के भाव थे.

उसकी उंगलियाँ पूरे कंधे पर फिसलने लगीं और तब जाकर शेखर को अहसास हुआ कि शायद आज धारा उसी तरह के ब्लाउज़ में थी जैसा उसने कल उसे अपने लैपटॉप की स्क्रीन पर देखा था. दूसरे दिन मीरा ने एक तरकीब निकाली और अपने रूम के एसी खराब होने का बहाना किया. जैसे मैं उनके पास गई, मैं हैरान रह गई क्योंकि वे नीचे से एकदम नंगे थे.

मैंने उसकी चूत के दाने को अपनी उंगलियों की चुटकी से थोड़ा जोर से मसल दी. मैं तो बस ऐसे आंखें बंद करके भाबी की चुदाई के बारे में सोच रहा था जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया था. लंडन बीएफअबकी बार ज्योति सबके सामने खुल कर चिराग के साथ, कभी उसके गले में बांहे डाल कर सेल्फी ले रही थी … तो कभी हग करके फुल एंजॉय कर रही थी.

वैसे तो मैं चुदी चुदाई थी, लेकिन शहज़ाद के लंड के हिसाब से मेरी चूत कम खुली थी. मुझको सार्थक से ही काम होता था और मैं उर्वशी को अपनी बड़ी बहन की तरह मानता था तो मेरे मन में उसके लिए कोई गलत फीलिंग नहीं थी.

डॉक्टर की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरी बीवी ने एक डॉक्टर को फंसा कर उसके क्लिनिक में ओरल सेक्स का भरपूर आनन्द लिया. मैंने उससे पूछा- तुम्हारे घर में और कौन कौन रहता है?वो बोला- इधर तो मैं ही रहता हूँ. करीब 15 से 20 मिनट बाद लगातार चोदने के बाद मेरी गांड के अन्दर गर्म गर्म महसूस हुआ.

शेखर के लंड की अकड़ ने धारा को बहुत प्रभावित किया था।उसकी अकड़ देख कर धारा ने अपनी हथेलियों में लंड को लगभग मरोड़ दिया लेकिन लंड टस से मस न हुआ. साले अमित ने ना जाने कौन सी पॉवर मिला दी थी कि मैं कोमल को चोद चोद कर थक गया था पर कोमल तो और गर्म हुई जा रही थी. मैं उसकी बात को नजरअंदाज करते हुए अब भी उसकी चूत को चाटे जा रहा था.

इधर मैंने कोमल को घोड़ी बना कर अपना लंड एक झटके में उसकी चुत में डाल दिया और तेज तेज चोदने लगा.

मैं उसके घर से वापस जाने लगा तो उसने मुझे फ़ोर्स करके अपने घर रोक लिया. यानि शाम 6 बजे से सुबह 3 बजे तक गांड और चूत की दमदार चुदाई हो गई थी.

करीब दस मिनट बाद सैम का लंड फिर से खड़ा हो गया और उसने मेरी मां को घोड़ी बना दिया. दफ़्तर से घर तक पहुँचते-पहुँचते शेखर को क़रीब डेढ़ घंटे का समय लग गया. कुछ ही देर बाद भाभी ने मेरी टी-शर्ट ऊपर कर दी और मेरी छाती की घुंडियों को अपने होंठों से चुभलाने लगी थीं.

तभी मेरे देवर के दोस्त ने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगा. उसको देख कर वो बोला- हाय अब लग रहा न कि नई नवेली दुल्हन सुहागरात में पति से गांड मरवा कर बाथरूम जा रही हैं. भाबी को पंखा साफ करवाना था और सीढ़ी थी नहीं, तो मैंने बोला टेबल के ऊपर एक छोटी टेबल रख कर मैं चढ़ जाऊंगा.

बीएफ का चित्र मैं कुछ बोलती, इससे पहले राजेश ने मेरी गांड पर अपना लंड टिका दिया … और बिना रुके उसने जोरदार झटका दे मारा. )दोस्तो, हमारी बातें ज्यादातर इंग्लिश में होती थीं क्योंकि वो बहुत पढ़ी लिखी थीं और मैं भी.

सेकसी गुड नाईट शायरी फोटो डाउनलोड

भाभी बोलीं- आज तक तुम्हारे भैया ने उस पर हाथ तक नहीं फेरा, तो चाटने कि बात तो बहुत दूर की है. दोस्तो, यह थी मेरी टॉयलेट सेक्स कहानी!शायद आप में से बहुत से पाठकों को यह काल्पनिक लगेगी या बहुत लोग इस पर विश्वास नहीं कर पाएंगे … लेकिन आप सभी जानते हैं कि मैं केवल वास्तविक कहानियां ही आपको पढ़ने के लिए अंतर्वासना पर अपनी लेखनी के माध्यम से रुचिकर बनाकर आपके समक्ष प्रस्तुत करता हूं. मानस बिना किसी परेशानी के उस गोरी मैडम की गीली चुत, उसकी पैंटी के ऊपर से चाटने लगा.

उस कड़कती ठंड के मौसम की सर्द रात में मेरी मां और पिताजी दो जिस्म एक जान हो गए थे; अर्थात उन दोनों ने मेरे अवतरण की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी थी. अपने साथ आप किसी लेडीज को लेती जाएं … क्योंकि वहां दरवाज़ा नहीं है … बस पर्दा पड़ा है. हिंदी बीएफ इमेजउसके ऐसे हमले से सोनम ख़ुद की सिसकारियां रोक ना सकी और मानस का सर उसने और जोर से अपनी चुत पर दबा कर कहा- चूस मेरे राजा, पूरा घुस जा मेरी इस मादरचोद रंडी फुद्दी में, झाड़ दे मुझे … आह बड़े दिनों के बाद आज कोई मेरी इस निगोड़ी चुत को चूस रहा है … अह्हह आआह ह्ह ह्म्म्म चूस्स कुत्ते चूस!वो ना जाने क्या क्या बोले जा रही थी.

इसी तरह उस भीड़ को पार करते हुए शहज़ाद का लंड मेरी गांड से बार बार टकराने और रगड़ने के कारण एकदम टनटना गया और मुझे कुछ ज्यादा ही गड़ने लगा.

रेशम-ऋतु के घर में:रेशम- यार ऋतु तुम कॉलेज में काव्य के साथ घूमना बंद कर दो। लोग न जाने कैसी-कैसी बातें बनाते हैं।ऋतु- तुम काव्य से इतना परेशान क्यों रहते हो रेशम? मुझे लोगों की परवाह नहीं है. अगले ही पल उसका हाथ मेरी गांड पर था, जैसे वो चाहती हो कि तुम रुके क्यों … और तेज़ी से झटके मारो.

देखो उस रात को जब हम दोनों छत पर चुदाई कर रहे थे, तब नीतू हम लोगों को छिप कर देख रही थी। नीतू को हमारे बारे में पता चल गया। वो कह तो रही है कि वो किसी को कुछ नहीं बताएगी. मैंने उससे पूछा- बैग?वो- वो उधर झाड़ियों में ही रख दिया है, वापसी में ले लूंगी. शहज़ाद ने गुस्से से उन दोनों को देखा लेकिन मैं उस वक़्त कोई झगड़ा नहीं चाहती थी तो मैंने शहज़ाद को रोक दिया.

गगन हवस से भरा हुआ स्टेज पर चढ़ा और अपनी बहन प्रियंका के मम्मों को दबोचकर उसे किस करने लगा.

इसके आगे क्या हुआ था जो जल्दी ही आपको बताऊंगा कि क्या मेरी और वैशाली दीदी की शादी हुई और मैंने कब, कहां और कैसे उनकी गांड मारी. उसने पार्सल लेकर हमारे पास छोड़ा … फिर उस डिलीवरी बॉय के पास जाकर उसकी पैंट निकाल दी और उसका लंड चूसने लगी. दुकान में मौजूद सारे मर्द उसे घूर कर देख रहे थे जैसे उसे अभी मिल के चोद देंगे।तब मैंने बिल का पेमेंट किया उन लोगों ने थोड़ी देर और अलग अलग दुकानों से सामान खरीदे.

बीएफ सेक्सी वेस्टइंडीजधारा इस लगातार हो रहे खेल से 2 मिनट के अंदर ही फिर से गर्म होने लगी लेकिन इस बार वो यूँ उंगलियों से झड़ना नहीं चाहती थी. मैंने कहा- आह … सच में मेरी जान कितना मजा दे रही हो … और चूसो … आह.

परिवार में चुदाई की कहानी

वो मजे से लंड चूस रही थी और मैं उसकी चूत के अन्दर जीभ डाल कर चुत चूसने लगा. आशारा की चूत तो पहले ही रस भर चुकी थी और मैंने पहले ही घूंट में बहुत सारा रस पी लिया. अब मैं फरियाल को पूरी ताकत से चोद रहा था और वो हवा में टांगें उठाए लंड का मजा ले रही थी.

ज्योति लजाते हुए- पागल कहीं के … लाओ मैं इसे हाथ से ठंडा कर देती हूं. मयंक संगीता की सिसकारियां सुनकर समझ गया कि अब संगीता गर्म होने लगी है और इसकी गांड में लंड को चलाने का एकदम सही मौका है. हॉट मौसी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मौसी ने भानजे को उसकी गर्लफ्रेंड की चुदाई करते देखा तो उसका लंड देख मौसी ने भी भानजे से अपनी चुदाई करवा ली.

अब अभिजीत प्रियंका के मुँह को चोदने लगा और विक्रम गांड और चुत को बारी बारी से चोदने लगा. वो अपनी चूत में लंड सैट करके बैठ गईं और गांड हिलाते हुए चुदाई करने लगीं. उसके बाद वो दोनों एक दूसरे के साथ लेस्बियन सेक्स का मजा लेने लगी थीं.

मैंने सितारा के माथे पर तिलक लगाया और उसी उंगली को सितारा की मांग में फेरकर उसकी मांग भर दी. हमारी लम्बी चली चुदाई में आशारा पस्त होकर ऐसे लुढ़क गई कि उसकी नींद ही लग गई.

उसने मुस्कराते हुए जवाब दिया- क्या ललित भाई … आप भी मेरी फिरकी ले रहे हैं! मेरी ऐसी क़िस्मत कहाँ जो आपकी हुस्न की परी मेरी मालिश करे.

भाभी मेरे सीने से चिपक कर तब तक मेरे ऊपर ही लेटी रहीं जब तक लंड अपने आप सुस्त होकर चुत से नहीं निकल गया. बीएफ वीडियो सेक्सी सुहागरातएक जगह जाकर लण्ड को कुछ रुकावट महसूस हुई, फ़लक को भी कुछ तकलीफ़ महसूस हुई लेकिन उसी क्षण मैंने एक झटके में लण्ड को पूरा अंदर ठोक दिया. स्कूली लड़कियों के बीएफवो नीचे लेट गई और मुझे जल्दी झड़ने को बोलने लगी।मैंने प्राची के ऊपर चढ़ कर चूत में लंड घुसा दिया और तेज़ी में धक्के लगाने लगा; उसके होंठों को भी चूसने और काटने लगा. जिंदगी भी कितनी अजीब है किस मोड़ पर क्या रंग दिखाएगी, कुछ पता नहीं होता है.

शुरू में जब वो यहां रहने आई थीं और मैंने पहली बार भाभी को देखा था, तो देखता ही रह गया था.

मूसल लौड़े को अपने कोमल हाथों से मरोड़ के उसने गुस्सैल आवाज में कहा- क्या क्या करेगा बहनचोद? देख तो भोसड़ी के तेरा लौड़ा कैसे खड़ा है … शर्म नहीं आती? नाम क्या है तेरा?चपरासी बोला- जी, मानस नाम है मेरा … और मैं सच कह रहा हूँ मैडम, आप जो बोलेंगी, मैं वो करूंगा. पहले तो मैंने भाभी को थोड़ा दूर धकेलना चाहा तो वो मुझे किस करने लगीं. तो मैंने भी कह दिया कि अगर कभी टाइम मिलेगा, तो मैं आपको कॉल करूंगा, तब एक मिनट क्या, कई मिनट तक बात कर लेंगे.

उस टाइम सब कारीगर थे तो उसने कपड़ा ले लिया और मुझे सुबह सात बजे बुलाया. तो मैंने रुकने का फैसला करके मेरे शौहर को फ़ोन किया और उन्हें बता दिया कि मुझे देर हो जाएगी. दो दिन बाद रविवार था तो मैंने कोमल को बोल दिया कि रविवार को मसूरी चलते हैं.

फेस के लिए बेस्ट क्रीम

जरा सा भी झुकने पर तो आप जानते ही हैं कि मर्द के लंड का क्या हाल होता है. वो ज़ोर ज़ोर से कराहने लगीं- आह आह आह उई उई मम्मी मर गई आ ऊ ऊह!उनकी तेज तेज आवाज आने लगी और कमरे में ‘फच फच फच. चाची- पागल, आज पहले मैं तुझे ट्रेंड करूँगी, फिर टार्गेट पर शॉट मारना.

वो पूरे मदहोश हो चुके थे और जोरों से मेरे होंठों को चूमने में लगे थे बल्कि अब तो अंकल काटने भी लगे थे.

इसके तुरंत बाद मैंने अपने शौहर को फ़ोन करके उन्हें बताया कि मेरी एक सहेली कार से जा रही है.

धीरे धीरे मैं रूचि के कान के पास चूसने लगा, इससे उसे सहा न गया और उसने मेरे लंड को पकड़ लिया और हिलाने लगी. शेखर ने मन मारकर नाश्ता किया और फिर अपने मोबाइल पर गाने चला कर लेट गया. बीएफ वीडियो चोदा वालामगर मेरी मां की चुदी हुई चुत ने मेरे दोस्त सैम का लंड अपनी चुत में जल्दी ही एडजस्ट कर लिया.

वो चौंक गई और बोली- ये आपने कब देख लिया राज?मैंने उसे बताया कि कैसे मैंने उसे देखा था. वहां डोरबेल बजायी … तो लगभग 38-40 साल की, मगर हुस्न से भरपूर महिला ने दरवाजा खोला. भाभी ने फ़ौरन से मुझे रोका और कहने लगीं- सॉरी मुदित … मैं अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर सकी इसलिए मुझसे ये भूल हो गई … प्लीज़ मुझे माफ़ कर दो और किसी से कुछ नहीं कहना.

कुछ देर उन्होंने मेरी चूत को चाटा और खाया और फिर अपने लंड का सुपारा मेरी चूत पर रगड़ने लगे. 9:15 बजे के करीब मेरे दरवाजे पर घंटी बजी तो मैं समझ गई कि वे चारों आ चुके हैं.

प्रभा- अच्छा … पहले दोस्त बनाया … अब प्रेमिका बनाना चाहते हो!मैं- हां प्रभा, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ.

इस चुदाई से मेरा ब्वॉयफ्रेंड गर्म हो गया और उसने लड़के के जाने के बाद 8 दिन तक मुझे पेला. पांच मिनट बाद वह झाड़ियों से बाहर निकली, तो वो स्कूल ड्रेस उतार कर एक अलग ड्रेस में थी. चूंकि आप लोग जानते ही हैं कि लेडीज फर्स्ट का मामला सभी जगह लागू होता है, इसलिए पहली सेक्स कहानी अनिता की ओर से उसी के शब्दों में आपके सामने पेश है.

करिश्मा कपूर की चुदाई बीएफ धीरे धीरे निखिल के लंड की चाहत को भी मीरा समझ गयी थी क्योंकि जब भी वो ऐसी कोई हरकत करती तो निखिल का लंड फूल कर उसकी इस क्रिया का अभिवादन करने लगता था. भाभी के एकदम दूध से गोरे चूचे पूरी तरह से शेप में थे और उन पर गुलाबी रंग के निप्पल किसी इंग्लिश पोर्न ऐक्ट्रेस के जैसे मम्मे लग रहे थे.

मैंने अपने एक हाथ से निशा की चूत को सहलाना शुरू कर दिया; कभी मैं उसकी चुत के दाने को खींचता, तो कभी चुत में फिंगरिंग करने लगता. भाभी ने मेरे लंड को पकड़ा और टांगें खोल कर अपनी चूत में लंड सैट करके मुझे दबाने लगीं और धक्का देने के लिए बोलीं. आंटी मस्त हो गईं और चिल्लाने लगीं- आह चोद मुझे … फक मी आह यस फक मी हार्ड … फक मी बेबी और तेज चोद.

सेक्सी हिंदी वीडियो हिंदी में

मैंने उससे डॉक्टर को पापा का नाम बताने को बोला और बताया कि आज मेरी मम्मी का चैकअप होना था. मगर निखिल ने बिना रहम दिखाए पूरा लंड मेरी मम्मी की चूत में पेल दिया. ज्योति- हट बेशर्म … सब लोग हैं यहां बस में … कोई देखेगा तो क्या सोचेगा?चिराग- बस इतना प्यार करती है मुझसे? और रही बात किसी के देखने की … तो कोई हमें नहीं देख रहा.

काफी देर बाद बाद वो दोनों अलग हुए और बोले- भाभी जी, आज हम आपकी गांड से शुरूआत करना चाहेंगे. मयंक ने संगीता की जांघों पर हाथ फिराना शुरू कर दिया और वो एक मिनट बाद उठ कर संगीता की टांगों के बीच में आ गया.

वो बोली- हां हुजूर अब तो मैं एकदम से समझ गई हूँ कि साहब को मैं हॉट लगती हूँ.

मैंने एक हाथ उनके चुचे से हटा कर उनके सिर पर दबाव बनाना शुरू कर दिया था. भाईयो मुझसे कुछ गलती हो जाए, तो माफ करना … क्योंकि मैं कोई प्रोफेशनल लेखक नहीं हूँ. मेरी बात पर भाभी हंसने लगीं और बोलीं- आपको कौन सा दूध पीना है?मैंने उनकी आंखों में आंखें डालते हुए कहा- वही, जो बड़े होने के बाद पिया जाता है.

वो मेरे साथ काफी हद तक खुलने लगी थी और शायद मेरा मन भी उसके लिए कामुक होने लगा था. गगन अपनी बहन प्रियंका की चुत के होंठों को अपने मोटे लंड से जोर जोर फाड़ने लगा और प्रियंका भी अपनी चुत चुदाई का मजा लेने लगी. मैंने उसके दूध चूसना शुरू किए तो वो उठ गई और मुझे देखकर शर्माते हुए कपड़े उठाने लगी.

उसने पीछे से मेरी दोनों चूचियों को पकड़ कर जोर से दबा दिया और बोला- आज तो मजा आ जाएगा दीदी.

बीएफ का चित्र: मैंने उनसे कहा कि ठीक है, मैं अभी आपको आपके घर छोड़ देता हूँ और उधर देख भी लेता हूँ कि कैसा मोहल्ला है. मैंने जब अपनी नज़र हल्की सी ऊपर उठाई तो देखा कि उसकी पैंट में हल्का सा उभार आ चुका था.

तब जवान लड़कों को देखकर भाभी की चूत की खुजली हुई कि ये लौंडे 19-20 साल के नौजवान हैं और इनके ताजगी से भरे हुए लंड मेरे लिए एक खिलौना बन सकते हैं।ये सब और इससे आगे इस वीडियो में देख कर मजा लें. उसने भी अपने दोनों हाथों को मेरी कमर पर रख लिए और हम दोनों किसी प्रेमी की तरह लेट गए थे. मैंने अपनी नई वाली इनोवा को चैक किया और उसके इंजन का तेल पानी सब ओके देख लिया.

मैं एकदम से उस दूध वाले के लंड पर टूट पड़ी और इतनी शिद्दत से उसका लौड़ा चूसा कि वो कुछ ही मिनटों में झड़ गया.

अंततः मां की चुत का लावा फूट गया और उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया, मैंने चुत रस पूरा अन्दर गटक लिया. भाभी की चूचियां ऐसे उछल रही थीं मानो क्रिकेट में हर बॉल पर सिक्स लग रहा हो. चाची उठी तो मैं भी लण्ड को निकाले निकाले उनके पीछे किचन में चला गया.