हिंदी बीएफ चोदा चोदी सेक्सी वीडियो

छवि स्रोत,हिन्दी विडियो सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स एक्स मूवी न्यू: हिंदी बीएफ चोदा चोदी सेक्सी वीडियो, उधर स्नेहा भाभी ने मुँह में से लंड निकाल लिया था, तो अब उनकी मीठी सिसकारियां सुनाई देने लगी थीं.

नेपाली सेक्सी हद वीडियो

वो मुझे उचक उचक कर चोदने लगा और मुझे मेरी चूत में एक एक धक्के का अहसास हो रहा था।और मैं ऐसे ही उसकी बांहों में झड़ गई। क्योंकि मैंने बहुत समय से सेक्स नहीं किया था इसलिए मैं जल्दी ही झड़ गई।लेकिन अभी उसका पानी निकलना बाकी था इसलिए वह और तेज धक्के मारने लगा. सेक्सी लंड सेक्सी लंडवात्सायन के अनुसार किये गए नारी वर्गीकरण के हिसाब से वसुंधरा सर्वश्रेष्ठ ‘पद्मिनी’ वर्ग की स्त्री थी और निःसंदेह एक अमूल्य नारीरत्न थी … ऐसी स्त्रियों की योनि की संर्कीणता प्रकृतिप्रदत्त होती है अर्थात् ‘पद्मिनी’ वर्ग की स्त्री की योनि कभी ढीली नहीं पड़ती.

अगले दिन सुबह मैं देर से जगा, तो देखा कि मामी नहा चुकी थीं और चाय बना रही थीं. न्यूड वीडियो सेक्सीउसकी चूत में उंगली करते हुए मैंने उसकी चूत का पानी एक बार फिर से निकाल दिया.

वसुंधरा ने फ़ौरन मेरे दोनों हाथ खींच कर अपनी दोनों सुदृढ़ और उन्नत छातियों पर रख लिए और मेरे दोनों हाथ ऊपर से अपने दोनों हाथों से सख्ती से दबा लिए.हिंदी बीएफ चोदा चोदी सेक्सी वीडियो: जब तक मैंने खुद को संभाला तो मैंने पाया कि मेरा लहंगा मेरी कमर तक उठ गया था.

मेरी मामी का मायका मेरे गाँव के पास वाले गाँव में ही है सिर्फ 6 किलोमीटर की दूरी पर!मैंने मामी की तीसरे नम्बर की बहन कामिनी की चुदाई की है.इतना बोल कर जेठजी ने अपने होंठ मेरे होंठों से जोड़ दिया और मेरे होंठों का रसपान करने लगे.

वाडिया हॉस्पिटल मुंबई - हिंदी बीएफ चोदा चोदी सेक्सी वीडियो

फिर जब वो उत्तेजित हो गई, तो बोली- अब जल्दी से अपना लंड मेरी चुत में डाल दो … नीचे बहुत आग लगी हुई है इसे बुझा दो.लड़का बोल रहा था- साली तेरी चुत में बहुत गर्मी है … ले मादरचोद … पूरा अन्दर ले … साली रांड.

फिर मैं बिल पे करने के लिए अपने पर्स से पैसे निकाल ही रही थी कि सागर ने अपना कार्ड दे दिया. हिंदी बीएफ चोदा चोदी सेक्सी वीडियो मेरी पत्नी को मैं सहमति से चुदवा चुका था, इसलिए वो भी मेरी एहसानमन्द थी.

जैसे ही मैंने लंड पकड़ा, मेरे जवाब में संदीप ने चूमना छोड़ कर मुझे अपने से पीठ के बल सटा लिया.

हिंदी बीएफ चोदा चोदी सेक्सी वीडियो?

उस दिन परमीत के भारी उरोजों के खुले दर्शन ने भी हमें इतना नहीं लुभाया था, जितना आज रिझा रहे थे. मुझे अपने पास लिटा कर वो मेरे बदन से लिपटने लगी और मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया. एक दिन सुबह-सुबह मैं विशाल के कमरे में गयी तो केवल बॉक्सर में ही था.

अंकल का लंड हाथ में लेते ही मम्मी बोलीं- आह तुम्हारा इतना बड़ा है?वो अंकल के लंड को प्यार से मसलने लगीं. ऐसा न हो कि पुलिस उसको टाइट करे और वो तुम्हारी अश्लील तस्वीरें दिखाकर तुमको गलत साबित कर दे. कैबिनेट में कई लेडीज़ पर्सनल-केयर आर्टिकल्स पड़े थे, उन में बड़ी कम्पनी का बॉडी-लोशन, की बॉडी-क्रीम, की एन्टी-एजिंग क्रीम, परफ्यूम की शीशियां, हेयर-रीमूवल क्रीम, फ़िलिप्स का लेडीज़ इलेक्ट्रिक शेवर और वी वाश भी थी.

गेट खुला हुआ था तो मैं ऊपर गई तो संजय चाय बना रहा था तो वो बोला- चाय पी लेना आप भी!लगती तो मैं उसकी चाची थी … लेकिन वो आप ही बोलता था।तो चाय बना कर उसने एक कप चाय मुझे भी दी और मेरा दूध डाल कर नीचे चला गया. मैंने भाभी की चूत में फिर से लंड को डाला और जोर जोर से चुदाई करने लगा. मैं- तो तू ही ले ना मेरी कुतिया, तेरे लिए ही तो है मेरा काला लंड … अब से ये तेरा ही है … ले ले पूरा ले … ऊओहूऊऊ बड़ा अच्छा लग रहा है.

वो मुझे किस करते हुए मेरे लंड को अपनी चूत पर सैट करके लंड अपनी चुत में खा गईं और धक्के लगाने लगीं. तभी दीदी ने मुझे किस करने का इशारा कर दिया और मैं आलिया के होंठों को चूमने लगा.

प्रीति के शब्द:उसने मेरी पैन्टी भी निकाल दी और मेरी गीली हो चुकी चूत पर हमला बोल दिया.

उन्होंने अपना एक हाथ मेरी कमर में डाला और लंड फुद्दी में लगा कर एक हाथ मेरी गांड में लगा के लंड पेल दिया मेरी चूत में!अब हम दोनों की ही कमर चलने लगी; मेरे दूध उनके सीने से रगड़ने लगे.

झड़ने के बाद हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे की बांहों में शावर के नीचे खड़े हांफने लगे. मेरी पिछली कहानीपहले प्यार की चुदाई उसी के घर मेंबहुत सारे पाठकों ने पसंद किया. मैं जब भी उसको देखता तो बस दिल से एक ही बात निकलती कि काश … प्रिया मेरे लौड़े के नीचे आ जाए.

कुछ देर धीरे धीरे धक्के, चुम्बन और बोबों के मर्दन और चुसन के बाद, मैंने कभी धीरे और कभी एकाएक जोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए. मेरा पूरा लंड भाभी के मुँह में ही था, तो आवाज उनके मुँह में ही दब कर रह जाती थीं. जोर से चोद साले … और जोर से … लगता है मादरचोद में दम ही नहीं है … दी … भाभी इस गांडू के पीछे से आकर जोर लगाओ न.

पकड़े गये तो कोई बात नहीं!मेरी बात सुनकर वो भी मुस्करा दिया और बोला- अच्छा जैसा तेरा हुकम मगर यह तीन घंटे तो अच्छे से मज़ा दे दो.

फिर वह मेरे पेट पर किस करते हुए मेरी चूत तक चला गया और मेरी चूत को चाटने लगा. पहले दिन हमने दो घंटे में सारा डाटा इकट्ठा कर लिया और अगले दिन उस पर काम करने की सोची. तेरे जीजा रात में मेरी ऐसे बजाते हैं कि उसकी झनझनाहट कई दिनों तक मेरी चूत में गूंजती रहती है.

लाईट जल रही थी और मेरी दोनों सहेलियों के बदन पर नाममात्र भी कपड़े नहीं थे. इससे पहले शायद उसने किसी मर्द का लंड इस तरह से इतने करीब से नहीं देखा था. आज जेठजी के खाने का तरीका देख कर लगा, जैसे वो जल्दी से खाना खत्म करना चाहते हों.

ममता के साथ सेटिंग हो जाने के बाद मेरा जीवन आराम से कट रहा था कि एक दिन शाम को मेरे भाई की बहू रेखा आई और बोली- चाचा जी, आप ने एम कॉम कर रखा है, शैली के एग्जाम आने वाले हैं, उसे थोड़ा पढ़ा दिया करिये.

संदीप ने पैरों को थोड़ा झुका कर मुझे लंड की जगह पर व्यवस्थित किया और अपने दोनों हाथों को मेरे बालों पर फिराते हुए मेरे सर को लंड की ओर खींचने लगा. आगे जाने के बाद मैंने पलट कर देखा, तो संदीप मुस्कुराते और शर्माते हुए मुझे ही देख रहा था.

हिंदी बीएफ चोदा चोदी सेक्सी वीडियो रात के 1:30 बजे थे, पता ही नहीं चला कि हम दोनों आपस में चिपक कर कब सो गए. तभी डोली ने तेज झटके देने शुरू कर दिए और मेरी कमर को जोर से जकड़ कर शांत हो गयी.

हिंदी बीएफ चोदा चोदी सेक्सी वीडियो जब मैं लोवर ना उतार सकी, तो मैंने परमीत की चूत को अपनी मुट्ठी में लेकर भींच लिया. एक बार मैंने उससे पूछा भी था कि तुम मेरे पास अकेली क्यों नहीं आ जाती.

”आशू- सुबह-सुबह चढ़ा कर (दारू पीकर) आयी है क्या, तुझे पता है न मैं क्या कर सकता हूँ?वो मेरा वीडियो कॉलेज ग्रुप में डालने की धमकी देने लगा.

चाची और भतीजे का बीएफ वीडियो

दूसरे दिन मैं सुबह उठा, तब वहां कमरे में मेरे अलावा कोई भी नहीं था. उसके हाथों से लंड खींच कर मैं नीचे आ गया और उसकी चुत पर अपने होंठों को रख दिया. उसके मोटे और सख्त लंड को छूते ही मेरी तड़प रही चूत ने पानी बहा दिया.

बीच बीच में वो हाथ आगे लाकर मेरी चूचियों को भी पकड़ कर मसल देता था जिससे मुझे बहुत आनंद आ रहा था. तभी विवेक बोला- बस एक साथ ही दोनों इसके आगे पीछे से इसकी चूत और गान्ड चाटते हैं. और मैं उसकी तरफ देख कर मुस्कुरा दी।लेकिन फिर उसने मुझसे कहा- मुझे आपसे एक काम है।मैंने कहा- क्या … बोलो?आप जाते जाते एक बार मेरा लंड चूस कर जाओ.

जब-जब सड़क पर सुनसान सी जगह आती थी तो मैं उसकी चूचियों को दबा देता था.

जैसे ही वो मेरी गोद में बैठी तो उसके नर्म नर्म हिप्स मेरे लंड के ऊपर टच होने लगे. चुत चुदाई के बाद मैंने चाची की गांड मारने के लिए भी बोला, पर उन्होंने मना कर दिया- मैं गांड नहीं मरवाती हूँ … मुझको दर्द होता है. कुछ ही देर में मोना भी अपने कपड़े उतार कर नंगी हो गयी और एक तरफ कुर्सी पर बैठ गयी.

इससे पहले कि मैं उसके लंड को चूसने के लिए नीचे झुकती उसने मेरे दूधों को ब्लाउज के ऊपर से दबाना शुरू कर दिया. थोड़ी देर बाद वो उठी, कपड़े पहने और अपने घर जाने को हुई तो मैंने घड़ी की ओर देखा और कहा- अभी शैली को कॉलेज से आने में बहुत समय है. अब वो दिन दूर नहीं था, जब आलिया को मैं अपनी बांहों में लेकर उसके होंठों पर किस करूंगा.

अपने लंड बुर की हवस में मैं हम ये भी भूल गए थे कि घर का कोई सदस्य आ गया, तो क्या होगा. मनु ने अपनी एक उंगली उसकी चूत में नीचे से लेकर ऊपर की ओर चलाई, तो उंगली चूत के रस से पूरी भीग गई.

मैं वैसे ऑफ़िस के लिए 8:30 बजे घर से निकलता था, पर उस दिन मैं सुबह 7:30 बजे ही तैयार हो गया. हम दोनों सुबह करीब 9 बजे घर से निकले और गुड़गांव के ही एक कॉम्प्लेक्स में गए. आपको मेरी होटल में चुदाई की कहानी कैसी लगी? कृपया मुझे यह मेल कर के जरूर बताएं.

अचानक से दीदी का ये कहना कि उनको नींद आ रही है, मैं समझ गया कि अंकल ने दीदी को पानी में कुछ ऐसा पिलाया है, जिससे चुदाई करने में मजा आ सकता होगा.

ममता मेरा लण्ड पकड़कर वो खेलने लगी, कभी चूमती, कभी चाटती और कभी चूसने लगती. बिक्कू मेरे टॉप के ऊपर से ही मेरे बूब्स को दबाता हुआ कहने लगा- आह्ह बंध्या, तू बहुत गर्म माल है. वहां पर मैंने देखा कि एक औरत दूसरी औरत के साथ सेक्स वाली क्रियाएं कर रही थी.

गृहस्थी के कारण मैंने अपने जीवन में केवल 2 ही औरतों के साथ सेक्स किया था. मेरी पहली कहानियांमहिला मित्र की दोबारा सुहागरात में चुदाई की कामनावदो बहनों के साथ थ्रीसमको आप लोगों ने बहुत सराहा.

अधिकारी- नहीं सर कैसी बात करते हो … आप बस थोड़ा टाइम दो, सब हो जाएगा. मालिश वाले लड़के के जाने के बाद पायल बोली- नानू आप रोज मालिश करवाते हैं क्या?उसकी ओर देखते हुए मैंने कहा- हां, रोज कराता हूँ. मैंने कभी नहीं सोचा था कि कोई लड़की भी इतनी जोर से तमाचा मार सकती है.

फुल सेक्सी बीएफ चुदाई वाली

इसलिए उसके लंड को रास्ता मिलते ही उसने अपनी पूरी ताकत लगा दी और मेरी झूठी चीख वाली नौटंकी असल हो गई.

सॉरी क्यों बोल रहे हो? किसी और से मैं ये बात करती कि तो वो भी पहला यही सवाल पूछता?मैंने स्माइल करते हुए कहा- तो अब आप मुझसे क्या अपेक्षा रखती हैं?भाभी- बस ढेर सारा प्यार, जो मेरी जिंदगी में नहीं रहा. मैं ये सब बातें मम्मी से नहीं पूछ पाती थी, क्योंकि वो सब ब्रा पैंटी मुझे मेरे ब्वॉयफ्रेंडस लाकर देते थे. अब मेरा लंड स्वीटी आंटी के चुत में अंडरवियर के ऊपर से ही सट रहा था.

मुझसे जितना अन्दर तक हो पा रहा था, मैं जेठ जी का लंड उतना अन्दर तक अपने मुँह में ले कर अपना मुँह ऊपर नीचे करने में लगी थी. जहां पर मेरी बात होगी तो आप मेरा नाम (विशाल) पढ़ेंगे और जहां पर दीदी अपनी बात रखेगी, वहां पर आपको प्रीति लिखा दिखाई देगा. फ्री सेक्सी स्टोरीसारा दिन मैसेज करके पूछता रहता- कुछ लाना है? कोई समस्या?मेरा अकेले के लिए खाना बनाने का मूड नहीं हुआ.

मैं- मोनिका, तुम्हारा चेहरा आज भी सपना चौधरी और बॉडी एमा वॉटसन जैसी है. बिक्कू मेरे टॉप के ऊपर से ही मेरे बूब्स को दबाता हुआ कहने लगा- आह्ह बंध्या, तू बहुत गर्म माल है.

तो जैसे ही उसने मुझे देखा तो प्रीति ने मेरी आँखों में पढ़ लिया कि मुझे क्या चाहिए. परन्तु मेरा मानना है कि ये सब सेक्स में इंटरेस्ट के ऊपर निर्भर करता है और अपने आप ही सब होता चला जाता है और आपको पता भी नहीं चलता कि ये सब अपने आप ही हो रहा है. फिर उसका लंड ढीला होकर बाहर आने लगा तो हम लोग चारपाई के ऊपर ही लुढ़क गये और तेज तेज साँसें भरने लगे.

उसे बस इस हुस्न की परी की उस रसीली मुनिया (चूत) के हां कहने की जरूरत थी. मैंने राज को समझाते हुए कहा- राज, कुछ नहीं होगा! इस मामले में प्रीति को सब कुछ मालूम है. मेरी बात सुन कर भाभी कहने लगी- आह्ह … हरामी मुझे पता था कि तू मेरी गांड भी चोदने के लिए सोच रहा होगा.

मैंने उसको प्यार से समझाया कि पहली बार में दर्द होता है, लेकिन बाद में मज़ा आएगा.

जब मैंने चाची की नाभि को किस किया तो वे एकदम से तड़पी और आ … करके चिल्लाई मानो उन्हें किसने करंट दिया हो।फिर मैं उनको किस करते हुए नीचे आ गया और उनके पेटिकोट का नाड़ा खोल दिया और धीरे धीरे नीचे होने लगा. फिर एक दिन दोपहर के समय मैं भाभी के कमरे में सो रहा था तो नींद में भाभी की चूचियों पर मेरे हाथ चले गये और उसने कुछ नहीं कहा.

ड्राइवर के मुँह से आह्ह ह्ह्ह आअह ह्ह्ह की आवाज़ें सुन कर मैं और भी उत्तेज़ित होकर उसके लंड को चूस रही थी. मेरे लंड की मोटाई के आधे के लगभग उसकी चूत का द्वार खुल गया था जो करीबन डेढ़ इंच के पास था. दीदी ने किसी स्वादिष्ट पेय पदार्थ की भाँति मेरी चुत के रस को ग्रहण कर लिया.

मैंने उनको आगे बोला- जो ख़ुशी तुम्हें तुम्हारा पति नहीं दे पाया, मैं तुम्हें दूंगा. मैंने एक तकिया उसके चूतड़ों के नीचे रखकर उसकी बुर ऊंची कर दी और फिर से उसकी बुर खोलकर लण्ड का सुपारा रगड़ने लगा. मैं दिखने में बहुत स्मार्ट हूं और लड़कियों से हमेशा खुल कर बात करना पसंद करता हूं.

हिंदी बीएफ चोदा चोदी सेक्सी वीडियो जिंदगी में पहली बार मैंने किसी की चूत देखी थी, वो भी 19 साल की गदराई हुई कली जैसे चुत मेरे लंड के मरी जा रही थी. स्लीवलेस ब्लाउज था मेरा … और साड़ी मैं नाभि के नीचे बाँधती हूँ जिससे मैं और भी सेक्सी दिखूँ और लोग मुझे देखें। इससे मेरी नाभि और पूरा पेट और पीछे से पूरी नंगी कमर दिखती है।गर्मी का टाइम था.

जो की बीएफ

ममता ने सिगरेट का लम्बा कश लेते हुए उसे बताया कि वो तो बहुत स्वछन्द और मस्त लड़की थी. मनु और मैंने कॉलेज से ही संदीप के घर जाने का प्लान बनाया था, क्योंकि परमीत ने अपने जाने के लिए पहले ही मना कर दिया था. इस पर परमीत ने छेड़ते हुए कहा- ना बाबा … हम अपनी सहेली को अकेले छोड़कर नहीं जाएंगी.

अगले ही पल उन्होंने दीदी की पैंटी को उतारने के लिए हाथ बढ़ाया तो दीदी ने अपनी टांगें हवा में उठा कर पैंटी को निकालने के लिए अंकल की मदद कर दी. ये ही सब करते करते वो फिर से झड़ गई और मैं भी अपनी गर्लफ्रेंड की चूत में झड़ गया. श्रद्धा कपूर सेक्सी वीडियोसवो मना करने लगी लेकिन मैं कहाँ मानने वाला था … मैंने अपना लण्ड उसके मुंह से टच कर दिया और कहा- मुंह खोल!उसने मुँह खोल दिया और मेरा लंड चूसने लगी। उसने मेरे लण्ड इतने अच्छे से चूसा कि मुझे यकीन हो गया कि ये लड़की पहले से चुदी, खुली, खाई खेली हुई है।अब वो अपनी हरकत पर आने लगी और मुझे नीचे लेटा कर मेरे लण्ड से खेलने लगी.

मैंने अपने दोनों हाथ उसकी पीठ पर टिका दिये और अपने दोनों पैर हवा में उठा लिये और शताब्दी एक्सप्रेस की स्पीड से चोदने लगा.

यद्यपि सेवक राम मुझसे साल भर बड़ा ही है फिर भी पहले नमस्कार करता है. ”क्या पापा आप भी?”सही कह रहा हूं, इसमें गलती इस साले लंड की है जो मुझे बैचेन किये जा रहा है।”सायरा मेरी तरफ घूमते हुए बोली- पापा, आप अपने उत्पाती लंड को कभी भी शांत कर सकते हैं.

बहन के पति यानि जीजू के तने हुए लंड को देख कर मेरी प्यास भी जाग गई. इतना कहने के बाद मैंने 15-20 जोर के शॉट मारे और हम दोनों साथ में ही झड़ने लगे. सभी दोस्तों को मेरा नमस्कार, मैं निक (बदला हुआ नाम) अन्तर्वासना का एक नियमित पाठक हूँ। मैंने यहां बहुत सी सेक्स कहानियां पढ़ीं, जिनको पढ़कर मेरा भी मन किया कि मैं मेरे साथ हुई घटना को आपके साथ साझा करूं.

फिर उसने मेरी ब्रा को निकाल कर कर चूची को नंगा किया और जोर जोर से दबाने लगी.

आलिया- तुम कुछ भी कह लो, लेकिन ये सम्भव नहीं है … सॉरी राज मैं तुम्हारी गलफ्रेंड नहीं बन सकती. हम दोनों के लंड चुत के नसीब से अगले दिन मेरे मम्मी पापा को एक घंटे बाद नानी के यहां जाना था. उनके घर सामान रख कर मैं भागने वाला ही था, तब भाभी ने आवाज़ लगाई और रुकने को कहा- रूको … मैं चाय बना कर लाती हूँ.

गूगल तुम कैसी दिखती होमैंने कहा- आप इतने विश्वास के साथ कैसे कह सकते हो?वो बोले- तुम जैसी लड़की को देख कर भला किसका मन वो करने को नहीं करता होगा!मैंने अन्जान बनते हुए पूछा- क्या करने का मन जीजू?वो बेबाक तरीके से बोले- चुदाई!जीजा के मुंह से चुदाई शब्द सुन कर मैं शरमा गई. अब संजय मेरी चूचियों को कपड़ों के ऊपर से चूमने लगा तो मैंने अपने कमीज को ऊपर कर दिया.

हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी चुदाई

उस तरह से मैंने अपनी पड़ोसन चाची के तीनों छेद चोद कर उन्हें पूरी तरह से अपनी बना लिया।कुछ देर आराम से लेटने के बाद मैंने चाची से कहा- चाची, मुझे 69 पोजीशन में सेक्स करना बहुत पसंद है. उसके बाद फिर मेरी क्लास का टाइम हो रहा था, वो मुझे छोड़ने के लिए भी आई. जीजा जी- हां … आह इधर तुम्हारी दीदी तो लंड को लॉलीपॉप की तरह चूस रही है.

उसने एक हाथ से लंड पकड़ कर चूत में डालने की कोशिश की, पर इस आसन में चूत का द्वार आसानी से नहीं मिलता, जिस वजह से लंड चूत में घुसने की बजाय छिटक गया. मैं बोला- क्या बना रही हो?तो बोली- पालक पनीर और रोटी चावल!मैं बोला- गुड … हमने क्या बिगाड़ा है, हमें भी खिला दो. बहुत समय से मैं अन्तर्वासना पर सेक्स कहानी पढ़ता रहा हूँ … तो सोचा कि आज मैं आप सभी को अपनी एक मस्त और रसीली घटना आप लोगों के साथ शेयर करूं.

परमीत ने हड़बड़ाते हुए कहा- ये ले कुतिया … अब पेंटी भी उतार दी, अब तो भाव खाना बंद कर दे. मेरा नाम कोमलप्रीत कौर है और मेरे पति आर्मी में हैं, मेरी उम्र 30+ है और मैं अपने सास ससुर के साथ जालंधर के पास एक गाँव में रहती हूँ. जिससे लंड महाराज तुरंत हरकत में आ गए और अपनी गुफ़ा में घुसने को बेताब हो गए.

उसने मुझसे सेक्स की बातें कीं और कहा कि मेरी पड़ोस वाली शिल्पा दीदी की शादी में वो मेरे साथ सुहागरात मनायेगा. संतरे के आकार की चूचियां और गदराई हुई जांघें देख देखकर मेरी नीयत डोलने लगी और मैं कच्ची कली को फूल बनाने की तरकीब ढूंढने में लग गया.

दिनचर्या कुछ ऐसी थी कि सुबह उठना, फ्रेश होकर ऑफिस और वहां से आकर सो जाना!खैर सिल्क को देखने के बाद मेरे मन में सिल्क के साथ सेक्स की इच्छा हुई.

मैं निधि की इस समझदारी देख कर हैरान था और मेरा गुस्सा भी थोड़ा शांत हो गया था. இந்தியன் லேடீஸ் எக்ஸ் வீடியோआज मुझे पता चला कि चूत में लंड जब जाता है तो उसका अहसास कितना अलग और सुखद होता है. इंडियन सेक्सी पंजाबी वीडियोमेरे बदन पर सिर्फ अंडरवियर रह गया था और उनके तन पर ब्रा और पेंटी रह गई थी. कुर्सी से उठते हुए जब उसके पेट से नीचे वाला हिस्सा ऊपर आया तो बैठने के कारण उसकी लाइट ग्रे जीन्स, जो कि जांघों के पास इकट्ठा हो रही थी, उसकी जिप को उसके लौड़े ने बीच में से उठा रखा था.

फिर वो भाभी से लिपट कर बोली- आह मजा आ गया … भाभी इसका लंड एक बार और मिलेगा क्या?भाभी बोली- साली कुतिया … लोभी मत बन.

मैंने थोड़ी सी करवट सासू माँ की तरफ ली मगर उससे मेरा चूतड़ और भी ऊपर उठ गया और ड्राइवर की कोहनी मेरे चूतड़ से रगड़ने लगी. संगीता 19 साल की हो गई है लेकिन कक्षा 12 में पढ़ती है क्योंकि एक बार सातवीं में और एक बार दसवीं में फेल हो चुकी है. मैंने उससे पूछा- अपना पासवर्ड बताओ मोबाइल और लैपटॉप का … और चुपचाप सो जाओ.

यह बात तब की है जब मैं फर्स्ट ईयर में था। छुट्टियों में घर आया हुआ था. करीब 5 मिनट के बाद उसने मेरा मुँह हटाया और बोली- क्यों रे मादरचोद … कभी कोई चुत नहीं मारी, जो ऐसे पेल दिया … अब रुका क्यों है चोद भैनचोद … फाड़ मेरी प्यासी चुत. अब तो मेरा मन भी करने लगा था कि अपनी बहन के साथ अपनी भी चूत की चुदाई करवा लूं.

नेपाली लड़की की चुदाई बीएफ

इस ब्रा में से मेरी चूचियों का आकार ब्लाउज के ऊपर से और भी उठा हुआ लग रहा था. थोड़ी देर बाद वो आ गया, विक्की बोला- क्या हुआ?मैं बोली- कुछ नहीं, मुझे डर लग रहा है. फिर उसने मेरी मेरी मुँह से अपना लंड निकाला, जिससे मेरी लार से मेरे मुँह से उसके लंड तक एक तार बन गयी थी.

वो दो पल के दर्द के बाद बड़े मजे लेने लगीं- अहह उहह … और ज़ोर से और जोर से!चाची यही सब बोलते हुए मेरे में जोश भरती रहीं और पूरा कमरा उनकी चुत चुदाई की ‘फ़च फ़च.

पैरों का स्पर्श नरम नरम मुलायम सा था … पर मुझे तो कुछ अलग ही आकर्षण लगने लगा था.

जैसे ही मैंने अपना लंड उनकी गांड में डाला, तो मैं कुछ ही देर में चाची की गांड में ही झड़ गया. अगले दो दिनों तक मैं खूब मस्त रही, उसे इग्नोर करती रही। इस बीच उसने कई बार मुझसे बात करना चाही लेकिन मैं जान बूझकर मौका नहीं दे रही थी।शादी का दिन आ गया। दुल्हन भी सजी, मैं भी सज गयी। मैंने एक मॉडर्न लहंगा पहना था. डर्टी पिक्चर सेक्सीथोड़ी थोड़ी ठंड भी लग रही थी, पर चुदाई करने से शरीर में गर्मी भी बहुत आ गई थी.

सपना ने मेरी तरफ देखा तो मैंने अपनी जेब से उसे दो हजार रूपए देते हुए कहा- ठीक है. इतना कहकर उन्होंने मेरा लंड अपने हाथों से छोड़ दिया और अपने शरीर से ब्लाउज को निकाल फेंका. एक हाथ से मैं उसके चूचों को दबा रहा था, दूसरे से उसकी चुत में उंगली करते हुए उसकी चुत चाट रहा था.

फिर उसका लंड ढीला होकर बाहर आने लगा तो हम लोग चारपाई के ऊपर ही लुढ़क गये और तेज तेज साँसें भरने लगे. ये मेरे साथ पहली बार था जब मेरे मम्मों के बीच में किसी का लंड मुझे मजा दे रहा था.

मगर अभी तक न तो मेरी ही हिम्मत हो रही थी पहले करने की और न ही भाभी की तरफ से ही कोई इशारा मिल रहा था.

अभी मेरे लण्ड में बहुत जान है, अभी जीवन में न जाने कितनी रेखा, मनीषा और हनी मिलेंगी. जब पेशाब करने के बाद मैं अपने लंड को हिला कर वापस अपनी लोअर में डालने वाला था तो मेरी नजर बाहर गई. मुझे उन पर पूरा भरोसा हो गया था। वे हमेशा मेरी तारीफ करते थे, खासकर मेरे होंठों की तारीफ बहुत ज्यादा करते थे, वे कहते थे कि बस मैं इन्हें चूसते रहना चाहता हूं।उन्होंने मुझसे कहा- प्लीज एक बार दोबारा मिल लो।मैंने उनसे कहा- हाँ डियर, टाइम निकालती हूँ बहुत ही जल्दी … जैसे ही टाइम निकलता है, मैं पूरी रात के लिए आपके पास आ सकती हूं।वो टाइम भी जल्दी ही आ गया.

अंग्रेजी में सेक्सी पिक्चर चाहिए वो जब भी अकेले में मिलती थी, तो कभी मेरी चूची मसल देती थी, तो कभी चुत को सहला देती थी. तो मैंने कहा- अच्छा चलो, कुछ थोड़ा बहुत हो जाए!मैंने उसका चुम्मा लिया और उसने मेरा साथ दिया.

वो तो जैसे मेरे नंगे जिस्म से खेलने के लिए, मेरी चूत चुदाई के लिए बेताब था. वो बोली- धत्त, वो तो आपके पति हैं, मैं भला उनके साथ कैसे करवा सकती हूं. मैं आंटी को नीचे से बड़ी ध्यान से देखने लगा और मेरी नजर उनकी गांड पर रुक गयी.

राजस्थानी हॉट बीएफ

वो भी अपने ब्लाउज के ऊपर से साड़ी का पल्लू हल्का सा हटा कर चूचों की घाटी का दीदार कराने लगी. जब घोड़े से उतरा तो मेरे नीचे वाले घोड़े (लंड) के मुंह में झाग बन चुके थे. लेकिन एक दो दिनों बाद चूत की खुजली फिर से बढ़ने लगी और मुझे लंड की याद आने लगी.

मैंने कहा- ओके बाबू, मैंने तुम्हारे मुंह में लंड घुसेड़ दिया उसके लिए सॉरी. ” इतना कहकर मैंने खुद ही उतार दी और उसकी बुर चाटने लगा, वो कसमसा रही थी.

अब वो गुस्से में बोली- मेरे इतने वीडियो बना लेते हो … वो क्या कम पड़ जाते हैं … जो इन रंडियों को देख रहे हो.

मैं बोला कि जब मैं तुम्हारे होते वन्दना को चोद सकता हूँ, तो वन्दना के होते तुम्हें क्यों नहीं चोद सकता!ये सुन कर वो हंस दी और मेरी गाल पर चुटकी काट कर बोली- हो तो तुम उस्ताद. मैं उसके होंठ चूसने लगा और एक तेजी से शॉट मारा, तो इस बार मेरा लौड़ा पूरा अन्दर चला गया. मैंने अंडरवियर को हल्का सा नीचे किया और श्वेता की चूत पर लंड को लगा दिया.

कभी कभी तो मैं नीचे से ब्रा भी नहीं पहनती थी ताकि उसको मेरे कड़क निप्पल्स दिखाई दे जायें. चाची की जवानी देखकर मैं तो भूल ही गया था कि मुझे घर जाना है।मैंने चाची को बांहों में ले लिया और फिर से किस किया. रोहित भी रसोई के बाहर खड़े हुए- अच्छा, तो क्या पता चला?मैं- यही कि आपको बीमारी हो रखी है.

आपने मेरी शैदाई बन चुकी गीत की कलम से इस सेक्स कहानी के पिछले भाग में पढ़ रहे थे.

हिंदी बीएफ चोदा चोदी सेक्सी वीडियो: वो बोला- कुछ नहीं … बस वायरल फीवर है … दो तीन दिन में ठीक हो जाएगी. वो लंड हिलाता हुआ बोला- चल जल्दी से दरवाजा बंद कर दे … और फटाफट नंगी हो जा … बहुत दिन हो गए तुझे नंगी देखे.

भाभी ने कहा- क्यों, किस्मत में क्यों नहीं हूं मैं? अगर तुम चाहो तो मुझे अपनी बना सकते हो. अब मैंने जीजू के अंडरवियर में हाथ डाल कर उनके लंड को हाथ में भर लिया. घर का काम निपटाने के बाद ज्यादा कुछ करने के लिए नहीं होता था इसलिए मन नहीं लगता था.

उस वक्त मैं एक शादी में गया था जहां पर मैं अपनी मौसी की लड़की से मिला.

फिर उन्होंने मुझे सीधा लेटा दिया और मेरी टांगों को ऊपर उठाकर मेरी खुली हुई चूत को देखने लगे. मैंने उसको हमेशा भाई की नजर से ही देखा था और आज वो इस तरह से बेशर्म होकर मेरी चूत में झांक रहा था. वो मेरे लंड पर बैठ गयी और मैंने उसकी टीशर्ट में हाथ डालकर उसके बूब्स को दबाना शुरू कर दिया.