बीएफ व्हिडिओ पंजाबी

छवि स्रोत,माधुरी दिक्षित की सेक्सी वीडियोस

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगी बीएफ बीएफ सेक्सी: बीएफ व्हिडिओ पंजाबी, फिर मेरा पति यूएस में है, तो वो वहां पर लड़कियों के साथ एंजॉय तो करता ही होगा ना.

देसी सेक्सी वीडियो गन्ने के खेत में

आज तक हम दोनों ने एक बंद कमरे में अकेले कभी भी इस तरह से बेड पर बात कर चूमाचाटी नहीं की थी. हिंदी सेक्सी औरतउन्होंने इतने साल से किसी के साथ सेक्स नहीं किया था तो वो कांप रही थीं.

वो बगल से हाथ नीचे लाकर मेरे बूब्स को जोर जोर से मसलते हुए भींचने लगा और मुझे चोदता रहा. करिष्मा की सेक्सीमैंने उससे कई बार उसकी गांड मारने की इच्छा ज़ाहिर की थी … पर वो हर बार मना कर देती थी.

मुझे लगा कि मैंने उससे मदद के लिए कहा भी, तो कहीं वो अभी मुझे ही पकड़ कर गाली ने दे दें.बीएफ व्हिडिओ पंजाबी: मुझे रूपा भाभी की कही हुई बात याद आ गई कि एक दो बार नानुकर करने के बाद, वो जो करे … उसे करने देना.

अब उसकी शादी होने वाली है लेकिन कहती है कि उसको बच्चा मेरे से ही चाहिए.मुझे उसके उछलते हुए चूचे देखने में मस्त लग रहा था तो मैं भी उसे उछलते हुए देखता रहा.

चाइना की लड़की की सेक्सी वीडियो - बीएफ व्हिडिओ पंजाबी

दोपहर को सबने एकसाथ लंच किया और थोड़ी देर के लिए सब लोग आराम करने लगेमैं अर्चना को गोद में लेकर सोफे पर आराम करने लगा और अनु दीदी सुमंत महंत दोनों भाइयों को एक कमरे में लेकर समा गईं.झीनी सी साड़ी में लिपटी हुई दिल को धड़कनें बढ़ाने वाली इस नायिका से मैं पहली बार रूबरू हुआ था.

मुझे बॉस ने एक जरूरी मीटिंग के लिए कह दिया है तो मैं नहीं जा पाऊंगा. बीएफ व्हिडिओ पंजाबी और मैंने भी उसकी इच्छा को समझते हुए पूरी ताकत से उसकी चूत में अपनी जीभ घुसा दी.

तभी उस लड़की जिसका नाम तेनजिंग था, ने पीछे से आवाज दी कि आप नॉर्थ साइड से हो?उसकी आवाज सुनते ही मेरे दिल में एक खुशी की लहर सी दौड़ गई.

बीएफ व्हिडिओ पंजाबी?

हम दोनों ही एक दूसरे के होंठों व जीभ को जोरों से चूम-चाट रहे थे और पूरा मजा ले रहे थे. अभी दो ही महीने हुए थे कि सोनल का बीबीए करने के लिए बंगलौर के एक कॉलेज में एडमिशन हो गया. मनीष अपनी साली के गले लगे लगे बोला- अब घर भी चलना है … या यहीं से मिल कर वापस जाने का इरादा है.

इतने में मैंने नंगी ही सारा सामान अंदर रसोई में रख दिया और आकर अंकल की बाँहों में लेट गयी. धीरे धीरे मेरे हाथ आँटी के सुडौल चिकने पटों (जांघ) पर पहुँच गए और पटों से होते हुए मैं उनके चूतड़ों को सहलाने लगा. राजेश अंकल ने अपना हाथ मेरे कंधे पर रखा और बोले- मेरा लड़का भी तुम्हारी उम्र का हो गया है और वो जॉब भी करता है, तो क्यों न तुम उसी से शादी कर लो.

वो मोहित से भी बातें करती थी लेकिन मुझे तो बस उसकी चूत के मजे लेने थे. यामिना बस अपनी पियोन वाली ग्रे यूनिफॉर्म की वजह से मेरा ध्यान आकर्षित नहीं कर सकी थी. अदिति मूतने लगी तो चिर् चिर् चिर की आवाज के साथ चूत से पेशाब निकलने लगी.

खेतों के काफ़ी अन्दर जाने के बाद उन्होंने मुझसे पूछा- क्या हम लोग बहुत अन्दर आ गए हैं?मैंने कहा- हां मम्मी. सोनी अब मुझे नजरअंदाज करने लगी थी, मुझे समझ में नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूं?क्योंकि सोनी ने मुझे कुछ भी करने को मना किया था.

लेकिन मैं कुछ भी सोचने की हालत में नहीं थी क्योंकि मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था.

अभी तो वो जवानी की दहलीज पर पहुंची ही है और सुरेश एक खेला-खाया मर्द है.

दिल्ली शिफ्ट होने का उसका कारण यह था कि उसके भाई की दो 2 बेटियां थीं। हम उम्र ही थी. योनिरस से भीगी हुई उंगली मैंने उस छिद्र में डाली तो रेनू का शरीर अकड़ सा गया. खिड़की पर तेज धूप के कारण नीले रंग का सा प्रकाश अलग ही‌ नजर आ रहा था.

बहन कीसहेली की चुत चुदाईका क्या हुआ … वो मैं आप सबको अगले अगली बार की सेक्स कहानी में बताऊंगा. सफर में मेरी चुदाई की कहानी का मजा लेंलेखक की पिछली कहानी:छोटे भाई की बीवी के साथ सुहागरात-1अन्तर्वासना के सभी दोस्तों को मेरा हैलो. आप लोग मुझे बताएं कि मैं अपनी मॉम को पकड़ कर चोद दूँ या उनके सामने ही किसी लौंडिया को लाकर चोदूं, जिससे मैं भी अपनी मॉम की तरह घर में बिंदास मजा ले सकूँ.

तभी मेरे बगल में आकर एक बहुत ही मोटा आदमी बैठ गया और मेरे सारे सपनों पर पानी फिर गया.

मैं उन्हें गले लगाने के लिए आगे को बढ़ा और वो शर्माते हुए मेरे सीने से लग गईं. उसने कहा- नहीं तो!मैं- अब तू बता, अगर चुत में किसी और का लंड चला जाए तो क्यों दुनिया बखेड़ा करती है. इधर मुझे बड़ी बुआ का फोन आया, तो मैंने उन्हें रात में हुई चुदाई की कहानी को सिलसिलेवार बता दिया.

थोड़ी देर मैं जब मैं उसके ऊपर से हटने लगा, तो उसने मुझे हटने नहीं दिया और जोर जोर से मुझे चूमने लगी- भैया आई लव यू … लव यू आप सिर्फ मेरे हो. विपिन बोला- कोई बात नहीं, कुछ देर तो रखो, फिर जब पेशाब करोगी तो निकाल देना, पर मेरे सामने नहीं. अगले कुछ ही पलों में शैली के मुँह से एकदम से निकला- आंह फास्टर अवि … आई एम कमिंग.

वो सोने से पहले कपड़े चेंज करने गईं और जब बेडरूम में आईं तो मेरी आंखें फट गई थीं.

कभी अण्डकोषों को मुँह में भर कर चूसती और लिंगमुंड को जीभ से धीरे-धीरे सहलाती।उसके मुखमैथुन ने मुझे कामवासना के स्वर्ग में पहुंचा दिया. हिंदी सेक्स सेक्स Xxx कहानी में पढ़ें कि मुझे रात दिन सेक्स ही सेक्स की सूझती थी.

बीएफ व्हिडिओ पंजाबी मैं दस मिनट तक धक्के लगाता रहा जिससे मैं और शैली दोनों ही अपने चरम पर पंहुचने लगे थे. सुरेश अब मेरी बेटी सोनी की गांड और चूत को सहला रहा था और सोनी चुपचाप लेटी हुई थी.

बीएफ व्हिडिओ पंजाबी लंड को बाहर निकालने के बाद मैंने हम दोनों पर फिर से पानी डाला और मैं दोबारा से फिर साबुन मलने लगा. देखते ही देखते हमारे रिश्ते को पांच साल हो गए, पांचवी सालगिरह हमने इमैगिका जाकर मनाई.

इस पर वो बोले- अभी तेरी जैसे दस चूतों का भुरता बना सकता है ये लंड! और फिर भी खड़ा रहेगा.

गांड मारते हुए दिखाओ

जब तक वो पेटीकोट पकड़ती वो उसके पैरों में गिर चुका था।पहली बार उसके नितंबों को इतने करीब से देखकर मेरी हालत खराब हो रही थी. इस सबसे भाभी की भी नींद खुल गई और खुद को ऐसे मेरे सामने नंगी देख कर वो भी घबरा गईं. फिर वो बाबा मेरा हाथ अपने हाथ में लेकर सहलाते हुए बोला- कन्या, तुम्हारी त्वचा कितनी कोमल है और तुम्हारा हाथ भी बड़ा नर्म है.

चूत लंड की इस रेस में ललिता भाभी की चूत ने फिर से रस बहा दिया और फच्च फच्च करते हुए मैं उसे चोदने लगा. मैं उसकी चुचियों में खोया हुआ था, तभी गुलजान ने बड़ी ही हवस भरी आवाज़ में कहा- क्या हुआ … कहां खो गए. मुझे अचानक से भाभी से किया हुआ हम दोनों की चुदाई का वीडियो का वादा याद आ गया और मैं विजय को बोल उठी- जानू सुनो!विजय ने चूत से मुँह हटाकर मेरे सामने देखा.

कहानी के पिछले भागसहकर्मी दोस्त लड़की का नंगा बदनमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे सामने अंकिता सिर्फ एक पैंटी पहनी हुई लेटी थी.

उसके मुँह की झूठी शराब पीने में और उसके गुलाबी होंठ चूसने में मुझे अलग ही मजा आ रहा था. अब मैं सोच रही थी कि इन तीन दिनों में मेरी कुछ ज़बरदस्त चुदाई हो जाती, तो मज़ा आ जाता. नेहा पीछे से स्नेहा को मारते हुए बोली- क्या आप भी … इसकी बातों में आ जाते हो.

एक दिन मैं बाल्कनी में कसरत कर रहा था, तो भाभी ने मुझे देख कर मेरी बॉडी की तारीफ की और कहने लगीं कि आपने बड़ी अच्छी बॉडी बना रखी है. अब मैंने चाची को नीचे लेटाया और उनकी दोनों टांगों को अपने कंधों पर रख कर उनकी चुत की दरार में लंड लगा दिया. मैंने उसकी दोनों टाँगें चौड़ी करके उसकी योनि का सारा योनिरस साफ कर दिया.

उसके बाल मेरे गालों पर लग रहे थे और मुझे बहुत ही तेज उत्तेजना महसूस हो रही थी. मैं डर के सीधे ऊपर उनके बगल में आ गया।कुछ समय बाद मैं अपना हाथ उनकी गदरायी हुई चूची पर रख दिया और धीरे धीरे दबाने लगा।तभी मुझे थोड़ा अहसास हुआ कि चाची शायद जगी हुई है परन्तु कुछ बोल नहीं रही।मैंने सोचा कि ऐसा बढ़िया मौका फिर शायद नहीं मिलेगा।तो मैंने धीरे से उनके ब्लाउज के बटन खोलने शुरू कर दिए।अब उनकी चूची सिर्फ ब्रा में थी।मैं उनकी ब्रा को बिना हूक खोले ऊपर करने लगा.

उधर नीचे से मेरा लंड ममता के मुँह के पास था, जिसका उन्होंने भी अपना पूरा मुँह खोलकर स्वागत किया और अपने मुँह‌ में पूरा लंड भरकर जोरों से चूसना चाटना शुरू कर दिया. औरत जात के अंदर भगवान ने इतनी क्षमता दी है कि वो हर चीज को आराम से सहन कर जाती है. उसमें से छोटी वाली लड़की हमेशा ही मुझे देखकर अपने होंठों पर जीभ फिरा देती थी.

उसकी तरफ से पहल देख कर अब तो मेरा लंड बस की छत की तरफ सीधा खड़ा हो गया था.

फिर मैंने उसको गर्म करके कैसे उसकी चूत मारी?नमस्कार दोस्तो, प्यारी-प्यारी हसीन चूतों की मल्लिकाओ और नर्म नर्म उरोजों वाली लड़कियो और महिलाओ. फिर चुदते हुए मैं अपनी उत्तेजना के चरम पर आ गयी और एकदम से चीखती हुई झड़ने लगी. अब मैं उसकी तरफ मुड़ा और प्यार से पूछा- बताओ क्या परेशानी है? जो भी बात हो तुम खुल कर बताओ; शायद तुम्हारी कोई मदद हो जाये।उसने अपने आंसू पौंछते हुए जवाब दिया- अंकल, मैं यहाँ इंदौर में अपने चाचा के यहाँ रहती हूं.

बाजार से आकर मैं अपने कमरे में चला गया और रात को डिनर के बाद हम दोनों सोने चले गए. शेखर- अरे आप अभी तो कर लो, वो सुबह फिर दोबारा से भी तैयार हो जायेगा.

इस तरह हम दोनों ने अपनी चूत और लंड का पानी को मिक्स करके पी गए।रात के 11:00 बज रहे थे और हम दोनों नंगे पलंग पर एक दूसरे से चिपक कर लेटे थे. थोड़ी देर बाद मुझे भूख लगी तो मैंने सोचा कि अंकल को भी उठा देती हूँ, ये भी कुछ खा लेंगे. मैंने कहा- जाने दो जानू, पहले तुम्हारी चूत की सील तोड़ी … और अब गांड को फाड़ना अच्छा नहीं.

केले की खेती

उसके बाद वो अनन्या की चुत पर लंड रख कर चढ़ गया और उसकी ताबड़तोड़ चुदाई चालू कर दी.

चाची- सोनू (मेरी वाइफ) क्या हुआ दीपक तो बड़े कमजोर कमजोर लग रहे हैं. रुखसार- मैं ये सवारी नहीं रोकने वाली … कशिश, तू ही मेरे कपड़े उतार दे. मैं- कोई बात नहीं सासू मां, मैं आपका दामाद हूं न आपकी इच्छा पूरी करने के लिए!कहते हुए मैंने कलावती को नीचे गिरा लिया.

उसका गुदा मार्ग कुछ सुगम हो गया था। अब मैंने उसके नितंबों को पकड़कर तेज-तेज धक्के लगाने शुरू कर दिये. काफी देर तक लौड़े को अपने मुँह की लार से भिगोने के बाद रेशमा ने लंड बाहर निकाला और बोली- क्या खाते हो आप, जो इतना बड़ा बना लिया है. आदिवासी डूंगरपुर सेक्सी वीडियोअगर आप चाहते हो, तो मैं उस डॉक्टर के साथ रात बिताने के लिए तैयार हूँ.

अब मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी थी और धीरे धीरे से अब मैं जल्दी जल्दी धक्के मारने लगा. उसने मेरे पैरों को थोड़ा फैला दिया ताकि उसको मेरी टांगों के बीच में चूत पर चढ़ी जालीदार पैंटी दिख सके.

तभी उसकी चूत ने अपना फव्वारा छोड़ दिया और मेरे लन्ड को पूरा भिगाते हुए अंदर चूत में और चिकनाई बना दी, जिससे मेरा लौड़ा और तेजी से अंदर बाहर होने लगा।अब मेरा भी माल निकलने वाला था. [emailprotected]ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, कुछ गलती हुई हो, तो क्षमा चाहता हूँ. मेरे से कह रहा था कि उस दिन आप आवाज देकर होशियार नहीं करते तो इसकी ठुकाई हो जाती.

‘आह वीरूऊऊ मैं गईइ …’ कामुक आवाज लगाती हुई रेशमा की फुद्दी का रस मेरे चेहरे पर बहने लगा. मेरी तो समझ में नहीं आ रहा था कि जॉब मिलने की खुशी मनाऊं या उसकी शादी की बात फाइनल होने का गम?हम दोनों की हालत एक जैसी थी. हां लेकिन उसने ये जरूर बोला है कि पैसे लौटाने की कोई जल्दी नहीं है, अगर ना भी लौटा पाओ तो फिर भी किसी तरह वो संतोष कर लेगा.

फिर वह मेरे बाल मेरे कान से हटाकर मेरी गर्दन और मेरे कानों को चूमने लगा। मेरी भी आंखें एकाएक बंद होने लगीं।उसने मुझे अपनी बांहों में ले लिया और मेरी बांहें भी उसकी कमर में चली गयीं.

सेक्स कहानी आगे लिखने से पहले मैं आपको उन तीनों के फिगर बता देता हूँ. मैंने अपने हाथ को उसके सम्पूर्ण योनि प्रदेश पर रख दिया और आहिस्ता से दबाना शुरू किया तो वो सिहर सी उठी और मेरे बालों को कस कर पकड़ लिया.

जैसे ही उंगलियां योनि की दीवारों से टकरातीं रेनू चिहुंक उठती। फिर से चाय और रेनू का जिस्म, दोनों उफान पर थे।फिर मैंने अपने होंठों को उसकी योनि की पंखुड़ियों के ऊपर रखा. करीब 11 बजे मैं नहा कर सिर्फ एक टॉवल बांध कर ऊपर कपड़े सुखाने गयी तो देखा कि मेरे घर के तरफ दो चन्दा मांगने वाले बाबा थे. उससे पहले आप इस देसी भाभी Xxx कहानी के बारे में बतायें कि आपको ये स्टोरी कैसी लगी, उसके बारे में अपनी राय जरूर रखना.

क्या मस्त माल थी वो यार उफ्फ़… मजा आ रहा था उसके साथ!उसकी चूत को चूसते और चाटते हुए मैंने उंगली उसकी गांड में डाल दी जिससे वह उछल गई. हम दोनों ने बहुत देर तक बातें की, फिर मुझे नींद आने लगी … तो सो गया. मगर प्रियंका ने अपनी चुत उसके मुँह पर दबा रखी थी तो उसकी आवाज घुट कर रह गई.

बीएफ व्हिडिओ पंजाबी सोनी के पापा को 3-4 लड़के पसंद भी आ गए थे पर लड़के वालों को सोनी पसंद नहीं आयी. लेकिन मैंने अपने आपको रोक कर रखा था कि ऐसा किया तो नीता क्या सोचेगी.

मेरा दिल तोड़ने वाली

मैंने आईने में देखा तो मैं एकदम हेरोइन जैसी काफ़ी खूबसूरत और सेक्सी लग रही थी. जब मेरा लन्ड पूरा तन कर अब माल निकालने वाला था तो मैंने पक् … की आवाज के साथ उसकी चूत से लन्ड को निकाला और सारा माल उसकी गांड पर फैला दिया।इतनी घमासान और धुंआधार चुदाई के बाद मैं उसकी बगल में लेट गया और वो अपने हाथों से अपनी गांड पर फैले माल को छूते हुए बोली- मेरे सैयां … आज से मैं आपकी रंडी हुई. तभी पता नहीं मुझे अचानक से क्या हो गया, मैंने सीधे राकेश का लौड़ा पकड़ लिया और उसको लेटा कर उस पर जाकर बैठ गई.

वो हंस कर बोली- चलो फिर देखती हूँ, लेकिन आज बारिश बहुत हो रही है, तो मैं भीग भी सकती हूँ. दरअसल उस दिन के बाद से प्रीति के साथ उसकी अच्छी घनिष्ठता हो गयी थी और अपने पति से असंतुष्टि की बात उसने कविता को बता दी थी. हिंदी महिला सेक्सी वीडियोउसकी तरफ से पहल देख कर अब तो मेरा लंड बस की छत की तरफ सीधा खड़ा हो गया था.

अब मैंने उसके सामने सिगरेट पीना भी शुरू कर दिया क्योंकि मां घर में नहीं होती थी तो मैं पी लेता था.

अब उन्होंने मेरे पेटीकोट पर हमला कर दिया और एक झटके में उसे मेरी जिस्म से अलग कर दिया. मुझे लगा कि पहली बार झड़ने की वजह से वो समझ नहीं पा रही थी कि उसकी चुत को लंड की जरूरत है.

स्नेहा समझ गई कि ये नाटक कर रही है- ब्रा किसको गिफ्ट में दे दी … और ब्रा ही नहीं पैंटी भी अपने किसी यार के पास छोड़ कर आई हो क्या?उसने जोर से नेहा का निप्पल चुटकी में मसल दिया. वही लड़की मर्दों के लिए प्यासी रहती है और फिर मुझे चुदवाने का मन करता है. ऐेसी चुदाई मैंने आज तक नहीं करवाई थी और न ही इतनी उत्तेजना कभी महसूस हुई थी.

उसके ऊपर बहुत से लोगों ने डोरे डाले थे मगर किसी को तलाक के बाद उसने बदनामी के डर से आज तक किसी को भी खुद को छूने नहीं दिया था.

मैंने उनकी गर्दन पर किस लिया तो वो बहकने लगीं और मुझे दूर हटते हुए बोलीं- अभी जरा सब्र कर लो मेरे राजा … आज तो कोई नहीं आने वाला है. लेकिन उसके अगले दिन हमने लॉज में जाकर अपनी पांचवी सालगिरह अपने तरीके से मनाई. उसकी प्यासी आंखें बयान करती थीं कि वो शर्म की इस दहलीज से आगे बढ़ कर अपनी जवानी के रस का रसपान चखना चाहती थी।यह बात तब की है जब हमारे मौहल्ले में एक पड़ोसी के यहाँ शादी थी और सभी वहीं जाने वाले थे।हमारे मौहल्ले में एक लड़की थी ब्यूटी नाम की.

ब्लू फिल्म सेक्सी लड़की कीसर बता दूं क्या कहते थे ‘अबे नमकीन लौंडे! दौड़ … वरना साले तेरी यहीं गांड मार दूंगा।’असल में वह आधा सच बोल रहा था. क्या आपने अपनी टिकट बुक करवा ली है?मैंने उत्तर दिया कि अभी नहीं कराई है.

ससुर ने बहु को कैसे चोदा

उन्होंने साईं बाबा की फोटो के सामने मुझे विश करते हुए गले से लगाया, बड़े प्यार से मेरे गालों को सहलाया और होंठों के नीचे साइड में एक हल्का चुंबन कर दिया. इस घर्षण से हम दोनों इतने मदहोश हो गए थे कि हर दर्द हमें खुशियां दे रहा था. जब हम दोनों ने मां से कहा- यदि पापा तैयार हुए, तभी हम उन लोगों को रोक पाएंगे.

फिर रूबी मुझसे कहने लगी- क्या करें … यह प्यार व्यार मुझे तो समझ में ही नहीं आता. मैं भी तब तक उसे चोदता रहा … तब तक उसके भोसड़े का पानी नहीं निकल गया. आंटी के मुंह से आह्ह … आह्ह … करके चुदाई के आनंद की आवाजें निकलने लगीं.

”ममता ने गहरी सांस लेते हुए कहा‌ और मेरे एक गाल को जोरों से चूम लिया. Xxx हिन्दी सेक्स कहानी को अगले भाग में लिखूंगा, आप सब मुझे मेल करना न भूलें. नेहा ने आज हाफ जींस और स्लीवलेस कंधे पर डोरी वाला टॉप पहना था, जिसमें से उसकी 34 की जगह 36 की बड़ी बड़ी चूचियां झांक रही थीं.

मैं सोच रहा था कि मौका अच्छा है, भैया भी नहीं हैं तो क्यों न भाभी की चुदाई कर दी जाये?अब मैं मौके की तलाश करने लगा. जब सुबह हम दोनों उठे तो बेड के हाल देख कर हम दोनों की हालत ख़राब हो गई.

कुछ ही देर में भाभी की चूत में पच पच की आवाज होने लगी क्योंकि मेरे लंड से भी काफी कामरस निकल रहा था और भाभी की चूत भी लगातार पानी छोड़ रही थी.

मैं अन्दर गया, तो उन्होंने मुझे पेशेवर चोदू समझ कर कहा- तुम्हें दो महिलाओं को चोदना है. सेक्सी ब्लू पुरानीआपको ये फोन सेक्स चैट कहानी पसंद आई हो तो अपना फीडबैक दें और मुझे मेरे ईमेल पर बतायें. देसी सेक्सी वीडियो गांव की देहातीमेरी बीवी ने हंस कर सरदार से कहा- लो जी, आपके सर जी भी औंधे हो गए हैं. उन्होंने बाथरूम का दरवाजा पूरा बंद नहीं किया था, लगभग 6 इंच खुला था.

दूसरी बार वह आए तो मैंने अपने ब्लाउज़ को ऊपर उठाकर अपना दूध पिलाना शुरू कर दिया.

इतने में अनामिका बोली- जीजू … मुझे आपका लंड चूसना है … मेरा बड़ा मन है. अब मैंने उसकी कमर को पकड़ कर थाम लिया और एक झटके के साथ आंटी की चीख निकल गयी. चुतरस से भीगा हुआ चेहरा मैंने उसकी जांघों से छुड़वाया और सीधा उसको चूमने लगा.

बाद मैंने ध्यान से देखा तो पता चला कि उसकी पैंटी थोड़ी सी गीली हो गई थी. अगर आप इसे अपनी जीवन साथी बनाना चाहें, तो मैं इसके भाई से बात करती हूँ. इस पर सबीना हंस कर बोली- मेरी पैंटी क्यों फाड़ दी जान?मैंने कहा- अभी सिर्फ पैंटी फाड़ी है, कुछ देर बाद तुम्हारी चूत भी फाड़ूंगा.

संभोग करणे

रचना ने मेरी तरफ गुस्से से देखा और वो बाकी लोगों को प्यार से समझाने लगी- नहीं, राज यहां अकेला है. भैया ने कहा- हां अब तुमको बड़ी वाली लॉलीपॉप चूसनी है न, इसीलिए फिर नींद नहीं आ रही है. अब मैंने रचना को बेड पर लिटाया- रचना जान, मेरा सांप तेरे बिल में जाने वाला है.

हम दोनों के लिप किस करते हुए, वह मेरे बूब्स चूसते हुए, अपनी जीभ मेरी चूत में डालते हुए, पीछे से मेरी गांड में अपनी जीभ डालते हुए अलग-अलग स्टाइल में उसने फोटो ली।मैंने अपने मोबाइल का फ्रंट कैमरा ऑन करके उसमें वीडियो रिकॉर्डिंग चालू कर दी और कैमरा विजय को दे दिया … वह तुरंत पलंग के साइड में जाकर मोबाइल इस तरह से रख दिया कि हम दोनों की पूरी चुदाई उसमें रिकॉर्ड हो सके और तुरंत पलंग पर वापस आ गया.

डॉटर फादर सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं मां को उसके यार से चुदाई करती देखती थी। मैं भी वैसी ही होने लगी.

वो तेजी से उछलते हुए चुदने लगी और मैं भी उसकी गांड को थामकर नीचे से धक्के देने लगा. उसके भीगे बाल और ब्लाउज में उसकी चूचियों की बड़ी सी घाटी देखकर मेरे लंड में झटका लगा. सेक्सी वीडियो चाहिए दिखाइएरात को करीब ग्यारह बजे टेलीग्राम पर मैसेज आया- थैंक्यू अमित, पेमेंट दिखा दिया तुम्हारे अंकल को.

मॉम को हस्त मैथुन करते देख कर मैं भी गर्मा गया और अपने लंड की मुठ मारने लगा. मैं इतना तो जानती थी कि जहां औरतें ही सिर्फ हों, मर्दों को कोई शक नहीं होता. अब कॉलेज वापस घर जाने लगा, तो शायरा पहले की तरह ही आज भी मुझे बस स्टॉप पर खड़ी मिली … मगर मैं अब भी पैदल चलकर ही घर आ गया.

रचना ने मेरा खड़ा लंड देखा- बेबी, लगता है मेरे बाबूराव को आज नींद नहीं आ रही है. मेरी मॉम ने नाचना बंद कर दिया और वो उन तीनों के लंड पूरे मजे से चूसने लगीं.

वो बोली- आज रात यहीं रुकूंगी, फिर मैं कल सुबह की फ़्लाइट से दिल्ली चली जाऊंगी.

अब आप जाओ यहाँ से! मुझे घर के काम निपटाकर ऑफिस का काम भी करना है, मैं पहले से ही लेट हो चुकी हूँ. भाभी पूरी सिसकारियों के साथ मेरा लंड ले रही थी और पूरी स्पीड में भाभी को चोद रहा था. अब आगे बाप बेटी सेक्स कहानी:उस दिन शिवम ने मां को चोदा तो मां बोली- ये तुम दोनों ने क्या कर दिया है.

हिंदी सेक्सी मालिश दोस्तो, फिर इस घटना के तीन साल बाद की बात है कि मेरा वहां से ट्रांसफर हो गया. कमरा बहुत ही सुंदर था जिसमें एक बेड लगा हुआ था और एक टेबल चेयर लगी हुई थी.

चूंकि मैं सिंगल था और चूत का प्यासा था तो सबसे पहले मैंने चुत की जुगाड़ करने की सोची. मैंने देखा कि उसका लौड़ा निक्कर में ही अपने पूरे विकराल रूप को धारण कर रहा था … अब मैं खड़ी खड़ी उसके लौड़े को निहार रही थी. लकी भैया दिखने में बहुत ही स्मार्ट, फेयर कलर, हैंडसम थे, मतलब उनकी जितनी भी तारीफ की जाए कम है.

भैया ने बहन को चोदा

मेरे दूध भी काफी मस्त हैं, जो ब्रा पहन लेने के बाद मुझे और भी ज्यादा हसीन बना देते हैं. तीन तीन मर्दों से चुदने के बाद मेरी बीवी थक गई थी इसलिए कुछ देर के लिए चुदाई रोक दी गई. एक दिन पहले ही खाने पीने और आतिशबाजी, लाईट्स की तैयारियों को शुरू कर दिया गया.

मेरा लंड सटासट सटासट सटासट ललिता भाभी की चूत के हाइवे पर दौड़ने लगा. भाभी- धत्त पागल … बताओ न क्या देख रहे थे?मैंने भाभी से बोला- यार भाभी आपका ब्लाउज थोड़ा गीला हो गया है, वही देख रहा था.

मैं अंदर गई तो एक 45-50 साल का व्यक्ति सामने कुर्सी पर बैठा था।उसने मुझे बैठने के लिए कहा और मैं उसके सामने वाली कुर्सी पर बैठ गई।उसने मेरे सभी कागजात को अच्छी तरह से चेक किया और बोला कि फ्लैट तो आपको मिल जायेगा.

उस दिन एक अंकल जी तो मेरे पीछे ही पड़ गए और मुझे उन्हें बाथरूम में ले जाकर उनको अपना लंड दिखाना पड़ा तब जाकर वो समझ पाए थे कि मैं एक गांडू लौंडा हूँ. मैंने स्वयं पर नियंत्रण किया और उसकी योनि को फिर से मुखमैथुन का सुख दिया. परमजीत अपने हाथों से मेरी जांघों को रोकते हुए मेरे लंड को रोकने का प्रयास करने लगी.

वो बाइक पर मुझे ले जाता था और रास्ते में जानबूझकर तेज ब्रेक लगाता था. उनके घर गया तो पता चला कि उनका पति एक हफ़्ते के लिए किसी काम से बाहर गया है. अदिति मेरे होंठों को चूमती हुई बोली- हर्षद, अब डाल दो अपना लंड मेरी चूत में.

पूरे कमरे में हम दोनों की चुदाई की मदमस्त कर देने वाली आवाजों ने कब्जा कर रखा था.

बीएफ व्हिडिओ पंजाबी: इसके बाद ऐसा कुछ हुआ कि अगले बीस पच्चीस दिनों तक शायरा से बातचीत करना तो दूर, उससे मिलना भी नसीब नहीं हुआ. मेरी गांड की निकली हुई शेप और मेरी ब्रा में उछलती मेरी चूचियां किसी को भी मुझे घूरने पर मजबूर कर देती थीं.

तो ये थी मेरी पहली चुदाई की कहानी। आगे भी मेरी चुदाई की कहानियां बताती रहूंगी।ये क्रॉसड्रेसर सेक्स स्टोरी कैसी लगी और मेरी क्रॉसड्रेसिंग को लेकर आपके क्या खयाल हैं, ये बताने के लिए मुझे नीचे दी गयी ईमेल पर मैसेज करें. उसको कभी नहीं लगता कि मैं उससे उम्र में इतना बड़ा हूँ और कभी मुझे इसका अहसास नहीं होने देती. उसने मुझसे कहा- आपको कुछ दिक्कत तो नहीं है ना?मैंने बोला- नहीं, क्यों?वो लंड दाबती हुई बोली- आपका ये कुछ खड़ा हो गया है.

जब मैं वापस आया तो मेरा लंड मेरे अंडरवियर में तनकर एक तरफ निकला हुआ था और उसने वो भी देख लिया मगर मुझे जाहिर नहीं होने दिया कि वो भी देख रही है.

मेरी चुदाई इतनी तेज थी कि प्रियंका कुछ बोलने को हुई तो उसकी आवाज हकलाने से आने लगी. वो मुझे देखती रह गयी और शायद उसे पता चल गया था कि मैं ऐसा क्यों बोल रहा था. उसने भी सोनी को पापा से बात करने को बोला और खुद भी उसका साथ देने या बात शुरू करने को भी तैयार था.