बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ चोदा चोदी

छवि स्रोत,हनी सिंह इमेज

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो कोल्हापुर: बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ चोदा चोदी, पहले अपने ईमेल भेजी कर मुझे ये बताइएगा कि मेरी ये भाभी नंगी नंगी चूत की कहानी आपको कैसी लगी?आपका अपना दोस्त कुणाल[emailprotected].

माँ दिवस की शुभकामनाएं

भाभी ने मेरा सारा रस निचोड़ लिया और लंड को चाटकर अच्छे से साफ भी कर दिया. साड़ी वाली भाभी की चुदाईतू कल योगी बाबा को बुला लाना, बहुत हो गया ये भूत वूत का चक्कर, अब उसका इलाज कर ही देते हैं.

लेकिन मुझे आप अपनी ऐसे में ही एक फोटो दोगी?अम्मी हंस कर बोलीं- क्यों फोटो का क्या करेगा? क्या रात को फोटो देख कर मुठ मारेगा!धीरज हंसने लगा और बोला- हां वो भी करूंगा और आपके लिए एक ग्राहक भी लाऊंगा. गन्दी लड़कीसुमन- आइ … मज़ा आ गया … तुम सच में असली मर्द हो … आह चोदो आह कर दो मेरी चुत को लाल … आह उफ्फ और तेज चुदाई करो.

उसको चूत फटने की खबर न लगे इसलिए मैं उसके होंठों को फिर से चूसने लगा और उसके बदन को सहलाने लगा.बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ चोदा चोदी: वो अब मस्ती से मेरे नीचे चुदती थी और मैं भी उसकी चूत चोदकर मजा लेता रहा.

अब वो बहुत ज्यादा गर्म हो गयी थी और उठकर मेरे लंड को हाथ में लेकर सहलाते हुए मेरे होंठों को खाने लगी.फिर उसने मेरी ब्रा के अन्दर हाथ डालकर जब मेरे बोबों को स्पर्श करते हुए निप्पल को पकड़ा, तो मेरी ‘आ … ह …’ निकल गई.

सील पैक bf - बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ चोदा चोदी

मैंने जब रात को करीब 11:45 बजे देखा कि सब सो गए हैं, मैं तब अपने रूम में लौटा.मैंने दाल तड़का, राइस फुल्का और भिंडी मसाला बना कर डाइनिंग टेबल पर लगा कर सिमरन को बुलाया.

मैं होंठों के चुम्बन को बड़े अच्छे से करता हूँ और एक गुड किसर समझता हूँ. बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ चोदा चोदी नताशा भी निढाल हो चुकी थी और मैं भी हाँफता हुआ उसके ऊपर ही गिर गया.

वो मेरे लंड पर साबुन लगाने लगी तो मैंने कहा- मुझे तुम्हारी गांड मारनी है.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ चोदा चोदी?

सुमन- कैसे मर्द हो आप, एक हसीना आपके सामने बिछने को तैयार है … और आप मना कर रहे हो. फिर मैंने मन में ही कहा कि कोई बात नहीं, आज तो झड़ना ही है किसी भी हाल में. मैं वहीं रुका रहा, मुझे नीचे कुछ गीला गीला सा लगा, तो उसके होंठों को छोड़ कर मैंने नीचे देखा.

तभी सामने से फोन कट करने की आवाज आयी और संगीता गुस्से से लाल हो गई. [emailprotected]देसी लड़की सेक्स की प्यासी कहानी का अगला भाग:दीदी की ननद की कुंवारी सहेली की चुदाई- 2. वो एकदम से उठ गई और उसने मेरा हाथ अलग कर दिया और कहने लगी- जीजा जी, आप ये क्या कर रहे हो?मैंने उससे धीमे से कहा कि चुप रहो नहीं तो तेरी व्हाट्सएप वाली बात तेरी दीदी को अभी बता दूंगा.

होटल में चुदाई करवाने के बाद से अब रोबीना घर पर भी रात को मेरे कमरे में आ जाती थी और मैं अपनी बीवी के साथ ही उसको भी चोदने लगा. जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने फिर से हल्के हल्के धक्के लगाने शुरू किये. अब रहा नहीं जा रहा है … मेरी चूत से पानी निकल रहा है जानू, जल्दी से कुछ करो.

पूरे दस मिनट बाद जैसे ही मैं झड़ा, तो वो बोली- भाई तुम माने नहीं, पर तुमने मज़ा बहुत दिया. फिर अचानक उन्होंने मुझे और कुछ इस तरह से दबोच लिया कि मेरा मुँह उनके ब्लाउज के ऊपर से एकदम सट गया था.

उस वक्त तो बहुत मजा आया क्योंकि लंड से चुद भी रहा था और नशा भी हो रहा था लेकिन अब बहुत खराब लग रहा था.

उस वक्त उसने नीले रंग की सलवार कमीज पहनी थी, जिसमें उसके चूचे बेहद गोल मटोल लग रहे थे.

वहां पता चला कि राहुल और मुझे थोड़ी ही देर में फार्म हाउस में शिफ्ट किया जाएगा, जहां मेरे और राहुल के अलावा बस एक मेड रहती थी. कुछ दिन बाद फिर मैंने कहा- भाभी, कोई दूसरी फ़ोटो भेजिए न!इस बार उन्होंने चार फोटो भेज दीं. कुछ मिनटों के बाद मॉम जब बाहर आई तो उनका वो रूप देख कर मेरी आंखें फटीं रह गयीं.

मुझे तो तुम्हारा लंड लेने की आदत है, मगर वो तुम्हारा लंड सहन ही नहीं कर पाएगी. लंड चूत से निकलते ही रूचि ने आंखें खोल दी, तो देखा कि राहुल उसकी तरफ देख रहा है. मैंने धीरे से अंडरवियर भी अपनी जांघों से निकाल कर अलग कर लिया और मैं अब बनियान में मॉम के सामने नंगा था.

तो मैंने तय किया कि चुपचाप किसी तरह एक गद्दा तकिया लेकर ऊपर वाले कमरे में चली जाऊँगी और फिर मैं और मेरी प्यारी पिंकी.

जब पहली बार कोई लड़की आपका लंड मुँह में लेती है, तब समझो जन्नत का सुख मिलने लगता है. आज नहीं तो कल बुला लेगा, चल एक बात बता, अगर आज मैं तुझे तेरे भाई का चुसवा दूं, तो कैसा रहेगा?मुनिया- सच भाभी, लेकिन ये कैसे होगा!उसका चेहरा शर्म से लाल हुआ जा रहा था, जिसे देख कर सन्नो मुस्कुरा रही थी. उस दिन मैंने उसको रात में 11 बजे कॉल किया और कहा कि मुझे उससे कुछ जरूरी काम है.

उसके पिता को दिल की बिमारी थी और मैं नहीं चाहता था कि उसके पिता को मेरी वजह से कोई परेशानी हो. अब मैं उसकी दोनों टांगों के बीच में आ गया और उसकी बुर में उंगली डाल कर अच्छे से तेल लगा दिया. उसको एक अजीब सी जलन अपनी छोटी चुत में महसूस होने लगी … और ना चाहते हुए भी उसका हाथ खुद की चुत पर चला गया.

फिर मैंने मन में ही कहा कि कोई बात नहीं, आज तो झड़ना ही है किसी भी हाल में.

एक दो मिनट तक लंड को मम्मों में रगड़ा फिर मैंने दिव्या को सोफा से लग कर खड़ा किया और उसे घोड़ी बना कर पीछे से लंड पेल दिया. जैसा कि मैंने पहले ही अपनी पिछली कहानी में बताया था कि मैं बाइ-सेक्सुअल हूँ.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ चोदा चोदी क्योंकि मुझे खुद गांड मरवाने का अनुभव लेना ही था; मेरे पति नमन से तो मुझे इस मामले में कोई उम्मीद थी ही नहीं. मैंने जब गांड पर हाथ लगाया, तो गांड से खून आ रहा था और छेद बुरी तरह फ़ैल गया था.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ चोदा चोदी मुझे तो बहुत मजा आ गया आज।मैं बोला- मेरी जान … अभी तो असली मजा आना बाकी है, जब मैं तेरी चूत में लंड डालकर चोदूंगा. जैसे ही वीर्य निकलना शुरू हुआ मैंने उसको नीचे पटक लिया और वीर्य की बूंद बूंद उसकी चूत में निचोड़ दी.

उसी समय भाई ने झट से अपना लंड मेरे होंठों से लगा दिया और मैंने जब कासिब का लंड अपने मुँह में लिया, तो कासिब के लंड की मादक महक मुझे गर्म कर गई.

सेक्सी व्हिडिओ सिनेमा

मैंने खुद अपनी पैंटी जो मेरी जांघों तक ही थी, मैंने उसको उतार कर उसके मुँह पर फेंक दी और किचन की तरफ चली गई. आपकी पिंकी सेन[emailprotected]कहानी का अगला भाग:गाँव के मुखिया जी की वासना- 7. फिर आखिरकार मैंने एक हाथ से भाभी की गांड को दबोच लिया और दूसरे से उनकी चूची भींच दी.

अब कई बार नोटिस करती थी कि मैं काम कर रही होती थी और वो चेयर पर बैठकर मुझे ही देखते रहते थे. बस ये सोच रहा था कि बाकी सदस्यों के साथ अब ये भी मेरी दिनचर्या में शामिल हो जायेंगी. मैं खुश हो गया कि मैं तो सोच रहा था पूरे हफ्ते इंतज़ार करना पड़ेगा मगर आज ही वो दिन आ गया, जब दिन के उजाले में चुदाई होगी और वो भी मेरे कमरे के बिल्कुल करीब से देखने को मिलेगी.

अचानक उसका सब्र का बांध टूट गया और उसकी चूत से नमकीन पानी का सैलाब निकल गया.

मोनिषा की कमसिन चूत पर उसके मुलायम नर्म बाल मुझे काफ़ी मजा देने लगे. उसने मेरी गांड को 2 चांटे मारे और बोली- साले भैन के लौड़े, देख, अब मैं तेरा क्या हाल करती हूं. उसकी बात सुनकर मैंने उसकी गांड को पकड़ लिया और जोर जोर से उसकी चूत में लंड को पेलने लगा.

चोदो मुझे, अब आप ही मेरे इस बदन के मालिक हो; जी भर के भोग लो मुझे आज!” मैं काम संतप्त स्वर में बोली और मैंने अपनी जीभ उनके मुंह में घुसा दी. ये कहते हुए भाभी झुक गईं और उन्होंने मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर मुँह को आगे-पीछे करने लगीं. दर्द और मजे से उनकी सिसकारी निकल रही थी। उनके मुंह से निकल रहीं अजीब सी आवाजें ही बता रही थीं कि उनको भी अपनी चूचियां चुसवाने और निप्पल कटवाने में बहुत मज़ा आ रहा था.

मैंने कहा- अरे कपड़े तो बदल लेने दो?ये सुनकर मेरे पति सर के सामने ही मेरी साड़ी खोलने लगे. अब मैं भी जोश में आ गया और जोश में मैंने बियर की बोतल का आगे वाला हिस्सा उसकी चुत में डाल दिया.

मैं- आप अपने पति को बता देना कि जब तक वो यहां पर नहीं हैं, तब तक आप मेरी गर्लफ्रेंड हो … और मैं अपनी गर्लफ्रेंड के साथ कुछ भी कर सकता हूं. चूंकि गर्भावस्था में भी मेरी बीवी को घर का काम करना पड़ता था, जिससे वो काफी थक जाती थी. अलग अलग तरीकों से, अलग अलग आसनों में, गांड में, मुँह में, सभी जगह लंड डाला.

फिर मैं मामी को यह घटना एक मनोहर कहानी के रूप में प्रस्तुत करने लगा।वो बहन की चूत चुदास को एक स्वाभाविक एवं प्राकृतिक घटना के रूप में सुनकर खुश हुई। मामी को मैंने स्पष्ट किया कि मेरे और मेरी उम्र के सभी नौजवानों में सेक्स के प्रति अत्यधिक रूझान ही इस तरह की घटनाओं का मूल कारण है.

मैं उसे देख कर उत्तेजित हो गया और मुस्कुराते हुए मैंने अपने भी कपड़े उतार दिए. वो अपनी गुड़िया के साथ खेल रही थी और मेरे इंतज़ार में तैयार होकर बैठी थी. मैंने भी उसकी अंडरवियर उसी तरह से निकाली, जैसे उसने मेरी अंडरवियर अपने दांतों से पकड़ कर निकाली थी.

मैंने उसके लंड को गांड में ले लिया और आगे पीछे होकर उसके लंड से खुद ही चुदने लगा. वो मुझे जगाने के लिए मेरे तकिये की तरफ आई और मुझे कंधे से पकड़ कर हिलाने लगीं.

मैं समझ तो गया था कि दीदी को छत पर ब्रा पैंटी नहीं मिली होगी, तो वो समझ गई होंगी. आंटी का हाथ अब मेरे ओअर पर आ गया था और वो मेरे लंड को जोर जोर से सहला रही थी. मगर उतारते हुए मेरा बनियान फंस गया क्योंकि बनियान पूरा गीला था और बदन से चिपक रहा था.

नेपाली सेक्सी न्यू

होंठ चूसते चूसते अपने दोनों हाथों से दीदी की दोनों चूचियों को मसलने लगा.

मैं तो तुम्हें सही से जानता भी नहीं हूँ … और तुम भी मुझे नहीं जानती हो, तो क्या तुम एक अनजान के साथ रह लोगी. उसकी चूत की पंखुड़ियाँ मिली हुई रहती हैं जिनको अब मैं एक बार फिर से अलग करना चाहता था. पूरा कमरा हमारी इंडियन थ्रीसम सेक्स की फच फच की आवाज़ से गूंज रहा था.

मैंने कहा- मॉम, मैं बनियान तो उतार दूंगा लेकिन अंडरवियर … कैसे?मॉम बोली- इतना हिचकिचा क्यों रहा है मेरे सामने? मैं तेरी मॉम हूं, मैंने तो बचपन में न जाने कितनी बार तुझे नंगा देखा हुआ है. एक दिन खाना खाते हुए मजाक में मैंने कह दिया कि दीदी इतनी सेवा तो शायद मेरी बीवी भी नहीं करेगी. लन्ड की फोटोतभी मैंने संजना की कमर को पकड़ कर उसे लंड पर दबा लिया और झटका देकर पूरा लंड सेक्सी लड़की की चुत के अन्दर कर दिया.

अब मैं बस यही सोचता रहता कि उनसे कैसे बात करूं? मन और लंड दोनों पर काबू करना मुश्किल होता जा रहा था. मुखिया- मुझे ही फंसा तू हरामी, उस दो कौड़ी के आदमी के लिए मैं अब रंडी की दलाली भी करूं!कालू- मालिक आप अच्छी तरह जानते हो … वो दो कौड़ी का आदमी आपके लिए सोने के अंडे देने वाली मुर्गी से काम नहीं है.

गीता- आह काका … क्या सच आप मेरी बकरी नहीं लोगे?मुखिया- हां रानी, तू तो जानती है ना कि मैं वादे का पक्का हूँ. मुखिया- अच्छा … इनके भी पर निकल आए क्या! वो जो हर महीने तुम मुनीम से पैसे लेकर जा रहे हो, वो क्या हराम के हैं?महेश- माफ़ करना मालिक हम तीनों इतनी मेहनत करते हैं तो एक का पैसा आप देते हो … बाकी दो का कर्जे में जाता है. मैं उम्मीद करता हूं कि पाठिकाओं की चूत और चूचियों की मालिश हो रही होगी.

मुझे उम्मीद है कि आपको अच्छी ही लगी होगी, फिर भी अपनी राय देना न भूलियेगा. अब मेरी गांड फटी पड़ी थी कि अगर आंटी ने किसी को बता दिया तो क्या होगा!मगर मैंने हिम्मत कर ली थी कि जो भी होगा देखा जायेगा. मुखिया और कालू बैठे बातें कर रहे थे तभी सन्नो उनके पास आई और कहा आज का काम हो गया.

मैंने अपनी सास की चूचियां दबा दीं और कहा- अभी जब अन्दर लोगी मम्मी जी, तब मालूम पड़ेगा कि मेरे लंड की ताकत क्या है.

दस मिनट बाद मैंने समीक्षा की तरफ करवट ले ली और उसके ऊपर हाथ रख दिया. श्वेता को श्वेता तिवारी से और साक्षी को साक्षी तंवर से मिलान किया जा सकता है.

रास्ते से जाते जाते बीच बीच में ब्रेक लगाते समय रूचि के बूब्स राहुल के पीठ पर चुभ रहे थे. मेरे हाथ में सीधी भाभी की चूत आ गई। अब मैं भाभी की चूत को मसलने लगा।वो बोली- आह्ह … रोहित, मत कर ना … प्लीज रुक जा. मैं चूंकि बचपन से ही अपना लंड हिलाते आ रहा हूँ, तो इसकी देर तक टिके रहने की आदत पड़ गई है.

मैं सोच रहा था कि जब यहां तक पहुंच चुका हूं तो चूत में लंड डालने में भी कामयाब हो जाऊंगा. गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 9में अब तक आपने रघु की बीवी मीनू की चुदाई की कहानी पढ़ी थी. अब भाभी भी कहने लगीं- और कुछ न करो … नहीं तो किसी ने देख लिया, तो आफत हो जाएगी.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ चोदा चोदी हमारे दिलों की धक् धक् और गहरी सांसों के सिवा और कोई अनुभूति अब नहीं हो रही थी. आपकी पिंकी सेन[emailprotected]देसी लंड की चुदाई कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 11.

डॉक्टर सेक्सी वीडियो चोदा चोदी

कालू- चलो जैसा आप ठीक समझो, अब चलें या और यहां रुकना है?सुमन- थोड़ी देर बैठो ना … तुमसे मुझे कुछ बात करनी है. साथ ही साथ वो मेरे स्तन भी मीड़ मसल रहे थे, मेरे निप्पलस भी मसलते जा रहे थे. अगली सेक्स कहानी में उसकी मॉम के बारे में आप सबको जरूर लिखूंगा … धन्यवाद.

उसके कंधे पर प्यार से सहलाते हुए मैंने कहा- चिंता मत कर, सब कुछ ठीक हो जायेगा. जब एक चौथाई लंड उसने घुसवा लिया तो मैंने लंड को छोड़ उसके बड़े-बड़े चिकने चूतड़ों के मांस को जोर से पकड़ लिया. सेक्सी जागरणमॉम पूरी गीली हो गयी और उनका गाऊन उनके बदन से चिपक गया। मॉम की चूचियां, चूतड़ और जांघें सब कुछ उभरकर आ गया.

क्यों मीनू … मैं सही कह रहा हूँ ना!मीनू- हां बाबूजी एकदम सही कह रहे हो.

मैं बोला- माफ कीजिये, मैं चाय वगैरह नहीं पीता, केवल दूध ही पीता हूं. चूंकि गर्भावस्था में भी मेरी बीवी को घर का काम करना पड़ता था, जिससे वो काफी थक जाती थी.

मैं बोला- तो ठीक है भाभी, अब चुदाई के मजे लो और मेरे लंड के झूले में प्यार का झूला झूलो. जब मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैंने दो चार झटके देकर अपना माल उनके मुंह में ही निकल दिया. मैंने उनको अपना खड़ा लौड़ा पकड़ा कर कहा- लो जानू अब इसे अपनी चुत में ले लो.

अब मैं बेड पर से उठकर नीचे फर्श पर आकर उनके पैरों के पास बैठ गया।फिर उनकी दोनों टांगों को फैलाकर अपनी जीभ से उनकी चूत को चाटने और चूसने लगा। साथ ही उनकी चूत को फैलाकर अपनी जीभ को उनकी चूत में अंदर डालकर उनके चूत-रस को चाटने लगा।सच कहूं तो मैंने ऐसा टेस्ट कभी महसूस नहीं किया था.

मुखिया जी ने बस हाल चाल पूछने भेजा है … और आपको कोई चीज की जरूरत हो … तो बता दो, मैं ला दूंगा. मोनिषा अब मुझे देख रही थी, मगर मैं रात की गलती के कारण उससे नज़रें नहीं मिला रहा था. मेरी कामुक नजरें दीदी के बदन पर पड़ी तो …नमस्कार दोस्तो, मैं राज, उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूं.

मामा की लड़की को चोदातभी मैंने देखा कि अम्मी एक टाईट लैगी और कुर्ती पहने हुए घर में काम कर रही थीं. दीदी के पीढ़ा पर बैठते ही मेरी नजर सीधे उनकी टांगों के बीच में चली गई.

सेक्सी ओपन द वीडियो

उसके आते ही हम दोनों एक दूसरे के लंड चूसने लगे और काफी देर की चूमा चाटी के बाद हम साथ में झड़ गये. मुझे लंड पर बाल पसंद नहीं हैं … और दूसरी बात उसको कहना कि दारू पीकर मेरे पास न आए. उसने पूछा- कहां जा रहे हो?मैंने कहा- भाई तुम नए हो क्या?गार्ड ने कहा- हां अभी तीन दिन हुए हैं.

वो नाइटी ऊपर से निकलती गयी और मुझे धीरे धीरे उनके शरीर के एक एक अंग दिखते गए. जैसे ही उंगली उसकी चूत में गयी तो वो हड़बड़ा कर उठ गयी और उसने मेरे गाल पर जोर से तमाचा मार दिया. उनके जाने के बाद मम्मी अकेली पड़ गई तो इसलिए मैं उनके काम में हाथ बंटा लिया करता था।एक दिन मैं अपने कमरे में बैठा था.

मैंने उसको अपनी बांहों में कस लिया और जोर से उसके होंठों को चूसने लगा. मैं भी चुदाई के जोश में लगभग ये भूल ही गया था कि बगल में भानजी भी सो रही है. जब हम वहां से निकल रहे थे, तो दीदी की ननद और अंकिता दोनों बाहर आईं और बाय बोलीं.

भाभी ने टेबल पर बोतल और गिलास रख दिए और भाई से फोन पर बात करते हुए बालकनी में चली गईं. भाभी ने मेरे कहे मुताबिक रूम को पहले से ही अंदर से बंद करके रखा हुआ था.

हरी- आप जैसी दूध मलाई को ऐसे सीधे बिस्तर पर लिटा दूंगा, तो आप हरी का जादू कैसे देख पाओगी.

सेक्सी इंडियन गर्ल स्टोरी में पढ़ें कि मैं ट्रेन के लिए स्टेशन पर था. ब्लू पिक्चर वीडियो सॉन्गमगर मैंने सोचा कि कोई बात नहीं, जब वो सायं को आने के लिए कह गया है तो रात में मजे कर लेंगे. लड़कियों का फोटो बताओपर मैं कोई न कोई बहाना बनाती रहती; मैंने तो पक्का सोच रखा था कि मौसा जी से बिना दुबारा चुदे तो मैं वापिस हरगिज नहीं जाऊँगी. धीरज के मुँह से गर्म आवाजें निकलने लगीं- आह … आह … बड़ी मस्त मालिश करती हो आंटी.

वो तो मर गया ना … तो अब वो क्या करेगा!मीता- नहीं बाबूजी सिर्फ़ रीता ही नहीं, गांव की कई लड़कियों को वो ले गया है.

इस प्रेम में सेक्स की लहरें किस मोड़ पर कैसे पहुंचती हैं, इस सबका का विवरण आपको अगले भाग में पढ़ने को मिलेगा. फिर उसके पापा ने पूछा- ये फ़ोन किसका है?उसने कहा कि ये एक भैया हैं … उन्हीं का फोन है. उन्होंने मुझे अपनी गोद में लिए लिए ही खूब प्यार किया और मेरे मम्मों को खूब चूसा.

मैं शुरू से सेक्सी मिज़ाज का था, तो बहुत लड़कियों और नर्सों की चुदाई के मज़े लिए … लेकिन ज़्यादा दवा लेने से साइड इफेक्ट्स हो गए और धीरे धीरे लंड ने उठना बंद कर दिया. मैं तो लाज के मारे कार में गड़ी जा रही थी पर विशाल लंड से चुदने की अभिलाषा मुझे बेशर्म बनने और सबकुछ सहन करने पर मजबूर किये थी. अम्मी की ये हरकत मुझे अज़ीब सी लगी, तो मैंने अपने रूम की खिड़की थोड़ी सी खोल ली कि देखूं बाहर क्या होता है.

ऑस्ट्रेलिया सेक्सी सेक्सी वीडियो

उसके कड़क चूचों को मसलते हुए मैं भी बहुत उत्तेजित होने लगा और अब हम दोनों के ही मुंह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं. मैंने यूं ही उससे कहा- क्या कर रहे हो आप, मुझसे दूर हो जाओ … दरवाजा खुला है, कोई आ जाएगा. खुश होकर वो बोली- सच! तो फिर कब से शुरू करोगे?मैंने कहा- जब तुम कहो.

उसके जाने के बाद हमने बीयर की बोतलें खोल लीं और दोनों बीयर पीने लगे.

वैसे अपने आप चुत रगड़ना कहां से सीखा?मीता- कहीं से नहीं … बस चुत में मीठी जलन होने लगी, तो हाथ अपने आप वहां पहुंच गया और काम बन गया.

मेरी और सुजाता की बात बात पर अक्सर लड़ाई होती रहती थी। मैं हमेशा उसको ताने देता रहता था कि उसे खाना बनाना नहीं आता. सुरेश- रघु, तुम्हें कुछ समझ आ रहा है ना … जवान लड़की को ऐसे गर्म करते हैंरघु- हां बाबूजी … अच्छी तरह समझ गया. मोटी गांड की लड़की का नंगी फोटोयहां सभी मुझे बड़े प्यार से रख रहे थे। सभी मेरी हर इच्छा को पूरी करने की कोशिश करते थे लेकिन अब मैं किसी को कैसे बताता कि मुझे चूत चाहिए!मुझे इनके यहां रहते हुए 4 दिन हो गए थे लेकिन मेरे लन्ड को अभी तक कोई चूत चोदने का जुगाड़ नहीं दिख रहा था.

मेरी सुंदर भाभी का नाम चित्रा है, जो एक्सर्साइज करने से एकदम फिट है. उस दिन मुझे सही मायने में अहसास हुआ कि सोनू बार बार थ्रीसम चुदाई के लिए क्यों कह रहा था? थ्रीसम चुदाई का असीम सुख मैं आज भोग रही थी. मैंने क्लास के दरवाजे बंद किए और रोशनी को पकड़ कर पागलों की तरह चूमने लगा और बूब्स दबाने लगा.

थोड़ी ही देर में सात-आठ पिचकारियां मेरे लंड से निकलीं, जो सीधे उनके गले के अन्दर चली गईं. अब इस सेक्स कहानी में आगे सुमन को जो कालू का लंड पसंद आ गया था, उसका क्या हुआ, वो भी लिखूंगी.

फिर वो दिन भी आ गया जब भाईसाहब को अपने ऑफिस से ही शादी में जाने के लिए निकलना था.

पर क्या करूं मुझे ऐसा मौका नहीं मिल रहा था, जब उसकी कमसिन लड़की की चुदाई कर सकूं. चादर में पहली चुदाई की निशानी … यानि के टूटी हुई सील का लाल धब्बा छपा हुआ था. मुखिया- चुप हरामखोर … तेरे बाप से बात कर रहा हूँ ना मैं?मुखिया आगे कुछ बोलता, तभी कालू वहां आ गया और उन दोनों को देख कर वहीं खड़ा हो गया.

ऐश्वर्या की सेक्स यह देसी लड़की सेक्स की प्यासी कहानी उस वक्त का है जब मैं इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी होने के बाद सी-पेट करने गया था. उनकी निप्पल को मुंह में लेकर जोर-जोर से चूस रहा था।बीच-बीच में उनकी दोनों चूचियों की घुंडियों (निप्पलों) को अपने दांतों से काट लेता था.

बुआ भी जोर जोर से सिसकारियां लेते हुए कह रही थीं- अअअ … आहह समीर बस करो. मेरी चूत पर हाथ फेरते हुए वो बोला- रानो, तुम्हारी गुलरिया तो बिल्कुल कोरी है. मैंने कहा- रहने दो, मैं खुद धो लूंगा।लेकिन वह तुरंत ही उसे धोने लगी।जैसे ही उसने जांघिया अंदर से बाहर की ओर पलटी, चिपचिपा गोंद जैसा द्रव और छोटे-छोटे धागों जैसा वीर्य अंडरवियर में चिपका हुआ था.

सेक्सी पिक्चर भेजो पंजाबी

सुमन- ओये होये … क्या बात है आज लगता है पूरे मूड में हो, तो चलो फिर जल्दी से खाना खा लो, उसके बाद मुझे खा लेना. इस बात पर आयशा नाराज हो गयी और वो मुझसे भागकर शादी करने के लिए भी तैयार हो गयी. जैसे ही मेरी उंगली उनकी चूत के अंदर घुसी तो उनकी सिसकारी निकल गयी- आह्ह … क्या कर रहा है रोहित … ऐसे मत कर … अहाह् … नहीं, रहने दे पागल … मत छेड़ इसे।चूत अन्दर से बहुत ज्यादा गर्म थी। अब मैं उनकी चूत को उंगली से कुरेदने लगा। इधर अब वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थीं। मगर वो अभी भी मेरा हाथ हटाने की कोशिश कर रही थी लेकिन कामयाब नहीं हो पा रही थी.

मुझे यूं देखते हुए भाभी हंस दीं और बोलीं- आँखों से मार लोगे क्या … अन्दर आ जाओ. भाभी की सांसें अब भी तेज तेज चल रही थीं और वो आह आह करती हुई अपनी चुत सहला रही थीं.

लंड घुसाकर चाचा बोले:तेरी जवानी का पी जाऊंगा आज रात सारा रस,अपने मोटे लन्ड से बुर को कर दूंगा तहस-नहस।खाली तू मोटे लंड के प्रहार को सहती जा,आह्ह … उह्ह … अह्ह … यही शब्द सिर्फ तू कहती जा।शायरी समाप्त कर वे उसकी जांघों को पकड़कर फिर से चूतड़ों को आगे-पीछे करने लगे। मैं तो उनके 65 साल के जोश को देखकर दंग रह गया.

वासना की कहानी के पिछले भाग में आपनेगांव की चुत चुदाई की दुनिया- 3अब तक पढ़ा था कि गाँव की रहने वाली कुंवारी लड़की मीता अपने भाई के लंड को चूस रही थी. पांच मिनट के अंदर ही मामी ने मेरे लंड को चूस चूस कर फिर से खड़ा कर दिया. मैंने उनकी कमर को दोनों हाथों से पकड़ लिया और पूरी ताकत से धक्के लगाने लगा.

मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]मामी सेक्स की कहानी का अगला भाग:छोटी मामी की चुदाई बाड़े में- 2. मैं वैसे हमेशा 3-4 कंडोम अपने पास रखता था, पर उस दिन नहीं ले गया था. अब मौसी से नहीं रहा गया तो उन्होंने अपनी रज़ाई को दूसरी तरफ कर दिया और मेरी रज़ाई में घुस गयी और मेरी बाँहों को कस कर पकड़ लिया.

मैंने उनसे भी कह दिया- अगर आपको ठंड लग रही है तो आप भी उतार लो अपने कपड़े और सुखा लो.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ चोदा चोदी: मैंने अपनी बहन से कहा कि मेरे पेट में दर्द हो रहा है … और मैं सो रहा हूं. पर आज जब वो जा रही थीं, तो नीलिमा आंटी ने मेरा लंड पैंट में खड़ा देख लिया था और हंसकर चली गयी थीं.

साबुन देकर वो वापस चली गई। मैं मेरी योजना के अनुसार धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा था। अब एक दिन दोपहर का समय था। मैं उनके साथ उनके कमरे में बैठा हुआ था। हम दोनों बैठे बैठे टीवी देख रहे थे. रवि के जाने के बाद सुरेश सोचने लगा कि इस रवि को ये सब कैसे पता चला और अब वो मीता को कैसे तैयार करेगा. मैंने भी राहुल के होंठों को जबरदस्ती अपने होंठों में जकड़ते हुए चूसना शुरू कर दिया.

उसने मुझसे कहा- मैं तुम्हारी आंखों पर पट्टी बांध देती हूँ, तुम मुझे चोदना, तभी मैं उसको अन्दर बुला लूंगी.

हम दोनों को थकान कुछ ज्यादा ही थी और ऊपर से तेज बियर का नशा भी हावी हो रहा था, तो हम दोनों ऐसे ही नंगे चिपक कर सो गए. शाम को ड्यूटी से आने के बाद मैं मोनिषा से नज़रें नहीं मिला पा रहा था. सोचा कि फिर से बोतल वाली मस्ती करते हैं।राजेश ने शरारती अंदाज़ में बोला- लगता है लौंडे की गांड की अच्छी तरह से सर्विसिंग करनी पड़ेगी.