आंटी जी का बीएफ

छवि स्रोत,एक्स वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

जापान सेक्स मूवी एचडी: आंटी जी का बीएफ, Xxx बहन भाई सेक्स कहानी मेरी मौसी की बेटी और मेरी है। हम दोनों एक दूसरे को चाहने लगे थे। मैं एक बार अपनी मौसी के घर गया तो वहां हम चुदाई का मौका ढूँढने लगे.

ચૌદમ ચૌદ ચૌદમ ચૌદ

अंतर्वासना पर कहानियां पढ़ रही थी और साथ-साथ अपनी सलवार के ऊपर से ही अपनी चूत को हल्के हल्के रब कर रही थी. এক্স এক্স সানি লিওনিमैंने कहा- अब और मजा लेना है?वो बोलीं- हां अभी तो शुरू हुआ है … क्या हुआ … क्या तुम निकल रहे हो?मैंने कहा- नहीं मेरी जान, मैं अब तुम्हें दूसरी पोजीशन में पेलना चाहता हूँ.

लेकिन मुझे उसका होंठों पर किया हुआ और गाल पर किया हुआ किस इतना मजा दे गया कि मन कर रहा था कि वह मेरे होठों को पूरा अपने होठों में चबा ले. xxx वीडियो इंडियाफिर मैं उठा और उसकी लैगी को उतारने लगा लेकिन उसने कस कर पकड़ ली और मना करने लगी.

मैंने उससे कुछ ना बोलते हुए उसके चेहरे को पकड़ा और अपने लंड के ऊपर ले आया.आंटी जी का बीएफ: मैंने पूछा- मुजफ्फरनगर की बस कहां से मिलेगी?वो व्यक्ति बोला- यहीं से मिलती है.

बड़ी नजाकत से मैं जिया दीदी के गुलाबी होंठों को चूम रहा था क्योंकि उसमें मुझे बहुत बड़ा मजा आ रहा था.रीता- मैं आपको इतना अच्छा समझती थी और आपने मेरे साथ ऐसा किया … मैं दीदी को बताऊंगी.

पहली बार बीएफ - आंटी जी का बीएफ

कुछ ही देर बाद उन्होंने मेरी गांड में अपना पूरा वीर्य मेरी गांड में डाल दिया.हम दोनों ने खाना खाया और खाना खाने के बाद मॉम फिर से रसोई में बर्तन साफ करने चली गईं.

लगता है कि कुनबे में सबकी बुर तुम ही चाटते हो?वह बोला- हां चाटता तो हूँ पर सबसे ज्यादा मैं अपनी बेटी की सहेलियों की बुर चाटता हूँ। वो सब मेरा लण्ड इसी तरह चाटती हैं जैसे तुम चाट रही हो. आंटी जी का बीएफ मैंने भाभी को बोला- इसमें धन्यवाद वाली क्या बात है, आप हमारे पड़ोसी हो, अगर पड़ोसी ही पड़ोसी के काम नहीं आएगा … तो कौन आएगा.

मैं- ससुर जी, तड़पाइये मत मुझे … अब अंदर डाल भी दीजिये।ससुर जी- जैसा तुम चाहो बहू!ससुर जी के लन्ड का सुपारा जैसे ही मेरी चूत में गया, मेरी चीख निकल गयी.

आंटी जी का बीएफ?

भाभी भी मेरी तरफ सरक आईं ओर मुझे बिना बोले ही हां का इशारा करने लगीं. मैं अपनी इस सेक्सी मौसी की चुदाई हिंदी कहानी आपको अपनी सगी मौसी के साथ हुई घटनाओं के बारे में बताऊंगा. कुछ देर में उसके लंड ने सारा वीर्य मेरी चूत में भर दिया और वह निढाल होकर मेरे ऊपर ही गिर गया।बहुत देर तक हम दोनों एक दूसरे से ऐसे ही चिपके रहे।फिर करीब 10 मिनट के बाद उसका और मेरा फिर से वही सब दोबारा करने का मन करने लगा।और उसका लंड फिर से खड़ा हो गया तो उसने मुझसे उसे चूसने का इशारा किया.

मैंने उसकी सारी सूचनाओं को गलत बताते हुए समझाया और गांड चुदाई के तथ्य और फायदे बता कर साफ़ कर दिया. मैंने उसे घुटने टेकने के लिए कहा और जमीन पर हाथ रख कर कुतिया जैसी बनने के लिए कहा. हमारे घरों के बीच कोई ज्यादा गैप नहीं था, कोई भी आसानी से छलांग लगाकर जा सकता था.

मैं इस वक्त खुद को औरत महसूस कर रहा था जो मुझे बहुत आनन्द दे रहा था. वर्षा सिगरेट का धुंआ उड़ाती हुई बोली- कैसा लगा गर्म नमकीन पानी?मैंने बोला- बहुत गंदा था यार!वर्षा उठ कर आयी और मेरे लंड को पकड़ कर बेड पर ले गई. उसके बाद उसने कहा- चल अब तू मेरी चूत चाट!मैंने कहा- नहीं, मुझे ये अच्छा नहीं लगता.

वो बोलीं- आप मुझे इतना क्यों देखते हो?मैंने कहा- आप देखने लायक चीज हो इसलिए देखता हूँ … काश मुझे आपके जैसी ही बीवी मिल जाए. मेरी दीदी की चूत का गर्म झरना मुझे मेरे लंड पर महसूस हुआ और इसी अहसास को पाकर मेरे लंड से भी मेरा वीर्य छूटने लगा.

शिल्पा भी मस्त माल की तरह गांड हिलाती हुई आई और बजाए मेरे बाजू में बैठने के … वो मेरी गोद में ही बैठ गई.

उसका बट प्लग निकाल दिया, उसकी गांड के छेद को एनीमा देकर साफ कर दिया.

मैंने उससे कहा- यार मैं एक बात साफ बोलता हूँ … कभी बाद में गड़बड़ हो गई तो तुम कुछ कहने न लगो. जानती हो मेरी बेटी की सहेलियां सब एक दूसरे के अब्बू से चुदवाती हैं। बड़ा मज़ा करतीं हैं ये बुर चोदी बेटियां!ससुर के 9″ के लण्ड से चुदवाने में मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था।मैं बस खलास होने वाली ही थी।तब तक वह भी खलास होने वाला था।पहले मैं हुई … फिर वह हुआ. मैं घर पर अकेला बोर हो रहा था तो मैंने एक सेक्सी कहानियों की किताब उठाकर पढ़नी शुरू की.

उनकी टांगें खुलने लगीं और मैं उनकी टांगों के जोड़ पर अपनी गर्म सांसें छोड़ने लगा. चीटिंग सेक्स हिंदी स्टोरी मेरी बड़ी बहन की एक अनजान आदमी से चुदाई की है. मैंने कहा- अच्छा … जो भी करूं?अंजलि भाभी बोलीं- ज्यादा दिमाग मत चलाओ … और अगर वो सब करना ही है, तो दोनों पहले शादी कर लो.

हम दोनों के बीच इस समय भाभी जी घर पर हैं … वाले सीरियल की फीलिंग आ रही थी.

एक दिन रात को मेरे फोन पर एक अंजान नंबर से व्हाट्सएप्प पर मैसेज आया. मुझे अभी भी थोड़ा अजीब लग रहा था क्योंकि अब तक जिसको दी कहकर बुलाता था, आज मैं उसी बहन की चुदाई करने वाला हूँ. चाची के मुँह से सिसकारी निकल गई- आंह आह दबा दे … आंह मजा ले ले और दे दे.

खैर … मैं उस हादसे में अस्पताल में भर्ती हो गया था और बारह दिन तक हॉस्पिटल में रहा था. मैंने सरिता से पूछा- तुम्हारा दर्द कैसा है अभी?सरिता बोली- गोली की वजह से पूरा दर्द गायब हो गया है. मैंने कहा- चाची, अभी तुमने असली मजा देखा ही कहां है?मैं उनकी चूत जोर-जोर से चाटने लगा.

अब मैं हल्के हल्के धक्के लगाने लगा और जैसे ही चुदाई का मजा आना शुरू हुआ, मैंने एक तेज झटका उनकी चूत में लगाकर पूरा लंड उनकी चूत में उतार दिया.

जिस रूम में हम दोनों थे, उसमें परिवार के दो तीन लोग और भी सो रहे थे, जिसके कारण लाइट बंद थी. भैया ने भाभी की चूत में अपना मुँह लगभग घुसेड़ा हुआ था और वो भाभी की चूत में जीभ को नुकीला करके अन्दर बाहर कर रहे थे.

आंटी जी का बीएफ मैं भी जोश में आकर उन्हें जोर जोर से चोदने लगा और 5 मिनट में ही झड़ गया. वैसे भी स्कूल को गांव से दूर बनाया गया था, जिससे चुदाई में बाधा नहीं हो रही है.

आंटी जी का बीएफ हिंदी देसी सेक्स कहानी की सबसे मस्त साईट अन्तर्वासना डॉट कॉम पर यह मेरी दूसरी सेक्स कहानी है. पर अब मेरा लंड पूरी तरह खड़ा नहीं हो रहा था क्योंकि मैं पहले तीन बार झड़ चुका था.

कुछ ही देर में मैंने भाभी की नाइटी उतार दी और उन्हें टू पीस में कर दिया.

बीएफ फिल्म बीएफ बीएफ हिंदी

मैं अपनी बहन के बिना नहीं रह सकता था और मेरी बहन भी मेरे बिना नहीं रह सकती थी. कुछ देर बाद न जाने मेरे मन में क्या आया और मुझे फूफा जी से चुदने पर शर्म आने लगी तो मैंने उठ कर अपनी रात वाली फ्रॉक फिर से पहन ली. [emailprotected]स्टेप मदर सेक्स स्टोरी का अगला भाग:सौतेली मॉम की चूत में कुंवारे बेटे का मूसल लंड- 2.

मैं घुटनों के बल आ गया और आहिस्ता से अपना लंड सरिता की चुत से बाहर निकाला. हमें कोई भी ऐसा काम नहीं करना चाहिए कि घर की बदनामी हो या रिश्ते ख़राब हों. मैंने कराह कर कहा- आंह मैं सह नहीं पा रही हूँ … जल्दी से इसे बाहर निकालो.

फ्रेंड्स, मैं अगले भाग में अपनी इस दूर की रिश्ते वाली हॉट सेक्सी गर्ल सेक्स स्टोरी का पूरा मजा लिखूंगा.

फिर हसित ने रीना के पैरों को अपने हाथों का सहारा देते हुए खोल लिया और खड़े होकर रीना की चूत में अपना लंड लगा दिया. मैंने ठान लिया था कि कैसे भी करके इनको चोदूंगा जरूर!भाभी ने भी मुझे प्यार से देखा और मेरा वेलकम किया. मैं दीदी की चूत में लंड देकर कुछ देर तक उसके ऊपर ऐसे ही शांत पड़ा रहा और उसके होंठों को चूसता रहा.

मैंने भी अपने पैर खोल कर बेड फैला दिए, तो पति ने अपनी गांड पीछे ले जाकर अपना तगड़ा लंड हाथ से मेरी चुत में घुसा दिया. मैं भाभी के चुचों पर काटने के निशान छोड़ने लगा और भाभी सिसकारियां लेती हुई कहने लगीं- उफ्फ्फ … ईस्स … आह चूस ले इन्हें …. हालांकि दूसरी तरफ मैं खुद भी इन हरामियों के लंड से चुत चुदवाने का मजा लेने लगी थी.

दीदी- आह … भाई ओह्ह … जल्दी चाट ले भाई … और जल्दी से लंड इसमें घुसा दे … अब रहा नहीं जाता. आंटी मेरी बात पर हंसने लगीं और बोलीं- वैसे तो मैं ज्यादातर चुप ही रहती हूँ मगर ऐसा नहीं है कि मुझे मजाक पसंद नहीं हैं.

लेकिन सरिता को चलना भारी पड़ रहा था, दर्द की वजह से वो ठीक से चल नहीं पा रही थी. बीच-बीच में वो मेरे चेहरे को भी छू लेते थे और मेरी गर्दन पर अपना सर भी रखते थे लेकिन मुझे फूफाजी होने के कारण किसी प्रकार का कोई संदेह नहीं हुआ और मैं उनके साथ फ्री होकर बातचीत करने में लगी रही. पर नींद में नहीं आ रही थी तो दोनों ने प्लान बनाया कि मूवी देखी जाए.

मैंने एक तेज झटके में लंड पेला था, तो मामी चिल्ला उठीं- आंह मर गई … धीरे चोद भोसड़ी के!मगर मैं कहां माने वाला था … मैंने दूसरा झटका मारा और इस बार मेरा लगभग पूरा लंड मामी ने अपनी चूत में ले लिया था.

वो दोनों बिस्तर पर आ गईं और मुझे सिगरेट पीने लगीं, मुझे गंदी गंदी गालियां देने लगीं. उनको इस हालत नंगी नहाते देखकर मेरा लंड बिल्कुल 90 डिग्री पर खड़ा हो गया. फिर वो मेरे लंड से उतर कर बाजू में लेट गई और मेरे लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी.

तभी मैंने उसके बूब्स को दबाते हुए कहा- चिल्लाओ मत!मैंने अंगिका को इशारा किया और वो मुग्धा के आगे आकर अपने निप्पल चुसवाने लगी।मुग्धा भी अपने दर्द को दबाने के लिए उसके बूब्स चूस रही थी, उसने अपनी बेटी की चूचियों में कई जगह दांत गड़ा दिए. उसके आने के समय मैंने सारी लाइट्स बंद कर दी थीं और उसके आते ही मैं उसे ऊपर के रूम में ले आया था.

ताऊजी के बेटे हैं अनिकेत भैया मतलब विवेक और लूसी के मामा!और अब इस माँ बेटे की चुदाई हिंदी कहानी का सबसे महत्त्वपूर्ण पात्र मेरी मां सुनीता. फिर उसने मेरा नाम पूछा तो मैंने अपना नाम शालिनी राठौड़ बताया उसको!लेकिन उसको उच्चारण में थोड़ी दिक्कत हुई मेरे नाम को लेकर … तो दो-तीन बार मैंने उसको बताया और मैं मुस्कुराने लगी. नीचे उसका लंड मेरी चुत को बजा रहा था, ऊपर हमारे होंठ घमासान कर रहे थे.

न्यू सेक्सी सेक्सी बीएफ

भाभी की टांगों को फैला कर मैं उनकी चूत को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

ताऊजी के बेटे हैं अनिकेत भैया मतलब विवेक और लूसी के मामा!और अब इस माँ बेटे की चुदाई हिंदी कहानी का सबसे महत्त्वपूर्ण पात्र मेरी मां सुनीता. यहां मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैं लॉकडाउन में उसके ससुराल में फंस गया और मैंने फिर वहां क्या देखा. तभी रमेश सर की नजर सीमा पर पड़ गई, जो सेक्स के आनन्द में आंख बंद करके आह आह करती हुई अपनी चुत में उंगली कर रही थी.

मैं अब एक अच्छी दिखने वाली बॉडी वाला हो गया था क्योंकि मैं गांव में रहता हूं तो खेतों में काम करने की वजह से मेरी देहयष्टि काफी अच्छी थी. मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं। मैं काफी समय से अपनी रियल फॅमिली सेक्स की कहानी शेयर करना चाहता था लेकिन कभी लिखने का मौका ही नहीं मिल पाता था. कॉलेज गर्ल सेक्सी वीडियो बीएफदीदी की चूत के छेद पर मैंने अपना लंड लगाया और एक हल्का झटका दे दिया.

प्राची ने मुझे रोका और खुद ही जाकर बेडरूम से क्रीम लाकर मेरे पूरे लंड पर लगा दी. पर दूसरे ही मुझे अपने ब्वॉयफ्रेंड के सामने दूसरे लंड से चुदने की बात गलत लगने लगती थी.

बस फिर क्या था … मैंने लंड को चुत से सुपारे तक पूरा बाहर किया, थोड़ा सा लंड उसकी चूत की छेद में अटकाए रखा. अब वंश शनाया की चूत मार रहा था और मैं उसकी गांड में लंड पेले हुए लगा था. मुझे यह सब देखकर अजीब सा महसूस हो रहा था और जीवन में पहली बार मुझे अपनी लंड में तनाव महसूस हुआ.

मैंने झट से वो बोतल से तेल लिया और भाभी से कहा- आप पेट के बल हो जाओ. करीब 15 मीन तक हमारी चुदाई चली, उसके बाद मैं झड़ने वाला था तो मैंने चाची से पूछा कि किधर निकलूं?उन्होंने कहा- अन्दर ही निकाल दे. उसने मेरे सीने को चूमा, मेरी गर्दन को चूमा और हम दोनों एक दूसरे के होंठों के रसपान करने लगे.

उसकी पीठ पर किस करता हुआ मैं नीचे आया और उसकी गांड पर किस करने लगा.

मौसी मुस्कुराने लगीं और अगले ही पल अपनी ब्रा और पैंटी निकाल कर फिर से तौलिया लपेट ली. पिछली कहानीदोस्त ने मेरे बड़े लंड से गांड मरवाईमें अब तक आपने पढ़ा था कि भाभी ने मुझे जगाया और मुझसे चुदने की जिद करने लगी.

मैंने अपना एक हाथ जिया दीदी के हाथ में रखा और दूसरा हाथ जिया दी की सेक्सी कमर पर रख दिया. मैंने जब देखा कि चुत की आग तेज हो गई तो मैंने उसके मुँह पर हाथ रख कर दबाया और पूरा बूब मुँह में भर लिया और अपनी उंगलियां उसकी चूत में अन्दर डाल दीं. फिर एक मिनट बाद वो फिर से गर्म हो गई और अब मैं उसे तेज़ी से धक्के मारे जा रहा था.

मैं साफ देख रहा था कि जितना पागल मेरा जीजू पूनम की चुदाई करने को था, वो भी गैर मर्द के लंड में उतनी ही रुचि ले रही थी. उसने लगातार धक्के लगाते हुए मेरी गांड में ही पानी छोड़ दिया और अलग हट गया. दोनों ने आगे पीछे से मेरी चुत और गांड में एक साथ अपना लंड घुसा दिया.

आंटी जी का बीएफ ये तो मैं हरगिज़ नहीं चाहती थी तो मैंने पीछे पलट कर सर को गुस्से से देखा और सर का हाथ हटा दिया. आज से पहले मैंने बस भाभी को देख कर सोचा था कि उन्हें चोदने का मजा मिल है.

सेक्सी वीडियो सेक्स वीडियो बीएफ

तभी उसने मुझसे कहा- मुझे भी एक बेबी दे दो प्लीज़!उसी समय भाभी ने हंस कर कहा- मेरी बहन को सब बात पता है. मैं जल्दी जल्दी भागकर अपनी साईकिल के पास पहुंच गया और वहीं पर बैठ गया. सुम्मी हंसने लगी और बोली- हां चमेली की चुत जवान हो गई है … जाओ उसे देख आओ.

राजेश ने उसे मना लिया और उसकी गर्दन पर किस करने लगा, उसके होंठों को भी चूसने लगा. फ्रेंड्स, मैं अगले भाग में अपनी इस दूर की रिश्ते वाली हॉट सेक्सी गर्ल सेक्स स्टोरी का पूरा मजा लिखूंगा. સેક્સ વીડિયો સેક્સ વીડિયોउसकी नजर मेरे खडे लंड पर गयी तो उसकी आंखों में भी मुझे वासना दिखाई दी.

अब मैंने स्पीड और तेज़ कर दी और 10-15 झटके तेज़ देकर मैं भाभी की चुत में ही झड़ गया.

मैं ज्यादा देर तक नहीं रुक पाया और दो मिनट में ही मैंने उनके मुँह में पानी छोड़ दिया. मैं सदा उनसे बात करने की कोशिश में रहता था लेकिन वो ज्यादा बात नहीं करती थीं.

कभी कभी मेरा मन कर रहा था कि सारी बातें अम्मी से बोल दूँ, लेकिन मैं ये सोच कर नहीं बोल पा रहा था कि ऐसी बाते अम्मी से नहीं बोलना चाहिए. इसी के साथ मेरी यह हॉट इंडियन वाइफ कुकोल्ड सेक्स कहानी खत्म होती है. करीब दस मिनट बाद वो पुनः बहुत गर्म हो गयी और मुझे नीचे लेटा कर काऊगर्ल की पोजिशन में आ गयी.

हॉट हनीमून सेक्स कहानी में पढ़ें कि शादी से पहले एक लड़की लड़का मालदीव्स में जिन्दगी का मजा लेने गए.

उधर एक खेत में साइकिल को गिराकर छिपा दी और वहां से पैदल ही शब्बो के घर के आ गए. अब आगे ब्रदर सिस्टर सेक्स कहानी:मैं भी अब दीदी की चुदाई करने के लिए पूरी तरह से तैयार था. फिर मेरा ध्यान बगल की मेज पर गया जिस पर कुछ दवाएं, जग और ग्लास रखा था।मुझे लगा कुछ गड़बड़ है।मैं मौसी मां को डिस्टर्ब नहीं करना चाहता था, मैं तुरंत भाग कर दीदी के पास गया.

सेक्सी ब्लू पिक्चर फिल्म सेक्सीजब विलास से रहा नहीं गया तो उसने नीचे सरक कर मेरे लंड के उभार पर अपने होंठ रख कर किस कर दिया. हज़ीरा- मैं गलत थोड़ी कह रही थी यार … पहले मेरी चुचियां कागजी नींबू के समान थीं … वो आपने मसल मसल कर और चूस चूस कर बड़ी कर दी हैं.

सेक्सी बीएफ पिक्चर न्यू

रवि का लंड 4 इंच लंबा था, उन्होंने रवि से कहा- यदि मोहिनी और सोनम राज़ी है तो रवि उनकी उनकी चूत चोद सकता है. मॉम का तो पता नहीं … लेकिन मैंने यह पहली बार किया था, मुझे तो बहुत मजा आया. मेरे बूब्स से अपना हाथ हटाते हुए उसने मेरे कंधे के ऊपर से धीरे-धीरे मेरे कुरते के अंदर हाथ डालना शुरू कर दिया.

विलास ने मेरी लुँगी खोलकर बदन से अलग की हुई थी और उसने मेरी ब्रीफ के ऊपर से ही मेरे लंड पर अपने हाथ से दबाव बनाया हुआ था. तीन बार की सिस Xxx चुदाई के बाद उसको बाथरूम जाना था तो वह बाथरूम में जाने लगी. ऐसा कहकर वह चली गयी और मेरा हाथ उसके लंड पर चला गया।मैं लंड हिलाने लगी, चूमने लगी, पुचकारने लगी।और वह मेरे कपड़े उतार कर मेरी चूत सहलाने लगा।लंड और बड़ा हो गया।मैं यह जानकार बड़ी हैरान हुई कि साला 5′ के आदमी का 8″ का लंड? मोटा भी बहन चोद बहुत ज्यादा!तब मुझे अम्मी की बात याद आयी।उसने एक बार किसी से कहा था- आदमी के लंड का कद उसके अपने कद से नहीं नापा जाता.

उन्होंने कहा- इस बार जब मैं जबलपुर आऊंगा, तब एक बार तुम्हें मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आना होगा. उसने मेरे लंड पर दबाव बनाये रखा और मेरा पूरा लंड कुछ ही पलों में उसके गले तक घुस गया था. जब मैंने पूरा डाल दिया तो पूछा- शुरू करूं?वह हल्का सा मुस्करा दिया.

मैंने लंड मुँह में ठेला तो उसने थोड़ा सा लंड मुँह में लिया और चूसने लगी. दोस्तो, दिल्ली ले जाकर मेरे फूफा जी ने मुझे किस तरह से चोदा और मेरी कमसिन सीलपैक चुत का भोसड़ा बना दिया.

पर मेरे दिमाग में अभी भी कुछ और देर खेलने का मन था, उसके मुँह को ऊपर लेकर वापस पहले की पोजीशन में सब सैट कर लिया.

तभी अचानक से उनके हाथ से कप फिसल गया और गर्म कॉफ़ी मेरे पैंट पर गिर गई. सेक्सी पिक्चर हिंदी मधूनइतना कहते ही भैया लूसी की चूत में से लंड निकालकर अपने भारी भरकम लंड को मेरी चूत के मुंह पर रखकर रगड़ने लगे. नंगे गानाअरे यार विलास अच्छा हो गया तुमने मुझे जगा दिया, नहीं तो ना जाने कितनी देर तक सोता रहता. उसने मुझसे पूछा- तुम मेरे बारे में क्या क्या जानते हो?मैंने कहा- कुछ ख़ास नहीं … बस तुम्हारा नाम मालूम है कि तुम टीना हो.

मैंने धीरे से कहा- क्या वो सच में नामर्द है?फिर उसने मुझे अपने शौहर के बारे में बहुत कुछ बताया, वो उसके साथ कैसा रहता है, क्या करता है.

दीदी की दोनों टांगें हवा में उठी हुई थीं और मैं पूरी ताकत से चुत का भोसड़ा बनाने में लगा हुआ था. प्रिया भी वापिस चली गई लेकिन वो समझ गई थी कि मैं उसे सच में काफ़ी पसंद करता हूँ. फिर मैंने भाभी से पूछा- आपने किस किस के साथ किया है?भाभी ने बोला कि मैंने अपने पति के साथ ही किया है.

जब भाभी नहीं मानी, तो मैंने भी भाभी को बोल दिया कि अगर आप दोनों नहीं चल रहे हैं … तो मैं भी कहीं नहीं जा रहा हूँ. अब मेरी कोशिश रहती थी कि मैं उनको किसी भी देख लूं और भाभी को ताड़ने का मौक़ा मुझे मिलता रहता था. मैंने उससे पूछा- ऐसा क्यों किया?वो बोली- ये हमारी फर्स्ट नाइट है, तो मैं इसे ऐसे ही कैसे जाने देती.

बीएफ हिंदी देसी मूवी

सुहागरात में मैं अपने शौहर के लंड से चुद कर हटी ही थी कि मेरी ननद आ गयी कमरे में!लेखिका की पिछली कहानी:शादी नहीं की, चुदती रोज़ हूँमेरा नाम साजिया खान है।मेरा निकाह अभी एक साल पहले ही हुआ है।मेरी ससुराल लोकल है इसलिए मेरा मायके ससुराल में आना जाना लगा रहता है।आज मैं अपनी Xxx फॅमिली चुदाई कहानी आपको सुना रही हूँ।पहली बात तो यह कि मैं एक पढ़ी लिखी बीवी हूँ. उसकी चूत से पानी आ रहा था, फिर काफी देर तक हम दोनों ने एक दूसरे को किस किया. मैंने बहुत सोचा कि भाभी से कहूँ कि मुँह में लंड लेकर रस निकाल दो मगर मैंने उनसे लंड चूसने के लिए नहीं कहा.

हमारी स्कूल यूनिफॉर्म में एक ब्लू कलर का स्कर्ट और ऊपर एक सफेद शर्ट रहता था.

उनका लन्ड मुरझाया हुआ होने के बाद भी मेरे पति के लन्ड से मोटा लग रहा था.

मीनाक्षी ने बातों बातों में मुझसे पूछा- नवीन, तुम स्कूल में मुझे पसंद करते थे ना!मैंने भी कहा- हां, तुम भी तो मुझे ही देखती रहती थी. उसकी इस इच्छा को पूरी करने के लिए कुछ इंतजाम करना था, तो बाद में उसे पूरा करने का तय किया गया. खेसारी बीएफजैसे ही मैं बस में चढ़ने के लिए सीढ़ी के पास गई, सर मेरे पीछे ही थे और धक्का-मुक्की में उन्होंने एक दो बार मेरे मम्मों को टच तो किया, पर दबाया नहीं.

मुझे कुछ समझ नहीं आया तो मैंने फूफा से पूछा- आप लोग कहीं जा रहे हैं?तो उन्होंने बताया कि गांव पर कुछ दिक्कत आई है इसलिए लगभग एक हफ्ते के लिए गांव जा रहे हैं. करीब 3 बजे के बाद जब मैं जागा, तो भाभी मेरे ऊपर लेट कर अपनी बॉडी को ऊपर नीचे कर रही थीं. फिर एकदम से उसकी चूत से पानी निकला और एक लम्बी आह्ह … के साथ दीदी शांत होती चली गयी.

हम दोनों को ऐसा लगने लगा था, जैसे हम दोनों एक दूसरे के लिए ही बने हैं. उसके दूध के कलश जब मेरे सीने से दबने लगे तो क्या बोलें कि मुझे कैसा लगा.

इसके बाद मैं बोला- दीदी आपकी ब्रा भी निकाल दूँ?जिया दी- तुझे अब भी मेरी परमिशन की जरूरत है?मैंने पीछे से दीदी की ब्रा का हुक खोल दिया और जिया दीदी की मदद से ब्रा निकाल कर अलग कर दी.

मेरी साली का नाम रीता (बदला हुआ) हैसात साल पहले मेरी शादी हुई थी और हमारी सेक्स लाइफ एकदम मस्त चल रही है. उस लड़की का नाम शिल्पा था और वो भाभी की कोई रिश्तेदार थी, जो कि मुझे बाद में पता चला. वो बोली- हां मैं भी अपने इष्ट देव को साक्षी मान कर तुम्हें इसी समय से अपना पति स्वीकार करती हूँ.

बीएफ सेक्सी मूवी पंजाबी पिक्चर मैं भी उसको गाली देने लगी- चोद डाल साले बहन चोद …अब वो उठकर बैठा और उसने अपना लंड निकाल कर मेरे मुँह में डाल दिया. लेकिन में अपनी बहन की लाइव चुदाई देखता रहा क्योंकि मुझे पता था कि ये मौके रोज रोज नहीं मिलते.

तो वहाँ गुजरात राजस्थान और महाराष्ट्र के सभी बड़े बैंक कर्मचारियों की मीटिंग है. अब आगे भाभी हॉट लेस्बियन सेक्स:कुछ देर बाद वो तीनों मेरे ऊपर से हट गए. जैसे ही उसके होंठों का स्पर्श मैंने अपने लंड पर पाया, मेरे तो शरीर में एक करेंट सा दौड़ने लगा.

बीएफ सेक्स वीडियो एक्स एक्स

मैंने उसके मम्मों को तेजी से चूसना शुरू कर दिया और दूसरी उंगली को उसकी चूत पर रख दिया. मैंने झट से उसके होंठों पर अपने होंठ रखे और किस करते हुए उसकी आवाज को दबाने लगा. शायद उस समय जिया दीदी पूरी नग्न अवस्था में लेटी हुई होंगी और राहुल दीदी के ऊपर चढ़कर उनको चोद रहे होंगे.

मुझे लग रहा था कि जीजाजी ने जिया दीदी की चुत को अब तक चोद कर भोसड़ा बना कर रख दिया होगा लेकिन मेरी सोच जितनी जिया दीदी की चुत खुली हुई नहीं थी. मैं मामा के घर गया हुआ था और मेरे भाई के दोस्त ने मेरे लिए रंडी का इंतजाम किया.

जैसे ही उसके रूम के पास पहुंच कर मैंने उसे फ़ोन किया, उसने धीरे से अपना दरवाज़ा खोल दिया और मैं चुपके से उसके रूम पहुंच गया.

हम जल्दी से सेट होकर बैठ गये।मैंने उसको कहा- कल स्कूल न आकर कोई भी बहाना लगा कर मेरे घर ठीक 10 बजे पहुंच जाना।उसने कहा- मैं सोच कर बताऊंगी. अंजलि भाभी बोलीं- हां हां क्यों नहीं, ये मेरी बहन है और इसका नाम शिल्पा है. पहले मैं अपने फैमिली के बारे में आपको बता देता हूँ ताकि कहानी समझने में आप लोगों को कोई परेशानी न हो.

सरिता टांगें फैलाकर बैठ गई और मैंने अपने हाथ से उसकी चुत पर बाहर और अन्दर क्रीम लगा दी. पर मुझे तो उसकी चूत से मतलब था क्योंकि धोखे के बाद सिर्फ सेक्स बच जाता है. उसके बाद हमने शनाया को बेड पर लेटा दिया, उसकी टांगें फैला कर चूत रगड़ने लगे.

मैंने 15 मिनट धकापेल चुदाई की और अपना रस भाभी की चूत में ही छोड़ दिया.

आंटी जी का बीएफ: तभी मैं थोड़ा उठी और स्कर्ट ऊपर करके अंकल की गोद में बैठने लगी, जिससे अंकल का लंड पूरी तरह मेरी चुत में समा जाए. हसित के दोनों हाथ रीना के मम्मों पर थे और रीना के दोनों पैर हसित के कंधों पर थे.

शब्बो पीछे से आई और मुझे हल्के से धक्का देकर और खुद जाकर खाट पर बैठ गई. मैं बोला- क्या बात है मां, आज इतना टेस्टी और पोषक खाना?मां बोली- आजकल तू इतनी मेहनत जो कर रहा है! जॉब भी करता है. मम्मी पापा भी दिन भर जॉब पर होते थे तो दिन में मैं और भाभी अकेले ही होते थे.

करीब पंद्रह मिनट तक लंड चूसने के बाद उन्होंने मेरा सिर पकड़ा और मेरा मुँह जोर जोर से चोदने लगे.

मेरा लंड खड़ा होकर 6 इंच का हो गया था और चाची की गांड में लगना शुरू हो गया था. दस मिनट बाद गगन ने अपनी मम्मी की चुत को मुँह से चाट कर साफ कर दिया. मैंने उनकी एक चूची को फिर से अपने मुँह में भर लिया और निप्पल को मींजते हुए चूसने लगा.