बीएफ हिंदी शायरी

छवि स्रोत,अमरपाली सेक्सी वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

xxxवीडियो हिंदी: बीएफ हिंदी शायरी, अब मुझे भी थोड़ा मज़ा आने लगा था, तो मैंने अपनी दोनों टांगों को हल्का सा फैला दिया.

भोजपुरी बीएफ चुदाई चुदाई

शेफाली- अच्छा जी … तो माय डियर हस्बैंड को चुदाई करनी है … तो ठीक है लो कर लो. पूरी बीएफ फिल्मजब काफ़ी देर तक लड़की ने कोई रिएक्शन नहीं दिया तो रमेश गुस्से से भर गया।गुस्से में वो बोला- क्या यहाँ नौटंकी करने आई है साली? अरे जब इतनी शर्म थी तो चुदने आना ही नहीं चाहिए था तुझे!इतना बोल कर रमेश ने अपना मोबाइल हाथ में उठा लिया।रश्मि- किसे फोन कर रहे हैं अंकल?लड़की ने घबरा कर अपने दोनों हाथ चेहरे से हटा लिए.

मुझे जो चाहिए होता है, वो सामने से आ जाता है … एक बार फिर ये बात सिद्ध हो चुकी थी. इंडियन सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चरमोर्निंग वाक से लौटते समय मैंने ताज़ी ब्रेड और मक्खन ले लिया और घर को लौट पड़ा.

भाभी को दर्द हुआ, तो वो जाग गईं और बोलीं- आखिरी बार करने दे रही हूँ.बीएफ हिंदी शायरी: मगर यहां मौसी फिर से गर्म हो गई थीं और शायद मुझे गर्म करने की कोशिश कर रही थीं.

आधे घंटे बाद मैंने धीरे से बिन्दू के कमरे के दरवाजे को धक्का लगाया, दरवाजा खुल गया.मैंने धीरे पैंट की जिप खोली, लण्ड को बाहर निकाला और लंहगे को पूरा भाभी के चूतड़ों में ठूंसते हुए लण्ड को अंदर तक अड़ा दिया.

इंग्लिश बीएफ एक्स एक्स एक्स एक्स - बीएफ हिंदी शायरी

वो कई बार जोक मारते मारते कुछ भी बिना शर्म किए बोल जाता था और मैं भी कोई हिचकिचाहट नहीं कर रही थी.फिर मेरी गांड के छेद को अपनी जीभ से चाट कर ढीला किया और अपने लंड से मेरी गांड चोदने लगे.

फिर रवि बोला- उस दिन तेरी बेटी को हम दोनों ने चोदा था। ले आज यहाँ तो मेरी ही बेटी आ गयी (मतलब नाम वाली लड़की). बीएफ हिंदी शायरी कुछ ही देर में भाभी की चूत ने पानी छोड़ दिया और मैंने उसकी चूत चाटने का मजा लिया और सारा पानी पी लिया.

सुपारे को चूसते हुए उसने लंड बाहर निकाला, फिर मीठी सी मुस्कान के साथ लंड को वापस मुँह में भरने लगी.

बीएफ हिंदी शायरी?

मेरे स्कूल की ड्रेस में सफ़ेद शर्ट और ग्रे स्कर्ट था और शनिवार को सफ़ेद स्कर्ट के साथ सफ़ेद शर्ट पहननी होती थी. और मुझे आजादी तो इतनी है कि हमने एक बार स्वैपिंग भी की थी।मैंने कहा- स्वैपिंग? सच में?खुशी का जवाब था- क्या ये जानकर तुम मुझसे प्रेम नहीं करोगे?मैं- नहीं, ऐसा कुछ भी नहीं है. मैंने कहा- क्या?वो- जब तुम मुझे चूमने लगते हो तो मुझसे बर्दाश्त नहीं होता और मैं कुछ कर नहीं पाती … पहले मुझे खुद को प्यार करने दो, बाद में तुम जो चाहो कर लेना.

मामी ने भी मुझसे ज़िद की- तू भी मुझे अपना 9 इंच का सांप दिखा न!बस फिर क्या था … मैंने लंड सहलाते हुए कहा- ढक्कन खोल लो मामी … आपका सांप नीचे खड़ा खड़ा फुंफकार रहा है. सबको लगेगा की सुहानी कितनी होशियार है। सोच लो, वरना मैं तो जीतूँगा ही हर बार की तरह. इस बात पर मैंने थोड़ी असहजता दिखाई और पूछा- क्यों मामा का इतना लम्बा नहीं है क्या?वो ‘हुंह.

अगले ही पल उसने एक जोर का झटका मार दिया और इस बार उसका आधा लंड मेरी चूत की गुफा में प्रवेश कर गया. जब वो रुक गए, तो मैं बिस्तर पर पेट के बल पसर गयी और वो भी धीरे धीरे झुकते हुए मेरी पीठ पर लेट गए. लेकिन इससे पहले कि मैं उन्हें फिर से मना करती, मेरी भरपूर जवानी की उठान उनकी हथेली में कैद होकर रह गयी थी.

रमेश ने अपना हाथ रश्मि के सर पर ले जाकर रश्मि के बालों की पिन निकाल दी जिससे उसके लंबे बाल खुल कर पूरी पीठ पर फैल गये।फिर रमेश ने मादक से स्वर में पूछा- लंड चूसना आता है? ये पूछते हुए रमेश अपने टॉवल के ऊपर से ही अपने तने हुए लंड को सहला रहा था. मैं लंड को बाहर तक निकाल निकाल कर फिर पूरी ताकत से चूत में घुसा घुसा कर उसकी चूत लेने लगा.

कुछ देर तक उसकी गांड को चोदने के बाद रमेश ने अपने लंड को बाहर निकाल लिया.

फिर वो आराम से मेरे ऊपर झुक अपने लंड को मेरी चुत में अन्दर बाहर करने लगे.

उन्होंने लड़के के चूतड़ के दो तीन चुम्बन ले डाले और बोले- जाओ बाहर बैठो. अपना हाथ भाभी ने नीचे पैंटी के ऊपर से चूत पर रखा और नीचे झुक कर देखने लगी. मैं दुबारा पलट गयी और थॉमस के बाल पकड़ कर उसकी गर्दन को अपनी चुत के पास ले आयी.

मैं भाभी के आगे खड़ा था, भाभी मेरे पीछे बस के बीच में लगे पोल को पकड़ कर खड़ी हो गई. मेरी इन हरकतों का परिणाम ये हुआ कि कुछ दिन के अंदर ही मेरी मस्त जवानी के आसपास कई भंवरे घूमने लगे. रॉबर्ट मेरे पास आया और मेरे गुलाबी होंठों पर उसने अपने काले होंठ रख दिए.

मैं उसके सिर के दोनों ओर से टांगों को लपेट लिया और उसका सिर पूरा अपनी जांघों में दबा लिया.

मैंने उन्हें तुरंत सीधा किया और एक मिनट में नंगी कर दिया … और खुद भी नंगा हो गया. वो मेरे गले में हाथ डाल कर पूछने लगी- क्या हुआ?मैंने- कुछ नहीं! कोई गड़बड़ी तो नहीं होगी?वो- जानू तुम कुछ मत सोचो … मैं तुम्हारे पास हूँ … बस इस पर ध्यान दो. मैंने कहा- ये किसका लंड है सर?वो बोले- मेरा ही है यार, बस कपड़े पोंछ कर फिर से डाल दिया है.

राजा जी … आह फाड़ डालो मेरी चूत को आज … कुचल डालो इसे, कितने सालों से मुझे सता रही थी ये … उम्म्मम्म!” साली जी बडबडाते हुए बोलती जा रही थी. अर्जुन सर इज टू लकी!”मैंने उसका इशारा अच्छे समझा, मैंने थैंक्स कहा और जिम वाले फ्लोर पे निकल गयी।मेरे जिम में घुसते ही जैसे, मानो जिम का माहौल थोड़ा अलग हो गया हो. तभी उन्होंने गांड उठाते हुए बोला- आंह … जोर से करो … बस मेरा पानी निकलने वाला है.

सुबह हो चुकी थी, मैंने फोन पर होटल स्टाफ को साफ सफाई के लिए कहा और बता दिया कि मैं सो रहा हूँ, मुझे ना उठाया जाए … कमरा खुला है, सफाई करें और चले जाएं.

अब उनमें से कोई भी दोस्त जब भी मेरे घर आता, मुझे कुतिया बना कर चोद कर चला जाता. फिर मामी को अपनी भुजाओं में कस कर दबा लिया और मामी से पूछा- डाल दूँ मामी?मामी ने आह भरते हुए कहा- पगले देर मत कर.

बीएफ हिंदी शायरी मैंने बोला- चोदो मुझे अर्पित … तेज़ी से … आह्ह चोदो डार्लिंग।उसने थोड़ी स्पीड बढ़ा दी. मैं अपने पति के सामने एक गैर मर्द के सामने चुदने में काफी ज्यादा उत्तेजना महसूस कर रही थी और चिल्ला चिल्ला कर चुत में लंड ले रही थी.

बीएफ हिंदी शायरी उसकी सुडौल जांघें मुझे मेरे लंड को जोर से मुठ मारने पर मजबूर कर रही थीं. ऐसा मर्द पाकर मेरी चूत सातवें आसमान पर थी।अर्जुन, मैं 2 मिनट में आई!”क्यूँ जान?” उसने मुझे बेड पे खींच लिया.

धीरे धीरे पता ही नहीं चला कि ये एडल्ट जोक, सेक्स की बातों में कब बदल गए.

सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ बीएफ बीएफ

दोस्तो, अगर आप लोग किसी काम से जा रहे हो और आपको पता लगे कि आपकी कोई मित्र भी आपको मिलने आ रही है तो सफर का मज़ा ही दोगुना हो जाता है और जब सफर पहाड़ों का हो तो क्या कहने!आज देहरादून से श्रीनगर का सफर ऐसा लग रहा था मानो बहुत दूर हो. अपने सिर को नीचे झुकाते हुए उसने लंड की एक्सट्रा लेंग्थ पर गौर किया. उत्तेजना से मेरा लन्ड इतना तनतना गया था कि जितनी देर में मैं झड़ता था उससे आधी देर में मैंने अपना गर्म लावा प्रिया की गांड में उड़ेल दिया।अब हम एक दूसरे पर निढाल होकर गिर गए और इधर उधर की बातें करने लगे। मतलब कि हम एक दूसरे को कितना पसंद करते हैं और एक दूसरे में क्या पसंद है वगैरह वगैरह बातें होती रहीं.

आज काफी कम उम्र में लड़कियों और लड़कों को सेक्स का ज्ञान प्राप्त हो रहा है. बस मेरे इशारे समझते रहना और वही ऑप्शन बोल देना।मैं कन्फ्यूज हो गयी थी इसलिए कुछ नहीं कहा और फिर अपनी टीम के पास आ गयी।मैंने रात भर सोचा और सुबह तक उसकी मदद लेने का फैसला ले चुकी थी।प्रतियोगिता में पहुँचते ही मैंने सुनील को इशारों में हामी भर दी।वो जैसे जैसे उत्तर बता रहा था, मैं जवाब देती जा रही थी।हमारी टीम ऊपर उठती चली गयी और बाकी टीम की परफॉर्मेंस कम हो गयी और किसी तरह से हमारी टीम जीत गयी. मैंने जाकर देखा तो वो भरवां करेले बनाने के लिये करेले चीर कर उनमें मसाला भर रही रही थी.

फिर मैंने ब्रा खोल कर उतार दी और दोनों चूचियां मसलने लगा; फिर पैंटी भी नीचे खिसका कर अलग कर दी.

मैंने अपना बेल्ट खोला पैंट की हुक खोली और पैंट को थोड़ा नीचे सरका दिया … बाक़ी उसने खुद ही पैंट को उतार कर बेड पर एक साइड में रख दिया. मैंने अपने दो-तीन खास मित्रों को इस बारे में बताया और उनकी मदद मांगी. मैंने धीरे धीरे अपना लण्ड अन्दर बाहर करते हुए गुरजीत से पूछा- एक बात बताओ गुरजीत, तुम्हारे मन में पहली बार कब आया कि मैं तुम्हें चोदना चाहता हूँ?करीब तीन साल पहले.

तो वो थोड़ा सा उदास होकर बोलने लगीं कि सच बोलूं तो मेरी शादी तो एक बूढ़े से हो गई है. मेरे मन में भी उसको या किसी भी अन्य महिला को किसी भी प्रकार की परेशानी देने का खयाल नहीं आता. मैं ग्वालियर से रात 11 बजे ट्रेन में बैठा था और सुबह 5 बजे भोपाल पहुंच गया.

रमेश का लंड अन्दर नहीं जा रहा था। उसने कहा- शुरू में थोड़ा दर्द होगा लेकिन फिर ठीक हो जाएगा।रश्मि- ओके. इस कहानी में आप भी देखें कि कैसे आप भी ऐसी किसी औरत को पटाकर उसकी चूत मार सकते हैं.

मुझे उन्हें देखते हुए … और उन दोनों को ऐसे ही मस्ती करते करते टाइम बीत गया और हमारे जाने का टाइम हो गया. मेरी नज़र से कुछ नहीं बचता और शायद यही तुम्हारी परेशानी का कारण भी है. मुझे ये सब बहुत अच्छा लगता था और मुझे हमेशा लगता था कि काश कोई मेरी सेक्सी बीवी नेहा की भी मेरे सामने खूब चुदाई करे.

दोस्तो, मेरा नाम आफरीन अंसारी है, मेरी उम्र 20 साल है, रंग गोरा है.

मैं थोड़ी देर में अपने होश में आई- ऊह्ह्ह अर्जुन … आई लव यू!और उसे चूमने लगी- मैं तुम्हारे लंड को पाकर खुश हो गयी. भाभी कुछ नहीं बोली, बस एकदम आंखें बंद करके धीरे धीरे मेरे लंड को सहलाने लगी. सेक्स स्टोरीज ऑफिस में पढ़ें कि मेरी गर्लफ्रेंड ने मुझे उसकी पहली चुदाई की कहानी बतायी.

इतने में उसने मेरे अंडरवियर में हाथ डाल कर लंड अपनी मुट्ठी में भर लिया. मैंने देखा कि मामी सामने ही मिरर के सामने एक स्टूल पर बैठ कर अपने नीचे कुछ कर रही थीं.

शेफाली कार से दूर चली गई थीतब अंकुश ने कहा- रोमा … मैं तुम्हारे लिए एक गिफ्ट लेकर आया हूं … ये लो!मैंने उससे पूछा- ये क्या है?उसने कहा- गिफ्ट है … चेंजिंग रूम में देख लेना और इसके बारे में शेफाली को मत बताना. उसे बहुत मजा आ रहा था और मेरे चेहरे पे भी मुस्कुराहट आ गयी ये देख के।अब मैंने देर करना उचित नहीं समझा क्योंकि मेरे अंदर भी सेक्स यानि चुदाई की जबर्दस्त इच्छा जाग चुकी थी।इसलिए मैं गुप्प … गुप्प … उसका लंड मुंह में अंदर बाहर करते हुए चूसने लगी. सही से रिंग भी नहीं हुई थी कि उसकी आवाज आ गई- हैलो … कहां पहुंचे!मैं- आ गया हूँ … फोन चालू रखो, जब बोलूंगा … तो दरवाज़ा खोल देना.

सेक्सी बीएफ छोटी छोटी लड़की

तभी एक दिन मन में आया कि क्यों न मेरे पहले बच्चे के पैदा होने के टाइम की वो रसीली बातें वो घटनाक्रम एक कहानी के रूप में लिखा जाय.

” उसने सकुचाते हुए कहा।कोई बात नहीं … तुम बाथरूम में जाकर पहले अपने पैर धो आओ फिर लगा देता हूँ. मैं बोला- नहीं अभी मेरा दिल नहीं भरा अदिति … मैं और सेक्स चाहता हूँ. सच्ची जीजू? तो फिर जीजू फक मी जल्दी … चोद डालो मुझे; अब नहीं रहा जाता!” साली जी थरथराती आवाज में बोली और मेरा लंड पकड़ कर मसलने लगी.

जिससे मैं सांस नहीं ले पाया और एक मिनट के बाद मैंने उसे जोर से बेड पर फेंक दिया. अगले दिन सबको अपने अपने शहर वापस चले जाना था। मैंने और मेरी टीम ने भी बहुत एंजॉय किया, खूब खाया पिया और नाचे गए।सुनील मेरी टीम के पास आया और हम सबको जीत की बधाई दी।उसने कहा- आप सबने बहुत मेहनत की है इस जीत को पाने के लिए!तो मेरी सहेली ने कहा- हाँ वो तो है. शादी वाली बीएफफिर एक दिन हमारे साथी ने बताया कि अब चुदाई सड़क पार वाले खेतों में होती है.

मैं भी उसकी चूत को जीभ से चोदता हुआ उसके मुंह में ही लंड से धक्के लगाने लग जाता तो साली जी मेरा लंड छोड़ कर मुंह को ठीक से एडजस्ट कर लेती जिससे लंड बड़े आराम से उसके मुंह में अन्दर बाहर होता रहता. एक दिन उन्होंने मुझे अपने शहर में बुलाया और …आप सभी लोगों को मेरा नमस्कार.

उसने मुझे पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और फिर मेरी दोनों टांगों को फैला दिया. मगर जैसा कि मैंने बताया कि उसकी अपने पति और ससुराल वालों से नहीं बनती थी और वो बहुत परेशान रहती थी. मीता पास आई और अपने नर्म हाथों से मेरा मुँह बंद करके पूछा- क्या हुआ?मैं- कुछ नहीं … तुम बहुत खूबसूरत लग रही हो, बिल्कुल दुल्हन की तरह.

वो मुस्कराते हुए बोली- आप तो पूरी वसूली करके ही मानेंगे आज।हंसते हुए मैंने उसकी कमर के नीचे तकिए रख दिये. श्रीनगर पहुंचने पर मैंने होटल में रूम लिया और फिर मैंने विन्नी को कॉल की. रास्ते में सर ने कहा- अरे अब तो खुल जाओ सोनम जी, एक ही रात तो गुजारनी है आपको मेरे साथ, कौन सा रोज मेरा बिस्तर गर्म करने आओगी आप।ये बोलते हुए उन्होंने मेरी चूचियों को दबा दिया.

मैं- मीता मेरी रानी … मैं इसका पूरा ख्याल रखूंगा कि तुमको कम से कम दर्द हो.

उफ्फ जीजू, गाल मत काटो नहीं तो दांत के निशान पड़ जायेंगे; फिर मैं दीदी को कैसे मुंह दिखा पाऊँगी?” निष्ठा ने आशंकित होकर कहा और अपना गाल सहलाने लगीं. मैंने मां से कहा- अरे मां आपने क्यों तकलीफ की, मैं खुद ही गेट खोल लेता ना!वो बोलीं- अरे मेरा काम खत्म हो गया था हर्षद और मैं तुम्हारा ही इंतजार कर रही थी.

ओके डार्लिंग चलो खा लेते हैं, पहले ये बताओ कि तुमने ये अपनी पिंकी चिकनी तो कर ली न?” मैंने उसकी चूत की तरफ इशारा करते हुए पूछा. रॉन भी उसके सिर को पकड़ कर याह्ह … याह्ह … करता हुआ अपना लंड मेरी बीवी के मुंह में पेलता रहा. रश्मि सिसकारने लगी- आह्ह डैडी… आह्ह… चूसो … चाटो… आह्ह!रमेश- ये ले रवि, इसने तो सच में तुझे अपना बाप बना लिया!रश्मि- रमेश सेठ, जब तू अपनी बेटी समान लड़की की चूत चोद कर मजा ले सकता है तो फिर ये अपनी बेटी समान रंडी की चूत नहीं चोद सकते क्या?रवि- बात तो सही कह रही है रमेश ये।रमेश- हां बहुत ही चुदक्कड़ लग रही है.

मैं नसीब वाला हूं कि मैंने धीरज रखा और उसका फल आज मुझे मिल गया … आह्ह।आरूषि- हां पता है मुझे। मैं बस तुम्हारी ही पहल का इंतजार कर रही थी. फिर मैंने डेज़ी को उठाया और जोर से अपने सीने से लगा लिया और उसे फिर से किस करना शुरू कर दिया. मेरा एक दोस्त नेटवर्क कंप्यूटर मार्केटिंग का काम करता था, तो मैंने उसको बोल कर करीब एक महीने के लिए घर की एंट्री में, ड्राइंग रूम में, लॉबी और बच्चों के कमरे में नाईट विजन वाले कैमरे फिक्स करा दिए.

बीएफ हिंदी शायरी सुबह जब मेरी आंख खुली, तो देखा कि मेरे बेटे का दोस्त उसको ब्रेड खिला रहा था. थॉमस ने मेरे मम्मों को ललचाई नजरों से देखते हुए कहा- अंजलि जी काम शुरू करें.

साउथ अफ्रीका की सेक्सी बीएफ

अब उसने ‘उफ्फ़ … हिस्स … ल्ला … मर गई …’ की आवाज़ के साथ सर को दीवार पर ज़ोर से पटक दिया और जैसे अकड़ सी गयी. दरअसल एक बार तो लण्ड कुछ अंदर तक भी जाने लगा था जिससे बिन्दू ने मेरी छाती पर हाथ लगा कर रोक दिया और बोली- अभी नहीं, बाद में कर लेना. नसीम बोला- तो उन्होंने क्या आपकी भी?प्रकाश- और नहीं तो … तुझे पता नहीं है क्या … वे बुरी तरह रगड़ देते हैं.

एसएचओ ने एएसआई और उस लेडी कांस्टेबल से पूछा- इनको किस से पूछ कर बुला कर लाए हो?एएसआई ने कहा- इन लोगों के खिलाफ रोहित ने शिकायत दी थी. और मेरे लण्ड के प्रहार से बेहाल गुरजीत की चूत भी थक गई थी तभी तो गुरजीत बार बार कह रही थी- बस करो, विजय. सेक्सी बीएफ फिल्म भोजपुरीकुच्ची बार बार बोलता कि खड़े लंड पर धोखा देगी क्या … और हंसी उड़ाता.

उन्होंने लिक्विड चॉकलेट को चाटते हुए ही मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और बहुत ही अच्छे तरीके से मेरे लंड को चूसने लगीं.

तो मैं जल्दी से भाग कर ट्रेन के टॉयलेट में चली गयी और वाशबेसिन के सामने एकदम किनारे सट कर खड़ी हो गयी. अमन उसकी पीठ को चूम रहा था और मैं उसके स्तनों को दबाते हुए उन्हें चूस रहा था.

वो मुझसे बड़े स्नेह से बोलती थीं, तो मुझे उनसे बात करने में काफी अच्छा लगता था. सर ने मेरे बूब्स चूसने के बाद सर ने अपने कपड़े भी उतारे और पूरे नंगे होकर मेरे ऊपर लेट कर मेरे होंठों को पीने लगे. उसकी हरी चूड़ियां चुदाई की आवाजों में अपनी खन खन की आवाज मिलाकर माहौल को और ज्यादा कामुक बना रही थीं.

अब मैंने जोर जोर से उसकी चुदाई चालू कर दी और करीब 10 मिनट तक चोदता रहा.

सर के मोटे लंड का दहकता सुपारा मेरी चुत को फाड़ने के लिए फांकों में रगड़ने लगा था. हालांकि अभी भी थोड़े थोड़े बाल चुत की चमक पर हल्का सा दाग महसूस करा रहे थे. शाम को मामी नहीं आईं … और मुझे भी कुछ काम लग गया, तो मैंने सोचा कि मामी वापस चली गई हैं.

बिहार का वीडियो सेक्सी बीएफउसके बाद बॉस ने गर्लफ्रेंड के बालों को सहलाया और उसने अपने होंठ को मेरी गर्लफ्रेंड के होंठों से मिला कर किस करने लगा. फिर इसका माल कैसे टेस्टी नहीं होगा! तेरे जैसी चूत पाकर तो ये पूरा बेकाबू हो जाता है और ऐसा ही गाढ़ा गाढ़ा मजेदार माल फेंकता है.

जानवर और आदमी का बीएफ वीडियो

मैंने खड़े खड़े ही लण्ड को भाभी की चूत पर लगाया और भाभी को उनके चूतड़ों से पकड़ कर लण्ड अंदर डाल कर चोदना शुरू किया. आंटी बोलीं- राज तुम मीनू को तो कुछ नहीं बताओगे न!मैं बोला- मैं किसी को कुछ नहीं बताऊंगा. कुछ पल लंड चूसने के बाद मामी ने मेरी आंखों में झांका, तो मैंने उनकी चुत चूसने के लिए कहा.

हम इतने पास आ गए थे कि हम दोनों एक दूसरे की गर्म सासों को महसूस कर सकते थे. करीब आधा घंटे बाद मैंने फिर से उसको गर्म किया और इस बार उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रख कर उसे चोदा. मेरी किसी तरह की कोई प्रतिक्रिया न होने पर उसने अपना हाथ मेरी कमर पर रख दिया और मेरी प्रतिक्रिया का इन्तजार करने लगा.

मैं रूम में जाने लगी, तो मुझे लंगड़ा कर चलते हुए देख कर रोहन मुझसे बोला- अंजलि तुम ऐसे क्यों चल रही हो?मैंने कहा- वो डिस्को में डांस करते वक्त मेरे पैर में लग गयी थी. हम बाहर आ गए और मैंने नेहा और सरोज को कहा- अब आप लोग खुश हो?सरोज ने मेरे कंधे पर हाथ रखा और कहने लगी- राज! तुमने तो आज पासा ही पलट दिया, हमारी तो जान ही सूख गई थी. अपने लम्बे अनुभव में एक अध्याय और जोड़ने के लिए मैं उठा, अपना अण्डरवियर शरीर से अलग किया और ढेर सी क्रीम अपने लण्ड पर चुपड़ कर मैं गुरजीत की टांगों के बीच आ गया.

लेकिन मम्मी हंसती हुई अपना चेहरा बार-बार उसके मुंह से हटा रही थी जैसे वो किस नहीं करना चाहती थी. मैं रोहन को दिखा दिखा कर आहें भर रही थी और थॉमस भी मुझे बहुत जोरों से चोद रहा था.

ऐसा कहते हुए मैंने सिर के ऊपर से मैक्सी निकाल दी।बहुत हिम्मत दिखाई थी मैंने … अब मैं सिर्फ ब्रा और पेटीकोट में थी उसके सामने।मेरे 34″ की चूचियों ने अच्छे अच्छे को हिला दिया था, ये कैसे बच पाता। मुझे उसके लन्ड में थोड़ी हरकत महसूस हुई। मुझे थोड़ी खुशी मिली.

मैं आपके मैसेज और मेल का जवाब जरूर दूंगी … प्लीज मुझे मेल और मैसेज जरूर करें. एचडी बीएफ इंग्लिश मेंफिर बारी थी मेरे साले श्लोक की बीवी सीमा की चुदाई उसके दोस्त से होने की. हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ दिखाएंआज की यह कहानी मेरी नहीं है, बहुत से मेरे प्रशंसकों ने मुझे मेरी प्यारी बहन आयेशा की पहली सेक्स कहानी लिखने का आग्रह किया था. तो मैंने सनम से बोला- यार, अगर उस लड़के को पटा लिया जाये तो हमारा काम बन सकता है.

”आप कैसे जानते हैं?”तुम यह सब छोड़ो!”ओह … सर … प्लीज बताओ ना?”अरे बेबी उसका फादर हमारी कंपनी का बहुत बड़ा डीलर है.

मेरा मेल आईडी है[emailprotected][emailprotected]तब तक के लिए आप सभी से विदा लेना चाहूंगी. अम्मी भी मेरे टट्टों को सहलाते हुए मेरा पूरा लंड अपने हलक तक लेकर चूस रही थीं. कुछ देर के दर्द के बाद भाभी ने अपनी गांड ऊपर की और बोलीं- हां … अब लगाओ शॉट.

मां बोलीं- चलो हर्षद … इसी में चलते हैं … आराम से खड़े तो रह सकते हैं. इस अनचुदी चूत की पहली चुदाई कहानी के पिछले भाग में आपने अब तक पढ़ा था कि मीता मेरे लंड को चूस रही थी और अब वो 69 में होकर मजा दे रही थी. लंहगे में उनकी सुन्दर गांड और ब्लाउज में उनके बड़े मम्मे उभर कर बाहर आ रहे थे.

बीएफ सेक्सी ब्लू पिक्चर भोजपुरी

अब आगे:मैंने दीदी से पूछा- क्या बोला था उसने?दीदी बोली- अमित बोला कि दीदी आप बहुत हॉट माल हो. फिर उसकी रसीली चुत की फांकों में लंड का सुपारा लगा कर एक हल्का सा झटका दे दिया. रश्मि ने अपने हाथ से उसके कंधों पर वजन डाला और बारी बारी से टाँग उठा कर जीन्स अपने पैरों से अलग कर दी।रमेश- मैं तुम्हारी चूत देखना चाहता हूँ.

उसके मस्त मम्में तन कर खड़े थे जैसे मुझे चुनौती दे रहे हों कि आओ दम हो तो दबोच लो हमें और मीड़ डालो मसल दो.

अच्छा हुआ कि सनम मुझे किस कर रही थी वरना मेरी चीख उसकी तरह बाहर निकल जाती.

उसने अपना लंड मेरी चुत पर सैट किया और धक्का लगा कर अपने लंड को आधा अन्दर कर दिया. तभी सरोज ने मेरे मुंह को अपने होंठों से बंद कर दिया और मेरी चूचियों को मसलते हुए किस करने लगी. हिंदी सेक्सी बीएफ व्हिडीओ हिंदीतो मैं अपनी ससुराल जाकर अपनी सासू माँ को लिवा लाया और साथ में मेरी एकलौती साली निष्ठा भी चली आई.

निशांत ने नीला की हां में हां मिलाते हुए कहा- हां यार, सफर लम्बा है. रॉन के जाने के बाद मैंने नेहा को बांहों में भर लिया और कहा- थैंक्स जान … तुमने मेरी विश पूरी कर दी. मैं आज आपको अपनी लाइफ की रियल सेक्स स्टोरी कुंवारी लड़की की चुदाई की बताने जा रही हूँ.

मैं झट से उसके लंड को शांत करने के लिए चढ़ गयी और उछल उछल कर चुदवाने लगी. मन ही मन वो बोला- अगर यह रंडी बन ही गयी है तो मैं भी आज इसे अपनी मर्दानगी दिखा ही देता हूं.

वो जानता था कि रश्मि रवि की बेटी है और यही उसका मकसद था कि वो रवि की बेटी को रंडी बना कर उसके बाप के सामने ही पेले.

यूं तो में अपने पति से बहुत चुदती थी और अनिकेत का लंड मेरे पति के बराबर ही होगा … पर इतना तड़पने के बाद एक लंड का चूत में एहसास केवल एक स्त्री ही समझ सकती है. मैंने उसकी चुत चुदाई करते हुए देखा कि उसके चूतड़ एकदम सफ़ेद हैं, लेकिन गांड थोड़ी काली है. वो अब भी चूत छोड़ने को राजी नहीं था, वो चूत के रस की एक एक बूंद को चाट गया। मैं निढाल होकर बाथरूम में किनारे की ओर बैठ गयी।उसने अब रंग दिखाना शुरू किया था, उसने अपना अंडरवियर नीचे कर दिया.

सक्सेस बीएफ दोस्त की वाइफ की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे वाइफ स्वैप में मेरे दोस्त ने अपनी बीवी मेरे हवाले कर दी चुदायी के लिए. हम दोनों की शिफ्ट एक ही थी और दोनों रात में देर तक काम करते रहते थे.

वापिस लौट कर मैंने निष्ठा को बेड पर लिटा लिया और उसके पांव की उंगलियां अपने मुंह में भर कर चूसने लगा फिर उसके तलवे और पैर चाटते हुए मैंने उसकी गोरी गोरी पिंडलियां भी चाट चाट कर चूम डालीं. वो मादक सिसकारियां निकाल निकाल कर कहे जा रही थीं- आंह … आह … हां पी ले … आम का रस जितना पीना है … चूस ले. अब मैं हैरान होकर बोली- अरे कब?दीदी बोली- कल शाम में ही … जब तू सोई थी.

मैथिली भाषा में बीएफ वीडियो

ऐसा नहीं है कि मैं उस रॉंग नम्बर वाली लौंडिया की चुत में लंड घुसाऊंगा और खुद मजा लेकर आ जाऊंगा. मन कर रहा था कि उस राजू के सामने तुझे नंगी करके तेरी चूत को अपनी उंगली से चोदना शुरू कर दूँ. फिर वो पूछने लगे कि रहते कहां हो, तो मैंने बताया कि पास के ही होटल में रुका हुआ हूं और परीक्षा देने भोपाल आया था.

किस कॉलेज मे पढ़ती हो?रमेश उसके माथे से उंगली फिराता हुया उसके बूब्स तक पहुंच गया था।रश्मि- जी वो मत पूछिये. दूसरे दिन देर से सो कर उठी, तो मेरी गांड में बड़ा मस्त अहसास हो रहा था.

मेरे कुछ ही दोस्त ऐसे थे, जिन्होंने उस सामूहिक चुदाई में उपस्थित रहते हुए भी बिना कोई कारण बताए लौंडिया चोदने से मना कर दिया था … जबकि वे उन लौंडों में सबसे मस्त लौंडे होते थे.

हमारी रोज़ मुलाक़ात होना शुरू हुई, तो आंखों ही आंखों में थोड़ी बात होने लगी. एक तो पानी की छप … थप … छप … छप की आवाज़, साथ में सिसकारियों की गूँज!दोस्तो, सोचिये उस समय क्या माहौल होगा वहां का।लगभग बीस मिनट चुदाई करने के बाद भैया उठे और फिर शावॅर में नहाये. मेरा लंड एकदम से झटके से खड़ा हो गया। इसका अहसास उसे भी तुरंत हो गया.

उससे बात हुई, तो उसके पति ने कहा- खाना हम सारे मिल कर किसी होटल में खाएंगे. उसने फ्रूट्स निकाले और एक केला देकर बोला- आप भी न बस … मुझे गलत मत समझो. वहां पर देखा, एक लड़का सरोज की बड़ी लड़की नेहा से झगड़ा कर रहा था और उसका बच्चा छीनने की कोशिश कर रहा था.

अम्म … आह्ह चपकचप… चपचप … मुचमुच… करके वो उसकी गांड को काफी देर तक चाटता रहा.

बीएफ हिंदी शायरी: प्राची भाभी की चूत तो पहले ही रस भर चुकी थी और मैंने पहले ही घूंट में बहुत सारा रस पी लिया. लेकिन कुछ देर बाद बाहर निकाल दिया, क्योंकि गर्लफ्रेंड लंड चूसना ठीक से नहीं जानती थी.

इसलिए अब तुम बस उसे कैसे भी खुश रखने का सोचो क्योंकि अब तो सब कुछ हो गया है. चारों ही राउंड में अलग अलग पोजीशन में चुदाई हुई थी इसलिए नेहा का बदन बुरी तरह से टूट गया था. कभी तो वो सिर्फ निप्पल चूसता तो कभी मेरा पूरा स्तन मुंह में डाल लेता था.

उन्होंने बोला- ओके तुम वहीं दस मिनट रुको … मैं तुम्हें लेने आती हूँ.

मैंने ब्रा का हुक खोल दिया, तो चुचे कबूतरों की तरह फुदक कर बाहर आ गए. विजयादशमी की छुट्टियों मैं अपने घर आ गया और इन दिनों मेरी मुलाकात मेरी कॉलेज फ्रेंड डेज़ी से हुई. अब भी सनम को दर्द हो रहा था लेकिन उसे चुप कराना भी मेरी जिम्मेदारी थी क्योंकि अगर वह चीखती तो सबको पता चल जाता कि यहाँ चुदाई चल रही है.