बीएफ सेक्सी देहाती वीडियो में

छवि स्रोत,लौकी का तेल online

तस्वीर का शीर्षक ,

साली शायरी: बीएफ सेक्सी देहाती वीडियो में, चाची के बाद अब तक मैं 2 कुंवारी लड़कियों और दो शादीशुदा महिलाओं के साथ सेक्स कर चुका हूँ.

सेक्सी वीडियो ऑनलाइन दिखाएं

फिर उन्होंने मेरे ऊपर आकर अपना लंड मेरी चूत पर सेट किया और एक जोरदार धक्का लगाया जिससे उनका आधा लंड मेरी चूत में घुस गया. सेक्सी इंडियन मराठी व्हिडिओमैंने भी अपना मुँह खोलकर उसका स्वागत किया और उसे होंठों से दबाकर जोरों से चूसने लगा‌ जिससे सुलेखा भाभी के मुँह का मीठा‌ मीठा व चिकना‌ सा स्वाद अब‌ मेरे मुँह में घुल गया.

अगर कोई मुझे चुदाई के दौरान मजा बढ़ाने वाली सलाह भी देना चाहता है, तो वो भी लिख दीजिये. भाभी और देवर सेक्सी पिक्चरअब तक मैंने जितनी भी औरतों के साथ सेक्स किया है, रुबीना के जिस्म की बात सबसे अलग थी.

मैं- अरे मैडम आप यहां शिफ्ट हुई हैं … यह तो मेरे बगल का ही क्वॉर्टर है, चलिए बैठिए दोनों को स्कूल ही जाना है.बीएफ सेक्सी देहाती वीडियो में: जबकि दो साल से चुदाई न होने पर मैंने तो यही सोच लिया था कि अब मेरी चुदाई कभी नहीं होगी, पर इतने अच्छे लौड़े से चुद कर तो मुझे मानो जन्नत मिल गई थी.

बिना देरी किये उसने मेरी चड्डी में हाथ डाला और मेरी चुत के ऊपर अपना हाथ फेरने लगी.मैं सभी लेडीज से कहना चाहता हूँ कि वे अपनी मनोकामनाओं को अपने अंदर दबाकर न रखें बल्कि जिंदगी में मस्ती करें.

काजल राघवानी का फोटो - बीएफ सेक्सी देहाती वीडियो में

मैं दर्द से तड़पती रही और करीब तीन चार मिनट बाद पता नहीं क्या हुआ कि मेरा पूरा दर्द गायब हो गया और मैं अपने आप अपनी कमर उठा कर चुदवाने लगी.पर मेरा मूड बहुत अलग है इसलिए बहुत सफाई देती भी तो कैसे देती कि मैं रंडी नहीं हूं, ना धंधे वाली हूं, आज तक मैं यह सब पैसे के लिए नहीं किया था, ना कभी ऐसे बुकिंग जैसे कह कर कोई ने मुझे चुदाई के लिए कहा था.

हम दोनों की चुदाई से और हम दोनों के लंड चूत के पानी से बिस्तर पूरा गीला हो गया था. बीएफ सेक्सी देहाती वीडियो में धीरे-धीरे मैंने भाभी को बेड पर लेटा लिया और फिर उसकी साड़ी को खोलना शुरू कर दिया.

नेहा के होंठों और गालों पर अब भी मेरा वीर्य लगा हुआ था और उसके मुँह से भी मेरे वीर्य की महक आ रही थी.

बीएफ सेक्सी देहाती वीडियो में?

उसकी मॉम नेहा ने मेरी मॉम के जूस में पहले ही सेक्स बढ़ाने वाली दवा को डाल दिया था और वो भी डबल डोज़ डाला था. उस हिसाब से थोड़ा मैंने आने के लिए हां कहा था, पर पता नहीं राज अंकल ने इन लोगों को क्या बोला था. उसके चूचे तो कमाल के तने हुए थे बिल्कुल रसीले आमों की सर उठाए … मानो कह रहे हों कि आओ जल्दी से मुँह में भर के चूस लो.

अरुणा घोड़ी बन गई अैर अंकल ने पीछे से अपना लौड़ा उसकी चूत में एक बार में ही घुसा दिया. मैंने अपना लौड़ा तो पहले ही खोल कर रखा था, मुझे अपने लौड़े के ऊपर उसका हाथ महसूस हुआ. उसकी टी-शर्ट का गला तो काफी खुला था ही, उसने ब्रा भी नहीं पहनी हुई थी ऊपर से उसने आगे झुक कर ऐसी अदा के साथ कहा कि मुझे उसकी चूचियों की गहराई अन्दर तक दिखाई दे गयी.

मैंने चाची के चूतड़ों को पकड़ कर लंड को ठेला, चाची ने भी नीचे से जोर लगा दिया. एकता ने अपने मुँह में से लंड निकाल के हवा में झूलती प्रमिला की तरफ आगे बढ़ा दिया. मेरी एक बहन की शादी दिल्ली के बवाना के पास के गांव में हुई है तो मैं हर दो तीन महीनों में वहां जाता रहता हूँ.

इसके बाद मैंने अपना लंड उसकी चुत के मुँह पर लगाया और ज़ोर का धक्का मारा, तो सिर्फ़ सुपारा ही अन्दर गया. सर ने सिसक कर अपने लंड को एक दो बार मेरे खुले होंठों पर गोल गोल घुमाया और फिर अपना काले टमाटर जैसा सुपारा मेरे मुँह में ठूंस कर बाहर निकालकर कहा- कैसा लगा?सर ने पूछा।मैंने सहम कर पिंकी की ओर देखा.

सबीना आंटी जब बुरके में चलती थीं तो उनकी मोटी मजबूत गांड मुझे आमंत्रित करती थी कि विक्रम आ जा.

जब मैं उसकी गांड के छेद को चाटता हूँ तो उसका छेद कभी फैल जाता है और कभी सिकुड़ जाता है.

मैंने उसे पास में बुला कर उसे सब बता दिया कि कल मैंने उसे किस तरह से देखा. जब उन्होंने जबरदस्ती मेरी चूत को चोदा था तो मैंने सोच लिया था कि इस चूतिया के साथ शादी करके मेरे घरवालों ने मेरी जिंदगी ही बर्बाद कर दी. मेरे ऐसे ऊपर जाना, बस ज़ीनत को बताना था कि मैं ऊपर जा रहा हूँ, तुम भी वहीं आ जाओ.

मालिनी मेरे पास आकर खड़ी हो गयी, मालिनी को देखकर आंटी बोलीं- लगता है पूरी रात बहुत मजा दिया है, बहू को अपने वश में कर लिया है. सरोज चाची मेरी कमर का सहारा लेकर बाइक से उतरीं और मुस्कुराते हुए पार्लर में चली गईं. कुछ ही देर की कोशिशों के बाद मेरे प्यारे पति का पूरा लंड मेरी गांड में घुस गया था.

फिर मैं उठी और दरवाजा बन्द कर लिया अन्दर से और उसे अपने सीने से लगा लिया.

गांव में नहीं सोया?बातचीत तो सब गयी भाड़ में लेकिन दिमाग की माँ बहन हो चुकी थी. मैं थोड़ा मजाक वाला मूड बना कर बोला- तो मैं आ जाऊं क्या?भाभी ने भी इठलाते हुए कहा- आ जा. ये सब खुले आम चलने लगा था, हद तो तब हुई … जब एक दिन रविवार का दिन था, दोपहर का वक्त था.

”और भी थोड़ी नार्मल सी बात हुई और उसने फोन रख दिया। मैं बहुत खुश था क्यूंकि बात शुरू तो हो गई थी।फिर हमारी लगभग रोज ही बात होने लगी थी. उस पर ताला लगा हुआ था, उसने ताला खोला और मुझे जल्दी से अन्दर आने को कहा. दिन भर घर के बाहर ही नहीं निकली और जब रात को टीवी देख रही थी, तभी दरवाजे की घंटी बजी.

फिर उसने सांस लेने के लिए मेरे होंठ छोड़े, तो मैंने फौरन उसकी एक चूची को चूसना शुरू कर दिया.

अब तो मुझे संजय के लंड से मजा ही नहीं मिलता तुम्हारा लंड मुझे बड़ी तसल्ली देता है. तभी दरवाजे पर कुछ आहट हुए और उधर से धीरे से आवाज आई- मालिकऽऽऽ मैं रमेश, दरवाजा खोलिए मुझे देखना है.

बीएफ सेक्सी देहाती वीडियो में उसने मुझे बताया कि मेरी बहन का एक ब्वॉयफ्रेंड तो हमारे घर भी आता है और मेरी बहन मेरे घर वालों से बोलती है कि वो उसका दोस्त है. जब मैं उसके घर पर पहुंचा तो वहाँ पर कोई नहीं था और वह घर पर बिल्कुल अकेली थी.

बीएफ सेक्सी देहाती वीडियो में पिंकी अपने हाथ को वापस खींचने की कोशिश करते हुए बगैर उनकी तरफ देखे बोली- जाने दो ना सर … प्लीज़ … !”सर ने मेरा हाथ अपने दूसरे हाथ में पकड़ा और मुझे अपने लंड के नीचे लटक रहे ‘गोले’ पकड़ा दिए … मैंने हल्का सा विरोध भी नहीं किया और उनके गोले अपनी उंगलियों से सहलाने लगी. मैं उनके पास जाकर बैठ गया और उनके गोरे जिस्म को हवस भरी निगाहों से देखने लगा.

मैंने सोनू को अपनी टांगें चौड़ी करने के लिए कहा तो उसने टांगें चौड़ी कीं और मैंने नीचे खड़े-खड़े उसकी चूत में लंड को अड़ा दिया और पीछे से उसके चूतड़ों के नीचे से दोनों पटों को सहारा देकर उसे अपने लंड पर टांग लिया.

सेक्सी हिंदी फिल्म भेजिए

मेरी सहेलियां जब मुझसे पूछती थी कि ‘कविता तेरी चुदाई कैसी चल रही है’ तो मैं उदास हो जाती थी. हमारा हॉस्टल करीब 16 किलोमीटर दूर था वहाँ से, तो हम हाईवे से आ रहे थे. उसकी 36 इंच के चुचियां पूरी टाईट हो गयी थीं और निप्पल खड़े हो गए थे.

तो आंटी बोलीं- कितना फीस लोगे?मैंने मजाक में बोल दिया- आपसे कैसी फीस?तो आंटी मुस्कुराते हुए बोलीं- मुझसे क्यों नहीं?मैंने बात टालते हुए बोल दिया- आप पड़ोसन जो ठहरीं. मैं थोड़ा उसकी तरफ झुका और अपने दोनों हाथों से उसके ब्लाउज के हुक्स खोल दिए. सन्डे को हमारा चुदाई का प्लान तय हुआ और मैं गुड़िया को अपने घर ले आया.

दोस्तो, मेरी सेक्सी कहानी के पिछले भागबीमारी ने दिलायी प्यासी भाभी की चूत-1में आपने पढ़ा था कि मैं काम के सिलसिले में हैदराबाद गया था, वहां एक रात अचानक मेरी तबीयत खराब हो गयी.

और उसको उल्टा करके उसके चूतड़ों पे हाथ फेरते हुए जोर जोर से मारने लगे, इस बार मुझे थोड़ा गुस्सा आ गया, पर मैंने देखा मेरी बीवी ने आंखें बंद कर ली हैं और वो मजे ले रही है. पुणे छोड़ते ही सारे जेंट्स बस के पिछले हिस्से में आ गये और अपना ड्रिंक का प्रोग्राम शुरू कर दिया. लेकिन मेरी मंशा थी कि आज के दिन मैं तुमको पूर्ण रूप से सेक्स से अवगत करा दूँ.

वह क्या बोलेंगे तू इंजॉयमेंट कर बस … यह जो अपनी लाइन में उधर विंडोज तरफ बैठे हैं, सबसे बड़ी मूछें रखी हैं. जीजा जी ने धीरे धीरे करके मेरी चूत तक अपना हाथ रख दिया और वे चूत के ऊपर अपना हाथ फेरने लगे. हमारी चुदाई के बाद जब हमने वापस अन्दर देखा तो हम तो फिर से उत्तेजित होने ही वाले थे क्योंकि अन्दर मॉम अपने पेट के बल लेटी थीं और नामित उनकी दोनों टांगें फैला कर अपनी जीभ से उनकी गांड के छेद को चाट रहा था.

उसने कहा- अरे यार यह क्या किया … मेरा मुँह खराब कर दिया … इधर उधर ही छोड़ देते. मैं- अच्छा, फिर तुम क्या करती हो?सरिता- जाने दो, मुझे नहीं बोलना, तुम खुद ही समझ लो.

मैंने पूछा- क्या हुआ? तुम भी शराब पीते हो क्या?वो- नहीं नहीं … सर वो मैं सोच रहा था कि आप पीकर घर वापस कैसे जाएंगे, सो मैं रुक गया. मुझे जाने क्या सूझी, सोचा कि कंडोम लेकर बस में मुठ मारूँगा और कंडोम फेंक दूंगा. फिर मैंने कहा- मेरी दूसरी शर्त यह है कि पैसा तेरे पास ही रहता है, जब मुझे जितना पैसा चाहिए, तुम दोगी.

अब मुझे बहुत तकलीफ हो रही थी क्योंकि मैं अरुणा से बहुत प्रेम करता था.

मैंने सोनू को खींचकर बेड के किनारे पर किया और उसकी दोनों टांगों को अपने कंधों पर रखकर उसकी चूत में लंड डाला. कुछ बाद मैंने पाली बदल ली और इस बार एकता को लंड और प्रमिला की तरफ गांड कर दी. वो बहुत अलग ही तरीके से मेरे होंठों में अपनी जीभ को धीरे धीरे ऐसे चला रहा था कि मेरी हालत उसकी हरकत से बिगड़ रही थी.

5 इंच के लगभग होगी।वर्तमान में मैं एक अध्यापक हूँ लेकिन आज से 7 साल पहले दिल्ली के एक बहुत बड़े अस्पताल में बिलिंग विभाग में काम करता था। यह घटना तभी की है और यह मेरे जीवन की पहली सेक्सुअल बहुत ही प्यारी घटना थी. मैंने भी अब अपनी जीभ को पूरी तरह से बाहर निकाल कर उसकी चूत की दरारों पर ऊपर से नीचे की तरफ सहलाया, जिससे प्रिया का पूरा बदन सिहर गया और उसने ‘इइईईईई … श्श्श्शशश … महेश्श्श्श …’ जोर से सिसकते हुए कहा और मेरे बालों को खींचने लगी.

इसके बाद सन्नी ने मेरी दोनों टांगें उठा कर अपना लंड मेरी गांड में पेल दिया. यह कहते हुए अंकल मेरे बाल पकड़कर सीधे अपने लंड तरफ मेरा मुँह करने लगे. अब ये सब देखकर मुझसे रहा न गया और मैंने मीनाक्षी के मुँह के पास जाकर अपना कच्छा नीचे कर दिया.

ब्लू फिल्म सेक्सी पिक्चर दिखाएं

कुछ देर बाद अजय ने अपने मस्त लौड़े से मेरी गांड को चोदना शुरू कर दिया.

फिर मैंने उससे बात की और उसने 25 दिसम्बर की शाम का वक्त फिक्स कर दिया. मैं- भाभी, पैसा भिजवाया क्या बिरजू भाई ने?रेखा- नहीं भिजवाए हैं … कल के लिए बोल रहे थे. तो आंटी मान गईं और बोलीं- आप किसी को भेज दो, मुझसे भरा सिलिंडर नहीं उठाया जाएगा.

राहुल ने भी अपने हाथों से मेरे चूतड़ों को पकड़ लिया था। फिर मैं उनके ऊपर से उठी और एक गिलास में कोल्ड ड्रिंक डाली और राहुल को देने लगी. मैंने कहा- आप मजाक तो नहीं कर रही हो?तो बोली- व्हाट्सएप्प पर वीडियो कॉल करके देख लो. लुधियाना सेक्सी पिक्चरभाभी- क्या यह ठीक होगा?ये बात सुनके मुझे ग्रीन सिग्नल मिल गया कि ये खुद मुझे चाहती हैं, तो मैंने जिद सी करते हुए बोला- भाभी मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ.

नाईटी में से उनके चुचे साफ़ दिखाई दे रहे थे, उन्होंने अपनी जुल्फें खुली छोड़ रखीं थी. सोनू की चूत से गर्म-गर्म वीर्य निकलता हुआ सोनू की गांड को भिगोता हुआ नीचे गिरने लगा.

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। मैंने भी अपना हाथ उसके बोबों पर रख दिया और मसलने लगा. इधर नीना कॉफी सिप करने लगी तो प्रशांत आज की चुदाई का रास्ता साफ करने में जुट गया. इसे मेरे जैसे लोग यानि काल गर्ल, काल बॉय, जिगोलो, गांडू, शौक़ीन आंटी, अंकल, भाभियाँ ही जान सकती हैं.

थोड़ी देर बात एक बूढ़ा और एक औरत जिसके साथ नवजात बच्चा था, वहाँ आए. यह सुन कर मालती ने कहा- अब मतलब तुझे लौड़े का मज़ा मिलना शुरू हो गया है. जैसे जैसे मेरा हाथ ऊपर की तरफ बढ़ रहा था, प्रिया के पैर अपने आप ही अलग होने लगे.

मेरी बहन के मुँह से एक जोर की चीख निकल गई … तो मैंने मुँह पर उंगली रख के इशारा किया कि चुप रह … कोई जाग जाएगा.

मैंने जैसे ही जोर से काट कर चूचे को चूसा, उसने ‘आआआह …’ भरी और अपनी चुत एकदम टाइट कर ली जैसे वो मेरे लंड को निचोड़ ही लेगी. आप कमेंट्स के द्वारा ज़रूर बताना कि आपको मेरी यह डर्टी सेक्स वाली गंदी चुदाई की कहानी कैसी लगी.

मेरे एक दोस्त वहां के लोकल दलाल का मोबाइल नम्बर दिया, मैंने उसे कॉल किया और उससे मिलने गया. मैं बोली- राजा जी जो करना है, ऐसे ही कर लो, पूरा मत उतारिए … नहीं तो बाकी के लोग क्या सोचेंगे. मैंने पैन्ट उतार कर फर्श पर फेंक दी और वंदना पर टूट पड़ा, उसको किस करने लगा.

मैंने सोनू से कहा- यदि फ्रेंडशिप करनी हो तो कल शाम को अपनी मम्मी से पूछ कर पढ़ाई के बहाने ऊपर मेरे कमरे में आ जाना. मैंने सोनू से उसके घर के बारे में पूछा, उसकी मम्मी के बारे में पूछा और उससे बहुत ही फ्रेंडली तरीके से पेश आता रहा. चाची ने फिर मुझसे मिन्नत की- रोहन बेटा, अब तो चोद दे मुझे … मैं बहुत दिनों से प्यासी हूँ।इतना तड़पाने के बाद मैंने चाची को अब और ज्यादा परेशान करना ठीक नहीं समझा.

बीएफ सेक्सी देहाती वीडियो में उनके होंठ रखते ही जाने कैसी गर्मी मुझे होने लगी और उनकी सांसें मेरी सांसों से गरम-गरम अन्दर जाने लगी. मैंने सोनू से कहा- सोनू हम अपनी फ्रेंडशिप की शुरुआत कैसे करें?सोनू ने कहा- मुझे नहीं पता, आप ही बताओ?मैंने कहा- ठीक है, पहले हाथ मिलाओ और फिर खड़ी हो जाओ.

पुणे के सेक्सी वीडियो

वो मेरे सर पर हाथ फेरते हुए मुझे उठा रही थी, तो मैंने उसको अपने ऊपर खींच लिया. अब वो हल्की गर्म सांसों के साथ सिसकारियां लेते हुए पूरी उत्तेज़ना में आ गई थी. वो बोली- वो घन्टी मेमसाब के फोन की थी कि वो 15 मिनट में पहुँच जाएंगी.

फिर मैंने अपने दोनों हाथ पीछे से आगे को लिए और उसके मम्मों को छूना चालू कर दिया. उसको शादी में जाने तो नहीं मिला, लेकिन उसी वजह से शादी वाले दिन खाली घर में उसी के बिस्तर पर उसकी धुआंधार चुदाई का मजा हम दोनों ने दो बार उठाया. अमेरिका की हॉट सेक्सी वीडियोफिर थोड़ी देर के यूं ही रगड़ने और सहलाने के कार्यक्रम के बाद इंटरवल हो गया.

तो क्या हुआ, मैंने भी तो बताया था कि तुम भी उसकी बहन ही हो, नेहा‌ नहीं तो तुम ही सही.

इधर मैं अनवर का पूरा लौड़ा अपने मुँह भरने की कोशिश कर रही थी, पर जा ही नहीं रहा था. फिर मैंने हाथ मम्मों से हटा कर अपना लंड पैन्ट के अन्दर किया और अपार्टमेंट के गेट के अन्दर गए.

वो रात को अनिल को देखने के लिए आती और कहती कि आपके लिए चाय बना कर लाती हूँ. मानसी- चलो।सुशीला- नहीं … हम कमरे में चलते हैं।मैं- चिंता मत करो भाभी, मेरे होते हुए कोई तकलीफ नहीं … यहाँ एक मेला लगा है, वहाँ घूम कर आते हैं।सुशीला कुछ नहीं बोल पाई।हम सब वहाँ गए। मैंने दोनों को दो आइसक्रीम खरीद कर दी. शायद अभी अभी मैं नेहा के साथ जो खेल‌ खेलकर आ रहा हूँ, ये उसका असर था, प्रिया की बात ना मानकर मैं नेहा पास चला गया था.

जाते वक़्त चाची की आंखों में एक अजीब सी उदासी और खिंचाव महसूस हो रहा था, जैसे उन्हें मेरा जाना ठीक नहीं लग रहा हो.

मैंने पूछा- अब चूत कैसी है?उन्होंने गांड उठाते हुए कहा- तुम खुद देख लो … तुम्हारे लंड के लिए तड़प रही है. उसने मेरी योनि को एक बार नजर भरके देखा, फिर अपना मुँह मेरी योनि से चिपका दिया. अन्दर दादाजी शांति से सोये हुए थे और सोनल उनके बेड के पास स्टूल पर बैठी हुई थी.

ब्लू सेक्सी वीडियो ब्लू ब्लूउन्होंने मुझे चूम कर याद दिलाते हुए कहा- क्या तुमको मुझ पर भरोसा नहीं है. सबसे पहले तो जो पाठक मुझे नहीं जानते, उन्हें बता दूं कि मैं दिल्ली की रहने वाली हूँ और एकदम जबरदस्त माल हूँ.

एचडी ब्लू सेक्सी मूवी

मैं उसको चूमना छोड़ कर सीधा हुआ और उसकी आंखों में देखा, तो उसने आंखों के इशारे से पूछा- अब क्या?मैं बोला- नैना, मैं तुम्हारे बूब्स देखना चाहता हूँ. वो मुझे पसंद करता था और हम दोनों ने कैसे एक दूसरे के साथ सम्बन्ध बनाए और कैसे एक दूसरे के जिस्म को मजा दिए. सुनीता चाची का फिगर बढ़िया था, वे थोड़ी साँवली थीं, पर सेक्स की गुड़िया सी लगती थीं.

तभी चाची का फोन आया, उन्होंने बोला- तू श्वेता के यहाँ खाना खा लेना, मैं सुबह आऊँगी. मैंने भी अब अपनी जीभ को पूरी तरह से बाहर निकाल कर उसकी चूत की दरारों पर ऊपर से नीचे की तरफ सहलाया, जिससे प्रिया का पूरा बदन सिहर गया और उसने ‘इइईईईई … श्श्श्शशश … महेश्श्श्श …’ जोर से सिसकते हुए कहा और मेरे बालों को खींचने लगी. जैसा कि आपको मेरी अब तक अन्तर्वासना पर प्रकाशित कहानियोंऐसे बना चंद्रप्रकाश से चंदा रानीबन गयी सत्यम की दुल्हनऔरवह खतरनाक शाममें पढ़ा कि मैं एक गांडू हूँ और अब तक दो सौ लोगों से अपनी गांड मरवा चुका हूँ.

वे ये कह कर सोने चली गईं … क्योंकि कल रात की उनकी नींद बाकी थी और आज रात भी उन्हें मजे करने थे. कौशल्या दर्द से चीख उठी- आहह्ह्ह … मर गई …वो मुझे धक्का देकर फट से थोड़ा पीछे हो गयी. धीरे-धीरे मैंने चाची के पेट को चाटते हुए उनके पूरे पेट को गीला कर डाला और फिर मैं नीचे की तरफ बढ़ने लगा.

मैंने कहा- ठीक है, पर एक बार आप उससे बात कर लेना और मैं भी बात कर लेता हूँ कि वो भी मेला घूमने आ जाए. नेहा ने अपनी चूत के होंठों को एक हाथ से पूरा खोल लिया और धीरे से खड़े लंड पर बैठ गई.

”मैंने कौशल्या के मुँह में अपना लंड दे दिया, शायद उसने अपने पति का लंड भी कभी नहीं चूसा था.

उसने बताया कि उसे एक लड़का और एक लड़की है, जो स्कूल और कॉलेज में हैं. सपना सप्पूअब तू ये क्या कर रहा है? नेहा दीदी तो ठीक हैं … मगर मम्मी? मम्मी को भी नहीं छोड़ा तुमने?” प्रिया ने गुस्से से तमतमाते हुए कहा. नई सेक्सी 2022रात के 12 बजे मैं उठी और सुमन के कमरे में गई तो देखा कि सुमन मेरा इन्तजार कर रही थी. यह तो मेरा बड़ा सौभाग्य है, जो उसकी जैसी खेली-खाई ग्रेट चुदक्कड़ कन्या से मेरी शादी हुई.

दीदी अब अपने घर में सासू माँ के साथ और मैं उनके पास वाली दो गली छोड़ कर हमारे माँ बाप के लिए हुए घर में रहने लगा.

कुछ देर बाद मैंने भी खाना खा लिया और मेरी दीदी के सास ससुर के पास बने आगे वाले कमरे में चला गया. उनकी चुदाई देखने से मुझे भी ऐसा लगने लगा था कि रियल ब्लू फिल्म की शूटिंग चल रही हो. मैंने भी अपनी जीभ से भाभी की चूत पर हल्के से लिक करना शुरू किया और वह तड़पने लगी.

उसके कुछ देर बाद दरवाज़े की घंटी बजी और मामी ने मुझे दरवाज़ा खोलने का इशारा किया. बस इसके बाद उन्होंने तुरंत ही मुझे चूम लिया, तो मैंने भी उनको चूम लिया. इसके पहले की उसकी चड्डी उसके लंड को ढकती, मैंने तेजी से आगे बढ़कर उसे अपने मुंह में ले लिया.

सेक्सी वीडियो औरत वाली

उसने मेरे लंड पर अपने दांत गड़ा दिए और इधर उसकी चूत से कामरस बह निकला. मैं गुजरात का रहने वाला हूँ और कंप्यूटर इंजीनियर के पद पर काम करता हूँ. जब वो चले गए तो मैंने राहुल को उठाया।राहुल ने पूछा- भाई कहां है?तो मैंने उन्हें बता दिया कि वो कल आएंगे.

मैं जानता हूँ आप भी मुझमें रूचि दिखाती हैं, मेरे साथ घूमना फिरना बातें करना, मेरी तरफ इतना झुकाव है तो फिर ये हया की दीवार क्यों, आपकी आंखों में मेरे प्रति वासना की चाह साफ छलकती है.

पतानहींक्योंमेरेजैसा इंसान आज झिझकरहाथा,वो जिसकेजीवनमेंकईलड़कियांआचुकीथीं.

घर के काम करते वक्त कभी कभी पल्लू अपनी जगह पर नहीं रहता था, कभी पेट खुला पड़ जाता, तो कभी ब्लाउज में से स्तन दिखने लगते थे. वक़्त पे प्लान बदल गया है और दोस्त के कज़िन की जगह मैं आ रहा हूँ, यह हमने किसी को नहीं बताया था. सेक्सी चूत चूत चूत चूत चूत चूतमैं उदास सी शक्ल बना कर बैठ गया, तभी मनीषा का जवाब सुना तो खुशी से मन झूम उठा जैसे माँगी मुराद मिल गयी हो.

उसने अपने दोनों‌ हाथों‌ से मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चूची पर से हटा दिया. उसने मेरे बालों को पकड़ कर मेरे कूल्हों को बहुत चौड़ा किया और ढेर सारा थूक मेरी गांड पर लगा दिया. साली अनु ने मेरा लंड कभी भी इस तरह से नहीं चूसा था … और आंड तो आज तक नहीं चाटे थे.

मेरे कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था तो मैंने मामा जी पूछा इसके बारे में तो उन्होंने बताया कि शादी का बाकी प्रोग्राम भवन में है इसलिए सभी को भवन जाना है. मैंने नेहा से पूछा- फिर बोल … क्या करना है?नेहा कामुक मुस्कान के साथ बोली- हम दोनों की चुत को ठंडा करना है, बस तुम साथ दो.

उन्होंने उसे उठाया और मुझे डांटते हुए अंदाज में बोला- क्यों बे गोलू … तू ये सब काम कब से करने लगा?तो मैं बोला- कैसे काम? मैंने क्या गलती कर दी?वो मुझे रूमाल दिखाकर बोलीं- ये क्या है?मैं बोला- रुमाल ही तो है, इसमें क्या गड़बड़ है?वो- क्या पौंछा है इससे तूने?मैं- क्या आपको क्या दिखता है … मेरी नाक है.

शाम होते ही सर्द हवाओं ने अपना रंग दिखना शुरू कर दिया, सबको ठंड लगने लगी, मैंने दोस्त से मज़ाक में कहा- यार इस मौसम में यहाँ गार्डन में बैठ के मस्त पेग मारने का मूड हो रहा है. लता भाभी बोली- ऐसे होली खेलते हैं?हेमा की तो टांगों में लगा रहे थे!” इतना कहते ही उन्होंने दोबारा मुट्ठी भरकर गुलाल मेरे चेहरे पर ज़बरदस्ती रगड़ दिया और अपना हाथ मेरी छाती में घुसा कर रगड़ने लगी. मैंने भाभी को मक्खन लगाते हुए कहा- भाभी सच में आप अप्सरा लग रही हैं.

साईं बाबा की पिक्चर अब मैंने अपना अंगूठा उसके मुँह से बाहर निकाल लिया, उसने मेरा हाथ पकड़ा और अपने दूसरे स्तन पर रख लिया. अब मैंने कोशिश की कि अपनी गांड उठा कर लंड को चुचियों के बीच में दबा दूं.

मैं अब भी उसकी तरफ देख‌कर मुस्कुरा रहा था, जिससे वो चिढ़ सी गयी और मेरे कपड़ों को उतारने के लिए उन्हें पकड़ कर जोरों से नोचने लगी. मैंने देखा कि भाभी ने एक गाउन पहना हुआ था जिसमें उनका क्लीवेज बिल्कुल साफ-साफ दिखाई दे रहा था. ठाकुर अंकल ने मेरी चूत पर अपने हाथ को रखा और बोले- अब यह सब उतार दे.

हिंदी सेक्सी चूत लंड की

जबकि मैं उससे पहली बार मिल रहा था और उसने मुझे अपना जिस्म का वो दूधिया हिस्सा दिखाने में तनिक भी गुरेज नहीं की थी, जिसके लिए किसी भी महिला को खूबसूरती हासिल होती है. तुमने तो अपना परिचय भी नहीं दिया … अच्छा चलो यहीं बैठो मेरे पास … थोड़ी बातें करते हैं. तो आंटी बोलीं- कितना फीस लोगे?मैंने मजाक में बोल दिया- आपसे कैसी फीस?तो आंटी मुस्कुराते हुए बोलीं- मुझसे क्यों नहीं?मैंने बात टालते हुए बोल दिया- आप पड़ोसन जो ठहरीं.

मैंने उसे बताया कि मैंने पूरे दो साल बाद इतने अच्छे से पानी निकला है. ’ फिर मैंने कायदे से उसके दूध को बाहर से दबाया फिर अन्दर हाथ डाल कर दबाया और उसकी दूध की घुंडी को मसलता रहा.

मेरी आंखों के सामने उसके बड़े बड़े 38 साइज के बूब्स ब्लैक ब्रा में कैद थे.

लेकिन कुछ ही दिनों में मैंने महसूस किया कि उसका व्यवहार बदलता जा रहा था. खैर नीना ने अपनी हमराज सहेली मनीषा से इसका प्राथमिक इलाज पूछा, तो मनीषा ने हंसते हुए चुटकी ली- भाई साहब तो हैं नहीं … किसके साथ टांका भिड़ गया मेरी मैडम का? ऊपर से बेरहम ने इतनी तगड़ी धुनाई कर दी. मैं चुपचाप अपना काम करके वहां से चलने लगा तो उसने मुझसे पूछ लिया कि मेरा चार्ज कितना हुआ.

शायद वो मुझे देखने‌ के लिए आई थी, मगर हमें इस हालत में देखकर दरवाजे से ही‌ लौट गयी थी. भाभी मुझे चूमते हुए गालियाँ भी दे रही थी- साले तड़पा मत मुझे, मेरा मर्द तो साला काम पर जाता है, बच्चे निकाल कर कमीने ने मुझे चोदना ही छोड़ दिया. समझो महीने में एकाध बार ही उनका लंड मुझे अपनी चूत के लिए नसीब हो पाता था.

मैं घर से निकल कर थोड़ी दूर पैदल चली, फिर ऑटो पकड़ स्टेशन की ओर चल पड़ी.

बीएफ सेक्सी देहाती वीडियो में: वो करीब 5 मिनट तक बिना रुके धक्के लगाती रही और मैं केवल लेट कर उसकी हिलती चुचियों से खेलता रहा. इससे पहले मेरी एक कहानीमॉम की सौतेले बेटे से चुदाई की तमन्नाअन्तर्वासना पर आ चुकी है.

चाची के तने हुए गोरे मम्मे काली ब्रा में क्या मस्त आम जैसे लग रहे थे. जब वो बैठकर लंड चूस रही थी तो उस वक़्त वो और भी सेक्सी और कामुक लग रही थी क्योंकि उस पर सेक्स का भूत सवार हो गया था. फिर मैंने अपने लंड की तरफ इशारा करते हुए कहा- मैडम, अब इसका क्या?उसने मेरे लंड को चूम लिया और बोली- मैं तो कब से तरस रही हूँ इससे चुदने के लिए.

मामी ने कहा- ठीक है, जिस दिन तेरे मामा घर पर नहीं होंगे उस दिन ट्राई करना.

फिर कुछ देर बाद भाभी ने आ कर चाय दी, तो मैंने उनसे कहा कि मैं ऊपर छत पर जा रहा हूँ. वहीं पर रीतिका से भी मुलाकात हुयी, जब हम तीनों की नजर एक दूसरे से मिली तो एक मुस्कुराहट के साथ सभी ने एक दूसरे का स्वागत किया. उसके साथ के मर्दों को जबरदस्ती जगाना पड़ा कि भैया उतरो, स्टॉप आ गया है.