बताओ बीएफ

छवि स्रोत,वाल की सब्जी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सीvidio: बताओ बीएफ, मैं तो आपकी दोस्त हूँ ही! फिर क्या?वो कुछ रुक कर बोले- मैं तुम्हारे साथ वो सब करना चाहता हूँ जो एक पति पत्नी करते हैं।मेरा दिल तो पहले से ही जानता था कि वो यही कुछ बोलेंगे मगर मैं चौंकते हुए बोली- यह आप क्या कह रहे हैं, आप मेरे अच्छे दोस्त हैं और हम दोनों की उम्र में भी काफी फासला है।वो मेरे हाथों को अपने हाथों में लेते हुए बोले- जैसा कह रही हो, वो तो सच है.

मनीषा सेक्सी

उसे थोड़ा दर्द हुआ।मैं थोड़ी देर रुका, उसकी चूचियाँ चूसने लगा और फिर धीरे धीरे लंड अंदर बाहर करने लगा. मेरी जिंदगी सवारी गानाप्लेट रख कर वो पलट कर चली गई और मैं उसकी उभरी हुई गांड को देखने लगा.

इसलिए मैंने विवेक को फोन पर सारी बात बता दी कि पापा के आने बाद तुमको लेकर बहुत बवाल होने वाला है. कर्मा माता फोटो hdकुछ ही देर में लंड ने सरनी की फुद्दी में जगह बना ली थी और उसका दर्द मजे में बदलने लगा था.

हम दोनों के बीच बातचीत से हम दोनों की नजदीकियां बढ़ रही थीं … और हम दोनों के चेहरे पर मुस्कान थी.बताओ बीएफ: उसके बाद मैंने बाहर निकाल कर थोड़ा सा ऊपर करके अन्दर दबाया और तेजी से घुसा दिया.

बिन्नी ने जैसे ही एक रैक के ऊपर से पैन उतारने के लिए हाथ ऊपर किया तो मैंने अपना खड़ा लौड़ा बिन्नी के चूतड़ों में अड़ा दिया और पीछे से हाथ आगे करके उसके दोनों मम्मे पकड़ लिए.थोड़ी बहुत ना-नुकर के बाद मुझे हीरो-होंडा पैशन बाइक मिल गयी और मेरी साइकिल पर रोहित ने कब्ज़ा कर लिया.

आलिया सेक्सी सेक्सी - बताओ बीएफ

इससे ज्यादा तो मॉम पर बहुत गुस्सा आया कि वो लड़के ये सब कर रहे थे और मॉम उनको कुछ नहीं बोल रही थीं, बल्कि उन्हें ऐसा करने के लिए हंस हंस कर और उकसा रही थीं.हम दोनों एक बार स्खलित हो चुके थे इसलिए अबकी बार कोई भी जंग को समाप्त नहीं करना चाहता था.

मैं स्टडी रूम मैं अपने प्यारे नमकीन दोस्त के उसी के आग्रह पर उनकी गांड मार रहा था कि उनके चाचा आ गए. बताओ बीएफ हम दोनों के तीसरे राउंड की चुदाई के लिए हम दोनों फिर से तैयार हो गए थे.

जब रात वो मेरे कमरे में आया और मालिश करने लगा, तब मैंने उससे बोला- थोड़ा ऊपर हाथ लाकर मेरी जांघों के जोड़ पर मालिश करो.

बताओ बीएफ?

और ये गन्दा भी तो है!मैंने कहा- बिल्कुल नहीं … और आप जीजा के नहीं मेरे साथ हैं. मैं कुछ कहता, इससे पहले भाभी मुझसे बोलने लगी- राहुल … मैं बहुत प्यासी हूँ … तू मेरी प्यास बुझा दे … तेरे भाई को तो काम से फुर्सत ही नहीं रहती है. सब्जी वगैरह खरीदने के बाद मेरा दोस्त मुझे लेकर उसकी दुकान पर ले गया.

अब हमें बिल्कुल भी होश नहीं था कि हम ऐसे खुले खेत में चुदाई का खेल मजा लेकर खेल रहे हैं. मुझे उसकी आवाज से ऐसा लगा कि इसकी चुत ने मेरे मोटे लंड का मस्त अहसास किया है. वो हंसने लगी और बोली- इधर खुले में तो पूरी इज्जत का फालूदा बन जाएगा.

पूजा- आहह … आहहह आराम से अमित … फाड़ दोगे क्या?अमित- मेरी जान तुम्हरी चूत है ही इतनी टाइट कि दो दो लंड भी एक साथ डालने के बाद भी ढीली न हो!पूजा- शस्श्ह अमित!अमित- हाँ मेरी जान, सोचो अभी राजवीर भी हमारे साथ बिस्तर में होता तो तुम्हरी गर्दन पर ऐसे चूमता! ऊऊमहा!पूजा अब चुप होकर मजे लेने लगी. पास में खड़ी दिव्या ने भाई को नीचे से नंगा होकर मेरी चूत में लंड डालते हुए देखा तो वो भी अपनी जीन्स को निकाल कर अपनी चूत में उंगली करने लगी. अरे तुम … आ जाओ … अन्दर आ जाओ, शायरा … ये ही वो लड़का है, जिसने ऊपर का कमरा लिया है.

मेरे हमले से बेचैन होकर उसने हाथ बढ़ा कर मेरी मांसल चुत को भींच लिया. मैंने उसका शुक्रिया अदा करते हुए कहा- बहुत सालों बाद मैं इतनी चुदी हूँ.

उसने भी मुझे फोटो में देखा हुआ था, इसलिए उसने मेरी तरफ हाथ से इशारा किया.

तो मैं बाहर आ कर सोफ़े पर बैठ गया और बिन्नी को किचन में नंगी इधर उधर घूमते हुए देखता रहा.

उसने मेरे होंठों से अपने होंठ मिला दिए और हम दोनों ने एक लम्बा स्मूच किया और अलग हो गए. नमस्कार मेरे प्यारे दोस्तो और पाठको, कैसे है आप सब?उम्मीद करती हूँ कि सब मजे में होंगे, ऐसे ही खुश रहिए और मजे करते रहिए!मैं सुहानी चौधरी आप सबका अपनी अगली कहानी में स्वागत करती हूँ। आप सबसे निवेदन है कि कृपया कहानी को पूरा पढ़िये!हो सकता है मैं आप सबके ई-मेल का तुरंत रिप्लाई नहीं कर पाऊँ, क्योंकि मैं 3-4 दिन में चेक करती हूँ. मैंने मॉम को थैंक्स बोलकर उन्हें ‘आई लव यू मॉम …’ कहा और जोर से हग कर लिया.

मैंने खिड़की के नजदीक खड़े होकर देखा तो सास अपनी साड़ी को ऊपर किए अपनी चूत में उंगली कर रही थीं. कुछ देर बाद मैंने घुटनों के बल बैठ कर उसकी पैंटी को थोड़ी साईड में कर दी और उसकी सफाचट चुत में अपनी जीभ घुसा दी. तभी एक बार फिर डॉक्टर ने फिर अपना वहशीपन दिखाया, एक झटके से मुझसे अलग हो गया और उसके साथ ही मुझे लगा कि कुछ गर्म-गर्म मेरे अन्दर से निकल रहा है.

मैंने अपने भाई को अपनी बांहों में जकड़ लिया क्योंकि मेरा मन लंड लेने के लिए करने लगा था.

उसने मेरे मुंह के पास लंड को किया और मेरी गर्दन को प्यार से आगे कर दिया. मैंने उस पानी को मामी के मुँह में डाल दिया और दोनों लोग उस मस्त रस को चाटने लगे. फिर कुछ देर बाद आरिषा भाभी जब रामू का साथ देने लगीं, तो रामू ने अपनी स्पीड बढ़ा दी.

वो तो उसका कमरा घर से बाहर गार्डन की साइड में था अगर अंदर होता तो पक्का सब उसकी चीख सुन कर उठ जाते. इधर मैं आराम से बैठा था तो अंशिका मेरा लौड़ा चाटने लगी। उसके बाद तीनों ने कुछ देर तक मेरे लंड को चाट और चूसा. वो तो खुशी से फूल कर कुप्पा बन गई और सागर के हर धक्के का जवाब नीचे से उछल कर देने लगी थी.

एक बार तो मन हुआ कि इनके खेल की पोल खोल दूं, लेकिन इनको मजे लेते देख कर मेरे मेरे लंड में भी हलचल होने लगी थी.

जब मैंने लंड उसकी फुद्दी पर रगड़ना शुरू किया, तो पीछे हो कर वो लंड को फिर से अपनी फुद्दी में डालने लगी. अपनी ससुराल में मुझे फ्रीडम और पति में एक ऐसा वफादार कुत्ता चाहिए था, जो मेरी चुत चाट कर मुझे मजा दे.

बताओ बीएफ शिल्पा दिख नहीं रही थी इसलिए मैंने समझ लिया कि वो बाथरूम में गई होगी. मैं विजय से बोली- हाँ विजय, मुझे पता है तुम्हारा दिल मेरे लिए धड़क रहा है!ऐसा कह कर मैंने उसके गाल पर एक किस कर दिया और उठ कर खड़ी हो गई।जैसे ही मैं खड़ी हुई विजय ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मैं उसकी तरफ घूमी तो उसने एक झटके से मेरे हाथ को खींच कर मुझे अपने ऊपर गिरा लिया.

बताओ बीएफ जीजा बोले- तो ठीक है, यहीं गांव में मेरे दो दोस्त ठेकेदार हैं जिनके पास जेसीबी और ट्रक व डंपर हैं. उसका लंड लोहे की गर्म रॉड सा मेरी चुत को चीरता हुआ अन्दर घुसता जा रहा था.

रात होने का इंतजार कर रहा था मैं!मैंने रात को अपने रूम में ही खाना ऑर्डर कर दिया और फिर बेड पर बैठकर अपने लैपटॉप पर स्पाइ कैमरा ऑन कर दिए.

हिंदी गाना के साथ बीएफ

स्वाति भाभी ने भी अब एक दो बार तो अपनी गर्दन व होंठों को छुड़ाने की कोशिश की मगर फिर वो भी शांत हो गयी. वो लंड घुस जाने से कुछ तेज कराहना चाहती थी, पर मैं रेखा के होंठों को चूसने लगा. चांदनी रात छत के ऊपर चाची का बदन तेल में चमक रहा था और मेरा लंड भी चमक रहा था.

मैं- हां हां चलेगा, कितने का है?सेल्सगर्ल- सर, वैसे तो एक सैट की प्राईज 399/- है … पर डिस्काँउट करके आपको ये 319/- का पड़ेगा. उसके बाद उसने मेरे कपड़े उतार दिए।फिर उसने मेरे लंड पर कुमकुम हल्दी का टीका लगाकर मेरे पैर छुए और रोने लगी। मैंने उसे गले से लगाया और उसकी पीठ पर हाथ फेरने लगा। मेरा लंड खड़ा हो गया और उसने लंड को पकड़ लिया. मैंने पूछ लिया कि अगर सच में तुम्हें मेरी चूत सहलाने को मिले तो?मेरे मुँह से चूत शब्द सुन कर वो हकबका गया.

मैंने सोचा कि अगर इसको दर्द होने के कारण मैंने लंड निकाल लिया, तो ये दोबारा नहीं डालने देगी.

उसने पैन को गैस पर रखा तो मैंने बिन्नी को गैस के स्लैब पर ही झुका लिया और पीछे से लौड़ा उसकी चूत में लगा कर उसकी जांघों को दोनों हाथों से पकड़ा और जोर लगाते हुए लौड़ा अंदर घुसेड़ दिया. मैंने अपने फार्म हाउस में साफ सफाई करवाई और जब भी मिलना होता तो वहीं पर मिलते।प्रिया अब मेरे मोटे लंड को लेने की आदी हो गई थी।वो चुदाई के लिए कभी भी मना नहीं करती थी क्योंकि उसे इसमें काफी मजा आने लगा था।इसी तरह मैं जब भी उसे फार्म हाउस चलने के लिए बोलता तो वो तैयार रहती है।हम दोनों लगभग डेली सेक्स करते थे. उसने टॉप उतार दिया।मैंने जैसे ही उसके दूधों को देखा तो मैं दंग रह गया।इतने बड़े दूध थे कि हाथ में नहीं आ रहे थे। मैं तो अपनी किस्मत पर फूला नहीं समा रहा था.

मैं झट से मनोज को बेड पर बिठा कर उसको उकसाने लगी ताकि उसका लंड हरकत में आ जाए. मैं तो उसको देखता ही राह गया … क्या गज़ब की बला लग रही थी … लाल रंग का सूट और काले रंग का दुपट्टा पहने वो मुस्कुरा कर मेरा स्वागत कर रही थी. शिवम कहने लगा कि उसको उसी दिन से शक हो गया था और फिर उसने विवेक और मेरी चुदाई की वीडियो बनानी शुरू कर दी थी.

मैं दिव्या का स्टेमिना देख कर हैरान हो रही थी कि वो लड़की एक मिनट भी सांस नहीं ले रही थी और लगातार मेरे भाई का मूसल लंड अपनी चूत में लेने में लगी हुई थी. मैं नंगी हुई और उन अंगों को छू-छू कर देखने लगी, जिधर डॉक्टर शक्ति ने मुझे प्यार किया था.

फिर कमलेश बोला- शरमा क्यों रही है … अभी सबका लंड गांड उठा उठा कर लेगी. और आप मुझे कह रही हो, अगर आपको चिराग इस प्रकार देख ले तो!उसने संगीता की हिलती हुई पिलपिली चूची पकड़ कर कहा, तो संगीता बनावटी गुस्से में थोड़ा शरमाते हुए- क्या करती है छोड़ मुझे … दिन ब दिन बेशर्म होती जा रही है और तू अपने रूम में क्यों नहीं सोती?स्नेहा मुस्कुरा कर मजे लेते हुए अपनी मॉम की एक चूची हल्के से दबा कर बोली- कल रात आप दोनों की यहां तक आवाजें आ रही थीं. पायल ने मेरा लंड पकड़ा और बोली- मैं सारी रात यही हूँ … फिर चूस लेना … पहले अपना लंड मेरी चुत के अन्दर डालो.

अब अंशिका पूरी तरह मेरी गिरफ्त में थी। अंशिका जोर जोर से आहें भर रही थी, उसका तो रस निकलने वाला था।मैंने उसकी चूत चूसते हुए जीभ बाहर निकाल कर कहा- ला साली निकाल अपना रस … बहन की लौड़ी … मादरचोद … निकाल अपना पिशाब! कुतिया देख … तुम्हारे यार का लौड़ा और जीभ तुम्हारे पास है!अब सभी पूरी तरह गर्म हो चुके थे।फिर सपना ने सभी को समझाया.

वैसे तो मैं घर से बाहर भी कम‌ ही निकलता था, मगर फिर भी मैं यही प्रयास करता कि मेरा कभी शायरा से सामना ना हो. चूँकि स्लैब की चौड़ाई कम थी इसलिए बिन्नी का सिर बार बार दीवार से टकराता रहा. अब मैंने उसकी चूत के नीचे तकिया लगाया और अपने लंड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा.

शायरा की गर्म गर्म चूत में लंड डालने में और रगड़ने में मज़ा आ रहा था इसलिए मैं धीरे धीरे धक्के मार रहा था और शायरा सिसकारियां लेते हुए मेरा जोश बढ़ा रही‌ थी. मैंने अपनी जींस और अण्डरवियर उतार दिया और दादी के बेड के करीब खड़ा हो गया.

जैसे जैसे यास्मीन नीचे आ रही थी, मेरा लंड उसकी फुदी में जा रहा था।अब यास्मीन मेरे लंड पर कूद रही थी, मैं उसकी हिलती चूचियों को दबा रहा था. मैंने उसकी चुत से मुँह हटा लिया और अपनी चड्डी उतार कर उसके पीछे आ गया. कुछ मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना पूरा वजन मॉम के ऊपर डाल दिया और मॉम को जकड़ लिया.

सी वीडियो बीएफ हिंदी में

मैं उस लड़की के पीछे तो था ही, इसलिए थोड़ा सा उसके और नजदीक होकर उसके कंधे से अपने कंधे की तुलना करके देखने लगा कि सही में ही वो मुझसे लम्बी है या ये मेरा ही वहम‌ है.

उसने फोन पर बताया कि उसकी बहन लूसी घर के पीछे वाले दरवाजे पर खड़ी है. अब तक आपने पढ़ा था कि मैं शायरा के अधरों का रस चूसते हुए सोच रहा था कि होंठों का रस इतना मीठा है … तो इसकी चुत का रस कितना टेस्टी होगा. दो साल पहले मेरे जन्मदिन की एक रात पहले मेरी गर्लफ्रेंड ने मुझे रात को कॉल किया और बोली- कल आपके लिए सरप्राइज है.

तभी मीरा आ गई और मेरे पीछे बैठकर मेरी गोटियां चाटने लगी जिससे मैं अति उत्तेजित होने लगा. अब उसी खिड़की से अभिषेक पहले खुद अन्दर गया और मुझे भी अन्दर खींच लिया. दीपिका का सेक्सीमुझे सबसे पहले शायरा की चूत का ये डर ही ख़त्म करना था और इसके लिए पहले चूत से प्यार करना था, शायरा की चूत को खुश करना था, उसे अपना दीवाना बनाना था ताकि वो खुद ही मेरे लंड की सवारी करने को मचलने लगे.

अनीता तिरछी लेट कर आधे ऊपरी शरीर पर वहशियाना तरीके से मुझे चूम और चाट रही थी. मैंने मेज पर से बर्तन उठाये और सीधी रसोई में चली गई, वहां बर्तन साफ करने लग गई.

आज तक इतनी बढ़िया चूत चटाई और इतनी मस्त चुदाई नहीं हुई।और फिर हम एक दूसरे को बहुत देर तक चूमते रहे।उस रात सीमा की दो बार चुदाई की। वो जब तक मुंबई में थी हमने ख़ूब चुदाई की।आपको यह भाभी की चूत की चुदाई की कहानी कैसी लगी?अपने विचार अवश्य लिखें,[emailprotected]आप मुझे telegram app पर भी सम्पर्क कर सकते हैं बस उसमें @mayank0301 सर्च करें. मैंने कहा- और सुनो अपनी दीदी की बात को भूल जाओ, ये बात किसी को मत बोलना. मेरे हाथ अब उनकी कमर से ऊपर उनके ब्लाउज से ढके हुए हिस्से को सहला रहे थे.

उसका पेट एकदम से सपाट था और वो उसकी ब्रा में बहुत सेक्सी लग रही थी. नेहा का मुझे कॉल आया; उसने मुझसे पूछा कि अबकी बार होली पर क्या प्लान कर रही है।तो मैंने उससे कहा- ऐसा तो कुछ खास नहीं है. कोई 15 मिनट तक उसका लंड चूसने के बाद उसका लंड एकदम से फटने को हो गया था.

वो मेरे लगातार चूसे जाने से तेज स्वर में ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ कर रही थी.

मैं बोली- और लूसी के साथ तुम्हारा क्या चल रहा है, वो भी बता देना?वो बोला- क्या बक रही है!?इतने में मैंने विवेक को फोन कर दिया. उसने कहा- मैं अपने पेरेंट्स से आज ही बात करता हूँ और तुम अपने पेरेंट्स को मनाओ.

उनको नंगी करके उनके साथ पूल में मस्ती की और इसके बाद सबसे पहले चाची की चूत की झांटें साफ़ कीं. बॉयफ्रेंड सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी दीदी के घर में किरायेदार लडके को अपना बॉयफ्रेंड बना लिया. अगर मैं उससे अकेले में मिलती तो वह मुझे बिना चोदे तो छोड़ता नहीं!इसलिए मैंने अकेले में मिलने से मना कर दिया।इस पर वो गुस्सा भी करता कहता- तुम्हें तो मुझ पर विश्वास ही नहीं है.

मैं दबे पांव हल्के हल्के यह पक्का करता हुआ कि मां भी सो रही हैं, भाभी के कमरे में घुस गया. अब वो पूरे मस्ती में चुदवा रही थी, उसका जोश देखने लायक ही था, वो भी मेरा पूरा साथ देते हुए मुझे पकड़ के चूत उठा उठा कर चुदवा रही थी. वो बोली- पहले कुछ नाश्ता करोगे?मैं बोला कि नहीं … मैं नाश्ता करके आया हूँ.

बताओ बीएफ तभी संजू ने अपना थूक अपने हाथ में लिया और चूत में पूरा थूक लगा दिया जिससे चिकनाहट और बढ़ गई. कुछ ही देर में रेखा गाऊन पहनकर अपने बाल झटककर सुखाने की कोशिश करते हुए आई.

सनी लियोन सनी लियोन के बीएफ

मैंने उसकी चूत से लंड को निकाल लिया और उसके मुंह के सामने लंड को हिलाते हुए अपना वीर्य उसके मुंह पर छोड़ने लगा. हमारे घर में हम तीनों के अलग अलग चाभियां हैं, ताकि घर में आएं, तो किसी को दिक्कत ना हो. मालिश करते हुए वो मेरे निप्पलों को मसलते और मेरी चूचियों को भींच देता.

वंदना ने भी सिगरेट मांगी तो मैंने उसे पैकेट पकड़ाया तो बोली- जो पी रहे हो उसी में से दो कश लगवा दो!मैंने सिगरेट दी तो वो किसी रंडी की तरह कश मारने लगी।हम लगभग आधा सफर तय कर चुके थे. तो मैंने उसकी टांगों के बीच आकर हाथ से लन्ड पकड़ा और उसकी चूत पर सेट किया. काला यूट्यूब डाउनलोडयह कहानी मेरी पिछली कुछ कहानियोंमस्त पड़ोसन भाभी दिल खोलकर चुदीट्रेन में मिली महिला की सेक्स की प्याससे जुड़ी हुई है क्योंकि मेरी पिछली कहानीमालकिन के साथ नौकरानी के मजेयहां पर नहीं छपती, तो शायद यह अनुभव मुझे सच में नहीं मिल पाता.

उधर अनामिका एक पल के लिए रुकी और वो फिर से मेरा लंड मुँह के अन्दर बाहर करते हुए चूसने लगी.

शायरा की इस उत्तेजना को और अधिक बढ़ाने के लिए मैंने अब अपनी जीभ को सीधा चुत की गहराई में उतार दिया. वैसे तो मैं सबसे आखिर में उस बस में चढ़ा था इसलिए मैं ही सबसे पीछे था.

मैं उसे चूमता हुआ बोला- मजा आया पायल?वो मेरे गले से लगे हुए बोली- हां … बहुत अच्छा लगा. सास दामाद Xxx कहानी में मैंने अपनी ससुराल में अपनी सास को ब्लू फिल्म देखकर चूत में उंगली करते देखा. हैलो साथियो, मेरा नाम रूपा है और मैं आपको सेक्स कहानी में सुना रही थी कि मैंने अपनी चुत की आग कैसे बुझाई.

मैंने कहा- हां यार, इसको पता नहीं है कि इसकी अकड़ निकालने वाली सभी मुँह में लेकर सारी अकड़ ढीली कर देगी.

मैंने उससे पूछा कि उसे मज़ा आया या नहीं?न्यासा बोली- राज कसम से बोलूं … तो मेरी ऐसी चुदाई कभी हुई ही नहीं … तुम लोग इतनी लम्बी चुदाई कैसे कर लेते हो … ओह माय गॉड. मल्लिका शेरावत भी अब काफी उत्तेजित लग रही थी मगर फिर भी वो इमरान हाशमी को ‘नहीं‌ नहीं. मैं मोटे लंड से दर्द के मारे जोर जोर से चिल्लाने लगी थी- आह मर गई … ओह आह माह!रवि ने मेरे दोनों दूध पकड़ कर मसले और कहा- अभी तो सिर्फ आधा लंड ही गया है … अभी तो आधा बाकी है.

इंडियन आर्मी कटिंगवो लगी लंड पर उछलने और मेरे हाथ पकड़कर अपनी चूचियों पर रख दिये तो मैं उसकी चूचियां दबाने लगा. इस ऑफिस गर्ल सेक्स स्टोरी में थ्री-सम सेक्स कहानी का मजा भी आया था, जिसे आपकी इच्छा पर मैं लिखूंगा.

बीएफ सेक्सी जंगल

उनके इतना कहने की देर थी, मैंने उनके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और एक लम्बी किस देने के बाद धीरे धीरे उनके सारे अंगों को चूमता चाटता नीचे की तरफ बढ़ने लगा. तो प्रियंका भाग कर उसके पास गई और बोली- तुझे अलग से समझाना पड़ेगा क्या … चल साली तू भी अन्दर नंगी ही जाएगी. वो ज्यादातर बाहर ही रहता था, इस वजह से भी भाभी असंतुष्ट थी और अपने पति से परेशान रहती थी.

अपनी ससुराल में मुझे फ्रीडम और पति में एक ऐसा वफादार कुत्ता चाहिए था, जो मेरी चुत चाट कर मुझे मजा दे. मैं उन्हें देखकर गेट की ओर भागने लगी, तो राज ने मेरे से दो गुनी स्पीड से आकर मुझे पकड़ लिया और बेड पर धक्का दे दिया. इन चारों में से पहली तीन की शादी हो चुकी है लेकिन रितिका अभी कुंवारी है.

साली ने पूछा- क्या हुआ, किसका फोन था?मैंने कह दिया- मेरे मित्र का मुंबई से फोन आया था. पहले तो डॉक्टर साहब गांड ढीली किए हुए थे, फिर दर्द के कारण थोड़ी टाईट कर ली. उस वक्त मेरी शादी हुए तीन साल हो गये थे और मैं एक बेटे का बाप भी बन चुका था.

यह बात सुन कर संजना तेजी से मेरे सामने घोड़ी बन गई और अपनी गांड को चौड़ी कर दी. वैसे तुमने क्या सोचा है?मैं- किस बारे में!सुगंधा भाभी- अपनी गलफ्रेंड से शादी करने वाले हो … या सिर्फ ब्वॉयफ्रेंड तक ही सीमित रहोगे.

दिन में मैं और छाया बात कर रहे थे कि अचानक छोटे भैया आ गये। सच तो यह है कि आज मैं भी देवर जी का इंतज़ार कर रही थी क्योंकि मैं जानना चाहती थी सूसू मतलब स्खलित क्या होता है?क्योंकि छाया को सब कुछ पता ही था तो छाया बाहर चली गयी और किसी से फ़ोन पर बात करने लगी।कहानी जारी रहेगी.

पर सुनील को किसी से मिलना है, तो वह उसके साथ ही रहेगा और दो ढाई के बीच में घर पहुंचेंगे. सेक्सी वीडियो सनी देओलमैं बोला- तो फिर आप क्या सोच रही हो?मैंने वो मेरे करीब आयी और मेरे सीने से लगकर नीचे हाथ ले गयी. अनुष्का का सेक्सफिर मेरे शानदार उरोजों पर मुँह लगाते हुए हाथ पीछे ले जाकर मांसल उभरे नितंबों को सहलाने लगा. मेरा नंगा सेक्स कहानी के पिछले भागगैरमर्द से चुदाई की लालसामें अब तक आपने पढ़ा था कि एक गैरमर्द का मस्त लंड मेरी चुत में लार टपका रहा था.

हंसने पर उसके गुलाबी होंठों में से दिखाई देते सफेद दांत तो ऐसे लग रहे थे जैसे मोती ही चमक रहे थे.

अब वो भी अपनी इच्छाएँ बताने लगी थी कि उसको सेक्स में क्या क्या करना अच्छा लगता है. उनकी बड़ी सी गांड देखकर जो लग रहा था कि दीदी की जांघियां फाड़ कर पूरा का पूरा पिछवाड़ा बाहर आ जाएगा. उसने मेरे झड़ते ही मुझको कसके पकड़ लिया और साथ में वो भी दुबारा झड़ गई.

दरवाजा खुला हुआ ही था इसलिये मैं भी अब अन्दर आ गया, मगर अब अन्दर भी कोई नहीं था. मैंने पूछा- और बताओ घर में सब ठीक है?उसने कहा- क्या बताऊं रूपा, मेरी वाइफ अभी कुछ दिन पहले संसार छोड़ कर चली गई है. दोनों की सहमति के बाद मैंने धीरे-धीरे उसकी चूत में लंड को हिलाना शुरू किया.

fire का बीएफ

मैंने एक महीने तक तो बिल्कुल बात ही नहीं करी।रोहित मेरी दीदी के फोन पर कालॅ करता और मेरे लिए पूछता या अगर मेरा फोन खुला होता तो मेरे फोन पर काल करता।उसके बाद रोहित ने मुझे चोदने की बहुत कोशिश की बहुत बार मिलने के लिए बुलाता रहा लेकिन मैंने फिर उसे अपनी चूत नहीं दी।मेरी कभी कभी बात हो जाती. ज़ोर से चोदो, फाड़ दो मेरी चूत को!” ज्योति ने अचानक अपने पिता से ज़ोर से चिल्लाते हुए कहा।महेश को भी इसी मौके की तलाश थी. वो काली ब्रा और पैंटी पहने थी।मैं बैठ गया और उसके पैरों को अपनी गोद में रख लिया और फिर एक पैर उठाकर चूमने लगा.

उसने जीभ से चुत की लंबी फांक को सहलाना शुरू किया और अपने एक हाथ की बीच उंगली को मेरी चुत में घुसा दी.

यह उस समय की हिंदी सेक्सी चुदाई कहानी है, जब मेरे भाई की नई नई शादी हुई थी.

वैसे तो मैं हर चार छह माह में घर आता रहता था, पर इस बार तीन चार साल बाद एक डेढ़ माह रूका था. मैंने उसे चूम कर कहा- पायल डरो मत, आज से हम दोनों बेस्ट फ्रेंड हैं … और जो भी हम दोनों करेंगे, अपनी सहमति से करेंगे. करीना कपूरxnxxदादी के घर आने के बाद दादी को तीन महीने बेडरेस्ट करना था लेकिन करीब एक महीना ही बीता होगा कि मैं उनके घर गया तो दादी लेटी थीं और मल्लिका पास में बैठी थी.

चलो उसकी सोच खराब थी, पर जितना प्यार रवि ने उसे दिया और उसके हर शौक पूरे किये, उसके बदले उसे क्या मिला. मतलब वन्दना की नौकरानी की!तो आशा मेरी तरफ पीठ करे खड़ी थी मैं कुर्सी पर बैठा उसकी गांड देख रहा था. दोस्तो, कैसे हो आप सब? मेरा नाम अमन है और मैं 24 साल का हूँ। मैं उत्तराखंड के एक छोटे से शहर का रहने वाला हूँ। दिखने में ठीक ही हूँ.

उसने भी इस बार अलग सुख पहुंचाने के उद्देश्य से चुत में उंगली घुसेड़ दी और अपनी जीभ को चुत से लेकर गांड तक सैर करने लगा. मैं तो नहीं पहचान पाया किंतु वो मुझे देखते ही पहचान गयी।उसने खुद सामने से बोला- अरे … तुम सनी हो न? कैसे हो? इतने दिनों बाद दिखे हो.

रेखा की कमर पकड़कर लण्ड को दबाया तो लण्ड का सुपारा उसकी गांड में घुस गया.

यह बात सुन कर संजना तेजी से मेरे सामने घोड़ी बन गई और अपनी गांड को चौड़ी कर दी. दोस्तो, यह थी मेरी मलीहा जी के संग पेड सेक्स की कहानी, आपको कैसी लगी … मुझे मेल कीजिएगा. मैंने कहा- इतनी ऊंची ऊंची बातें कर रहे हो अपने घरवालों से कभी पूछा भी है.

मायजिओ सेक्स वीडियो जूली ने मेरी चड्डी को उतार फेंका और अपनी चूचियों से लटकी अपनी ब्रा को भी आजादी दे दी. मैं उसके रसीले होंठों को अपने होंठों से चूमने लगा और उसको अपने करीब खींच लिया.

मेरे खाने पीने से लेकर रहन-सहन यहां तक की कपड़े-लत्ते‌ तक‌ के सारे ख्याल अब शायरा रखती. इस पोज़िशन में शायरा की चूत और भी टाइट हो गयी थी … जिससे अब मुझे तो चूत में मारने में मज़ा आ रहा था. यह उस समय की हिंदी सेक्सी चुदाई कहानी है, जब मेरे भाई की नई नई शादी हुई थी.

देसी हिंदी बीएफ एचडी

हैलो फ्रेंड्स, मैं जैस्मिन आज मैं आप सभी के साथ अपनी प्यासी जवानी की सच्ची कहानी साझा करने जा रही हूँ. सर ने मुझे अपनी बांहों में समेटे हुए टेबल पर लेटा दिया और मेरी कुर्ती को ऊपर से निकालना शुरू कर दिया. अनामिका ने नंगी होते ही भाग कर बाथरूम में घुसकर दरवाजा बन्द कर लिया.

वह मुझे लेने चौराहे पर आ गयी जहाँ आटो वाले ने मुझे उतारा था।फिर हम दोनों रोहित के कमरे पर आ गयी. मेरा मन मस्ती में झूम रहा था और बार बार अपने ख्यालों में मैं रिचा के रसीले होंठों को चूम रहा था.

अब मैंने आगे बढ़ने का मन बनाया और एक रात्रि को 69 पोज़ीशन में मज़ा लेते लेते एक लम्बा मोटा बैंगन उसकी चूत में डाल दिया और धीरे धीरे सावधानीपूर्वक उस लंबे मोटे बैंगन से उसकी चुदाई करने लगा.

एक मिनट बाद मैंने उससे कहा- मालिश का असर बिना तेल लगवाए नहीं होगा!वो बोला- तो मैं तेल मालिश कर देता हूँ. मैंने कहा- मामी अभी आपने इसका कमाल कहां देखा है, अभी दिखाऊंगा तब कहना … फिलहाल अभी लंड में देसी घी लगाओ और मेरा लंड चूसो. मैं पांच मिनट तक उसको चूसता रहा और फिर हमारे हाथ एक दूसरे की जांघों के बीच में असली जगह पर आ गये.

मैं अन्दर से बहुत डरा हुआ था कि पता नहीं वो क्या करेगी, क्या बोलेगी. मैंने ठंड का बहाना बनाते हुए उसे अपनी गोद में लिटा लिया … लेकिन वो उठ गई. उसके बदन गर्मी को मैं अब अपने लंड पर महसूस कर रहा था जोकि मदहोश सी होकर बेसब्रों की तरह मेरे होंठों को चूसे जा रही थी.

फिर मैंने उसकी पेंटी को शरीर से अलग किया, तो देखा चुत की झांटें नदारद थीं पूरी चुत के बाल बड़े ही करीने से शेव किये गए थे, बस चुत की फांकों के ऊपर थोड़े से बाल एक मखमली त्रिभुज के आकर में बने हुए थे, जो काफी अच्छे लग रहे थे.

बताओ बीएफ: ड्राइवर आराम से 60 की स्पीड से बस चला रहा था और बस में धीमी आवाज में राजस्थानी गीत चल रहे थे. मैंने चूत में जीभ घुसा दी और चोदने लगा।थोड़ी देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर आ कर उसकी चूत पर लंड को रगड़ने लगा.

चूंकि मालू की चूत काफी गीली हो चुकी थी और लण्ड पर क्रीम चुपड़ी हुई थी इसलिए करीब आधा लण्ड मालू की चूत में सरक गया. वीर्य से सनी दादी की चूत साफ करके मालू ने दादी से पूछा- दादी मैं थोड़ी देर के लिए बगल वाले कमरे में जाऊं. यास्मीन से नजरें मिली तो शरारत भरी मुस्कान थी उसके होंठों पर!मैंने सोच लिया कि अब इसकी चूत मारनी है, इसलिए मैंने सोचा कि एक कोशिश करके देखूंगा।रात में मैंने मेसेज किया कि तुम्हारे बाथरूम में एक क्रीम देखा, कैसी क्रीम थी वो?कुछ देर तक जवाब नहीं आया तो मैंने गुड नाईट बोल दिया.

दूसरी तरफ आरिषा भाभी को काफ़ी दिनों बाद किसी ने ऐसे छुआ था, तो आरिषा भाभी भी पागल हो रही थीं.

मैंने उठ कर धीरे से पोजीशन बनाई और अपने खड़े लंड को उसकी चूत की फांकों पर घिसने लगा. मैंने देखा कि वो चुदासी औरत पेटीकोट को स्तन के ऊपर तक बांध कर नहा रही थी।फिर मैंने उनको पुकारा तो वो बोली- मैं नहा रही हूँ. एक पेग मनोज ने दीपा के लिए भी बनाना चाहा तो दीपा ने मन कर दिया, बोली- तुम्हारे से ले लूंगी.