बीएफ एचडी मूवी हिंदी में

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ वीडियो पाकिस्तानी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो लंबे: बीएफ एचडी मूवी हिंदी में, मौसी ने मुझे गले से लगा लिया और बोलीं- बेटा आज तूने मुझे जो मज़ा दिया है, उसके लिए मैं हर रात तड़पती हूँ.

ಹಿಂದಿ ಸೆಕ್ಸ್ ಪ್ಲೀಸ್

चूसते चूसते वो मेरे ऊपर आ गयी और मेरे हाथ अपने आप उसके गोल गोल सुडौल गांड को सहलाने लगे. बीएफ सेक्सी देखनाऔर जरूरत पड़े भी क्यों … जिसकी बहन इतनी खूबसूरत, मस्त, गदराया हुआ माल हो … वो बाहर मुँह क्यों मारे.

उधर पीहू ने आंखें बंद कर लीं और इधर मैंने जोरदार झटके के साथ पीहू की चूत में आधा लंड पेल दिया. बीएफ सेक्सी इंग्लिश वीडियो फिल्मअन्तर्वासना पर मैंने पहले भी सेक्स कहानी लिखी हैं, जिसमें एक सेक्स कहानीदोस्त की बहन मुझसे लव करती हैको पढ़कर बहुत से पाठकों ने जवाब दिया है.

अब मैंने सुमन को इशारा किया, तो उसने अपनी बहन सरोज की कुर्ती उतार दी.बीएफ एचडी मूवी हिंदी में: मामी की चूत में मेरा लंड था और रेखा आंटी की चूत मामी के मुँह पर लगी थी.

मैंने अपना लंड उनकी चूत में आगे पीछे किया और तेज तेज धक्के लगाने लगा.तब मम्मी और भाई के जाते ही पापा ने मुझसे हॉल की बड़ी वाली लाइट बन्द करने को बोला.

देसी चोदने वाला - बीएफ एचडी मूवी हिंदी में

उस दिन रविवार था और मैं मस्त होकर सो रहा था, क्योंकि आज ऑफिस की छुट्टी थी.अब मैंने ऊपर उठकर पहले तो उसके बोबों को एक बार फिर से मसला और उसकी ब्रा का हुक खोलकर उसे भी उसके बदन से अलग कर दिया.

मैंने देखा कि वो मेरे लिंग के पास आ गई है और उसका मुँह लिंग के पास लग गया था. बीएफ एचडी मूवी हिंदी में अब वो लंड पर उछल कर अपनी चूत से लंड को चोदने लगी।आहह आहह ओहहह की आवाज से जोश बढ़ने लगा।मैं उसकी चूचियां, होंठों को चूमने लगा वो लंड पर उछल उछल कर पूरा लौड़ा अन्दर तक ले रही थी।थोड़ी देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और चोदने लगा.

वो जोर जोर से मेरे दूध चूस रहे थे, इससे मुझे मीठा मीठा दर्द होने लगा.

बीएफ एचडी मूवी हिंदी में?

अगर आप सभी लोगों को पसंद आई और प्यार मिला, तो मैं अपने जीवन की बहुत सी घटनाओं को यहां लिखूंगा, जो कि बिल्कुल सच्चाई पर आधारित होंगी. अब अर्शिया की चुत और मेरे हाथ के बीच पेटीकोट और एक पतली सी चड्डी थी. उस दिन से मैंने पूरी फिल्म देखी थी और मैं तुम्हारे दमदार शॉट्स की दीवानी हो गई थी.

मैंने उसे बाथरूम की दीवार से सटा कर बिठाया और फिर से उसके मुँह को चोदने लगा. वो चुदी कैसे?दोस्तो, मैं एक बार फिर से अपनी मौसेरी बहन की चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. रंगोली ने मुझे देख लिया और पूछा- क्या हुआ भाई!मैंने कहा- कुछ नहीं, आटा लगा है तेरे चेहरे पर.

जब से जुम्मन की शादी हुई थी और उसकी बीवी की खूबसूरती की शोहरत सुनी थी, तब से उसके दीदार की तमन्ना थी. मौसी को किस करते हुए ही मैंने अपने दोनों हाथों को उनके मम्मों के ऊपर रख दिए और उनके कुर्ते के ऊपर से ही उनके बूब्स को दबाने लगा. अगर तुम्हारी ना है, तो अभी के अभी मैं चला जाऊंगा, पर प्लीज रश्मि मैं चाहता कि बस आज रात के लिए मेरी बन जाओ.

पहले तो उसने मुझे रोका, लेकिन जब मैं नहीं रुका तो थोड़ी देर बाद उसने मुझे रोकना बंद कर दिया. मैं 6 फीट लंबा हूँ और रेगुलर जिम जाने की वजह से दिखने में भी अच्छा हूँ और मेरा लंड भी सामान्य से थोड़ा अधिक मोटा है जो लड़कियों की चुत में खलबली मचा कर ही बाहर निकलता है.

‘ससश सश्स … आह अहह हम्म ओह्ह …’हमारी स्मूच और चुदाई का एक अलग ही नशा हम दोनों को और भी प्यासा बनाये जा रहा था.

जब मैंने भाभी की चुत में तेज तेज उंगली करना शुरू की तो शीना भाभी आंख बंद करके मचलने लगी.

मेरा लंड चूत की मखमली नाजुक पंखुड़ियों को चीर कर पूरा अन्दर तक घुस रहा था. सलमा भी चूतड़ उचका उचकाकर मजा ले रही थी- तुमने मुझे जन्नत दिखा दी विजय. मुंबई में किराया मंहगा होने के कारण मैं अपना फ्लैट अपने ऑफिस के दोस्त के साथ शेयर करता हूं.

फिर उसने मुझे देख कर आंख मारी और होंठों को गोल करके एक पुच्ची करने का इशारा किया. मैं बहुत ही खुश था, क्योंकि पहली गर्लफ्रेंड मॉम ने मुझे अपने दो बहनों का चुत का स्वाद दिलाया था. मेरा नाम निर्वाण है, पर प्यार से सब मुझे बिट्टू बुलाते हैं और मैं अभी हैदराबाद में रहता हूं.

सिस्टर Xxx सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी बहन की चुदाई की वीडियो देखी तो मैं भी उसे चोदना चाहता था.

मैंने उन्हें अपने गले लगा लिया लेकिन किसी और तरीके से ना कि मां के जैसे!मैं मां के बूब्स को अपने पेट पर महसूस कर पा रहा था जिससे मेरा लन्ड खड़ा हो गया. कुछ मिनट चूत चूसने के बाद मैंने उठकर लोअर उतारा और उनसे कहा कि अब आप लॉलीपॉप के मजे लो. इस सबसे उनकी साड़ी का पल्लू सामने से हट चुका था, ब्लाउज में ऊपर नीचे होती हुई उनकी चुचियां ही थीं.

मैं समझ गया कि उस तरफ भी मामला गर्म है, इसी समय हथौड़ा मार देना चाहिए. मैंने एक दो बार और भी उनके बदन को छुआ, उनकी गांड को कई बार दबाया भी, पर दीदी ने कोई रिएक्ट नहीं किया. वो मेरी दीदी को सोफे पर लेकर आ गया, जहां मैं भी उसके लंड से चुदी थी.

मगर उसी समय मैंने उसकी आंखों में एक अजीब सी चमक और होंठों पर मुस्कान देखी.

नाज को बकरी बना कर मैं उसके पीछे आया और उसकी गांड के चुन्नटों पर व्हिस्की टपकाकर पीने लगा. दूसरी ओर सोढ़ी, रोशन की गांड मारते मारते ही उसके बोबों को अपने पहाड़ी जैसे हाथों से कभी दबोचता, तो कभी एक एक करके दोनों बोबे चूसता.

बीएफ एचडी मूवी हिंदी में मोटी चाची ने खुद मुझे जाल में फंसाया और अपनी चूत चुदाई करवा के बच्चा पैदा किया. इस बार वो मुझसे चुदाई के लिए कहने लगे थे, तो मैंने मन बना लिया था कि अरविन्द जी से फिर से चुदने का मन बना कर ही जाना है.

बीएफ एचडी मूवी हिंदी में अंजुमन की मादक सिसकारियां निकल रही थीं- उम्म आहहह इस्स ऊई मां मर गई. मैं चूत की महक को धीरे धीरे सूंघते हुए झुक गया और चूत में नाक को पूरी तरह सटा दिया.

जब भी मैं उनके साथ जाती थी तो वो औरतें मेरे जेठ जी के बारे में बहुत बातें करती थी.

इंडियन सेक्स गर्ल्स

बहुत सारी बातें करने के बाद उसने पूछा- तुम्हारी गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- नहीं. वो जब भी हमारे घर आते, तो हमेशा अपनी हॉट बहू की जवानी पर अपनी नज़र बनाए रखते और मुझे ताड़ते रहते. मैं सोचता था कि सेक्स करना है रूपा भाभी से … अपने ख्यालों में उसको कई बार अपने नीचे लाया था.

निशा अब मेरे ऊपर आ गयी और उसने अपनी दोनों टांगों को खोलकर चूत मेरे मुँह के ऊपर कर ली. उसके पति ने उसकी समुन्दर जैसी रसीली जवानी की एक बूंद मात्र ही पी है. उसने मेरी चुत को एक बार फिर से चाटा और मेरी टांगों के बीचे में अपनी पोजीशन बना ली.

मुझमें इस समय इतनी हिम्मत नहीं थी कि आशीष का इतना मोटा लंड अपनी सील पैक गांड में ले सकूँ.

पिज़्ज़ा वाला आए या कोई सामान डिलीवर करने आए, वो नंगी सोफे पर बैठी रहती थी. मैं कुछ नहीं बोला, तो एक ही झटके में मेरी गांड के अन्दर अपना पूरा का पूरा लंड में पेल दिया. उन्होंने बोला- अगर तुम्हें कोई प्रॉब्लम हो, तो तुम मुझसे पूछ लिया करो.

मैंने फिर सोचा कि अनन्या भी यही सोचती है क्या?क्या उसका मन नहीं करता कभी करने का? क्या वो भी अपने हाथों से काम चलाती है?इसी उधेड़बुन में मैंने उसे कॉल किया. ये बात आप खुद सोचिये कि एक खुले ब्लाउज में से कोई रांड किस्म की औरत अपने दूध किसी मर्द के चेहरे के करीब लाकर दिखाएगी तो उस मर्द का लंड खड़ा क्यों नहीं होगा. उधर मैं डॉक्टर के साथ ये मजे कर रही थी और मेरा बेटा विराट कमरे के बाहर लगे पर्दे से ये डॉक्टर Xxx देख रहा था.

मैं अपने एक हाथ से मौसी की चुचियां दबा रहा था और मौसी अपने एक हाथ से मेरा लंड सहला रही थीं. मैं आफताब आपको अपनी गांड फाड़ सेक्स कहानी के पहले भागपड़ोसी की कामुक निगाह मेरी कमसिन गांड परमें सुना रहा था कि पड़ोसी जुनैद भाई ने मेरी गांड को किस तरह से ढीला करने की ट्रेनिंग शुरू कर दी थी.

कमरे में काफी रोशनी थी तो में अर्शिया के बोबे और भी ज्यादा चमक रहे थे. आज अपने सामने गुलनिहाल मैडम की एकदम दूध सी गोरी और बेदाग़ चुत देख कर दिमाग पागल हो गया था. फिर अचानक से उनके लंड में एक तेजी सी आ गई और कुछ समय बाद उन्होंने अपना मलाईदार रस मेरे मुँह में छोड़ दिया.

अब शबाना नाज की चूत चाट रही थी, मैं शबाना को चोद रहा था और सांडे के तेल में डूबी ऊँगली मुमताज की चूत में चलाते हुए उसकी चूची चूस रहा था.

रात के 12 बज चुके थे … मैंने वापस होटल जाना ठीक समझा और कैब बुक कर ली. माथे से नाक, नाक से होंठ, होंठ से गला, गले से दोनों निप्पल, फिर धीरे धीरे नाभि. उसने धीरे से पूछा कि ये तुम कैसे जानते हो?मैंने कहा- कभी दिमाग भी लगा लिया करो ज़ीनिया.

तभी उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और लंड फच्च फच्च फच्च फच्च का शोर करते हुए चुदाई करने लगा. दो साल हो गए थे हमारे रिलेशनशिप को … मगर हमारे बीच नजदीकियां नहीं थीं.

चूंकि अभी तक संजना की सील पैक थी इसलिए शायद चुत चुदाई का कार्यक्रम कहीं और होना तय था. झड़ जाने के बाद जेबा मुझसे रुकने को बोलीं लेकिन मैं उन्हें अनसुना करके चोदता रहा. मेरे चुपचाप रहने से उसकी हिम्मत बढ़ गई और उसने अपने हाथ मेरी कमर में डालकर मुझे उठा लिया.

गावरान सेक्स व्हिडीओ

इस साल उसने मेरे ही कॉलेज में एडमिशन ले लिया और अब वो मेरे साथ आने जाने लगी.

फिर एक पल बाद उनकी प्यारी सी आवाज में एक बार फिर मेरे कानों में मिठास बन कर घुल गई- आप हमारा एसी कल जरूर ठीक कर देना … गर्मी के दिन है … बहुत परेशानी है. कुछ दिन ट्यूशन देने के बाद मैंने एक दिन देखा कि आंटी कमरे से बाहर किसी काम से निकल गई हैं, तो मैं उनके कमरे के टॉयलेट में घुस गया. करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद मेरे लंड से मेरा कामरस निकलने वाला था.

अर्शिया की मम्मी ने बातों बातों में एक दिन बताया था कि अर्शिया नींद की बहुत पक्की है. फिर दीदी की शादी हुई, जिसमें आशीष भी आया और दीदी ने विदा होने से पहले शादी के जोड़े में कमरे में जाकर आशीष से ही चुदवा कर सुहागरात मना ली. प्यार की बीएफ[emailprotected]स्लीपिंग सिस्टर सेक्स कहानी का अगला भाग:मौसेरी बहन की चुदी हुई चुत की चुदाई- 2.

चुदाई देख कर ऐसा लग रहा था … जैसे आज मां की चूत का भोसड़ा बन जाएगा. ये कुछ मुझे उसकी चैट से मालूम हो गया था और बाकी सभी बाद में पता चला था.

”धत्त …”मैं मजाक नहीं कर रहा, टटोल कर देखना, मान जायेगी तो उसका ही फायदा है. उस दिन मैं उससे बात करने लगा और मजाक करने लगा लेकिन मम्मी के रहने के कारण मैं उसे देखने के अलावा उसके साथ कुछ कर नहीं सकता था. काफी देर तक उन्होंने मेरी गांड में उंगली की, फिर वो रुके और मुझे सीधा कर दिया.

कैसे हो मेरी कमसिन प्यासी नमकीन चूत वाली आंटी, भाभी, गर्ल्स और दोस्तो. माँ बेटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने दो बेटियों को उनकी माँ के साथ ग्रुप में एक साथ चोदा. उसके बाद मौसी ने अपनी चार सहेलियों की चुदाई भी मुझसे करवाई और एक दो बार तो हमने थ्री-सम सेक्स भी किया.

अभी सेक्स कहानी अधूरी है, इसमें मेरी दोनों बहनें मेरे आशिक के लंड से कैसे चुदीं, उसका वर्णन भी आएगा.

अब मैं आपको बताता हूं कि मेरी बहन स्वाति के साथ मेरा चुदाई का खेल कैसे चालू हुआ. मेरी लंबाई 5 फुट 10 इंच है और मेरे लंड का साइज 6-7 इंच होगा, मापा कभी नहीं है.

उसे देख कर मेरे मन में पहला ख्याल यही आया था कि इसे देख कर ऐसा लग रहा है कि जलेबी शीरा पी गई है. अब मैंने सुमन को इशारा किया, तो उसने अपनी बहन सरोज की कुर्ती उतार दी. जेठ जी के लंड को मैं हिलाने लगी और वो अपने मजे में सिसकारियाँ लेने लगे.

जैसा कि आपने मेरी पिछली कहानी में पढ़ा था कि हाल ही में मेरे पति का तबादला उत्तर प्रदेश के गोरखपुर ज़िले में हो गया था. जैसे ही मेरे शरीर में, दीदी के हाथों की जकड़न कमजोर हुई, मैंने दूसरा धक्का लगा दिया. मेरे सामने एक बला सी खूबसूरत युवती टू पीस में थी और मैं उसके दूध चूस चुका था.

बीएफ एचडी मूवी हिंदी में पर नींद मेरी आँखों से गायब थी।इस बीच मैंने करवट बदल ली और मेरी गांड शरद की तरफ थी. मम्मी ने पूछा कि वो शादी में क्यों नहीं जाना चाहती है?मामा ने जवाब दिया कि रितिका को शादी में जाने का मन नहीं है.

बॉय सेक्स व्हिडिओ

मैंने उनसे बात करना शुरू कर दिया, तो वो केवल हां या ना में ही जवाब दे रही थीं. मैंने उसके घाघरे को नीचे खिसकाने की कोशिश की तो उसने नाड़ा खोल दिया और घाघरा नीचे कर दिया. अपना एक पैर कमोड पर रखकर आंटी ने अपनी चूत खोल दी और मुझे अपनी ओर खींचकर मेरे लण्ड का सुपारा अपनी चूत पर रगड़ने लगीं.

वो बोलने लगीं- प्लीज अब और देर मत करो … जल्दी से चुत में लंड पेल दो. मैंने अपनी बांहें फैला दीं और रानी एक कटी हुई डाल की तरह मेरी बांहों में समा गई. बीएफ सैक्सीमैंने नील को अपनी बांहों में भर लिया और उसने भी अपने रसीले होंठों को मेरे होंठों पर रख दिया और मेरी गोदी में आकर बैठ गया.

उसने गांड उठा दी, तो मैंने उंगली छेद में डाल दी और अन्दर-बाहर करने लगा उसकी गांड का छेद ढीला था.

मैं बोला- अरे भाभीजी आप जब चाहो … तब दर्शन कर सकती हो और टेस्ट भी कर सकती हो. ब्यूटीफुल गर्ल्स सेक्स कहानी दो सहेलियों की चूत चुदाई की कहानी है जो मुझे नशे की हालत में सड़क पर मिली थी.

मैंने जाते ही मोटो पर चुम्मियों की बौछार कर दी और उनके गले पर अपने दांत गड़ाने लगा. उस सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मेरी बीवी श्रुति ने अपनी स्कूटी की सर्विस के बहाने सर्विस सेंटर के दो मर्दों से अपनी चुत और गांड चुदाई करवाने के बहाने अपने दोनों छेदों की मस्त सर्विस करवा ली थी. उसने गांड उठा दी, तो मैंने उंगली छेद में डाल दी और अन्दर-बाहर करने लगा उसकी गांड का छेद ढीला था.

इसलिए मैं कुछ नहीं बोली; अपने कपड़े उठा कर बाथरूम में चली गई और जल्दी ही अपने कपड़े पहन कर वहां से चली आई.

यहाँ तक कि मेरे पति भी उनसे पूछ कर ही कोई काम करते हैं और मैं भी उनसे पूछ कर ही घर से बाहर जाती हूँ. क्योंकि फ्लैट का आधा किराया दस हजार मेरा बच सकता था … अगर मैं ये सब अनदेखा कर दूं. वो आए दिन मेरे लिए खाना बना कर ले आती और मुझसे फोन पर कह देती कि आप खाना बनाने की जहमत मत उठाना.

डब्ल्यू डब्ल्यू देसी बीएफकभी उसके स्तन पर साबुन लगा कर दूध मसलता और दबाता, तो कभी उसकी चूत के ऊपर साबुन लगाता और अन्दर तक उंगली डाल कर चुत को मसलता. मैं दीदी के ऊपर आ गया और दीदी को हग करते हुए उनके गले को चूमने लगा.

सिस्टर की सेक्सी

अब मैंने उसके एक पैर को अपने कंधे पर रखा और लण्ड को पहले 3-4 मिनट तक चूत के ऊपर रगड़ता रहा. मैंने धीरे से उन्हें सोफे पर लिटाया और उनके ऊपर आकर उन्हें फिर से चूमने लगी. मैं- मेरी जान, इस काम में हम जितना गंदापन करेंगे, हमें उतना ही मजा आएगा.

मैं जैसे ही सेक्स पोजीशन चेंज करता, तो उसके चेहरे में खुशी आ जाती थी. ये बात तब शुरू हुई थी, जब मैं और मेरे दोस्त नए साल की पार्टी में शहर से कुछ दूर के एक होटल में गए थे. दोस्तो, मैरिड वूमन सेक्स सेक्स कहानी के अगले भाग में आपको मैंने अपनी मदमस्त जवानी के नशे को किस तरह से तोड़ा … खुल कर लिखूंगी.

और लड़कियों से अनुरोध है कि वो अपनी बुर में उंगली डाल कर गर्म होने को रेडी हो जाएं. मैंने झटकों को तेज़ कर दिया और उसकी गाँव की देसी चूत ने पानी छोड़ दिया. अब से दो साल पहले मेरे पति को उसके ऑफिस से उसके ट्रांसफर की खबर मिली.

ट्रेन की छुक छुक और उनकी सीसीईई की आवाज पूरे वातावरण में एक मधुर संगीत सी गूंजने लगी. चूंकि हम दोनों का पानी एक एक बार झड़ चुका था … तो मैं जल्दी निकलने वाला नहीं था.

करीब दस मिनट बाद उसकी चूत में सुर्खी आ गई और उसने कहा- मैं गई!उसके जाते ही मैंने भी उसकी चूत में अपना माल छोड़ दिया.

आज उसने थोड़ी ज्यादा पी ली और रघु को आई लव यू बोलने लगी और उसके गले लगने लगी. हिंदी में बीएफ एक्स एक्स एक्सउनके तने हुए चुचे और उठी हुई गांड देख कर मेरा लंड तो पैंट के अन्दर भारी हलचल करने लगा था. नई दुल्हन की सुहागरात दिखाओश्रुति बोली- उसको तो यही करना चाहिए … मेरी मस्त चुत का पहरेदार है वो … और तू मेरा कस्टमर. मैंने पहले ट्रेन से 4 घंटे सफर किया, फिर वहां से छोटी वाली बस पकड़ी जिसमें 2 लोगों की सीट पर भी 2 लोग ठीक से नहीं बैठ पा रहे थे.

वो बिना कुछ बोले बस अपना मुँह मेरी चुत में घुसाए रहा और मुझे मस्त करता रहा.

कुछ मिनट तक चुत चाटने के बाद रूबी आंटी फिर से चुदने को पागल हो गईं; वो चोदने के लिए कहने लगी थीं. मैं अभी पिछले 2 महीने से ही अन्तर्वासना की देसी सेक्स कहानी की दुनिया से जुड़ी हूँ. [emailprotected]मेरी माँ की चूत की कहानी का अगला भाग:मैंने अपनी माँ की चुदाई देखी- 2.

अपने दाएं हाथ की पूरी मध्यमा उंगली जिस पर अभी भी मेरा योनि रस रोड लाइट में चमक रहा था, उसने नशीले अंदाज में अपने मुख में लेकर चूस लिया. मैं सोच में पड़ गयी थी कि सिर्फ 6 महीने दूर रह कर, मैं इतनी अकेली महसूस करती थी … तो राजीव सर इतने साल से अकेले हैं … उन पर क्या बीतती होगी. लंड झड़ जाने के बाद भी वो मेरे लंड को नहीं छोड़ रही थी‘अब मुझे जाना होगा.

हिंदी संभोग कथा

मैं नीचे जाकर अपने रूम के नाम पर शराब की बोतल ले आया और सारी रात तक हम दोनों शराब पीते हुए मजा लेते रहे. करीब 5 मिनट किस करने के बाद मॉम ने मेरे सारे कपड़े उतारना शुरू कर दिया. योनि से बह रहा लसलसा रस उसकी उंगली पर मेरे पेटीकोट और साड़ी से छनकर पहुंच चुका था.

फिर भी लड़की तो लड़की ही होती है, जिसके एक स्पर्श से आपका सब कुछ खड़ा हो जाता है.

बस सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं भीड़ भरी बस में चढ़ी तो मेरे साथ क्या हुआ.

[emailprotected]सेक्सी औरत चुदाई कहानी का अगला भाग:जुम्मन की बीवी और बेटियाँ- 3. अब समारा की चूत खुल गई थी और आहह आहह हहह करके वो आसानी से लंड लेने लगी।धीरे धीरे उजाला बढ़ने लगा. ब्लू एडल्ट सेक्सीअब वो सिर्फ फड़फड़ा रहीं थी और मेरा लौड़ा पूरा अन्दर तक जाने लगा।उसकी आंखों से आंसू निकलने लगे.

इस अवस्था में और कामुकता तब बढ़ी, जब मैंने अपना बायां हाथ उसके कंधे के ऊपर से उसकी सीट पर रख दिया. आंटी अन्दर से सिसिया रही थीं- आह रॉकी प्लीज़ … और जोर से … यस बड़ी आग लगी है … आह जल्दी से अन्दर तक चाटो प्लीज़ अपनी आंटी की चुत चाट लो. कुछ देर मेरी गांड चाटने के बाद मैं मस्त हो गई, तो मैंने उसको रोका और किचन में जाकर एक तेल की शीशी और एक रस्सी लाकर उसको दे दी.

मैंने उसकी चुत चोदते हुए कहा- सरोज, तू रात में क्यों आई?वो बोली- राज, दो दिन से मेरी चूत तेरे लौड़े के लिए तड़प रही थी. मैंने उधर पहले से ही एक होटल में कमरा बुक किया हुआ था तो होटल में जाकर फ्रेश हुआ और अशी को अपने चंडीगढ़ आ जाने की बात बताई.

उसके पतले और लाल सुर्ख होंठों को मैंने अपने थूक से गीला करना शुरू कर दिया था.

बस वो मेरे रूम में मेरे बिस्तर के पास अपना बिस्तर लगा कर बाहर चली गईं. मैंने बिना रानी की इजाजत लिए नीचे बैठा और धीरे से उसके पेटीकोट को ऊपर करने लगा. असल में मेरी बीवी रश्मि एक बहुत सुंदर फिगर वाली और रंग से फिरंगियों जैसी कामुक बला है.

नंगी पिक्चर हिंदी में नंगी पिक्चर मेरे मामा ने जाने से पहले एक दिन मेरी मम्मी के पास फ़ोन किया और कहा- हम दोनों को शादी में दिल्ली जाना हैं, लेकिन रितिका साथ नहीं जाना चाहती है. जैसे जैसे हाथ आगे बढ़ाया, वैसे वैसे अर्शिया कीचुत की गर्मीका अहसास होने लगा था.

मैं हर तरीके से अपने आपको अपनी नई जीवन शैली के हिसाब से ढालने में व्यस्त हो गई थी. मेरे मुंह से ये बात सुनके कोमल थोड़ा मुस्कुराती हुई बोली- तुम भी कुछ कम नहीं लग रहे हो. फिर वो मेरी तरफ देखने लगीं तो मम्मी ने मुझसे कहा- बुआ के पैर तो छू!पर मेरा ध्यान तो बुआ के चूचों पर था.

रक्षा बंधन कब मनाया जाता है

”इतना कहकर मैंने मुमताज की चोली की डोरी खोल दी और बड़े संतरे के साइज की चूचियां दबोच लीं. ”शबाना, आपकी शादी को बीस साल हो गये, आज आप पहली बार बाजार में दिखी हैं. उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी लोवर में डाल दिया और अपनी चूत पर रख दिया.

कुछ देर के बाद जेठ जी ने चुदाई का तरीका बदल दिया, वे मुझे पीछे से चोदने लगे. मैंने कपड़े निकालते समय देखा कि उसके ब्रा की साइज बहुत बड़ी थी और चूचे तो मानो ऐसे थिरक रहे थे कि बस चूसने से ही कामुकता शांत हो सकती थी.

उसके बाद मैंने पूछा- बस अब ठीक है!तो वो बोला- इतने से काम नहीं बनने वाला है.

फोन अपनी कमीज़ की जेब में रख कर मेरे कान में धीरे से फुसफुसाया- मेरा स्टॉपेज 5-7 मिनट में आने वाला है. शायद मेरे इस प्रतिक्रियाहीन रवैये को उसने हां समझा और एक जोरदार रगड़ से उसने मेरे कंधे पर अपना पूरा लिंग दबाकर मुझे महसूस करा दिया. मेरी ज्वाइनिंग के इन नौ दिनों में हेड ऑफिस के बहुत सारे लोगों से फ़ोन पर बात होती रहती थी.

उसने मेरे लौड़े को अपने हाथों में लेकर हिलाना शुरू कर दिया और बोली- मैं 5 मिनट से देख रही थी. उस स्वाद से मैं समझ चुका था कि निशा ने अपनी चूत का पानी भी छोड़ा था और इतनी बार छोड़ा कि उसकी जांघों तक पहुंच चुका था. करीब 3 मिनट के बाद मुझे महसूस हुआ कि उसके मुंह से दर्द की सिसकारियां कम होने लगी थीं.

चूंकि मैं बहुत गहरी नींद में सोता हूँ तो मुझे होश ही नहीं रहता है कि किस ने मेरे साथ क्या किया.

बीएफ एचडी मूवी हिंदी में: अभी तक मेरा मेरी बहन को चोदने का कोई विचार नहीं था और ना ही उसका मेरे साथ कुछ ऐसा वैसा करने का मन था. मैंने पेशाब करके लंड उसके मुँह की तरफ कर दिया और मुठ मारने जैसे आगे पीछे करके लंड हिलाने लगा.

इस बार मुझे दर्द कुछ कम था, तो मैं भी अपनी गांड चुदाई में उसका साथ देने लगी. जाट पहली बार गांड चोदते हैं, तो मैंने भी उसकी गांड में लंड फेरना शुरू कर दिया. दीदी की चूत जैसे ही लंड पर पड़ी, हम दोनों आंख बंद करके परम आनन्द की प्राप्ति में खो गए थे.

करीब बीस मिनट तक ताबड़तोड़ चुदाई के बाद उसने अपने लंड का पानी मेरी चूत में टपका दिया.

मम्मी से बात करने के बाद मैं एकदम बेफिक्र हो गयी क्योंकि वो सब सुबह से पहले आने वाले नहीं थे. औरतों की सबसे बड़ी कमजोरी होती है कि कोई मर्द उनकी गर्दन और उनकी नाभि पर किस करने लगे तो वो सेक्स के लिए मचल उठती हैं. [emailprotected]पड़ोसन Xxx कहानी का अगला भाग:किरायेदार का लंड ले लिया भाभी ने- 2.