सेक्सी बीएफ वीडियो चुदाई वाला

छवि स्रोत,लड़कियों के बूब्स

तस्वीर का शीर्षक ,

चोदी चोदा दिखलाइए: सेक्सी बीएफ वीडियो चुदाई वाला, मानसी ने जीजू को अपनी बाहों में भर लिया और उनकी कमर पर हाथ फिराते हुए उनके होंठों को चूसने लगी.

एंटी सेक्स

हर तरफ कैंडल लाइट्स थी। यह सरप्राइज था जो मैंने अपनी बहन के लिए प्लान किया था। मैं उसके पीछे से उसके पास गया। मैंने हाथ उसकी कमर पर रखा। वो थोड़ी कसमसाई क्योंकि गर्म तो वो पहले से ही थी।मेरा स्पर्श उसे रोमांचित कर रहा था। मैंने बड़े ही प्यार से उसके जिस्म पर हाथ फेरा और फेरते हुए हाथ ऊपर ले जा रहा था। मेरे हाथ उसके बोबे तक पहुंचे. माँ क्सनक्सक्समैंने मना किया तो वो बोला- विक्रम की यह पहली चुदाई है, उसे सुहागरात वाला फील आना चाहिए।मैंने हाँ कर दी और तैयार हो गई.

वो मुझसे बोली- क्या तुम आस-पास के किसी बीयर बार का बता सकते हो?मैंने तो सर्च किया ही था. केले की सब्जीजब लड़की के शरीर में उभार आना शुरू होता है तब से ही उसको कुछ अजीब सा महसूस होने लगता है.

मेरी पिछली कहानीभाई की दीवानीपढ़ कर कुछ अन्तर्वासना के पाठकों ने मुझे नया नाम चुलबुली मोनी दिया है, जो मेरे ऊपर सही जंचता है.सेक्सी बीएफ वीडियो चुदाई वाला: मैंने यह तो सोचा था आज दिलिया मिलेगी … पर इस तरह मिलेगी, ये मैंने सपने में भी नहीं सोचा था.

उसके बाद मैं उससे फिर नहीं मिल पाया क्योंकि मैं पढ़ाई के लिए इंदौर आ गया था.पांच मिनट बाद मैं भी उनके मुँह में ही झड़ गया और वो मेरा सारा माल पी गईं.

एक्सएक्सएक्सफिल्म - सेक्सी बीएफ वीडियो चुदाई वाला

मालूम हुआ कि मैडम जी के सास और ससुर किसी सत्संग में एक हफ्ते के लिए अमृतसर गए हुए हैं और उनका पुराना नौकर मोहन दास अचानक बीमार हो गया तो छुट्टी पर था.लम्बा लंड चूत में घुसा, तो वो चिल्लाने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैंने कहा- क्या हुआ हिना जी?तो बोली- जिस खेत पर 6-7 महीने में एक बार हल चलता है … तो वो जमीन प्यासी तो होगी.

वह सिसकारियाँ लेने लगी ‘अह अम्म् ऊऊऊ मम्मम’ और मैंने एक हाथ से उसके दूध पकड़ कर जोर से दबा दिए. सेक्सी बीएफ वीडियो चुदाई वाला मैं तो बस ये सब लिखते समय भी अपनी वो मस्त भाभी के मम्मों को दबाने, निचोड़ने, चूसने, पूरा दूध निकाल कर पीने की सोच रहा हूँ.

वैसे तो मैं नींद में था मगर फिर भी मैंने अब अपनी आँखे खोलकर देखा तो घबराकर मैंने तुरन्त ही अपना हाथ वहाँ से हटा लिया, क्योंकि मेरा हाथ मोनी के उरोजों पर था और मैं उससे बिल्कुल चिपका हुआ था।मोनी तो अपनी जगह पर ही सो रही थी.

सेक्सी बीएफ वीडियो चुदाई वाला?

लंड को हाथ से मुठिया कर मैंने सोनल की चुत के ऊपर ही अपने लंड को झड़ जाने दिया. कुछ देर में उन्होंने मेरी लाइफ के बारे में सवाल किये, मैं उनके सब सवालों के जवाब दे रही थी. उस प्यार में अब हवस का मिठास मिलकर मेरी गीतू चाशनी से ज्यादा मीठी हो गई थी जिसका गर्म-गर्म रसीला बदन मैं अभी भोगना चाहता था.

बस में से उतरने के बाद हम दोनों ने अपने फोन नम्बर एक-दूसरे को दिये और मैं वहाँ से भैया के रूम पर चला गया. माँ- मेरे राजा ऐसी चुदाई रोज किया करो मेरी … म्म्मम्म … तुम्हारा रस भी कितना टेस्टी है … म्म्मम्म … चाट लो मेरी चूत को … आह … आह … 20 सालों के बाद आज मैं संतुष्ट हुई हूं. साथ ही मैं चुपके से उनके सामने देखती, तो वो हमेशा ही मेरे चूचों और गांड को ही देखते रहते.

आठ-दस धक्कों के बाद लंड ने उसकी चूत के अन्दर पानी छोड़ना शुरू कर दिया. मेरे होंठों से अपने होंठों को दूर हटाने की एक बार तो उसने कोशिश की मगर मैं भी ऐसे हार नहीं मानने वाला था. फिर मुझे एक बात सूझी, मैंने उनसे पूछा- जब मैं आपकी बीवी की तरह एक्टिंग कर रहा हूँ.

एक दिन मैं एक खाली पीरियड में लाइब्रेरी में पढ़ाई करने का नाटक करते हुए ऊँघता हुआटाइम पास कर रहा था, तो स्कूल का सबसे सीनियर चपरासी रामजी लाल मुझे ढूंढता हुआ आया- राजे … तुम्हें बाली मैडम ने बुलाया है … स्टाफ रूम में … चलो फटाफट!रामजी लाल को सब लोग ताऊ कहा करते थे. परंतु अब मेरी शादी होने वाली है, तो क्या सुहागरात के दिन मेरे पति को पता चल जायेगा कि मेरा योनि भेदन हो चुका है.

मुझे बहुत दर्द हुआ मगर साथ में बच्चे सो रहे थे इसलिए मैंने अपनी दर्द भरी आवाज को अंदर ही दबा लिया.

दो बच्चों की माँ होने के बाद भी आंटी देखने में बड़ी ही कामुक लगती थीं.

सायमा की गीली पैंटी पर मैंने अपनी हथेली से सहलाना शुरू कर दिया और उसकी छाती को भी एक हाथ से दबा रहा था. मैंने आशीष से पूछा- तुम कब आओगे मुझसे मिलने के लिए?वो बोला- मैं जल्दी ही प्लान करूंगा. उनका असली नाम सो अक्षर से ही शुरू होता है जिसे मैंने सो से सोनम बना लिया.

उन्होंने पूछा- उसके साथ कभी सेक्स किया था?मैंने बोला- हां 1-2 बार, लेकिन वो बहुत डर डर के सेक्स करती थी. मगर मैं जब भी आगरा जाऊंगा तो उस सेक्सी टीचर की चुदाई करके जरूर आऊंगा. उनका असली नाम सो अक्षर से ही शुरू होता है जिसे मैंने सो से सोनम बना लिया.

मगर उनको क्या पता था कि मैं आज अपने आप को बेच कर आई थी।2 दिन बाद हम दोनों वायुयान से गोवा चले गए.

मैं हर रोज इस बात के इंतजार में रहती थी कि कब जीजा जी को मेरे साथ अकेले में रहने का टाइम मिलेगा. मैं सोचता रहा हूं कि अन्तर्वासना से जुड़ने से शायद मुझको नए दोस्त मिल जाएंगे. ”तू समझ नहीं रहा अच्छा दूसरी फ़ोटो दिखाता हूँ, ये देख!”अरे ये … इनकी फ़ोटो ब्रा पैंटी में … ये फ़ोटो तुझे कैसे मिली?”यह सुन के अंशु ने मेरी चुचियाँ दबाईं।कामिनी, अब समझ में आया? उपिंदर तेरी मम्मी को मेरे भाई से चुदवाने का प्रोग्राम बना रहा है.

हुआ यूँ कि एक दिन अचानक मेरे नाना जी की तबियत ख़राब हो गई और मेरी माँ उनके पास गांव चली गईं. वो बोली- अगर दोबारा वही नजारा सामने हो तो क्या करोगे?मैंने कहा- अबकी बार तो काट कर खा ही जाऊंगा. मैंने उसकी सलवार को खोल कर नीचे खींच दिया और उसे अपनी वाली जगह पर दीवार के साथ सटा दिया.

मैं उनसे पूछने लगी- अंकल, आपको मेरे बारे में इतना गंदा विचार कैसे आ गया?वे बोले- जब तुम हिला हिला कर मुझे अपना पिछवाड़ा देखाओगी, तो मैं क्या … कोई भी तुम्हारे पीछे पड़ जाएगा.

मेरा दोस्त उसकी जीभ को अपने मुँह में पकड़ कर चूस रहा था, जिसे देख कर मेरा भी लंड खड़ा होने लगा. मैंने लंड पेलते हुए पूछा- अच्छा, ये बताओ कि मेरा लंड बड़ा है कि उन दोनों का बड़ा था.

सेक्सी बीएफ वीडियो चुदाई वाला सुमेर का लण्ड खड़ा हो गया तो सुमेर बोला- आमिर ध्यान से देख ले कि कैसे चुदाई करते हैं. गहरे ब्राउन कलर का लंड जिसकी लम्बाई मेरे छः इंच वाले स्केल के बराबर रही होगी और वो किसी बड़ी तोरई जितना मोटा था और उस पर मोटी मोटी फूली हुई सी नसें उनके लण्ड को डरावना लुक दे रहीं थीं.

सेक्सी बीएफ वीडियो चुदाई वाला नम्रता के चुचे के उतार-चढ़ाव के देखते ही मेरे लंड में सुरसुराहट होने लगी. आज मैं जो कहानी आप लोगों को सुनाने जा रहा हूँ, वो किसी और की नहीं, मेरी अपनी है.

तभी मैंने उन्हें पलट दिया और डॉगी स्टाईल में चोदना शुरू कर दिया क्योंकि मैं उनकी गांड पे चमाट मारते हुए उनकी चुदाई करना चाहता था.

मराठी एक्स व्हिडिओ

जहां पहले में किसी भी लड़की को देखते ही उसकी चूत के बारे में सोचने लगता था, अब पहले ये ख्याल आता था कि ये भी किसी की बहन ही होगी. इस तरह भाबी के ना ना करते हुए भी मैंने उनकी गांड का स्वाद चख लिया था. भाबी के इस तरह लंड पर कूदते हुए खेल के दौरान ही मैंने भाबी के दोनों कूल्हों के बीच के छेद में उंगली घुसा दी, जिससे भाबी भी चिहुंक उठीं- देव, अब इसमें भी अपना ये मूसल डालोगे क्या?मैं- हां भाबी … पता नहीं कब से मुझे आपकी गांड मारने का मन कर रहा है.

मैंने दोनों को हैलो बोला और थोड़ी देर बात करने के बाद हम सब होटल में रूम लेने के लिए निकल गए. मैंने सोचा कि जब वह अपनी दोनों सगी लड़कियों को मज़ा दे सकता है, तो मौका मिलने पर मुझे क्यों नहीं देगा. मैं नजर बचाते हुए उसके पास पहुंचा और अंदर साइड में होकर मैंने उससे पूछा- क्या बात है? आज तुम यहां कैसे रुकी हुई हो?मनमीता ने मेरी पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड पर हाथ फिराते हुए उसको सहला दिया और मेरे सीने से लिपट गई.

फिर मैंने उसका लंड बाहर निकाला और किस करके कहा- मुझे मुख में लंड लेना बहुत पसंद है.

इस तरह से रात भर उन्होंने मुझे लगभग बीस बार चोदा और इतनी ही दफा मेरी गांड भी मारी. फिर मैं ऐसे ही ज़ोरदार धक्के लगाता रहा और फिर 15 मिनट तक ऐसे ही चोदता रहा. रानी ने लपक मुझे आलिंगन में बांध लिया और मेरा मुंह अपने मुंह से लगा कर चूमने लगी.

मेरा आनंद बढ़ रहा था तो मैं मजे में कामुक सिसकारियाँ ले रही थी जो काफी तेज हो गई थी. मैंने कहा- दीदी मैं आपकी टी-शर्ट उतार दूं?तो दीदी ने हां में सिर हिलाया. भाभी बोली- मैं रोज योगा करती हूँ, साथ ही घर पर ही थोड़ा बहुत जिम भी करती हूँ.

जब सारा सुहागरात का पूरा किस्सा सुना चुकी तो ज़रीना कहने लगी- आमिर, आप बहुत अच्छे तरीके से चुदाई करते हो … आप तो इंगलैण्ड चले गए थे और आपने नूरी खला को बोला था आपकी कई गर्लफ्रेंड थी. जब मैं काफी गर्म हो गई तो मैंने उसको चूत चाटने को कहा और वो मेरे किये अनुसार ही अपनी जीभ से मेरी चूत को मजा देने लगी.

जब मैं कौतूहल वश बेडरूम की तरफ मुड़ा, तो देखा कि भाभी कपड़े पहन रही थीं. वो टांगें खोल कर ‘उम्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊऊह …’ की आवाजें निकाल रही थीं. क्या बताऊं दोस्तो, उस 20 मिनट के सफर में मैं आनन्द के सागर में गोते लगा रहा था.

पेंटी हटाते वक्त मेरे पेटीकोट का नाड़ा भी ढीला किया हुआ पड़ा था, उसने पेटीकोट और मेरी नाइटी को भी मेरे बदन से अलग कर दिया.

मेरे ख्याल से वह अपनी चूचियों को छिपाने के लिए उठी थी मगर अब मैं उसके ऊपर आ चुका था इसलिए वह बस कंधे सिकोड़ कर रह गयी. लेकिन फिर एक दिन जब सौरव मुझे चोद कर मेरे घर के पीछे छोड़ने आया, तो मेरे पापा ने मुझे सौरव के साथ देख लिया. इसी तरह मैंने वाइन उसे फिर से पिलाई और उसके होंठों पे फिर होंठों रख दिए.

बेबी ने अपनी एक टांग उठाकर मेरी टांग पर रख दी ताकि उसको लण्ड रगड़ाई का पूरा मजा मिल सके. डॉली को पीठ के बल लिटा दिया, उसके चूतड़ उठाकर गांड़ के नीचे एक तकिया रखा और कमरे की लाइट जला दी.

उसके पति उसके साथ कुछ करते या नहीं, इस पर भाभी की अभी तक कोई टिप्पणी नहीं हुई थी. मेरे दूसरी तरफ से घूम कर जाने से अब स्थिति ऐसी बनने वाली थी कि काजल पीछे वाली सीट पर बीच में आने वाली थी और हम दोनों भाई-बहन काजल की अगल-बगल बैठने वाले थे. उस रात मैंने सायमा को कई बार चोदा और तब से लेकर आज तक उसकी चुदाई कर रहा हूँ। उसका पति जब भी घर पर नहीं होता तो वो बालकनी में आ जाती है जो मेरे लिए सिग्नल की तरह है.

हिंदी बीएफ यूट्यूब पर निबंध हिंदी में

आंटी बोलीं- सुन्दर या हॉट?मेरे मुँह से बेसाख्ता निकल गया- न सेक्सी और न हॉट … आप तो एक नम्बर की माल लग रही हो.

चूसते-चूसते दीदी की ब्रा भीग गई तो दीदी बोली- मेरी ब्रा को क्यों खराब कर रहा है?मैंने दीदी की ब्रा को खोल दिया और चूचों को आजाद कर दिया। अब मैं बूब्स के निप्पल को चूसने लगा जैसे कोई बच्चा दूध पीता है।दीदी कहने लगी- भाई, इतनी ट्रेनिंग कहां से ले रखी है?मैं बोला- दीदी, मैं इस दिन का कब से इंतजार कर रहा था। आज जब आपके चूचे चूसने के लिए मिले हैं तो मैं कोई कमी नहीं छोडूंगा इनका दूध पीने में. मौसी कुतिया सी बनी, तो एक औरत ने मेरे मुँह को पकड़ कर मेरी मौसी की गांड में दे दिया और चाटने के लिए बोला. मैंने मौसी के दोनों पैरों को घुटनों से मोड़ कर उनके पेट के ऊपर तक करके मौसी को ही पकड़ने को दे दिया.

फिर जब वो हल्की मोन कर रही थी, तभी मैंने अपना लंड सैट करके, एक जोरदार धक्का लगा दिया. मैंने माँ से कहा- माँ, मैं आपको बहुत पसंद करने लगा हूँ और आपके साथ सेक्स करना चाहता हूं. সেক্স বেঙ্গলিमैंने सोफे की पुश्त से खुद को टिकाया और सिगरेट दबा कर अपना लौड़ा हिलाने लगा.

मेरी बहन अपने बिस्तर पर नंगी थी और एक नंगे लड़के की पीठ पर उसने अपनी टांगें लपेट रखी थीं. मैंने निहारिका से कहा- यार तेरा पिछवाड़ा तो पहले से भी ज्यादा सेक्सी हो गया है.

एक तरफ मेरी बहन सुमिना का नंगा जिस्म और उसके हिलते हुए चूचे जो कुणाल के धक्कों के साथ उछल रहे थे, दूसरी तरफ कुणाल की मॉडल जैसी गठीली बॉडी जो पूरी ताकत के साथ मेरी बहन को चोद रही थी. मेरा लंड हेतल की गांड में ही था और वो हर धक्के के साथ एक कदम बढ़ा रही थी. वो सर झुकाए दोनों हाथों से अपने उरोजों को छुपाने की नाकाम कोशिश कर रही थी.

यह जगह सेफ नहीं लग रही है लेकिन आपकी ख़ुशी के कारण मैंने ऐसा किया है. विवाह से कुछ दिन पहले हम चोरी छुपे खूब मिला करते थे और मस्तियाँ भी मारा करते थे. मैं अभी निचले हिस्से में ही मालिश कर रहा था मगर उसने गर्म होकर खुद ही कहा कि थोड़ी मालिश ऊपर भी कर दो.

सरला के हाथ भी कहां शांत थे, वह मेरे चूतड़ों पर अपने हाथ घुमा रही थी.

जब मेरा लंड 5″ तक अन्दर घुस गया, तो दर्द के मारे भाभी का बुरा हाल होने लगा … लेकिन उन्होंने मुझे रोका नहीं. ”उसके बाद उसने अपनी जवान लड़की की चूत में अपना अंगूठा कचाक से घुसेड़ दिया.

उसको देख कर तो यही लग रहा था कि अभी पकड़ कर चोद दें, पर ये मुमकिन नहीं था. उसकी चूत पर नीचे के बाल कुछ ज्यादा बड़े थे जबकि मैंने अपनी चूत के बाल बिल्कुल साफ किये हुए थे. उसके बाद उन्होंने दीदी की चूत को कुत्तों की तरह चाटना शुरू कर दिया.

इस खेल में अब मुझे भी मजा आ रहा था, मैं भी उनका पूरा साथ दे रही थी. इसी तरह मैंने वाइन उसे फिर से पिलाई और उसके होंठों पे फिर होंठों रख दिए. तभी उसकी चुत से पानी बाहर आना स्टार्ट हो गया जो सेक्स के टाइम पर निकलता ही है.

सेक्सी बीएफ वीडियो चुदाई वाला मैंने बहुत सी लंड की प्यासी भाभियों और चुदासी लड़कियों को अपनी सर्विस से खुश किया है. मेरी लाइफ की इस देवर भाभी सेक्स की सत्य घटना को पढ़ने के आपका धन्यवाद.

बीएफ हिंदी में वीडियो के साथ

बाद में जब वो मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा, तो मेरी चूत में उसका लंड आसानी से अन्दर बाहर होने लगा. तब हमारे घर में 2 ही कमरे थे, एक कमरे में मम्मी पापा सोते थे और दूसरे में हम दोनों. हमने नंगे बदन ही केक काटा और थोड़ा सा केक सायमा को मैंने खिलाया और थोड़ा सा सायमा ने मुझे खिलाया.

वो फिर जानवर की तरह मुझे चोदने के साथ मेरे जिस्म को काटने लगा और मेरी चूचियों को जोर से भींचने और दबाने लगा. मुझे बहुत मज़े आ रहे थे, मैं चाहती थी कि बस वो दिन भर ऐसे ही करता रहे।फिर उसने मुझे उल्टा किया और मेरी गांड में अपनी मोटा लोड़ा घुसा दिया. गन्दा विडियोमैं उसके सर को वैसे ही बाल पकड़े हुए हल्का सा घुमा के होंठों का रसपान करने लगा.

जितनी प्यासी मेरी बहन थी उतनी ही प्यास मेरे अंदर भी लगी हुई थी उसकी चूत को चोदने की.

जबकि वास्तव में उसकी गांड में मेरा लंड घुसा हुआ उसकी गांड मार रहा था. उसके बाद जब मैं उसके रूम पर गयी, तो उसने बताया कि आज वह मुझसे शादी करेगा.

कभी खुद का मन उचाट हो जाता था, कभी परिस्थितियां लिखने नहीं देती थीं. तो फिर मैं उसकी कमर पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से झटके मारने लगा और कुछ झटकों के बाद उसकी चूत में ही झड़ गया. दिलिया ने तो मेरे पास आकर मेरे कान में कहा- आपने पूरी हवेली को रातभर सोने नहीं दिया, ऐसा क्या कर डाला सारा और ज़रीना आपा के साथ?तो मैंने कहा- मेरी जान, जल्द ही तेरी भी यही हालत करूँगा.

मेरा मन कर रहा था कि अपनी चूत को अभी जीजा के सामने ले जाकर फैला दूँ और वो अपने मोटे लंड से मेरी चूत की सवारी करें.

फिर मैंने उसकी गांड का छेद भी चाटा बहुत अच्छा स्वाद था और बहुत नाजुक भी. सुबह आपके इंटरव्यू के समय से पहले ही मैं आपको अपनी गाड़ी में छोड़ आऊंगी. मैंने उसको लण्ड चूसने का इशारा किया तो लण्ड पकड़ कर चूमने, चाटने और चूसने लगी.

सेक्स सीनहालांकि अभी जो स्टोरी लिख रही हूँ, ये स्टोरी मेरी नहीं हैं, बल्कि मेरे एक पाठक की है, जिसका नाम उस्मान है. उसके पूरे बदन में ही कयामत भरी थी, उसकी हल्की नीली और भूरी आंखें गजब की कातिलाना नशा बिखेरती हैं.

बीएफ चूची

चूंकि सुमन को सेक्स का अनुभव नहीं था इसलिए वो वहीं तक आगे बढ़ रही थी जो मैं उसके साथ कर रही थी. मैंने भी पीछे से उसे पकड़ लिया और उसके बूब्स दबाते हुए उसकी गर्दन में किस करने लगा. उन दिनों मैं अपने नाना जी के यहां गया हुआ था। गांव में अधिकतर लोग जल्दी सो जाते हैं क्योंकि उनको सुबह जल्दी उठना पड़ता है.

मैडम के पापा इंडियन आर्मी में ब्रिगेडियर थे और गुजरात में पोस्टेड थे. मैंने मैगज़ीन तो फर्श से उठाकर वापिस टेबल पर रख दी लेकिन दुबारा से आँखें हरी करने का विचार टाल दिया. आपका देव कुमार[emailprotected]कहानी का अगला भाग:आंटी की प्यासी जवानी मांगे लंड-2.

साथ ही वो बड़बड़ा भी रही थी- उम्म्म … ओह … यस मास्टर … आई लाईक दैट … उम्म्मम … हम्मम … आहह … यस प्लीज मास्टर … वन्स मोर मास्टर ( एक और मेरे मालिक)ऐसा करते हुए वो अपने चूतड़ बड़े कामुक अंदाज में हिलाते हुए दांतों से होंठों काटने लगी. रक्षाबंधन के अगले दिन, करीब रात के 9 बजे उसने मुझे कॉल किया कि मुझे तुमसे कुछ काम है, क्या जरा आ सकते हो?मैंने कहा- ठीक है आता हूँ. फिर रितेश बिना मेरी तरफ देख हुए आवाज लगाई- साले साहब, आप क्यों अजनबियों की तरह बाहर खड़े हो.

पर कुछ में तो मेरे सुबुद्ध पाठकों के वाक़ई में लाज़बाब सुझाव थे या बहुत ही बुद्धिमत्तापूर्वक आलोचन. अभी मुझे दिशा को चोदने का मन कर रहा था, लेकिन अभी दिशा चुदने की हालत में नहीं थी.

मैं राधिका को पेलते हुए उन दोनों से बोला- चलो कपड़े निकाल कर तैयार रहना … जल्द ही तुम दोनों का नंबर आएगा.

उसी का नतीजा था कि प्रीति बहन के नंगे बदने से मेरी नजरें हट ही नहीं रही थीं. वीडियो गाने वाली सेक्सीउसके मुँह से हल्के स्वर में आवाज निकल रही थी- हाय अमीषा मेरी जान … तेरी क्या मस्त चूचियां और गांड है, मन करता है कि तुझे रात भर चोदता रहूँ. नंगी औरत का फोटोशरद के साथ मेरा ऐसा ही रिश्ता चल पड़ा, जब भी स्वीट खाने को दिल करता, मैं छत पे चली जाती और वहां से 5 से 10 मिनट में ही पैकेट आ जाता. मैं सोते टाइम ब्रा नहीं डालती, इसलिए मैंने निहारिका से कहा- जरा मेरी ब्रा का हुक खोलना.

अंकल बड़े ही शातिर थे, उन्होंने मेरी बुर को बहुत ही पास से जुबान अन्दर घुसेड़ घुसेड़ के चूसना जारी रखा … तो पता नहीं कब मैंने भी उनका लंड अपने मुँह में ले लिया.

यहां तक कि उन्होंने मुझे मुझ पर भरोसा करके अपने लीगल आइडेंटिटी डाक्यूमेंट्स भी शेयर किये ताकि मैं उन्ही कोई फ्रॉड न समझूं. आगे से उसके चुचों को चूसते हुए लंड चुत में पेल दिया और चुदाई करने लगा. तब मेरा स्वप्न टूटा और मैंने हाथ से छूटते हुए मौके के चौके को ऐसे कैच किया कि यह कैच मेरे प्यार की पिच पर काजल को क्लीन बोल्ड करने का एकमात्र अवसर है।मैंने तुरंत हां कर दी.

किराएदार की इस हरकत को देखकर मेरे मन में वासना की भूख पूरी तरह जाग गई थी. मुझे महसूस हो रहा था कि वो मेरे चारों तरफ घूम के मेरे जिस्म की पैमाइश कर रहा था. मैं लंड को सहलाने लगा और बस मुठ मारने ही वाला था तभी भाभी की आवाज आई- प्रणय!उनकी इस आवाज से मेरा लंड एकदम से ढीला हो गया और मैं जल्दी से पेशाब करके तुरन्त बाथरूम से निकल कर भाभी के पास चला गया.

करवा चौथ वाली बीएफ

गुप्ताइन ने मेरा हाथ कसकर पकड़ा और बोली- वादा रहा, अब बताओ काम क्या है?मैंने कहा- एक बार बेबी को मेरे पास भेज दो. मैंने भाबी के भारी चूतड़ों को थोड़ा सा खोला, जिससे कि उनका वो छोटा सा गुलाबी छेद मुझे दिखाई दे गया. मैं एक चूची को छोड़कर दूसरी चूची पर टूट पड़ा और दूसरे हाथ से काजल की पैन्टी को निकाल कर उसे बेड पर गिरा दिया दी.

मैंने भी कहा- आज मैंने अपनी लाइफ की पहली चुदाई अपने ही भाई से करवा ली.

वो जानता था कि इससे अच्छा मौका मुझे शायद ही फिर मिलेगा, सो वो ज़िद करके निकल गया.

मैंने देखा कि जब वो मुझे साड़ी देने के लिए उठे, तो उनकी लुंगी में तंबू सा कुछ बन गया था. मैं अपनी गांड को आगे की तरफ धकेलते हुए जैसे आंटी के हाथ को ही चोदने लगा. मेहंदी के वॉलपेपरमैंने अदिति को फोन किया और उससे पूछा कि वो कौन सी ट्रेन से आ रही है.

मैं उठकर उसके पैरों की तरफ मुँह करके लेट गया और वो भी अपने बच्चे की ओर पीठ करके लेट गयी और मेरा लण्ड मुँह में लेकर चूसने लगी. उसके सीधा होते ही मैंने उसकी एक चूची के निप्पल को मुंह में भर कर गप्प से अंदर ले लिया. मैं उसकी गर्दन को चूमने लगा और मेरी गांड दीवार की तरफ धक्के लगाती हुई उसकी चूत में लंड को अंदर-बाहर करने लगी.

उसने दोबारा से कोशिश की और पूरा जोर लगा कर मेरी चूत में लंड को डाल दिया. जैसे ही वसुन्धरा का वक्ष अर्ध-नग्न हुआ, एक मोहक, नशीली सी काम-आह्लादित करने वाली तीक्ष्ण गंध मेरे नथुनों में प्रवेश कर गयी.

मैंने उससे पूछा- भाभी, क्या आपके पति कुछ करते नहीं … जो आप बिल्कुल कुंवारी लड़की जैसी हो.

मुझे बहुत लोगों के मेल्स मिले और काफी मित्रों ने अगली कहानी लिखने के लिए बोला … तो सभी को शुक्रिया कहते हुए कहानी पेश कर रही हूँ, आनन्द लीजिएगा. फिर मैंने उम्मीद छोड़ दी लेकिन उसकी चुदाई करके मैंने खूब मजे लिये।दोस्तो, ये थी मेरी कामुक कहानी. मैं ‘आअह्ह हहह बेबी … मजा आ रहा है … मेरी जान फ़क मी हार्ड … मेरे भाई चोद दे आज अपनी इस रंडी बहन को आअह्ह्ह.

मिया खलीफा xxx मैंने अपने दोस्त राहुल और वरुण से इस बारे में बात की तो उन्होंने कहा कि तेरा काम तो हो जायेगा लेकिन इस चिकनी की चूत तो फिर हम भी मारेंगे. एक झटके सुपारा अन्दर हो गया लेकिन वह चिल्ला पड़ा ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने उसकी कमर को कसकर पकड़ लिया और कहा- बस हो गया यार!यह कहते कहते मैंने धक्के मारना शुरू कर दिया और पूरा लण्ड पेल दिया.

एक तरफ तो उनका चुदाई करने का मूड बना हुआ था और कहाँ बीच में ये पड़ोसन आकर टपक पड़ी. फिर बाथरूम में हम दोनों फ्रेश हो के आए और साथ में बिस्तर पर नंगे ही लेट गए. उसके सीधा होते ही मैंने उसकी एक चूची के निप्पल को मुंह में भर कर गप्प से अंदर ले लिया.

मुजफ्फरपुर बीएफ

मैं दिल्ली का रहने वाला हूं पर काम की वजह से अधिकतर बाहर रहता हूँ। मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं. फिर पूजा उस लड़की की तरफ देखा, तो वो भी अपना गाल पकड़ कर हां में अपना सर हिलाते हुए बोली कि तू ऐसे ही खड़ी रहेगी या कुछ कपड़े भी पहनेगी?ये बोल कर उसने आंख मार दी. उसके बाद मेरे घर से फोन आ गया और हम दोनों को वहाँ से मजबूरन निकलना पड़ा.

जब मुझे पता चला तो मुझे ऐसा लगा जैसे मेरे दिल पर किसी ने वार किया हो. फिर मैंने उसके पेट को जहाँ तहाँ चूमा और नाभि पे किस करने के बाद उसकी नाभि में अपनी जीभ घुसेड़ दी.

मेरी आँखें मुंद गयीं और मैंने अपने जिस्म को ढीला छोड़कर अंकल जी के हवाले कर दिया.

अब मैं एक हाथ से उनके एक मम्मे को मसल रहा था और दूसरे से उनकी बुर को रगड़ रहा था. मैंने अपने लंड का सुपारा भाभी की चुत के मुँह पर रख दिया और धीरे धीरे अपना लंड भाभी की चुत में घुसाने लगा. उसके बाद मैंने देखा कि उसकी चुत से खून निकल कर मेरे लंड औऱ उसकी चुत व जांघों पर लग गया था.

अगर तुम मेरी जिंदगी में नहीं आए होते, तो जो मुझे अब मिलने जा रहा है, कभी नहीं मिलता. उसके बाद मैंने सायमा की चूत में जीभ डाल दी और उसकी चूत को अपनी जीभ से ही चोदने लगा. उसने मुझे आंख मारते हुए ऐसे दोनों हाथ ऊपर करके अंगड़ाई ली कि उसका सीना फूल गया.

अब हम दोनों को रोज फेसबुक पर और व्हाट्सैप पर घन्टों बात करते रहने की एक आदत सी पड़ गई थी.

सेक्सी बीएफ वीडियो चुदाई वाला: मैंने मौके का फायदा उठाने की सोची क्योंकि कई दिन तक जब काजल घर पर नहीं आई थी, तब मैं ही जानता हूँ कि मेरे दिल पर क्या गुज़र रही थी. उसके बाद भी मैंने काफ़ी लड़कियों और शादीशुदा महिलाओं के साथ सेक्स एंजाए किया.

फिर 20 मिनट बाद उसने मेरा लंड निकाला और बोली- अब मैं सीधे लेट जाती हूं … फिर करो. मैंने जेब से लड्डू निकाला और कुलजीत को देते हुए कहा- ले भाई, मैं मन्दिर गया था, वहां से प्रसाद मिला था. कंजूस गुप्ता जी के मुकाबले मेरा राजसी खर्च देखकर डॉली खुश भी थी और प्रभावित भी.

अब उन्होंने होंठ चूसते चूसते मेरी सलवार का नाड़ा भी खोल दिया और मेरी पेंटी में हाथ डाल कर मेरी कुंवारी बुर मसल दी.

तभी आंटी मेरे लंड को छोड़ कर उठ गईं और अपनी साड़ी और पेटीकोट निकाल दिया. स्लिपर बहुत सुन्दर थी परन्तु उसमें पांव ढक हुए थे, दिख नहीं रहे थे. मुझे भी आपके लंड को खड़ा हुआ देखा नहीं जा रहा। आओ शुरू करते हैं आज का घमासान।मैं- घमासान तो आज होगा ही। पहले सोच रहा हूं कि तुम्हारी कुछ ख्वाहिशें पूरी कर लूं क्योंकि तुम्हारा भरा हुआ शरीर है.