सेक्स बीएफ पिक्चर हिंदी में

छवि स्रोत,पंजाबी भाभी की

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू सेक्स फिल्म वीडियो: सेक्स बीएफ पिक्चर हिंदी में, मेरी जीभ उसकी चूत को चाटने में लग गई थी और वो मेरे सर को अपनी चूत पर दबाए जा रही थी.

एक्स वीडियो फुल एचडी हिंदी

मैंने पूछा- आंटी अगर दर्द ज्यादा है, तो मैं मसाज कर दूँ क्या?उन्होंने पहले तो कहा- नहीं अभी ठीक हो जाएगा. सेक्सी फिल्म ब्लू पिक्चरअब जलालुद्दीन ने मुझे जमीन पर घुटनों पर बैठने को कहा और मेरे आगे आ गए.

तभी उसका मैसज आया- चांदनी आई लव यू!मैंने कुछ देर सोचा, फिर जवाब लिखा- तुम्हारी पत्नी चांदनी आज रात, सुहागरात मनाने के लिए इन्तज़ार कर रही है. क्सक्सक्सी हअचानक उसने मेरी टांग छोड़ दी और मुझे घुमा कर मेरे चूतड़ों पर जोर से थप्पड़ मारा और मुझे घोड़ी बनने को कहा.

तो मैंने भी उसके लंड पर उछालना शुरू कर दिया।अमन के दोनों हाथ मेरे बूब्स पर थे और मेरे दोनों हाथ उसके सीने पर थे.सेक्स बीएफ पिक्चर हिंदी में: मुझसे अब रहा नहीं गया और मैं मॉम के दोनों चूतड़ों को फैला कर उनकी गांड के छेद को चाटने लगा.

ये सोचते ही मेरे लंड महाराज अब नेकर फाड़ कर कुछ और फाड़ने को बेताब हो रहे थे.उसके मोबाइल पर घंटी बजी तो उसने मेरा मोबाइल मुझे वापस कर दिया और मेरे सामने मेरा नंबर सेव करने लगी.

टीचर के साथ सेक्सी वीडियो - सेक्स बीएफ पिक्चर हिंदी में

मैंने बीवी से कहा- अरे फिर वो क्या बोली?बीवी- उसने मेरा चैलेंज एक्सेप्ट कर लिया है.वह मज़ाक़ में निशा से बोली- तू तो मना कर रही थी, अब क्या हुआ?हम तीनों हंसने लगे.

दोस्तो, एक बात तो आपको माननी पड़ेगी कि काफी परिवारों में चाची-भतीजा, भाभी-देवर, बुआ-भतीजा इन सबके बीच सेक्स संबंध बन जाते हैं और ये बात छिपी रहती है. सेक्स बीएफ पिक्चर हिंदी में दोस्तो, क्षमा करना सेक्स कहानी थोड़ी लम्बी हो गई क्योंकि मैंने मेरी चाची और मेरे बीच का सारा कांड आपको पूरे विस्तार से बताया है.

मैं उनके होंठों को बहुत बुरी तरह चूस रहा था और उसके साथ साथ मैं उनके मम्मों को भी अच्छे से मसल रहा था.

सेक्स बीएफ पिक्चर हिंदी में?

आंटी- घर से मुझे लेने मेरे शौहर आ रहे हैं यहां, वो आने वाले हैं, यह बताने के लिए कॉल किया है. फिर जब तक घर वाले गांव से वापस नहीं आ गए, तब तक हम दोनों ऐसे ही रहने लगे और घर में नंगे घूमते रहे. तो हम भी तो देखें कि तुम लोगों को गांड मारने में ऐसा क्या मज़ा मिलता है.

जब वो आपको पहली बार नंगी करता है … तो शर्म से ऐसा लगता है कि आप पहली बार किसी के सामने नंगी हो रही हों. मुझे अपने ऊपर गुस्सा आ रहा था कि सुबह के नाश्ते के लिए भी पैसे नहीं बचे. छोटे लड़कों को कई बार देखा था और यह जानती थी कि उनके पास एक छोटी सी लुल्ली होती है लेकिन इधर तो बड़ी सी बन्दूक थी.

लेकिन कभी भी बात इतनी आगे नहीं बढ़ सकी थी जिससे मुझे उसको चोदने का मौका मिल सके. चाची भी मेरे बग़ल में ही लेट गईं और मेरे होंठों पर किस करती हुई कहने लगीं- वाह मेरे शेर, मान गई आज तुझे मैं. मैं सांस भी नहीं ले पा रहा था, पर चूत को चाटते वक्त मुझे कुछ होश नहीं था.

वो चुदाई करके वापिस अपने कमरे में जा रहा था तो मैंने कहा- आज से तुम अपनी पत्नी के पास ही सोया करोगे. अपने लौड़े को मैंने उसकी चूत से निकालने की बजाए एक ही शॉट में एक और बड़ा झटका दे डाला.

वो मेरे सिर को पकड़ कर अपने चूत पर दबा रही थी और जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी.

फिर मैंने उसकी ब्रा का हुक खोल दिया जिससे उसके छोटे छोटे बूब्स बाहर आ गए.

मैंने जब एम बी ए फर्स्ट डिवीज़न में पास कर लिया और यूनिवर्सिटी में एक पोजीशन बना ली तो फिर मुझे एक प्राइवेट मैनेजमेंट इंस्टिट्यूट में असिस्टेंट प्रोफेसर की नौकरी मिल गयी।मैं वाकई बहुत खुश थी।इस कॉलेज में लड़के और लड़कियां साथ साथ पढ़ती हैं।मैं भी और टीचरों की तरह क्लास लेने लगी, स्टूडेंट्स को पढ़ाने लगी।स्टूडेंट्स भी धीरे धीरे मेरे नजदीक आने लगे. मैंने लंड को पानी से धोया और बाहर आया तो देखा कि साक्षी अपने पेट के बल लेट गई थी. अब मैंने उसकी गांड में नारियल का ज्यादा सा तेल टपकाया और लंड अन्दर बाहर करने लगा.

मैं बिस्तर पर लेट गया मगर भाभी ने चूत की जगह अपनी गांड मेरे मुँह पर रख दी. उसने मेरे लंड पूरा अन्दर गले तक भर लिया और मेरे लंड की गोटियां दबाने लगी. क्या मस्त चूत थी उनकी … चूत पर हाथ फेरते ही मेरा लंड लोहा हो गया था.

मेरी वाली एक अलग पेड़ के नीचे बैठ गई थी और मेरी तरफ बार बार देख रही थी.

मेरी गलती न होने पर भी, मैं जब तक बीवी के पाँव पकड़कर माफ़ी नहीं मांग लेता, उसका गुस्सा शांत नहीं होता. बस कुछ एक मिनट में ही मेरे लंड का लावा छूटा और साथ ही साथ माधुरी का बदन भी अकड़ने लगा. मेरा मोटा सुपारा चूत में सट्ट से घुस गया और मैं बिना कुछ सोचे जोर जोर से पेलने लगा.

अब जलालुद्दीन साहब भी पीछे से मेरी गांड ठोकते ठोकते थक चुके थे तो उन्होंने अपना लण्ड बाहर निकाल लिया. माधुरी बहुत ही सेक्सी कामदेवी लग रही थी और उसके बदन पर उसकी लेगिंग्स बहुत टाइट होने के कारण चिपकी सी थी. वह मज़ाक़ में निशा से बोली- तू तो मना कर रही थी, अब क्या हुआ?हम तीनों हंसने लगे.

मैंने उत्सुकता से पूछा- कैसे समझाया होगा?बीवी बोली- मैंने कहा कि तुम्हारे फूफा जी व्हिस्की के नशे में थे.

मैंने अपना लंड ज़ोरदार झटके के साथ मामी की गांड में पेला और एक बार में ही पूरा लौड़ा गांड में डाल दिया. वैसे तो मैं उसे हर रोज देखता ही हूं, पर आज मेरा मन तो किया कि उसे वहीं बिस्तर पर गिरा लूं, लेकिन कहीं वो गुस्सा न हो जाए, ये सोचकर खुद को संभाल लिया.

सेक्स बीएफ पिक्चर हिंदी में Xxx बाप बेटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं मायके आई तो एक रात मैंने मम्मी पापा को सेक्स करते देखा. चाची ने मुझे अपने चूचे ताड़ते हुए देख लिया और पूछा- क्या देख रहे हो?मैंने सकपकाते हुए कहा- कुछ नहीं चाची.

सेक्स बीएफ पिक्चर हिंदी में मैं उसकी और हुआ और अपनी उंगली को उसके माथे से उसके होंठों तक फेरने लगा. वो जैसे जैसे मेरे लंड पर बैठ रही थी, मेरा लंड साक्षी की वर्जिन ऐस के छेद को चीरता हुआ अन्दर जा रहा था.

आज उसने जींस और टॉप पहना था, तो जींस में से उसकी पैंटी की किनारी की रेखाएं साफ उभर कर आ रही थीं, जिन पर मेरी निगाह जा रही थी.

देवर भाभी की सेक्सी कहानी वीडियो में

मैंने बहुत ही हल्के हाथों से गेट को थोड़ा सा खोला और अपनी गर्दन को अंदर झांक कर देखा तो पाया सुधा ने ब्लाउज और पेटिकोट पहना हुआ था. मैंने दोस्त से धीरे से बोल दिया- मित्र, क्या हमारा जुगाड़ पक्का हो गया है?पहले मुझे लगा कि वह नाराज होगा लेकिन वह थोड़ी देर तक कुछ भी नहीं बोला. मैंने अपने दोस्त से फोन पर कहा- भाई, एक दिन के लिए अपने रूम की चाबी दे दे.

’‘आप‌ दोनों ने अपने सारे टेस्ट वगैरह तो करवाए ही होंगे ना, तो टेस्ट के मुताबिक दिक्कत क्या आ रही है, जो बेबी नहीं हो रहा है?’आंटी थोड़ी मायूस होती हुई बोलीं कि बेटा तेरे अंकल में ही कुछ दिक्कत है, तभी तो मैंने बोला कि‌ शादी करने‌‌ में देर मत कर वर्ना आगे और सारी दिक्कतें आने लगती हैं. मैंने झट से एक हाथ उनकी नाइटी में डाला और मम्मों को दबाने मसलने लगा, साथ ही मैं अपने लंड को उनकी गांड में भी रगड़ रहा था. इससे आपको कोई प्राब्लम तो नहीं है?मैं- देखिए लंड और चूत का कोई धर्म नहीं होता है.

शाम 5 बजे मैं तैयार होकर खुद कार चलाती हुई सुरेंद्र जी को लेने के लिए एयरपोर्ट के लिए निकल गई.

एक दिन में कई कई बार चुदाई की फ़िल्में देखता था और मैं अपना लंड पकड़ कर मुठ मारता रहता था. मैंने कहा- तुम्हारा मन नहीं करता कुछ करने को?वो बोली- कैसे नहीं करेगा, मगर मैं कर भी क्या सकती हूँ, किससे प्यार कर सकती हूँ?मैंने कहा- मेरे साथ प्यार कर लो. वो मेरी पकड़ से छूटने के लिए छटपटा रही थी, लेकिन मैंने उसे बहुत जोर से पकड़ा हुआ था.

फिर भैया ने अपने लंड को बुर से थोड़ी बाहर की तरफ़ खींचा और फिर से एक जोरदार धक्का दे दिया. एक दिन उसने मुझसे पूछा कि कभी किसी के साथ सेक्स किया है?मैंने कहा- नहीं. मेरे मन न जाने क्यों लड्डू फूट रहे थे कि शायद अब मेरे और भाभी के बीच कुछ हो सकता है.

उसके दाने को अपने होंठों में दबा कर खींचता तो वो ‘आह आह मर गई …’ कह कर चिल्ला देती. अब मैं मॉम की गोरी गोरी मांसल जांघों को चाट रहा था और बीच बीच में मैं उनकी कच्छी के ऊपर से उनकी चूत पर जीभ फिरा रहा था.

अब मैं नीचे से साक्षी के दोनों कूल्हों को थोड़ा ऊपर उठा कर नीचे से जोर से अपने लंड को चूत अन्दर पेलने लगा था. मैं उनके नंगे बदन को अपने दिमाग की छवि में उतारने लगा और उनको बिना कपड़ों के एक दूसरे में आलिंगन पाते हुए सोचकर अपने लंड को सहलाने लगा।खैर थोड़ी देर बाद सब लोग जागने लगे और अपने अपने काम में व्यस्त हो गए. मुझे कमेंट्स करके बताएं कि आपको ये Xxx स्टेप मॉम सेक्स कहानी कैसी लगी.

मैंने धीरे से उसकी गर्दन के पीछे अपना हाथ डाला और उसके चेहरे को मेरे चेहरे के पास ले लिया.

कुछ पल भर में मुझे थोड़ी राहत मिल गई, तो मैंने अपने पैर फ़ैला दिए और अपनी बुर को थोड़ी और खोल दी. इधर मैं उसकी चूत को चाटता रहा और वो अपने मुँह से कामुक आवाजें निकालती रही. उसके आगे 2 औरतें और थीं और चरवाहे वाले लोग भी थे तो मैं कुछ नहीं कर पा रहा था.

जितनी तेजी से मैं दूध खींचता, उतनी ही तेजी से उसकी चूची से दूध की धार मेरे मुँह में आने लगती थी. मेरी देखा देखी उसने भी मेरे लंड पर दारू डालकर उसे चूसना चालू कर दिया.

उसमें राजकुमारी एक गुलाम को पकड़कर लाती, गुलाम को पीठ के बल पलंग पर लिटा देती. चाची बोलीं- मैं भी तुझे पसन्द करती हूँ राकेश … जब से ससुराल आई हूँ तबसे मैं तेरे साथ ही चुदने की सोच रही हूँ. मैंने आखिरकार एक दिन उसे मिलने के लिए राजी कर ही लिया लेकिन इस शर्त पर कि हमारे बीच सेक्स जैसा कुछ नहीं होगा.

सेक्सी नंगी नंगी बीपी

उसको अचानक से लंड गांड में लेने से बहुत तेज दर्द हुआ और वह चिल्लाने लगी- अरे नहीं … मत मारो … दर्द हो रहा है बाद में कर लेना.

नंगी मॉम को देख कर बहन ने आंख बंद कर ली … क्योंकि मैं और मॉम दोनों नंगे थे. उस कांच के दरवाजे से बाहर से अन्दर का नहीं दिखता है लेकिन अन्दर से बाहर का साफ़ साफ़ देखा जा सकता था. इसका सीधा सा मतलब ये था कि मेरी चचेरी बहन कुमकुम भी अब एन्जॉय के मूड में आ गई थी.

थोड़ी देर में एक मोटी सी उंगली घुसी, ऐसा लगा कि ये वाली रोहित की थी. फिर उन्होंने अपने कपड़े भी एक एक करके उतार दिए और मेरे सामने नंगे हो गए. বাঙালি বৌদির চূদাচূদিमैंने महसूस किया कि उस बात से मैं और खाला, हम दोनों ही बहुत खुश थे.

ऐसा करने से जवानी चढ़ते ही उनको चुदाई करने मिल जाती थी और मेरी तरह दौरे नहीं पड़ते थे. फिर मैंने मामी की चूचियों के बीच में अपना लंड फंसाया और उनके मम्मों को चोदने लगा.

काकी ने भी टांगें पूरी फैला दी थीं और बापू ने अपनी जीभ काकी की चूत पर लगा दी थी. फिर जैसे ही मैंने मामी की गांड पर अपने लंड का टोपा रखा, मामी बहुत ज़ोर से चिल्लाईं. उसे अचानक से उठता देख मैं भी उठा और पूछा- क्या हुआ?वो बोली- कुछ नहीं.

मैं हर रोज ऑफिस जाता तो उसकी शॉप को देखता और हमेशा माधुरी को सोच कर अपने तने हुए लंड का लावा निकाल कर लंड को शांत कर लेता. मुझको शुरुआती दर्द के बाद अभी मजा आना शुरू ही हुआ था कि सोनी झड़ गया. एक हिजड़ा मेरे नीम्बुओं को मसलने में लगा था और मेरी घुंडियों को भी सहला रहा था.

’‘साली जब उंगली डालती है, तब दर्द नहीं होता नहीं होता है?’‘आपका लंड बहुत मोटा है ना.

वो दूसरे रूम के बाथरूम से फ्रेश होकर पहले ही सोफे पर बैठकर मेरा इंतज़ार कर रहा था. मेरे लिंग की बात करें तो मेरा लिंग 7″ लम्बा और 3″ मोटा है।आपको मैं अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में बताता हूं.

अचानक मेरा शरीर अकड़ने लगा, मेरी चूत कटी मुर्गी की तरह फड़फड़ाने लगी और अचानक उसने ढेर सारा पानी छोड दिया. वाइफ सिस्टर सेक्स को समझ कर जीजू ने उसे बेड पर चित लिटाया और उसकी चूत पर लंड का सुपारा रख दिया. उसकी सील अभी तक फटी नहीं थी, तो उसे एक उंगली से ही काफ़ी दर्द हो रहा था.

कुछ देर तो मुझे खराब लगा लेकिन फिर लंड का स्वाद मुझे अच्छा लगने लगा और मैं जोर जोर से जीजू का लंड चूसने लगी. एक दिन बाजार में मेरा एक्स बॉयफ्रेंड मिला जिससे मैं पहले भी चुद चुकी थी. मैंने उसकी एक जांघ उठाकर अपनी जांघ पर रख ली और अपना हाथ और अन्दर ले जाकर उसकी चूत के ऊपर रख कर सहलाने लगा.

सेक्स बीएफ पिक्चर हिंदी में गाली देते देते और चुदाई करते करते उनके धक्के तेज होते गए और मैं भी नीचे से जोर जोर से उछलने लगी थी. उसने कुकर को चूल्हे पर रखा था और जब तक वह 3 या 4 बार सीटी नहीं बजाता, उसे कुछ नहीं करना था.

मैडम की सेक्सी चुदाई वीडियो

फिर जब भी हम मिलते हैं, हम अच्छी तरह से चुदाई का मजा लेते और अपनी प्यास को शांत करते हैं. मैंने सोचा कि पहले इसकी चूत को उंगली से ढीली कर लेता हूँ, तभी ये लंड ले पाएगी वरना तो ये बहुत शोर मचाएगी. उसने ऐसा कहा, तो मैं समझ गया कि लौंडिया की चूत अब लंड लंड करने लगी है.

इस तरह से करने से शबाना को दर्द में कुछ राहत मिली और लंड के चूत में घर्षण होने पर उसे थोड़ा मजा आने लगा. एक दिन उसने खुद मुझे बुलाया तो …दोस्तो, मैं आपको अपने ऑफिस के नीचे एक दुकान वाली छमिया सी दिखनी वाली माधुरी भाभी की सेक्स कहानी सुना रहा था. बहन का चुदाई वीडियोमैंने एक उंगली उसकी बुर में घुसा दी, तो वो बिन पानी की मछली के जैसे तड़पने लगी.

उसने भी मुझे कस पकड़ लिया और उसके नाखून मेरे शरीर में घुस कर मुझे और उत्तेजित करने लगे.

मैंने खिड़की से झांक कर देखा तो मुझे दिखा कि मेरे पापा मेरी मां की जांघों के पास बैठे हैं. कुछ ही देर में आग बढ़ गई और मैंने मीना की एक टांग को कंधे पर रख लिया.

उस टाइम पर वो लड़कियां हमारे साथ घुल मिल गयी थीं तो लगा कि चलो मजा आएगा. नजर नीचे गयी तो उसका लिंग एकदम काले नाग जैसा उसकी जांघों के बीच में फुफकार रहा था. मुझे लण्ड से आती खुशबू बहुत अच्छा लगी और में भी उसपर अपनी जीभ फेरने लगी.

करीब आठ बजे जब मैं उठी तो देखा कि पति देव जी चाय की चुस्की ले रहे हैं.

अपनी बहन की चूत ले बदले में मैंने भी उसकी मां और बहन को एक साथ में चोदा. मैंने ठीक से देखा माधुरी की काले रंग की सेक्सी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत का गीलापन साफ़ दिख रहा था. ऐसे में औरत जल्दी ही गर्म हो जाती है और बहुत ज्यादा कामुक होकर जल्दी ही झड़ जाती है.

रंडी की चुदाई वीडियोनम्रता आंटी की बेटी स्कूल गई थी तो अब घर में सिर्फ मेरी आंटी और मैं ही था. वो भी बाजारू रंडी की तरह अपने गालों पर मेरे लंड की मलाई से मालिश करने लगी.

विदेशी सेक्सी भेजो सेक्सी

धीरे धीरे मेरी बीमारी बढ़ने लगी और मुझे दिन में कई कई बार दौरे से पड़ने लगे. हम दोनों के बदन में ऐसी आग लगी थी कि हमारा फोरप्ले काफी समय तक चलता रहा था. मैं अपनी बहन को प्यार करते हुए धीरे धीरे उसके कपड़े उतारने लगा, उसके होंठों को चूमने लगा.

फिर अचानक से जीजू ने एक झटके में पूरा लंड साली के मुँह में गले तक पेल दिया. बात तब की है जब मैं उन्नीस साल से 2-3 महीने कम की थी और मेरे घर वालों ने मेरा रिश्ता पक्का कर दिया था. अपने अन्दर के हवसी को जगाने के लिए उसकी मुलायम कमर का अहसास ही मेरे लिए काफी था.

अब मेरे दिमाग में मामी की ब्रा पैंटी ही घुस गई थी और मैं मौका मिलते ही उनकी ब्रा पैंटी खोजने लगता था. एक दिन अचानक ही मैं बचपन की दहलीज लांघ कर जवान हो गई और मुझे पता भी ना चला. मैं खेत में पहुंचा तो देखा कि वहां कुछ चरवाहे थे जो अपनी गायों को चारा चरा रहे थे और उनके पीछे कुछ औरतें थीं.

एक हिजड़े ने पाने से जलालुद्दीन के लंड को धोया और साफ़ टॉवल से पौंछ दिया. उन्होंने एक बाउल में सबके नाम की चिट रखीं और एक एक चिट निकालना शुरू कर दिया.

अचानक मेरा शरीर अकड़ने लगा, मैंने निखिल को कसकर अपनी बांहों में जकड़ लिया.

इतना कहकर उन्होंने मुझसे पूछा- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- गर्लफ्रेंड तो थी पर वह अपनी आगे की पढ़ाई करने दिल्ली चली गई. देवर भाभी की चुदाई खेत मेंजब मैं थक जाता तो अपने जिस्म का वजन उसकी गांड पर डाल कर रुक जाता जिससे मेरा लंड पूरी तरह से उसकी गांड में सीधा घुस जाता. पंजाबी भाभी की चुदाई वीडियोचड्डी में हाथ डालते ही समझ आ गया कि उसकी बुर से कुछ चिप चिप जैसा निकल रहा है. बाहर कांच से वो कुर्सी पर बैठी दिख रही थी, जिसमें उसकी भरी हुई गांड एकदम फूले हुए गुब्बारे की तरह कुर्सी पर चिपकी थी.

कुछ देर बाद भाभी को चुदाई में मजा आने लगा और वो कमर उछाल उछाल कर मेरा साथ देने लगीं.

मुझे पता है कि तुम्हें उसकी बहुत याद आ रही है लेकिन यह सब क्या?उसने अपनी आंखें नीचे झुका लीं और उसकी आंखों में आंसू आ गए. वो अपने हाथ से मुँह को पकड़े हुए अपनी आवाज को दबाने की कोशिश कर रही थी. उस समय वो दोनों पूरे जोश में नजर आ रहे थे।अब दीदी भी रवि के साथ साथ लगातार अपनी कमर को हिला रही थी और रवि धक्के देने के साथ साथ दीदी के होंठों को बुरी तरह से चूस रहा था.

उसने भी मुझे कस पकड़ लिया और उसके नाखून मेरे शरीर में घुस कर मुझे और उत्तेजित करने लगे. जब भी वो मेरे सामने आती तो मुस्कुरा देती थी। एक दिन वो घर में अकेली थी. उसकी सांसें जोर जोर से चल रही थीं और मैं समझ गया था कि वो नींद में नहीं है.

देहाती हॉट सेक्सी फिल्म

एक बार फिर से लंड को चूत पर लगाया, पर इस बार उसे बाजू के नीचे से होते हुए उसके कंधे थाम लिए और एक जोर का झटका लगाया. तो मैडम ने मम्मी की साड़ी घुटनों के ऊपर की जिससे मम्मी की गोरी जाँघें दिखने लगी. मैं कुछ और जोर से साक्षी की गांड मारने लगा और साक्षी भी अपनी तरफ से कुछ और ज्यादा गांड उछाल उछाल कर साथ देने लगी.

मैं तो चादर में लिपटा हुआ था लेकिन शबाना को जन्मजात नंगी देखकर वह सब कुछ समझ गई- ये क्या किया तुमने?शबाना को कोई जवाब नहीं सूझ रहा था इसलिए चुपचाप मुँह लटकाकर बैठ गई.

मेरा तो कुछ टाइम बाद फिर से रस निकल गया और मुझे दर्द भी होने लगा था.

माशाल्ला … क्या तराशा हुआ बदन था … उसका संगमरमर सा … ताजमहल के जैसा तराशा हुआ बदन … मेरे सामने था. उसने उसके उलटे हाथ को मेरे फड़फड़ाते लंड पर रख दिया और सीधे हाथ को मेरी छाती पर रख कर मेरे एक निप्पल को सहलाने लगा. भाभी को चोदनेअपने अन्दर के हवसी को जगाने के लिए उसकी मुलायम कमर का अहसास ही मेरे लिए काफी था.

ऐसे ही हमारे दिन मज़े में कट रहे थे, पर हमें पूरी चुदाई करने का मौक़ा नहीं मिल रहा था. मगर मैं फोटो क्यों डिलीट करता, मैंने सम्भाल कर रख ली और आंटी को बोल दिया- मैंने अपना नंबर आपके फोन में डाल दिया है, कुछ परेशानी हो, तो कॉल कर लेना. मैंने तुरन्त उन्हें अन्दर आने को कहा और कमरे से अपनी तौलिया लाकर दी.

अब मेरा लंड फूल मूड में आ चुका था और डिंपी की गांड के मजे ले रहा था. उसके छोटे छोटे सेब के आकार के चूचे बिल्कुल कड़क थे, लगता था जैसे कभी किसी ने दबाए ना हों.

मैंने उसकी गांड साफ की और उसने मुझे पीठ पर साबुन लगा कर अपनी चूचियों से मेरी मालिश की.

लेकिन मुझे ख़ुशी थी कि एक भयानक लड़ाई में आलिम साहब ने जिन्न को मार डाला है. लग रहा था कि आज यही वो वक़्त है जब हम दोनों एक दूसरे में समा सकते हैं. मैं बुआ की साफ़ दिखती गांड में लंड ठोक कर उनके ऊपर चढ़कर गांड चोदने लगा.

xxx एक्सएक्सएक्स यह करते हुए मुझे रम्भा ने देख लिया था।हमेशा ऐसा होता था कि मेरे हिस्से में कोई ना कोई मार्केट जाने का काम आ जाता था जिसकी वजह से मैं सबसे अंत में दोपहर का खाना खाता थालेकिन मेरी सुधा और रम्भा से अच्छी बातचीत हो गई थी तो वे मेरे लिए अलग से ही खाना निकाल कर रख देती थी. उन्होंने अपनी दोनों टांगें मेरी कमर पर जकड़ दीं और मैंने पूनम आंटी की चूत में अपना सारा वीर्य गिरा दिया.

तभी मेरी मुलाकात उस परिवार की एक हसीना से हुई, उस आंटी का नाम कविता था. चाची किसी रंडी की तरह आह आह करके हंस हंस कर अपने भतीजे से अपनी गांड चुदाई का मज़ा ले रही थीं. मैं आधे घंटे में उसको लेकर आता हूँ तब तक आप लोग टेक्सी के अंदर आराम करिये.

हाथी हथनी का सेक्सी वीडियो

उसके बड़े बड़े गुंबदों से मम्मों के बीच मैंने अपने चेहरे को रखा और अपनी जीभ कोमल के मम्मों की घाटी में डाल दी. दोनों ने फल के बाग और बकरी पालन का प्रशिक्षण लिया था और अपने फार्म हाउस में रहने चले गए थे. उसने हंस कर कहा- अरे जालिम काट मत, तुम्हारे अंकल पूछेंगे तो क्या बताऊंगी.

इस बार चाची ने कुछ नहीं कहा, वो सो सी गई थीं शायद, या उन्हें भी मजा आने लगा था. आंटी की पैंटी को मैंने उसके टखनों तक कर दिया और उसने अपनी एक टांग की मदद से उसे पूरी तरह से हटाकर निकाल दिया.

मैंने उसकी एक जांघ उठाकर अपनी जांघ पर रख ली और अपना हाथ और अन्दर ले जाकर उसकी चूत के ऊपर रख कर सहलाने लगा.

समीर ने बारी बारी से बहुत देर तक मेरे मम्मों को चूस चूस पर पिया और दोनों मम्मे लाल कर दिए. मगर उसने नहीं लिया तो मॉम ने मेरा मुँह में ले लिया और चूसती हुई बोलीं- लो अब साफ़ हो गया, अब चूसो. अब आगे हॉट गर्ल सेक्स लव:एक हिजड़ा बोला- चलो अच्छा है, तुम्हारा इलाज हो गया.

मैं सिर्फ टीवी देख रहा था; मुझे नहीं समझ आ रहा था कि कैसे आगे बढ़ना है. थोड़ी देर बाद हम दोनों खड़े होकर बाथरूम में गए और साथ में नंगे ही नहाने लगे. तो मैंने उसको बोला- चल बे लवड़े तुम चार क्या, दस भी आ जाओगे तो मेरी झांट टेड़ी नहीं कर सकते.

शायद कवि लखमी चंद ने उसके लिए ही ये रागनी लिखी थी- छाती खिचमा पेट सुकड़मा …बीच रास्ते में उसे किसी का फोन आया और उसने फोन पर बताया कि वो कोमल (बदला हुआ नाम) ही बोल रही है.

सेक्स बीएफ पिक्चर हिंदी में: इधर शबाना मेरे लंड को कपड़े से साफ कर रही थी और लंड में चावल के बराबर के छेद को समझने की कोशिश कर रही थी. तभी पापा के उठने की आवाज आई तो वो मेरी गोद में से उठकर अपने बिस्तर पर जाकर लेट गई.

फिर भी मुझे उनका कहा तो मानना ही था, मैं मन ही मन सलीम को अपना पति मान चुकी थी. माधुरी ने देखा और कहा- ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा कि खाना खाने के लिए अपना डिब्बा निकाला है. सोनी और मैंने सेक्स वीडियो देखकर बाकी कल्पना से नए नए आसन में सम्भोग किया.

अब वो मचलने, तड़पने लगी थी और बोली- रवि, मेरी यह चूत तुम्हारे लंड के बिना मर जाएगी, इसमें अपना लंड घुसा कर फाड़ दो.

इसी दौरान मैंने उसे बता भी दिया था कि मैंने तुझे पटा कर चोदने की शर्त लगाई थी. मैंने कहा- ये देखो इन भोसड़ी वालों को … कैसे गांड मरवाने के लिए उतावले हुए जा रहे हैं. उसने मुझसे पूछा- आप क्या करना चाह रहे हो?मैंने कहा- आज मैं तुम्हें वह मजा दूंगा, जो आज तक तुम्हें किसी ने नहीं दिया होगा … और ना कभी कोई दे पाएगा.