बीएफ हिंदी में बोले

छवि स्रोत,जानवर वाला सेक्सी वीडियो हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी नंगी हिंदी वीडियो: बीएफ हिंदी में बोले, मैंने सब कुछ वैसा का वैसा ही लिखा है जैसा मेरे साथ हुआ है।आप सभी अन्तर्वासना के पाठकों को दिल से प्यार और शुक्रिया.

राजस्थानी घाघरा सेक्सी वीडियो

मैंने पहले भी कई सरदारनियों की चुदाई की है, पर जो स्वाद एक कुंवारी सरदारनी की चुदाई में मुझे आया, वो उन चुदी-पिटी फुद्दियों में नहीं आया था. कचा नारियल खाने के फायदेफोटोज विदेशी दौरों, पहाड़ों और समुद्री तटों की थी और सभी फोटोज में वो बहुत उत्तेजक कामुक लग रही थी.

मेरे दोनों हाथों में आंटी के मस्त चूचे थे और उनकी चूत में लंड घुसा हुआ था. पंजाबी कुर्ता पजामा फोटोजिस दिन मम्मी गईं, उस दिन मैंने ढेर सारी ब्लू फिल्म डाउनलोड करके अपने लैपटॉप में रख लीं.

अब राहुल तो कुछ बोल ही नहीं पा रहा था, वो चुपचाप पंकज के साथ बेड पर बैठ गया.बीएफ हिंदी में बोले: मैंने अपने होंठों पर जीभ फिराते हुए कहा- उनकी चिंता आप मत करो … आप तो बिंदास, मेरी थकान उतार दो.

उसने मुझे गले लगा लिया और बोली- आई लव यू हनी …इसके कुछ देर बाद मुझे मालूम हुआ कि उसकी सहेली भी साइड वाले रूम में चुद रही थी.एक दिन रीना ने मुझे मिलने आने को कहा, तो मैंने हामी भरते हुए उससे कहा कि ठीक है.

फ्लेक्स बैनर - बीएफ हिंदी में बोले

मैंने उन्हें अपनी गोद में उठाया और उन्हें कमरे में ले जाकर बेड पे पटक दिया.मैंने अन्तर्वासना की एक कहानी में पढ़ा था कि नाभि में जब मर्द उंगली डालता है, तो उसका इशारा चुदाई का होता है.

उसने मेरे बालों को पकड़ लिया और तेजी के साथ मेरे मुंह में अपने लंड के धक्के देने लगा. बीएफ हिंदी में बोले com/author/rahulsrivas/आगे की सेक्स कहानी राकेश जी के शब्दों में लिख रहा हूँ … आनन्द लीजिएगा.

मैं दर्द के मारे छटपटाने लगी लेकिन सोनू ने लंड को तीसरे धक्के में पूरा का पूरा मेरी चूत में घुसा दिया.

बीएफ हिंदी में बोले?

गेम फिर शुरू हुआ … अबकी बार फंसी रेखा … उसने अपना लोअर उतरा … वो नीचे फ्लोवेरिश पैंटी पहने थी. इस तरह से सागर को फुसला कर उसने उसको पूरी रात अपने घर पर रखा और पूरी रात उससे तीन बार चुदाई करवाई. धीरे धीरे मेरी अपने बॉस से दोस्ती हो गयी और वो मुझसे फ़ोन पर भी बात करने लगा.

मेरी नाभि मेरी कमजोरी है, उसकी नुकीली और खुरदुरी जीभ से मैं तो जैसे पागल सी हो गयी थी. उसकी बाल रहित चूत जैसे सेब के बीचों बीच लगे चीरे के जैसे दिख रही थी. इसलिये आप पहले मेरी कहानी का पहला भाग जरूर पढ़ लें ताकि मेरी इस सेक्स कहानी का पूरा मजा आए.

”हाँ जान तुम बिलकुल सही कह रही हो।”इस मधुर की बच्ची ने तो मुझे डरा ही दिया था। इन औरतों को किसी बात को घुमा फिराकर बताने में पता नहीं क्या मज़ा आता है?अचानक मुझे लगा मेरी सारी चिंताएँ एक ही झटके में अपने आप दूर हो गयी हैं।मैंने एक बार फिर से मधुर को अपनी बांहों में जकड़ लिया … अलबत्ता मेरे ख्यालों में फिर से गौरी का कमसिन बदन, सख्त उरोज और नितम्ब ही घूम रहे थे. उसकी चूत भी भरपूर पानी छोड़ने लग गयी थी, जिसको मैं पूरा का पूरा अपने मुँह में समाने में लगा था. शबनम उठ कर बाथरूम में गयी और उसने राजीव को आवाज दी- आ जाओ शावर लेते हैं.

मुझे उसकी आंखें वासना से भरी ऐसी दिख रही थीं … जैसे वो मुझे अभी ही खा जाएगी. मेरे मुंह से हां सुनकर वो हल्के से मुस्कराई और बोली- आइये न, अंदर बैठिए.

तभी वो ये भी बोला कि वो मेरी मॉम से प्यार करता है और उनको हर सुख देना चाहता है.

मैंने पूछा- क्या हुआ?तो उसने बताया कि उसका पीजी खाली है … और सभी लड़कियां या तो घूमने चली गई हैं, या फिर अपने घर गयी हुई हैं.

ड्रिंक खत्म होने के बाद मैंने ऋतु की जांघ पर हाथ फेरना शुरू कर दिया. अब हम दोनों चुदाई करने का मौका ढूंढ रहे थे कि कब हमें मौका मिले और कब हमको चुदाई का मजा मिले. खेत के अन्दर जाकर उसने चादर बिछा दी और खुद उस पर बैठ कर बोली- आप भी बैठ जाओ.

मैं उसके रूम में गयी, तो ममता मोबाइल में किसी से वीडियो कॉल कर रही थी. मेरे लंड बाहर निकलते ही उसकी चूत का रस और थोड़ा खून सा मिल कर बाहर बहने लगा. शिवानी ने कहा- सागर तेरे लंड ने मेरी चूत के साथ क्या किया … या क्या करेगा, आज वो सिवा तुम्हारे और मेरे किसी को नहीं पता लगेगा.

मेरी ब्रा में मेरे बड़े बूब्स, मेरी कमर पर पड़ते बल और मेरी सेक्सी गहरी नाभि को देखकर वो पागल हो रहा था.

फिर मैंने सासू माँ को बेड पे लेटा दिया और नीचे हाथ ले गया, तो मेरा हाथ उनकी चूत से निकले पानी से गीला हो गया. आंटी ने मेरे हाथों को अपने हाथों से दबा लिया और अपने चूचों को दबाने लगी. मेरा लंड बड़ी तेजी से ऊपर नीचे हिलता हुआ भाभी की चूत फाड़ने को मचल रहा था.

वो मेरी चूची को मसलने के बाद अपना लंड मेरी चूत में डालने लगे और कुछ देर के बाद वो अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को चोदने लगे. मैंने ना बोला तो अंकल ने बोला- ठीक है, तुम अपने लिए चाय बना लो और पी लो. भाभी बोलीं- मेरी तरफ से तुम्हें पूरी छूट है … मेरे ऊपर चाहे जैसे चढ़ जाओ.

मैं उसके मम्मों को चूसते हुए एक हाथ उसके पजामा के ऊपर ले गया, तो देखा कि वो गीला हो गया था.

इस बार वो लंड की गोटियां चूसते चूसते गांड के छेद तक जीभ घुमा रही थी. घर के अन्दर जाते ही मैं आंटी के ऊपर टूट पड़ा और वो भी मुझ पर टूट पड़ीं.

बीएफ हिंदी में बोले मगर इस बार ये किस्सा उनके साथ चुदाई का नहीं है, बल्कि किसी और के साथ का है. तो मैंने उसी से पूछ लिया कि ऐसे में क्या करना चाहिए?उसने कहा कि अगर तुमको कोई एतराज़ नहीं हो, तो क्या मैं आज तुम्हारे साथ तुम्हारे फ्लैट पर चल सकती हूँ.

बीएफ हिंदी में बोले रसोई में नीचे बैठ कर भाभी जब कोई काम करती है तो पीछे से उनके चूतड़ मुझे आकर्षित करते रहते हैं. स्विमिंग पूल से बाहर निकल कर अपने अपने पतियों की गोदी में बैठ कर एक आध सिप मार देना उन सबकी आदत बन गयी थी.

जो लोग मुझसे मेरी चूत को चोदने की भीख मांगते रहते हैं उनसे मैं कहना चाहूंगी कि मैं अपने पति के साथ बहुत खुश हूँ.

सनी लियोन सेक्स फोटो

करते रहो मेरी जान …”मैं तेजी से उसकी चूत को पेलने लगा और पांच सात मिनट की गर्मा-गर्म चुदाई के बाद मेरे लंड ने उसकी चूत में अपना वीर्य फेंकना शुरू कर दिया. उनकी चुत का फव्वारा इतनी जोर से फटा कि मेरा लंड एक मिनट में ही आग छोड़ने को होने लगा. पंकज ने राहुल को पूछा कि वो ड्रिंक्स लेगा? असल में वो और सारिका तो नियमित लेते थे.

भाभी आँखें बंद करके मजे ले रही थी और हर झटके से उनकी बस आहें निकल रही थी और वो कराह रही थी।इस पोजीशन में करते करते मैं थक गया तो मैंने भाभी को उठाकर नीचे खड़ा कर दिया और खड़े खड़े उनको बेड पर कोहनियों के बल झुका दिया। उनकी चुत के मुंह पर लण्ड को सेट करके धीरे धीरे अंदर पहुंचा दिया और चुत ने भी अपना मुँह खोल के लण्ड को पूरा निगल लिया. उसका दोस्त भी अपना लंड पेलता हुआ कह रहा था- हां ले मेरी रंडी … आज मैं तेरी चूत का सही में भोसड़ा बना कर ही जाउंगा … तू भी आज क्या याद करेगी कि किस लंड ने आज तुझको चोदा है. मेरे ऊपर आने के बाद वो शरमाने लगी और मुझसे नजरें बचाती हुई नजरें झुकाने लगी.

एक दो मिनट बाद उसने मेरा लंड छोड़ा और बोली- यार प्रकाश, मुझे बड़े जोर की पेशाब लगी है.

मैं भी इन सब मामलों में कोई दिलचस्पी नहीं रखता था, अक्सर बाहर ही आवारगार्दी करता रहता. पवन एक कम्पनी में काम करता था इसलिए वो अधिकतर मौकों पर मुझे घर से बाहर ही मिलता था. ” महेश ने अपनी बहु को समझाते हुए कहा ।नीलम अपने ससुर की बात मानते हुए अपने बाज़ू को ऊपर करके सीधी लेट गयी। महेश ने अपनी बहू के क़रीब जाते हुए अपने मुँह को नीलम के गालों के क़रीब कर दिया।ओहहहह बेटी कितने गोरे हैं तुम्हारे गाल और यह गुलाबी होंठ.

मैंने झट से मेरा मुँह बाजू किया, तो बोली- साले हरामी इतनी जोर कोई चुत में लंड डालता है क्या … निकाल लंड मेरी चुत से … आह मुझे नहीं चुदवाना तेरे मूसल लंड से. मैं जिसको भैया समझती थी मुझ क्या पता था कि वो विवान भैया मेरे बॉयफ्रेंड बन जायेंगे और मैं उनके साथ सेक्स करुँगी. मैं भी पीछे पीछे घुस गया और मैंने रीना से कहा- साथ में नहाते हैं जान.

लेकिन जो भी हो, मुझे तो एक सेक्सी लड़की की चूत फ्री में चोदने को मिल ही रही थी. उसने सामने से मुझे गले लगाया और उसका लंड मेरे पेट पर धक्के देने लगा।अमित ने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए और पीछे से मेरे नंगे गोल कूल्हों पर हाथ साफ करने लगा, बीच बीच में वह मेरी चूत को छूने की कोशिश करता पर मैं अपनी जांघें भींच कर उसे वहाँ पर पहुँचने नहीं दे रही थी।युवराज ने मेरे स्तनों का मोर्चा संभाला और उन्हें बारी बारी से चूसने लगा.

कुछ देर तक अपने नंगे शरीर को उसके नंगे बदन पर रगड़ने के बाद मैंने उसकी जांघों के पास हाथ कर लिया. उसके बाद विनय भी मेरी चूत में तेजी से झड़ने लगा और मेरे ऊपर ही लेट गया. जब मैं चलती हूं तो लड़कों की नजर मेरी गांड पर जाये बिना रह ही नहीं पाती.

मैंने भी बदला लेने के लिए उसके साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी और उसको कब बेड पर गिरा दिया मुझे पता नहीं चला.

मैंने उससे कहा- ठीक है, फिर मैं जाता हूं।जैसे ही मैं जाने के लिए अपने कदम उठाए, उसने मेरा हाथ पकड़ लिया. चाची की गांड पहली बार गांड चुदाई के बाद आज थोड़ी ज्यादा मोटी दिख रही थी. इतना कहकर उसने अपनी ब्रा खोल दी और अपनी चूचियां मेरी छाती पर रगड़ने लगी जिससे मैं उत्तेजित हो रहा था.

फिर रात को मैंने तीन बजे के करीब एक फिर से उसकी चूत पर अपने लंड से हमला कर दिया. पर मुझे पता था कि शायद मेरे और ईशिता, जो मेरी खास सहेली है … हम दोनों के मार्क्स शायद कम हों.

मैंने वहीं अपने कपड़े उतारने शुरू दिए, क्योंकि मैं बचपन से ही बुआ से शर्माता नहीं हूं. वो भी बोल रहा था- जानेमन, जिस दिन से तेरी कहानी पढ़ी है, उस दिन से तुझे चोदना चाहता था … सच में बहुत मस्त माल है तू. बाजार में कुछ लड़के हमारे पड़ोस के भी रहते हैं जो हमेशा मुझे वासना भरी नजरों से देखते हैं जब मैं बाजार जाती हूँ.

एक्समास्टर

मेरे वहाँ पहुंचने से मेरी पत्नी और उसकी बहन बहुत खुश हो गईं क्योंकि मेरी पत्नी को अपनी बहन का साथ जो मिल गया था.

वो भी मेरे मन को पढ़ने की कोशिश कर रही थी शायद लेकिन दोनों में से ही कोई भी जाहिर नहीं होने देना चाह रहा था. मैंने कहा- जानू मुझे छोड़ कर अकेली निकल गई।तुम चोदो जानू … मन भर चोदो … मेरी बुर तुम्हारी है, जब मन करे चोद लिया करना … पर किसी से कहना नहीं।”मैं चोदता रहा. उसकी जीभ अन्दर बाहर हो रहे लंड के सुपारे को रगड़ती तो उसके होंठ सुपारे से लेकर लंड के मध्य भाग तक लंड को दबाते, लंड अन्दर जाते ही उसके गाल फूल जाते और बाहर आते ही वो पिचकने लगते।जल्द ही मुकुल राय को अपने अंडकोष में दवाब सा बनता महसूस होने लगा, उसे अहसास हो गया वो झड़ने के करीब है.

ट्रेन बहुत धीरे धीरे चल रही थी, बार बार रुक रही थी, इस वजह से ट्रेन काफी लेट हो गई. सब जोर से हंस पड़ीं क्योंकि नीता ने पैंटी पहनी ही नहीं थी और ये बात वो भूल भी गयी थी. मारवाड़ी सेक्स वीडियो नयाउस शाम के बारे में किसी ने मर्दों को कुछ नहीं बताया पर वो रात और ये शाम के वाकये ने लड़कियों को कुछ ज्यादा ही मस्त कर दिया था.

”कह कर मैंने उसके सिर को पकड़ा और अपने नाजुक होंठ उसके होठों पर रख कर उसे किस करने लगी, नितिन का पूरा बदन थरथरा रहा था, फुल एसी में भी उसे पसीना आ रहा था। उसने होश में आते ही मुझे पीछे धकेल दिया और ज़ोर से साँस लेने लगा, मैं उसके साथ पिछली सीट पर बैठी थी।ये … क्या … कर रही … हो तुम?” वह अब भी शॉक में था।ओह … पुअर बेबी … क्या तुम्हें सच में यह नहीं चाहिए. काफी देर तक उसके चूचों को चूसने और चाटने के बाद मैं नीचे की तरफ बढ़ा.

चाची- ये सब मुझसे नहीं होगा … तुम्हारे चाचा भी एक बार कहा था, मैंने मना कर दिया था. मेरा लंड उत्तेजित तो पहले ही था, अब 120 डिग्री पर पेट को लगने लगा था. वो बोली- तुम हाथ-मुंह धोकर बैठो, मैं तुम्हारे लिये खाना लगा देती हूं.

और इसका ज्यादा सही तरीका यह है कि कोई इसकी चूत पर मुंह रख कर जोर से सकिंग करें और जीभ अंदर तक डालें क्योंकि महीन रेत जीभ पर ही चिपक कर बाहर आ सकती है. मैं उनके पूरे शरीर को सहला रहा था और उनके गालों को अच्छे से चूम रहा था. कुछ देर तक उसके पाइप को अपनी गांड मरवाने के बाद मुझे कुछ राहत सी मिलने लगी थी.

गाना खत्म हुआ तो अगला गाना था:हुस्न के लाखों रंग कौन सा रंग देखोगे,आग है यह बदन कौन सा अंग देखोगे.

रगड़ते रगड़ते वो लण्ड पर बैठ गई और मेरा लण्ड डॉली की गीली संकरी गुफा में समा गया. शाम तक मैं बहुत व्याकुल हो गया, तो भाभी ने बोला- तुम 8 बजे चुपके से मेरे फ़्लैट में आ जाना.

मुझे जब इस बात का अहसास हुआ कि अनीता मेरे साथ में अकेली रहने वाली है तो मेरे मन में हवस जाग उठी. फिर रात को उसने मैसेज पर बताया कि मुझको लंड तो देखना था, पर मैं न जाने क्यों घबरा गयी थी. मैंने भाभी को अपनी बांहों में भर लिया और उनको फिर से गर्म करने लगा.

अब चूंकि शबनम ने राहुल के गले में बाहें डाल दी थी तो उसका टॉप काफी उठ चुका था. यह मेरी पहली गांड की चुदाई सेक्स स्टोरी है, जो मैं आज आप सभी के साथ साझा कर रहा हूँ. कमरे में अन्धेरा हो गया लेकिन अनीता के कमरे की हल्की रोशनी अभी भी इधर आ रही थी.

बीएफ हिंदी में बोले उसने मेरी गर्ल फ्रेंड के बारे में पूछा, तो मैंने अपने 6 साल के रिलेशन के बारे में उसे बताया. कुछ मिनट ऐसा करने के बाद मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और हाथ उसकी पैंटी पर रख दिया.

गुड नाइट भेजने के लिए

वो बोला- चल मैं घर में सबको बता दूंगा कि तू अपने कमरे में क्या कर रही थी. कभी ये वाली, कभी वो वाली, मैंने उसकी दोनों चूचियां चूस चूस कर लाल कर दीं. उनकी लंबी चीख निकल गई- आआआआह … साले भोसड़ी के मार देगा मुझे … निकाल इस मूसल को … मेरी चुत फट रही है.

शबनम ने फुसफुसाकर कहा- जीजू ये नीचे क्या हो रहा है … कुछ तो सब्र करो. इस पर उसने फिर से पूछा- ये लौड़े लगना मतलब क्या हुआ?अब उसको क्या बताऊँ? मैसेज पर बात करते हुए ही मेरा लंड खड़ा होने लगा था. సెక్స్ బిఎఫ్ తెలుగుसोचने लगा कि चुदाई का मौका मिलना तो मुश्किल है लेकिन मुठ मारे बिना ये लौड़ा मुझे सोने नहीं देगा.

जब वह तेज़ी से उसकी गांड पर चांटा मारता तो बाहर तक आवाज़ आ रही थी। उसने उस काली रांड की खूब चीखें निकलवाईं.

मैं कहानी में शायद ये न बता पाऊँ कि मैं कितनी देर किस किया, कितनी देर ओरल किया और कितनी देर शॉट लगाये।बस मेरे लिए मेरी और मेरे पार्टनर की तृप्ति ही सर्वोपरि होती है।आइये ज्यादा बोर न करते हुए आपको अपनी देवर भाभी की कहानी पर ले चलता हूँ। मैं पुणे के खराड़ी एरिया में रहता हूँ यहीं मेरा ऑफिस भी है।मेरे दूर के रिश्ते के भैया भाभी भी इसी एरिया में रहते हैं. फिर उसने अपना हाथ बढ़ा कर मेरी चुत पर रख दिया और चुत पर हाथ घुमाने लगा.

अब तो धमाचौकड़ी सी मच गयी … बोतल को एक तरफ फेंक सब एक दूसरे के कपड़े उतारने में लग गयीं … बेड पर मानो भूचाल आ गया … तकिये सब नीचे जा गिरे. फिर मर्ज़ी उसी मर्द की होती है कि वो लड़की की चुदाई कितने टाइम तक करता है. पंकज ने सारिका की गांड के नीचे तकिया लगा दिया जिससे सारिका कि चूत ऊपर उठ जाये.

इसमें हालाँकि ऐसा कुछ अलग नहीं था, लेकिन फिर भी उसको महसूस हो रहा था.

कारण पूछने पर बताया कि पति को इस बात का भरोसा दिलाना पड़ेगा कि मैंने शिवा से बच्चा पा लिया है. मैं कहानी में शायद ये न बता पाऊँ कि मैं कितनी देर किस किया, कितनी देर ओरल किया और कितनी देर शॉट लगाये।बस मेरे लिए मेरी और मेरे पार्टनर की तृप्ति ही सर्वोपरि होती है।आइये ज्यादा बोर न करते हुए आपको अपनी देवर भाभी की कहानी पर ले चलता हूँ। मैं पुणे के खराड़ी एरिया में रहता हूँ यहीं मेरा ऑफिस भी है।मेरे दूर के रिश्ते के भैया भाभी भी इसी एरिया में रहते हैं. पति ने चलते हुए ही अपना लंड दो-तीन बार मेरी गांड पर लगा कर ये बता दिया था कि आज मेरी गांड की चुदाई जमकर होने वाली है.

हिंदी सेक्सी hdफिर मैंने अपनी वाइफ से कहा- जानू आज अंजाने में हमसे एक ग़लती हो गई. ये कह कर उसने एक लार्ज पैग बना दिया और उसे कोल्ड ड्रिंक से भर दिया.

40+ desi dehati आंटी xxx फोटो full hd

अब तक मेरा लंड अपना पूरा आकार लेकर अनिता की मखमली गांड को सलामी दे रहा था. मैं थोड़ी देर तक उसकी गांड चोदता रहा औऱ अपना सारा पानी उसकी गांड में निकाल दिया. कुछ मिनट के धक्कों के बाद मैंने भाभी के साथ उनकी चूत में ही अपने वीर्य की बाँध को बहने के लिए छोड़ दिया.

अनीता ने मेरी लोअर में तने हुए मेरे लौड़े की तरफ सरसरी निगाह से देखा और फिर मेरे चेहरे से टपक रही हवस को पढ़ने की कोशिश करते हुए कहने लगी- हां, बस खाना तैयार होने ही वाला है जीजा जी. बातों बातों में अंजू बोली- मामा आपकी गर्लफ्रेंड की कोई बात बताओ ना?मैंने कहा- अरे … मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं. अब तक उसकी चुत गीली हो चुकी थी और उसने मेरा बरमूडा भी उतार कर साइड में कर दिया था.

क्या मस्त चूचे थे उसके, बिल्कुल गोल-गोल और टाइट।अब मैं उसके दोनों दूधों को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा और वो इसका मजा लेने लगी. हालांकि मैं पहले, पहल नहीं करना चाहता था कि शायद मैं ग़लत न होऊं और बेकार में दोस्त के घर पर बदनामी हो जाए. मैंने भाभी को लेकर नीचे ही लेट गया और भाभी ने मेरे लंड को गले तक लेकर चूसना चालू कर दिया.

मैंने जीभ थोड़ी और अंदर कर दी और उसकी सिसकारियाँ और तेज़ होने लगीं. पर आज राहुल को डिनर के लिए बोलने से पहले रजनी ने विजय से फोन करके पूछ लिया था कि वो समय से आ जाएगा.

फिर मैंने वो रूम भी छोड़ दिया और उसके बाद से अब तक मैं दोबारा मुठ मारकर अपनी हवस को शान्त कर रहा हूं.

रात को 2 बजे के करीब मेरी आंख खुली तो मैंने देखा कि मेरा हाथ प्रिया की जांघों को बीच में दबा हुआ है. हिंदी फिल्म वीडियो सेक्सी फिल्ममुझे लगने लगा था कि वो 3-4 लड़कियों को एक साथ खुश करने की ताकत रखता है. सेक्सी वीडियो रिकॉर्डिंग एचडीफिर मैंने अगले दिन मॉम से पूछा कि क्या डैड की हरकत से आप परेशान नहीं होतीं. मैंने उसकी चूत के नीचे तकिया लगा दिया, जिससे उसकी चूत और ऊपर की ओर उठ गई.

अनिल ने अब तक जिन चूचियों को कपड़ों के ऊपर से ही घूरा था आज वो उसकी आंखों के सामने बिल्कुल नंगे थे.

मैं चाहता तो सुमिना से बहाना बनाकर काजल के बारे में पूछ सकता था लेकिन एक बड़ी बहन और उसके छोटे भाई के बीच मर्यादा की दीवार सी थी जिसको लांघने के लिए अभी आकर्षण के और अधिक प्रबल वेग की आवश्यकता थी. एक दो मिनट बाद उसने मेरा लंड छोड़ा और बोली- यार प्रकाश, मुझे बड़े जोर की पेशाब लगी है. उसने मुझसे भींचते हुए जवाब दिया- मैं तुमको महसूस करना चाहती हूँ … प्लीज मेरे अन्दर ही रस छोड़ दो.

मैंने चाची के चूचों के बीच में अपना लंड दे दिया और उनके चूचों की ही चुदाई करने लगा. चार या पांच पिचकारियों में मैंने अपने वीर्य की थैली उसकी चूत में खाली कर दी. तभी मेरे कमरे का दरवाजा खुला और साक्षात अप्सरा समान मेरी भाभी इठलाते हुए रूम में अन्दर आ गईं.

पुना सेक्स

फिर एक दिन की बात है कि दोपहर के समय में मैं अपने दोस्त के घर गया हुआ था. मैंने अपनी पढ़ाई कम्प्यूटर्स में की थी, इसलिए मुझे कॉलेज में टीचर की नौकरी मिल गयी थी. मैंने संजना के घर जाने के बारे में सोचा ताकि उसके बेटे से भी मिल लूंगा और उसको थोड़ा सहारा भी मिल जाएगा.

इसके लिए आपने मुझे जो मेल भेजे और सेक्स कहानी को लाइक किया, उसके लिए आप सभी का धन्यवाद.

उसने अपने दोनों हाथों से नीलम के चेहरे को शेल्फ पर दबा रखा था।नीलम के स्तन शेल्फ से लग कर पिचक रहे थे.

उसकी चोदन की सहमति पाते ही मैंने एक शॉट में ही अपना आधा लंड उसकी चुत में डाल दिया. फिर मां बोली कि आदी को भी हम घर पर छोड़ देंगे ताकि तुम अकेली न रहो. नेपाली सेक्स वीडियोमैंने थोड़ा सा धक्का दिया जिससे टोपे का थोड़ा ही हिस्सा गांड के अंदर जा पाया और संजना की चीखें निकल गयीं और वो रोने लगी। मैंने उस पर रहम करने के लिए जैसे ही लौड़े को निकालना चाहा तभी संजना बोली- जान, मैं कितनी भी रोऊँ या चिल्लाऊं मगर तुम अपना काम पूरा करना। मुझे जितना भी दर्द हो, मैं तुम्हारे लिए सब कुछ सह लूंगी। बस तुम मुझे आज हर छेद से चोद कर छलनी बना दो.

मैं थोड़ा मजाकिया टाइप का हूँ, इसलिए जब मैंने भाभी को अपना परिचय दिया, तो मैंने भाभी को मजाक में उनके कान में यह कह दिया कि भाभी आप बहुत ही सुंदर हो, मेरा बस चले तो, मैं ही आपके साथ सुहागरात मना लूँ. mp3इससे पहले कि मैं उसको कुछ कहती उसने मुझे पकड़ कर किस करना शुरू कर दिया. तभी मैंने एक धक्का दे दिया और मेरा मूसल लंड थोड़ा सा आंटी की चूत में घुस गया.

झड़ने के बाद जब उसका पानी निकल गया तो योनि में लंड के चोदन करने से पच-पच की आवाज होने लगी. प्रिया मुझे देख रही थी और मेरे गुस्से को भांप गयी। वो उठकर मेरे पास आ कर खड़ी हो गयी और मेरी बांह पकड़ कर अपना सर मेरे कंधे पर रख लिया.

चाची- ज़ीशान ये क्या कर रहा है तू? मैंने तुमको कितना मासूम समझा था और तुम दीदी … ये सब क्या है? इसके साथ ऐसा करने में आपको जरा भी शर्म नहीं आई.

नीलम नहीं चाहती थी कि किसी को कुछ पता चले, इसलिए उसने अपनी चूत पर लंड की छुअन के बाद भी अपने चेहरे हाव-भाव को सामान्य ही बनाये रखा जैसे उसके साथ कुछ हो ही न रहा हो. मैंने स्पीड बढ़ाते हुए 4-5 धक्कों में अपना सारा माल भाभी के मुँह में डाल दिया और वो बड़े प्यार से उसे पी गईं. स्वरा ने सिगरेट बुझा कर अपना सिर मेरी गोद में रख दिया जो सीधा मेरे लंड पे लगा.

मामा मटका उसने सागर को बाद में बता भी दिया कि उसको कोई चोट नहीं आई थी, वो सब उसका लंड लेने के लिए ड्रामा था, जिसमें वो पूरी कामयाब रही. मैं समझ गया कि मामला कुछ और ही है। ये भी शायद कुछ चाहती है।मगर फिर अगले ही पल आंटी ने नेहा को फोन करके बुला लिया.

उसने हल्के से मेरी चूत पर एक किस जड़ा तो मेरा रोम रोम मचल गया।आह … भाभी … कितनी सेक्सी हो आप …” अमित मेरे पैरों को अपनी बाँहों में जकड़ते हुए बोला।अमित का शरीर भी कसरती था, उसके सीने पर और पीठ पर घने काले बाल थे।मैं उन दोनों नंगे पुरुषों के बीच में नंगी खड़ी थी. कोई 15 मिनट बाद फिर हम दोनों बेड से उठे, देखा तो पूरी बेडशीट में मेरा खून निकला हुआ था. अब बीवी उसके मायके जा चुकी थी, तो मैं हर रविवार को उसे मिलने और हाल-चाल पूछने चला जाता था.

दारू पी के डांस करे डांस करे डांस करें

मैंने दीदी की चूत पर लंड को लगाया और अंदर डालने की कोशिश करने लगा लेकिन लंड अंदर नहीं जा रहा था. वो मुझसे प्यार करने लगी थी और मेरा पूरा साथ देते हुए मेरे लंड से अपनी चूत को चुदवाती थी. मैंने सोचा कि वो किसी और से प्यार करती है, फिर भी मेरे कहने पर मुझसे चुदने आ गयी.

अचानक भाई ने जोर से लंड को मेरी चूत में दोगुनी ताकत से धकेलना शुरू कर दिया. वो मुझे लंड निकालने के लिए कहने लगी लेकिन मैंने उसकी चूत में धक्के लगाने बंद नहीं किये.

मैंने उससे पूछा- पहले कभी लंड देखा है?उसने कहा- हाँ मूवी में देखा है.

उसे पटाने के लिए मुझे 3 महीने मेहनत करनी पड़ी थी, तब जाकर वो लाइन पर आई थी. तब मुकुल राय का का लंड परीशा की कुँवारी गांड को फाड़ने के लिए तैयार हो जाता है।मुकुल राय- बेटी, पहले तेरी गदराई गांड से तो जी भर के प्यार कर लूँ।वो बस देखने लगता है अपनी बेटी के गान्ड की खूबसूरती … उफफ्फ़ … क्या नज़ारा था. वो दर्द के मारे मेरे होंठों को जोर से काटने लगी और चेहरा इधर उधर करने लगी.

उसकी जीभ अब सिर्फ सुपारे पर ही नहीं बल्कि उसके आस पास तक घूम रही थी. मैं और मोहनीश एक दूसरे से बहुत खुलते गए और हम दोनों की बातें सेक्स वाली होने लगी थी. मैं आज तक भी नहीं समझ पाया हूँ कि वो कुणाल का लंड लेकर ज्यादा खुश होती थी या काजल की चूत चूस कर।मगर अब तो उसकी शादी हो गई है और उसके दो बच्चे भी हैं.

कुछ पल चूत लंड पर रगड़ने के बाद डॉली उठी, ड्रेसिंग टेबल पर रखी क्रीम की शीशी लाई और ढेर सी क्रीम मेरे लण्ड पर चुपड़ कर उस पर बैठ गई और पूरा लण्ड अपनी गुफा में ले गई और उचकने लगी.

बीएफ हिंदी में बोले: कुछ देर बाद मेरा फिर से हो गया और मेरी चुत में भी दर्द होने लगा था. जब वो हमारे पास से गुजर रही थी तो उसने खुद ही सामने से हमें हैलो बोला.

दो घन्टे निकल गए उसी कॉफी शॉप में!करीब डेढ़ महीने बाद जाकर मुझे उसका नाम पता चला, जैसी वो वैसा ही उसका नाम था उपासना। जैसी उसमें एक अलग सी कशिश थी वैसा ही उसके नाम में था। मुझे तो बस ऐसा लग रहा था कि सुबह, शाम, रात, दिन बस उसी कि उपासना करूँ।अब हमारे अलग होने का समय आ गया था, उसने चलने को कहा. नीता ने बताया कि आज घर पर कोई नहीं है, तुम लोगों को जितना कमीनापन करना हो कर लो!सब हंस पड़ीं … नाश्ता करने के बाद सभी हॉल में पसर गयीं … पेट भर गया था और मस्ती हावी हो रही थी. उसने दरवाजा खोल कर मुझे अन्दर आने को नहीं कहा … बल्कि खुद भी बाहर आकर अपने घर के दरवाजे पर ताला लगा दिया और फिर मुझे पीछे वाली गली से ले जाकर पिछले दरवाजे से अन्दर करके दरवाजा अन्दर से बंद कर लिया.

उन्होंने मुझे चूम कर सहमति दी और मेरे लंड को अपने मुँह लेकर चूसने लगे.

अब मैंने अपनी बहन सुमन के साथ अपने भाई से चूत चुदवाने के प्लान बनाने की सोची. राहुल ने देखा कि रीमा तो सलवार सूट पहने है, उसने हंस कर कहा- या तो आप फ्लोट कर सकती हैं या आपका सूट. लेकिन उसकी बातों से मुझे लग रहा था कि वो चुदाई करवाने के लिए बेताब सी थी क्योंकि उसको भी मेरी तरह ही चूत चुदाई करवाने का बहुत शौक है.