हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,सपना चौधरी सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म सेक्सी चाइना: हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ, उस दिन मुझसे सास का वो ताना बर्दाश्त न हुआ और मैं रोते हुए अंदर चली गयी.

भारतीय ओपन सेक्सी

और ये बोल कर मेरा लंड पर हाथ रख दिया।मैं सकपका गया और हाथ हटा दिया लेकिन मुझे अंदर से बहुत अच्छा लगा। खैर फ़ोटो देखते हुए मेरी नजर उनकी पैन्ट में बंद लण्ड पर पड़ी तो मैं देखता रह गया. हिंदी सेक्सी वीडियो मारवाड़ीमैं अपने शहर की सबसे सुन्दर लड़कियों में से एक हूं, ऐसा मैं नहीं बल्कि मेरे शहर के लड़के ही कहते हैं कि मैं एकमाल लड़कीहूँ.

आंटी बोली- हां मादरचोद, तुझे तो बहनों की चूत चाटने में ही मजा आयेगा. सेक्सी वीडियो इंग्लिश मेंशादी के 4 महीने बाद बुआ के पति को किसी काम के सिलसिले में 15 दिन के लिए बाहर जाना पड़ा, तो वो मेरे पिताजी से बोल गए कि मुझे रात को उनके घर भेज दिया करें, क्योंकि मेरी बुआ की फैमिली में सिर्फ उनके पति और वो ही हैं.

अब आपका और ज्यादा समय न लेते हुए मैं अपना अनुभव आप लोगों के साथ शेयर करने जा रही हूं.हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ: कुछ देर बाद रानी पूरी तरह से ब्रून के ऊपर लुढ़क गई और एक तरह से उसने खुद को समर्पित कर दिया था.

समय के साथ रिया सब बातों को भूल कर फिर से पहले की तरह नार्मल हो गयी थी.राजा- तुमको गैंगबैंग चलेगा?अनमोल- पागल है क्या … क्या बोल रहा है? रंडी थोड़ी बनाना है इसको.

সেক্সি ভিডিও ফিল্ম ভিডিও - हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ

अन्तर्वासना से मेरा नाता पुराना है इसलिए सेक्स कहानियां भी पढ़ता रहता हूं.मैंने देखा कि चाचा एकदम से नंगे होकर मेरी नंगी चाची के ऊपर चढ़े हुए थे.

कृति के बगल में लेटकर मैं उसकी चूचियां चूसने लगा और उसकी जांघों पर हाथ फेरने लगा. हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ मैं बोलती, इसके पहले शुभम ने मुझे लिटा दिया और मेरी कैपरी और पेंटी दोनों साथ में उतार दी और मेरी टांगें फैला कर मेरी फूलीनंगी चुतचाटने लगा.

हम दोनों ससुर बहू को चुदाई करते हुए 10 मिनट हो चुके थे और फिर मेरा पानी एक बार फिर निकल गया था.

हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ?

मैंने उनके होंठों को दबाया नहीं … क्योंकि मैं उनकी चीख सुनना चाहता था. कम्पनी के अन्दर की कैंटीन में छोले कुल्चे ख़ाकर एक और घंटे का काम करके हम दोनों ने वापिसी के लिए बस पकड़ ली. मैं बोला- चलो ठीक है … कल तुम मेरे घर आ जाना … मेरे घर पर कल कोई नहीं होगा.

मैंने लंड गांड में पेला तो भाभी और मुझे दोनों को ही बहुत दर्द होने लगा. शायद उसको अपनी फटी हुई चुत से लगने लगा था कि ब्रून का लंड मोटा और लम्बा है और उससे चुदने का मजा ज्यादा आएगा. पीछे से रवि ने भाभी की गांड के छेद पर लंड लगा दिया और उसकी गांड में लंड को घुसाने लगा.

पर काफ़ी दिनों से मैं सागर से मिली नहीं हूँ, तो जिस्मानी भूख भी समझते ही हो. ये इतना जल्दी हुआ कि मैं खुद को संभाल ही नहीं पाया और सोफे पर गिर गया. मेरा भी छूटने वाला था तो मैंने चाची को बताया- चाची, मैं झड़ने वाला हूँ.

यश ने मेरी जीन्स अलग की और कहने लगा- आह प्रिया, तुम्हारी पूरी पैंटी गीली हो चुकी है. करीब 15 मिनट की धकापेल के दौरान भाभी 2 बार झड़ चुकी थीं … और अब मैं भी झड़ने की कगार पर आ गया.

देखते ही देखते पता नहीं क्या हुआ कि मैंने अपना मुँह अपनी जीभ उसकी चुत पर रख दिया और उसे किसी आम की फांक की तरह चूसने लगा.

किसी तरह 1 घंटा बीता तो मैं इंतेज़ार करने लगा कि भैया कब बुलाएंगे।तभी उन्होंने आने का इशारा किया तो मैं शर्माते हुए उनके पास गया तो उन्होंने मुझे दूसरी किताब दिखायी.

मेरा लंड उसकी चुत पर ही था और उसमें से ऐसी गर्मी निकल रही थी, जैसे आग लगी हो. दोस्तो, आपको मेरी कहानी कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपनी राय जरूर दें. हस्तमैथुन तो इससे पहले भी बहुत बार की थी लेकिन ऐसे माहौल में पहली बार कर रहा था.

अब मैंने भी खाना नहीं खाया था, तो एक होटल में जाकर हम दोनों के लिए खाने का आर्डर दे दिया. सोनल ने तो आंखें बंद करके होंठों को दांतों के नीचे दबा लिया था, वो अपने दांतों से होंठों को कुतर रही थी और कामुक आवाजें निकाल रही थी- आह … उम्म … मजा आ रहा है … आह!मैं रुक गया और उसे देख कर स्माइल करते हुए मैंने झट से उसकी पैंटी निकाल दी. थोड़ी देर रगड़ने से ही मैं छटपटाने लगी और मेरे मुंह से आअह अह्ह की आवाज के साथ मेरा पानी निकल गया, मैं जोर जोर से साँसें लेने लगी.

आधुनिकता के रंग में मैंने अपनी पत्नी को जिगोलो बुलाकर गैर मर्द के लिंग का नया स्वाद दिलाया.

कुछ देर लंड पर बिठा कर चोदने के बाद उमेश ने मुझे नीचे लिटाया और मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे चोदने लगा. मैं भी अब हर बात मान गयी और अगले दिन से पापा जी को पटाने की तरकीब सोचने लगी. फिर मैंने बड़ी की तरफ देखते हुए पूछा- सुबह मैंने आप से शुरूआत की थी.

उसने मेरी बहन की पैंटी को निकलवा दिया और उसको अपनी जेब में रख लिया. फिर आंटी ने कहा कि अब मैं धीरे धीरे से रानी की चूत में लंड को धकेलना शुरू करूं. स्पॉट लाइट का फिर से घूमना शुरू हुआ और इस बार ये होटल मैनेजर पर आ गई.

जब तक हम किसी चीज में घुसते नहीं हैं तो लगता है कि हम कुछ अलग ही कर रहे हैं.

मगर वो सिसकार उठी- आह्ह अमित … चोद दे ना यार … मैं तड़प रही हूं, अब और ज्यादा देर की तो मेरी जान निकल जायेगी. मैंने पति का कॉल पिक करके उसे स्पीकर पर डाल दिया और पापाजी का मुँह अपने बूब्स पर लगा दिया.

हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ उस बुड्डे की कमीनी निगाहें ऐसे चुत को देख रही थीं मानो वो रानी को चोदना चाहता है. उसके बाद मेरे नम्बर पर फ़ोन किया और मेरी बीवी को फ़ोन सेक्स का मज़ा दिया 1 घण्टे तक!जिससे मेरी बीवी मस्त हो गई, चुदने के लिए तैयार हो गई, बोलने लगी- साहिल, मुझे दो लण्ड से चुदना है, एक लंड गांड में लेना है, एक अपनी चूत में!किसी तरह शाम हुई तो रात के दस बजे वो लड़का व्हाट्सएप्प पर ऑनलाइन आया और हम लोग भी आये.

हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ उसने माहौल ही ऐसा पैदा कर दिया था कि उसकी चूत को फाड़ देने का मन कर रहा था. अगले दिन शाम तक भाई अस्पताल में भर्ती हो गए और भाभी उनके पास वहीं रुक गईं.

मैंने कहा- हां पापाजी … और खासकर चुदाई करने वाला आप जैसा हो तो क्या बात है!पापाजी बोले- बहू, अब तो हर दिन रात तुम्हारी चुदाई पक्की है.

राजा तनी जाए ना बहरिया भोजपुरी गाना

मुझे अपने कमेंट्स के जरिये बतायें कि भाई बहन का प्यार कितना सही है. उसने मेरी चुत को अपनी टी-शर्ट से साफ किया और दुबारा चुत में लंड डाल दिया, मुझे दर्द तो हो रहा था … लेकिन कुछ समय बाद मजा आने लगा. मैं मस्त चूत की चुदाई करता हूँ। मेरे अंदर इतनी क्षमता है कि मैं दो दो घण्टे तक लगातार चोद सकता हूँ, इतनी जबरदस्त चुदाई करता हूँ कि बुर का पानी सुख जाता है.

हम अंदर वाले कमरे में थे और ये भूल गये थे कि बाहर से कोई आ भी आ भी सकता है. उसने चुत खोल कर अपनी जीभ को अन्दर डाल दी और जीभ से चुत को चोदने लगा. इसके बाद मैम ने नंगे ही किचन में जाकर कॉफ़ी बनाई और मेरे साथ एक ही मग में हम दोनों कॉफ़ी का मजा लेने लगे.

देखते ही देखते पता नहीं क्या हुआ कि मैंने अपना मुँह अपनी जीभ उसकी चुत पर रख दिया और उसे किसी आम की फांक की तरह चूसने लगा.

वैसे मैं दिखने में थोड़ा मोटा हूं, पर मेरी मोटी मोटी चूचियां और मस्त मोटी गांड अच्छे अच्छे को दीवाना कर सकती है. कोई पड़ोसी पूछता, तो सासु मां पहले ही कह देतीं कि अरे हमने ही मना किया है, अभी थोड़ा मस्ती कर लेने दो … बच्चा हो गया तो पूरी उलझ कर रह जाएंगी. कुछ देर बाद भाभी ने मुझे नीचे खींचा और मेरा लंड हाथ में लेकर सीधे अपनी चुत में लगा कर गांड को उठा दिया.

मैं पहले तो चौंक गया कि क्या मॉम को मेरे रोज मुठ मारने की बात मालूम है. भाभी सामने सोफे पर पांव दोनों फोल्ड करके लेटी हुई टीवी देख रही थीं और में पेपर पढ़ रहा था. पहले अभिनव ने माँ की टांगों को चौड़ा किया और अपना लंड पर थूक लगाया.

फिर मैंने हील्स पहनीं और लाल रंग की नाखूनी लगाई … और लाल रंग की ही चूड़ियां पहनीं. मैंने अपने कपड़े निकालते समय एक पल के लिए उसको नजरअंदाज नहीं किया था.

उसकी खासी लंबाई, पर उसके नागिन से लहराते लम्बे घने काले बाल, किसी नागिन की तरह थे. वो बोली- अपना ड्रिंक तो खत्म कर लो!मैंने जल्दी से अपना ड्रिंक खत्म कर लिया. अपनी जिन्दगी के कुछ और भी हसीन किस्से आपके साथ शेयर करने की अभिलाषा के साथ फिलहाल के लिए अलविदा कहना चाहता हूँ.

एकदम से उठी हुई गोल गांड थी चाची की। मन कर रहा था कि हाथ से उनके चूतड़ों को दबा दूं.

पीहू भी मदहोश होकर अपनी बांहों में मुझे कसकर पकड़ लिया।कुछ देर मैं पीहू को ऐसे ही चूमता रहा, फिर मैंने अपने होंठों में उसके निचले होंठ को लेकर चूसने लगा. एक दिन भैया की बाइक गंदी हो गई थी, तो मेरे दोस्त ने बोला- तू और भैया मिल कर बाइक धो लो. मैंने जब अपनी पढ़ाई खत्म की थी तब से ही मेरा सपना था कि मैं अपने देश के लिए कुछ करूं.

मैंने उनके होंठों को दबाया नहीं … क्योंकि मैं उनकी चीख सुनना चाहता था. मैं पहली मंजिल पर बने कृति के कमरे में गया, उससे काफी देर तक चली बातचीत का निष्कर्ष यह निकला कि भरत महीने में दो चार बार ही कृति के करीब जाता है.

वो दिन में भी बोल रही थी कि उसने मेरे लिये रिम्पी और काजल की चूत का इंतजाम किया है. मैंने लंड हटा कर चूत में थोड़ा थूक लगाया और पेल कर अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. उस वक्त मेरे मन में मेरी भाभी को लेकर सेक्स वाले विचार नहीं आते थे क्योंकि तब मेरी उम्र बहुत कम थी.

पहली चुदाई की कहानी

फिर मामी उठी और मुझे अपने ऊपर लेकर किस करने लगी और एक हाथ से लंड सहलाने लगी.

जब रश्मि से मेरी बात शुरू हुई, तो धीरे धीरे दो जवान दिलों की धड़कनों ने एक दूसरे के दिल की बात समझ ली. मैंने अपनी आंखें बंद कर लीं और नीतू के मुँह के रस और उसकी लपलपाती हुई जीभ की अठखेलियों को अपने लंड पर महसूस करने लगा. इससे मामी एकदम से चिहुंक गईं और आगे की तरफ खिसकते हुए बोलीं- उई … चोदना है तो चूत चोदो … गांड नहीं मिलेगी.

दोस्तो, आप ये जानते होंगे किसी भी लड़की का 19 वां साल उसके बस में नहीं होता है. अभी तक मैं समझ रहा था कि ये पट जाएंगी … मगर ये तो शिकायत करने की बात कर रही हैं. रूसो कौन थाउसको हाथ में लेकर वो दबाते हुए बोली- वाह… मेरे राजा, क्या मस्त लौड़ा है.

उसने मैनेजर को वॉलेट के लिए बोला, तो मैनेजर ने उसको ऊपर से नीचे तक देखा और मुस्कुरा कर कहा- हां मेम, आप रुकिए, मैं वॉलेट अन्दर से लाता हूँ. लेकिन तुमने हमें नंगी देखा है, तो अब तुम्हें भी पूरे कपड़े उतारने होंगे.

शोभा ने मुझे बाद में बताया था कि शादी से पहले शोभा 3 लोगों से चुद चुकी थी।मैंने कहा- आज सबसे ज्यादा मजा आएगा आपको!और मैं उनके बूब्स को थप्पड़ मारने लगा. मैंने करीब पहुंच कर अंदर झांका तो मैं वो नजारा देख कर हैरान रह गयी. हालांकि वो रोजाना नाइट ड्रेस पहनती है लेकिन आज वो पटियाला सलवार और टाइट फिटिंग की कुर्ती पहन कर ही सो रही थी.

मैंने कहा- जरूर पापाजी!फिर पापाजी का लंड दुबारा खड़ा हो गया और मैं उसे चूसने लगी. पापा के जाने के बाद मेरी मॉम ने अपनी जिस्मानी भूख मिटाने के लिए एक आदमी को सैट कर रखा था. अब जब भी हम दोनों मूवी जाते, तो प्रयास करते कि किसी इंग्लिश मूवी में जाएं, जहां भीड़ कम हो और हम दोनों अपनी बातों के साथ साथ एक दूसरे के जिस्मों के मजे ले सकें.

मैंने अपनी आंखें बंद कर लीं और नीतू के मुँह के रस और उसकी लपलपाती हुई जीभ की अठखेलियों को अपने लंड पर महसूस करने लगा.

उसके बाद मैंने उसकी पैंटी को निकाल दिया और उसकी टांगों को ऊपर करके उसकी चूत में मुंह दे दिया. नीचे बैठा कर उसने राजश्री के मुंह में अपना लंड दे दिया और तेजी के साथ धक्के लगाने लगा.

मैं उसकी कमर पकड़ कर उसे चोदने लगा, नीचे से वो आहें भर रही थी।कुछ देर चोदने के बाद मैं रुक गया और उसकी चूचियाँ दबाने लगा।फिर कुछ देर बाद उसके बालों को पकड़ कर उसका सर हल्का पीछे खींच कर फिर से उसे चोदने लगा. दर्द की वजह से मेरे मुँह से आह निकलने लगी, उसने दो तीन बार उंगली डालने की कोशिश की, लेकिन दर्द की वजह से मैं ऊपर खिसक जाती थी. मगर जब से मैंने सुमन को देखा है तब से मन में कुछ-कुछ होने लगा था और लण्ड पैंट में ही गीला होता रहता था.

अपनी चचेरी बहन की भी कई सारी फोटो मैंने फोन में सेव कर रखी थी इसलिए मैं नहीं चाह रहा था कि चाची को उसके बारे में पता चले. उन्होंने मुझे बड़े प्रेम से कमरे में ले जाकर बिठाया और मुझे कुछ चाय पानी के लिए पूछा. मैंने बड़ी मुश्किल से उसे समझाया- पहली बार में थोड़ा ही दर्द होता है … बाकी बाद में बहुत मज़ा आता है.

हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ उससे मैंने पानी के लिए पूछा, तो उसने मना कर दिया, वो बोली- पहले दरवाजे की कुण्डी लगा दो. फिर मैंने उसकी पैंटी को खींचना चाहा लेकिन उसने मेरे हाथों को पकड़ लिया.

सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी सेक्सी

मैंने भी अपना हाथ उसके कंधों से आगे करके उसके चूचे के करीब रख दिया था. क्या तुम मुझसे चुदने के लिए यहाँ नहीं आई हो?वो कसकर मुझे अपनी बांहों में भरती हुई बोली- हाँ भैया, घूमना तो सिर्फ एक बहाना है. मैंने उसे वापस बिस्तर पर लिटा दिया और लंड चुसवा कर उसके मुँह में ही खाली हो गया.

मैंने उन दोनों बहनों की चुदाई कैसे की?हाय मित्रो, मैं जिग्नेश सिंह हूँ. ससुराल में सिर्फ मेरे ससुर हैं, वे देखने में ठीक ठाक हैं, मेरे ससुर का प्रॉपर्टी का काम है जो वो घर से ही करते हैं, कभी कभी ही बाहर जाते हैं. चौथ का व्रत कब है 2021 octoberतभी वो हँसने लगीं और कहने लगीं- अरे यार तुम तो बहुत फट्टू हो … लंड खड़ा करना जानते हो, मुझे दिखाना जानते हो … पर जिगर ज़रा भी नहीं है.

शुरुआत में एक दिन मॉम ने मुझसे सिगरेट जला कर देने का कहा, मैं मॉम को सिगरेट जलाते हुए देखता था, सो मैंने भी उनके जैसे ही सिगरेट जला कर एक कश खींच कर उनको दे दी थी.

उसके बाद मैंने फिर से उसकी चूत को रगड़ना शुरू कर दिया और दोबारा से उसकी चूत को जमकर चोदा. वैसे तो मेरा बदन गदराया हुआ है, क्लास की बाकी लड़कियों से मेरे मम्मे और कूल्हे कुछ ज्यादा ही बड़े हैं.

मुझे चूचियां पीना बहुत पसंद था इसलिए मैं अपनी हर हसरत को पूरी करना चाह रहा था. मेरा उम्र 25 साल है और मेरे लंड का साइज साधारण ही है, लेकिन ये इतना मजबूत है कि किसी भी लड़की या महिला को खुश और संतुष्ट कर सकता है. मेरे रोने की आवाज सुनकर थोड़ी ही देर में उन्होंने गेट खोल दिया और मैं सिर्फ गाऊन में उनके पास चली गयी.

पापा जी ने सोचा नहीं होगा कि उन्हें सुबह सुबह इतना गर्म नजारा देखने को मिलेगा.

उसके नर्म होंठों को स्पर्श को बर्दाश्त करना बहुत मुश्किल हो रहा था. लंच से पहले अनाउंस हुआ और बताया गया कि जिन दो पर्सन पर स्पॉट लाइट आएगी. मैंने उनके होंठों को चूसने के लिए आगे गर्दन की तो उन्होंने मुझे रोक दिया.

गूगल गर्लफ्रेंड कैसे पटाएथोड़ी देर में छोटी नीमा उठी और अपनी बड़ी बहन प्रेमा की चूत चूसने लगी. ये मेरे जीवन का पहला अवसर था, जब किसी कपल ने मुझसे मालिश की मांग की थी.

वाइब्रेटर मशीन की कीमत

सुमन की जालीदार पैंटी पर मैंने उसकी चूत पर उंगलियों से सहलाना शुरू कर दिया. करीब 5 मिनट के बाद मैं अपनी मामी की चूत में झड़ गया और उनके ऊपर लेट गया. कोई 5 मिनट तक चूत चूसने बाद मैंने मॉम से बोला- मैं आपको चोदने वाला हूँ.

उसकी चूचियों को भींचते हुए जोर जोर से गचके लगाते हुए उसकी चूत को ठोकने लगा. अभी तक मैं समझ रहा था कि ये पट जाएंगी … मगर ये तो शिकायत करने की बात कर रही हैं. बस मैं तो इसे चोदने का मौका तलाश रहा था कि कब मुझे मौका मिले और मैं इसके हुस्न का मजा ले सकूं.

उसके बाद अंजलि उन दोनों को हटाते हुए बोली- अनमोल भैया, आप मेरी चूत चोदो और मोनू (अनमोल का कजिन) आप मेरी गांड मारो … वो भी एक साथ पेलना. और हां … मेरे जो भी प्रशंसक यदि अंतरंग सम्बन्धों से जुड़ी किसी समस्या पर कोई सलाह मशवरा करना चाहें तो बिना हिचकिचाहट मुझसे बात कर सकते हैं. फिर मैंने कुछ नहीं पूछा। थोड़ी देर बाद मुझे लगा कि वो शायद रो रही थी।मैंने एक तरफ गाड़ी रोकी और उनसे माफ़ी मांगी और बोला- शायद मेरी वजह से आपको दुःख पहुंचा है उसके लिये मैं सॉरी हूं।वो बोली- नहीं ऐसी कोई बात नहीं है। मेरी किस्मत ही खराब है। जवानी में मेरी मर्ज़ी के खिलाफ ही मेरी शादी कर दी गई.

उधर उसकी चूत ने भी पानी छोड़ दिया था, तो मैंने भी उसकी चूत को चाट कर साफ कर दिया. मैं अपनी चूचियों को आपस में मसलने लगी और जांघों और पेट को भी सहलाने लगी।मैं एकदम गर्म हो चुकी थी क्योंकि मेरे पति भी डेढ़ साल से विदेश में ही थे और कितने दिन हो गए थे मैं चुदी भी नहीं थी.

हाय राम मैं उस वक़्त क्या महसूस कर रहा था, ये तो बयान नहीं कर सकता पर आप समझ सकते हो कि आप अपने हाथ से कितनी बार भी हैंडपंप चला लीजिए, पर जब हाथ में पहली बार किसी मस्त माल के मम्मों को दबाएंगे, तो उसका नशा ही कुछ और होता है.

मैं इस बात से ज्यादा आश्वस्त था कि उसके पति साल में एक बार ही आते हैं. సెక్స్ త్రిబుల్ ఎక్స్ సెక్స్लेकिन मेरी मां ने मना कर दिया; मां ने कहा- मैं मुंह में नहीं लेती हूं. उदयपुर की सेक्सी फिल्म”उम्महह … मस्त चोदते हो आप … जिंदगी भर ऐसे ही चुदने का मन कर रहा है … ओह … जोर से … और जोर से. तब भाभी ने आगे आकर मेरा हाथ मेरे लंड पर से हटाया और खड़ा लंड देख कर बोली- बाप रे इतना मोटा?मैं उसकी आँखों में देखने लगा.

शोभा मेरा लण्ड पूरी तरह मुंह के अंदर ले रही थी, उसके गले तक मेरा लण्ड जा रहा था।उसने मेरा पूरा लण्ड अपनी थूक और लार से गीला कर दिया था.

मैंने उसके पैरों को फैलाया और उसकी बुर पर लंड को रगड़ना शुरू कर दिया. उसके चेहरे को ऊपर किया और उसको अपनी तरफ खींचते हुए उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. जब मेरा लंड वीर्य छोड़ने के कगार पर पहुंच गया तो मैंने उसको बता दिया कि मेरा लंड थूकने वाला है.

मुझे अपने कमेंट्स के जरिये बतायें कि आपको मेरी स्टोरी कैसी लग रही है. तो क्या हुआ?देखने में भी वो अच्छे खासे थे, लंबे तगड़े।और इधर मुझे भी बचपन से बुरी आदतें!मैं भी सोचने लगी, इस लंबे चौड़े लम्पट ननदोई का लंड भी तगड़ा होगा। अगर ये मुझे पेले तो हो सकता है कि मेरे पति से ज़्यादा मज़ा मुझे दे।खैर यह तो मेरे दिल का विचार था. जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने एक ही झटके में उसकी ब्रा फाड़ दी.

सेक्सी मूवी हिंदी एचडी

मेरे आने के बाद उन्होंने हड़बड़ी में सिर्फ टीवी बंद कर दिया, पर सीडी प्लेयर बंद करना भूल गए. हालांकि इसमें आधी से अधिक कहानियां बनावटी होती हैं पर इनमें भी इतना सेक्स होता है कि लंड खड़ा हुए बिना नहीं रहता है. अगर मुझे तेरे बारे में पता होता कि तू ऐसी निकलेगी तो मैं अपने माधो की शादी तेरे साथ कभी न होने देती.

धीरे से मैंने उसकी टी-शर्ट को ऊपर उठाया और उसके पेट को सहलाना शुरू कर दिया.

पापाजी का मोटा लंड अभी भी मेरी चूत में था और वो मेरे ऊपर ही लेटे रहे.

मां बोली- हां … मैं तो जैसे कोई रण्डी हूं? मुझ पर ही सारी चीज ट्राय ही करोगे?सोनू बोला- हां हां … तुम मेरी रण्डी चाची हो. मैं पागलों की तरह उसकी चुचियों को चूसने लगा और उसके निप्पल को हल्के हल्के मसल कर चूसता और दांत से हल्के हल्के चबा देता, जिससे आएशा कामुकता की चरम सीमा पर पहुंची जा रही थी. वेश्यावृत्ति का अड्डा राजस्थानमैंने भी थोड़ा सा केक लिया और उसके गाल पर लगाने के लिए हाथ उठाया लेकिन वो बचकर एक तरफ हो गयी.

तो एकदम से दीदी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोली- राहुल नहीं … बस इतना ही … इससे आगे नहीं. इधर मेरी अनुपस्थिति का लाभ लेते हुए ममता ने भी अपनी जिज्ञासा को शांत करने की सोची. मैंने उसका टिकट उठाकर दिया और पैर के पास से अपना बैग भी उठा कर अपनी गोद में रख लिया.

मैंने उनकी दोनों टांगें उठाकर अपने कंधों पर रख लीं और राजधानी एक्सप्रेस की रफ्तार से उसकी चूत को चोदने लगा. उसके बाद फिर मैंने उसकी टीशर्ट को निकाल दिया और उसकी चूचियों को पीने लगा.

फ्री का इंटरनेट हो गया था और मैं सारा दिन अपने फोन पर लड़कियों से चैट करता रहता था.

यदि हां, तो कहानी पर कमेंट करके अपना प्यार दें … मुझे मेल के जरिये भी आप मुझे मैसेज कर सकते हैं. फिर मैंने नीचे से अपने लंड के धक्के लगाने शुरू किये मगर लंड सीधा जैसे उसके पेट में घुस रहा था. मैं पूरी जबान अंदर मामी की चूत में डाल कर चाटता रहा, अंदर तक पूरी जीभ घुसा चाटते हुए अंदर बाहर करता तो मामी पूरी काँप जाती.

पिक्चर सेक्सी मूवी कुछ देर में मुझे भी अच्छा लगने लगा।5 मिनट चूसने के बाद उनके मुँह से अजीब आवाज आई और उनके लंड से गाढ़ा वीर्य मेरे मुँह में पिचकारी मारते हुए गिर गया. वो मेरी तरफ देखने लगी और बोली- क्या आप बन सकते हो मेरे बॉयफ्रेंड?अंधे को क्या चाहिये दो आँखें। मैं उसके पास सरक गया और उसकी गर्दन पर अपने होंठों से चूम लिया.

मुझे साथ में डर भी लग रहा था, कोई ऊपर न आ जाए … लेकिन चुत चटाई के सुख के आगे और कुछ नहीं सूझ रहा था. मैंने उसके पेट की मालिश फिर से शुरू की … तो वो बोली- पीठ की तो पूरी मालिश की थी … पेट की क्यों अधूरी कर रहे हो?मैं कहने ही वाला था कि ब्रा खुली हो, तभी तो मैं पूरे सामने की मालिश कर सकूंगा … पर मेरे ऐसा कहने से पहले ही उसने अपनी ब्रा का हुक खोल दिया और मेरे सामने उसके मम्मे खुल कर फुदकने लगे. देवा, तुमने इस तरह से चूत को चाटना कहां से सीखा है?मैं बोली- बस भाभी ऐसे ही पोर्न सेक्स वीडियो देख कर सीखा है.

सेकसी घोडा

मैं उस जवान कॉलेज गर्ल की चूत का रस पी चुका था और उसकी चूत चुदाई के लिए मचल रहा था. वो बोली- आपका यूं इस तरह से शर्माते हुए मुस्कराना बहुत अच्छा लगता है. उसने मेरी तरफ देखा और उसके बाद भाभी ने मेरे लंड को एकदम से मुंह में ले लिया और मैं जैसे स्वर्ग की सैर करने लगा.

वो बोली- कोई बात नहीं, इट्स ओके (हो जाता है)हमने एक दूसरे को देखा और फिर से एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे. अब मैंने उसका टॉप प्यार से उतारा और ब्रा के ऊपर से ही उसके मोम्मे सहलाने और दबाने लगा.

सासु मुस्कुरा दीं और बोलीं- सही है, पर ध्यान से … बदनाम हुए बिना … कहोगी तो सहायता कर सकती हूं.

उसका फोन नम्बर मिलना मेरे लिए काफी बड़ी बात थी क्योंकि फोन नम्बर मिल जाने से आगे बहुत सारी संभावनाएं खुल जाती हैं. कैसे हुआ ये सब? और भाभी की युवा बेटी कैसे आ गयी?मैं किशन पटेल गुजरात से हूँ. कोई दस मिनट तक रानी की चुत चूसने के बाद वो टॉयलेट की तरफ आया, तो मैं जल्दी से टॉयलेट के अन्दर आ गया और दरवाजा बंद कर लिया.

एक दिन एक दोस्त ने ये भी कह दिया कि तुम खुद दूसरों को औलाद दे रहे हो लेकिन जब तुम्हें खुद की औलाद पैदा करनी होगी तो तुम उसके काबिल नहीं रहोगे. मेरा लंड मोटा तो था ही इसलिए कविता के मुंह से एक दर्द भरी कराह निकल गयी. भाभी ने जैसे ही मेरे लंड को निक्कर से बाहर निकाला, उसका मुँह खुला का खुला ही रह गया.

अनमोल ने उसको बोला कि वो मेरे घर पर है, उसकी बहन का बर्थडे सेलिब्रेट करने आया है.

हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ: पापाजी बोले- ठीक है बहू … मगर जाओगी कहाँ?मैंने कहा- पापाजी आप बताओ?पापाजी बोले- गोआ चलते हैं, वहाँ तुम्हें बिकिनी में भी देखूंगा. मैंने मालती की छोटी बहन को कैसे चोदा, वो मैं अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा.

ऐसे ही हम रोज एक दूसरे के घर आने जाने लगे और मेरी उन दोनों से काफी अच्छी दोस्ती हो गयी थी. मैं सोच भी नहीं सकता था कि मेरी बहन इतनी चुदक्कड़ हो चुकी है कि वो चौकीदार से भी चूत चुदवा बैठेगी. मैंने दर्द से कराहते हुए कहा- भैया मैं आपका लंड नहीं ले सकता हूँ … आप प्लीज़ रूको … मेरी जान निकली जा रही है.

तभी भाभी एक तेज आह करते हुए झड़ गई और बोली- आह थैंक्स डियर … तुमने मुझे बहुत खुश कर दिया … आज मैं बहुत रिलॅक्स फील कर रही हूँ.

मैंने उसे खोल कर पन्ने पलटे तो उसमें ढेर सारी चुदाई और गांड मारने की स्टोरी थी. मेरे लंड को मुंह में लेकर एक दो बार चूसा और फिर उठ कर मेरी जांघों के दोनों ओर पैर करके लंड पर चूत को रख दिया. आजकल नौकरी के चलते गुड़गाँव में रह रहा हूँ।मैं अन्तर्वासना का एक पुराना पाठक हू.