हिंदी नंगी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,सेवानिवृत्ति पर बधाई संदेश हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ चुदाई वाला फिल्म: हिंदी नंगी बीएफ वीडियो, मैं भी उन्हें उतना ही मानती थी और उन्हें हमेशा अपने काम से प्रभावित करने की कोशिश करती थी.

सेक्स जोक्स

वो समझ गई और उसने अपना हाथ ज़िप के अन्दर डाल दिया और लंड को पकड़ लिया. सेक्सी कार्टून वीडियोधीरे धीरे मैंने उसके कपड़े उतारने शुरू किए; उसकी सलवार और कुर्ती उतार दी.

हमारी कभी ज्यादा बातचीत नहीं होती थी, पर जब भी हम दोनों की नज़रें मिलतीं, तो उनके कुछ ना कुछ इशारे होते रहते थे. मेरे नॉटी सैया जीमैं सोफे पर बैठ गया और आंटी को अपनी गोद में बिठाकर उनके कबूतरों से खेलने लगा.

ये सब कैसे हुआ?दोस्तो, मैं अंकित एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी में आपका स्वागत करता हूँ.हिंदी नंगी बीएफ वीडियो: उसी दिन मैंने ज़ीनिया के फेसबुक को खोल कर देखा कि वो एक लड़के से सेक्स चैट कर रही थी.

मैंने कोमल को अपने नीचे आने का इशारा किया, वो थोड़ा घबराई और बोली- अभी नहीं प्लीज … ऐसे ही ठीक है.अब उसकी गांड में जैसे ही लंड पेलता, वो चिल्ला उठती कि बिहारी बाहर निकाल लंड गीला कर ले.

सेक्सी फिल्म हिंदी ओपन - हिंदी नंगी बीएफ वीडियो

तुम्हारे भैया जान गए कि उसके भाई ने ऐसी हरकत की है … तब क्या होगा, जानते भी हो? मैं तुम्हारे भैया से कह दूंगी.दूसरी ओर सोढ़ी, रोशन की गांड मारते मारते ही उसके बोबों को अपने पहाड़ी जैसे हाथों से कभी दबोचता, तो कभी एक एक करके दोनों बोबे चूसता.

मैं उस वक्त 12वीं कक्षा में पढ़ता था और उस अपने गांव से दूर शहर में किराए पर कमरा लेकर रहता था. हिंदी नंगी बीएफ वीडियो मैं जैसे जाने के लिए मुड़ा तो उन्होंने अपने पेटीकोट को खोलकर मुझे आवाज देकर बुलाया.

मैंने लड़खड़ाती जुबान से कहा- यार … वो … वो तो … बस ऐसे ही हो गया था।वो बोली- तो फिर अब क्यों फट रही है तेरी?उसके मुंह से ऐसी बातें सुनकर मुझे बहुत हैरानी हो रही थी.

हिंदी नंगी बीएफ वीडियो?

वो बाहर में चौखट पर नंगी होकर हमारी चुदाई का मजा ले रही थीं, अपनी चूत सहला रही थीं. मैंने अपने आपको संयमित किया और एक अच्छे पड़ोसी होने के नाते मुस्कुरा कर उनका अभिवादन किया, साथ ही अन्दर आने के लिए भी कहा. मैंने दीदी से पूछा- जीजा जी के अलावा भी किसी और को भी सैट किया है?तब दीदी ने हंस कर बताया कि अभी नहीं … मगर तुम्हारे जीजा का छोटा भाई भी मेरी चूचियों को घूरता रहता है.

कुछ सोच कर मैंने सोने के बहाने से फिर से अपना सर उसके हाथ पर रख दिया. फिर मैंने उसे बेड पर चित लिटा दिया और खुद नीचे फर्श पर खड़ा हो गया. फिर जांच कराके जब मैं टेबल से उतरी, तो अंकल ने अपने रुमाल से मेरे पेट पर लगी जेल को साफ किया.

मैं एकदम से सिहर उठी और उधर वो बहुत मजे लेकर चुत को चूसने चाटने लगा. मैं जल्दी घर जाना चाहता था लेकिन बारिश जोरों की चालू हो गई … तो भीगते हुए घर पहुंचा. ले मेरी जान और ज़ोर से ले … आज तो तुझे अपनी रानी बना कर ही छोड़ूँगा।अनिल कुमार ने उसके दोनों मम्मे पकड़ लिए और उन्हें मसलते हुए बड़ी बेदर्दी से चुदाई करने लगा।गौरी की पायल खूब झंकार कर रही थी मानों बैंड बाजों से गौरी की चूत के अंदर अनिल कुमार के लौड़े की बारात चढ़ रही हो।अनिल कुमार थक कर गौरी के मम्मों को चूमते हुए उसके ऊपर ही लेट गए.

उसने भी मेरे लंड को चूस कर गीला कर दिया और उछल कर खड़े लौड़े पर बैठ गई. मैं वाइन शॉप से दो बियर किंगफिशर 5000 की हार्ड अल्कोहल वाली बियर की बोतल और एक ब्लेंडर व्हिस्की का हाफ ले आया.

मॉम ने आगे बताया- सबसे पहले तेरेमामा ने मुझे चोदाथा जब मैं 19 साल की थी और बी ए में पढ़ती थी.

वो मेरे पहलू में लेटने को हुई तो मैंने उसे खींच कर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी चूचियों पर हाथ फेरना शुरू कर दिया.

कभी उसके स्तन पर साबुन लगा कर दूध मसलता और दबाता, तो कभी उसकी चूत के ऊपर साबुन लगाता और अन्दर तक उंगली डाल कर चुत को मसलता. मैं भी उसकी मादक आवाजों को सुनकर उत्तेजित हो गया और उसे पूरी ताकत से चोदने लगा. चल मादरचोद उल्टी लेट जा साली … तुझे भी मजा आएगा और मैं भी खुश हो जाऊंगा.

मैंने अपना विरोध बंद कर दिया और आंख बंद करके उनकी गतिविधियों को महसूस करने लगी. मैंने तुरंत उसकी पैंटी साईड में करके अपनी उंगली को अरुणिमा की चुत में घुसा दी. अब मैं सोच में था कि जिसे पहले बाप ने चोदा, फिर उसे बेटा चोद रहा है.

मैंने उन्हें आजाद कर दिया और बारी बारी से दोनों निप्पलों को खींचते हुए चूसना चालू कर दिया.

वहां तक जाने में हम एक बार फिर से बुरी तरह भीग गए लेकिन वहां पहुंच कर उसने गाड़ी खड़ी की और हम उस कमरे की तरफ बढ़ गए. क्लास के अन्दर पहुंच कर वो टीचर की कुर्सी पर बैठ गया और मुझसे बोला- हमको किस टॉपिक पर प्रोजेक्ट चार्ट बनाना है?मैंने उसको कई सुझाव दिए, जिसमें से उसने पांच टॉपिक चुने और बोला- तुम आज शाम को मिल सको तो सारा सामान ले लेते हैं. मैंने कहा- ओके … आपकी किस स्ट्रीम से एमए कर रही हैं?उन्होंने बताया- इंग्लिश से.

अब से दो साल पहले मेरे पति को उसके ऑफिस से उसके ट्रांसफर की खबर मिली. वो सुरसुराई- कपड़े नहीं उतारोगे?मैंने बिना कुछ कहे उसका कमीज निकाल दिया. अभी ही आ जाओ!मैंने कहा- हां यदि मेरे बस में होता तो अभी पंख लगा कर आ जाता.

मैंने उसके हाथ को झटके से एक तरफ किया और अपने बदन को होटल की सफ़ेद चादर से ढकने लगी.

रंगोली बोली- भाई इतना मत तड़पाओ … पागल हो जाऊंगी मैं!मैंने कहा- ओक्के बहना. मैं उनके दोनों मम्मों को मसलने लगा और उनकी दोनों चूचियों को बारी बारी से पीने लगा.

हिंदी नंगी बीएफ वीडियो साली रोज रोज ऐसा करती है, तो क्यों न एक दिन इसको फिर से लंड दिखा ही दूँ. अँगूठे को पूरी रफ्तार से दस मिनट तक नाज की बुर में चलाने के बाद मैंने अपना लण्ड उसकी बुर में पेला और जंगली तरीके से धक्के मारने लगा.

हिंदी नंगी बीएफ वीडियो अलीज़ा की मादक सिसकारियां जैसे जैसे बढ़ रही थीं, मेरे लंड की स्पीड भी उतनी ही बढ़ रही थी. उसके संतरे मेरी आँखों के सामने उसकी छाती पर लटक रहे थे और जिनके निप्पल बहुत ही नुकीले होकर आगे की ओर चोंच बनाये हुए थे.

मैडम ने एक कदम आगे बढ़ते हुए पूछा- हर रोज खा सकोगे?मैंने कहा- आजमा कर देखो, फिर कुछ कहना.

बंदरों की बीएफ

मैं दोनों हाथों से उसकी गर्दन पकड़ कर उसे चूमे जा रही थी और अपनी पीठ और गांड पर उसके स्पर्श से उत्तेजित हो रही थी. वो भी ऑडिशन देने जाया करती थी, लेकिन अभी उसको कुछ खास काम नहीं मिल रहा था. अब मैंने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए और उसके सामने पूरा नग्न हो गया.

मैं दर्द भरी आवाज में भाई से बोला- भाई प्लीज इसे बाहर निकाल लो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है भाई प्लीज मेरी बात मानो … भाई प्लीज. विराट- हां सर बताइए … क्या बात है? क्या हुआ है … कुछ पता चला?डॉक्टर विवेक- मैं दवाई लिख देता हूं और मैंने इनकी थोड़ी मालिश भी कर दी है. वो एकदम से सिहर गई और उसकी टांगें चुत को ढकने के लिए आपस में मिलने को हुईं.

मैंने बहुत मना किया मगर वो नहीं माना और उसने अपनी बीवी से कहा- ये तुम्हारी जिम्मेदारी है कि राज बिना चाय नाश्ते के नहीं जाएगा.

जेठ जी की आँखें भी कुछ कहना चाहती थी क्योंकि जब भी मैं उनको देखती थी और वो मुझे देखते थे तो लगता था कि वो मेरे से कुछ कहना चाहते हैं लेकिन मुझसे खुलकर कह नहीं पाते थे. उसने दरवाजा ओपन करके मुझे कॉल किया कि बिना दस्तक दिए सीधे अन्दर आ जाना. कोमल की हालत अब एकदम उस मछली की तरह हो गयी थी, जिसे अभी अभी पानी से निकाल दिया गया हो.

मैंने पूछा- मैडम, क्या आप नहीं जानती हैं कि मैं भी यहीं हूं … फिर भी आप ऐसा कर रही हैं. अब मैंने अपनी उंगलियों से उसकी चुत को फैलाया और अपनी जीभ दरार में डाली. आखिर में मैंने एक कायदे का प्रयास किया और निकलने के समय मैंने उनकी गांड में उंगली कर दी.

आंटी ने मुझे बताया कि जब तुम मुझे बाथरूम में देख रहे थे तो वो मुझे पता चल गया था. अन्दर का नजारा देख कर मेरे पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई मेरी छोटी बहन अपने कमरे मैं बैठ कर मुठ मार रही थी.

ये अचानक से हुआ था, तो उसके मुँह से चीख निकल गयी- आआआ … आई … फाड़ दी … मेरी चूत!मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया और उसे स्मूच करना शुरू कर दिया. थोड़ी ही देर बाद आंटी बोलीं- छोड़ो विजय, ये सब गलत है, तुमको समझना चाहिए कि तुम मेरे बेटे जैसे हो. क्यों … क्या तुमने पहले कभी लंड नहीं देखा?उसने कहा- देखा है … लेकिन केवल फोटो में … मगर इतना बड़ा नहीं देखा.

बंगालन आंटी भी बड़े मज़े लेने लगती थीं, वो मुझे पूरा सपोर्ट कर रही थीं.

जैसे ही मैं उनके पीछे जाकर खड़ा हुआ, उन्होंने अपना शरीर ढीला छोड़ दिया और मेरे से सट कर खड़ी हो गयी. मैंने उसको उल्टा लिटा दिया, उसकी गांड में थूक लगा कर लंड घुसा दिया और चोदने लगा. उसकी चूत पर बहुत सारा साबुन लगा कर एक उंगली सटाक से आधी उसकी चूत में सरका दी.

मैंने उसकी पोजीशन बदली और उसकी टांगें हवा में उठा करचुत में लंड पेल कर चुदाईकी ट्रेन चला दी. इस मुलाकात में मैंने एक बात पर गौर किया कि उसकी मम्मी मुझे छुप छुपकर बड़े ही सेक्सी अंदाज से देख रही थीं.

आज पहली बार मैं अपने क्रश या किसी भी लड़के को यूं पहली बार देख रही थी. आंटी मेरी तरफ पीठ करके खड़ी हो गईं और अपनी बॉडी पर लोशन लगाने में बिजी हो गईं. आंटी ने मेरे हाथ कसके पकड़ रखे थे और लंड चुत में अन्दर रगड़ खाने लगा था.

बीएफ सेक्स वेस्टइंडीज

श्रुति ने लंड पर इतना ज्यादा थूका कि वो पीछे से उसकी गांड में पेल सके.

हम दोनों बेहद गर्म हो चुके थे और एक-दूसरे को चुदाई का मज़ा दे रहे थे. इससे वो एकदम से हड़बड़ा गईं और मेरी ओर देखते हुए पलट कर मेरे ऊपर आ गईं. उसने धीरे से पूछा कि ये तुम कैसे जानते हो?मैंने कहा- कभी दिमाग भी लगा लिया करो ज़ीनिया.

दोस्तो, आप मुझे मेरी चूत में उंगली सेक्स कहानी पर अपने मेल करना न भूलें. वो बोली- आया ययययय एईई मर गई आज तो … विवेक बचा लो मुझे आज … मम्मी ये तो आज जान ले लेगा!अब मैं समझ गया कि वो झड़ने बाली है. जानवरों की फिल्म सेक्सीलंड चुत में घुसा तो मां के मुँह से तेज आवाज निकल गई- हाय मैं मर गई.

मुझे दवा लगा देने दो, फिर आप जैसा कहोगी वही होगा।मैंने कहा- ठीक है. अर्शिया के टॉप की का गला काफी गहरा होने के कारण उसके बोबों के बीच की लाइन साफ़ दिख रही थी.

फिर एक दिन हम साथ में कॉलेज आये, उस दिन सुबह से ही मेरा पढ़ने का मन नहीं था. मेरे दोस्त के घर में मेरा दोस्त गौतम, उसकी बहन ज़ीनिया और उसके पापा अमरेश सिंह और उसकी मां रहती थींज़ीनिया की मां सविता सिंह के बारे में भी कुछ बताना चाहता हूँ. मैंने कहा- हां रहने दो … आज ही सेक्सी लग रही हूँ, इससे पहले तो मैं सेक्सी थी ही नहीं, इसी लिए आज तक आपने मेरे लिए एक शब्द तक नहीं बोला.

इस बार उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, तब मुझे लगा शायद आगे बढ़ना चाहिए. अब मेरी हालत बिना पानी की मछली के जैसे हो गई। मैं वासना के मारे तड़प रही थी. मैं- हां मेरे डॉक्टर साहब … मैं भी लंड के लिए तड़प गयी हूँ … लो मेरी चुत में अपना पूरा लंड पेल दो.

मुझे उसकी जीभ की गर्मी से अपने लंड को सहलवाने में काफी मजा आ रहा था.

जब आज मेरी बहन संजना भी उसी तरफ जा रही थी तो मुझे ये पक्का हो गया था कि इसका भी कोई चक्कर है. सुबह के 10 बजे अपने घर से निकल कर मैं अपनी एक परिचित की दुकान पर गया और उधर से सामान लेकर मैं मुंतज़िर के घर पर आ पहुंचा.

ये अचानक से हुआ था, तो उसके मुँह से चीख निकल गयी- आआआ … आई … फाड़ दी … मेरी चूत!मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया और उसे स्मूच करना शुरू कर दिया. मैं उसके करीब जाकर उसके ठीक पीछे खड़ा हो गया; उससे लगभग चिपक सा गया. यह बोलते हुए सोढ़ी ने अपनी बीवी को अपनी ओर खींच लिया और उसको अपनी गोद में बिठा लिया.

मैं भी भाभी की गद्देदार गांड को हाथों से थपथपाते हुए उनकी चूत का नमकीन पानी चूस रहा था. मैंने वापस अपने कपड़े पहने और बाहर वाले रूम में जाकर अर्शिया का इन्तजार करने लगा. आधे घंटे में भाभी की चूत में चिनमिनी मचने लगी और हम दोनों ने मिलने का प्लान बना लिया.

हिंदी नंगी बीएफ वीडियो उस वक्त मैं और कोमल एक दूसरे को जकड़े हुए सो रहे थे और उसके बड़े बड़े चुचे मेरे मुंह के पास थे. वो जाने लगा तो मैंने उससे कहा- शाम को कब और कहां मिलोगे, अपना नंबर दे दो … जिससे सही पता चल जाएगा.

ब्लू बीएफ सेक्सी चलने वाली

फिर मॉम ने कहा- चुदाई शुरू करें?मैंने कहा- घर में करने का मेरा मन नहीं है, कहीं बाहर जाकर करें … जैसे किसी होटल में?मॉम ने कहा- ठीक है … तो फिर हम गोवा चलते हैं. दोस्तो, इस सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपनी ही सगी छोटी बहन स्वाति को चोदा … और चोदा ही नहीं, मैंने उसकीसीलपैक चूत फाड़ दी. मैंने दीदी से कहा- तुम्हारी सास बड़ी मस्त माल हैं, उनकी मुझे लेने का मन है … कैसे मिलेगी.

हॉट बहू की अन्तर्वासना कहानी में पढ़ें कि जब मैं अपने पति से संतुष्ट नहीं हुई तो मैंने अपने जेठ की तरफ देखा. जुनैद मुझे चूम कर चले गए और जाते जाते वो मुझे अपना मोबाइल नम्बर लिख कर दे गए. हिंदी मूवी की सेक्सी वीडियोएक हाथ से उन्होंने मेरे एक दूध को दबाया हुआ था और दूसरे हाथ से मेरी जांघों को पकड़े हुए थे.

इसके करीब दो महीने बाद एक दिन नाज ने बताया कि उसकी नानी की तबियत काफी खराब है और वह उनकी तीमारदारी के लिए कुछ दिन के लिए ननिहाल जा रही है.

उन्होंने एक क्रीम निकाली और अपने पूरे लंड पर लगा दी।अब मेरी तरफ देखते हुए बोले- अंजलि जी, अगर आपके पति होते तो आपको दवा लगा देते।मैंने कहा- ठीक है आप भी डाक्टर हैं और मेरी मदद कर रहे हैं।डॉक्टर राज ने मेरी चूत में लन्ड रखकर धक्का लगाया. ये देख कर उन दोनों ने परेश को नजरअंदाज करते हुए मेरी तरफ देखा और शर्माते हुए थैंक्स कहा.

फिर चार दिन बाद मेरा जन्मदिन था, तो अब्बू ने मेरे घर में एक पार्टी रखी थी. मैंने करीब 5 मिनट तक भाभी का मुख चोदन किया, फिर अपना पूरा पानी उनके मुँह में ही निकाल दिया. लेकिन अपनी किस्मत तो गांडू थी ही … क्योंकि मुझे कभी भी उस हुस्न की परी को पास से ताकने का मौका ही नहीं मिला.

उसी समय मैंने भी सोची कि मैं भी अपनी सेक्स स्टोरी आप सभी को लिख कर बताऊं कि मेरे साथ क्या हुआ था.

मैं आंटी के बेटे के स्कूल जाने का वेट कर रहा था ताकि हमारी चुदाई लीला चालू हो सके. मैंने जानबूझ कर अपना एक हाथ उनकी तौलिया के अन्दर कर दिया और उनकी गांड पर मालिश करने लगी. लौड़ा फूल कर और भी मोटा हो गया था और उसकी मस्त चुत के चिथड़े उड़ा रहा था.

सेक्सी फिल्म भेजो चलने वालाउनके खुले हुए मम्मे, चिकनी जांघें और गोरी चुत बहुत ही मस्त लग रही थी. ऐसा लग रहा था कि जैसे मैंने उसकी चूचियों को मसला था, तो अब वह उसका बदला मेरे लौड़े से ले रही थी.

रानी मुखर्जी बीएफ सेक्सी वीडियो

उसकी चुत ने मेरे लंड को ऐसे जकड़ रखा था … जैसे किसी ने लंड को मुठ्ठी में भींच रखा हो. इसी का उत्तर था कि उसका हाथ हर सेकंड पहले से ज्यादा दबाव से मेरी मांसल जांघ को मसल रहा था. फिर एक दिन मैं शाम को छत पर टहल रही थी तो मुझे दीदी की किसी से फ़ोन पर बात करने की आवाज़ आ रही थी.

मुझे किस करते करते कब उसने मेरी शर्ट उतार दी और मैंने उसकी … ये पता ही नहीं चला. होटल से पिकअप एंड ड्राप की सुविधा मौजूद थी तो मैंने होटल के मैनेजर को बता दिया कि 9 बजे तक मैं निकल जाऊंगा. उधर लता ने भी अपने हाथों से मेरे लंड को पकड़ लिया था और वो मेरे लंड को जोर जोर से दबा रही थी.

फिर उन्होंने एक टी-शर्ट पहन लिया और नीचे पेटिकोट उतार के जीन्स पहनने लगी. सरोज- आह पेल दे … हां मैं रंडी जाटनी हूं … चोद भोसड़ी के बिहारी … चोद जाटनी मिली है चोद दे साले. दीदी मुस्कुरा कर बोलीं- वीर, तेरी पत्नी बहुत किस्मत वाली होगी, जो उसको तेरे मोटे तगड़े लंड का सुख मिलेगा.

दोस्तो, मैं जब सेक्स करता हूँ तो मुझे बदन पर बदन रगड़ते हुए एक दूसरे को मसाज सा करना बहुत अच्छा लगता है. मैंने देखा कि साली को इतना कॉन्फीडेंस था कि मैंने उसे मस्ती करते देखा ही नहीं होगा.

वो अपने कपड़े ठीक करने लगीं और कहने लगीं- ऋषि, ये मेरी जिन्दगी का सबसे बेस्ट सेक्स है.

तभी कैमरामैन ने भी अपनी पैंट उतार दी और रश्मि के हाथ में अपना लंड दे दिया. सेक्सी मूवी गर्ल्सकुछ मिनट तक ब्लोजॉब देने के बाद मैंने मुंतज़िर को लंड से हटाया और उनके कपड़े निकालने लगा. सौदागर हिंदी मूवी[emailprotected]गाँव की लड़की की चुदाई की कहानी का अगला भाग:सेक्स की चाहत में पैसे का तड़का- 3. मैंने धीरे धीरे अर्शिया का पेटीकोट फिर से ऊपर उठाया और कमर तक ऊपर कर दिया.

आधे घंटे में भाभी की चूत में चिनमिनी मचने लगी और हम दोनों ने मिलने का प्लान बना लिया.

मैं उसकी बात से चौंक गई और हंसने लगी- ये कैसी बात … पहले गर्म फिर ठंडा!वो मेरे बदले हुए रूप से अचकचा गया और बोला- आहहां … गर्म ठंडा बाद में होता रहेगा. कुछ मिनट तक वो मेरी गांड पर थप्पड़ मारता रहा और अपना लंड हिलाता रहा. मैंने कहा- इतनी जल्दी क्या है हनी!मैंने झट से मेरी पोजीशन चेंज कर ली और उसकी चुत की ओर अपना मुँह लेकर आ गया.

’ नहीं चाहिए था बल्कि एक पूरा छेद चाहिए था जहां मैं अपना लिंग पेल कर घुड़सवारी कर सकूँ. तो मैंने कहा- ऐसे ही रगड़ती रहोगी या दिखाओगी कुछ?भाभी बोली- मुझे शर्म आती है, आप खुद देख लो. बेटा मैं चाहती तो अपने ऑफिस में किसी मर्द को पटा लेती या कोईकिराये का मर्दबुला सकती थी.

ब्लू बीएफ फुल एचडी में

मैंने सोचा कि यही मौका सही है, जब मैं रितिका को पटाने की कोशिश कर सकता हूँ. उधर बना कृत्रिम छिद्र को मेरी योनि छिद्र मानकर वो उसमें हर धक्के से और गहरी चोट करते जा रहा था. हम दोनों एक दूसरे के सामने नंगे खड़े थे और मेरा लौड़ा टनटना कर उछाल मार रहा था.

[emailprotected]सुहागरात की देहाती चुदाई कहानी का अगला भाग:मेरी बहन को मेरे रूममेट ने पटाकर चोदा.

पहले तो मुझे लगा कि कहीं वो मुझे फंसा न दे लेकिन जब वो लंड को सहलाने लगी तो मैंने भी रिस्क लेने की ठान ली.

उसके गाल चाटते हुए मैं उसके गालों को अपने मुँह में भरकर चूसने लगा जिससे आरू की उत्तेजना और बढ़ने लगी, उसकी पकड़ मेरे लिए और तेज हो गयी. मैं इठला कर बोली- हां क्यों नहीं!वैसे भी मुझे चुदने की आदत हो गई थी. सेक्सी कहाणीआज मैं आपको अपनी ज़िन्दगी में हुए एक सच्चे अनुभव के बारे में बताना चाहता हूँ.

और आप भी उसे इलाज का हिस्सा ही समझना।मैंने कहा- ठीक है … आप प्लीज अब दवा लगाइए।डॉक्टर ने अपनी पैंट उतार दी और फिर अंडरवियर भी उतार दी. आज की सेक्स कहानी सरिता भाभी की अपने इसी नए पड़ोसी विजय के साथ की चुदाई की कहानी है. मस्त चुत थी!मैंने अगले ही पल अपना लंड निकाला और दीदी की सास की टांगों को फ़ैला दिया.

अब कामवाली बाई किसी डॉगी की तरह अनन्या की गुफा में अपना मुँह दिए थी और मैं उसे चुदाई का मजा दे रहा था. मैं उतने लंड के साथ ही रुक गया और शिवानी के स्थिर होने की प्रतीक्षा करने लगा.

मैंने मैडम से पूछा- आप अपने बालों में क्या लगाती हो … बहुत खुशबू आती है.

यही हरकत अगर बन्द कमरे में होती … तो शायद मैं इतनी जोर से चीखती कि बगल मकान वाले सुन लेते. मैंने अन्दर आकर पूछा- क्या हुआ मौसी?वो बोलीं- तू बैठ, मैं चाय बनाकर लाती हूँ. एक मिनट में ही मुझसे रहा ही न गया और मैंने उसके एक दूध को अपने होंठों में दबा लिया.

सेक्सी राजस्थानी मारवाड़ी वो एकदम से सिहर गई और उसकी टांगें चुत को ढकने के लिए आपस में मिलने को हुईं. वो अपने छेद को हिलाती मेरी जीभ से चुदवा रही थीं और मेरा लंड चूस रही थीं.

ये सिस्टर हॉट सेक्स स्टोरी उस समय की है, जब मैं कालेज में प्रथम वर्ष का छात्र था. मेरी जैसी हॉट और सेक्सी औरत के मुँह से लंड चुसवाने से उसका पानी तो निकलना ही था. निशा ने वापस मेरा सर दबाना शुरू कर दिया और मैंने उसके एक हाथ को सहलाना शुरू कर दिया.

अंग्रेजी में बीएफ दिखाएं

रविवार को शरद, किरणदीप और सुरजीत अक्सर ड्रिंक्स लेते और कभी कभी मैं भी उनके साथ कुछ पैग लगा लेती थी. मैंने अन्दर आकर पूछा- क्या हुआ मौसी?वो बोलीं- तू बैठ, मैं चाय बनाकर लाती हूँ. शायद यही वो वजह थी, जिस वजह से आज तक मेरी किसी भी लड़के से दोस्ती तो दूर, कोई बात भी नहीं हो पाई थी.

मैं आपको बता चुका हूँ कि मैं पहले एक टूरिस्ट गाइड था, पर बाद में मैंने एक छोटा सा बिजनेस शुरू किया था. रात को पार्टी शुरू हुई तो शबाना ने कहा- हम तीनों में कोई भी शराब नहीं पीती है.

कभी मैं उसके होंठों को अपने मुँह में, तो कभी अपनी जीभ उसके मुँह में डाल कर चूस रहा था.

मैंने उसके होंठों को छोड़कर अब उसका एक चूचा अपने मुंह में डाला और उसे जोरों से चूसने और मसलने लगा. दोस्तो, मैं मानसी रावत एक बार फिर से अपनी चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करती हूँ. मैंने मैम को ऐसे ही अन्दर धक्का दिया और उनको बांहों में थामे गर्दन को चूमते हुए अन्दर ले गया.

फिर मैंने एक उंगली अर्शिया की ब्रा के अन्दर दोनों बोबों के बीच में डाल दी और धीरे धीरे हिलाने लगा. मेरी अब तक की ज़िंदगी काफी मस्त चल रही है और मैं अपने जीवन में काफी खुश हूँ. गर्लफ्रेंड को पहली बार चोदने की तमन्ना से उसे अपने घर बुलाना चाहा तो उसने मना कर दिया.

मुझे समझ नहीं आ रहा था क्या करूं? उसे नंगी देख कर मेरा लंड लोहे से भी ज्यादा सख्त हो गया था.

हिंदी नंगी बीएफ वीडियो: बस वो मेरे रूम में मेरे बिस्तर के पास अपना बिस्तर लगा कर बाहर चली गईं. वो सीधे मेरे रूम में आया और कहा- यार, बहुत मस्त माल है … कहां से बुलाया.

कौन है यह सलमा? और काहे को कबाब में हड्डी बन रही है?”अरे कबाब में हड्डी नहीं है, बहुत दुखों की मारी हुई है, कभी साल छह महीने में आ जाती है, दो चार घंटे के लिए. धीरे धीरे वो मां के पेट पर किस करते करते उनकी नाभि को मुँह में भर कर चूसने लगे. उसके मुंह से घुटी घुटी सिसकारियां निकल रही थीं- ऊं आंऊं … ऊं … अहह … मम्मी मम्मी दर्द हो रहा है … ओह नोओ ओह नो!कुछ देर बाद अब वह छटपटा भी नहीं पा रहा था क्योंकि मैंने अपना 7 इंच और 2.

उसने मुझे अपनी बांहों में ले लिया और मेरी चुचियों को दबाते हुए एक निप्पल को होंठों में दबा कर चूमने चूसने लगा.

कुछ महीनों पहले उसके घर में डेकोरेशन का काम चल रहा था … तो रघु ने उसको हम लोगों के साथ रहने के लिए कहा. कुछ देर बाद मैंने अपना लंड निकाल लिया और हम दोनों का सारा मिश्रित रज और वीर्य ट्रेन के कम्पार्टमेंट की फ्लोर पर गिर गया. मालती की चूत ने पानी छोड़ दिया तो फच्च फच्च फच्च करके लंड तेज़ी से अन्दर-बाहर होने लगा.