हनीमून बीएफ

छवि स्रोत,पानी जल्दी निकल जाता है उसकी दवाई बताओ

तस्वीर का शीर्षक ,

चाची भतीजे का बीएफ: हनीमून बीएफ, जा जल्दी उनको अन्दर ले आ … और साली छिनाल तू यहीं रुक, मैं अभी आकर तुझे रगड़ता हूँ.

सोनम कुमारी

मैं अपनी क्लास से बंक मारकर कभी कभी उसकी क्लास के सामने खड़ा रहता और उसका इंतज़ार करता रहता. मोहम्मद सेक्सी वीडियोजब उससे रहा न गया तो उसने मुझे बेड पर पटका और मेरी टांगों को अपने कंधों पर रख लिया.

एक बार जब मैं उसके साथ स्लीपर बस में दिल्ली से जम्मू आ रहा था तो मैंने उसके बदन को सहलाना शुरू कर दिया. ऐक्स ऐक्ससभी दोस्तो को मेरा प्रणाम। मैं शुभम कपूर एक बार फिर आपके सामने इंडियन भाभी सुहागरात Xxx कहानी लेकर प्रस्तुत हूं। दोस्तो, मेरी पिछली कहानीमेरी बहनों की चूत चुदासआपने पढ़ी थी।उसके उपरांत आपके ढेरों ईमेल मुझे मिले.

भाभी की चीख़ फिर से निकल गयी- उइ मां मार दिया साले ने … फाड़ दी मेरी गांड!पारो भाभी दर्द से तड़पने लगीं.हनीमून बीएफ: हम लोगों ने हाथों में हाथ लिया और वहीं मार्केट में पास ही एक कॉफी शॉप में चले गए.

मैंने एक मुस्कुराने वाली स्माइली के साथ चुम्बन वाली इमोजी भी भेज दी.मैंने बाद में उसे अपना डिल्डो दे दिया कि कभी इससे भी मज़ा ले लिया करना.

बड़ी बड़ी चूत - हनीमून बीएफ

धीरे से मैंने मौसी के बूब्स पर हाथ रख दिया और उनको हल्के हल्के से दबाने लगा.उसकी चूत से पानी रिसना शुरू हो गया था और मुझे उसका गीलापन हथेली पर लगने लगा था.

जब वो मेरे निप्पल चूस रहा था तब मेरा मन कर रहा था कि मैं उसे अपने सीने से एकदम चिपका लूं. हनीमून बीएफ लड़कियों के मुस्कराहट में पता नहीं क्या जादू होता है कि हर लड़का उस अदा पर मर मिटता है.

करीब दस मिनट के बाद मम्मी भी झड़ गईं और मैं अपने कमरे में आकर सो गया.

हनीमून बीएफ?

वो झुक कर काम कर रही थी, तो नंगी भाभी की मोटी गांड का छेद मेरे सामने चौड़ा हो गया. अगर हो भी जाये तो बाहरी दुनिया में ये सब एक दूसरे को देखने और फिर लाइन मारने और फिर दोनों तरफ ही सेक्स की आग लगने के कारण होता है. मैं अब अनचाहे ही उनके होंठ चूसने लगी थी और मेरे हाथ उनकी पीठ पर सहलाने लगे थे.

उनके मुँह मेरे होंठों की वजह से बंद था तो जब भी मैं उनकी गांड में उंगली करता, उनकी सिसकी मेरे मुँह में ही घुट कर रह जाती. वो पूरा लंड मुँह में गले तक उतार रही थी और ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी. चाची बोलीं- हां अब डालो अपना लंड इस चूत में!मैंने भी अपना लंड चाची के चूत में डाल दिया और चाची को पेलने लगा.

उसकी आहें और तेज़ हो गईं और वो मेरी छाती पर अपने नाख़ूनों से नोंचने लगी।इस तरह से चुदते हुए कुछ देर में वो झड़ गई और मैं उसको अपनी गोद में बिठा कर चोदता रहा। थोड़ी देर की चुदाई से वो फिर गर्म हो गई और फिर से मेरा साथ देने लगी। इस बार मैं नीचे लेट गया और वो मेरे ऊपर चढ़ कर लंड पर कूदने लगी. इसने आज तक कभी सेक्स नहीं किया है इसलिए आपको इसकी चूत की सील भी तोड़नी है. मैंने बहू का पल्लू अपने पैर से दबा लिया और फोरप्ले करते हुए राउंड लगाते हुए उसकी पूरी साड़ी खोल दी.

वो मेरा सिर और जोर से चूचियों में दबाने लगीं और अपनी जांघों को चिपकाने लगीं. ओल्ड लेडी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कम्पनी की ओर से मैं विदेश गया तो मेरा दिल वहीं बसने को हो गया.

मैं उसे चूमते हुए नीचे आने लगा, तो उसने मुझे चूत पर जाने से रोकना चाहा.

अब मैं स्खलित होने से पहले प्यासी भाभी की गोरी चुत में लंड डालने का भी काल्पनिक आनंद लेना चाहता था.

उसकी इस बात से मैं समझ गया कि मेरी सेक्सी बहू चुदने के लिए मचल रही है. इस तरह बाहर से कोई आया भी तो उसको मैं नहीं दिखाई दूंगी और मज़े से आपका लंड भी चूस लूंगी. वो मेरी गर्दन को चूसने लगी, फिर मेरे निप्पलों की अपने मुँह में डालकर उनको काटने लगी … चूसेने लगी.

अब उसकी चूत में मेरा लंड चोद रहा था और उसकी गांड में मैं उंगली को अंदर बाहर कर रहा था. चूंकि मैं एक बार झड़ चुकी थी तो मुझे अब कुछ ज्यादा ही मजा आने लगा था. मुखिया- उहह उहह ले छिनाल … आह अब जल्दी से अपनी ननद को ले आ … उसकी चुत का मुहूर्त मेरे लौड़े से ही होना चाहिए.

मुखिया जी ने गाँव के नए डॉक्टर के लिए पहले से सब इंतजाम करवा दिया था.

उसके बाद उन्होंने उठ कर मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसा और झाड़ दिया. वो घबराए हुए स्वर में बोली- चूऊऊहाआ …इतने में चूहा भी भाग चुका था, लेकिन फिर भी वो मेरे पास चिपकी रही. बाहर एक गधा एक गधी पर चढ़ा हुआ उसको दे दनादन चोद रहा था और देखने वालों की भी कोई कमी नहीं थी.

जब मैं बेकाबू हो गया तो मैंने उसके सिर को पकड़ कर जोर से अपने लंड पर दबा दिया. अचानक हुए इस हमले से उसके मुंह से गाली निकल गयी- आऊच … मादरचोद, आराम से।उसकी इस गाली ने जलती आग में घी का काम किया. मैंने मिनल से कहा कि वो कुछ दिन अपनी मां के यहां चली जाए ताकि इन सब लफड़ों से उसको सुकून मिल सके.

सब तैयारी करके मैंने एक साड़ी चुन कर उन्हें दिखाई, तो वो बोले- साड़ी तो ठीक है, पर ब्लाउज थोड़ा मार्डन होना चाहिए.

[emailprotected]टीनएज रोमांस लव स्टोरी का अगला भाग:शादी के बाद मेरी सुहागरात चुदाई की कहानी- 2. मैं ये फीलिंग बता नहीं सकती कि मुझे अपने मोती के मोटे लंड से चुदने में कितना अधिक मजा आया था.

हनीमून बीएफ जब से मैडम की चुत देखी थी, तब से ही मुझमें ठरक आ गई थी … जो आज भी है. फिर मैंने कहा- तुम इस लाइन में कैसे आ गयी? तुम्हारी चूत भी काफी खुली हुई है, लगता है काफी खेली हुई हो।वो बोली- मैंने 18 की उम्र में ही सेक्स कर लिया था.

हनीमून बीएफ कुछ देर के बाद मुझे अहसास हुआ कि रवीना का पैर मेरे पैर के ऊपर है और रवीना एक पैर से मेरे पैर को टटोलने की कोशिश कर रही है. उसने भी इतनी जल्दी ब्लाउज उतारा था कि मुझे अपने स्तनों को छुपाने का मौका भी नहीं मिला.

तुम फोन पर यह सब इतना गंदा सेक्स मुझे बताते हो, मैं आज असली में तुमको वो सब मजा दूंगी.

जवाहर सर्किल जयपुर

फिर मैंने अपनी पॉकेट से एक कंडोम निकाला और अपने लंड के ऊपर चढ़ा दिया. साले कुत्ते … कितनी बेरहमी से चोदता है … आई अम्मी … मर गयी … आह्ह … चोद अब हरामी।वो गाली देते हुए चुदती रही. ना ही उसने ब्रा या ब्लाउज पहना था … और न ही उसने पेटीकोट और पेंटी को पहना था.

[emailprotected]गर्लफ्रेंड की चुदाई हिन्दी में कहानी का अगला भाग:एक्स-गर्लफ्रेंड के साथ दोबारा सेक्स सम्बन्ध- 5. जिन्होंने मुझसे उनके सुहागरात के किस्से को शब्दों में पिरोने का कहा, तो मैंने भी उनके आग्रह को स्वीकार करते हुए ये सेक्स कहानी लिखी है. मैं भी अलग हो गया और उससे कहा- अब इस पिस्टन का क्या करूँ? इसे भी शांत कर.

अभी भी मेरे नीचे के हिस्से में कपड़ों की दीवार थी, लेकिन उसे मेरे लंड का अहसास हो गया था.

सेक्स चैट में हम दोनों रोमांस से लेकर लंड चुसाई, चुत चुसाई, गांड मारना, चुत में लंड पेलना ऐसी बहुत सारी बातें करने लगे थे. आपको भाभी की कुंवारी बहन संग सुहागरात की कहानी कैसी लग रही है इसके बारे में अपने कमेंट्स जरूर दें. जैसे ब्लू फिल्मों रंडियां चुदती हैं वो बिल्कुल ऐसे ही चेहरे बना रही थी और उन्हीं की तरह रांड वाली आवाजें कर रही थी.

तभी पता नहीं उनको एकदम क्या सूझा कि उन्होंने अपने हाथ से अपनी पैंटी उतार दी और मुझे उल्टा अपने ऊपर लेटने को कहा. चाची मुझसे लिपटी रही और कहने लगीं- जाना नहीं होता, तो मैं तुमको अभी खा जाती. मैंने देखा कि दानिश की अम्मी बेड पर चित लेट कर अपनी चुत में उंगली कर रही थीं.

और मेरा दिल कर रहा था कि अब विनी मेरी योनि को अच्छे से मसल डाले और इसमें दो उंगलियां घुसा कर तेजी से अन्दर बाहर करती रहे. तभी दरवाजे पर से एक आवाज आई- ये क्या हो रहा है?हमने देखा तो एक आदमी सामने खड़ा था.

मेरी शर्ट-पैंट उतरवा कर फिर मेरी चड्डी के ऊपर से लंड को पकड़ कर सहलाने लगी. मैंने उससे पूछा- ऐसा क्यों करवा रही हो … तकिये का क्या काम है?उसने बताया मेरी गांड बहुत गोल और भारी है. लंड चूसते हुए उन्होंने मुझे थोड़ी बादाम दिए और बोलीं- लो तुम ये ड्राई फ्रूट्स खाओ.

पहले वो पैंटी को निकाल देती थी और बाद में फिर धोकर उसको सुखाया करती थी.

ये राउंड 10-15 मिनट तक चला।मैं शेखी नहीं मारूँगा कि दो घंटे तक मैं चोदता रहा। उस दिन हमने जमकर मज़े किए। यहाँ तक कि जब अंजू ने ख़ाना बनाया तब भी वो नंगी ही थी. मैंने अपने कमरे में पहुंचते ही सारे कपड़े उतार दिए और सिर्फ अंडरवियर में बेड के ऊपर गिर गया. ”काफी सोच विचार के बाद सुनील जी और उनका परिवार इस प्रस्ताव पर सहमत हो गया.

वो दर्द की वजह से मुँह को खोल कर और आंखें बड़ी करके मेरी तरफ़ देख रही थी। अंजू के हाथ मेरी छाती पर थे जो मुझे पीछे धकेल रहे थे. ये कह कर वो सबसे ऊपर वाली बर्थ पर चला गया और थोड़ी देर में खर्राटे लेने लगा.

मेरी पढ़ाई अभी पूरी नहीं हुई है। मैं दिल्ली में अपनी सहेली के साथ रहती हूं जिसका नाम कृति है। हम दोनों सहेलियां किराये के एक छोटे से घर में रहते हैं।मेरा फिगर 32-28-32 का है। मेरे कॉलेज में सभी लड़के मुझसे दोस्ती करने को मरते थे मगर मेरा दिल किसी पर नहीं आया था। मैं किसी को भाव नहीं देती थी. अभी तो बाल बाल बच गए। अब जाइये यहां से।मैंने उसे दिलासा दिया कि कुछ नहीं होगा, तुम डरती बहुत हो।वो चुप हो गई।मैंने पर्दे को थोड़ा हटाकर बाहर झांका तो वहां कोई नहीं था. जब मैंने नीचे की ओर झुक कर उसका चेहरा देखने की कोशिश की तो देखा कि उसका पूरा चेहरा लाल हो गया था.

छोटू दादा दिखाएं

हम पूरा दिन कैंटीन में बैठने से लेकर पार्किंग में गप्पें लड़ाते रहते थे.

कालगर्ल सेक्स स्टोरी पर सुझाव देने के लिए मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]कालगर्ल सेक्स स्टोरी का अगला भाग:कालगर्ल की गांड मारी. उसकी गर्दन को मैंने नीचे किया और मैंने अपना लंड रवीना के मुंह में डाल दिया. मैं बोला- बताओ, क्या प्लान है?वो बोली- कल तुम आते टाइम नींद की गोली ले आना.

मैं समझ गया था कि चाची में आग लगी है और ये भी भांप गया था कि बारिश तो पहले हो गई, पर अब बिजली भी जरूर गिरेगी. करीब पांच मिनट बाद जब मैंने लौड़ा निकाला, तो वह जोर जोर से हांफने लगीं. आवाज को साफ कैसे करेडॉक्टर अंकल ने उनको देखा और चेकअप करने के बाद बोले कि इनकी आंतों में थोड़े से अल्सर हैं, मुझे ऐसा डाउट है। इनको मेरे क्लीनिक पर लाना पड़ेगा.

बड़ा ही नमकीन स्वाद था अंगिका की चूत के पानी का।मेरे लगातार चाटने से अंगिका अपना आपा खोये जा रही थी और मैं अब चाटता हुआ उसकी चूत पर पहुंच गया. हुआ यूँ कि भाभी नीचे बाथरूम में नहा रही थीं और भाभी की आदत थी कि नहाने के बाद वो कपड़े सुखाने छत पर आती थीं.

अब मैं आपको अपने परिवार के बाकी सदस्यों के बारे में भी बता देता हूं. क्योंकि अगर किसी साठ साल के मर्द को काजल अग्रवाल जैसी सेक्सी औरत को चोदने का मौका मिल जाएगा, तो वो जीवन में कभी भी नहीं भुला सकेगा. मैंने सोचने लगी- कमीना खुद ही पैसा खाकर बैठा है और मुझे चूतिया बना रहा है, मगर मेरी रिश्वत के आगे सब तरह की घूस फेल हैं.

वो मेरी चूचियों पर टूट पड़ा और उन्हें जोर जोर से दबाते हुए चूसने लगा. मैंने तागों को और ज्यादा फैलाया और उनकी चूत में अपनी जीभ डालकर चूत का रस चाटने लगा. मेरा बायां हाथ उसकी गरदन के नीचे था और दूसरा उसके पेट के सूट के ऊपर था.

वयस्क कहानियां लिखना मेरा प्रिय शौक है; कुछ सच्ची कुछ मन की मौज यानि के कपोल कल्पित भी लिखता हूं.

उन्होंने कहा- वो क्या है?मैंने कहा- एक घंटे में सब आपके सामने होगा. सुषमा मैडम ऊपर खड़ी हुईं और अपने बड़े बड़े मम्मों को बाहर निकाल कर कहने लगीं- तुम क्या इनसे प्यार नहीं करोगे?उन्होंने मेरा मुँह पकड़ कर अपने मम्मों में दबा दिया और कहने लगीं- तुमको इन मम्मों का प्यार नहीं चाहिए?मैंने कहा- हां मैडम … मुझे आपका और इन प्यारे मम्मों का प्यार चाहिए.

सेक्सी गांड में लंड कहानी में पढ़ें कि मेरी बिल्डिंग में रह रही कॉलगर्ल की चुदाई का मुझे मजेदार अनुभव मिला. मेरी इस मदमस्त सेक्स कहानी के पिछले भागबहन से शादी करके सुहागरात मनायी- 1में आपने पढ़ा था कि मैं अपनी बहन श्वेता के साथ शादी रचाने लगा था और हम दोनों अपने सुहागरात वाले कमरे के बाहर अग्नि के फेरे ले रहे थे. दोस्तो, मेरी सरिता चाची की चूत और गांड चुदाई की कहानी पढ़ कर आपको कैसा लग रहा है.

मैं बोला- पहली बार में लड़की की सील तोड़ने के लिए थोड़ा दर्द उसको देना ही पड़ता है. उसने इठलाते हुए लिखा- हां पापा, आज तक मुझे इस तरह दुनिया में किसी ने नहीं देखा. रोहन ने फिर से धक्का मारा और अपना पूरा लंड मेरी गांड के अन्दर पेल दिया.

हनीमून बीएफ मेरा पूरा लंड उसके मुँह में घुस गया और वो मजे से लंड को चूस रही थी. बस मैंने अपना सारा लावा उनकी चुत में उड़ेल दिया और हांफते हुए उनके ऊपर ही ढेर हो गया.

ब्लू पिक्चर ओपन सेक्सी वीडियो

थोड़ी देर एक दूसरे को किस करने के बाद हम लोगों ने अपना शरीर साफ किया और बेडरूम में आ गए. लेकिन सच में बता रही हूँ जब अंकित ने पहली बार मेरी गांड मारी तो मुझे भी बहुत मज़ा आया. वो बोली- मेरे प्यारे लंड वाले प्यारे चोदू भैया … आपको जैसे भी, जो भी करना है … करो.

जब मर्द मेरी उभरी हुई चूचियों को लालच भरी निगाहों से देखते हैं, तो मेरा रोम रोम प्रफुल्लित हो उठता है।खैर आती हूं वापस कहानी पर!मैंने उसे देखा, और अचानक से मेरे हृदय मेंकाम की ज्वालाजग गई. मैं- क्या करूं अंकल आपकी बेटी है इतनी मस्त और हॉट कि इसकी चुत में से लंड निकलने का नाम ही नहीं लेता. सेक्सी उत्तर प्रदेशपर कोई फायदा नहीं, इसी बीच उसने मेरा बायां स्तन कुर्ती के ऊपर से ही अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगी.

फिर एक दिन दीपावली से एक हफ्ते पहले फ्राइडे के दिन उसने मुझसे कहा- क्यों ना आज हम दोनों नाइट आउट करें, पार्टी करते हैं.

तभी मैंने उसकी गर्दन पर हाथ डालकर अपनी ओर खींचा और होंठों पर होंठ रख दिए।मैं उसके होंठों को जोर से चूसने लगा और अब वो मेरा पूरा साथ दे रही थी. अन्तर्वासना का भाषा स्तर और शैली मुझे काफी पसंद है, जिसके लिए मैं अन्तर्वासना का आभार व्यक्त करता हूँ.

मुझे डाउट हो गया कि यार ये शादीशुदा है भी या नहीं? बूब्स देख कर तो यही लग रहा था कि अभी तक कुँवारी है ना कि शादीशुदा? खैर, मैं उनके बूब्स पर एक भूखे भेड़िये के जैसे टूट पड़ा और एक बोबे को मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरे को दूसरे हाथ से दबाने लगा. आपको मेरी हॉट सेक्स मॉम स्टोरी कैसी लग रही है? प्लीज़ मेल करके जरूर बताना. अगर हो भी जाये तो बाहरी दुनिया में ये सब एक दूसरे को देखने और फिर लाइन मारने और फिर दोनों तरफ ही सेक्स की आग लगने के कारण होता है.

मैडम मुझे देख कर बोलने लगीं- विक्की क्या तुमको जलन हो रही है?मैंने मैडम से बोला- ज्यादा नहीं हो रही है.

फिर उसने अपने चुचों को रसमलाई के रस से भिगोया, जिसे मैंने उसकी चुचियों को दबा दबा कर चाटते हुए साफ किया. उसके बाद रवीना ने खाना बनाया और हम खाना खाने के बाद बेड पर लेट गये. इधर मैं भी अपने लंड से पूरी स्पीड में उसकी चुत का भोसड़ा बना रहा था.

कमाठीपुरा सेक्स(मैंने अपने दोस्त से बात करके रूम का जुगाड़ पहले ही कर लिया था)अब मैं आपको हिमानी के फीगर के बारे में बता दूं. मैं- भाभी आपको एक बात बोलूं, आप बुरा तो नहीं मानोगी!सुनयना भाभी- हां बोलो, नहीं मानूंगी बुरा.

भोजपुरी गाना सेक्सी वीडियो

लड़कियों के मुस्कराहट में पता नहीं क्या जादू होता है कि हर लड़का उस अदा पर मर मिटता है. देर न करते हुए मैंने भी उसके कूल्हों के नीचे तकिया लगा दिया और अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया. गर्मी का मौसम था, तो इस समय से ही काफी गरम मौसम होना शुरू हो गया था.

फिर बहुत सारा तेल लगा कर उन्होंने मेरी चुत में अन्दर किया, तो मेरी चुत तो समझो छिल गई थी. मैं अब उसकी गर्दन पर किस करता हुआ उसकी चूची पर पहुंच चुका था और मेरे मुंह में उसकी एक चूची थी और मेरा हाथ उसकी चूत पर चलना शुरू हो गया था. मैंने पूछा आकाश कहाँ है?तो रागिनी ने बताया कि वह नोएडा गए हुए हैं किसी काम से.

सेक्स देसी इंडियन अनछुई लड़की के साथ गाँव के मुखिया ने कैसे किया? उसने खेतों वाले कमरे में लड़की को बुला कर नंगी कर लिया और उसे लिटा कर उसके ऊपर चढ़ गया. वो मेरे इस सफर में एक साये की तरह आईं और फिर जब छांव पड़ जाए, तो साया अपने आप निकल गया. तो दोस्तो, आपको मेरी यह मैरिड वुमन सेक्स स्टोरी कैसी लगी मुझे बताना जरूर.

मुझे लगा कि अंजू मुझे खा ही जाएगी। अंजू ने मेरे नीचे वाले होंठ पर काट भी लिया जिससे मेरा होंठ सूज गया। मुझे बहुत ग़ुस्सा आया। आज उसका कुछ नया ही किरदार था मेरे सामने।धीरे धीरे मैंने उसका कमीज उतार दिया।उसके जिस्म की क्या तारीफ करूं मैं, जितना करूं उतना ही कम होगा. हॉट चुत की पहली चुदाई कहानी में पढ़ें कि मुझे एक लड़के ने प्रोपोज किया तो मैंने हाँ कर दी.

मैंने पूछा- जी … आपके परिवार में कोई नहीं दिख रहा है?वो बोली- ये जी जी करके बात करना बंद कीजिए.

आपको शायद पता नहीं, मुझे दवा लेना बिल्कुल पसंद नहीं है और इंजेक्शन तो हरगिज़ अच्छा नहीं लगता. संभोग कलादिशा के पीछे बाइक खड़ी थी, तो किसी को दिखाई भी नहीं दे रहा था कि एक लड़की मेरे लंड के सामने बैठी है. सासु जी की चुदाईअब वो मुझ पर कूदने लगी और मैं पीछे से उसके कूल्हों को देखता रह गया. भाभी की जगह कोई अन्जान औरत होती तो मैं उसको लंड हिला कर भी दिखा देता लेकिन ये तो जैसे घर की बात थी.

लेकिन वो मेरी कमर को कस कर पकड़ कर मुझे चोद रहा था, इसलिए मैं ज़्यादा आगे नहीं जा पा रही थी.

दिशा उसको निगल गयी और लंड से सारा बचा हुआ माल निकालने के लिए और जोर से हिलाने में लग गयी. मैं झटके देता हुआ स्खलित हो गया और मैंने अपने माल से मां के मुंह को भर दिया. वो मेरे स्तनों को चूसने लगा और मेरी पानी पानी हो रही योनि में उंगली से कुरेदने लगा.

फिर उन्होंने मम्मी की ब्रा को फ़ाड़ दिया और मम्मी के बड़े बड़े चूचे उस कैद से आजाद कर दिए. इस बीच मैंने भी उनको संतुष्टि देने के सारे इंतजामात कर लिए, मर्दाना ताकत की तीन गोली ले आया. उसके बाद मेरी बनियान भी उतार दी और मुझे ऊपर से बिल्कुल नंगा कर दिया.

उर्मिला सेक्स वीडियो

मैं उसके करीब लेटकर उसके कान के पास अपना मुँह लेकर गया और बोला- संजू. मैंने जल्दी से अपने सारे कपड़े ठीक से एडजस्ट कर लिए थे और मैं घुटनों में मुंह छिपा कर रोने लगी थी. विनी ऐसे ही एक दो मिनट तक मेरी योनि चाटती रही फिर उसने योनि के होंठ खोल दिए और अन्दर की तरफ चाटने लगी.

उस समय पूजा का पेट और पूजा की कमर आपस में ऐसे मिली हुई थीं जैसे कमर और पेट में कोई अंतर ही न हो।दोस्तो, अब मनोज की स्तिथि भी बेकाबू थी और उसने सीधा पूजा की पैंटी को उतार कर अपना मुंह सीधा पूजा की चूत पर रख दिया.

अब मैं एक नई कहानी लेकर आया हूँ जो मेरी एक पाठिका की बताई हुई कहानी है.

अब सास ससुर को ये बात पता चली तो उन्होंने कहा कि यहां इसके दोस्त इसको नहीं सुधरने देंगे. वो इतनी जोर से मचल रही थी कि उसके हाथ मेरे दोनों हाथों पर ज़ोर डाल रहे थे कि और ज़ोर से करो. चाची भतीजे का सेक्सदेशी न्यूड गर्ल चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे अपने दोस्त की सेटिंग करवाते हुए मेरी सेटिंग उसी लड़की की कज़न से हो गयी.

उसके बाद दोनों बाथरूम में चले गये और फिर वापस आकर साथ में बेड पर लेट गये. मैंने भी उनकी चुत के पानी को उंगली से लेकर जीभ से लगाया और टेस्ट किया. फिर मेरे हाथ में पर्स थमाते हुए उसने दूसरे हाथ से मेरी ओअर पर मेरे लंड को सहला दिया और बोली- लगता है सारी रात बजाई है तुमने मिकी की!मैं भी मुस्करा दिया.

वो बोली- हमारी इस मुलाकात के बारे में रिया और अजय दोनों में से किसी को पता नहीं लगना चाहिए. फिर हम दोनों ऊपर गये और कमरे में जाते ही दरवाजा बंद करके एक दूसरे लिपट गये.

मैं- देखता क्या है रे बहन के लौड़े … दम नहीं है क्या तेरे लंड में मादरचोद.

जब मेरा होने वाला था, तब मेरे मुँह से अपने आप ही निकलने लगा- सुनयना मेरी जान … तेरी चुत बहुत ही मस्त है … आह तुझे इस तरह चोदने में बहुत मजा आ रहा है. मैंने जैसे जितना उँगलियों से कर सकती थी वो सब योनि में करती रही, काश मेरी उँगलियाँ खूब लम्बी और मोटीं होतीं. थोड़ी देर बाद मैंने कल्पना में उसकी चुत पर अपना लंड रगड़ा, तो तुली और सेक्सी हो गई और बोली- आह पापा पीछे से पूरा लौड़ा अन्दर डाल दो.

ब्लू पिक्चर दिखाइए इंग्लिश इस प्रहार से पूजा ऐसे चीखी कि उसकी आवाज शायद बाहर मौजूद लोगों तक भी पहुंची होगी. मेरे स्तनों और बदन के बाकी हिस्सों को छेड़ने के कारण मेरे जिस्म में एक वासना पहले ही पैदा हो चुकी थी.

फिर मैं दरवाजे पर खड़ी होकर देखने लगी तो तुम्हारा लंड रेशमा की चूत में था. दोस्त की ये बात मुझे समझ आ गयी थी। अब मैं पूरा मन बना चुका था कि अब मैं अंजू को चोद कर रहूँगा। मैं भी देखना चाहता था कि वो मेरे साथ सेक्स करने के लिए तैयार भी होती है या नहीं।टाइम भी आया, मुझे और अंजू को ट्रेन से जम्मू जाना पड़ा। ट्रेन में सामान्य कोच को हम देख हैरान हो गये. अब सुबह होने में कुछ ही वक्त बचा था और शहर बस आधे घंटे की दूरी पर था.

अफ्रीकन पॉर्न वीडियो

इतना बोलकर उसे अपना लंड अपने कच्छे में मसलना चालू कर दिया, जिस पर मेरा रिएक्शन आ गया था. वो सिसकारते हुए अपने बूब्स को चुसवाने लगी- आह्ह … चचाजान … उफ्फो … ऊईई … आह्ह … अम्म … चाचू … मेरे चूचे … ओह्ह … मजा आ रहा है।इस तरह से उसके मुंह से निकल रहे वो वासना भरे उत्तेजक शब्द मेरे लंड में जैसे दोगुना जोश पैदा कर रहे थे. करीब दो घंटे के बाद मैं घर जाने लगा, तो नीलम ने मुझे वहीं रुकने को कहा.

क्या किसी के लंड में इतना दम है जो मेरी 28 की कमर पकड़ कर मेरी चुत में लंड का कीला ठोक सके और मेरी 36 इंच की गांड मार कर उसे चालीस की कर सके. मेरी पिछली कहानी थी-मस्ती में चुद गयी मस्त हसीनाइस Xxx चूत की मस्त चुदाई कहानी की शुरूआत जून, 2018 में उस वक्त की है, जब मैं अपने ऑफिस से घर आ रहा था.

सुबह जब मैं उठा तो वो खाना बना चुकी थी और फिर तैयार होकर मुझे सब कुछ समझा दिया और ऑफिस के लिए निकल गयी.

हर धक्के के साथ सीमा जी के मोटे ओर मांसल बोबे बड़ी जोर जोर से हिल रहे थे. पर वो कराहते हुए बोली- भैया रुको नहीं … इसी दर्द पर चोदो मुझे, रहम मत करना. फिर मैंने उसको एक करवट लेटाया और पीछे से उसकी चूत में लंड को पेल दिया.

मौसी ने बेटी को तैयार किया और फिर नाश्ता वगैरह करवा कर उसको स्कूल भेज दिया. फिर दो मिनट के बाद उसने आंखें खोलने को कहा तो मैंने अपनी आंखों से हाथों को हटाया. बॉस मेरी ओर देखने लगे और पूछा- कोई ज़रूरी काम है?बहाना बनात हुए मैंने कहा- एक मित्र को चाय की दुकान पर बैठने के लिए बोल कर आया हूं, उससे फ्री होकर आता हूं।बॉस बोले- ठीक है, मगर तुम्हारा मोबाइल क्यों बंद है?मैंने कहा- बैट्री खत्म हो गई थी.

मैं बाइक की चाबी नीचे लेने गया तो वहां पर मां का पैर फिसल गया और हम दोनों फिर से पानी और किचड़ में गीले हो गये.

हनीमून बीएफ: मैंने भी कहा- मेरी प्यारी बहन अब तो जब मेरी दुल्हन बन जाएगी … और मेरे साथ सुहाग सेज पर आएगी, तभी तुम्हारी चूत पेलूंगा. सन्नो- हे राम, आप भी ना बड़े बेसब्रे हो जाते हो, अरे वो अब आपकी ही है.

यदि आकाश उसके साथ चुदाई के पूरे मजे ले रहा होता तो वो अभ्यस्त हो चुकी होती. [emailprotected]गोवा सेक्स स्टोरी इन हिंदी का अगला भाग:गोवा टूर में ग्रुप सेक्स का मजा- 3. फिर वो मेरे मम्मों को चूसते हुए बोले कि टीना मैं तुम्हें पाने के लिए न जाने कब से तड़प रहा था.

पापा बोले- यार बताओ ना … प्लीज।मम्मी ने कहा- दोनों ही जगह मजा आता है लेकिन चूत में ज्यादा मजा आता है मुझे.

आपकी यह बेटी आपकी ढेर सारी रातें लेकर जा रही है … और एक बार और पापा मेरी शादी का बुलावा आपको भी आएगा. फिर मैंने डॉक्टर से पूछा कि क्या मैं भाभी को घर ले जा सकता हूं?तो डॉक्टर ने कहा कि ले जाइये. मेरी गंदी कहानी हिंदी में कैसी लगी? मुझे आप लोगों की ईमेल और फीडबैक का बेसब्री से इंतज़ार रहेगा.