हेमा मालिनी की बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी चिल्लाने वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

भोजपुरी चुदाई फिल्म: हेमा मालिनी की बीएफ, मेरे शौहर आपको फ़रिश्ता मानते हैं और आप उनके साथ ही ऐसा व्यवहार क्यों कर रहे हैं?उसने मेरी इस बात का कोई उत्तर नहीं दिया.

शेख सेक्सी वीडियो

वो भी बड़ी हैरानी से मुझे देख कर हल्के से मुस्कुरा दी और बोली- अरे आपका ध्यान कहां है. सेक्सी वीडियो चोदा चोदी लड़कीफिर वो अन्दर आकर बैठे और कुछ देर की बात होने के बाद उन्होंने बोला- बेटा चाय पिला दो, उस दिन तुम्हारे हाथ की चाय बड़ी अच्छी लगी थी.

उसने तुरंत मेरी बीवी को अपनी बांहों में भर लिया और बिस्तर पर खींच लिया. सेक्सी फिल्म करने कामेरी पिछली कहानी थी:अन्तर्वासना ने प्यासी चूत को लंड दिलायाआज मैं आप सभी के समक्ष अपनी एक नई सेक्स कहानी लेकर प्रस्तुत हूं.

मैं क्या करता हूँ, ये बात मेरे घर वालों को, दोस्तो को, किसी को कुछ पता नहीं.हेमा मालिनी की बीएफ: एक पल के लिए तो मैं काफी डर गया था लेकिन फिर मैं उनकी चूचियों के साथ खेलने लगा.

नीता के मुँह से मादक सिसकारियां फूटने लगीं- आह ऊफ्फ ऊंई मार दिया … आह.’ये कहते हुए उसने भी मेरे होंठों पर चुम्मा धर दिया और अपने कमरे की तरफ भाग गयी.

मां बेटा चुदाई हिंदी सेक्सी कहानियां - हेमा मालिनी की बीएफ

मैंने उसे साहसिक निर्णय लेने के लिए बधाई दी और कहा- कल उसी समय मेरे घर आना.वो बोली- तुम अपने रूम में अकेले ही रहते हो ना?मैंने कहा- हां, कोई दिक्कत है क्या?वो बोली- नहीं मुझे कोई दिक्कत नहीं है.

मैं बातें तो कर रहा था पर बीच बीच में चोर निगाहों से उसे देखे भी जा रहा था क्योंकि किचन ओपन था और सामने था. हेमा मालिनी की बीएफ कमरे में चुदाई की मधुर आवाज़ फचा फच फच चट की जबरदस्त गूंज आ रही थी.

मैंने उन्हें ये कह कर वापिस भेज दिया- आप कागज पूरे कीजिए, मुझे सरकार इतनी सैलरी देती है कि मैं अपनी जिंदगी ऐश से जी सकता हूँ.

हेमा मालिनी की बीएफ?

फिर मैंने उसका 3 इंच मोटा टमाटर सा लाला सुपारा मुँह में भर लिया और अन्दर ही अन्दर अपनी जीभ को सुपारे के चारों तरफ फिराने लगी. मेरा लंड खंबे की तरह आसमान छू रहा था, मौसी एक हाथ से मेरा लंड पकड़ कर सहलाने लगी. लेकिन रूना की चूत बिल्कुल गुलाबी थी और बिल्कुल भी फटी हुई नहीं लग रही थी.

भूरे गुलाबी रंग के चूचुक मुँह में लेकर मैं उसको हल्के हल्के से काटने लगा और रेशमा अब फिर से तपने लगी. मम्मी खुश हो गयी और बोली- मैं तेरे वीर्य से प्रेग्नेन्ट होना चाहती हूँ और तुम्हें भाई और तुम्हारा बेटा देना चाहती हूँ. शुरुआत में हम दोनों बस एक दूसरे को प्यासी नजरों से देखते रहते थे, बस चुदाई की बात नहीं कर रहे थे.

अब मैं और नीचे जाकर उसके पेट और नाभि पर अपनी जुबान गोल गोल घुमाने लगा. मैंने उससे पूछा- तुम ही यहां रहते हो?‘जी मेम साहिब हम ही रहते हैं और साथ में दो और साथी भी हैं, वो अभी बाज़ार गए हुए हैं … सौदा पत्ता लेने. मैंने कराहते हुए उससे कहा- आंह भाई … बड़ा दर्द हो रहा है … प्लीज़ लौड़ा बाहर निकाल लो प्लीज़.

मैं थोड़ा सा रुक गया और उसका हाथ दबाते हुए दुबारा से होंठ उसके पास कर दिए. सब साथियों को पता है कि चूत मिलनी हो, तो इंतजार करना कितनी मुश्किल होता है.

मैंने कहा- क्या पता है आपको?तो भाभी बोली- रात में मैंने सब देखा है.

दोपहर का समय था, तो सामान्यतया सब लोग दोपहर को खाना ख़ाकर सो जाते थे.

सच बताऊं तो मेरी गांड भी बहुत फट रही थी कि कहीं कोई लफड़ा हो गया तो रायत फ़ैल जाएगा. फिर मैंने देखा कि उसकी पैंटी से पानी टपक रहा है तो मैंने उसकी गांड पर एक और स्टिक मारी. इसके बाद अब लौड़ा चुसाने वाले बाबा ने मुझे सीधा कर दिया और मेरी दोनों टांगों को फैला कर वो खुद मेरे सामने आ गया.

काश मेरे पति का भी ऐसा होता!’मैंने सोनाली की गदराई हुई मांसल गांड पर अपना एक हाथ रखकर सहलाते हुए पूछा- तुम्हारे पति का कितना बड़ा है?तो सोनाली ने कहा- तुम्हारे लंड से आधा ही लंबा है … और पतला भी. मेरे हिलते हुए टट्टे उसकी ठुड्डी पर लग रहे थे पर रेशमा तो आज खुद हलाल होने का इरादा बना चुकी थी. मैंने उसे धीरे से लिटा दिया और उसकी साड़ी को पेटीकोट समेत धीरे धीरे ऊपर कर दिया.

कुछ ही पलों बाद अनीशा अपनी कार में आई और बोली- आइए मैं आपको ड्राप कर दूंगी.

सना ने हिंदुस्तान आने की इच्छा भी जाहिर की लेकिन पTकिस्तानी पासपोर्ट होने के कारण उसे वीसा नहीं मिल सकता था. जैसा कि मैंने आपको पहली कहानीसावन की झड़ी में सहकर्मी लड़की के साथमें बताया था कि कैसे मैंने अपनी सहकर्मी के साथ सेक्स किया था. मैं उसकी दोनों टांगों के बीच खड़ा हो गया और उसके ऊपर झुककर उसके होंठों को चूमने लगा.

वीरेन्द्र जी ने जावेद की ओर उंगली से इशारा करते हुए मुझसे कहा- अब इसने तुम्हें पकड़ा, दोस्त संभल कर रहना. कमरे में मोटे मोटे पर्दे पड़े हुए थे, कहीं से भी बाहर से अन्दर या अन्दर से बाहर देखने का कोई रास्ता नहीं था. माँ को बहुत दर्द होने लगा, वो चिल्लाने को कोशिश करने लगी पर उनके मुँह में उनकी चड्डी होने के कारण उनकी आवाज नहीं निकल रही थी.

उस दिन के लिए मैंने अपनी चूत की साफ़ सफाई की; अपने जिस्म को पार्लर में जाकर चिकना करवाया.

मैंने जाकर देखा और कुछ सोच कर उसके बगल में लेट कर रुचिका से चिपक गया. अब मुझे अपनी भाभी से मिलने का मौका खत्म हो गया था जबकि मुझे अपनी भाभी को चोदने की पड़ी थी.

हेमा मालिनी की बीएफ जब वो पास आईं तो नंदा ने पत्नी की तरह लिपट कर बेटी को अहसास करवाना चाहा. मैंने उससे कहा- यार इससे बात करो और अगर हो सके तो इससे मेरी सैटिंग भी करवा दो.

हेमा मालिनी की बीएफ अब आ जा, अपनी भाभी से नहीं मिलेगा?उन्होंने अपनी बांहें फैला दीं और मैंने भाभी को गले से लगा लिया. ’मैंने टांगें खोल दीं और चूत को सर के आगे कर दिया लेकिन पजामा नहीं उतारा.

जिससे अब मेरे मुँह से आहें निकलने लगी- ओह हम्म … ओह यस बेबी … यू आर सो सेक्सी … हां चूस लो पूरा चूस लो.

ब्लू फिल्म हिंदी की

मैं अपने लंड को बाथरूम में धोकर आ गया और फिर से श्रेया मेरा लंड चूसने लगी. दोस्तो, आप ससुर सेक्स की हिंदी कहानी अगले के भाग में पढ़कर जानिए कि कैसे ससुर जी ने 3 महीने के लॉक डाउन में चोद चोद कर मेरी हालत खराब कर दी और कैसे हमने एक दूसरे को चुदाई का मजा देते हुए एक दूसरे की जरूरत को पूरी किया. एक दिन मैं मार्किट में सामान खरीद रहा था, अचानक आनन्द जी और उनकी बीवी नेहा जी से मुलाकात हुई.

पति ने पूछा- क्या वो सब भी मेरी बीवी को चोदना चाहते हैं?उसने हां कहा. थोड़ी देर बाद मेरा पानी उसकी गांड में ही निकल गया और भाभी ठंडी पड़ गयी. लड़की ने मुझे बाइक के बारे में सब जानकारी दी कि लोन कैसे हो सकता है … और लोन चुकाने की ईएमआई क्या होगी.

मेरी दोनों चूचियां एकदम लाल पड़ गयी थीं और उन दोनों ने मेरे मम्मों को खूब मसला.

उसने मुझे देख लिया और गुस्से में कहा- ये आप क्या कर रहे हो अंकल?ये कह कर उसने कंबल से अपना नंगा बदन ढक लिया. इसलिए मैं भी कॉलेज खत्म होने के बाद पुस्तकालय में बैठ कर पढ़ाई करता था. चाची मुझे अपनी चूचियां दिखाती हुई बोलीं- थोड़ा बोल्ड गेम है … मगर बड़ा मजा आता है.

चाची समझ गईं, उन्होंने अपनी सलवार का नाड़ा ढीला कर दिया और टांगों से निकालते हुए मेरी मम्मी से कहा- दीदी आप भी अपनी सलवार उतारो न … अपना विक्की शर्मा रहा है. फिर मस्त चुदाई के बाद जब वह अपने प्यार की दुहाई देगी तो मैं उससे शादी का आश्वासन दूंगा और उसी से शादी कर लूंगा. उसे मेरा इस तरह करना सहा नहीं जा रहा था, उसकी मीठी आहें तो रुकने का नाम ही नहीं ले रही थी.

किसी भी रंडी किस्म की लौंडिया के लिए ये सबसे बड़ा सुख होता है कि उसके मन की हो गई. वो बोल रही थी- आहह हह उमम हम्मम ओहह आह … आराम से आह नीरज मेरे भाई आह चोद दे अपनी बहन की चूत को … आह साले कितना अन्दर तक पेल रहा है तू!ऐसा कहती हुई मेरी बहन फिर से झड़ गयी.

फिर मैंने उसको बोला- थोड़ा रुक कर तू भी डाल देना!अंतत: उसने भी मोटा लंड पेल ही दिया और मेरी धाकड़ चुदाई करने लगा. मैंने उसे कॉफी का कप उठा कर दिया और कहा- लो कॉफी पियो रीतिका और मिठाई, ड्राई फ्रूट्स भी लो. उसे गोद में उठा कर ही मैं बाथरूम में गया और वापस आया क्योंकि उससे चला ही नहीं जा रहा था.

नंगी लड़की सेक्स फोरप्ले कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी दोस्त के फ़्लैट में गया तो मुझे वहां उसकी सहेली पूरी नंगी हालत में मिली.

जावेद ने गांड मारने से पहले लड़के की टांगों में फंसा पट्टेदार नाड़े वाला अंडरवियर उतार कर एक कोने में फेंक दिया था. उसे अस्पताल में भर्ती कराया, जांच में पाया कि उसे गर्भ ठहर गया है, इसी से उल्टियां हो रही हैं. अब अदिति जोर जोर जोर से मेरा लंड सहलाने लगी थी और साथ में मेरी अंडगोटियां भी सहला रही थी.

थोड़ी देर ऐसा करने से अदिति सीत्कारने लगी और कामुक होकर अपनी चूत मेरे लंड पर दबाने लगी. ठीक 8 बजे हमने तीनों ने मिलकर केक काटा और मैंने भाभी जी को गिफ्ट दिया.

मैं कंट्रोल नहीं कर पाया मैं दूसरे रूम में जाकर दीदी के बगल में सो कर स्कर्ट उठा कर फिर से दीदी को चोदने लगा. अब हम दोनों लेटे थे तो मेरे दोनों हाथ और पैर उसके प्रेम रस को पीने के लिए आजाद थे. ये मैं इसलिए लिख रही हूँ, क्योंकि पिछली सेक्स कहानी के बाद कई सारे मेल ऐसे मिले थे, जो मुझे चोदने के लिए कह रहे थे.

ब्लू सेक्स फिल्म दिखाएं

कुछ देर बाद मैंने उसकी चूत में हाथ लगाया तो थोड़ा सा खून मेरे हाथ में आ गया.

मैं- आई लव यू भाभी, मैं आप से उसी दिन से प्यार करता हूँ, जबसे आपको देखा है. कुछ ही देर में मैंने उसकी चुत में अपनी दो उंगलियों को एक साथ डाल दिया. ’मैंने भी मजा लेने की सोची- सर कुछ नहीं … बस अपने बॉयफ्रेंड से चुद रही हूँ.

मैंने देखा उसका काला मोटा लंबा लौड़ा ऐसे उछाल मार रहा था, जैसे वो मुझको अपनी तरफ बुला रहा हो और कह रहा हो कि मैं उसको अपने मुँह में भर लूं. उस रात एक बजे करीब मैं किचन में कुछ खाने के लिए ढूंढ रहा था, तभी उसकी पीछे से आवाज़ आयी. বফঁ বাংলাদেশउसके अन्दर की लाल रंग की ब्रा साफ साफ दिख रही थी क्योंकि उसने सफेद रंग की पतली सी टी-शर्ट पहनी हुई थी.

कोईचूत का इंतजामनहीं था तो मुठ मार कर किसी न किसी तरह से काम चल ही जाता था. मामी की चुदाई के बाद उनकी बेटी को चोदाअर्चना भी अपने घर के दो कचक जवान मुस्टंडों के बीच बिना पहल किए चुदाई कराना चाहती थी.

मैंने उठ कर शॉवर बन्द कर दिया और उसको एक झटके से नीचे उल्टी रखी बाल्टी पर बैठा दिया और अपने लंड की पूरी खाल पीछे करके लाल टोपा उसके मुँह में दे दिया. तभी मैंने एक हाथ से उसकी ब्रा को ऊपर की ओर सरका दिया जिससे उसके बूब्स आजाद हो गए. अब बताओ गर्लफ्रेंड से क्या चाहते हो?मैं- देखो भाभी, आप घर पर अकेली हो … और अकेले में गर्लफ्रेंड ब्वॉयफ्रेंड क्या करते हैं, आपको अच्छे से मालूम होगा!मैंने अभी इतना ही बोला था कि भाभी उठ कर दरवाजे की तरफ गईं और मुझे उधर बुलाया.

रुचि ने मेरे गालों पर दांत से काट खाया और बोली- आज की रात तुम्हारे पास काफी समय है. फिर अचानक से मास्टर उठा और उसने अपना लौड़ा भाभी की चूत में सैट कर दिया. उसकी चूचियां मेरे सीने से ऐसे सट गई थी कि जैसे उसके दोनों चुच्चे मुझमें समा जाएंगे.

उसके कुछ दिन बाद मुझे एक बड़ी कंपनी में इंटरव्यू देने जाना था क्योंकि वहां 5 वेब डिज़ाइनर की जरूरत थी.

अंगिका अपनी मां पर चिल्लाने लगी।तभी मैंने उसका हाथ पकड़ते हुए कहा- जो मुग्धा को चाहिए … वो मैं उसे दे रहा हूँ. एक दिन हम पार्क में मिले और …नमस्कार मित्रो, यहां अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली सेक्स कहानी है.

मैं बोला- भरोसा करो … अगर भरोसा ना कर सकती, तो मैं अब कुछ नहीं बोलूंगा. उसके बाद मैंने दीदी की चुत की गर्म पानी से सिंकाई कर, पोंड्स पाउडर छिड़का, तब जाकर वो कुछ राहत महसूस कर रही थीं. टाइम की कमी होती है, तो जहां मौक़ा मिलता है … वहीं लौड़ा पेल देते हैं.

मैंने सना से पूछा कि क्या मैं इन्हें अपने हाथ में लेकर चूस सकता हूँ?सना ने हां में सर हिला दिया. वो मेरा लंड पूरा अन्दर तक ले रही थी और लालीपॉप की तरह चूस रही थी, साथ ही लंड हिला रही थी और गोटियां मसल रही थी. दोस्तो, मैं आपका साथी प्रकाश एक बार फिर से अपनी सहपाठिन जस्सी की चूत चुदाई की कहानी में स्वागत करता हूँ.

हेमा मालिनी की बीएफ महिलाओं के बीच मैं काफी मशहूर हूँ इसलिए अपने दोस्तों और रिश्तेदारों में चोदने के लिए मुझे कोई न कोई चूत मिल ही जाती रही. अब हम दोनों ही बहुत गर्म हो चुके थे और भाभी भी मेरे 6 इंच के लंड की प्यासी हो रही थीं.

सेक्सी फिल्म पाठवा

पापा सोनम के सीने पर हाथ फेरते हुए बोले- सुधीर ने कुछ किया ही नहीं क्या … बहू आज भी तुम अनछुई सी लग रही हो. जैसे ही उसने आंख खोल कर मुझे देखा, तो मैंने पाया कि उसकी आंखों में अलग ही नशा था. अब मैंने ऊपर अपने रूम में जाकर कपड़े निकालकर कर रख दिए; अंडरपैंट भी निकाल दिया और नंगा होकर नहाने चला गया.

जावेद ने लपक कर उनके पैर छू लिए और कहा- सर कृपा बनाए रखिए, आपका छोटा भाई हूं. मेरी भाभी की उम्र 31 साल है, पर वो 25 साल की हॉट लड़की जैसी लगती हैं. सेक्सी ब्लू फिल्म चलने वालामुझे चोदने वाले मर्द का लंड मुझे पसंद आना चाहिए और उस वक्त मेरी चूत में आग लगी होनी चाहिए.

फिर मैंने उसकी चूत में लंड डाले डाले ही पलटी मारी और वो मेरी ऊपर हो कर उछल उछल के चुदने लगी.

तभी अचानक भाभी मुड़ी और मेरे पास आकर बोली- भैया, उस दिन की बात आप किसी को मत बताना. लौड़े से बाहर आने को तड़पने वाला मेरा वीर्य मुझे कैसे भी करके जल्दी ही रेशमा की बंजर बच्चेदानी पर गिराकर उसे हरी भरी करना था.

घर पहुंच कर डाइनिंग टेबल पर पीने की व्यवस्था करके हम तीनों पीने को बैठ गए. सना ने मुझसे कहा- आप चाट सकते हो लेकिन मैं आपके साथ सेक्स नहीं करूंगी. पहले ये लोग गांव के अन्दर रहते थे, अभी 2 साल पहले ही यहां घर बनाया है.

कहानी के पिछले भागमाँ के कहने पर पापा को पटायामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं अपनी मां की सलाह पर अपने पापा को गर्म करने लगी थी.

वो कुछ कहती, इससे पहले ही मैं वापस बोल पड़ा- अञ्जलि जी, मैं आपके साथ शॉवर लेना चाहता हूँ. मैंने पूछा- आपको मेरे साथ सेक्स क्यों करना है?उसने बताया- एक तो कई सालों से कोई ऐसा मर्द नहीं मिला, जो दिल को भाये. एक दिन मेरा ऑफ़िस भी बंद था, मैं अपने घर में अकेला था तो उस दिन मैं बहुत बोर हो रहा था.

औरत की चुदाई की कहानीमैंने सुबह सेक्स की गोली खा ली थी और अपना काम बड़ी सफलता से कर रही थी. मैंने कभी भी अरुणिमा दीदी को चोदने का नहीं सोचा था लेकिन मैंने आज सोच लिया था कि मैं अरुणिमा दीदी के कामुक शरीर का मज़ा ज़रूर लूँगा.

भाभी का एक्स एक्स एक्स

हम दोनों 4 बजे चुदाई से फारिग हुए, तो मैं बाथरूम में जाकर फ्रेश हो गया. उसकी बात सुनकर मैं गर्माने लगी और मैंने अपनी साड़ी का पल्लू जानबूझ कर गिरा दिया. मेरे बड़े बड़े दूध पर वो जगह जगह काटे जा रहे थे और मैं मचलती जा रही थी- आआह हहआ आहह पापा जी आआ हह कैसे कर रहे हैं … आआ हह दर्द हो रहा है पापा जी … आऊऊच आआ आहह.

मैंने कोई आपत्ति नहीं दिखाई और मैं उसे बिना कंडोम के लेडी फक़ को तैयार हो गया. मैं भाभी को चोदने का प्रोग्राम बनाने लगा और मौका देखने लगा कि भाभी से बात कैसे हो. वो अपनी गांड को फैलाने लगी और उस पर अपनी उंगली से ही थूक लगाने लगी.

नहाते समय एक बार फिर से लंड चूत चैतन्य हो गए और मैंने फिर से उसकी ताबड़तोड़ चुदाई करना शुरू कर दी. मेरा शरीर थक गया था लेकिन लंड का पानी निकलने का नाम ही नहीं ले रहा था. मैंने उनसे कहा- मौसी, मैं आपकी चुदाई कितनी भी करूं, लेकिन मेरा मन ही नहीं भरता है.

यह सिलसिला पूरे दिन चला और उसकी चूत और मेरा लंड पूरे दिन फड़कते रहे. कमरे के अन्दर पहुंचकर सविता कपड़े बदलने के लिए चली गई और मैं बाहर सोफे पर बैठ गया.

पहली बार मुझसे रुका नहीं जा रहा था और मन कर रहा था कि जल्दी से इसकी चूत में अपना फौलादी लंड उतार कर इसकी ऐसी चुदाई करूं कि इसे जीवन भर याद रहे.

चचा ने बिल्कुल रहम नहीं किया, पूरा पेल दिया और आधे घंटे तक अन्दर बाहर अन्दर बाहर करते रहे. निशा दुबे वीडियो सेक्सीकैसे अपनी सरिता भाभी की बरसों की प्यास बुझायी और उसकी इच्छा के अनुसार उसे अपने बच्चे की मां बना दिया. वीडियो सेक्सी ओपन वीडियो सेक्सी ओपनइसके बाद पूरे लॉकडाउन में मैं दीदी और नीरजा की चुत का भोसड़ा बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. मैंने कहा- राहुल … और तुम्हारा?उसने कहा- नितिन!मैं- तुम्हें पहले कभी देखा नहीं यहां?नितिन- हाँ, मैं अपनी मौसी के यहाँ रहने के लिए आया हूँ.

मैंने रेखा की चूत की सील कैसे तोड़ी, आप इस सत्य यंग गर्ल Xxx स्टोरी का आनन्द लें.

जैसे ही मेरी चूत पर उसका लंड का स्पर्श हुआ, मैं एकदम से सिहर सी गयी क्योंकि दो महीने से मेरी चुदाई नहीं हुई थी. सूरज सर पर चढ़ आया था और साढ़े 6 बजने लगे थे लोगों का आनाजाना शुरू हो गया था. भाभी- मतलब!मैं- मेरा मतलब है कि आप घर का काम … जैसे झाड़ू पौंछा, खाना, कपड़े धोना आदि कर देना.

’‘वैसे आज मेरे मन में भी था कि तू बस पजामा टी-शर्ट में हो और मैं तुझे जी भर के चोद सकूँ. साथ में वो मेरी गांड को सहलाती हुई अपनी उंगलियां मेरी गांड की दरार में फिरा रही थी. मैं अभी अपने घर आया था कि मेरी बहन आयशा ने मुझे आवाज दी- अंकित इधर आना!तो मैं उसके पास गया.

मोटू पतलू वीडियो में

अब आगे Xxx एनल सेक्स कहानी:चुदाई के बाद राज मुझसे बोला- अनीषा सच बोल, अब तक कितने लंड ले चुकी हो?मैं बोली- तुम्हारा मिला कर आज तीसरा लिया है. Xxx कज़िन सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे मामा की बेटी अपने दोनों भाइयों से चुदना चाहती थी. पापा ने लैगी कुर्ती सबके लिए बोल दिया था तथा ये भी कहा था कि कम से कम खाने और पहनने की आजादी तो सबको होना चाहिए.

मैं अगली कहानी में बताऊंगा कि कैसे अंजलि ने मेरे चोदने पर अपनी चूत से मूत छोड़ दिया था.

मैं सधी हुई रफ्तार में धक्के पर धक्के लगाए जा रहा था और इस तरह से मैंने धीरे धीरे पूरा लंड बुर में ठोक दिया.

मेरी आमदनी के लिए हमारी एक शॉप थी, जिसमें कोल्डड्रिंक और आइसक्रीम का बड़ा काम था. मैंने उसकी गांड को दोनों तरफ तानकर जोर का झटका मारा तो आधे से अधिक लंड गांड में घुस गया था. वीडियो का वीडियो सेक्सी वीडियोमुझे पहले तो स्वाद तो थोड़ा ख़राब लगा लेकिन फिर मैंने जो लड़कियों को पोर्न में लंड पीते हुए देखा था, मैं उसी तरह से लंड पीने लगी.

मैंने अपने लंड को जल्दी जल्दी अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया और जल्द ही अपनी पूरी ताकत से उसे चोदने लगा. झुककर मैंने उसे अपने मम्मे दिखाए तो वो मेरे मम्मों की तारीफ़ करने लगा. फिर अचानक से मेरी गांड के छेद में जोरों से खुजली हुई और मैं उंगली से गाउन के ऊपर से ही छेद को जोर जोर से खुजाने लगी.

तो जब मैं उसकी कुर्ती उतार रहा था तो उसने दोनों हाथ ऊपर करके मेरा साथ दिया. कभी दोनों भाई अपनी बहन अर्चना दीदी की हर बात में मीन मेख निकालते थे, अभी गुलाम की तरह दीदी के आदेश का अक्षरशः पालन करने लगे थे.

इसके बाद वो मेरे पेट को चाटने लगी, मुझे गुदगुदी होने लगी और मज़ा भी आ रहा था.

गोरी गांड के दोनों चूतड़ों पर बारी बारी से जोर से चांटा मारते हुए मैं बोला- साला भोसड़ी का सलमान, क्या नसीब वाला है, जो ऐसी भरी हुई औरत मिली है … पर मादरचोद नामर्द ही निकला भोसड़ीवाला. उसने मेरी तरफ बड़ी अदा से मुस्कुराते हुए देखा, मैं उसकी अदा की नजर समझ गया और बोला- वापस आकर आपसे ड्रेसिंग करवाता हूँ. उन्होंने मुझे अपने गले से लगा लिया जिससे मेरी चूचियों की नोकें उनके सीने में जा घुसीं.

सेक्सी सेक्सी ब्लू पिक्चर इंग्लिश वो बोली- पर पंडित मुझे बच्चे के लिए कम से कम 5 दिन और चोदो, तभी कुछ पक्का हो पाएगा. और दूसरी बात ये है कि हर्षद, जब से मौसी ने तुम्हें देखा है … तब से वो तुम पर फिदा हो गयी हैं और तुम्हें चाहने लगी हैं.

मैंने उसके लोवर को उसके शरीर से अलग कर दिया और उसकी पैंटी को भी खींच कर हटा दिया. नंदा ने पूछा- बहुत टाइम लगा आइस लाने में?तब वो बोली- अण्डे को कुकर में उबलाने के लिए रखने लगी थी, उससे टाइम लग गया. सोनाली के हाथों में मेरा लंड बड़ा होने के कारण नहीं बैठ रहा था, तो वो दोनों हाथों से लंड को पकड़कर ऊपर नीचे करने लगी.

સેકસી વિડીયા

उनकी चूत में लोहे जैसा लवड़ा घुसा था तो भाभी मस्ती से आवाजें ले लेकर गांड उठाने में लगी थीं. उसने मेरे चेहरे को अपनी तरफ किया और पूछा- डू यू लव मी?मैंने कहा- हां जान … आज तक मुझे तुमसे अच्छा कोई नहीं मिला. मेरे दिमाग में उस वक्त थ्रीसम सेक्स का कीड़ा चल रहा था और ये मौका भी मिल रहा था कि यदि प्रियांशु सैट हो जाए … तो कुछ काम बन सकता है और मेरे मन की चाहत पूरी हो सकती है.

रंडियों को चोदना मुझे पसंद नहीं है और दूसरी चूत का इंतजाम करना मेरे वश के बाहर का काम है. हम दोनों थक कर ऐसे ही लेटे थे कि नीरजा की आवाज आई- मम्मी मामा आप दोनों ये क्या कर रहे हो?हम दोनों घबरा गए.

जब भी ससुर जी घर पर नहीं होते तो मैं उसके सामने बार बार जाती और किसी न किसी बहाने से अपना अंग प्रदर्शन करती.

सब साथियों को पता है कि चूत मिलनी हो, तो इंतजार करना कितनी मुश्किल होता है. प्रिय पाठको, आपको मेरी हिंदी गांड सेक्स कहानी कैसी लगी? आप मुझे मेल कर सकते हैं. आखिरकर मैंने उससे पूछा कि भाई आपको क्या हुआ?उसने मुझे सारी समस्या बताई कि बैंक उससे किस तरह से चक्कर कटवा रहा है.

वासना के जोश में होने के कारण मैं अपने गले तक उसके लंड को घुसाने की कोशिश कर रही थी. मैंने धीरे से अपने गाउन का फीता ढीला कर दिया, तो मेरे बूब्स बाहर झांकने लगे. मैं दीदी को नीचे से पेल रहा था और दीदी ऊपर से गांड उठा उठा कर चुद रही थीं.

उसकी आंखों से आंसू निकल आये,धीरे धीरे उसका दर्द कम हुआ तो मैं भी धक्के लगाने लगा.

हेमा मालिनी की बीएफ: मुझसे भी नहीं रहा गया और मैंने अपने लंड को सहलाया और पोजीशन बना कर उसकी बुर में लंड डालने लगा. मैं नंदा के साथ बाजार गया और दवा की दुकान से कामवासना बढ़ाने वाली दवा ले ली थी.

अपने होंठ दांतों से चबाते हुए अपने दाएँ हाथ की हथेली को नीचे ले जाकर, नत्थूलाल को ऊपर उठाया. भाभी- तोड़ दो कसम और जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डालकर मुझे चोद दो. रेखा- सच में ना अंकल … मुझे ज्यादा दर्द नहीं होगा ना?मैंने कहा- ज्यादा नहीं होगा बेटी, मैंने कहा ना कि मैं तुम्हें बड़े प्यार से चोदूंगा.

झटका मारते ही वो चिल्लाई- आआ आआह मर गयी …मैंने उसके मुँह पर हाथ दिया ताकि शोर नहीं मचना चाहिए.

मैंने फिर से पूछा- ओके, वहां क्या करते हो?वो- मैं उधर एक कंपनी में काम करता हूँ. फिर मुखिया जी ने माँ को अपनी जाँघों से उठाया और माँ की साड़ी को खोलने लगे. इसलिए मैंने पीछे से गांड में धीरे धीरे पूरा लंड जड़ तक पेल दिया और चुदाई करने लगा.