इंडियन बीएफ सेक्सी फुल एचडी

छवि स्रोत,बीएफ हिंदी बीएफ एचडी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

fire वाला सेक्सी: इंडियन बीएफ सेक्सी फुल एचडी, एक दिन मैंने सभी छात्रों के सामने उससे अपने पेरेंट्स के साथ आने को बोला.

भाई बहन का बीएफ भाई बहन का बीएफ

उसकी लार धीरे धीरे मेरे लंड पर से बहती हुई मेरी जांघों पर आने लगी थी. देहाती बीएफ वीडियो सेक्सी हिंदीफिर से मैं रचना के होंठों को चूसने लगा और चूचियों को खूब मसलने लगा.

चाची- छी: ये क्या है … तुम ये सब देखते हो … आज तुम्हारी मम्मी को बताती हूँ. कम उम्र की लड़कियों की बीएफअच्छा ये बताओ, तुमने कभी अपने पप्पू (लंड) को हिलाने की कोशिश नहीं की? अगर तुम अपने लंड को हिलाकर देखोगे तो तुम्हें बहुत मजा आयेगा.

फिर उन्होंने मुझे अंदर से आवाज दी- यहीं आ जाओ, किचन में बात करते हैं.इंडियन बीएफ सेक्सी फुल एचडी: यहां तक कि महिलाओं को इस बात की अनुभूति भी हो जाती है कि जो स्पर्श उनके शरीर पर किया गया है उसके पीछे का प्रयोजन क्या रहा होगा.

उसके अर्धविकसित चूचों का स्पर्श मेरे सीने पर बहुत ही आराम दे रहा था.ये देख कर मैंने फिर से एक ज़ोर का झटका दिया और पूरा लंड चूत में डाल दिया.

कैटरीना कपूर का बीएफ - इंडियन बीएफ सेक्सी फुल एचडी

हनी की बांह पकड़कर उसे कुर्सी से खड़ा करते हुए मैंने पूछा- ये क्या देख रही हो?हनी आँखें नीचे किये चुपचाप खड़ी रही.उसने कहा- ब्रा लैस चोली में चूचुक खड़े होते हैं … वर्ना फिटिंग सही नहीं आती.

अब मैं उनके पैरों को किस करने लगा और अपना हाथ उनकी सलवार के ऊपर से ही चूत पर सहलाने लगा. इंडियन बीएफ सेक्सी फुल एचडी मैं चुत चाटते हुए दीदी के मम्मों भी दबाने लगा, जिससे दीदी और भी मदहोश हो रही थीं.

इस बीच काम की अधिकता के चलते मेरी भाभी से एक भी बार मुलाकात नहीं हुई थी.

इंडियन बीएफ सेक्सी फुल एचडी?

परवीन ने कहा- बाजी (बहन जी) मुझे आपको इस तरह से देख कर जोश आ जाता है. जैसे कि आप जानते है कि कैसे मैंने अपनी क्लासमेट आकांक्षा को अपने एक फ्रेंड के कमरे पर ले जाकर चोदा था. 2 सेकंड मैं रुका ताकि अगर उसकी तरफ से कोई दिक्कत होती तो बोल देती क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि दोस्ती में कोई प्रॉब्लम आये। मैं फिर हाथ नीचे ले कर गया और उसकी गांड के ऊपर से घुमाते हुए अपने लंड के टोपे वाली जगह पर ले गया।वो भाग भट्टी कि तरह जल रहा था।मैं- तुम्हें कहीं बुखार तो नहीं है … ये तो बहुत तेज़ गर्म हो रहा है.

अपनी तरफ आने का इशारा करते हुए मैंने कहा- अपना कान इधर लाओ, कान में बताऊंगा. इससे थोड़ी ही देर में उसके निपल्स कड़क होने शुरू हो गए और वो उठ गई. वो एहसास अभी भी मेरे दिमाग से निकल नहीं पा रहा … वो मेरे ऊपर ही लेट गया और मेरी चूचियों के साथ खेलने लगा.

सुहागरात के अगली सुबह जब मीठी मीठी मादक भोर में आप दोनों एक दूसरे के जिस्मों को उभरते दिन की हल्की रोशनी में देखेंगे तो उस समय आपके पति के पौरुष के लिए आपको और आपके जिस्म के अंगों को नजरअंदाज करना बहुत चुनौतीपूर्ण कार्य हो जायेगा. फिर मैंने उसकी चूत में जीभ को अंदर डाल दिया और उसकी चूत में फिर मजा आने लगा. उनको अभी आभास हो गया था कि कोई बाहर से आने ही वाला है इसलिए वह दोनों अलग हुए सेजल नहाने के लिए चली गई और फौजी साहब अपने लंड को धोने के लिए चले गए.

ये कहते हुए मैंने अपनी बहन की बुर को चूम लिया और एक गहरी पप्पी एकदम बीचों बीच, दाने के पास जीभ से छू लिया. आज की इस कहानी में भी मैं कोशिश करूंगा कि आप लोगों को इस सेक्स कहानी का पूरा मजा मिले.

मम्मी की चूत के लबों को खोलकर अपने लण्ड का सुपाड़ा मम्मी के चूत के मुखद्वार पर सेट करके मैं आगे की ओर झुका और मम्मी की दाहिनी चूची अपने दोनों हाथों से पकड़कर चूसने लगा.

बाद में मैंने उससे लंड चूसने के लिए बोला, तो इस बार वो रंडी की राजी हो गई थी.

करीब दस मिनट तक भाभी की चूत चूसने के बाद वो एकदम से अकड़ते हुए झड़ गईं और उनकी चूत से एक पानी की धार मेरे मुँह में ही निकल गई. मैंने मोबाईल निकाल कर उनको दिया और कहा- देख लीजिए कैसी खातिरदारी की है मेरे भाईयों ने मेरी. उसके कोमल जिस्म से लिपट कर मैं आधे लंड को ही उसकी चूत में चलाने लगा.

कुछ ही देर बाद दीदी भी खुश लगने लगी थीं … मैं तो सातवें आसमान पर पहुंच गया था. वो बोली- जय आज तक मुझे सेक्स में इतना मज़ा कभी नहीं आया, जो तुम्हारे साथ आ रहा है. अपनी चूत को खोल कर दिखाते हुए मामी ने कहा- लड़के इसी चूत के छेद में अपने लंड को अंदर डालते हैं.

इसके आगे की कहानी में क्या होता है, यह जानने के लिए आप इस स्टोरी से जुड़े रहें.

मैं उसके कमरे में जाता था तो उसकी बहन को देखकर मेरा मन मचल जाता था और कुछ कुछ चलने लगता था मेरे मन में!मैं उसकी तरफ देखता तो वह मेरी तरफ तिरछी नजरों से देखने लगती थी. मेरी उम्र 40 साल है, मेरे लंड का साइज 6 इंच है।मैं एक कॉल बॉय हूं मुझे आंटियां भाभियाँ और अकेली रह रही लड़कियां या फिर कोई भी विधवा कॉल करके बुलाती हैं. ऐसा दिखने में लगता है तो होगा भी!और आपको मैं रचना भाभी के बारे में बताऊँ जो दिखने में इतनी गजब की माल है कि मैं आपको लिखकर के बयां नहीं कर सकता.

मैंने पूछा- कब?कल्पना ने कहा- तुम्हें याद है मैंने तुम्हें कहा था कि मैं तुम्हें कॉल करूंगी. मैंने भी सोचा हुआ था कि अगर आज किला फतेह नहीं हुआ, तो आगे से दरवाज़ा तक छूने को नहीं मिलेगा. वो हंस कर बोली- भाई ये आज खत्म नहीं होंगे, अब तो आपको लाइसेंस मिल ही गया है.

इसके बाद उसने मुझे करवट दिला कर लेटा दिया और फिर मेरा एक पैर ऊंचा कर दिया.

चूंकि उसने चुदने के लिए मना कर दिया था इसलिए मुझे अब कोई और तरकीब लगानी थी. जब भी मैं कुछ कहता तो मुझसे कहती- शांत लेटे रहो अबन!उसके बाद रचना ने खुद से मुझे अलग किया और मुझसे कहा- कपड़े पहन लो.

इंडियन बीएफ सेक्सी फुल एचडी जिस पर एक पेंडल था जिस पर अंग्रेजी का M बना हुआ था जो सिम्मी के स्तनों के बीच लटका हुआ था।मैं अंदर ही अंदर सोच रहा था इस पगली ने मुझे अपना तन मन सब कुछ सौंप दिया है।अब मेरे सामने दो टेनिस की गेंदें थी जिनका रंग दूध के समान एकदम सफेद था. थोड़ी ही देर में दोनों ने हिलना बंद कर दिया और मेरी बहू बेटे के ऊपर गिर गयी.

इंडियन बीएफ सेक्सी फुल एचडी मैंने उसकी भावना को समझ लिया और उसकी गांड मारने का अपने मन में निश्चय कर लिया. सबकी चूचियां गोल गोल संतरे जैसी थी, उनके चूचक उभार लिये हुये थे। उनके चूतड़ बिल्कुल गदराये हुए थे। कुल मिला कर वो बहुत ही बढ़िया चुदने का सामान थीं। कोई शरीफ आदमी उनको देख लेता तो फौरन अपना लण्ड हाथ में लेकर मुठ मारने लग जाता।हम लोग भी पूरे शरीफ थे।अंदर इनके अलावा लोहे का बक्सा भी था। उसमें दस हजार सोने के सिक्के थे।फिर हमने उनसे पूछताछ की.

कुछ पल मैंने उसके खुले जिस्म का नजारा लिया और अपनी उत्तेजना बढ़ाने लगा.

जबरदस्ती सेक्सी गाना

न वो कुछ कह रही थी और न मैं कुछ कह रहा था लेकिन दोनों के ही मन में वही आग सी उठी हुई थी शायद. मैं सोच रहा था कि आज तक कई लड़कों ने सपने में दीदी को चोदने के लिए मुठ मारी होगी, लेकिन आज मैं अपनी दीदी की इसी गर्म चुत में लंड घुसाने वाला हूँ. हरामी और एक्सपिरिएंस्ड चोदू चिन्ना जानबूझ कर अपने कूल्हों को भी थोड़ा आगे की तरफ बढ़ा कर लण्ड का दबाव करोना की नाजुक पीठ पर बढ़ा देता.

फिर जो करना है कर लेना अपनी मनमर्जी। मैं तो आज से तुम्हारी ही हूँ।फिर हम दोनों बाथरूम गए एक दूसरे को साफ किया और वापस नंगे ही कमरे में आकर लेट गए. तभी मैंने थोड़ा थूक लेकर उसकी गांड में डाल दिया और थोड़ा लन्ड पर लगा दिया और टोपे को उसकी गांड के छेद पर रख दिया। वो भी जैसे पूरी कमर कस चुकी थी मेरे लंड से अपनी गांड चुदाई का उद्घाटन करवाने के लिए. आप लोगों का प्यार और रेस्पॉन्स मुझे ईमेल आईडी पर ज़रूर कीजिएगा ताकि मैं आप लोगों के सामने और भी ऐसी कहानियां लेकर आऊं, जिसने मेरी जिंदगी ही बदल दी है.

नहा कर मैंने घर के सारे खिड़की दरवाजे चेक किये कि सब अच्छी तरह से बंद हैं.

इत्तफ़ाक़ से कुछ ही दिन बाद नसरीन भी मासिक पीरियड से निवृत होने वाली थी. क्योंकि उसका ससुर उसके बदन को किसी आटे की तरह गूंथ रहा था, इतने ताकतवर मर्दाना हाथ से अपने बदन को मसलवाते हुए सेजल को बहुत मजा आ रहा था. उन्होंने कहा- बस चुदाई कह कर बात खत्म न करो … पूरी बात बताओ कि चुदाई में क्या क्या कर लेते हो?अब बातें खुल कर होने लगी थीं.

उसने बोला- भाई तुम पहली बार दिल्ली आए हो, बहुत से ऐसे इलाके हैं, जहां इतनी रात में जाना ठीक नहीं है. कहानी का पिछला भाग:शहर की चुदक्कड़ बहू-2थोड़ी देर में रानी मेरा रूम साफ़ करने आयी तो मैंने उसे ध्यान से देखा. मेरे ऑफिस में वहां पर एक माही (बदला हुआ नाम) नाम की लड़की भी जॉब करती थी, जो पहाड़ी थी.

जब रचना भाभी को अपनी गांड पर मेरा लंड महसूस हुआ तो उसने मुझसे पीछे पलट के कहा- क्या कर रहे हो अबन?मैंने कहा- माफ करना भाभी, गलती से लग गया. मैंने 10-12 तेज धक्के और लगाए और लंड बाहर निकाल कर आकांक्षा के पेट पर झड़ने लगा.

कल्पना फिर से भलभला कर झड़ गई और मैं उसकी चूत का नमकीन अमृत चाटता चला गया. बोला ना तुझे कि बहुत दिनों बाद लंड रही हूं। तू भी तो कुछ समझा करता बस तुझे तो चूत दिखी और तूने फाड़ डाली।”चल कोई नहीं। ऐसा कर … मेरे ऊपर आ जा, थोड़ी देर मेरी चूचियों को चूस।”मैंने ऐसे ही किया. कुछ देर तक लण्ड को चूतड़ों के बीच सटाये रखने के बाद मैंने सोचा अगर मम्मी का गाऊन ऊपर सरका दूं तो लण्ड सीधे चूतड़ों के सम्पर्क में आ जायेगा.

अम्मी और अब्बू दोनों दुकान पर रहते हैं इसलिए घर में हमने काम करने के लिए कामवाली को रखा हुआ है.

मैं अभी कुछ संभल पाता कि उन्होंने जल्दी से मेरे पूरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. मैं- इसमें क्या ग़लत है बस सोने को बोल रही हूँ … मुझे चोदने को नहीं. बहरहाल मैं ज्यादा समय नहीं लेते हुए एक पाठिका की समस्या यहां लिख रहा हूं जो उसने भी मुझे विस्तार से लिखी थी.

खाना खाते समय उसने मुझे आखिर पूछ ही लिया- तुम मुझे बाथरूम में क्यों देख रहे थे?मैंने बोल दिया- बस ऐसे ही. लेकिन सेजल अब समझ गई थी कि अब गैर मर्द अगर घर पर आएंगे और लड़कियां बड़ी हो रही है तो उन पर एक गलत प्रभाव जाएगा.

मैं- पर शुरुआत में दर्द होगा, ये पता है ना?शिल्पा- हाँ, इतना तो मुझे भी पता है … ऐसे ही इतनी बड़ी नहीं हो गई … और मुझे ये भी पता है कि हमारे पर कंडोम नहीं है तो मुझे शायद गोली भी खानी पड़े. फिर मैंने उसकी सलवार का नाड़ा थोड़ा सा खोल दिया और हल्की सी सलवार नीचे कर दी. पर वो रट हुए बोल रही थी कि जय प्लीज लंड बाहर निकालो … बहुत दर्द हो रहा है.

सेक्सी वीडियो सॉन्ग मूवी

यह सोच कर मैं मेरे घर से कुछ ही दूरी पर एक कॉलोनी थी, वहां गवर्नमेंट ऑफिसर्स रहते थे, जो बाहर से आकर इधर रहते थे.

उसने मेरा लंड पैंट के ऊपर से ही पकड़ लिया और उसे दबाने लगी।कैसे भी करके आज मैं वर्षा को चोदने वाला था. तो आगे और क्या क्या हुआ वो अगली कहानी में।दोस्तो, कैसी लगी ये मेरी कहानी मुझे रिप्लाई जरूर करें।[emailprotected]आगे की कहानी:मम्मी की करतूतें देख भाई से चुदी-2. लेकिन वाह री क़िस्मत, जिस चीज़ के लिए मैं उस दिन तरस रहा था … आज हालात ऐसे बन गए कि वो खुद ब खुद मुझे हासिल होने वाली थी.

जितनी भी आंटियों की चूत चुदाई मैंने की है मैं सबकी चूची पीछे से दबाता हूं, मुझे इसमें बहुत मजा आता है. लेकिन क्या दिया … यह बताने से पहले मैं चाहता हूं कि अन्तर्वासना के पाठक या पाठिकाओं की इस बारे में क्या राय है. आदिवासी बीएफ मूवीबहू बोली- डैडी जी, आज भीड़ ज्यादा है यहाँ, वैसे इतनी भीड़ नहीं होती है.

करोना जोर-जोर से सांसें ले रही थी और उसकी चूचियां ऊपर नीचे होकर अपने चिन्ना अंकल को चखने की दावत दे रही थी जिन्हें खाने के लिए चिन्ना भी बेड पर आ गया. अचानक कमरे में किसी की आहट होने के कारण हम अलग हुए, मैंने अपने आपको जल्दी से ठीक किया और कमरे से बाहर और उनके घर से अपने घर के लिए रवाना हो गया।जब अपने घर पहुंचा तो रात में मैंने उसे फोन किया.

मैं देख रहा था कि शुरुआत में उनकी जो तवज्जो में मेरी तरफ थी, वो धीरे धीरे अपनी सेक्स गतिविधियों की तरफ हो गई थी. उसको चुदाई के लिए तैयार करके मैंने नंगी टीचर की चूत मस्त तरीके से चोदी. अब जैसा मैंने पहले भी बताया था कि मुझे सेक्स से बहुत डर लगता है, तो मेरी सिसकारियां डर में बदल गई.

मैं उसके होंठों को किस करने लगा और उसके होंठों को काटने लगा, उसकी गर्दन पर लव बाइट्स देने लगा, उसको सक करने लगा. उसके बाद रानी की चूत पर सेट करके एक धक्के में मैंने अपना लंड रानी की गीली चूत में थोड़ा घुसा दिया. उसने भी झट से आकर मेरे लंड पर अपनी चूत रख दी और मुझे किस करते करते मेरे लंड पर बैठ गयी.

उसने मेरे लंड से हाथ हटा लिया और मैंने लंड को उसकी गांड पर टिका दिया.

इसमें मां-बेटा, भाई-बहन, बाप-बेटी के बीच हुए सेक्स की कहानी लिखी होती थीं. वो दस मिनट में वापस आई, तो उसके हाथ में एक खाने वाली ट्रॉली थी, जिसमें खाने का सामान सजा था.

इसलिए मैंने थोड़ा खुलापन महसूस करने के लिए नीचे से नंगा ही रहना ठीक समझा. बात 1942 के आसपास की है। हम 15 लड़कों ने अंग्रेजों के एक काफिले को लूटा. उन पलों को और अधिक मादक और कामुक बनाने का काम मेंहदी बखूबी कर सकती है.

चूत टाइट थी इसलिए पहली बार में लंड का सुपाड़ा अंदर न जाकर चूत पर से फिसल गया. एक बार जब मामी मेरे घर आईं, तो मैंने सोचा ये मामी को चोदने का सुनहरा मौका है. ऐसे ही करते करते पूरे 8 लोग उस दिन मेरे ऊपर एक एक करके चढ़ते रहे और मेरी चुत का भोसड़ा बनाते रहे.

इंडियन बीएफ सेक्सी फुल एचडी मैं उसकी चुत को चाटने लगी और सोचने लगी कि इसका ये छेद मुझे कमाई करवाएगा. गांव के सारे ही लड़के उसको ऐसे देखा करते थे जैसे गांव में दूसरी कोई लड़की है ही नहीं.

एक्सएक्सएनएन

जैसे ही वो पलटी, मुझे उसकी गांड देख कर मेरा लंड शॉर्ट्स के अन्दर से ही झटके मारने लगा. वो चिल्ला नहीं पा रही थी, क्योंकि मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर दबा दिए थे. पर चिन्ना अभी ये नहीं चाहता था क्योंकि उसे अभी अपनी करोना बेटी को और गर्म कर के तड़फाना था.

मैं अपनी चूत ऊपर नीचे करके अच्छे से मजे लेने लगी और अपनी आवाज तेज करके ‘आहह उम्मम…. शायद आप ये कह सकते हो कि कल्पना के बूब्स बहुत बड़े थे और उस छोटी सी ब्रा में फंसे से कैद थे. देसी बीएफ फिल्म हिंदीमैं जब भी किसी लड़की के साथ कुछ करता हूं तो मुझे उसके चेहरे को देखने में बहुत मजा आता है.

मैने अपनी चूचों पर क्रीम से मालिश की और अपनी चूत के बाल साफ किये क्योंकि मुझे पता था पवन मुझे चोदना चाहता है.

अब मैंने भाभी को अपने सीने से सटाया और अपनी चादर को ठीक से ओढ़ लिया. उसकी चूत की सील मैंने कैसे तोड़ी?अन्तर्वासना पर सभी लड़कियों और भाभियों को मेरा प्यार, उनकी चूतों को मेरा दुलार.

मैंने अंदाजा लगा लिया कि पापा मेरी मां की चुदाई 2 से 3 के बीच में ही करते होंगे. मैंने फिर कहा- निधि प्लीज एक बार बता ना … तुझे मज़ा आया कि नहीं मेरा यानि अपने भाई का लंड मुँह में लेकर … मुझे पता है कि तेरा पति तेरी चूत की आग को ठंडा नहीं कर पाता था और तू रात रात भर ठरक से तड़पती थी. मैंने सारिका के चिल्लाने का कोई नोटिस नहीं लिया और बेरहमी से उसकी गांड मारता रहा.

हम दोनों बाथरूम से कमरे में वापस आ गए और बेड पर जाने के बाद उसने पूछा- तुम चॉकलेट या आईसक्रीम लाए हो क्या?मैंने ना में सर हिलाया, तो कल्पना बोली- कोई बात नहीं … रूम सर्विस वाले को बोल दो, वो ला देगा.

रानी तुरंत खड़ी हो गयी, बोली- बाबूजी, मैं पैसे के लिए ये काम नहीं करती हूँ. बड़ी मुश्किल से जाकर लगभग 15 मिनट के बाद मेरे पापा का लंड खड़ा हुआ. दर्द के मारे करोना के आँखों से आंसू बह रहे थे और चिन्ना के मोटे काले टट्टे करोना की नाजुक गांड को जोर जोर से थपकाने लगे थे.

बीएफ मूवी सेक्सी बीएफ मूवीजब मैंने तेरे लंड को लोअर में तना हुआ देखा तो तब मुझे भी चुदने का मन किया और मैंने आगे कदम बढ़ाया. हल्का सांवला सा रंग, प्यारा सा चेहरा और उसका मस्त फिगर … आह … मैं तो बस उसके दूध ही देखे जा रहा था.

हॉर्स एंड वूमेन सेक्सी वीडियो

तो लवली बताओ निकाल लूं क्या?”अरे नहीं नहीं, ज्यादा दर्द तो नहीं है. आज यहां मैं वो दास्तान लिख रहा हूँ, जिसमें मेरे दोस्त की पत्नी ने किस तरह मुझे अपनी चुदाई करने को लेकर मुझे उकसाया. तभी उसका एक हाथ मेरी पैंट के अन्दर चला गया और उसने मेरे लंड को पकड़ कर अन्दर ही मसलना शुरू कर दिया.

बैंकॉक विजिट से वहां मेरे लिए कृत्रिम लिंग और वाइब्रेटर का काफी बड़ा कलेक्शन भी लेकर आये हैं. फिर उसने कहा- अब क्या होगा?तो मैंने कहा- मेरे को अब यहीं पर सब कुछ करना पड़ेगा. कुछ देर चुत चूसने के बाद वो खड़ा हुआ और मेरे एक चूचुक को मुँह में लेकर जोर से काटा.

करोना हिचकिचाते हुए काम्पते हाथों से चिन्ना की छाती की मालिश में जुट गई. फिर बहू ने गेट खोला तो वहाँ मेरा बेटा और उसका दोस्त खड़ा था जो उसे छोड़ने आया था. लेकिन तब तक मैंने तेज धक्कों के साथ अपने लंड का सारा पानी उसकी बुर में छोड़ दिया था.

फोन पर मैं उसके साथ लगभग हर रात फोन सेक्स भी किया करता था।मिलन की ख्वाहिश पर अब भी अधूरी थी।निधि खेतों की तरफ भी जाती तो अपनी मम्मी के साथ जाती थी इसलिए उधर भी मिलने का मौका नहीं मिला।इसी तरह पूरा साल गुजर गया. मैं ज्यादा समय तक उसकी इस अदा पर नहीं टिक पाया और मेरे लंड ने सारा लावा उसके मुँह में ही उड़ेल दिया.

कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैं मां के नंगे बदन के मजे लेने में सफल हुआ.

वो दिन है और आज का दिन है … हमने कभी उस बारे में बात नहीं की … ना ही मैंने कभी उसको भोगने वाली नज़रों से देखा … और ना ही उसने!आज हमारी दोस्ती को 9 साल हो गए और हम बहुत खुश है अपनी दोस्ती में. बीएफ सेक्स बीएफ हिंदीअनाड़ी करोना इस दोहरे नए अनुभव से एकदम बौखला कर बेड से उतर कर नीचे खड़ी हो गई. बीएफ भाभीमेरे लेट जाने के कुछ देर बाद सारिका उठी और अपना मोबाइल लेकर बाथरूम चली गई, मैंने अपने फोन में देखा कि एक एक वीडियो पर बारी बारी से टिक ब्लू होता जा रहा है यानि कि सारिका बाथरूम में बैठकर पोर्न वीडियो देख रही थी. फिर उन्गोने मेरी चलित को अपनी ऊँगली और अंगूठे के बीच में लेकर मसला तो मेरी सिसकारी निकालने लगी और मेरे चूतड़ अपने आप ही ऊपर को उठाने लगे.

मैंने भी भाभी के दूध दबाते हुए कहा- ठीक है मेरी जान … भाभी आज से आप मेरी रांड हो गईं.

इस सबसे वो लड़की या औरत इतनी ज्यादा गर्म हो जाएगी कि सिर्फ आपकी इस हरकत से उसकी चूत पानी छोड़ देगी. उनकी डेथ के बाद मधुलिका भी अपने सबसे बड़े लड़के के पास जाकर रहने लगी. अब मेरे दोनों छेद में दो लंड घुस गए थे और मैं भी खूब उचक उचक कर चुदवा रही थी.

दोस्तो, मैं बताना चाहता हूँ कि अगर आपको किसी भी और की चीखें निकलवानी हैं, उसे पूरी तरह से संतुष्ट करना है, तो दोस्तों मेरे पर्सनल अनुभव से कह रहा हूँ कि आप उसकी कान की लौ को हल्के से काटो. अम्मी उसकी चूचियों के साथ खेलने लगी और मैं उसकी चूत पर लंड लगा कर रगड़ने लगा. मैंने कहा- चल!फिर रूम में मैंने गेट लॉक किया और रानी को उठाके अपने रूम में ले गया उसे बैड पर लिटा दिया और खुद उसके पास बैठ गया.

सपना चौधरी हॉट सेक्सी वीडियो

तो उसने मुझे घुमाया और मेरे पीछे आ गया और पीछे से मेरे पेट पर हाथ फेरने लगा और पीछे से चिपक गया. बाहर वाले से खतरा ज्यादा रहता है, मेरे साथ घर में चुद कर मजा ले सकती हो. कहानी का पिछला भाग:शहर की चुदक्कड़ बहू-2थोड़ी देर में रानी मेरा रूम साफ़ करने आयी तो मैंने उसे ध्यान से देखा.

तभी मैंने अपना लण्ड सारिका की चूत से निकाला और लण्ड का सुपाड़ा सारिका की गांड के गुलाबी चुन्नटों पर रख दिया.

गर्मागर्म कड़क और चिकने लण्ड के अपनी नाजुक चूत पर पहले मर्दाना स्पर्श ने करोना को अलग ही मजेदार और नए अनुभव से दो चार कर दिया.

मैंने तेल की शीशी से तेल लेकर अपनी बहन की गांड में तेल लगाना शुरू किया. चोपड़ा ने मुझे किस किया और कहा- माल कहां है?मैं- जी अन्दर रूम में है. बीएफ दिखाइए प्लीजबलविंदर साहब तो शायद खुद को संभाल रहे थे लेकिन सेजल के जिस्म में अब आग लग गई थी!आग से भी ज्यादा उसको इस चीज की खुंदक थी कि उसको बच्चा क्यों नहीं हो रहा जबकि सेजल के ससुर को 4 लड़के हुए थे.

उसके बाद हम दोनों किस करने लगे और कुछ देर किस करने के बाद मैंने अपने कपड़े पहने और अपने कमरे में आ गयी. मैंने भी नाटक करते हुए ससुर जी को धक्का दिया और कहा- यह क्या कह रहे हो पापा … मैं आपकी बहू हूं. मैं अपनी बर्थ पर जाकर बैठ गयी और ड्राइवर को घर की चाबी देकर उसको जाने को बोल दिया.

उसने पूछा- आपको कैसे पता?मैंने कहा- मैं तेरी सब खबर रखता हूं बस मम्मी को कभी नहीं बताया. मैं सिस्टर सेक्स करने के लिए बेचैन रहने लगा सिनेमाहाल में दीदी की चूचियां दबाने के बाद … मैं बहन के बूब्स, चूत के बारे में सोचता.

अपनी गर्लफ्रेंड को अपने फ्रेंड के कमरे में चोदकर निकला तो सामने की एक भाभी ने देख लिया.

मैं सोच रहा था कि आज तक कई लड़कों ने सपने में दीदी को चोदने के लिए मुठ मारी होगी, लेकिन आज मैं अपनी दीदी की इसी गर्म चुत में लंड घुसाने वाला हूँ. मैंने पूछा- ये क्या?रचना भाभी ने कहा- सवाल मत करो, जो कर रहे हो, बस चुपचाप करते रहो. ” यह कहकर मैंने उसकी टी-शर्ट उतार दी उसने कोई भी विरोध नहीं किया।मैंने उसकी टीशर्ट उतार कर बेड पर फेंक दी उसके छोटे छोटे से गोरी गोरी सी चूचियां बहुत ही अच्छी लग रही थी मैं उसकी चूचियों को ब्रा के ऊपर से ही धीरे-धीरे करके दबाने लगा.

नई लौंडिया की बीएफ दीदी- बोल कि फोल्डर में कहां रखी है … सब बता दूँ मम्मी को!मैं- सॉरी दीदी. हनी के ड्रेसिंग टेबल से कोल्ड क्रीम की शीशी निकालकर मैंने हनी की चूत की मसाज की और थोड़ा सा क्रीम अपने लण्ड के सुपारे पर लगाकर हनी की टांगों के बीच आ गया.

चूंकि उसका मुंह बिस्तर में दब सा गया गया था इसलिए उसकी सिसकारियां दबे हुए से रूप में बाहर आ रही थीं. सिम्मी ने ना कहा पर अंततः प्रोमिस कर दिया कि कल से नहीं जाऊंगी।एक दिन सिम्मी का फोन नहीं लग रहा था तो मैंने सिम्मी के घर फोन किया. उसका रेगुलर क्लास में न आना मुझे उसको अपने जाल में लेने के लिए उत्तेजित कर रहा था.

खुजली का पौधा

मैक्सी को मैं अब उसके कमर के ऊपर तक ले आया और उसकी चूत नीचे से नंगी हो गयी थी. हर महीने मैं वहां जाकर तीनों फ्लोर के किरायेदारों से महीने का किराया लाया करता था. दोस्तो, पहाड़ी लड़की कैसी भी हो लेकिन वो दिखने में एकदम माल होती हैं.

इधर शातिर चिन्ना जीभ का दबाव बढ़ाता जा रहा था।अब करोना के अगले पाठ बारी थी. मुझे भाभी ने ही बताया था कि उनका पति भी अपना वीर्य बाहर ही निकालता है.

बीच बीच में दीदी मेरे लंड को पकड़ने की कोशिश भी करने लगी थी लेकिन उनका हाथ मेरे लंड तक नहीं पहुंच पा रहा था.

मैंने ऐसा इसलिए किया कि ताकि विशाल के अंदर सेक्स का स्टेमिना ज्यादा देर तक बना रहे और हम दोनों मां-बेटा अपनी चुदाई का मजा ज्यादा देर तक ले पायें. मेरा खड़ा लंड उनकी जांघों के बीच में और उनकी चूचियां मेरे सीने में घुसने को बेताब थीं. अब वह बीच- बीच में अपने दोनों हाथ चिन्ना के हाथों पर रख कर उन्हें वहीं रोक लेती थी जैसे इशारा कर रही हो कि ‘प्लीज, मेरे निप्पलों को अपनी चुटकियों में पकड़े रहो.

पहले तो मैंने उसके दोनों पैरों को फैलाया और बड़े प्यार से उसकी बुर को सहला कर उसकी बुर के दोनों लबों को अलग करके देखा. ऐसे ही देखा देखी में मुझे भी उससे कब प्यार हो गया मुझे पता भी नहीं चला. मैंने उसको अपनी गोद में बैठा लिया और उसके होंठों के रस को पीने लगा.

अब मैंने उसके पेट को बिना किसी के डर के दबाते हुए उसका सूट ऊपर कर दिया.

इंडियन बीएफ सेक्सी फुल एचडी: लेकिन मैं कहां रुकने वाला था। टाइट चूत मारने में जो मजा है और वो भीकुंवारी चूत!मैं धीरे-धीरे उसकी चूत में उंगली अंदर बाहर करता रहा।जब मुझे लगा कि हां अब जगह बन चुकी है फिर मैंने अपना लंड एक झटके में पूरी तरह उसकी चूत में घुसा दिया. क्या आपको नहीं लगता कि दुनिया का हर पुरुष उसी लड़के के किरदार में खुद को देखना चाहता है और दुनिया की हर लड़की अपने मर्द (पति या होने वाले पति) के हाथों उसी की तरह एक कला बन जाने का सपना देखती होगी?शरीर के गुप्तांगों के अतिरिक्त कमर की तगड़ी के रूप में भी मेंहदी डिजाइन काफी आकर्षक लगता है.

हम दोनों 12वीं तक एक साथ पढ़े हैं तो हमारी पक्की दोस्ती थी, पारिवारिक सम्बन्ध थे. तू अपने बच्चे के लिए कुछ ले लेना!मैं रानी के हाथ को पकड़ के सहलाने लगा. पूरी रात बेचारी कभी अपने मुँह से कभी अपनी गांड से और कभी अपनी पूरी तरह भोसड़ा बन चुकी चूत से चिन्ना अंकल को खुश करती.

एक दिन मैंने निश्चय कर ही लिया कि आज उसे प्रपोज कर के ही रहूंगी और अपनी चूत चुदवा कर रहूंगी.

अब्बू की आकस्मिक मृत्यु हो जाने के बाद अम्मी और छोटी बहन की सारी जिम्मेदारी मेरे ऊपर थी. क्या करूँ, सारिका … दूसरों के वीडियो देख देख कर जी भर गया था, अब जब जी करेगा, अपनी वीडियो देखूंगा. मीनू ने मुझे कहा- मैं आपके बच्चे की माँ बनना चाहती हूँ शादी के बाद![emailprotected].