बीएफ सेक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी

छवि स्रोत,सेक्सी हिंदी कॉलेज की लड़की

तस्वीर का शीर्षक ,

रेप वीडियो में: बीएफ सेक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी, अब तक इस टीचर की चुदाई स्टोरी में आपने पढ़ा कि मैं नम्रता की गांड मारने की तैयारी कर रहा था.

बीपी सेक्सी वीडियो नेपाल

चाचा के घर से निकल कर मैंने सोचा कि मैं कौसर को बता देता हूँ कि मैं देर से आऊंगा, नहीं तो वो नाहक मेरा इंतजार करेगी. औरत और लड़की का सेक्सी वीडियोमैं देख रही थी कि कैसे बबीता उसके मोटे लंड से चुद कर मजे ले रही है.

आह्ह … फिर मैंने उसको नीचे लिटा दिया और खुद उसके ऊपर लेट कर उसके चूचों को अपने मुंह में भर लिया. सेक्सी फिल्म देसी मूवीमैं अन्दर आकर यही सोच रहा था कि क्या मस्त लड़कियां है, पट जाएं तो मजा आ जाए.

अब सुचिता मुझसे बोली- क्यों जीजाजी, आप तो बड़े छुपे रुस्तम निकले, आखिर ज्योति को प्रपोज करके पटा ही लिया बड़ी हसीन मुलाकात हुई आप दोनों की.बीएफ सेक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी: मेरे मुंह से सहसा ही शान्ति नाम निकला, वैसे मैं उसको कभी सीधे नाम लेकर नहीं बुलाता था.

अब मेरी जीभ और होंठ कभी श्वेता मैडम चूस रही थीं, तो कभी मैं उनकी जीभ और होंठ चूस रहा था.मैं उसके बेड के पास से झाड़ू लगा रही थी और मेरी नजर बार-बार उसकी निक्कर की जिप पर ही जा रही थी.

सेक्सी फिल्म मारवाड़ी भाषा में - बीएफ सेक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी

जैसे-जैसे मेरे धक्के मारने की स्पीड बढ़ती जा रही थी, मेरी जांघ और उसके कूल्हे के टकराने की थप-थप की आवाज मेरे उन्मादों को बढ़ा रही थी.उन्होंने अपने हाथ से जोर से पकड़ के मेरा पूरा मुँह उनकी गांड की दरार पर घुसा दिया और बोले- चूस जोर जोर से चूस भैनचोद.

मैं सोच रहा था कि अब क्या करने आ रही है भाभी? मैंने फिर से न्यूज़पेपर को चेहरे के सामने कर लिया और टांगों को फैला कर चौड़ी कर लिया. बीएफ सेक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी बस एक बार धक्का लगना क्या शुरू हुआ कि फट-फट, फक-फक की आवाज सुनाई पड़ने लगी.

वापस लौटते समय मुझे भाभी के साथ लेटने का मौका ही नहीं मिला।घर पहुंचने के बाद जब भैया ने भाभी को देखा तो बहुत खुश हो गये.

बीएफ सेक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी?

उसके ऊपर स्लीवलेस फिट टॉप में से उसके बूब्स उसकी फिगर को परफेक्ट बनाते थे. फिर भोला को एक शरारत सूझी और वो अपना एक हाथ पीछे मेरे कूल्हों पर ले गया. आप मेरा मज़ाक उड़ा रहे हैं?” शिकायती लहज़े में वसुंधरा ने मुझ से पूछा.

फिर उसने मेरे चूचों को जोर से भींचा और फिर निप्पलों को सक करने लगा. यही सब सोच कर मैं आराम करने लगा।शाम को उसने मुझे चाय पीने के लिए बुला लिया. मैंने ज़बरदस्ती दीदी के पज़ामे का नाड़ा खोल दिया और अन्दर हाथ डाल कर उनकी चूत को सहलाने लगा.

वो एक बार फिर शरमा गई और बोली- तुम हमेशा गंदी भाषा में ही बोलते हो क्या?मैंने कहा- क्यों तुम्हें सुन के मजा नहीं आता क्या?इस पर वह कुछ ना बोल सकी. मैं भाभी की बात सुनकर पिल पड़ा और जल्दी जल्दी अपना लौड़ा भाभी की चूत में आगे पीछे करने लगा. जब वो हंसती, तो उसके गालों में दोनों तरफ गड्ढे पड़ते और उसके सफ़ेद दांत मोतियों की तरह चमक उठते.

वो मेरी चूचियों को बहुत जोरों से निचोड़ निचोड़ कर मेरा दूध पी रहे थे. इसके बाद भाभी ने कपड़े उठाए और मुझे लिप किस करके ऐसे ही नंगी अपने कमरे में चली गईं.

वो बोली- तुमको जितने पैसे चाहिये, बोलो … मैं दे दूँगी, पर मैं तेरे साथ कुछ नहीं कर सकती.

वैसे तो मैं चुदाई करवा कर थक गई थी लेकिन मेरे पास पैसों की कोई कमी नहीं थी.

मौसी के मुंह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… और तेज … पूरा डालो … आह, हिरेन … मजा आ रहा है … बहुत दिनों के बाद किसी मर्द के लंड से चुद रही हूं मैं. मैं बोली- धीरे डाल साले कुत्ते … साले अपने लंबे लंड से क्या मेरी चुत फाड़ देगा?वह बोला- रुक जा मेरी रंडी … अभी तो शुरूआत है, आगे आगे देख क्या होता है. उनके करवट लेने से मेरी गांड फट के हाथ में आ गई और मैं हड़बड़ाहट से बाहर निकलने की कोशिश करने लगा, जिससे दरवाजे के पास टेबल पर रखा ग्लास गिर गया.

जब वो कई बार नहाकर आता था मैं उसके लंड के साइज को आंखों ही आंखों में नापने की कोशिश करती थी. मैंने दीदी से कहा- प्यास से हालत खराब हो रही है, मुझे गला तर करना है. वो पूछने लगी कि मैं आज दिन में फ्री हूँ क्या?तो मैंने हां बोला, तो वो बोली- यार दो महीने हो गए जयपुर आये हुए … मैंने अभी जयपुर ही नहीं देखा है.

इसी आसन में चोदते समय यदि लड़की की टांगें अपने कंधे पर रख ली जायें तो क्या कहने.

उसके बाद उसने मेरी पैंटी में हाथ डाल दिया और मेरी गीली चूत में उंगली करने लगा. मैंने उसे बनावटी गुस्से से डाँट के कहा- से इट लाऊड स्लट (तेज बोलो मेरी रंडी)वो रोती सी आवाज में कांपती आवाज में बोली- यस आई लाइक इट मास्टर ( मुझे ये अच्छा लग रहा है मेरे मालिक)मैंने उसके चूतड़ों पर फिर से व्हिप से मारा. ऐसे ही एक दिन की बात है कि सुबह जब हिरेन सो रहा था तो मैं उसके कमरे में झाड़ू लगाने गई हुई थी.

क्यों परेशान कर रहे हो। कोई बकरा मिला नहीं आज आपको?मेरा दिमाग सुन्न हो चला, इतने पैसे इतने कम समय में रीना के पास कहाँ से आ गए? वो भी पूरे दो लाख!मैं बाइक भगाते हुए घर गया, मुझे रीना से बहुत सवालों के जवाब लेने थे।जैसे ही मैं घर में घुसा, मैंने पाया कि रीना घर पर है ही नहीं. ”उसने मेरे गालों से हाथ को सरकाकर मेरी फ्रॉक के दोनों उभारों पर लाकर जो मेरे मम्मों को दबाया, तो मैं अपना सब कुछ भूलकर पीठ को सोफ़ा से टिकाकर चुपचप चूची दबवाने लगी. फिर मैंने सोनू की पैंट का हुक भी खोल दिया और उसकी पैंटी में हाथ डाल दिया.

मैंने अपनी किताब साइड में रख दी … और शोना की तरफ करवट लेके लेट गया.

उसको दर्द हो रहा था लेकिन थोड़ी ही देर में फिर उसको भी मजा आने लगा. दो तीन दिन बीते तो मेरी पत्नी ने बताया- बेबी भाभी तो बहुत बेशर्म हैं, कैसी कैसी बातें करती हैं.

बीएफ सेक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी मैं 6 महीने से प्यासी हूँ और अपनी प्यासी चूत को लेकर बैठी रहती हूं. 10 मिनट बाद मेरे बॉस ने अपने लंड का पूरा पानी मेरी चूत में छोड़ दिया.

बीएफ सेक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी पुष्पिका इस कहानी की मुख्य नायिका है।पुष्पिका की उम्र उस समय 21 वर्ष थी। उसका फिगर कयामत था. मौसी आइसक्रीम खाना पसंद नहीं करती थी लेकिन उनकी आदत थी कि वो सोने से पहले दूध जरूर पीकर सोती थी.

अदिति ने मुझे बाई बोला और टैक्सी वाले को अपने हिस्से का किराया देने लगी.

एचडी वाली बीएफ

मैं सोच रहा था कि जरूर भैया मेरी भाभी की चूत को पीछे से भी लेते होंगे. लेकिन जब से सीमा भाबी ने मुझे नताशा भाभी के साथ चुदाई करते देखा था. मेरे लौड़े ने उछल-उछल कर पानी छोड़ दिया था जो कच्छे पर भी लगा हुआ दिखाई दे रहा था.

मैं वहीं पर खड़ी होकर अपने कपड़े बदलने लगी, सबसे पहले साड़ी उतारी फिर अपने शरीर को पौंछने लगी. उसके कुछ देर बाद ही संजीव ने मेरे ब्लाउज के ऊपर से ही मेरी चूचियों पर हाथ रख दिया. हम दोनों एक साथ कितनी जगहों पर अकेले गए और आज भी हम दोनों एक ही बिस्तर पर लेटे हैं.

दोस्तो, ऐसे ही कुछ बातों के बाद मैंने अगले दिन बात करने का बोल कर उससे बाय बोल दिया.

पॉर्न देखते देखते मेरे लंड ने खड़े होकर मेरी पैंट को तंबू बना दिया था. भाबी बोली- ये बेडसीट मैं संभाल कर रखूंगी … तुम्हारे प्यार की निशानी है. ज्योति के चेहरे से तो लग रहा था कि जैसे वह बहुत उदास हो गई है मगर मैं जानता था कि वह मन ही मन खुश हो रही होगी.

मैंने उसके पीछे खड़े होकर लण्ड का सुपारा उसकी गुफा के द्वार पर रखा और पेल दिया. वो मेरे नंगे बदन से लिपटते हुए बोली- चन्दन, बहुत दिनों बाद चुदाई का सुख मिला है. हमारी काफी चैटिंग होती थी, जिसके चलते हम दोनों ने एक दूसरे के बारे में काफी कुछ जाना था.

मैंने उससे पूछा- क्या तुमको मैं याद हूँ?उसने बोला- बहुत अच्छे से याद हो. मैंने जिंदगी में बहुत चूत चोदी हैं, हर चूत में चुदने की कुछ अलग अदा होती है.

मैंने उससे बोला- बोलो अब मुझे क्या करना है?उसने कहा- तुम मेरी फ्रेंड हो ना. सात दिन तो जैसे तैसे निकल गए, उसके बाद मेरी चूत और गांड लंड के लिए तड़फने लगी. फिर शुभम जी ने अचानक से मेरी पैंटी को एक झटके में उतार फेंका और मेरी चूत को चाटने लगे.

मेरा कहना मानती हुई वो छत पर आने को राजी हो गयी और हम दोनों छत पर आ गए.

लड़की की शादी में अचानक ढेरों काम ऐसे निकल आते हैं जिनका पहले से पता नहीं होता, जिनकी कोई तैयारी नहीं होती. फिर मैंने ऊपर नज़रें उठाईं, तो उसके पेट पर उसकी नाभि तक उसकी शर्ट उठी हुई थी. एक दिन सुमन कॉलेज से आ रही थी और मैं पैदल-पैदल जा रहा था तो सुमन मेरे से बोली- राकेश कहाँ जा रहा है?मैंने उससे नजर नहीं मिलाई और उस दिन के लिए माफ़ी मांगी.

उसकी इस बात को सुनकर, मैंने लंड को उसकी गांड से बाहर निकाल कर नम्रता को गोद में उठाया और डायनिंग टेबिल पर लेटाते हुए उसके मम्मों को पीने लगा. न जाने कैसे अपने आप ही मेरी उंगलियों की पकड़ उस विशाल लंड के इर्द गिर्द पड़ गयी.

उनका एक हाथ मेरी छाती पर सांप की तरह सरक रहा था और दूसरा हाथ नीचे मेरी लोअर में तने लौड़े पर जाकर उसको और ज्यादा जोशीला बना रहा था. ये जुलाई का महीना था, मानसूनी मौसम था, सो कुछ ही देर में बारिश होने लगी. शादी के बाद मेरा थ्रीसम सेक्स का मूड बन गया और चुदाई का माहौल बन गया था.

एक लड़की दो लड़के

कहाँ मैं 19 साल की और वो 50 साल के … वो भी शरीर में मुझसे लगभग 3 गुना ज्यादा!कुछ देर में बॉस भी उठे और हम दोनों फ्रेश हो गए.

मैंने कहा- मुझे पता है इसीलिए तो मैंने गाड़ी बंद की और यह प्रोग्राम बनाया. ”अब समस्या यह थी कि वसुंधरा की सच्चाई से कैसे अवगत करवाया जाए? तब तक हम ताला खोल कर लिविंग रूम में आ चुके थे. उसने एक उंगली की जगह दो उंगलियों से मेरी गांड के छेद को फैला दिया था.

तो मैंने दरवाजा खोल कर पूछा- तुम्हारा कुछ ज्यादा ही लंबा नहीं है?उसने कहा- क्या?मैंने कहा- ट्राउजर बहुत लंबा है. जब उसका दर्द शांत हो गया तो उसने आँखों से मुझे अनुमति दे दी और मैंने अपना बेस्ट दिया. गोल्ड सेक्सी पिक्चरदूसरे दिन मैं जानबूझ कर उसी टाइम पर ऊपर भाबी के कमरे के बाहर आ गया.

मेरी चूत से खून और रज-वीर्य का संयुक्त मिश्रण बह रहा था जिसे उन्होंने अच्छे से साफ दिया और कुछ देर गुनगुने पानी से सिकाई करते रहे. इसलिए मैंने कई नाम से फ़ेसबुक पर सर्च किया, तो मुझे कुछेक दोस्त मिल गए.

मैं- पुष्पिका, अगर मैं तुम्हें पसंद करता हूं तो गलत क्या है? अभी थोड़ी देर पहले तुमने ही कहा था कि सब मतलबी होते हैं लेकिन मैं तो तुम्हारा ही भाई हूँ. मैं- हाँ चाची, मैंने इतनी बड़ी चूचियाँ और इतनी बड़ी गांड शायद ही कभी देखी हो. ताकि जो तुम्हारा बच्चा हो, वो एक सम्मान के साथ हो ना कि उसे समाज एक नाजायज बच्चा बोले.

मैंने अपना बायां हाथ थोड़ा सा और पेटीकोट के अंदर घुसाया, तत्काल मेरी उंगलियां जाली जैसी संरचना से टकराई. हाय मेरी जान … आह्ह् … वो बड़बड़ाती रही और मैं ज्योति की चूत की चूसता रहा।ज्योति बोली- तुम भी कुछ बोलो न जान!मैंने कहा- मेरा लण्ड चूसो!मेरे कहते ही फिर ज्योति ने मेरा लण्ड अपने हाथ में लिया और मेरा लण्ड देख कर उसके मुंह से लार टपक पड़ी और झपट कर उसने मेरा लण्ड मुंह में ले लिया. आपको कहानी कैसी लग रही है इसके बारे में कमेंट करें या फिर नीचे दी गई मेरी मेल आई-डी पर मेल करें.

मैं एक हाथ से भाभी के चूचों को दबाने लगा तो भाभी एकदम से और ज्यादा गर्म हो गई.

एक बार मैं फिर से मोबाईल ऑन करके वीडियो बनाने लगा, नम्रता का सुराख इतना खुल चुका था कि मेरी दो उंगलियां आसानी से उस सुराख के अन्दर आ जा रही थीं. हम दोनों बुरी तरह से उत्तेजित भी थे इसलिए जल्दी-जल्दी में लंड फिसल रहा था.

पहले पहल दर्द होता था पर चिकनाई के कारण मुझे उसकी उंगली से गांड मरवाने में मजा आने लगा. उसने मुझको बेडरूम में चलने के लिए बोला और हम दोनों बेडरूम में आ गए. हम दोनों ने साथ में शावर लिया और मैंने दीदी से कहा- हम कल तक हम घर में नग्न अवस्था में ही रहेंगे.

मैं वापस कार के अंदर आ गई, लेकिन इतनी तेज बरसात के कारण में पूरी तरह भीग चुकी थी।वो वापस बोनट की तरफ गया, मैंने कांच में अपना चेहरा देखा तो मेरा फेस पाउडर पूरी तरह भीग चुका था तो मैंने छोटा सा तौलिया अपने बैग से निकाला और मुंह को साफ किया. मैं- मधु अब से तुम भी मेरी बीवी हो और जितना हक़ रश्मि का है, उतना ही तुम्हारा है. अपनी जवान कमसिन भतीजी के सारे कपड़े उतार कर नंगी करने के बाद अब ताऊ जी बेड से उतर कर खड़े हो गए और कोमल को पेशाब करने जाने के लिए उठने के लिए बोला.

बीएफ सेक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी कितना सेक्सी फिगर था अम्मी का … और उनकी लैगी भी उनकी नाभि से नीचे थी. एक दिन मैं दिन में ऐसे ही सोया हुआ विचार कर रहा था कि मेरे पुराने स्कूल व कॉलेज के समय के दोस्तों को फ़ेसबुक पर ढूंढा जाए.

बीएफ फोटो

फिर मैंने उसकी चूत में मुंह दिया तो उसकी चूत से गर्म नमकीन पानी निकल रहा था. फिर नंगे ही उसने एक स्वादिष्ट सा नाश्ता बनाया और नंगे ही हम दोनों ने साथ नाश्ता किया. अब बेबी वर्तमान में आयी और बोली- मुझे लगता है कि हैप्पी का हाल भी इनके जैसा ही है.

मैंने उसको कसके जकड़ते हुए कहा- पूरा मज़ा लेने के लिए कहीं और चलते हैं. कई फिल्मों में तो एक लड़की को दूसरी की पोट्टी खाते हुए भी देखा था लेकिन इस तरह से अपनी आंखों के सामने मैंने चूत से निकलने वाला पीरियड का ब्लड नहीं देखा था. मुरादाबाद की सेक्सीमैंने सीमा भाबी के कमरे के बाहर खड़ा होकर उन्हें आवाज़ दी, पर भाबी की कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई.

चाची दर्द से कराह उठी और बोली- देव, उम्म्ह… अहह… हय… याह… दर्द हो रहा है.

उस दिन के बाद जब भी मौका मिलता है सुमन मुझे बुला लेती है और जब उसकी चुदने की इच्छा होती है तो कंप्यूटर पर टाइपिंग सिखने के बहाने मेरे घर आ जाती है और हम चुदाई करते हैं. तो वो मुझे उठाती हुई खुद मेरे ऊपर आ गई और मुझे नीचे लिटा कर फिर मेरे तने हुए लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.

दोस्तो, अभी तक मैंने आपको यह नहीं बताया कि मेरी बीवी कौसर में वासना भरी पड़ी है, वो बहुत चुदक्कड़ है। मैं जब कभी उससे चोदने की बात करता हूँ तो वो तो हमेशा तैयार रहती है, उसकी तरफ से कभी ना नहीं होती है. मैडम- मेरी बात को समझो संजू, जो मैं बता रही हूं, उसे ध्यान से सुनो. वो खेलने लगी मेरी चुचियाँ से।एक और बात बोलूँ, तुम गुस्से तो नहीं होंगे?”हाँ बोल न!”तुम घर में ब्रा पहना करो, इनकी शेप अच्छी बनी रहेगी.

उसे देख कर वो थोड़ा डर गई- यश ये तो बहुत ही बड़ा है … बहुत दर्द होगा इससे तो?मैंने उसे प्यार से समझाया- पहली बार है, दर्द तो होगा ही … पर मैं तुमको दर्द कम से कम दूँगा.

फिर कभी उसकी चुतचाटता, कभी उसके बूब्स!तब तक वो एक बार स्खलित हो चुकी थी और अब उस पर फिर सेहवस सवार थी. अब मैंने अपना लण्ड उसके मुंह में दे दिया, वो चूस रही थी लेकिन मेरी उत्तेजनाओं को काबू में नहीं कर पा रही थी तो मैंने दोनों हाथों से उसका सिर पकड़ लिया और उसके मुंह को चूत समझकर चोदने लगा. कभी मेरी बहन मेरे लौड़ा को पूरा मुँह में ले के चूसती, मेरे बॉल्स को चाटती.

मिया खलीफा की सेक्सी वीडियो फुल एचडीतो हुआ यूं कि वो कमरे के गेट पर खड़े होकर मुझसे बातें कर रही थी, तभी मैंने कहा- आप रोज बोलती हो कि मन करता है कि मेरे गाल पर चुम्मा ले लूँ … तो आ जाओ आज ले लो. पता नहीं क्या हो गया था कि इतनी उत्तेजना हो गई थी कि मेरा पानी वहीं पर निकल गया.

गर्ल एक्स व्हिडीओ

मैंने आपको एक बात अपने बारे में नहीं बताया कि मुझे चूतड़ों पर थप्पड़ मारना बहुत पसंद है. आह-आह करते हुए उसने अपनी चूत को मुट्ठी में भर के भींच लिया और कस-कस कर मसलने लगी. मुझे जब भी मौका मिलता है तो अपने बॉयफ्रेंड के साथ या अपने पड़ोसी के साथ होटल में जाकर सेक्स कर लेती हूँ.

दो तीन दिन बीते तो मेरी पत्नी ने बताया- बेबी भाभी तो बहुत बेशर्म हैं, कैसी कैसी बातें करती हैं. उसने एक उंगली की जगह दो उंगलियों से मेरी गांड के छेद को फैला दिया था. फिर वो सीधा हो गया और उसने खुद का शॉर्ट नीचे किया और लंड बाहर निकाला.

मैंने अपनी जुबान उनके छेद से लड़ा दी और धीरे धीरे उनके छेद पर जीभ घुमाने लगा. वो बोली- मैं अभी सिखा दूँगी … अभी और भी बहुत कुछ सिखाना पड़ेगा तुम्हें. आंटी के बारे में आपको क्या बताऊं दोस्तो … जो भी एक बार उसे देख लेता है वह खुद को कंट्रोल नहीं कर पाता है। क्या सेक्सी लेडी है वो! उसके बड़े-बड़े बूब्स तथा मटकती हुई गांड हर किसी को बेताब कर देती है। जब चलती है तो उसकी चूचियां उछलती हैं। मैं अक्सर उनके घर जाया करता था.

कुछ देर उसका निचला होंठ चूसने क़े बाद मैंने उसका ऊपर वाला होंठ अपने होंठों क़े बीच ले लिया. मैंने अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर ली और कुछ दिन बैंक में ही काम में बिजी हो गया.

”उसके लंड से मेरी गांड में भूचाल सा आ गया था, लेकिन कुछ ही पलों बाद मेरी गांड की खुजली मिटनी शुरू हुई तो मुझे गांड मराने में मजा आने लगा.

मैंने कहा- लेकिन तब तक आप हिलाओ!तो उसने अपने हाथ से मेरा लंड हिलाना चालू किया और मैं कुछ सेकंड मैं कोने में झड़ गया. हिंदी सेक्सी सिस्टरवह शांत हो गया और दीवार के साथ सट कर हांफते हुए खुद को शांत करने लगा. जबरदस्ती करता सेक्सी वीडियोजब तक मैं वहां पर रहा मैंने भाभी की चूत को चोद-चोद कर चौड़ी कर दिया. इस पर मैं उसके साथ मज़ा लेने को बेकरार हो गई और बोली- अंकल किसी को पता लग गया तो?कैसे पता लगेगा.

रीमा को शायद सीमा से राहुल की नजदीकी का अंदाज लग गया था तो वो अब सीमा और उसे छेड़ने लगी थी.

कभी हाथ कभी मुंह से होते होते वो समय आ आ गया कि मैंने उससे मुंह खोलने को कहा और कहा- जब तक मैं न रोकूं, तुम चूसती रहना और जो जीवन अमृत निकले गटकती जाना. एक पल को तो मुझे ऐसा लगा कि मैं झड़ ही जाऊंगा … हल्का हल्का नशा भी था. उसने मुझसे कोई बात नहीं की और गाली देकर सीधी मुझे बेड पर लेटा दिया.

भाभी- क्यों?मैं- मुझे कोई आपके जैसी मिली ही नहीं जिसे देख कर रातों की नींद हराम हो जाये. उसका लंड पूरा टाइट हो गया, मैं नीचे झुकी और लंड को मुँह में डाल के चूसने लगी. लगभग पंद्रह मिनट तक तो हम एक-दूसरे के साथ चुम्मा-चाटी में ही लगे रहे.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी

मैंने उसके निप्पल को होंठों में दबाया और एक छोटे बच्चे की तरह उसे चूसने लगा. मेरी पिछली कहानीमेरी बीवी मुझसे नहीं चुदतीको आप सभी प्रेमियों का खूब प्रतिसाद मिला … बहुत लोगों ने मेल किए. बस ये दिखाई दे रहा था कि सामने ऋतु और अजय दोनों ही अपनी बातों में मग्न थे.

भाबी जी ने भी मेरे खड़े लंड पर मज़े से जंपिंग करना शुरू कर दिया, जिससे मुझे परम आनन्द की प्राप्ति होने लगी.

ऋतु सिहर गई और उसने अजय के सिर को पकड़ कर अपनी पैंटी में उसका मुंह पूरी तरह से दबा दिया.

वो जोर ज़ोर से बोले जा रही थी- आह जीजू मजा आ रहा है … उम्म्ह… अहह… हय… याह… प्लीज़ जीजू और ज़ोर से चोदो … और ज़ोर से चोदो, बस ऐसे ही चोदते रहो … मुझे जन्नत का मज़ा आ रहा है, मैं आपकी दासी बन कर आपसे हमेशा चुदवाती रहूंगी … आह आह आह उम्म्म्मा अहहह जीजू और ज़ोर से और ज़ोर से!कुछ ही पलों में सोना तो स्खलित हो गई थी, इसलिए वो हम दोनों को अकेला छोड़ कर रूम से बाहर चली गई थी. बातचीत से पता चला कि वो भी मेरी ही बिरादरी का ही है और मेरे साथ वाले कॉलेज में ही पढ़ता है. सेक्सी व्हिडीओ सेक्सी हिंदी व्हिडिओकुछ भी गलत महसूस नहीं हुआ, बल्कि ऐसा करके मुझे उसे खुश करने का दिल किया.

वो ऐसा बोली तो मैंने उसकी चूत पे लंड रखा और एकदम जोर से झटका मार दिया. एक दो बार रजिस्ट्रेशन के नाम पर उन्होंने कुछ रूपये भी लिए, लेकिन कुछ नहीं हुआ. अब तो उल्टा मेरे घर जाने का समय हो गया था लेकिन घर जाने की हिम्मत नहीं हो रही थी.

मैंने उसकी चैट को खोला और उसको बताया कि मैं जोधपुर आ रहा हूँ और टाइम पास करने के लिए कोई फ़िल्म देखने जाऊंगा. मैं- ओहो आंटी … अब मेरी रांड और कुतिया बनी हो, तो अपने इस यार से अपनी गांड का भी उद्घाटन करवाना ही पड़ेगा.

उसने मेरे चेहरे को एक हाथ से पकड़ा और अपना चेहरा मेरे करीब लाने लगा.

मैंने अपनी टांगें भाभी की तरफ कर ली और भाभी ने अपनी टांगें मेरी तरफ कर लीं. मुझे उम्मीद है, जिस तरह आपने मेरी पहली कहानी को पसंद किया, और जो मेल करके मुझे प्यार दिया. मैंने अपनी दिशा बदली और अपना मुंह उसकी चूत के पास ले जाकर चूत के लबों पर जीभ फेरना शुरू किया.

हिंदी सेक्सी वीडियो पिक्चर चाहिए मैंने उसको जगाया, फिर उसने मेरा बैग मेरे पुराने वाले बर्थ से बाजू से लिया. अब आप तो समझ ही सकते हो कि एक बार हाथ लंड पर खुजलाने भर के लिये भी चला जाये तो लंड को खड़ा करके ही छोड़ता है.

उसने भी मेरे हाथ को लंड पर दोबारा से चलाना शुरू किया और तीन-चार मिनट की हस्त मैथुन के बाद मेरे लंड ने भी अपना गर्म लावा उगल दिया. फिर मैं धीरे-धीरे में नीचे आया और उनकी पेंटी शरीर से अलग कर दी और मैंने भी अपना अंडरवियर भी निकाल दिया. दीक्षा मेरी छाती और बांहों के पहलवानी कटावों को बड़े ध्यान से देख रही थी.

हिंदी बीएफ वीडियो चुदाई

आह क्या मजबूत हाथ था उसका … मुझे उसने ट्रक के अन्दर खींचने के लिए हाथ दिया, तो मैंने उसका हाथ जोर से पकड़ा और ऊपर चढ़ने लगा. फिर अगले दिन उसने मुझे कॉल करके बुलाया और एक डील के बारे में बात करने लगा. फिर जल्दी से नीचे आकर उसकी पैंटी को भी नीचे करके पूरी पैंटी उतार दी.

मुझे सेक्स का बहुत मन करता है लेकिन घर वालों और समाज की वजह से मैं रोज सेक्स नहीं कर पाती हूँ. अब आगे की कहानी का मजा लें!पढ़ाई खत्म हो गयी … उपिंदर कहीं और चला गया … धीरे धीरे उन सब बातों की यादें धूसर हो गयी।मैं नौकरी करने लगा, फिर से अजय बन गया। फिर कोई उपिंदर जैसा नहीं मिला।घर वालों ने मेरे लिए लड़की देखनी शुरू कर दी। शादी करने में मेरी कुछ खास रूचि तो नहीं थी पर सोचा ठीक है जो हो रहा है.

ढ़ाई-तीन इंच ऊँचे जूड़े पर पिन की हुई ओढ़नी के साथ लगभग 5’9″ की दिख रही वसुंधरा साक्षात रति का अवतार लग रही थी.

मैं- प्यार और सेक्स के बीच कोई रिश्ते नहीं होते हैं चाची … आई लव यू. मैं बीच बीच में हल्के हल्के से भाभी के एक निप्पल को काटने लगा, चूसने लगा. वहाँ से आने के बाद भी कभी होटल में तो कभी उनके फार्महाऊस में मेरी चुदाई होती रही.

ऐसा कहते हुए जीजा ने अपनी पैंट निकाल दी और फिर अपने तने हुए लौड़े से अंडरवियर हटाकर वह भी उतार फेंकी और जीजा का मस्ता लौड़ा खड़ा हुआ मेरे सामने था. मेरी गलती को सुधारने तथा अपनी राय मुझे[emailprotected]पर जरूर मेल करें. मुझे घर पर सवाल समझ नहीं आ रहे थे, तो मैंने देखा कि अमित की नोटबुक पर उसका नंबर लिखा था.

वसुंधरा!” मैंने उसको पुकारा और बेख़ुदी ऐसी कि मैं उसके उस के नाम के साथ ‘जी’ लगाना ही भूल गया.

बीएफ सेक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी: अब उसके एक हाथ की दो उंगलियां चूत के अन्दर-बाहर हो रही थीं, तो दूसरे हाथ की एक उंगली गांड के अन्दर बाहर आ जा रही थी. अंकल ने मेरा दुपट्टा हटाया और चूची पकड़ते हुए बोले- तेरे कबूतर बड़े सुन्दर हैं.

मैं जोर लगाकर उनकी पकड़ से आजाद हुई और दरवाजा खोल कर बाहर भागी, पीछे मुड़कर देखा तो अंकल उस उंगली को मुँह में डाल कर चाट रहे थे. उन सबने अपने ब्वॉयफ्रेंड बना लिये थे और रोज ही मुझे उनकी चुदाई की कहानियां सुनने को मिलती थी. चाची- तो फिर तुमको मेरी गांड में घुसे हुए कपड़े को निकालना तो चाहिए था न? मैं तो तुम्हारे हथियार को देख कर ही समझ गई थी कि ये क्यों खड़ा है.

शावर लेने के बाद मैंने अलमारी से एक गुलाबी रंग की ब्रा और पैंटी निकाली.

मैं आगे भी आपके लिये हम भाई-बहनों की चुदाई की अन्य कहानियां लेकर आता रहूंगा. आह … अंकल जी!” मेरे मुंह से अपने आप निकल गया और मेरी बांहें उनके गले से लिपट गयीं. उसने मेरी गांड पर एक ज़ोर का थप्पड़ मारा और पूरे ज़ोर से अपना लंड मेरी गांड में डालने लगा.