एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी

छवि स्रोत,सेक्सी बिहारी चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स वीडियो इंडियन गर्ल: एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी, कैसा लग रहा है मेरी गुड़िया रानी को?” मैंने उसकी चूत पर चिकोटी काट कर पूछा.

aunty सेक्सी वीडियो

मैं उनकी साइड में उसकी बगलों को सूंघता हुआ, उनके कंधे पर सर रख कर लेट गया. इज्जत लूटीमेरी बहन मेरा सारा माल पी गई और उसने मेरे लंड को चाट चाट कर साफ कर दिया.

फिर हमने चाय पी, उसने मुझे एक पेड़ की आड़ में ले जाकर चुम्मी ली और कहा- अम्मी अब जाओ … सलमा शक कर रही होगी … बस इतना ध्यान रखना कि सलमा के बच्चा न ठहर जाए. हिंदी सेक्सी वीडियो मूवी सॉन्गमोहन भैया के लंड के घुसते ही मेरी सिसकारी निकल गई और मैं उनके मोटे लंड से एकदम से कराह उठी.

मैंने अपनी पैंट के नीचे बोतल छुपा रखी थी, वो निकाल कर बेड पर रख दी तो बोतल देख कर वो गुस्से से लाल हो गयी और कहने लगी- किससे पूछ कर ये लेकर आया है तू?मैंने बोला- सेक्स की माँ की चूत। मुझे तो ये देखना था कि तू दारू कैसे पीती है.एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी: ” ज्योति ने अचानक अपने पिता का नंगा लंड इतना नज़दीक से देखने पर उसकी गोद से उठकर सीधी बैठते हुए कहा।बेटी, तुम मेरे साथ कुछ करना नहीं चाहती तो ठीक है मैं तुमसे जबरदस्ती नहीं करूँगा मगर मेरी एक ख्वाहिश पूरी कर दो जैसे उस दिन तुमने मेरे लंड को पकड़ा था वैसे ही एक दफ़ा इसे अपने हाथों से पकड़ लो.

इसलिए मैं अपना मुँह खोल कर पूजा की चूत से निकलते पेशाब की धार को पीने लगा.उसने पहले थोड़ी मम्मी को गर्म करने के लिए मसाज की और चूत में उंगली की.

અનુષ્કા સેક્સ વીડિયો - एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी

आप असहज महसूस कर रही हैं?सोनिया- असहज नहीं रोहन … बस …रोहन- ठीक है, अगर आपको इस बारे में बात करना पसंद नहीं तो मैं ज़ोर नहीं दूंगा.उसने काले रंग का टॉप और लेगिंग पहने हुए थे, जो शायद वो सुबह ही खरीद कर लायी थी.

मुकुल राय ने परीशा के होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसते हुए अपने धक्कों की रफ़्तार बढ़ा दी और फिर कुछ ही पलों में उसके लंड में तेज सुरसुरी हुई, उसका लंड परीशा की चूत में झटके खाने लगा और फिर वो परीशा के ऊपर निढाल हो कर गिर पड़ा. एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी मैंने जीजू के लौड़े को चूस कर अच्छे से साफ कर दिया और हम अलग हो कर कपड़े पहनने लगे.

मालविका ने सोनाली को गले लग कर वेलकम किस किया।शायद मालविका सो कर उठी थी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी?

लगातार चार पांच धक्के अपनी पूरी ताकत व तेजी से लगाने के बाद मेरा लंड भी उसकी चुत में लावा उगलने लगा … मैं भी अपना सारा वीर्य प्रिया की चुत में उगलने के बाद ढेर होकर प्रिया पर गिर गया और अपनी उफनती सांसों को काबू में करने की कोशिश करने लगा. दीदी ने मुझे चौथे राउंड में मुझे बताया कि मैंने तेरे जीजू के अलावा अब तक तीन लंड लिए हैं, जिसमें मुझे तुझसे चुदने में बहुत मजा आया है. उसकी इस बात पर हम दोनों हंसने लगे।शुरूआत में रीना और मेरे बीच में आज तक कभी ऐसे खुल कर बातें नहीं होती थी। ये इन तीनों अदला बदली की चुदाई का ही कमाल था कि वह इतनी बोल्ड हो गयी थी। वह अब बेहिचक अपनी इच्छाएं और अपने मन के भाव मेरे साथ शेयर कर लेती थी.

मेरी चूत में पूरा लंड उतरने के बाद मुझे दर्द तो हुआ लेकिन मजा भी आ रहा था. कोई दस पन्द्रह धक्कों के बाद उसका शरीर कांप उठा, उसने बेड शीट को अपने हाथों से नोचना शुरू कर दिया. मैंने देखा एक नई और आकर्षित करने वाली नई-नकोर कोरी चूत मेरे लंड का इंतज़ार कर रही थी.

यह कहते हुए मैंने संजना को अपने गले से लगा दिया; फिर अपना शर्ट उठा कर उसको ढक दिया और फिर से शीना को देखने लगा. वो … दरअसल ऑफिस में इतना काम रहता था कि सिर खुजाने का भी समय नहीं मिला यार।”यह सब तो बहाने हैं. मैंने अपने हाथों से अपनी सास की पीठ, पेट और गांड को सहलाना शुरू कर दिया.

मैं और बॉस ने पीछे मुड़ कर देखा, तो विनय दारू लेकर आ गया था और हम दोनों को देख रहा था. मैंने भी अमित का मुझ पर विश्वास जताने के लिए धन्यवाद दिया और जल्दी ही उससे मिलने का वादा किया.

आज वो एक नयी बात ले आया, बोला कि रोज तो हम दोनों साथ नहाते ही हैं, उस दिन तीनों साथ नहायेंगे.

एक बड़े से आम के पेड़ के नीचे दरी को बिछा दिया और सब सामान वहां रख कर हम दोनों पूल की तरफ बढ़ गए.

मैं भाभी जी से बोला- अगर आप मेरी बीवी होतीं, तो मैं आपको बहुत प्यार करता. उसने ये कहा, तो न जाने क्यों मेरे लोवर में मेरे लंड ने सलामी देनी शुरू कर दी, जो उसके लोवर के पीछे से उसकी गांड में लग रहा था. मैं- साली … कमीनी, नीचे पेंटी पहनी ही नहीं क्या तूने?रितिका- नहीं यार, यहाँ आकर निकालना ही था, तो फिर पहनने का क्या फ़ायदा?उसकी इन सेक्सी बातों को सुनकर मेरे लंड का तनाव एकदम से बढ़ गया.

कोई 10-15 के स्मूच के बाद हम साथ में नहाए और वहां भी उसने मेरा जोरदार तरीके से लंड चूसा. फिर भी मैंने प्रयत्न किया है।तो मित्रो, जल्द ही मिलूंगा आपसे अपनी अगली कहानी के साथ। तब तक के लिए गांडू गरिमा/रोबीला रघु आपसे विदा लेता है। अपना प्यार बनाये रखियेगा!आपको कहानी जैसे भी लगे कृपया पानी प्रतिक्रिया दीजियेगा. मैं उसकी अगल बगल में टांगें फैलाते हुए उसके लौड़े पर बैठने लगी तो उसने अपने लंड का सुपारा मेरी गांड के छेद पर रख दिया.

न ही तुम्हें छोड़ कर जाऊँगी और ऐसा भी नहीं है कि हम दोनों अलग-अलग जाति हो जिससे तुमको मुझे अपनाने में दिक्कतों का सामना करना पड़े।मैंने कहा- ठीक है.

विनय झेंप गया और कुशन को अपनी गोद में रखते हुए बोला- अरे नहीं सॉरी … मैं कुछ सोचने लगा था. साथ ही अपना प्यार अपने मैसेज और कमेंट के जरिये हम तक पहुंचाना न भूलें. वो मेरे दायें पैर के अंगूठे को मुँह में ले कर ऐसे चूस रही थी, जैसे मैंने ब्लू फिल्मों में ही देखा था … उसके होंठों में चरम आनन्द था.

प्रीति ने गहरे गले का चोलीनुमा ब्लाउज पहना हुआ था, इसमें से उसकी आधी चुचियां और क्लीवेज झाँक रही थी. वो बोली- तुम तो अभी तैयार ही नहीं हुए?मैंने- बस कॉफी खत्म करके अभी हो जाता हूँ. उसने तुरंत ऐसा ही किया, मैंने हल्का सा धक्का दे दिया लेकिन मेरा लंड अंदर नहीं गया क्योंकि स्मृति की चूत अब तक एक बार भी नहीं चुदी थी.

जब वो अपने घर गई, तो साथ में उसकी बेटी जिद करके मेरी बेटी को भी अपने घर ले गयी.

उसने फिर एक दिन सागर को जब उसके साथ मीटिंग थी, तो बाद में कुछ कहा, जो उसने मुझको बाद में बताया था. सीमान्त जैसे ही मेरे सामने आया, मैं उसके लंड का टोपा ऊपर करके उसका लंड देखने लगी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी मगर बिक्कू ने मेरी बात नहीं सुनी और वो उठ कर जल्दी से कपड़े पहनने लगा. मैं पूजा की चूत चाटते हुए कभी कभी उसकी गांड में अपनी उंगली फेर रहा था और जब जब मैं गांड में उंगली फेर रहा था, तब तब पूजा अपनी गांड को भींच रही थी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी पूजा के साथ फोन पर सेक्सी बातें करने से वो बहुत उत्तेजित हो जाती थी. चाची- ये सब क्यों?मैं- आप कभी हनीमून पर गई हो?चाची- नहीं?मैं- कल हमारा हनीमून होगा.

कभी-कभी अपनी गांड को इस तरह उचकाती थी कि ऐसा लगता था कि मेरे लंड को और अंदर तक लेना चाहती हो.

हाथ पैर गोरा करने का तरीका

अब मोहिनी का हाथ मेरे बॉक्सर के ऊपर मेरे लंड को सहला रहा था और मेरी वाइफ अपने हाथों से मोहिनी को पिलाए जा रही थी. वाह क्या नज़ारा था … गुलाबी गुलाबी फुद्दी … एकदम चिकनी … उस पर एक भी बाल नहीं था. और मुझे सुंदर चाहिए भी नहीं था, मुझे तो बस दिल का इंसान अच्छा चाहिए था जिस पर मैं भरोसा कर सकूं.

मैं उसकी ख़ूबसूरती को निहारने में इस कदर खोया हुआ था कि वह क्या कह रही है, उस पर मेरा ध्यान ही नहीं जा रहा था. हमारा घर अच्छी कॉलोनी में होने की वजह से उन्मुक्त वातावरण था और मेरे भाई के सारे दोस्त मेरे घऱ आते थे. मैंने मेरी बहन की गांड भी मारी और उसे दादाजी से चुदने में साथ दिया.

शर्म तो तुम्हें आनी चाहिए। अपनी विधवा बहन का फ़ायदा उठा रहे हो, तुमको उसके साथ देखने से ही बहू बेहोश हुई और मेरी नियत भी तुम भाई बहन को देखकर ही फिसली.

मैंने अपना मुँह थोड़ा और खोल दिया और उसका आधा लंड मेरे मुँह में चला गया. फिर मैंने अपना तौलिया हटा दिया ताकि उसको गर्म कर सकूं और वो कम से कम मेरे लंड को पकड़ कर हिला दे और मुझे थोड़ा चैन मिल जाये. क्या तुम मुझे किसी और के साथ बिस्तर में देख सकते हो?तो मैंने एकदम से जवाब दिया- हाँ, क्यों नहीं देख सकता? मैं तो चाहता हूँ कि एक बार हम ये सब करें.

अगर आप सहमति दें, तो मैं आज से ही ऑफिस में काम करना चाहूँगी … और सर आपने जो तनख्वाह बताई है, यदि ये उससे आधी भी होती, तो मैं बहुत ही खुशी खुशी करने के लिए राज़ी हो जाती. लंड अब बड़े मजे से गचागच, सटासट उसकी चूत में अन्दर बाहर होने लगा था. मैं अपने गाऊन को ठीक करते हुए- ओहह सॉरी विनय … मैं शायद कहीं खो गयी थी.

भाई को तो यकीन ही नहीं हुआ और जब हुआ, तो उनकी और बुआजी की खुशियां देखते बन रही थीं. अगले दिन रचना मुझसे बोली- भैया, मैं मॉडलिंग करना चाहती हूँ … आप तो दिल्ली रहते हो, वहां तो बहुत स्कोप है.

उससे बातें करते समय मेरे किसी मित्र का फोन आया, तो मैं उससे बात करने लगा. हां, कबीर को पता था कि वो किसके चूचे चूस और दबा रहा है लेकिन मुझे पता नहीं था कि मैं किस मर्द के साथ रंगरेलियां मना रही हूं. वो ट्यूशन भी कोई रेग्युलर नहीं होती क्योंकि ज़्यादातर मां बाप बच्चों की ट्यूशन परीक्षा के दिनों में करवाते हैं.

जब वो थोड़ी शांत हुई तो मैंने अपनी गांड को उसकी तरफ धकेलते हुए लंड को हरकत देनी शुरू की.

अब उसके धक्कों के कारण मुझे इतना मजा आने लगा कि मैं दो मिनट बाद ही झड़ गई. वो भी मुझसे चिपक गई और उसने उसी समय मेरा लोवर भी खींच कर नीचे उतार दिया. ” मधुर ने लापरवाह अंदाज़ में कहा।अच्छा सुन! आज मार्केट चलेंगे … काम जल्दी से निपटा ले तेरे लिए कुछ ढंग के कपड़े और किताबें आदि लाने हैं.

मैंने घर फोन किया और बताया कि मैं दोस्त के घर रुक गया था … एक घन्टे में आ जाऊंगा. यह मेरे लिए एक बिल्कुल नया अनुभव था जब एक औरत मेरा लोड़ा मुंह में लेकर चूस रही हो और दूसरी मेरे होंठों का रसपान कर रही हो.

मैं भी समय लेने लगा, क्योंकि दूसरा राउंड ज़्यादा समय तक टिकना चाहता था. इस सेक्स चैट के अगले भाग में आपको सोनिया और मेरी प्यार भरी दास्तान और भी खुले हुए रूप में मिलेगी. इस बार चाची बिना किसी डर के बहुत जोर से मचल रही थीं- आआह … मेरी जान मजा आ गया.

कनाडा सेक्सी

”मैं आंखें बन्द कर के लेटी हुई थी। मम्मी ने उठाया और बोली- कपड़े बदल ले, कोई आने वाला है.

प्रिय अन्तर्वासना पाठकोमई 2019 प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच बेस्ट सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …. मैंने कहा- क्यों भूल गईं … क्या जो सोफे पर उचक उचक कर चूत की छूट करी थी … अपनी माँ के सामने … तब शर्म नहीं आ रही थी. उसका मोटा लंड मेरी चूत को चुदाई के लिए और भी ज्यादा उत्तेजित कर रहा था.

कुछ देर ऐसे ही शॉट लगाने के बाद वो बोली- अब इसका निकल क्यों नहीं रहा है?मैंने कहा- पता नहीं … शायद इसको तेरी चुत कुछ ज्यादा ही पसंद आ गई होगी … तुम मुँह में लेकर चूसोगी तो निकल जाएगा. ऐप इंस्टाल कैसे करेंदोस्तो … आज मैं फिर एक बार अपनी सेक्स कहानी लेकर आई हूँ. निशा अग्रवाल xxxवो बोला- मेरे साथ स्मार्टनेस नहीं चलेगी, अभी कसके रगड़ दूंगा तो फड़फड़ाओगे.

मेरे लंड ने 5 मिनट बाद पानी छोड़ दिया तो एना ने अपने मम्मों पर सारा पानी लगा लिया. ” अंकित ने शबनम के कान में फुसफुसाते हुए उसके कान को अपने मुंह में रख कर चूस लिया.

पेशाब खत्म होते ही पूजा मुझसे बोली- कैसा लगा मेरी चूत से निकलती पेशाब की धार पीकर? मज़ा आया या नहीं?मैं पूजा से बोला- यार मज़ा आ गया. अभी उनका पानी नहीं निकला था पर वे ढीले दिख रहे थे, लंड भी ढीला पड़ गया था. जबसे शादी हो कर अपने पति के घर आई हूं, तब से ही तकलीफ भरा जीवन जी रही हूँ.

कम्मो बेटा, आजा अब तू मेरे ऊपर बैठ कर राज कर मुझ पर!”क्या अंकल? मैं समझी नहीं?”अरे अब तू मेरे ऊपर चढ़ जा और मुझे चोद डाल अच्छे से!”मैं कम्मो के हुस्न का मजा उसे अपने ऊपर बैठा कर लेना चाहता था. मैंने दीदी चूत पर एक मिनट का विश्राम लिया और दाने को छेड़ता हुआ ऊपर बढ़ गया. इसका असर यह हुआ कि वो मेरे निप्पल चूसना छोड़कर नीचे की तरफ सरकने लगी और नाभि के आस-पास के एरिया को गीला करते हुए नीचे की तरफ बढ़ चली.

अगर वो जग जाती और मुझे अपने बड़े भाई के साथ सेक्स करते हुए देख लेती, तो हम दोनों की दोस्ती खत्म हो सकती थी.

ये सब तब तक चलता रहा, जब तक मेरा दिल अपने दोस्त की बहन पर ना आ गया. दोस्तो, उसकी अजीब सी महक और एक अजीब सा स्वाद था, लेकिन मैं जोश में आकर लगातार चूसता रहा.

फिर उन्होंने मेरी गर्दन को किस कर दिया और मेरे होंठों को जोर से चूसने लगे. मेरी गोरी चिकनी टांगों पर कोमल स्पर्श से मेरी तन में झुरझुरी सी पैदा हो रही थी. भाई बोला- ठीक है, मैं उसको तुमसे मिलवा दूंगा लेकिन मैं तुम दोनों को एक साथ चुदाई का मजा देना चाहता हूं.

नर्म नर्म मुलायम मुलायम मम्मों को हाथों में लेकर बहुत ज्यादा मजा आ रहा था. शुरू के एक दो मिनट तक इधर उधर की बातें करने के बाद मैं उसको सेक्स की तरफ मोड़ कर ले आया. मुझे तो जैसे वासना ने बहका दिया था, मेरी आँखों से नींद गायब हो चुकी थी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी सिर्फ उसकी क्लीवेज ही नहीं, बल्कि जिन बड़ी बड़ी चूचियों के बीच में वो क्लीवेज बन रही थी, वो भी काफी अच्छे से दिखाई दे रही थी. जो लोग अन्तर्वासना को बहुत पहले से पढ़ रहे हैं, वो सभी मुझे सनी गांडू के नाम से जानते हैं.

इंग्लिश पिक्चर फुल सेक्सी

दरवाजा खुला, तो मैंने देखा कि हमारे पीजी वाले एक सीनियर भैया आए हुए थे. मेरे मुंह से सिगरेट निकाल कर कश लगा कर उसने धुआं हवा में उड़ाते हुए अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए. अभी लिखते हुए भी आँखें भर आयी है जिन्होंने सच्चा प्यार किया है वो इस वक़्त मेरे दिल की हालत समझ सकते होंगे खैर कोई बात नहीं.

यह कहानी तब की है जब मैं बारहवीं कक्षा में पढ़ता था। यह सेक्सी कहानी मेरी मम्मी की है. एक रात करीब एक बज रहा था, गर्मी बहुत ही ज्यादा थी, तो मैं ऊपर जाकर कुछ देर बैठा रहा. भाभी हिंदी सेक्सी पिक्चरआलिया का बाद में देख लेना, पहली उसकी माँ को तो चोद ले भोसड़ी के!हिना आंटी लंड के ऊपर नीचे बैठने लगीं.

ड़ … छोड़ो मुझे … मुझे नहीं पता तुम क्या कह‌ रहे हो?” नेहा ने अपने आपको छुड़ाने की कोशिश करते हुए घबराई सी आवाज में कहा.

लो अंकल जी, आप तो मुझे से सिखा पढ़ा कर भेजना ससुराल!” वो बोली और उसने अपनी बुर के होंठों को अपने हाथों से खूब अच्छे से खोल के चूत परोस दी मेरे फनफनाते लंड के सामने. इस हरकत से मुझे महसूस हुआ कि जबकि मेरा हाथ उसके मम्मों की तरफ जरा भी ध्यान नहीं दे रहा था, तो अचानक प्रीति के हाथ के स्पर्श मात्र से मैं कैसे उसके मन की बात समझ कर उसके मम्मों को मसलने लगा.

भाभीजी ने पलट के थोड़ा डांस करने के बाद पहले अपने स्तन से हाथ हटाया. फिर वो घूँट गटकते हुए बोली- आअहह … मैं तो आज बहुत थक गई हूँ यार … आज मैंने बहुत काम किया है. मगर जल्दी ही नेहा को इसका अहसास हो गया, इसलिए उसने मेरा हाथ पकड़ लिया.

खाना खाते वक़्त वो बोली- आज मुझे तुम्हारी चुदाई ने एकदम संतुष्ट कर दिया है.

मैं उठ कर बैठा हुआ था और बिस्तर के सिरहाने से टिक कर कमर के बल बैठा हुआ था. हमारा घर अच्छी कॉलोनी में होने की वजह से उन्मुक्त वातावरण था और मेरे भाई के सारे दोस्त मेरे घऱ आते थे. मैंने देखा कि उसकी चूत से पानी निकल रहा था, जिससे उसकी चड्डी पूरी गीली हो गई थी.

एक सेक्सी वीडियो गानाहालाँकि कुछ करने की हिम्मत नहीं थी लेकिन फिर भी जवानी का जोश … मैंने बस अपने हाथ को उठा कर उनके खुले हुए पेट पर रख दिया. ” महेश ने अपने बेटे से कहा और वहां से चला गया।समीर अपने पिता के जाने के बाद एक गीला कपड़ा उठाकर अपनी पत्नी को साफ़ करने लगा ताकि उसे कोई शक न हो। समीर अपनी पत्नी के मुँह पर पानी के कुछ छींटे मारकर उसे उठाने लगा।समीर की थोड़ी कोशिश के बाद ही नीलम को होश आ गया।समीर तुम निकल जाओ यहाँ से, मुझे तुमसे बात नहीं करनी.

अब ना करेंगे तेरे जैसे से प्यार

और सच बात तो यह थी कि मुझे वाकयी में इस वक़्त अपने खड़े लंड को बिठाने के लिए हस्त-मैथुन करने की सख्त ज़रूरत महसूस हो रही थी. भाभी बोलीं- क्या बात है कुछ ज्यादा ही प्यार आ रहा है?मैं- हां भाभी क्या करूं … आज आप कुछ ज्यादा ही प्यारी लग रही हो. बातों ही बातों में पता चला कि श्वेता मैडम कल्याण में रहती हैं और मैं रोज उनके घर के रास्ते से होकर गुजरता हूं.

श्वेता मैडम जब दरवाजे का ताला खोल रही थीं, तब मेरी नजर दरवाजे के सामने बनाई गई रंगोली पे जा पड़ी. मैंने मसखरी की- दूध कम लग रहा है क्या चाय में?बॉस- नहीं मेरी जान, पर तेरी चूचियों में कुछ नशा सा है. शबनम को महसूस हो रहा था जैसे कि उसकी चूत ने और ज्यादा फ़ैल कर इस लंड को अन्दर लिया था.

अगर उसके लिए दिल में सही में जगह है, तो उसको हाथ से ना जाने दो, वरना फिर नहीं मिलेगी. मैं अब थक गई थी, तो मैं अपनी गांड से उसका लंड निकाल कर बिस्तर से उठ गई. पांच मिनट तक मेरी चुदाई करने के बाद वह उसी अवस्था में मेरे अन्दर ही झड़ गया क्योंकि उसका भी पहली बार था.

इसलिए जब भी आपके मन में कोई शंका पैदा हो तो आप अपने किसी सगे संबंधी या अपने मित्र गणों से इस विषय पर चर्चा करने से कतई परहेज न करें. रशीद ने कहा- अम्मी मैं रशीद … अन्दर चलो, सब बताता हूँ तुम्हें कि मैं कौन हूँ? तुम चुप रहना … वर्ना ठीक नहीं होगा.

ब्लू फिल्म देखते हुए शेफाली गर्म हो गयी और बोली- अभी मैं तुम्हारे भैया से चुद कर दिखाती हूँ कि चुदाई कैसे होती है.

जब दिव्या की प्यास बुझ गई तो उसकी चूत के पानी से सने हुए लंड को भाई ने मेरी चूत में घुसा दिया. बांध क्यों बनाए जाते हैंशबनम ने और वक़्त ना लगाते हुए अंकित के लंड के सुपारे को अपनी चूत पर रखा और बोला- अब अन्दर धक्का दो बेटा!शबनम ने अपनी उँगलियों से ही लंड को थोड़ा सा अन्दर धक्का दिया और जवाब में अंकित ने एक तेज़ झटका दिया और उसका पूरा लंड शबनम की गीली चूत के अन्दर समा गया जैसे एक गर्म चाकू मक्खन को काट रहा हो. छोटा लड़की सेक्सीअब तो कुछ यूं हो गया था कि मैं अपनी सहेली से तो थोड़ी ही देर बात करती थी, मोहन भैया से ही ज्यादा बात करना पसंद करने लगी थी. भाई के लंड के द्वारा डबल चुदाई से मैं बहुत ज्यादा मजा लेते हुए अपने आप पर काबू नहीं रख पाई और मैंने अपनी चूत के पानी से भाई के लंड को भिगो दिया.

मैंने उससे कहा कि मैं भी उसको लाइक करती हूं लेकिन उसको अपना बॉयफ्रेंड नहीं बना सकती हूं.

धीरज ने उससे पेग बनाने के लिए कहा इस वादे के साथ कि एक पेग लगाने के बाद उसकी चूत की खुजली मिटा देगा. जब सुबह मेरी नींद खुली, तब हम दोनों बिल्कुल नजदीक सो रहे थे और मेरा एक हाथ उसकी कमर पर था. नहीं तो पूरे गांव को यहां पर बुला लूंगी और तुम दोनों की करतूत सबको बता दूंगी.

दीदी को यह वाला स्टाइल कुछ अलग लगा, तो उन्होंने झट से हां करके अपना सिर हिला दिया. मेरी सास की ये वही सलवार थी, जिसमें मैंने न जाने कितने ही बार मुठ मारी थी. दोस्तो, मैं आशा करता हूँ कि आपको मेरी ये सच्ची सेक्स कहानी पसंद आयी होगी.

जंगली सेक्स व्हिडीओ

फिर उन्होंने थूक लेकर मेरी गांड पर लगा दिया और अपने लौड़े पर भी लगा लिया. तेज धक्कों के कारण मुझे दर्द होने लगा लेकिन चाचा की स्पीड तेज होती जा रही थी. यह कहकर वो उठीं और सेंटर टेबल के और हमारे बीच में से गुज़र कर जाने लगीं.

ये सब कहते हुए उसने उसकी पैंट और अंडरवियर को एक ही झटके में निकाल दिया.

”मुझे कुछ समझ नहीं आया पर मैंने उनके कहे अनुसार वो धागा बंधवा लिया। फिर उन्होंने मेरे बाएं पैर पर भी एक काला धागा बाँध दिया।पैर पर इस काले धागे को बांधने से नहाते समय पाप नहीं लगता.

उसकी चुत के शहद को चूसते हुए मैंने रितिका की चुदाई शुरू की ही थी कि उषा ने पलटी मारी और अपनी गांड मेरे मुँह के सामने कर दी. वो उचक उचक कर मज़े में चिल्ला रही थीं- आअहह दामाद जी … आआओ और अन्दर आओ अपनी सास के … अया ऐसा दामाद भगवान सबको दे … ऊऊहहूओ हमम्म उम्म्म्म … जमाई बाबू आ जाओ और ज़ोर से चोदो अपनी सास को!ये कहते हुए वो अपनी चुत को अपने हाथों से मसलने लगीं और एक उंगली अपनी चुत में पूरी अन्दर तक डाल दी. सेक्सी वीडियो की तस्वीरउसके बाद कभी जिंदगी में उससे मुलाकात नहीं हुई।यह कहानी मैं और मेरी पत्नी भूल चुके हैं और कभी मैं और मेरी पत्नी ने इस विषय पर फिर आपस में बात नहीं की।लेकिन कभी अकेले में फुर्सत में मुझे वे दिन याद आ जाते हैं, यह कहानी जरूर याद आती है.

मैडम ने गुस्सा होकर कहा- हां देखा है मैंने तुम्हारा टहलना … संतोष के साथ. फिर मैंने पति को कॉल किया, तो जवाब मिला कि वो किसी काम की वजह से बाहर चले गए हैं, आने में थोड़ा ज्यादा टाइम लगेगा. मुझे आज दीदी की वो चुदाई करनी थी, जिससे वो पागल होकर मुझे अपनी जिन्दगी के मजेदार चुदाई के किस्से सुना दें.

मैं समझ गया कि उसे तकलीफ हो रही है, तो मैं धीरे धीरे झटके मारने लगा. सबके कहानियां पढ़ने के बाद मुझे भी इच्छा हुई कि मैं भी अपनी कहानी आपको बताऊं.

जब सुबह मेरी नींद खुली, तब हम दोनों बिल्कुल नजदीक सो रहे थे और मेरा एक हाथ उसकी कमर पर था.

चूत में उंगली डाल डाल कर मालिश किया जिससे कि मालविका की चूत ने पानी छोड़ दिया।मालिश के बाद मैंने देखा कि सौरभ सो चुका था. बस कुछ देर के बाद उसने जोर जोर से कुछ झटके मेरी चूत में मारे, मेरी उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल गयी. मैं- क्या हुआ … बिकनी पहनने में देर क्यों लग रही है?दीदी ने सिर्फ हंस कर कहा- जरा सब्र रखो यार … पूरा मजा लेना है या आधा?मैंने कहा- पूरा मजा लेना भी है और देना भी है दीदी.

हिंदी लड़कियों की सेक्सी वीडियो खुद भी पूरा मजा ले रहे थे और मुझे भी उतना ही मजा दे रहे थे।कहानी जारी है. मैं जब भी उसे चोदता हूँ, हर बार ये ही लगता है, जैसे उसे पहली बार चोद रहा हूँ.

मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि मैंने आज एक लन्ड चखा है। आंखें बंद करने पर बार बार उसका लन्ड मेरी आँखों के सामने आ जाता।उस रात मैंने दो बार मुट्ठ मारी तब जाकर मुझे नींद आयी।सुबह उसकी काल आयी, उसने मेरा हाल चाल पूछा हमने बात की।कुछ दिन बाद ही हमने पुनः मिलने की योजना बनाई. मैं तुरंत बोल पड़ा- भाभी जी कोई आप जैसी मिल जाए, तो मैं अभी शादी कर लूं. आपको मेरी गांड और चुत की चुदाई की कहानी कैसी लगी, प्लीज मुझे मेल जरूर करें.

जरा धिरे से बजाना बन्सी बजाने वाले

इसलिए मैंने उससे कहा- ठीक है, सामने देख लेना … पर पिक्स कभी नहीं सेंड करूंगी. वो कुछ सेकंड मेरी गांड घूरता रहा और फिर उसने मुझे अपने दोनों हाथों में ऊपर उठा लिया. लेकिन जब मैं खुद तुमसे कह रहा हूँ कि मैं चाहता हूं तो इसमें किसी भी प्रकार की गुस्से वाली कोई बात ही नहीं है.

मैं बोला- आप भी मुझे अच्छी तो लगती हो … पर आज तक मैंने आपको इस नज़र से नहीं देखा था. हमारे करीबी रिश्तेदार के यहाँ हमें शादी में जाना था, पर उस बुड्डे के खाने की वजह से मुझे और मेरी बहन को घर ही रुकना पड़ा.

लगभग 15 मिनट डॉगी स्टाइल में चोदने के बाद उसे नीचे लिटा कर उसके पैर अपने कंधे पर रखकर मैं घचाघच पेलने लगा उसको और वो चुदाई का मजा लेने लगी.

अंकित ने अपने होंठ खोल कर निप्पल को अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगा. ये बात तब की है, जब मैं 22 साल का था और अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई खत्म करने के बाद, अपनी पहली नौकरी ज्वाइन करने के लिए बैंगलोर आ गया था. मैंने उसके घर के फ्रिज से थोड़ा सा दही लेकर उसकी चूत पर लगा दिया और चूत चाटने लगा.

परवीन- क्या तेरे में इतना दम है, जो तीनों को खुश कर सकेगा?मैं- सच कहूं … तो मैं दो बार अच्छे से चुदाई कर लेता हूँ. मैंने उसे रात 12 बजे माथे पर किस करते हुए जन्मदिन की शुभकामनाएं दी और उसके गले में सोने की चेन डाल दी जो मैं उसके लिए उपहार में लाया था. कोई 15 मिनट की धुआंधार चुदाई के बाद उसकी गरमी अब ढलान पर आने लगी थी.

बस आप खड़ी हो जाओ।मेरे कहने के मुताबिक वो बिस्तर पर खड़ी हो गयी और जैसा मैं कह रहा था वैसा ही वो घूम-घूम कर अपना हर अंग मुझे दिखाने लगी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी: मेरी चूत एकदम से पानी छोड़ देती थी, जिससे चूत में गजब का चिकनापन हो जाता था. आंटी बोली- क्या अभी मन नहीं भरा मेरे जानू का?मैंने कहा- हां अभी नहीं भरा.

उनकी गर्मी से मुझसे भी रहा नहीं गया और मैं भी उनकी चुत में झड़ने लगा. मैंने अपने लोड़े की आखिरी बूंद तक संजना के मुंह में छोड़ दी और संजना भी उसे बड़े प्यार से गटक रही थी. ” कहकर भैया हंस पड़े।भाभी तो बेचारी शर्मा ही गई।हाय … मेरे राजा भैया! पीछे से भी ठोक दे साली को ताकि दो दिन ठीक से चल ही ना पाए.

बेतहाशा मुझे चूमने लगी, मेरे गर्दन, गले, गालों पर चेहरों पे उसके चुम्बन होने लगे.

दोस्तो, एक बात बताना भूल गया कि मैं चूत चूसने का बहुत शौकीन हूं, चोदना छोड़ सकता हूँ चूत चूसना नहीं छोड़ सकता।69 में आने के बाद चाची मेरा लंड और मैं चाची की चूत चूसने लगा. सेक्स के दौरान मनोज ने सुनील के लंड का फिर जिक्र किया तो दीपा भी कह बैठी- जब तुम ऑफिस जाओगे, तब पीछे से मौज करुँगी सुनील के साथ. उसके उछलते मम्में देखना चाहता था, उसकी चूत लंड को कैसे लीलती है इसका रसास्वादन करना चाहता था.