बेटे का बीएफ

छवि स्रोत,एचडी सेक्सी बीएफ एचडी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी गाने पिक्चर: बेटे का बीएफ, कई दिनों से लंड की भी भूखी थी, ऊपर से नखरे कर रही थी और अन्दर से पूरा लंड चुत के अन्दर करवाना चाहती थी.

नहाने वाला बीएफ

अब सुरेश ने अपनी हथेली से सोनी की जांघों के बीच का मांस दबा लिया था और सोनी की आह निकल गयी. बीएफ सेक्सी पिक्चर चुदाई चुदाईपहले उसने मेरे होंठों को किस किया और फिर हाथ नीचे ले जाकर अपने लंड को पकड़ कर मेरी चूत का रास्ता ढूंढने लगा.

मेरे कमरे में आने के बाद उसने मुझे 7 बजे तक मेरे कमरे में ही मुझे चोदा और चला गया. बीएफ सेक्सी देहाती जंगलवो शेविंग क्रीम लगाकर चूत को मसल रही थी और अपने मम्मों को भी अपने हाथ से दबा रही थी.

मैंने उनसे कहा- क्या विचार है, लेना है या मुँह से ही चुसवा कर काम खत्म कर दूँ?वो बोले- बेटा, अभी तो मुँह से ही चूस ले … बड़ा मजा आ रहा है.बेटे का बीएफ: बेबी, क्या कर रहे ये तो बताओ?”जानू, तुम बस मजे लेना, तेरी गांड का दर्द मैं भुलाने वाला हूँ.

बस सेक्स KLPD स्टोरी में पढ़ें कि मैं रात की बस से अपनी गर्लफ्रेंड के पास जा रहा था.कभी कभी उनके कहने पर सब्ज़ी, दूध, पनीर या अन्य घरेलू सामान ला दिया करता था, लेकिन इस तरह से कभी उनको चाय के लिए नहीं बुलाया था … वो भी इतनी रात में.

नेपाली वीडियो बीएफ सेक्सी - बेटे का बीएफ

मैंने पूछा- कितनी बार चोद चुके हो उसे?भूरा- अरे सर, एक दिन शाम को वह बकरियां बाड़े में बंद करने जा रही थी.वो 10 मिनट मुझे 10 घंटे के बराबर लगने लगे।खैर मेरा इन्तेजार ख़त्म हुआ और ठीक 8 बजे अंकल ने दरवाजे पर घंटी मारी.

आह आज पहली बार किसी लड़के ने मुझे इस तरह देखा है और वो भी मेरे सगे छोटे भाई ने … आआहह भाई चूसो अपनी बहन की चूची को … आआह आआह हह हहह. बेटे का बीएफ इसके अगले दिन इंस्टीट्यूट में सर और मॉनिटर ने मुझे रगड़ कर चोदा और वो शादी में मिले लड़के ने भी आज मुझपे हाथ साफ कर दिया.

अर्चना की कुंवारी चुत की चुदाई करने का स्वर्ण अवसर मामी अपने घर में सौंप चुकी थीं.

बेटे का बीएफ?

नुपूर भाभी मेरे पास आईं और पूछा कि सभी कहां गए हैं?मैंने कहा- आगरा गए हैं. पहले झटके में आधा और दूसरे झटके में पूरा लण्ड मामी की चूत में समा गया. इसी बीच मैंने उसकी पूरी पैंटी उतार दी। सामने नग्न हल्के काले बालों से ढकी हुई अत्यंत उभरी हुई सी योनि थी। ईश्वर ने उस रतिरूपा का हर अंग फुरसत से बनाया था.

मैंने रात की 9 की बस में स्लीपर की पीछे तरफ की एक पूरी सीट बुक कर ली. इस समय भाभी की साड़ी का पल्लू नीचे हो गया था तो भाभी का नंगा पेट और ब्लाउज में कैद चूची मेरे सामने दिख रही थीं. आंटी शायद काफ़ी तजुर्बेकर औरत थीं, लंड के टोपे को वो ऐसे चूस रही थीं मानो लंड को निचोड़ कर उसके अन्दर का सारा रस निकाल लेंगी.

मैंने- सही है … फिर भी निर्मला जी, आज यहां कैसे आना हुआ!अब मैंने आंटी जी की जगह निर्मला जी कहना शुरू कर दिया था. पता नहीं सोनी उसके बदन का भार कैसे सहन कर रही थी जबकि वो बहुत नाजुक कली की तरह थी।सुरेश ने अब अपनी बनियान भी उतार दी और सोनी की स्कर्ट भी। सुरेश का बदन सांवला था और काफी गठीला था. बाकी कल हो जाएगी।उसे क्या पता कि आज मेरी भाई के साथ सुहागरात है।मैं फिर गुस्सा हो गयी।फिर उसने मुझे शांत किया और अपने केबिन में ले गया; मेरे कंधे पर हाथ रखकर सोफे पर बिठाया।वो बोला- मधु जी, आप जैसी अप्सरा पर गुस्सा शोभा नहीं देता। आप बैठो मैं कुछ करता हूं।उसका इस तरह से बोलना मुझे बड़ा अजीब सा लगा।मैं बोली- ये क्या किया आपने? आपका नाम सिर्फ मेरे पति का है। आप मेरे पति नहीं हो.

सुरेश ने उससे कहा- सोनी, पहले एक कहानी सुन!वो उसे पास बैठाकर एक कहानी सुनाने लगा जिसमें एक आदमी रात में जंगल में खो जाता है और उसको वहां एक झोपड़ी में एक परिवार मिल जाता है और रात को आसरा लेने के बहाने वो उस औरत की चूत चोद देता है. भाभी हर झटके के साथ मस्ती से चिल्ला रही थीं- उफ्फ हां ऐसे ही चोदो अक्की … मजा आ रहा है.

वो मेरी चूची दबाने लगा और कुछ देर के मज़े के बाद हम वहां से मेले के पीछे की तरफ चले गए.

ज़ारा- मुझे बहुत डर लगता है जुदाई का सोचकर!इसलिये जीना चाहती हूं आपके साथ एक-एक पल को!मैं- और मैं तुम्हें इसलिये दूर रखने की कोशिश करता हूं ताकि तुम्हारी आने वाली जिंदगी में तुम्हें कोई तकलीफ ना हो.

दो जोरदार आहों के बाद उसने अपनी चूत का मुँह खोल दिया और उसका सारा नमकीन पानी मेरे मुँह और चेहरे पर लग चुका था. इतने में चाची जी कॉफी लेकर आ गईं और कॉफी देने के लिए वो जैसे ही झुकीं, मेरी नजर फिर से उनके बाहर को झांकते हुए मोटे मोटे चूचों पर पड़ गई. फिर मैंने भी आपा से पूछा- आपा आपका कोई बॉयफ्रेंड है?तो आपा ने भी नहीं कहा.

उससे बातें हुईं और वो ये सब मुझे बताना चाहती थी … मगर घर में सबके होते हुए नहीं बता पाई. जब मेरे डिस्चार्ज का समय करीब आया और मेरा लण्ड अकड़कर मूसल जैसा होने लगा. लगभग एक घंटे बाद उसने मुझे झिंझोड़ कर उठाया!ज़ारा- जान, उठो!मैं- हां, क्या हुआ?ज़ारा- ये इंडियन पॉर्न फिल्म्स क्यों नहीं आ रहीं?मैं- यार इंडियन पोर्न फिल्म्स बनती ही नहीं तो आयेंगी कैसे?ज़ारा- बनती ही नहीं?मैं- नहीं!ज़ारा- फिर ये वीडियोज?मैं- सब एम.

मुझे अहसास हुआ कि उसके नितंब कितने कोमल और माँसल हैं। उसके नितंबों को आहिस्ता-आहिस्ता दबाना और सहलाना शुरू किया तो रेनू की मादक आहें बेडरूम को संगीतमय बनाने लगीं।उसने वासना के वशीभूत होकर अपने वक्षस्थल को अपने ही हाथों से दबाना शुरू कर दिया.

एक बार मुझे 50 हजार रुपये की जरूरत पड़ी तो मैंने उससे मेरी मदद करने के लिए कहा. एक हाथ से मैं फोन में चैट कर रहा था और दूसरे से अपने लंड को भी साथ साथ सहला रहा था. शायद उसने अंदर ब्रा भी नहीं पहनी थी इसलिए चूची दायें बायें डोल रही थीं.

मेरे पूछने पर वो शर्माती हुई बोली- मुझे बहुत जोरों से बाथरूम लगी है. अब तक की सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैं शायरा के घर में अपनी जुगाड़ ममता को चोदने के लिए ले आया था. लेकिन मैंने उन्हें कुछ कहा नहीं क्यूंकि मुझे भी इस सब में मज़ा आ रहा था.

फिर आंख मारती हुई बोली- आ जाओ राजा अन्दर … बस जरा धीरे से करना मेरी जान.

इस हॉट गर्ल सेक्स कहानी के पहले भागकमसिन पहाड़ी लड़की को चुदाई के लिए मनायामें आपने पढ़ा कि रंगोली मुझसे चुदने के लिए मेरे कमरे में आ गई थी. वो अपने जीजू से बोली- आज भी कहीं जाना है क्या?मनीष- नहीं साली साहिबा, आज इम्पोर्टेन्ट मीटिंग है मेरी, शायद लेट भी हो सकता हूँ.

बेटे का बीएफ रवि ने मेरे मुंह में लंड डाल दिया और पीछे से सनी ने अपना लंड मेरी गांड में लगा दिया. शीघ्र ही आपसे लाइव फैमिली सेक्स कहानी के अंतिम भाग में एक बार फिर से मुलाकात होगी।मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]लाइव फैमिली सेक्स कहानी का अगला भाग:ससुराल में बीवी और उसकी भानजी संग- 3.

बेटे का बीएफ इसके तुरंत बाद उसने अपना लंड का टोपा मेरी गांड के छेद पर रख दिया और लंड गांड में पेल दिया. हालांकि मुझे मालूम चल गया था कि पूजा बुआ मेरे लंड से चुदना चाहती थीं … लेकिन तब भी मैं खुद से पहल नहीं करना चाहता था.

जब मेरा पूरा लंड अंदर चला गया तो मैंने उसके पैरों को अपने कंधों से उतार दिया और मोड़ दिया.

सनी लियोन सेक्सी वीडियो डाउनलोड

ट्रेनिंग सेंटर के प्रवास के दौरान मॉल और पार्क आदि जहां भी हम दोनों घूमने गए. मैंने घर वालों से कहा- मुझे बहुत जोर से नींद आ रही है, मुझे घर जाना है. कसम से क्या मखमली चूत थी एकदम कोमल और मक्खन सी चुत को देख कर मन कर रहा था कि बस चुत को चाट लूं.

उसके गोल-गोल माँसल नितंब लिंग को गुदाद्वार में प्रवेश की चुनौती दे रहे थे।उसने गाउन पहन कर अपनी बेटी को चाय-बिस्कुट और कुछ चॉकलेट देकर फिर से दरवाजा बाहर से बन्द कर दिया।बेडरूम में आकर उसने गाउन उतार दिया. मैं एक गदराये हुए जिस्म की औरत हूं।आपको आज एक और सच्ची सेक्सी लंड से चुदाई कहानी बताती हूं. दो मिनट के बाद मेरे लंड ने भी पिचकारी छोड़ दी और वो मेरे सारे वीर्य को अंदर ही गट गट करके पी गयी.

हालांकि मैं रानी से बातें कर लेता था … मगर मेरी फटती थी कि कहीं रानी ने मुझे कुछ कह सुन दिया, तो मेरा काम लग जाएगा.

दोस्तो, यह सबसे अच्छा अनुभव होता है जब कोई लड़की, लड़के का लंड चूसती है. दोपहर को सबने एकसाथ लंच किया और थोड़ी देर के लिए सब लोग आराम करने लगेमैं अर्चना को गोद में लेकर सोफे पर आराम करने लगा और अनु दीदी सुमंत महंत दोनों भाइयों को एक कमरे में लेकर समा गईं. लंच करते करते आपा ने मुझसे पूछा- तेरी कोई गर्लफ़्रेंड है?मैं उसके इस सवाल से एकदम से चौंक गया कि आपा ये क्या पूछ रही हैं.

मैंने सोनल से उसके फ्रेण्ड्स के बारे में पूछना शुरू किया तो बताने लगी. रात में भाभी का दर्द बढ़ गया तो मैं भाभी और मां को गाड़ी में बिठा कर शहर के अस्पताल की ओर निकल पड़ा. मैंने उसकी चूचियां देखते हुए कहा- तुम कमरे में चलो मैं अभी आता हूँ.

उसे देखकर तो यही लग रहा था कि वो पता नहीं इस प्यार के लिए कब से तड़प रही थी. उसके बाद अपने घर जाने के लिए मैं मामी से इजाजत लेने गया, तो मामी ने अगली दोपहर में मुझे आने के लिए आदेश दिया.

उसकी समझ में आ गया था कि अकेले में रहने को मिलेगा तो चुदाई का खेल भी खेला जा सकता है. पर मैं आज पहली बार तुम्हारा ले रही हूँ तो तुम ही ऊपर आ कर धीरे धीरे अंदर डालना यार! तुम्हारा बहुत मोटा और लम्बा है इसलिए। एक बार लंड को चूत में जाने दो तक से उसके बाद जो ओर जैसा चाहो वैसे मुझे चोद लेना. हिन्दी Xxxx चुदाई की कहानी में पढ़ें कि हमारे घर चूड़ी बेचने वाला आया तो वो जवान लड़का मुझे अच्छा लगा, मैंने उसे घर के अंदर लेकर दरवाजा बंद कर दिया.

मैंने अपने लौड़े पर खूब सारा तेल गिराया … और ‘जय हो चूत चमेली की …’ बोल कर उसकी गांड में धीरे धीरे लंड डालना शुरू कर दिया.

आह … मेरे सामने उसकी गोरी गुलाबी चुत को रोता देख कर मैं पागल सा हो गया. जिसके बाद एक बाबा ने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे अपनी तरफ खींच लिया और दोनों के बीच में बिठा लिया. उसके बाद उसने मेरी गांड में से लंड को निकाला और मेरे मुँह में पिचकारी मार दी.

पर न कोई दूसरी लौंडिया दिलवाई और न अपनी दी।मैं अभी झड़ा नहीं था पर मैंने अपना लंड निकाल लिया. साथ में कोई जानने वाला हो तो उसका सहारा हो जाता है लेकिन मैं तो बिल्कुल अकेली थी.

आवाज तक नहीं निकल पा रही थी मेरी।करीब 10 मिनट बाद मेरा दर्द कुछ कम हुआ और मेरी बुर ने भी पानी छोड़ना शुरू कर दिया. उसे कुछ दर्द हो रहा था लेकिन कुछ ही देर में चुत ने लंड के लिए जगह बना दी थी और उसने भी नीचे से ठुमके लगाना शुरू कर दिए थे. वह हंस कर बोलीं- इसमें कुछ मिलाया तो नहीं है?मैंने बोला- मुझे आपके साथ अगर कुछ करना होगा, तो वो मैं आपकी परमिशन से करूंगा.

सेक्सी दिखने वाला

मैं राज जयपुर राजस्थान से हूँ और पेशे से गारमेंट और ऑनलाइन बिजनेस से जुड़ा हूँ.

वो नीचे टांगों से नंगी थी और गैस पर ताहरी चढ़ाने की तैयारी कर रही थी. इसमें मुझको शर्म भी आ रही थी और दिल ही दिल ही उत्तेजना भी बढ़ रही थी. थ्रीसम चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैंने कैसे अपनी गर्लफ्रेंड की दो सहेलियों को एक साथ चोद कर मजा दिया.

जैसे-जैसे लिंग अंदर जा रहा था, लिंग को उतनी ही मेहनत करनी पड़ रही थी. हालांकि मुझे मालूम चल गया था कि पूजा बुआ मेरे लंड से चुदना चाहती थीं … लेकिन तब भी मैं खुद से पहल नहीं करना चाहता था. एक्स बीएफ मूवीसफिर कुछ पल बाद कड़क चुचियों और कसी चुत की मल्लिका अर्चना मुझे फिर से भरपूर सहयोग करने लगी.

वो एकदम से मुझे नाख़ून से खरोंचने लगी, पर मैंने उसको कोई मौका नहीं दिया. मगर मैंने चाची की एक ना सुनी और अपना लौड़ा चाची की चुत में धकापेल अन्दर बाहर करने लगा.

सेक्सी गर्ल ओरल सेक्स कहानी मेरे दोस्त की छोटी बहन के साथ सेक्स की है. वहां जिसके पास पैसा है उसके लिए सब अच्छा है लेकिन जिसके पास कम है या नहीं है उसको बहुत कुछ कुर्बान करना पड़ता है. तेरी चुत में अब हर रोज लंड घूम कर ही आएगा, चाहे फिर वो नकली ही क्यों ना हो.

वो टावल उठाते हुए बोली- ऐसे क्या देख रहा है, कभी लड़की नहीं देखी क्या?मैं बोला- देखी है भाभी, लेकिन आप जैसी नहीं. शायद मैं ही गलत समय उससे मिलने चला गया था … इसलिए ये मुलाकात भी कोई खास नहीं रही. सुरेश सोनी की जुल्फों में हाथ फ़ेर रहा था और सोनी ने अपनी बायीं जांघ को सुरेश की जांघ के ऊपर रख दिया था.

जौहरा ने अपनी एक उंगली शाईस्ता की गांड में डाल दी और अन्दर बाहर करने लगी.

उनका लंड मेरे दोनों चूतड़ों के बीच बार बार टक्कर पर टक्कर दे रहा था. फिर मम्मी की दोनों टांगों को चौड़ा करके उनकी चूत पर अपना हाथ रख दिया.

उसने अपना मूसल चूत में ठोका और करीब आधा घंटा तक मेरी बीवी की चूत चोदता रहा. कुछ ख्याल हमारा भी रख लेते।मुझे लगा कि अब भाभी को सारी बातों का पता ही लग गया है तो क्यों ना बिल्कुल खुलकर ही बात कर ली जाये. उसको भी पता था कि इस तरह की दोस्ती का बस एक ही मतलब होता है और वो है चुदाई.

मैंने उससे अपनी असहमति दिखाई, तो वो मुझे पलट जबरदस्ती मेरे होंठों को चूमने लगी. मुझे कुछ समझ नहीं आया लेकिन अगले ही पल उसने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरे होंठों से होंठों को मिलाकर मुझे अपनी आगोश में ले लिया. मैंने देखा कि भाभी की छोटी किरायेदार लड़की छिप कर हमारी बातें सुन रही थी.

बेटे का बीएफ मैं- वो तेरी तो दोस्त है … बातों बातों में बोल दिओ यार … तेरी बात का तो वो बुरा भी नहीं मानेगी … प्लीज़. जब मैंने तिरछी निगाहों से देखा कि वो दरवाज़े पर खड़ी है तो मैं और तेज आहें भरता हुआ उसके नाम की मुठ मारने लगा.

मां और बेटे की सेक्सी पिक्चर

आपको ये फोन सेक्स चैट कहानी पसंद आई हो तो अपना फीडबैक दें और मुझे मेरे ईमेल पर बतायें. कुछ टाइम बाद सब बारी बारी से बाथरूम में गए ओर फ्रेश होकर बेड पर बैठ गए. मगर हम दोनों अभी भी व्हाट्सएप पर सेक्स चैट करते हैं तथा जब भी समय मिलता है, हम एक दूसरे के फ्लैट पर आकर प्यार और चुदाई कर लेते हैं.

वहीं प्रियंका हम दोनों का खेल देख कर अपनी चूत और चूचों से खेलने लगी. दो बार चुदवाने के बाद मैंने अनन्या को घर वापिस भेज दिया क्योंकि उसको ऑफिस का काम करना था. हिंदी बीएफ मौसीउसी पुलिया पर बैठे भूरा ने पूछा- सर! आपका बहुत मोटा है?मैं- तुझे मरवानी है क्या? तेरी फट जाएगी।भूरा- सर करके देखें?मैं- अच्छा, कल देखेंगे।वह बोला- सर! यहीं जंगल में चलते हैं.

मुझे लगा कि वो मेरा बहुत अच्छा दोस्त है तो मुझे उससे मदद मांगने के लिए ज्यादा सोचना नहीं पेड़गा और वो बिना किसी ब्याज वगैरह के ही पैसे में मेरी मदद कर देगा.

हम दोनों ऐसी सेक्सी बातें कर रहे थे और हम दोनों फिर से गर्म होने लगे थे. मैंने उनकी गांड के छेद पर थूक टपकाया और चुत चोदते-चोदते उनकी गांड में अपना अंगूठा डालने लगा.

मैं फिर से गुर्राई- इनको अच्छे से साफ करो, कुत्ते कहीं के! चाटो इनको!वो थोड़ा हिचकने लगा. देखते ही देखते हमारे रिश्ते को पांच साल हो गए, पांचवी सालगिरह हमने इमैगिका जाकर मनाई. विपिन अपनी पूरी ताकत से मुझे चोद रहा था और ‘हम्म … हम्म … हम्म …’ करते हुए मेरे दूध मसलता हुए मुझे चोदता जा रहा था.

मैंने कहा- तो फिर ये पर्दा किसलिये?मेरे टोकने पर उसने अपनी मैक्सी उतार दी.

फिर मैंने उसको गर्म करके कैसे उसकी चूत मारी?नमस्कार दोस्तो, प्यारी-प्यारी हसीन चूतों की मल्लिकाओ और नर्म नर्म उरोजों वाली लड़कियो और महिलाओ. फिर जब तक जबलपुर नहीं आया वो मेरे बदन से मौका पाकर छेड़खानी करते रहे और मेरा सफर आराम से कट गया. अंकल- बेटा शुरू में थोड़ा सा दर्द होगा, फिर बाद में देखना कितना मजा आएगा.

स्थानी बीएफमैं अपनी चूत को राज के लंड की ओर धक्का देना चाहती थी लेकिन मैं ऐसा कर पाती इससे पहले ही जय के लंड का धक्का मेरी गांड में लग जाता था. मैंने कहा- वो आप लेकर आए हो?उन्होंने कहा- हां आज मैं साथ लेकर आया हूं … स्पेशल तुम्हारे लिए मेरी जान.

आलिया की सेक्सी वीडियो

इतने में अनामिका बोली- जीजू … मुझे आपका लंड चूसना है … मेरा बड़ा मन है. मुझे एक अजीब सी ठंडक मिलने लगी और मैंने महसूस किया कि उनकी चूचियां मेरी छाती में कुछ ज्यादा ही गड़ रही हैं. मैंने देखा कि भाभी की छोटी किरायेदार लड़की छिप कर हमारी बातें सुन रही थी.

इस पर वो बोले- अभी तेरी जैसे दस चूतों का भुरता बना सकता है ये लंड! और फिर भी खड़ा रहेगा. मैं उसकी गांड के छेद में जीभ डालने के कोशिश कर रहा था लेकिन छेद इतना टाइट था कि अन्दर ही जीभ नहीं जा रही थी. चाहे वो किसी रूप में करे, गुरु बनकर या रति के रूप में। मेरे लिये वो एक मार्गदर्शक बन गयी।मगर इतने वर्षों के बाद आज भी हम दोनों आपस में बेहद खुले हुए बहुत अच्छे मित्र थे किंतु फिर भी बात नहीं कर पाते थे।यही सोचता रहा कि मित्रता पर वासना का बोझ पड़ गया तो वो संबंध कहीं टूट न जाये.

और जाने से पहले अपनी चुत और बगलों की सफाई अच्छी तरह से कर लेना … क्योंकि लड़कों का लंड इन्हीं चीजों को देख कर खड़ा हो जाता है. आज मेरे लंड में इस तरह आग लग गई थी कि मुठ मारे बिना शांत ही नहीं हो पाई. तुम पहले वादा करो कि बाद में मुझसे तब तक कोई सम्पर्क नहीं करोगे … जब तक मैं नहीं चाहूँगी.

मैं तब तक लंड हिलाता रहता जब तक कि मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी न निकले. लेकिन मैं बार-बार फोन करके और व्हाट्सएप पर मैसेज करके उससे पूछता कि आपको खाने के लिए कुछ चाहिए तो नहीं … या पीने के लिए.

मेरी सौतेली मम्मी अपनी चूत मुझे दिखाकर बोली- देखो कितनी सूज गयी है मेरी चूत.

मैं हंसने लगा- कोई बात नहीं!शेखर- वह तुम्हारा अहसान कैसे उतारे? तुम्हें दिलवाएं प्रेमा की?मैं- अरे नहीं शेखर जी, उससे बढ़िया तो भूरा ही है. ओपन बीएफ भोजपुरीवो हर बार मुझे यही भरोसा दिलाती कि वो जल्दी ही मेरे पास हमेशा के लिए आ जाएगी. सेक्सी बीएफ चुदाई के साथउसकी फुद्दी की फांकें पतली सी थीं, हल्की सी ब्राउन और एकदम गोरी बुर में छोटा सा गुलाबी छेद था. गर्म चूत सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं लन्ड के बिना नहीं रह सकती हूँ। एक बार चार दिन हो गए, मुझे लंड नहीं मिला.

मैं उसे गर्म ही रखना चाहता था क्योंकि पहली चुदाई में लड़की के गर्म रहने से आसानी रहती है.

चूंकि मैं लड़कियों से जब तक मिला नहीं होता हूँ तब तक थोड़ा रिजर्व रहता हूँ. एक ही धक्के में मेरा आधा लंड मम्मी की चूत को फाड़ता हुआ अन्दर चला गया. मैंने बाहें फैला दीं … और वो मेरे कंधे के ऊपर से अपने हाथ डालकर मेरे ऊपर चढ़ सी गई.

मैं पूरी ताकत से उसकी चूत को फाड़ने लगा और उसके चेहरे पर दर्द साफ देखा जा सकता था. उसे बेड पर ले जाकर पटक दिया मैंने!शैली को बेड पर पटकते ही मैंने झट से अपनी टी-शर्ट उतार फैंकी और अधनंगा होकर उसकी तरफ देखा. रचना ने अपने दोनों हाथ मेरी पीठ पर रख कर जोर से नाखून से पीठ खरोंच डाली.

लोकगीत गाना

नंगी जवान औरत की चूत का रसपान करते हुए मेरे लौड़े की भी आग जाग चुकी थी पर अभी उसमें उतना कड़ापन नहीं था कि मैं सीधा उसको रेशमा की चूत में घुसा सकूं. फिर आंख मारती हुई बोली- आ जाओ राजा अन्दर … बस जरा धीरे से करना मेरी जान. कुछ देर बाद विक्रम बोला- रुको भाभी, तुम्हारा घुटना दर्द कर रहा होगा, तुम मेरे ऊपर आ जाओ.

उसमें से छोटी वाली लड़की हमेशा ही मुझे देखकर अपने होंठों पर जीभ फिरा देती थी.

दस मिनट की चुदाई के बाद मैंने लंड निकाला और उनकी चूत को तुरंत चाटने लगा क्योंकि चूत से बहुत पानी बह रहा था.

उसने कहा- अक्की एक बार और हो जाए, पता नहीं इसके बाद मैं कब इस लंड से चुद पाऊंगी?मैंने उससे पूछा- क्या तुम इसके पहले भी चुद चुकी हो?उसने हां में जवाब देते हुए कहा- मेरे जैसी लड़कियों को कै बार अपना मतलब निकालने के लिए कई तरह के समझौते करने पड़ते हैं. अब आगे भाभी पुसी लिक स्टोरी:मैं भाभी से आई लव यू कह कर उनके कान की लौ को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा. सुहागरात का सेक्सी वीडियो बीएफवो अपने नितंबों को उछालने लगी थी।उसने ना जाने कितनी बार योनिरस छोड़ा और मैं सारा योनिरस पीता गया.

मैंने ध्यान किया कि जब से मैं बुआ के घर आया था, तब से ही बुआ मंद मंद मुस्कुरा रही थीं. मगर वो नहीं मानी और वहीं कुछ दूर जाकर पेशाब करने के लिए अपनी जींस नीचे खिसकाने लगी. मैंने उसकी तमन्ना कैसे पूरी की? मजा लें!मित्रो, मैं विवान अपनी सेक्स कहानी में चुदाई का रंग भरने एक बार फिर से हाजिर हूँ.

उनका ये तरीका मुझे बहुत रोमांचित कर रहा था।मैंने भी उनका लंड पकड़ कर कहा- बूढ़े शेर में अभी भी बहुत दम है. हम दोनों ने एक दूसरे को जोर से हग किया और फिर एक दूसरे से लिपट गये.

कुछ देर तक यूं ही चोदने के बाद हम दोनों चरम पर आगे और दोनों का पानी एक साथ आ गया.

चुत के नमकीन स्वाद से अनामिका का पहले तो मुँह बन गया, लेकिन पानी घुलने से उसे बर्फ चूसना अच्छा लगने लगा. मेरे बैठते ही वो घुटनों के बल बैठ गई और मेरे लंड पर ऐसे टूट पड़ी, जैसे उसने आज लंड पहली बार ही देखा हो. मैंने उसके पास बैठ कर उसे समझाया कि जिस्म की भी अपनी एक प्यास होती है, जिसे हम नज़रअंदाज़ नहीं कर सकते.

ट्रिपल सेक्स बीएफ सेक्सी गांव का रास्ता बहुत अच्छा नहीं था, गड्डे ज़्यादा होने के कारण बार बार ब्रेक लगाना पड़ रहा था. मैं ललिता भाभी की चूचियों को मसलने लगा और वो आह हहह आहह हह करके लंड पर सवार होकर उछल उछल कर अपनी चूत चुदवा रही थी.

थोड़ी देर में ही उसकी चीख सी निकली- भैय्याआ अह मैं गई!उसने मुझे खुद से इतनी कसके चिपका लिया कि मैं खुद को लाचार महसूस करने लगा. उस दिन पहली बार मुझे ये अहसास हुआ कि सेक्स में जितना हो सके बेशर्म हो जाना चाहिए. मैं खुद भी परेशान थी कि मनोज अनन्या के रहते हुए मेरी चुत चुदाई पर ध्यान नहीं दे पा रहा था.

भाभी की बड़ी चूत

ट्रेनिंग के बाद जब वो काम करने लगी तो उसको थोड़ी दिक्कतें आने लगीं. मैंने पूछा कि कुसुम मेरी जान वीर्य कहां गिराऊं?तब ताई ने कहा- मेरी चूत में ही डाल दो. उसके पीछे मकान मालिक और उनकी‌ पत्नी भी चले जाएंगे, तो कल घर पर कोई‌ नहीं रहेगा.

संजू ने उस गिफ्ट को खोला तो उसमें एक हीरा की अंगूठी थी, जिसे मैंने बाद में देखा, तो 3. मुझे डर भी लग रहा था और एग्ज़ाइट्मेंट भी थी कि पहली बार एक गैर से चुदने में क्या होगा और कैसे होगा.

उसे इसकी उम्मीद नहीं थी कि सुरेश अंकल के पास ऐसा भारी भरकम सामान होगा।खैर सोनी इतनी गर्म हो गयी कि मुझे भी अंदाजा नहीं लगा कि वो अपना मुंह खोल कर उसके लंड को मुंह में लेने की कोशिश करेगी!सोनी की आँखें आनंद में बंद थीं और वो सुरेश के लौड़े का गुलाबी टोपा चूसने के लिए जैसे मरी जा रही थी.

मैं भी खुशी खुशी उसके साथ चुदाई कर लेती क्योंकि अब मुझे भी उसका लौड़ा खाने की बहुत जल्दी थी. फिर मैंने भाभी का चेहरा देखा, उनकी आंखों का काजल फैल गया था और उनकी आंखों में आंसू थे. झुकने के कारण मेरी पहाड़ की चोटियों जैसी चूचियां उनके सामने उमड़ पड़ीं.

उसे अगर कुछ समझ नहीं आता तो मैं उसकी मदद के लिए हमेशा उसके साथ बैठा करता था. आशा है आपको ये प्रस्तुति पसंद आएगी।सभी पाठकों से अनुरोध है कि अपने विचार और कहानी की कमियां जरूर बताएं ताकि आगे की कहानियों में सुधार किया जा सके. उसने मेरी बात समझते हुए कहा- ठीक है … लेकिन ये सब आप कब और कहा करेंगे? और पंडित जी इस बात का किसी को पता चल गया तो!मैंने उसके मन को पढ़ लिया था कि भाभी जी पंडित जी से चुदने को रेडी हैं.

अब दोनों पूरी तरह से गर्म हो चुके थे और जमकर चुदाई का मज़ा लेने लगे।मैंने आंटी से कहा- जान … अब तुम ऊपर आओ, थोड़ा सा मजा मुझे भी दे दो.

बेटे का बीएफ: ललिता भाभी को मेरे लंड की सख्ती का जैसे ही अहसास हुआ, उसका हाथ लंड पर आ गया और वो सहलाने लगी. इधर मैं अपने दोनों हाथों से उसके छाती के ऊपर फूले ग़ुब्बारे बेरहमी से मसल रहा था.

उधर लौड़ा गांड में लेते ही चाची जी जोर से चीख उठीं- हाय राम … मर गई मेरी गांड फट गई. वो तड़पने लगी और मेरे होंठों की पकड़ उसके लिप्स पर और ज्यादा कस गयी. उसने मुझसे पूछा कि क्या हुआ … कुछ पता चला?मैंने उससे तुरंत ही कह दिया कि वो प्रेत आपका शरीर मांग रहा है.

धीरे धीरे मेरे हाथ आँटी के सुडौल चिकने पटों (जांघ) पर पहुँच गए और पटों से होते हुए मैं उनके चूतड़ों को सहलाने लगा.

मैंने आँटी को बेड पर लिटाया और उनके दोनों घुटनों को मोड़कर उनकी चूत को देखा. अपनी रफ़्तार को मैं और बढ़ाते हुए टूटी सी आवाज में, पसीने में तर होकर बोला- आह जान … मेरा भी बस आने वाला है. उसकी चुदास देख कर मैंने अपने हाथ को नीचे किया और खुद ही अपना लंड जींस से बाहर निकाल कर रूबी का दूसरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर ले गया.