हिंदी बीएफ डाउनलोडिंग वीडियो

छवि स्रोत,बीएफ फिल्म दिल्ली

तस्वीर का शीर्षक ,

माया सेक्सी फिल्म: हिंदी बीएफ डाउनलोडिंग वीडियो, ज़ीनिया- चार दिनों तक कल से मेरा पूरा परिवार बाहर जा रहा है, बस मैं और मेरी मां ही यहां रहेंगे.

भाई बहन की चुदाई बीएफ एचडी

अंकल जी मुझे अपनी गोद में ले गए और उन्होंने भी मेरे सामने पेशाब की. बीएफ बीपी वीडियो हिंदीअब मां डॉगी स्टाइल में खड़ी हो गईं … और अंकल ने मां को प्यार से पकड़ कर मां की गांड पर किस करके अपना लंड सैट कर मां को चोदने लगे.

उसने मेरे हैलो का कोई जवाब नहीं दिया, बल्कि अपनी नजरें नीचे झुका लीं. शिवानी सेक्सी बीएफअब तो मैंने अपने दोनों हाथों से उसका चेहरा पकड़ा और उसके पतले पतले होंठों को चूसने लग गया.

मैंने पूछा- इसका क्या मतलब हुआ?रघु ने बताया कि श्रेया कि सील भी उसी लड़के ने तोड़ी थी.हिंदी बीएफ डाउनलोडिंग वीडियो: मतलब?मैंने कहा- अरे यार तुम मेरे फोन पर घंटी नहीं कर सकते थे, जो हाथ पर नम्बर लिख रहे हो!वो सर खुजाते हुए बोला- सॉरी यार … मुझे कुछ समझ ही नहीं आ रहा है कि मैं कैसे क्या करूं.

चुदाई के बाद जब स्खलन होने को हुआ तो वो बोली- माल अन्दर नहीं निकालना.मेरा लण्ड टनटना गया तो मैंने नाज और मुमताज दोनों की चोली और घाघरा निकाल दिया.

बीएफ में नॉमिनी कैसे जोड़े - हिंदी बीएफ डाउनलोडिंग वीडियो

अगर आपकी इच्छा हो और आपको मुझ पर भरोसा हो … तो आप मुझे अपने और अमित के रिलेशन के बारे में सब कुछ बता सकती हैं वरना मत बताइए.काफ़ी समय ऑनलाइन बातें करने के बाद नन्दिनी ने एक दिन मुझसे कहा कि उसकी रूममेट घर जा चुकी है … और वो अकेली बोर हो रही है.

दोस्तो, दिल्ली की लड़कियां या तो लौंडे को सिरे से खारिज कर देती हैं या लंड पसंद आ जाए, तो चुदने के लिए टांगें खोलने में कोई हील हुज्जत नहीं करती हैं. हिंदी बीएफ डाउनलोडिंग वीडियो एक हाथ से उन्होंने मेरे एक दूध को दबाया हुआ था और दूसरे हाथ से मेरी जांघों को पकड़े हुए थे.

मेरी आंखों से आंसू ही बह रहे थे और मुँह से दर्द भरी चीख निकल रही थी.

हिंदी बीएफ डाउनलोडिंग वीडियो?

भाई घर में ना है … वा बड़ी बहन के घर जा रहा सै, तो मैं मौका पाकर तेरे गेल आ ली. तो मैं क्या करती, तो मैंने उसे अपने ही बेड पर सुला लिया।मैं भी कुर्ती पजामी में लेट गयी. सौम्या ने विजय की सारी जिम्मेदारी सरिता भाभी को सौंप दी और वो गांव चली गयी.

इसके कुछ देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर बैठा दिया और उसके होंठों पर लंड फिराने लगा. फिर मैंने और दबाव नहीं डाला, बस रुक गया और अर्शिया के बोबों से खेलता रहा. अब मैंने ऊपर उठकर पहले तो उसके बोबों को एक बार फिर से मसला और उसकी ब्रा का हुक खोलकर उसे भी उसके बदन से अलग कर दिया.

निशा- हां फाड़ दे रे जालिम, इस चूत को चीर दे … आह अब मुझसे रहा नहीं जाता. देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी दिल्ली में रहने वाली एक कुंवारी लड़की की पहली चुदाई की है. कार्तिकेय- हैलो जानू … क्या कर रही हो!मैं- कुछ नहीं … बस तुम्हारे लंड का इंतजार कर रही हूँ.

स्नेहा आगरा की रहने वाली थी और उसके माता पिता ग्वालियर में शिफ्ट हो गए थे. [emailprotected]बॉयफ्रेंड चुदाई कहानी का अगला भाग:मेरे बॉयफ्रेंड से मेरी दोनों बहनें चुद गईं- 2.

उसका लंड इतना मोटा था कि मैं चिल्ला उठी और मैंने अरविन्द को अपने दोनों हाथों से अपनी ओर खींच कर उस दर्द को सहने की कोशिश करने लगी.

मैं कमर के बल बिस्तर पर लेटा था … मुझे लगा अब वो मेरी पैंट उतार कर मेरा लंड चूसना चाहेंगी.

फिर वापस बिस्तर पर आ गया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर चूसने लगा. शायद कुछ लोग कहें कि जो हुआ … हॉट सेक्स विद बॉस … वो गलत था या एक धोखा था. जैसे ही मेरा हाथ सीट पर पड़ा, उसका दायां कंधा, मेरे बाएं बोबे पर इतना दबाव देते हुए लगा कि खरबूजा के आकार का मेरा बायां बोबा, तन कर आम बन गया.

यहाँ तक कि मेरे पति भी उनसे पूछ कर ही कोई काम करते हैं और मैं भी उनसे पूछ कर ही घर से बाहर जाती हूँ. मेरी ज्वाइनिंग के इन नौ दिनों में हेड ऑफिस के बहुत सारे लोगों से फ़ोन पर बात होती रहती थी. फिर मैंने वासना से बुआ को देखा और उनकी आंखों में चुदास साफ़ दिख रही थी.

मैं कामवाली बाई के दोनों मम्मों का बारी बारी से रसास्वादन करने लगा.

उसके नीचे गुलाबी रंग लिए चूत की झिरी … जिसके ऊपर छोटे गुलाब की पंखुड़ियों की तरह दो पत्तियां चूत के गुलाबी छेद को बंद किये हुए थीं. इससे शबाना को बहुत तकलीफ इसलिए नहीं हुई क्योंकि रमजान चचा बकरी पालन से इतना कमा लेते थे कि घर चलता रहे. मैंने खुजाने के बहाने अपना दायां हाथ उठाया और बाएं कंधे पर, जहां उसका लिंग रगड़ रहा था … वहां ले जाकर कंधा खुजाने लगी.

वो कराहती हुई बोलीं- आह मर गई … थोड़ा बाहर निकालो … मुझे दर्द हो रहा है. अपनी जीभ को उसकी चूत में घुसा कर मैं उसकी चूत को वापस गीली करने की कोशिश करने लगा. मैं दरवाजे के पास आया ही था कि काम वाली बाई ने कहा- साब, आपके लिए चाय बना कर लाती हूं.

मैंने हम दोनों के लिए एक और पैग बनाया और वो भी मेरे काफी करीब मुझसे लिपट कर बैठ गए.

रात को खाने के बाद हम दोनों जब साथ बैठ कर टीवी देख रहे थे तो वह मुझसे बोला- मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूँ. भाभी:उस दिन सुबह-सुबह मेरे पति के जाने के बाद अमित चुपचाप मेरे कमरे में अन्दर आ गया.

हिंदी बीएफ डाउनलोडिंग वीडियो धीरे धीरे उसको भी अच्छा लगने लगा … वो थोड़ा नीचे से गांड उठा उठा कर साथ देने लगी. और बिना कुछ ज्यादा सोचे समझे मैंने अपने मोबाइल के इन बॉक्स में नंबर लिख कर उसको बता दिया.

हिंदी बीएफ डाउनलोडिंग वीडियो वो बेचारा समझ रहा था कि वो मुझे चुपके से देख रहा था।उसको तड़पाते हुए मैंने बहुत ही इत्मीनान से अपने कपड़े पहनने शुरू किया।उसके बाद मैंने सबके लिये नाश्ता लगा दिया।उसके बाद मामा-मामी घूमने जाने के लिये तैयार होने लगे।मैं भी अपने कमरे में आ गयी. तौलिया गिरते ही लता का हाथ उसके मुँह पर चला गया और उसके मुंह से निकल गया- हाय राम इतना बड़ा लंड!चूंकि मैं गर्म हो चुका था इसलिए मैंने देर न करते हुए लता को अपने करीब खींचा और उसे चूमना शुरू कर दिया.

तो मैं उसे किस करते हुए नीचे की ओर जाने लगा और उसका लहंगा ऊपर करके उसकी मरमरी टांगों पर चुम्मा करता हुआ उसकी काली पैंटी को उतारने लगा.

राजस्थानी हिंदी पिक्चर सेक्सी

मैंने उसकी आंखों में झांकते हुए पूछा- क्या खाओगी?वो मेरी बात को शायद समझ गई थी इसलिए नजरें नीचे करके बोली- जो तुम खिलाना चाहो. मेरे एग्जाम आने वाले थे और उसी की तैयारी के लिए छुट्टियां चल रही थीं।एक दिन की बात है, जब मैं अपनी छत पर चढ़ा था तो मैंने देखा एक लड़की जो नहाकर छत पर बैठी हुई थी वो अपने हाथों और पैरों पर तेल की मालिश कर रही थी।मैं उसको जानता था. पीठ पर लैपटॉप बैग, एक हाथ में लड़कियों का पर्स … और एक हाथ में एक छोटी ट्रॉली.

मैं अपने ही मन में सही और ग़लत की ये लड़ाई लड़ ही रही थी कि मेरी ये चुप्पी शायद उनके लिए एक हामी की तरह काम कर गयी. मेरी मेरी सेक्सी चुत चुदाई कहानी के पिछले भागलंड चूसने में माहिर लौंडियामें आपने पढ़ा था कि कार्तिकेय ने मुझे अपने प्यार में इस हद तक डुबो दिया था कि मुझे और उसे बस अब किसी भी तरह चुदाई की आग बुझाना थी. होंठों को चूसना छोड़ कर मैंने उसकी तरफ देखा, तो वो शर्मा कर बोली- ऐसे मत देखो!आंखों में भर लेने दो आज … रोको मत.

ऊपर वह मोहतरमा चादर लपेटे हुई सोई थीं और उनके मुख से कुछ अजीब सी आवाजें आ रही थीं.

निशा की नजर जैसे ही मेरे पजामे के ऊपर पड़ी और उसने देखा कि मैं लौड़े को सहला रहा हूँ तो वह बिना पलकें झपकाए मेरे हाथ को देखती रही. कोमल अब एकदम ज्यादा जोरदार तरीके से नीचे से धक्के लगाने लगी थी जिससे मुझे समझ में आ गया था कि अब उसका कामरस निकलने का समय आ गया है. चूंकि चाचा चाची दोनों जॉब पर चले जाते थे और हम पूरा दिन नंगे रह कर मस्ती करते थे.

फिर मैंने उससे पूछा तो उन्होंने बताया- मैं वकालत करती हूँ और इंदौर अपने अंकल के घर जा रही हूँ. उसे भी मजा आने लगा और उसके मुंह से ‘आह … आह …’ की मादक आवाज आने लगी. लण्ड की ठोकर खाते समय मुमताज की आहें और सिसकारियां नया जोश भर रही थीं.

अहह आह ओह्ह ओह यस यस महह महहह अहह अहह योगु … अहह अहह ओह बेबी यआह याह ओह्ह अस सी सीई अहह … मैं गईई इ …”भाभी की जांघों की ‘थप थप थप …. जल्दी ही वासना भड़क गई और हम दोनों एकदम नंगे एक दूसरे की बांहों में जकड़े हुए चूसा चूसी करने लगे.

वो फिर से खिलखिला पड़ीं- यदि मेरी हंसी से आपका दिन बन जाता है तो मैं रोज सुबह से आपको अपनी हंसी से उठा दिया करूंगी. मैं तुम्हारा कब से इंतजार कर रही थी कि तुम कब आओ और मेरी जवानी का भरपूर फायदा लो. मैं मुस्कुरा दिया तो उसने पूछा- और मैं कैसी लगी?मैंने कहा- मस्त कांटा माल … अभी अन्दर से खोल कर देखूंगा … तब फाइनल कहूँगा.

वो चुत में उंगली करती हुई बुदबुदाई- क्या करूं … मुझे आज भी तुझको लंड के बिना प्यासी ही रखना होगा.

मैंने अपनी उंगली सुमन की बहन सरोज की गांड के सुराख पर रखी और उसकी गांड को सहलाने लगा. सेक्स करना है मैंने पड़ोस की भाभी से … यह इच्छा मैं काफी समय से अपने दिल में दबाये बैठा था. अब अर्शिया की चुत और मेरे हाथ के बीच पेटीकोट और एक पतली सी चड्डी थी.

दोस्तो, यह थी एक मादक दास्तान, इस सीलपैक गर्ल की चुदाई कहानी पर अपने मेल करके जरूर बताएं कि आपको चुदाई कैसी लगी. और जब राजू की आहें बढ़ गईं तो उसने उसे छोड़ दिया वरना राजू तो उसके मुंह में ही खाली हो जाता।अब गौरी ने राजू का सिर नीचे सरका दिया.

मैं समझ गया कि इसने मेरी चेहरे का चुसापन देख कर जान लिया है कि मैं मुठ मार कर आया हूँ. मैंने पूछा- मैडम, क्या आप नहीं जानती हैं कि मैं भी यहीं हूं … फिर भी आप ऐसा कर रही हैं. वो जब भी हमारे घर आते, तो हमेशा अपनी हॉट बहू की जवानी पर अपनी नज़र बनाए रखते और मुझे ताड़ते रहते.

सेक्सी वीडियो भेजा रडार

बेबी डॉल को पहन कर मैंने अपने कमरे की लाइट बंद कर दी और बाहर निकल कर चुपके से किचन में आ गयी.

अपने शरीर का पूरा भार शब्बो के चूतड़ों पर डाल कर मैं शब्बो को चोदने लगा. वो मुझसे बोला- वो सामने कुछ दूर पर एक कमरा जैसा कुछ है, हमको उसी में चलना चाहिए … वहां पानी नहीं आएगा. जल्दी ही हम दोनों 69 की पोजीशन में एक दूसरे परम आनन्द का अनुभव करा रहे थे.

वो मेरी कमर को सहला रहे थे और फिर वो मेरे लहंगे के ऊपर से मेरे से मेरे पैर की ओर आने लगे थे. पोर्न बैन होने के बाद मैं हताश हो गया था और अपने पुराने कलेक्शन से बोर हो गया था. बहन भाई बीएफ वीडियोउसका व्हाट्सएप चैक किया, तो पता चला कि सारे मैसेज ही उसकी सहेलियों के ही थे, जिसमें अधिकतर जोक्स ही थे और कुछ नहीं था.

ये बात आज से 4 साल पहले उस समय की है, जब मैं MBA करने के बाद इकोनॉमिक्स से MA करने का सोच रहा था. ’ की आवाज में तब्दील होती चली गई और चुदाई का मजा बढ़ता ही जा रहा था.

सेक्स के वक़्त शरद अक्सर कंडोम का इस्तेमाल करता था, पर जब कभी भी हमने बिना कंडोम के चुदाई की, मैं हमेशा उसे अपने वीर्य से मेरी चुत भरने को कह देती थी. यह बात उसने मुझे बाद में बताई और अपनी चिकनी चूत में मेरे कुंवारे लंड को जगह दी. मैं उसके मम्मों को दबा रहा था और पीछे से इतनी जोर से पकड़ा हुआ था कि उसका छूटना नामुनकिन था.

मैंने कहा- मैं समझा नहीं!वो बोली- बुद्धू हो … आज तुम जाटनी के पति बनोगे … और एक जाट के जैसे मुझे चोदोगे. पति ने भी मुझे कम ही चोदा था और उनकी मौत के बाद से मैंने अपनी चुत में उंगली भी नहीं की थी. वो बिना शर्ट पहने बाहर निकलने लगा, तो मैंने भी सोचा कि इतनी तेज बारिश में कौन मिलेगा.

उस टाइम मैंने उसको कैसे चोदा और कैसे उसकी गांड में लंड पेल कर बहुत भयंकर वाली चुदाई की.

हर वीकेंड पर हम कभी कोई सिनेमा, या कहीं अच्छी जगह घूमने निकल जाते और अकेले होने पर अब भी मज़े से सेक्स का आनन्द लेते हैं. फिर अलग हुए तो हम दोनों ने बाथरूम में जाकर शॉवर लिया और एक दूसरे को साबुन से रगड़ रगड़ कर पूरा साफ़ कर दिया.

दोस्तो, मेरा नाम रश्मि है और इस वक़्त मैं एक 32 साल की शादीशुदा महिला हूँ. मैंने बुआ को उनके कपड़ों के साथ बाथरूम में भेज दिया और अपने आपको … और बिस्तर को साफ कर दिया. कुछ देर बाद में मोटो बहुत ही बुरी तरह से काम्पने लगी और उन्होंने अपना पानी छोड़ दिया.

मैं ब्रा के ऊपर से ही उसके स्तन दबाता और चूमता रहा और उसकी गर्म गर्म सांसें तेज होने लगीं. छह साल पहले उन्होंने ही मुझे ये नौकरी दिलाई थी, तब से लेकर अब तक वो मेरे जीवन में मेरे मेंटोर या यूं कहें, मेरे शिक्षक के तरह रहे हैं. अब मुझे और मेरे लंड को उसकी जवानी और गोरे चिकने बदन का रसपान करने करना था.

हिंदी बीएफ डाउनलोडिंग वीडियो दो दिन में ही हम दोनों के बीच सेक्स को खुली खुली बात करना शुरू हो गया. मैं सिर्फ यही कहता कि मिलो कभी, इतना चोदूंगा कि तुम्हारी चूत को भोसड़ा बना दूंगा.

जॉन सीना फ़िल्में और टीवी शो

पहली बार जब मैंने उनकी बुर में मतलब चुत में जीभ को टच किया … तो कुछ अजीब सा लगा. तब मॉम बोली- ये सब बाद में कर लेना … अभी मुझे और मत तड़पा! आज मुझे तू अपनी रखैल बना कर चोद दे … और रोज़ चोदना!ये सुनकर मेरी खुशी और जोश दोनों बढ़ गए. लेकिन इस समय तो लण्ड का मजा लो, अब तो अच्छा लग रहा है ना?हाँ विजय, तुम जो कुछ भी कर रहे हो, अच्छा लग रहा है.

अब मैंने उसको कुतिया बनने को बोला तो वो झट से कुतिया बन गई और मैं उसके पीछे आ गया. हॉट सिस्टर सेक्स के दो मिनट बाद हम दोनों उठे तो अर्शिया ने मुझे लिपकिस किया और बोली- मेरे बॉयफ्रेंड के बारे में किसी को बताना मत!मैंने भी उसको बोला- तुम भी किसी को मत बताना कि मैंने तेरी चुदाई की है. बीएफ तेलगू बीएफ”जब बकरा बकरी करते हैं तो दिल नहीं मचलता?”ऐसा मचलता है कि बकरी को हटाकर खुद बकरे के नीचे हो जाऊँ.

खुद अपने हाथ से अपना चुचा मेरे मुँह में देते हुए मुझे रस पिला रही थीं.

रास्ते भर मेरी नजर सिर्फ और सिर्फ कोमल पर थी और ये बात उसको भी पता था. थोड़ी देर बाद मैं खड़ा हुआ और उसको ऐसे ही लंड पर लटका कर घूमने लगा.

मैंने उनकी तरफ देखा और पूछा- क्या हुआ गुल … आप लेटी क्यों है तबियत तो ठीक है न!उनकी आंखों में ऐसा नशा सा छाया था, जैसे उन्होंने शराब पी रखी हो. वो तेजी से गर्दन चलाते हुए मेरे लंड को चूसने लगी और मैंने भी उसके बालों को पकड़ कर उसके मुंह में लंड पेलना शुरू कर दिया. मैंने अब अपनी उंगली को गति दे दी और उन दोनों की चुत में तेज तेज अन्दर तक उंगली चलाने लगा.

फिर मेरे लंड ने उसकी गांड में जमकर एक पिचकारी मारी तो उसके मुंह से ‘आहहह …’ की एक गहरी सिसकी निकल गई.

पतली रूबिया के कपड़े के ब्लाउज से कसा हुआ मेरा कंधा और उसका कंधा एक दूसरे से कुश्ती कर रहे थे. तो पाया कि सुबह जब मैं सोकर उठता हूँ, तो मेरा लंड मुझे झड़ा हुआ मिलता है. इस बार सबसे पहले मैंने मैडम की गांड में उंगली की, तो मैडम ने कहा- पीछे से शुरुआत करोगे?मैंने कहा- हां, मुझे आपकी गांड बहुत मस्त लगती है.

बीएफ सेक्सी चोदने वाली चोदने वालीवो बोला- बड़ा मस्त भोसड़ा है तेरा!नवीन 69 में काफी देर तक मजा लेता रहा. एक मिनट से भी कम समय में हम दोनों बेड पर लेट गए और एक-दूसरे को चाटना चूसना शुरू कर दिया.

ट्रिपल सेक्स फिल्म हिंदी में

लेकिन तभी मुझे अहसास हुआ कि मेरे मुँह में हल्का सा अजीब सा स्वाद भी आ रहा था. मैं भी उसके पीछे पानी में भीगती हुई उस जगह पर पहुंची, तो देखा मेरा कार्ड वहीं पड़ा था. एक दिन मैंने भी सोचा कि क्यों न मेरे साथ जो घटना हुई, वो मैं आप लोगों के साथ साझा करूं.

वो अपनी प्लानिंग के अनुसार दिल्ली आ गए और उन्होंने एक होटल में रूम बुक कर लिया. मुझे यह अहसास हो गया था कि इस वक़्त ये सोचना सही नहीं है कि क्या सही है और क्या गलत. मैंने गुलनिहाल मैडम की आंखों में देखा, तो वो बड़ी मस्त नजरों से मुझे देख रही थीं.

तभी उसने अचानक मुझसे कहा- मनु भाई आपने गर्लफ्रेंड क्यों नहीं बनाई?मैं तपाक से बोल पड़ा- तुम्हारी जैसी बहन के होते हुए किसी और के पीछे जाऊं … ये मुझसे नहीं हो सकता है. मैं समझ गया कि आज रात आंटी की चुत को मेरे लंड की मेहनत की जरूरत पड़ेगी. मैंने अपनी मौसी की गांड मार ली थी और अब तो मौसी के सभी छेद रमा हो गए थे.

पहले ही धक्के में मेरा लंड आधा उसकी चूत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया. अब दीदी के सेक्सी बदन का भार मेरे मुंह पर पड़ रहा था इसलिए दीदी अपनी गांड की गोलाईयों को गोल गोल घुमा कर मुझे अपनी चूत का रसपान करा रही थीं.

भाभी के मुँह से जोर की चीख निकल पड़ी- आआह मर गई मम्मे रे … आआह … निकाल लो … आह.

मैं अपने मम्मों के ऊपर हाथ रखकर उन्हें छुपा रही थी क्योंकि मैंने ब्रा नहीं पहनी थी. कपड़ा बीएफबुआ की हालत पल पल खराब होती जा रही थी और उनकी वासना से भरी हुई सिसकारियां मुझे और भी उत्तेजित कर रही थीं. डॉक्टर की बीएफ एचडीमैं शुरू से ही लड़कियों के साथ खेला और पढ़ता रहता था, तो मेरा स्वभाव लड़कियों जैसा हो गया था. तभी उन्होंने मेरा हाथ अपने मम्मों पर रख दिए और एक पल के लिए होंठ हटा कर बोलीं- ये बहुत पसंद हैं न आपको … आज से आपके हुए.

अब्बू ने अपने कुर्ते से अपना लण्ड पोंछा और फिर से मेरी बुर पर रखा, मेरी चूचियों को मुँह में लिया और धीरे धीरे लण्ड को अन्दर धकेलने लगे.

वो अपनी जेब से पेन निकाल कर मेरी हथेली पर अपना फोन नम्बर लिखने लगा. रास्ते से मैंने एक कलाई पर बांधने वाली घड़ी ले ली जो उन्हें गिफ्ट में देनी थी. मैं उनके दोनों मम्मों को बारी बारी से चूसता रहा और वह मुझे पागलों की तरह किस करती रहीं.

उसके गोरे बड़े मम्मों पर काले काले अंगूर से कड़क निप्पल ऐसे मस्त लग रहे थे, जैसे रस से लबालब भरे हों. उसकी बात पर मैं कुछ कह पाता कि वो उठ कर अपने घरवालों के साथ चला गया. रश्मि दर्द से कराहती हुई बोली- आह मर गई सर … एक ही बार में पूरा क्यों डाल दिया.

दिसावर में आज क्या खुला है सुबह

अपने होंठों को मुमताज की बुर के होंठों पर रखकर मैंने चुम्बन किया और बुर से निकलने वाला रस चाटने लगा. तभी बुआ ने एकदम से मेरा हाथ झटका, उसी वजह से मेरा हाथ बुआ के ब्लाउज के अन्दर घुस गया. दिन गुजर रहे थे लेकिन मुझे कोई मौका नहीं मिल रहा था।एक दिन की बात है कि अश्मि सुबह के समय मुझे छत पर मिली.

अब डॉक्टर ने अपना लंड मेरी चुत में सैट कर दिया और मेरे दोनों पैरों को अपने कंधे में रखकर लंड चूत में पेलने की तैयारी कर ली.

अन्तर्वासना पर मैंने पहले भी सेक्स कहानी लिखी हैं, जिसमें एक सेक्स कहानीदोस्त की बहन मुझसे लव करती हैको पढ़कर बहुत से पाठकों ने जवाब दिया है.

मैं उठी … और बाहर जाकर देखा तो उसने खाना बना लिया था और मुझे उठाने ही आ रहा था. फिर कुछ पल बाद जब वो शांत हुई तो मैं आगे पीछे होकर लंड को अन्दर बाहर करने लगा. बीएफ देखने के लिए बीएफफिर वो अचानक से मुझे छोड़ कर बाथरूम में गईं और अपनी चूत को अच्छे से साबुन लगा कर धोकर आ गईं.

हम दोनों काफी ओपन माइंडेड हैं, एक दूसरे से हर तरह की बात कर लेते हैं. अब मैं नाभि से नीचे घुटनों तक अपने थैले से ढकी थी और वो कमर से जांघ के थोड़ा ऊपर तक बैग से ढका था. मैंने झट से उनको होंठों पर जीभ फिराते हुए यम्मी वाला इमोजी भेज दिया और लिख दिया कि काश आप मेरी वाइफ या गर्लफ्रेंड होतीं, तो आपको अभी चाट कर खा जाता.

मैंने तभी मुठ मारा और मैं ये सोचने लगा कि मॉम को कैसे चोदा जाए!सोचते सोचते मुझे नींद आ गई और मैं सो गया. मैंने फिर से एक जोरदार धक्का लगाया और मेरा लंड उसकी बुर को चीरता फाड़ता हुआ अन्दर तक चला गया.

रात को 3 बजे मामी अपने पति को छोड़कर हमारे पास आ गईं और हम तीनों ने फिर से थ्रीसम चुदाई का मजा किया.

रूबी आंटी बोले जा रही थीं- आह और चोदो मुझे … बहुत दिन के बाद चुद रही हूँ मैं … आह बहुत सुकून मिल रहा है. आपको मेरी सिस्टर हॉट सेक्स स्टोरी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करके बताएं. बेड पर गिरते ही मैं घूम गई और मेरी पीठ उनकी ओर करके मैं मुस्कुराने लगी.

14 साल की लड़की की बीएफ किसी का भी ज्यादा ध्यान ना देने का प्रमुख कारण हम दोनों का उम्र अंतराल भी था. मेरी पिछली कहानी थी:भाभी की चूत को उसके मायके में जाकर चोदामैं अभी 26 साल का हूँ, दिखने में एकदम सेक्सी हॉट और हैंडसम हूँ.

एक दिन उन्होंने मुझे अपने घर पर ये कह कर बुलाया कि आज उनका जन्मदिन है. किचन टॉप पर रखे घी के डिब्बे में से घी निकालकर मैंने अपने लण्ड पर मला और घोड़ी की चूत में पेल दिया. मैंने दस बारह तेज शॉट मारे और उससे पूछा- मजा आ रहा है जान!वो चीखने लगी, चिल्लाने लगी- ओह रॉकी बहुत मज़ा आ रहा … और जोर से करो … आह.

लिंग लंबा कैसे करें

लंड इस तरह से तो घुस नहीं सकता था इसलिए मैं ऐसे ही उसे काफ़ी देर रगड़ता रहा. वो लंड देख कर कहने लगी कि य…ये क्या है … इतना बड़ा और सख्त!मैंने कहा- ये मेरा औजार है और इसे लंड भी कहते हैं. सौम्या ने विजय की सारी जिम्मेदारी सरिता भाभी को सौंप दी और वो गांव चली गयी.

लोग कहेंगे कि मैं अमीर हूँ … तो कुछ भी कर सकता हूँ और अनन्या मिडल क्लास है तो मैं उसके साथ कुछ भी कर सकता हूँ क्या?नहीं नहीं … मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए. चूंकि हम दोनों का पानी एक एक बार झड़ चुका था … तो मैं जल्दी निकलने वाला नहीं था.

उस वक़्त दर्द से मैं मरी जा रही थी लेकिन मैं मुँह में कपड़ा ठुंसा होने के कारण चुप रही.

ये रात हमारी आखिरी रात है और फिर ना जाने कितने दिनों या महीनों तक हम फिर मिल नहीं पाएंगे. तीन रात सुमन को उसके घर में ही चोदा था, जो तुम्हारा खानदानी पलंग है … उसी में लिटाकर पेल दिया था. आज की चुसाई के बाद अब ऐसा लगने लगा था कि हम दोनों की ही लंड चुत चूसने की मतलब ओरल सेक्स भूख बढ़ गई थी.

खुश होते हुए मैंने कहा- हां हां, तू जब भी मुझे बुलायेगी मैं किसी काम के लिए मना नहीं करूंगा. मगर उसी समय मैंने उसकी आंखों में एक अजीब सी चमक और होंठों पर मुस्कान देखी. पर भाई मान नहीं रहे थे, वो जोर जोर से झटके ऐसे देते जा रहे थे जैसे कि मेरी गांड कोई खेली खाई गांड हो.

लेकिन जब मैंने उससे उसका उत्तर मांगा तो वो बोला- मुझे इसके सोचने के लिए कुछ समय चाहिए.

हिंदी बीएफ डाउनलोडिंग वीडियो: उसने जैसे ही वीडियो चालू किया, तो मैंने देखा कि वीडियो मस्त सेक्स वाली हिंदी की थी. अंकल का लंड फकाफक अन्दर बाहर हो रहा था और मां मस्ती से मुँह में लंड ले रही थीं.

दीदी ने भी अपनी गांड उठा कर पेटीकोट को निकल जाने में मदद की … अगले कुछ पलों में पेटीकोट की बंदिश को हटा दिया. मेरी बीवी ने उस डायरेक्टर की तरफ देखा और मुस्कान मारती हुई उसे हाय करने लगी. घर वालों के जाने के कुछ देर बाद मैंने दीदी को बोला और घर से निकल गयी कि मैं शाम तक आऊंगी.

मैंने कहा- ब्रा नहीं पहनी है?वो बोली- नहीं, इस समय नाइटी में मुझे अपने बूब्स खुले रखना ही पसंद हैं.

मैंने आंखें खोलकर देखा तो ये उनका वही दोस्त था, जो बाहर लॉबी में बैठा था. नमस्कार दोस्तो, मैं आपका राज शर्मा, हिन्दी देसी चुदाई की कहानी की साइट अन्तर्वासना पर आपका लौड़ा खड़ा करने और चुत गीली करने के नजरिए से स्वागत करता हूँ. मैंने जीजू के पापा को चाय दी तो वो बोले- मैं आज शाम को खाना बाहर से ही ले आऊंगा, तो तुम घर पर खाना मत बनाना.