सेक्सी बीएफ देखना है हिंदी में

छवि स्रोत,कोडम सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

अंग्रेजी में बीएफ पिक्चर: सेक्सी बीएफ देखना है हिंदी में, जब मैं फ्रेश होकर आया तो स्वीटी मैडम ने एक पजामा और बिना आस्तीन की गर्म बनियान टाइप का टॉप पहना हुआ था.

हिंदुस्तान की सेक्सी लड़की

वो अपनी गांड को फैलाने लगी और उस पर अपनी उंगली से ही थूक लगाने लगी. और बेटे की सेक्सी कहानीमैं बर्तन लेने के लिए नीचे झुकी, तभी मुझे ध्यान आया कि मैंने तो ब्रा पहनी ही नहीं है और कुर्ती से मेरी चूचियां और मेरे निप्पल एकदम साफ दिख रहे हैं.

रेखा रोती हुई कहने लगी- आंह … मैं मर जाऊंगी … अअहह … आराम से घुसेड़ो न!मैं- अरे ऐसे कैसे मरने दूंगा तुझे रंडी. सेक्सी चुदाई हिंदी में दिखाओमैंने उसकी इच्छा पूरी की उन्हीं के घर में! कैसे हुआ ये सब?नमस्कार अंतर्वासना के प्रिय पाठकगण, मैं भगवानदास फिर से चटकती चुतों को लंडवत नमस्कार करते हुए अपने सेक्सजीवन की एक और देसी घटना लेकर हाज़िर हूं.

एक पल के लिए तो मैं काफी डर गया था लेकिन फिर मैं उनकी चूचियों के साथ खेलने लगा.सेक्सी बीएफ देखना है हिंदी में: शलाका से एक पल भी रहा नहीं जा रहा था, वो अपनी गांड उठा कर लंड अन्दर लेने की कोशिश करने लगी थी.

मैं घर आया ओर एक बड़ा सा मैसेज लिखा- गलती हुई, पर क्या करता तुमसे प्यार हो गया है.मिहिका बोली- मैंने पता है क्यों जा रहा है … नाराज हो गया शाम आली बात पै!मैं बोला- ना तो.

सेक्सी पिक्चर चोदने वाली हिंदी - सेक्सी बीएफ देखना है हिंदी में

उसे शायद अन्दर तक सनसनी होने लगी थी और अच्छा भी लगा था तो वो फिर से चुम्बन देने के लिए राजी हो गई.उसकी हल्की गेहुंए रंग की चूत, जिस पर बिल्कुल भी झांटें नहीं थीं, उसे देख कर मेरे लंड ने भी चड्डी के अन्दर से ही उसे सलामी दी.

हमने कभी किसी की शादी में जाकर, कभी काम के नाम पर भारत के हर नगर में चुदाई की है. सेक्सी बीएफ देखना है हिंदी में तुम कब सेमुझे चोदना चाहते थे?मैं समझ नहीं पा रहा था कि मैं क्या बोलूं.

मैंने जोश में आकर आंटी की चूचियों को काटना शुरू कर दिया तो वो ऊई ऊई ऊई करके चिल्लाने लगीं.

सेक्सी बीएफ देखना है हिंदी में?

ये कहते हुए उसने अपने पैरों की मेरी गांड की ऊपर की पकड़ को ढीला कर दिया और अपने पैर बेड पर छोड़ दिए. मेरी गर्दन पर मसलते हुए मेरे निप्पलों को मसल कर, मेरे पेट को मसल कर उसने मुझे घुमा दिया. पहले हमारी बात सामान्य ही हो रही थी, पर भाभी खुद ही गहराई में उतरती चली गईं जिससे मेरे अन्दर हिम्मत आ गई थी.

जस्सी एकदम से कलप उठी और उसने झट से मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत के ऊपर लगा दिया. सुमैत्री को पकड़ कर मैंने अपने नीचे लेटा लिया और उसकी चूत में अपना लंड डाल कर उसको चोदने लगा. छोटी से छोटी जानकारी भी उसने मुझे दी, जिसके आधार पर मैंने आप लोगो के लिए ये कहानी लिखी है.

मैं बातें तो कर रहा था पर बीच बीच में चोर निगाहों से उसे देखे भी जा रहा था क्योंकि किचन ओपन था और सामने था. ना जाने हमारा मिलन फिर कब होगा?रेखा बोली- हां मैं भी तुम्हें फोन करती रहूँगी हर्षद. जब मैंने जाकर वाशरूम का दरवाजा खोला तो भाभी चड्डी और ब्रा में फर्श पर पड़ी थीं.

रेखा- सच में ना अंकल … मुझे ज्यादा दर्द नहीं होगा ना?मैंने कहा- ज्यादा नहीं होगा बेटी, मैंने कहा ना कि मैं तुम्हें बड़े प्यार से चोदूंगा. उस कंपनी के ऑफिस का पार्किंग एरिया अंडरग्राउंड था इसीलिए वहां थोड़ा अंधेरा था और इक्का दुक्का लोग ही वहां थे.

आह मुझे इस लंड की जरूरत है … ओह चोद मजे से … चोद चोद कर आज मेरी चूत फाड़ डाल!हम दोनों चुदाई में इतने तल्लीन थे कि दीन दुनिया की कोई खबर ही था ना थी.

मैं उसके पास गया और कहा- नहीं हो रहा है ना!वो बोली- पंप अच्छा नहीं है.

अब नहीं सहा जाता मुझसे!मैंने उसकी चूचियां रगड़कर कहा- जैसा तुम चाहो, वैसा ही होगा नीता. पहले दिन जब मैं विद्यालय में ज्वाइनिंग लेने गया तो वहां एक महिला प्रिंसीपल मैडम थीं. फिर अगल बगल देख कर उसे घर के अन्दर आने का कह कर दरवाज़ा लॉक कर दिया.

एक दिन वो बात कर रहा था तो मैंने उसे बताया- आज मेरे घर पर कोई नहीं है. जस्सी ने मेरे लंड पर बहुत सारा साबुन लगाया और बोली- अब देख कैसे सट से अन्दर जाता है. सब पूछने लगे- कौन किसको चोदेगा?मैंने कहा- चिट डाल लेते है, जिसमें जिसका नाम आया, वो अपना पार्ट्नर चुन लेगा.

इतनी देर में उस वेटर ने बाहर से दरवाज़ा खोला और बोला- सर और कुछ चाहिए?हस्बैंड ने उससे कहा- मेरे सामने मेरी वाइफ को चोद सकते हो?वो बोला- जी सर, यदि मैडम को कोई एतराज़ न हो तो.

उसका फिगर करीब 32-28-32 है।उसे देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था परन्तु मैं तो उसे चोद नहीं सकता था पर मैं सोचता था कि जो भी कोई उसे चोदेगा, बहुत मजा लेगा. मैंने भी मौके का फायदा उठाना सही समझा और सुमैत्री से कहा- मैं तुम्हारे साथ तभी सेक्स करूंगा, जब तुम मुझे खुद के साथ सब कुछ करने दोगी. इसी बीच मैंने उसे बताया कि इस समय मैं अकेला रह रहा हूँ क्योंकि बीवी बाहर गई हुई है.

मैंने पहले बाथरूम में जाकर अपना लंड और जांघें धोईं ताकि पसीने के बदबू न रहे. हम दोनों की कामुकता इतनी अधिक बढ़ गई थी कि दोनों एक दूसरे में खो रहे थे. कभी किसी पार्टी या कोई फंक्शन हो तो उधर भी फटाफट वाली चुदाई का मजा ले लेती हूँ … और कभी तो पास पड़ोस के घर में भी चुदवा लेती हूँ.

उसे मैंने विश्वास में लेकर कहा- जीजा-साली का तो सदियों से रिश्ता चलता आ रहा है.

तब तक के लिए आप मेरी एक्स एक्स एक्स हिंदी कहानी के लिए अपने मेल भेजें. इसी के साथ में ही मेरे हाथ कभी उसका एक बूब दबाता, तो कभी दूसरा!मैं मस्ती से उसके दोनों मम्मे दबा रहा था.

सेक्सी बीएफ देखना है हिंदी में एक जोरदार झटके में अपना पूरा लंबा लंड उसके गले तक डाल दिया और झटके देने लगा. सोनाली चिल्ला दी- उई मां आह आंह हा हा इस्स आह ऊं ऊं!मेरी इस तरह की चूत चुसाई को सोनाली सह नहीं पायी और जल्द ही उसकी चूत झड़कर ढेर सारा चुतरस छोड़ने लगी.

सेक्सी बीएफ देखना है हिंदी में अब मेरी अंतिम आशा शैली मामी पर ही टिकी हुई थी जिन्हें यहां चोद सकना बहुत मुश्किल था … क्योंकि सारी रात तो वो अपने पति के साथ रहने वाली थीं. कभी बायीं को सहलाता तो कभी दायीं को!थोड़ी देर में वो पूरी तरह से जग चुकी थी और अपने पैरों को आपस में रगड़ रही थी.

वहीं कोने में खड़ी करके उसकी चूत में फिर से मैंने अपना लंड पेल दिया.

तोरई की सब्जी रेसिपी इन हिंदी

कुछ ही देर में मेरे नीचे झुकी अर्चना दीदी, लौड़े से लगते मेरे हर धक्के पर कराहती हुईं अपनी गांड लंड पर ऐसे धकेल रही थीं जैसे आंड समेत पूरा लंड गटक जाएंगी. कुछ देर बाद वो आवाज देकर बोली- पंडित जी, आप मेरे रूम में आ जाइए, पूजा यहां पर ही करवानी है. साबिरा की तरफ देखते हुए उसने पूछा-अरे पागल लड़की जा, पानी तो लेकर आ.

मैं अपने घुटनों के बल आ गई और जोर जोर से उसके लंड को मुँह में गले तक लेकर चूसने लगी. जब वह हमारी कॉलोनी में आईं, तब उस समय मैं कॉलोनी में नहीं था, मैं अपने काम के सिलसिले में बाहर गया हुआ था. मेरी पिछली कहानी थी:भतीजी ने जीते जी स्वर्ग दिखायाइस बार ये शुरूआत मेरे दोस्त की शादी के बाद उस वक्त हुई जब मैं पहली बार उससे मिलने गया था.

एक बाबा बोला- पत्नी जी, आज सुहागरात किस तरह से मनाई जाए?मैं कुछ नहीं बोली.

यह आपकी सपना का हसीन सपना है, जो मैंने आपके सामने कहानी के रूप में लिखा हैये सब मेरे मन की इच्छा है, जो कभी मेरी किस्मत में हुआ तो मैं जरूर करूंगी. तो डॉक्टर ने कहा कि जैल लगाओ और शाम को मालिश कर लेना।घर आने के बाद मैंने जैल लगा ली।शाम को मैंने अमन से कहा कि वो मेरी पीठ पर मसाज कर दे. लीशा बोली- अभी मम्मी जी जाग रही हैं और दीदी भी पढ़ाई कर रही हैं, अभी कैसे आ सकती हूँ.

बुआ के साथ उनके लड़के दीपक (22) और दो बेटियां रीना(20) एवं रंजू रहती हैं. नई जगह होने के कारण मुझे नींद नहीं आ रही थी और अपनी चाची और भाभी की बड़ी चूचियों को देख कर मैं बहुत उत्तेजित हो गया था. मैंने उससे नितिन के बारे में पूछा कि ये कहां गया है?सानू ने कहा- मुझे मालूम नहीं … मगर आइए, वो जब तक आता है, तब तक आप तब तक मेरे रूम में बैठें, कैसे आना हुआ … कोई खास काम?मैंने कहा- बस ऐसे यूं ही गप्पें लगाने आया था.

कार की ड्राइवर सीट पर एक लड़की बैठी हुई थी, जिसने अपना चेहरा दुपट्टे से ढका हुआ था और आंखों पर काला चश्मा लगाए हुई थी. मेरे बाद रुचिका और नंदा बाथरूम में गईं, तब तक मैं बाहर लॉबी में आ गया.

आधी सांकल खोल कर मैं कुछ सोच कर रह गया और फिर से चुपके से ऊपर चला गया. पहली बार दो अजनबी मर्दों के साथ सेक्स करने में मजा आ रहा था और ऐसा लग रहा था कि ये पल यहीं ठहर जाए. उसने मासूमियत से पूछा- क्यों?मैं- मैं अपने पैरों पर खड़े होने के बाद ही शादी करना चाहता हूँ.

कुछ देर बाद मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत की दरार के अन्दर सरका दी और उसकी चूत को उंगली से चोदने लगा.

एक दिन आंटी ने मुझे देख कर स्माइल भी की तो मैंने भी उनको देख कर स्माइल कर दी. वह Xxx देसी भाभी बार बार अपनी चूत को शीशे में देखतीं और उस पर हाथ फेर रही थीं. मेरी चूत के आसपास और गोरी जांघों पर उनका मिश्रित वीर्य बहने लगा था.

उसने मुझको बिस्तर पर लिटा दिया और अपनी चुत पर लगा सारा केक मेरे लंड पर लगाने लगी. उनकी एक बड़ी बेटी सोनाली 19 साल की थी और दूसरी बेटी छोटी मुनमुन थी.

आधी सांकल खोल कर मैं कुछ सोच कर रह गया और फिर से चुपके से ऊपर चला गया. बिहारी भाभी की चूत की चुदाई का मजा लिया मैंने! वो मेरे पड़ोस में रहती थी. मैं अक्सर उसकी फोटो को जूम करके देखा करता, जिसमें उसकी लाल ब्रा दिखती और साथ ही उसके निप्पलों की जामुनी घुंडियां भीगी हुई टी-शर्ट से दिखती थीं.

सेक्सी फिल्म ब्लू इंग्लिश

फिर मैंने भाभी को पीछे से अपनी बांहों में जकड़ा और उनकी गर्दन पर किस करने लगा.

सोनाली मदहोश होकर अपने हाथों से मेरा सर सहलाकर बोली- आह हर्षद बस करो ना … अब मैं और नहीं सह पाऊंगी. मैंने अपना दूसरा हाथ भी सोनाली की गांड पर रखकर जोर का धक्का मारकर आधा लंड चूत में घुसेड़ दिया. सेक्सी बॉडी होती है … कभी डाल कर महसूस किया उसमें?मुझको समझने में देर नहीं लगी बेटा रवि, आज भाभी मूड में लग रही है.

मुझे देखकर मौसी ने कहा- क्या हुआ?मैंने कहा- मौसी आप अब भी कितनी अच्छी लगती हो. मैं कभी कान, कभी होंठ कभी जीभ कभी चुचे, नाभि, चूत, गांड सब चूसने और चाटने लगा. गांड में लंड डालने वाली सेक्सीइसके बाद उसने मुझसे कहा कि तुमने मेरा पानी निकाल दिया था, मैंने तुम्हारा निकाल दिया.

बाहर आते ही समीर का लंड मैंने मुँह में ले लिया और चूस कर उसका पानी निकाल कर पी लिया. मैंने अपनी दो उंगलियों से उसकी चूत को फैलाया और अन्दर तक उसकी चूत को चाटने लगा.

मेरा लन्ड अपने हाथों में लेकर कहा- हाँ मेरे राजा, इसकी गर्मी तो मैं ही निकलूंगा. रेखा- ओके अंकल!मैं उठकर खड़ा हुआ और फिर से अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया ताकि लंड फिर से मजबूत और सख्त हो जाए. वो पहले अपने रूम में गए, फ़िर कुछ देर बाद ही घर में पीछे बने आंग़न की ओर आए.

लॉकडाउन से पहले हमने वहां काम शुरू किया था पर अगस्त तक काम रोकना भी पड़ गया. फिर खाना खाने के बाद जब हम दोनों बेड पर आए तो दोनों से ही रहा नहीं जा रहा था. टब में नहाने का ये मेरा पहला अनुभव था तो मैं बहुत ही आनन्द ले रहा था.

जैसे जैसे मैं चूत चाट रहा था, वो और ज़्यादा आवाज़ें निकलने में लग गई थी.

हम दोनों चंडीगढ़ की लिए फ्लाइट में जाने के लिए बोर्डिंग एरिया में बैठ गए. मैंने अपनी टीम को सारे कागज संबंधित विभागों को जांच के लिए भेजने का आदेश दिया और अनीशा के ऑफिस से निकलने लगा.

पिछले भागबस स्टॉप पर मिली भाभी ने घर बुलायामें अब तक आपने पढ़ा था कि स्वीटी ने मुझे रात को अपने घर डिनर के लिए बुलाया था. शब्बो अब उसके सामने बस अपनी चड्डी में खड़ी थी। एक हाथ से अपनी चूत और दूसरे हाथ से वो वीरू का सिर सहला रही थी. दरवाजा खोलते ही मैंने बिना देखे कहा- अंजू, काम के लिए कल आना, आज मुझे जल्दी जाना है.

मैं अब उसके बिस्तर पर बैठा था और वो नीचे घुटनों पर बैठ कर मेरे पैर पकड़ कर ‘प्लीज प्लीज …’ करके मुझे मनाने की कोशिश कर रहा था. वह हवाई जहाज से मुंबई जा रहे थे।वहां से लौट कर आई और अपनी कार पार्क कर रही थी। तभी मुझे अरविन्द अंकल दिखाई पड़े।मैंने आवाज़ लगाई- अंकल जी!वे पीछे मुड़े, मुझे देखा और बोले- अरे तुम हुमा … कैसी हो?मैंने कहा- अंकल मैं अच्छी हूँ, आप कैसे हैं?वे बोले- मैं मस्त हूँ. फिर मैं उससे अलग हुआ और नीचे झुककर उसके छोटे छोटे गुलाबी निप्पल्स को अपने मुँह में भर लिया.

सेक्सी बीएफ देखना है हिंदी में मैंने अपने हाथों से उसकी ब्रा की पट्टियों को नीचे सरकाया और ब्रा को कमर तक कर दिया. तभी आपका हाथ इतना चल रहा है वरना सबसे पहले इसे ही हटा देती!मैं- मतलब तुम्हें कोई ऐतराज नहीं है।अंगिका- नहीं, पर आज की रात मेरी होनी चाहिए।मैं- ठीक है.

पावरफुल सेक्स वीडियो

अन्दर जाकर मैं सोफे पर बैठ गया और वो अन्दर के कमरे में जाकर कपड़े बदलने लगी. जब उसने मेरा नाम लिया, तब मुझे पता चला कि उसने उर्वशी को कॉल किया है. मुझ पर नजर पड़ते ही लड़की ने अपने दोनों हाथों को मुँह पर रख कर अपनी चीख रोकी.

उसे भी ताव आ गया, वो बोला- ले साली बरखा बुरचोदी भाभी … आज मैं तेरी चूत फाड़ डालूँगा … चोद डालूँगा तेरी बुर … तेरी मां का भोसड़ा साली बुरचोदी ले. पहले तो वो डरने लगी, वो बोली- क्या पीछे की लोगे?मैंने कहा- हां तभी तो मजा आएगा. सेक्सी वीडियो नंगी तस्वीरमैंने उससे पूछा नहीं कभी, पर दिखता था कि वो दिमाग से ज्यादा स्मार्ट नहीं थी, भोली मासूम थी.

पेशे से मैं एक कॉल बॉय हूँ, मैं कॉलेज गर्ल, हाउस वाइफ, भाभियों और आंटियों के जिस्म की प्यास बुझाने का काम करता हूँ.

कभी कचरा उठाने के बहाने तो कभी कुछ और बहाने से … मगर वो अपने जवान बदन को वीरू को दिखाकर उसका खून गर्म करने में जुटी हुई थी. फिर ऊपर गई और उधर का काम देख कर जब मैं वापस निकलने लगी तो मैंने देखा कि एक बलिष्ठ सा मजदूर बाहर लुंगी पहनकर नहा रहा था.

उसने मेरे बालों को पीछे से पकड़ कर मुझे कुतिया की तरह धकाधक चोदना चालू कर दिया. वो हाथ वहां ले जाने के लिए मना कर रही थी फिर भी मैं हाथ अन्दर ले गया और उसकी चूत में रख दिया. मेरे मन में इसलिए लड्डू फूट रहे थे कि आज पहली बार किसी दूसरी औरत की चूत मिलने वाली थी.

सोनाली मेरा मुरझाया पूरा लंड बड़े प्यार से अपने मुँह में लेकर चूस रही थी.

अब उन दोनों ने मिलकर मुझे बाजू में किया और मोनिका को बीच में लेकर किस करने लगे और उसकी गांड पर थप्पड़ मारने लगे. मैं अपने लंड को सहलाते हुए भाभी की जवानी का रस पीने की ही सोच रहा था. उसकी हाइट लगभग 5 फुट 7 इंच, ब्राउन त्वचा का बदन, पतली कमर पर बंधी साड़ी के ऊपर से मुझे निहारती हुई लम्बी और गहरी नाभि.

सेक्सी वीडियो खेलने वालेदोस्तो मैं नैना, आपको बता रही थी कि मेरे और ससुर जी के बीच एक दूसरे को गंदी निगाहों से देखने का खेल काफी समय से चल रहा था. फिर उसने लंड मुँह से बाहर निकाला और बोली- कैसा लगा प्रकाश?मैंने जस्सी से पूछा- यार, ये सब कहां से सीखा?वो बोली- मुझे बहुत दिनों से तेरे साथ सेक्स करने की इच्छा थी, तो मैं पोर्न साईट देखती थी.

चुदाइ कहानि

हॉट स्टूडेंट पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि मेरी क्लासमेट मुझे अपने घर ले गयी. हम दोनों अब भी मिलते हैं और मौका देख कर प्यार भरी चुदाई कर लेते हैं. अब मैं रुक गया और उसका चुम्बन लेते हुए उसके लटके लंड को सहलाने लगा.

थोड़ी देर में हस्बैंड को नशा होने लगा और मुझे भी थोड़ी थोड़ी मस्ती चढ़ने लगी. मैंने अपने देवर के सामने अपनी हरकतें फिर से शुरू कर दीं, लेकिन मेरी किसी भी हरकत का उस पर कोई असर नहीं पड़ रहा था. मैंने अपने एक हाथ से उसके निप्पल को छूते हुए अञ्जलि से कहा- वाव, तुम्हारे बूब्स कितने शानदार और सख्त हैं ….

ऐसा सुनने पर वो फकीर भड़क गया और बोला- नहीं नहीं, अपने शौहर से इस बारे में कुछ मत कहना, नहीं तो तुम्हारा शौहर नाराज हो जाएगा. पर दिन में मुखिया जी का नौकर घर गया और बोला– चंदा, तेरे बेटे को मुखिया जी ने बुलाया है।माँ ने पूछा– मुखिया को मेरे बेटे से क्या काम है?तो वो नौकर बोला- अब ये तो मुखिया जी ही जाने!माँ ने मुझसे पूछा- बेटा, तुझे पता है क्या कि मुखिया जी ने तुझे क्यों बुलाया है?मुझे पता तो था पर मैंने माँ को नहीं बताया कि क्या बात है. अब बारी थी उसकी दुल्हनिया से मिलने की … उसकी बीवी का नाम स्नेहा था.

लड़का मुझे एक ही नज़र में भा गया था लेकिन मैं उससे कुछ बोली नहीं थी. रियान ने हम दोनों में परिचय करवाया और सना को बताया कि कैसे नार्थ इंडियन के इन अफसर ने बिना जान पहचान के मेरी हेल्प की.

कपड़े पहन कर उसने मुझे फिर से अपनी गोद में उठाया और मुझे चूमते हुए घर के दरवाज़े तक ले गया.

दोस्तो, मेरे दोस्त की बीवी मेरे लंड से चुदने के लिए मेरा इन्तजार कर रही थी. हिंदी सेक्सी खुला सेक्सीमैं तो कभी कभी ऑफिस में ही चुदवा लेती हूँ, कभी अपने घर में ही लोगों को बुलाकर चुदवा लेती हूँ. वीडियो सेक्सी मोटा लंडमैंने उसकी गर्दन के पास अपनी गर्म सांसें छोड़ते हुए कहा- ज्यादा दर्द हो रहा है क्या?वो भी कुछ भरी हुई आवाज में बोली- नहीं … पर हो रहा है और तुम्हारे हाथ से काफी अच्छा लग रहा है. हम तीनों अब जब भी मिलते हैं, तो मैं सबसे पहले दीदी को चोदता हूँ और नीरजा मेरे लंड को चूसती है.

वो अपनी गर्दन झुका कर मेरे सामने किसी गुलाम की तरह बैठा रहा, पर उसके मुँह से एक शब्द भी नहीं निकला.

वासना की Xx हिंदी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मुझे एक के बाद एक एक लड़की मिलती रही और मेरी वासना पूर्ण निगाहें उन लड़कियों के जिस्म को कुरेदती रही. अब मैं शादी के बाद हर दूसरे दिन किसी पराए मर्द से बिंदास चुदवाती हूँ. अब वो बार बार कह रही थी कि जल्दी से मेरी चूत की आग बुझा दो, मुझे जल्दी से चोद दो.

मैंने दीदी की गांड पर हाथ डाला और देखा तो दीदी ने पेंटी नहीं पहनी थी. हमारे स्कूल के बच्चों ने राज्य स्तर पर प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया था जिसके लिए विद्यालय को सम्मानित करने के लिए गुरुग्राम बुलाया गया था. धीरे धीरे भाभी मेरे ऊपर चढ़ती गईं और मैं उनके नीचे दबता ही चला जा रहा था.

chandni देखें

दरवाजा खुलते ही एक बीस इक्कीस साल की जवान लड़की ने मेरे लौड़े में आग लगा दी. मैं दोस्त के बेटे के जन्मदिन पर उसके घर गया तो वहां उसकी साली मुझे अच्छी लगी. फिर मैंने उसे दीवार से सटा दिया और उसका चेहरा दीवार से चिपका कर हार्ड सेक्स शुरू कर दिया.

कुछ देर बाद ससुर जी मेरे ब्लाउज के बटन खोलने लगे, लेकिन मेरे दूध के कसाव के कारण बटन खुल नहीं रहा था.

अब भाभी की चूत एकदम साफ़ दिख रही थी और उसमें मास्टर का लंड अन्दर बाहर होता हुआ एकदम साफ़ दिख रहा था.

मैंने अपनी जीभ बाहर निकाल दी और अपने होंठ उसकी चूत के मुँह पर लगाकर उसका योनिरस पीने लगा. मैं सावधानी से वासना की आग में जल रही चेतना को दोनों बांहों में भर सहलाने लगा. सेक्सी नागिन पिक्चरमैं सोचने लगा कि दोनों कितने खुश रहते थे और ऐसा क्या हुआ कि उनका तलाक हो गया.

बड़ी बहन के आगे सुमंत और महंत बहुत डरते थे क्योंकि उनकी बहुत गांड फटती थी. उसने लंड को देखा और आश्चर्यचकित रह गयी, वो हाथ में लंड लेकर टटोलने लगी. इसी तरह वह बात बात में गालों को छूता, हाथों को छूता और हाथों को चूम लेता.

तभी पीछे से आवाज आयी- अरे सुनिए मेमसाब!मैं जैसे ही पीछे मुड़ी तो देखा वह हमारे दरवाज़े के अन्दर पहुंच चुका था और उसने अपनी धोती जानबूझ कर गिरा दी. उसने मेरे पास आकर मेरे लंड को थाम लिया और बोली- तुम्हारा लंड ही मेरी चूत की गहराई को नाप सकता है और मेरे अन्दर की आग को शांत कर सकता है.

उसे भयंकर वाला दर्द हो रहा था और वो जोर जोर ने गालियां बकने लगी- आंह मादरचोद … लंड निकाल हरामी … साले मेरी गांड का छेद फाड़ दिया … आंह बहुत दर्द हो रहा है कुत्ते … आंह निकाल भोसड़ी के!मगर मैंने उसकी गांड में से लंड नहीं निकाला.

दूध वाले ने मेरी गांड मारी और लंड का पानी मेरी गांड में ही छोड़ दिया. जैसे ही मेरी चूत पर उसका लंड का स्पर्श हुआ, मैं एकदम से सिहर सी गयी क्योंकि दो महीने से मेरी चुदाई नहीं हुई थी. मां दूर हट कर बात करने लगी और उसने पापा को खाने के लिए घर भेज दिया.

सेक्सी वीडियो कुत्ता कुतिया की रेखा ने मेरे गले में अपने दोनों हाथ डालकर प्यार से कहा- क्या और कोई इंतजार कर रहा है तुम्हारा? या मां डांटेगी कि इतना लेट क्यों हो गए?मैंने कहा- ऐसी कोई बात नहीं रेखा. मैंने पूछा- दी आपको और क्या क्या मालूम था?वो लंड का मजा लेती हुई बोली- तू रात को भी मेरे मम्मे दबाया करता था.

पहले तो मम्मी ने मना किया, फिर नीचे हाथ बढ़ा कर उन्होंने पापा की चड्डी उतार दी और खुद नीचे मुँह ले गईं. उसके शरीर में तुमको उसका कौन सा अंग सबसे ज्यादा अच्छा लगता है और तुम्हारे शौहर को तुम्हारे शरीर की कौन सी बात सबसे अच्छी लगती है. हॉट सेक्सी भाभी चिल्लाने लगीं, मैंने उनके मुँह को हाथ से दबाया और अपने लंड का सारा पानी उनकी चूत में भर दिया.

शिल्पी राज के सेक्सी

मैं उसके होंठों को चूसने लगा और सोनाली अपने दोनों हाथों से मेरी गांड सहलाती हुई सैटिंग बनाने लगी. मकान मालिक बाहर जॉब करते हैं और किसी कारणवश अपनी पत्नी को साथ नहीं ले जा सकते थे. फिर जैसे ही वो नॉर्मल सी हुई, मैंने धीरे धीरे धक्के लगाना शुरू कर दिया.

तभी मम्मी ने दोनों हाथ से सिर में लगा तकिया पकड़ लिया और पापा लंड को हिलाने लगे. मैंने अपना एक हाथ उसके गले में डाला और अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए.

मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया, वह हटाने लगा तो मैंने अपने हाथ से उसका हाथ अपने लंड पर दबा दिया.

मैंने अचानक गाड़ी रोक कर उसकी तरफ देखा, वो मेरे गले लग गई और हमारे बीच पहला किस हो गया. कुछ ही देर में मैंने उसकी चुत में अपनी दो उंगलियों को एक साथ डाल दिया. चंडीगढ़ पढ़ाई के लिए आया तो मकान मालकिन से दोस्ती के बाद सेक्स का मजा मिला मुझे!जब मैं करीब बीस साल का था, उस वक्त मैं बारहवीं उत्तीर्ण करके घर से बाहर रहने के लिए चला गया.

मैंने धक्का देना बंद कर दिया और उसे सांत्वना देने लगा, उसके दूध चूसने लगा. अदिति मादक सिसकारियां ले रही थी, उसकी गर्म सांसें मेरे कान और गाल को गर्म कर रही थीं. चेतना की बुर कट और छिलकर बुरी तरह घायल हो गई थी लेकिन जिंदगी में पहली बार चुद कर वो बिल्कुल खुश और संतुष्ट लग रही थी.

वो बिना कुछ बोले उठी और अपनी गांड हिलाती हुई छत की रेलिंग पकड़ कर घोड़ी बन गई.

सेक्सी बीएफ देखना है हिंदी में: मैंने भी उनकी बात पर हाजिर जवाब दिखाते हुए कहा- मैडम आप भी 40 की नहीं लगती हैं. मैंने उससे पूछा- क्या तुम्हारा पति तुम्हें नहीं चोदता है?वो बोली- उसकी तोंद बड़ी है न तो वो मुझे सही से मजा नहीं दे पाता है.

अब आगे हॉट देसी बुर सेक्स कहानी:चेतना उखड़ी सांसों से अपने बदन को शैली मामी के बदन से रगड़ रही थी. वो महिला ज्यादा गोरी तो नहीं थी, हल्का सांवला सा रंग था लेकिन बहुत गदरायी हुई और सेक्सी औरत थी. मेरे मामा के पड़ोस में ही उनकी सहेली मिहिका मामी (काल्पनिक नाम) रहती हैं, वो मेरी सगी मामी नहीं हैं.

मेरी मौसी के बेटे बेटी हमारे घर आये तो ममा ने उन दोनों को आपस में किस करते देख लिया.

मैंने उसके लंड को भी चूमते हुए फोन पर अपने पति से बोली- हां जानू, मैं कम ही पियूंगी, डांट वरी. मैंने कहा- भाभी, मैंने तो पहली बार किसी की चूत चुदाई का सुख लिया है. थोड़ा सा थूक अपने लौड़े के सुपारे में लगाया और चुत में एक धक्का मारा, जिससे मेरा आधा लंड भाभी के चूत में चला गया.