सिक्सी सिक्सी बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ बुड्ढे

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी नासिक: सिक्सी सिक्सी बीएफ, जिसमें मैं और मेरे साथ कॉलेज के 5 होनहार छात्र भी थे।मैं इस प्रतियोगिता में सिर्फ इस वजह से थी क्योंकि एक तो टीम में 1 सदस्य कम पड़ रहा था.

सेक्सी बीएफ देहाती में

फिर मैंने भी कंट्रोल खो दिया और मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी उसकी चूत में लगने लगी. बंगाली चुदाई की वीडियोकई बार गांड में अपनी मोटी उंगली घुसेड़ कर उंगली को आगे पीछे करने लगते.

आह्ह्ह्ह मेरे राजा … क्या लंड है तुम्हारा!” मेरे मुँह से निकलने लगा. ब्लू पिक्चर इंग्लिश में दिखाओमैं भी हंसने लगा और आंटी को ज़ोर से अपनी बांहों में खीच कर उन्हें किस करने लगा.

मैंने मना कर दिया तो सर ने मेरा तबादला किसी और स्कूल में कर दिया जो मेरे घर से और भी ज्यादा दूर था.सिक्सी सिक्सी बीएफ: com/gandu-gay/pehli-bar-gand-marwane-ka-sukh/पढ़ने और उस पर आपके विचार मुझे मेल करने का बहुत बहुत बहुत शुक्रिया.

मैं नहाने जा रहा था, तभी मां ने किचन से हंसकर आवाज दी- अरे उठ गए हर्षद.एक रात मैंने विन्नी से कहा- कल मैं श्रीनगर गढ़वाल यूनिवर्सिटी आ रहा हूँ, मुझे कुछ काम है.

पंजाबी सेक्सी पोर्न - सिक्सी सिक्सी बीएफ

फिर मैंने मजाक में बोला- फिर तो आपको सेक्स का सुख भी नहीं देता होगा वो?उसने मेरी बात का कोई जवाब नहीं दिया.मैंने उससे नंगी पिक्स भेजने को कहा तो उसने अपनी चूचियों की फोटो ही भेजी.

उनका लंड केवल पांच इंच का था तो भी मैंने उन मजदूरों के लम्बे लंड का अहसास करते हुए सर से अपनी गांड और चुत में उनका वीर्य डलवा लिया. सिक्सी सिक्सी बीएफ लौड़ा बिन्दू के आधे पेट तक घुसा हुआ था जो बार बार उसकी बच्चेदानी को छू रहा था.

अपनी गांड के छेद पर जेठ जी की खुरदुरी जीभ के स्पर्श से मेरे तन बदन में काम वासना का सागर हिलोरें मारने लगा.

सिक्सी सिक्सी बीएफ?

इतना सुनसान देख कर मेरी गांड भी फटने लगी कि ये इसने कहां गाड़ी रोक दी. मैंने लंड को चूत के छेद पर लगाया और अपने हाथ नीचे लेजाकर साली जी के दोनों मम्में थाम लिए और लंड को चूत में धकेल दिया. मुझे नहीं पता था कि इस समय प्रतिभा स्खलित हुई थी या नहीं, पर मेरा अनुमान है कि इतनी लंबी चुदाई के बीच वो भी स्खलित हो ही चुकी होगी.

मैंने मना कर दिया तो सर ने मेरा तबादला किसी और स्कूल में कर दिया जो मेरे घर से और भी ज्यादा दूर था. मैं खुश था बहुत खुश।संक्षिप्त वार्तालाप के बाद हम लोगों ने विदा ली. मैंने सोचा कि साला गांव की किसी भाभी की चुदाई दिखाने की कह रहा होगा.

वो जानता था कि रश्मि रवि की बेटी है और यही उसका मकसद था कि वो रवि की बेटी को रंडी बना कर उसके बाप के सामने ही पेले. मामी ये कहकर हंसने लगीं और जल्दी से अपनी गांड मटकाते हुए नीचे चली गईं. मैंने भाभी से कहा- भीड़ ज्यादा है, अब वह भी क्या करे, मैं पीछे आया तो मेरा भी वही हाल होगा.

इस बार मैंने थॉमस को बेड पर लेटा दिया और उसका लंड अपने हाथ में लेकर मुँह में ले लिया और चूसने लगी. मैंने अनिकेत के लंड को आंड सहित अपनी मुट्ठी में भरने का प्रयास किया, पर पैंट में जब पकड़ा, तो बस टट्टे ही हाथ आए.

क्या आ जाओ मतलब?इसके साथ ही मेरी नींद एकदम भाग गयी वरना अब तक मैं नींद में ही था.

कुछ ही देर में भाभी की चूत ने पानी छोड़ दिया और मैंने उसकी चूत चाटने का मजा लिया और सारा पानी पी लिया.

मैं और शेफाली लेडीज चेंजिंग रूम की तरफ बढ़ गए और अंकुश अपना बैग लिए जेन्ट्स में चल गया. जब मैं चेंज करके बाहर आई, तो मुझे ट्रेनर ने कहा- चलिए अब आप पूल में आ जाइए. मैं तो बस इतना चाहती हूँ कि जब-जब तुम मेरा नाम सुनो या मुझे महसूस करो तुम्हारा लिंग तन जाये, बस मुझे और कुछ नहीं चाहिए।मैंने कहा- हाँ जान, ऐसा ही होता है.

भाभी ने कहा- हमने जिनको दवाई दी है, उन लोगों ने उनका आदिवासी डांस देखने को बुलाया है. उसने मुझे क्या दिखाया?लेखक की पिछली कहानी:मेरे कॉलबॉय बनने की कहानीदोस्तो, मेरा नाम सुनील है, मैं हरियाणा के रोहतक का रहने वाला हूं और एक जाट हूं. फिर उसने मुझे नंगी किया और लिटा कर मेरी चुत पर लंड रख कर एक तेज धक्का दे दिया.

फिर दोनों जोर जोर से चीखते हुए झड़ने लगे- आह्हह … ओहह … हाहाहह … आहह्ह्ह … याह्हह … हम्म … हुह … करते हुए दोनों ने ही रश्मि के दोनों छेदों को आगे और पीछे से भर दिया.

अपनी चूत को उसके मुंह पर आगे पीछे और ऊपर नीचे मसलते हुए वो सिसकारने लगी- कमॉन, लिक माई पुसी, यू ब्लडी डॉग। (चल चाट मेरी चूत को, साले हरामी पिल्ले, चाट कुत्ते)श्लोक ने वीना को उठा दिया और फिर एक दूसरे को 69 की मुद्रा में समायोजित किया. ये सुन कर कि अंकुश भी स्विमिंग के लिए आ रहा है, मैं बहुत खुश हो गई. वो बोलीं कि हाई कितना कड़क है ये … मैंने तो पहले बार इतना सख्त केला देखा है.

कई बार रमेश के मुंह से साँस अंदर-बाहर होने से रश्मि को उस हिस्से पर गर्म और ठंडा मिश्रित अहसास हो रहा था।अब रमेश से रहा नहीं गया और उसने जीन्स को पूरी तरह उसकी टाँगों से नीचे उतार दिया. घर आकर मैं सोचने लगी कि क्या अंकुश सही कह रहा है कि मुझे दूसरी स्विमिंग ड्रेस ले लेनी चाहिए. मैंने कहा- ऐसे नहीं, अपने कपड़े उतार कर सिर्फ ब्रा पैंटी के ऊपर ही बुर्का पहनो.

थोड़ी देर में चाय पकौड़े आ गये, हमने खाये, तब तक बारिश भी रुक गई और हम लोग घर पहुंच गए.

जिससे मेरा लण्ड बिना किसी अवरोध के उसकी चूत में दाखिल हो सके।मैं अब तैयार था और किट्टू भी अपना दर्द कुछ भुला सा चुकी थी।आप सब तो जानते ही हो कि चूत का दर्द थोड़े मर्दन से उड़न छू हो जाता है और लड़की एक बार फिर तैयार हो जाती है।मामा भांजी की चुदाई स्टोरी आपको कैसी लग रही है? मुझे मेल करें और कमेंट्स भी करें. पसीने से तरबतर मां बेटी को कार में बैठते ही सुकून मिला, यह उनका चेहरा बता रहा था.

सिक्सी सिक्सी बीएफ अगले दिन सबको अपने अपने शहर वापस चले जाना था। मैंने और मेरी टीम ने भी बहुत एंजॉय किया, खूब खाया पिया और नाचे गए।सुनील मेरी टीम के पास आया और हम सबको जीत की बधाई दी।उसने कहा- आप सबने बहुत मेहनत की है इस जीत को पाने के लिए!तो मेरी सहेली ने कहा- हाँ वो तो है. मैंने सोचा आंटी अपनी वासना के चलते कुछ न्यूड पोर्न या सेक्स कहानी वगैरह देख रही होंगी.

सिक्सी सिक्सी बीएफ अब मेरी मम्मी को कंट्रोल करना मुश्किल हो रहा था तो उन्होंने कहा- जल्दी से डालो यार … मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है. फिर कम से कम बीस पच्चीस काबिल लौंडे बाजों से मरवा मरवा कर गांड ढीली करवा ली हो.

पता चला कि वे सब लोग सपना के लिए लड़का देखने गए थे जो उन्हें पसंद आ गया था.

बीएफ गंदी बात

निष्ठा को मेरे ऊपर चढ़ कर चोदने का अनुभव तो था नहीं … तो जब वो उत्तेजना के मारे उछलती तो लंड बार बार उसकी चूत से फिसल कर बाहर निकल जाता. जैसे ही मैंने उसकी चुत में जीभ डाली … वो अचानक से मेरा सर अपनी चुत में दबाने लगी. वे बोले- कुछ अपॉइंटमेंट कैंसिल करने हैं … उनकी लिस्ट दो, मैं बताता हूं.

उसने पूछा- कहां हो तुम!मैं- यार कब से फोन कर रहा हूँ … कहां थी तुम!वो- पता है जानू तुम फोन कर रहे हो, मैं भी तुम्हारे आने की तैयारी कर रही थी. मैंने नेहा को टांगों से पकड़ा और उसको करवट दिलवाई और बेड के किनारे पर घसीट कर उसके नीचे वाले पैर को घुटनों से मोड़ा और ऊपर वाली टांग को मैंने अपने कंधे पर रखकर उसकी चूत के अंदर लंड डाला. मैंने नेहा के घुटनों के नीचे अपनी बाजू डाली और उसकी टांगों को ऊपर की तरफ उठाते हुए उसकी चूत की मोटे लौड़े से ठुकाई करनी शुरू की.

मैंने ध्यान से देखा, मेरे सीने के दाएं भाग पर दांतों से काटने के निशान थे.

जब मैंने शर्मिष्ठा से ये बात कही तो वो बोली कि उनकी मम्मी यानि मेरी सास को लेकर आना; मैंने सोचा चलो ये भी ठीक है. और हाँ अगर मैं व्यस्त रहती हूँ तो उसका मतलब यह नहीं कि मैं कहीं किसी और से बात करने लगी हूँ. ब्रा में जकड़ी बड़ी-बड़ी कड़क चूचियों को देखकर रमेश के लंड ने ठुमकी मारी और वो अपने दोनों हाथ बूब्स के साइड में रखते हुए पूरी क्लीवेज को अपनी जीभ से चाटने लगा.

मेरी आंखें लाल हो चुकी थीं और चूत में भयंकर दर्द ने मेरी जान ले ली थी. भाभी ने मुझे अपनी बाहों में जकड़ लिया और चुदते हुए मज़े से सिर इधर उधर मारने लगी. मैंने नीचे एक ब्लैक स्कर्ट पहन ली, जो कि सिर्फ मेरी कमर से मेरी चुत तक ही आ रही थी.

मैं नंगा ही अपने कपड़े उठाकर सीढ़ियों से होता हुआ अपने कमरे में चला गया. हम यह बातें कर ही रहे थे कि बाहर पुलिस की एक जिप्सी आकर रुकी जिसमें एक एएसआई और एक लेडी पुलिस को नेहा का हस्बैंड ले कर आया.

मेरा मन किया कि अभी जाकर उनकी गांड मार दूँ, उन्हें घोड़ी बना कर गांड में लंड के शॉट लगा दूँ. जुनैद ने मुझे चुदने के लिए राजी देखा और मेरे हाथ को अपने लंड पर महसूस किया, तो उसने जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार दिए. मेरे मुँह से न चाहते हुए भी सिसकारी निकल गई- आह्ह्ह … ओह्ह्ह … उफ्फ … क्या उखाड़ ही लोगी?वो हंस दी और उसने ने मेरे लंड को फैंटना शुरू कर दिया.

अब उन चारों ने मिल कर मुझे हर तरफ से नौंचन और भंभोड़ना शुरू कर दिया.

मैं बोली- सिर्फ यही करते रहोगे क्या?अमित वासना से आंखें भर कर बोला- लगता है तेरा पति तुझे बराबर नहीं चोदता है. तभी पीछे से भीड़ का फायदा उठाते हुए एक इक्कीस या बाईस साल के लड़के ने मेरी गांड पीछे से दबा दी. प्रकाश भाई ने लंड पर खूब सारी क्रीम पोती, थूक मला और लौंडे की गांड पर टिका कर कहा- ढीली रखना … लगेगी नहीं, वरना नहीं डालूंगा.

वो भी मस्ती में चुदते हुए कहने लगे- आह्ह … बेटा … चोदो … ओह्ह मजा दे रहो हो बहुत … आह्ह … पूरा फंसा दो मेरी गांड में … याह्ह … और तेज … आह्ह और तेज पेल बेटा. रास्ते में लोगों का ध्यान मेरी मचलती जवानी पर इतना ज्यादा था कि मेरी अनचुदी बुर में चींटियां रेंगने लगी थीं.

फिर पैंटी की लाइन से किस करता हुआ वो मेरी जांघों के अंदर चूमने लगा. दोनों टांगों को खोले हुए उसकी चूत को देखा तो मन करने लगा कि अभी जाकर चोद दूं इसे लेकिन अभी वो संभव नहीं था. जो साथी मेरे बारे में नहीं जानते हैं, उनको मैं अपने बारे में बता देता हूँ.

बीएफ सेक्सी मां बेटे बीएफ

वाह क्या चौड़ी छाती, चौड़े कंधे, छाती पर घने काले घुंघराले बाल … और मस्त साढ़े सात इंच लम्बा और सवा दो इंच मोटा कड़क लंड.

मैंने देखा कि वो फड़फड़ा रहा था।अब मैंने सिर्फ लिंगमुंड को अपने बंद होंठों पे रखा और धीरे धीरे से अपने होंठों पे दबाते हुए मुंह खोलते हुए अंदर ले गयी।सुनील ने तो बस आह … करी और मैंने उसका लंड बाहर निकाल दिया।मैंने उसकी सिसकरी सुनी तो ऊपर देखा. इसलिए थॉमस ने रोहन से कहा- रोहन … अब तुम जा सकते हो … और हां जाते वक़्त गेट बंद कर जाना. मैंने अपने जूते उतारे और पैर लम्बा करके पूजा की चुत पर पैर का अंगूठा रख दिया.

ऐसा कहते हुए मैंने बेचैन होकर खुशी से लिपट जाना चाहा … लेकिन इस वक्त मेरी बांहों में प्रतिभा थी. गुदगुदी होती है न वहां पर; अभी देखना जब लंड घुसेगा तो और भी मज़ा आएगा. गाओं वाला सेक्सी वीडियोमैंने नेहा के दोनों हाथों को ऊपर उठाकर उसे अपनी बांहों में ले लिया और उसके होठों पर जोर से किस किया.

आधा लण्ड गुरजीत की चूत में चला गया लेकिन आगे अवरोध था, बैरियर लगा हुआ था. उसने सनम को साइड में करके मुझे एकदम से पकड़ लिया और मुझे किस करने लगा, मेरे बूब्स भी दबाने लगा.

उसने लंड को चुत की दरार में लगाए हुए ही मेरे होंठों को अपने होंठों से दबा लिया. मैं एक मिनट के लिए रुका और सोचने लगा कि साली ये तो सील पैक निकली … क्या अब तक इसने लंड का मजा लिया ही नहीं था!मैं मन ही मन खुश हो गया और मैंने धीरे धीरे फिर से अपने झटके शुरू कर दिए. इसके बाद वो मारवाड़ी सेक्सी लेडी मुझसे बिंदास होती चली गईं और मुझे तो जैसे पूरी छूट मिल गई थी.

ये बात मैंने सुमीना को बताई तो वो सन्न रह गयी और बोली कि मैं इतने पैसे लाऊंगी कहां से?सच तो ये था कि मैं भी उसकी मदद नहीं कर सकता था क्योंकि मेरे पास भी इतने रूपये नहीं थे. ‘आह आह्ह थॉमस बहुत मजा आ रहा है … तुम कितना मस्त चोदते हो … आह थॉमस बेबी फक मी फास्ट. अच्छा, एक बार सब कुछ तो कर लिया; अब क्या बाकी रह गया करने को?” साली जी बोली.

मेरी आंखें हमेशा लड़कियों की फिगर को देखने लगती हैं और उन लड़कियों की फिगर का अंदाजा लगाकर मेरा लंड यह बताने लगा है कि इसके साथ बेड में कितना मजा आएगा.

क्यों? उसमें तो तुम बहुत ही खूबसूरत लगती हो?”हओ”पता है तुम्हें उस ड्रेस में देखकर मेरे मन में क्या आया?”क्या?”मैं सच कहता हूँ तुम्हें उस ड्रेस में तुम इतनी खूबसूरत लग रही थी की मेरा मन तुम्हें बांहों में भरकर चूम लेने को करने लगा था. जब भैया ऐसा करते हैं तो लिंग का सुपारा मुँह के अन्दर सीधा तालू से टकराता है.

फिर हम दोनों 69 की पोज़िशन में आ गए और एक दूसरे का आइटम चूसने-चाटने लगे. माहौल को बदलने के लिए मैंने निष्ठा को अपने आगोश में भर लिया और उसे चूमने लगा वो भी मेरे सीने से लग निश्चेष्ट खड़ी रही गयी. और पनीर नहीं लाना क्या?” मैंने पूछानहीं जीजू, आप दूध लाओगे न तो उसी में से पनीर तो मैं अपना खुद बना लूंगी, मार्केट का पनीर शुद्ध नहीं होता.

वो बोली- हां शुभम, मैं अपने पति से इतनी परेशान हूं कि मैं तुम्हें सारी बात बता भी नहीं सकती. मामी ये कहकर हंसने लगीं और जल्दी से अपनी गांड मटकाते हुए नीचे चली गईं. फिर मैं उसके पेट को चूमते हुए नीचे आने लगा और उसके लोवर को उतार दिया.

सिक्सी सिक्सी बीएफ उन्होंने अपने हथियार को सहलाया और वहीं ताक में रखी तेल की शीशी से तेल लेकर तबियत से लंड पर चुपड़ा, कुछ तेल अपने हाथ पर भी ले लिया, उस पर थूक भी दिया. तो मैंने उसे बोला- ये किसी से कुछ नहीं बोलेगा क्यूंकि हम इसे रोज सेक्स का लालच देंगी.

बीएफ सेक्सी मूवी लड़की

मैं भी उसकी चूत को जीभ से चोदता हुआ उसके मुंह में ही लंड से धक्के लगाने लग जाता तो साली जी मेरा लंड छोड़ कर मुंह को ठीक से एडजस्ट कर लेती जिससे लंड बड़े आराम से उसके मुंह में अन्दर बाहर होता रहता. हम दो मिनट तक थोड़ा और ज्यादा चले ही होंगे कि अनिकेत ने गाड़ी रोक दी. इसके बाद हमारी चैट इस बात पर बंद हो गई कि कल वो मुझसे फोन पर बात करेंगी.

उस वक़्त मैं बाथरूम में थी तो मैंने सनम से बोला- अगर राजू हो तो उसे रोक लेना, मुझे भी अपने कपड़े देने हैं. सोचा कि जाते-जाते एक बार मिलता जाऊं क्योंकि मुझे पता था इसका पति आज भी घर में नहीं है. चुदाई चुदाई देसी चुदाईजैसा कि आपको पहले से ही पता है, वो सब ब्रा-पैंटी मेरे साइज से छोटे थे और पैंटी भी थोंग वाली थी.

प्राची भाभी ने कहा- तुमने और तुम्हारी कामकला ने मुझे असीम खुशियां दी हैं.

अब आगे की दोस्त की वाइफ की चुदाई कहानी:चूंकि इस होटल में सभी लोग सिर्फ खाने आते हैं, तो खाना लाने में समय लग जाता है. कुछ देर हम दोनों ऐसे ही नंगे एक दूसरे पर ऊपर पड़े रहे और मामी मुझसे कहती रहीं कि आज ना जाने कितने सालों बाद मुझे बहुत अच्छा लग रहा है.

इसको चोद कर फिर से हरी कर दो … आह्ह … आह्ह … येस।अब वो आगे की ओर पलटी और वेबकैम की तरफ मुंह करके अपनी टांगों को फैलाकर टेबल के दोनों ओर कर लिया. फिर उसकी गांड को तेजी के साथ चोदते हुए अपने माल से उसकी गांड को भर दिया. बिन्दू मुझसे कहने लगी- मैं आपके इस बड़े हथियार से डरी हुई थी लेकिन आपने बहुत प्यार से किया.

तब अम्मी उस पर चिल्ला कर बोलीं- तुम दोनों सगे भाई बहन हो, तुम्हें शर्म ही आती है या नहीं!मेरी बहन बोली- तो आप कौन सी दूध की धुली हैं.

मैंने दरवाजा बाहर से बंद कर दिया था … उसको खोला तो उसके गोरे रूप को काले रंग में देख कर मेरा तो होश उड़ गए. कई बार सोचा कि किसी कॉल गर्ल की चुदाई करके ही मन को बहला लेता हूं मगर जो मजा किसी भाभी की चुदाई या किसी हॉट लड़की की चुदाई करने में है वो मजा किसी रंडी की चूत चुदाई करने में नहीं आयेगा. लगभग आधे घंटे तक मेरी गांड मारने के बाद रॉबर्ट और मैं एक साथ ही झड़ने लगे.

बंगाली देसी बीएफसाथ में अदिति के मुँह से निकलती मादक सिसकारियों की आवाज से बेडरूम का माहौल रोमांटिक हो गया था. मां के ऐसा कहते ही उनकी चुत रस छोड़ने लगी और मैं भी जोर-जोर से धक्के मारने लगा.

हिंदी बीएफ छोटी लड़कियों का

वे हंस पड़े- सलीम से … सच कहना अन्दर डाल पाया था या नहीं … उसने डाला भी था?मैं चुप रहा तो वे बोले- चोरी पकड़ी गई न … तो तेरा ये पहली बार है, तभी तो इतनी परेशानी आ रही है. फिर मैंने डेज़ी को उठाया और जोर से अपने सीने से लगा लिया और उसे फिर से किस करना शुरू कर दिया. फिर मामी को अपनी भुजाओं में कस कर दबा लिया और मामी से पूछा- डाल दूँ मामी?मामी ने आह भरते हुए कहा- पगले देर मत कर.

कुछ क्षण देखने के बाद बोली- तुम्हारा लन्ड सच में बहुत मोटा और कड़क है. मैं आपकी चूत और गांड के छेद को चाट रहा था और आप मेरी गांड और लंड को चूस रही थीं भाभी. वो मुझे गाली बकने लगी थीं- अब आ भी जा मादरचोद … अपनी अम्मी को चोद दे भैन के लौड़े … क्यों तड़फा रहा है हरामी.

इससे पहले रश्मि कुछ और कह पाती तब तक रमेश अपने घुटनों पर बैठ चुका था. खुद नीचे अपने घुटनों के ऊपर बैठ कर उसने मेरी शॉर्ट्स के बटन खोल दिए. फिर मैंने अपने नाम से कोई पैकेट आया है, पूछा … तो उसने मना कर दिया.

मैंने अपने जूते उतारे और पैर लम्बा करके पूजा की चुत पर पैर का अंगूठा रख दिया. नीरा खुद ही मेरी तरफ पलट गई और मेरे मुँह में अपने स्तनों को बारी बारी डाल कर चुसवाने लगी.

आह … निष्ठा … मेरी जान … साली जी कितनी प्यारी हो तुम … आई लव यू डार्लिंग!” मेरे मुंह से निकला.

!ये कह कर मैंने उसे अपनी बांहों में ले कर उसके गालों पर हौले से एक चुम्बन धर दिया. सेक्सी बीएफ नईमैं रूम के लिए निकला और ऑटो स्टैंड पर दिल की सवारी के इंतज़ार में खड़ा हो गया था. इंडियन बीएफ फुल एचडीवह देखने में बहुत खूबसूरत थी और एकदम श्रद्धा कपूर के जैसी दिखती थी. फिर उसने मुझे वहीं घोड़ी बनाया और मेरी चूत में पीछे से लंड डाल कर चोदने लगा.

और कहती रहती थी कि जल्दी निकालो अपना पानी; मेरे तो हाथ दुख गये आपका ये हिलाते हिलाते!पर लंड तो लंड है.

मैंने हिम्मत करके रॉबर्ट से कहा- ठीक है सर … मैं आपके साथ रात बिताने के लिए रेडी हूँ. प्रतिभा ने अपना सर उठाया और मेरी आंखों में देख कर कहा- तुमने मुझे जो उपहार दिया है. इतने में उसने मेरे अंडरवियर में हाथ डाल कर लंड अपनी मुट्ठी में भर लिया.

मैं बहुत अच्छे से उसके लंड को चूस रही थी और वो सिसकारियां लेते हुए आनन्द ले रहा था. इस पर मेरी सौतेली मां बोलीं- हर्षद, तुमने तो बरसों से प्यासी अपनी माँ की चुत की आग बुझा दी है. रोज की तरह उस शाम को भी मैं टेरिस पर घूम रही थी और अपने जिस्म की नुमाइश अगल बगल वालों को करवा रही थी.

सेक्स बीएफ विडियो

मैं लंड पर वैसलीन लगा कर फिर से पोजीशन में आया और उसकी चुत में लंड डाल कर जोर जोर से चोदने लगा. तभी मैंने झुक कर उसकी चुत में मुँह लगाना चाहा, तो उसने मुझे धकेल दिया और खुद बैठ गयी. परिणाम स्वरूप मुझे हीना जैसी शानदार लड़की की चूत चोदने के लिए मिली.

पर आज की कहानी करन की नहीं है।तो चलिये आज की कहानी पे आगे बढ़ते हैं।हर साल की तरह हमारे कॉलेज ने विश्वविद्यालय स्तर की क्विज़ प्रतियोगिता में भाग लिया था.

मेरे चूतड़ जो करीब 34 इंच चौड़े थे, उनकी मजबूत और जांघों के नीचे पिस गए.

लेकिन अपनी सुहागरात पर … क्योंकि उस दिन के लिए भी हमारे लिए कुछ नया होना चाहिए।अभी तक हम सब पोजीशन में सेक्स कर चुके हैं। उसे बैड के कॉरनर में लेटाकर टाँगों को अपने कन्धे पर रख कर और मैं खड़े होकर उसे जकड़ कर चूत मारना ये हम दोनों की फेवरेट पोजीशन है. नेहा के मुंह से एक चीखनुमा तेज आवाज निकली- आईई … आह्ह … स्लो … रॉन … स्लो!वो असहज हुई तो रॉन भी रुक गया. बीएफ सेक्सी ब्लू पिक्चर दिखाओमां ने एक हाथ से ऐसे ही ऊपर से मेरे लंड को जोर से दबा दिया और बोलीं- जाओ जल्दी से नहाकर तैयार हो जाओ.

मैंने भी देर न करते हुए उसकी एक टांग उठाई और अपना खड़ा लंड चुत में पेल दिया. मैंने नाश्ता खत्म किया और चाय पीकर मां को बोला- मैं जरा बाहर जाकर आता हूँ. मैंने उसके होंठों पर जैसे ही उंगली फिरानी चाही, उसने भी लपक कर मेरी उंगली चूम ली.

जैसा कि आप जानते है मैं रायपुर छतीसगढ़ से हूँ, लेकिन मैं अभी कॉम्पिटिशन एग्जाम की तैयारी के लिए दिल्ली में रहता हूँ. शुरुआत में तो उसे दर्द हो रहा था मगर धीरे धीरे उसकी स्पीड बढ़ गई और वो मस्ती से चुदाई का मजा लेने लगी.

करीब 3 – 4 मिनट इसी पोजीशन में रहने के बाद लण्ड बैठकर चूत से बाहर आ गया.

तो बोला- मैंने कहा था न … थोड़ी देर में सब दर्द चला जाएगा भैया … मगर तुम ही मान नहीं रहे थे. मां के ऐसा कहते ही उनकी चुत रस छोड़ने लगी और मैं भी जोर-जोर से धक्के मारने लगा. नैना चिल्लाते हुए बोली- आह … हां जो चाहो करो मेरी चूत के साथ … आह … फाड़ डालो मेरी चूत को … आह …अ … मैं मर भी जाऊं, तब भी तरस मत करना … इसको इतनी चोदो कि मैं दो दिन तक बिस्तर से नहीं उठ सकूं.

एक्स एक्स एक्स ब्लू फिल्म एचडी में दरअसल पहले दिन चुदाई के बाद बिन्दू की चूत की मांसपेशियां थोड़ी ढीली हो गई थीं और चूत ने लण्ड को जगह दे दी. तो मेरी साली ने क्या किया?अब आगे की देसी साली की चुदाई कहानी:उसी दिन शाम को करीब साढ़े पांच बजे साली जी सजधज कर अस्पताल चलने के लिए तैयार हो गयी.

चारों के लंड खड़े हो चुके थे और प्रोग्राम शुरू हो गया।अगले ही मिनट में एक लन्ड पिस्टन की तरह मेरे चूतड़ों के बीच में चल रहा था दूसरा मेरे मुंह में अंदर बाहर हो रहा था।मेरी दोनों जगह से चुदाई हो रही थी धकाधक … फचाफच!और ये सारी रात चला। चारों ने दो दो बार अपना माल मेरे अंदर झाड़ा।चारो लौंडों को मैंने चूसा भी और उनसे मरवाई भी। सुबह तक मेरा सारा शरीर दर्द कर रहा था।मैं चुपचाप घर आयी और सो गयी. उसके बाद रमेश सीधा होकर बेड पर लेट गया और रश्मि ने उठ कर अपनी गांड का छेद रमेश के तने हुए लौड़े के टोपे पर अच्छी तरह से रख कर सेट कर लिया. विनीता कहने लगी कि दिन स्कूल में कट जाता है और शाम के समय वो कुछ गरीब और पढ़ने में तेज बच्चों को निशुल्क पढ़ाया करती है, ताकि वो सफल हो सकें और इस बहाने उसका भी मन लग जाता है लेकिन फिर तन्हाई में रात काटनी मुश्किल हो जाती है.

सेक्सी पिक्चर चुदाई वीडियो बीएफ

उनकी ये बात सुनकर मेरी आंखें फ़ैल गईं कि इन कमीनों ने पुलिस वालियों की चुदाई देखने की जुगाड़ बना ली. उसकी चुदास से मुझे ऐसा लगने लगा था कि आज मेरी बुरी हालत होने वाली है. आँटी कहने लगी- नहीं, तुम नहीं दोगे, पैसे मैं दूंगी दोनों टिकटों के.

मेरे पति के न रहते हुए ससुर बहू सेक्स ने ही मेरी चूत की प्यास को शांत किया. मैंने भी उसे इस बार अलग सुख पहुंचाने के उद्देश्य से चूत में उंगली घुसेड़ दी और अपनी जीभ को चूत से लेकर गांड तक सैर कराने लगा.

मैंने उसकी पूरी चूत को वीर्य से भर दिया और गैस स्टैंड पर वीर्य गिरने लगा.

बुर को खोल कर देखा तो अंदर के गुलाबी छेद के बाहर दो गुलाब की छोटी पंखुड़ियों जैसी पत्तियां खड़ी थी. जैसे ही मैं ऊपर पहुंचा उसी समय घर की बेल बजी और नेहा की मम्मी सरोज आ गई थी. जो भी मुझे देखे, बस अपने बिस्तर पर लिटाने का ख्वाब देख ले। मेरे बदन के दो सबसे आकर्षक हिस्से है पहला मेरे स्तन, जो 34C के आकार के हैं.

फिर मैंने कहा- देखो तुम अभी कुंवारी हो … थोड़ा दर्द तो होगा, पर तुम सहयोग करोगी, तो ये कम से कम होगा. मेरी एक लम्बी चीख कुछ ही पलों बाद कामुक आवाज में बदल गयी ‘उम्म्म … ऊउम्म्ंह … उम्ंम्ंहह … आअह म्हाआं म्ह्ह’मेरे होंठों को उसने अपने होंठों में दबा लिए और मैं 5 मिनट में ही झड़ गयी. मैं बहुत उत्तेजित था क्योंकि करीब डेढ़ साल के बाद उसकी चूत चोदने को मिल रही थी.

कंडोम चढ़ जाने पर मुझे अन्दर लंड पर और बाहर दोनों तरफ डॉट का अहसास हुआ, शायद वो बहुत मंहगा कंडोम रहा होगा.

सिक्सी सिक्सी बीएफ: तभी रॉबर्ट ने अपनी वासना में डूबी हुई आवाज में घरघराते हुए मुझसे कहा- हम्म … अब मेरी फ्रेंची भी उतार दो डार्लिंग … जल्दी करो प्लीज़. कमेंट्स के द्वारा अथवा नीचे दी गई ईमेल पर मैसेज करके आप अपनी राय भेज सकते हैं[emailprotected].

उनका ये पेटीकोट उनकी ब्रा के ऊपर तक चढ़ा हुआ था जिससे उनकी गोरी पिंडलियां मुझे उत्तेजित कर रही थीं. एक बार फिर से मैंने शिवानी को बेड पर झुका कर घोड़ी बना लिया और उसकी चूत में लंड पेल दिया. मुँह में भर भर के चूची चूसने लगा और धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर भी करने लगा.

थॉमस ने अपने मोटे लंड से लगातार 30-35 मिनट मेरी चुत की जमकर चुदाई की.

सपना अपने हाथों से मेरा सर अपनी चूत में दबाने लगी और वो एकदम से झड़ गयी. तभी राजू ने सनम को सीधा लिटाया और उसके मुंह में लंड डाल दिया और उसके मुंह में झटके देने लगा. मां बोलीं- चलो हर्षद … इसी में चलते हैं … आराम से खड़े तो रह सकते हैं.