भोजपुरी में बीएफ हिंदी में

छवि स्रोत,बीएफ हिंदी मूवी सॉन्ग

तस्वीर का शीर्षक ,

हीटर मशीन: भोजपुरी में बीएफ हिंदी में, इसी के साथ मैंने रेशमा चाची को बगल में बुला लिया और उनकी चुत में उंगली डालने लगा.

बिहार के ब्लू पिक्चर सेक्सी

मैं धीरे से दबे पांव रोशनदान तक चढ़ कर पहुंचा और मैंने देखा कि मेरी बहन दादाजी के पलंग पर घोड़ी बनी थी और दादा जी अनाड़ी की तरह पतला सा मुरझाया हुआ सा लंड आगे पीछे कर रहे थे. मां बेटा बीएफ हिंदीमैं उसकी प्यारी सी मुनिया को अपने हरामी शैतान से अच्छे से पेलना चाहता था.

मैं अब खुद पर काबू नहीं रख पा रही थी, मैंने कहा- देव, अब अपनी चाची को चोद कर उसे औरत होने का सुख दो!लेकिन उसे कोई जल्दी नहीं थी, उसे तो मेरे खूबसूरत जवान जिस्म से खेलने में पूरा आनन्द आ रहा था और वो वासना से मुझे तड़पती देखकर मज़ा ले रहा था।अब मेरी चूत चटाई की बारी थी. ससुर पतोह सेक्सी वीडियोये कम्मो तो लम्बी रेस की घोड़ी निकली; उसे चोदते हुए पंद्रह मिनट से ऊपर ही हो चुके थे पर वो झड़ने का नाम ही नहीं ले रही थी; मेरा लंड तो टनाटन खड़ा था पर मुझे थकान होने लगी थी.

अब तो मुझे कुछ याद भी नहीं था लेकिन उसकी हालत को देख कर थोड़ा अंदाजा तो हो गया था मुझे.भोजपुरी में बीएफ हिंदी में: कुछ देर तक मैंने तेजी से ऋतु की चूत को चाटा और फिर जब मैंने जीभ बाहर निकाली तो एक पुलिस वाले ने अपना आठ इंच का लौड़ा मेरी बीवी की चूत में एकदम से घुसा दिया.

फिर उसने मेरी चूत में जीभ को डाल दिया और मेरी चूत में जीभ से चोदने लगा.संतोष ने अपना हाथ मैडम के मुँह पर रखा और उनकी चीख को बंद करते हुए लंड को अन्दर बाहर करना चालू कर दिया.

लड़की ने उतारे कपड़े - भोजपुरी में बीएफ हिंदी में

कई दिनों से मेरे ढीले लंड से उसकी चूत खुली नहीं थी इसलिए दर्द से मेरी बीवी ने होंठ चबा लिए.मैंने उसके दोनों हिप्स को अच्छे से सहलाया और उन पर खूब चपत लगाईं फिर बीच की दरार खोल कर देखा.

मैंने उससे पूछा कि हां बताओ क्या बात है?वो बोली- रात काफी हो गई है, इधर ही रुक जाओ, सुबह चले जाना. भोजपुरी में बीएफ हिंदी में आ जाओ न मेरे पास!यह कहते हुए उसने अपना लंड अपने हाथ में पकड़ लिया और उसकी मुठ मारने लगा.

उसने अपने लंड को हिला कर मुझे दिखाया और बोला- नेहा, मैं बहुत दिनों से तुम्हारी चूत को चोदने का सपना देख रहा था.

भोजपुरी में बीएफ हिंदी में?

अभी तीन चार साल पहले ही तो कहीं और शिफ्ट हुए हैं वे!”उनकी बीवी बड़ी चुदक्कड़ थी. फिर मैंने एक दिन आराम आराम से नकली लंड तेल लगा कर अपनी गांड में घुसा लिया. मैंने चाट चाट कर उसकी चूत को साफ किया और उसके हाथों को आज़ाद कर दिया।उसकी आंखें अब भी बंद थी और फिर मैंने उसके स्तन के एक अंगूर अपने दाँत से काटा और उसको खिलाने के लिए बढ़ा.

थोड़ी देर में वह अपनी पूरी चुत मेरे चेहरे पर ऊपर से नीचे तक करने लगीं और जोर से ढेर सारा पानी छोड़ दिया. परवीन आंटी मेरा बदन चूमने लगीं और मेरा हाथ पकड़ कर अपनी चुत में लगा दिया. अब पिंकी ने गजन से कहा कि वो उसकी गांड को चोदे तो गजन ने पिंकी को घोड़ी बना कर उसकी गांड में अपना लंड पेल दिया.

मैंने उसकी गांड के नीचे तकिया लगाया और उसकी चूत पर अपने लंड को सैट किया. औरत को जितना लंड मजा देता है, उससे कहीं ज़्यादा मज़ा आपकी जीभ देता है. और लन्ड झट से उसकी चूत में घुसा कर धक्के मार-मार कर उसे चोदना शुरू कर दिया।थोड़ी ही देर की चुदाई में उसके चेहरे के आव-भाव और हाथो पैरों की हरकतें बदल गयीं। वो मुझे फिर से कस के पकड़ने लगी और मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं। मैं समझ गया कि इसे बहुत मजा आ रहा है अब और मैं तेज़ी से उसे चोदने लगा.

धीरे धीरे मुझे पता नहीं क्यों मोहन भैया से बात करने में अच्छा लगने लगा था. और मुझे बोले- तुम जितनी सुन्दर हो, उतना ही अच्छा खाना बनाती हो।अपनी तारीफ सुन कर मुझे अच्छा लग रहा था।उन दोनों को ही शराब चढ़ चुकी थी.

फिर हम दोनों ने साथ में खाना खाया।इसके आगे क्या हुआ, यह मैं अपनी जिस्म की आग की हिंदी सेक्स कहानी के अगले भाग में बताऊँगी।[emailprotected].

इसलिए मैंने जीजाजी और उनके ससुराल के जितने भी थोड़े बहुत लोगों को जानता था उनके बारे में पूछने लगा.

नीरू दीदी बहुत किस्मत वाली है जो जब चाहे इसे अपनी चुत और मुंह में ले लेती है. वो मुझे यूं गुमसुम देख कर मुस्कुरा कर बोली- क्या सोच रहे हो?मैंने कहा- यार मुझे लगता है, मैंने तुमको कहीं देखा है. दीदी ने मुझे चौथे राउंड में मुझे बताया कि मैंने तेरे जीजू के अलावा अब तक तीन लंड लिए हैं, जिसमें मुझे तुझसे चुदने में बहुत मजा आया है.

शालिनी जी बहुत ही ज्यादा गोरी थी, बदन भरा भरा था मगर मोटी नहीं कह सकते थे उसको, पेट भी समतल था. मेरे मुँह से बस ‘अहह अह्ह्हम उहह अह्ह्ह अह्ह्ह और चूसो मादरचोदो …’ निकल रहा था. वो नहीं मानी और थोड़ी देर बाद फ़ोन काट दिया उसने।अगले दिन मैंने फिर से कॉल किया और मिलने के बारे में पूछा तो वो मना करने लगी.

उसी महीने मेरी बुआजी खूब बीमार पड़ गईं और मुझे सनी ने भाग दौड़ के लिए हनुमानगढ़ बुला लिया.

वह टोन छोड़ते हुए बोली- हाँ, आपको तो रात में ही फुर्सत मिलती होगी, दिन भर तो ऑफिस में रहते होंगे।मैं एक सोफे पर बैठा और वह मेरे ठीक सामने वाले सोफे पर। उसके बालों से शैम्पू की खुशबू आ रही थी … वो अभी-अभी नहाकर लाल और उजले रंग के मिले हुए डिजाइन की साड़ी में थी. शादी से पहले चूत चोदने की चाहत किसको नहीं होती, परन्तु नसीब किसी को ही होती है. वो बहुत अच्छे तरीके से चूचे चूसता था और मैं बहुत खुश थी और मज़ा ले रही थी क्यूंकि वह हल्का हल्का मेरे बूब्स को काट भी रहा था.

इतना मजा मुझे चुदाई करने में आज तक किसी लड़की के साथ नहीं आया था जितना इसके साथ आ रहा था। वो भी मस्ती से भर गई थी और थोड़ी ही देर में उसे जैसे मर्ज़ी होती थी वैसे धक्के मारते हुए अपनी चूत में लंड को मस्ती से लेने लगती थी. फिर भाभी बड़ी अदा से उठीं और मुझे जीभ देखते हुए मेरे लंड का रस मुझे दिखाने लगीं. मैंने अपने मन में ठान लिया था कि अमायरा को कैसे भी करके चोदना ही है.

अगर तुम्हारी पढ़ाई पूरी हो चुकी हो, तो मैंने तुम्हारे लिए एक जॉब अपने यहां पर रिज़र्व की हुई है.

मैंने अपने मम्मों को सहलाते हुए बोला- ये इतने बड़े हो गए हैं न … इसलिए अपने आप दिख जाते हैं. धीरज ने अपनी आदत के हिसाब से जब उसकी फ्रॉक को नीचे से उठाया, तो फ्रॉक नायरा के चिकने चूतड़ों से उठती हुई कमर तक आ गयी.

भोजपुरी में बीएफ हिंदी में रशीद ने कच्छा पहना और इसके बाद मैंने दिया बुझा दिया और चुपचाप दबे पाँव अपने कमरे में आकर चारपाई पर लेट गयी. उन्होंने मुझे बेड पर चित लिटा दिया और मुझे ऊपर से नीचे तक किस किया.

भोजपुरी में बीएफ हिंदी में कुछ देर बाद माहौल एकदम दोस्ताना हो गया तो मैंने पूछा- भाबी आपकी शादी को एक साल हो गया, आपने अभी तक बच्चा प्लान नहीं किया … इसका क्या कारण है. मैंने अपने दोनों हाथों से उसके चूतड़ अलग किए, फिर एक हाथ से थूक लिपटा लंड उसकी गांड पर टिकाया, थोड़ा अंदर डाला, फिर दोनों हाथों से उसके चूतड़ मुट्ठी से पकड़ कर अलग किए और लंड पेला.

फिर वो मुझे किस करते हुए मेरी कमर पर बैठ गयी … पेट से नीचे चुत के ठीक ऊपर.

बीएफ हिंदी वाली वीडियो

उसने अपना लंड रीमा की गांड में पेल दिया और उसकी गांड मारते हुए वो मेरे पास तक आ गया. अब मैं पूजा के कान में बोलते हुए उसे चोद रहा था औऱ वो भी मस्ती में चुद रही थी. ” महेश ने अपनी बहू को रास्ता दिखाया।पिता जी, मगर यहाँ पर तो समीर के सिवा कोई और है ही नहीं!” नीलम ने सोचते हुए कहा।बेटी तुम बुहत पगली हो? मैं तुम्हारे पिता समान हूँ, मगर मैं तुम्हारा साथ दे सकता हूं.

रचना ने लंड चूसने से साफ मना कर दिया कि मैं इसे मुँह में नहीं लूंगी. लेकिन किस जगह?सोनिया- तुम्हें कोरमंगला मालूम है?रोहन- बिल्कुल … मेरे घर से करीब ही है. विनय- नेहा ये क्या कर रही हो?अचानक से विनय की आवाज सुनकर मैं पूरी तरह से चौंक उठी और पीछे को मुड़कर मैंने विनय को देखा.

अभी भी मुकेश की परमिशन चाहिए या हम सेक्स करें?भाभी हँसकर बोली- मुझे आपके इरादे पता चल गए थे इसलिए आपको इनके साथ में बेड सोने बोला.

न ही राज मेरे करीब आने की कोशिश करता था और न मैं ही उसके साथ कुछ करने के ख्याल मन में लाती थी. कम्मो ने यही एक्शन बार बार दुहराया और फिर तेजी से मुझे चोदने लगी और फिर थोड़ी ही देर में किसी कामोनमत्त नवयौवना की भांति लज्जा का परित्याग कर कामुक आहें कराहें किलकारियां निकालती हुई मुझे चोदने लगी. ” महेश ने बेड से उठकर अपनी धोती को पहनते हुए कहा।ठीक है पिता जी!” नीलम ने सिर्फ इतना कहा।महेश धोती पहनने के बाद वहां से चला गया.

मैंने कहा- इसी लिए तो तुम्हारी भाभी ने तुमसे कहा था कि दर्द को बर्दाश्त करना, ज्यादा चीखना चिल्लाना मत. मैं अभी भी थोड़ा गिल्ट फील कर रहा था, तो अभी उसे चोदने का मन नहीं हुआ था. मेरी सहेलियों के यहां जब मैं रात को देर तक रुकती थी तो वो लोग पार्टी करते हुए बीयर पीती थीं.

मगर उसने यह सब अपनी पहचान छिपा कर किया इसलिए मैं उससे थोड़ी नाराज थी. मैंने अपनी एक टांग को बॉस के कंधे पर रख दिया, जिससे बॉस मेरी चूत में मुँह डाल दिया था और वे अपनी जीभ से मेरी चूत चाट रहे थे.

ये कुछ ऐसा था जो उसने पूरी ज़िन्दगी में पहले कभी नहीं महसूस नहीं किया था. मैं मनोज को किस करके जाने लगी तो मैंने उससे कहा- मैं तुम्हारे पास ज्यादा समय नहीं रुक सकती हूं. तुम तो पंदरह मिनट से गांड में लंड पेले हो, न झटके दे रहे न झड़ रहे हो।मैंने कहा- आज मैं बिना करे नहीं उठूंगा.

थोड़ी देर बाद मौसी ने सिसकारना शुरू कर दिया और मैं और भी ज़्यादा उत्तेजित हो गया.

इसके बाद एक बार फिर मुझे सोनी की फुद्दी मारने का मौका उस वक्त मिला, जब उसने मेरे साथ ब्रेकअप किया. और वह दरवाजा खोल के ऐसी सेक्सी पोजीशन में खड़ी रही थी जिसे देख कर मेरा लण्ड तुरंत खड़ा हो गया, मेरा दिल किया कि मैं संजना को वहीं पटक कर चोद दूँ. मैं- अब क्या चेंज करना है, ये कपड़े सही तो पहने है, अच्छी तो लग रही हो.

मैंने उससे कहा- रशीद, मैं तुम्हारे अब्बू जान को तुम्हारे बारे में सब कुछ बता दूँगी. मैं जब भी उसे चोदता हूँ, हर बार ये ही लगता है, जैसे उसे पहली बार चोद रहा हूँ.

मैं खुद चुदाई से पूरी मदहोश हो गई थी और मेरे मुँह से ‘अहह अहह उह्ह्ह अह्ह्ह म्मा …’ निकल रहा था. और एक बात आपसे और कहना चाहती हूं कि मेरी फ्रेंड को 2 लोगों के साथ चुदना है. मैं स्मृति के साथ इतना उत्तेजित हो जाता हूँ कि मैं इस चूमा चाटी से ही झड़ जाता हूँ, आज भी मैं झड़ चुका था और वो भी एक बार झड़ चुकी थी.

सी बीएफ फुल एचडी में

ज़रीना के मुंह से आह्ह … श्सस्स … अम्म … आह्ह की आवाजें निकल रही थीं.

मैं तो अक्सर ऐसे ही मसाज सेंटर पर जाता था जहां पर मसाज हैपी एंडिंग वाली होती है. मैं उठ कर हाथ लगाने ही जा रहा था कि भाभीजी ने इशारे से उठने से मना कर दिया. फिर इसे मुझ पर कुछ तरस आया तो वो धीमा हुआ, अब वो धीरे धीरे अपना लंड मेरी चूत में आगे पीछे करने लगा और अब मुझे ही थोड़ा अच्छा लगाने लगा था।देव धीरे धीरे मेरी चूत चोद रहा था, मुझे चूम रहा था.

कुछ देर बाद वो लड़का वापस खड़ा हुआ और वो मॉम के चूतड़ों में थप्पड़ मारने लगा … जिससे मेरी मॉम के चूतड़ लाल गुलाबी हो गए. बॉस ने मुझे गोद से उतार दिया और मेरा गाऊन निकाल दिया, जिससे मैं उनके सामने बिल्कुल नंगी हो गयी. कॉलेज वाली लड़की की सेक्सी पिक्चरमेरे बूब्स 36 इंच के हैं, मेरी कमर 34 और मेरी गांड 38 इंच के लगभग की होगी.

वो नागिन की तरह लहराने लगी- आह्ह … मत कर यार … प्लीज …मैंने उसकी चूत में उंगली करना जारी रखा और पांच मिनट में ही उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. मैंने पहले से ही अपने अंडरवियर में दो हजार रुपये दबा कर रखे हुए थे.

उस शाम को घर वाले कहीं बाहर गये हुए थे और हम दोनों घर में अकेले थे. आलिया मुझको मनाने के लिए गुदगुदी करने लगी लेकिन मैं आलिया को रोक कर खड़ा हो गया और अपने कमरे में चला गया. संतोष ने उनको आगे भी चोदने का सोचा, तो मैडम ने उसे मेरी तरफ आने को इशारा कर दिया.

अबकी बार वो मेरे ऊपर लेटी हुई थी और अपनी जांघें उन्होंने मेरी जांघों पर चढ़ा दी थीं. कभी अपने निप्पलों मेरे लंड के सुपारे पर दबाती, कभी उसे किस कर लेती. एक घंटे बाद हम दोनों ने दुबारा सेक्स किया और इस बार भाभी को पहले से ज्यादा मज़ा आया.

परवीन- यही तो चिंता हो रही है … तू यहीं पे नज़दीक वाले कॉलेज में एडमिशन ले ले और रोज आने जाने का तय कर ले.

इतना मोटा और लम्बा लंड मैंने अपनी 42 साल की जिंदगी में कभी नहीं देखा था. मैंने उसके कमरे में झांका तो वो शीशे के सामने अपनी जीन्स नीचे सरका के अपने चूतड़ और गांड देख रही थी.

उसने मेरे दोनों पैरों को घुटने से मोड़ कर ऊपर को कर दिया और मेरी गांड में अपनी उंगली चलाने लगी. वो मुझे डांटते हुए मेरे जिस्म को ऐसे देखते थे, जैसे उन्होंने मुझे खरीद लिया हो. हां, कम्मो से व्हाट्सएप्प और फेसबुक पर आज भी खूब बातें होतीं हैं; लंड चूत चुदाई सब तरह की.

इसका मतलब तुम मुझे अच्छे दोस्त नहीं मानते और भरोसा भी नहीं करते हो. पिंकी बहुत खुश थी … वो अब सीधी खड़ी हो गयी और राहुल को आश्चर्यचकित करते हुए अंदर नहीं गयी. तेरी चूत को अब से पहले क्यों नहीं पेला मैंने!उसकी आवाज मेरे कानों में आ रही थी.

भोजपुरी में बीएफ हिंदी में मैं उस पल को कोस रहा था जब उनके कहने पर मैं वहां बैठ कर उनसे बात करने लगा था. मैं उठ कर बैठा हुआ था और बिस्तर के सिरहाने से टिक कर कमर के बल बैठा हुआ था.

छोटी सी लड़की बीएफ

हाथ निकलने के बाद मैंने तुरंत अपना लंड बाहर निकाला जो बहुत गर्म हो गया था. पर मैं भी कहां मानने वाला था, मुझे तो एक अदद दूसरा पार्टनर चाहिए ही था. ”मम्मी मुस्कुराई- सिर्फ चूत पे नहीं … बात समझ में आई?मैंने प्यार से मम्मी के गाल पे हाथ फेरे- मैंने सारी बातें सुन ली थीं, तैयार होती हूँ!मैंने कपड़े उतारे, नहाई, फिर बदन पे सेंट लगाया, ब्रा पैंटी, लहंगा, चोली और फिर ओढ़नी ले ली। ढका हुआ सिर, और ओढ़नी में छुपे हुए मेरी छाती के उभार।मम्मी आयी- मस्त लग रही है तू, चौधरी साहब खुश हो जाएंगे। मैं भी तैयार हो जाती हूँ.

उनकी पत्नी मतलब मेरी जेठानी की उम्र 50 साल है।मेरे जेठ जी के बेटे का नाम देव हैं। 22 साल का जवान और कसरती बदन का मालिक है. लंड मुँह में होने की वजह से मैं चीख भी न सकी और विकी ने मेरी चूत में ज़िंदगी का मेरा दूसरा लंड जड़ तक घुसा दिया. बीएफ हिंदी बीएफ वीडियोसोनिया ने अचानक मेरी गांड पर उंगली दबाते हुए कहा- तेरी यह गांड इस हब्शी को झेल लेती थी?मैं कुछ नहीं बोला, अशोक हंस पड़ा.

उनकी यह बात सुन कर, मैंने फिर से उन्हें चूमना शुरू कर दिया और भाभी जी की चूचियों को दबा दिया.

रशीद ने कहा- अम्मी मैं रशीद … अन्दर चलो, सब बताता हूँ तुम्हें कि मैं कौन हूँ? तुम चुप रहना … वर्ना ठीक नहीं होगा. मेरे होंठों को अपने हाथ से पकड़ा और अपने होंठों को मेरे होंठों से जोड़ दिया.

पता नहीं कितनी ही बार उसने इस रात में मोटे लौड़ों को अपने अंदर समाया था. पर इस बार मुझे अलग सी अनुभूति हुई, ऐसा लगा कि वो अचानक से थोड़ी सी स्थूल सी हो गयी है और इस बार खुशबू भी कुछ और ही आ रही थी. मौसी बोलीं- वो कैसे?मैंने उठ कर सिंदूर की डिब्बी लाकर उनकी माँग में सिंदूर भर दिया.

मैंने अपनी गांड को हिलाकर उसके लंड को अच्छी तरह से अपनी चूत में आने दिया.

उसके शहर में रहने के कारण मेरी सोनी से फोन पर काफी देर देर तक बातें होने लगीं. मेरी मौसी की लड़की शादीशुदा थी और हम दोनों ही अपनी तीसरी मौसी के घर पर आए हुए थे. वो मुझे अब मेरी कंपनी की लड़कियों के बारे में पूछती थी और मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में भी पूछती थी.

सेक्सी वीडियो दवेरोनिका हेक्टर का लंड चूसने लगी और मैं वेरोनिका की चूत चाट रहा था. उनको देखने के बाद मैं अपने घर आ गया और कमरे में नंगा होकर पूरी तसल्ली से भाबी के नाम से 2 बार मुठ मारी … तब मेरे लंड को कुछ शान्ति मिली.

हिंदी बीएफ खेत की

अब मुझे सब तरह के कपड़े सूट करते हैं और लड़के मेरे फिगर को देखते ही रह जाते हैं. क्यूँकि उन सब पे काफी निजी जानकारी होती है जैसे मेरे बारे में, परिवार, दोस्तो के बारे में इत्यादि इत्यादि।अगर ये सारी जानकारी किसी गलत आदमी के हाथ लग जाए तो वो मुझे ब्लैकमेल भी कर सकता है. दो तीन दिन निकल जाने के बाद एक दिन वो सवेरे आयी, तो उसने सलवार कमीज पहनी थी.

कुछ देर तो‌ नेहा ये सहती रही, फिर शायद उससे ये बर्दाश्त नहीं हुआ इसलिए मुझे रोकने के‌ लिए उसने अब अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ लिया. इस दौरान उनका लंड मेरी चूत की जड़ में अपनी फुंफकार मारता था, जिससे मेरी चूत के अन्दर एक मस्त हलचल सी मचती थी. मैंने उसको मना कर दिया लेकिन वो बेड पर मेरे ऊपर आ गया और अपने लंड को मेरी होंठों पर रगड़ने लगा.

मैं उनके पैरों के बीच आकर उनकी चूत पर अपने मोटे लंड के सुपाड़े को रगड़ा, तो वो सिहर उठीं. वो मेरे सामने बेमन से चुदने का नाटक भर किया करती थी लेकिन उसको गैर मर्द से चूत चुदाई में बहुत मजा आता था. जब वो चुदवा रही होतीं हैं, तब उन्हें अपनी चूत के सिवा और कुछ नज़र भी नहीं आता.

अंकित के लंड के आगे का हिस्सा शबनम की चूत के इतना ज्यादा नज़दीक था कि वो अब उसकी उँगलियों की पकड़ में नहीं आ रहा था. इस बार मैंने उसकी तकलीफ पर ध्यान नहीं दिया और लंड को अन्दर बाहर करने लगा.

मुझे शेफाली ने नंगा कर दिया और मेरे लंड को मेरी दीदी के सामने ही चूसने लगी.

उनकी बात सुनकर मैंने झट से सब कुछ समेट लिया और तैयार होकर मेडिकल शॉप के लिए निकल गया. नवीन सेक्सी बीपी व्हिडिओपर अपने घर वालों के लिए हमें उनसे रजामंदी लेकर शादी करनी होगी … मेरे घर वाले तो मेरी पसंद से मेरी शादी कर देंगे गर तुम किसी कारण से मुझसे समाज के आगे शादी नहीं कर सकते तो भी कोई बात नहीं, मैं तुम्हारी रखैल बन कर भी रह लूंगी. एक्स एक्स एक्स मूवी मूवीमनोज ने एक दो बार कहा भी कि जब सुनील तेरी चूत चाटेगा तो उसे देखने में बहुत मजा आएगा. उन्होंने मेरी चूत से निकल रहे पानी को अपने होंठों से चूस कर साफ कर दिया.

मेरी मेल आईडी है[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरी कुंवारी चूत को किरायेदारों ने चोदा-2.

मैंने मामा जी से कहा- अगर अनिल की इच्छा नहीं तो मैं जबरदस्ती नहीं करूंगा. ऋतु ने अपने हाथों से पहले वाले के लंड को पकड़ा और अपने मुंह में लेकर चूसने लगा. मैं अपने गाऊन को ठीक करते हुए- ओहह सॉरी विनय … मैं शायद कहीं खो गयी थी.

इतने में हनी रीमा के पास अपना लंड हिलाते हुए गया और उसे गाली देते बोला- ले रंडी मेरा लंड भी चूस ले. इतना सुनते ही वो मुस्कुराते हुए चली गयी और मेरा लंड उसकी चूत के सपने देखने लगा. मैंने आते ही उसके चूचों को दबा दिया और उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

चाइना की सेक्सी वीडियो बीएफ

और समझा दो मेरी चुत को कि मोटे लंड से चुदवाने का मतलब क्या होता है. इसलिए बिमारी पर ध्यान देने की अपेक्षा आप ऊपर बताये गये तरीकों और तकनीकों पर ध्यान दें और हमेशा मन और मस्तिष्क को तनाव रहित रखने का प्रयास करते रहें. मौसी की चीख निकल गई और वो बोलीं- आह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई … समीर … थोड़ा धीरे कर, मैं कहीं भाग नहीं रही, अब तो मैं तुम्हारी ही हूँ.

मैंने घर के सारे दरवाजे और खिड़कियां बंद कर दिए और झट से बेडरूम में आ गया.

काफी समय लग गया था अपने आपको संभालने में!(वो कहानी फिर कभी लिखूँगा.

शाम को 5 बजे पति घर आ गए और मेरा काम देख काफी खुश हुए। वे अपने साथ एक शराब की बोतल भी लाये थे तो मैं समझ गई कि इनका पीने का भी कार्यक्रम है. तो मैं बता देना चाहता हूँ कि मैं यहाँ पार्थ (बदला हुआ नाम) के नाम से कहानियां लिखता हूँ. इंडियन बीएफ मूवी सेक्सीअंकित उसके दोनों स्तनों को एकसमान रूप से बिना एक भी इंच छोड़े, चूस रहा था.

अनिल तौलिया लपेटे खड़ा था, तौलिये में से उसका तना हथियार दिख रहा था।मैंने कहा- तू भी यार … कर ले।वह बोले- मैं रगड़ दूंगा तो छिल जाएगी।मैं बोला- करके देख!मामा जी ने उसका तौलिया निकाल दिया और कहा- अनिल बातें देता रहेगा या कुछ करेगा भी?उसका खड़ा लंड उत्तेजना से ऊपर नीचे हो रहा था. नीलम ने चौंककर जैसे ही अपना सर ऊपर करके देखा वह शर्म से पानी पानी हो गई।महेश भी बिल्कुल नंगा ही बाथरूम में खड़ा नीलम को घूर रहा था।पिता जी आप यहाँ? आपको शर्म नहीं आती?” नीलम ने गुस्से से कहा और उठकर वहां से बाहर जाने लगी. मुझे पता था कि मेरी मम्मी भी चुदाई के लिए तड़प रही थी क्योंकि पापा के बिना उनकी चूत प्यासी रहती थी.

मेरी ड्यूटी स्टेज के आगे थी और वहां पर सिर्फ स्टाफ को भेजा जा सकता था. मैं अब दिन रात बस हिना आंटी के बारे में सोच रहा था कि मैं उनकी चुत कैसे चोदूं.

मैडम ने मुझे आवाज़ दी और कहा- बहुत देर हो गई है, अब हमें जाना चाहिए.

मेरी पिछली कहानी थीमेरा फर्स्ट सेक्स बॉयफ्रेंड के साथहम सब फ्रेंड्स कॉलेज ट्रिप के लिए मनाली के लिए निकले थे. अब पिंकी राहुल को लिटा कर उसके ऊपर चढ़ गयी और अपने हाथों से उसका लंड अपनी चूत के दाने पर सेट करके अंदर किया और चुदाई की घोड़ी दौड़ा दी. शबनम के हाथ अंकित के पीछे थे और वो लगातार उसी से अंकित को काबू में रखने की असफल कोशिश कर रही थी.

नेपाल की सेक्सी वीडियो बीएफ कम्मो की चूत के भीतरी कपाट बड़े अदभुत लगे मुझे; भीतरी भगोष्ठों के किनारों पर गहरी काली रेखा सी थी जैसे किसी गुलाबी नाव के किनारों पर काजल लगा दिया हो या जैसे हम आंख में अपनी निचली पलक पर काजल लगाते हैं तो आंखों की शोभा और बढ़ जाती है; ठीक उसी अंदाज में कम्मो की चूत शोभायमान हो रही थी. कम्मो बेटा, चूत कायदे से परोसी जाती है लंड के सामने!” मैंने कहा तो उसने असमंजस से मेरी तरफ देखा जैसे मेरी बात उसकी समझ न आई हो.

कसमसाकर उसने अब फिर से उठने की कोशिश तो की, मगर तब तक मैंने नेहा के ऊपर आकर उसके बदन को अपने शरीर के भार से दबा लिया. बॉस का लंड मेरे गांड से गप की आवाज के साथ निकला और उनका ढेर सारा वीर्य गांड से निकल कर जाँघ पर बहने लगा, कुछ वहीं जमीन पर भी गिर गया. मुझे चेहरे पर उसके हाथों का एहसास हुआ, वो मेरे बालों को ठीक कर ही थी.

कैटरीना सेक्सी वीडियो बीएफ

थोड़ी देर में वो सामान्य हो गई और खुद अपनी गांड हिलाते हुए आगे पीछे करने लगी. वो ऐसे मटक मटक कर सीढ़िया चढ़ रही थी जैसे कोई नागिन लहरा कर चल रही हो. दूसरे लड़के ने कहा- मैडम को दोनों चूची एक साथ पिलाने को मन कर रहा है.

सो उन दो दिनों में मेरी अमायरा से काफी देर देर तक की मुलाकात हो जाती थी. चाचा- अरे जीशान! कब आया तू बैंगलोर से … कैसे हुए एग्जाम?परवीन- उसको पूछने की ज़रूरत भी क्या है? वो तो हमेशा टॉप करता है.

भाबी बस ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां ले रही थीं- इस्स … ऊऊह एयायाह …मैं ज़ोर ज़ोर से भाबी को किस करते हुए एकदम पागल हुआ जा रहा था.

तू शादी के बहाने मेरे घर आ जाना और यहाँ से ही उनसे मिलने भी चली जाना. पूजा अब नशे में झूम चुकी थी मैंने उसे बिस्तर में लेटा दिया, पूजा ने मुझे चूमा और उपहार के लिए मुझे धन्यवाद देने लगी. इतना कहकर पूजा अपने घुटनों के बल बिस्तर पर उल्टी हो गयी और उसने अपने हाथों को बिस्तर पर रख दिया.

जिस तरह से मैंने पल्लवी के साथ किया, ठीक उसी तरह पल्लवी मेरे साथ कर रही थी। वो मजे से मेरे दानों काट रही थी और जीभ से खेल रही थी। मेरे निप्पल कड़े हो चले थे और तो और झुरझुरी तो ऐसी हो रही थी कि सुपारे में एक मीठा सा मादक अहसास हो रहा था।मैं अपनी भावनाओं पर काबू रखना चाहता था लेकिन हो काबू हो नहीं पा रहा था, मैंने कस कर उसके चूचुक को दबाना शुरू कर दिया और निप्पल को जोर-जोर से मलने लगा. इशिता से जितना हो सक रहा था, वो अन्दर तक मेरी चुत में जीभ डाल कर चूस रही थी. मेरा मन नहीं कर रहा था साथ जाने का, लेकिन अक्षय बहुत ज़िद कर रहा था.

मैडम चूत को चटवाने के साथ ही अपनी एक उंगली अपनी चुत में डाल रही थीं.

भोजपुरी में बीएफ हिंदी में: मैंने उसे अपने घर का एड्रेस दे दिया और अभी के लिए मैं उससे लिपट गया. अब भाबी बोलीं- मुझसे रहा नहीं जा रहा … प्लीज़ तुम जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दो … और मुझे चोद दो अंकित … मैं न जाने कितने दिनों से प्यासी हूँ.

सोनिया- बेशक हो … तुम्हें औरतों के बारे में इतनी बेसिक चीज़ों का भी नहीं पता. यदि उसका पति या साथी उससे कुछ उम्मीद रखता है तो उसके लिए उसे पहले उसका विश्वास जीतना होगा. कॉफी तो एक बहाना थी, असल बात तो एक दूसरे के बारे में जानने की इच्छा थी.

जब उन्होंने बताया कि थोड़ी देर पहले … तब मुझे लगा कि मैं ताश खेलने में इतना व्यस्त था कि कब वो हमारी बैठक के सामने से निकल कर घर में आ गयीं, मुझे पता ही नहीं चला.

मेरी सास अभी भी मेरे लंड को अपनी मुट्ठी में पकड़ कर मेरे बॉक्सर के ऊपर से सहला रही थीं. मुझे भयंकर पीड़ा हो रही थी, ऐसा लग रहा था कि किसी ने गर्म सरिया मेरी चूत में घोम्प दिया हो. अब सेल्स में है तो रात को डिनर पार्टी और शराब से कैसे बचा जा सकता है.