भोजपुरी बीएफ सेक्स चुदाई

छवि स्रोत,बिहारी सेक्सी वीडियो देहाती में

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ 2021 हिंदी: भोजपुरी बीएफ सेक्स चुदाई, इस बार मुझे जल्द ही मजा आने लगा और मैं उनका पूरा साथ देकर चुदवाने लगी.

इंग्लिश पिक्चर की सेक्सी

मैं- जी बिल्कुल … मैं खुद को ख़ुशनसीब समझूँगा अगर पूजा जी की हामी हुई तो!अमित- वो मान जायेगी. सेक्सी फिल्में बॉलीवुडचाची- मार ही देगा मुझे? क्या खाता है, इतनी ताकत है तेरे में … साले सांड.

मैंने देखा कि विक्रम का लंड पैंट के बाहर से काफी बड़ा और पूरा फूला हुआ लग रहा था. छोटी-छोटी लड़कियां सेक्सी वीडियो) पहनने का सोच रही थी तो हम दोनों ने ही मना कर दिया और कहा कि तुम इन पेंटी और ब्रा में ही बहुत मस्त लग रही हो.

वो बोली- कैसे प्यार करते?मैंने कहा- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है, तो मैं कैसे इमेजिन करूँ.भोजपुरी बीएफ सेक्स चुदाई: दोस्तो, इस सेक्स कहानी में और भी बहुत से किरदार आएंगे, जिनका परिचय उनके आगमन पर ही होगा.

वो मुझे नयी ब्रा पेंटी पहनाने लगा और मेरी पुरानी वाली ब्रा पैंटी उसने निशानी के तौर पर अपने पास रख ली.प्रिय अन्तर्वासना पाठकोजून 2019 प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच बेस्ट सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये ….

गन्दा वीडियो सेक्सी - भोजपुरी बीएफ सेक्स चुदाई

मालिश करते हुए वो मेरे निप्पलों को मसलते और मेरी चूचियों को भींच देता.मेरी बीवी के बूब्स आधे से ज्यादा दिख रहे थे और उसकी चड्डी भी गांड को छुपा नहीं पा रही थी.

तभी मैंने उसके सर को अपनी जांघों के बीच में जकड़ लिया और दोनों हाथों से उसके सर को चुत की ओर खींचने लगी. भोजपुरी बीएफ सेक्स चुदाई वह फिर से तेज धक्के लगाते हुए सोनाली की गांड मारने लगा। मालविका प्यार से गांड मार रही थी, वो धीरे धीरे धक्के लगा रही थी।मालविका ने मुझे इशारा किया कि मैं सौरभ की गांड मारूँ.

इतना सुनते ही मैंने भाभी को कस कर पकड़ लिया और उसके होंठों को चूसना चालू कर दिया.

भोजपुरी बीएफ सेक्स चुदाई?

उसके मुँह से अनायस ही निकल गया- बाप रे बाप … इतना बड़ा भी होता है!?वाकयी में विक्रम का लंड बहुत बड़ा था. 1 लड़का नीतीश (28 साल) और 1 लड़की तनया (26)दोनों बच्चे कनाडा में नौकरी करते थे।अक्सर हम दोनों की बात हो जाया करती थी. कुछ मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना पूरा वजन मॉम के ऊपर डाल दिया और मॉम को जकड़ लिया.

उसने टॉप उतार दिया।मैंने जैसे ही उसके दूधों को देखा तो मैं दंग रह गया।इतने बड़े दूध थे कि हाथ में नहीं आ रहे थे। मैं तो अपनी किस्मत पर फूला नहीं समा रहा था. मैं उसे चूमता हुआ बोला- मजा आया पायल?वो मेरे गले से लगे हुए बोली- हां … बहुत अच्छा लगा. मैं बोला- तो फिर आप क्या सोच रही हो?मैंने वो मेरे करीब आयी और मेरे सीने से लगकर नीचे हाथ ले गयी.

’ की कराह निकल‌ गयी और एक मस्त सी सिहरन मुझे उसके जिस्म से उठती सी महसूस हुई. उसने मेरी बर्थ वाले कंपार्टमेंट का दरवाजा ओपन किया और मुझसे बोला कि एक लेडीज सवारी है, उसकी बस मिस हो गयी है. ” भाभी ने सच में डरते हुए मिन्नत की।तेरे को बोला ना … अपुन इस मामले का एक्सपर्ट है … और आज तक कोई बी चूत और गांड मरवाने से नहीं मरा। में तेरे को प्रॉमिस देता आराम से करेगा बस …”वो … वो … क्रीम और तेल लगा लेना प्लीज …”फिकर नई करने का अपुन सब देख लेंगा … बस अब तू पलट जा.

मगर यह भी संभव नहीं था।मेरी बहन आयेशा और भाई साहिल भी मुझसे दूर थे. जूली 28-26-32 के फिगर वाली खूबसूरत मलिका जब साड़ी या जींस में मेरे सामने आती थी, तो मेरे दिल के साथ लंड भी धक धक करने लगता था.

रिचा मुझे देखते ही बोली- मेरा गिफ्ट?मैं अकचका कर बोला- यार गिफ्ट अभी तो दिया था!रिचा – वो नहीं, मुझे आज स्पेशल गिफ्ट चाहिए.

असल में दीपा कहे कुछ भी … पर उसने सुनील के लिए तैयारी पूरी कर ली थी.

सुगंधा भाभी- अरे अफसोस … कौन सी बात का?मैं- यही कि काश आप मेरी जिंदगी में होतीं … तो मेरा जीवन धन्य हो जाता. वहां पर दोनों ने पार्टी का जश्न किया और उसने रिया को बहुत शराब पिला दी. नीचे अविना मुँह में से लंड बाहर निकाल कर नंगी होकर लंड के ऊपर बैठ गई और उसे मुझे पेलना आरम्भ कर दिया.

ये सोच कर मैंने पहले तो मैंने कार अंडरग्राउंड पार्किंग में एक अँधेरे से कोने में लगायी. फिर मैंने उसे 69 की पोजीशन में किया और हम एक दूसरे के लंड और चूत को चूसने चाटने लगे. फिर मैंने दूसरे वाले को चूत चाटने के लिए कहा और पहले वाले का लंड चूसा.

मैं नंगी हुई और उन अंगों को छू-छू कर देखने लगी, जिधर डॉक्टर शक्ति ने मुझे प्यार किया था.

वैसे भी किसी भी चुत को शांत करने के लिए लंड का आकार कोई मायने नहीं रखता है, वो तो लंड के देर तक चलने पर निर्भर करता है. उसकी मंशा को समझते हुए मैंने उसके होंठों पर चुबनों की बौछार लगा दी. आप सभी को मेरी मौसेरी बहन की चुदाई की कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताना। अगर आप सभी का पॉजिटिव रिव्यू आया तो मैं आगे जरूर लिखूंगा।मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected].

थोड़ी देर उसी तरह रगड़ने के बाद मैंने अपने शरीर को नीचे किया और अपना मुंह दीदी की टांगों के बीच लेकर चला गया. उसी रात 12 बजे की बस से मेरी बुकिंग थी, जो मैंने ऑनलाइन करवा रखी थी. मैं- जरा एक बार ये भी तो देखूं, जो इनको खरीदने में तुम‌ इतना शर्मा रही थी.

टीचर एंड स्टूडेंट सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने कोचिंग क्लास में पढ़ाना शुरू किया तो एक लड़की पर मेरी नजर टिक गयी.

अगले ही मिनट मेरा माल उसके मुँह के पिचकारी मारते हुए निकलने लगा और मेरी पकड़ कमजोर होती चली गई. मेरी शादी को 25 साल से ज्यादा हो चुके थे और इन सालों में मैंने जिन्दगी के काफी मजे लिये थे.

भोजपुरी बीएफ सेक्स चुदाई मैं उस मैडम के पास गया और अखबार में निकली जगह के बारे में पूछताछ की. ” एक ही धक्के में अपने पिता का आधा लंड अपनी चूत में घुसते ही ज्योति ने ज़ोर से चिल्लाते हुए कहा।आह्ह्ह बेटी, कितनी गर्म चूत है तुम्हारी, बस थोड़ा दर्द ही होगा फिर तो मज़े ही मज़े होंगे.

भोजपुरी बीएफ सेक्स चुदाई ’ की आवाज निकली मगर अगले ही वो मेरे लंड पर उछल उछल कर मेरे लंड को अपनी गांड में अन्दर तक लेने लगी. ये उसकी ताजगी भरी जवानी का एक नमूना था, जिसने मुझे मस्त कर दिया था.

मेरे पति ने जब देखा कि मैं फिर से राजी हो गई हूं तो वह अलग हो गए और प्रीत मुझे लेटा कर मेरे ऊपर चढ़ गया.

सेक्स बीएफ जबरदस्त

चूचियां दबाती ब्रा और चूत रगड़ती पैंटी मुझे मादक और गर्म कर रहे थे।मैंने पेटीकोट और ब्लाउज़ नहीं पहनी और एक नीले रंग की पारदर्शी साड़ी पहन ली साड़ी के बाहर से ही मेरी ब्रा में दबी चूचियां और पैंटी में चूत दिख रही थी।तभी सूरज का फोन आया- हैलो मैं सूरज हूं. तो मैंने उसे पूछा- क्या तुम साहिल से भी चुदाई करवाती हो?वो डरती हुई बोली- साहब, आप वन्दना मेमसाब को तो नहीं बताओगे कुछ?मैंने उसे तसल्ली दी कि मैं किसी को कुछ नहीं बताऊंगा तो वो बोली- साहिल जी मुझे महीने में एक दो बार जरूर चोदते हैं और मुझे पार्लर जाने के लिए भी पैसे देते हैं. अब पिंकी अनिल के ऊपर चढ़ गयी और उसका पूरा लंड अपनी चूत की गहराई तक लेकर घुड़सवारी करने लगी.

हॉट भाभी डबल चुदाई कहनी में पढ़ें कि कैसे मैंने और मेरे दोस्त ने एक भाभी की आगे पीछे ऊपर नीचे से चूत गांड चुदाई करके उसकी इच्छा पूरी की. वो फिर से गर्म हो गयी और बोली- साहब जी, अब डाल दो अपना लन्ड मेरी चूत में!मैं खड़ा हुआ और मैंने लन्ड को आशा के मुंह में दे दिया. वो ट्राउज़र और टॉप पहने थी।मैंने उन्हें एक सेट दे दिया बनाने को और बैठ गया।वो सब बनाने लगी और मैं अपना पैर धीरे धीरे ऊपर ले जा रहा था.

” महेश ने अब अपने लंड को पूरी तेज़ी के साथ अपनी बेटी की चूत में अंदर-बाहर करना शुरू कर दिया था।ज्योति अपने पिता के लंड को तेज़ी के साथ अपनी चूत में अंदर बाहर होता हुआ महसूस करके आनंद में डूबी जा रही थी। उसकी आंखें मजे के मारे बंद होने लगी थीं.

गाँव की बाकी औरतों जैसे दीदी भी साड़ी के अन्दर केवल पेटीकोट पहनती थी. उसकी हल्की हल्की काली झांटें उसकी चूत की खूबसूरती को और ज्यादा बढ़ा रही थीं. फिर वो चूची छोड़ कर नाभि के पास आ गया; मेरी बीवी की पतली और गोरी कमर को पकड़ते हुए विक्रम ने उसकी नाभि में अपनी जीभ घुसा दी और चूसने लगा.

मुझे तो ऐसा मन कर रहा था कि अभी मॉम के साथ डांस करके उनको किस कर लूं. मैंने कहा- तू कुछ दिन पहले मुझसे बोलती, तो मैं अब तक तुम दोनों का संगम करवा देती. अगले दो दिनों बाद अशोक को 10 दिनों के लिए सिंगापुर जाना था और इसी बीच मेरे सास और ससुर भी वापिस जाने की तैयारी करने लगे.

मैं दबे पैर ऊपर की तरफ गया तो पता चला कि आवाज ऊपर गेस्ट रूम से आ रही थी. दूसरी तरफ मेरा बहुत मन कर रहा था और अभी भाभी सेक्स के लिए तैयार नहीं थीं.

वो गाली देते हुए बोली- साले कमीने जीजू … मुझे चूसने क्यों नहीं दे रहे हो. मैंने उसके लंड के दहकते सुपारे को अपनी प्यासी चूत की फांकों में महसूस किया तो मैं और भी ज्यादा उतावली हो गई. जब बचपने में कोई नया नया जवान लौंडा अपना मस्त लंड मेरी चिकनी मक्खन सी गांड में लंड पेल रहा होता था.

अमेरिकी दूतावास में पहुंच कर एक भारतीय कर्मचारी ने बताया कि मुझे वहां पर किसी जानकार जरूरत पड़ेगी.

उनकी गांड जलाने के लिए मैंने अपनी गांड को और ज्यादा मटकाकर चलने लगी. पोर्न देखने का शौक तो मुझे था ही इसलिए कई बार पोर्न देखते हुए मैं अपनी साली के बदन की कल्पना कर लिया करता था. मैंने उसके चूत के छेद में डालने की कोशिश की, मगर उसने अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ कर अपनी गांड के छेद में लगा दिया.

वो सिसकारी मारने लगी। फिर मैंने आवाज ज्यादा न गूंजने से बचाने के लिए बड़ी चाची के मुंह में लंड दे दिया. वो ये सुनकर शर्मा गईं और बोलीं- कुछ नहीं … बस यूं ही गाने सुन रही थी.

मेरा लंड प्यासा रह जाता था और मैं किसी तरह मुठ मारकर खुद को शांत कर लेता था. सन्नी ने पीछे से न्यासा की गांड में लंड डाल दिया और ज़ोर ज़ोर से उसकी गांड मारने लगा. अभी भी मैं सोचता हूं कि किसी दिन उसको चोदने का मौका फिर से मिल जाये.

बीएफ सेक्सी फिल्में दिखाएं

उसके बाद उन्होंने फिर मेरी तरफ पीठ की और अपने पेटीकोट को चूचियों से नीचे करते हुए अपने ब्लाऊज को पहनने लगी.

मैंने ब्रा को पूरा निकलने के बजाये कप्स को ऊपर खिसका दिया और उनके स्तनों को कपड़ों से आजाद कर दिया. ऑफिस में नील से बातें करके पता चला कि सीमा और नील भी अब चूमा-चाटी तक पहुंच चुके हैं. जहां मर्जी सो जाए … इसमें छोटी बड़ी की क्या बात है!संगीता- बिगाड़ उसको … मुझे क्या.

मैंने अपने यार को अपने नीचे किया और उसके लंड के ऊपर चूत को सैट करके सील तुड़वाने को तैयार हो गई. वो अभी कुछ बोलने ही जा रही थी कि मैंने उसके होंठों पर उंगली रख कर उसे इशारा किया- शश. सेक्सी कहानी सुनाएँविजय, मेरी जान, तुम अभी तक कहाँ थे? मेरे राजा, तुम्हारा लण्ड है या कामदेव का हथियार? मैं तो पिछले सात आठ साल से चुदी ही नहीं.

करीब पांच मिनट बाद राहुल ने शिल्पा को रोक दिया और उसके बाकी के कपड़े निकलाने को बोला. वो लंड को पहले चुत के मुहाने तक खींचता था, फिर उसी तेज़ी से जड़ तक समाहित कर देता था.

वो मेरे लंड को सहलाने लगी और मैं उसकी चूत को नाइटी के ऊपर से सहलाने लगा. आब आगे की प्यार सेक्स की कहानी:मैं- अब भी कुछ कह रही हैं तुम्हारी गांड और चूत?ज़ारा- हां कह रही हैं!मैं- अब क्या कह रही हैं?मैं हंसते हुए बोला!ज़ारा- कह रही हैं कि मजा आ गया!और वो भी हंसने लगी!ऐसे ही एक दूसरे को छेड़ते-छेड़ते, हंसते-मुस्कुराते खाना बन चुका था. वह अपने होंठों से मेरे होंठों का रसपान करने लगा और अपने दोनों हाथ मेरे चेहरे से हटाते हुए मेरे बूब्स की तरफ बढ़ाने लगा.

जितने दिन मैं वहां रही … उतनी रात मैंने गांव के अलग अलग लंड से चुदाई करवाई।मैं गांव के लड़कों के लिए मुफ्त की रण्डी थी। गाँव मेरे लिए स्वर्ग जैसा था।फिर मेरा समय खत्म हो गया और मुझे वापस शहर आना पड़ा।मैं अपने पर कंट्रोल करने लगी। अपने चूत में खीरा, मूली, बैगन डाल कर शांत करती. सील टूटते ही सरनी एकदम से छटपटाने लगी, उसके मुँह से तेज चिल्लाने की आवाज निकलने को हो रही थी, मगर मुझे पहले से ही मालूम था, इसलिए मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा रखा था. ज़ारा कहां पीछे रहने वाली थी उसने तो सीधे ट्रांसफार्मर पर हमला कर दिया.

बाद में सास ने पूछा तो मैंने उन्हें दारू की बात कह दी, तो वो धीरे से मेरे नजदीक आकर बोलीं- मेरे लिए भी ले आना.

मैंने भी उसी हिसाब से खुद को एडजस्ट किया और दुबारा से अपने चेहरे को उनके चेहरे के पास ले गया. मैं तो चाहती हूँ कि मालू भी तुझसे चुदवाया करे ताकि जब तक इसकी शादी न हो, इसकी खूबसूरती और चेहरे की रौनक भी बनी रहे.

सोशल साइट्स में आईडी बना कर देश विदेश के लोगों से मित्रता कर टाइम पास करने लगा. मैंने अपना लंड उसकी फुद्दी के मुहाने पर सैट किया … और एक बार उसको देखा. वो हंसने लगी और बोली- इधर खुले में तो पूरी इज्जत का फालूदा बन जाएगा.

फिर मैं उन्हें धीरे धीरे चोदने लगा और आसन में थोड़ा सा चेंज लाते हुए भाभी की टांगों को पकड़ कर अपने कंधों पर रख कर धीरे धीरे चुत चोदने लगा. अंकल मॉम की चूत को अपने हाथ से सहलाने लगे और धीरे धीरे चूत के दाने को पकड़ कर मींजने लगे. इस बात को लेकर मेरी और शालया की बहुत सी बात होने लगीं और न जाने कब हम दोनों में प्यार हो गया, पता ही चला.

भोजपुरी बीएफ सेक्स चुदाई ब्रेक इतने ज्यादा तेज तो‌ नहीं‌ लगे थे, मगर अचानक‌ ब्रेक लगने से मेरा बैलेन्स बिगड़ गया‌. अब तक हम दोनों का भाई बहन का ही रिश्ता था और इस रिश्ते बाहर निकल पाना उसके लिए भी इतना आसान नहीं था.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म एचडी

इस तरह प्यार करना शायरा के लिए नया था … पर मेरे साथ वो खुलकर प्यार करना चाहती थी. मैंने उससे कहा- रवि तुम भी अपने कपड़े उतार दो … तुम्हारे कपड़े तेल से गंदे ना हो जाएं. एक बार मैं कमरे का किराया देने गया तो आंटी ने बोला- अर्जुन, तू घर में किसी से बात ही नहीं करता, कोई परेशानी तो नहीं है न तुझे!ये बात उन्होंने मुझसे कुमाउनी भाषा में कही.

वो ड्राइवर का लंड जोर जोर से ऊपर नीचे करते हुए मेरे लंड को पकड़ने लगी. मेरी चुत पर ढकी मेरी गीली काली पैंटी को भी उसने निकाल फेंका और मेरी चुत में अपना मुँह घुसा कर चाटने लगा. सेक्सी फिल्म कैसे बनाते हैंउसका लंड पूरा कड़क हो चुका था और लगता था कि 6 या 7 इंच लंबा है, मोटा भी खूब था.

मैं- ज़ारा!ज़ारा- मुझे आपसे कोई बात नहीं करनी!मैं- सॉरी यार! मेरा मूड खराब था!वो और ज्यादा सिसकने लगी.

इतनी चिकनाई होने के बाद भी जब लौड़ा उसकी चूत में घुसने लगा तो उसकी आंखों से पानी बह निकला. वो मेरे सामने कुतिया बन गई और मैंने उसकी चूत पर लंड लगा कर उसकी चूत की चुदाई शुरू कर दी.

चूंकि लंड बहुत लंबा और मोटा था इसलिए मेरा लौड़ा उसकी चूत में फंस गया था. मैं- फोटो देखकर कैसे अंदाजा लगाया जा सकता है?फिर भी मैंने उनके जोर देने पर बोला कि मुझे तो 32-28-36 का फिगर लगता है. दोस्तो, इसके बाद की ग्रुप सेक्स कहानी और आफ़िया भाभी की गांड चुदाई की कहानी मैं आपको अगली बार लिखूंगा.

वो सिसकारी मारने लगी। फिर मैंने आवाज ज्यादा न गूंजने से बचाने के लिए बड़ी चाची के मुंह में लंड दे दिया.

तब मैं नोएडा में रहती थी और मेरे पास मेरे कई सारे क्लाइंट्स थे जो अपने वर्कआउट को लेकर बहुत सीरियस थे. तो वह रोहित से बोली- भैया ये किसकी है?तब वह बोला- तुझे क्या करना? चल ये मोमोज और कोल्ड ड्रिंक सर्व कर दे. इस बार मेरे साथ साथ शायरा को भी मज़ा आ‌ रहा था … इसलिए शायरा को मज़ा लेते देख मैंने भी अब शायरा को दनादन पेलना शुरू कर दिया और पीछे से ही शायरा की चूत का बैंड बजाने लगा.

सेक्सी हिंदी पिक्चर राजस्थानीदोस्तो, इस मस्त लंड से मेरी चुत चुदाई की नंगी कहानी का अगला भाग जल्द ही आपके सामने होगा. उसने अपना मुँह हटाने की कोशिश भी की, दाँत भी लगाए, लेकिन मैंने अपनी पकड़ कमजोर नहीं की.

देहाती बीएफ दिखाएं वीडियो

पर सेक्स की हिम्मत नहीं पड़ रही थी किसी की … और पता नहीं उनके पार्टनर्स सेक्स की बात को मानेंगे या नहीं!पर ये बात जरूर थी कि अब उनको मजा भी आ गया था और डर भी निकल गया था. मैंने अपनी जींस और अण्डरवियर उतार दिया और दादी के बेड के करीब खड़ा हो गया. दीपा उठ कर जाने लगी, मनोज ने पूछा- क्या हुआ?तो दीपा हंस कर उसके खड़े लंड की ओर इशारा कर के बोली- ये बैठने नहीं दे रहा.

ऐसे ही डॉक्टर साहब के बड़े भाई भी मेरे क्लास फैलो थे, वे भी तब मेरे जैसे ही माशूक थे. मैं चुदते हुए पूछने लगी- आपने मेरे साथ ऐसा क्यों किया?वो मुझसे कहने लगे- बेबी … बस मैं तुम्हें किसी और से चुदते हुए देखना चाहता था. वो आहें भरने लगी- आह … जान … तेज करो … आह … उह …!कुछ ही देर में उसने मुझे बांहों में कसा और पलट गयी.

मैंने उनको कह दिया था कि मैं आज से ही भाभी को योगा सिखाना शुरू कर दूंगा. वो पूरी असली लंड की तरह का था, क्योंकि जो फोटो उसने मुझे पैकेट में थी, उसमें लंड की फोटो ही थी. मैंने चादर और तकिये पर लगे खून के बारे में बताया तो दादी ने लापरवाही से हाथ हिलाते हुए कहा कि अभी धुल जायेंगे.

मैंने कहा- शायद इसीलिए कोई नहीं बनी कि सबको लगता है … क्या फायदा, इसकी तो कोई न कोई होगी. यह सुन कर मनोज को भी जोश चढ़ गया और उसने एक ही धक्के में अपना लंड उसकी चूत में घुसेड़ दिया और लगा उछलने.

मानो जैसे कई सालों बाद मिल रहे हों हम।किस करते करते वो मुझे अंदर बेडरूम में ले गई तो मैंने उसे बेड पर पटक दिया और उसके ऊपर चढ़कर उसे जोरों से किस करने लगा.

इसी दौरान संजू ने अपनी दूसरी चुची को भी ब्रा से आजाद कर दिया और विक्रम उसका मर्दन अपने हाथ से करने लगा. सेक्सी वीडियो बुआ कीतुम बाम लगा दोगे?रामू- अगर भाभी आपको कोई दिक्कत नहीं है, तो मैं लगा दूंगा. वीडियो सेक्सी ब्लू पिक्चर बीपीदो गोली पेनकिलर की रख लीं और एक पेरासिटामोल भी रख ली ताकि पायल को बुखार वगैरह न चढ़ जाए. फिर मैं काफी देर तक जम कर कभी चूत कभी गांड को बारी बारी से चोदता रहा.

बिन्नी- कोशिश करती हूँ लेकिन आँखें बन्द करते ही दिन वाले प्रोग्राम की रील चल पड़ती है, कितना प्यार से … करते … हो आप.

सीमा के बारे में सोच सोचकर परेशान हूँ, गोपाल से कुछ कह भी नहीं सकती, बेचारा परेशान होगा. मैंने भी उसका हाथ निकालने की कोई कोशिश नहीं कि बल्कि अपनी सहमति दे दी. मैंने उसे बताया कि उसने क्या क्या गलती की और क्या क्या झूठ बोला था.

मैं सोच रहा था कि आखिर मेरा लंड इतना टाइट क्यों हो गया था … मुझे इतना मजा क्यों आ रहा था. गर्म और सेक्स से भरपूर मजा लेते हुए मैंने भी सोचा कि क्यों ना मैं भी अपनी एक वास्तविक घटना को सास दामाद Xxx कहानी का रूप देकर आप लोगों के साथ साझा करूं. आह, विजय, ये क्या कर रहे हो?”अंगूठा धीरे धीरे गांड के अन्दर बाहर करते हुए मैंने कहा- अपनी रानी की गांड को शहद चटा रहा हूँ.

खेत में चुदाई बीएफ

”अपनी हथेली में बची हुई सारी शहद मैंने अपने लण्ड पर चुपड़ दी और लण्ड का सुपारा रेखा की गांड के गुलाबी चुन्नटों पर रख दिया. मैंने फिर से पूछा कि ये तो आपकी गांड की खुजली की बात हुई, पर आपको मेरे बारे में किसने बताया था?उन्होंने बताया कि जब मैंने उस लौंडे की गांड मारी थी, तब गांड मरवाते वक्त उस लौंडे ने मुझसे आपके लंड की तारीफ़ कर दी थी. बेटी मैं भी आया … आह्ह … ओहह् …” महेश भी अपनी बेटी के झड़ने की वजह से उसकी चूत के सिकुड़ने से अपने आप को रोक न सका और वह अपने लंड को अपनी बेटी की चूत में जड़ तक घुसाकर झड़ने लगा।ज्योति अपने पिता के गर्म वीर्य को अपनी चूत की गहराइयों में महसूस करते हुए अपने पिता से लिपट गयी और मज़े से सिसकारियां लेते हुए अपने पिता के गर्म वीर्य को अपनी चूत में पिचकारियां मारते हुए उस अहसास का मजा लेने लगी.

फिर कुछ देर बाद वो मेरे बालों को सहलाने लगी, उसकी चुदास फिर बढ़ गयी, वो अब खुद धीरे धीरे अपनी गांड उठा कर लन्ड अंदर लेने की कोशिश करने लगी.

मैंने धीरे धीरे प्रीति को पीछे खिसकाया और बिस्तर पर गिरा दिया और खुद प्रीति के ऊपर आ गया.

फिर हमने अपने आप को ठीक किया और चलने लगे और आधे घण्टे बाद हम सोलन पुहंच गए।गाड़ी पार्किंग में लगा कर हम होटल में गए. आप यह सेक्स कहानी हिंदी में देसी सेक्स कहानी की मस्त साईट अन्तर्वासना पर पढ़ रहे हैं. सेक्सी सर्चभाभी को मैंने पहली बार साड़ी में देखा था, तो मैं इतना नहीं समझ सका था कि भाभी जी इतनी बिंदास होंगी.

मैंने भी कई सालों की मेहनत के द्वारा एक बहुत अच्छी फिगर बनाई हुई थी. रूकने की अपेक्षा भीगते हुए घर पहुंचना बेहतर समझकर मैंने बाइक की रफ्तार बढ़ाई तो रेखा ने अपने दोनों हाथों से मेरी कमर को घेर लिया. मैंने उनके हाथ को अपने हाथ में लिया और धीरे धीरे सहलाना शुरू कर दिया.

वो अपना लंड मेरे मुँह के पास लाया और बेड के किनारे पर टांगें लटका कर बैठ गया. इसलिए इस बार मैंने शायरा के मम्मों पर बस एक किस करके डाइरेक्ट चुत पर जाने की सोची.

जब बहुत देर तक यह सब वो करवाती रही, तब उसका जिस्म कुछ ऐंठने सा लगा और उसने ‘हूँ हूँ हूँ.

फिर वह फ्रेंच किस करता पर से ही स्तन दबाता था और ऊपर से ही चूत पर हाथ लगाता!बहुत बार उसने किस करते समय ब्रा पैंटी में हाथ डालना चाहा लेकिन मैंने मना कर दिया, कहा- जो भी करना है, शादी के बाद ही करेंगे. मैंने मेज पर से बर्तन उठाये और सीधी रसोई में चली गई, वहां बर्तन साफ करने लग गई. मैंने जोर से झटका मारा, तो लंड का आगे का हिस्सा सास की गांड में घुसता चला गया.

वीडियो सेक्सी ब्लू पिक्चर बीपी मैं- लंड नहीं चाहिए? ये सब ज़िन्दगी के मज़े हैं … मज़े लेने दो और मज़े ले लो. मैं कुर्सी पर बैठा तो उसने एक निवाला मेरी तरफ बढ़ाया!ज़ारा- लो खाओ!मैं- थोड़ा प्यार से खिला दो यार!ज़ारा- प्यार से ही खिला रही हूं जान!मैं- इतना प्यार?ज़ारा- कम है? थोड़ा बेलन मिला दूं?मैं- नहीं! मेरे लिये काफी है!मैंने वो निवाला खाया और एक उसे खिलाकर खाना शुरु कर दिया.

फिर मैंने पूछा- बियर पियोगी?रेखा बोली- हां बियर लेकर आना … पिए हुए बहुत दिन हो गए. चार पांच धक्कों के बाद वो जोर से ‘आह आह ओह ओह साहब जी … मैं गयीईईई …’ बोल कर झड़ गयी. चूंकि भाबी अभी मेरा लंड हिला रही थीं, तो मुझे बड़ा सुकून मिल रहा था.

वीडियो बीएफ फिल्म बीएफ

धन्यवाद, आप सब मुझे अपने प्यार से नवाजें और मैं अपनी जिंदगी के और हसीन पल आप लोगों के साथ साझा करूं. फिर वो मेरे जिस्म को चूमता हुआ मेरी कोमल चूत की ओर अपने होंठों को लेकर गया. मैं झट से उसे नीचे करके सुपारे को मुँह में रखा और एक जोरदार झटका मारा.

वो बड़बड़ाने लगी- आह इस राजधानी एक्सप्रेस रेल को बुलेट ट्रेन बना लो, चोद दो मुझे … बिल्कुल भी रहम मत करो मेरी इस गुलाबो पर … इसको गुलाबो से लाली बना दो. मैंने पूछा- किसपे लुटा चुकी है?तो वो बोली- एक आदमी नीतू का दोस्त है.

फिर मैंने उसकी फुदी को अपनी उँगलियों से फैलाया और अपनी जीभ को बीच में रखकर उसकी फुदी चाटने लगा।यास्मीन अपने हाथों से मेरा सर पकड़ कर फुदी पर दबा रही थी, उसे मजा आ रहा था।अब मैं लेट गया और उसे बोला कि मेरे पैर के तरफ मुंह करके मेरे ऊपर आ जाओ और अपनी फुदी मेरे मुंह पर रख दो!यानि 69 वाला पोज।वो वैसे मेरे ऊपर आ गयी.

मैंने भी अपने मन को काबू में किया और उस महिला को ऊपर आने का इशारा किया. वो मेरे करीब आयी।मैंने उसे अपनी बाँहों में ले लिया और उसे चूमने लगा।मेरे दोनों हाथ पीठ से धीरे धीरे नीचे सरक रहे थे और फिर अपनी मंजिल पर आकर रुक गए।मैं उसकी गांड सहला रहा था और उसके होंठों को चूस रहा था।मैंने एक हाथ उसकी पैंटी के अंदर डाल दिया और उसकी मस्त गांड को दबाने लगा. शिवानी को भी पता चल गया था कि मेरे चूत की भूमि पर आजकल सागर अपने लंड का हल चला रहा है.

ये क्या था?पति?और यहां, इस वक्त?मैं उसको पीछे धकेल कर झट से उठी और फर्श पर बिछी चादर को उठाकर अपने नंगे बदन को ढकने लगी. पहले तो वो मेरे मादक जिस्म को देखता रह गया, उसका लंड फूलना शुरू हो गया था. गर्म और सेक्स से भरपूर मजा लेते हुए मैंने भी सोचा कि क्यों ना मैं भी अपनी एक वास्तविक घटना को सास दामाद Xxx कहानी का रूप देकर आप लोगों के साथ साझा करूं.

जब मैं उसकी टांगों पर मसाज कर रहा था तो उसकी टांगें एकदम से चिकनी हो गई थी और उनको देख कर मेरा लौड़ा बिल्कुल खड़ा हो गया था.

भोजपुरी बीएफ सेक्स चुदाई: बस एक बात बताओ कि तुम इतनी प्यासी थी तो मुझे बुलाया क्यों नहीं?”कैसे बुलाती अंकल? मुझे क्या पता था कि आप इस उम्र में भी इतना दम रखते हैं. ठण्ड के समय अन्धेरा भी जल्दी हो जाता है, 7 बजे तक मैंने देखा कि हमारे कॉलोनी में सन्नाटा पसर गया था, उस दिन ठण्ड भी बहुत ज्यादा ही थी.

मैंने कमल को उठाते हुए पूछा कि आज तेरा चेहरा कुछ अलग लग रहा है … शायद तुम किसी प्रकार का नशा करके आए हो!कमल बोला- फूफाजी, सचमच आप सही कह रहे हैं. फुल स्पीड में उसका लंड धकाधक धक्के के साथ किसी पिस्टन के जैसे संगीता के भोसड़े में अन्दर बाहर हो रहा था और उसकी गोटियां संगीता के गोल मटोल चूतड़ों से टकरा कर पट पट की ध्वनि पैदा कर रही थीं. फिर ब्लाउज और साड़ी पहनाई; जिसके बाद मैंने नकली लम्बे बालों वाली विग पहनी.

मैंने एक बार फिर से उसको बांहों में भरा और उसके नर्म रसीले होंठों को चूसने लगा.

अपनी टांगों को फैलाकर रेखा ने मेरे लण्ड को अपनी चूत के मुखद्वार से छूने की कोशिश की. जब मैं घर से निकली तो एक बार मेरा दिल कहने लगा कि नहीं मुझे वहाँ नहीं जाना चाहिए. पर उन लोगों ने ये तय किया कि अभी इस विषय में कोई जल्दीबाजी नहीं … अभी आपस में आत्मीयता और बढ़ने दो.