बीएफ शॉट हिंदी

छवि स्रोत,सेक्सी बढ़िया फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी हिंदी भाई बहन की: बीएफ शॉट हिंदी, इतना कह कर पूजा पलंग से उठ कर नीचे खड़ी हो गयी और नंगी ही टॉयलेट की तरफ चलने लगी.

पूरी भाजी

ये देख, छोटी सी विडियो क्लिप बनाई है दस पन्द्रह सेकंड की!और उन अंकल को दिखाई. मारवाड़ी सेक्सी जोधपुर कीअगर ऐसा नहीं होता तो वो अब तक मयूरी को जोर से डाँट चुके होते उसकी ऐसी हरकतों के लिए.

मैंने जब भाभी के बारे में पूछा तो वो बोली कि वो यहीं है लेकिन अभी अपनी फ्रेंड की बेटी की शादी में गई हैं. नेपाली सेक्सी देनाअब क्या था … मेरी की आँखें मुंदने लगीं और जांघों के बीच अब सनसनाहट फैलने लगी.

मैं- चाची आप झड़ गईं क्या?चाची उसी अंदाज में चूतड़ चलाती हुई बोलीं- हां दूसरी बार झड़ रही हूँ.बीएफ शॉट हिंदी: प्रिया दरवाजा बंद करने के लिए मुड़ी, मैं उसके पीछे से ही चिपक गया और अब मेरा लंड उसकी चूतड़ से रगड़ रहा था.

ऐसा लग रहा जैसे खुदा ने खुद तुम्हें बनाया है और फिर वो साँचा तोड़ दिया होगा क्योंकि तुम बहुत ही खूबसूरत हो.फिर मैंने उनसे एक दिन पूछा- भैया, आपकी कोई गर्लफ्रैंड है?तो उन्होंने ‘नहीं’ में जवाब दिया.

माँ का लाडला - बीएफ शॉट हिंदी

मैं तो जे देख री थी की आप कैसे लट्टू हुए जा रहे हो उसे देख देख के!” कम्मो ने मुझे उलाहना सा दिया.मैंने हामी भरते हुए तारा से कहा- तारा जल्दी चलो … रात होने से पहले वापस आना है.

वो मुझे कई बार बोली कि पानी निकलने के बाद तुम रुक रुक के करते हो, इसमें बहुत मज़ा आ रहा है. बीएफ शॉट हिंदी फिर दोनों हाथों से उसके चूतड़ों को अलग अलग किया और उसकी गांड के छेद में थूक डाल कर लंड पेलने की तैयारी कर ली.

मैंने उसको सीट पर लेटा दिया और उसके टॉप ऊपर किया, अन्दर उसने ब्लैक कलर की जॉकी की ब्रा पहनी थी.

बीएफ शॉट हिंदी?

तब तक उन्होंने मेरी पैन्ट खोली और अपनी साड़ी उतार कर मुझे बेड पर धक्का देकर पटक दिया. मैंने स्वाति को बेड पे पटका और उसके ऊपर आकर उसे किस करने लगा, वो भी मेरा पूरा पूरा साथ दे रही थी. मैं अपने पति से कह देती हूँ आज इंस्पेक्शन पर जाना है और बस मैं उसके लंड के साथ पूरी रात बिता देती हूँ.

फिर मैंने उनके कुरते को जल्दी से उतार दिया और उनके मम्मों को ब्रा के ऊपर से मसलने लगा. शीतल अपने एक साथ से विक्रम का सर सहला रही थी और दूसरे हाथ से रजत का लंड. उसके चूची दबाने से और किस करने से मुझे भी सेक्स चढ़ गया और मैं भी अपनी दीदी के देवर को किस करने लगी.

तुरन्त नहाने की वजह से मयूरी के शरीर पर अभी भी पानी की बूंदें थी और ये सब रजत को और भी मदहोश कर रहा था. जब मैंने यह सुना तो मैंने अपने पति से कहा- सुनो, अगर तुम चाहो तो मुझे तलाक़ दे सकते हो मैं उसमें कोई रोड़ा नहीं बनूँगी. मैंने एक लड़की से पूछा कि इस तरह की छानबीन किस तरह से करनी होती है?वो लड़की शादीशुदा थी, मगर उसका जवाब सुन कर मैं हैरान हो गई.

वह भी उसका मजा लेने लगी और बची हुई शर्म को छोड़ कर उसने अपना विरोध कम कर दिया. मेरी पैन्ट उस समय घुटनों तक नीचे थी और लंड महाराज बाहर फनफना रहे थे.

दो दिन के बाद मेरे बड़े भाई की लड़की और उसका पति आया था, सब मेहमान नवाजी में लग गए.

वो बड़ी मस्तराम लग रही थी, उसने ब्लैक टॉप और ब्लू जींस पहनी हुई थी जो कि उसके शरीर पर एकदम टाइट थी.

फिर वो मेरे ऊपर से उतरे, देखा नीचे मेरे वाइट पेटीकोट पर बहुत खून निकला हुआ था. मैंने देखा कि पास में एक झोपड़ी थी, वहां पर भाभी को ले जाकर खटिया पर भाभी को बैठा दिया. लेकिन पूरा मजा लेना है तो प्लीज़ एक बार मेरी पिछली कहानी का रस जरूर लीजिएगा.

अब थोड़ी देर में मेरा बस होने वाला ही होगा क्योंकि इस टेबलेट का असर 20 मिनट तक ही रहता है. तो मैंने बोला- ठीक है!मैं नहाया, खाना खाया और बाइक निकाल कर घर से निकल गया. हर धक्के के बाद अब उनकी आह निकल जाती!रेशमा पूरा मजा लेकर चुद रही थी और मुंह से ना जाने क्या-क्या आवाज निकाल रही थी- फाड़ दो मेरी चूत को राजा … भोंसड़ा बना दो इस चूत को!काफी लम्बी चुदाई के बाद मैं झड़ने को हुआ, इस बीच में दो बार झड़ गई थी, अब मैं जोर जोर से धक्के मारने लगा और उनकी चूत में ही झड़ गया.

जिस जिस्म को देखने हम पिछले एक वीक से तड़प रहे थे, बिना लाइट के उस हुस्न को कैसे देखेंगे.

बीच की सीट में एक उम्रदराज आदमी बैठे थे, समझो करीब 60 साल के ऊपर के रहे होंगे. जिस वजह से मेरा लंड अब तेजी से एक पिस्टन की तरह उसकी चुत में अन्दर बाहर हो रहा था. पटा नहीं उसे क्या हुआ कि जल्दी ही उसके मुंह से सिसकारी छूटने लगी और आवाज लगाने लगी- आ आ उ उ अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है, जल्दी से मुझे चोद दो!उसकी चूत ने इतना पानी छोड़ रखा था कि ऊपर आते ही मेरा लंड जो 6 इंच का लंबा 3 इंच मोटा है, उसकी चूत में घुस गया और मैं भी हैरान रह गया कि बिना कंडोम के उसने लंड कैसे मेरा चूत के अंदर ले लिया.

अब वो भी मजा लेने लगी थी, वो अपने चूतड़ ऊपर उठा उठा कर वह भी खुद को चोदने में मेरी मदद करने लगी. लेकिन रेस लगाते हुए क्या कोई धीमी रफ़्तार से भाग कर जीतने की सोच सकता है! कुछ धक्के लगाने के बाद मेरे लंड ने स्वतः रफ़्तार पकड़ ली और मैं दुबारा हुचक-हुचक कर चुदाई करने लगा. उनके गोल और बड़े आकार के मम्मों को छूकर मैं मन ही मन बहुत खुश हो रहा था.

मेरी गर्म और गंदी कहानी के पहले दो भागोंशादी में चूत चुदवा कर आई मैं-1शादी में चूत चुदवा कर आई मैं-2में आपने पढ़ा कि मैं राजस्थान के एक गाँव में शादी में आई हुयी थी और मेरी चूत की आग मुझे जीने नहीं दे रही थी.

तो भाभी मुझसे चिपक गयी और बोली- थोड़ा सब्र करो!फिर हमें बाजार से लौटते हुए काफी रात हो गयी. इस अचानक हुई घटना में कुछ भी हो, मुझे तो बहुत मजा आया और किसी की मदद हुई सो अलग.

बीएफ शॉट हिंदी मेरे प्रिय पाठको, आपने मेरी पिछली कहानीअधूरी ख्वाहिशेंपढ़ी और पसंद भी की, धन्यवाद. मगर मुझे तब बड़ी हैरानी हुई, जब मैंने एक फोटो पर उसकी और अपनी फोटो देखी, जिसमें हम दोनों चुदाई कर रहे थे.

बीएफ शॉट हिंदी यह तो तुम्हारे साले की साली की बेटी है, वैसे भी इसकी मां से तुम्हारे सेक्सी मजाक का रिश्ता कहलाएगा, फिर ये वन्द्या उसकी बेटी है तो इसे आराम से चोद सकते हो!राज अंकल बोले- यार, हालत तो मेरी भी बहुत खराब हो रही है. बड़ा स्वादिष्ट पानी था, थोड़ा थोड़ा नमकीन टाइप का बड़ा मजा आ रहा था.

जब वो आगे आये तो मोमबत्ती की रोशनी में हल्का सा दिखा कि वो लोग बहुत लंबे चौड़े हैं, खैर फिर मैंने उन दोनों को भी केक खिलाया.

गांव देहाती सेक्सी

तभी रशीद ने इतना जोर का झटका दिया कि उसका लंड पायल की गांड को फाड़ता हुआ अन्दर चला गया. तो मैंने पजामे की तरफ देखा मेरा लंड तो पहले से ही सरिता के बारे में सोच-सोच कर खड़ा हुआ था. उस पूरी रात मैंने उनके नाम की दो बार मुठ मारी और सुबह 4 बजे सो पाया.

मैं अपने लंड के सुपारे को चुत में डाले हुए रुक गया और लंड को उसकी चुत से निकालने की सोचने लगा. पर मैं बोली- मैं आपसे कितनी छोटी हूँ।वो बोले- कुछ नहीं होता है, तुम बताओ?मैंने भी हाँ में सिर हिला दिया और उठकर जाने लगी तो उन्होंने मुझे पकड़ लिया और चूमने लगे, मैंने भी उन्हें किस कर दिया।फिर मैं घर वापस आ गयी खुश होकर और अपनी उनके साथ चुदाई की सपने देखने लगी. मुनीर ने उस व्यक्ति को कुछ कहा और वो व्यक्ति अपनी अवस्था से उठ कर पीठ के बल लेट गया.

यह कहते ही उन्होंने एक ज़ोर से झटका दे मारा, मेरी आँख से आँसू निकल गए.

हिमानी तड़पने लगी, मैंने एक दो बार और अन्दर बाहर किया तो हिमानी दर्द से बिलखने लगी. ”जी!” पूजा ने इससे ज्यादा कुछ नहीं कहा।मैंने चलने को कहा तो और जैसे ही दरवाजे की तरफ चला तो पूजा की मीठी सी आवाज कानों में पड़ी- प्लीज आप थक गए होंगे … चाय पी कर जाइये. वो जो अंग्रेजी में बोली वो मैं हिंदी में लिख रहा हूँ- मैं तुम्हें दस मिनट से देख रही हूँ.

उसके बाद मैंने अपना अंडरवियर उतार दिया और हम दोनों जन्मजात नंगे हो गए. हम लोग बताई हुई जगह पर पहुँचे और उस महिला को फोन किया तो उसने बताया कि शालिनी अभी बाहर गई हुई है, थोड़ी देर बाद आएगी, तब मिल लेना; आप लोग इन्तज़ार करो।हम लोग वहां रुकने की बजाये 1 किमी दूर रोड पर आकर एक रेस्टोरेन्ट पर बैठकर इन्तज़ार करने लगे. मैं बोला- कितनों को ये आम चूसने को दिए हैं?तो साली बोली- जितनों का केला चूसा है उन सबने आम चूसे हैं.

कुछ देर इसी तरह से धक्के मारने के बाद जब लंड का पानी गांड में गिर गया, तो वो ढीला हो गया. बाद में मेरे भाई ने मुझे बताया था कि वो बहुत सारी लड़कियों को चोद चुका था और उसको सेक्स कर बहुत अच्छा अनुभव है.

फिर तकरीबन 10 मिनट बाद मैंने उसे अपने नीचे ले लिया और कॉन्डम पहन कर धीरे से उसकी चूत पर अपना लंड रख दिया. अगले ही दिन मैंने उसके चाचा को ढूँढ कर कहा कि अगर ठीक रास्ते पर नहीं आए, तो तुम्हें जेल भिजवा दूँगी, मुझे सब पता लग गया है कि तुम लड़की को बेचने जा रहे थे. मैंने लगभग पांच मिनट चुत चाटी होगी कि और बर्दाश्त करना उसके बस से बाहर हो गया और वो झड़ गयी.

इसके बाद मैंने उनकी दोनों टांगों को खोला तो पाया कि भाभी की चुत बिल्कुल चिकनी चमेली थी.

अब मैंने उसके पूरे शरीर पर चुम्बनों की बारिश कर दी, जिससे वो गर्म हो गई थी. इसके बाद मुझे विदाई मिली, बहुत सारे जेवर, रुपए और सबसे बड़ी बात मेरी चूत को संतुष्टि मिली. कोई तीन चार मिनट बाद ही कम्मो ने अपनी पैर अच्छी तरह से खोल दिये जिससे उसकी जांघें खूब चौड़ी हो गयीं फिर उसने मेरी तरफ कनखियों से देखा कि कहीं मैं उसे वाच तो नहीं कर रहा.

जब मैंने ऐसा कहा तो उसने प्यार से मेरी तरफ देखा और मेरे गाल पे किस करके भाग गई. वो बोलीं- फिर कहां है मन आपका?मैं कुछ बोलता, इससे पहले वो बाथरूम में जाकर कपड़े धोने लगीं.

मुझे बस उस गेट से प्रवेश करके टॉयलेट में घुसना था, जो मेरे लिए ज़रा भी मुश्किल नहीं था. ऐसा थोड़ी देर तक करने से ही वो सुलगने लगी उसकी सांसें भारी होने लगीं और उसकी बांहें मुझे कसने लगीं. जब मनीषा हल्की शांत सी हो गई तो मैंने फिर से उसकी नाइटी को हल्का सा ऊपर उठाना चालू किया.

गोरखपुर कॉल गर्ल

तुझे बहुत मजा आएगा, तुम देखना हम तीनों मिलकर तुम्हें जन्नत का मजा हमेशा देते रहेंगे और मैं तुझे अलग-अलग एक से एक कड़क लंड दिलवाता रहूंगा.

अगर तुम नहीं तो कोई और सही, पर मुझे चुदाई तो चाहिए… अब जाओ और जल्दी से बातचीत कर के अपना मामला ठीक करो. मुझे शर्म सी महसूस हुई कि वह हिन्दी जानती है फिर भी मैं उसके बगल में बैठ कर मस्तराम जी के साइंस को समझने की कोशिश कर रहा हूँ।मैंने झेंपते हुए कहा कि मैं उसे तमिलियन समझ रहा था. कम्मो के गले से दुपट्टा निकाल कर उसके मम्में सहलाते हुए उसे चूमने लगा, उसके शहद से मीठे होंठ चूसने लगा और सलवार के ऊपर से ही उसकी जांघें सहलाते हुए मेरा हाथ उसकी चूत तक पहुँचने लगा.

आज मेरा सपना पूरा होने वाला था दोस्तो … मैं उनके कपड़े ऊपर से निकालने लगा, तो उन्होंने मना कर दिया. फिर थोड़ी देर तक ऐसे ही मूरत की तरह खड़ा रहने के बाद मयूरी के रोने से उसकी तन्द्रा टूटी. सेक्सी चुदाई वाली सेक्सी वीडियोमैं एक हाथ से उसका दूध दबा रहा था और दूसरे हाथ से पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत सहला रहा था.

दोस्तो, अन्तर्वासना के सभी पाठकों को जॉर्डन का प्यार भरा नमस्कार।प्रस्तुत है मेरी रोमांटिक स्टोरी ‘अनजानी दुनिया में अपने’ का अगला भाग!मेरी कहानी के पिछले भागअनजानी दुनिया में अपने-4में आपने पढ़ा कि मैं दिव्या की मां कामिनी की कामवासना को एक बार संतुष्ट कर चुका था और अब दूसरी बार की चुदाई चल रही थी. मेरे बगल में बिस्तर खाली पड़ा था पर बिछा हुआ था उस बिस्तर में तीन जेन्ट्स आ गए.

समझे मेरे भोले राजा?तब मैंने पूजा की चूचियों को जोर से दबाते हुए कहा- तो ऐसे बोलो ना कि तुम्हें टॉयलेट जा कर अपनी चूत से सीटी बजानी है. वो अपना ब्लाउज और जैकेट उतारने के लिए रुकी और कपड़े उतार कर वापस लौड़ा चूसने लगी. कुछ देर बाद वो चाचा से बोला कि इसकी टांगें फैलाओ ताकि चूत को देख सकूँ कि यह चुदी हुई है या नहीं.

हम दोनों सोफे पर बैठे और चाची पानी लेकर आईं, हम दोनों ने पानी पिया और उनकी तरफ देखने लगे. तभी उसका एक हाथ मेरी सलवार के ऊपर से ही मेरी चुत पर आ गया और मेरी चुत को उसने अपनी मुठ्ठी में पकड़कर दबा दी. इसलिए उसको अपनी चुत का रंग और मम्मों को दिखा दिखा कर उसे अपने कब्ज़े में कर लेना और हर रात उससे बोलना कि तुम मेरे पूरा ख्याल रखने का वादा करो.

जैसे ही लंड ने चूत से दोस्ती की तो भाभी भी मेरा साथ देने लगीं और अपने चूतड़ उछाल उछाल कर मुझसे चुदवाने लगी थीं.

वो चुदास में कामुक सीत्कार निकाल रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… ये क्या कर दिया … हां बस ऐसे ही यस यस बेबी चूस लो इन्हें … आह … न जाने ये इस पल के लिए कब से तड़प रहे थे’वो अपनी चुदास में न जाने क्या क्या बड़बड़ाती रही और मैं भी उसके मम्मों को चूसता और मसलता रहा. आप खुद अपने आप में ही शराब हो, तो ऐसे शवाब को और शराब जरूरत ही क्या है?ये सुनते ही पायल शरमा गयी और कहने लगी- क्या सर… कुछ भी बोलते हो.

इसके लिए मैंने उनके कमीज के अन्दर हाथ डाल दिया और मौसी की ब्रा के ऊपर से ही उनके मम्मों को दबाने लगा. रजत- अरे कोई बात नहीं… मैं तो तुम्हारा भाई हूँ… किसी से कुछ नहीं कहूंगा. जैसे ही मेरे होंठों में लन्ड छुआ, उसकी एक अजीब सी महक मेरे नाक में समा गई, इतना गर्म था अंकित का लन्ड कि लगा जैसे मेरे होंठ जल जायेंगे.

भाभी ने वो कवर पलटा तो वो ये देख कर हैरान रह गईं और बोलीं- दीप तुम ऐसे मूवी देखते हो?तो मैंने भी हिम्मत कर के बोल दिया- भैया भी तो मुझसे ही ये मूवी लेकर आपको दिखाते हैं. अब मैं बिस्तर पर चित लेट गया और मौसी अपनी चूत को मेरे लंड पर फंसाते हुए मेरे ऊपर बैठ गईं. मैंने उसका टावेल उतार दिया और किस करते हुए एक हाथ से उसकी चूचियां दबाने लगा.

बीएफ शॉट हिंदी मैंने भी धीरे से बोल दिया- इतने सालों से थे तो खा ही रही हो उनके साथ. हमारा एक दूसरे को बेतहाशा चूमना, अंगों को रगड़ना और दबाना शुरू हो गया.

दिसावर ओल्ड

वो वहां शावर के नीचे खड़े हुए थे पानी उनके ऊपर से लेके नीचे लंड तक बह रहा था. तारा ने मुझसे कहा कि हम सब इतनी दूर से आये हैं … पैसा खर्च किया और अब तुम नाटक करने लगी हो. जब मैं पानी पी रहा था, तब वो बोलीं- वैसे तुममें भी कोई कमी तो नहीं लगती है.

सुनील ने इतनी जोर से ब्रा खींची थी कि उसकी ब्रा के दो टुकड़े हो गए और हुक्स बिखर गए. हनी के साथ खेलने के बहाने मेरी भाभी भी मेरे साथ मस्ती करने लगी थीं. सेक्सी ब्लू पिक्चर हिंदी हिंदीअब मैंने उनके पैरों से चूमना शुरू किया और उनकी जांघों व नाभि को किस करता हुआ दोनों स्तनों तक पहुंच कर उन्हें मुँह में भर कर चूसा, चूमा और जीभ से चाटने के साथ-साथ हाथों से भी दबाया, सहलाया व मरोड़ा.

खैर फ़िलहाल तो आपको ये एडल्ट स्टोरी कैसी लगी, ये मुझे मेल करके बताना ना भूलें.

बारिश की वजह से मेरा शर्ट गीला हो गया था तो बॉडी से चिपक गया था और वो और ज्यादा मजे से हाथ से सहला रही थी और मेरे गालों को चूम रही थी. तभी उसको पहली नजर में देख कर उसे चोदने का ख्याल आया मेरे मन में!साड़ी पहने हुयी पतली कमर, फूली हुयी गाण्ड, छोटी चुची मन तो किया कि अभी पटक कर चोद दूं।फिर मैं उसके बताने पर उसके पति के खिलाफ मुकदमा दायर कर दिया और इस प्रकार वो हर तारीख पर कचहरी आने लगी।एक दिन कचहरी आने पर उसने मेरा फोन नम्बर मांगा तो मैंने दे दिया.

वहीं पास में कुछ लोग और खड़े थे, फिर भी अंकित पास आकर बोला- वन्द्या मान जा और चुदाई करवा ले! मुझसे अच्छा लन्ड और कहीं नहीं पायेगी. मैंने देर ना करते हुए उसकी सलवार उतार दी और उसकी चिकनी चुत को देखते ही दिल खुश हो गया, जो इस वक्त फूल कर डबल रोटी की तरह दिख रही थी. जैसे ही मैंने उसको देखा मेरा लंड जो सोया हुआ था, एकदम से जग गया और जींस से बाहर आने के लिए बेकरार होने लगा.

पहली बार मेरे साथ ये सब हो रहा था तो उत्तेजना के मारे मेरा लौड़ा बुरी तरह तन्ना रहा था.

पहली बार मेरी गांड में मुझे सेटिस्फेक्शन मिला, पूर्ण संतुष्टि मिली. कमल के जैसी आँखें, रंग एकदम गोरा और उसकी मुस्कुराहट पर तो मैं क्या. हमने ऐसा ही किया और इस तरह से अब उनकी नज़रों में भी मैं शादीशुदा हो गई.

தமிழ் பேசும் செக்ஸ் வீடியோमेरे सारे कपड़े तो पहले से ही भीग रहे थे, अब डर भी था और चुदने का मन भी कर रहा था. क्योंकि गांव में मुझे कुंए पर या फिर किसी भी घर में कोई न कोई सेक्सी औरत या लड़की नहाते हुए या कपड़े पहनते हुए दिख ही जाती थी.

पाकिस्तान की सेक्सी फिल्में

मैंने भी उन्हें बोल दिया कि आपके जैसे सेक्सी कोई मिले, तब तो कुछ सोचूं. इन्हीं बातों से उत्तेजित होकर वो मुझे ऐसे किस करने लगा, जैसे एक हीरो अपनी हीरोइन को किस करता है. मैं बहुत देर तक उस फोटो को देखती रही, तब जा कर पता लगा कि उसने कम्प्यूटर की मदद से मेरा और अपना फेस उस फोटो पर लगाया था.

जैसे ही मेरे पति के वीर्य की धार छूटी तो मेरी चुत भी हार गई और मेरी चुत ने पानी छोड़ दिया. कुछ देर यूं ही रुके रहने के बाद मैंने उसे साफ किया, कपड़े पहनाए और हम दोनों जाने को तैयार हो उठे. दूसरे दिन क्योंकि बच्चा अभी माँ का दूध पीने का आदी था, इसलिए मैंने सुबह सुबह ही किसी दुकान से माँ के दूध का सब्स्टिट्यूड लाकर दूध पिलाया और वो उसे बहुत मज़े से पीने लगा जैसे वो उसकी माँ का दूध हो.

बस तुम मुझसे गांड मरवाने की बात मत करो, चुत में चाहे जितनी मर्ज़ी लंड पेलो, रात भर चुत में लंड डालकर पड़े रहो. और पूजा भी कहती है- तुम जैसी चुदाई मेरी पूरी रिश्तेदारी में कोई नहीं करता! मैंने सभी अपनी सहेलियों और बहनों से यह पूछा है, सब कहती हैं कि उनके पति तो बस 2-4 मिनट में ही झड़कर दूर जाते हैं. मैंने करीब दस मिनट तक और तेज़ तेज़ धक्के मार कर अपना लंड पूरा का पूरा पूजा की चुत में डालकर अपने लंड के पानी से पूजा की चुत को भर दिया.

ये सुनते ही रशीद बोला- अरे तू ऐसी है कम से कम दस बार चोदने के बाद भी तेरा जादू बढ़ता ही रहेगा, तू डर मत. उस दिन रविवार था इसलिए हनी बहुत खुश हुई कि वो पूरा दिन मेरे साथ रहेगी.

मौसी के घर में जितने मर्द थे, सभी मेरी तरफ एकटक देखते रहते, कोई मेरा नाम पूछता, कोई मुझे बस घूरकर देखता ही रहता, वहां बूढ़े या जवान सब … पता नहीं क्यों मेरी तरफ एक अजीब सी नजर से मुझे देखते थे, मैं भी सोचूं कि पता नहीं ऐसी क्या बात है मुझमें जो सभी बस घूरे ही जाते हैं जैसे कभी लड़की ही ना देखी हो.

मैंने कहा- मैं उसे दिल से प्यार करता था और शादी के बाद सब करने के सोचा था. व्हाट्सएप ग्रुप xxxफिर मैंने पूछा कि तेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड है क्या?उसने भी ना में अपना सिर हिला दिया. सेक्सी फिल्म छोटी वीडियोवो पूरा चीख रही थी और परदे के पीछे से उनकी नौकरानी हमारी चुदाई देख रही थी और वो मुझे दिखा कर अपनी अंगुली अपनी चूत में करने लगी. दूसरे दिन से में कॉलेज में जाकर हर किसी लड़के को देखकर स्माइल देने लगी, पर सब बदले में स्माइल देकर निकल जाते थे क्योंकि मैं शरीफ लड़की थी इसलिए लोग अब भी मुझे शरीफ ही समझ रहे थे.

साथ ही चुदास इतनी अधिक बढ़ चुकी थी कि हम दोनों एक दूसरे के अन्दर सामने के लिए आतुर हो रहे थे.

इसी समय मेरे पीछे गांड में मुझे अजीब सी गुदगुदी सी होने लगी और मैं अपनी कमर को उठाकर पीछे करने लगी ताकि समाली अंकल का लौड़ा और घुस जाए. जैसे ही उसके नीचे के दोनों होंठ चूस कर मैंने जीभ अन्दर डाली, उसके सब्र का बाँध टूट गया और चुत से सैलाब निकल कर मेरे चेहरे को नहला गया. पापा- अच्छा… सॉरी बेटा… आजकल मैं शायद काम में कुछ ज्यादा व्यस्त रहता हूँ.

क्या आपकी इजाजत है मेरी प्यारी स्नेहा रानी?वो शरमा गयी, फिर मीठी स्माइल करके उसने हां में सिर हिला दिया. अंकल जी तखत खाली ही तो पड़ा है, जब शाहजहाँ जी आयेंगे तो मैं उठ जाऊँगी पक्का, चलते चलते पांव दुःख गये मेरे तो अभी दो मिनट आराम कर लूं बस!” वो बड़ी मासूमियत से बोली. लाल साड़ी पहनने के साथ गले में लटकता हुआ मंगलसूत्र, मांग में सिन्दूर, माथे पर बिन्दी और होंठों पर चटक लाली, उनकी ये अदा मुझ पर किशोरावस्था से ही कहर ढा रही थी, जिसे कैश करने का मौका युवावस्था में उस रात मिल चुका था.

ऑनलाइन 715 जॉब

जब वो सुबह उठने को हुआ तो मैंने उसे अपने पास खींच कर उस का लंड अपने मुँह में लेकर अच्छी तरह से चूसा, तब तक … जब तक कि उसका पूरा लावा नहीं निकला. प्रिया अब फिर से पूरे जोश में आ गयी थी और मेरा तो हाल बस पूछो ही मत. मेरी क्लासमेट की सेक्स की कहानी के पहले भागक्लासमेट गर्लफ्रेंड बन कर चुद गई-1में अब तक आपने पढ़ा कि मुस्कान एकदम नंगी मेरे सामने थी.

मैंने भी अपने पूरे कपड़े निकाल दिया और अपना लम्बा लंड उनकी नजरों के सामने हिलाने लगा.

मैंने मालिश खत्म की और 5 मिनट के चुसाई के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

मैं भी अब धीरे धीरे अपने धक्कों की गति को बढ़ाने लगा, जिससे प्रिया के मुँह से सिसकारियां फूटनी‌ शुरू हो गईं. पर मैंने उसकी बात को अनसुना कर दिया और उसकी कमर को पकड़ कर अपने लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करता रहा. भाई बहन और मां का सेक्सी वीडियोउस दिन सर के लंड का स्वाद तो नहीं मिला, लेकिन उनके दोस्त के लंड का स्वाद मिल गया था.

वो ऐसे ही लंड घुसा कर मेरी गांड में मेरे ऊपर लेट गए और हम दोनों थोड़ी देर तक ऐसे ही लेटे रहे. पर रात वाली बात बार बार याद आ रही थी, तो मैंने अपनी सहेली मानसी को वो बात बोली और पूछा- वो क्या कर रहे थे रात में?वो बोली- सब जानती है तू … फिर भी ऐसा नाटक क्यूं कर रही है निशा?मैं बोली- अरे मुझे नहीं पता कुछ भी, तू बता ना?मानसी बोली- उसे चुदाई कहते है पगली! और वैसा सब करते हैं, तेरे मम्मी पापा, मेरे मम्मी पापा सब लोग करते हैं. बीच की सीट में एक उम्रदराज आदमी बैठे थे, समझो करीब 60 साल के ऊपर के रहे होंगे.

और फिर अशोक ने मयूरी को अपनी बाँहों में उठाया और उसको उठाकर अपने कमरे में लाकर अपने बिस्तर पर पटक दिया. फिर एक दिन शाम को जब मैं कॉलेज से घर आई तो मेरे घर में ताला लगा हुआ था, बगल वाली आंटी ने चाबी देते हुए बताया कि मेरे मम्मी पापा और भाई तीनों नानी के घर गए हैं मेरी मामी को देखने! उनकी तबियत ठीक नहीं थी.

हां वो तो मैं कल ही आपकी नज़रें देख कर समझ गयी थी कि आपकी नज़र मुझ पर है लेकिन ये पता नहीं था कि बात यहां तक पहुंचेगी.

एक ने अपना लंड भी चुसवाया लेकिन किसी ने भी मेरी बुर नहीं चाटी। बस उंगलियों से सहला कर गर्म कर लिया. ओयय … बहुत दर्द हो रहा है, मम्मीईईई …!,ओय्यय … महेश्श्स … बहुत दर्द हो रहा है. घर आकर मैंने बाथरूम में जाकर लंड का पानी निकाला और अपने रूम में जाकर भाभी की वीडियो देखा.

ಕನ್ನಡಸೆಕ್ಸ್ बाहर उसके पापा थे, उसने पापा से बोला- अंदर पानी नहीं है, मुझे भी बाल्टी चाहिए, अंदर पानी डालूंगा टायलेट में, तब आपके जाने लायक होगा. फिर धीरे धीरे वो शांत होने लगी और मेरी कमर पर उसके हाथों की पकड़ कुछ ढीली पड़ने लगी.

थोड़ी देर में मैं मौसी के पैरों पर हाथ घुमाने लगा और उनका घाघरा थोड़ा ऊपर कर लिया. तभी चाची वहां भी आ गईं और बोलीं- अच्छा तो भाईसाहब ये भी सीख चुके हैं. मेरी सेक्सी कहानी को पसंद करने के लिए आप सबका तहे दिल से शुक्रिया। लेकिन कुछ लोग मुझसे मेरे फोन नम्बर वगैरा की माँग करते हैं और कुछ रिश्ते बनाने की! मेरी आप सब से विनती है कि ऐसे मैसेज न करें क्योंकि मेरे लिए यह मुमकिन नहीं है।आप बस मेरी सेक्स कहानियों का आनंद उठाइए और अगर कहानी में कोई कमी पेशी लगती है तो मुझे ज़रूर बताइए।आपकी चुदासी घोड़ी रूपिंदर कौर की सेक्स कहानी जारी रहेगी.

औरत सेक्सी फिल्म

मैं- मेरा भी निकल रहा है … आह … चाची … आह आपकी चूत!इतने में ही मेरा लंड भी पिचकारी मारने लगा. सुनील ने इतनी जोर से ब्रा खींची थी कि उसकी ब्रा के दो टुकड़े हो गए और हुक्स बिखर गए. बस 2 से 3 मिनट में ही वह बड़बड़ाने लगी- उहह … अमम्म … आआह ओह्ह …उसने ये सब करते हुए मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत में जोर से दबा लिया.

दोस्तो, मेरी कहानी आपको कैसी लग रही है? मुझे मेल करके बताएं, मेरी ईमेल आईडी है. मैंने अपना पासपोर्ट बनवाया हुआ था ताकि मैं भी अपने परिवार के साथ वहीं जा कर रहूं.

उसने मेरे लंड का सारा माल चूसके पी लिया और लंड को चाट कर साफ कर दिया.

मेरी चूत पीछे से खुल गई और उस पीछे वाले ने अपना कड़क लंड मेरी चुत में फंसा दिया. मैं भी दिन में बोर हो जाती थी इसलिए दोपहर में हम दोनों लोग फ़ोन पर बातें करते थे. मुझे अंकित बोला- शरमा मत, तू अपना काम कर ले, मैं पीछे घूम जाता हूं.

उसने कहा- कोई क्यों मुझमें क्या कोई कमी है?मैंने कहा- कहाँ मेरी किस्मत और कहाँ तुम. आंटी गरमा गईं, उनका एक हाथ मेरे कच्छे पर आ गया, तो मैंने तुरंत अपना कच्छा खोल कर लौड़ा बाहर निकाल लिया. मैंने उस दिन अंदर काली समीज और नीली ब्रा पहनी थी, वो मेरी शमीज के ऊपर से ही मेरे दूध को दबाने लगा, मैं पूरे जोश में आकर सिसकारियां लेने लगी, वो जोर जोर से दूध दबाये जा रहा था और मेरे होंठों को चूमे जा रहा था.

कुछ गद्दे और कम्बल खरीद लिए, मन ही मन खुश भी था क्योंकि 2 चूत मेरे पास आने वाली थी, लन्ड भी खुश था.

बीएफ शॉट हिंदी: मैंने भी उनका भरपूर सहयोग किया, मैं भूल गया था कि मैं एक छोटे से कस्बे से निकलकर भोपाल पढ़ने आया हूँ. वो अपने फार्म हाउस, जो शिमला के पास है, में रहना पसंद करते हैं और इसलिए बीच-बीच में वहां जाते रहते हैं.

बस ये सोच कर ही मैं भाभी पर टूट पड़ा और साइड से उनके मम्मों को दबाने लगा. वो भी पूरी तरह एक्टिव मोड में आ गई और उसकी उंगलियां मेरे बालों में चलना शुरू हो गईं. मैं उसको बोली- तुम अपने ऑफिस क्यों नहीं गए?तो वो बोला- मुझे काम करने का मन नहीं करता है.

तब भी समय निकाला और आज मैं अपनी सच्ची बॉडी से बॉडी मसाज सेक्स कहानी लेकर आप सबके समक्ष उपस्थित हो रहा हूं.

हालांकि अब तक मैं समझ चुका था कि मनीषा भी अपनी चुत चटवाने का मजा लेने लगी है. मैंने उसकी कमर को फिर से कसकर पकड़ा और पूरी ताकत लगा कर धक्का मार दिया, जिससे पूरा का पूरा लंड दीदी की चुत की गहराई में उतर गया. तू ठीक उसी समय एकदम से सामने आ जाना और अपनीमम्मी को चुदते हुए देख लेना.